Politics

केंद्रीय मंत्री अजय भट्ट ने कहा अभी विरोध, वोटों की चिंता नहीं, ठोकी अधिकारियों की पीठ, खुद को बताया देश का पहला आपदा मंत्री

समाचार को यहाँ क्लिक करके सुन भी सकते हैं

-कहा आपदा राहत को हाथ में हैं 250 करोड़
-किया मुख्यालय के आपदा प्रभावित बलियानाला, कोयला टाल, पिछाड़ी बाजार व कैंट क्षेत्र का दौरा

बलियानाला क्षेत्र में जनता की समस्याएं सुनते सांसद एवं केंद्रीय मंत्री अजय भट्ट।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 25 अक्टूबर 2021। केंद्रीय मंत्री एवं स्थानीय सांसद अजय भट्ट को सोमवार को लोगों की नाराजगी एवं समर्थन में नारे सुनने को मिले। कुछ लोगों ने भाजपा को वोट न देने की बात भी कही। इस पर भी मंत्री दोनों स्थितियों में बेहद सहज दिखे। विरोध पर उन्होंने कहा, अपने ही लोग हैं। परेशान हैं, उनसे नहीं कहेंगे तो किससे कहेंगे। कहा, अभी विरोध व वोटों की चिंता करने या राजनीति की बातें करने का समय नहीं है। सिर्फ आपदा न्यूनीकरण पर ध्यान है। अलबत्ता, एक नहीं कई बार जिला प्रशासन, खासकर डीएम-एसडीएम आदि का नाम लेकर उनके द्वारा बहुत अच्छा कार्य करने की बात कहते हुए मंत्री ने उनकी पीठ ठोकी, और संदेश दिया कि राज्य सरकार की ओर से आपदा प्रबंधन में बेहतर कार्य किया जा रहा है। देखें क्या कहा श्री भट्ट ने :

वहीं केंद्र की ओर से अब तक मुआवजे की घोषणा न करने पर बोले, केंद्र सरकार ने 20-25 दिन पहले ही राज्य सरकार को आपदा मद में 250 करोड़ रुपए दिए थे। वह धनराशि ही यहां खुले हाथ से खर्च हो रही है, और अभी काफी बची है। केंद्रीय गृह मंत्री ने जरूरत पड़ने पर और धनराशि देने की बात कही है। पांच दिन तक सरकार को जानकारी नहीं थी। विपक्ष ने जानकारी दी। मोदी सरकार द्वारा लगातार दिए जा रहे पैकेज से केदारपुरी का नवनिर्माण हो रहा है।

श्री भट्ट ने सोमवार को अपने दौरे की शुरुआत बलियानाला क्षेत्र से की। यहां कुछ लोगों उनके व सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की। अलबत्ता, बलियानाला संघर्ष समिति के अध्यक्ष मुख्तार अली के अली में स्थानीय लोगों ने संयत तरीके से बलियालाला का अब तक ठीक से संरक्षण न किए जाने के कारण उनके समक्ष अपने घर छोड़ने की नौबत आने की बात कही। साथ ही उन्होंने जीजीआईसी, जीआईसी व प्राथमिक विद्यालय के विस्थापन स्थलों में शौचालय, नहाने-धोने व भोजन बनाने में आ रही परेशानी बताई। साथ ही जीआईसी के नीचे चार-पांच टेड़े पेडों को आपदा के दृष्टिगत कटवाने का अनुरोध भी किया। वहीं कमल सिलेलान, ममता जोशी सहित अन्य लोगों का कहना था कि वर्ष 2015 से मंत्री श्री भट्ट एवं सरकार को अन्य माध्यमों से यहां की समस्या से अवगत कराया जा रहा है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई।

इसके उपरांत मंत्री ने पुराने कोयला टाल एवं कैंट क्षेत्र की दुकानों का भी दौरा किया। यहां तल्लीताल व्यापार मंडल अध्यक्ष मारुति नंदन साह की अगुवाई में दुकानदारों का कहना था कि एक दौर में उनका किराया छावनी परिषद से 2 रुपए प्रतिवर्ष एवं इधर 2007-08 में 8272 रुपए प्रति वर्ष था, जो गत वर्ष एक लाख 34 हजार 723 व इस वर्ष एक लाख 60 हजार रुपए प्रति वर्ष कर दिया गया है। उन्होंने हालिया करीब 20 फीसद की बढ़ोत्तरी की जगह पांच वर्षों में 5 से 10 फीसद की बढ़ोत्तरी ही किए जाने और पूर्व का अवशेष जमा करने के लिए समय दिए जाने की मांग रखी। इस पर आश्वासन देने पर लोगों ने उनकी जिंदाबाद के नारे भी लगाए।

इस दौरान उनके साथ नगर पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी, सभासद रेखा आर्य, सांसद प्रतिनिधि गोपाल रावत, भाजपा नगर अध्यक्ष आनंद बिष्ट, मनोज जोशी, बिमला अधिकारी, अंबा दत्त आर्य, मोहन पाल, अरविंद पडियार, दयाकिशन पोखरिया, भानु पंत, कैंट सभासद बहादुर सिंह, पूरन मेहरा, विक्की राठौर, डीएम धीराज गर्ब्याल, एडीएम अशोक जोशी, एसडीएम प्रतीक जैन, सीओ संदीप नेगी सहित बड़ी संख्या में भाजपा नेता मौजूद रहे।

खुद को बताया देश का पहला आपदा मंत्री, बलियानाला प्रभावितों को अन्यत्र बसाने की की घोषणा
नैनीताल। बलियानाला की समस्या पर श्री भट्ट ने बताया कि भगत सिंह कोश्यारी के मुख्यमंत्री रहने के दौर में देश में पहली बार उत्तराखंड में आपदा मंत्रालय बना था और उनके यानी भट्ट के पास ही आपदा मंत्रालय था। तब उन्होंने बलियानाला के संरक्षण के लिए 15 करोड़ रुपए दिए थे। उसके बाद एक बार और बड़ी धनराशि जारी हुई थी। सरकार इस समस्या का पूर्ण समाधान चाहती है, एवं यहां के लोगों का जीवन बचाना सरकार की पहली प्राथमिकता, नैतिक जिम्मेदारी व कर्तव्य है।

इस दौरान उन्होंने डीएम धीराज गर्ब्याल को प्रभावित परिवारों को दुर्गापुर के आवासीय भवनों में तुरन्त विस्थापित करने और शेष के लिए रूसी बाईपास पर ताकुला में 50 नाली भूमि पर प्रस्तावित हाउसिंग प्रोजेक्ट के लिए पहले से स्वीकृत भूमि पर बसाने हेतु प्रस्ताव बनाने के निर्देश दिये।

उन्होंने कहा जीएसआई यानी जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया के भूवैज्ञानिक कह चुके हैं कि बलियानाला का क्षेत्र बहुत कच्ची है, खिसकने वाली है। इसका स्थायी समाधान संभव नहीं है। इसलिए बलियालाला क्षेत्र के विस्थापितों में से करीब 50-60 परिवारों को दुर्गापुर में एवं अन्य को ताकुला-रूसी बाईपास में स्थायी तौर पर विस्थापित किया जाएगा। जो अभी वहां नहीं जाना चाहते उन्हें अस्थायी तौर पर स्थानीय विद्यालयों में रखा जाएगा। दुर्गापुर में आने-जाने व स्वास्थ्य जांच की व्यवस्था भी की जाएगी। यह भी कहा कि बलियानाले में उपचारात्मक कार्य तो चल रहे हैं। सरस्वती विहार में 1200 बच्चों के लिए सड़क ध्वस्त होने से भोजन पहुंचने में समस्या आ रही है। भूवैज्ञानिकों के निर्देशों पर ही स्थायी समाधान के कार्य होंगे। कुछ लोगांे द्वारा वोट न देने की बात कहने पर उन्होंने संयत टिप्पणी करते हुए कहा कि वोट देना जनता का निजी निर्णय व स्वतंत्रता की बात है। सरकार का ध्यान अभी वोटों पर नहीं आपदा के न्यूनीकरण पर है।

आपदा प्रभावित गांवों में प्राथमिकता से सुचारू करें बिजली, पानी, सड़क व संचार सुविधाएंः भट्ट
नैनीताल। केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट ने सोमवार को नैनीताल क्लब में विभागीय अधिकारियों की बैठक लेते हुए उनसे आपदा कार्यो को संवेदनशीलता से करते हुए गति लाने को कहा। कहा कि जिन आपदा प्रभावित क्षेत्रों के गांवों में विद्युत, पानी, सडक व संचार व्यवस्थाएं बाधित हैं उन्हे भी प्राथमिकता से सुचारू करें। साथ ही कहा कि आपदा कार्यो में लापरवाही कतई बर्दाश्त नही की जायेगी। लापरवाही को गम्भीरता से लिया जायेगा। उन्होने अधिकारियों से कहा कि वे स्वयं क्षेत्रों में जाकर जनप्रतिनिधियों के साथ संयमित होकर जनता से वार्ता करने के भी निर्देश दिये।

बैठक में जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने बताया कि जनपद में सभी राष्ट्रीय राजमार्ग खोल दिये गये हैं, जबकि अभी चार राज्य सडक मार्ग व तीन मुख्य जिला सडक मार्ग बंद हैं। इन पर भी कार्य प्रगति पर है। आपदा के दौरान 484 ग्रामीण आंतरिक मार्ग बंद हुये थे। इनमें से 401 मार्ग खोल दिये गये हैं जबकि 83 मार्ग बाधित हैं। उन्होंने बताया कि जनपद में लगभग 2.60 करोड की राहत धनराशि वितरित कर दी गई है। उन्हांेने बताया कि जनपद में आपदा से 34 जनहानि हुई थीं जिसमें से 31 शव बरामद कर लिये गये हैं, बिहार के मृतकों के शव उनके घर भेज दिये गये हैं। इस पर रक्षा राज्य मंत्री ने त्वरित आपदा कार्य एवं तत्काल बिहार निवासियों के शवांे को उनके घर भजने के लिए जिला प्रशासन को बधाई दी व आपदा में त्वरित कार्यो की सराहना भी की।

बैठक में सीडीओ डॉ. संदीप तिवारी, डीएफओ टीआर बीजूलाल, एडीएम अशोक जोशी, संयुक्त मजिस्ट्रेट प्रतीक जैन, मुख्य अभियंता जल निगम बीके पंत, महाप्रबंधक जल संस्थान डीके सिंह, जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी, सीएमओ डॉ. भागीरथी जोशी, केएमवीएम के महाप्रबंधक एपी बाजपेयी सहित मुख्यमंत्री के जन सम्पर्क अधिकारी दिनेश आर्य, मोहन पाल, सुरेश परिहार, गोपाल रावत, आनंद बिष्ट, मनोज जोशी, दयाकिशन पोखरिया, भावना मेहरा, प्रकाश आर्य, शिवांशु जोशी, लक्ष्मण खाती व भानु पंत सहित सभी संबंधित अधिकारी मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : केंद्रीय मंत्री भट्ट ने आपदा प्रभावित परिवार को भेंट किया आठ लाख का चेक तो छलक उठी आंखें

-किया आपदा प्रभावित निगलाट, गरमपानी एवं खैरना का दौरा
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 24 अक्टूबर 2021। देश के रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री व स्थानीय सांसद अजय भट्ट ने रविवार को जनपद के आपदा प्रभावित क्षेत्रों-निगलाट, गरमपानी एवं खैरना का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने आपदा में परिवार के दो सदस्यों को खो चुके पीड़ित परिवार के सुरेश चौहान को बेहद भावुक माहौल में 8 लाख रुपये की मुआवजा धनराशि के चेक भेंट किए। उन्होंने कहा कि परिवार को हुई जन क्षति की भरपाई कोई नहीं कर सकता। दुःख एवं संवेदना की इस घड़ी में सरकार सभी आपदा प्रभावितों के साथ है। उन्होंने प्रभावितों को सरकार की ओर से हर संभव मदद का आश्वासन भी दिया।

आपदा प्रभावित परिवार को 8 लाख का चेक भेंट करते केंद्रीय मंत्री अजय भट्ट।

इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से उन्होंने आपदा पीड़ित परिवारों के क्षतिग्रस्त भवनों की मुआवजा धनराशि शीघ्र देने हेतु सभी औपचारिकताऐं प्राथमिकता से पूर्ण करने के निर्देश दिये। उन्होंने क्षतिग्रस्त रामगाढ़ लघु जल विद्युत परियोजना को शीघ्रता से सुचारू करने हेतु उरेडा के अधिकारियों को तुरंत बनाने को एवं लोनिवि के अधिकारियों को क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत व मलबा हटाने के कार्य में तेजी लाने के निर्देश भी दिये।

इसके साथ ही उन्होंने तहसील भवन में आयोजित बैठक में क्षेत्रीय अधिकारियों व अभियंताओं से अब तक किये गये कार्यों की विस्तार से जानकारी ली और उनसे आपदा प्रभावित क्षेत्रों को सामान्य स्थिति में लाने के लिए युद्ध स्तर पर तत्परता, समयबद्धता एवं गुणवत्ता से पूर्ण करने को कहा। निरीक्षण के दौरान अपर जिलाधिकारी अशोक जोशी, अधिशासी अभियंता विद्युत हारून रशीद, अपर जिला पंचायतराज अधिकारी मौहम्मद असलम, डॉ. योगेश कुमार, जनसम्पर्क अधिकारी दिनेश आर्य, जिलाध्यक्ष भाजपा प्रदीप बिष्ट के अलावा गोपाल रावत, हरीश भट्ट, प्रकाश आर्य, जुगल मठपाल, एडवोकेट सचिन गुप्ता, बालम मेहरा, राजू कांडपाल, अम्बा दत्त आर्य, मोहन पाल व देवेंद्र ढैला आदि दौरे में उनके साथ रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : केंद्रीय मंत्री अगले दो दिन करेंगे आपदा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा, कांग्रेस में वापसी के बाद क्षेत्र में फिर जुटे संजीव, SC आयोग के उपाध्यक्ष भी साथ

केंद्रीय मंत्री भट्ट अगले दो दिन करेंगे आपदा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 23 अक्टूबर 2021। केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्यमंत्री अजय भट्ट जनपद भ्रमण पर आ रहे है। जानकारी देते हुये मंत्री के निजी सचिव पीके सुरेश ने बताया कि श्री भट्ट 24 अक्टूबर को प्रातः 8 बजे हल्द्वानी से प्रस्थान कर 9 बजे कैंची में दैवीय आपदा से प्रभावित लोगों से मुलाकात करेंगे तथा साढ़े नौ बजे गरमपानी में बाढ़ प्रभावित कार्यों का निरीक्षण एवं प्रभावितों से मिलेंगे तथा 10 बजे गरमपानी मे बैठक करेंगे।

आगे श्री भट्ट 12 बजे बेतालघाट पहुंचकर बाढ़ प्रभावित कार्यों का निरीक्षण एवं आपदाग्रस्त लोगों से मिलेंगे तथा 2 बजे प्रेम प्रभु भवन में स्थानीय लोगों से मुलाकात तथा रात्रि विश्राम नैनीताल में करेंगे। आगे 25 अक्टूबर सोमवार को वह मुख्यालय में सुबह साढ़े 10 बजे से कार्यकर्ताओं से मिलेंगे तथा 11 बजे अधिकारियों के साथ वार्ता व 12 बजे प्रेस वार्ता करंेगे, तथा इसके पश्चात नैनीताल मे आपदाग्रस्त क्षेत्रों का भ्रमण कर शाम को ट्रेन से नई दिल्ली को प्रस्थान करेंगे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

कांग्रेस में वापसी के बाद क्षेत्र में फिर जुटे संजीव आर्य, अनुसूचित आयोग के उपाध्यक्ष भी साथ
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 23 अक्टूबर 2021। कांग्रेस में वापसी के बाद नैनीताल के विधायक पद से त्यागपत्र दे चुके संजीव आर्य फिर से क्षेत्र में जुट गए हैं। बीते दो दिनों से वह कैंची, गरमपानी व बेतालघाट क्षेत्र में दैवीय आपदा से प्रभावितों के बीच हैं।

इस दौरान उन्होंने कैंची से गरमपानी-खैरना के बीच आपदा प्रभावित क्षेत्र में पैदल भ्रमण कर प्रभावित परिवारों से मुलाकात की। वह कैंची में आपदा में जान गंवाने वाले 21 वर्षीय युवती व 19 वर्षीय युवक के परिजनों से भी मिले। उन्होंने इस दौरान क्षेत्र में सैकड़ों घर व जमीन आपदा की भेंट चढ़ने, प्रभवित परिवारों को उचित मुआवजा दिलाने तथा लोगों के विस्थापन, सड़क, बिजली व पानी आदि सुविधाओं को जल्द सुचारू करने की मांग पर तहसील प्रशासन से वार्ता भी की। इस दौरान उनके साथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष सतीष नैनवाल के साथ ही अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष प्रताप गोरखा भी साथ दिखे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हमारे विधायक तो अव्वल, जानें आपके विधायक ने कितनी खर्ची अपनी विधायक निधि…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 22 अक्टूबर 2021। सूचना के अधिकार के तहत प्राप्त जानकारी से खुलासा हुआ है कि सितंबर माह तक किस विधायक ने कितनी विधायक निधि खर्ची है। इस सूची में नैनीताल के विधायक पद से इस्तीफा दे चुके संजीव आर्य 90 फीसद से अधिक खर्च कर चुके हैं, जबकि इस मामले में केदारनाथ के विधायक मनोज रावत मात्र 50 फीसद विधायक निधि खर्चने के साथ सबसे फिसड्डी साबित हुए हैं।

Rs 150 crore legislator fund can not spendवहीं राज्य मंत्रिमंडल के सदस्यों की विधायक निधि खर्च करने के मामले में बात करें तो मंत्री बंशीधर भगत ने जहां सर्वाधिक 87 फीसद विधायक निधि खर्ची है, वहीं डॉ. धन सिंह रावत 60 फीसद के साथ सबसे पीछे रहे हैं। इनके अलावा यतीश्वरानंद, बिशन सिंह चुफाल व गणेश जोशी ने 81-81 फीसद, अरविंद पांडे व रेखा आर्य ने 78-78 फीसद, हरक सिंह रावत ने 77, सुबोध उनियाल ने 75, यशपाल आर्य ने 71, सीएम पुष्कर सिंह धामी 69 फीसद विधायक निधि खर्ची है। वहीं राज्य के सभी विधायकों ने औसत रूप में केवल 77 प्रतिशत ही खर्च हुई है।

सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन को ग्राम्य विकास आयुक्त कार्यालय द्वारा सूचना के अधिकार से प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तराखंड के 70 निर्वाचित एवं एक मनोनीत यानी कुल 71 विधायकों में से 12 विधायकों ने 70 प्रतिशत से कम विधायक निधि खर्च की है, जबकि 1 विधायक मनोज रावत ने केवल 50 प्रतिशत जबकि एक विधायक संजीव आर्य ने 90 प्रतिशत से अधिक विधायक निधि खर्च की हैै। सर्वाधिक 86 से 90 प्रतिशत खर्च वाले विधायकों में कुंवर सिंह चैम्पियन, राम सिंह कैड़ा, फुरकान अहमद, आदेश चौहान (रानीपुर), बंशीधर भगत, नवीन चन्द्र दुम्का व गोपाल सिंह रावत शामिल हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तराखंड केे वर्तमान विधायकों को 2017 से सितम्बर 2021 तक कुल 1256.50 करोड़ रूपयेे की विधायक निधि उपलब्ध हुुई, जबकि उन्होंने सितम्बर 2021 तक केवल 77 प्रतिशत यानि 963.40 करोड़ की विधायक निधि ही खर्च की है और 23 प्रतिशत यानी 293.10 करोेड़ की विधायक निधि खर्च होेनी अभी भी शेष हैै।

उपलब्ध सूचना के अनुसार 60 प्रतिशत विधायक निधि खर्च वाले विधायक धनसिंह है। 61 से 65 प्रतिशत खर्च वालेे विधायकों में महेश नेेगी, सुरेन्द्र सिंह नेगी, सहदेेव पुण्डीर शामिल हैै। 66 से 70 प्रतिशत वालों में प्रीतम सिंह, मगन लाल शाह/मुन्नी लाल शाह, मदन कौशिक, मुन्ना सिंह चौहान, करन मेहरा, पुष्कर सिंह धामी, विनोद चमोली, महेन्द्र भट्ट शामिल हैै।

71 से 75 प्रतिशत खर्च वाले विधायकोें में प्रेम चन्द्र, यशपाल आर्य, सुरेन्द्र सिंह जीना, राजकुमार ठुकराल, केदार सिंह रावत, खजान दास, हरवंश कपूर, गोविन्द सिंह कुंजवाल, त्रिवेन्द्र सिंह रावत, सतपाल महाराज, राजकुमार, विजय सिंह पंवार, सुबोध उनियाल शामिल है।

76 से 80 प्रतिशत खर्च वाले विधायकों में राजेश शुक्ला, हरीश सिंह धामी, हरभजन सिंह चीमा, हरक सिंह, उमेश शर्मा, दीवान सिंह बिष्ट, पूरन सिंह फर्त्याल, भारत सिंह चौैधरी, डॉ इंदिरा हृदयेश, अरविन्द पाण्डे, आदेश सिंह चौैहान (जसपुर), रेखा आर्य, देशराज कर्णवाल, बलवन्त सिंह, रितु खण्डूरी, सुरेश राठौैर, चन्द्र पंत, ममता राकेश, शक्तिलाल शाह, रघुनाथ सिंह चौैहान, कैलाश गहतोड़ी व चंदन राम दास शामिल है।

वहीं 81 से 85 प्रतिशत खर्च वाले विधायकों मेें दिलीप सिंह रावत, गणेेश जोशी, यतीश्वरानन्द, बिशन सिंह चुफाल, प्रेम सिंह राणा, मुकेश कोली, मीना गंगोला, काजी निजामुद्दीन, प्रीतम सिंह पंवार, संजय गुप्ता, विनोद भण्डारी, सौैरभ बहुगुणा, प्रदीप बत्रा शामिल हैै। अन्य नवीन समाचार पढ़ने को यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बहुउद्देश्यीय शिविर में पहुंचे दिव्यांग व वृद्ध जन अब खुद चल-फिर, देख व सुन सकेंगे

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 2 सितंबर 2021। प्रदेश के समाज कल्याण मंत्री यशपाल आर्य के निर्देश पर जनपद के विकास खंड कार्यालय कोटाबाग में दिव्यांग एवं वृद्धजनों के लिए सहायक उपकरण वितरित करने हेतु एक शिविर का आयोजन किया गया। इस अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि नैनीताल के विधायक संजीव आर्य और अनुसूचित आयोग के उपाध्यक्ष पीसी गोरखा की उपस्थिति में जरूरत के अनुसार 27व्हील चेयर, 247चश्मे, 137 कान की मशीन, 48 ट्राई पॉड, 129 वॉकिंग स्टिक व 11 वॉकर वितरित किए गये।

कोटाबाग में दिव्यांग महिला को ह्वीलचेयर भेंट करते विधायक संजीव आर्य।

साथ ही 27 लोगों के यूडीआईडी कार्ड बनाए गए। कार्यक्रम में ब्लॉक प्रमुख रवि कन्याल, ज्येष्ठ प्रमुख शशि डंगवाल, हेम नैनवाल कृपाल बिष्ट सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के अधिकारी जगदीश लखेड़ा, जिला समाज कल्याण अधिकारी दीपांकर घिल्डियाल, खंड विकास अधिकारी श्याम सिंह नेगी, भारती बिष्ट, कंचन पंत, विपिन भट्ट, पूरन अरोरा और कई ग्राम प्रधान और क्षेेत्र पंचायत सदस्य उपस्थित रहे। गौरतलब है कि इससे एक दिन पूर्व विकासखंड रामगढ़ के जूनियर हाईस्कूल सुयालबाड़ी में भी ऐसा ही एक शिविर लगाया गया जिसमें करीब 500 सहायक उपकरण भेंट किए गए।

बेतालघाट में शिविर कल, मंत्री भी मौजूद रहेंगे
नैनीताल। प्रदेश के परिवहन, समाज कल्याण एवं जनपद प्रभारी मंत्री यशपाल आर्य आगामी 3 सितंबर को बेतालघाट के मिनी स्टेडियम में समाज कल्याण द्वारा आयोजित बहुददेशीय शिविर मे प्रतिभाग करेंगे। जानकारी देते हुये उनके निजी सचिव गोपाल दत्त पंत ने बताया कि श्री आर्य हल्द्वानी से चल कर प्रातः 11 बजे मिनी स्टेडियम बेतालघाट पहुचेंगे।

यह भी पढ़ें : बहुउद्देश्यीय शिविर में 500 दिव्यांग व वृद्ध जनों को दिए गए कृत्रिम यंत्र

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 1 सितंबर 2021। विकासखंड रामगढ़ के जूनियर हाईस्कूल सुयालबाड़ी में आयोजित किये गये बहुउद्देशीय शिविर में करीब 500 दिव्यांग और वृद्धजनों को चश्मा, कान की मशीन, ह्वील चेयर आदि सहायक उपकरण भेंट किए गए। साथ ही कोविड का टीका लगाया गया, और कोविड की आरटीपीसीआर जांच व स्वास्थ्य परीक्षण भी किया गया।

विधायक संजीव आर्य की मौजूदगी में आयोजित इस शिविर में इसके साथ समाज कल्याण की विभिन्न योजनाओं के 11 आवेदन पत्रों को पूर्ण कर स्वीकृति दी गई। साथ ही 20 लोगों को कोरोना का टीका, 21 की आरटीपीसीआर जांच, दो ट्राइ पॉड, 170 चश्मे, 160 कान की मशीन, 220 छड़ियां व 3 व्हीलचेयर आदि वितरित की गई। इस दौरान तहसीलदार बरखा जलाल, ब्लॉक प्रमुख पुष्पा नेगी, जिला समाज कल्याण अधिकारी कल्याण सिंह, भाजपा मंडल अध्यक्ष रमेश सुयाल, ग्राम प्रधान हंसा सुयाल, एस लाल, तारा सिंह व रवि इत्यादि लोग मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : विधायक ने किया 1.67 करोड़ के विकास कार्यों का शिलान्यास व लोकार्पण

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 9 अगस्त 2021। मुख्यालय के निकटवर्ती भवाली नगर के सांस्कृतिक मंच में विधायक संजीव आर्य ने राज्य वित्त व अल्पसंख्यक विकास निधि के 27 लाख 21 हजार के विकास कार्यो का लोकार्पण तथा अल्पसंख्यक विकास निधि के 47 लाख 25 हजार के कार्यो का शिलान्यास सहित कुल 1 करोड़ 67 लाख 86 हजार के विकास कार्यो को जनता को समर्पित किया। 47 लाख 25 हजार के शिलान्यास किए गए कार्यों में नगर के वार्डों के मार्गों के चौड़ीकरण व मोटर मार्गों के कार्य शामिल हैं।

भवाली में सोमवार को विकास कार्यों का शिलान्यास व लोकार्पण करते विधायक।

इस दौरान आशा कार्यकत्रियों ने विधायक को अपनी मांगों का ज्ञापन सौपा। विधायक संजीव आर्य ने कहा कि क्षेत्र में काम करने का अवसर जनता के सहयोग से मिला है। मूलभूत बिजली, पानी, सड़क, स्वास्थ्य, शिक्षा के लिए ही काम किया जा रहा है। भवाली के सभी वार्डो में बिजली, सड़क की सभी समस्याओं का निस्तारण किया गया है। सेनिटोरियम के वार्डो को ठीक किया जा रहा है। नगर में मल्टीस्टोरी पार्किंग व नए बस अड्डे का निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने भविष्य में लकड़ी टाल में पार्किंग बनाने का आश्वाशन दिया। उन्होंने कहा कि भवाली नगर पालिका आदर्श पालिका बनकर अपनी पहचान प्रदेश में बनाएगी। कहा कि कोई भी जनप्रतिनिधि जितनी सोच रखता है, वह उतना ही विकास कर सकता है।

पालिकाध्यक्ष संजय वर्मा ने कहा कि विकास कार्यो के लिए आचरण सही होना जरूरी है। सभी वार्डो का विकास करना उनका सौभाग्य है। उन्होंने कहा कि पालिकाध्यक्ष से मिलने के लिए बिचौलियों को बीच से मिलने का रिवाज खत्म किया गया है। ब्लॉक प्रमुख डॉ हरीश बिष्ट ने कहा कि मेहनत करने पर ही सफलता मिलनी सम्भव है। उन्होंने कहा कि हर क्षेत्र में विधायक ने विकास के रास्ते खोले है। उन्होंने कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य का भी विकास कार्यो को गति देने के लिए आभार प्रकट किया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : बड़ा समाचार: मंत्री-पति के खिलाफ हत्या के मामले में गैर जमानती वारंट जारी

नवीन समाचार, बरेली, 6 अगस्त 2021। उत्तराखंड की एकमात्र महिला काबीना मंत्री-महिला बाल विकास मंत्री रेखा आर्या के पति गिरधारी लाल साहू के खिलाफ अपर सत्र न्यायाधीश अब्दुल कय्यूम की अदालत ने गैर जमानती वारंट जारी कर दिया है। यह वारंट बरेली के 31 साल पुराने बहुचर्चित जैन दंपति के हत्याकांड मामले में जारी हुआ है। इस मामले में रेखा आर्य के पति गिरधारी साहू भी आरोपी हैं।

Image: Court issues non-bailable warrant against Rekha Arya's husbandसाहू के अधिवक्ता ने न्यायालय में उनके कोरोना संक्रमित होने की दुहाई दी थी लेकिन न्यायालय ने अर्जी खारिज कर दी और गैर जमानती वारंट जारी कर दिया। इस मामले में चूंकि तीन अन्य आरोपितों- आंवला निवासी बजरुद्दीन, भुता निवासी नरेश और बदायूं निवासी जगदीश को जेल भेज दिया जा चुका है, इसलिए माना जा रहा है कि अब मंत्री पति को गिरफ्तार किया ही जाएगा।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जून 1990 में बरेली में नरेश जैन और पुष्पा जैन की बेटी प्रगति जैन ने रिपोर्ट लिखाई थी, और गवाही के दौरान न्यायालय को बताया था कि 11 जून 1990 की रात करीब सवा नौ बजे वो सभी लोग टीवी देख रहे थे। उसी दौरान चार-पांच लोग उनके घर में घुस आए। उनके हाथ में चाकू और डंडे थे। उनमें से एक ने उनके पिता नरेश जैन से कुुछ बात की थी। इसके अलावा दूसरे शख्स ने जाकर टीवी बंद कर दिया। इसके बाद उन लोगों ने नरेश जैन पर चाकू मारना शुरू कर दिया। बीचबचाव में वे दोनों बहनें चोटिल हो गईं।

इस हमले में उनके पिता नरेश जैन और मां पुष्पा जैन की मौत हो गई। मामले में रेखा आर्या के पति जोगीनवादा के गिरधारी लाल साहू उर्फ पप्पू गिरधारी समेत 11 लोगों पर हत्या, आपराधिक षडयंत्र रचना, भूमि-संपत्ति को हड़पने सहित कई गंभीर तय किए गए थे। मामले में न्यायालय ने अब साहू के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया है, और अगली सुनवाई के लिए 20 अगस्त की तारीख तय कर दी है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : चुनाव करीब आते विधायक ने कसे अधिकारियों के पेंच, कहा-वे प्रस्ताव बनाएं, बजट वे लाएंगे

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 14 जुलाई 2021। नैनीताल विधायक संजीव आर्या व राज्य मंत्री पीसी गोरखा ने बुधवार को नैनीताल विधान सभा क्षेत्र की विकास योजनाओं के संबंध में जल संस्थान, जल निगम, लोक निर्माण विभाग, ग्रामीण विकास विभाग सहित अन्य विभागों के उच्च अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। इस दौरान विधायक ने क्रमवार विभिन्न विभागों से नैनीताल विधान सभा क्षेत्र में हो रहे विकास कार्यों का ब्यौरा लिया और अधिकारियों को अधूरे कार्यों को जल्दी पूरा करने व नये कार्यों के प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए, साथ ही अधिकारियों को यह भरोसा दिलाया की सरकार द्वारा बजट स्वीकृति करने की जिम्मेवारी वे खुद लेंगे। सरकार की ओर घोषणा किए कार्यों के लिए बजट आवंटित के हर संभव प्रयास किये जाएंगे।

विधायक संजीव आर्या ने कहा कि यदि सभी विभाग अपने कार्य करने में तत्परता और पूरी निष्ठा के साथ कार्य करें तो वर्षों से लम्बित कार्य समय पर पूरा हो सकते हैं। उन्होंने जल्द नैनीताल विधान सभा क्षेत्र में पूर्ण हो चुके कार्यों का लोकार्पण व पूर्ण हो चुके कार्यों का स्थलीय निरीक्षण कर शिलान्यास करने की बात भी कही। इस दौरान अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष पीसी गोरखा, प्रधान थुवा ब्लॉक एस लाल, सुंदर प्रसाद अमीन, विजय सिंह, प्रवेश कुमार, गौरव कुमार, सुरेंद्र सिंह भंडारी, नीरज तिवारी, गणेश रावत, राकेश मोहन, एससी गंगोला, संदीप प्रकाश धर्माना, देवेंद्र कुमार आर्या, डीएस बिष्ट, संतोष कुमार उपाध्याय, सुधीर कुमार, भास्कर सुयाल, राजीव कुमार, रमेश पांडे, एन कुमार, केके पांडे व गोविंद सिंह जनौटी आदि अधिकारी मौजूद रहे। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : अजय भट्ट बने पर्यटन एवं रक्षा राज्य मंत्री, दो दशक बाद दोहराया इतिहास

नवीन समाचार, नई दिल्ली, 07 जुलाई 2021। मोदी मंत्रिमंडल में उत्तराखंड के इकलौते मंत्री, नैनीताल के सांसद अजय भट्ट को रक्षा एवं पर्यटन मंत्रालयों में राज्य मंत्री बनाया गया है। इस तरह श्री भट्ट को दो मंत्रालय दिए गए हैं, और देश का सीमावर्ती राज्य तथा पर्यटन प्रदेश होने के कारण दोनों मंत्रालयों की उत्तराखंड राज्य के लिहाज से भी बड़ी उपयोगिता है।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले उत्तराखंड के हरिद्वार से सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ मोदी मंत्रिमंडल में शिक्षा मंत्री थे। वह कुछ माह से वह बीमार चल रहे हैं। आज उनके द्वारा अपने खराब स्वास्थ्य का हवाला देते हुए इस्तीफा देने की बात सामने आई। हालांकि यह भी कहा जा रहा है कि मोदी मंत्रिमंडल से मोदी की अपेक्षाओं के अनुरूप प्रदर्शन न कर पाने वाले मंत्रियों की मंत्रिमंडल से छुट्टी की गई है। मोदी ने यह नहीं देखा कि कौन सा मंत्री कितना बड़ा व्यक्तित्व है। केवल यह देखा कि वह काम कितना कर पा रहा है।

यह भी उल्लेखनीय है कि इससे पहले उत्तराखंड से मंत्री बने दिवंगत बची सिंह रावत भी तत्कालीन अटल बिहारी बाजपेयी मंत्रिमंडल में रक्षा राज्य मंत्री रहे थे, और वह भी अजय भट्ट के गृह क्षेत्र रानीखेत के निवासी थे। इस तरह एक तरह से भट्ट के रक्षा राज्य मंत्री बनने से दो दशक बाद इतिहास दोहराया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : दो बार सर्वश्रेष्ठ सांसद रहे हैं आज उत्तराखंड से इकलौते मंत्री बने अजय भट्ट..

-नेता प्रतिपक्ष व प्रदेश अध्यक्ष की एक साथ दोहरी जिम्मेदारी के साथ उत्तराखंड के स्वास्थ्य मंत्री सहित यूपी व उत्तराखंड में विभिन्न पदों पर रहे हैं

केंद्रीय राज्य मंत्री के रूप में शपथ ग्रहण करते अजय भट्ट।

नवीन समाचार, नई दिल्ली, 07 जुलाई 2021। नैनीताल-ऊधमसिंहनगर लोकसभा क्षेत्र के भाजपा सांसद अजय भट्ट को बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में राज्य मंत्री पद की शपथ दिलाई गई है। उल्लेखनीय है कि हरिद्वार के सांसद व केद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ के स्वास्थ्य कारणों से इस्तीफा देने के उपरांत वह उत्तराखंड से अकेले मंत्री होंगे। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी के मंत्रिमंडल विस्तार में दो पूर्व मुख्यमंत्रियों-त्रिवेंद्र सिंह रावत व तीरथ सिंह रावत के साथ राज्य सभा सांसद अनिल बलूनी के भी केंद्रीय मंत्री बनने की चर्चाएं थीं, लेकिन उन्हें दरकिनार कर केवल अजय भट्ट को मंत्री बनाया गया है। उल्लेखनीय है कि आपके प्रिय एवं भरोसेमंद समाचार पोर्टल ‘नवीन समाचार’ ने दो दिन पहले ही इसकी संभावना जता दी थी।

माना जा रहा है कि पिछले दिनों राज्य में नेतृत्व परिवर्तन के बाद भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व के दूत के रूप में उल्लेखनीय भूमिका निभाने, हमेशा जिम्मेदारी मिलने पर पूरी शक्ति से अपनी जिम्मेदारी निभाने के प्रतिफल में उन्हें यह तोहफा मिला है। यह भी माना जा रहा है कि राज्य में भाजपा द्वारा अब तक भुवन चंद्र खंडूड़ी के अतिरिक्त सभी मुख्यमंत्री क्षत्रिय वर्ग से ही बनाए जाने की स्थितियों में ब्राह्मण वर्ग को संतुष्ट करने के लिए भी उन्हें मंत्री पद दिया गया है। एक जून 1961 को अल्मोड़ा जनपद के रानीखेत में जन्मे श्री भट्ट पेशे से अधिवक्ता रहे हैं। वे भाजपा के उत्तराखंड के प्रदेश अध्यक्ष सहित उत्तराखंड व पूर्ववर्ती उत्तर प्रदेश में विभिन्न पदों की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। उत्तराखंड सरकार में स्वास्थ्य मंत्री एवं नेता प्रतिपक्ष भी रह चुके हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को रिकॉर्ड मतों से पराजित किया था।

गौरतलब है कि इस वर्ष नए वर्ष के दूसरे दिन ही यानी दो जून को श्री भट्ट को फेम इंडिया मैगजीन व एशिया पोस्ट के सर्वे में ‘विलक्षण’ श्रेणी में देश के 542 सांसदों में से सर्वश्रेष्ठ सांसद चुना गया था। इससे पूर्व भी उन्हें इसी पत्रिका के वर्ष 2020 के 10वें अंक में ‘प्रतिभावान’ श्रेणी में देश का सर्वश्रेष्ठ सांसद चुना गया था। यह सम्मान देते हुए पत्रिका ने उनके बारे में कहा था कि बतौर सांसद उन्होंने अपने पहले कार्यकाल में ही दिखा दिया है कि वे सदन के कार्यों में खासे सक्रिय हैं। उन्होंने दो सत्रों के दौरान ही 15 बहसों और 5 विशेष उल्लेख की चर्चाओं में सक्रिय भागीदारी निभायी। उन्होंने स्वास्थ्य, सड़क परिवहन और रेलवे आदि से संबंधित 10 प्रश्न पूछे। सदन में उनकी उपस्थिति 99 प्रतिशत रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : विधायक ने किया साढ़े 65 लाख की योजनाओं का शिलान्यास

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 02 जुलाई 2021। क्षेत्रीय विधायक संजीव आर्य चुनाव करीब आते लगागार विकास कार्यों को धरातल पर उतारते-गति देते नजर रहे हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को विधायक ने भीमताल विकासखंड के सीमांत क्षेत्र मौना-बाना में स्वीकृत 65 लाख 51 हजार की योजनाओं का शिलान्यास किया।
स्वीकृत की गई योजनाओं में नाईसीला के बाना में माता मरियम ग्रेटो से पुलिया की ओर 3 लाख 33 हजार रुपए की लागत से सीसी मार्ग, यहीं माता मरियम ग्रेटो से कब्रिस्तान की ओर 4 लाख 70 हजार रुपए से सीसी मार्ग, बाना में अल्पसंख्यक बाहुल्य क्षेत्र में 18 लाख 32 हजार रुपए की लागत से नई पेयजल लाइन तथा 20 किलो लीटर क्षमता के आरसीसी जलाशय एवं पेयजल आपूर्ति हेतु 13 लाख 53 हजार रुपए से 20 किलोलीटर क्षमता के आरसीसी जलाशय के निर्माण सहित अन्य कार्य शामिल हैं। इस अवसर पर भीमताल के ब्लॉक प्रमुख डॉ हरीश बिष्ट, जिला पंचायत सदस्य लेखा भट्ट, भाजपा जिला मंत्री हरीश भट्ट, चर्च के फादर रवि कुमार, पूर्व जिला पंचायत सदस्य गणेश मेहरा, क्षेत्र पंचायत सदस्य सुरेश उप्रेती, प्रदीप मारकुश, विनय मार्टिन, अधिवक्ता रवि बिष्ट, पूर्व प्रधान मथुरा दत्त, सुरेश चंद्र एवं पीएमजेएसवाई व जल संस्थान के अधिशासी अभियंता सहित बड़ी संख्या में ग्रामवासी उपस्थित रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : सांसद अजय भट्ट ने संसद में उठाये ऐसे मुद्दे कि हर कहीं हो रही तारीफ

नवीन समाचार, नैनीताल, 13 फरवरी 2021। नैनीताल-ऊधमसिंह नगर सांसद अजय भट्ट ने लोकसभा में आपदा से निपटने के लिए आयोग बनाने की मांग रखी है। साथ ही राज्य में रेल सेवाओं के विस्तार पर जोर दिया। सांसद भट्ट के निजी सचिव वीरेंद्र कुमार की ओर से शनिवार को मीडिया को जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि सांसद ने सदन में आपदा पर क्विक एक्शन के लिए केंद्र सरकार का धन्यवाद अदा किया और कहा कि हिमालय क्षेत्र में ग्लेशियर नदियों और पानी तूफान सहित तमाम ऐसे बिंदुओं पर जांच करने के लिए एक आयोग बनाना चाहिए, जिससे कि भविष्य में इस तरह की आपदाओं से सचेत रहा जा सके। उन्होंने सदन में जमरानी बांध, सौंग बांध के लिए बजट आवंटन करने की मांग रखी। पंतनगर एयरपोर्ट जौली ग्रांट एयरपोर्ट के लिए धनराशि आवंटित करने की भी मांग की। इसके अलावा सदन के समक्ष सांसद ने मांग रखी कि रामनगर से गैरसैण तक रेल लाइन, टनकपुर से बागेश्वर तक रेल लाइन सहित दिल्ली से देहरादून और दिल्ली से काठगोदाम तक एक सुपरफास्ट ट्रेन चलाए जाने की जरूरत है। मुजफ्फरनगर से रुड़की रेल लाइन का काम बेहद धीमी गति से चल रहा है। जिसमें तेजी लाने की जरूरत है। देहरादून से पौंटा तक चार लेन की सड़क बनाई जानी चाहिए, जिससे कि चंडीगढ़ के अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर कम समय पर पहुंचा जा सके। राज्य में पांच सैनिक स्कूल और देहरादून-रामनगर लाइन को फोर लाइन सहित पांच एकलव्य स्कूल खोले जाने की मांग भी रखी।

यह भी पढ़ें : देश के सर्वश्रेष्ठ ‘विलक्षण’ सांसद चुने गए नैनीताल सांसद अजय भट्ट

नवीन समाचार, नैनीताल, 02 जनवरी 2021। नैनीताल-उधमसिंहनगर लोकसभा क्षेत्र के भाजपा सांसद अजय भट्ट को नए वर्ष के दूसरे दिन ही फेम इंडिया मैगजीन व एशिया पोस्ट के सर्वे में ‘विलक्षण’ श्रेणी में देश के 542 सांसदांे में से सर्वश्रेष्ठ सांसद चुना गया है। उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व भी इसी पत्रिका के वर्ष 2020 के 10वें अंक में सांसद अजय भट्ट को ‘प्रतिभावान’ श्रेणी में देश का सर्वश्रेष्ठ सांसद चुना गया था। इस प्रकार सांसद भट्ट को लगातार दूसरी बार सर्वश्रेष्ठ सांसद चुना गया है। इसके बाद उन्हें भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं, उनकी लोक सभा एवं प्रदेश की जनता के द्वारा बधाइयां मिल रही हैं।
पत्रिका ने उनके बारे में कहा है कि बतौर सांसद उन्होंने अपने पहले कार्यकाल में ही दिखा दिया है कि वे सदन के कार्यों में खासे सक्रिय हैं। उन्होंने दो सत्रों के दौरान ही 15 बहसों और 5 विशेष उल्लेख की चर्चाओं में सक्रिय भागीदारी निभायी। उन्होंने स्वास्थ्य, सड़क परिवहन और रेलवे आदि से संबंधित 10 प्रश्न पूछे हैं। सदन में उनकी उपस्थिति 99 प्रतिशत रही है। बताया गया है कि फेम इंडिया मैगजीन ने सर्वे एजेंसी एशिया पोस्ट के साथ मिलकर एक लंबे सर्वे और ग्राउंड रिपोर्ट के जरिये अपने संसदीय क्षेत्र से संसद तक जनसेवा, समाजसेवा, जन जागरण से लेकर लोकतांत्रिक मूल्यों को मजबूत करने का शानदार कार्य करने वाले 25 सांसदों की विभिन्न श्रेणियों में पहचान की है। बताया गया है कि इस सर्वेक्षण में सांसदों का जनता से जुड़ाव, प्रभाव, छवि, पहचान, कार्यशैली, सदन में उपस्थिति, बहस में हिस्सा, प्राइवेट बिल, सदन में प्रश्न, सांसद निधि का सही उपयोग व सामाजिक सहभागिता को मुख्य मापदंड बनाया गया है। इस लिस्ट में चयनित होने के लिए सबसे प्रमुख मानक ‘अपने दायित्वों का बेहतर निर्वहन’ था। सर्वे सीधे जनता से, ऑनलाइन और विशिष्ट व्यक्तियों से स्टेक होल्ड विधि से पूछे गये सवालों और लोकसभा की साइट पर उपलब्ध प्रमुख डाटा, यानी कुल दस बिंदुओं पर आधारित हैं।

  1. प्रभावशाली – सी.आर.पाटिल (सांसद – नवसारी लोकसभा क्षेत्र, गुजरात) भाजपा
  2. उत्कृष्ट – भर्तृहरि महताब (सांसद – कटक लोकसभा क्षेत्र, ओडिशा) बीजू जनतादल
  3. योग्य – संजय जयसवाल (सांसद – पश्चिम चंपारण लोकसभा क्षेत्र, बिहार) भाजपा
  4. असरदार – राव उदय प्रताप सिंह (सांसद – होशंगाबाद लोकसभा क्षेत्र, मध्यप्रदेश) भाजपा
  5. ऊर्जावान – निशिकांत दुबे (सांसद – गोड्डा लोकसभा क्षेत्र, झारखंड) भाजपा
  6. अनुभवी – कोडिकुन्निल सुरेश (सांसद – मावेलीकारा लोकसभा क्षेत्र, केरल) कांग्रेस
  7. प्रेरक – राजेन्द्र अग्रवाल (सांसद – मेरठ लोकसभा क्षेत्र, उत्तर प्रदेश) भाजपा
  8. कर्मठ – विनायक राउत (सांसद – रत्नागिरी-सिंधुदुर्ग लोकसभा क्षेत्र, महाराष्ट्र) शिवसेना
  9. विलक्षण – अजय भट्ट (सांसद – नैनीताल-उधम सिंह नगर लोकसभा क्षेत्र, उत्तराखंड) भाजपा
  10. कर्तव्यनिष्ठ – सुरेश कुमार कश्यप (सांसद – शिमला लोकसभा क्षेत्र, हिमाचल प्रदेश ) भाजपा
  11. शख्सियत – गोपाल शेट्टी (सांसद – मुम्बई नॉर्थ लोकसभा क्षेत्र, महाराष्ट्र) भाजपा
  12. लगनशील – जुगल किशोर शर्मा (सांसद – जम्मू लोकसभा क्षेत्र, जम्मू कश्मीर ) भाजपा
  13. अग्रदूत – प्रवेश वर्मा (सांसद – पश्चिम दिल्ली लोकसभा क्षेत्र, दिल्ली) भाजपा
  14. विशिष्ट – भीमराव बी.पाटिल (सांसद – ज़हीराबाद लोकसभा क्षेत्र, तेलंगाना) तेलंगाना राष्ट्र समिति
  15. मजबूत – धरमवीर सिंह (सांसद – भिवानी महेन्‍द्रगढ़ लोकसभा क्षेत्र, हरियाणा) भाजपा
  16. कर्मयोद्धा – हनुमान बेनीवाल (सांसद – नागाैर लोकसभा क्षेत्र, राजस्थान) राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी
  17. व्यवहार कुशल – विनोद चावड़ा (सांसद – कच्छ लोकसभा क्षेत्र, गुजरात) भाजपा
  18. कामयाब – राहुल शेवाले (सांसद – मुम्बई दक्षिण-मध्य लोकसभा क्षेत्र, महाराष्‍ट्र) शिवसेना
  19. आइकॉन – राजू सिंह बिष्ट (सांसद- दार्जिलिंग लोकसभा क्षेत्र, पश्‍चिम बंगाल ) भाजपा
  20. दूरदर्शी – अपराजिता सारंगी (सांसद – भुवनेश्वर लोकसभा क्षेत्र, ओडिशा) भाजपा
  21. चर्चित – नवनीत राणा (सांसद – अमरावती लोकसभा क्षेत्र, महाराष्ट्र) निर्दलीय
  22. उद्देश्यपूर्ण – हरीश द्विवेदी (सांसद – बस्ती लोकसभा क्षेत्र, उत्तरप्रदेश) भाजपा
  23. सक्रिय – दिलीप सैकिया (सांसद – मंगलदोई लोकसभा क्षेत्र, असम) भाजपा
  24. जिम्मेदार – दिनेश चंद्र यादव (सांसद – मधेपुरा लोकसभा क्षेत्र, बिहार) जनता दल यूनाइटेड
  25. जागरुक – चुन्नी लाल साहू (सांसद – महासमुन्द लोकसभा क्षेत्र, छत्तीसगढ़) भाजपा
नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply