Health

जिला चिकित्सालय में मिलेंगी अब सभी दवाइयां निःशुल्क, पांव टूटने पर रॉड भी निःशुल्क

समाचार को यहाँ क्लिक करके सुन भी सकते हैं

-दांतों की आरसीटी, लैप्रोस्कॉपी विधि से ऑपरेशन एवं लिफ्ट लगाने तथा फेको इमल्सिफिकेशन विधि से आंखों के ऑपरेशन के प्रयास भी शुरू
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 9 मई 2022। बीडी पांडे जिला चिकित्सालय ने आयुष्मान योजना के तहत प्रदेश में प्रथम पुरस्कार जीता है। चिकित्सालय प्रबंधन अब इस प्रथम पुरस्कार आदि से प्राप्त करीब 30 लाख रुपए की धनराशि से चिकित्सालय में अनुपलब्ध हर तरह की जेनरिक दवाओं, टॉनिक आदि को प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र के माध्यम से बिना किसी ऑपचारिकता या निविदा के करीब एक चौथाई कीमत में ही खरीदकर उपलब्ध कराने जा रही है।

डॉ. केएस धामी

इसी माह सेवानिवृत्त हो रहे जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केएस धामी ने यह जानकारी देने के साथ ही बताया कि यह प्रदेश में पहली बार किसी चिकित्सालय में हो रहा है। चिकित्सालय पांव की हड्डी टूटने पर चिकित्सालय की ओर से आयुष्मान के माध्यम से निःशुल्क रॉड उपलब्ध कराने की व्यवस्था भी की जा रही है। इसके बाद हड्डी के ऑपरेशन भी चिकित्सालय में निःशुल्क होंगे। चिकित्सालय में दांतों की अत्याधुनिक मशीनों के साथ आरसीटी जैसी सुविधा भी उपलब्ध हो गई है। चिकित्सालय के प्राइवेट वार्डों के आधुनिकीकरण और इनमें लिफ्ट लगाने का कार्य भी शुरू हो गया है।

इसके अलावा जिला चिकित्सालय में पिछले करीब 15 वर्षों से बंद पड़ी लैप्रोस्कॉपी मशीन का फिर से पित्त की थैली आदि के ऑपरेशन में प्रयोग होने लगा है। चिकित्सालय में कानों की सुनने की क्षमता मापने वाले ‘ऑडियोमैट्री’ जांच भी होने लगी है। इसके अलावा चिकित्सालय में अंधता निवारण अभियान के तहत आंखों के ऑपरेशन अत्याधुनिक फेको इमल्सिफिकेशन विधि से करने की भी शुरुआत होने वाली है। इसके लिए चिकित्सालय की एक चिकित्सक को प्रक्षिक्षण के लिए भेजने एवं नई मशीन उपलब्ध कराने के लिए स्वास्थ्य महानिदेशक को लिखा गया है। वहीं सीटी स्कैन मशीन में प्रिंटर उपलब्ध नहीं है। इसे उपलब्ध कराने के लिए भी प्रयास किया जा रहा है।

वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ की कमी झेल रहा जिला चिकित्सालय
नैनीताल। बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में महिला चिकित्सालय के भी समायोजित हो जाने के बाद अब यहां वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ की कमी खल रही है। हल्द्वानी से स्थानांतरित हुई स्त्री रोग विशेषज्ञ नहीं आई। सीएमएस डॉ. दुग्ताल ने बताया कि चिकित्सालय में वरिष्ठ स्त्री रोग चिकित्सक की नितात आवश्यकता है। केवल एक स्त्री रोग विशेषज्ञ से काम नहीं चल पा रहा है। इस बारे में उच्चाधिकारियों को भी हर स्तर पर सूचित कर दिया गया है।

विभिन्न शिविरों की वजह से प्रभावित हो रही है चिकित्सकों की उपलब्धता
नैनीताल। जिला चिकित्सालय में अक्सर चिकित्सकों के अपने कक्ष पर उपलब्ध न होने की समस्या दिखाई देती है। इस बारे में सीएमएस डॉ. धामी ने कहा कि चिकित्सालय में हर सप्ताह सोमवार को लगने वाले विकलांग शिविर तथा दूरस्थ क्षेत्रों में लगने वाले स्वास्थ्य शिविरों एवं बहुउद्देश्यीय शिविरों में चिकित्सकों के जाने की वजह से यह दिक्कत आती है। फिर भी जिला चिकित्सालय में दो फिजीशियन, हड्डी रोग व बाल रोग विशेषज्ञ सहित सभी उपलब्ध पदों पर चिकित्सक उपलब्ध हैं।

यह भी पढ़ें : नैनीताल के लिए ऐतिहासिक दिन: नैनीताल जिला चिकित्सालय में स्थापित हुई सीटी स्कैन मशीन

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 15 अप्रैल 2022। नैनीताल के लिए शुक्रवार का दिन एक तरह से चिकित्सा के क्षेत्र में नए युग की शुरुआत का ऐतिहासिक दिन रहा। जिला व मंडल मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में आखिर लंबे इंतजार के बाद सीटी स्कैन मशीन लग गई है। शुक्रवार को प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने वर्चुअल माध्यम से प्रदेश की स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. तृप्ति बहुगुणा व नैनीताल के जिलाधिकारी धीराज गर्ब्याल की मौजूदगी में सीटी स्कैन मशीन का फीता काटकर औपचारिक शुभारंभ किया।

बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में सीटी स्कैन मशीन के शुभारंभ के अवसर पर मौजूद स्वास्थ्य महानिदेशक, डीएम व अन्य।

इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रावत ने कहा कि 6 माह के भीतर प्रदेश के सभी जिला चिकित्सालयों व मेडिकल कॉलेजों में विशेषज्ञ चिकित्सकों को तैनात करना एवं प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में चिकित्सा सुविधाएं सुधारना उनका लक्ष्य है। उन्होंने विश्वास जताया कि अल्मोड़ा के बाद पिथौरागढ़, ऊधमसिंह नगर व हरिद्वार के मेडिकल कॉलेजों में दो वर्ष के भीतर पढ़ाई शुरू हो जाएगी, और इससे राज्य में व खासकर पर्वतीय क्षेत्रों में 2024-25 में चिकित्सकों की कमी दूर कर ली जाएगी। उन्होंने डीएम गर्ब्याल से नगर के रैमजे अस्पताल में सुविधाओं का प्रस्ताव मांगा।

वहीं स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. तृप्ति बहुगुणा ने जिला चिकित्सालय में सीटी स्कैन स्थापित करने के लिए ‘डॉक्टर्स फॉर यू’ संस्था की सराहना करते हुए बताया कि इस वर्ष राज्य में 400 चिकित्सकों की नियुक्ति की जाएगी। इनकी तैनाती में दूरस्थ क्षेत्रों को प्राथमिकता दी जाएगी। डीएम धीराज गर्ब्याल ने कहा कि जनपद में जिला योजना का दस फीसद स्वास्थ्य क्षेत्र में खर्च किया जा रहा है। साथ ही जिला चिकित्सालय में सीटी स्कैन मशीन लगने व हाल ही में चिकित्सालय को मिशन कायाकल्प में प्रथम पुरस्कार मिलने पर प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केएस धामी व उनकी टीम को बधाई दी।

डॉक्टर्स फॉर यू संस्था के डॉ. रजत जैन ने अपने वर्चुवल सम्बोधन में बताया कि उनकी संस्था ने शिखर फाउंडेशन, एचडीएफसी बैंक व गिव इंडिया के सहयोग से राज्य में पहली सीटी स्कैन मशीन धारचूला में व दूसरी नैनीताल में लगाई है। इस अवसर संयुक्त मजिस्ट्रेट प्रतीक जैन, सीएमओ डॉ.भागीरथी जोशी, स्वास्थ्य निदेशक कुमाऊं डॉ. तारा आर्य, एसीएमओ डॉ अनुपमा ह्यांकी, डॉ रश्मि पंत, डॉ.आरके वर्मा, डॉ. केएन जोशी, डॉ एमएस दुग्ताल, डॉ. मोनिका कांडपाल, डॉ. अनिरूद्ध गंगोला, डॉ. वीके पुनेरा, डॉ. द्रोपदी गर्ब्याल, तहसीलदार नवाजिश खलीक, डॉ. यशिका, डॉ.प्रकृति, डा.शिवंम, डॉ.अमित राज, डॉ.मुखराम, शशिकला पांडे, आईके पांडे, भाजपा के मंडल अध्यक्ष आनंद बिष्ट, विमला अधिकारी, विश्वकेतु वैद्य, मोहित रौतेला, केएल आर्य सहित चिकित्सालय कर्मी व अनेक अन्य लोग मौजूद रहे।

करीब 10 दिन बाद सेवाएं देगी सीटी स्कैन मशीन
नैनीताल। बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केएस धामी ने बताया कि सीटी स्कैन मशीन को शुरू कराने के लिए रेडियेशन यानी विकीरणरोधी उपाय करने एवं स्वीकृतियां पाने जैसी 90 फीसद तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। मशीन के संचालन के लिए पूर्व सांसद डॉ. महेंद्र पाल के भाई देश-विदेश के विशेषज्ञ रेडियोलॉजिस्ट डॉ. यतेंद्र पाल सिंह के पंजीकरण की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। डॉ. पाल रेडियोलॉजी के साथ ओन्कोलॉजी के भी विशेषज्ञ के तौर पर अमेरिका व ओमान में कार्यरत रहे हैं। उन्हें सीटी स्कैन मशीन का भी 15-20 वर्ष का अनुभव है। इनके अलावा तकनीशियन का प्रशिक्षण भी पूरा होने जा रहा है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : दिवंगत पत्रकार दीक्षित को उनकी इच्छा पूरी कर एनयूजे-आई ने दी श्रद्धांजलि

-राइंका पटवाडांगर में लगाया गया स्वास्थ्य शिविर, 200 ग्रामीणों ने उठाया लाभ
-शिविर में ग्रामीणों एवं स्कूली बच्चों के स्वास्थ्य, दांत, आंख, वजन, रक्तचाप व मधुमेह के साथ कोरोना जांच व कोविड टीकाकरण भी किया गया

राइंका पटवाडांगर में एनयूजे-आई द्वारा आयोजित स्वास्थ्य शिविर में स्वर्गीय पत्रकार प्रशांत दीक्षित को श्रद्धांजलि देते पत्रकार एवं चिकित्सक।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 18 दिसंबर 2021। नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स इंडिया के तत्वावधान में शनिवार को बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के सहयोग से दिवंगत पत्रकार पूर्व जिलाध्यक्ष प्रशांत दीक्षित की स्मृति में उनकी इच्छा के अनुरूप स्वास्थ्य शिविर लगाया गया। जिला मुख्यालय से लगभग 12 किलोमीटर दूर स्थित ऐपाल देवता राजकीय इंटर कॉलेज पटवाडांगर में सुदूरवर्ती गांवों के लिए लगाए गए शिविर में 200 के करीब क्षेत्रीय ग्रामीणों एवं स्कूली बच्चों के स्वास्थ्य, दांत, आंख, वजन, रक्तचाप व मधुमेह के साथ ही कोरोना की आरटीपीसीआर आदि की जांचें की गईं, तथा 20 लोगों का कोविड का टीकाकरण भी किया गया। स्वास्थ्य शिविर में सांस की दिक्कत के मरीज अधिक सामने आए।

शिविर का शुभारंभ दिवंगत पत्रकार स्वर्गीय दीक्षित की पत्नी किरन दीक्षित ने जनपद की मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. भागीरथी गर्ब्याल के साथ दीप प्रज्वलित कर की। उपस्थित चिकित्सकों एवं पत्रकारों ने स्वर्गीय दीक्षित को उनके चित्र के समक्ष दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी। एनयूजेआई के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. गिरीश रंजन तिवारी, जिलाध्यक्ष डॉ.नवीन जोशी व नगर अध्यक्ष अफजल हुसैन ‘फौजी’ ने कहा कि स्वर्गीय दीक्षित यह शिविर लगाना चाहते थे, लेकिन कोरोना की वजह से उनका असामयिक निधन हो गया। इसलिए उनकी इच्छा को पूरी करते हुए यह स्वास्थ्य शिविर लगाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी जा रही है।

स्वास्थ्य शिविर लगाने के लिए ज्येष्ठ ब्लॉक प्रमुख भीमताल हिमांशु पांडे, ग्राम प्रधान धर्मेंद्र रावत व प्रभारी प्रधानाचार्य हरिशंकर आर्य सहित सभी ग्राम वासियों ने पत्रकार संगठन एनयूजे-आई एवं जिला चिकित्सालय के प्रयासों की जमकर प्रशंसा की। कहा कि मुख्यालय के निकटवर्ती होने के बावजूद यहां दीपक तले अंधेरा की स्थिति है। ऐसे एवं बहुद्देश्यीय शिविर नियमित तौर पर लगते रहने चाहिए। सीएमओ डॉ. भागीरथी जोशी ने पत्रकारों द्वारा लगाए गए शिविर को समाज के लिए सराहनीय कदम बताया। जिला चिकित्सालय के पीएमएस डॉ. केएस धामी, वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. एसएस दुग्ताल, बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. एसएस रावत, हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. अनिरुद्ध गंगोला व डॉ. रुपाली रस्तोगी, नेहा शर्मा आदि ने बच्चों की स्वास्थ्य जांच के साथ उन्हें कोविड प्रोटोकॉल्स का पालन करने के साथ अपने स्वास्थ्य, दांतों की सफाई व नशे से दूर रहने के सुझाव भी दिए।

इस मौके पर एनयूजे-आई के प्रदेश अध्यक्ष कैलाश जोशी, कुमाऊं मंडल अध्यक्ष दिनेश जोशी, महासचिव मनोज लोहनी, जिला महामंत्री नवीन पालीवाल, उपाध्यक्ष गौरव जोशी व कंचन वर्मा, नगर उपाध्यक्ष विनोद कुमार, उपाध्यक्ष रितेश सागर व गुंजन मेहरा, संगठन मंत्री राजू पांडेय, कोषध्यक्ष मुनीब रहमान, सचिव दामोदर लोहनी, उपसचिव संतोष बोरा, तेज सिंह नेगी, चंद्रेक बिष्ट, किशोर जोशी, भूपेंद्र मोहन रौतेला, गणेश कांडपाल, शीतल तिवारी, कमलेश बिष्ट, मोहित कुमार, संदीप कुमार, पंकज कुमार, रमेश चंद्रा, सीमा नाथ, अजमल हुसैन सिद्दीकी, आकांक्षी, दीप्ति बोरा, हिमांशु जोशी, सुनील भारती, दीपक बिष्ट आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : ऐसा हो सरकारी अस्पताल, जिस 90 वर्षीय बुजुर्ग को सारे प्राइवेट अस्पतालों ने जवाब दे दिया था, उसे दी नई जिंदगी

बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में हुई 90 वर्षीय बुजुर्ग की सफल सर्जरी

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 29 अक्टूबर 2021। सरकारी अस्पताल यूं ही बदनाम हैं। जबकि कोरोना काल व कई आपदा काम गवाह हैं, जब निजी अस्पतालों ने नहीं, सरकारी अस्पतालों ने मरीजों की अत्यधिक संख्या के दबाव व इनके आगे व्यवस्थाओं के बौना पड़ जाने की स्थितियों के बावजूद हजारों लोगों की जिंदगियां बचाई है। जिला मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय भी इसका उदाहरण है, जिसने एक ऐसे 90 वर्षीय मरीज का सफल ऑपरेशन कर उसे नई जिंदगी दी है, जिसका उपचार करने से सभी निजी चिकित्सालयों ने हाथ खड़े कर दिये थे।

हल्द्वानी में रह रहे अल्मोड़ा जिले छाना खरकोटा, जैंती के रहने वाले 90 वर्षीय गणेश सिंह बिष्ट ने बताया कि वह लंबे समय से पित्त की थैली में पथरी से परेशान थे। वह ऑपरेशन कराने के लिए हल्द्वानी के कई निजी अस्पतालों में गए लेकिन उनकी अधिक उम्र की बात कह वहां के चिकित्सकों ने उनका ऑपरेशन करने से मना कर दिया।

इधर बीते सप्ताह दर्द से बिलखते हुए उन्हें उनके परिजन बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में दिखाने आए। यहां सर्जन देवेंद्र मेहरा ने उनकी हिम्मत को देखते हुए जांच के बाद उनकी सर्जरी के लिए ‘हां’ की। दो दिन बाद चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केएस धामी के नेतृत्व में सर्जन देवेंद्र सिंह मेहरा ने बुजुर्ग की सफल सर्जरी कर उनके पित्त की थैली निकाल ली। इसके बाद एक सप्ताह उनको आईसीयू में रखा और स्वस्थ होने के बाद उनको छुट्टी दे दी गई है।

बुजुर्ग ने अपने घर पहुंचकर बीडी पांडे जिला चिकित्सालय प्रबंधन का आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि वह अब पूर्ण रूप से स्वस्थ हैं। उन्होंने लोगों से निजी अस्पतालों की जगह सरकारी अस्पतालों में विश्वास के साथ इलाज करवाने की अपील भी की है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : सकुना में जिला चिकित्सालय की टीम ने दिया उल्लेखनीय योगदान

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 23 अक्टूबर 2021। जनपद के रामगढ़ विकास खंड के दूरस्थ सकुना गांव में 9 मजदूरों की एक घर में दबकर मौत हो गई, जबकि उनका एक अन्य साथी दैवयोग से बाल-बाल बच गया, अलबत्ता उसे काफी चोटें आई हैं। इस घटना में बीडी पांडे जिला चिकित्सालय की चिकित्सकीय टीम ने उल्लेखनीय योगदान दिया है।

डा. संजीव खर्कवाल, डॉ. गिरीश पांडे, केएन पंत व हरीश गुड्डू की यह टीम 21 अक्टूबर को पहाड़, नदी व गधेरे पैदल पार कर करीब 6 किलोमीटर पैदल चलकर आपदा स्थल पर पहुंची और वहां घायल नेपाली मूल के मजदूर राजन साह के उपचार तथा एनडीआरएफ की टीम द्वारा बमुश्किल खोजे गए 7 बिहारी मूल के मजदूरों के शवों का वहीं पोस्टमार्टम करने के बाद लौट आई है।

टीम में शामिल डॉ. पांडे ने बताया कि घायल मजदूर को भी काफी चोटें हैं। उसे सिर में लगी चोट के दृष्टिगत सीटी स्कैन कराने की भी जरूरी थी। इसलिए उसे तथा 6 शवों को हेलीकॉप्टर से आपदास्थल से लाया जा चुका है। आगे 2 शवों के खोज व बचाव कार्य अभी भी मौके पर काफी कठिनाई से चल रहे हैं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : जिला चिकित्सालय का 157वां वार्षिकोत्सव मनाया

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 16 अक्टूबर 2021। जिला मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय का रविवार को 127वां स्थापना दिन मनाया गया। इस अवसर पर जिला चिकित्सालय में मुख्य अतिथि अपर मंडलायुक्त प्रकाश चंद की अगुवाई में दीप प्रज्जवलित किया गया केक काटा गया। साथ ही चिकित्सालय की नींव रखने वाले चार्ल्स क्रॉस्थवेट के साथ कुमाऊं केसरी बद्री दत्त पांडे को याद किया गया। इस अवसर पर पूर्ति निरीक्षक सुरेंद्र बिष्ट व नर्सिंग स्कूल की छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां भी दी।

जिला चिकित्सालय के 127वें स्थापना दिवस पर केक काटते मुख्य अतिथि।

ताल चैनल के निर्देशक दीपक बिष्ट के प्रयासों से आयोजित कार्यक्रम में जिला चिकित्सालय के पैथोलॉजिस्ट डॉ. आरके वर्मा ने बताया कि 17 अक्टूबर 1894 में चार्ल्स क्रॉस्थवेट ने इस चिकित्सालय की नींव रखी थी। आजादी के बाद वर्ष 1960 में कुमाऊं केसरी बद्री दत्त पांडे के नाम पर इसका नामांतरण किया गया।

डॉ. एमएस दुग्ताल ने कुमाऊं केसरी बद्री दत्त पांडे के व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वह अध्यापक, सैन्य अभियंता, पत्रकार, संपादक व स्वतंत्रता सेनानी के साथ 1926 से 1930 के बीच प्रांतीय काउंसिल के सदस्य, 1935 से 37 के बीच केंद्रीय एसेंबली के सदस्य एवं 1955 से 57 के बीच लोक सभा सदस्य भी रहे। उन्हें समाज सुधारक और कुली बेगार जैसी कुप्रथा के दमनकर्ता के रूप में भी जाना जाता है। इस दौरान ईशा साह, मेट्रन शशिकला पांडे, भारती सक्सेना, जगदीश सिंह व पंकज आदि भी मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : प्रधानमंत्री ने किया जिला चिकित्सालय में 500 सहित जनपद में 5300 एलपीएम क्षमता के ऑक्सीजन प्लांटों का वर्चुअल लोकार्पण

-जिला चिकित्सालय में विधायक संजीव आर्य के हाथों हुआ औपचारिक लोकार्पण

बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में ऑक्सीजन प्लांट का लोकार्पण करते विधायक संजीव आर्य।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 7 अक्टूबर 2021। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को एम्स ऋषिकेश से देश भर में पीएम केयर्स फंड से स्थापित किए गए 162 ऑक्सीजन जनरेशन प्लांटों का एक साथ वर्चुअल तरीके से शुभारंभ किया। इन 162 ऑक्सीजन प्लांटों में नैनीताल जिला मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में स्थापित 500 एलपीएम क्षमता के प्लांट सहित जनपद के विभिन्न चिकित्सालयों में शामिल 5300 एलपीएम क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट भी शामिल रहे। देखें विडियो :

जिला चिकित्सालय में पीएम केयर्स फंड से 500 एलपीएम क्षमता का विधायक संजीव आर्य के हाथों धार्मिक विधि-विधान के साथ ऑपचारिक लोकार्पण भी किया गया। इस मौके पर प्लांट को स्थापित करने वाले डीआरडीओ के अधिकारियों ने प्लांट की कार्यप्रणाली की जानकारी दी। श्री आर्य ने कहा कि लगभग डेढ़ करोड़ रुपए की लागत से इस प्लांट की स्थापना हुई है। इसके माध्यम से लगभग 100 बेड के लिए 48 घंटों तक बिना रुके ऑक्सीजन की आपूर्ति हो सकेगी। उन्होंने इस हेतु नगर की जनता को बधाई देते हुए प्रधानमंत्री का आभार जताया।

वहीं डीएम धीराज गर्ब्याल ने बताया कि जिला चिकित्सालय के अलावा एसटीएच हल्द्वानी में लगभग 4 हजार एलपीएम, रामनगर में खनन न्यास से 500 एलपीएम तथा बेस चिकित्सालय हल्द्वानी में 300 एलपीएम क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट भी शुरू हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि जनपद में ऑक्सीजन से युक्त 1967 बेड हैं, और सभी बेड के लिए ऑक्सीजन की उपलब्धता हो गई है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा ऑक्सीजन सिलेंडर के माध्यम से भी ऑक्सीजन आपूर्ति की व्यवस्था भी है, साथ ही निचले स्तर के चिकित्सालयों तक ऑक्सजन कंसन्ट्रेटर भी उपलब्ध हैं।

इस मौके पर जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केएस धामी, डॉ. वीके पुनेरा, डॉ. एमएस दुग्ताल, एसडीएम प्रतीक जैन, पद्मश्री अनूप साह, भाजपा नेता शांति मेहरा, गोपाल रावत, आनंद बिष्ट, अरविंद पडियार, बिमला अधिकारी, उमेश गड़िया, भूपेंद्र बिष्ट, दया बिष्ट, सभासद गजाला कमाल, मोहन नेगी, कैलाश रौतेला व राहुल पुजारी विश्वकेतु वैद्य व विक्की राठौर, सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : प्रधानमंत्री करेंगे बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के ऑक्सीजन प्लांट का शुभारंभ…

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 5 अक्टूबर 2021। जिला मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में 500 एलपीएम क्षमता का ऑक्सीजन प्लांट दो दिन बाद, आगामी सात अक्टूबर से कार्य करना प्रारंभ कर देगा। इसी दिन उत्तराखंड के दौरे पर आ रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एम्स यानी अखिल भारतीय आर्युविज्ञान संस्थान ऋषिकेश से इसका वर्चुअल तरीके से शुभारंभ करेंगे। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री इस दिन पीएम केयर फंड से देश भर में बने ऑक्सीजन प्लांटों का वर्चुअल तरीके से लोकार्पण करने वाले हें।

बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केएस धामी ने बताया कि जिला चिकित्सालय में विशाल आकार के ऑक्सीजन प्लांट के पहुंचने के बाद इसे स्थापित करने हेतु युद्ध स्तर पर कार्य पूरे कराए जा रहे हैं। 7 अक्टूबर को प्रधानमंत्री द्वारा लोकार्पण करने के बाद कोरोना से युद्ध में एवं अन्य बीमारियों के समय भी आपातकाल में आक्सीजन की आवश्यकता पड़ते ही रोगियों को यहां से हल्द्वानी रेफर नहीं करना पड़ेगा। उल्लेखनीय है कि बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में डीएम धीराज गर्ब्याल के प्रयासों से एमपी लेड निधि के 45 लाख रुपए से ऑक्सीजन प्लांट स्थपित किया जा रहा है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

चिकित्सा सुविधाओं से संबंधित ‘नवीन समाचार’ पर प्रकाशित पुराने समाचारों के लिए यहां क्लिक करें।

नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply