उत्तराखंड सरकार से 'A' श्रेणी में मान्यता प्राप्त रही, 30 लाख से अधिक उपयोक्ताओं के द्वारा 13.6 मिलियन यानी 1.36 करोड़ से अधिक बार पढी गई अपनी पसंदीदा व भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में आपका स्वागत है...‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने व्यवसाय-सेवाओं को अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए संपर्क करें मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व saharanavinjoshi@gmail.com पर... | क्या आपको वास्तव में कुछ भी FREE में मिलता है ? समाचारों के अलावा...? यदि नहीं तो ‘नवीन समाचार’ को सहयोग करें। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने परिचितों, प्रेमियों, मित्रों को शुभकामना संदेश दें... अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में हमें भी सहयोग का अवसर दें... संपर्क करें : मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व navinsamachar@gmail.com पर।

June 23, 2024

नैनीताल में बीएसएनएल के 20 4जी मोबाइल टावरो के लिए भूमि आवंटित…

2

-जिला अधिकारी धीराज गर्ब्याल ने जारी किए आदेश, प्रति टावर 2000 वर्ग फुट भूमि आवंटित।
नवीन समाचार, नैनीताल, 23 दिसंबर 2022। नैनीताल जनपद के दूरस्थ क्षेत्रों तक बेहतर मोबाइल कनेक्टिविटी उपलब्ध कराने के लिए भारतीय दूरसंचार निगम के 20 मोबाइल टावरों के लिए जिलाधिकारी धीराज गर्ब्याल ने प्रति टावर 2000 वर्ग फिट भूमि निःशुल्क आवंटित कर दी है। इस भूमि पर जल्द ही 4जी मोबाइल कनेक्टिविटी के लिए टावर लगाए जाने के निर्देश दिए गए। यह भी पढ़ें : विद्यालयों में शीतकालीन अवकाश पर आई अपडेट…

जिलाधिकारी ने बताया कि बेहतर कनेक्टिविटी के लिए नैनीताल जिले के नाईसेला, अनरोड़ी, भदयूनी, ग्वालबजून-फगुनियाखेत, डौन, गौरियादे, सिमली मल्ली, टमतोली, पागकटारा, ककोड़, पटरानी, कौंता, आम, पदमपुर, बडोन रेंज, ककोड़, डुंगरी, अमजड़, डालकन्या, पदमपुर व दुदली गांव में 2000 वर्ग फीट प्रति टावर निःशुल्क भूमि उपलब्ध कराई गई है। जल्द इन सभी स्थानों पर मोबाइल के 4जी टावर स्थापित किए जाएंगे जिससे कि दूरस्थ क्षेत्रों में भी बेहतर कनेक्टिविटी और इंटरनेट सेवा मिल सकेगी। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..

यहाँ क्लिक कर सीधे संबंधित को पढ़ें

यह भी पढ़ें : नैनीताल : निकटवर्ती गांवों व एनएच पर मोबाइल नेटवर्क के मामले में ‘दीपक तले अंधेरा’ की स्थिति

नवीन समाचार, नैनीताल, 4 नवंबर 2022। मौजूदा दौर सूचना-प्रौद्योगिकी का दौर कहा जाता है। मोबाइल कनेक्टिविटी और इंटरनेट की आज के दौर में रोटी, कपड़ा और मकान से अधिक बात होती है ऐसे दौर में विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी, जिला व मंडल मुख्यालय को जोड़ने वाले मुख्य राष्ट्रीय राज मार्ग पर लंबी दूरी तक इटरनेट तो दूर, मोबाइल के सिग्नल भी नहीं आते। दिलचस्प बात यह भी है कि बकायदा राज मार्ग पर इसकी सूचना सार्वजनिक रूप से प्रदर्शित की गई है। यह भी पढ़ें : चिंताजनक : 46 वर्षीय शिक्षक कक्षा में पढ़ाते-पढ़ाते गिर पड़े, हुई हृदयाघात से मौत….

एनएच-109 पर हनुमानगढ़ी के पास लगा मोबाइल नेटवर्क न होने की सूचना का बोर्ड।

एनएच-109 पर हनुमानगढ़ी के पास लगा मोबाइल नेटवर्क न होने की सूचना का बोर्ड। मुख्यालय को जोड़ने वाले नैनीताल-हल्द्वानी राष्ट्रीय राजमार्ग 109 पर मुख्यालय से लगे, नगर से तीन किमी दूर हनुमानगढ़ी क्षेत्र में लगा बोर्ड बता रहा है कि यहां से एक किमी आगे से पांच किमी की लंबाई में मोबाइल नेटवर्क उपलब्ध नहीं है। यानी यहां किसी भी कंपनी के मोबाइल नेटवर्क नहीं आते हैं। यह भी पढ़ें : गजब: पति की मौत के बाद लाचारी में बैंक खाता बंद करने पहुंची मजदूरी करने को मजबूर महिला, बैंक ने थमा दिया 2 लाख का चेक

यह बोर्ड संभवतया यहां से गुजरने वाले यात्रियों-सैलानियों को कोई अनहोनी होने पर भगवान भरोसे छोड़ने का संदेश देना जैसा लगता है। उल्लेखनीय है कि इस क्षेत्र में ताकुला गांव स्थित है। इसी तरह आगे बल्दियाखान व नैना गांव नाम के गांव स्थित हैं, और यह गांव भी मोबाइल नेटवर्क विहीन हैं, और इन गांवों में ‘दीपक तले अंधेरा’ जैसी स्थिति है। इनके अलावा आगे ग्राम रिया व बेलुवाखान तथा ज्योलीकोट-नलेना से आगे आमपड़ाव व दोगांव के पास भी लंबी दूरी में मोबाइल नेटवर्क नहीं आते है। यह भी पढ़ें : 24 घंटे से पहले हल्द्वानी के कारोबारी पर गोली चलाने वालों के साथ पुलिस की मुठभेड़, एक बदमाश को गोली लगी

गौरतलब है कि पर्यटक वाहनों की अधिकता के साथ इस मार्ग पर वाहनों की दुर्घटना की भी काफी संभावना रहती है। लेकिन दुर्घटना होने की स्थिति में यहां सहायता के लिए सूचना देना भी मुश्किल साबित होता है। ऐसे मे क्षेत्रीय ग्रामीण भी राष्ट्रीय राजमार्ग 109 पर मोबाइल नेटवर्क उपलब्ध कराने की मांग हर जनप्रतिनिधि व अधिकारियों से कर रहे हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल जनपद के 25 अति दूरस्थ गांवों में भी बजेगी मोबाइल की घंटी, जानें किन गांवों में..?

अब 30 सेकंड तक बजेगी आपके मोबाइल फोन की घंटी, ट्राई ने तय किया समय -  trai-fixes-mobile-call-ring-time-at-30-seconds-60-seconds-for-landline |  Economic Times Hindiडॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 11 अक्तूबर 2022। नैनीताल जनपद के पर्वतीय दूरस्थ क्षेत्रों के 25 ग्रामों में शीघ्र ही मोबाइल की घंटी बज सकेगी। डीएम धीराज गर्ब्याल ने बताया कि ‘राइट ऑफ वे’ पालिसी के तहत जनपद में अतिदूरस्थ रौखड अधोडा, पदमपुर काकोरे.पटरानी, कोंता, आमतोली, गोरिया देव, गडगड़िया रेंज, नाइसेला, भद्यूनी, अनरोडी, अमदाउ, पंगकटरा, बसानी, कुंडल, रिखोली, बहरीन रेंज, सिमली मल्ली व फगुनियाखेत गांवों में प्रथम चरण में मोबाइल टावर स्थापित किये जायेंगे।

इस संबंध में शासन के निर्देशों के क्रम में डीएम गर्ब्याल ने समस्त उपजिलाधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे अपने क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले विद्यालयों, ग्राम पंचायत भवन में 2000 वर्ग फिट सरकारी भूमि मोबाइल टावर के लिए निःशुल्क आवंटित करें, जिससे वहां मोबाइल टावर स्थापित किया जा सके। उन्होंने भारत संचार निगम लिमिटेड के महाप्रबंधक को इन स्थानों का स्थलीय निरीक्षण कर यथाशीघ्र मोबाइल टावर स्थापित करने के लिए भी निर्देशित किया है। अन्य ताज़ा नवीन समाचार पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अब निगलाट में भी बजेगी मोबाइल की घंटी, विधायक ने किया टावर का उद्घाटन

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 06 जुलाई 2021। भवाली-अल्मोड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग पर भवाली से तीन किलोमीटर की दूरी पर स्थित करीब 500 लोगों की आबादी वाला निगलाट क्षेत्र पहाड़ियों से घिरा होने के कारण दूरसंचार सेवाओं से वंचित था। लेकिन अब यहां भी मोबाइल की घंटी बज सकेगी। गांव में लंबी मांग के बाद विधायक संजीव आर्य के प्रयासों से मोबाइल टावर लगा दिया गया है। विधायक आर्य ने बुधवार को टावर का उद्घाटन किया। इस दौरान ग्रामीणों ने विधायक का आभार व्यक्त करते हुए क्षेत्र की अन्य कई समस्याओं से अवगत कराया, तथा शॉल ओढ़ाकर और पुष्पगुच्छ भेंट कर विधायक का अभिनंदन किया।

बताया गया है कि शासन-प्रशासन में अनेक बार गुहार लगाने के बाद थक चुके क्षेत्रीय लोगों ने क्षेत्रीय विधायक के समक्ष टावर स्थापित करने की मांग रखी थी। इसके करीब दो माह के भीतर ही टावर स्थापना का कार्य पूरा करा लिया गया है। बताया गया है कि अगले तीन दिनों के भीतर यहां टावर काम करना शुरू कर देगा। इस दौरान ग्राम प्रधान पंकज निगलटिया ने गांव में सड़क, बंदरो के आतंक से निजात दिलाने को पिंजरा लगाने सहित अन्य मांगे विधायक के सामने रखी। इस पर विधायक ने मौके से ही दो दिन के भीतर बंदर पकड़ने का पिंजरा लगाने के निर्देश संबंधित विभागीय कर्मियों को दिए। इस मौके पर भवाली के पालिकाध्यक्ष संजय वर्मा, बेतालघाट के क्षेत्र पंचायत सदस्य पुष्कर जलाल, पंकज बिष्ट, महेंद्र बिष्ट, अनुभव कुमार, दीपक भंडारी, प्रशांत पंत, विजय थापा, देव सिंह दानू, पवन मेहरा समेत अन्य लोग मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : मोबाइल टावर के खिलाफ एकजुट हुआ नैनीताल, रुकवाया निर्माण..

नवीन समाचार, नैनीताल, 18 अगस्त 2019। नगर के डीएसए मैदान में गुरुद्वारे के पास निर्मित किये जा रहे मोबाइल टावर पर रविवार को विरोध अपने चरम पर आ गया। नगर के विभिन्न संगठन नयना देवी मंदिर परिसर में स्थित मंदिर ट्रस्ट के सभागार में मोबाइल टावर के विरोध में सत्तारूढ़ भाजपा, अमर उदय ट्रस्ट, सेवा समिति, गुरुद्वारा गुरु सिंह सभा, शिव सेना सहित अन्य संगठनों के लोग जुटे और टावर निर्माण का पुरजोर विरोध किया। कहा गया कि यहां टावर निर्माण से मंदिर रेडियेशन की चपेट में आ जाएगा और मंदिर व नगर की दृश्यता भी प्रभावित होगी।

बाद में शिव सेना कार्यकर्ताओं ने प्रदेश महामंत्री भोपाल सिंह कार्की की अगुवाई में निर्मित किये जा रहे टावर के लिए बनाये गये गड्ढों को भरवा दिया, जबकि एसडीएम के निर्देशों पर पालिका ईओ अशोक कुमार व तहसीलदार ने जनदबाव को देखते हुए टावर का निर्माण रुकवा दिया। टावर के विरोध के लिए आयोजित सभा में ट्रस्ट के अध्यक्ष राजीव लोचन साह, जीएल साह, हेमंत साह, प्रदीप साह, भाजपा नगर अध्यक्ष मनोज जोशी, अरविंद पडियार, विवेक साह, नितिन कार्की, डा. सरस्वती खेतवाल, भोपाल कार्की, राजीव दुबे, घनश्याम लाल साह, मेघना पांडे, पान ंिसह ढैला व अतुल साह आदि लोग प्रमुखता से मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : एक ओर मोबाइल की धीमी गति पर रार, अब स्वीकृत टावरों पर तकरार…

नवीन समाचार, नैनीताल, 17 अगस्त 2019। नगर में इंटरनेट व मोबाइल कंजेशन यानी धीमी गति की भारी समस्या के बीच दो मोबाइल टावरों का निर्माण किया जा रहा है। लेकिन दोनों टावरों के निर्माण के स्थान को लेकर लोगों में नाराजगी नजर आ रही है। इनमें से एक टावर मल्लीताल पंडित दीन दयाल पार्क में बनना है, जिसे चिकित्सालय के करीब बताकर विरोध किया जा रहा है, वहीं दूसरा फ्लैट्स मैदान में प्रस्तावित है। इसे गुरुद्वारे के पास बताकर लोग विरोध पर आमादा हैं। इधर सभासद कैलाश सिंह रौतेला व मोहन सिंह नेगी ने भी नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी व अध्यक्ष को पत्र लिखकर इन टावरों के स्थान को लेकर विरोध जता दिया है। उल्लेखनीय है कि पूर्व में आवागढ़ क्षेत्र में एक टावर का निर्माण किया गया, परंतु वह भी विरोेध की भेंट चढ़ गया।

ऐसे में नगर में मोबाइल कंजेशन की समस्या का समाधान भी यक्ष प्रश्न बना हुआ है। इस बारे में पूछे जाने पर बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के वरिष्ठ रेडियोलॉजिस्ट डा. राजेश वर्मा ने बताया कि एक व्यक्ति को एक वर्ष में 20 मिली सिल्वेर्ट (MSV) से अधिक रेडिएशन खतरनाक होता है। इससे कम रेडिएशन में खतरा नहीं रहता है। विरोध से पूर्व प्रस्तावित टावरों से वर्ष भर में निकलने वाले रेडियेशन की जानकारी लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि आगे इंटरनेट की 5जी सेवाएं आने जा रही हैं। जिनमें काफी अधिक रेडियेशन होने की संभावना है। इसके काफी खतरे हैं। दूसरी ओर लोगों को बेहतर सुविधाएं भी चाहिए।

यह भी पढ़ें : मोबाइल टावर के लिए फिर होने लगी पंडित दीन दयाल पार्क में खुदाई..

नवीन समाचार, नैनीताल, 10 अगस्त 2019। नगर के मल्लीताल स्थित पंडित दीन दयाल पार्क में एक बार फिर खुदाई होने लगी है। बताया गया है कि यह खुदाई मोबाइल टावर के लिए की जा रही है। नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी अशोक वर्मा ने प्रारंभिक जांच के बाद बताया कि झील विकास प्राधिकरण के द्वारा नगर में कई जगह टावर लगाने की अनुमति इंडस कंपनी को दी गयी थी। बाद में कंपनी ने नगर पालिका से भी स्वीकृति लेकर किराया जमा करा दिया है।

बताया गया है कि इंडस कंपनी टावर बनाती है, और बाद में सभी इंदरनेट व दूरसंचार सेवा प्रदान करने वाली कंपनियां इसे किराये पर लेकर अपनी सेवाएं देती हैं। पूर्व में भी यहां टावर का निर्माण शुरू हो गया था, किंतु पार्क में पौधारोपण करने वाली संस्था के विरोध के बाद निर्माण रोक दिया गया था। किंतु इधर पुनः खुदाई प्रारंभ कर दी गयी है। पालिका ईओ ने बताया कि फिर भी कंपनी के इंजीनियरों को बुलाया गया है।

सम्बंधित समाचार : जगमगाएंगी हाईमास्ट लाइटें, 4जी इंटरनेट भी दौड़ेगा

-साथ ही 10 लाख का वार्षिक आर्थिक बोझ बनेगा 12 लाख का आय उत्पादक
-नगर के पर्यटन स्थलों की जानकारी भी डिजिटल स्वरूप में मिल सकेगी
नवीन जोशी, नैनीताल। नवगठित जिला विकास प्राधिकरण ने नगर की बमुश्किल जलती-बुझती हाईमास्ट लाइटों को लगातार जगमगाने का ऐसा अनूठा रास्ता ढूंढ लिया है कि न केवल प्राधिकरण प्रतिवर्ष करीब 10 लाख रुपए के अपने आर्थिक भार से मुक्ति पा लेगा, बल्कि उसे उल्टे 12 लाख रुपए की आय प्राप्त हो पाएगी। वहीं नगरवासियों एवं यहां आने वाले सैलानियों को बेहतर 4जी इंटरनेट सेवाओं के साथ ही नगर के पर्यटन स्थलों की जानकारी भी डिजिटल स्वरूप में मिल सकेगी।

उल्लेखनीय है कि तत्कालीन झील विकास प्राधिकरण ने वर्ष 2007-08 में नगर में करीब 20 मीटर ऊंचे पोलों पर 12 हाईमास्ट लाइटें लगाई थीं। इन हैलोजन बल्ब युक्त लाइटों के लिए प्राधिकरण का हर वर्ष करीब 6 लाख रुपए बिजली का बिल और करीब 4 लाख रुपए मरम्मत आदि पर वार्षिक खर्च आ जाता है। बावजूद कई स्ट्रीट लाइटें बंद रह जाती हैं। कई बार लंबे समय के लिए भी ये लाइटें बंद रहीं। वर्तमान में भी 12 में से कम से कम तीन लाइटें बंद बतायी गयी हैं।

यह भी पढ़ें : 

इस समस्या के समाधान के तौर पर इधर प्राधिकरण के सचिव श्रीश कुमार की पहल पर एक कंपनी के साथ करार होने जा रहा है, जो इन पोलों की ही 1 वर्ग मीटर की छोटी सी जगह पर अपने करीब 20 मीटर ऊंचे यानी पहले के पोलों की ऊंचाई के टावर लगाएगी। टावरों पर एयरटेल, आईडिया व वोडाफोन आदि कंपनियों के 4जी इंटरनेट सेवा प्रदाता माइक्रोवेव एंटीना लगाए जाएंगे, जिनके जरिये नगर में बेहतर 4जी इंटरनेट सेवा नगर वासियों व सैलानियों को मिल सकेगी। साथ ही इन टावरों पर हैलोजन बल्बों के मुकाबले बेहद कम बिजली की खपत के बावजूद बेहतर रोशनी देने वाले एलईडी बल्ब लगाए जाएंगे। साथ ही इन टावरों पर नगर के पर्यटन स्थलों के डिजिटल स्वरूप में जानकारी देने वाले ‘मूवेबल बोर्ड’ भी लगाए जाएंगे, जो अपने आप में एक अलग आकर्षण होगा। प्राधिकरण के सचिव श्रीश कुमार ने बताया संबंधित कंपनी से प्राधिकरण को प्रति पोल एक लाख रुपए वार्षिक की धनराशि भी प्राप्त होगी। उन्होंने विश्वास जताया कि यह करार हो जाने और योजना के धरातल पर आ जाने से न केवल प्राधिकरण अपने एक आर्थिक बोझ को आय के स्रोत में बदल पाएगा, बल्कि नगर वासियों और सैलानियों को बेहतर सुविधाएं व आकर्षण भी उपलब्ध हो जाएगा।

भीमताल एक्वेरियम को निजी हाथों में देने की तैयारी
नैनीताल। निर्माण प्रतिबंधों के कारण अपने आर्थिक स्रोत खो चुका प्राधिकरण अपने कुछ बोझों से मुक्ति का मार्ग भी ढूंढ रहा है। इसी कड़ी में भीमताल के टापू में संचालित किये जा रहे समुद्री मछलियों के एक्वेरियम को जिला विकास प्राधिकरण निजी हाथों में देने की तैयारी में है। यह एक्वेरियम भी प्राधिकरण के लिए बड़ा आर्थिक बोझ एवं सैलानियों के लिए ‘सफेद हाथी’ साबित हो रहा है। एक सैलानी को इस तक पहुंचने के लिए 230 रुपए नाव के और 60 रुपए देखने हेतु शुल्क प्राधिकरण को देना पड़ता है, जबकि एक्वेरियम में जनरेटर की व्यवस्था न होने से लगातार मछलियों के ठंड में मरने की समस्या रहती है। इस कारण सैलानियों को अपने खर्च का पूरा मूल्य नहीं मिल पाता है। इसी तरह प्राधिकरण के लिए तीसरा बड़ा आर्थिक बोझ नैनी झील में एयरेशन का करीब 60 लाख का है। चूंकि नैनी झील का प्रबंधन सिचाई विभाग को हस्तांतरित किया जा चुका है, इसलिए यह कार्य भी सिचाई विभाग को हस्तांतरित किये जाने की तैयारी है। बताया गया है कि इस बारे में प्राधिकरण के अध्यक्ष कुमाऊं आयुक्त चंद्रशेखर भट्ट सिचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देशित कर चुके हैं।

Leave a Reply

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :

 - 
English
 - 
en
Gujarati
 - 
gu
Kannada
 - 
kn
Marathi
 - 
mr
Nepali
 - 
ne
Punjabi
 - 
pa
Sindhi
 - 
sd
Tamil
 - 
ta
Telugu
 - 
te
Urdu
 - 
ur

माफ़ कीजियेगा, आप यहाँ से कुछ भी कॉपी नहीं कर सकते

Discover more from नवीन समाचार : समाचार नवीन दृष्टिकोण से...

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading

गर्मियों में करना हो सर्दियों का अहसास तो.. ये वादियाँ ये फिजायें बुला रही हैं तुम्हें… नये वर्ष के स्वागत के लिये सर्वश्रेष्ठ हैं यह 13 डेस्टिनेशन आपके सबसे करीब, सबसे अच्छे, सबसे खूबसूरत एवं सबसे रोमांटिक 10 हनीमून डेस्टिनेशन सर्दियों के इस मौसम में जरूर जायें इन 10 स्थानों की सैर पर… इस मौसम में घूमने निकलने की सोच रहे हों तो यहां जाएं, यहां बरसात भी होती है लाजवाब नैनीताल में सिर्फ नैनी ताल नहीं, इतनी झीलें हैं, 8वीं, 9वीं, 10वीं आपने शायद ही देखी हो… नैनीताल आयें तो जरूर देखें उत्तराखंड की एक बेटी बनेंगी सुपरस्टार की दुल्हन उत्तराखंड के आज 9 जून 2023 के ‘नवीन समाचार’ बाबा नीब करौरी के बारे में यह जान लें, निश्चित ही बरसेगी कृपा नैनीताल के चुनिंदा होटल्स, जहां आप जरूर ठहरना चाहेंगे… नैनीताल आयें तो इन 10 स्वादों को लेना न भूलें बालासोर का दु:खद ट्रेन हादसा तस्वीरों में नैनीताल आयें तो क्या जरूर खरीदें.. उत्तराखंड की बेटी उर्वशी रौतेला ने मुंबई में खरीदा 190 करोड़ का लक्जरी बंगला