Journalism News

लंबे समय के बाद धामी सरकार की नजर आखिर गई पत्रकारों पर, दो घोषणाएं कीं…

Imageनवीन समाचार, देहरादून, 20 जून 2022। उत्तराखंड में पत्रकारों के बारे में लंबे समय बाद प्रदेश सरकार कोई निर्णय लेती नजर आ रही है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पत्रकार कल्याण कोष के अधीन दी जाने वाली पत्रकार पेंशन की धनराशि 5000 से बढ़ाकर 8000 रुपए किए जाने एवं विभिन्न जिलों से देहरादून आने वाले पत्रकारों को पूर्व की भांति सूचना विभाग द्वारा आवास व्यवस्था किये जाने की घोषणा की है।

हालांकि देखना होगा कि आगे घोषणा पर घोषित होने वाले शासनादेश में इस संबंध में क्या नियम-शर्तें जोड़ी जाती हैं। गौरतलब है कि सीएम धामी की छवि अपनी घोषणाओं पर शीघ्र शासनादेश जारी कराने की रही है।

श्री धामी ने यह घोषणा रविवार को देहरादून में उत्तराखण्ड पत्रकार यूनियन के द्वितीय प्रांतीय सम्मेलन में प्रतिभाग करते हुए की। इस दौरान उन्होंने प्रदेश में शिक्षा, स्वास्थ्य, समाजसेवा जैसे विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले लोगों को उत्तराखण्ड पत्रकार यूनियन ‘देवभूमि रत्न अवॉर्ड’ से सम्मानित भी किया। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें : कुमाऊं विश्वविद्यालय के इतिहास में पहली बार पत्रकारिता के विद्यार्थियों ने प्राप्त की पीएचडी की डिग्री

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 27 मई 2022। 1973 में स्थापित कुमाऊं विश्वविद्यालय के आधी सदी के इतिहास में पहली बार पीएचडी की डिग्री प्राप्त करने वाले पत्रकारिता के तीन विद्यार्थी भी शामिल रहे हैं। शुक्रवार को आयोजित कुमाऊं विश्वविद्यालय के 17वें वार्षिकोत्सव में कुलाधिपति-राज्यपाल सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह ने 410 विद्यार्थियों को वर्ष 2020-21 एवं 2021-22 के लिए पीएचडी की डिग्री एवं दीक्षोपदेश दिया।

इनमें पत्रकारिता विभा के डॉ. पूनम बिष्ट, डॉ. नवीन चंद्र जोशी व डॉ. जशोदा बिष्ट भी शामिल रहें। इनमें से डॉ. जोशी पहले सक्रिय एवं राज्य सरकार से मान्यता प्राप्त पत्रकार हैं जिन्होंने कुमाऊं विश्वविद्यालय से पत्रकारिता में पीएचडी की डिग्री प्राप्त की है। डॉ. जोशी ने प्रिंट मीडिया पर नए मीडिया की वजह से पड़ रहे प्रभावों पर देश में अपनी तरह का पहला मौलिक शोध किया है, जिसमें प्रिंट पत्रकारिता पर गहराते खतरे को भी इंगित किया गया है।

वहीं, डॉ. पूनम बिष्ट कुमाऊं विश्वविद्यालय के पत्रकारिता विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर हैं। वह दीक्षांत समारोह में किसी कारण शामिल नहीं हो पाईं। जबकि डॉ. जशोदा बिष्ट ने महिला पत्रकारिता पर पीएचडी की डिग्री प्राप्त की है। वह नगर के एक विद्यालय में शिक्षिका हैं। शोध उपाधि प्राप्त करने पर पत्रकारिता में पीएचडी डिग्री प्राप्त दीक्षितों को प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत व स्थानीय विधायक सरिता आर्य के साथ ही पत्रकारिता विभाग के अध्यक्ष प्रो. गिरीश रंजन तिवारी ने विशेष बधाई एवं शुभकामनाएं दीं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : आदि पत्रकार देवर्षि नारद के प्रति समाज की धारणा बदलने की आवश्यकता

नारद जयंती कार्यक्रम में मंचासीन गणमान्य।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 22 मई 2022। गत 17 मई को ज्येष्ठ मास के कृष्ण पक्ष की द्वितीया तिथि को होने वाली नारद जयंती की कड़ी में रविवार को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ नैनीताल के प्रचार विभाग के तत्वावधान में नारद जयंती का आयोजन किया गया। नैनीताल क्लब में आयोजित हुए आयोजन में वक्ताओं-वरिष्ठ पत्रकारों ने देवर्षि नारद के प्रति समाज की धारणा बदले जाने की आवश्यकता जताई गई।

कार्यक्रम में मुख्य वक्ता किशोर जोशी ने कहा देवर्षि नारद देवों व दानवों का बिना किसी पूर्वाग्रह के मार्गदर्शन करते थे, जबकि आज की पत्रकारिता का एक वर्ग पूर्वाग्रहों से ग्रस्त नजर आता है। डॉ. गिरीश रंजन तिवारी ने कहा कि देवर्षि नारद तीनों लोकों में भ्रमण कर समस्या को उसके समाधान करने वाले तक पहुंचाते थे। उन्होंने उत्तराखंड में नारद चट्टी, नारद गंगा व नारद कुंड से देवर्षि नारद का जुड़ाव भी बताया। डॉ. नवीन जोशी ने कहा कि पत्रकारों को नारद जी से जोड़ने से पहले देवर्षि नारद के प्रति समाज में धारणा बदले जाने की जरूरत है। आज पत्रकारों की स्थिति माता काली के रौद्र कोप से त्रिलोक को बचाने के लिए जमीन पर लेटे नीलकंठ शिव सी हो गई है, जिनका हाथ इन स्थितियों के बावजूद जगत्कल्याण के लिए आशीर्वाद की मुद्रा में होता है।

मुख्य अतिथि एरीज के वैज्ञानिक डॉ. शशिभूषण पांडे ने देवर्षि नारद के कहीं भी प्रकट हो जाने को लेकर वैज्ञानिक आधार पर कहा कि स्थूल शरीर को ऊर्जा और ऊर्जा को स्थूल शरीर में बदला जा सके तो ऐसी स्थिति आ सकती है। उन्होंने देवर्षि के बारे में जनधारणा बदले जाने पर भी बल दिया। सांसद प्रतिनिधि गोपाल रावत ने देवर्षि नारद के प्रति समाज में दृष्टिकोण बदले जाने एवं पत्रकारों की स्थितियों पर भी चर्चा किए जाने की आवश्यकता जताईं। विधायक सरिता आर्य ने कहा कि देवर्षि केवल पत्रकारों ही नहीं सभी के लिए प्रेरणाास्रोत हैं।

अध्यक्षता करते हुए अपर महाधिवक्ता मोहन चंद्र पांडे ने कहा कि देवर्षि की तरह कर्तव्यविमुखों को कर्तव्य पथ पर लाने में पत्रकारों की बड़ी भूमिका है। संचालन आयोजन समिति के प्रमुख अंचल पंत ने एवं धन्यवाद ज्ञापन डॉ. महंेद्र राणा ने किया। आयोजन में हरीश राणा, सुयश पंत, हरीश भट्ट, गौरव जोशी आदि ने भी प्रमुख भूमिका निभाई। आयोजन में अफजल हुसैन फौजी, रमेश चंद्रा, सुनील बोरा, संगीत बोरा, गणेश कांडपाल, कान्ता पाल, आकाक्षी माडमी, दीप्ति बोरा सहित बड़ी संख्या में पत्रकार मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : समान नागरिक संहिता की तरह देश में पहली बार ‘पत्रकार सुरक्षा कानून’ लागू करने की पहल कर सकता है उत्तराखंड

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, पंतनगर 15 मई 2022। पत्रकारों के अंतराष्ट्रीय संगठन-इंटरनेशनल फेडरेशनन ऑफ जर्नलिस्ट्स ब्रुसेल्स के सदस्य एवं उत्तराखंड के एकमात्र ट्रेड यूनियन के रूप में पंजीकृत देश के पत्रकारों के सबसे बड़े संगठन एनयूजे-आई यानी ‘नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स (इंडिया)’ की पहल पर उत्तराखंड समान नागरिक संहिता की तरह देश में पहली बार ‘पत्रकार सुरक्षा कानून’ लागू करने की पहल भी कर सकता है।

रविवार को एनयूजे-आई के पंतनगर विश्वविद्यालय स्थित डॉ.रतन सिंह ऑडिटोरियम में आयोजित प्रांतीय अधिवेशन में यह बात संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष रास बिहारी ने रखी एवं उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस पर खास तौर पर संज्ञान लेने की बात कही। श्री धामी ने कहा कि राज्य में पत्रकार सुरक्षा कानून लाने पर गंभीरता से विचार करेंगे और जो भी बेहतर होगा, वह कार्य किया जायेगा,इससे पूर्व श्री धामी ने कार्यक्रम की शुरूआत दीप जलाकर की। इस अवसर पर श्री धामी को संगठन की ओर से 11 सूत्रीय मांग पर सोंपा गया। इन सभी मांगों पर श्री धामी ने कहा कि गहनता से परीक्षण कराते हुए जो भी पत्रकारों के हित में बेहतर होगा, वह कार्य अवश्य किया जायेगा।

इसके अलावा अपने सम्बोधन में श्री धामी ने कहा कि लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ को वह नमन करते हैं। लोकतंत्र के चारों स्तम्भ-न्याय पालिका, कार्य पालिका, विधायिका व प्रेस के मध्य जनहित में आपसी समन्वय होना चाहिए और कोई भी पक्ष कमजोर नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि काफी कठिन समय से निकलकर आज पत्रकारिता डिजिटल मीडिया के दौर मंे पहुंची है, और उसके समक्ष आज भी सुनहरा भविष्य है। उन्होंने पत्रकारों से अपील की है कि वह निष्पक्ष पत्रकारिता करें और लोकतंत्र के इस चौथे स्तंभ की मर्यादा को बरकरार बनाए रखें। इसके अलावा पत्रकार मान्यता समिति की बैठक पिछले दो वर्ष से न होने, दो वर्ष से राम प्रसाद बहुगुणा पत्रकारिता सम्मान न दिए जाने, पत्रकारों को निःशुल्क यात्रा, चिकित्सा एवं ऋण सुविधा आदि की मांगें भी उठाई गईं।

इससे पूर्व पत्रकारों को संबोधित करते हुए प्रदेश के वित्त मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि पत्रकारिता और राजनीति का चोली दामन का साथ है। सकारात्मक पत्रकारिता देश-प्रदेश को विकास के मार्ग पर आगे ले जाने के लिए जरूरी है। सम्मेलन में एनयूजेआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष रास बिहारी ने पत्रकार सुरक्षा कानून एवं पीसीआई यानी प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया के सदस्य तथा संगठन के राष्ट्रीय महामंत्री प्रसन्ना मोहन्ती ने मुख्यमंत्री से पीसीआई में राष्ट्रीय अध्यक्ष की नियुक्ति यथाशीघ्र करवाने के लिए प्रयास करने, प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. गिरीश रंजन तिवारी ने पत्रकारिता के इतिहास, वर्तमान एवं भविष्य, चुनौतियों आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी। प्रांतीय अध्यक्ष कैलाश जोशी ने संचालन के साथ व्यवस्थाओं पूरी जिम्मेदारी संभालते हुए संगठन की एकता एवं विस्तार पर जोर दिया।

सम्मेलन में कुमाऊं की तर्ज पर ही गढ़वाल मंडल की कार्यकारिणी की घोषणा करते हुए धर्मेंद्र चौधरी को गढ़वाल मंडल का अध्यक्ष तथा निशांत चौधरी को महासचिव बनाया गया। सम्मेलन में विधायक मोहन सिंह बिष्ट, तिलकराज बेहड़, सुमित हृदयेश, पूर्व विधायक राजेश शुक्ला, जिलाधिकारी युगल किशोर पंत, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मंजुनाथ टीसी, एनयूजे के संरक्षक ब्रह्म दत्त शर्मा, कुमाऊं मंडल अध्यक्ष कुमाऊं दिनेश जोशी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष संजय तलवार, महामंत्री सुशील कुमार त्यागी, कोषाध्यक्ष विकास झा, नैनीताल जिलाध्यक्ष डॉ. नवीन जोशी, नगर अध्यक्ष अफजल हुसैन फौजी, कालाढूंगी अध्यक्ष ललित मोहन बुधानी, ऊधमसिंह नगर अध्यक्ष कमल श्रीवास्तव, मनोज लोहनी, डॉ. जफर सैफी, बसंत बल्लभ पांडे सहित संठन के 300 से अधिक पदाधिकारी एवं सदस्य उपस्थित रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नेशनल यूनियन ऑफ जॉर्नलिस्ट्स-इंडिया का प्रांतीय सम्मेलन 15 को पंतनगर में, सीएम धामी होंगे मुख्य अतिथि

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 12 मई 2022। प्रदेश की एकमात्र ट्रेड यूनियन के रूप में पंजीकृत पत्रकारों के संगठन नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स (इंडिया) उत्तराखंड का प्रांतीय सम्मेलन आगामी 15 मई को गोविंद वल्लभ पंत कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय पंतनगर के डॉ. रतन सिंह आडिटोरियम वेटनरी कालेज में आयोजित किया जा रहा है। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के तौर पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी मौजूद रहेंगे एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता एनयूजेआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष रास बिहारी करेंगे।

संगठन के प्रदेश अध्यक्ष कैलाश जोशी ने बताया कि इस वृहद सम्मेलन की तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया गया है। सम्मेलन में उत्तराखंड सरकार के काबीना मंत्री प्रेम चंद्र अग्रवाल, सौरभ बहुगुणा व चंदन राम दास भी भाग ले रहे हैं। इनके अलावा दिल्ली पत्रकार संघ के अध्यक्ष राकेश थपलियाल, प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया के सदस्य प्रसन्ना मोहंती सहित पूरे प्रदेश से करीब 300 पत्रकार हिस्सा लेंगे। कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए मुख्यमंत्री ने सहमति दे दी है। सम्मेलन के बाद स्मारिका का भी प्रकाशन किया जाएगा।

श्री जोशी ने बताया कि सम्मेलन के सफल आयोजन के लिए अलग अलग कमेटियों का गठन भी कर दिया गया है। अधिवेशन में पत्रकारिता के भूतकाल, वर्तमान और भविष्य विषय पर चर्चा होगी। इस विषय पर मुख्य वक्ता कुमाऊं विश्वविद्यालय के पत्रकारिता विभाग के अध्यक्ष डॉ. गिरीश रंजन तिवारी व्याख्यान देंगे।

इधर गुरुवार को प्रांतीय सम्मेलन की तैयारियों के संदर्भ में एनयूजे-आई के एक शिष्टमंडल ने कार्यक्रम स्थल का जायजा लिया तथा इसके उपरांत उधमसिंह नगर के डीएम व एसएसपी से मुलाकात करके उन्हें कार्यक्रम में आने का निमंत्रण पत्र दिया व कार्यक्रम में मुख्यमंत्री व अन्य मंत्रियों की आमद को देखते हुये उनसे तैयारियों पर चर्चा की। शिष्टमंडल में एनयूजे-आई के प्रदेश अध्यक्ष कैलाश जोशी, वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष संजय तलवार, कुमाऊं मंडल अध्यक्ष दिनेश जोशी, मंडल महामंत्री भगवान सिंह गंगोला, मंडल सचिव मनोज लोहनी व दिनेश ग्याल आदि मौजूद रहे। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड में पत्रकारिता के विद्यार्थियों के लिए सरकारी नौकरी की उठी मांग

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 26 मार्च 2022। भारतीय मजदूर संघ से सम्बद्ध वर्किंग जर्नलिस्ट्स ऑफ इंडिया की नैनीताल इकाई ने उत्तराखंड में पत्रकारिता के विद्यार्थियों के लिए सरकारी नौकरी की मांग उठाई है। शनिवार को जिलाध्यक्ष दीपिका नेगी की अध्यक्षता में हुई संगठन की बैठक में वार्षिक कार्यक्रमों की रूप रेखा तय की गई। साथ ही पत्रकारों और पत्रकारिता के विद्यार्थियों से जुड़े विषयों पर चर्चा की गई।

इस मौके पर जिला महामंत्री नरेंद्र सिंह देव ने कहा कि सरकार पत्रकारिता एवं जनसंचार जैसे विशेषज्ञता वाले विषय सरकारी नौकरियों के दरवाजे नहीं खोल रही है। उत्तराखंड सूचना एवं लोक सम्पर्क विभाग में जिला सूचना अधिकारियों की लंबे समय से कमी बनी हुई है। सरकार ने इन पदों में भर्ती के लिए पीसीएस स्तर की परीक्षा में हिन्दी साहित्य विषय की पात्रता रखी है। केवल विकल्प के रूप में पत्रकारिता में डिप्लोमा शामिल किया गया है। जबकि पत्रकारिता एवं जनसंचार विषय में स्नातक या परास्नातक की ही पात्रता होनी चाहिए थी। सरकार को इस व्यवस्था को बदलते हुए डीआईओ कीभर्ती के लिए पत्रकारिता एवं जनसंचार में यूजी या पीजी विषय की अनिवार्यता एवं भर्ती प्रक्रिया में शिथिलता लाने की आवश्यकता है।

इसके अलावा प्रदेश के विश्वविद्यालयों, पुलिस, स्वास्थ्य सहित अन्य विभागों में जन सम्पर्क अधिकारी के पदों पर भारतीय सूचना सेवा की तर्ज पर प्रांतीय सूचना सेवा के तहत एक संयुक्त भर्ती परीक्षा कर नियुक्तियां करने तथा स्कूलों में अतिरिक्त विषय के रूप में जन संचार को भी अनिवार्य करने की आवश्यकता है। बताया कि जल्द ही इन मांगों को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर धामी से संगठन का प्रतिनिधि मंडल मिलेगा। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उधर धामी तो इधर प्रेस क्लब में भी संजय को मिला दूसरा कार्यकाल

पत्रकारिता के क्षेत्र में भीष्म पितामह है संजय तलवार जी » Manas Darpanनवीन समाचार, हल्द्वानी, 21 मार्च 2022। इधर राज्य में पुष्कर धामी को दूसरा कार्यकाल मिलना तय हुआ वहीं वरिष्ठ पत्रकार संजय तलवाड़ एक बार फिर प्रेस क्लब हल्द्वानी के सर्वसम्मति से अध्यक्ष व रवि दुर्गापाल महामंत्री चुने गये हैं। सोमवार को आयोजित हुई प्रेस क्लब की बैठक में उनके मनोनयन के साथ अन्य कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर भी चर्चा की गई।

अध्यक्ष संजय तलवाड़ ने कहा कि प्रेस क्लब पत्रकारों का एक मजबूत संगठन है। सभी सदस्यों को एकजुट होकर काम करने की जरूरत है। बैठक में वरिष्ठ सदस्य दिनेश जोशी ने प्रेस क्लब के नाम पर नया व्हाट्सअप ग्रुप बनाने वाले लोगों पर निंदा प्रस्ताव पारित किया। साथ ही उन्हें प्रेस क्लब की सदस्यता से हटाने की बात भी कही। अजय चौहान ने कहा कि ऐसे लोगों को पुनः क्लब में शामिल न किया जाए। जिसका सभी ने समर्थन किया।

बैठक में इस मामले में कोई निर्णय लेने के लिए अनुराग वर्मा, अजय चौहान व राहुल दरम्वाल की तीन सदस्यीय टीम को अधिकृत किया गया। यह भी निर्णय लिया गया कि माह में प्रेस क्लब की एक बैठक होगी। बैठक में मुख्य संरक्षक कैलाश जोशी, संरक्षक कृष्ण कुमार गुप्ता, दलीप सिंह गड़िया, सुशील शर्मा, शाहवेज खान, अनुपम गुप्ता, प्रवीण चोपड़ा, गोपाल जोशी, ओपी अग्निहोत्री, मोहन जोशी, मनोज लोहनी, फरहत रउफ, नीरू भल्ला, सुनील तलवाड़, कमल जोशी व एम हसनैन आदि पत्रकार मौजूद रहे। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : और मजबूत हुआ प्रदेश के पत्रकारों का सबसे बड़ा संगठन एनयूजे-आई, ट्रेड यूनियन के रूप में पंजीकरण के साथ पूर्व में अलग हुए सदस्यों ने भी किया विलय

नवीन समाचार, हरिद्वार, 26 फरवरी 2022। एनयूजेआई यानी नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स इंडिया से कुछ वर्ष पूर्व अलग हुए सदस्यों ने भी दोबारा यूनियन में विश्वास जताते हुए विलय कर लिया है। यही नहीं एनयूजेआई का उत्तराखंड में भी ट्रेड यूनियन के रूप में पंजीकरण हो गया है। जबकि इससे पूर्व संस्था की उत्तराखंड इकाई राष्ट्रीय इकाई के पंजीकरण के साथ कार्य कर रही थी।

हरिद्वार के रानीपुर मोड़ स्थित होटल जगत इन में आयोजित नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स (इंडिया) उत्तराखंड प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में यह बात कही गई। इस दौरान सुनील दत्त पांडे, विजेंद्र हर्ष, रविंद्र नाथ कौशिक, राजेंद्र नाथ गोस्वामी, धर्मेंद्र चौधरी, गुलशन नैय्यर, सुभाष शर्मा, राजेश शर्मा, राहुल वर्मा, सुनील पाल सहित अन्य सदस्यों का यूनियन में शामिल होने पर फूल माला पहनाकर स्वागत किया गया। बताया गया कि नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स (इंडिया) के उत्तराखंड में वर्तमान में करीब 300 सक्रिय पत्रकार सदस्य हैं।

प्रदेश अध्यक्ष कैलाश जोशी ने कहा कि काफी समय से चल रहे प्रयासों के फलस्वरूप विगत दिसंबर माह में यूनियन का ट्रेड यूनियन में पंजीकरण हो चुका है। इस बात की खुशी है कि यूनियन का पंजीकरण होने के उपरांत अलग हो चुके सदस्यों ने भी यूनियन में ही अपनी आस्था जताते हुए विलय करने का निर्णय किया। उन्होंने कहा कि यूनियन की ओर से सभी सदस्यों का स्वागत करते हुए कहा कि भविष्य में भी वह यूनियन की मजबूती के लिए बढ़-चढ़कर कार्य करेंगे।

राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रामचंद्र कनौजिया ने बताया कि पिछले काफी समय से अलग हो चुके दोनों गुटों को एक करने का प्रयास किया जा रहा था। दोनों गुटों के विलय के उपरांत सभी सदस्य मिलकर यूनियन को मजबूती के साथ आगे ले जाने का प्रयास करेंगे। प्रांतीय संरक्षक ब्रह्मदत्त शर्मा ने कहा कि एनयूजे (आई) सदैव पत्रकारों के हित में संघर्ष करती चली आ रही है। इसके चलते पत्रकारों का एनयूजे (आई) में विश्वास कायम है।

उन्होंने कहा कि पूर्व में कुछ सदस्यों में मतभेद हो गए थे जिसे दूर कर लिया गया है। इसके पूर्व जिला इकाई द्वारा प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्यों का स्वागत किया गया। इस मौके पर वरिष्ठ उपाध्यक्ष वीरेंद्र भारद्वाज, काशीराम सैनी, कोषाध्यक्ष विकास कुमार झा, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य व कुमाऊं मंडल अध्यक्ष दिनेश जोशी, डा.जफर सैफी, मनोज लोहनी, प्रमोद बमेठा, जयपाल सिंह, मुदित अग्रवाल, अश्वनी अरोड़ा, अमित कुमार शर्मा, प्रशांत शर्मा, निशांत चौधरी, संतोष कुमार शामिल रहे। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल: ‘पेड न्यूज’ हेतु जनपद स्तरीय एमसीएमसी कमेटी में पत्रकार विजेंद्र, रवींद्र व गीतेश नामित…

पेड न्यूस / Paid News - YouTubeडॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 19 जनवरी 2022। आसन्न विधानसभा चुनाव में नैनीताल जनपद में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से प्रसारित किए जाने वाले राजनैतिक प्रकृति के विज्ञापनों-पेड न्यूज के प्रमाणीकरण के लिए नैनीताल जनपद की एमसीएमसी कमेटी का गठन किया गया है।

जिला निर्वाचन अधिकारी-जिलाधिकारी द्वारा गठित कमेटी में जनपद के मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में उप जिला निर्वाचन अधिकारी, एमबीपीजी कॉलेज हल्द्वानी के प्रोफेसर डॉ. नीरज रुवाली, आकाशवाणी के नैनीताल प्रतिनिधि विजेंद्र परिहार, वरिष्ठ पत्रकार रवींद्र कुमार देवलियाल व दूरदर्शन के प्रतिनिधि गीतेश चंद्र त्रिपाठी, अतिरिक्त सूचना अधिकारी नैनीताल कृपाल लाल टम्टा, क्षेत्रीय प्रसार अधिकारी राजेश सिन्हा व राज्य कर विभाग के हिमेंद्र रौतेला को सदस्य नामित किया गया है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

कुमाऊं परिक्षेत्र के डीआईजी डॉ. नीलेश आनंद भरणे को ज्ञापन सोंपते नैनीताल के पत्रकार।

यह भी पढ़ें : राजभवन की घटना पर पत्रकारों ने राज्यपाल एवं राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजे…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 17 दिसंबर 2021। उत्तराखंड राजभवन में बृहस्पतिवार को राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह के प्रथम बार नैनीताल आगमन पर पत्रकारों के साथ की गई अभद्रता पर संबंधित आईपीएस अधिकारी रचिता जुयाल द्वारा वरिष्ठ पत्रकार डॉ. नवीन जोशी से माफी मांगने के बावजूद शुक्रवार को दूसरे दिन भी नैनीताल के साथ प्रदेश भर के पत्रकार आक्रोशित रहे। क्योंकि इसके बावजूद आज के कार्यक्रम में कहीं भी ऐसा नहीं लगा कि इस मामले में प्रशासनिक अधिकारी वास्तव में पत्रकारों के प्रति संवेदनशील है।

शुक्रवार सुबह नगर के पत्रकार अपने पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत पहले से घोषित विरोध प्रदर्शन एवं राज्यपाल महोदय के एडीसी द्वारा पत्रकार वार्ता के लिए आमंत्रित किए जाने पर नैनीताल राजभवन के गेट पर पहुंचे एवं कुमाऊं परिक्षेत्र के डीआईजी डॉ. नीलेश आनंद भरणे के आग्रह पर पत्रकार वार्ता में पहुंचे। किंतु आज भी पत्रकार वार्ता अनुरोध के बावजूद खड़े-खड़े ही की गई। इस पर पत्रकार राजभवन से पत्रकार वार्ता किए बिना ही लौटने लगे। किंतु तभी राज्यपाल के लौटते हुए पत्रकारों के पास स्वयं आ जाने से पत्रकार वार्ता हुई। बाद में कुमाऊं परिक्षेत्र के डीआईजी डॉ. नीलेश आनंद भरणे के माध्यम से राज्य के राज्यपाल एवं डीजीपी तथा देश के राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजे गए। ज्ञापन की प्रतियां ईमेल के माध्यम से भी संबंधितों को भेजी गईं।

ज्ञापन में घटना का जिक्र करतेे हुए इस मामले का संज्ञान लेने एवं निष्पक्ष जांच किए जाने की मांग की गई। ज्ञापन सोंपने वालों में नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स यूनियन के जिलाध्यक्ष डॉ. नवीन जोशी, नगर अध्यक्ष अफजल हुसैन ‘फौजी’, जिला उपाध्यक्ष नवीन पालीवाल व कंचन वर्मा, महामंत्री गौरव जोशी, नगर मंत्री राजू पांडे, माधव पालीवाल, किशोर जोशी, वीरेंद्र बिष्ट, संदीप कुमार, अजमल हुसैन, भूपेंद्र रौतेला, संतोष बोरा, दामोदर लोहनी, मुनीब रहमान, दीप्ति बोरा, गुंजन मेहरा, सीमा नाथ, आकांक्षी माड़मी, हिमानी रौतेला व हिमाशु जोशी आदि पत्रकार शामिल रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल राजभवन में पहली बार वरिष्ठ पत्रकार से अभद्रता, पत्रकारों को राज्यपाल की पत्रकार वार्ता से रोका, राज्यपाल एवं IPS अधिकारियों की गरिमा को भी कम करने की कोशिश…

Raj Bhawan Nainital (Entry Fee, Timings, History, Built by, Images &  Location) - Nainital Tourism 2021डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 16 दिसंबर 2021। उत्तराखंड राज्य एवं संभवतया उससे पूर्व के इतिहास में भी नैनीताल राजभवन में पहली बार एक वरिष्ठ पत्रकार के साथ प्रदेश की एक आईपीएस अधिकारी ने न केवल अभद्रता की, वरन समस्त पत्रकारों को राज्यपाल की पत्रकार वार्ता करने से रोक दिया। साथ ही राज्यपाल पद एवं आईपीएस अधिकारियों की गरिमा को भी कम करने की कोशिश की गई। इस अभूतपूर्व घटना पर राज्य के पत्रकारों में गहरा रोष नजर आ रहा है। नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स इंडिया के प्रदेश अध्यक्ष कैलाश जोशी व कुमाऊं मंडल अध्यक्ष दिनेश जोशी सहित अनेक वरिष्ठ पत्रकारों ने आईपीएस अधिकारी रचिता द्वारा की गई इस अभद्रता की कड़े शब्दों में निंदा की है और उनके कार्रवाई किए जाने की मांग की है।

उल्लेखनीय है कि उत्तराखंड के राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह की नैनीताल राजभवन में पहली बार आगमन पर पत्रकार वार्ता की गई थी। इस दौरान पत्रकारों को राज्यपाल की पत्रकार वार्ता से पहले न केवल रोका गया, वरन अभद्रता भी की गई। इससे पत्रकारों को राज्यपाल की पत्रकार वार्ता किए बिना वापस लौटना पड़ा। इससे राज्य सरकार एवं राजभवन की गरिमा को ठेस पहुंची, एवं राज्यपाल की ओर से राज्य की जनता को दिया जाने वाला संदेश भी राज्य की जनता तक नहीं पहुंच पाया।

हुआ यह राज्यपाल की पत्रकार वार्ता साढ़े तीन बजे आहूत की गई। इस पर दिन भर के समाचारों को लिखने का समय होने के बावजूद बड़ी संख्या में पत्रकार अपने सभी महत्वपूर्ण कार्य छोड़कर राजभवन पहुंचे, किंतु उन्हें राजभवन के बाहरी गेट पर ही रोक दिया गया। इससे कुछ पत्रकार राजभवन के बाहरी गेट से ही वापस लौटने को मजबूर हुए। बाद में पत्रकार अधिकारियों की विशेष अनुमति के बाद राजभवन के प्रांगण तक पहुंचे। यहां साढ़े चार बजे तक पत्रकारों को ऐसे महत्वपूर्ण समय में भी एक घंटे पत्रकार वार्ता का इंतजार करना पड़ा। ठीक करीब साढ़े चार बजे जिला सहायक सूचना अधिकारी द्वारा पत्रकार वार्ता के लिए आमंत्रित किया गया तोे राज्यपाल की एडीसी आईपीएस अधिकारी रचिता के द्वारा पत्रकारों को राजभवन के गेट पर ही रोक दिया गया।

वह कहने लगीं-‘यहीं बाइट-वाइट जो लेनी हो ले लो’। इस पर जब वरिष्ठ पत्रकार डॉ. नवीन जोशी ने उनसे कहा कि महामहिम की पत्रकार वार्ता तो बैठकर होनी चाहिए। तो वह बोलीं, पत्रकार वार्ता तो यहीं होगी, आप जाइए। वह मातहतों को ऐसा कहने वाले वरिष्ठ पत्रकार को बाहर करने को निर्देशित करने लगीं। इस पर पत्रकार आक्रोशित हो गए। उन्होंने आईपीएस के इस रवैये पर विरोध जताया तो उन्होंने सभी पत्रकारों से जाने को कह दिया। इस पर पत्रकार बिना राज्यपाल की पत्रकार वार्ता किए वापस लौट आए।

इस प्रकार एक अधिकारी द्वारा की गई अभद्रता से कल्याणकारी राज्य, उसके अधिकारियों, खासकर पुलिस अधिकारियों एवं राज्यपाल तथा राजभवन की गरिमा को नुकसान पहुंचा। इस घटना पर नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स इंडिया के प्रदेश अध्यक्ष कैलाश जोशी व कुमाऊं मंडल अध्यक्ष दिनेश जोशी सहित अनेक वरिष्ठ पत्रकारों ने आईपीएस अधिकारी रचिता द्वारा की गई इस अभद्रता की कड़े शब्दों में निंदा की है और उनके कार्रवाई किए जाने की मांग की है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल में भाई ‘कमाल’ बोले-खूब और सब कुछ पढ़ो तभी तो लिख सकोगे…

-पत्रकारिता विभाग की कार्यशाला में एनडीटीवी के कमाल खान ने दीं जानकारियां, विद्यार्थियों को समझाए पत्रकारिता के गुर

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 13 नवंबर 2021। पत्रकारों के लिए विभिन्न विषयों और साहित्य का अध्ययन करना बहुत आवश्यक और महत्वपूर्ण है। इससे उनकी पत्रकारिता में गहराई और निखार आता है।

यह बात वरिष्ठ पत्रकार एनडीटीवी के एग्जीक्यूटिव संपादक कमाल खान ने कुमाऊं विश्वविद्यालय के डीएसबी परिसर के पत्रकारिता विभाग में शनिवार को एक कार्यशाला में विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि पत्रकार विभिन्न प्रकार के साहित्य, कविता, प्रसिद्ध उपन्यास सहित विभिन्न धर्मों के विषय में भी पढ़ें। इससे उनकी सोच का दायरा बढ़ेगा और वे सही और तथ्यात्मक रिपोर्टिंग करने में अधिक सक्षम बनेंगे।

कहा कि आजकल कुछ लोग विभिन्न धार्मिक मान्यताओं की मनमानी व्याख्या कर सोशल मीडिया के माध्यम से समाज में धार्मिक उन्माद फैलाने में लगे हैं जो समाज के लिए बहुत हानिकारक है। पत्रकारों को समाज के समक्ष वास्तविकता लाने और जागरूक करने में योगदान देना चाहिए। उन्होंने पत्रकारों को अन्य भाषाओं के साहित्य का अध्ययन करने की भी सलाह दी।

इस मौके पर विभागाध्यक्ष प्रो. गिरीश रंजन तिवारी और सहायक प्रो. पूनम बिष्ट ने कमाल खान का विभाग में आगमन पर स्वागत किया। इस अवसर पर विभागीय कर्मी चंदन कुमार सहित बड़ी संख्या में विद्यार्थी उपस्थित रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : 21 वर्ष में पहली बार राज्य स्थापना दिवस पर पत्रकार हुए नाराज, जमीन पर बैठकर जताया विरोध

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 9 नवंबर 2021। उत्तराखंड राज्य के 21 वर्ष पूरे होने के मौके पर आयोजित राज्य स्थापना दिवस कार्यक्रम में पहली बार जिला व मंडल मुख्यालय नैनीताल में आयोजित हुए कार्यक्रम में पत्रकार नाराज हुए और उन्होंने 10 मिनट जमीन पर बैठकर अपना विरोध सांकेतिक तौर पर प्रदर्शित किया। कोई नारेबाजी इत्यादि नहीं की।

उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व गत दिनों मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के मुख्यालय आगमन पर भी पत्रकारों ने इसी तरह विरोध प्रदर्शन किया था। तब मुख्यमंत्री को स्वयं स्थितियों को संभालने के लिए आगे आना पड़ा था, लेकिन उस घटना के बाद भी दुबारा ऐसी स्थिति बनी।

आज पत्रकारों की नाराजगी की दो वजहें थीं। पूर्व में पत्रकारों को फोन कर महत्वपूर्ण कार्यक्रमों की सूचना दी जाती थी, लेकिन आज सुबह 7 बजे से मैराथन दौड़ के रूप में राज्य स्थापना के कार्यक्रमों की शुरुआत होने के बाद सुबह 7.59 बजे सूचना विभाग के ह्वाट्सएप ग्रुप में कार्यक्रमों की सूचना डाली गई।

दूसरे, जब पत्रकार नौकाओं की दौड़ के कार्यक्रम में पहुंचे तो उनके लिए कवरेज की व्यवस्था नहीं की गई थी। इस पर आयोजक, एनसीसी की नेवल यूनिट के कमांडिंग ऑफीसर कमांडर धन्य कुमार सिंह ने बताया कि उन्हें प्रशासन की ओर से एसडीएम प्रतीक जैन की ओर से सभी सूचनाएं व अपेक्षाएं साझा की गईं, किंतु इन सूचनाओं में पत्रकारों के बारे में कोई जिक्र नहीं था। पत्रकारों की उपेक्षा हुई, इसका उन्हें दुःख है।

तीसरे, राज्य स्थापना के कार्यक्रम स्थल पर पत्रकारों के लिए कवरेज करने हेतु कोई स्थान आरक्षित नहीं किया गया था। पहले एक बोर्ड कार्यक्रम स्थल के दांयी ओर रखा गया था। बाद में जब कुछ पत्रकार उस ओर बैठे तो उसे वहां से हटाकर बांयी ओर कर दिया गया।

ऐसी स्थितियों में पत्रकारों ने सांकेतिक तौर पर केवल 10 मिनट के लिए जमीन पर बैठकर प्रदर्शन किया और इसके बाद कार्यक्रम की कवरेज करने के अपने दायित्व का पूर्ण पालन किया। प्रदर्शन में नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स इंडिया के जिलाध्यक्ष डॉ. नवीन जोशी, उपाध्यक्ष गौरव जोशी, कोषाध्यक्ष दीपक कुमार, नगर अध्यक्ष अफजल हुसैन ‘फौजी’, भूपेंद्र मोहन रौतेला, राजू पांडे, रितेश सागर, संतोष बोहरा, सुरेश कांडपाल, अजमल हुसैन, सुनील बोरा, कांता पाल, मुनीब रहमान, कमल बिष्ट, सुनील भारती, दामोदर लोहनी, वीरेंद्र बिष्ट, दीप्ति, आकांक्षी व गुंजन सहित बड़ी संख्या में पत्रकार शामिल हुए। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : पत्रकार संगठन एनयूजे-आई में संगठन की मजबूती व अनुशासन पर बल

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 10 अक्टूबर 2021। देश के पत्रकारों के सबसे बड़े संगठन एनयूजेआई यानी नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स-इंडिया की बैठक में संगठन की मजबूती एवं अनुशासन तथा भावी कार्यक्रमों पर चर्चा की गई। तय हुआ कि शीघ्र ही संगठन के पूर्व जिलाध्यक्ष स्वर्गीय प्रशांत दीक्षित की इच्छा पर उनकी स्मृति में स्वास्थ्य शिविर लगाया जाएगा एवं बेहतर पत्रकारिता के लिए कार्यशाला आयोजित की जाएगी।

एनयूजे-आई की बैठक में मौजूद सदस्य।

नगर अध्यक्ष अफजल हुसैन फौजी की अध्यक्षता तथा नगर संगठन मंत्री राजू पांडे व उपाध्यक्ष रितेश सागर के संयुक्त संचालन में आयोजित हुई बैठक में संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. गिरीश रंजन तिवारी ने बतौर मुख्य अतिथि मुख्यालय में आयोजित होने वाले वीआईपी कार्यक्रमों में प्रशासन व सूचना विभाग की ओर से स्थानीय पत्रकारों की उपेक्षा किए जाने, उन्हें बैठने के लिये स्थान भी उपलब्ध न कराने पर चिंता जताई। कहा कि प्रशासन व सूचना विभाग के साथ बैठक कर इस समस्या का समाधान कराया जायेगा।

विशिष्ठ अतिथि जिला अध्यक्ष डॉ नवीन जोशी ने संगठन में अनुशासन को सर्वोपरि बताते हुए कहा कि सार्वजनिक तौर पर टिप्पणियां बर्दास्त नहीं की जाएंगी। संगठन की प्रतिष्ठा के विरुद्ध कार्य करने वालों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। नगर अध्यक्ष अफजल हुसैन ‘फौजी’ ने संगठन की एकता पर बल देते हुए कहा कि संगठन राष्ट्रीय स्तर पर पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने के लिए कार्य कर रहा है।

जिला महामंत्री नवीन पालीवाल, उपाध्यक्ष गौरव जोशी व कंचन वर्मा, कोषाध्यक्ष दीपक कुमार, वरिष्ठ पत्रकार रवींद्र पाण्डे ‘रवि’, भूपेंद्र मोहन रौतेला, नरेश कुमार, संदीप कुमार, विनोद कुमार, सुनील बोरा, मुनीब रहमान, शीतल तिवारी व दीप्ति बोरा आदि ने विचार रखे और संगठन एवं पत्रकारिता की बेहतरी के लिए कार्य करने के लिए उपयोगी सुझाव दिए।

इस दौरान आगामी बैठक में नगर महामंत्री के पद पर नियुक्ति एवं अनुशासन समिति के गठन का निर्णय लिया गया। बैठक में नगर सचिव दामोदर लोहनी, रमेश चंद्रा, कांता पाल, तेज सिंह, संतोष बोरा, दिव्यंत साह, गुंजन मेहरा, सीमा नाथ व आकांशी सहित अनेक पत्रकार मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : एनयूजे-आई की नैनीताल जनपद में एक नई इकाई का गठन, ऊर्जावान व प्रतिभावान पत्रकारों को मिला पद का सम्मान

कालाढूंगी की नगर कार्यकारिणी।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 24 अगस्त 2021। नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट-इंडिया की उत्तराखंड इकाई के नैनीताल जिलाध्यक्ष डॉ. नवीन जोशी के निर्देश पर संगठन की नैनीताल जनपद में एक नई कालाढूंगी नगर इकाई का गठन किया गया है। कालाढूंगी में नवीन समाचार, पब्लिक एप व पहाड टीवी से जुड़े नगराध्यक्ष ललित मोहन बधानी ने जिला, मंडल एवं प्रदेश अध्यक्ष की संस्तुति से कालाढूंगी में इंडिया वॉइस के पत्रकार मुकेश छिम्बाल को उपाध्यक्ष, न्यूज एक्सपर्ट के ललित भट्ट को महामंत्री, न्यूज वन इंडिया के रजत पंत को सचिव, दैनिक जागरण के राजेश सिंह नेगी उर्फ राज नेगी को उपसचिव, उत्तराखण्ड खबरनामा के पत्रकार मोंटू चकड़ायत को कोषाध्यक्ष एवं एमकेएन न्यूज के पत्रकार कमल गोस्वामी को कार्यकारिणी सदस्य मनोनीत किया है। उन्होंने बताया कि आगे भी ऊर्जावान व प्रतिभावान पत्रकारों को संगठन से जोड़ा जाएगा एवं दायित्व दिए जाएंगे।

नवमनोनीत पदाधिकारियों को शुभकामनायें देने वालो में एनयूजे-आई के उत्तराखंड प्रदेश अध्यक्ष कैलाश जोशी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष संजय तलवार, आरडी खान, उपाध्यक्ष प्रो. गिरीश रंजन तिवारी, काशीराम सैनी, प्रदेश महामंत्री सुशील कुमार त्यागी, प्रदेश कोषाध्यक्ष विकास झा, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ब्रह्मदत्त शर्मा, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राम चंद्र कनौजिया, प्रांतीय वित्तीय सलाहकार सरोज आनंद जोशी, प्रांतीय संरक्षक तारा चन्द्र गुर्रानी, अविकल थपलियाल, कृष्ण कुमार गुप्ता, कुमाऊं मंडल के अध्यक्ष दिनेश जोशी, महामंत्री भगवान सिंह गंगोला, सचिव हरीश भट्ट, मनोज लोहनी, उपसचिव रमेश यादव, प्रवक्ता डॉ.जफर सैफी, नैनीताल जिलाध्यक्ष डॉ. नवीन जोशी, महामंत्री नवीन पालीवाल, वरिष्ठ उपाध्यक्ष गौरव जोशी, उपाध्यक्ष अनुराग वर्मा, सतीश जोशी व प्रवीण कपिल, महिला उपाध्यक्ष कंचन वर्मा, सचिव अजय चौहान, उपसचिव यूएस सिजवाली, कोषाध्यक्ष दीपक कुमार, जिला संगठन मंत्री नावेद सैफी, सदस्य राजीव अग्रवाल, पिथौरागढ़ जिलाध्यक्ष सुशील खत्री, महामंत्री मनोज कापड़ी, सरंक्षक डॉ. नरेश कांडपाल, वरिष्ठ उपाध्यक्ष हरगोविंद रावल, उपाध्यक्ष महेश् ापाल, दीपक कापड़ी, प्रमोद दिगारी, उपसचिव संजू पंत, सुरेश आर्या, राकेश तिवारी, पूरन पांडे, कोषाध्यक्ष प्रदीप सेक्रियाल, मीडिया प्रभारी गोविंद चावला, राकेश वर्मा, उत्तरकाशी जिलाध्यक्ष विश्व दीपक नौटियाल, नैनीताल नगर अध्यक्ष अफजल हुसैन ‘फौजी’, महामंत्री राजू पांडे, सितारगंज नगर अध्यक्ष अतुल शर्मा, महामंत्री आशीष पांडे, काशीपुर महानगर अध्यक्ष दिलप्रीत सिंह सेठी, रुड़की अध्यक्ष अरुण कुमार, कालाढूंगी नगराध्यक्ष ललित बधानी, हल्द्वानी महानगर अध्यक्ष सैय्यद नावेद, प्रवीण चोपड़ा, गोपाल जोशी, कमल जोशी, मनोज कुमार पांडेय, विनयशील शर्मा, गिरीश जोशी, सुशील शर्मा, कैलाश जोशी, शरद पांडे, त्रिलोक सिंह बिष्ट, धीरज भट्ट, अनुपम गुप्ता, ओपी अग्निहोत्री, मोहन जोशी, दलीप गड़िया, रामनगर अध्यक्ष गिरीश पांडे, महामंत्री चंद्रशेखर जोशी, नाजिम सलमान, नितेश जोशी, चंद्रसेन कश्यप, बंटी अरोड़ा, फरीद कुरैशी रोहित भट्ट सहित समस्त पदाधिकारीें व सदस्य शामिल है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : डॉ. नवीन जोशी नैनीताल व विश्वदीपक नौटियाल उत्तरकाशी ने ’एनयूजे-आई’ के जिलाध्यक्ष मनोनीत

नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स-इंडिया के नवमनोनीत पदाधिकारी।

-नैनीताल जिलाध्यक्ष डॉ. जोशी ने नैनीताल की जिलाकार्यकारिणी के साथ कालाढुंगी नगर इकाई का भी गठन किया।
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 13 अगस्त 2021। नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट-इंडिया
के प्रदेश अध्यक्ष कैलाश जोशी ने डॉ. नवीन जोशी को नैनीताल एवं विश्वदीपक नौटियाल को उत्तरकाशी जनपद का अध्यक्ष मनोनीत किया है। वहीं नैनीताल जिलाध्यक्ष डॉ. नवीन जोशी ने ने प्रदेश अध्यक्ष कैलाश जोशी, वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष संजय तलवार व कुमाऊं मंडल अध्यक्ष दिनेश जोशी के निर्देश पर नैनीताल अपनी जिला कार्यकारिणी का विस्तार कर दिया है।

डॉ. जोशी के अनुसार नैनीताल के गौरव जोशी को जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष, सुश्री कंचन वर्मा को जिला महिला उपाध्यक्ष व नवीन पालीवाल को जिला महामंत्री, हल्द्वानी के अनुराग वर्मा, कालाढूंगी के सतीश जोशी व भवाली के प्रवीण कपिल को जिला उपाध्यक्ष, हल्द्वानी के अजय चौहान को जिला सचिव, भवाली के यूएस सिजवाली को जिला उपसचिव, नैनीताल के दीपक कुमार को जिला कोषाध्यक्ष, रामनगर के नावेद सैफी को जिला संगठन मंत्री व रामनगर के ही राजीव अग्रवाल को जिला कार्यकारिणी सदस्य मनोनीत किया गया है।

इनके अलावा डॉ. जोशी ने पहली बार कालाढुंगी इकाई का गठन करते हुए वरिष्ठ पत्रकार ललित बधानी को कालाढूंगी तहसील का नगराध्यक्ष मनोनीत किया है। उनसे 15 दिन के भीतर कालाढुंगी की नगर इकाई का गठन करने को कहा गया है। सभी नवमनोनीत पदाधिकारियों को बधाई देने वालो में एनयूजे-आई के उत्तराखंड प्रदेश अध्यक्ष कैलाश जोशी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष संजय तलवार, आरडी खान, उपाध्यक्ष प्रो. गिरीश रंजन तिवारी, काशीराम सैनी, प्रदेश महामंत्री सुशील कुमार त्यागी, प्रदेश कोषाध्यक्ष विकास झा, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ब्रह्मदत्त शर्मा, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राम चंद्र कनौजिया, प्रांतीय वित्तीय सलाहकार सरोज आनंद जोशी, प्रांतीय संरक्षक तारा चन्द्र गुर्रानी, अविकल थपलियाल, कृष्ण कुमार गुप्ता, कुमाऊं मंडल के अध्यक्ष दिनेश जोशी, महामंत्री भगवान सिंह गंगोला, सचिव हरीश भट्ट, मनोज लोहनी, उपसचिव रमेश यादव, प्रवक्ता डॉ.जफर सैफी, नैनीताल जिलाध्यक्ष डॉ. नवीन जोशी, महामंत्री नवीन पालीवाल, वरिष्ठ उपाध्यक्ष गौरव जोशी, उपाध्यक्ष अनुराग वर्मा, सतीश जोशी, प्रवीण कपिल, महिला जिला उपाध्यक्ष कंचन वर्मा, सचिव अजय चौहान, उपसचिव यूएस सिजवाली, कोषाध्यक्ष दीपक कुमार, जिला संगठन मंत्री नावेद सैफी, सदस्य राजीव अग्रवाल, जिला कार्यालय सचिव गोपाल जोशी, पिथौरागढ़ जिलाध्यक्ष सुशील खत्री, जिला महामंत्री मनोज कापड़ी, सरंक्षक डॉ. नरेश कांडपाल, वरिष्ठ उपाध्यक्ष हरगोविंद रावल, उपाध्यक्ष महेश पाल, दीपक कापड़ी, प्रमोद दिगारी, उपसचिव संजू पंत, सुरेश आर्या, राकेश तिवारी, पूरन पांडे, कोषाध्यक्ष प्रदीप सेक्रियाल, मीडिया प्रभारी गोविंद चावला, राकेश वर्मा, नैनीताल नगर अध्यक्ष अफजल हुसैन ‘फौजी’, राजू पांडे, रामनगर अध्यक्ष गिरीश पांडे, महामंत्री चंद्रशेखर जोशी, सितारगंज नगर अध्यक्ष अतुल शर्मा, महामंत्री आशीष पांडे, काशीपुर महानगर अध्यक्ष दिलप्रीत सिंह सेठी, रुड़की अध्यक्ष अरुण कुमार, हल्द्वानी महानगर अध्यक्ष सैय्यद नावेद, प्रवीण चोपड़ा, अजय चौहान, मनोज कुमार पांडेय, गिरीश जोशी, सुशील शर्मा, कैलाश जोशी, शरद पांडे, त्रिलोक बिष्ट, धीरज भट्ट, अनुपम गुप्ता, ओपी अग्निहोत्री, मोहन जोशी, दलीप गड़िया, नितेश जोशी, चन्द्रसेन कश्यप, बंटी अरोड़ा, रोहित भट्ट, राजीव अग्रवाल, फरीद कुरैशी, गोपाल जोशी, कमल जोशी, मनोज कुमार पांडेय, विनयशील शर्मा, गिरीश जोशी, सुशील शर्मा, कैलाश जोशी, शरद पांडे, त्रिलोक बिष्ट, धीरज भट्ट, अनुपम गुप्ता, ओपी अग्निहोत्री, मोहन जोशी, दलीप गाड़ियाँ, रामनगर अध्यक्ष गिरीश पांडे, महामंत्री चंद्रशेखर जोशी, नाजिम सलमान, नितेश जोशी, चन्द्रसेन कश्यप, रोहित भट्ट, फरीद कुरैशी व बंटी अरोड़ा सहित समस्त पदाधिकारियों व सदस्यों ने बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : कोरोना काल में प्रिंट पत्रकारिता हुई बुरी तरह प्रभावित, सरकार ने छोड़ा बेसहारा: डा. नवीन जोशी

नवीन समाचार, नैनीताल, 15 जनवरी 2021 भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत कार्यरत फील्ड आउटरीच ब्यूरो नैनीताल द्वारा शुक्रवार को कोरोना विषाणु से भारत के चुनौतीपूर्ण तरीके से निबटने के विषय पर एक बेबीनार का आयोजन किया गया, जिसमें तीन पैनल वक्ताओं समेत करीब 120 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया।

वेबीनार को संबोधित करते वरिष्ठ पत्रकार डा. नवीन जोशी।

वेबीनार में राज्य के वरिष्ठ पत्रकार ‘राष्ट्रीय सहारा’ के ब्यूरो प्रभारी और ‘नवीन समाचार’ के संपादक डॉ. नवीन जोशी ने कहा कि कोरोना महामारी प्रिंट मीडिया के लिए काफी चुनौतीपूर्ण साबित हुई है। अनेक समाचार पत्र और कई बड़े समाचार पत्रों की यूनिटें इस दौरान बंद हो गई हैं, तथा हजारों पत्रकारों और समाचार पत्रों से जुड़े कर्मियों की नौकरियां चली गई हैं। फिर भी केंद्र सरकार ने पूरे मीडिया उद्योग को भगवान भरोसे छोड़ दिया है, जबकि अन्य कमोबेश सभी सेक्टरों की कुछ न कुछ मदद जरूरी की है। दूसरी ओर उन्होंने डिजिटल-नये मीडिया के क्षेत्र में कोरोना काल में बने नए अवसरों को भी रेखांकित करते हुए बताया है कि मीडिया इस माध्यम से भी अपनी जिम्मेदारी का बखूबी निर्वाह कर रहा
इससे पूर्व वेबीनार के विषय पर भारतीय सूचना सेवा के अधिकारी राजेश सिन्हा ने कहा कि भारत सरकार ने मार्च 22 से लेकर 31 मई 2020 तक चार चरणों में जो लॉकडाउन की घोषणा की थी उससे देश के विभिन्न हिस्सों में कोरोना विषाणु के फैलने की गति काफी कम रही, जबकि 1 जून से आठ चरणों में लागू हुई अनलॉक की प्रक्रिया के साथ वैक्सीन विकसित कर लिए जाने के साथ देश चुनौतियों का सामना करने के साथ मानवता के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को लेकर भी सजग हैं। उत्तराखंड के चमोली जिला के मेडिकल ऑफिसर डॉ. पवन पाल ने आंकड़ों के साथ इस तथ्य को रखा कि अमेरिका, ग्रेट ब्रिटेन और फ्रांस जैसे देशों की तुलना में भी भारत में कोरोना वायरस का सामना बेहद सफलतापूर्वक किया गया है। वहीं डॉ. प्रदीप कुमार ने रोग प्रतिरोधक क्षमता को लेकर शरीर के साथ मन को भी मजबूत करने की नई सोच विकसित करने और बच्चों को शिक्षा के साथ स्वास्थ्य शिक्षा दिये जाने की आवश्यकता जताई। वेबीनार में गोपेश बिष्ट, आनंद बिष्ट, श्रद्धा गुरुरानी व श्रमिष्ठा बिष्ट आदि विभागीय अधिकारियों ने भी सहयोग किया।

पत्रकारिता से संबंधित ‘नवीन समाचार’ पर प्रकाशित पूर्व समाचार पढ़ने को यहां क्लिक करें।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply