उत्तराखंड सरकार से 'A' श्रेणी में मान्यता प्राप्त रही, 16 लाख से अधिक उपयोक्ताओं के द्वारा 12.6 मिलियन यानी 1.26 करोड़ से अधिक बार पढी गई अपनी पसंदीदा व भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में आपका स्वागत है...‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने व्यवसाय-सेवाओं को अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए संपर्क करें मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व saharanavinjoshi@gmail.com पर... | क्या आपको वास्तव में कुछ भी FREE में मिलता है ? समाचारों के अलावा...? यदि नहीं तो ‘नवीन समाचार’ को सहयोग करें। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने परिचितों, प्रेमियों, मित्रों को शुभकामना संदेश दें... अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में हमें भी सहयोग का अवसर दें... संपर्क करें : मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व navinsamachar@gmail.com पर।

March 2, 2024

Health Facilities : 13 साल की बच्ची की छाती में बना ढाई किलो का ट्यूमर, सांसें उखड़ने लगी थीं, लेकिन चिकित्सकों ने कर दिया कमाल…

1

Health Facilities

Barish6 Beti, Yojna, Mausam,

नवीन समाचार, ऋषिकेश, 7 अक्टूबर 2023 (Health Facilities) । एम्स यानी अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश के चिकित्सकों ने 13 वर्षीय बच्ची को नई जिंदगी दी है। इस बच्ची की छाती में ढाई किलो का ट्यूमर बन गया था। ट्यूमर बच्ची के हृदय के ऊपर से शुरू होकर दायें फेफड़े को पूरी तरह दबा रहा है, और बायें फेफड़े के आधे तक पहुंच चुका था।

(Health Facilities) Uttarakhand:एम्स ऋषिकेश में नियुक्त कर दिए राजस्थान के 600 लोग, संदेह के  घेरे में नर्सिंग संवर्ग भर्ती - Uttarakhand: Rajasthan People Appointed In Rishikesh  Aiims, 600 Nursing Cadre ...इस कारण बच्ची की सांस उखड़ रही थी और उसके दिल पर पर दबाव पड़ रहा था। इसका इलाज संभव नहीं हो पा रहा था। ऐसे में एम्स के अनुभवी चिकित्सकों ने बेहद जटिल सर्जरी कर ट्यूमर को सफलतापूर्वक निकाल दिया है। वह अब स्वस्थ है और उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले की रहने वाली 13 वर्षीय खुशुनमा नाम की किशोरी को एक वर्ष पहले छाती में अचानक तेज दर्द होने लगा। इस पर उसके परिजनों ने अस्पताल में जांच कराई तो पता चला कि छाती में एक ट्यूमर बन गया है। इस ट्यूमर को निकाला नहीं जा सकता है।

ऐसे में परिजनों ने उसके उपचार के लिये मेरठ और दिल्ली तक के कई अस्पतालों की दौड़ लगाई। मगर, कुछ नहीं हो पाया। आखिर एम्स पहुंचने पर चिकित्सकों ने सीटी स्कैन की रिपोर्ट के आधार पर परिजनों को बताया कि ट्यूमर हृदय के ऊपर से शुरू होकर दायें फेफड़े को भी पूरी तरह दबा रहा है, और बायें फेफड़े के आधे तक पहुंच चुका है।

इन स्थितियों में बच्ची की सांस उखड़ रही थी और उसके दिल पर पर दबाव पड़ रहा था। सीटीवीएस विभाग के पीडियाट्रिक हार्ट सर्जन डा. अनीश गुप्ता ने बताया कि बायोप्सी की जांच रिपोर्ट के आधार पर मरीज का कीमोथेरेपी और रेडियोथेरेपी से इलाज करना भी संभव नहीं था। ऐसी स्थिति में आपरेशन से ट्यूमर निकालना ही एकमात्र विकल्प बचा था।

इसलिए सर्जरी कर हाई रिस्क ट्यूमर निकालने का जोखिम भरा निर्णय लिया गया और लगभग दो घंटे की मेहनत से सफल सर्जरी की गयी। सर्जरी करने वाली टीम में एनेस्थीसिया के डा. प्रवीण तलवार, डा. प्रदीप कुमार, डा. ईशान, शुभम, अभिशो, मंगेश, पूजा, जूपी, धरम, चांद, केशव, गौरव, प्रियंका, अमित, गीता आदि शामिल रहे।

बच्चों के लिए बन रहा स्पेशल आईसीयू
एम्स ऋषिकेश की कार्यकारी निदेशक प्रोफेसर मीनू सिंह पीजीआइएमईआर चंडीगढ़ में पीडियाट्रिक पल्मोनोलाजी की विभागाध्यक्ष भी रह चुकी हैं। एम्स ऋषिकेश में भी श्वास रोग से ग्रसित बच्चों के इलाज के लिए प्रो. मीनू सिंह की पहल पर एक विशेष विभाग बनाया गया है। बिजनौर की 13 वर्षीय खुशनुमा के इलाज के मामले में भी प्रो. मीनू सिंह ने व्यक्तिगत रुचि ली और चिकित्सकों का मार्गदर्शन किया।

ऑपरेशन के बाद खुशनुमा की रिकवरी के लिए संस्थान की कार्यकारी निदेशक प्रोफेसर मीनू सिंह की टीम की सदस्य डाक्टर खुशबू का अहम योगदान रहा। प्रो. मीनू सिंह ने सर्जरी करने वाली चिकित्सकों की टीम की प्रशंसा की।

उन्होंने बताया कि विभिन्न बीमारियों से ग्रसित छोटे बच्चों की इलाज की समस्या को देखते हुए एम्स में 42 बेड का एक आइसीयू निर्माणाधीन है। एम्स का प्रयास है कि इलाज के अभाव में कोई भी मरीज वापिस न लौटे। खासतौर से छोटे बच्चों के इलाज के लिए सभी प्रकार की आधुनिक मेडिकल सुविधाओं को विकसित किया जा रहा है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंयदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो यहां क्लिक कर हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, यहां क्लिक कर हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यहाँ क्लिक कर सीधे संबंधित को पढ़ें

यह भी पढ़ें : Health Facilities : नैनीताल के पर्वतीय चिकित्सालयों में रेडियोलॉजिस्टों की कमी से गर्भवती महिलाएं परेशान, की गई वैकल्पिक व्यवस्था…

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 जुलाई 2023। (Health Facilities) जनपद के विभिन्न दूरस्थ चिकित्सालयों में रेडियोलॉजिस्टों की कमी बनी हुई है। इस कारण खासकर गर्भवती महिलाओं की स्वास्थ्य जांच नहीं हो पा रही है। इस पर संज्ञान लेते हुए जनपद की मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ भागीरथी जोशी ने वैकल्पिक व्यवस्था की हैं।

Health Facilities(Health Facilities) डॉ. जोशी ने बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कोटाबाग एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, गरमपानी में रेडियोलोजिस्ट के पद रिक्त हैं, जबकि सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र भवाली में महिला रेडियोलोजिस्ट मातृत्व अवकाश पर गई हैं, और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पदमपुरी के रेडियोलोजिस्ट का स्थानांतरण हो गया है।

(Health Facilities) ऐसे में गर्भवती महिलाओं एवं रोगियों को प्रत्येक माह 15 दिवस के अंतराल में अल्ट्रासाउंड की सेवाएं प्रदान किये जाने के उदेश्य से महिला चिकित्सालय हल्द्वानी के रेडियोलॉजिस्ट डॉ. हरीश लाल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कोटाबाग में माह के प्रथम एवं तृतीय गुरुवार को, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र

(Health Facilities) भवाली में माह के द्वितीयएवं चतुर्थ बुधवार को तथा महिला चिकित्सालय हल्द्वानी के रेडियोलॉजिस्ट डॉ पंकज नेगी सामुदायिक केंद्र गरमपानी में माह के द्वितीय एवं चतुर्थ मंगलवार को तथा सामुदायिक केंद्र पदमपुरी में माह के प्रथम एवं तृतीय शुक्रवार को अपनी सेवाएं देंगे।

(डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें, यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे टेलीग्राम पेज से जुड़ें और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें।

यह भी पढ़ें : (Health Facilities) ‘हम भी इंसान हैं, मरीजों के दर्द पर हमें भी दर्द होता है..’

नवीन समाचार, नैनीताल, 1 जुलाई 2023। (Health Facilities) जनपद के हल्द्वानी स्थित डॉ. सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय में एक चिकित्सक की करतूतों की चर्चा के बीच मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में शनिवार को ‘नेशनल डॉक्टर्स डे’ यानी राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस मनाया गया।

(Health Facilities) इस अवसर पर जिला चिकित्सालय के ओपीडी के बाहर एक संक्षिप्त कार्यक्रम में जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सक अधीक्षक डॉ. एलएमएस रावत, वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. एमएस दुग्ताल, डॉ. अनिरुद्ध गंगोला, डॉ. मोनिका कांडपाल व मेट्रन शशि पांडे सहित अन्य चिकित्सक एकत्र हुए और बताया कि यह दिन पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री रहे डॉ. विधान चंद्र रॉय को समर्पित कर मनाया जाता है।

(Health Facilities) इस अवसर पर डॉ. दुग्ताल ने कहा, ‘चिकित्सक भी इंसान होते हैं। उन्हें भी अपने मरीजों को दर्द होने पर दर्द होता है। वह उनके दर्द को कम करने की भरसक कोशिश करते हैं। मरीज व उनके तीमारदारों को भी इस बात समझना चाहिए और उपचार में सहयोग करना चाहिए।’

(Health Facilities) इस दौरान मरीजों ने भी चिकित्सकों का बेहतर उपचार के लिए आभार व्यक्त किया। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..

यह भी पढ़ें : (Health Facilities) केंद्रीय एजेंसी ने सूचीबद्ध की बीडी पांडे जिला चिकित्सालय की गुणवत्ता, होगा बड़ा फायदा…

-एनक्यूएएस व लक्ष्य कार्यक्रम के लिए किया सूचीबद्ध
नवीन समाचार, नैनीताल, 2 अप्रैल 2023 (Health Facilities)। जिला मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय को केंद्र सरकार के राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत एनक्यूएएस यानी नेशनल क्वालिटी एश्योरेंस सेल ने क्वालिटी एश्योरेंस यानी गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर एनक्यूएएस एवं लक्ष्य कार्यक्रम के तहत सूचीबद्ध किया गया है।

(Health Facilities) एनक्यूएएस द्वारा सूचीबद्ध होने वाला बीडी पांडे जिला चिकित्सालय उत्तराखंड का केवल दूसरा चिकित्सालय है। इसके अलावा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बाजपुर को भी अपनी श्रेणी में सूचीबद्ध किया गया है। यह भी पढ़ें : 22 साल की युवा यूट्यूब संचालक गायिका-गीतकार युवती फंदे से लटकी मिली, वजह डरावनी…!

आजादी से पहले क्या था नैनीताल के मशहूर बीडी पांडे अस्पताल का नाम? इस  अंग्रेज गवर्नर से था कनेक्शन - bd pandey hospital known as crosthwaite in  british era nodark – News18 ...(Health Facilities) इस संबंध में भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की अपर सचिव एवं मिशन निदेशक रोली सिंह ने उत्तराखंउ के स्वास्थ्य निदेशक डॉ. राजेश कुमार को पत्र लिखकर सूचना दी है।

(Health Facilities) बताया है कि एनक्यूएएस की टीम ने गत 14 फरवरी को सीएचसी बाजपुर एवं 15 व 16 फरवरी को बीडी पांडे जिला चिकित्सालय नैनीताल का निरीक्षण किया था। यह भी पढ़ें : 80 वर्षीय बूढ़ी महिला ने लगाया सौतेले पुत्र पर बलात्कार करवाने, बेटे को बलात्कार में फँसवाने और पुलिस पर सहयोग न करने का आरोप…

(Health Facilities) निरीक्षण में जिला चिकित्सालय के ब्लड बैंक, आईपीडी, प्रयोगशाला एवं जनरल एडमिन आदि विभागों के परीक्षण में 6 में से 5 गुणवत्ता के मानक यानी 79 फीसद मानक एवं लेबर रूम व मैटरनिटी ऑपरेशन थियेटर में गुणवत्ता के 5 में से 4 मानक यानी 85-86 प्रतिशत गुणवत्ता पाई गई है। वहीं सीएचसी बाजपुर में केवल लेबर रूम की गुणवत्ता को 84 फीसद की गुणवत्ता दर के साथ सूचीबद्ध किया गया है। यह भी पढ़ें : 40 यात्रियों से भरी बस खाई में गिरी, 2 महिलाओं की मौत…

(Health Facilities) इस उपलब्धि पर जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ.एलएमएस रावत ने इस बड़ी उपलब्धि बताते हुए बताया कि इस उपलब्धि से जिला चिकित्सालय को केंद्र सरकार से अगले एक वर्ष में प्रति बिस्तर 10 हजार रुपए की अतिरिक्त केंद्रीय बजट की प्राप्ति होगी।

(Health Facilities) बताया कि जिला चिकित्सालय में 116 बेड हैं। इस प्रकार जिला चिकित्सालय को केंद्र सरकार से 11.6 लाख लाख रुपए अतिरिक्त मिलेंगे। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : (Health Facilities) जिला चिकित्सालय के दो चिकित्सकों सहित राज्य के 92 चिकित्सकों की सेवाएं समाप्त

61 चिकित्सकों की सेवाएं हुई समाप्त ,ड्यूटी से अनुपस्थित थे सभी चिकित्सक -  News 31 Uttarakhandनवीन समाचार, नैनीताल, 7 मार्च 2023। उत्तराखंड शासन ने लंबे समय से कार्य से अनुपस्थित चल रहे बीडी पांडे जिला चिकित्सालय नैनीताल के दो चिकित्सकों सहित राज्य के 92 चिकित्सकों की सेवाएं समाप्त कर दी हैं। इनमें बीडी पंांडे जिला चिकित्सालय में फिजिशियन के तौर पर कार्यरत डॉ. संजीव प्रकाश व डॉ. दिव्यंत रावल शामिल हैं। यह भी पढ़ें : पति काम से लौटा तो घर में मिले पत्नी और दोनों बेटों के शव, सनसनी….

(Health Facilities) बताया गया है कि डॉ. दिव्यंत रावल 2002-203 के आसपास जिला चिकित्सालय में फिजीशियन के पद पर कार्यरत थे। तीन-चार वर्ष यहां सेवाएं देने के बाद न्यूरो में स्नातकोत्तर की पढ़ाई करने के लिए अवकाश पर गए थे। तब से वापस नहीं लौटे। वहीं डॉ. संजीव प्रकाश कुछ वर्ष पूर्व तक हड्डी रोग विशेषज्ञ के पद पर कार्यरत थे।

(Health Facilities) इस दौरान उन्होंने वीआरएस यानी समय पूर्व सेवानिवृत्ति के लिए आवेदन किया था, लेकिन वीआरएस स्वीकृत नहीं हुआ था। जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एलएमएस रावत ने बताया कि अभी आदेश औपचारिक तौर पर तो प्राप्त नहीं हुए हैं। अलबत्ता उन्होंने आदेश जारी होने की पुष्टि की है। यह भी पढ़ें : हल्द्वानी : 25 वर्षीय नवविवाहिता की होली के त्योहार के बीच संदिग्ध मौत, 10 माह पूर्व ही हुई थी शादी…

(Health Facilities) जिला चिकित्सालय में आयोजित हुआ जन औषधि दिवस, दी गई सुविधाओं की जानकारी
नैनीताल (Health Facilities) । भारत सरकार के निर्देश पर 1 से 7 मार्च तक मनाये जा रहे जन औषधि सप्ताह के तहत मंगलवार को बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में जन औषधि दिवस का आयोजन किया गया। इस अवसर पर जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एलएमएस रावत व जनपद के अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. तरुण कुमार टम्टा की अध्यक्षता में विशेष्कार्यक्रम आयोजित हुआ।

(Health Facilities) इस दौरान जन औषधि केंद्र के महत्व एवं जनपद नैनीताल में विभिन्न चिकित्सा इकाइयों पर संचालित जन औषधि केंद्रों के बारे में जानकारी दी गई। यह भी पढ़ें : नग्नावस्था में मिला 21 वर्षीय युवक का शव, मृत्यु से पूर्व बुरी तरह से प्रताणित किये जाने की भी आशंका….

बताया गया कि जन औषधि केंद्रों में सस्ते दामों पर जेनेरिक दवाएं उपलब्ध होती हैं। इस अवसर पर कुछ मरीजों को जन औषधि केंद्र से औषधियों का भी वितरण किया गया।

(Health Facilities) कार्यक्रम का संचालन जिला कार्यक्रम प्रबंधक मदन मेहरा ने किया। कार्यक्रम में मुश्कीन, बीएस कडाकोटी, डॉ. अनिरुद्ध गंगोला, देवेंद्र बिष्ट, शशि कला पांडे, रितु, डीएस गंगोला, सुरेंद्र गिरी व दीपिका तिवारी आदि लोग उपस्थित रहे। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Health Facilities) : राज्य में स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए सुबह का सुखद समाचार : चिकित्स्कों व चिकित्सा कर्मियों के लिए तोहफ़े…

नवीन समाचार, देहरादून,  28 जनवरी 2023 (Health Facilities) । उत्तराखंड सरकार प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में कार्यरत सर्जरी के चिकित्सकों की सेवानिवृत्ति की उम्र सीमा 60 से बढ़ाकर 65 साल करने जा रही है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग में पर्वतीय इलाकों में सेवा देने वाले विशेषज्ञ चिकित्सकों का भत्ता भी बढ़ाए जाने का एलान किया।

(Health Facilities) स्वास्थ्य मंत्री डा. धन सिंह रावत ने दून के जिला अस्पताल (कोरोनेशन) में ट्रिना हार्ट यूनिट का शुभारंभ कर यह बात कही। उन्होंने कहा कि अस्पतालों में सर्जनों की कमी दूर करने के लिए सरकार ने इसकी तैयारी की है। यूपी में इस तरह की व्यवस्था की गई है। सर्जनों की 65 साल तक सेवा ऐच्छिक होगी। चिकित्सकों से विचार विमर्श के बाद इस पर कोई फैसला लिया जाएगा।

(Health Facilities) स्वास्थ्य मंत्री डा. रावत ने  इसके लावा कहा कि 2025 तक उत्तराखंड को नशा मुक्त राज्य बनाया जाएगा। फरवरी माह में इसके लिए एक बड़ा आयोजन कर रहे हैं। जिसमें एक साथ 20 लाख लोग नशामुक्ति की शपथ लेंगे। वहीं 2024 तक टीबी मुक्त उत्तराखंड के लिए 10 हजार निक्षय मित्र बनाए गए हैं।

यह भी पढ़ें : राज्य में स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने हेतु हाईकोर्ट ने सरकार को दी अंतिम चेतावनी…

नवीन समाचार, नैनीताल, 8 जनवरी 2023। उत्तराखंड उच्च न्यायालय की मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति विपिन सांघी व न्यायमूर्ति मनोज कुमार तिवारी की खंडपीठ ने राज्य में स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने के लिय सरकार को अंतिम चेतावनी दी है।

(Health Facilities) सरकार को 4 सप्ताह में याचिका पर अपना पक्ष रखने का अंतिम अवसर दिया गया है और मामले की अंतिम सुनवाई के लिए 14 जून 2023 की तिथि भी तय कर दी है। यह भी पढ़ें : आईजी बनते ही भरणे पूरी फॉर्म में, एक दरोगा को किया सस्पेंड, 5 को लाइन हाजिर व 7 के खिलाफ शुरू की जांच

(Health Facilities) विदित हो कि वर्ष 2021 में पूरे देश मे कोरोना महामारी व उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं की शिथिलता और पहाड़ में अन्य बीमारियों के लिए भी स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव के दृष्टिगत, प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने हेतु कांग्रेस नेता व समाजसेवी अभिनव थापर ने उत्तराखंड उच्च न्यायालय में जुलाई 2021 में जनहित याचिका दायर की थी।

(Health Facilities) इस पर पर न्यायालय ने अगस्त 2022 में 4 जनवरी 2023 तक दोनों पक्षों को जवाब देने के बाद अंतिम बहस हेतु तिथि नियत की थी। यह भी पढ़ें : पति-पत्नी के विवाद में एक दर्जन लोग घायल, अस्पताल में भर्ती…

(Health Facilities) किंतु डेढ़ वर्ष से अधिक बीत जाने के बाद भी सरकार ने इस पर न्यायालय को कोई जवाब नहीं दिया। इस पर उच्च न्यायालय ने गंभीरता से संज्ञान लिया और जनहित याचिका में उल्लेखित पहाड़ में स्वास्थ्य सुविधाओं हेतु समस्त मांगों पर सरकार को दिशा-निर्देश दिये। यह भी पढ़ें : आंगनबाड़ी और आशा कार्यकत्रियों की सेवा समाप्त, आठ माह के बच्चे का अपहरण कर उसे बेचने का मामला….

(Health Facilities) विदित हो कि याचिकाकर्ता थापर ने उच्च न्यायालय के समक्ष मुख्य रूप से राज्य के पर्वतीय क्षेत्र के लिये आवास विभाग को चिकित्सालयों, नर्सिंग होम व स्वास्थ्य सेवाएं देने वाले संस्थानों के ओटीएस यानी ‘वन टाइम सेटलमेंट-2021’ योजना में

(Health Facilities) कमियों व क्लीनिकल एस्टेब्लिशमेंट एक्ट के नियमों में विशेष शिथिलता देकर राज्य के चिकित्सालयों में उपलब्ध बिस्तरों की संख्या को बढ़ाने का अनुरोध किया था, ताकि प्रदेश के दूरस्थ पहाड़ी क्षेत्रों में स्वास्थ सुविधाऐं बढ़ सकें। यह भी पढ़ें : बनभूलपुरा पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय पर नई बहस ? मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

(Health Facilities) याचिकाकर्ता के अधिवक्ता अभिजय नेगी ने बताया कि उच्च न्यायालय ने इस याचिका के स्वास्थ्य सेवाओं को बढ़ाने के विषय पर सरकार की ओर से अनदेखी का संज्ञान लिया है, और पहाड़ में स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने हेतु शिथिलीकरण की मांग पर सरकार को दिशा-निर्देश दिए हैं कि

(Health Facilities) याचिकाकर्ता की मांगो पर गुण-दोष के आधार पर न्यायालय के आदेशों से पहले ही स्वयं शासनादेश जारी कर पहाड़ और मैदान के नर्सिंग होम्स व अस्पतालों के नियमों पर दोहरे मापदंड को खत्म किया जाए।

(Health Facilities) साथ ही सरकार को लताड़ लगाते हुए अंतिम अवसर दिया और चेतावनी देकर पुनः नोटिस जारी कर 4 सप्ताह में याचिका पर अपना पक्ष रखने का अंतिम अवसर दिया। न्यायालय में अब मामले की अंतिम सुनवाई के लिए 14 जून 2023 की तिथि भी तय कर दी है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Health Facilities) : नैनीताल के नर्सरी विद्यालय से पढ़ीं डॉ. विनीता बनीं प्रदेश की स्वास्थ्य महानिदेशक, खुशी की लहर…

पर्वतीय क्षेत्रों में चिकित्सकों की कमी होगी दूर : स्वास्थ्य महानिदेशक -  हिन्दुस्थान समाचारनवीन समाचार, नैनीताल, 5 जनवरी 2023(Health Facilities) । नगर के नगर पालिका द्वारा संचालित नर्सरी विद्यालय से पढ़़ी एक छात्रा उत्तराखंड के स्वास्थ्य विभाग की मुखिया यानी स्वास्थ्य महानिदेशक बन गई हैं।

(Health Facilities) उनकी इस उपलब्धि पर नगर पालिका के नर्सरी विद्यालय, स्वास्थ्य विभाग, कूटा यानी कुमाऊँ विवि शिक्षक संघ व बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के साथ ही पूरे नगर में खुशी की लहर है। यह भी पढ़ें : हल्द्वानी के बनभूलपुरा मामले में आया सर्वोच्च न्यायालय का अंतरिम आदेश…

(Health Facilities) हम बात कर रहे हैं प्रदेश की नवनियुक्त स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. विनीता साह की। विनीता नैनीताल की ही निवासी हैं। उनकी माता पुष्पा साह नगर के नगर पालिका परिषद नर्सरी विद्यालय में शिक्षिका थीं।

(Health Facilities) बताया गया है कि विनीता के साथ ही उनकी पांच में से कुछ अन्य बहनों ने भी नगर के अपनी तरह के अनूठे, 1958 में स्थापित, गैर निजी विद्यालय होते हुए भी शुरू से अंग्रेजी माध्यम से नर्सरी, यूकेजी व एलकेजी आदि की पढ़ाई वाले इस विद्यालय से पांचवी कक्षा तक की शिक्षा ग्रहण की थी। यह भी पढ़ें : 11 वर्ष की बच्ची के घर से भागने पर पुलिस के हाथ पांव फूले, वजह चिंताजनक…

(Health Facilities) नैनीताल के बीडी पांडे जिला महिला चिकित्सालय में चिकित्सक एवं यहीं मुख्य चिकित्सा अधीक्षक रहते उन्होंने विद्यालय को मेज-कुर्सी आदि फर्नीचर भी भेंट किया था। उल्लेखनीय है कि प्रसिद्ध बॉलीवुड अभिनेता स्वर्गीय निर्मल पांडे सहित कई अन्य हस्तियों ने भी इस विद्यालय से शिक्षा ग्रहण की थी। यह भी पढ़ें : नैनीताल: शोध छात्रा कामिनी ने उत्तीर्ण की राज्य लोक सेवा आयोग की भूवैज्ञानिक परीक्षा…

(Health Facilities) नर्सरी विद्यालय से प्राथमिक शिक्षा के बाद नगर के जीजीआईसी से इंटर तक की शिक्षा ग्रहण करने के उपरांत उन्होंने जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज कानपुर से एमबीबीएस और एमडी की उपाधि हासिल की थी इसके उपरांत जनपद अल्मोड़ा से अपनी स्वास्थ्य सेवा प्रारंभ करते हुए अपनी सेवा के 30 वर्ष प्रदेश के अल्मोड़ा. उत्तरकाशी. नैनीताल के विभिन्न चिकित्सालयों में सेवाएं दी हैं।

(Health Facilities) उनके पति डॉ. कैप्टन राजेश साह भी बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक रहे। उनका गत वर्ष असामयिक निधन हो गया था। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Health Facilities) : नैनीताल : जिला चिकित्सालय में शुरू हुई सीटी स्कैन मशीन

नवीन समाचार, नैनीताल, 22 नवंबर 2022 (Health Facilities) । मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में एक बार फिर सीटी स्कैन की सुविधा उपलब्ध हो गई है। जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एलएमएस रावत ने बताया कि सीटी स्कैन मशीन का संचालन इस मशीन को उपलब्ध कराने वाली ‘डॉक्टर्स फॉर यू’ नाम की स्वयं सेवी संस्था के द्वारा किया जाएगा।

(Health Facilities) जिला चिकित्सालय की ओर से संस्था को स्थान एवं बिजली आदि की सुविधाएं दी जाएंगी, जबकि संस्था सीटी स्कैन कराकर 24 घंटे के भीतर रिपोर्ट उपलब्ध कराएगी। यह भी पढ़ें : नैनीताल से पार्टी कर वापस लौट रहे दोस्तों की कार दुर्घटनाग्रस्त, दरोगा व युवती सहित 3 की मौत, शादी की खुशियां भी मातम में बदलीं..

(Health Facilities) यहाँ सिर का सीटी स्कैन यहां अन्य सभी सरकारी चिकित्सालयों की तरह सरकारी दर 2385 और शेष पूरे शरीर का सीटी स्कैन सरकारी दर 3424 रुपए पर उपलब्ध होगा। जबकि बीपीएल कार्ड धारकों को यह सुविधा निःशुल्क मिलेगी।

(Health Facilities) इसके अलावा कंट्रास्ट-रंगीन सीटी स्कैन की जरूरत होने पर शरीर में प्रविष्ट कराई जाने वाली दवा की कीमत रोगी को वहन करनी होगी, अलबत्ता इसे संस्था तय कीमत लेकर उपलब्ध कराएगी। यह भी पढ़ें : नैनीताल ब्रेकिंग: मिला चार दिनों से गायब 19 वर्षीय युवक का शव

(Health Facilities) डॉ. रावत ने बताया कि मशीन की सुविधा उपलब्ध होने से केवल सीटी स्कैन जांच के लिए हल्द्वानी या दूसरे शहर नहीं जाना पड़ेगा। दुर्घटनाओं की स्थिति में भी सिर में हल्की चोट वाले मरीज जांच यहीं सीटी स्कैन जांच करा सकेंगे। उन्हें भी बाहर नहीं जाना पड़ेगा। यह भी पढ़ें : विवाहेत्तर संबंधों का दु:खद अंत : जिसके लिए अपना घर-परिवार छोड़कर आई शादीशुदा प्रेमिका, उसी ने जहर खिलाकर मार डाला…

(Health Facilities) विदित हो कि बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में ‘डॉक्टर्स फॉर यू’ नाम की स्वयं सेवी संस्था के द्वारा एचडीएफसी बैंक के सीएसआर यानी सामाजिक जिम्मेदारी कोष से स्थापित सीटी स्कैन मशीन का ऑपचारिक शुभारंभ गत 15 अप्रैल को हुआ था, लेकिन करीब सवा माह के बाद 27 मई को इस मशीन से पहली बार सीटी स्कैन हो पाए,

(Health Facilities) और तीन सीटी स्कैन कराने के बाद ही मशीन कुछ तकनीकी खराबी, इसका करीब 5 लाख रुपए मूल्य का प्रिंटर उपलब्ध न होने और तकनीशियन उपलब्ध न होने के कारण जनता को लाभ नहीं दे पाई। यह भी पढ़ें : नैनीताल के दीपक ने 49 रुपए में जीते दो लाख रुपए

(Health Facilities) इसके बाद इसके फ्यूज और यूपीएस भी खराब हो गए थे। साथ ही जिला चिकित्सालय में इसे चलाने के लिए तकनीशियन उपलब्ध नहीं थे। अब संस्था को इसको चलाने का अधिकार मिल गया है लिहाजा संस्था अपने तकनीशियनों से इस चलाएगी तथा ऑनलाइन माध्यम से रिपोर्ट उपलब्ध कराएगी।

(Health Facilities) मशीन की तकनीकी कमियां 24 से 48 घंटे की निश्चित समयावधि में दूर करने की जिम्मेदारी भी उसकी ही होगी। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Health Facilities) : सरकार रखेगी अब आपके ‘दिल’ का खयाल, गैर संचारी रोगों के निदान को पॉलिसी बनेगी….

इन तरीकों से रखें दिल की सेहत का ख्याल - heart health tips to follow tpra -  AajTakनवीन समाचार, देहरादून, 6 नवंबर 2022 (Health Facilities) । देश में बड़ी समस्या बने हृदयाघात, ब्रेन स्ट्रोक यानी दिमाग की नस फटने और कैंसर जैसे भयावह व जानलेवा गैर संचारी रोगों को रोकने के लिए नई पॉलिसी तैयार होने जा रही है।

(Health Facilities) इसके तहत निचले स्तर पर विद्यालयी छात्रों के रिपोर्ट कार्ड की तर्ज पर हेल्थ कार्ड बनाए जाएंगे। इन हेल्थ कार्ड में बच्चों की स्क्रीनिंग कर उनकी सेहत से संबंधित जानकारियां लिखी जाएंगी। साथ ही अस्पतालों में जीवन शैली क्लीनिक शुरू किए जाएंगे। यह भी पढ़ें : फॉलोअप: पुलिस कर्मी की पत्नी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई, हत्यारे के लिए चाय बनाने गई थी महिला, तभी किए गए हथौड़े से प्रहार…!

(Health Facilities) बताया गया है कि स्वास्थ्य विभाग का ध्यान अभी तक डेंगू, मलेरिया, फ्लू आदि संक्रामक रोगों को नियंत्रित करने पर ज्यादा है। इसके लिए कई कार्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं। लेकिन मौजूदा समय में हृदयाघात, ब्रेन स्ट्रोक और कैंसर जैसी बीमारियां राज्य में तेजी से पांव पसार रही हैं। खासकर बड़ी संख्या में युवा आबादी भी इन बीमारियों की चपेट में आ रही है। यह भी पढ़ें : मुख्यमंत्री की फ्लीट को सही रास्ते से कार्यक्रम स्थल नहीं ले जा पाए इंस्पेक्टर पर एसएसपी ने की कार्रवाई, निलंबित…

(Health Facilities) विशेषज्ञों का मानना है कि इसके लिए मुख्य रूप से जीवनशैली में हो रहे बदलाव जिम्मेदार हैं। यह बीमारियां बचपन से ही बच्चों में घर कर रही हैं। आज के समय में बच्चों के खानपान में जंक फूड ने बहुत बड़ा स्थान ले लिया है। जबकि फिजिकल एक्टिविटी यानी शारीरिक क्रियाएं कम हो रही है। ऐसे में जीवनशैली में हो रहे बदलावों को नई पॉलिसी के केंद्र में रखा जा रहा है। यह भी पढ़ें : कुमाऊं विवि के पूर्व प्रोफेसर धामी के निधन पर शोक की लहर

(Health Facilities) नई पॉलिसी के तहत सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में बच्चों का हेल्थ रिपोर्ट कार्ड बनाए जाने प्रस्तावित हैं। इनमें बच्चे की स्क्रीनिंग कर सेहत के बारे में सभी जरूरी जानकारियां लिखी जाएंगी। साथ ही बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत अभी बच्चों की तिमाही होने वाली स्क्रीनिंग अब प्रत्येक माह करने की योजना है।

(Health Facilities) राज्य के स्वास्थ्य मंत्री, डॉ. धन सिंह रावत ने बताया कि गैर संचारी रोगों को रोकने के लिए राज्य में पॉलिसी तैयार की जा रही है। इस संदर्भ में दो बैठकें भी हो चुकी हैं। विशेषज्ञों की राय के बाद इसे अंतिम रूप दिया जाएगा। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : अपर निदेशक स्तर के अधिकारी डॉ. रावत बने जिला चिकित्सालय के पीएमएस

नवीन समाचार, नैनीताल, 22 अक्तूबर 2022। अपर निदेशक स्तर के अधिकारी डॉ. एलएमएस रावत बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक बन गए हैं। शनिवार को उन्होंने अब तक इस पद का कार्यभार संभाल रहे कार्यवाहक प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक, चिकित्सालय के वरिष्ठ निष्चेतक डॉ. वीके पुनेरा से संभाल लिया है।

‘नवीन समाचार’ के माध्यम से दीपावली पर अपने प्रियजनों को शुभकामना संदेश दें मात्र 500 रुपए में… संपर्क करें 8077566792, 9412037779 पर, अपना संदेश भेजें saharanavinjoshi@gmail.com पर… यह भी पढ़ें : गेस्ट हाउस में युवती से अनैतिक देह व्यापार कराता संचालक गिरफ्तार

उल्लेखनीय है कि डॉ. रावत वर्ष 1993 से 1997 तक नैनीताल के निकटवर्ती पटवाडांगर स्थित राज्य रक्षालस संस्थान में एवं इसके बाद 1997 से 2005 तक बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में कार्यरत रहे। इसके बाद से वह भवाली सेनिटेरियम के प्रमुख अधीक्षक रहने के साथ उत्तराखंड उच्च न्यायालय में प्रमुख परामर्शदाता के तौर पर कार्यरत हैं। यह भी पढ़ें : रात्रि में बड़ा हादसा, एक ही परिवार के 2 महिलाओं सहित 4 लोगों की मौत, दुर्घटनास्थल से ‘नवीन समाचार’ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट

डॉ. रावत ने बताया कि आगे भी वह जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक के साथ उत्तराखंड उच्च न्यायालय के प्रमुख परामर्शदाता के रूप में भी कार्य करते रहेंगे। इस मौके पर चिकित्सालय के वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. एमएस दुग्ताल सहित अन्य चिकित्सकों एवं चिकित्सा कर्मियों ने उनका औपचारिक स्वागत एवं अभिनंदन किया। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल: जिला चिकित्सालय में बिस्तर से उठ न पाने वाले रोगियों को समर्पित रहा दिन

जिला चिकित्सालय में विश्व धर्मशाला और उपशामक दिवस की जानकारी देते चिकित्सक।नवीन समाचार, नैनीताल, 8 अक्तूबर 2022। जिला मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में शनिवार को विश्व उपशामक दिवस मनाया गया। इस मौके पर जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. वीके पुनेरा व वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. एमएस दुग्ताल ने चिकित्सालय में आए मरीजों व तीमारदारों को बताया कि कैंसर व लकवा जैसे कई रोगों की वजह से रोगी बिस्तर से उठ नहीं पाते हैं।

(Health Facilities) ऐसी रोगियों के प्रति समाज में जागरूकता पैदा करने के लिए हर वर्ष अक्टूबर माह के दूसरे शनिवार को यह दिन पूरी दुनिया में विश्व धर्मशाला और उपशामक दिवस या वर्ल्ड पैलिएटिव केयर डे के रूप में मनाया जाता है।

कहा गया कि ऐसे रोगियों को विशेष देखभाल की आवश्यकता होती है। परिवार व समाज को ऐसे लोगों की समस्या को समझने और उनका उपचार कराने में मदद करने की आवश्यकता होती है। उनके साथ बैठना व उनसे बात करना चाहिए। उन्हें नहाने-धुलाने में मदद करनी चाहिए। ताकि वह अपने जीवन के बचे दिनों को आराम से जी सकें और जीवन का अच्छा अनुभव ले सकें।

(Health Facilities) कहा कि ऐसा समय किसी के साथ भी आ सकती है, इसलिए ऐसे समय में खुद की समस्या मानते हुए ऐसे लोगो की मदद करनी चाहिए। इस मौके पर रितु व शशिकला पांडे आदि अन्य चिकित्सा कर्मी भी मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : खुशखबरी : नैनीताल-खटीमा में सरकारी दरों से भी कम में हो सकेंगे सीटी स्कैन

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 16 सितंबर 2022। मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय एवं खटीमा के सरकारी चिकित्सालय में शीघ्र सरकारी दरों से भी कम में सीटी स्कैन की सुविधा शुरू होने की उम्मीद की जा सकती है।

(Health Facilities) बताया गया है कि सिर का सीटी स्कैन यहां सरकारी दर 2385 की जगह करीब 1600 रुपए में और शेष पूरे शरीर का सीटी स्कैन सरकारी दर 3424 रुपए की जगह 2000 से 25-26 सौ रुपए के बीच में किया जाएगा। यह भी होगा कि यहां सीटी स्कैन की रिपोर्ट करीब दो घंटे में मिल जाएगी। इस सुविधा के अगले सप्ताह से शुरू होने की संभावना जताई जा रही है। 

विदित हो कि बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में ‘डॉक्टर्स फॉर यू’ नाम की स्वयं सेवी संस्था के द्वारा एचडीएफसी बैंक के सीएसआर यानी सामाजिक जिम्मेदारी कोष से स्थापित सीटी स्कैन मशीन का ऑपचारिक शुभारंभ गत 15 अप्रैल को हुआ था, लेकिन करीब सवा माह के बाद 27 मई को इस मशीन से पहली बार सीटी स्कैन हो पाए,

(Health Facilities) और गिने-चुने सीटी स्कैन कराने के बाद ही मशीन कुछ तकनीकी खराबी, इसका करीब 5 लाख रुपए मूल्य का प्रिंटर उपलब्ध न होने और तकनीशियन उपलब्ध न होने के कारण जनता को लाभ नहीं दे पाई। यही स्थिति संस्था द्वारा खटीमा में लगाई गई सीटी स्कैन मशीन के साथ भी है।

अब यह मशीन आज शुक्रवार को फिर से चालू होने की स्थिति में आ गई है। इसके फ्यूज को ठीक कर लिया गया है, तथा तब से बंद होने के कारण डिस्चार्ज हुई इसकी बैटरी को चार्ज कर लिया गया है। ‘डॉक्टर्स फॉर यू’ के डॉ. पीयूष पंत ने बताया कि अब संस्था ने स्वास्थ्य महानिदेशक को नैनीताल एवं खटीमा में लगी सीटी स्कैन मशीनों को संस्था के माध्यम से सरकारी दरों से भी कम दरों में,

(Health Facilities) स्वयं तकनीशियन एवं ऑनलाइन रिपोर्ट हेतु रेडियोलॉजिस्ट आदि की व्यवस्था के साथ ही भविष्य में कभी खराबी होने पर 24 से 48 घंटे में मरम्मत कर चालू करने की सुविधा के साथ प्रस्ताव दे रहे हैं। इस बारे में उच्चाधिकारियों से बात होकर सहमति भी प्राप्त हो गई है।

(Health Facilities) उन्होंने तथा जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. वीके पुनेरा ने उम्मीद जताई है कि अगले सप्ताह से सीटी स्कैन मशीन जनता को लाभ देना प्रारंभ कर देगी। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में पहली बार हुआ सीटी स्कैन…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 27 मई 2022। बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में सीटी स्कैन मशीन का ऑपचारिक शुभारंभ तो गत 15 अप्रैल को यानी करीब सवा माह पूर्व ही हो गया था, लेकिन इस महत्वपूर्ण मशीन से शुक्रवार को पहली बार सीटी स्कैन हो पाए।

(Health Facilities) जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केएस धामी ने बताया कि शुक्रवार को मशीन से तकनीशियन मृदुल आर्या के द्वारा दो रोगियो के सीटी स्कैन किए गए। अब मशीन लगातार जन उपयोग के लिए उपलब्ध रहेगी।

उन्होंने बताया कि सीटी स्कैन की रिपोर्ट करीब 24 घंटे बाद ऑनलाइन मिलेगी। इस हेतु हल्द्वानी के एक वैध चिकित्सक से अनुबंध किया गया है। इसके बाद सिर में चोट के हर रोगी को बाहर रेफर नहीं करना पड़ेगा, बल्कि यहीं सीटी स्कैन होने के बाद चोट गंभीर होने पर ही अन्यत्र भेजा जाएगा। इसके अलावा उन्होंने बताया कि जिला चिकित्सालय में आगामी सोमवार से तीसरी मंजिल पर आंखों का अत्याधुनिक ऑपरेशन थियेटर भी काम करना शुरू कर देगा।

(Health Facilities) साथ ही उन्होंने विश्वास जताया कि जल्द ही आंखों के अत्याधुनिक फेको इमल्सिफिकेशन विधि से ऑपरेशन करने की मशीन भी आने जा रही है। चिकित्सालय में लिफ्ट भी लगने जा रही है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल के लिए ऐतिहासिक दिन: नैनीताल जिला चिकित्सालय में स्थापित हुई सीटी स्कैन मशीन

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 15 अप्रैल 2022। नैनीताल के लिए शुक्रवार का दिन एक तरह से चिकित्सा के क्षेत्र में नए युग की शुरुआत का ऐतिहासिक दिन रहा। जिला व मंडल मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में आखिर लंबे इंतजार के बाद सीटी स्कैन मशीन लग गई है।

(Health Facilities) शुक्रवार को प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने वर्चुअल माध्यम से प्रदेश की स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. तृप्ति बहुगुणा व नैनीताल के जिलाधिकारी धीराज गर्ब्याल की मौजूदगी में सीटी स्कैन मशीन का फीता काटकर औपचारिक शुभारंभ किया।

इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रावत ने कहा कि 6 माह के भीतर प्रदेश के सभी जिला चिकित्सालयों व मेडिकल कॉलेजों में विशेषज्ञ चिकित्सकों को तैनात करना एवं प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में चिकित्सा सुविधाएं सुधारना उनका लक्ष्य है।

(Health Facilities) उन्होंने विश्वास जताया कि अल्मोड़ा के बाद पिथौरागढ़, ऊधमसिंह नगर व हरिद्वार के मेडिकल कॉलेजों में दो वर्ष के भीतर पढ़ाई शुरू हो जाएगी, और इससे राज्य में व खासकर पर्वतीय क्षेत्रों में 2024-25 में चिकित्सकों की कमी दूर कर ली जाएगी। उन्होंने डीएम गर्ब्याल से नगर के रैमजे अस्पताल में सुविधाओं का प्रस्ताव मांगा।

वहीं स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. तृप्ति बहुगुणा ने जिला चिकित्सालय में सीटी स्कैन स्थापित करने के लिए ‘डॉक्टर्स फॉर यू’ संस्था की सराहना करते हुए बताया कि इस वर्ष राज्य में 400 चिकित्सकों की नियुक्ति की जाएगी। इनकी तैनाती में दूरस्थ क्षेत्रों को प्राथमिकता दी जाएगी।

(Health Facilities) डीएम धीराज गर्ब्याल ने कहा कि जनपद में जिला योजना का दस फीसद स्वास्थ्य क्षेत्र में खर्च किया जा रहा है। साथ ही जिला चिकित्सालय में सीटी स्कैन मशीन लगने व हाल ही में चिकित्सालय को मिशन कायाकल्प में प्रथम पुरस्कार मिलने पर प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केएस धामी व उनकी टीम को बधाई दी।

डॉक्टर्स फॉर यू संस्था के डॉ. रजत जैन ने अपने वर्चुवल सम्बोधन में बताया कि उनकी संस्था ने शिखर फाउंडेशन, एचडीएफसी बैंक व गिव इंडिया के सहयोग से राज्य में पहली सीटी स्कैन मशीन धारचूला में व दूसरी नैनीताल में लगाई है।

(Health Facilities) इस अवसर संयुक्त मजिस्ट्रेट प्रतीक जैन, सीएमओ डॉ.भागीरथी जोशी, स्वास्थ्य निदेशक कुमाऊं डॉ. तारा आर्य, एसीएमओ डॉ अनुपमा ह्यांकी, डॉ रश्मि पंत, डॉ.आरके वर्मा, डॉ. केएन जोशी, डॉ एमएस दुग्ताल, डॉ. मोनिका कांडपाल, डॉ. अनिरूद्ध गंगोला, डॉ. वीके पुनेरा, डॉ. द्रोपदी गर्ब्याल,

(Health Facilities) तहसीलदार नवाजिश खलीक, डॉ. यशिका, डॉ.प्रकृति, डा.शिवंम, डॉ.अमित राज, डॉ.मुखराम, शशिकला पांडे, आईके पांडे, भाजपा के मंडल अध्यक्ष आनंद बिष्ट, विमला अधिकारी, विश्वकेतु वैद्य, मोहित रौतेला, केएल आर्य सहित चिकित्सालय कर्मी व अनेक अन्य लोग मौजूद रहे।

करीब 10 दिन बाद सेवाएं देगी सीटी स्कैन मशीन
नैनीताल। बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केएस धामी ने बताया कि सीटी स्कैन मशीन को शुरू कराने के लिए रेडियेशन यानी विकीरणरोधी उपाय करने एवं स्वीकृतियां पाने जैसी 90 फीसद तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

(Health Facilities) मशीन के संचालन के लिए पूर्व सांसद डॉ. महेंद्र पाल के भाई देश-विदेश के विशेषज्ञ रेडियोलॉजिस्ट डॉ. यतेंद्र पाल सिंह के पंजीकरण की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। डॉ. पाल रेडियोलॉजी के साथ ओन्कोलॉजी के भी विशेषज्ञ के तौर पर अमेरिका व ओमान में कार्यरत रहे हैं। उन्हें सीटी स्कैन मशीन का भी 15-20 वर्ष का अनुभव है। इनके अलावा तकनीशियन का प्रशिक्षण भी पूरा होने जा रहा है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड में हृदयरोगियों के लिए खुशखबरी, एक चिकित्सालय में हो रहा मुफ्त उपचार

world heart day: take care of your heart - हृदय रोग: लक्षण, कारण, टाइप और  परहेज - Navbharat Times Photogalleryनवीन समाचार, देहरादून, 7 जुलाई 2022। उत्तराखंड के सरकारी चिकित्सालय जहां एक ओर गत 30 जून को एकमात्र हृदयरोग विशेषज्ञ डॉ. केबी जोशी की सेवानिवृत्ति के साथ हृदय रोग विशेषज्ञ विहीन हो गए हैं, वहीं दूसरी ओर राजधानी देहरादून से हृदय रोगियों के लिए सुखद समाचार है।

(Health Facilities) देहरादून के कोरोनेशन जिला अस्पताल में पीपीपी मोड पर संचालित होने वाली कार्डियक यूनिट में ऑपरेशन शुरू हो गए हैं। जबकि आयुष्मान कार्ड धारकों, बीपीएल कार्ड धारकों और राज्य सरकार की स्वास्थ्य योजना के तहत आने वाले हृदय रोगियों के मुफ्त ऑपरेशन भी किये जा रहे हैं।

बताया गया है कि पूर्व में राज्य सरकार ने राजधानी के कर्जन रोड डालनवाला स्थित कोरोनेशन में हृदय रोगियों के उपचार के लिए फोर्टिस अस्पताल के साथ करार किया था। मार्च 2022 में करार पूरा होने के बाद इन सेवाओं के बंद होने से हृदय रोगियों को इधर-उधर जाना पड़ रहा था। अब कोरोनेशन अस्पताल की कार्डियक यूनिट के संचालन के लिए नई कंपनी के साथ करार किया गया है।

(Health Facilities) कोरोनेशन अस्पताल की सीएमएस डॉ. शिखा जंगपांगी ने बताया कि अस्पताल में हृदय के सामान्य मरीजों के लिए अस्पताल में ओपीडी चलाई जा रही है। साथ ही आयुष्मान, बीपीएल कार्डधारक और राज्य सरकार की स्वास्थ्य योजना के अंतर्गत आने वाले हृदय रोगियों के ऑपरेशन मुफ्त करवाए जा रहे हैं।

इस पर मरीजों का कहना है कि इस अस्पताल में सर्जरी की सुविधा से उन्हें काफी राहत मिली है। प्राइवेट अस्पताल में ऑपरेशन के डेढ़ से दो लाख रुपये लग जाते, यहां सब कुछ मुफ्त हुआ है। अस्पताल काफी अच्छा है। यहां के चिकित्सक और चिकित्सा कर्मी काफी अच्छा व्यवहार कर रहे हैं। चिकित्सालय के फोन नंबर 0135-2653984 व 2653144 पर संपर्क करके अस्पताल के बारे में अधिक जानकारी ले सकते हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बड़ा समाचार: नैनीताल का अध्ययन कर देश भर के पर्वतीय नगरों की स्वास्थ्य योजनाओ हेतु नीति बनाएगा केद्रीय नीति आयोग

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 1 जून 2022। देश की सबसे बड़ी योजनाकार संस्था नीति आयोग नैनीताल का अध्ययन कर पूरे देश के पर्वतीय नगरो मे स्वास्थ्य योजनाओं हेतु नीति बनाएगा। आयोग के द्वारा पूरे देश के शहरों में स्वास्थ्य सुविधाओं के सुधार के लिए एक सर्वेक्षण किया जा रहा है। इस हेतु देश भर के आठ शहरों को शामिल किया गया है। इनमें नैनीताल एकमात्र पर्वतीय नगर के रूप में शामिल है। देखें विडियो :

इस प्रकार यहां के अध्ययन से पूरे देश के पर्वतीय शहरों के लिए नीति बनाएगा। बताया गया है कि नीति आयोग शहरों में स्वास्थ्य योजनाओं में सुधार के लिए स्थानीय निकायों की खासकर ढांचागत सुविधाओं के विस्तार में भूमिका बढ़ाने के पक्ष में है, ताकि स्वास्थ्य विभाग के लोग स्वास्थ्य सुविधाएं देने में अपना ध्यान केंद्रित करें और ढांचागत सुविधाएं स्थानीय निकाय उपलब्ध कराएं।

मुख्यालय में मंगलवार को आयोजित हुई कार्यशाला के बाद बुधवार को एसडीएम प्रतीक जैन ने कार्यशाला के विषयों पर पत्रकार वार्ता आयोजित कर जानकारी दी। बताया कि कार्यशाला के तहत नीति आयोग की टीम स्वास्थ्य के क्षेत्र में कार्य करने वाली यूएस एड्स के साथ पिछले एक माह से जिला प्रशासन के साथ जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग एवं नगर पालिका के अधिकारियों के साथ स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार के लिए सर्वेक्षण कर रही थी। इस सर्वेक्षण के बाद मंगलवार को कार्यशाला आयोजित हुई।

कार्यशाला में देखा गया कि नैनीताल में पर्यावरण व पारिस्थ्तििकीय स्थितियां अच्छी होने के बावजूद मधुमेह, कैंसर एवं किडनी में पथरी की बीमारियां अधिक हैं। साथ ही शराब एवं नशे की समस्या अन्य शहरों के मुकाबले अधिक है। आगे 25 जून को देश के लिए बड़ा कार्यक्रम दिल्ली में होना प्रस्तावित है। इनमें इन आठ शहरों से संबधित जिला प्रशासन को भी आमंत्रित किया गया है।

(Health Facilities) इसके बाद आगे पूरे देश के लिए विस्तृत कार्ययोजना तैयार की जा सके। यह भी बताया कि नीति आयोग को नगर में स्वास्थ्य सुविधाओ के विस्तार के लिए दो प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्थापित किए जाने का सुझाव दिया गया है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : सेवानिवृत्ति पर भावुक हुए जिला चिकित्सालय के पीएमएस डॉ. धामी, कहा सेवा करते रहेंगे…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 31 मई 2022। वर्ष 2017 से बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के अपनी सेवाएं दे रहे और क्षेत्रीय जनता के दिलों में घर कर गए प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केएस धामी मंगलवार को सेवानिवृत्त हो गए। उनके नाम जिला चिकित्सालय को राज्य का सर्वश्रेष्ठ कायाकल्प चिकित्सालय का 25 लाख रुपए का ईनाम दिलाने, चिकित्सालय में सीटी स्कैन, ऑक्सीजन प्लांट, प्राइवेट वार्ड बनवाने व लिफ्ट लगाने जैसी अनेक उपलब्धियां दर्ज हैं।

(Health Facilities) वह बीते वर्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हल्द्वानी आगमन पर वह ही प्रधानमंत्री की स्वास्थ्य सुरक्षा टीम के नोडल अधिकारी भी रहे। अब उनकी जगह हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ बीके जोशी को पीएमएस बनाया गया है।

मंगलवार को उनकी सेवानिवृत्ति पर जिला चिकित्सालय में आयोजित विदाई समारोह में चिकित्सालय में कार्यरत चिकित्सकों एवं चिकित्साकर्मियों के साथ ही स्वयं डॉ. धामी भी काफी भावुक दिखे। उन्होंने कहा कि वह आगे भी हल्द्वानी में रहकर बिना लाभ के सेवाभाव से जरूरतमंदों को चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराते रहेंगे। कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ फिजिशियन डॉ. एमएस दुग्ताल ने करते हुए उनकी सेवाओं का विवरण प्रस्तुत किया।

इस दौरान कुमाऊं मंडल की स्वास्थ्य निदेशक डॉ.तारा आर्य, सीएमओ डॉ. भागीरथी जोशी, समाजसेवी डॉ. सरस्वती खेतवाल, डॉ. अनिरुद्ध गंगोला, डॉ. प्रियांशु श्रीवास्तव, डॉ. मोनिका कांडपाल, डॉ. अर्जुन रावल, डॉ. दीपिका लोहनी, चीफ मैट्रन शशि कला पांडे सहित अन्य चिकित्सक स्टाफ नर्स व चिकित्सा कर्मी मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : स्वास्थ्य मंत्री ने जिला चिकित्सालय एवं एडी-शिक्षा कार्यालयों का निरीक्षण, बताई नई भर्तियों की योजना

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 28 मई 2022। प्रदेश के चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने शनिवार सुबह मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय एवं अपर शिक्षा निदेशक कार्यालयों का निरीक्षण किया, एवं आवश्यक निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने जिला चिकित्सालय में क्षेत्रीय विधायक सरिता आर्य एवं मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. भागीरथी जोशी के साथ डॉ. रावत ने सात प्राईवेट वार्डों का शुभारंभ भी किया।

साथ ही उन्होंने मेडिकल वार्ड, पैथोलोजी, फिजियौथैरोपी कक्ष, कार्डियोलॉजी व प्राईवेट वार्डों का जायजा लेने के साथ ही मरीजों से मुलाकात कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी भी ली व उनके जल्द स्वस्थ्य होने की कामना की। उन्होंने कहा कि जिला चिकित्सालय में बेहतर सुविधाओं के लिए करीब पौने तीन करोड़ के कार्य किए गए हैं। आगे भी जो जरूरी होगा, दिया जाएगा।

उन्होंने इस बात पर खुशी जताई कि जिला चिकित्सालय में कायाकल्प योजना के तहत 25 लाख रुपए का पुरस्कार मिला है। पीएमएस डॉ. केएस धामी ने बताया कि प्राइवेट वार्ड में जल्द ही बेड आदि अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराकर इन्हें जनता के उपयोग हेतु उपलब्ध करा दिया जाएगा। इस अवसर पर तहसीलदार नवाजिश खालीक एवं स्वाथ्य विभाग के कई चिकित्सक, अधिकारी, कर्मचारी एवं जनप्रतिनिधि भी उपस्थित रहे।

एएनएम, नर्सों एवं वार्ड ब्वॉयों की होगी भर्ती
नैनीताल। प्रदेश कि स्वास्थ्य मंत्री के रूप में डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश के चिकित्सालयों में दवाइयों व चिकित्सकों की कोई कमी नहीं है। शीघ्र सरकार वर्षवार एएनएम एवं 2800 नर्सो की भर्ती की प्रक्रिया शुरू करने जा रही है।

(Health Facilities) इसके अलावा सरकार ने सरकारी चिकित्सालयों में वार्ड ब्वॉयों की कमी को देखते हुए दो हजार पदों को भरने के निर्देश सम्बन्धित मुख्य चिकित्साधिकारी को दिये गये हैं। उन्होंने कहा कि एक्सरे, लेब टैक्निशियन के खाली पदों को आउटसोर्सिंग के माध्यम से भरने के निर्देश भी मुख्य चिकित्साधिकारियों को दिये गये हैं।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के वैलेनेश सेंटरों में अब टेलीमेडिशन के साथ एक-एक घंटे योग की कक्षाएं भी चलाई जायेंगी। योग प्रशिक्षितों को 250-250 रुपया दिया जायेगा। उन्होंने टेलीमेडिशन सुविधा का और अधिक विस्तार करने की बात भी कहीं।

(Health Facilities) उन्होंने बताया कि उत्तराखंड ने आयुष्मान भारत एवं अटल आयुष्मान योजना को सबसे पहले चलाने के बाद अब तक लगभग 750 करोड़ रुपये खर्च किये हैं। उन्होंने गंभीर मरीजों को हेली सेवा के माध्यम से एयरलिफ्ट कर उच्च कें्रद्रों को रेफर करने की जानकारी भी दी। कहा कि प्रदेश में छः माह में प्रत्येक नागरिक का निःशुल्क स्वास्थ्य स्मार्ट कार्ड बनाया जायेगा।

अपर निदेशक-शिक्षा कार्यालय के विस्तारीकरण का प्रस्ताव तैयार करने को कहा
नैनीताल। मंडलीय अपर शिक्षा निदेशक-कुमाऊं कार्यालय के सभी कक्षो का भी निरीक्षण किया तथा अपर शिक्षा निदेशक-माध्यमिक लीलाधर व्यास से कार्यों की विस्तृत जानकारी ली। कार्यालय में स्थान की कमी को देखते हुए उन्होंने नगर में कार्यालय का विस्तार एवं जीर्णोद्धार करने की संभावनाएं देखने व प्रस्ताव बनाने को भी कहा।

(Health Facilities) इस अवसर पर अपर निदेशक-प्रारंभिक शिक्षा अजय कुमार नौडियाल, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी पूरन बिष्ट, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी जगमोहन रौतेला, अनूप साह, मदन मोहन मिश्रा, ललित उपाध्याय, संजय रौतेला, ललित सती, मनोज कुमार, हेमंत चंदोला, संजय कनवाल, हरीश बिष्ट व अनुपम दुबे आदि कर्मी उपस्थित रहे।

31 को सेवानिवृत्त हो रहे हैं डॉ. धामी, कार्यकाल बढ़ाने की उठ रही मांग

नैनीताल। उल्लेखनीय है कि जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केएस धामी इसी सप्ताह आगामी 31 मई को सेवानिवृत्त होने जा रहे हैं। उनके नाम जिला चिकित्सालय को राज्य का सर्वश्रेष्ठ कायाकल्प चिकित्सालय का 25 लाख रुपए का ईनाम दिलाने, चिकित्सालय में सीटी स्कैन, ऑक्सीजन प्लांट, प्राइवेट वार्ड बनवाने व लिफ्ट लगाने जैसी अनेक उपलब्धियां दर्ज हैं।

(Health Facilities) बीते वर्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हल्द्वानी आगमन पर वह ही प्रधानमंत्री की स्वास्थ्य सुरक्षा टीम के नोडल अधिकारी रहे। इस आधार पर उन्हें एक वर्ष का सेवाविस्तार दिए जाने की मांग प्रदेश के स्वास्थ्य महानिदेशक से लेकर उच्च शिक्षा मंत्री तक पहुंच चुकी है।

(Health Facilities) हालांकि डॉ. धामी का कहना है कि वह लिफ्ट सहित कुछ कार्य पूरा करने तक ही रहने के इच्छुक हैं। इधर बताया गया है कि शुक्रवार को प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने उन्हें सहित राज्य के दो चिकित्सकों को एक वर्ष का सेवा विस्तार दिए जाने के संकेत दिए। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : जिला चिकित्सालय में मिलेंगी अब सभी दवाइयां निःशुल्क, पांव टूटने पर रॉड भी निःशुल्क

-दांतों की आरसीटी, लैप्रोस्कॉपी विधि से ऑपरेशन एवं लिफ्ट लगाने तथा फेको इमल्सिफिकेशन विधि से आंखों के ऑपरेशन के प्रयास भी शुरू
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 9 मई 2022। बीडी पांडे जिला चिकित्सालय ने आयुष्मान योजना के तहत प्रदेश में प्रथम पुरस्कार जीता है। चिकित्सालय प्रबंधन अब इस प्रथम पुरस्कार आदि से प्राप्त करीब 30 लाख रुपए की धनराशि से चिकित्सालय में अनुपलब्ध हर तरह की जेनरिक दवाओं, टॉनिक आदि को प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र के माध्यम से बिना किसी ऑपचारिकता या निविदा के करीब एक चौथाई कीमत में ही खरीदकर उपलब्ध कराने जा रही है।

इसी माह सेवानिवृत्त हो रहे जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केएस धामी ने यह जानकारी देने के साथ ही बताया कि यह प्रदेश में पहली बार किसी चिकित्सालय में हो रहा है। चिकित्सालय पांव की हड्डी टूटने पर चिकित्सालय की ओर से आयुष्मान के माध्यम से निःशुल्क रॉड उपलब्ध कराने की व्यवस्था भी की जा रही है।

(Health Facilities) इसके बाद हड्डी के ऑपरेशन भी चिकित्सालय में निःशुल्क होंगे। चिकित्सालय में दांतों की अत्याधुनिक मशीनों के साथ आरसीटी जैसी सुविधा भी उपलब्ध हो गई है। चिकित्सालय के प्राइवेट वार्डों के आधुनिकीकरण और इनमें लिफ्ट लगाने का कार्य भी शुरू हो गया है।

इसके अलावा जिला चिकित्सालय में पिछले करीब 15 वर्षों से बंद पड़ी लैप्रोस्कॉपी मशीन का फिर से पित्त की थैली आदि के ऑपरेशन में प्रयोग होने लगा है। चिकित्सालय में कानों की सुनने की क्षमता मापने वाले ‘ऑडियोमैट्री’ जांच भी होने लगी है। इसके अलावा चिकित्सालय में अंधता निवारण अभियान के तहत आंखों के ऑपरेशन अत्याधुनिक फेको इमल्सिफिकेशन विधि से करने की भी शुरुआत होने वाली है।

(Health Facilities) इसके लिए चिकित्सालय की एक चिकित्सक को प्रक्षिक्षण के लिए भेजने एवं नई मशीन उपलब्ध कराने के लिए स्वास्थ्य महानिदेशक को लिखा गया है। वहीं सीटी स्कैन मशीन में प्रिंटर उपलब्ध नहीं है। इसे उपलब्ध कराने के लिए भी प्रयास किया जा रहा है।

वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ की कमी झेल रहा जिला चिकित्सालय
नैनीताल। बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में महिला चिकित्सालय के भी समायोजित हो जाने के बाद अब यहां वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ की कमी खल रही है। हल्द्वानी से स्थानांतरित हुई स्त्री रोग विशेषज्ञ नहीं आई।

(Health Facilities) सीएमएस डॉ. दुग्ताल ने बताया कि चिकित्सालय में वरिष्ठ स्त्री रोग चिकित्सक की नितात आवश्यकता है। केवल एक स्त्री रोग विशेषज्ञ से काम नहीं चल पा रहा है। इस बारे में उच्चाधिकारियों को भी हर स्तर पर सूचित कर दिया गया है।

विभिन्न शिविरों की वजह से प्रभावित हो रही है चिकित्सकों की उपलब्धता
नैनीताल। जिला चिकित्सालय में अक्सर चिकित्सकों के अपने कक्ष पर उपलब्ध न होने की समस्या दिखाई देती है। इस बारे में सीएमएस डॉ. धामी ने कहा कि चिकित्सालय में हर सप्ताह सोमवार को लगने वाले विकलांग शिविर तथा दूरस्थ क्षेत्रों में लगने वाले स्वास्थ्य शिविरों एवं बहुउद्देश्यीय शिविरों में चिकित्सकों के जाने की वजह से यह दिक्कत आती है।

(Health Facilities) फिर भी जिला चिकित्सालय में दो फिजीशियन, हड्डी रोग व बाल रोग विशेषज्ञ सहित सभी उपलब्ध पदों पर चिकित्सक उपलब्ध हैं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : दिवंगत पत्रकार दीक्षित को उनकी इच्छा पूरी कर एनयूजे-आई ने दी श्रद्धांजलि

-राइंका पटवाडांगर में लगाया गया स्वास्थ्य शिविर, 200 ग्रामीणों ने उठाया लाभ
-शिविर में ग्रामीणों एवं स्कूली बच्चों के स्वास्थ्य, दांत, आंख, वजन, रक्तचाप व मधुमेह के साथ कोरोना जांच व कोविड टीकाकरण भी किया गया

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 18 दिसंबर 2021। नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स इंडिया के तत्वावधान में शनिवार को बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के सहयोग से दिवंगत पत्रकार पूर्व जिलाध्यक्ष प्रशांत दीक्षित की स्मृति में उनकी इच्छा के अनुरूप स्वास्थ्य शिविर लगाया गया।

(Health Facilities) जिला मुख्यालय से लगभग 12 किलोमीटर दूर स्थित ऐपाल देवता राजकीय इंटर कॉलेज पटवाडांगर में सुदूरवर्ती गांवों के लिए लगाए गए शिविर में 200 के करीब क्षेत्रीय ग्रामीणों एवं स्कूली बच्चों के स्वास्थ्य, दांत, आंख, वजन, रक्तचाप व मधुमेह के साथ ही कोरोना की आरटीपीसीआर आदि की जांचें की गईं, तथा 20 लोगों का कोविड का टीकाकरण भी किया गया। स्वास्थ्य शिविर में सांस की दिक्कत के मरीज अधिक सामने आए।

शिविर का शुभारंभ दिवंगत पत्रकार स्वर्गीय दीक्षित की पत्नी किरन दीक्षित ने जनपद की मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. भागीरथी गर्ब्याल के साथ दीप प्रज्वलित कर की। उपस्थित चिकित्सकों एवं पत्रकारों ने स्वर्गीय दीक्षित को उनके चित्र के समक्ष दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी।

(Health Facilities) एनयूजेआई के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. गिरीश रंजन तिवारी, जिलाध्यक्ष डॉ.नवीन जोशी व नगर अध्यक्ष अफजल हुसैन ‘फौजी’ ने कहा कि स्वर्गीय दीक्षित यह शिविर लगाना चाहते थे, लेकिन कोरोना की वजह से उनका असामयिक निधन हो गया। इसलिए उनकी इच्छा को पूरी करते हुए यह स्वास्थ्य शिविर लगाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी जा रही है।

स्वास्थ्य शिविर लगाने के लिए ज्येष्ठ ब्लॉक प्रमुख भीमताल हिमांशु पांडे, ग्राम प्रधान धर्मेंद्र रावत व प्रभारी प्रधानाचार्य हरिशंकर आर्य सहित सभी ग्राम वासियों ने पत्रकार संगठन एनयूजे-आई एवं जिला चिकित्सालय के प्रयासों की जमकर प्रशंसा की। कहा कि मुख्यालय के निकटवर्ती होने के बावजूद यहां दीपक तले अंधेरा की स्थिति है। ऐसे एवं बहुद्देश्यीय शिविर नियमित तौर पर लगते रहने चाहिए।

(Health Facilities) सीएमओ डॉ. भागीरथी जोशी ने पत्रकारों द्वारा लगाए गए शिविर को समाज के लिए सराहनीय कदम बताया। जिला चिकित्सालय के पीएमएस डॉ. केएस धामी, वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. एसएस दुग्ताल, बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. एसएस रावत, हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. अनिरुद्ध गंगोला व डॉ. रुपाली रस्तोगी, नेहा शर्मा आदि ने बच्चों की स्वास्थ्य जांच के साथ उन्हें कोविड प्रोटोकॉल्स का पालन करने के साथ अपने स्वास्थ्य, दांतों की सफाई व नशे से दूर रहने के सुझाव भी दिए।

इस मौके पर एनयूजे-आई के प्रदेश अध्यक्ष कैलाश जोशी, कुमाऊं मंडल अध्यक्ष दिनेश जोशी, महासचिव मनोज लोहनी, जिला महामंत्री नवीन पालीवाल, उपाध्यक्ष गौरव जोशी व कंचन वर्मा, नगर उपाध्यक्ष विनोद कुमार, उपाध्यक्ष रितेश सागर व गुंजन मेहरा, संगठन मंत्री राजू पांडेय, कोषध्यक्ष मुनीब रहमान, सचिव दामोदर लोहनी,

(Health Facilities) उपसचिव संतोष बोरा, तेज सिंह नेगी, चंद्रेक बिष्ट, किशोर जोशी, भूपेंद्र मोहन रौतेला, गणेश कांडपाल, शीतल तिवारी, कमलेश बिष्ट, मोहित कुमार, संदीप कुमार, पंकज कुमार, रमेश चंद्रा, सीमा नाथ, अजमल हुसैन सिद्दीकी, आकांक्षी, दीप्ति बोरा, हिमांशु जोशी, सुनील भारती, दीपक बिष्ट आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : ऐसा हो सरकारी अस्पताल, जिस 90 वर्षीय बुजुर्ग को सारे प्राइवेट अस्पतालों ने जवाब दे दिया था, उसे दी नई जिंदगी

बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में हुई 90 वर्षीय बुजुर्ग की सफल सर्जरी

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 29 अक्टूबर 2021। सरकारी अस्पताल यूं ही बदनाम हैं। जबकि कोरोना काल व कई आपदा काम गवाह हैं, जब निजी अस्पतालों ने नहीं, सरकारी अस्पतालों ने मरीजों की अत्यधिक संख्या के दबाव व इनके आगे व्यवस्थाओं के बौना पड़ जाने की स्थितियों के बावजूद हजारों लोगों की जिंदगियां बचाई है।

(Health Facilities) जिला मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय भी इसका उदाहरण है, जिसने एक ऐसे 90 वर्षीय मरीज का सफल ऑपरेशन कर उसे नई जिंदगी दी है, जिसका उपचार करने से सभी निजी चिकित्सालयों ने हाथ खड़े कर दिये थे।

हल्द्वानी में रह रहे अल्मोड़ा जिले छाना खरकोटा, जैंती के रहने वाले 90 वर्षीय गणेश सिंह बिष्ट ने बताया कि वह लंबे समय से पित्त की थैली में पथरी से परेशान थे। वह ऑपरेशन कराने के लिए हल्द्वानी के कई निजी अस्पतालों में गए लेकिन उनकी अधिक उम्र की बात कह वहां के चिकित्सकों ने उनका ऑपरेशन करने से मना कर दिया।

इधर बीते सप्ताह दर्द से बिलखते हुए उन्हें उनके परिजन बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में दिखाने आए। यहां सर्जन देवेंद्र मेहरा ने उनकी हिम्मत को देखते हुए जांच के बाद उनकी सर्जरी के लिए ‘हां’ की। दो दिन बाद चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केएस धामी के नेतृत्व में सर्जन देवेंद्र सिंह मेहरा ने बुजुर्ग की सफल सर्जरी कर उनके पित्त की थैली निकाल ली। इसके बाद एक सप्ताह उनको आईसीयू में रखा और स्वस्थ होने के बाद उनको छुट्टी दे दी गई है।

बुजुर्ग ने अपने घर पहुंचकर बीडी पांडे जिला चिकित्सालय प्रबंधन का आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि वह अब पूर्ण रूप से स्वस्थ हैं। उन्होंने लोगों से निजी अस्पतालों की जगह सरकारी अस्पतालों में विश्वास के साथ इलाज करवाने की अपील भी की है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : सकुना में जिला चिकित्सालय की टीम ने दिया उल्लेखनीय योगदान

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 23 अक्टूबर 2021। जनपद के रामगढ़ विकास खंड के दूरस्थ सकुना गांव में 9 मजदूरों की एक घर में दबकर मौत हो गई, जबकि उनका एक अन्य साथी दैवयोग से बाल-बाल बच गया, अलबत्ता उसे काफी चोटें आई हैं। इस घटना में बीडी पांडे जिला चिकित्सालय की चिकित्सकीय टीम ने उल्लेखनीय योगदान दिया है।

डा. संजीव खर्कवाल, डॉ. गिरीश पांडे, केएन पंत व हरीश गुड्डू की यह टीम 21 अक्टूबर को पहाड़, नदी व गधेरे पैदल पार कर करीब 6 किलोमीटर पैदल चलकर आपदा स्थल पर पहुंची और वहां घायल नेपाली मूल के मजदूर राजन साह के उपचार तथा एनडीआरएफ की टीम द्वारा बमुश्किल खोजे गए 7 बिहारी मूल के मजदूरों के शवों का वहीं पोस्टमार्टम करने के बाद लौट आई है।

टीम में शामिल डॉ. पांडे ने बताया कि घायल मजदूर को भी काफी चोटें हैं। उसे सिर में लगी चोट के दृष्टिगत सीटी स्कैन कराने की भी जरूरी थी। इसलिए उसे तथा 6 शवों को हेलीकॉप्टर से आपदास्थल से लाया जा चुका है। आगे 2 शवों के खोज व बचाव कार्य अभी भी मौके पर काफी कठिनाई से चल रहे हैं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : जिला चिकित्सालय का 157वां वार्षिकोत्सव मनाया

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 16 अक्टूबर 2021। जिला मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय का रविवार को 127वां स्थापना दिन मनाया गया। इस अवसर पर जिला चिकित्सालय में मुख्य अतिथि अपर मंडलायुक्त प्रकाश चंद की अगुवाई में दीप प्रज्जवलित किया गया केक काटा गया।

(Health Facilities) साथ ही चिकित्सालय की नींव रखने वाले चार्ल्स क्रॉस्थवेट के साथ कुमाऊं केसरी बद्री दत्त पांडे को याद किया गया। इस अवसर पर पूर्ति निरीक्षक सुरेंद्र बिष्ट व नर्सिंग स्कूल की छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां भी दी।

ताल चैनल के निर्देशक दीपक बिष्ट के प्रयासों से आयोजित कार्यक्रम में जिला चिकित्सालय के पैथोलॉजिस्ट डॉ. आरके वर्मा ने बताया कि 17 अक्टूबर 1894 में चार्ल्स क्रॉस्थवेट ने इस चिकित्सालय की नींव रखी थी। आजादी के बाद वर्ष 1960 में कुमाऊं केसरी बद्री दत्त पांडे के नाम पर इसका नामांतरण किया गया।

डॉ. एमएस दुग्ताल ने कुमाऊं केसरी बद्री दत्त पांडे के व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वह अध्यापक, सैन्य अभियंता, पत्रकार, संपादक व स्वतंत्रता सेनानी के साथ 1926 से 1930 के बीच प्रांतीय काउंसिल के सदस्य, 1935 से 37 के बीच केंद्रीय एसेंबली के सदस्य एवं 1955 से 57 के बीच लोक सभा सदस्य भी रहे।

(Health Facilities) उन्हें समाज सुधारक और कुली बेगार जैसी कुप्रथा के दमनकर्ता के रूप में भी जाना जाता है। इस दौरान ईशा साह, मेट्रन शशिकला पांडे, भारती सक्सेना, जगदीश सिंह व पंकज आदि भी मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : प्रधानमंत्री ने किया जिला चिकित्सालय में 500 सहित जनपद में 5300 एलपीएम क्षमता के ऑक्सीजन प्लांटों का वर्चुअल लोकार्पण

-जिला चिकित्सालय में विधायक संजीव आर्य के हाथों हुआ औपचारिक लोकार्पण

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 7 अक्टूबर 2021। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को एम्स ऋषिकेश से देश भर में पीएम केयर्स फंड से स्थापित किए गए 162 ऑक्सीजन जनरेशन प्लांटों का एक साथ वर्चुअल तरीके से शुभारंभ किया।

(Health Facilities) इन 162 ऑक्सीजन प्लांटों में नैनीताल जिला मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में स्थापित 500 एलपीएम क्षमता के प्लांट सहित जनपद के विभिन्न चिकित्सालयों में शामिल 5300 एलपीएम क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट भी शामिल रहे। देखें विडियो :

जिला चिकित्सालय में पीएम केयर्स फंड से 500 एलपीएम क्षमता का विधायक संजीव आर्य के हाथों धार्मिक विधि-विधान के साथ ऑपचारिक लोकार्पण भी किया गया। इस मौके पर प्लांट को स्थापित करने वाले डीआरडीओ के अधिकारियों ने प्लांट की कार्यप्रणाली की जानकारी दी।

(Health Facilities) श्री आर्य ने कहा कि लगभग डेढ़ करोड़ रुपए की लागत से इस प्लांट की स्थापना हुई है। इसके माध्यम से लगभग 100 बेड के लिए 48 घंटों तक बिना रुके ऑक्सीजन की आपूर्ति हो सकेगी। उन्होंने इस हेतु नगर की जनता को बधाई देते हुए प्रधानमंत्री का आभार जताया।

वहीं डीएम धीराज गर्ब्याल ने बताया कि जिला चिकित्सालय के अलावा एसटीएच हल्द्वानी में लगभग 4 हजार एलपीएम, रामनगर में खनन न्यास से 500 एलपीएम तथा बेस चिकित्सालय हल्द्वानी में 300 एलपीएम क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट भी शुरू हो रहे हैं।

(Health Facilities) उन्होंने कहा कि जनपद में ऑक्सीजन से युक्त 1967 बेड हैं, और सभी बेड के लिए ऑक्सीजन की उपलब्धता हो गई है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा ऑक्सीजन सिलेंडर के माध्यम से भी ऑक्सीजन आपूर्ति की व्यवस्था भी है, साथ ही निचले स्तर के चिकित्सालयों तक ऑक्सजन कंसन्ट्रेटर भी उपलब्ध हैं।

इस मौके पर जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केएस धामी, डॉ. वीके पुनेरा, डॉ. एमएस दुग्ताल, एसडीएम प्रतीक जैन, पद्मश्री अनूप साह, भाजपा नेता शांति मेहरा, गोपाल रावत, आनंद बिष्ट, अरविंद पडियार, बिमला अधिकारी, उमेश गड़िया, भूपेंद्र बिष्ट, दया बिष्ट, सभासद गजाला कमाल, मोहन नेगी, कैलाश रौतेला व राहुल पुजारी विश्वकेतु वैद्य व विक्की राठौर, सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : प्रधानमंत्री करेंगे बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के ऑक्सीजन प्लांट का शुभारंभ…

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 5 अक्टूबर 2021। जिला मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में 500 एलपीएम क्षमता का ऑक्सीजन प्लांट दो दिन बाद, आगामी सात अक्टूबर से कार्य करना प्रारंभ कर देगा।

(Health Facilities) इसी दिन उत्तराखंड के दौरे पर आ रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एम्स यानी अखिल भारतीय आर्युविज्ञान संस्थान ऋषिकेश से इसका वर्चुअल तरीके से शुभारंभ करेंगे। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री इस दिन पीएम केयर फंड से देश भर में बने ऑक्सीजन प्लांटों का वर्चुअल तरीके से लोकार्पण करने वाले हें।

बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केएस धामी ने बताया कि जिला चिकित्सालय में विशाल आकार के ऑक्सीजन प्लांट के पहुंचने के बाद इसे स्थापित करने हेतु युद्ध स्तर पर कार्य पूरे कराए जा रहे हैं।

(Health Facilities) 7 अक्टूबर को प्रधानमंत्री द्वारा लोकार्पण करने के बाद कोरोना से युद्ध में एवं अन्य बीमारियों के समय भी आपातकाल में आक्सीजन की आवश्यकता पड़ते ही रोगियों को यहां से हल्द्वानी रेफर नहीं करना पड़ेगा। उल्लेखनीय है कि बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में डीएम धीराज गर्ब्याल के प्रयासों से एमपी लेड निधि के 45 लाख रुपए से ऑक्सीजन प्लांट स्थपित किया जा रहा है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

चिकित्सा सुविधाओं से संबंधित ‘नवीन समाचार’ पर प्रकाशित पुराने समाचारों के लिए यहां क्लिक करें।

Leave a Reply

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :

 - 
English
 - 
en
Gujarati
 - 
gu
Kannada
 - 
kn
Marathi
 - 
mr
Nepali
 - 
ne
Punjabi
 - 
pa
Sindhi
 - 
sd
Tamil
 - 
ta
Telugu
 - 
te
Urdu
 - 
ur

माफ़ कीजियेगा, आप यहाँ से कुछ भी कॉपी नहीं कर सकते

नये वर्ष के स्वागत के लिये सर्वश्रेष्ठ हैं यह 13 डेस्टिनेशन आपके सबसे करीब, सबसे अच्छे, सबसे खूबसूरत एवं सबसे रोमांटिक 10 हनीमून डेस्टिनेशन सर्दियों के इस मौसम में जरूर जायें इन 10 स्थानों की सैर पर… इस मौसम में घूमने निकलने की सोच रहे हों तो यहां जाएं, यहां बरसात भी होती है लाजवाब नैनीताल में सिर्फ नैनी ताल नहीं, इतनी झीलें हैं, 8वीं, 9वीं, 10वीं आपने शायद ही देखी हो… नैनीताल आयें तो जरूर देखें उत्तराखंड की एक बेटी बनेंगी सुपरस्टार की दुल्हन उत्तराखंड के आज 9 जून 2023 के ‘नवीन समाचार’ बाबा नीब करौरी के बारे में यह जान लें, निश्चित ही बरसेगी कृपा नैनीताल के चुनिंदा होटल्स, जहां आप जरूर ठहरना चाहेंगे… नैनीताल आयें तो इन 10 स्वादों को लेना न भूलें बालासोर का दु:खद ट्रेन हादसा तस्वीरों में नैनीताल आयें तो क्या जरूर खरीदें.. उत्तराखंड की बेटी उर्वशी रौतेला ने मुंबई में खरीदा 190 करोड़ का लक्जरी बंगला नैनीताल : दिल के सबसे करीब, सचमुच धरती पर प्रकृति का स्वर्ग