Corruption

नैनीताल ब्रेकिंग: उप निबंधक कार्यालय में दो बार हो गई एक फ्लैट की रजिस्ट्री

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नियमित रूप से नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड के समाचार अपने फोन पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप में इस लिंक https://t.me/joinchat/NgtSoxbnPOLCH8bVufyiGQ से एवं ह्वाट्सएप ग्रुप से इस लिंक https://chat.whatsapp.com/ECouFBsgQEl5z5oH7FVYCO पर क्लिक करके जुड़ें।

नवीन समाचार, नैनीताल, 27 जनवरी 2020। नगर के किलार्नी कंपाउंड क्षेत्र के एक फ्लैट का दो बार बिक्री होने का मामला प्रकाश में आ गया है। यहां तक कि दोनों बार इस एक फ्लैट की मुख्यालय स्थित उप निबंधक कार्यालय में रजिस्ट्री भी हो गई। पीड़ित ने मामले में पुलिस एवं नगर पालिका में इसकी शिकायत की है।
पीड़ित हरमनजीत कौर बिर्क पत्नी गुरजीत सिंह बिर्क ने तल्लीताल के थानाध्यक्ष को दिये गये शिकायती पत्र में कहा है कि उन्होंने 7 अक्टूबर 2015 को नगर के अयारपाटा स्थित किलार्नी कंपाउंड में जनार्दन सिंह पुत्र खेम चंद्र व भावना सिंह पत्नी जनार्दन सिंह से पहले तल पर 789 वर्ग फिट यानी 73.34 वर्गमीटर क्षेत्रफल का एक फ्लैट नंबर 1 खरीदा था। यह उप निबंधक कार्यालय नैनीताल में बही संख्या 1 जिल्द 1,355 के पृष्ठ 1 से 18 पर क्रमांक 1725 पर दर्ज है। इसी तिथि से वह इस फ्लैट पर काबिज भी हो गई थीं। इधर गत 21 जनवरी को एक व्यक्ति ने उनके फ्लैट पर आकर बताया कि उनका फ्लैट उन्हें बेच दिया गया है। जांच करने पर पता चला कि जनार्दन सिंह व उनकी पत्नी भावना सिंह ने उनके फ्लैट को गलत बयानी कर क्षेत्रफल 72.30 वर्ग मीटर बताकर शाकिर हुसैन पुत्र साबिर हुसैन निवासी आजाद नगर लाइन नंबर 12 मीट मार्केट हल्द्वानी को बेच दिया है और उप निबंधक कार्यालय में 16 दिसंबर 2019 को बही संख्या 1 जिल्द 1756 के पृष्ठ संख्या 47 से 68 पर क्रमांक 2139 पर दर्ज कर दी गई है। मामले में पुलिस से जनार्दन सिंह व भावना सिंह के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की गई है। साथ ही नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी को पत्र सोंपकर इस फ्लैट का दाखिल खारिज किसी अन्य के नाम पर न करने का अनुरोध किया है।

यह भी पढ़ें : सुहागरात को ही पति-ससुरालियों को लाखों का चूना लगा फुर्र हो गई दुल्हन

प्रतीकात्मक फोटो।

नवीन समाचार, हरिद्वार, 23 दिसंबर 2019। जनपद के एक परिवार से दुल्हन बनकर आई ठग द्वारा सुहागरात को ही पति व ससुरालियों को लाखों का चूना लगाकर फरार होने का मामला सामने आया है। पीड़ित परिवार अब हरिद्वार और रुड़की पुलिस के चक्कर काट रहा है। रुड़की में एक दुल्हन ने शादी के नाम पर लाखों की ठगी को अंजाम दिया।

नियमित रूप से नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड के समाचार अपने फोन पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप में इस लिंक https://t.me/joinchat/NgtSoxbnPOLCH8bVufyiGQ से एवं ह्वाट्सएप ग्रुप से इस लिंक https://chat.whatsapp.com/ECouFBsgQEl5z5oH7FVYCO पर क्लिक करके जुड़ें।

बताया गया है कि हरिद्वार में बीती 18 दिसंबर को एक विवाह हुआ था। लेकिन सुहागरात की ही रात दुल्हन घर के तमाम सोने-चांदी के जेवहरात और दूल्हे के पर्स से 50,000 रुपए की नगदी लेकर फरार हो गई। जब ससुरालियों को इस बात का पता चला तो उनके होश उड़ गये। पीड़ित परिवार हरिद्वार कोतवाली पहुंचा, और कार्रवाई की मांग की। यहां से उन्हें रुड़की पुलिस के पास भेज दिया गया। पीड़ित परिवार ने कोतवाली पहुंचकर पुलिस से है।
बताया गया है कि पंचकूला (कालका) की रहने वाली सोनिया नाम की महिला की रिश्तेदारी रुड़की में है। पंचकूला में सोनिया की मौसी की लड़की रहती है। सोनिया ने सोनू से अपने शाहजहांपुर में रहने वाले भाई महावीर की शादी के लिए लड़की की तलाश करने के लिए बोला था। इसके बाद सोनू की मुलाकात महावीर से हुई। महावीर ने सोनू को बताया कि वह भी अपनी बहन की शादी के लिए लड़का ढूंढ रहा है जिसके बाद दोनों परिवारों ने एक दूसरे से संपर्क किया, और आपसी सहमति से गत 18 दिसंबर को शादी कर ली, जिसक यह अंजाम हुआ है।

यह भी पढ़ें : भाजयुमो प्रदेश मंत्री सहित चार पर जमीन धोखाधड़ी से कब्जाने का मुकदमा दर्ज

नवीन समाचार, किच्छा (ऊधमसिंह नगर), 15 दिसंबर 2019। ऊधमसिंह नगर जनपद की किच्छा पुलिस ने फर्जी दस्तावेज तैयार कर भूमि की रजिस्ट्री करवाने के मामले में न्यायालय के आदेश पर सत्तारूढ़ दल के युवा मोर्चा-भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश मंत्री सहित चार लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर लिया है।
मामले के अनुसार ग्राम बंडिया किच्छा निवासी आनंद किशोर ने न्यायालय में प्रार्थना पत्र दिया था कि उसके पिता स्वर्गीय दामोदर दुबे की 1978 से काबिज 10 एकड़ कृषि भूमि पर 13 अगस्त 2011 को उसके चचेरे भाई सच्चिदानंद दुबे ने रजिस्ट्रार कार्यालय के कर्मचारियों की मिलीभगत से कूटरचित कागजात तैयार कर उनकी 2.0225 हैक्टेयर भूमि का भाजयुमो के प्रदेश मंत्री हिमांशु शुक्ला, बृजेश शुक्ला, रजनीश शुक्ला के नाम पर फर्जी बैनामा व दाखिल खारिज करा दिया है। साथ ही 18 सितंबर 2019 को दुबे ने गाली गलौज करते हुए जमीन में कब्जा करने की धमकी भी दी। जिसके बाद पीड़ित पुलिस में शिकायत करने गया, लेकिन कोई कार्रवाई ना होने पर उसने न्यायालय की शरण ली। जहां न्यायालय के आदेश पर कोतवाली पुलिस ने सच्चिदानंद दुबे, रजनीश शुक्ला, हिमांशु शुक्ला, बृजेश शुक्ला के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें : माना ही नहीं कि लालच बुरी बला है, उच्च अधिकारी को लालच के फेर में ठगों ने लगाया 4 लाख का चूना….

नवीन समाचार, किच्छा, 14 दिसंबर 2019। कहा गया है कि लालच बुरी बला है, लेकिन अच्छे भले, पढ़े-लिखे उच्च पदस्थ अधिकारी भी अपना लालच न छोड़ पाएं तो क्या कहना। उत्तराखंड जल संस्थान के महाप्रबंधक डीके मिश्रा निवासी पंजाबी मोहल्ला किच्छा को ठगों ने मोबाइल टावर लगाने के नाम पर तीन लाख 93 हजार 845 रुपये का चूना लगा दिया। महाप्रबंधक द्वारा दी गई तहरीर पर एसएसपी के निर्देश पर पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।
बताया गया है कि एक दैनिक समाचार पत्र में गत तीन नवंबर को इंडस टावर्स बंगलुरू द्वारा प्रकाशित विज्ञापन देखने के बाद महाप्रबंधक मिश्रा ने अपने अग्रसेन कॉलोनी रुद्रपुर स्थित मकान पर टावर लगाने के संबंध में दिए गए टोल फ्री नंबर पर बात की थी। और कंपनी के लीगल एडवाइजर शिवम कुमार के कहने पर पहले तीन हजार 840 रुपये आवेदन के लिए, और बाद में कंपनी के प्रतिनिधि कमल सिंह द्वारा सूचित करने पर 25 हजार रुपए लीज के रूप में तथा नवंबर को 62 हजार, 14 नवंबर को एक लाख 45 हजार रुपये व 16 नवंबर को एक लाख 20 हजार रुपये फिर जमा कराए। इसके बाद कंपनी के प्रतिनिधि द्वारा भुगतान की जाने वाली 40 लाख की प्रथम किस्त का पांच प्रतिशत दो लाख रुपये का और भुगतान करने के लिए कहा तो उनका माथा ठनका। इससे इन्कार कर अब तक जमा रकम वापस करने की मांग की तो साफ मना कर दिया गया। पुलिस ने डीके मिश्रा की तहरीर पर कमल सिंह, आलोक पांडे व अरुण शर्मा के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें : बुजुर्ग के खातों से दो दिन में एटीएम हैक कर 80 हजार रुपए गायब..

-हल्द्वानी के एक डाइग्नोसिस सेंटर व एक अस्पताल में एटीएम कार्ड से भुगतान करने के बाद हुई वारदात
नवीन समाचार, नैनीताल, 12 दिसंबर 2019। नगर के तल्लीताल निवासी बुजुर्ग के खाते से दो दिनों के भीतर एटीएम कार्ड के जरिये 80 हजार रुपए निकलने का मामला प्रकाश में आया है। बुजुर्ग ने बैंक एवं तल्लीताल थाना पुलिस को सूचना देकर रुपए वापस दिलाने की गुहार लगाई है।

नियमित रूप से नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड के समाचार अपने फोन पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप में इस लिंक https://t.me/joinchat/NgtSoxbnPOLCH8bVufyiGQ से एवं ह्वाट्सएप ग्रुप से इस लिंक https://chat.whatsapp.com/ECouFBsgQEl5z5oH7FVYCO पर क्लिक करके जुड़ें।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार तल्लीताल गंगा निवास निवासी बुजुर्ग देब सिंह बिष्ट पुत्र स्वर्गीय एमएस बिष्ट हल्द्वानी उपचार के लिए गए थे। इस दौरान उन्होंने हल्द्वानी के एक डायग्नोस्टिक सेंटर, एक अस्पताल व एक पेट्रोल पंप में एटीएम कार्ड से भुगतान कराया था। इसके अगले दिन ही तीन दिसंबर को उनके खाते से 40 हजार व चार दिसंबर को दो बार में 20-20 हजार रुपए निकल गए। तल्लीताल थानाध्यक्ष राहुल राठी ने बताया कि बुजुर्ग का एटीएम हैक कर कलकत्ता से पैंसे निकलने का पता चला है। बैंक ने बुजुर्ग की कोई गलती न मानते हुए तीन माह में धनराशि वापस दिलाने का भरोसा दिया है।

‘नवीन समाचार’ के धोखाधड़ी से संबंधित पुराने समाचारों के लिए इन लाइनों को क्लिक करें।

Leave a Reply

Loading...
loading...