यह सामग्री कॉपी नहीं हो सकती है, फिर भी चाहिए तो व्हात्सएप से 8077566792 पर संपर्क करें..

ऐसी कड़ी कार्रवाई ! पत्नी-बच्चों से मारपीट पर पति-देवर को भेजा गया जेल..

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

-घर के बैल को अंदर-बाहर बांधने की मामूली बात पर हुई मारपीट
नवीन समाचार, नैनीताल, 8 नवंबर 2019। सामान्यतया घर के पत्नी-बच्चों के झगड़े घर-समाज में ही निपट जाते हैं और अधिकतम परिवार न्यायालयों तक पहुंचते हैं, किंतु एक ऐसा मामला प्रकाश में आया है जिसमें पत्नी की शिकायत पर उसके पति व देवर को जेल भेज दिया गया है।
मल्लीताल कोतवाली पुलिस के अनुसार मामला बीती 4 नवंबर का है। विवाद के मूल में मुख्यालय के निकट मंगोली में घर के पशुओं को अंदर-बाहर बांधने को लेकर हुए मामूली विवाद रहा। पीड़ित महिला लक्ष्मी देवी के पति बहादुर सिंह व देवर पुष्कर सिंह ने मामूली विवाद में उसके नौ वर्षीय बेटे पीयूष का हाथ तोड़ दिया तथा 17 वर्षीया बेटी कल्पना और मां लक्ष्मी देवी से भी मारपीट की। इस पर लक्ष्मी देवी ने अपने पति व देवर के खिलाफ मंगोली चौकी पुलिस में शिकायत की। पुलिस के अनुसार जब पुलिस मौके पर पहुंची, तब भी दोनों भाई बहादुर सिंह व पुष्कर सिंह बेहद आक्रामक थे और किसी भी घटना को अंजाम दे सकते थे। इसलिए उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया और मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में पेश कर अदालत के आदेश पर 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

यह भी पढ़ें : शराब पीकर महिला खिलाड़ियों के शौचालय में घुसा सिपाही, जमकर धुना, आईसीयू में भर्ती, हालत गंभीर

शाकिर हुसैन @ नवीन समाचार, कालाढूंगी, नैनीताल, 5 नवंबर 2019। निकटवर्ती बैलपड़ाव स्थित आईआरबी फर्स्ट में एक सिपाई द्वारा शराब पीकर शौचालय में महिला खिलाड़ी सिपाहियों से छेड़छाड़ करने और इस पर महिला सिपाहियों के द्वारा सिपाही को पीट-पीट कर अधमरा करने का मामला प्रकाश में आया है। विभागीय अधिकारियों ने पिटे सिपाही को पहले रामनगर के अस्पताल में भर्ती कराया, लेकिन वहां से उसे उसकी गंभीर दशा को देखकर रेफर कर दिया गया। इसके बाद उसका काशीपुर के निजी अस्पताल में आईसीयू में उपचार कराया जा रहा है। जहां युवक की गम्भीर हालत बनी हुई है। वहीं आईआरबी के अधिकारी मामले में जांच करने और सिपाही द्वारा महिला खिलाड़ियों से छेड़छाड़ को बड़ी घटना बता रहे हैं। वहीं मारपीट पर शक जताया जा रहा है कि सिपाही को चोटें मारपीट से आईं अथवा शराब पीकर गिरने आदि से।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बैलपड़ाव स्थित आई आर बी में रविवार की देर शाम को एक सिपाही सुनील कुमार को लगभग दर्जनभर महिला खिलाड़ी सिपाहियों ने बुरी तरह से पीट-पीट कर घायल कर दिया। उसकी हालत बिगड़ने पर घायल सिपाही को विभागीय अधिकारियों ने आनन फानन में रामनगर के निजी अस्पताल ले गए जहां पर सिपाही की हालत गम्भीर देख चिकत्सकों ने सिपाही को हायर सेन्टर ले जाने को कहा तो सिपाही को काशिपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहा सिपाही आईसीयू में भर्ती है और उसकी हालत गम्भीर बताई जा रही है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उच्चाधिकारियों के समक्ष घटना को अंजाम दिया गया। वहीं ज्ञात हुआ है कि घायल सिपाही सुनील कुमार के परिजनों को सूचित नही किया गया। दूसरी ओर आरोप है कि सुनील कुमार नशे की हालत में महिलाओं के शौचालय में चला गया था। वहां मौजूद एक महिला खिलाड़ी सिपाही ने उस पर छेड़छाड़ का आरोप लगाया था। मामले में सवाल उठ रहे हैं कि आरोपी सिपाही सुनील कुमार पर विभागीय करवाई या पुलिस कारवाई की जगह विभाग के उच्चाधिकारियों के सामने मारपीट की गई।

यह भी पढ़ें : युवक से मारपीट, 35 हजार छीनने का भी आरोप !

नवीन समाचार, नैनीताल, 17 अक्टूबर 2019। नगर के तल्लीताल पुलिस चौकी के पास स्थित बॉम्बे मोबाइल शॉप में कार्यरत मोहम्मद अजीम नाम के युवक से दूसरी मोबाइल शॉप के लड़कों ने पिटाई कर दी। मामले में पीड़ित का कहना है कि वह पहले पिटाई करने वाले लड़कों की दुकान में काम करता था। बाद में उसने वहां से काम छोड़कर इस दुकान में काम शुरू किया। तभी से पुरानी दुकान के लड़के उस पर काम छोड़ने को कह रहे थे। बृहस्पतिवार को दो युवकों ने उसे दुकान से बाहर बुलाया और उसकी पिटाई कर दी और जेब से 35 हजार रुपए भी छीन लिये। इस मामले में तल्लीताल थाना पुलिस ने कोई शिकायत न मिलने की बात कही है।

यह भी पढ़ें : ससुरालियों ने तोड़ीं घर जमाई की अंगुलियां

-पीड़ित ने एसएसपी को पत्र लिखकर बताई व्यथा, राजस्व पुलिस और पुलिस ने भी शिकायत पर नहीं की कोई कार्रवाई

पीड़ित घर जमाई

नवीन समाचार, नैनीताल, 4 अगस्त 2019। जनपद के ग्राम जाख पट्टी पाडली तहसील कोश्यां कुटौली में अपनी ससुराल में रहने वाले दीप सिंह पुत्र मल्लू सिंह ने जनपद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर न्याय की गुहार लगाई है। दीप सिंह के सिर में चोट है और हाथों की अंगुलियां टूटी हुई हैं, जिनका वह बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में उपचार करा रहा है। उसका कहना है कि वह गांव में अपनी पत्नी व तीन बच्चों के साथ ससुराल के लोगों द्वारा दी गयी जमीन पर रहकर अपने परिवार की गुजर-बसर करता है। गांव के अन्य लोग ससुराल में रहने के कारण उससे रंजिश रखते हैं और उसे ससुराल के घर व जमीन से बेदखल करना चाहते हैं और इसलिए अक्सर उसका रास्ता रोकने, खेतों मंे जानवर छोड़ने जैसी हरकतें करते रहते हैं।
इधर गत 31 जुलाई को उसके साथ गांव में कांति सिंह पुत्र गोपाल सिंह, हरेंद्र नेगी पुत्र हीरा सिंह, जीवन सिंह पुत्र नैन सिंह व नैन सिंह पुत्र हीरा सिंह ने झगड़ा किया और एक अगस्त की रात्रि करीब नौ बजे ये तथा चंदन सिंह पुत्र धन सिंह, दीवान सिंह पुत्र प्रताप सिंह, हरक सिंह व त्रिलोक सिंह आदि ने घर में घुसकर लाठी-डंडों से पिटाई की, जिससे उसे हाथ व सिर पर गंभीर चोटें पहुंचाकर उसे अधमरा कर छोड़ गये। साथ ही यह भी कहते हुए गये कि वह जल्दी से जल्दी गांव से चला जाये, अन्यथा उसे जान से मार देंगे। उसने हमेले के बाद 100 नंबर पर फोन कर पुलिस बुलाई, किंतु पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। यही नहीं, बाद में वह घटना की रिपोर्ट लिखाने थाना भवाली गया परंतु दो घंटे थाने में बैठाने के बाद भी उसकी कोई सुनवाई नहीं हुई।
चित्र परिचय 04एनटीएल-5ः नैनीताल। ससुरालियों द्वारा पीटा गया घायल जमाई।

Leave a Reply

Loading...
loading...