Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

चारा काटते हुए पेड़ में लटके तारों की चपेट में आने से झुलसी महिला, हालत गंभीर

Spread the love

-ग्रामीणों ने दी मुआवजा ना दिए जाने पर आंदोलन की चेतावनी

घायल महिला को अस्पताल ले जाते परिजन

दान सिंह लोधियाल @ धानाचूली (नैनीताल), 18 अप्रैल 2019। जनपद के दूरस्थ विकास खंड ओखलकांडा के ग्राम नरतोला में 52 वर्षीय खीला देवी पत्नी श्याम सिंह मेहता पेड़ में टकराये बिजली के तारों के चपेट में आने से गम्भीर रूप से झुलस गई। उसे उपचार के लिए हल्द्वानी ले जाया गया है, जहाँ उसकी हालत गम्भीर बनी हुई है। वहीं जनप्रतिनिधियों ने विभाग द्वारा जल्द उचित मुआवजा ना दिए जाने पर आंदोलन की धमकी दी है। साथ ही पेड़ों व अन्य स्थानों में झूलते तारो को ठीक करने की मांग की है।

पेड़ों पर झूलते बिजली के तार, जिनकी चपेट में महिला आई

प्रधान व समाज सेवी मदन नौलिया ने आरोप लगाया कि विद्युत विभाग में हर वर्ष लाखों रुपये लाइनों को छू रहे पेड़ो की छंटाई के लिए आता है पर विभाग लापरवाह बना रहता है। वहीं क्षेत्र पंचायत सदस्य गणेश मेलकानी ने बताया कि कुछ समय पूर्व करंट लगने से एक गाय और एक बैल की मौत हो गयी थी पर सूचना देने के बावजूद आज तक विभाग द्वारा कोई कार्यवाही नही की गई। वहीं ग्राम खुजेठी की प्रधान शांति देवी, पतलिया के प्रताप सिंह पड़ियार, क्षेत्र पंचायत सदस्य पूरन सिंह चौसाली, हरेंद्र सिह मेहता, गजेंद्र सिंह, किशन सिंह व मनोज सिह ने चेतावनी देते कहा कि अगर विद्युत विभाग ने पीड़ित को उचित मुआवजा नही दिया तो क्षेत्रवासियों के साथ मिलकर आंदोलन करने को मजबूर होंगे। साथ ही स्वास्थ्य विभाग द्वारा 108 सेवा बंद किये जाने पर भी ग्रामीणों ने नाराजगी जाहिर की।

यह भी पढ़ें : पहले पिता, फिर भाई की मौत और अब शादी में इतना बड़ा हादसा, शोक की लहर

नवीन समाचार, नैनीताल, 17 अप्रैल 2019। मंगलवार की देर रात्रि नैनीताल निवासी पूर्व तहसीलदार स्वर्गीय महेश लाल की बेटी की शादी में बेकाबू कार ने बारातियों को कुचल दिया था। हादसे की जद में आया परिवार काफी दुर्भाग्यशाली रहा है। पहले घर के मुखिया रहे पूर्व तहसीलदार महेश लाल का आकस्मिक निधन हो गया था। इसके बाद परिवार कुछ संभलने की कोशिश रहा था। महेश लाल के पुत्र अमित कुमार ने वर्ष 2014 में हुए नगर पालिका के चुनाव में कांग्रेस पार्टी के टिकट पर नगर पालिका अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ा था, किंतु चुनाव में हार मिलने के कुछ समय बाद अमित का भी निधन हो गया था। इधर परिवार फिर से संभलने लगा था और बेटी की शादी मंगलवार रात्रि खुशी-खुशी दिल्ली के के लाजपत नगर निवासी रितेश से हल्द्वानी के रामपुर रोड स्थित रुद्राक्षी बैंक्वेट हॉल में हो रही थी। तभी बेकाबू कार ने फिर परिवार की खुशियों को ग्रहण लगा दिया है।
इस घटना में दुल्हन रुचि के के 22 वर्षीय मौसेर भाई नैनीताल के डफन लॉज तल्लीताल निवासी आशीष कुमार सहित बालावाला देहरादून निवासी आदर्श कुमार उर्फ अंशुल व तीन नंबर नीलांचल कालोनी हल्द्वानी निवासी गार्ड धर्मपाल मौर्या की मौत हो गयी थी तथा दो अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे। इधर बुधवार अपराह्न पोस्टमार्टम के उपरांत आशीष के शव को मुख्यालय स्थित उसके घर पर लाया गया, जिसके बाद निकटवर्ती पाइंस स्थित श्मशान घाट में बेहद गमगीन माहौल में उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया।

यह भी पढ़ें : नैनीताल निवासी पूर्व तहसीलदार की बेटी की शादी में बेकाबू कार ने बारातियों को कुचला…

-हल्द्वानी के रुद्राक्षी बैंकट हॉल में मंगलवार देर रात्रि हुई घटना

-दुल्हन के नैनीताल-दून निवासी दो भाइयों सहित तीन लोगों की मौत, दो गंभीर, एक की हालत नाजुक…

अस्पताल में मृतकों के बदहवास परिजन
अस्पताल में मृतकों के बदहवास परिजन

 

 

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 17 अप्रैल 2019। हल्द्वानी के रामपुर रोड स्थित रुद्राक्षी बरात घर में चल रही नैनीताल निवासी पूर्व तहसीलदार स्वर्गीय महेश लाल की बेटी रुचि की शादी में बड़ा हादसा हो गया। रात्रि करीब पौने एक बजे हुए हादसे में बगल के बैंकट हॉल में आई एक आई-20 कार संख्या यूके 04 यू 2384 ने इस बारात के बैंकट हॉल के बाहर खड़े लोगों को कुचल दिया। दुर्घटना में दुल्हन के दुल्हन के मौसेर भाई नैनीताल के डफरिन लॉज तल्लीताल निवासी आशीष कुमार (22) व ममेरे भाई, बालावाला देहरादून निवासी आदर्श कुमार उर्फ अंशुल व तीन नंबर नीलांचल कालोनी हल्द्वानी निवासी गार्ड धर्मपाल मौर्या की मौत हो गयी, जबकि एक अन्य बाराती देहरादून बालावाला निवासी अनुज तथा बेकाबू कार में सवार देवलचौड़ा हल्द्वानी निवासी प्रदीप लोशाली का एसटीएच में उपचार चल रहा है, जहां प्रदीप की हालत नाजुक बताई जा रही है।
बताया गया है कि रुचि की शादी दिल्ली के लाजपत नगर निवासी रितेश से रुद्राक्षी बैंक्वेट हॉल में अंदर हो रही थी। इधर विवाह कार्यक्रम में शामिल कुछ लोग बैंक्वेट हॉल के बाहर खड़े थे। इसी बीच, हल्द्वानी की ओर से तेज रफ्तार आई-20 कार ने इन लोगों को कुचल दिया। लोग कुछ समझ पाते तब तक युवक दूसरी कार में बैठकर भाग निकले। खौफनाक हादसे से सहमे बरातियों ने किसी तरह घायलों को सुशीला तिवारी अस्पताल पहुंचाया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने कार कब्जे में ले ली है और भागे हुए युवकों की तलाश कर रही है। हल्द्वानी के कोतवाल ने बताया कि अभी मामले में मुकदमा दर्ज नहीं किया गया है। कार मालिक की पहचान कर ली गयी है। संभवतया कार चलाने वाले नशे में थे। घटना के बाद से नैनीताल-हल्द्वानी में बारात में शामिल लोगों ने शोक का माहौल है।

यह भी पढ़ें : गंगोत्री हाईवे पर दर्दनाक हादसा, 3 की मौत…

नवीन समाचार, ऋषिकेश, 13 अप्रैल 2019। मंगलवार सुबह ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे पर दर्दनाक हादसा हो गया। यहां एक सूमो खाई में गिर गई और उसके परखच्चे उड़ गए। जानकारी के मुताबिक हाईवे पर चिन्यालीसौड़ के पास नगुन गाड़ में सूमो खाई में गिरी। तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना पर पुलिस और प्रशासन की टीम मौके के लिए रवाना हुई। बताया गया कि वाहन क्यारी चापड़ा से चिन्यालीसौड़ जा रहा था। मृतकों में एक महिला व दो पुरुष शामिल हैं। स्थानीय लोगों ने खाई से शव निकाले।

हादसा सुबह आठ बजकर 28 मिनट पर हुआ। मृतकों के नाम चालक महावीर जगूड़ी उम्र 34 पुत्र जगदीश प्रसाद जगूड़ी निवासी कंडिसौड़, ज्योति प्रसाद उम्र 60 वर्ष और उनकी पत्नी राजपति देवी उम्र 45 वर्ष निवासी कंडिसौड़ हैं। शवों को सीएचसी कंडिसौड़ लाया जा रहा है। मौके पर तहसीलदार कंडिसौड़, पटवारी बायड गांव, पटवारी नगुण, थाना धरासू की टीम व स्थानीय लोग उपस्थित हैं।

यह भी पढ़ें : लगातार दूसरे दिन भारी पड़ी नदी में मस्ती, घर का 18 वर्षीय चिराग डूबा…

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 13 अप्रैल 2019। शुक्रवार को रामनगर के गर्जिया मंदिर के पास घटी घटना की पुनरावृत्ति शनिवार को रानीबाग के पास घट गयी। यहां गौला नदी में नहाने गये दो किशोरों में से एक नदी के तेज बहाव में बह गया और उसकी मौत हो गयी। मृतक की पहचान रामपुर रोड के शाकुंतलम वैंक्वेट हाल के पास रहने वाले भीम सिंह मेहरा के 18 वर्षीय पुत्र मनीष मेहरा के रूप में हुई। वह शहर के बंसल ज्वैलर्स में काम करता था और आज शनिवार का अवकाश होने के कारण अपने दोस्त ऋषभ जायसवाल के साथ रानीबाग से आगे गौला नदी में नहाने गया था। नदी में बहने पर ऋषभ ने शोर मचाया, लेकिन जब तक स्थानीय लोग एवं पुलिस के जवान मदद को पहुंचते, तब तक उसकी जान जा चुकी थी। पुलिस व स्थानीय लोगों ने रानीबाग शमशान घाट के पास नदी से उसका शव बरामद किया। पुलिस ने शव का पंचनामा भर कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। जवान बेटे की मौत से उसके परिजनों में कोहराम मच गया है।

यह भी पढ़ें : महंगी पड़ी मंदिर के पास नदी में मस्ती, डूबने से 10वीं के एक छात्र की मौत, एक अन्य गंभीर

नवीन समाचार, रामनगर, 12 अप्रैल 2019। धार्मिक आस्था के केंद्र गर्जिया देवी मंदिर का उपयोग मौज-मस्ती करने के लिए किया जाना 10वीं के एक छात्र के लिए जानलेवा साबित हुआ। शुक्रवार को गर्जिया देवी मंदिर के निकट झूला पुल के पास 10 छात्रों के एक समूह में उस समय चीख-पुकार मच गयी जब उनके दो साथी छात्र नदी में डूबते चले गया। उनके शोर मचाने के बावजूद करीब आधा घंटे बाद उन्हें मंदिर के पास के दुकानदारों व पुजारियों आदि से मदद मिल पाई। जब तक दोनों छात्रों को बाहर निकाला जाता इनमें से एक की सांसें उखड़ चुकी थीं। दोनों को रामनगर के संयुक्त चिकित्सालय ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक की शिनाखत हिमगिरि तिराहा हरथला सोनमपुर जिला मुरादाबाद यूपी निवासी विवेक कुमार पुत्र राकेश कुमार के रूप में हुई। बताया गया कि मृतक मुरादाबाद के एक इंटर कॉलेज में 10वीं का छात्र था। वह इसी स्कूल के 10 छात्रों के समूह में यहां आया था। उसके साथ डूबे तरुण कुमार पुत्र ब्रह्मपाल को भी गंभीर स्थिति को देखते हुए हायर सेंटर के लिए रेफर किया गया है।

यह भी पढ़ें : बेतालघाट में हुई मैक्स दुर्घटना में क्षेपं सदस्य के पति की मौत

नवीन समाचार, नैनीताल, 5 अप्रैल 2019। जनपद के भतरौंजखान में शुक्रवार को हुई एक दुर्घटना में एक मैक्स जीप संख्या यूके04सीए-3691 भतरौंजखान-बेतालघाट मोटरमार्ग पर बेतालघाट से पहले तौराड़ बैंड के पास करीब 200 मीटर गहरी खाई में गिरकर दुर्घटनाग्रस्त हो गयी। दुर्घटना में मैक्स के मालिक एवं क्षेत्र पंचायत सदस्य हंसी देवी के पति एवं सस्ता गल्ला की दुकान के स्वामी हल्सो-कोरड़ निवासी 58 वर्षीय माधव सिंह मेरा पुत्र शेर सिंह की मौके पर मृत्यु हो गयी। वहीं उनका 20 वर्षीय भतीजा श्याम सिंह पुत्र दीवान सिंह और चालक 44 वर्षीय बची सिंह पुत्र आनंद सिंह गंभीर रूप से घायल हो गये। दोनों को प्राथमिक उपचार के बाद हल्द्वानी रेफर कर दिया। बताया गया कि मृतक माधव सिंह कुछ भी समय पूर्व लोनिवि में जेई के पद पर चौखुटिया में भर्ती हुए बेटे से मिलने के बाद वापस लौट रहे थे।

यह भी पढ़ें : शादी में ‘हर्ष फायरिंग’ करने वाले आरोपित की जमानत अर्जी खारिज

मृतक समाजसेवी

नवीन समाचार, नैनीताल, 26 मार्च 2019। गत 23 फरवरी की शाम हल्द्वानी के थाना मुखानी अंतर्गत एक शादी के प्रीति भोज कार्यक्रम में कौस्तुभ पलड़िया पुत्र सुरेश पलड़िया निवासी जयपुर पाडली खुशी में बंदूक से की गयी फायरिंग में गोली लगने से घायल होने की बात प्रकाश में आई थी। बाद में उपचार के दौरान उसकी मौत भी हो गयी थी। हालांकि बाद में कहा गया कि नवीन चंद्र नाम का व्यक्ति शादी में बंदूक लाया था। बंदूक में गोली फंस गयी थी, जिसे ललित पलड़िया नाम का व्यक्ति निकालने का प्रयास कर रहा था, तभी गलती से गोली चल गयी, जिससे कौस्तुभ की मौत हो गयी। बाद में 27 फरवरी को नवीन व ललित को गिरफ्तार किया गया था। नवीन के विरुद्ध आर्म्स एक्ट में तथा ललित के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 304 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। इधर ललित की ओर से अदालत में जमानत का प्रार्थना पत्र दिया गया था। जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने जमानत प्रार्थना का विरोध करते हुए छह गवाह पेश किये। इस पर प्रभारी जिला जज प्रथम अतिरिक्त जिला जज विनोद कुमार की अदालत ने ललित की जमानत खारिज कर दी।

पूर्व समाचार : ‘शोक’ कर गयी ‘हर्ष फायरिंग’, दम तोड़ गया समाजसेवी

मृतक समाजसेवी

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 23 फरवरी 2019। शादी के दौरान डीजे में डांस के दौरान ‘हर्ष फायरिंग’ के दौरान चली गोली से एक एक परिवार ने अपना बेटा  खो दिया, जिससे  परिवार में शोक छा गया है।  लामाचौर क्षेत्र में हुई घटनाा में एक समाजसेवी युवक घायल हो गया था, जिसके बाद उसे एसटीएच में उपचार के लिए लाया गया है। जहां देर रात उसकी मौत हो गई। जानकारी मिलने के बाद एसटीएच में युवकों का जमावड़ा लगा रहा। जबकि पुलिस को गोलीकांड की जानकारी बहुत देर में पता चली। अब पुलिस मामले की जांच कर रही है।

लामाचौड़ क्षेत्र में शुक्रवार रात एक शादी समारोह चल रहा था। डीजे में कई युवक डांस कर रहे थे। बताया जा रहा है कि स्थानीय समाजसेवी कौस्तुभ पलड़िया भी डांस फ्लोर पर थे। इस बीच अचानक किसी ने गोली चला दी। जो कि कौस्तुभ के कांधे के पास जा लगी। इसके अलावा कई छर्रे भी उन्हें लगे। आनन-फानन में बेहोशी की हालत में शादी में मौजूद लोग उन्हें एसटीएच लेकर पहुंचे। जहां चिकित्सक उनके उपचार में जुट गए। देर रात इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

वहीं मुखानी थाना व लामाचौड़ चौकी गोलीकांड की घटना से काफी देर तक अंजान रहा। देर रात मौत की खबर के बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई।

गोली चलाना खेल बना दिया

हल्द्वानी में कमर में लाइसेंसी असलहा लगाना स्टेटस सिंबल बन चुका है। नेताओं व अधिकारियों से जुगाड़ लगाकर लोग लाइसेंस बना रहे हैं। शादी-समारोह में खुद को बड़ा दिखाने के चक्कर में लगातार हर्ष फायरिंग की घटनाएं सामने आ रही है। चार माह पूर्व पंचायत घर रामलीला मंचन के दौरान बाहर सड़क पर तमंचे से चली गोली के छर्रे एक किशोर को लगे थे। वहीं सात दिन पूर्व बनभूलपुरा थाना क्षेत्र में भी डांस के दौरान चली गोली एक मैकेनिक को लगी थी। वहीं बीते शनिवार को इंदिरानगर ठोकर के पास शादी से ठीक एक दिन पहले डांस के दौरान नदीम नामक युवक को वहीं सलमान ने तमंचे से गोली मार दी थी। घटना डीजे में डांस के दौरान हुई थी। गनीमत रही कि गोली युवक के पांव को छूकर निकल गई। वहीं फाय¨रग का आरोपित सलमान आठ दिन बाद भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।
धार्मिक व सामाजिक संगठनों से जुड़े थे कौस्‍तुभ
समाजसेवी के तौर पर कौस्‍तुभ  ने कम समय में इलाके में अच्‍छी पहचान बना ली थी। कई धार्मिक व सा‍माजिक  संगठनों  से जुड़े थे। मौत की सूचना पर अस्‍पताल से लेकर मोर्चरी तक लोगों का तांता लग गया। हर कोई इस घटना से हैरान है।

यह भी पढ़ें : चाचा-भतीजे के परिवार में फूड प्वाइजनिंग, नौ बच्चों सहित 11 लोग बीमार

फूड प्वाइजनिंग से दो परिवारों के 11 लोग बीमारनवीन समाचार, हल्द्वानी, 25 मार्च 2019। नंधौर वैली चोरगलिया क्षेत्र में नंधौर नदी में पत्थर भरने का काम करने वाले व वहीं रहने वाले दो परिवारों के नौ बच्चों सहित 11 लोग फूड प्वाइजनिंग का शिकार हो गये हैं। सभी को हल्द्वानी के बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया गया है कि बीती रात्रि उन्होंने सोयाबीन की बड़ी की सब्जी बनाकर खाई थी, लेकिन इसका असर सोमवार को दोपहर पहले करीब 11 बजे के बाद होना शुरू हुआ। इस बीच कुछ अन्य वस्तु खाने से फूड प्वाइजनिंग हुई हो, इस बात की भी जांच की जा रही है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मूल रूप से बिलासपुर निवासी अहमद नवी और उसके चाचा यासीम का 11 लोगों का संयुक्त परिवार के रूप में आमखेड़ा चोरगलिया में रहता हैं। देर रात परिवार के सभी लोगों ने सोयाबीन की बड़ी और रोटी खाई थी इसके बाद सोने चले गए। सुबह करीब 11 बजे के उनकी धीरे-धीरे तबियत खराब होने लगी। चक्कर आने पर परिवार में हड़कंप मचने लगा। लोगों की मदद से उनको बेस अस्पताल लाया गया। इस दौरान अहमद नवी की पत्नी खुशनुमा (40), बेटी तबस्सुम (20), शाइस्ता (4), बेटा आयत (2), रहमान (17), अरमान (12), जीशान (7) और अमान (2)एवं चाचा यासीम के साथ उनके बेटे कासिम (9) व असीम (9) बेहोश हो गए।

यह भी पढ़ें : शादी की दावत में फूड प्वाइजनिंग, 120 से अधिक की तबियत बिगड़ी

नवीन समाचार, जसपुर, 11 फरवरी 2019। उत्तराखंड के ऊधमसिंहनगर जनपद के जसपुर कस्बे के निकटवर्ती गांव भगवंतपुर में रविवार को शादी से पूर्व दी जाने वाली ‘मंढे की दावत’ में खाना खाकर 120 से अधिक ग्रामीणों की तबियत बिगड़ने का समाचार है। ग्रामीणों को आनन फानन में काशीपुर के निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया, जहां पीड़ितों की स्थिति में भी सुधार बताया जा रहा है। पुलिस मामला बनने के डर से आयोजक किसी भी तरह की जानकारी देने से बचते रहे।
जानकारी के अनुसार ग्राम भगवंतपुर में एक व्यक्ति के बेटे की शादी से पूर्व मंढे की दावत में उड़द की दाल और चावल बना था। बताया जा रहा है कि खाना खाने के बाद एक के बाद एक करीब 120 से अधिक ग्रामीणों को उल्टी-दस्त शुरू हो गए। इस पर आयोजक परिवार के हाथ-पांव फूल गए। आनन-फानन में आयोजक परिवार के लोग गंभीर रूप से बीमार ग्रामीणों को काशीपुर के प्राइवेट नर्सिंग होम में ले गए। वहीं अधिकतर ग्रामीण गांव में डॉक्टर से इलाज कराते रहे। गांव के एक डॉक्टर ने आशंका जताई कि ग्रामीणों की तबियत फूड प्वॉइजनिंग के कारण बिगड़ी होगी। अनाज में कीड़ा न लगे इसलिए ग्रामीण उसमें कीटनाशक डाल देते हैं। आशंका जताई जा रही है कि उड़द और चावल में कीटनाशक रहा हो और खाना बनाने से पहले इन्हें सही से नहीं धोया गया हो। बताया जा रहा है कि बीमार पड़े लोगों में सिर्फ पुरुष ही शामिल हैं। इससे पहले की महिलाएं इस खाने को खातीं, पुरुषों की तबीयत बिगड़ने लगीं, जिसके चलते उन्होंने खाना खाया ही नहीं। इस बाबत पुलिस को कोई जानकारी नहीं है।

पूर्व समाचार : फूड प्वाइजनिंग से हुई चौथी मौत, आनंदा दूध को बताया जा रहा है कारण !

शादी में खाना खाने से पूर्व विधायक समेत 225 लोग हुए फूड प्वाइजनिंग के शिकार

हल्द्वानी, 3 दिसंबर 2018। बागेश्वर जिले की कपकोट विधानसभा अंतर्गत बास्ती गांव में गुरुवार 29 दिसंबर को बारात के खाने में हुई फूड प्वाइजनिंग की घटना में सोमवार दोपहर करीब सवा 12 बजे हल्द्वानी के सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज में एक 60 वर्षीया महिला खिमुली देवी पत्नी फकीर चंद्र ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया है। इस प्रकार इस मामले में मौतों की संख्या चार हो गयी है। मृतकों में दो महिलाएं एवं दो बच्चे शामिल हैं। मृतका खिमुली देवी बास्ती गांव की ही रहने वाली थी। उसके पति का भी मेडिकल कॉलेज में उपचार चल रहा है। अस्पताल प्रशासन के अनुसार वह यहां लाये जाने वाले शुरुआती मरीजों में शामिल थी। उसे पहले से श्वांस की बीमारी भी थी, और वह शुरू से ही वेंटीलेटर पर रखी गयी थी। वहीं मामले में अभी भी कम से कम 6 लोगों की हालत गंभीर बतायी जा रही है।
इधर फूड प्वाइजनिंग की स्वयं भी जद में आये कपकोट के पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण ने इस मामले में आनंदा ब्रांड के दूध को इस पूरी घटना के लिए दोषी ठहराया है। उनका कहना है कि उन्होंने बारात में केवल दो चम्मच रायता ही खाया था, जो आनंदा दूध से बना था। गौरतलब है कि मामले में शुरू से रायते को ही फूड प्वाइजनिंग के लिए दोषी ठहराया जा रहा था, अलबत्ता कुछ मरीजों ने चावल में कीटनाशक होने के कारण को भी इस घटना का मूल कारण बताया है।

पूर्व समाचार: फूड प्‍वाइ‍जनिंग से बीमार दो बच्चों व एक महिला सहित 3 की मौत, सीएम ने डीएम से मांगी रिपोर्ट

बागेश्वर, 1 दिसंबर 2018। बागेश्वर जिले के बास्ती गांव में शादी में खाना खाने के बाद फूड प्वाइजनिंग से बीमार दो बच्चों समेत एक महिला की मौत हो गई है, जबकि 257 बीमार लोगों को पिथौरागढ़ व बागेश्वर के विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा हैं। अभी तक 19 लोगों को हायर सेंटर हल्द्वानी रेफर कर दिया हैं। इनमें से 9 बीमार लोगों को अब तक एअर लिफ्ट कर एसटीएच हल्द्वानी में भर्ती कराया गया हैं। रेफर होने वालों का आंकड़ा अभी और बढ़ सकता हैं। कमिश्नर राजीव रौतेला ने पूरे मामले की मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दे दिए हैं। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बागेश्वर में फूड पाइजनिंग की घटना के बारे में डीएम बागेश्वर से रिपोर्ट मांगी है। सीएम आज हल्द्वानी में बीमारों से मिलेंगे, और सभी का सरकार निःशुल्क इलाज भी कराएगी।

उल्लेखनीय है कि गुरुवार को कपकोट विधानसभा के बास्ती गांव में शादी का भोजन खाने से 250 से अधिक लोग फूड प्वाइजनिंग का शिकार हो गए थे। इन सभी का बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिले के अस्पतालों में उपचार चल रहा है। शनिवार को उपचार के दौरान मोहित (5) पुत्र देव सिंह, प्रियांशी (9) पुत्री राजेंद्र महर और नंदी देवी (55) पत्नी प्रताप सिंह की मौत हो गई। पांच वर्षीय बालक मोहित की मौत बेरीनाग सीएचसी में हुई, जबकि प्रियांशी की हायर सेंटर ले जाते समय मौत हुई। वहीं नंदी देवी की सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी में उपचार के दौरान मौत हुई। इनके अलावा 6 अधिक लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है, जिन्हें हेलीकॉप्टर से हल्द्वानी हायर सेंटर भेजा गया है। इसके अलावा सीएससी कांडा में 46, कपकोट में 46 व जिला अस्पताल में 20 मरीज भर्ती हैं। जिला अस्पताल से 8 मरीजों को इलाज के लिए हायर सेंटर रेफर किया गया हैं। चिकित्सकों की कमी को देखते हुए बाहरी जिलों से चिकित्सक जिला मुख्यालय पहुंच रहे हैं। सीएससी बेरीनाग में हेलीकाप्टर के जरिये एक चिकित्सक भेज दिया हैं। वहीं नैनीताल व अल्मोड़ा से चिकित्सकों की टीम बागेश्वर पहुंच रही हैं। बागेश्वर में फिलहाल कोई गंभीर नही बताया जा रहा हैं। बास्ती गांव में डॉ. दीप कुमार व फार्मासिस्ट हरी प्रसाद को भेजा गया हैं। इसके अलावा पशु चिकित्सकों व जलसंस्थान की टीम भी भेजी गई हैं। यह लोग बीमार मवेशियों का भी इलाज करेंगे। जल संस्थान की टीम पानी का सैंपल लेगी।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बागेश्वर में फूड पाइजनिंग की घटना के बारे में डीएम बागेश्वर से रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने बीमार लोगों का समुचित उपचार सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। मुख्यमंत्री के निर्देश पर हेलीकाप्टर से गंभीर  रूप से बीमार व्यक्तियों को उपचार के लिए हल्द्वानी लाकर भर्ती कराया गया है। विशेषज्ञ चिकित्सकों को भी भेजा गया है। मुख्यमंत्री ने कमिश्नर कुमाऊं को भी जिलाधिकारी बागेश्वर के निरंतर संपर्क में रहने को कहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि फूड पाइजनिंग से बीमार लोगों को उपचार की हर प्रकार की सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। डीएम बागेश्वर ने बताया कि बीमार लोगों का बागेश्वर के सरकारी व निजी अस्पतालों में निश्घ्शुल्क इलाज किया जा रहा है

विषाक्त रायते ने फैला दिया ‘रायता’ ! पूर्व विधायक सहित 250 बाराती बीमार

बागेश्वर, 30 नवंबर 2018। बागेश्वर जिले के कपकोट ब्लॉक के ग्राम बास्ती में विषाक्त भोजन खाने से कपकोट के पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण समेत 250 से अधिक बाराती और घराती बीमार हो गए। इनमें अधिकतर घराती हैं। सूचना मिलने पर जिला प्रशासन ने गांव में डॉक्टरों की टीम भेजी। प्राथमिक उपचार के बाद मरीजों को बेड़ीनाग, कांडा और बागेश्वर के अस्पतालों में भर्ती किया गया। कई मरीजों का गांव में ही इलाज चल रहा है। कपकोट के पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण को उनकी गंभीर हालत के मद्देनजर अल्मोड़ा बेस अस्पताल में लाया गया जहां उनकी हालत में सुधार बताया जा रहा है। 
गडेरा निवासी हरीश सिंह गढ़िया के बेटे नंदन सिंह गढ़िया की बारात बृहस्पतिवार को बास्ती गांव में मोहन सिंह महर के घर गई थी। बाराती-घराती खाना खाकर घर चले गए थे। रात में लगभग दस बजे के करीब जिन-जिन लोगों ने बारात में खाना खाया था, उन्हें उल्टी-दस्त होने लगे तो हड़कंप मच गया। रातभर ग्रामीण परेशान रहे। शुक्रवार सुबह बागेश्वर जिला प्रशासन को सूचित किया गया। कपकोट विधायक बलवंत सिंह भौर्याल के निर्देश पर जिला प्रशासन ने डॉक्टरों की टीम को बास्ती गांव भेजा। प्रशासन ने बताया कि बास्ती, गडेरा, सनगाड़, थूमा और द्वारी गांवों के 250 से अधिक ग्रामीण बीमार हैं। इनमें से 152 से अधिक मरीज बेरीनाग अस्पताल, 42 कांडा और लगभग 14 मरीज बागेश्वर अस्पताल में मरीज भर्ती हैं। कपकोट के पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण व जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश ऐठानी के गनर नरेंद्र सिंह  को भी गंभीर हालत में जिला अस्पताल बागेश्वर में भर्ती किया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें अल्मोड़ा रेफर कर दिया गया। एसडीएम कांडा रिंकू बिष्ट, सीओ महेश जोशी सहित डॉ. बीएस रावत, केबी वर्मा, विक्रम वर्मा, मनोज कोरंगा, विक्रम कार्की ने बास्ती गांव जाकर मरीजों का हाल जाना और उनका प्राथमिक उपचार किया। कांडा, बेरीनाग, बागेश्वर से मंगाई गई पांच एंबुलेंसों से मरीजों को अस्पतालों में भेजा गया। एसडीएम रिंकू बिष्ट ने बताया कि 70 से अधिक लोगों का गांव में ही इलाज चल रहा है। डॉ. बीएस रावत ने बताया कि अधिकांश मरीजों की हालत में अब सुधार है।  

रायते के विषाक्त होने का अंदेशा, रायता खाने से बकरी भी बीमार 

बास्ती गांव में बारात के भोजन के दौरान किस खाने में विषाक्त होने के लक्षण थे, यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा लेकिन ग्रामीणों को आशंका है कि रायता विषाक्त होगा क्योंकि जिन लोगों ने रायता नहीं खाया वे बीमार नहीं हुए। ग्रामीणों ने बताया कि बारात में चंचल महर, इंदिरा देवी, तारा देवी, धन सिंह ने रायता नहीं खाया तो उन्हें फूड प्वॉइजनिंग नहीं हुई।  ग्रामीणों ने बताया कि रायते के विषाक्त होने का अंदेशा तब गहरा हो गया जब एक बकरी को रायता दिया तो वह भी बीमार हो गई। हालांकि, प्रशासन घटना की गहन जांच कर रहा है। जांच के बाद ही सही तथ्य सामने आएंगे।  

जिला पंचायत अध्यक्ष ने नहीं खाया रायता 

जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश ऐठानी, पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण ने साथ ही भोजन किया। पूर्व विधायक बीमार हो गए, लेकिन जिपं अध्यक्ष ठीक है। जिला पंचायत अध्यक्ष ने बताया कि उन्होंने रायता नहीं लिया जिससे अंदेशा लगाया जा रहा है कि रायता ही खराब था। जिला पंचायत अध्यक्ष का गनर नरेंद्र सिंह भी बीमार है।

यह भी पढ़ें : डंपर फिर बना काल, हल्द्वानी में सुबह ही लील लिया एक लाल, पुलिस ने बस बचा काम निपटाया…

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 28 फरवरी 2019। गली-बाजार, मार्केट, बच्चे-भीड़ कुछ न देखते और सबको रौंदते हुए चलते हुए ‘काल’ की उपाधि प्राप्त कर चुके हल्द्वानी के एक डंपर ने बृहस्पतिवार सुबह-सुबह भरे बाजार एक जिंदगी लील ली। प्राप्त जानकारी के अनुसार शहर के ट्रांसपोर्टनगर क्षेत्र में सुबह-सुबह ही डंपर ने घर से तैयार होकर स्कूटी पर दुकान के लिए निकले 23 वर्षीय युवक मो. उबेस पुत्र मो. अनीस को बुरी तरह से रौंद डाला। इससे उबेस की मौके पर ही मौत हो गयी। ऐसे में डंपरों की यमराज सी रफ्तार पर लगाम न कस पाने वाली पुलिस के लिए केवल युवक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने का ही काम बचा, और उन्होंने यह कर अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर ली।

यह भी पढ़ें : रविवार तड़के दुगड्डा में हुए हादसे में 3 की मौत, 5 घायल, दिल्ली से आ रहे थे घर

नवीन समाचार, दुगड्डा, 25 फरवरी 2019 । दिल्‍ली से बैजरो जा रहे एक बोलेरो वाहन नजीबाबाद-बुवाखाल नेशनल हाईवे पर दुगड्डा से करीब 5 किलोमीटर आगे अनियंत्रित होकर खाई में गिर गई। हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि पांच लोग घायल हो गए। घायलों को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है।

दुर्घटना सोमवार सुबह करीब साढ़े चार बजे की है। एक बोलेरो वाहन (संख्या यूके 12टीए0962) दिल्ली से बैजरो जा रहा था। कोटद्वार पौड़ी मार्ग पर थाना लैंसडाउन अंतर्गत ग्राम भदालीखाल के निकट अनियंत्रित होकर खाई में गिर गया। हादसे में तीन लोगों की मौत हो गए, जबकि पांच लोग घायल हो गए। सूचना पर कोतवाली लैंसडाउन पुलिस, फायर सर्विस, एसडीआरएफ मौके पर पहुंची और घायलों को कोतवाली लैंसडाउन की सरकारी गाड़ी से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र दुगड्डा पहुंचा गया।

मृतकों के नाम

1-महेश्वरी देवी (50 वर्ष) पत्नी आनंद सिंह रावत निवासी ग्राम चोर खंडा तल्ला पोस्ट चोर खंडा वेदिखाल तहसील थलीसैंण पौड़ी।

2-विनोद सिंह रावत (62 वर्ष) पुत्र रतन सिंह रावत निवासी ग्राम चोर खंडा तल्ला पोस्ट चोर खंडा वेदिखाल तहसील थलीसैंण पौड़ी।

3-ग्राम प्रधान अरविंद सिंह रावत (36 वर्ष) पुत्र मान सिंह रावत निवासी ग्राम चोर खंडा तल्ला पोस्ट चोर खंडा वेदिखाल तहसील थलीसैंण पौड़ी।

घायलों के नाम

1-नरेश सिंह (27 वर्ष)  पुत्र आनंद सिंह रावत निवासी ग्राम चोर खंडा तल्ला पोस्ट चोर खंडा वेदिखाल तहसील थलीसैंण पौड़ी।

2- यशवंत सिंह रावत (55 वर्ष) पुत्र ज्ञान सिंह रावत निवासी ग्राम चोर खंडा तल्ला पोस्ट चोर खंडा वेदिखाल तहसील थलीसैंण पौड़ी।

3-आनंद सिंह रावत (56 वर्ष) पुत्र चंदन सिंह रावत निवासी ग्राम चोर खंडा तल्ला पोस्ट चोर खंडा वेदिखाल तहसील थलीसैंण पौड़ी।

4:-दिनेश सिंह रावत (32 वर्ष) पुत्र आनंद सिंह रावत निवासी ग्राम चोर खंडा तल्ला पोस्ट चोर खंडा वेदिखाल तहसील थलीसैंण पौड़ी।

5-सूरज गुसाईं (24 वर्ष) पुत्र राजेंद्र सिंह निवासी ग्राम रिखवाड, बीरोंखाल।

यह भी पढ़ें : मानसिक रूप से कमजोर वृद्धा को कार ने टक्कर मारी, मौत

कुलदीप कुमार @ नवीन समाचार, भीमताल, 24 फरवरी 2019। निकटवर्ती खुटानी के सिंह रेस्टोरेंट के पास मानसिक रूप से कमजोर एक वृद्ध महिला की कार की चपेट में आने से मौत हो गई। हालांकि कार चालक स्वयं महिला को सीएचसी भीमताल लेकर पहुंचा, किंतु उसे बचाया नहीं जा सका, और चिकित्सकों ने महिला को मृत घोषित कर दिया। मृतक महिला के बेटे ने पुलिस को जानकारी दी है कि उसकी मां मानसिक रूप से कमजोर थी, और सालों से अपने भाई के साथ निकटवर्ती चांफी नाम के कस्बे में रह रही थी।
भीमताल के थानाध्यक्ष प्रमोद पाठक ने बताया कि निकटवर्ती चांफी में अपने भाई के साथ रहने वाली मोहनी देवी (80) पत्नी स्व. पदम सिंह मूल निवासी बल्दियाखान पटवाटांगर रविवार को घूमते हुए खुटानी आई थी जहा देर शाम उसे कार कार संख्या यूके04एक्स-5448 ने टक्कर मार दी। कार चालक हेमंत सिंह राणा पुत्र भूपाल सिंह राणा निवासी बेरीपड़ाव हल्द्वानी स्वयं बुरी तरह से घायल वृद्ध महिला मोहनी देवी को लेकर अस्पताल पहुंचा, किंतु उसे बचाया नहीं जा सका। मृतक के परिवार और वाहन चालक के बीच समझौते को लेकर बातचीत चल रही थी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। थानाध्यक्ष ने बताया तहरीर आने के बाद ही कारवाही की जाएगी। 

यह भी पढ़ें : सिडकुल की फैक्ट्री में जहरीली गैस का रिसाव, 7 महिला कर्मी बेहोश, हडकंप…

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 17 जनवरी 2019। सिडकुल की एलजीबी फैक्ट्री में जहरीली गैस का रिसाव होने से आधा दर्जन महिला कर्मी बेहोश ही गई हैं। इसका पता चलते फैक्ट्री प्रबंधन में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में उन्‍हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 17 जनवरी 2019। सिडकुल की एलजीबी फैक्ट्री में जहरीली गैस का रिसाव होने से आधा दर्जन महिला कर्मी बेहोश ही गई हैं। इसका पता चलते फैक्ट्री प्रबंधन में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में उन्‍हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

रुद्रपुर के सिडकुल के सेक्टर 9 स्थित बाइक की चेन बनाने वाली एलजीबी फैक्ट्री में बृहस्पतिवार दोपहर में फैक्ट्री में तैनात महिला कर्मचारी खाना खाने के लिए केबन में गई हुई थीं। इसी बीच कमरे में जहरीली गैस का रिसाव हो गया, जिससे सात महिला कर्मी बेहोश हो गईं। यह देख पीछे से आ रही महिला कर्मियों में भी हड़कंप मच गया। शोर सुनकर फैक्ट्री अधिकारी भी पहुंच गए। बेहोश महिला कर्मी रेनू, आर्किल यादव, रचना, रोली यादव, ज्योति, प्रियंका और कल्पना को फैक्ट्री के वाहन से निजी अस्पताल पहुंचाया। जहां उनकी हालत सामान्य बनी हुई है। इसका पता चलते ही सिडकुल चौकी प्रभारी केजी मठपाल पुलिस कर्मियों के साथ फैक्ट्री पहुंचे और घटना की जानकारी ली। फिलहाल पुलिस जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें : पुल गिरने सहित दो हादसों से हुई शुक्रवार की शुरुआत, 4 की मौत, कई घायल

नवीन समाचार, देहरादून/हल्द्वानी, 28 दिसंबर 2018। उत्तराखंड वासियों के लिए शुक्रवार की सुबह दो बड़े हादसों की खबर ले कर आई है। इन दो बड़े हादसों में देहरादून में एक पुल गिरने एवं हल्द्वानी में दो वाहनों की टक्कर में 2-2 यानी कुल चार लोगों की मौत एवं अन्य के घायल होने की खबर है। पुल टूटने से कई गांवों का दून से सीधा संपर्क भी टूट गया है। 
पहली घटना देहरादून में सुबह करीब 5 बजे की है। यहां गढ़ी कैन्ट से संतला देवी मंदिर को जोड़ने वाला 115 साल पुराना बीरपुर 9 नंबर पुल ढह गया। इस घटना में 3 व्यक्तियों के घायल व 2 व्यक्ति को मृत होने की खबर है। बताया जा रहा है कि अचानक ही यह लोहे का पुल पूरी तरह टूट कर गिर गया। जिस समय यह हादसा हुआ उस वक्त पुल पर एक डम्फर के पीछे दो बाइक होने की बात कही जा रही है। जिसमे बाइक संख्या यूके07एएस-6319 और यूके07के-5869 के सवार चलते चलते पुल के साथ नदी में जा गिरे। मृतकों के नाम धन बहादुर थापा पुत्र आरएस थापा निवासी बानगंगा बीरपुर, प्रेम थापा पुत्र तारा थापा निवासी डाकरा गढ़ी कैंट बताये गये हैं वहीं घायलों में शाहरुख पुत्र सगीर ढकरानी विकासनगर, जुल्फान पुत्र मंजूर हसन ढकरानी विकासनगर हैं, जबकि एक की पहचान नहीं हो पाई है।घायलों को एसडीआरएफ की टीम द्वारा सिनर्जी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।
वहीं दूसरी घटना में हल्द्वानी में बच्चीनगर, कमलुवागांजा रोड, लामाचौड़ में शुक्रवार सुबह करीब साढ़े पांच बजे हुए एक सड़क हादसे में दो लोगों की मौत हो गई। मारे एक व्यक्ति की ही शिनाख्त हो पाई है। हादसे में छोटा हाथी संख्या यूके 07सीएम 6259 व ट्रक संख्या यूके 04 सीए 3472 में आमने सामने की टक्कर हो गयी। हादसा इतना भयावह था कि छोटा हाथी में फंसे दो शवों को निकालने में गैस कटर का उपयोग करना पड़ा। वहीं ट्रक चालक और परिचालक वाहन को मौके पर ही छोड़कर फरार हो गए। मारे गए एक व्यक्ति की शिनाख्त बाघ सिंह पुत्र विजय सिंह बिष्ट निवासी जाख चमोली के रूप में हुई है। जबकि दूसरे व्यक्ति की शिनाख्त कराने का पुलिस प्रयासकर रही है।

नवीन समाचार, देहरादून/हल्द्वानी, 28 दिसंबर 2018। उत्तराखंड वासियों के लिए शुक्रवार की सुबह दो बड़े हादसों की खबर ले कर आई है। इन दो बड़े हादसों में देहरादून में एक पुल गिरने एवं हल्द्वानी में दो वाहनों की टक्कर में 2-2 यानी कुल चार लोगों की मौत एवं अन्य के घायल होने की खबर है। पुल टूटने से कई गांवों का दून से सीधा संपर्क भी टूट गया है। 
पहली घटना देहरादून में सुबह करीब 5 बजे की है। यहां गढ़ी कैन्ट से संतला देवी मंदिर को जोड़ने वाला 115 साल पुराना बीरपुर 9 नंबर पुल ढह गया। इस घटना में 3 व्यक्तियों के घायल व 2 व्यक्ति को मृत होने की खबर है। बताया जा रहा है कि अचानक ही यह लोहे का पुल पूरी तरह टूट कर गिर गया। जिस समय यह हादसा हुआ उस वक्त पुल पर एक डम्फर के पीछे दो बाइक होने की बात कही जा रही है। जिसमे बाइक संख्या यूके07एएस-6319 और यूके07के-5869 के सवार चलते चलते पुल के साथ नदी में जा गिरे। मृतकों के नाम धन बहादुर थापा पुत्र आरएस थापा निवासी बानगंगा बीरपुर, प्रेम थापा पुत्र तारा थापा निवासी डाकरा गढ़ी कैंट बताये गये हैं वहीं घायलों में शाहरुख पुत्र सगीर ढकरानी विकासनगर, जुल्फान पुत्र मंजूर हसन ढकरानी विकासनगर हैं, जबकि एक की पहचान नहीं हो पाई है।घायलों को एसडीआरएफ की टीम द्वारा सिनर्जी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।
वहीं दूसरी घटना में हल्द्वानी में बच्चीनगर, कमलुवागांजा रोड, लामाचौड़ में शुक्रवार सुबह करीब साढ़े पांच बजे हुए एक सड़क हादसे में दो लोगों की मौत हो गई। मारे एक व्यक्ति की ही शिनाख्त हो पाई है। हादसे में छोटा हाथी संख्या यूके 07सीएम 6259 व ट्रक संख्या यूके 04 सीए 3472 में आमने सामने की टक्कर हो गयी। हादसा इतना भयावह था कि छोटा हाथी में फंसे दो शवों को निकालने में गैस कटर का उपयोग करना पड़ा। वहीं ट्रक चालक और परिचालक वाहन को मौके पर ही छोड़कर फरार हो गए। मारे गए एक व्यक्ति की शिनाख्त बाघ सिंह पुत्र विजय सिंह बिष्ट निवासी जाख चमोली के रूप में हुई है। जबकि दूसरे व्यक्ति की शिनाख्त कराने का पुलिस प्रयासकर रही है।

पिथौरागढ़ के सीमावर्ती क्षेत्र में सड़क निर्माण के दौरान चट्टान गिरने से महिला सहित दो मजदूरों की दबकर मौत

नवीन समाचार, धारचूला, पिथौरागढ़, 27 दिसंबर 2018। पिथौरागढ़ जनपद के सीमावर्ती क्षेत्र में बन रहे तवाघाट-लीपूलेख सड़क निर्माण के दौरान शुक्रवार को एक दुर्घटना हो गयी। दुर्घटना में सड़क को काटे जाने के दौरान चट्टान नीचे कार्य पर लगे मजदूरों पर गिर गयी। दुर्घटना में एक महिला सहित दो मजदूरों की चट्टान के मलबे में दबने से मौके पर मौत होने की सूचना है।प्रारंभिक जानकारी के अनुसार शुक्रवार दोपहर 12 बजकर 36 मिनट पर तवाघाट-लीपूलेख सड़क पर गर्भाधार के निकट ग्रिफ द्वारा किये जा रहे कटिंग कार्य के दौरान भूस्खलन हो गया। जिसमें दबकर मजदूर भगवान दत्त (नेपाली) और दुर्गा देवी (भारतीय) की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना मिलने पर एसडीआरएफ और पांगला पुलिस व प्रशासन की टीमें मौके के लिए रवाना हो गई हैं। दूरस्थ क्षेत्र होने के कारण घटना की अधिक जानकारी नहीं मिल पाई है।

Loading...

Leave a Reply