News

बेंकिंग-अपडेट: कोसी नदी में बही महिला का शव 48 घंटे बाद बरामद, 4-4 लाख की अनुग्रह राशि भी स्वीकृत

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अग्निकांड में बीपीएल परिवार का सब कुछ हुआ खाक, मांग कर खाने की नौबत

लता देवी


नवीन समाचार, नैनीताल, 7 जुलाई 2020। दो दिन पूर्व रविवार की सुबह घास लेकर लौटते हुए कोसी नदी में बही तीन महिलाओं में से तीसरी महिला, 26 वर्षीय लता देवी पत्नी हरेंद्र सिंह बिष्ट का शव मंगलवार सुबह घटना के करीब 48 घंटे बाद बरामद हो गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतका के परिजन सुबह से ही उसकी नदी किनारे तलाश कर रहे थे। सुबह करीब साढ़े आठ बजे उसका शव घटना स्थल से करीब डेढ़ किलोमीटर आगे नदी किनारे झाड़ियों में फंसा हुआ देखा गया। इस पर परिजनों ने प्रशासन को सूचना दी। इस पर राजस्व उप निरीक्षक गौरव रावत, नायब तहसीलदार सुभांगिनी, एसडीआरएफ, जल पुलिस व चौकी पुलिस के जवान मौके पर पहुंचे और एसडीआरएफ के जवानों ने शव को बरामद करवाया। इसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। उल्लेखनीय है कि रविवार के बाद सोमवार को भी उसकी तलाश की गई थी, लेकिन तब शव नहीं मिल पाया था।
उल्लेखनीय है कि इस घटना में 30 वर्षीय कमला देवी पत्नी राजेंद्र सिंह जलाल, 30 वर्षीय ललिता देवी पत्नी दलीप सिंह के शव घटना के दिन ही घटनास्थल से करीब 500 मीटर एवं एक किलोमीटर की दूरी पर बरामद किये गये थे। राजस्व उप निरीक्षक गौरव रावत ने बताया कि पूर्व में मिल चुकी दोनों महिलाओं की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद जिलाधिकारी सविन बंसल ने राजस्व विभाग की रिपोर्ट पर दोनों महिलाओं के परिजनों को आपदा मद से अनुग्रह राशि के रूप में चार-चार लाख रुपए स्वीकृत कर दिये हैं। यही प्रक्रिया अब तीसरी महिला के लिए भी अपनाई जाएगी।

यह भी पढ़ें : नैनीताल बिग ब्रेकिंग, ‘नवीन समाचार’ एक्सक्लूसिव: तीन महिलाएं नदी में बहीं, 2 के शव बरामद, एक की तलाशी का अभियान रोका..

नवीन समाचार, नैनीताल, 5 जुलाई 2020। पशुओं के चारा-पत्ती के लिए निकली तीन महिलाओं के साथ पहली बरसात में ही बड़ा हादसा हो गया है। जनपद मुख्यालय से करीब 35 किमी दूर अल्मोड़ा रोड पर चमड़िया-लोहाली के पास तीन महिलाओं के कोसी नदी में डूबने की सूचना है। सूचना के बाद एसडीआरएफ, पुलिस एवं राजस्व विभाग की टीमें नदी में महिलाओं की तलाश में जुट गई हैं। 2 महिलाओं के शव बरामद कर लिये गये हैं। वहीँ देर शाम तक तीसरी महिला का शव नहीं मिल पाया है। अलबत्ता एसडीआरएफ ने नदी में जाल लगा रखा है। रात्रि हो जाने के कारण फिलहाल उसकी तलाश का अभियान रोक दिया गया है। बताया गया है कि अब सोमवार सुबह पुनः उसकी तलाश के लिए अभियान चलाया जाएगा। 

उफनती कोसी नदी के पार एसडीआरएफ द्वारा महिला का शव बरामद करते एसडीआरएफ के जवान।

क्षेत्रीय राजस्व उप निरीक्षक गौरव रावत ने बताया कि क्षेत्रीय ग्राम चमड़िया निवासी तीन महिलाएं सुबह रोज की तरह कोसी नदी को पार कर जंगल में घास लेने गई थीं। सुबह करीब आठ-साढ़े आठ बजे जब वे घास के गट्ठर सिर पर लेकर लौट रही थीं, तब तक नदी में पानी बढ़ गया था। आसपास कोई पुल इत्यादि भी नहीं था। इसलिये वे तीनों सिर में घास लेकर और आपस में हाथ पकड़कर नदी पार कर रही थीं, लेकिन पानी के तेज बहाव के आगे वे ठहर नहीं पाईं और नदी में बह गईं। दूर से कुछ लोगों ने उन्हें बहते देखा तो पुलिस-प्रशासन को सूचना दी। इस पर तत्काल ही एसडीआरएफ ने पहुंचकर नदी में महिलाओं की तलाश शुरू की। करीब डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद एक महिला का शव घटना स्थल से करीब आधा किलोमीटर दूर नदी के दूसरी ओर बरामद किया जा सका है। उसकी पहचान पहचान 30 वर्षीय कमला देवी पत्नी राजेंद्र सिंह जलाल के रूप में हुई। वहीं अपराह्न में करीब एक किलोमीटर दूर दूसरी महिला का शव बरामद हो सका। तीसरी की तलाश भी की जा रही है। उनकी पहचान 30 वर्षीय ललिता देवी पत्नी दलीप सिंह व 26 वर्षीय लता देवी पत्नी हरेंद्र सिंह बिष्ट के रूप में हुई है। मौके पर कोश्यां-कुटौली की एसडीएम ऋचा सिंह सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद हैं।

यह भी पढ़ें : नैनीताल: कोरोना आइसोलेशन सेंटर के पास चलते गैस सिलेंडरों के वाहन पर गिरा बिजली का खंभा..

-सिलेंडर खाली थे, भरे होते तो हो सकता था बड़ा हादसा, बरसात में भूस्खलन की वजह से गिरा बिजली का खंभा
नवीन समाचार, नैनीताल, 30 जून 2020। मंगलवार को मुख्यालय में कोरोना मरीजों के उपचार के लिए आइसोलेशन सेंटर के रूप में प्रयुक्त किये जा रहे कालाढुंगी रोड धामपुर बैंड के पास स्थित रियो ग्रांड होटल के पास एक बिजली का खंभा अचानक एक चलते हुए गैस सिलेंडरों के वाहन पर गिर पड़ा। गनीमत रही कि वाहन में गैस सिलेंडर खाली थे। यदि भरे होते और बिजली के खंभे के गिरने से वाहन में करंट आ जाने से स्पार्क हो जाता तो गैस सिलेंडरों में धमाके के साथ हादसे की भयावहता की कल्पना करना भी मुश्किल होता। लेकिन कोई बड़ी दुर्घटना नहीं हुई। अलबत्ता इस दौरान कुछ देर दोनों ओर वाहनों की कतार लग गई। बताया गया है कि बिजली के खंभे के नीचे बरसात की वजह से हुए भूस्खलन के कारण बिजली का खंभा गिर गया था।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : घने कोहरे में भवाली रोड पर कार खाई में गिरी, नगर के चार युवक थे सवार

नवीन समाचार, नैनीताल, 29 जून 2020। सरोवरनगरी के खासकर तल्लीताल क्षेत्र में सोमवार को दिन से ही छाये बेहद घने कोहरे की वजह से एक कार खाई में गिर गई। हादसा भवाली रोड पर मुख्यालय से करीब पांच किमी दूर पाइंस की हाइडिल कॉलोनी के पास हुआ। यहां भवाली से नैनीताल को आ रही कार संख्या यूके07डीओ-0319 में नगर के ही चार युवक शामिल थे। सूचना मिलने पर तल्लीताल थाना पुलिस ने चारों को खाई से बाहर निकाला और बीडी पांडे जिला चिकित्सालय पहुंचाया। गनीमत रही कि चारों युवक सुरक्षित हैं। किसी को भी गंभीर चोटें नहीं हैं।

यह भी पढ़ें : कार की टक्कर से स्कूटी सवार युवतियां घायल

नवीन समाचार, नैनीताल, 28 जून 2020। हल्द्वानी रोड पर तल्लीताल के पास एक कार की टक्कर से स्कूटी सवार दो युवतियां घायल हो गईं। उन्हें राहगीरों ने बीडी अस्पताल पहुंचाया। गनीमत रही कि दोनों को कम चोटें आईं, इसलिए उन्हें प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई।
प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार को प्रियंका व भारती नाम की दो युवतियां स्कूटी से हल्द्वानी की ओर जा रही थीं, तभी तल्लीताल धर्मशाला के पास उनकी स्कूटी को विपरीत दिशा से आ रही कार संख्या यूके04वाई-8999 ने टक्कर मार दी। दोनों को जिला अस्पताल ले जाया गया। वहां से उन्हें प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई।

यह भी पढ़ें : सुबह ड्यूटी पर जा रहे शिक्षक की कार पर विशाल पेड़ गिरा…

नवीन समाचार, कालाढूंगी, 24 जून। हल्द्वानी के लामाचौड़ से ड्यूटी पर आ रहे शिक्षक की कार के ऊपर कालाढुंगी-भाखड़ा के पास एक विशाल पेड़ गिर गया। गनीमत रही कि शिक्षक ने पेड़ को सामने से गिरते हुए कुछ क्षण पहले देख लिया था। उन्होंने पेड़ को गिरते देखते ही गाड़ी के तेज ब्रेक लगाए, इससे गाड़ी का अगला हिस्सा ही पेड़ की चपेट में आया, और वे बाल-बाल बच गए। उन्हें मामूली चोटें ही आईं। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उन्हें अस्पताल पहुंचाया और पेड़ को कटवा कर सड़क से हटाया। इस दौरान सड़क के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई।
प्राप्त जानकारी के अनुसार लामाचौड़ के बच्ची नगर निवासी त्रिलोचन जोशी राजकीय इंटर कॉलेज कालाढूंगी में तैनात हैं। वह सुबह अपनी वैगनआर कार से कालाढूंगी ड्यूटी के लिए जा रहे थे। निहाल जंगल के पास तेज बारिश के दौरान एक विशाल पेड़ अचानक उनकी कार के ऊपर गिर गया, जिस कारण उनकी कार क्षतिग्रस्त हो गई। मौके पर पहुंचे कालाढूंगी थाने के उप निरीक्षक ने नितिन बहुगुणा ने यातायात सुचारू करवाया।

यह भी पढ़ें : हृदयविदारक : अपनी गाड़ी के पिछले पहिये के नीचे आ गया ग्राम प्रधान के डेढ़ वर्षीय बच्चे का सिर

रो-रो कर माता पिता अपने बच्चे को पुकारते रहेनवीन समाचार, नैनीताल, 19 जून 2020। मुख्यालय के निकटवर्ती ग्राम थापला में शुक्रवार सुबह एक दुखद हादसे में ग्राम प्रधान नीमा देवी पत्नी दीपक नेगी के करीब डेढ़ वर्षीय बच्चे दिव्यांश की मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार बच्चा घर के पास खड़ी अपने चाचा की पिक अप वैन के पास खेल रहा था। इस दौरान जब वह वाहन के पिछले पहिये के पास था, तभी उसका चाचा ईश्वर नेगी वाहन को ले जाने के लिए बैक करने लगा। बच्चा पीछे है, इसकी उसे जानकारी नहीं थी। ऐसे में बच्चे का सिर गाड़ी के पहिए के नीचे आकर कुचल गया। परिजन बच्चे को बचाने की कोशिश में उसे बीडी पांडे जिला चिकित्सालय लेकर आए। जिला चिकित्सालय के वरिष्ठ फिजिसियन डॉ. एमएस दुग्ताल ने बताया कि अस्पताल पहुंचने से पहले ही बच्चे की मौत हो चुकी थी। मल्लीताल कोतवाली पुलिस के द्वारा बच्चे का पंचनामा भरने की कार्रवाई की जा रही है। बच्चा अपने माता-पिता की इकलौती संतान था।

यह भी पढ़ें : दोमंजिले घर की छत से गिरी पांच वर्ष की मासूम, हालत गंभीर

नवीन समाचार, नैनीताल, 13 जून 2020। नगर के तल्लीताल क्षेत्र में धर्मशाला के पास रहने वाली एक पांच वर्षीया मासूम बच्ची दो मंजिले घर की छत से गिर गयी। परिजन उसे लेकर तत्काल उपचार के लिए बीडी पांडे जिला चिकित्सालय लेकर पहुंचे। यहा प्राथमिक उपचार के उपचार उसे हल्द्वानी के उच्च केंद्र के लिए संदर्भित कर दिया गया है। चिकित्सकों के अनुसार बच्ची के सिर में गंभीर चोट है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार तल्लीताल स्थित लाला परमा साह धर्मशाला के पास रहने वाले नेपाली मजदूर लाल बहादुर की पांच वर्षीय बेटी शनिवार दोपहर दो मंजिले घर की छत पर खेल रही थी, तभी करीब 12 बजे वह अनायास ही करीब 15 फिट की ऊंचाई की छत से जमीन पर आ गिरी। इससे उसके सिर व अन्य अंगों में काफी चोट आई। चिकित्सकों को दिखाने के बाद परिजन उसे लेकर हल्द्वानी रवाना हो गये हैं। जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डा. केएस धामी ने बताया कि बच्ची के सर में काफी गंभीर चोट है। इसके उपचार, सीटी स्कैन, एमआरआई आदि के लिए उसे हल्द्वानी भेजा गया है।

नैनीताल के बजून में करंट लगने से वैल्डर की मौत

यह भी पढ़ें : बिजली का झटका लगने से युवक की मौत…

नवीन समाचार, नैनीताल, 12 जून 2020। मुख्यालय के निकटवर्ती बजून बाजार में वैल्डिंग की दुकान चलाने वाले समीपवर्ती खुर्पाताल निवासी  45 वर्षीय युवक मदन राम पुत्र अमर राम की बिजली का झटका लगने से दर्दनाक मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक वेल्डिंग का काम करता था। शुक्रवार को वेल्डिंग करने के दौरान ही अचानक वह बिजली के खुले तारों की चपेट में आ गया। परिजन व आसपास के लोग उसे तुरंत बीडी पांडे जिला चिकित्सालय लाये। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
मृतक अपने पीछे 8 व 6 वर्षीय तथा व 6 माह के तीन बेटे व पत्नी प्रेमा देवी सहित परिवार को शोक संतप्त छोड़ गया है। पुलिस ने शव को पंचायतनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

यह भी पढ़ें : देवरानी-जेठानी की मौत की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश, अवैध खनन, सड़कों की दुर्दशा भी उभरने के आसार

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 जून 2020। गत सात जून को जनपद के जमरानी क्षेत्र में ग्राम डहरा पट्टी पूर्वी छः खाता तहसील व जिला नैनीताल में एक दो पहिया स्कूटी के रोड से करीब 200 मीटर गहरी खाई में गिर जाने से आपस में देवरानी-जेठानी एवं पुलिस कर्मियों की पत्नियों नेहा जोशी तथा मीना जोशी की मृत्यु हो गई थी। डीएम सविन बंसल ने इस मामले की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दे दिये हैं। नैनीताल के एसडीएम विनोद कुमार को जॉच अधिकारी नामित किया गया है। यह जानकारी देते हुए एसडीएम कुमार ने कहा कि इस वाहन दुर्घटना के कारणों के संबंध में जानकारी रखने वाले लोग 15 दिन के अंदर अपना लिखित या मौखिक बयान व साक्ष्य उनके कार्यालय में प्रस्तुत कर सकते हैं। माना जा रहा है कि मामले की जांच में जमरानी क्षेत्र में हो रहे अवैध खनन, खनन वाहनों के अधिक भरकर एवं अधिक गति से चलते हुए क्षेत्रीय लोगों की जान जोखिम में डालने एवं सड़क किनारे पुश्ते न होने जैसे कारण भी उभर कर आएंगे।

यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग: दो सगे भाई पुलिस कर्मियों की पत्नियों के साथ दुःखद हादसा, स्कूटी सहित गौला नदी में गिरकर दर्दनाक मौत

नवीन समाचार, भीमताल, 7 जून 2020। जनपद के भीमताल थाना क्षेत्र के अंतर्गत जमरानी क्षेत्र में दो महिलाओं की स्कूटी के गौला नदी में गिरने से दर्दनाक मौत हो गई। उनकी पहचान 24 वर्षीय नेहा जोशी पत्नी नवीन जोशी एवं मीना जोशी पत्नी सुरेश जोशी निवासी ग्राह डहरागांव, जमरानी जिला नैनीताल के रूप में हुई है। उल्लेखनीय है दोनों के पति आपस में सगे भाई और पुलिस विभाग में कार्यरत हैं। नवीन जोशी अल्मोड़ा में उप निरीक्षक यानी दरोगा के पद पर और सुरेश जोशी हरिद्वार जनपद में आरक्षी यानी सिपाही के पद पर कार्यरत हैं।
भीमताल के थाना प्रभारी कैलाश जोशी ने बताया कि हादसा शाम करीब साढ़े छह बजे हुआ। बताया जा रहा है कि दोनों महिलाएं स्कूटी चलाना सीख रही थीं, तभी उनकी स्कूटी अनियंत्रित होकर सड़क से करीब 50 मीटर नीचे बहती गौला में जा गिरी। हादसे में दोनों महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गयी। पुलिस ने दोनों शवों को खाई से बमुश्किल सड़क पर लाकर, पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है।

यह भी पढ़ें : अब दिल्ली से लौट रहे प्रवासियों के साथ हादसा, तीन की मौत, दो अन्य घायल

नवीन समाचार, चंपावत, 15 मई 2020। प्रवासियों के साथ हादसों की घटनाएं भी रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। प्रदेश के बागेश्वर जनपद के प्रवासियों के साथ मध्य प्रदेश के गुना में बीती रात्रि हुई दुर्घटना के बाद अब टनकपुर चंपावत आल वैदर रोड पर सूखीढांग के समीप प्रवासियों की कार के दुर्घटनाग्रस्त होने की खबर है। इस दुर्घटना में प्रवासियों की कार के खाई में जा गिरने से 3 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 2 लोग गंभीर रूप से घायल हुए है। बताया गया है कि लॉक डाउन में दिल्ली में फंसे पिथौरागढ़ के पांच लोग दिल्ली से दिल्ली नंबर की इनोवा गाड़ी गाड़ी बुक कर गाड़ी से अपने गांव पिथौरागढ़ जा रहे थे, तभी यह दुर्घटना हुई। घायलों का टनकपुर के संयुक्त चिकित्सालय इलाज में चल रहा हैं। सभी लोग पिथौरागढ़ जिले के बताए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें : विद्युत लाइन ठीक करते लाइनमैन की करंट लगने से नाले में गिरने से मौत

नवीन समाचार, नैनीताल 8 मई 2020। भीमताल विधानसभा के ओखलकांडा ब्लॉक के ग्राम पश्या निवासी विद्युत विभाग में लाइनमैन के रूप में कार्यरत नारायण दत्त फुलारा (23) पुत्र सदानंद फुलारा की शुक्रवार को विद्युत लाइन का सुधार करते समय विभागीय लापरवाही के कारण करंट लगने से मृत्यु हो गयी। सूचना मिलने पर क्षेत्रीय विधायक राम सिंह कैड़ा ने डीएम नैनीताल, अधिशासी अभियंता विद्युत नैनीताल व एसडीएम धारी को फोन कर लाइनमैन की मृत्यु के कारणों की स्पष्ट जांच करने की मांग की है। विधायक ने कहा कि ठेकेदार की लापरवाही की वजह से हादसा हुआ है। उन्होंने दोषियों के खिलाफ कार्यवाई की मांग करते हुए मृतक के परिवार को मुआवजा देने की मांग भी की है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार धारी तहसील के के दूरस्थ विकासखंड ओखलकांडा के ग्राम सभा पश्या में बिजली की लाइन टूटी हुई थी। लाइनमैन नारायण दत्त फुलारा जब शट डाउन लेकर लाइन ठीक कर रहे थे, तभी अचानक बिजली आ गई और इसकी चपेट में आने से वह निकट की नदी (गधेरे) में जा गिरे, इससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। ग्राम प्रधान गीता कुड़ाई व उनके पति भोला दत्त कुड़ाई ने मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी तत्काल विद्युत विभाग और राजस्व विभाग को दी। राजस्व विभाग ने मोके पर पहुँचकर शव को अपने कब्जे में लेकर पीएम को नैनीताल मुख्यालय भेजा। वही घटना ने कारणों की जांच भी शुरू कर दी है। घटना के बाद मृतक के घर में चार भाई और दो बहनों तथा माता-पिता का रो-रो कर बुरा हाल है।
उप जिलाधिकारी धारी अनुराग आर्य ने बताया परिजनों की ओर से घटना की तहरीर पुलिस को सौंपी गई है। जिसके आधार पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा। मौके पर नायब तहसीलदार तानिया रजवार कानूनगो शकील अहमद और पटवारी पूरन सनवाल सहित अन्य को भेजकर घटना की जानकारियां जुटाई जा रही है। घटना के कारणों का जल्द पता लगा दिया जाएगा। वहीं विद्युत विभाग के एसडीओ संजय प्रसाद के अनुसार दो लाइनमैनों ने एक साथ ही शटडाउन लिया था। दोनों ने कॉन्फ्रेंस कॉल करके शटडाउन वापस लेने को कहा था। इसकी पुष्टि दूसरे लाइनमैन दीपक बर्गली ने भी की है। एसडीओ प्रसाद का कहना है मृतक नारायण कैसे करंट की चपेट में आया यह जांच का विषय है। उधर पश्या की ग्राम प्रधान गीता कुडाई व कूकना के पूर्व ग्राम प्रधान मदन नोलिया ने मांग की कि मृतक के परिजन को सरकार आर्थिक मुआवजा देने के साथ ही एक व्यक्ति को विभाग में नौकरी देने तथां मृतक के परिजनों को आर्थिक मदद देने के साथ ही उनको एक सरकारी नौकरी विभाग देने की मांग की है।

यह भी पढ़ें : मध्य रात्रि तक लूडो खेल रहे थे, फिर शायद मौत बुला ले गई…

नवीन समाचार, देहरादून, 15 अप्रैल 2020। राजधानी देहरादून में फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट के पास शुक्रवार तड़केएक तेज रफ्तार कार पेड़ से टकरा गई। हादसे में एक की मौत हो गई, जबकि एक घायल है। परिवार जनों का कहना है कि दोनों देर रात्रि तक घर पर ही थे और लूडो खेल रहे थे। उसके बाद जब परिवार जन सो गए तो ये दोनों चुपके से बिना बताए निकल गए, उनके निकलने का कोई भी कारण नहीं पता है।
जानकारी के मुताबिक देर रात करीब एक बजकर 40 मिनट पर पुलिस को हादसे की सूचना मिली कि सफेद वरना कार हादसे में बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई है। हादसे में दो लोग घायल हुए। घायलों की पहचान सतनाम सिंह पुत्र पंजाब सिंह और मोहम्मद अर्श पुत्र जाहिद हुसैन दोनों निवासी हेमहुंज कॉलोनी के रूप में हुई। हालांकि बाद 108 इमरजेंसी एंबुलेंस द्वारा मोहम्मद अर्श को मौके पर ही मृत घोषित कर दिया गया। जबकि सतनाम को महंत इंद्रेश अस्पताल ले जाया गया। अर्श के शव को फायर सर्विस के वाहन द्वारा कोरोनेशन अस्पताल पहुंचाया गया। दोनों के परिजनों को मामले की सूचना दी गई। क्षतिग्रस्त कार और पेड़ को क्रेन द्वारा हटाया गया।

यह भी पढ़ें : रामगंगा नदी में नहाने के दौरान भंवर में फंसने से तीन युवकों की डूब कर मौत

नवीन समाचार, अल्मोड़ा, 4 अप्रैल 2020। जनपद के भिकियासैंण क्षेत्र के फलसों गांव के तीन तीन युवकों की शनिवार को रामगंगा नदी में नहाने के दौरान भंवर में फंसने से डूब कर मौत हो गई। गोताखोरों ने उनके शवों को बाहर निकाला। युवकों की मौत से क्षेत्र में शोक की लहर छा गई है। मृतकों की पहचान दीपक 19 वर्ष, वीरेंद्र 27 वर्ष तथा चंदन सिंह 25 वर्ष के रूप में हुई है।
बताया गया है फलसों गांव के 7 युवक शनिवार दोपहर करीब 12 बजे रामगंगा नदी में नहाने के लिए गए थे। नहाने के दौरान उनमें से तीन नदी के तेज बहाव में बह कर दुगली बाग के नीचे पुल के पास बने भंवर में फंस गए। शेष युवकों ने इस पर हल्ला मचाया। इस पर कई लोग उनकी मदद को दौड़े। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने गोताखोर बुलाए जिसके बाद तीनों के शरीरों को नदी से निकाला जा सका। तब तक उनकी मौत हो चुकी थी।

यह भी पढ़ें : ब्रेकिंग : दुर्घटना में इंजीनियर सहित तीन लोगों की दर्दनाक मौत

नवीन समाचार, गोपेश्वर, 21 मार्च 2020। चमोली जनपद में शनिवार सुबह हुई एक दुर्घटना में एक इंजीनियर सहित तीन लोगों की मौत हो गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार सुबह 5 बजे बद्रीनाथ हाईवे पर चमोली जनपद के चाडे नाम के स्थान के पास चल रहे मार्ग चौड़ीकरण के कार्य के दौरान यह हादसा हुआ। इसी दौरान पहाड़ी से बोल्डर व भारी मात्रा में मलबा चौड़ीकरण के कार्य मे लगी जेसीबी पर आ गिरा, और तीन लोग इसकी चपेट में आकर मलबे में दब गए। सूचना पर पुलिस-प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची और लोगों की मदद से राहत बचाव के कार्य किये। जब तक दबे लोगों को मलबे से बाहर निकाला जा सका, तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। मरने वालों में 2 जेसीबी आपरेटर और एक इंजीनियर है।

यह भी पढ़ें : 30 मीटर ऊंची छत से गिरकर व्यक्ति की मौत

नवीन समाचार नैनीताल, 18 मार्च 2020। बुधवार को मुख्यालय में एक व्यक्ति करीब 30 मीटर ऊंची छत से नीचे गिर कर गंभीर रुप से घायल हो गया। उसे गंभीर स्थिति में बीडी पांडे जिला चिकित्सालय लाया गया और यहां से प्राथमिक उपचार के उपरांत उसे हल्द्वानी के निजी अस्पताल ले जाया जा रहा था। इस बीच रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार 43 वर्षीय मोहम्मद कामिल उर्फ गुड्डू पुत्र स्वर्गीय खलील नगर के शेरवुड कॉलेज के परिसर में रहता था और कपड़े धोने का कार्य करता था। इसी दौरान छत पर कपड़े सुखाने के दौरान वह दोपहर करीब 12 बजे छत से नीचे गिर गया परिजन उसे शेरवुड कॉलेज की एंबुलेंस की मदद से बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में उपचार के लिये लाया गया। उसके सिर में काफी चोट थी एवं काफी खून बह रहा था। प्राथमिक उपचार के उपरांत उसके सिर की चोट को देखते हुए उसे हल्द्वानी रेफर किया गया था। इस पर परिजन उसे हल्द्वानी ले जा रहे थे। रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। शेरवुड कॉलेज के प्रबंधक बासु साह ने बताया कि मृतक खलील कॉलेज का कर्मचारी नहीं है, अलबत्ता उनका परिवार कॉलेज परिसर में ही रहता है। वह 12 भाइयों में एक था। उसकी एक पुत्री सेंट मेरीज कान्वेंट में पढ़ती है।

यह भी पढ़ें : 2 कारें व स्कूटी टकराये.. 1 की मौत, महिला-बच्ची घायल

नवीन समाचार, रामनगर, 10 मार्च 2020। मंगलवार को पीरूमदारा के पास 2 कारें व एक स्कूटी में भीषण टक्कर हो गई। हादसे में स्कूटी सवार एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि स्कूटी सवार के पीछे बैठी युवती और एक बच्ची हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गये, उन्हें उपचार के लिए रामनगर चिकित्सालय लाया गया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार रामनगर में लगातार दूसरे दिन हुई इस सड़क दुर्घटना में पहले एक स्विफ्ट कार ने स्कूटी सवार को टक्कर मारी। इसी बीच अनियंत्रित होकर आई एक ऑल्टो कार भी पीछे से स्विफ्ट कार व बिजली के पोल से टकरा गई। कार की टक्कर से बिजली के तार भी झूलकर जमीन पर गिर गये। हादसे के बाद हाईवे पर गाड़ियों की लंबी कतार लग गई। मौके पर पहुँची पुलिस ने किसी तरह जाम खुलवाया। उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व बीती रात भी यहां एक सड़क दुर्घटना में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। 

यह भी पढ़ें : हाईकोर्ट के अधिवक्ता चैंबर चैंबर क्षतिग्रस्त

शनिवार को अधिवक्ता चैंबरों की छत तोड़कर भीतर घुसी पॉपुलर की विशाल शाखा।

नवीन समाचार, नैनीताल 7 मार्च 2020। सरोवरनगरी में हुई बारिश-बर्फबारी के दौरान एक विशाल पेड़ की शाखा उत्तराखंड हाईकोर्ट के अधिवक्ता चैंबरों में गिरने की सूचना प्राप्त हुई। पेड़ से चैंबर संख्या 61 व 62 बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए। चैंबरों की छत टूट जाने से अंदर पानी आ गया और चैंबर में रखी अधिवक्ताओं व वादकारियों की विभिन्न वादों से संबंधित फाइलें और कुर्सी, मेज व टेबल आदि बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गईं। प्राप्त जानकारी के अनुसार वन विभाग ने अभी तक पेड़ों को चैंबर से हटाया नहीं है। वन विभाग के उप राजिक हीरा सिंह शाही ने बताया कि सुबह करीब आठ बजे अधिवक्ता चैंबरों पर पॉपुलर की मोटी शाखा गिरी थी। जिसे हटा दिया गया है। शाखा के गिरने से चैंबर बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए हैं।
बताया गया कि करीब 6 माह पूर्व भी उससे पूर्व भी इस पेड़ की टहनियां चैंबरों पर गिरती रहती हैं। वन विभाग से काफी समय से पेड़ को हटाने को कहा गया है। वरिष्ठ अधिवक्ता एवं एडीशनल एडवोकेट जनरल जेपी जोशी, दिनेश गहतोड़ी, प्रकाश बिष्ट आदि का है। गनीमत रही कि जिस समय पेड़ की शाखा गिरी उस समय चैंबर में कोई नहीं था, अन्यथा बड़ी जनहानि भी हो सकती थी।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड : चलती बस में लगी आग, 35 यात्री थे सवार…

Blog single photoनवीन समाचार, ऋषिकेश, 1 मार्च 2020। हरिद्वार से देहरादून जा रही एक बस में आग लग गई और बस धू -धू कर जल गई लेकिन ड्राइवर की सूझबूझ के कारण बस में सवार सभी 35 यात्री सकुशल बच गए।
रविवार की शाम को राष्ट्रीय राजमार्ग पर थाना रायवाला अंतर्गत आर टी सैट पर पुलिस कन्ट्रोल रूम ऋषिकेश द्वारा संदेश प्रसारित किया गया कि रायवाला थाना क्षेत्रान्तर्गत राष्ट्रीय राजमार्ग तीन पानी पुलिया के पास उत्तराखंड राज्य परिवहन निगम की बस में आग लगी है। उक्त सूचना पर तत्काल थानाध्यक्ष रायवाला पुलिस फोर्स के साथ घटना स्थल पर पहुंचे तो बस संख्या-यूके08पीए-0254 में आग लगी हुई थी। बस में सवार सभी 35 यात्रियों को समय से ही सुरक्षित निकालकर अन्य बसों के माध्यम से उनके गन्तव्यों के लिए रवाना कर दिया गया। थाना रायवाला पुलिस फोर्स व फायर सर्विस ऋषिकेश द्वारा तत्काल बस में लगी भीषण आग को बुझाया गया। इस हादसे में किसी भी सवारी को कोई हानि नहीं हुई है। इस घटना के सम्बन्ध में बस चालक सुरेन्द्र सिंह ने बताया कि वह हरिद्वार से 35 सवारी लेकर देहरादून जा रहा था। उसी दौरान राष्ट्रीय राजमार्ग पर तीनपानी पुलिया के पास अचानक चलते – चलते बस के इंजन से धुआं निकलने लगा। देखते ही देखते बस ने आग पकड़ ली। पुलिस व फायर सर्विस द्वारा की गयी त्वरित कार्रवाई से उक्त भीषण आग पर काबू पा लिया गया। 

यह भी पढ़ें : भीमताल झील में समाई कार, 2 लोग थे सवार, दोनों की मौत

नवीन समाचार, भीमताल (नैनीताल) 24 फरवरी 2020। मुख्यालय के निकटवर्ती भीमताल झील में एक स्विफ्ट डिजायर कार के डूबने से कार में सवार 2 लोगों की मौके पर ही मृत्यु हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार कार में 2 लोग ही सवार थे। इनमें से एक की पहचान भीमताल के ‘राम निवास’ निवासी 20 वर्षीय ललित प्रसाद पुत्र गोपाल राम एवं दूसरे की कुलदीप साह पुत्र नंद लाल साह निवासी हवालबाग जिला अल्मोड़ा के रूप में हुई है। घटना रविवार सुबह करीब सवा सात बजे की बताई जा रही है। पुलिस एवं एसडीआरएफ बलों के द्वारा क्रेन की मदद से दोनों कार सवारों को झील से बाहर निकाल लिया गया है। दुर्घटना हल्द्वानी रोड पर वन विलास रेस्टोरेंट के पास हुई है। भीमताल के थाना प्रभारी कैलाश जोशी ने बताया कि एसडीआरएफ की मदद से करीब साढ़े 11 बजे दोनों शवों एवं कार को झील से बाहर निकाला जा सका। दोनो की मौत हो चुकी थी। शवों को पंचायतनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज जा रहा है। 

यह भी पढ़ें : महाशिवरात्रि पर मंदिर गए 11वीं के छात्र की आकाशीय बिजली से झुलसकर मौत..

नवीन समाचार, पिथौरागढ़, 21 फरवरी 2020। शुक्रवार को महाशिवरात्रि के अवसर पर अपने दोस्तों के साथ असुरचुला मंदिर गए 11वीं के छात्र बुंगाछीना कस्बे से आगे धुरौली क्षेत्र निवासी 16 वर्षीय सुमित सिंह पुत्र राजेंद्र सिंह की आकाशीय बिजली की चपेट में आकर मौत हो गई, जबकि अन्य छात्र बाल-बाल बच गए।
प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार को सुमित अपने 5-6 दोस्तों के साथ चटकेश्वर महादेव जाने के लिये घर से निकला था। इस दौरान लगातार बारिश और बादलों की गरज के बीच योजना बदलकर सभी दोस्त असुरचुला की चोटी के लिए रवाना हो गए। शाम करीब चार बजे घुनसेरा गांव निवासी अध्यापक दिनेश भट्ट व कुछ महिलाओं के माध्यम से आपदा नियंत्रण केंद्र और जिला प्रशासन को सूचना मिली कि कुछ बच्चे असुरचुला मंदिर से नीचे फंसे हैं, और इनमें से एक लड़का बेहोश है। इस सूचना पर क्षेत्र के कुछ युवक गांव से करीब दो-ढाई किलोमीटर ऊपर खड़ी चढ़ाई चढ़कर मौके पर पहुंचे और वहां से सुमित व अन्य बच्चों को पहले कंधे पर और सड़क तक, और सड़क से 108 वाहन की मदद से जिला अस्पताल लाये, जहां चिकित्सकों ने सुमित को मृत घोषित कर दिया और बताया कि वह करीब 60 प्रतिशत झुलस गया था। अन्य बच्चों की स्थिति सामान्य बताई गई है। घटना से परिजन सदमे में हैं, और क्षेत्र में शोक की लहर है। मृतक सुमित मानस एकेडमी का छात्र बताया जा रहा है।

यह भी पढ़ें : रात में खाई में गिरे ट्रक के नीचे सुबह दबा मिला चालक, घंटों मशक्कत से निकाला..

Almora breaking: खाई में गिरा ट्रक, चालक की मौत 2नवीन समाचार, अल्मोड़ा, 19 फरवरी 2020। बुधवार सुबह मुख्यालय से लगे पांडेखोला के पास एक ट्रक संख्या यूके04सीए-8140 करीब 100 मीटर गहरी खाई में मिला। सुबह टहलने गए कुछ लोगों ने दुर्घटनाग्रस्त ट्रक को खाई में देख कर पुलिस को इसकी सूचना दी। नगर कोतवाल अरुण कुमार वर्मा व बेस चौकी प्रभारी नवीन जोशी घटनास्थल पहुंचे। ट्रक चालक वाहन के नीचे दबा हुआ क्षत-विक्षत मिला। कई घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद रेस्क्यू कर ट्रक के नीचे दबे चालक को ट्रक से बाहर निकाला कर जिला बेस चिकित्सालय भेजा गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। ट्रक चालक की पहचान करीब 40 वर्षीय आनंद सिंह पुत्र मोहन सिंह, निवासी कपकोट, बागेश्वर के रूप में हुई है।
माना जा रहा है कि मंगलवार रात्रि ट्रक किसी कारण अनियंत्रित होगर खाई में गिरा होगा। कोतवाल अरुण कुमार वर्मा ने बताया कि दुर्घटनाग्रस्त ट्रक खड़िया लेकर बागेश्वर से हल्द्वानी की ओर जा रहा था। प्रथम दृष्टया ट्रक के मोड़ काटने के दौरान अनियंत्रित होकर खाई में गिरना प्रतीत हो रहा है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड: फिर बड़ा हादसा, एक बच्ची सहित छह लोगों की जान गई…

नवीन समाचार, उत्तरकाशी, 17 फरवरी 2020। सोमवार अपराह्न एक होंडा सिटी कार गंगोत्री धाम मार्ग पर धरासू-नालू पानी के पास पैराफीट तोड़ती हुई 300 मीटर नीचे भागीरथी नदी में समा गई। दुर्घटना में छह लोगों की जान चली गई। डंडा एसडीएम आकाश जोशी ने बताया कि दोपहर दो बजे के बाद इस हादसे की सूचना मिली। इसके बाद वह, एसडीआरएफ और पुलिस आपदा प्रबंधन टीम के साथ मौके पर पहुंचे। रेस्क्यू अभियान चलाकर लोगों को बाहर निकाला गया। हादसे में चार लोगों की मौके पर तथा दो अन्य ने जिला अस्पताल ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया। मृतकों में बुद्धि प्रकाश (37) पुत्र गुलजारीलाल निवासी ग्राम मानपुर उत्तरकाशी, बृजलाल (37) पुत्र श्यामलाल ग्राम चिणाखोली, दिव्यांशु पुत्र बृजलाल ग्राम चिणाखोली, प्रियांशु पुत्र बृजलाल ग्राम चिणाखोली उत्तरकाशी और रोशनी देवी पत्नी बृजलाल ग्राम चिणाखोड़ा उत्तरकाशी शामिल हैं। मृतकों में एक बच्ची भी शामिल है। इस बच्ची की पहचान नहीं हो सकी है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी दो दिन पहले शनिवार को बडकोट में हुए सड़क हादसे में चार लोगों की जान चली गई थी।

यह भी पढ़ें : बच्चो, कभी ऐसे न करना, घर से बिन बताए बाजार निकले थे चार दोस्त, और…

Car Fell into into Muradnagar gang nahar due to Fog Six friends Drown Photosनवीन समाचार, देहरादून, 3 फरवरी 2020। वह घर से बाजार जाने की बात कहकर निकली थी। लेकिन घर नहीं लौटी। उसकी खबर आई भी तो दूसरे शहर से, और यह कि वह दोस्तों के साथ निकल गई थी और गंगनहर में बह गई है। उसका और उसकी सहेली तथा दो साथी लड़कों का कोई पता नहीं चल रहा है। यह घटना सबक है, उन बच्चों के लिए जो घर वालों को बेवकूफ बनाकर, घर से छोटा-मोटा बहाना बनाकर, घर वालों पर दोस्तों को तरजीह देकर उन्मुक्तता से बाहर चले जाते हैं, और उसके बाद परिजनों क्या, अपनी जान की भी परवाह नहीं करते हैं।
वाकया शनिवार का है। मुरादनगर में शनिवार देर रात को हुए कार हादसे के बाद से देहरादून की दो छात्राएं लापता हैं। दोनों छात्राओं के घर सन्नाटा पसरा हुआ है। दोनों छात्राएं अपने चार दोस्तों के साथ घर से बिना बताए ही मथुरा घूमने के लिए निकली थीं। हादसे में दो छात्र तो बच गए जबकि दोनों छात्राओं सहित चार अभी भी लापता हैं। दोनों छात्राएं उत्तरांचल यूनिवर्सिटी, देहरादून में बीबीए की पढ़ाई करती हैं। लाडली बेटियों के लापता से दोनों परिजनों के घर कोहराम मचा हुआ है। मुजफ्फरनगर की राधिकापुरम कॉलोनी निवासी हिमांशु कुमार (20) पुत्र सुखबीर सिंह शनिवार शाम अनमोल (18) पुत्र प्रदीप कुमार व निशांत चौधरी (20) पुत्र नरेंद्र निवासी जाट कॉलोनी मुजफ्फरनगर, हर्षित (18) पुत्र नरेंद्र निवासी कोकड़ा मुजफ्फरनगर, कनिका बिंदल (21) पुत्री राजकुमार बिंदल निवासी पटेलनगर और सृष्टि जोशी (20) पुत्री अरुण जोशी निवासी गौतम विहार देहरादून के साथ एक्सयूवी कार से दिल्ली के लिए चला था। अनमोल और हर्षित बारहवीं के छात्र हैं। अनमोल के पिता अमेरिका में नौकरी करते है, जबकि हर्षित के पिता प्रॉपटी डीलर हैं। हर्षित और अनमोल ने बताया कि शनिवार को अचानक मथुरा घूमने का प्लान बना। देहरादून से निशांत, हिमांशु, कनिका और सृष्टि आ रहे थे। उन्होंने अनमोल और हर्षित को मुजफ्फरनगर से अपने साथ कार में बैठा लिया। वे दिल्ली के लिए निकले तो रास्ते में कोहरे के कारण गंगनहर पटरी पर खड़ी कार दिखाई न देने के कारण उनकी कार, दूसरी को टक्कर मारते हुए गंगनहर में जा गिरी। नहर में गिरते ही कार की खिड़की खुल गई और उसमें सवार हिमांशु, निशांत, कनिका, सृष्टि पानी के तेज बहाव में बह गए। हालांकि, अनमोल व हर्षित तैरकर नहर से बाहर आ गए। बताया कि रात में दिल्ली रुकते और अगले दिन मथुरा जाते। नहर में बही सृष्टि निवासी गौतमविहार और कनिका निवासी पटेलनगर देहरादून उत्तराखंड यूनिवर्सिटी से एमबीए कर रही है, निशांत कृषि विभाग में क्लर्क के पर पद तैनात हैं। पिता की मौत के बाद मृतक आश्रित कोटे से निशांत की नौकरी लगी थी. वहीं, हिमांशु भी देहरादून में बीसीए प्रथम वर्ष का छात्र है। सृष्टि के चाचा अरविंद जोशी ने बताया कि सृष्टि शनिवार तीसरे पहर घर से बाजार के लिए कहकर निकली थी। सुबह उसने कहा था कि वह शाम तक वापस आ जाएगी। लेकिन, रात तक परिजन इंतजार करते रहे। देर रात दो बजे जब यह खबर आई तो सभी के होश उड़ गए। जबकि, कनिका अपने दोस्तों के साथ हॉस्टल से दिल्ली के लिए रवाना हुई थी। दोनों के परिजन इस बात से वाकिफ नहीं है कि दोनों सहेलियां दोस्तों के साथ कैसे मुरादनगर पहुंच गई। देहरादून में हादसे की सूचना आते ही दोनों परिवारों में कोहराम मच गया। दोनों के परिवारों को ढांढस बंधाने के लिए भीड़ जुट गई। सृष्टि की मां राजेश्वरी देवी और कनिका की मां सीमा बिंदल गहरे सदमे हैं। जानकारी के अनुसार सृष्टि के पिता अरुण जोशी वन विभाग में फोरेस्ट ऑफिसर हैं, जो फिलहाल कुल्हाल में तैनात हैं। कनिका के पिता टाइल का कारोबार करते हैं। दोनों परिवार से लोग घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं। देर रात तक दोनों का पता नहीं चल पाया है। परिजनों ने बताया कि सृष्टि और कनिका बहुत अच्छी सहेलियां हैं। दोनों अक्सर एक दूसरे के घर आती जाती रहती हैं।

यह भी पढ़ें : रेलवे के कीमैन की ट्रेन से कटकर दर्दनाक मौत…

नवीन समाचार, लालकुआं (नैनीताल) 30 जनवरी, 2020। रेल लाइन की पैट्रोलिंग के दौरान रेलवे कीमैन की दर्दनाक मौत हो गई। घटना से रेलवे विभाग में हडकंप मच गया। मौके पर पहुंची रेलवे पुलिस एवं हल्द्वानी मंडी चौकी पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर शव को पोस्मार्टम के लिए भेज दिया है। घटना किस तरह से हुई इसके लिए पावर लोको पायलट से बात करने के बाद पता चलेगा। अलबत्ता, रेलवे ने मामले की जांच शुरू कर दी है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार 13019 हाबडा से चलकर काठगोदाम को जाने वाली बाघ एक्सप्रेस ट्रेन जैसे ही करीब 9:55 बजे किलोमीटर संख्या 76/6,7 पर पहुंची, तभी लालकुआं रेल पथ निरीक्षक के आधीन 12 बी के बेरीपडाव के कीमैन राजेश कुमार पुत्र हरिश्चंद्र उम्र 48 वर्ष रेल पैट्रोलिंग के समय इंजन की चपेट मे आ गये, जिससे उनकी मौंके पर ही मृत्यु हो गई। उनका क्षत-विक्षत शव पटरी पर फैल गया। घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची रेलवे सुरक्षा बल और जीआरपी की टीम ने शव को कब्जे में लेकर उसको शव विच्छेदन गृह भेज दिया। रेलवे सुरक्षा बल के प्रभारी निरीक्षक रणदीप कुमार ने बताया कि घटना किस तरह से हुई इसको लेकर लोको पायलट के बयान के बाद ही कुछ पता चल सकता है। घटना से मृतक के परिवार में जहां कोहराम मचाया वही रेलवे विभाग भी सकते में है।

यह भी पढ़ें : ट्रक-पोकलेंड के भार से धंसा पुल, दो हुए घायल..

नवीन समाचार, पिथौरागढ़, 19 जनवरी 2020। पिथौरागढ़ जनपद के धारचूला क्षेत्र में तवाघाट के पास धौली नदी पर तवाघाट-घटियाबगड को जोड़ने वाला वैली ब्रिज पोकलैंड मशीन ले जा रहे ट्रक संख्या एचपी 72 सी-3851 के भार से धंस गया। घटना में हिमाचल प्रदेश व पंजाब के रहने वाले दो लोग घायल हो गए। दोनों को उपचार के लिए पिथौरागढ़ जिला मुख्यालय भेजा गया है।

नियमित रूप से नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड के समाचार अपने फोन पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप में इस लिंक https://t.me/joinchat/NgtSoxbnPOLCH8bVufyiGQ से एवं ह्वाट्सएप ग्रुप से इस लिंक https://chat.whatsapp.com/ECouFBsgQEl5z5oH7FVYCO पर क्लिक करके जुड़ें।

प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार अपराह्न पोकलैंड मशीन ले जा रहा ट्रक धारचूला से पांगला जा रहा था। इसी दौरान तवाघाट में धौली नदी पर तवाघाट-घटियाबगड को जोड़ने वाला वैली ब्रिज, ट्रक और पोकलैंड के भार से धंस गया। पुल धंसने से ट्रक में सवार 32 वर्षीय नवीन सिंह पुत्र धरम सिंह निवासी हिमाचल प्रदेश और 40 वर्षीय सुरेन्द्र कुमार पुत्र जीवा राम निवासी पंजाब घायल हो गए। जिन्हें प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र धारचूला में उपचार के बाद जिला अस्पताल रेफर किया गया है। दोनों की हालत खतरे से बाहर बताई गई है।

यह भी पढ़ें : ब्रेकिंग नैनीताल : मां-बेटे को ठंड में भारी पड़ा कमरा बंद कर अंगीठी सेंकना…

नवीन समाचार, नैनीताल, 19 जनवरी 2020। बंद कमरे में रखी अंगीठी के जहरीले धुंवे से दम घुटने से एक महिला व उसके 2 वर्षीय पुत्र की मृत्यु हो गई। बीती 18 जनवरी की रात्रि में गेठिया स्थित रामपुर निवासी व्यवसाई के निर्माणाधीन मकान में चौकीदार राजू पुत्र सुनील विश्वास निवासी रामबाग दिनेशपुर (27 वर्ष) अपनी पत्नी सगारिका (22 वर्ष) व पुत्र अंश (उम्र 2 वर्ष) के साथ बंद कमरे में अंगीठी जलाकर सोया था। अंगीठी के धुएं से सागरिका व अंश की दम घुटने से मृत्यु हो गई। तल्लीताल थाना प्रभारी विजय मेहता ने बताया कि राजू पिछले 5 महीने से इस भवन में चौकीदारी का कार्य कर रहा था। महिला एवं बच्चे को हल्द्वानी चिकित्सालय भेजा गया, जहां चिकित्सकों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। सलाह दी जाती है, कि सर्दियों में कमरा बंद करके अंगीठी जलाकर न सोएं। ऐसा करना जानलेवा हो सकता है।

यह भी पढ़ें : हाइकोर्ट की ‘नां’ व दर्जन भर सभासदों के इस्तीफों के बावजूद आयोजित मेले में झूले से गिरकर किशोर की मौत..

नवीन समाचार, पिथौरागढ़, 5 जनवरी 2019। पिथौरागढ़ के देवसिंह मैदान में इन दिनों चल रहे नववर्ष महोत्सव में झूले से शाम लगभग 6 बजे गिरने की वजह 15 साल के एक युवक की मौत हो गयी है। मृतक की पहचान ग्राम दौला विण निवासी ओम बिष्ट उर्फ जितेंद्र पुत्र गिरीश बिष्ट के रूप में हुई है। गौरतलब है कि नगरपालिका और जिला प्रशासन की अनुमति के बाद विगत 15 दिसम्बर से यह महोत्सव 5 जनवरी तक के लिए आयोजित किया गया है। हालांकि खेल मैदान में महोत्सव कराने के विरोध में करीब दर्जन भर सभासदों ने इस्तीफा भी दे दिया था। हाइकोर्ट में याचिका भी दायर की गई, जिस पर कोर्ट ने भविष्य में खेल मैदान में इस तरह के आयोजन नही कराने जाने की बात कही।
बताया गया है कि जितेंद्र तेज घूमने वाले कार झूले में बैठा हुआ था। झूले की स्पीड तेज होने पर वह अपना संतुलन खो बैठा और झूले से गिर गया। जिस कारण उसे लोहे के डंडों से टकराते हुए गंभीर चोटें आई। मौके पर मौजूद लोगों ने जितेंद्र को इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
इधर कांग्रेस पार्टी ने मृतक के परिजनों को 10 लाख रुपये देने की मांग की है। घटना से मेले में सनसनी फैल गई और आयोजकों ने अन्य कार्यक्रम रद कर दिए। गौरतलब है कि कुछ रोज पूर्व भी झूले से गिरकर एक बच्चा घायल हो गया था। इस पर कांग्रेस जिलाध्यक्ष टीएस महर का कहना है कि सभासदों के विरोध और कोर्ट के दिशा निर्देश के बावजूद मेला कराया गया। व्यवस्था पर बार बार सवाल भी उठे। उन्होंने पीड़ित परिवार को 10 लाख मुआवजा दिए जाने की मांग है। इधर एसडीएम सैनी के अनुसार आयोजकों ने मेला अवधि 10 दिन बढ़ाने की मांग की है, जिस पर निर्णय की जानकारी उनको नहीं है। डीएम डॉ वीके जोगदंडे ने कहा कि इस तरह के किसी आवेदन की जानकारी फिलहाल उनको नहीं है।

यह भी पढ़ें : नये वर्ष पर कहीं खुशी-कहीं गम, दुर्भाग्य: कई नहीं देख पाए नये वर्ष की पहली सुबह

नवीन समाचार, देहरादून, 1 जनवरी 2019। नये वर्ष की पहली सुबह ही कहीं खुशी तो कहीं गम की खबरें भी आईं। दिल्ली-यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर जौनपुर विकास खंड के सुमन क्यारी में बुधवार सुबह 7.15 बजे के करीब एक कार अनियंत्रित होकर यमुना नदी में जा गिरी। हादसे में ग्राम पंचायत जयदो के प्रधान महेंद्र सिंह (40) पुत्र सूपा सिंह निवासी ग्राम लटो जौनसार तहसील चकराता जिला देहरादून की मौके पर ही मौत हो गई। इससे ग्राम प्रधान के परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट गया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम प्रधान बुधवार सुबह अपनी कार संख्या यूके07बीडब्ल्यू-3046 से विकासनगर से डामटा की ओर अपनी कार से जा रहे थे। तभी यह हादसा हो गया। वहीं आज सुबह करीब 4 बजे के आसपास कालसी से एक किलोमीटर लालढांग रोड पर शूरवीर सिंह पुत्र भोपाल सिंह निवासी किस्तूर देहरादून नाम का व्यक्ति मोटर साइकिल स्लिप होने के कारण गिर गया और घायल हो गया। वहां से गुजर रहे एक व्यक्ति ने कालसी बाजार में मौजूद पिकेट को हादसे की सूचना दी। पिकेट द्वारा तत्काल 108 एंबुलेंस को बुलाकर घायल को विकासनगर अस्पताल भिजवाया गया। उधर तीसरी घटना में डालनवाला थाना क्षेत्र के चावला चौक क्षेत्र में अपने घर के नीचे साइबर कैफे चलाने वाले कपिल सुबह कपिल हॉस्टल के नीचे गिरा पड़े हुए मिले। उनका पेट फटा हुआ था। परिजन आनन-फानन में उन्हें अस्पताल ले गए। जहां इलाज के दौरान कपिल ने दम तोड़ दिया। बताया गया है कि उनका मंगलवार की रात हॉस्टल के लड़कों से झगड़ा हुआ था। मृतक के परिजनों ने घर के पास स्थित हॉस्टल में रहने वाले छात्रों पर हत्या का शक जताया है। मामले में पुलिस के हाथ कुछ सीसीटीवी फुटेज भी लगी है। हॉस्टल के कुछ युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जारी रही है।

यह भी पढ़ें : ब्रेकिंग : भाजपा सांसद अजय भट्ट के साथ हादसा, पहाड़ से टकराई गाड़ी, काफिले की अन्य गाड़ियां भी टकराई

दान सिंह लोधियाल @ नवीन समाचार, धानाचूली (नैनीताल), 26 दिसंबर 2019। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और सांसद अजय भट्ट के साथ बृहस्पतिवार सुबह पौने 10 बजे के करीब पार्टी नेताओं और समर्थकों के साथ कार्यक्रम में जाते हुए हादसा हो गया। ढोलीगांव जाते हुए उनकी कार पदमपुरी के पास पाले में फिसल गई। गनीमत रही कि चालक ने कार को पहाड़ की ओर मोड़ दिया। इससे उनकी कार पहाड़ से टकरा गई, और काफिले में पीछे चल रही 3 अन्य गाड़ियां भी आपस में टकरा गईं। घटना में श्री भट्ट एवं अन्य को खास चोटें नहीं आयी हैं। घटना के बाद वे दूसरे वाहन से ढोलीगांव के लिये रवाना हो गए हैं।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड सरकार के हल्द्वानी निवासी राज्य मंत्री की कार को पहले कार, फिर ट्रक ने मारी जोरदार टक्कर

नवीन समाचार, हापुड, उत्तर प्रदेश, 25 दिसंबर 2019। उत्तर प्रदेश के हापुड़ जनपद में नेशनल हाइवे-9 पर उत्तराखंड सरकार के नगरीय पर्यावरण संरक्षण परिषद उत्तराखंड के उपाध्यक्ष (राज्य मंत्री स्तर) तथा भाजपा के अनुसाशन समिति के कार्यकारी अध्यक्ष प्रकाश चंद हरबोला की कार हादसे का शिकार हो गई। हादसे के वक्त मंत्री कार में सुरक्षाकर्मियों के साथ सवार थे। गनीमत रही कि हादसे में राज्ययमंत्री को कोई चोट नहीं आई। बताया जा रहा है कि हल्द्वानी निवासी हरबोला दिल्ली से हल्द्धानी आ रहे थे। जैसे ही वे बाबूगढ़ थाना क्षेत्र में नेशनल हाइवे-9 पर पहुंचे तो पीछे चल रही एक स्लेटी रंग कार ने ओवरटेक करने के चक्कर में मंत्री की कार को जोरदार टक्कर मार दी। मंत्री की कार की रफ्तार अधिक होने के चलते ड्राइवर कार पर नियंत्रण नही रख पाया और कार पूरी तरह घूम गई, जिससे पीछे चल रहे ट्रक ने भी कार को जोरदार टक्कर मार दी।

हापुड़: उत्तराखंड सरकार में राज्‍यमंत्री प्रकाश चंद हरबोला की कार का नेशनल हाइवे पर एक्‍सीडेंटहादसे में मंत्री बाल-बाल बच गए, वहीं उनके सुरक्षाकर्मियों सहित कार के ड्राइवर को मामूली चोटे आई हैं। हादसे की सूचना मिलते ही हापुड़ पुलिस भी मौके पर पहुंची और कार को हाइवे से हटवाया। राज्य मंत्री की कार में सवार सुरक्षाकर्मी हर्षवर्धन ने बताया कि उत्तराखंड सरकार में राज्य मंत्री प्रकाश चंद हरबोला दिल्ली से हल्द्धानी जा रहे थे, हाइवे पर पीछे चल रही एक स्लेटी रंग की कार ने ओवरटेक करने के दौरान मंत्री की कार को टक्कर मार दी। टक्कर लगने के बाद कार चालक फरार हो गया।

यह भी पढ़ें : हल्द्वानी-लालकुआं के बीच ट्रेन की पटरियों के बीच मिला युवक का शव

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 17 दिसंबर 2019। लालकुआं व हल्द्वानी के बीच किलोमीटर संख्या 75/5-6 पर रेलवे ट्रैक के बीचो-बीच एक व्यक्ति का क्षत-विक्षत शव मिला है। संभावना व्यक्त की जा रही है कि मौत ट्रेन की चपेट में आने की वजह से हुई होगी। सूचना पर रेलवे सुरक्षा बल एवं पुलिस की टीम मौके पहुंची और शव को कब्जे में लिया। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार मृतक युवक की शिनाख्त दीपक भट्ट निवासी मंडी थाना क्षेत्र हल्द्वानी के रूप में हुई है। कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक योगेश चंद्र उपाध्याय ने मीडिया कर्मियों को बताया कि पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

यह भी पढ़ें : बर्फबारी के बाद सरोवरनगरी में उमड़े सैलानी, बर्फ की फिसलन में फिसले कई वाहन..

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 दिसंबर 2019। नगर एवं आसपास के पर्वतीय क्षेत्रों में बीते दो दिनों में हुई बर्फबारी के बाद सड़कों पर फिसलन भी देखी गई। यह तो गनीमत रही कि रात्रि में बर्फबारी के साथ बारिश भी होती रही और आसमान बादलों से घिरा रहा, इसलिए बर्फबारी के ऊपर पाला नहीं गिर पाया और बर्फ भी अधिक तेजी से पिघली और अधिक फिसलन भी नहीं हुई, बावजूद कई जगह वाहनों के फिसलने की घटना हुई। नगर के मल्लीताल क्षेत्र में भी दिल्ली के सैलानियों की कार संख्या डीएल5सीजी-2233 स्टेट बैंक के पास नाली की ओर फिसल गई। कार का एक पहिया हवा में उठ गया। राजभवन रोड पर भी कई वाहनों में फिसलने से टूट-फूट हुई।

बर्फबारी के बाद सरोवरनगरी में उमड़े सैलानी, सड़कों पर लगा वाहनों का जाम

नैनीताल। सरोवरनगरी में बर्फबारी होने के बाद शनिवार को सैलानी उमड़ पड़े। खासकर उत्तर प्रदेश के निकटवर्ती रुहेलखंड मंडल एवं दिल्ली के सैलानियों के आने से नगरी गुलजार हो उठी। इससे नगर के साथ ही नगर के बाहरी हिस्सों में वाहनों का जाम लग गया, और वाहनों को सरक-सरक कर आगे बढ़ना पड़ा। अलबत्ता बड़ी संख्या में सैलानियों के पहुंचने से नगर के पर्यटन व्यवसायियों के चेहरे खिल उठे। टैक्सी व्यवसायियों ने सैलानियों को हिमपात वाले दृश्य दिखाने के लिए खूब चांदी काटी, वहीं खासकर गैर पंजीकृत होटलों ने भी अपने दाम बढ़ा दिए।
पुलिस ने दो पहिया वाहनों पर बरती सख्ती
नैनीताल। नगर में हिमपात होने की सूचना पर नगर में निकटवर्ती क्षेत्रों के खासकर युवा दोपहिया वाहनों से भी नगर की ओर उमड़ पड़े। ऐसे में नैनीताल पुलिस ने दोपहिया वाहनों पर सख्ती बरती। पुलिस ने हल्द्वानी रोड पर ज्योलीकोट चौकी के सामने तथा एरीज मोड़ के पास दोपहिया वाहनों की जांच की। ऐसे में एक बाइक में तीन सवारी और बिना हेलमेट के आ रहे वाहनों को लौटा दिया गया।

यह भी पढ़ें : रात्रि में हादसे का शिकार हुआ ट्रक, दोपहर में पता चला, 2 लोगों की मौत, शिनाख्त नहीं…

नवीन समाचार, रुद्रप्रयाग, 13 दिसंबर 2019। रुद्रप्रयाग जिले के खांकरा में बीती बृहस्पतिवार की रात हुए एक सड़क हादसे में दो लोगों की मौत हो गई है। घटना की जानकारी करीब 12 घंटे बाद शुक्रवार दोपहर लगी। पुलिस मृतकों के शिनाख्त के प्रयास में जुटी हुई है। हादसे में ट्रक के परखच्चे उड़ गए हैं।
प्राप्त जानकारी के मुताबिक खांकरा के सम्राट होटल से करीब 100 मीटर की दूरी पर बृहस्पतिवात रात्रि एक ट्रक करीब 150 मीटर गहरी खाई में ​जा गिरा। शुक्रवार दोपहर सूचना मिलने पर पुलिस की टीम घटनास्थल पहुंची, और स्थानीय लोगों की मदद से शवों को खाई से बाहर निकाला। फिलहाल मृतकों की शिनाख्त नहीं हो पाई है। घटना के कारणों का भी फिलहाल पता नहीं लग पाया है।

यह भी पढ़ें : ब्रेकिंग: नैनीताल आ रही नव दंपत्ति सैलानियों की कार बनी आग का गोला…

नवीन समाचार, कालाढुंगी, 12 दिसंबर 2019। नैनीताल घूमने आ रहे सैलानियों की कार चलते-चलते आग का गोला बन गई। कार में यूपी के स्वार रामपुर निवासी नवविवाहित दंपति मंजीत सिंह पुत्र महेंद्र सिंह तथा उनकी पत्नी सुमनप्रीत कौर सवार थे। बृहस्पतिवार दोपहर करीब सवा 12 बजे नगर से करीब 8 किमी दूर, घटगढ़ से पहले हुए हादसे में कार सवार दंपत्ति कार से सकुशल सामान सहित बाहर निकल आए और न जाने क्यों, बहुत परेशान नजर नहीं आए। कार के जलने पर फायर ब्रिगेड को सूचना दी गई। फायर ब्रिगेड करीब 45 मिनट के बाद रामनगर से पहुंची, तब तक कार में लगी आग बुझ भी चुकी थी। कार का नंबर यूपी22एपी-0061 बताया गया है। कालाढुंगी के उप निरीक्षक बीआर पौरी ने बताया कि घटना में कार सवार दोनों पति-पत्नी सुरक्षित हैं। पुलिस एवं अग्निशमन बलों के द्वारा कार की आग बुझाई गई। पुलिस आग लगने के मामले की जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें : बाइक पर बिना हेलमेट सवार थे परिवार के 4 सदस्य, हुई दुर्घटना, मासूम सहित पिता-पुत्र की मौत, मां-बेटी गंभीर

नवीन समाचार, लक्सर (हरिद्वार), 2 दिसंबर 2019।लक्सर-नजीबाबाद राष्ट्रीय राजमार्ग पर रफ्तार का कहर देखने को मिला है। यहाँ मुंडाखेड़ा खुर्द गाँव के पास दो मोटरसाइकिलों में आमने-सामने की सीधी टक्कर हो गई। दुर्घटना में एक चार वर्षीय बालक व उसके पिता की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि चार अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। उल्लेखनीय बात यह भी है कि दोनों मोटरसाइकिलों पर सवार 6 लोगो में से किसी ने भी हेल्मेट नही पहना हुआ था, और सभी घायलों को ज्यादा चोटें भी सिर में ही आई हैं।
जानकारी के अनुसार लक्सर के दरगाहपुर निवासी सिताब सिंह (30) सात वर्षीय बेटी शिखा के पैर में लगी चोट का इलाज कराने लक्सर ला रहे थे। उनकी पत्नी संतोष, 4 वर्षीय बेटा लविश भी बाइक पर बैठे थे। मुंडाखेड़ा खुर्द गांव के पास उसकी बाइक की सामने से आ रही दूसरी बाइक से सीधी टक्कर हो गई। दूसरी बाइक पर दो युवक सवार थे।दुर्घटना में सिताब सिंह व पुत्र लविश की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि पत्नी व बेटी और दूसरी बाइक पर सवार सागर व सोनू को गंभीर चोट लगी।सरस् नाम के एक राहगीर की सूचना पर पहुंचे पुलिसकर्मी सभी घायलों को तत्काल 108 एंबुलेंस से लेकर लक्सर सीएचसी लाए। सीएचसी के चिकित्सकों ने घायलों की हालत चिंताजनक बताकर उन्हें हरिद्वार के हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया।

यह भी पढ़ें : पति पर नैनीताल में दिव्यांग पत्नी को पहाड़ से धक्का देने का आरोप

नवीन समाचार, गाजियाबाद, 25 नवंबर 2019। डासना में रहने वाले व्यक्ति पर दिव्यांग पत्नी को नैनीताल ले जाकर पहाड़ी से धक्का देने का आरोप लगा है। मामले में पत्नी के मायकेवालों ने सोमवार को एसएसपी से शिकायत की। इसके बाद मामले को जांच के लिए घंटाघर कोतवाली भेजा गया। कोतवाली प्रभारी ने बताया कि घटना 17 नवंबर की है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

जानकारी के अनुसार, कैला भट्टा में रहने वाले डेयरी संचालक ने सितंबर 2018 में डासना में रहने वाले युवक से अपनी दिव्यांग बेटी की शादी की थी। बेटी एक पैर और हाथ से पोलियोग्रस्त है। महिला के पिता का आरोप है कि शादी के बाद से ही ससुराल वाले 10 लाख रुपये की डिमांड कर रहे थे। रुपये नहीं देने पर उनकी बेटी के साथ मारपीट की जाती थी। 6 महीने पहले उनकी बेटी से मारपीट की गई, जिसमें वह घायल हो गई। इसके बाद वह मायके में ही रह रही थी। आरोप है कि 16 नवंबर को ससुराल पक्ष के लोग कैला भट्टा आए और घूमने के नाम पर बेटी को साथ ले गए। इस दौरान उन्होंने अपने बेटे को उनके साथ भेज दिया। 17 नवंबर की सुबह वह बिना किसी जानकारी के बाहर निकले और कुछ देर बाद सूचना दी कि उनकी बेटी पहाड़ी से गिर गई। हालांकि, बाद में जब उनका बेटा पहुंचा तो वह गंभीर रूप से घायल मिली। इसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जहां से उसे दिल्ली रेफर किया गया।

यह भी पढ़ें : खाई में गिरी महिला सैलानी को पुलिस-एसडीआरएफ ने बचाया

नवीन समाचार, नैनीताल, 18 नवंबर 2019। नगर के हिमालय दर्शन पर्यटन स्थल के पास रविवार देर शाम अधेरा घिरने के बाद एक विवाहित महिला सैलानी खाई में गिर गई। मल्लीताल कोतवाली पुलिस एवं एसडीआरएफ के जवानों ने स्थानीय लोगों की मदद से महिला को खाई से बचाकर लाई। उसे काफी चोटें भी लगी थी, लिहाजा उसे बीडी पांडे जिला चिकित्सालय लाकर उसका उपचार कराया जा रहा है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार 20 वर्षीया रानी पत्नी राजा निवासी डासना वार्ड नंबर 1 गाजियाबाद अपने पति एवं अन्य परिजनों के साथ सरोवरनगरी घूमने के लिए आई थी। यहां से वह घूमने के लिए हिमालय दर्शन गए थे। वहां वह लघुशंका के लिए सड़क के किनारे ढलान की ओर गई थी कि अंधेरे में साफ न दिखाई देने के कारण खाई में गिर गई। इस पर हड़कंप मच गया। वीरेंद्र रावत नाम के स्थानीय व्यक्ति ने कोतवाली पुलिस को फोन से इसकी सूचना दी। इस पर नगर कोतवाल अशोक कुमार सिंह, एसएसआई बीसी मासीवाल, एएसआई सत्येंद्र गंगोला सहित पुलिस टीम एसडीआरएफ एवं अग्निशमन कर्मियों के साथ मौके पर पहुंचे एवं महिला को खाई से बाहर निकालने के लिए रेस्क्यू अभियान चलाया और काफी मशक्कत के बाद उसे खाई से बाहर निकाला। बचाव कार्य में स्थानीय युवक पंकज वर्मा की भूमिका भी उल्लेखनीय रही। महिलाके माथे व सिर में चोट लगी है। एक वर्ष पूर्व ही उसका विवाह हुआ था।

यह भी पढ़ें : सही साबित हुई कहावत, एक अनार से 100 हुए बीमार…

-‘अनार’ बने बम, कई लोग हुए घायल, क्या इस बार थी एक खास पटाखे से लोगों के हाथ जलाने की साजिश ! इस एक पटाखे से जले दर्जनों लोगों के हाथ

अनार से जला एक व्यक्ति का हाथ।

नवीन समाचार, नैनीताल, 28 अक्तूबर 2019। इस वर्ष दीपावली के उत्साह में ‘अनारों’ ने जबर्दस्त खलल डाला। मुख्यालय में दीपावली पर 8 लोग पटाखों से जलने के कारण घायल होकर बीडी पांडे जिला चिकित्सालय पहुंचे। हल्द्वानी के बेस चिकित्सालय में तो पटाखों के धमाकों से हाथ जलने पर अस्पताल आने वालों की लाइन लगी रही। खास बात यह रही इनमें से सभी लोग अनारों के बम की तरह अचारक फट जाने के कारण ही जले थे। जिला चिकित्सालय के ईएमओ यानी आपातकालीन चिकित्साधिकारी डा. हाशिम अंसारी ने बताया कि ड्यूटी के दौरान सात लोग पटाखों से जल कर पहुंचे थे और यह सभी लोग अनार से जले थे। उन्होंने बताया कि सामान्यतया रंगबिरंगी रोशनी छोड़ने वाले अनार जलाते ही अचानक बम की तरह फटे, जिस कारण दुर्घटनाएं हुईं। इससे लोगों के हाथ बुरी तरह से झुलस गये। इसका कारण अनारों के पीछे के ठोस हिस्से का अपेक्षित ठोस न होना बताया जा रहा है।
जिला चिकित्सालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार यहां अनार के बम की तरह फटने की वजह से नगर के 24 वर्षीय शाबेश अहमद का दांया हाथ बुरी तरह से जल गया। इसी तरह मल्लीताल निवासी 23 वर्षीय आकाश, 53 वर्षीय गुजरात से आये पर्यटक रामरीक राम, मल्लीताल रॉयल होटल कंपाउंड निवासी 42 वर्षीय निर्मल चौधरी, 21 वर्षीय विजय कुमार, 46 वर्षीया दीपा देवी व 20 वर्षीय गौरव रतौड़ी अनार के बम की तरह फटने की वजह से घायल हुए। अन्य शहरों में भी दीपावली पर पटाखों से जलने की अनेकों घटना हुईं, और खास बात यह है कि अधिकांश मामलों में दुर्घटनाएं अनारों के बम की तरह फटने से ही हुई। चिकित्सकों ने सभी तरह के पटाखों व खासकर अनारों को जलाने में विशेष सावधानी बरतने की सलाह दी है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल के युवक की किच्छा में दुर्घटना में मृत्यु, शहर शोकाकुल

-नगर पालिका सभासद गजाला कमाल की बहन का पुत्र था मृतक

मृतक कुवैद

नवीन समाचार, नैनीताल, 26 अक्तूबर 2019। बरेली से नैनीताल आ रहे नैनीताल के बाइक सवार दो युवकों की बाइक किच्छा हल्द्वानी मार्ग पर ट्रक से टकरा कर दुर्घटना ग्रस्त हो गई। घटना में दोनों युवक गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना में घायल हुए एक 25 वर्षीय युवक कुवैद अहमद पुत्र अकरम अहमद निवासी मल्लीताल नैनीताल की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई, जबकि दूसरे 21 वर्षीय युवक कृष्णा शाह पुत्र अनिल शाह निवासी मल्लीताल नैनीताल को उपचार के लिए किच्छा के सरकारी अस्पताल में उपचार कराया गया। दुर्घटना किच्छा के खुरपिया फार्म के निकट हुई। बताया गया है कि वह दीपावली का सामान लेने की बात कहकर घर से निकला था। इससे शहर में शोक का माहौल है।
इस घटना की जानकारी लगते ही मृतक युवक कुवैद के परिवार में कोहराम मच गया। कुवैद नगर पालिका सभासद गजाला कमाल की बहन का पुत्र था और अपने मामा के साथ ठेकेदारी के कार्य में सहयोग करता था। शनिवार को जौहर की नमाज के बाद मल्लीताल जामा मस्जिद में उसके लिए नमाजे-जनाजा पढ़ी गई और इसके बाद उसके कफन-दफन की रश्म अदा की गई।

यह भी पढ़ें : वाहन खाई में गिरा, बाल-बाल बचे चार सिनेमा हॉल कर्मी

नवीन समाचार, नैनीताल, 24 अक्तूबर 2019। नगर को आने वाली भवाली रोड पर बीती बुधवार की देर रात्रि हुई एक वाहन दुर्घटना में नगर के कैपिटॉल सिनेमा हॉल में कार्यरत चार कर्मी मामूली रूप से घायल हुए। तल्लीताल थाना पुलिस ने उन्हें खाई में गिरे वाहन से निकालकर जिला अस्पताल पहुंचाया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार कैपिटॉल सिनेमा कर्मी रवीेंद्र पुत्र राम अवतार, भूपेंद्र मेहता व चंदन सिंह बुधवार देर रात्रि नई लगने जा रही फिल्म के पोस्टर निकटवर्ती कस्बा भीमताल में लगाकर अल्टो कार संख्या यूके04टीए-0485 से वापस लौट रहे थे। वाहन को जोशी चला रहा था। तभी नगर से करीब 4 किमी दूर पाइंस के पास एक मोड़ पर कार अनियंत्रित होकर खाई में जा गिरी, और दैवयोग से करीब 10 मीटर नीचे खाई में जाकर रुक गई। सूचना मिलने पर तल्लीताल थाने से एसआई दिलीप कुमार, आरक्षी राजेंद्र मेहता, अनिल कुमार, पवन कुमार व जीवन कुमार मौके पर पहुंचे और घायलों को खाई से कार से निकालकर जिला अस्पताल भेजा। चारों को बाद में प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया गया।

यह भी पढ़ें : युवक को सोते हुए साँप ने डसा, जल्दी इलाज न मिलने से मौत

मृतक

नवीन समाचार, नैनीताल, 2 अक्तूबर 2019। नैनीताल के निकट ज्योलीकोट के दूरस्थ ग्राम ज्योली निवासी एक युवक की सर्प दंश से मौत हो गयी। इससे मृतक के घर में कोहराम मच गया। मृतक मेहनत मजदूरी कर के अपने परिवार का भरण-पोषण करता था। उसके परिवार में वृद्ध पिता, पत्नी और दो पुत्र हैं।
ग्रामवासी हरीश पांडे और गिरीश पांडे ने जानकारी देते बताया कि घटना 30 सितम्बर की सुबह की है। गांव निवासी हरीश चंद्र जोशी (38 वर्ष) पुत्र नन्दबल्लभ जोशी को सोते हुए जहरीले सांप ने गर्दन के पास डस लिया। गांव के निकट उपचार उपलब्ध न होने के कारण उसे उपचार के लिये शहर ले जाया जा रहा था। समय पर उपचार न मिल पाने के कारण, इलाज को ले जाते समय रास्ते में ही उसकी मौत हो गई, जिससे घर में कोहराम मच गया। मृतक की पत्नी, दोनों पुत्रों और वृद्ध पिता का रो-रोकर बुरा हाल है । मृतक अपने परिवार का इकलौता कमाऊ सदस्य था और मेहनत-मजदूरी और मौनपालन कर परिवार का गुजारा करता था।

यह भी पढ़ें : ननिहाल आये 8 वर्षीय बच्चे की सड़क के मलबे में दबकर मौत

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 14 सितंबर 2019। अल्मोड़ा जनपद के स्याल्दे ब्लाक के सौगड़ा गांव में अपनी मां के साथ ननिहाल आये एक एक आठ साल के बच्चे योगेश पुत्र भूपेंद्र की मलबे की चपेट में आने से मौत हो गयी। बच्चा अपनी माता के साथ अपने ननिहाल गया था। बताया गया है कि गांव में सड़क निर्माण का कार्य चल रहा है। उसके सड़क से गुजरने के दौरान चट्टान दरकने से भारी मात्रा में मलबा व बोल्डर सड़क पर आ गिरे। वह मलबे की चपेट में आकर दब गया, जिससे उसकी मौके पर मौत हो गई।

यह भी पढ़ें : एक्सक्लूसिव: नैनीताल में घरेलू गैस सिलेंडर फटा, घर की दीवार गायब, पिता-पुत्र झुलसे

इस तरह उड़ी घर की दीवार और इनसेट में जला सिलेंडर।

 

नवीन समाचार, नैनीताल, 12 सितंबर 2019। नगर में बीती रात्रि कृष्णापुर क्षेत्र के एक घर में घरेलू गैस सिलेंडर आग लगने के बाद फट गया। इससे घर की एक दीवार पूरी तरह से उड़ गई, और इस कारण ही घर में रहने वालों को अधिक नुकसान नहीं पहुंचा। फिर भी पिता-पुत्र झुलस गये।
प्राप्त जानकारी के अनुसार कृष्णापुर क्षेत्र में नैना देवी मंदिर के पास जीवन बिष्ट के घर में नगर के न्यू पायल होटल में गाइड के रूप में कार्यरत भगवान सिंह रावत अपने दो बेटों सूरज (14) और गौरव (9) के साथ किराये पर रहता है। उसकी पत्नी कुछ समय पूर्व पति व बच्चों को छोड़कर मायके जा चुकी है। जीवन बिष्ट भी कहीं बाहर रहते हैं। बुधवार रात्रि करीब साढ़े 11 बजे घर में खाना बनाते समय घरेलू गैस के पांच किग्रा के छोटे सिलेंडर में आग लग गयी। गनीमत रही कि आग लगने के बाद धमाके के साथ घर की दीवार ढह गई अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था। घटना में भगवान सिंह का हाथ, सूरज का पैर और गौरव के बाल जल गये। सूरज जीआईसी व गौरव नगर पालिका के नर्सरी विद्यालय में पढ़ता है। पिता-पुत्र का बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में उपचार कराया गया है। उसका काफी सामान भी जला है तथा किराये के मकान की दीवार भी ढह गयी है। लिहाजा उसे मदद की दरकार है।

यह भी पढ़ें : महिला की पेड़ से खाई में गिरकर मौत, बड़ा सवाल- अब कैसे पढ़ेगी उसकी मासूम बेटी ?

नवीन समाचार, ओखलकांडा (नैनीताल), 10 सितंबर 2019। जनपद के दूरस्थ ओखलकांडा तहसील के ग्राम मल्ला ओखलकांडा के तोक सीम में मंगलवार शाम एक महिला की पेड़ से खाई में गिरकर दर्दनाक मौत हो गई। क्षेत्रवासियों से प्राप्त जानकारी के अनुसार गांव की 40 वर्षीया हेमा देवी पत्नी कुंदन सिंह बर्गली अपनी कक्षा तीन में पढ़ने वाली 9 वर्षीया बच्ची को साथ लेकर अपने घर से करीब आधा किमी दूर कृषि कार्य के दौरान पेड़ की छंटाई करने के लिए सकिन के पेड़ में चढ़ी थी। तभी वह पेड़ से फिसलकर करीब 50-60 मीटर गहरी खाई में जा गिरी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। मृतका के दो बेटे व एक बेटी है, तथा पति वन विभाग में दैनिक मजदूर के रूप में कार्यरत है। अब बड़ा सवाल यह बना हुआ है कि महिला की 9 वर्षीया बेटी कैसे आगे पढ़ेगी, जबकि उसके घर की आर्थिक स्थिति बेहद खराब है।

यह भी पढ़ें : झील में समाया मिनी ट्रक, ड्राइवर ने बमुश्किल कूदकर बचाई जान

नवीन समाचार, भीमताल, 5 सितंबर 2019। बृहस्पतिवार देर रात्रि भीमताल में एक बड़ा हादसा हो गया। यहां एक मिनी ट्रक नियंत्रण खोकर झील में जा गिरा। ड्राइवर ने बमुश्किल झील में समाते ट्रक से कूदकर जान बचाई। घटना एसओएस हरमन माइनर स्कूल के पास की है। यहां स्कूल के ऊंचाई की ओर चढ़ता ट्रक अचानक चालक के संतुलन खोने से ढलान में पीछे की ओर लुड़कने लगा और जब तक चालक उस पर नियंत्रण स्थापित करता वह झील में जाता चला गया। ऐसे में चालक ने कूदकर बमुश्किल जान बचाई। दुर्घटना में ट्रक तो झील में समा ही गया, इसकी वजह से स्कूल को झील से पानी की आपूर्ति करने वाला पंप भी क्षतिग्रस्त हो गया, तथा बिजली की लाइन से करंट लगने का खतरा भी उत्पन्न हो गया। झील में समाये ट्रक को झील से बाहर निकालने के प्रयास रात्रि में शुरू नहीं हो पाये।

यह भी पढ़ें : जागर में जाने क्यों कुपित हुए इष्टदेव, मकान ढहा, 1 की मौत, 15 घायल…

नवीन समाचार, पिथौरागढ़, 29 अगस्त 2019। जनपद के अल्मोड़ा व बागेश्वर जिले की सीमा पर लगे गणाई गंगोली तहसील के ढनौला सेरा ग्राम सभा के बासीखेत तोक में सुबह एक मकान की दोमंजिला पाल यानी पहला तल गिरने से बड़ा हादसा हो गया। दुर्घटना में एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि 15 से अधिक लोग घायल हो गये। हादसा इसलिए अधिक भयावह हो गया, क्योंकि घर में 30 से अधिक लोग रात्रि में इष्टदेव को प्रसन्न करने के लिए देव ‘जागर’लगाने हेतु इकट्ठा हुए थे। न जाने किसी बात पर इष्टदेव ही कुपित हुए, अथवा घर की जर्जर पाल ही इतने लोगों का वजन सहन न कर पाई कि सभी लोग नीचे गिर गये। साथ में घर का पूरा मलबा भी गिरा, जिसमें वे दब गये और हादसा भयावह हो गया। हादसे में घायल लोगों को सबसे नजदीकी बागेश्वर जिले के कांडा स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में ले जाया गया है। जहां कुछ की हालत गंभीर बनी हुई है। वहीं 70 वर्षीय हयात सिंह भंडारी पुत्र स्व. दलीप सिंह भंडारी नाम के एक व्यक्ति ने दम तोड़ दिया है। घटना के बाद गांव में कोहराम का माहौल है। लोग तरह-तरह की बातें कर रहे हैं। क्षेत्रीय विधायक मीना गंगोला भी मौके के लिए रवाना हो गयी है।

लिंक क्लिक करके यह भी पढ़ें: आस्था के साथ ही सांस्कृतिक-ऐतिहासिक धरोहर भी है जागर

बताया गया है कि दुर्घटनाग्रस्त घर मदन सिंह पुत्र श्री नारायण सिंह का है, जिसकी पाल शुक्रवार सुबह 9 बजे ढह गयी। हादसे में 55 वर्षीय राजेन्द्र भंडारी, 70 वर्षीय भूपाल सिंह पुत्र हरक सिंह, 40 वर्षीय आनन्द सिंह, 70 वर्षीया देबुली देवी, 60 की मोहनी देवी पत्नी केशर सिंह, 35 की कमला देवी, 22 की बिमला पुत्री खीम सिंह, 60 की कमला देवी व 25 की शोभा देवी पत्नी सुंदर सिंह का उपचार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कांडा में चल रहा है।
इनके अलावा 65 साल के मदन सिंह पुत्र नारायण सिंह, 56 की कमला देवी पत्नी मदन सिंह, 55 की, 55 की भागुली देवी पत्नी भादो सिंह, 55 की जानकी देवी पत्नी शेर सिंह, 60 की देवकी देवी पत्नी प्रताप सिंह, 56 के आनंद सिंह पुत्र दान सिंह, 62 के राजन सिंह पुत्र नैन सिंह, 55 की कमला देवी पत्नी राजेंद्र सिंह व 35 के प्रकाश सिंह पुत्र शेर सिंह भी घायल हुए हैं।

यह भी पढ़ें : बेहद दुःखद: चारा-पत्ती के चक्कर में महिला की पहाड़ से गिरकर मौत…

नवीन समाचार, नैनीताल, 23 अगस्त 2019। चारा-पत्ती आज भी पहाड़ की महिलाओं का जीवन लील रही हैं। जनपद के दूरस्थ ओखलकांडा के ग्राम सभा पतलिया के तोक लिंगरानी में घास काटते हुए एक 45 वर्षीया महिला दीपा देवी पत्नी भुवन पांडे की चट्टान से गिरने से मौत हो गई। बताया गया है कि दीपा पहाड़ी से गिरे पत्थर की चपेट में आकर बेहद गहरी खाई में जा गिरी, जिससे उसकी मौत हो गई। साथी घसियारी महिलाओं से सूचना मिलने पर ग्रामीण व परिजन मौके पर पहुंचे और उसे खाई से निकाला। तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। महिला की मौत के बाद उसके तीन बच्चों व पति का रो-रोकर बुरा हाल है। महिला का पति भुवन पांडे बाहर नौकरी करता है। ग्रामीणों ने राज्य सरकार से मौत को दैवीय आपदा बताते हुए मुआवजा देने की मांग की है।

यह भी पढ़ें : लोनिवि कर्मी पहाड़ से गिरे पत्थरों की चपेट में आने से घायल, उपचार के दौरान मौत

नवीन समाचार, नैनीताल, 19 अगस्त 2019। सोमवार सुबह करीब 10 बजे जनपद में बेतालघाट-खैरनी रोड पर एक 48 वर्षीय लोनिवि कर्मचारी गोपाल दत्त बलोदी पुत्र दयाकृष्ण बलोदी निवासी ग्राम रोपा बेतालघाट पहाड़ से पत्थर गिरने से घायल हो गये। घटना तब हुई, जब गोपाल ग्राम चड्युला के पास सड़क से पत्थर हटाने का काम कर रहे थे। इस दौरान पहाड़ से अचानक पत्थर आकर उन पर गिरा जिससे वे गंभीर रूप से घायल हो गये। बेतालघाट पुलिस द्वारा तत्काल मौके पर पहुंचकर उन्हें निजी वाहन से पहले गरमपानीं व बाद में हल्द्वानी चिकित्सालय भिजवाया गया, जहां उपचार के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया।

यह भी पढ़ें : अपडेटेड: अल्मोड़ा से बरामद हुआ पशुधन प्रसार अधिकारी…

-अल्मोड़ा के महिला थाने में एक रिश्तेदार युवती के द्वारा उत्पीड़न का मामला दर्ज करने का नया तथ्य भी प्रकाश में

पदपपुरी में बरामद कार एवं इनसेट में गायब कार मालिक पशुधन प्रसार अधिकारी।

नवीन समाचार, धानाचूली, 11 अगस्त 2019। जनपद के धारी तहसील के पास शनिवार को पदमपुरी में मिली दो दिन से गायब पशुधन प्रसार अधिकारी की खून के निशानों से युक्त एक लावारिस कार संख्या यूके04वाई-4407 मिली थी। कार मालिक रामगढ़ विकासखंड के सिनौली में पशु चिकित्सा विभाग में पशुधन प्रसार अधिकारी के पद पर तैनात रानीखेत निवासी विजेंद्र कुमार टम्टा (31) राजेंद्र किशोर अल्मोड़ा पुलिस द्वारा बरामद कर लिया गया है। बताया जा रहा है कि परिजनों की निशानदेही पर ही पुलिस ने उसे बरामद किया। उसके विरुद्ध अल्मोड़ा के नारायण तेवाड़ी देवाल स्थित महिला थाने में विजेंद्र की एक महिला रिश्तेदार द्वारा बीती 8 अगस्त को उत्पीडन करने का मामला दर्ज करने की बात भी प्रकाश में आई है। अब पुलिस उससे उस मामले में भी पूछताछ कर रही है। मामले में प्रेम प्रसंग से जुड़े कुछ नये तथ्य भी प्रकाश में आ रहे हैं।
बताया जा रहा है कि बीती 8 अगस्त को उसके खिलाफ अल्मोड़ा के महिला थाना मंे मामला दर्ज होने के बाद ही विजेंद्र अल्मोड़ा से गायब हुए थे। इसके बाद 9 अगस्त को उनकी माता ने अल्मोड़ा की धारानौला पुलिस चौकी में उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। अल्मोड़ा से कार में निकलने के दौरान उनके एक दोस्त के भी साथ होने की बात प्रकाश में आई थी।

यह भी पढ़ें : पदमपुरी में 3 दिन से लावारिस खून के निशान युक्त कार मिलने और कार मालिक जिले के एक अधिकारी के गायब होने की जानकारी से सनसनी….

-कार में खून मिलने से शक और गहराया, राजस्व पुलिस पहुँची मोके पर, जुटी जांच में
कार मालिक की अल्मोड़ा थाने में दर्ज है गुमशुदगी, जांच के लिए पदमपुरी पहुची अल्मोडा पुलिस

दान सिंह लोधियाल @ नवीन समाचार, धानाचूली, 10 अगस्त 2019। जनपद के धारी तहसील के पास पदमपुरी में एक लावारिस कार मिलने और उसमें खून के निशान भी होने से क्षेत्र में चिंताजनक सनसनी फैल गई है। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे राजस्व पुलिस की टीम में जांच शुरू कर दी है। कार के मालिक की अल्मोड़ा में गुमशुदगी दर्ज है, इस जानकारी के बाद अल्मोड़ा पुलिस भी मौके पर पहुंच गयी है।
राजस्व उप निरीक्षक ललित मोहन जैड़ा के अनुसार पदमपुरी के ग्रामीणों से हाइडिल के पास एक काले रंग की वलीनो कार संख्या यूके04वाई-4407 पिछले तीन दिनों से खड़ी होने की सूचना मिली। सूचना पर राजस्व उप निरीक्षक हेमचंद पलड़िया, ललित मोहन जैड़ा व पूरन चंद्र गुणवंत ने तहकीकात शुरू कर दी। कार में ड्राइवर के दरवाजे की ओर खून के निशान मिले हैं, साथ ही टंकी के पास भी खून के कुछ छींटे दिखाई दिए है। जांच में पता चला कि कार रानीखेत निवासी विजेंद्र कुमार टम्टा (31) राजेंद्र किशोर की है। वहीं बीते शुक्रवार को थाना अल्मोड़ा में विजेंद्र के गायब होने की गुमशुदगी दर्ज की है। इस सूचना अल्मोडा पुलिस कार और विजेंद्र की तलाश में शनिवार को पदमपुरी पहुंच गई है, और वह भी जांच कर रहे हैं।

पशुधन प्रसार अधिकारी की है कार

नैनीताल। अल्मोडा पुलिस के अनुसार विजेंद्र नैनीताल जिले के रामगढ़ विकासखंड के सिनौली में पशु चिकित्सा विभाग में पशुधन प्रसार अधिकारी के पद पर तैनात है। उनकी गुमशुदगी दर्ज होने के बाद से अल्मोड़ा पुलिस पदमपुरी के आसपास की नदियों व पहाड़ियों पर विजेंद्र की तलाश में जुटी हुई है। किंतु यह साफ नहीं हो पा रहा है कि विजेंद्र इस कार में थे भी या नहीं, और कार में लगा खून किसका है। वहीं रामगढ़ की पशु चिकित्सा अधिकारी डा. तरुणा वैला का कहना है कि विजेंद्र व्यहारकुशल और हंसमुख व्यक्ति हैं। उन्होंने कभी भी शिकायत का मौका नही दिया है। वह अपने केंद्र के प्रभारी होते है। जब तक उनकी ओर से अवकाश के लिए पत्र नही आता तब तक वे फील्ड में ही तैनात माने जाते हैं। वह पिछली 6 अगस्त को रामगढ़ में बैठक में आये थे। तब से उनके साथ कोई सम्पर्क नही है। समाचार लिखे जाने तक पुलिस खोजबीन जारी थी। वहीं राजस्व पुलिस ने कार को अल्मोड़ा पुलिस को सौप दिया है।

यह भी पढ़ें : खाई में गिरे शिक्षक के लिए देवदूत बने नैनीताल पुलिस व राहगीर

नवीन समाचार, भीमताल, 8 अगस्त 2019। बुधवार की रात्रि एक शिक्षक के लिए नैनीताल जनपद की भीमताल पुलिस साक्षात देवदूत साबित हुई। हुआ यह कि अल्मोड़ा में तैनात शिक्षक हितेश पंत निवासी कोटाबाग, अपनी मोटरसाइकिल से अल्मोड़ा से हल्द्वानी को जा रहा था। सलडी के पास वह सड़क के किनारे पेशाब करने के लिए रुका था, इस दौरान पैर फिसलने के कारण वह नीचे गहरी खाई में गिर गया। दैव योग से किसी राहगीर ने उसकी चीख सुन ली, और सहायता के लिए थाना भीमताल को सूचना दी। इस पर भीमताल थाने के प्रभारी भगवान सिंह महर आरक्षी चेतन व शंकर के साथ तत्काल मौके पर पहुंचे और बिना देरी किये उसकी तलाशी के लिए बचाव अभियान चलाया। फलस्वरूप हितेश पंत को सकुशल खाई से बाहर निकाल लिया गया। उसके सिर में कुछ गंभीर चोटें आई हुई थी इसलिए उसे 108 वाहन के माध्यम से रात्रि में ही अस्पताल भिजवाया गया। गौरतलब है कि यदि राहगीर शिक्षक हितेश पंत की चीख सुनकर नजरअंदाज करते और पुलिस कर्मी भी रात्रि में अपनी जान जोखिम में डालकर खाई में न उतरते तो सुबह तक कोई बुरी खबर भी आ सकती थी। भीमताल पुलिस व राहगीरों के जज्बे को सलाम।

यह भी पढ़ें : बाइक रपटी, गंभीर घायल बाइक सवार के लिए एसडीएम ने अपने वाहन को बनाया एंबुलेंस…

नवीन समाचार, नैनीताल, 28 जुलाई 2019। रविवार शाम मुख्यालय से करीब चार किमी दूर हल्द्वानी राष्ट्रीय राजमार्ग पर ताकुला के निकट एक बाइक बारिश से गीली सड़क पर रपट गई। इससे बाइक सवार दो युवक-हल्द्वानी के मोतीनगर निवासी संदीप पांडे व भाष्कर चंद्र दुर्घटनाग्रस्त हो गए। दुर्घटना में बाइक सवार भाष्कर के कपड़े फटे जबकि संदीप को काफी चोटें आई थीं। गुजरते हुए कई वाहन चालक दुर्घटना स्थल पर रुक गये थे, किंतु कोई भी घायलों को अस्पताल पहुंचाने की पहल नहीं कर रहा था। इस बीच रानीबाग से लौटते हुए एसडीएम विनोद कुमार ने घायलों को देखा तो उसे अपने वाहन में लेकर वाहन को एंबुलेंस की तरह हूटर बजाते हुए तत्काल बीडी पांडे जिला चिकित्सालय ले आये और चिकित्सकों से घायलों का उपचार कराया।

यह भी पढ़ें : राजभवन की कमजोर रेलिंग तोड़ पेड़ों ने बचा दुर्घटनाग्रस्त वाहन, पेड़ों ने बचाया वरना सीधे जाती झील में..

नवीन समाचार, नैनीताल, 24 जुलाई 2019। नगर में बीती रात्रि राजभवन रोड पर एक वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो गया। दुर्घटना में सड़क किनारे लगी रेलिंग की कमजोरी एवं पेड़ों की उपयोगिता प्रदर्शित हो गयी। रेलिंग तो सड़क सहित उखड़ गयी किंतु पेड़ों ने वाहन को सुरक्षित तरीके से खाई में जाकर जनहानि से बचा लिया। पेड़ ना होते तो कार सीधे नैनी झील में समाई होती। पेड़ों पर टकराई कार को जो भी देख रहा है वह पेड़ों के दुर्घटना को रोकने में उपयोगिता पर भी बात कर रहा है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार रात्रि करीब 10 बजे नगर के वैभरैली कंपाउंड स्थित सुमन पैराडाइज होटल की बताई जा रही जीप संख्या यूके01ए-1955 मल्लीताल से राजभवन की ओर जा रही थी। गाड़ी को होटल का ही मोहन सिंह नाम का चालक चला रहा था। वाहन में और कोई नहीं था। तभी गाड़ी सड़क से नीचे पलट गई और तत्काल ही पेड़ से टकराने की वजह से रुक गई। इससे बड़ी दुर्घटना बच गई। चालक भी सकुशल बच गया।

हल्द्वानी में बिजली करंट लगने से दो मजदूर बुरी तरह झुलस गए

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 18 जुलाई 2019। हल्द्वानी में बिजली करंट लगने से दो मजदूर बुरी तरह झुलस गए हैं। दोनों शहर के दमुवाढूंगा इलाके में 33000 केवी की हाईटेंशन लाइन के नीचे काम कर रहे थे कि लाइन ने उन्हें खींच लिया और वे उससे चिपक गए। गंभीर हालात में उन्हें सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती किया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार बिहार के मोतिहारी जिले के रहने वाले गुड्डू और अफरोज मिस्त्री का काम करते हैं। दोनों बृहस्पतिवार को एक मकान के निर्माण का कार्य कर रहे थे। पहले से दो मंजिल बने हुए इस मकान पर मकान मालिक तीसरी मंजिल बनवा रहा था। जहां गुड्डू और अफरोज काम कर रहे थे वह हाईटेंशन तार से सिर्फ 5 मीटर ही दूर था। इसीलिए हाईटेंशन तार ने उन्हें खींच लिया। इनमें से एक बुरी तरह झुलस गया है और उसकी हालत गंभीर है। दूसरे मजदूर के हाथ और पैर झुलसे हैं और वह खतरे से बाहर है। त्रासदी यह भी है कि बुरी तरह घायल होने के बावजूद इन लोगों को यूपीसीएल से मुआवजा तक नहीं मिलेगा क्योंकि वह अवैध निर्माण कार्य में संलग्न थे। हल्द्वानी में यूपीसीएल के अधिकारियों का कहना है कि मकान मालिक के खिलाफ एफआईआर करवाएंगे।

यह भी पढ़ें : तीन मंजिले घर से नाले में गिरा युवा व्यवसायी, दर्दनाक मौत

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 जुलाई 2019। रविवार अपराह्न करीब डेढ़ बजे नगर के मल्लीताल रॉयल होटल कम्पाउंड क्षेत्र स्थित एक तीन मंजिले अपने घर सेे एक युवा व्यवसायी नीचे नाले में गिर गया। परिजन तत्काल उसे बचाने की कोशिश में बीडी पांडे जिला चिकित्सालय ले गये, जहां प्राथमिक उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया। मृतक की पहचान 34 वर्षीय व्यवसायी साजिद अली पुत्र वाहिद अली के रूप में हुई है। मृतक के पिता की नगर के मल्लीताल बाजार में अंडा मार्केट क्षेत्र में राशन की दुकान है। मृतक भी अपने छोटे भाई माजिद के साथ दुकान पर बैठते थे।
घटना के संबंध में विरोधाभाषी जानकारियां आ रही हैं। पुलिस के अनुसार साजिद रविवार दोपहर का भोजन करने के लिए अपने घर गये हुए थे और घर की तीसरी मंजिल पर कोई कार्य कर रहे थे, तभी चक्कर आने से वह तीसरी मंजिल से सीधे नीचे नाले में आ गिरे। अलबत्ता, पुलिस मामले की जांच कर रही है। बताया गया है कि मृतक का एक बेटा मो.निजाम नगर के लांग व्यू पब्लिक स्कूल में तीसरी कक्षा और बेटी जुबिया सैंट मेरीज कांन्वेंट में पहली कक्षा की छात्रा है। साजिद की माता जरीना की छह माह पूर्व ही कैंसर से मौत हो गई थी। वहीं चिकित्सक डा. जाने आलम के अनुसार उनके सिर पर गंभीर चोट लगी थी जिसके चलते उन्हें प्राथमिक उपचार दिया और सिर पर टांके लगाए, किंतु उन्हें बचाया नहीं जा सका। पुलिस ने शव को पंचनामा भरने के बाद पोस्ट मॉर्टम के लिए भेज दिया है ।

यह भी पढ़ें : महिला को फिर सांप ने डसा, तीन दिनों में सांप की तीसरी घटना

नवीन समाचार, नैनीताल, 10 जुलाई 2019। मुख्यालय के निकटवर्ती क्षेत्रों में तीन दिनों के भीतर दूसरी महिला को सांप द्वारा डसे जाने की घटना हुई है। बुधवार को निकटवर्ती गेठिया क्षेत्र में एक 57 वर्षीया ग्रामीण महिला उमा देवी पत्नी किशन सिंह को घास काटते समय सांप ने काट दिया। गनीमत रही कि सांप घास में रहने वाला हरे रंग का ग्रीन टिंकेट प्रजाति का था। बताया जाता है कि इस सांप में जहर की मात्रा कम होती है। परिजन महिला को मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय भी देर से ला पाये, बावजूद महिला की स्थिति अधिक नहीं बिगड़ी थी। बावजूद जिला चिकित्सालय में चिकित्सकों ने उसे सघन चिकित्सा देखरेख में रखा, जिसके बाद उसकी स्थिति में और अधिक सुधार हुआ, एवं देर शाम उसे चिकित्सालय से घर भी भेज दिया गया।
उल्लेखनीय है कि बरसात के मौजूदा मौसम में सांप देखे जाने की अधिक घटनाएं हो रही हैं। खासकर ग्रामीण क्षेत्रो में इस दौरान विशेष सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। मंगलवार को भी भवाली में एक घर में किंग कोबरा के घुसने की घटना हुई थी।

यह भी पढ़ें : नैनीताल नगर पालिका के आवास में महिला को सांप ने काटा, हल्द्वानी में भी नहीं मिला इलाज

नवीन समाचार, नैनीताल, 9 जुलाई 2019। नगर पालिका नैनीताल द्वारा जवाहर लाल नेहरू शहरी नवीनीकरण योजना के तहत करीब पांच वर्ष पूर्व नगर के बाहरी क्षेत्र दुर्गापुर में बनाये गये आवास में बीती शाम एक महिला को एक सांप ने काट दिया। बताया गया कि भूरे रंग के करीब दो फिट ही लंबे छोटे से सांप ने सोमवार शाम करीब साढ़े सात बजे 32 वर्षीया शीतल पत्नी अजय कुमार के पैर में एड़ी के पास काट लिया। इस पर परिजन उसे उपचार के लिए तत्काल हल्द्वानी ले गये, किंतु कुमाऊं के सबसे बड़े शहर व स्वास्थ्य सुविधाओं का हब बताये जा रहे शहर में महिला को छोटे से सांप के काटे जाने का उपचार नहीं मिल पाया। आखिर परिजन उसे बाजपुर से आगे रामपुर जाने वाली रोड पर मसवाती नाम के स्थान पर सांप के काटे का इलाज करने वाले एक सिख व्यक्ति के पास ले गये। जिन्होंने महिला को दवाई पिलाई और करीब तीन घंटे रोककर वापस भेज दिया। भाजयुमो के जिला आईटी संयोजक राहुल पुजारी ने क्षेत्र में आधारभूत सुविधाएँ उपलब्ध कराये जाने की जरूरत बताई है।  

आवासों में बिजली-पानी की असुविधाएं बनीं जानलेवा

नैनीताल। स्वस्थ होकर अपने घर लौटी महिला शीतल ने ‘नवीन समाचार’ को बताया कि दुर्गापुर के आवासों में बिजली व पानी की बड़ी समस्या है। घर में पानी नहीं आता है, इसलिए बाहर लगे नल से अपने घर के लिए प्लास्टिक का पाइप जोड़ने गई थी। घरों के बाहर लाइट भी नहीं है। इसलिए इन दोनों स्थितियों के बीच सांप ने काट लिया। घर में पानी व बाहर लाइट होती तो वह मौत के मुंह में जाने से बच जाती। महिला का एक 10 वर्षीय बेटा है और पति नगर में एक बैंक की गाड़ी चलाते हैं। नगर में आने के लिए बलियानाला के भूस्खलन प्रभावित क्षेत्र में संकरे मार्ग तक मोटर साइकिल को खड़ाकर पैदल शहर में आना पड़ता है। इसलिए उपचार के लिए मुख्यालय भी नहीं आ सकते हैं।

यह भी पढ़ें : सांप के काटने से ओखलकांडा के युवक की हल्द्वानी में मौत…

दान सिंह लोधियाल @ नवीन समाचार, धानाचूली, 27 जून 2019। भीमताल विधानसभा के ओखलकांडा ब्लॉक के ग्रामसभा तल्ला ओखलकांडा का चंदन बोरा (24) पुत्र हरक सिंह बोरा हल्द्वानी माँ नारदा ट्रेडर्स  की दुकान में पिछले कई समय से मंडी गेट पर काम करता  था । रविवार सुबह जब वह दुकान गया तो कुछ सामान निकालते वक्त हाथ मे सांप ने काट लिया। पर  उसने सांप के काटे को नजर अंदाज कर जड़ी बूटी दवा का उपयोग किया। जब बुधवार रात शरीर के अंगों ने काम करना बंद किया तो रात 12 बजे सुशील तिवारी हॉस्पिटल में भर्ती कराया। बृहस्पतिवार को सुबह इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। सूचना मिलने पर विधायक राम सिंह कैंड़ा सुशीला तिवारी हॉस्पिटल पहुचकर उसका पोस्टमार्टम करवाया। पोस्टमार्टम के बाद डॉक्टरों ने शव परिजनों को सौंप दिया है।  विधायक कैंड़ा ने बताया कि चंदन सिंह माता-पिता का इकलौता पुत्र था। उसके निधन से परिवार सदमे में है।  विधायक ने उसकी मौत पर गहरा दुख व्यक्त किया है, और पीड़ित परिवार को वन विभाग से मुवावजा देने की मांग की है ।

यह भी पढ़ें : बेतालघाट में दो बच्चों की कोसी नदी में डूबने से मौत

नवीन समाचार, नैनीताल, 26 जून 2019। जनपद के बेतालघाट विकास खंड में दो बच्चों में कोसी नदी में डूबने से मौत हो गयी है। बताया गया है कि विकासखंड के ग्राम मल्ली जेठी निवासी 13 वर्षीय धीरज सिंह बिष्ट पुत्र हीरा सिंह बिष्ट और 14 वर्षीय गोकुल भंडारी पुत्र दरबारा सिंह मंगलवार देर शाम तक घर न लौटे, इस पर उनकी तलाश की गयी। बाद में उनके कुछ वस्त्र निकट ही बहने वाली कोसी नदी के किनारे मिले। इस पर संभावना जताई जा रही थी कि वे नदी में नहाने गये होंगे और डूब गये होंगे। तभी से नदी में उनकी तलाश की जा रही थी। मुख्यालय से एसडीआरएफ के जवान भी उन्हें तलाशने गये थे। इस पर अमेल गांव के साहसी युवक पंकज सिंह ने बुधवार सुबह पहले धीरज के शरीर को मृत अवस्था में नदी से ढूंढ निकाला, वहीं गोकुल का शव अपराह्न करीब पौने एक बजे स्थानीय लोगों ने बरामद किया। घटना के बाद से क्षेत्र में शोक की लहर है। माना जा रहा है इन दिनों हो रही बारिश से नदी का पानी बढ़ने की वजह से बच्चे नदी के बहाव का अंदाजा नहीं लगा पाये और डूब गये। धीरज आठवीं एवं गोकुल नौवीं कक्षा का छात्र था।

यह भी पढ़ें : गरुड़ में दुर्घटना में 8 वर्षीय बच्ची की मौत, पिता, भाई व चाचा घायल

नवीन समाचार, गरुड़ (बागेश्वर), 18 जून 2019। मंगलवार सुबह , बीती रात्रि लगभग 12 बजे एक कार के अनियंत्रित होकर गिर जाने से एक 8 वर्षीय बच्ची की मौत होने की बुरी खबर आई है। दुर्घटना में परिवार के तीन लोग घायल भी हुए हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार मारुति सुजुकी ईको संख्या यूके02-0632 गरुड़ के उडखुली के निकट अनियंत्रित होकर खाई में गिर गई। हादसे में वाहन में सवार चार लोगों में से एक चांदनी (8) पुत्र दीप चन्द्र की मौके पर ही मृत्यु हो गयी, जबकि उसके पिता दीप चन्द्र पुत्र मोहन राम, चाचा महेश चंद्र पुत्र गोपाल राम व भाई गौरव पुत्र दीप चन्द्र घायल हो गए। उन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बैजनाथ लाया गया, जहां उनका उपचार चल रहा हैं।

यह भी पढ़ें : कार खाई में गिरी, महिला की मृत्यु, पति व बेटी सहित तीन तीन लोग घायल…

नवीन समाचार, चिन्यालीसौड़, 28 मई 2019। प्रदेश के सीमावती क्षेत्र में नगुन-भवान-सुवाखोली मोटर मार्ग पर चंडीगढ़ से धरासू-तिलपड़ एक आ रही मारुति कार संख्या गाड़ी सीएच01टी-9851 बिकोल गांव के पास अनियंत्रित होकर लगभग 150 मीटर गहरी खाई में गिर कर दुर्घटनाग्रस्त हो गई। दुर्घटना में 76 वर्षीय रतन माला पत्नी भोला दत्त की उपचार के दौरान मौत हो गई अन्य चार घायलों-चालक इंद्रदेव नौटियाल पुत्र भोला दत्त उम्र 50 बर्ष, उनकी पत्नी रुकमणी देवी (48), पुत्री मधु (21 एवं शालिनी पुत्री भगवती प्रसाद अवस्थी की स्थिति को गंभीर देखते हुए उन्हें हायर सेंटर दून रेफर किया गया है। बताया जा रहा है कि कार सवार चंडीगढ़ से अपने गाँव धरासू के पास तिलपड़ गमरी गाड़ आ रहे थे। स्थानीय लोगों के द्वारा घायलों को खाई से निकाला गया एवं तहसील प्रशासन कण्डीसौड़ को सूचना दी सूचना पाकर मौके पर पहुंचे तहसीलदार कण्डीसौड़ व स्थानीय लोगों के द्वारा निजी वाहनों से सीएचसी चिन्यालीसौड़ लाया गया।

 

यह भी पढ़ें : ओवरटेक करने के चक्कर में कुचली मैक्स, एक किशोर समेत तीन लोगों की मौत

ओवरटेक करने के चक्कर में मैक्स की बस से जबरदस्त टक्कर, तीन की मौत

नवीन समाचार, टिहरी, 26 मई 2019। तेजी से ओवरटेक करने के चक्कर में ऋषिकेश जा रही मैक्स सामने से आ रही बस से टकरा गई। भीषण टक्कर में मैक्स सवार एक किशोर समेत तीन लोगों की मौत हो गई। वहीं, दो यात्री गंभीर रूप से घायल हुए हैं। सभी घायलों को श्रीनगर के बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

रविवार सुबह करीब 11 बजकर 45 मिनट ऋषिकेश-बद्रीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर श्रीनगर से ऋषिकेश जा रही मैक्स कीर्तिनगर थाना क्षेत्र के लक्षमोली के पास ओवरटेक करने के प्रयास में सामने से आ रही बस से टकरा गई। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने घायलों को श्रीनगर बेस अस्पताल पहुंचाया। मैक्स में अधिकांश यात्री रुद्रप्रयाग जिले के थे। 

इनमें से एक मृतक महिला की शिनाख्त सोनी नौटियाल पत्नी पवन नौटियाल निवासी अगस्तमुनि रुद्रप्रयाग के रूप में हुई है। जबकि किशोर और दूसरे व्यक्ति की शिनाख्त नहीं हो पाई है। मृतक महिला सोनी नौटियाल के बच्चे प्रिंस और प्रियांशी भी गंभीर रूप से घायल हैं। कीर्ति नगर थानाध्यक्ष जवाहरलाल ने बताया मैक्स सवार नौ लोग और बस सवार पौड़ी निवासी दो यात्री रघुनाथ सिंह और राकेश घायल हुए हैं।लक्षमोली के राजस्व उप निरीक्षक प्रमोद सिंह चौहान ने बताया कि एक मृतक महिला की शिनाख्त हुई है। अन्य दो की शिनाख्त के प्रयास किए जा रहे हैं।

घायलों की सूची

प्रिंस नौटियाल, प्रियांशी नौटियाल, भुवनेश, योगेश, डांगी, यसवंत सिह, बसुकेदार, रविन्द्र सिह चालक, भावना डांगी, अनिता डांगी, राजकुमार पूरनपुर उत्तर प्रदेश.

यह भी पढ़ें : शादी में ‘हर्ष फायरिंग’ करने वाले आरोपित की जमानत अर्जी खारिज

नवीन समाचार, नैनीताल, 26 मार्च 2019। गत 23 फरवरी की शाम हल्द्वानी के थाना मुखानी अंतर्गत एक शादी के प्रीति भोज कार्यक्रम में कौस्तुभ पलड़िया पुत्र सुरेश पलड़िया निवासी जयपुर पाडली खुशी में बंदूक से की गयी फायरिंग में गोली लगने से घायल होने की बात प्रकाश में आई थी। बाद में उपचार के दौरान उसकी मौत भी हो गयी थी। हालांकि बाद में कहा गया कि नवीन चंद्र नाम का व्यक्ति शादी में बंदूक लाया था। बंदूक में गोली फंस गयी थी, जिसे ललित पलड़िया नाम का व्यक्ति निकालने का प्रयास कर रहा था, तभी गलती से गोली चल गयी, जिससे कौस्तुभ की मौत हो गयी। बाद में 27 फरवरी को नवीन व ललित को गिरफ्तार किया गया था। नवीन के विरुद्ध आर्म्स एक्ट में तथा ललित के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 304 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। इधर ललित की ओर से अदालत में जमानत का प्रार्थना पत्र दिया गया था। जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने जमानत प्रार्थना का विरोध करते हुए छह गवाह पेश किये। इस पर प्रभारी जिला जज प्रथम अतिरिक्त जिला जज विनोद कुमार की अदालत ने ललित की जमानत खारिज कर दी।

पूर्व समाचार : ‘शोक’ कर गयी ‘हर्ष फायरिंग’, दम तोड़ गया समाजसेवी

मृतक समाजसेवी

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 23 फरवरी 2019। शादी के दौरान डीजे में डांस के दौरान ‘हर्ष फायरिंग’ के दौरान चली गोली से एक एक परिवार ने अपना बेटा  खो दिया, जिससे  परिवार में शोक छा गया है।  लामाचौर क्षेत्र में हुई घटनाा में एक समाजसेवी युवक घायल हो गया था, जिसके बाद उसे एसटीएच में उपचार के लिए लाया गया है। जहां देर रात उसकी मौत हो गई। जानकारी मिलने के बाद एसटीएच में युवकों का जमावड़ा लगा रहा। जबकि पुलिस को गोलीकांड की जानकारी बहुत देर में पता चली। अब पुलिस मामले की जांच कर रही है।

लामाचौड़ क्षेत्र में शुक्रवार रात एक शादी समारोह चल रहा था। डीजे में कई युवक डांस कर रहे थे। बताया जा रहा है कि स्थानीय समाजसेवी कौस्तुभ पलड़िया भी डांस फ्लोर पर थे। इस बीच अचानक किसी ने गोली चला दी। जो कि कौस्तुभ के कांधे के पास जा लगी। इसके अलावा कई छर्रे भी उन्हें लगे। आनन-फानन में बेहोशी की हालत में शादी में मौजूद लोग उन्हें एसटीएच लेकर पहुंचे। जहां चिकित्सक उनके उपचार में जुट गए। देर रात इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

वहीं मुखानी थाना व लामाचौड़ चौकी गोलीकांड की घटना से काफी देर तक अंजान रहा। देर रात मौत की खबर के बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई।

गोली चलाना खेल बना दिया

हल्द्वानी में कमर में लाइसेंसी असलहा लगाना स्टेटस सिंबल बन चुका है। नेताओं व अधिकारियों से जुगाड़ लगाकर लोग लाइसेंस बना रहे हैं। शादी-समारोह में खुद को बड़ा दिखाने के चक्कर में लगातार हर्ष फायरिंग की घटनाएं सामने आ रही है। चार माह पूर्व पंचायत घर रामलीला मंचन के दौरान बाहर सड़क पर तमंचे से चली गोली के छर्रे एक किशोर को लगे थे। वहीं सात दिन पूर्व बनभूलपुरा थाना क्षेत्र में भी डांस के दौरान चली गोली एक मैकेनिक को लगी थी। वहीं बीते शनिवार को इंदिरानगर ठोकर के पास शादी से ठीक एक दिन पहले डांस के दौरान नदीम नामक युवक को वहीं सलमान ने तमंचे से गोली मार दी थी। घटना डीजे में डांस के दौरान हुई थी। गनीमत रही कि गोली युवक के पांव को छूकर निकल गई। वहीं फाय¨रग का आरोपित सलमान आठ दिन बाद भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।
धार्मिक व सामाजिक संगठनों से जुड़े थे कौस्‍तुभ
समाजसेवी के तौर पर कौस्‍तुभ  ने कम समय में इलाके में अच्‍छी पहचान बना ली थी। कई धार्मिक व सा‍माजिक  संगठनों  से जुड़े थे। मौत की सूचना पर अस्‍पताल से लेकर मोर्चरी तक लोगों का तांता लग गया। हर कोई इस घटना से हैरान है।

यह भी पढ़ें : चाचा-भतीजे के परिवार में फूड प्वाइजनिंग, नौ बच्चों सहित 11 लोग बीमार

फूड प्वाइजनिंग से दो परिवारों के 11 लोग बीमारनवीन समाचार, हल्द्वानी, 25 मार्च 2019। नंधौर वैली चोरगलिया क्षेत्र में नंधौर नदी में पत्थर भरने का काम करने वाले व वहीं रहने वाले दो परिवारों के नौ बच्चों सहित 11 लोग फूड प्वाइजनिंग का शिकार हो गये हैं। सभी को हल्द्वानी के बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया गया है कि बीती रात्रि उन्होंने सोयाबीन की बड़ी की सब्जी बनाकर खाई थी, लेकिन इसका असर सोमवार को दोपहर पहले करीब 11 बजे के बाद होना शुरू हुआ। इस बीच कुछ अन्य वस्तु खाने से फूड प्वाइजनिंग हुई हो, इस बात की भी जांच की जा रही है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मूल रूप से बिलासपुर निवासी अहमद नवी और उसके चाचा यासीम का 11 लोगों का संयुक्त परिवार के रूप में आमखेड़ा चोरगलिया में रहता हैं। देर रात परिवार के सभी लोगों ने सोयाबीन की बड़ी और रोटी खाई थी इसके बाद सोने चले गए। सुबह करीब 11 बजे के उनकी धीरे-धीरे तबियत खराब होने लगी। चक्कर आने पर परिवार में हड़कंप मचने लगा। लोगों की मदद से उनको बेस अस्पताल लाया गया। इस दौरान अहमद नवी की पत्नी खुशनुमा (40), बेटी तबस्सुम (20), शाइस्ता (4), बेटा आयत (2), रहमान (17), अरमान (12), जीशान (7) और अमान (2)एवं चाचा यासीम के साथ उनके बेटे कासिम (9) व असीम (9) बेहोश हो गए।

यह भी पढ़ें : शादी की दावत में फूड प्वाइजनिंग, 120 से अधिक की तबियत बिगड़ी

नवीन समाचार, जसपुर, 11 फरवरी 2019। उत्तराखंड के ऊधमसिंहनगर जनपद के जसपुर कस्बे के निकटवर्ती गांव भगवंतपुर में रविवार को शादी से पूर्व दी जाने वाली ‘मंढे की दावत’ में खाना खाकर 120 से अधिक ग्रामीणों की तबियत बिगड़ने का समाचार है। ग्रामीणों को आनन फानन में काशीपुर के निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया, जहां पीड़ितों की स्थिति में भी सुधार बताया जा रहा है। पुलिस मामला बनने के डर से आयोजक किसी भी तरह की जानकारी देने से बचते रहे।
जानकारी के अनुसार ग्राम भगवंतपुर में एक व्यक्ति के बेटे की शादी से पूर्व मंढे की दावत में उड़द की दाल और चावल बना था। बताया जा रहा है कि खाना खाने के बाद एक के बाद एक करीब 120 से अधिक ग्रामीणों को उल्टी-दस्त शुरू हो गए। इस पर आयोजक परिवार के हाथ-पांव फूल गए। आनन-फानन में आयोजक परिवार के लोग गंभीर रूप से बीमार ग्रामीणों को काशीपुर के प्राइवेट नर्सिंग होम में ले गए। वहीं अधिकतर ग्रामीण गांव में डॉक्टर से इलाज कराते रहे। गांव के एक डॉक्टर ने आशंका जताई कि ग्रामीणों की तबियत फूड प्वॉइजनिंग के कारण बिगड़ी होगी। अनाज में कीड़ा न लगे इसलिए ग्रामीण उसमें कीटनाशक डाल देते हैं। आशंका जताई जा रही है कि उड़द और चावल में कीटनाशक रहा हो और खाना बनाने से पहले इन्हें सही से नहीं धोया गया हो। बताया जा रहा है कि बीमार पड़े लोगों में सिर्फ पुरुष ही शामिल हैं। इससे पहले की महिलाएं इस खाने को खातीं, पुरुषों की तबीयत बिगड़ने लगीं, जिसके चलते उन्होंने खाना खाया ही नहीं। इस बाबत पुलिस को कोई जानकारी नहीं है।

पूर्व समाचार : फूड प्वाइजनिंग से हुई चौथी मौत, आनंदा दूध को बताया जा रहा है कारण !

शादी में खाना खाने से पूर्व विधायक समेत 225 लोग हुए फूड प्वाइजनिंग के शिकार

हल्द्वानी, 3 दिसंबर 2018। बागेश्वर जिले की कपकोट विधानसभा अंतर्गत बास्ती गांव में गुरुवार 29 दिसंबर को बारात के खाने में हुई फूड प्वाइजनिंग की घटना में सोमवार दोपहर करीब सवा 12 बजे हल्द्वानी के सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज में एक 60 वर्षीया महिला खिमुली देवी पत्नी फकीर चंद्र ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया है। इस प्रकार इस मामले में मौतों की संख्या चार हो गयी है। मृतकों में दो महिलाएं एवं दो बच्चे शामिल हैं। मृतका खिमुली देवी बास्ती गांव की ही रहने वाली थी। उसके पति का भी मेडिकल कॉलेज में उपचार चल रहा है। अस्पताल प्रशासन के अनुसार वह यहां लाये जाने वाले शुरुआती मरीजों में शामिल थी। उसे पहले से श्वांस की बीमारी भी थी, और वह शुरू से ही वेंटीलेटर पर रखी गयी थी। वहीं मामले में अभी भी कम से कम 6 लोगों की हालत गंभीर बतायी जा रही है।
इधर फूड प्वाइजनिंग की स्वयं भी जद में आये कपकोट के पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण ने इस मामले में आनंदा ब्रांड के दूध को इस पूरी घटना के लिए दोषी ठहराया है। उनका कहना है कि उन्होंने बारात में केवल दो चम्मच रायता ही खाया था, जो आनंदा दूध से बना था। गौरतलब है कि मामले में शुरू से रायते को ही फूड प्वाइजनिंग के लिए दोषी ठहराया जा रहा था, अलबत्ता कुछ मरीजों ने चावल में कीटनाशक होने के कारण को भी इस घटना का मूल कारण बताया है।

पूर्व समाचार: फूड प्‍वाइ‍जनिंग से बीमार दो बच्चों व एक महिला सहित 3 की मौत, सीएम ने डीएम से मांगी रिपोर्ट

बागेश्वर, 1 दिसंबर 2018। बागेश्वर जिले के बास्ती गांव में शादी में खाना खाने के बाद फूड प्वाइजनिंग से बीमार दो बच्चों समेत एक महिला की मौत हो गई है, जबकि 257 बीमार लोगों को पिथौरागढ़ व बागेश्वर के विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा हैं। अभी तक 19 लोगों को हायर सेंटर हल्द्वानी रेफर कर दिया हैं। इनमें से 9 बीमार लोगों को अब तक एअर लिफ्ट कर एसटीएच हल्द्वानी में भर्ती कराया गया हैं। रेफर होने वालों का आंकड़ा अभी और बढ़ सकता हैं। कमिश्नर राजीव रौतेला ने पूरे मामले की मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दे दिए हैं। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बागेश्वर में फूड पाइजनिंग की घटना के बारे में डीएम बागेश्वर से रिपोर्ट मांगी है। सीएम आज हल्द्वानी में बीमारों से मिलेंगे, और सभी का सरकार निःशुल्क इलाज भी कराएगी।

उल्लेखनीय है कि गुरुवार को कपकोट विधानसभा के बास्ती गांव में शादी का भोजन खाने से 250 से अधिक लोग फूड प्वाइजनिंग का शिकार हो गए थे। इन सभी का बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिले के अस्पतालों में उपचार चल रहा है। शनिवार को उपचार के दौरान मोहित (5) पुत्र देव सिंह, प्रियांशी (9) पुत्री राजेंद्र महर और नंदी देवी (55) पत्नी प्रताप सिंह की मौत हो गई। पांच वर्षीय बालक मोहित की मौत बेरीनाग सीएचसी में हुई, जबकि प्रियांशी की हायर सेंटर ले जाते समय मौत हुई। वहीं नंदी देवी की सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी में उपचार के दौरान मौत हुई। इनके अलावा 6 अधिक लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है, जिन्हें हेलीकॉप्टर से हल्द्वानी हायर सेंटर भेजा गया है। इसके अलावा सीएससी कांडा में 46, कपकोट में 46 व जिला अस्पताल में 20 मरीज भर्ती हैं। जिला अस्पताल से 8 मरीजों को इलाज के लिए हायर सेंटर रेफर किया गया हैं। चिकित्सकों की कमी को देखते हुए बाहरी जिलों से चिकित्सक जिला मुख्यालय पहुंच रहे हैं। सीएससी बेरीनाग में हेलीकाप्टर के जरिये एक चिकित्सक भेज दिया हैं। वहीं नैनीताल व अल्मोड़ा से चिकित्सकों की टीम बागेश्वर पहुंच रही हैं। बागेश्वर में फिलहाल कोई गंभीर नही बताया जा रहा हैं। बास्ती गांव में डॉ. दीप कुमार व फार्मासिस्ट हरी प्रसाद को भेजा गया हैं। इसके अलावा पशु चिकित्सकों व जलसंस्थान की टीम भी भेजी गई हैं। यह लोग बीमार मवेशियों का भी इलाज करेंगे। जल संस्थान की टीम पानी का सैंपल लेगी।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बागेश्वर में फूड पाइजनिंग की घटना के बारे में डीएम बागेश्वर से रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने बीमार लोगों का समुचित उपचार सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। मुख्यमंत्री के निर्देश पर हेलीकाप्टर से गंभीर  रूप से बीमार व्यक्तियों को उपचार के लिए हल्द्वानी लाकर भर्ती कराया गया है। विशेषज्ञ चिकित्सकों को भी भेजा गया है। मुख्यमंत्री ने कमिश्नर कुमाऊं को भी जिलाधिकारी बागेश्वर के निरंतर संपर्क में रहने को कहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि फूड पाइजनिंग से बीमार लोगों को उपचार की हर प्रकार की सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। डीएम बागेश्वर ने बताया कि बीमार लोगों का बागेश्वर के सरकारी व निजी अस्पतालों में निश्घ्शुल्क इलाज किया जा रहा है

विषाक्त रायते ने फैला दिया ‘रायता’ ! पूर्व विधायक सहित 250 बाराती बीमार

बागेश्वर, 30 नवंबर 2018। बागेश्वर जिले के कपकोट ब्लॉक के ग्राम बास्ती में विषाक्त भोजन खाने से कपकोट के पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण समेत 250 से अधिक बाराती और घराती बीमार हो गए। इनमें अधिकतर घराती हैं। सूचना मिलने पर जिला प्रशासन ने गांव में डॉक्टरों की टीम भेजी। प्राथमिक उपचार के बाद मरीजों को बेड़ीनाग, कांडा और बागेश्वर के अस्पतालों में भर्ती किया गया। कई मरीजों का गांव में ही इलाज चल रहा है। कपकोट के पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण को उनकी गंभीर हालत के मद्देनजर अल्मोड़ा बेस अस्पताल में लाया गया जहां उनकी हालत में सुधार बताया जा रहा है। 
गडेरा निवासी हरीश सिंह गढ़िया के बेटे नंदन सिंह गढ़िया की बारात बृहस्पतिवार को बास्ती गांव में मोहन सिंह महर के घर गई थी। बाराती-घराती खाना खाकर घर चले गए थे। रात में लगभग दस बजे के करीब जिन-जिन लोगों ने बारात में खाना खाया था, उन्हें उल्टी-दस्त होने लगे तो हड़कंप मच गया। रातभर ग्रामीण परेशान रहे। शुक्रवार सुबह बागेश्वर जिला प्रशासन को सूचित किया गया। कपकोट विधायक बलवंत सिंह भौर्याल के निर्देश पर जिला प्रशासन ने डॉक्टरों की टीम को बास्ती गांव भेजा। प्रशासन ने बताया कि बास्ती, गडेरा, सनगाड़, थूमा और द्वारी गांवों के 250 से अधिक ग्रामीण बीमार हैं। इनमें से 152 से अधिक मरीज बेरीनाग अस्पताल, 42 कांडा और लगभग 14 मरीज बागेश्वर अस्पताल में मरीज भर्ती हैं। कपकोट के पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण व जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश ऐठानी के गनर नरेंद्र सिंह  को भी गंभीर हालत में जिला अस्पताल बागेश्वर में भर्ती किया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें अल्मोड़ा रेफर कर दिया गया। एसडीएम कांडा रिंकू बिष्ट, सीओ महेश जोशी सहित डॉ. बीएस रावत, केबी वर्मा, विक्रम वर्मा, मनोज कोरंगा, विक्रम कार्की ने बास्ती गांव जाकर मरीजों का हाल जाना और उनका प्राथमिक उपचार किया। कांडा, बेरीनाग, बागेश्वर से मंगाई गई पांच एंबुलेंसों से मरीजों को अस्पतालों में भेजा गया। एसडीएम रिंकू बिष्ट ने बताया कि 70 से अधिक लोगों का गांव में ही इलाज चल रहा है। डॉ. बीएस रावत ने बताया कि अधिकांश मरीजों की हालत में अब सुधार है।  

रायते के विषाक्त होने का अंदेशा, रायता खाने से बकरी भी बीमार 

बास्ती गांव में बारात के भोजन के दौरान किस खाने में विषाक्त होने के लक्षण थे, यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा लेकिन ग्रामीणों को आशंका है कि रायता विषाक्त होगा क्योंकि जिन लोगों ने रायता नहीं खाया वे बीमार नहीं हुए। ग्रामीणों ने बताया कि बारात में चंचल महर, इंदिरा देवी, तारा देवी, धन सिंह ने रायता नहीं खाया तो उन्हें फूड प्वॉइजनिंग नहीं हुई।  ग्रामीणों ने बताया कि रायते के विषाक्त होने का अंदेशा तब गहरा हो गया जब एक बकरी को रायता दिया तो वह भी बीमार हो गई। हालांकि, प्रशासन घटना की गहन जांच कर रहा है। जांच के बाद ही सही तथ्य सामने आएंगे।  

जिला पंचायत अध्यक्ष ने नहीं खाया रायता 

जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश ऐठानी, पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण ने साथ ही भोजन किया। पूर्व विधायक बीमार हो गए, लेकिन जिपं अध्यक्ष ठीक है। जिला पंचायत अध्यक्ष ने बताया कि उन्होंने रायता नहीं लिया जिससे अंदेशा लगाया जा रहा है कि रायता ही खराब था। जिला पंचायत अध्यक्ष का गनर नरेंद्र सिंह भी बीमार है।

यह भी पढ़ें : सिडकुल की फैक्ट्री में जहरीली गैस का रिसाव, 7 महिला कर्मी बेहोश, हडकंप…

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 17 जनवरी 2019। सिडकुल की एलजीबी फैक्ट्री में जहरीली गैस का रिसाव होने से आधा दर्जन महिला कर्मी बेहोश ही गई हैं। इसका पता चलते फैक्ट्री प्रबंधन में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में उन्‍हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 17 जनवरी 2019। सिडकुल की एलजीबी फैक्ट्री में जहरीली गैस का रिसाव होने से आधा दर्जन महिला कर्मी बेहोश ही गई हैं। इसका पता चलते फैक्ट्री प्रबंधन में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में उन्‍हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

रुद्रपुर के सिडकुल के सेक्टर 9 स्थित बाइक की चेन बनाने वाली एलजीबी फैक्ट्री में बृहस्पतिवार दोपहर में फैक्ट्री में तैनात महिला कर्मचारी खाना खाने के लिए केबन में गई हुई थीं। इसी बीच कमरे में जहरीली गैस का रिसाव हो गया, जिससे सात महिला कर्मी बेहोश हो गईं। यह देख पीछे से आ रही महिला कर्मियों में भी हड़कंप मच गया। शोर सुनकर फैक्ट्री अधिकारी भी पहुंच गए। बेहोश महिला कर्मी रेनू, आर्किल यादव, रचना, रोली यादव, ज्योति, प्रियंका और कल्पना को फैक्ट्री के वाहन से निजी अस्पताल पहुंचाया। जहां उनकी हालत सामान्य बनी हुई है। इसका पता चलते ही सिडकुल चौकी प्रभारी केजी मठपाल पुलिस कर्मियों के साथ फैक्ट्री पहुंचे और घटना की जानकारी ली। फिलहाल पुलिस जांच कर रही है।

Leave a Reply

loading...