Crime

पड़ोस की नाबालिग किशोरी को जंगल में ले जाकर किया दुष्कर्म

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नवीन समाचार, काठगोदाम, 10 जून 2021। थाना काठगोदाम क्षेत्र में एक युवक द्वारा अपने पड़ोस की एक 15 वर्षीय नाबालिग किशोरी को स्कूटी में घुमाने का झांसा देकर जंगल में ले जाकर उसके साथ डरा-धमका कर दुष्कर्म करने का मामला प्रकाश में आया है। यही नहीं आरोपित दुष्कर्म के बाद में छात्रा की हालत बिगड़ने पर युवक उसे जंगल में ही छोड़कर अपनी स्कूटी से भाग निकला। किसी तरह अपने घर पहुंची किशोरी ने अपनी आपबीती अपने परिजनों को सुनाई। इसके बाद परिजनों ने काठगोदाम पुलिस में आरोपित के खिलाफ तहरीर दी है। एसपी सिटी डा. जगदीश चंद्र, सीओ सिटी शांतनु पाराशर ने मौके का मुआयना करने के बाद काठगोदाम थाना प्रभारी को आरोपी आयुष नाम के युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे जल्दी गिरफ्तार करने के निर्देश दिए।
इस पर काठगोदाम के थानाध्यक्ष विमल मिश्रा की ओर से बताया गया है कि आरोपी आयुष के खिलाफ पॉक्सो और दुष्कर्म का मामला दर्ज कर लिया गया है। साथ ही पीड़िता का मेडिकल करा लिया गया है। इसके बाद आरोपी युवक की तलाश की जा रही है। पुलिस जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार करने का दावा भी कर रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : 12 वर्ष की नाबालिग से 34 वर्षीय युवक ने किया दुष्कर्म

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 02 जून 2021। हल्द्वानी के बनभूलपुरा क्षेत्र में एक निर्माणाधीन घर में रह रहे मजदूर की 12 वर्षीय नाबालिग बेटी के साथ मकान मालिक द्वारा दुष्कर्म करने का मामला प्रकाश में आया है। मामले में पुलिस ने आरोपित मकान मालिक के खिलाफ दुष्कर्म के लिए धारा 376(3) व 5ध्6 पॉक्सो अधिनियम में मामला दर्ज कर लिया है। आरोपित की नवाबी रोड पर पंचर की दुकान है, जबकि पीड़िता का परिवार उसके निर्माणाधीन घर में रह रहा था।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बनभूलपुरा थाना क्षेत्र निवासी मजदूर का परिवार एक निर्माणाधीन घर में ही रह रहा था। आरोप है कि गत 19 मई की शाम जब मजदूर घर पर नहीं था, 34 वर्षीय मकान मालिक ने उसकी शौच जाने के लिए नीचे उतरी 12 वर्षीय बेटी को मुंह पर हाथ रख दबोचकर कमरे में ले जाकर व डरा-धमका कर दुष्कर्म किया। नाबालिग ने मां से सारी बात बताई। मजदूर के ठेकेदार ने मकान मालिक पर कड़ी कार्रवाई कराने का भरोसा दिलाकर मासूम को उसके मामा के साथ गांव भेज दिया। जहां पिता को घटना की जानकारी लगने पर मामले में बनभूलपुरा पुलिस को तहरीर दी गई। इस पर तत्काल कार्रवाई करते हुए थाना अध्यक्ष प्रमोद पाठक ने पीड़िता का मेडिकल परीक्षण कराया और जांच महिला एसआई कुमकुम धानिक को सोंप दी है।(डॉ.नवीन जोशी)

यह भी पढ़ें : नैनीताल : 4 दिन से गायब नाबालिग किशोरी हरियाणा से बरामद, बयानों पर साथ ले जाने वाला युवक जेल भेजा गया

नवीन समाचार, नैनीताल, 30 मई 2021। जनपद की बेतालघाट पुलिस ने क्षेत्र के एक दूरस्थ गांव की गत 26 मई की रात्रि को अपने घर से किशोरी को रोहतक से बरामद कर लिया है। वहीं उसे रोहतक ले जाने वाले युवक को गिरफ्तार किया गया है। उसे नाबालिग किशोरी के बयानों के आधार पर नाबालिग को गांव से बहला फुसलाकर ले जाने के आरोप में भारतीय दंड संहिता की धारा 363, 366, 354 क व 354ख पॉक्सो अधिनियम सहित कई धाराओं में मामला दर्ज करने के बाद न्यायिक हिरासत में जेल दिया गया है
उल्लेखनीय है कि पूर्व में नाबालिग के किसी युवक के साथ बाइक पर बैठकर रानीखेत की ओर जाने की बात कही जा रही थी। लेकिन बाद में पुलिस की जांच-पड़ताल में पता चला कि गांव का ही एक लड़का उसे हरियाणा के रोहतक ले गया है। इसके बाद पुलिस ने रोहतक पुलिस से संपर्क कर दोनों को हरियाणा के रोहतक से बरामद कर लिया। इसके बाद बेतालघाट पुलिस दोनों को बेतालघाट लेकर पहुंची। (डॉ.नवीन जोशी)

यह भी पढ़ें : कुमाऊं-उत्तराखंड की नाबालिग की तीन गुनी से अधिक उम्र के अधेड़ से करा दी शादी, पीड़िता यूपी से बरामद, सभी आरोपी फरार

नवीन समाचार, दिनेशपुर, 26 मई 2021। ऊधमसिंह नगर जनपद के दिनेशपुर क्षेत्र के खानपुर गांव की एक 13 साल की नाबालिग की शादी गत 20 मई को तीन गुने से भी अधिक, 40 साल के व्यक्ति से करने का मामला प्रकाश में आया है। मामले में नाबालिग की ताई की तहरीर पर पुलिस ने लड़की के पिता, मां और शादी करने वाले युवक पर बाल विवाह अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। साथ ही आरोपितों की धरपकड़ के प्रयासों के तहत नाबालिग को भी सकुशल बरामद कर लिया है। अलबत्ता, सभी आरोपित फरार बताए जा रहे हैं। ऐसे में सवाल यह भी उठ रहा है कि नाबालिग को बरामद कर लेने के बावजूद पुलिस एक भी आरोपित को कैसे नहीं दबोच पाई।
उल्लेखनीय है कि नाबालिग की ताई ने 22 मई को स्थानीय पुलिस थाने में तहरीर देकर कहा था कि उसके देवर ने अपनी 13 साल की लड़की का विवाह 40 साल के अधेड़ के साथ कर दिया है। इसकी जानकारी होने पर पुलिस आरोपितों के खिलाफ बाल विवाह अधिनियम में मुकदमा दर्ज कर आरोपित पति की तलाश में जुट गई। पुलिस की एक टीम ने उत्तर प्रदेश के महाराजपुर, पीलीभीत से 24 मई को नाबालिग को बरामद कर लिया। जबकि पुलिस के अनुसार मामले के सभी आरोपित फरार हो गए। पुलिस उनकी तलाश कर रही है। एसओ अशोक कुमार ने बताया कि आरोपितों पर बाल विवाह अधिनियम के तहत मुकदमा किया गया है। नाबालिग के बयान दर्ज कर आरोपितों की गिरफ्तारी की जाएगी। (डॉ.नवीन जोशी)

यह भी पढ़ें : नाबालिग से उल्टी-सीधी बातें करने वाला पॉक्सो का आरोपित गिरफ्तार

नवीन समाचार, नैनीताल, 13 मई 2021। नाबालिग बच्चियों से उल्टी-सीधी बातें करना भी पॉक्सो अधिनियम के तहत अपराध है। मल्लीताल कोतवाली पुलिस ने बृहस्पतिवार को गंगोलीहाट जिला पिथौरागढ़ से वहीं के रहने वाले युवक पुनीत पुत्र गोपाल राम को गिरफ्तार कर लिया। पुनीत पर आरोप है कि उसने गत 20 मार्च 2021 को मुख्यालय के निकटवर्ती बजून निवासी एक नाबालिग किशोरी से उल्टी-सीधी बातें की तथा उसे व उसके माता-पिता और बहन को जान से मारने की धमकी भी दी। इस पर उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 504 व 506 तथा पॉक्सो अधिनियम की धारा 11 (12) के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया था।

मिशन होंसला के तहत 2 लोगों को उपलब्ध कराई राशन किट
नैनीताल। मल्लीताल कोतवाली पुलिस ने बृहस्पतिवार को ‘मिशन होंसला’ के तहत दो गरीब व जरूरतमंद व्यक्तियों को राशन की किट उपलब्ध कराई। साथ ही करीब डीएसए मैदान में चल रहे टीकाकरण अभियान में व्यवस्था बनाईं व युवाओं को टीका लगाने के लिए प्रेरित किया। साथ ही कोविद कर्फ्यू का पालन न कर रहे करीब 30 लोगों का चालान कर उनसे करीब 3000 रुपए का जुर्माना वसूला।

यह भी पढ़ें : नाबालिग किशोरी को भगाने का आरोपित दबोचा

नवीन समाचार, नैनीताल, 10 अप्रैल 2021। भीमताल थाना पुलिस ने 15 वर्षीय नाबालिग किशोरी को भगाने के आरोपित को पकड़ लिया है। उसके कब्जे से किशोरी को मुक्त कराकर उसके परिजनों को सोंप दिया गया है।
पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार गत 8 अप्रैल को गिरीश चंद्र पुत्र रमेश चंद्र निवासी थुवा ब्लॉक ताड़ीखेत भवाली थाना क्षेत्र निवासी एक गांव की रहने वाली 15 वर्षीय नाबालिग किशोरी को भगा ले गया था। अगले दिन यानी नौ अप्रैल को किशोरी के परिजनों ने इसकी शिकायत थाना भवाली में दर्ज कराई थी। इस पर सक्रिय हुई भवाली पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 363 व 3/4 पोक्सो अधिनियम के लिए मामला पंजीकृत किया और मामले की विवेचना चौकी प्रभारी खैरना उपनिरीक्षक आशा बिष्ट को दी गई। उप निरीक्षक आशा बिष्ट ने शनिवार को एचसीपी गोविंदी टम्टा व आरक्षी हर्षवर्धन को साथ लेकर जिला मुख्यालय के निकट पंगूट के ग्राम से आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। भवाली के थाना प्रभारी निरीक्षक एके सिंह ने बताया कि आरोपित को न्यायालय में पेश किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें : नौवीं कक्षा की नाबालिग छात्रा के अस्पताल में अचानक गर्भवती निकलने से मचा हड़कंप…

नवीन समाचार, हरिद्वार, 04 अप्रैल 2021। शहर के ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र के एक चिकित्सालय में बीती रात्रि उस समय हड़कंप मच गया, जब एक कक्षा नौ में पढ़ने वाली नाबालिग छात्रा को अचानक तबीयत खराब होने पर परिजन उसे अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां जांच में उसके गर्भवती होने की बात सामने आई। यह जानकारी मिलते ही परिजन सकते में आ गए। इस पर परिजन सुबह छात्रा को ज्वालापुर कोतवाली लेकर पहुंचे। जहां छात्रा ने बताया कि एक युवक ने उसे बहला-फुसलाकर अपने साथ ले जाकर दुष्कर्म किया, और किसी को कुछ बताने पर छात्रा को डरा धमका दिया। इस वजह से उसने इस घटना की जानकारी अपने परिजनों को नहीं दी। लेकिन बीती रात अचानक तबीयत खराब हुई तो परिजन उसे अस्पताल लेकर आ गए, जहां उसका राज खुल गया। इसके बाद परिजनों ने पुलिस में आरोपित युवक के खिलाफ लिखित शिकायत दी, इस पर पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ पॉक्सो एक्ट समेत संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज करने के साथ ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़ें : ऐसा कुछ हुआ कि पत्नी की गुमशुदगी दर्ज कराने वाला पति भी उसे भगाने वाले प्रेमी के साथ गिरफ्तार, मां पर भी लटकी गिरफ्तारी की तलवार…

नवीन समाचार, बाजपुर, 02 अप्रैल 2021। यहां पत्नी की गुमशुदगी दर्ज कराने वाला एक पति खुद ही सलाखों के पीछे पहुंच गया है। ऐसा इसलिए कि जांच में उसकी वह पत्नी नाबालिग निकली, जिससे उसने एक वर्ष पूर्व विवाह किया था। पुलिस ने नाबालिग विवाहिता के पति के साथ ही इस मामले में उसे भगाने वाले युवक को भी गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद पति व प्रेमी दोनों को न्यायालय में पेश कर न्यायालय के आदेशों पर जेल भेज दिया है। इसके अलावा मामले में अब विवाहिता की मां को भी आरोपित बनाया जा रहा है। उसके भी जेल जाने की संभावना है।
उल्लेखनीय है कि ग्राम उझियानी जंगल निवासी राज सिंह उर्फ राजू सिंह ने पुलिस चौकी बन्नाखेड़ा में तहरीर देकर बताया था कि गत 19 जनवरी को उसकी पत्नी बाजार जाने की बात कहकर घर से निकली थी, लेकिन वापस नहीं लौटी। उसकी काफी खोजबीन की गई लेकिन पता नहीं चल पाया। इस पर पुलिस ने भी पूरी ढूंढखोज करने के बाद विफल रहने पर गत 3 मार्च 2021 को अज्ञात के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 365 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया था। इधर शुक्रवार को एसएसआइ जसविंदर सिंह ने बताया कि जांच में पता चला कि विवाहिता को ग्राम बैराज कॉलोनी शक्तिनगर, बिजनौर (उप्र) निवासी राजेंद्र पुत्र सतनाम सिंह भगा ले गया है। पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर दोनों को बिंदूखेड़ा रुद्रपुर से बरामद कर लिया। लेकिन पूछताछ में पकड़ी गई विवाहिता नाबालिग निकली, जिसके चलते इस मामले में बाल विवाह संरक्षण अधिनियम, भारतीय दंड संहिता की धारा 363, 367/377 तथा 5/6 पॉक्सो एक्ट के तहत की सुसंगत धाराओं को बढ़ाकर विवाहिता के पति राज सिंह के साथ ही उसके प्रेमी राजेंद्र सिंह को गिरफ्तार कर लिया और उन्हें न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया। साथ ही विवाहिता के नाबालिग निकलने के कारण उसकी मां टुकड़ी नानकमत्ता निवासी जंगीर कौर पत्नी स्व.सरजीत सिंह को भी आरोपित बनाया गया है और बाल विवाह संरक्षण अधिनियम के तहत कार्रवाई करते हुए नोटिस जारी किया जा रहा है।
बताया गया है कि राज सिंह व नाबालिग की शादी एक वर्ष पूर्व लॉकडाउन के दौरान हुई थी। इधर राज सिंह का अपनी पत्नी से किसी बात को लेकर विवाद हो गया था। उसने इसकी शिकायत अपनी मां से की थी जिसके चलते बेटी के ससुराल पहुंची मां जनवरी माह में उसे अपने साथ नानकमत्ता ले गई। बताया जाता है मायके जाने के कुछ दिन बाद से ही वह दूसरे युवक के साथ गायब हो गई थी।

यह भी पढ़ें : फर्जी नाम से नाबालिग किशोरी को फंसाया, फिर गेस्ट हाउस में ले जाकर उससे दुष्कर्म किया

नवीन समाचार, देहरादून, 30 मार्च 2021। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून महानगर के नेहरू कॉलोनी क्षेत्र में एक युवक द्वारा फर्जी नाम से नाबालिग लड़की से जान-पहचान बढ़ाने और बाद में एक महिला की मदद से उसे गेस्ट हाउस में बुलाकर उससे दुष्कर्म किये जाने का मामला सामने आया है। पुलिस ने आरोपी युवक सहित उसका साथ देने वाली महिला को गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार नेहरू कॉलोनी क्षेत्र के एक व्यक्ति ने गत 25 मार्च को थाने में तहरीर देकर शिकायत की थी कि उसकी नाबालिग बेटी कहीं गायब हो गई है। शिकायत के आधार पर पुलिस ने तुरंत नाबालिग की तलाश शुरू की। सीसीटीवी की फुटेज खंगालने पर नाबालिग की लोकेशन गणेश गेस्ट हाउस में मिली। पुलिस ने गेस्ट हाउस संचालक से पूछताछ की तो आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के दौरान आरोपित ने बताया कि वह फर्जी प्रेम नाम से नाबालिग से बातचीत करता था। दीपनगर की रहने वाली महिला शिवानी के माध्यम से वह नाबालिग को गेस्ट हाउस लेकर आया था। जहां उसने नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ दुष्कर्म, तथ्य छिपाने और पोक्सो अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें : विधवा महिला की नाबालिग बेटी का किया 14 दिन तक किया यौन शोषण

नवीन समाचार, किच्छा, 24 मार्च 2021। नगर में मजदूरी कर परिवार का पेट पालने वाली एक विधवा महिला की 14 साल की एक नाबालिग बेटी के साथ छह दिनों तक लगातार यौन शोषण करने का मामला सामने आया है। सूचना मिलने पर पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलभट्टा थाने के अंतर्गत 14 वर्षीय नाबालिग को पड़ोस मंे रहने वाला युवक एकान्त में बहला फुसला कर ले गया और लगातार छह दिन तक उसका यौन शोषण करता रहा ओर किसी को बताने पर उसके पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी दी। मां को किसी तरह जब बात पता चली तो उसने पुलभट्टा थाने के प्रभारी विनोद जोशी को मामले की सूचना दी। इस पर उन्होंने महिला की शिकायत पर नरेंद्र पुत्र टीकाराम निवासी नई बस्ती सतुईया के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें : हैरत भरा खुलासा: ‘मास्टरमाइंड’ मिला एक ऐसा बाल अपराधी ! जिसके पत्नी व दो बच्चे भी

सवाल: बाल विवाह किया या शैक्षिक दस्तावेजों में हेराफेरी
नवीन समाचार, हल्द्वानी, 20 मार्च 2021। हल्द्वानी के कालाढूंगी रोड स्थित राजकीय संप्रेक्षण गृह से गत दिवस सात बाल अपराधी फिल्मी स्टाइल में फरार हो गए थे। अब इस मामले में हैरत भरा खुलासा हुआ है। बताया जा रहा है कि इस पूरी घटना का मास्टर माइंड एक ऐसा कथित बाल अपराधी है, जो न केवल शादी शुदा है। बल्कि उसकी एक ढाइ साल की बेटी और एक नौ माह का बेटा भी है। इस खुलासे के बाद अब एसपी सिटी डॉ. जगदीश चंद्र का कहना है कि कथित बाल अपराधी का मेडिकल परीक्षण कराकर उसकी सही उम्र का पता लगाने का प्रयास किया जाएगा। साथ ही उसके उन शैक्षणिक दस्तावेजों की भी जांच होगी, जिनमें वह अभी भी नाबालिग बताया गया है।
दरअसल हुआ यह कि बाल अपराधियों के बाल संप्रेक्षण गृह से भागने के बाद जब पुलिस शुक्रवार को एक बाल अपराधी के लालकुआं के सुभाषनगर स्थित घर पहुंची तो वहां उसका पूरा भरा-पूरा परिवार मिला। मिली जानकारी के अनुसा करीब चार साल पहले ही उसका विवाह हो चुका है। उसकी ढाई साल की बेटी व नौ महीने का बेटा भी है। यदि यह बात सही है और कथित बाल अपराधी यदि 18 से कुछ कम उम्र का भी है तो उसकी चार साल पूर्व यानी करीब 14 वर्ष की उम्र में शादी हो चुकी है और साढ़े 15 वर्ष की उम्र में वह बेटी का पिता बन चुका था। ऐसे में यह भी देखना होगा कि उसकी पत्नी किस उम्र की है। इस तरह यह बाल विवाह के साथ ही शैक्षिक दस्तावेजों में गलत उम्र दर्ज कराने का मामला भी हो सकता है।

यह भी पढ़ें : युवती ने लड़के पर दर्ज कराया था शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने के आरोप में मुकदमा, खुद यौन उत्पीड़न के आरोप में भेजी गई जेल

नवीन समाचार, देहरादून, 18 मार्च 2021। देहरादून में बलात्कार का हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां 29 दिसंबर 2020 को शहर कोतवाली में एक युवती ने शिकायती पत्र देकर एक 22 वर्षीय युवक पर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का आरोप लगाते हुए खुद को पांच माह की गर्भवती बता कर युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। लेकिन मामले में जांच आरोपित नाबालिग किशोर निकला, इसके बाद के बाद कोतवाली पुलिस ने युवती को ही नाबालिग किशोर का उत्पीडन करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के अनुसार यह अपनी तरह का पहला मामला है।
ऐसा युवती द्वारा दर्ज कराए गए मुकदमे की जांच के बाद हुआ है। पुलिस इस मामले की जांच में जुटी तो मामला ही पलट गया। पुलिस का कहना है कि वास्तव में आरोपित बताये गए युवक की उम्र मात्र 15 वर्ष निकली है। शुरुआत में ही पुलिस की जांच में आरोपों में घिरे लड़के की उम्र अट्ठारह साल से कम लग रही थी जबकि युवती ने लड़के की उम्र बाइस साल होने का दावा किया था। युवती ने कोर्ट में भी 164 के तहत हुए बयानों में भी आरोपों को दोहराया था। जबकि लड़के के परिजनों ने आरोपों को झूठा बताकर उसके नाबालिग होने की बात कही और नगर निगम से जारी जन्म प्रमाण पत्र भी पुलिस को सौंपा था। इसमें उसकी उम्र पंद्रह साल होने की पुष्टि हुई। इस प्रकार मामले की विवेचना कर रही उप निरीक्षक कुसुम पुरोहित का विधिक प्रावधानों के अनुसार पीड़िता द्वारा लगाए गए आरोपों की साक्ष्यों के आधार पर पुष्टि नहीं हुई। इस कारण युवती द्वारा किशोर के खिलाफ झूठा मुकदमा दर्ज कराकर पॉक्सो ऐक्ट के अंतर्गत धारा 4/3 (ग) का अपराध दर्ज किया गया। बुधवार को पुलिस टीम ने युवती को पॉक्सो अधिनियम में गिरफ्तार कर लिया। बताया कि युवती को कोर्ट में पेश किया गया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

यह भी पढ़ें : नाबालिग किशोरी से अपहरण कर दुष्कर्म और फिर गर्भपात…

नवीन समाचार, रामनगर, 7 मार्च 2021। रामनगर कोतवाली क्षेत्र निवासी एक नाबालिग किशोरी को एक युवक अपहरण कर गाजियाबाद ले गया। वहां उससे दुष्कर्म किया और उसके गर्भवती होने पर उसका जबरन गर्भपात करा दिया। इस मामले में पुलिस ने मामले में गाजियाबाद के चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है और उन्हें पकड़ने के लिए दबिश दी जा रही हैं।
प्राप्त जानकारी के अनुसार नगर निवासी एक महिला ने कुछ दिन पूर्व नगर कोतवाली में उसकी पुत्री को घर से भगाकर ले जाने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी थी। पुलिस को जांच में पता चला कि किशोरी को शमशुल हसन नाम का युवक गाजियाबाद ले गया था। वहां उसने किशोरी से दुष्कर्म किया, जिससे वह गर्भवती हो गई। इस पर युवक व उसके परिजनों ने किशोरी का जबरन गर्भपात भी करा दिया, और किशोरी का उत्पीडन शुरू कर दिया। उससे गाली गलौज, मारपीट व धमकी देने के बाद कुछ दिन पूर्व रामनगर लाकर छोड़ दिया गया। एसएसआइ जयपाल चौहान ने बताया कि पीड़िता के परिजनों की तहरीर पर शमशुल हसन, लोनी अशोक बिहार गाजियाबाद निवासी मो. शरीफ पुत्र फिदा हुसैन, सलीम पुत्र मो. उमर व मो. इरशाद पुत्र मो. अली शान के खिलाफ अपहरण करने, मारपीट व पॉक्सो अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें : बिन ब्याही नाबालिग गर्भवती ने 15 दिन जीवन-मृत्यु के बीच झूलने के बाद प्राण त्यागे, अब परिजनों पर कार्रवाई की तलवार..

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 05 मार्च 2021। अनैतिकता ने एक नाबालिग की जान ले ली है। अल्मोड़ा जिले के भिकियासैंण की 17 वर्षीय बिन ब्याही गर्भवती नाबालिग ने बृहस्पतिवार को हल्द्वानी को सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय में 15 दिनों तक जीवन-मृत्यु के बीच झूलने के बाद उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। उसे गत 18 फरवरी को जहर खाने का कारण बताकर यहां भर्ती कराया गया था। अब पुलिस मामने की ‘आनर किलिंग’ यानी सम्मान के लिए हत्या किए जाने के कारण हत्या किए जाने के कोण से भी जांच करने की बात कर रही है। इससे परिजनों पर कार्रवाई की तलवार लटक गई है। यह नहीं पता चला है कि बिन ब्याहे उसे किसने गर्भवती किया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार अल्मोड़ा जिले के भिकियासैंण की 17 वर्षीय नाबालिग को बीती सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती किया गया था। उसके परिजनों ने बताया कि नाबालिग अविवाहित है और गर्भवती भी है। इस कारण ही उसने जहर खा लिया है। जहर खाने के बारे में परिजनों का कहना था कि बिन ब्याहे गर्भवती हो जाने के कारण वह मानसिक रूप से परेशान चल रही थी। इसलिए उसने जहरीला पदार्थ गटक लिया है। मृत्यु के बादपुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है। साथ ही आनर किलिंग के कोण से भी मामले की जांच करने की बात कही है।

यह भी पढ़ें : मां ने बताया पति से नाबालिग बेटी की अस्मत को खतरा, मुकदमा दर्ज..

नवीन समाचार, काशीपुर, 03 मार्च 2021। निकटवर्ती कुंडेश्वरी निवासी एक व्यक्ति पर अपनी नाबालिग बेटी के साथ छेड़छाड़ करने का सनसनी खेज मामला सामने आया है। इस मामले में बच्ची की मां ने खुद पति के खिलाफ थाने पहुंचकर तहरीर देकर बेटी की अस्मत को पिता से खतरा बताया है। इसके बाद पुलिस ने आरोपी पिता के खिलाफ पॉक्सो के तहत मामला दर्ज कर लिया है।
कुंडेश्वरी निवासी एक महिला ने पुलिस को दी तहरीर में कहा कि वह मेहनत मजदूरी करती है, जबकि उसका पति काफी समय से शराब का आदी है और आए दिन शराब पीकर लड़ाई-झगड़ा व मारपीट करता है। इधर बुधवार को पति ने 12 साल की नाबालिग बेटी के साथ छेड़छाड़ कर अश्लील हरकतें की। महिला का कहना है कि उसके पति से ही उसकी बेटी की अस्मत को खतरा पैदा हो गया है, इस कारण वह पति के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए विवश है। प्रारंभिक जांच में मामले में सत्यता पाए जाने के बाद बृहस्पतिवार सुबह कोतवाली पुलिस ने घटना की रिपोर्ट दर्ज कर ली और आरोपित पिता की गिरफ्तारी के लिए प्रयास शुरू कर दिये।

यह भी पढ़ें : पहाड़ों की रानी 7 वर्ष की बच्ची से दुष्कर्म से शर्मसार.. बच्ची की हालत बिगड़ी

नवीन समाचार, मसूरी, 3 मार्च 2021। पहाड़ों की रानी कही जाने काली मसूरी 7 वर्ष की बच्ची के साथ बलात्कार की घटना से शर्मसार हो गई है । मसूरी स्थित बाटाघाट में एक सात वर्षीय बच्ची के साथ उसके रिश्तेदार के द्वारा ही दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने आरोपित को हिरासत में ले लिया है। वहीं बच्ची की हालत खराब होने के कारण उसे देहरादून हायर सेंटर ले जाया गया है।
एसपी सिटी सरिता डोबाल ने बताया कि बाटाघाट क्षेत्र में इन दिनों नेशनल हाईवे का काम चल रहा है। यहां कुछ श्रमिक काम कर रहे हैं, जो कि आसपास ही रहते हैं। बीती रात करीब 10 बजे एक श्रमिक ने पास में ही रहने वाली सात वर्षीय बच्ची के साथ अकेले में ले जाकर दुष्कर्म किया। बच्ची की चिल्लाने की आवाज सुनकर अन्य श्रमिक एकत्र हो गए और उन्होंने आरोपित को रंगेहाथों पकड़ लिया। श्रमिकों ने पुलिस को सूचित किया और उसे पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस व परिजन बच्ची को इलाज के लिए तुरंत अस्पताल लेकर गए, जहां चिकित्सकों ने बच्ची का इलाज शुरू किया। बच्ची की हालत गंभीर होने पर उसे हायर सेंटर रैफर कर दिया। एसएसपी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत ने बताया कि आरोपित व बच्ची के स्वजन आपस में रिश्तेदार ही हैं, जो कि मूल रूप से नेपाल के रहने वाले हैं। मसूरी के थाना इंचार्ज को निर्देशित किया गया है कि मामले को गंभीरता से लेते हुए तुरंत कार्रवाई करें।

यह भी पढ़ें : नाबालिग छात्रा से होटल में दुष्कर्म, दो नाबालिगों सहित 3 पर मामला दर्ज…

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 7 फरवरी 2021। शहर के राजपुरा क्षेत्र की रहने वाली, घर से स्कूल को निकली एक 16 साल की नाबालिग किशोरी के साथ काठगोदाम के एक होटल में दुष्कर्म किये जाने का मामला सामने आया है। आरोपी ने इस काम मे दो नाबालिगों को भी अपने साथ लिया था, अलबत्ता वे दुष्कर्म में शामिल नहीं हुए। दुष्कर्म के उपरांत आरोपी नाबालिग किशोरी को उसकी बहन के पास दिनेशपुर छोड़कर फरार हो गया। मामले में तहरीर के आधार पर पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ पाक्सो व दुष्कर्म के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया है। दो आरोपित नाबालिग बताए जा रहे हैं।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार राजपुरा क्षेत्र निवासी किशोरी बीते शुक्रवार की सुबह घर से स्कूल को निकली थी। इस बीच राजपुरा के दो युवकों से झांसे में लेकर अपने साथ ले गए और विकास उर्फ लल्ला को सौंप दिया जो उसे घुमाने के बाद काठगोदाम के एक होटल में ले गया। जहां उसने किशोरी को धमकाते हुए उसके साथ दुष्कर्म किया। जबकि उसके दो साथी होटल नहीं आए। इसके बाद विकास छात्रा को दिनेशपुर ले गया। दिनेशपुर में किशोरी की बहन रहती है। बहन के घर के बाहर उसे छोड़ वह फरार हो गया। इस बीच स्वजन उसके स्कूल से नहीं लौटने पर चिंतित होकर खोजबीन में जुटे। रात में उन्हें पता चला कि वह दिनेशपुर में है। शनिवार को वह उसे लेकर घर आ गए। जिसके बाद किशोरी ने अपनी आपबीती सुनाई। एसएसआइ मंगल सिंह नेगी ने बताया कि तहरीर के आधार पर विकास व दो अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। दो लोग नाबालिग बताए जा रहे हैं। विवेचना के दौरान उन्हें लेकर स्थिति साफ होगी।

यह भी पढ़ें : 13 वर्षीय किशोरी से पड़ोस के युवक ने किया दुष्कर्म, किशोरी ने जहर गटक लिया…

नवीन समाचार, खटीमा़, 05 फरवरी 2021। उत्तराखंड के सीमांत जनपद में शुक्रवार को एक 13 वर्षीय नाबालिग किशोरी द्वारा पड़ोसी युवक द्वारा दुष्कर्म किये जाने के बाद क्षुब्ध होकर जहर गटकने का मामला प्रकाश में आया है। किशोरी को गंभीर अवस्था में एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने उससे दुष्कर्म करने आरोपित को मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार सत्रहमील पुलिस चौकी क्षेत्र के बनगवां गांव निवासी एक व्यक्ति ने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि उसकी 13 वर्षीय पुत्री अपने घर के रास्ते में बीती एक फरवरी की देर शाम खड़ी थी। इसी दौरान उसके पड़ोस के एक युवक उसे जबरन पकड़कर साथ ले गया, और उसके साथ दुष्कर्म किया। काफी देर तक घर नहीं लौटने पर उसकी खोजबीन की गई। तब वह गांव के रास्ते में मिली। इधर 3 फरवरी को उसने अपनी मां को अपने साथ पड़ोस के युवक द्वारा किए गए गलत काम की जानकारी दी। बताया कि यह बात किसी को बताने पर उसे जान से मारने की धमकी दी गई है। इसी दौरान उसकी पुत्री ने लोकजाज के डर से घबराकर जहर गटक लिया। उसे गंभीर अवस्था में नगर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। इस मामले में पुलिस ने बनगवां निवासी परवेश के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 376, 506 एवं पॉस्को एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर आरोपित को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया है। उसे रुद्रपुर स्थित न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया है। कोतवाल नरेश चौहान ने बताया कि किशोरी की बयान देने की स्थिति में नहीं है। इसलिए उसके बयान दर्ज नहीं किए गए है।

यह भी पढ़ें : 14 वर्षीय किशोरी से दुष्कर्म करने वाले को 15 साल की सजा सुनाई…

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 30 जनवरी 2021। नैनीताल जनपद की पॉक्सो अदालत ने एक नाबालिग किशोरी के साथ दुष्कर्म करने के आरोपी को 15 साल की कठोर सजा सुनाई है। साथ ही उस पर 20 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है।
उल्लेखनीय है कि 20 नवंबर 2017 को वार्ड नंबर 24, गफूर बस्ती थाना बनभूलपुरा निवासी नफीस पर आरोप लगा था कि उसने 14 साल की किशोरी को अपने परिचित के घर बुलाया और दुष्कर्म किया। दुष्कर्म के बाद किशोरी की हालत बिगड़ी तो उपचार भी करना पड़ा था। इस पर किशोरी ने घर वालों को यह बात बताई तो पिता ने बनभूलपुरा थाने में इसकी शिकायत की। इस पर नफीस के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई। शासकीय अधिवक्ता नवीन चंद्र जोशी ने इस मामले में नौ गवाह पेश किए गए। इस पर पॉक्सो अदालत की न्यायाधीश अर्चना सागर ने शनिवार को नफीस को दोषी करार देकर सजा सुनाई।

यह भी पढ़ें : रिश्ते शर्मसार : नाबालिग बहनों को युवक ने अपहरण कर रात भर साथ रखा, दुष्कर्म सहित अन्य आरोपों में मुकदमा दर्ज…

नवीन समाचार, खटीमा, 28 जनवरी 2021। नगर के झनकट क्षेत्र में रिश्तों को शर्मसार करने वाला मामला प्रकाश में आया है। यहां रिश्तेदारी में आया एक युवक अपनी दो नाबालिग चचेरी बहनों को कार में घुमाने के बहाने भगा ले गया, और रात भर उन्हें अपने साथ रखकर उनके साथ छेड़छाड़ भी की। बृहस्पतिवार को ग्रामीणों ने आरोपित को पकड़ कर पुलिस के सुपुर्द कर दिया। पुलिस ने आरोपित के विरुद्घ अपहरण, दुष्कर्म व पास्को एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर न्यायालय में पेश कर दिया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।
झनकट क्षेत्र के एक व्यक्ति ने पुलिस को दी तहरीर में बताया है कि उनका दूर का रिश्तेदार टनकपुर चम्पावत निवासी दीपू बुधवार की सुबह कार संख्या यूके06एम-3783 से उनके घर आया था, और शिकायतकर्ता की बहू तथा आठ वर्षीय भतीजी व नौ वर्षीय पुत्री को कार में घुमाने की बात कहकर अपने साथ ले गया। कुछ दूर जाने के बाद आरोपित ने बहू को कार से उतार दिया। इसके बाद दोनों नाबालिगों को कार में लेकर गायब हो गया। काफी देर तक जब वह घर नहीं पहुंचीं तो गांव में सनसनी फैल गई। पीडि़त ने इसकी सूचना पुलिस को दी। जिस पर पुलिस ने युवक के विरुद्घ अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया। पूरी रात पुलिस कर्मी सीसीटीवी फुटेज की मदद व नाकेबंदी कर आरोपित की तलाश में जुटे रहे। कोतवाल नरेश चौहान ने बताया कि आरोपित मासूमों को कार में बैठाने के बाद लोहियाहेड रोड लेकर गया था। जहां उसने पूरी रात मासूमों को अपने साथ रखा और उनसे छेड़छाड़ भी की। गुरुवार की तड़के जब युवक मासूमों को लेकर गांव की ओर जा रहा था। तभी ग्रामीणों ने उसे पकड़ लिया। पुलिस ने आरोपित दीपू व उसकी कार को कब्जे में लेने के बाद 363, 376 व पास्को एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर उसे न्यायालय पेश किया है। वहीं मासूमों का मेडिकल परीक्षण कराया गया है।

यह भी पढ़ें : पिछले माह हल्द्वानी में नाबालिग ने दिया था बच्चे को जन्म, अब उससे दुराचार करने का आरोपी युवक गिरफ्तार..

नवीन समाचार, चंपावत, 18 जनवरी 2021। पिछले दिसंबर माह में हल्द्वानी के डॉ. सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज में एक 16 वर्षीय नाबालिग लड़की ने एक बच्चे को जन्म दिया था। अब चंपावत पुलिस ने इस मामले में नाबालिग से दुष्कर्म कर उसे गर्भवती बनाने के आरोपी युवक ग्राम सुई पऊ निवासी रोहित कुमार 25 पुत्र शिवराज राम को गिरफ्तार कर लिया है। आरोप है कि रोहित ने नाबालिग लड़की को बहला-फुसला कर शादी का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म किया था। दिसंबर माह में नाबालिग पीड़िता द्वारा बच्चे को जन्म देने पर चाइल्ड हेल्प लाइन नैनीताल ने चाइल्ड हेप्पलाइन चम्पावत को और चाइल्ड हेल्प लाइन की जिला समन्वयक सन्तोषी ने थाना लोहाघाट में सूचना दी थी। इस पर थाना लोहाघाट में आरोपी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376 व 5/6 पॉक्सो अधिनियम के तहत रिपोर्ट दर्ज की थी। आज विवेचक महिला उप निरीक्षक मन्दाकिनी राणा की अगुवाई में एसआई देवेंद्र मेहता व कांस्टेबल नवल किशोर ने आरोपी को दिल्ली जाते हुए पुल्ला तिराहा से गिरफ्तार कर लिया।

यह भी पढ़ें : नाबालिग से दुष्कर्म के आरोप में बुजुर्ग सहित तीन गिरफ्तार, जेल भेजे

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 जनवरी 2021। हवस मनुष्य को अंधा बना देती है, और कहीं का नहीं छोड़ती। बागेश्वर जनपद की कपकोट पुलिस ने बृहस्पतिवार को नाबालिग लड़की का यौन शोषण करने के आरोप में एक बुजुर्ग सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पकड़े गए आरोपितों में से एक 60 साल का बुजुर्ग भी है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बुधवार को कपकोट पुलिस को पीड़ित नाबालिग लड़की के परिजनों की ओर से तीन नामजद आरोपियों के खिलाफ यौन शोषण के आरोप में लिखित तहरीर दी गयी। आरोप लगाया गया कि बीते माह 16 दिसंबर को उनकी नाबालिग लड़की का तीन लोगों ने यौन शोषण किया। तीनों आरोपी नाबालिग को बहला-फुसलाकर अपने साथ ले गये। इनमें से दो आरोपितों-राजेन्द्र जोशी और प्रकाश जोशी ने नाबालिग लड़की के साथ छेड़खानी की, जबकि तीसरे आरोपी कैलाश बिष्ट ने उसके साथ दुराचार किया। इस शिकायत पर कपकोट पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ यौन शोषण संरक्षण अधिनियम (पोक्सो) एवं भारतीय दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 354, 363 व 366ए व 376(2)एन के तहत मामला दर्ज कर पहले जांच की और जांच में आरोप सही पाए जाने पर आज कार्रवाई की। तीनों आरोपितों को 24 घंटे के अंदर आज कपकोट पुल से गिरफ्तार कर लिया।

यह भी पढ़ें : सनसनीखेज मामला : 12 साल की बच्ची ने दिया बच्ची को जन्म, पुलिस उसके साथ दुष्कर्म करने वाले की तलाश में जुटी

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 10 जनवरी 2021। जिस 12 वर्ष की उम्र में बच्चियां गुड्डे-गुड़ियों से खेलती हैं, उस उम्र की एक बच्ची द्वारा एक बच्ची को जन्म देकर के मां बनने का खुलासा हुआ है। शहर के ट्रांजिट कैम्प क्षेत्र में ऐसा ही एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार जन्म के तुरंत बाद ही नवजात बच्ची की मौत हो गयी है। घटना की जानकारी लगने के बाद पुलिस मामले की पड़ताल में जुट गई है। वहीं मामले में पीड़िता की मां की ओर से पुलिस को तहरीर देने की तैयारी की जा रही है। सबसे बड़ा सवाल यह है कि बच्ची के साथ किसने दुष्कर्म करके ऐसी हैवानियत को अंजाम दिया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार यूपी के मुरादाबाद निवासी एक परिवार ट्रांजिट कैम्प क्षेत्र में किराये के मकान में रहता है। बताया गया है कि बीती रात परिवार की 12 साल की लड़की के पेट में अचानक दर्द उठने लगा। इस पर परिजन उसे जिला अस्पताल ले गये, जहां चिकित्सकों को जांच में पता चला कि लड़की गर्भवती है। यह बात परिजनों को बताई तो वे सकते में आ गए। प्रसव पीड़ा बढ़ने पर रात को ही लड़की ने एक बच्ची को जन्म दिया, अलबत्ता तत्काल बाद ही नवजात बच्ची की मौत हो गयी। सूचना पर महिला एसआई राखी ने पीड़िता और उसके परिजनों के बयान लिये और ट्रांजिट कैम्प थाना अध्यक्ष केजी मठपाल ने भी परिजनों से पूछताछ की। फिलहाल लड़की कुछ कहने की स्थिति में नहीं है। उसका अस्पताल में उपचार किया जा रहा है। पुलिस ने नवजात बच्ची के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। समाचार लिखने तक पीड़िता की मां मामले में तहरीर देने की तैयारी कर रही थी।

यह भी पढ़ें : सहपाठी छात्र ने आपत्तिजनक फोटो वायरल करने की धमकी दी तो छात्रा ने खा लिया जहर

नवीन समाचार, काशीपुर, 06 जनवरी 2020। शहर की दसवीं की एक नाबालिग छात्रा ने सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक फोटो वायरल करने की धमकी मिलने पर जहर खाकर जान देने की कोशिश की है। उसे गंभीर हालत में एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने मामले में छात्रा के ही एक नाबालिग सहपाठी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस के अनुसार आईटीआई थाना क्षेत्र के एक गांव के एक किशोर व किशोरी कक्षा-10 में एक ही स्कूल में पढ़ते है। दोनों सोशल मीडिया पर आपस में चैटिंग भी करते थे। कुछ दिन पहले छात्रा ने अपनी एक फोटो सोशल मीडिया पर पोस्ट की। इस पर छात्र ने आपत्तिजनक कमेंट कर दिया। जानकारी मिलने पर छात्रा के पिता ने पुलिस से शिकायत की। दो जनवरी को मामले पर गांव में पंचायत भी हुयी जिसमे छात्रा को भी बुलाया गया। यहां दोनों पक्षों में इस बात पर समझौता हुआ कि छात्र आगे ऐसी हरकत नहीं करेगा। लेकिन इधर बीती देर रात्रि छात्रा ने जहर खा लिया। हालत बिगड़ने पर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। इसके बाद छात्रा के पिता ने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि समझौते के बाद भी आरोपी ने फिर उनकी बेटी को मैसेज भेजे और आपत्तिजनक फोटो बनाकर वायरल करने की धमकी दी। इससे तनाव में आई उनकी बेटी ने जहर खा लिया। उन्होंने कहा कि आरोपी ने ही उसकी बेटी को आत्महत्या करने के लिये मजबूर किया है। पुलिस ने तहरीर के आधार पर आरोपी छात्र के खिलाफ धारा 509 और 11/12 पॉक्सो अधिनियम के मुकदमा दर्ज कर आरोपी नाबालिग छात्र को गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : नाबालिग को आत्महत्या के लिए उकसाने की आरोपित पड़ोसी महिला को मिली अग्रिम जमानत

नवीन समाचार, नैनीताल, 19 दिसम्बर 2020। नाले में मिली नवजात बच्ची व बाद में लड़के के आत्महत्या मामले में आरोपित महिला को अग्रिम जमानत मिल गई है। विदित हो कि गत नगर के सात नंबर वार्ड में नाले में नवजात बच्ची मिली थी। इस मामले में बच्ची के पिता के तौर पर नाबालिग लड़के का नाम सामने आया। लड़का बाल सुधार गृह भी भेजा गया और वहां से घर लौटने पर उसने अप्रैल 2020 में आत्महत्या कर ली थी। बाद में बच्ची की डीएनए जांच में उसका डीएनए बच्ची की माँ के जीजा से मिला। इस पर लड़के के पिता ने आत्महत्या के लिये उकसाने के मामले में पड़ोस में रहने वाली महिला कोमल सहित अन्य पांच लोगों के खिलाफ मल्लीताल थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 306 के तहत मुकदमा दर्ज कराया था।
मामले में कोमल को आज जिला न्यायलय से अग्रिम जमानत मिल गयी। मामले में महिला के अधिवक्ता सुभाष जोशी व शारीक अली खान ने पैरवी करते हुए न्यायालय को बताया कि महिला का लड़के की आत्महत्या से कोई संबंध नही है। उसके खिलाफ आत्महत्या के चार माह के बाद पुलिस में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। वह केवल पड़ोसी है। उसके द्वारा नवजात बच्ची की मां को खोजने में पड़ोसी व जिम्मेदार नागरिक होने के कारण मदद की गयी। उसके अधिवक्ताओं ने बताया कि जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजीव कुमार खुल्बे की अदालत ने दोनों पक्षो को सुनने के बाद कोमल के अग्रिम जमानत प्रार्थना पत्र को स्वीकार कर लिया।

नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply

loading...