उत्तराखंड सरकार से 'A' श्रेणी में मान्यता प्राप्त रही, 16 लाख से अधिक उपयोक्ताओं के द्वारा 12.6 मिलियन यानी 1.26 करोड़ से अधिक बार पढी गई अपनी पसंदीदा व भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में आपका स्वागत है...‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने व्यवसाय-सेवाओं को अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए संपर्क करें मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व saharanavinjoshi@gmail.com पर... | क्या आपको वास्तव में कुछ भी FREE में मिलता है ? समाचारों के अलावा...? यदि नहीं तो ‘नवीन समाचार’ को सहयोग करें। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने परिचितों, प्रेमियों, मित्रों को शुभकामना संदेश दें... अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में हमें भी सहयोग का अवसर दें... संपर्क करें : मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व navinsamachar@gmail.com पर।

4 परिवारों के 27 सदस्यों ने किया धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan), स्वेच्छा से धर्म परिवर्तन करने का दावा…

0

Dharm Parivartan

नवीन समाचार, बागेश्वर, 7 दिसंबर 2023। उत्तराखंड के बागेश्वर जनपद के कपकोट विकासखंड के पोलिंग गांव में ईसाई धर्म से जुड़े चार परिवारों के हिंदू धर्म अपनाने (Dharm Parivartan) का समाचार है। विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल और सुदर्शन वाहिनी के कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में कालभैरव मंदिर में आयोजित कार्यक्रम में चारों परिवारों के 27 सदस्यों ने सरयू नदी का पावन जल लेकर स्वेच्छा से हिंदू धर्म अपनाने (Dharm Parivartan) का संकल्प लिया।

विहिप के जिलाध्यक्ष कैलाश गढ़िया के नेतृत्व में तीनों संगठनों से जुड़े कार्यकर्ताओं ने इनका स्वागत किया। विहिप के प्रांत सह सत्संग प्रमुख पूरन सिंह रावत ने बताया कि ईसाई धर्म अपनाने वाले सभी परिवार करीब चार पीढ़ी पहले अनुसूचित जाति से थे। उनके पूर्वजों ने तब ईसाई धर्म अपना लिया था।

इस मौके पर विहिप के जिला सहमंत्री तरुण सिंह कन्याल, कपकोट के प्रखंड अध्यक्ष राजेंद्र कपकोटी, बजरंग दल अध्यक्ष मनीष कपकोटी, प्रखंड मंत्री हरीश उपाध्याय, सत्संग प्रमुख दीवान मेहता, बजरंग दल के जिला संयोजक विजय परिहार, जिला सुरक्षा प्रमुख कुलदीप नगरकोटी, सुदर्शन वाहिनी के प्रांत संगठन अध्यक्ष मनीष कपकोटी, मंत्री जगदीश गढ़िया, प्रांत धर्म प्रचारक विनोद कपकोटी व प्रवीण कपकोटी आदि मौजूद रहे।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंयदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो यहां क्लिक कर हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, यहां क्लिक कर हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यहाँ क्लिक कर सीधे संबंधित को पढ़ें

यह भी पढ़ें : शिक्षिका कर रही बच्चों को धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) के लिए प्रेरित, पैंसे देने का भी लालच दे रही…

नवीन समाचार, देहरादून, 22 जुलाई 2023। ट्यूशन पढ़ाने की आड़ में एक शिक्षिका बच्चों को लालच देकर धर्मांतरण (Dharm Parivartan) के लिए प्रेरित कर रही थी। इस आरोप में तीन बच्चों की मांओं ने शिक्षिका के खिलाफ सेलाकुई थाने में तहरीर दी है। इस पर पुलिस ने तहरीर के आधार पर मामले की जांच शुरू कर दी है।

सेलाकुई के थानाध्यक्ष मोहन सिंह ने बताया कि क्षेत्र निवासी शीला जाना, आराधना कश्यप और रीना ने तहरीर देते हुए बताया कि उनकी कॉलोनी में रहने वाली एक शिक्षिका उनके बच्चों को ट्यूशन पढ़ाती है। आरोप लगातया कि वह उनके बच्चों का ब्रेनवॉश कर उन्हें धर्म विशेष को अपनाने के लिए प्रेरित कर रही है। वह बच्चों को पैसे देने का लालच भी देती है।

शिक्षिका ने उनके बच्चों को धर्म विशेष से जुड़ीं किताबें भी दी हैं। मोहन सिंह ने बताया कि महिलाओं की तहरीर के आधार पर जांच शुरू कर दी गई है। उन्होंने इससे पहले इस मामले शिक्षिका के घर जाकर जमकर हंगामा भी किया था। पुलिस ने किसी तरह से महिलाओं को समझाकर शांत कराया था।

उधर, बजरंग दल के जिला सह संयोजक शेखर बंसल ने आरोप लगाया कि क्षेत्र में प्रार्थना सभा के नाम पर बड़ी संख्या पर धर्मांतरण केंद्र चलाए जा रहे हैं, जहां हिंदू धर्म से जुड़े लोगों का ब्रेनवॉश कर उन्हें धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) के लिए प्रेरित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसे सेंटरों की जांच कर कड़ी कारवाई की जानी चाहिए।

(डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : तल्लीताल के साथ मल्लीताल में भी (Dharm Parivartan) धर्म परिवर्तन की घटनाओं की चर्चा, जांच की मांग

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 जुलाई 2023। (Dharm Parivartan) नगर के तल्लीताल में एक विधवा स्त्री के दूसरे धर्म के युवक के साथ विवाह करने के बाद उसकी 6 वर्षीय नाबालिग बेटी के धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) कराने के प्रयास व प्रतिबंधित पशु का मांस खिलाने की घटना के बाद मल्लीताल

में भी धर्म विशेष के एक बड़े व्यवसाई द्वारा एक मानसिक रूप से पीड़ित महिला को बहला फुसलाकर उसकी संपत्ति पर जबरन कब्जा करने तथा उसकी पुत्री को भी बहला-फुसलाकर उसका धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) कर विवाह कर लिए जाने की बात चर्चा का विषय बनी हुई है।

Doosre Dharm, Dharm Parivartan,इन मामलों में उत्तराखंड ग्वालसेवा संगठन के संस्थापक अधिवक्ता पंकज कुलौरा ने नाराजगी जताई है। कुलौरा ने कहा कि एक ओर राज्य तथा केंद्र सरकार लव जिहाद के खिलाफ कानून बना चुके हैं वहीं थाना तल्लीताल में पीड़ित पक्ष द्वारा एक नाबालिग बच्ची के साथ हुई शर्मनाक घटना की तहरीर दिए जाने के बाद भी रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई है। जबकि पीड़ित पक्ष द्वारा जनपद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को भी शिकायत की प्रति दी गई है। इसके बावजूद पुलिस द्वारा उल्टे पीड़ित पक्ष से सबूत मांगे जा रहे हैं। यह बहुत निंदनीय है।

उन्होंने बताया कि 6 वर्षीय पीड़ित बच्ची के बयान सुनने के बाद उसकी ऑडियो रिकॉर्डिंग की गई है। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त मल्लीताल में भी धर्म विशेष के एक बड़े व्यवसायी द्वारा भी एक मानसिक रूप से पीड़ित महिला को बहला-फुसलाकर उसकी संपत्ति पर जबरन कब्जा किया गया है तथा उसकी पुत्री को भी बहला-फुसलाकर उसका धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) कर विवाह कर लिए जाने की बात चर्चा का विषय बनी हुई है। प्रशासन को इस मामले की भी जांच करनी चाहिए। देवभूमि में इस तरह की लगातार बढ़ रही घटनाएं केरल की याद दिला रही हैं।

(डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें, यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे टेलीग्राम पेज से जुड़ें और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें।

यह भी पढ़ें : हिंदू छात्राओं को नशे का आदि बनाने, शारीरिक संबंध बनाने और फिर आपत्तिजनक फोटो और वीडियो दिखाकर ब्लैकमेल करने के आरोपित पर धर्मांतरण का मामला भी दर्ज (Dharm Parivartan)

नवीन समाचार, देहरादून, 13 जून 2023। मुख्यमंत्री के स्तर से कड़े रुख के बाद उत्तराखंड में लगातार और दूसरे धर्म के युवकों के द्वारा हिंदू युवतियों-किशोरियों के उत्पीड़न के मामले लगातार आते जा रहे हैं। इसी कड़ी में बीती 11 जून की रात को हिमालयन अस्पताल के बाहर हिंदू संगठनों से जुड़े कुछ लोगों ने आसिफ मनान नाम के एक शख्स की जमकर पिटाई कर पुलिस को सौंप दिया था।

(Dharm Parivartan) अब पुलिस ने आरोपित आसिफ के खिलाफ धर्मांतरण (Dharm Parivartan) का मुकदमा दर्ज किया है। आसिफ पर हिंदू छात्राओं को नशे का आदि बनाने, शारीरिक संबंध बनाने और फिर आपत्तिजनक फोटो और वीडियो दिखाकर ब्लैकमेल करने का आरोप है। 

Dharm Parivartanपुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार मामला तब सामने आया जब देहरादून के डोईवाला में कुछ मेडिकल छात्राओं को आपत्तिजनक तस्वीर दिखाकर उसे वायरल करने की धमकी दी जा रही थी। इस पर गत 11 जून की रात डोईवाला निवासी आसिफ मनान को हिंदू संगठनों से जुड़े कुछ लोगों ने हिमालयन हॉस्पिटल के पास से पकड़कर पिटाई करते हुए डोईवाला पुलिस के सुपुर्द किया था। आरोप लगाया था कि आसिफ ने मेडिकल की छात्राओं को नशे का आदी बनाया।

साथ ही छात्राओं को अपने प्यार के जाल में फंसाकर शारीरिक संबंध भी बनाए। मामले की जानकारी मिलने के बाद हिंदू संगठन और स्थानीय निवासियों ने जमकर हंगामा किया और पुलिस से सख्त कार्रवाई की मांग की। इसके बाद पुलिस ने भी इस पूरे मामले पर युवती के साथ संबंध बनाने और जबरन शादी करने व जबरन धर्मांतरण की शिकायत पर मुकदमा दर्ज किया।

हिंदू संगठन के लोगों के अनुसार आसिफ ने पहले तीन युवतियों को नशे की लत लगाई और उसके बाद उनका शारीरिक शोषण किया। उसके साथ उसका एक दोस्त भी इसमें उसका साथ देता था। इस मामले में डोईवाला निरीक्षक राजेश शाह का कहना है कि तमाम पहलुओं की जांच की जा रही है। अभी हमने छात्राओं के बयान अधिकारिक तौर पर दर्ज नहीं किए हैं। जल्द ही छात्राओं के बयान दर्ज किए जाएंगे।

इसके अलावा हनुमान चालीसा टोली के संस्थापक सुबोध नौटियाल ने आसिफ मनान के साथी शाहरुख और उसके कुछ अज्ञात दोस्तों के खिलाफ गाली गलौज और मारपीट का मुकदमा भी दर्ज कराया है। जबकि भोगपुर निवासी साहिल अली ने हिंदू संगठन से जुड़े नरेश उनियाल, प्रदीप जेटली, वैभव पाल, नितिन पंवार, सुबोध नौटियाल सहित अन्य पर मुस्लिम समुदाय के युवक के साथ मारपीट का मुकदमा दर्ज कराया है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : धर्म-नाम बदलकर युवती से किया दुष्कर्म, मिले हिन्दू-मुस्लिम नाम के दो आधार कार्ड… (Dharm Parivartan)

मां के काम पर जाते ही पिता मासूम बेटी व बेटे से करता था गंदा काम - Father  doing sexually abuse with daughter and sonनवीन समाचार, देहरादून, 5 मार्च 2023।: एक मुस्लिम युवक ने खुद को हिंदू बताकर एक युवती से दुष्कर्म किया। आरोपित ने 2 आधार कार्ड भी बना रखे थे। उसका जब भेद खुला तो उसने युवती को जान से मारने की धमकी दी। शहर कोतवाली पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। यह भी पढ़ें : आज हुई डरावनी बारिश में पलटी 27 यात्रियों से भरी बस, गनीमत रही कि….

शहर कोतवाल विद्याभूषण नेगी के अनुसार, एक युवती ने तहरीर दी है कि वर्ष 2018 के दौरान उसकी मुलाकात इंटरनेट मीडिया के माध्यम से कबीर अहमद से हुई थी। यह भी पढ़ें : Nainital Weather Update: सरोवर नगरी सप्ताह भर के भीतर दूसरी बार ओलों की सफेद चादर से पटी

पीड़िता ने बताया कि कोविड के दौरान उसके माता व पिता की मृत्यु हो चुकी थी। सितंबर 2022 में कबीर उससे मिलने के लिए दिल्ली से आया और उससे कहा कि वह हिंदू-रीति रिवाज पर विश्वास रखता है और उसने अपना धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) भी करा दिया है। आरोपित ने युवती को शादी का झांसा देकर उसके दुष्कर्म किया। यह भी पढ़ें : HC on New Excise Policy : उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने प्रदेश की नई आबकारी नीति पर लगाई मुहर

पीड़ित ने बताया कि बाद में उसे पता चला कि आरोपित ने दो आधार कार्ड बना रखे हैं। सच्चाई पता चलने पर पीड़ित ने आरोपित से बात की तो उसने पिस्तौल दिखाकर जान से मारने की धमकी दी। शहर कोतवाल ने बताया कि आरोपित कबीर अहमद निवासी हुमाऊंपुर, ग्रीन पार्क, साउथ दिल्ली के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें : शोएब ने सचिन बनकर दो बच्चों की मां को फंसाया, महिला के साथ उसके अबोध बच्चे का भी धर्म परिवर्तन कराया, बीफ खिलाने को की मारपीट और फिर छोड़ा

नवीन समाचार, हरिद्वार, 28 फरवरी 2023। हरिद्वार जनपद के पथरी थाना क्षेत्र में शोएब नाम के युवक ने दूसरे धर्म की दो बच्चों की मां को सचिन बनकर फंसाया। उसका और उसके 4 वर्ष के अबोध बच्चे का धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) कराकर उससे निकाह किया। उसे जबरन प्रतिबंधित पशु का मांस-बीफ खिलाने व नमाज पढ़ाने को लेकर मारपीट की, और आखिर उसे छोड़ दिया।

(Dharm Parivartan) पीड़ित महिला ने थाने में शिकायत कर मदद की गुहार लगाई है। इस पर पुलिस ने अभियोग दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। यह भी पढ़ें : सुबह का सुखद समाचार: उत्तराखंड में उपनल, आउटसोर्स और संविदा कर्मचारी भी चाहें तो ले सकेंगे पेंशन

पथरी थाना पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार पथरी क्षेत्र की रहने वाली महिला की शादी भगवानपुर में हुई थी। पति से महिला ने दो बच्चों को जन्म दिया। लेकिन पति के साथ विवाद होने के बाद महिला अपने पति से अलग अपने मायके में रहने लगी।

(Dharm Parivartan) इधर कुछ समय पहले उसकी मुलाकात जट बहादरपुर निवासी युवक से हुई, जिसने खुद का नाम सचिन बताया और उसे अपने प्यार के जाल में फंसा कर उसे ज्वालापुर की हरीलोक कॉलोनी में एक मौलवी से मिलवाया। यह भी पढ़ें : सप्ताह भर का रिस्क लेकर कमाएं डॉलर….

महिला का आरोप है कि वहां सचिन ने अपनी असलियत बताई और अपना असली नाम शोएब बताया और महिला का धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) करा कर उससे निकाह कर लिया। इतना ही नहीं शोएब ने महिला के 4 साल के बेटे का भी धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) करा दिया और महिला का नाम रेशमा और बच्चे का नाम अरमान अली रख दिया।

(Dharm Parivartan) महिला ने आरोप लगाया कि निकाह करने के बाद शोएब ने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। यह भी पढ़ें : अनूठा समाचारः संगीत के शौक ने बना दिया चोर और संगीत के शौक ने ही पहुंचा दिया जेल, गाना न गाता तो पुलिस के पास नहीं था कोई भी सुराग…

वह उस पर बीफ खाने और नमाज पढ़ने का दबाव डालने लगा और उसकी बात न मानने पर उसके साथ मारपीट की और कुछ दिन साथ रखने के बाद शोएब महिला को छोड़कर चला गया। पथरी थाना प्रभारी पवन डिमरी ने बताया कि महिला की शिकायत पर अभियोग दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें : शादीशुदा महिला को भारी पड़ी दूसरे धर्म के युवक से दोस्ती, 15 साल की बेटी से दुष्कर्म और 11 साल के बेटे से कुकर्म कर डाला, धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) का भी बना रहा दबाव

नवीन समाचार, देहरादून, 19 फरवरी 2023। राजधानी के कैंट कोतवाली क्षेत्र में रहने वाले एक सैन्य अधिकारी की पत्नी ने पति से अनबन के बीच दूसरे धर्म के युवक से दोस्ती कर ली। वह ऐसा आस्तीन का सांप निकला कि पति की अनुपस्थिति में घर आकर महिला से तो अश्लील हरकते करता ही रहा,

उसकी 15 साल की बेटी से भी दुष्कर्म और 11 साल के बेटे से कुकर्म कर डाला। यही नहीं, बेटी पर धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) करने का दबाव भी बनाने लगा। यह भी पढ़ें : स्पा सेंटर में जिस्मफरोशी की शिकायत पर छापा, 4-5 लड़कियों के साथ ग्राहक भी हिरासत में, चल रही पूछताछ…

इस मामले में कैंट क्षेत्र में सरकारी आवास में रहने वाले भारतीय सेना में जेसीओ के पद पर तैनात अधिकारी ने बिहार के निवासी मुस्लिम युवक तनवीर आलम पर बेटी के साथ दुष्कर्म व बेटे के साथ कुकर्म का आरोप लगाते हुए पुलिस में तहरीर दी है। कैंट कोतवाली पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। यह भी पढ़ें : नाबालिग से दुष्कर्म से दिया बच्चे को जन्म, बाल कल्याण समिति ने बच्चे को गोद दे दिया, कोर्ट ने उठाये सवाल…

कैंट पुलिस से तहरीर के आधार पर प्राप्त जानकारी के अनुसार अप्रैल 2022 के दौरान सैन्य अधिकारी की पत्नी ने एक सिंगिंग एप मोबाइल में डाउनलोड किया था। इस एप के माध्यम से पत्नी का तनवीर आलम निवासी इस्लाम कालोनी, छपरा, बिहार के संपर्क हुआ। इस दौरान सैन्य अधिकारी एक कोर्स के सिलसिले में महाराष्ट्र गए थे।

(Dharm Parivartan) इसका फायदा उठाते हुए पत्नी ने तनवीर को देहरादून में सरकारी आवास पर बुला लिया। इस पर उनकी 15 साल की बेटी ने फोन पर बताया कि उसने तनवीर को मां के साथ कई बार अश्लील हरकत हुए देखा। यह भी पढ़ें : पहाड़ पर 16 श्रद्धालुओं से भरा वाहन सड़क पर पलटा….

बताया कि एक दिन बेटी टीवी देख रही थी तो तनवीर सामने बैठ गया और गलत हरकत की और बेटी के साथ जबरन दुष्कर्म किया। वह उस पर इस्लाम अपनाने का दबाव भी बना रहा था। बेटी रोते हुए जब अपनी मां के पास गई तो उसकी मां ने कहा कि तनवीर उसके पिता समान है।

(Dharm Parivartan) इसके बाद तनवीर किसी भी समय बेटी के साथ अश्लील हरकत कर लेता था। यही नहीं, 11 साल के बेटे के साथ भी कुकर्म किया। यह भी पढ़ें : सगाई के बाद लड़की ने कर दिया मंगेतर से शादी करने से साफ इंकार, मुकदमा भी दर्ज करा दिया, हो रही तारीफ भी, वजह जानिए…

थाना कैंट कोतवाली के प्रभारी इंस्पेक्टर विनय कुमार ने बताया कि तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है। बच्चों व महिला के बयान भी दर्ज किए जाएंगे। जांच में यह भी सामने आ रहा है कि दंपती के बीच रिश्ता सही नहीं है और मारपीट के चलते महिला कुछ दिन पहले ग्वालियर चली गई थी। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : पिता की मर्जी के बिना ढाई साल के बच्चे का किया धर्मांतरण, हिंदूवादियों ने दिलाई तहरीर…

MP: रायसेन के बाल गृह में 3 हिंदू बच्‍चों का धर्मांतरण, संचालक पर एफआईआर के  आदेश - conversion of 3 hindu children in raisen children home orders fir  against director - Navbharat Timesनवीन समाचार, रुड़की़, 18 फरवरी 2023। हरिद्वार जिले के रुड़की में ढाई साल के बच्चे का धर्मांतरण कराने का मामला सामने आया है। इस मामले में बच्चे के पिता ने रुड़की सिविल लाइन कोतवाली में तहरीर देकर न्याय की गुहार लगाई है। तहरीर में पीड़ित पिता ने आरोप लगाया है कि पत्नी की मौत के बाद उसके सुसरालियों ने उसके बच्चे का मुस्लिम रीति-रिवाज से धर्मांतरण कराया है।

(Dharm Parivartan) जब उसने इसका विरोध किया तो ससुराल वालों ने उसके साथ घर में घुसकर मारपीट भी की। पुलिस ने तहरीर के आधार पर मामले की जांच शुरू कर दी है, लेकिन अभी मुकदमा दर्ज नहीं किया है। यह भी पढ़ें : सगाई के बाद लड़की ने कर दिया मंगेतर से शादी करने से साफ इंकार, मुकदमा भी दर्ज करा दिया, हो रही तारीफ भी, वजह जानिए…

रुड़की की सिविल लाइन कोतवाली क्षेत्र के आदर्शनगर के रहने वाले अरविंद कुमार ने पुलिस को बताया कि वह एक हाउसिंग फाइनेंस कंपनी में काम करते हैं। करीब पांच साल पहले उसकी मुलाकात पुणे में गाजियाबाद की रहने वाली आयशा से हुई थी। कुछ दिनों में उनकी मुलाकात प्यार में बदली और दोनों ने हिंदू रीति-रिवाज से शादी कर ली।

(Dharm Parivartan) इसके बाद 13 अगस्त 2022 को आयशा ने बेटे को जन्म दिया, जिसका नाम उन्होंने शिवांश रखा। इधर कुछ समय पहले आयशा की बीमारी के कारण मौत हो गई। यह भी पढ़ें : दिल दहलाने वाली घटना: सगे चाचा ने भतीजे की दराती से काटकर हत्या कर दी…

अरविंद कुमार का आरोप है कि आयशा के परिजन उसका शव अपने साथ ले गए और अपने रीति-रिवाज से उसको सुपुर्द-ए-खाक कर दिया। पीड़ित अरविंद कुमार ने उन्हें रोकने का प्रयास भी किया, लेकिन उन्होंने उसकी नहीं सुनी। इसके बाद से ही उसका बेटा उनके साथ रुड़की में ही पिता के साथ रह रहा था। यह भी पढ़ें : पॉलीथीन में नवजात का शव मिलने से सनसनी…

आरोप है कि बीती तीन जनवरी को ससुराल पक्ष के लोग उसकी गैर मौजूदगी में उसके घर आए और उसके पिता के साथ मारपीट और घर में तोड़फोड़ की और उसके बेटे शिवांश और उसकी स्कूटी को उठाकर ले गए। इस पर अरविंद कुमार अपने बेटे को लेने अपनी ससुराल गया तो उसे पता चला कि उसके बेटे का मुस्लिम रीति-रिवाज से धर्मांतरण करा दिया गया है।

(Dharm Parivartan) साथ ही उसका नाम शिवांश से बदलकर असद रख दिया है। जब उसने विरोध किया तो उस पर हमला किया गया, जिसके बाद वह किसी तरह से जान बचाकर अपने घर आया। यह भी पढ़ें : सोना व रेडवाईन के नाम पर 1200 करोड़ के फर्जीवाड़े में 10 हजार रुपए का एक ईनामी ठग गिरफ्तार…

अरविंद ने जब अपने घर आकर फोन पर पुलिस से शिकायत करने की धमकी दी तो रविवार को ससुराल के लोग उसके घर आ धमके और उसके साथ मारपीट की। इसकी जानकारी होने पर हिंदू संगठन के लोग उसे लेकर कोतवाली सिविल लाइन पहुंचे और अरविंद से तहरीर दिलवाई। सिविल लाइन कोतवाली के वरिष्ठ उप निरीक्षक नरेश गंगवार ने बताया कि तहरीर के आधार पर मामले की छानबीन की जा रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) की एक अलग कहानी, उत्पीड़न की हदें हुईं पार तो अल्मोड़ा की ‘रोशन बानू’ बन गई ‘रोशनी’….

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 16 फरवरी 2023। उत्तराखंड में धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) का अपनी तरह का एक अलग ही मामला सामने आया है। रोशन बानू नाम की एक मुस्लिम समुदाय की युवती ने दावा किया है कि उसने अपने पिता व भाई के दुर्व्यवहार से तंग आकर आर्य समाज मंदिर हल्द्वानी में पूरे विधि विधान और शुद्धीकरण के साथ हिंदू धर्म अपना लिया है। उसका हिंदू नाम ‘रोशनी’ है।

यह भी पढ़ें : सुबह का रोचक एवं बड़ा समाचार: नैनीताल की मॉल रोड पर खड़े हर व्यक्ति के कदमों के नीचे हैं एक लाख रुपए, जानें आपके कदमों के नीचे हैं कितने रुपए ?

युवती रोशनी पूर्व नाम रोशन बानू का कहना है कि वह अल्मोड़ा की रहने वाली हैं। उसके पिता बशीर अहमद का परिवार पिछले 50 वर्षों से अधिक समय से अल्मोड़ा में रहता है। वह सब्जी मंडी अल्मोड़ा में वो मीट बेचने का कारोबार करते हैं। बशीर अहमद के चार बच्चे हैं, जिसमें सबसे बड़ी बेटी 32 वर्षीय रोशन बानू (रोशनी) शुरू से ही पढ़ाई में तेज रही। उसकी वर्ष 2012 में हवालबाग में सरकारी नौकरी लग गई।

(Dharm Parivartan) इधर वह पिछले सात सालों रानीखेत के गोविंद सिंह मेहरा राजकीय चिकित्सालय में नर्सिंग ऑफिसर के पद पर कार्यरत हैं। यह भी पढ़ें : हल्द्वानी में 17-20 वर्षीय युवती से सामूहिक दुष्कर्म, पुलिस पर तीन दिन तक मामला दबाने का आरोप….

घर की बड़ी बेटी होने के नाते उसने घर खर्च और छोटे भाई-बहनों की पढ़ाई की पूरी जिम्मेदारी, निभाई। भाई-बहन को बीएड व अन्य प्रशिक्षण भी दिलाए। लेकिन परिजनों ने इसे अपना अधिकार मान लिया। बाद में लोन पर घर खरीदने के कारण वह परिजनों को रुपए नहीं दे पा रही थी तो पिता व भाई-बहनों ने छोटा होने के बावजूद तीन वर्षों तक उसके साथ अत्याचार, उत्पीड़न किया।

(Dharm Parivartan) उसे उसके किराये के कमरे में आकर नाक-मंुह से खून आने की हद तक पीटा। पिता चाहते थे कि वह अपनी संपत्ति अपने भाई के नाम कर दे। भाई साजिद अहमद बेहद हिंसक प्रवृत्ति का था। वह हिंदू धर्म के प्रति बेहद दुर्भावना रखता था और धार्मिक टिप्पणियां करने के जुर्म में जेल भी जा चुका था। यह भी पढ़ें : 7 साल की बच्ची को खेत में ले गया युवक, लेकिन…

पिता कहते थे कि उन्होंने उसे पैदा किया है तो वह उसे दफन भी कर देंगे। हमने पेड़ लगाया है, फल भी हम खाएंगे। इससे बुरी तरह परेशान होकर रोशन बानू ने अपने परिजनों की पुलिस में शिकायत की। इस पर परिजनों ने 21 अक्टूबर 2020 को उससे क्षमा याचना मांगते हुए पत्र पुलिस को सोपा। पत्र में उन्होंने कहा कि अब परिवार की ओर से रोशनी को कभी परेशान नहीं किया जाएगा।

(Dharm Parivartan) जो कत्ल करने की बात कही गई थी, उस पर माफी भी मांगी गई। लेकिन इतना सब होने के बाद भी परिवार की ओर से यातना और मानसिक उत्पीड़न बढ़ता ही गया। यह भी पढ़ें :  रात्रि में मॉल रोड से हुई चोरी का पुलिस ने 24 घंटे के भीतर किया खुलासा…

यहां तक कि रोशनी के परिवार ने उससे संबंध तोड़ने का दबाव बनाया। इन स्थितियों के कारण धीरे-धीरे रोशनी का परिवार और अपने मूल धर्म से मोहभंग हो गया, और उसने अपने परिवार से कानूनी तौर पर पूरी तरह से संबंध कर उसने 4 दिसंबर 2022 को आर्य समाज मंदिर हल्द्वानी पहुंचकर शुद्धि यज्ञ कर हिन्दू धर्म स्वीकार कर लिया। साथ ही अपना नाम रोशन बानू से बदलकर रोशनी रख लिया। यह भी पढ़ें : नैनीताल : रात्रि 11 बजे ‘बैंड बाजा बारात’ निकालने पर 15 हजार रुपए का चालान

रोशनी का कहना है कि हिंदू धर्म में महिलाओं को बहुत सम्मान दिया जाता है, इसलिए अत्यधिक पारिवारिक उत्पीड़न होने पर उन्होंने धर्म बदल लिया, लेकिन किसी अनहोनी की आशंका के चलते वह अब भी अपने परिवार से काफी डरी-सहमी हुई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड की युवती से धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) का दबाव बनाते हुए उत्पीड़न की हदें कीं पार… शादी का झांसा देकर दुष्कर्म किया, गर्भपात कराया, प्रतिबंधित मांस खिलाया, देह-व्यापार में धकेला…

नवीन समाचार, बरेली, 28 जनवरी 2023। उत्तराखंड निवासी एक युवती के साथ झूठे प्यार के नाम पर एक विधर्मी युवक ने वह सब किया जिसकी कोई भी धर्म इज़ाज़त नहीं देता। आरोपित ने जैसे किसी धर्म-विद्वेष से युवती से पहले स्वयं शादी का झांसा देकर दुष्कर्म किया, फिर धोखे से प्रतिबंधित मांस खिलाया।

(Dharm Parivartan) उसका गर्भपात कराया, उसकी अश्लील वीडियो बनाई और इसे वायरल करने की धमकी देकर उस पर धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) करने का दबाव भी बनाया। यही नहीं उससे देह व्यापार भी कराया गया।

UP: बरेली में धर्म परिवर्तन का मामला, महिला ने मुस्लिम युवक पर लगाया रेप का  आरोप – News18 हिंदीपुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तराखंड के जिला ऊधमसिंह नगर की रहने वाली युवती ने बताया कि वह काम के सिलसिले में बरेली आती थी। इसी दौरान भोजीपुरा के पचदौरा डोहरिया गांव निवासी जमील से उसकी जान-पहचान हो गई। एक दिन जमील उसे बातों में फंसाकर भोजीपुरा लेकिन गया और कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ पिलाकर उससे दुष्कर्म किया।

(Dharm Parivartan) विरोध करने पर शादी का झांसा दिया। गर्भवती हुई तो दवा देकर गर्भपात करा दिया। युवती का आरोप है कि आरोपित ने अपने दोस्तों से भी उससे दुष्कर्म करवाया। आरोपित उसे अपने दोस्तों से पत्नी बताकर मिलवाता था। बाद में वह उसके साथ देह व्यापार भी कराने लगा। यह भी आरोप लगाया कि आरोपित ने उसे धोखे से प्रतिबंधित मांस खिलाया।

(Dharm Parivartan) उसकी अश्लील वीडियो बनाई और इसे वायरल करने की धमकी देकर उस पर धर्म परिवर्तन करने का दबाव भी बनाया। पीड़िता कि शिकायत पर बरेली कि भोजीपुरा पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : लिव-इन में डेढ़ वर्ष से साथ रखकर तीन बार किया गर्भवती, अब निकाह के लिए बना रहा धर्मांतरण का दबाव, उत्तराखंड में भी दून-मुंबई जैसी घटनाओं की थी तैयारी !

नवीन समाचार, देहरादून, 21 जनवरी 2023। बिना शादी किए ‘लिव-इन’ में युवक-युवती के साथ रहने का हश्र दिल्ली व मुंबई के चर्चित मामलों में सभी देख रहे हैं, लेकिन लड़कियां जैसे अब भी समझने को तैयार नहीं हैं। अब दिल्ली की एक युवती ने देहरादून के लिव-इन पार्टनर पर दुष्कर्म करने और दो बार गर्भपात कराने के बाद तीसरी बार भी गर्भपात करने और अपने भाई व पिता के साथ मिलकर कई बार उस पर धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) करने का दबाव बनाने के साथ का आरोप लगाया है।

(Dharm Parivartan) पीड़िता के इन्कार करने पर आरोपित उसे छोड़कर चला गया है। पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। यह भी पढ़ें : उधार दिए पांच हजार रुपए वापस लेने के ऐवज में पत्नी से की छेड़छाड़, विरोध करने पर की मारपीट…

नई दिल्ली के तिलकनगर क्षेत्र की रहने वाली पीड़िता ने पटेलनगर थाने में लिखित तहरीर देकर बताया है कि वह पिछले करीब डेढ़ साल से नौशाद कुरैशी के साथ संस्कृति लोक कालोनी देहरादून में लिव-इन में रह रही है। उसने आरोप लगाया है कि नौशाद ने उससे शादी का वादा किया था। इसके लिए उसने उसे अपने साथ किराये के कमरे में रखा।

(Dharm Parivartan) वह बार-बार शादी का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म करता रहा। लेकिन, जब भी वह शादी के लिए कहती है तो नौशाद उसे टाल देता है। आरोप है कि वह तीन गर्भवती हो चुकी है। इस पर दो बार वह मारपीट कर गर्भपात करा चुका है, और अब तीसरी बार गर्भवती होने भी भी उस पर गर्भपात का दबाव बना रहा था। यह भी पढ़ें : पूर्व विधायक के पूर्व नौकर की संदिग्ध परिस्थितियों में पुलिस हिरासत में मौत…

पीड़िता ने कहा कि वह आरोपित के घर गई तो वहां उसके भाई शाहनवाज और पिता जाहिर कुरैशी ने उसने गाली गलौच की और उस पर निकाह करने के लिए धर्म बदलने करने का दबाव बनाया।

(Dharm Parivartan) इंस्पेक्टर पटेलनगर सूर्यभूषण नेगी ने बताया कि पीड़िता की शिकायत पर तीनों आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आरोपित नौशाद को लालपुल के पास से गिरफ्तार कर लिया और न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया है। पीड़िता वर्तमान में तीन माह की गर्भवती है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कबाड़ी महिला के साथ उसकी तीन बेटियों को भगा ले गया, अब बच्चियों का धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) कराने का आरोप…

नवीन समाचार, देहरादून, 8 जनवरी 2023। एक कबाड़ी पहले एक तीन बेटियों की मां को बेटियों सहित झांसे में लेकर भगा ले गया। अब आरोपों के अनुसार उसने महिला की तीन नाबालिग बेटियों का धर्मांतरण करा कर उन्हें मदरसे में दाखिल करा दिया है। इस मामले में बच्चियों की नानी की तहरीर पर धर्मांतरण कराने के आरोपित के खिलाफ नेहरू कॉलोनी थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। यह भी पढ़ें : पूरी रात जलता रहा मकान, सुबह पता चला, कई मवेशी जिंदा जले…

नेहरू कॉलोनी थाने के थानाध्यक्ष लोकेंद्र बहुगुणा ने बताया कि थाना क्षेत्र निवासी एक बुजुर्ग महिला ने तहरीर देकर कहा है कि उसकी एक बेटी की शादी दून में रहने वाले सोनू वर्मा नाम के लड़के से हुए। जिससे बेटी की तीन पुत्रियां जन्मीं। इनमें सबसे बड़ी आठ, दूसरी छह और तीसरी तीन वर्ष की है। दंपति में विवाद होने पर तीनों बच्चियों संग उनकी बेटी एक साल पहले मायके आकर रहने लगी। यह भी पढ़ें : पूर्व विधायक ने बदल दिया अपना और अपनी पत्नी का नाम, वजह खास….

आरोप है कि यहां हाशिम नाम का कबाड़ी निवासी नयागांव नेहरू कॉलोनी आता-जाता है। वह उसकी बेटी के संपर्क में आया। पिछले साल वह बेटी और उसकी तीन पुत्रियों को अपने साथ ले गया। अब बुजुर्ग महिला को पता लगा है कि उसकी नातिनों का धर्मांतरण कर उनका दाखिल जिला बिजनौर के चांदपुर स्थित मदरसे में करा दिया गया है। यह भी पढ़ें : आंगनबाड़ी और आशा कार्यकत्रियों की सेवा समाप्त, आठ माह के बच्चे का अपहरण कर उसे बेचने का मामला….

जानकारी होने पर बुजुर्ग महिला अपनी नातिनों को लेकर दून आई। इस दौरान विवाद भी हुआ। यहां आकर उन्होंने धर्मांतरण और मारपीट को लेकर हाशिम के खिलाफ तहरीर दी। तहरीर पर पुलिस ने हासिम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें : जालसाजी कर हिंदू रीति-रिवाज से की शादी, लेकिन शादी के बाद पवन निकला सलीम…

भगोड़ी दुल्‍हन से पीडि़त यूपी के युवक ने भभुआ में किया FIR, विवाह के नाम पर  जालसाजी करनेवाले सगे भाई गिरफ्तार - UP youth victimized by runaway bride,  filed FIR in Bhabhua,नवीन समाचार, बाजपुर, 17 दिसंबर 2022। बाजपुर में नाम बदलकर दूसरे धर्म की युवती से शादी करने व असलियत सामने आने के बाद उसकी पिटाई कर घर से निकालने का मामला सामने आया है। मामले में पीड़िता की मां ने कोतवाली में तहरीर दी है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड ने रणजी ट्रॉफी में कर दिया कमाल का प्रदर्शन….

भाजपा नेता विमल शर्मा के साथ कोतवाली पहुंची ग्राम खमरिया निवासी महिला ने तहरीर देकर कहा है कि वह मेहनत-मजदूरी करके अपना व अपने परिवार का भरण पोषण करती है। पूर्व में वह बेरिया रोड स्थित एक पोल्ट्री फार्म में कार्य करती थी। वहीं पर एक महिला ने खुद को हिंदू और खुद का नाम सेफाली बताते हुए उसकी पुत्री का रिश्ता अपने पुत्र पवन के लिए मांगा।

(Dharm Parivartan) आरोप है कि मना करने के बाद भी उसे झांसे में लेकर अपने पुत्र का विवाह उसकी पुत्री के साथ 11 अक्टूबर 2021 को हिंदू रीति रिवाज से किया गया। यह भी पढ़ें : गजब हाल : जिला कार्यकारिणी नैनीताल की, नैनीताल का एक भी पदाधिकारी नहीं, आधे एक विधानसभा के और …

विवाह बाद जब किसी कार्य से उसका आधार कार्ड देखा गया तो पवन बना युवक वास्तव में सलीम पुत्र मो.सोनू उर्फ आजाद निवासी ग्राम सैंडखेड़ा काशीपुर और महिला का वास्तविक नाम आमना निकला। उनके बैंक खाते में भी यही नाम व पता अंकित था। यह देखकर उसे अपने साथ हुई जालसाजी का अहसास हुआ।

(Dharm Parivartan) आरोप है कि जब धर्म छुपाने के बारे में पूछा गया तो गाली-गलौज की गई तथा उसकी पुत्री को पीट कर घर से निकाल दिया। पुलिस ने महिला की तहरीर पर जांच शुरू कर दी है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : यहां साईन ने नीलम बनकर मनोज संग लिए सात फेरे

Shade Ke Phare शादी के उलटे फेरे का राज जानेंगे तो कसम से हैरान रह जाएंगेनवीन समाचार, दिसंबर, 16 दिसंबर 2022। हिंदू धर्म की लड़कियो के नाम-धर्म बदलकर दूसरे धर्म मे शादी करने के मामले अक्सर सामने आते हैं, लेेिकन इधर सितारगंज की साईन नाम की लड़की के सनातन हिंदू धर्म स्वीकार कर नीलम बनने का मामला प्रकाश में आया है। साइन ने बीते गुरुवार को हिंदू रीति-रिवाज से अग्नि को साक्षी मानकर मनोज के साथ सात फेरे लिए। इस मौके पर समाज के अनेक संभ्रांत लोग भी उनकी खुशी में भागीदार बने।

यह भी पढ़ें : गजब हाल : जिला कार्यकारिणी नैनीताल की, नैनीताल का एक भी पदाधिकारी नहीं, आधे एक विधानसभा के और आधे से अधिक एक नगर मंडल के….

साईन ने बताया कि वह पड़ोस में रहने वाले मनोज को पसंद करतीे थी। दोनों साथ पढ़ाई-लिखाई करते थे और कई मौके पर एक-दूसरे के सहयोगी भी बने। ऐसे में उनकी नजदीकी बढ़ती गई। दोनों ने अपने परिजनों को अपने रिश्ते की जानकारी दी। लेकिन अलग संप्रदाय के होने के कारण बड़े-बुजुर्ग शादी के लिए राजी नहीं हुए।

(Dharm Parivartan) दोनों ने अपनों को मनाने की तमाम कोशिश की। लेकिन सफलता नहीं मिली। इस पर साईन और मनोज मजहबी बंदिशों को तोड़ घर से निकल गए। यह भी पढ़ें : लिव-इन साथी महिला अपने ही अंतरंग पलों के वीडियो से शिक्षक को एक करोड़ के लिए कर रही ब्लेकमेल, फ्लैट पर भी कर लिया कब्जा

बाद में उनकी खोजबीन शुरू हुई। किसी तरह दोनों को समझा-बुझाकर घर लाया गया। लेकिन साईन मनोज के साथ ही रहने की जिद पर अड़ी रही। इसके बाद पूर्व व्यापार मंडल अध्यक्ष संजय गोयल और हरीश दुबे ने दोनों परिवारों को समझाया।

(Dharm Parivartan) गुरुवार को शहर के खटीमा मार्ग स्थित मौनी बाबा मंदिर में साईन ने सनातन धर्म स्वीकार कर अपना नाम नीलम रखा और मंदिर में अग्नि को साक्षी मानकर मनोज के साथ सात फेरे लिए। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं मंडल में उत्तराखंड धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम के तहत पहला मामला हुआ दर्ज

नवीन समाचार, रामनगर, 13 दिसंबर 2022। नाम बदलकर युवती से दोस्ती और फिर दुष्कर्म के बाद धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) के लिए दबाव बनाने के मामले में उत्तराखंड धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम 2018 के तहत उत्तराखंड के कुमाऊं मंडल में पहला मामला दर्ज हुआ है।

(Dharm Parivartan) पुलिस ने नगर की एक पीड़ित युवती की तहरीर पर आरोपित सहित पांच लोगों पर धर्मांतरण के लिए दबाव बनाने सहित अन्य धाराओं में अभियोग दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस के मुताबिक कुमाऊं में दर्ज यह पहला मुकदमा है। यह भी पढ़ें : गरीब बेटी ने सरकारी कोटे से निकाली मेडिकल की सीट, फीस के लिए मदद की गुहार

कोतवाल अरुण कुमार सैनी ने बताया कि क्षेत्र निवासी एक युवती ने पुलिस को तहरीर देकर आरोप लगाया है कि नगर के बंबाघेर निवासी साकिब सैफी नाम के युवक ने खुद को शिव ठाकुर बताकर यानी नाम-धर्म बदलकर उसके साथ दोस्ती की और दुष्कर्म किया। जब उसे साकिब की असलियत पता चली तो उसने विरोध किया।

(Dharm Parivartan) आरोप है कि युवक ने उसे पीटा और जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद साकिब ने अपने दोस्तों से उसकी बहन का भी पीछा करवाया। तहरीर में बताया कि आरोपित के परिजन भी उस पर धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) का दबाव बना रहे हैं। यह भी पढ़ें : शोध छात्र ने छात्राओं को उपलब्ध कराई मासिक धर्म की जानकारी, सैनेटरी पैड भी बांटे

कोतवाल ने बताया कि तहरीर के आधार पर पुलिस ने साकिब सैफी ऊर्फ शिव ठाकुर और उसके परिवार के सबा, यूनुस, राहिला और गजाला के खिलाफ धारा भारतीय दंड संहिता की धारा 323, 354, 354डी, 376, 504 व 506 और उत्तराखंड धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम 2018 के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

(Dharm Parivartan) बताया कि आरोपित की ओर से भी तहरीर दी गई है जिसमें युवती पर भी शादी के लिए धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) करने का दबाव बनाने और प्रताड़ित करने का भी आरोप लगाया है। सीओ बलजीत सिंह भाकुनी ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग: भगत सिंह कोश्यारी ने की इस्तीफे की पेशकश ! चहुंओर से हो रही आलोचनाओं की स्थिति में केंद्रीय गृह मंत्री से मांगा परामर्श…

इधर, कुमाऊं परिक्षेत्र के डीआईजी डॉ. नीलेश आनंद भरणे का कहना है कि अभी नए धर्मांतरण से जुड़ा कोई भी शासनादेश प्राप्त नहीं हुआ है। इसलिए इस मामले को फिलहाल धर्मांतरण के तहत नहीं गिना जा सकता। आदेश आने के बाद नए नियम के अनुसार कार्रवाई होगी।

(Dharm Parivartan) जबकि एसएसपी पंकज भट्ट का कहना है कि उत्तराखंड धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम की धारा 3 में रिपोर्ट दर्ज की गई है। हालांकि इसे धर्मांतरण नहीं बल्कि धर्मांतरण के लिए दबाव की श्रेणी में रखा जा सकता है। जांच के बाद अधिनियम के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने के बाद युवती को जबरन धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) न करने पर अश्लील फोटो वायरल करने की धमकी

नवीन समाचार, हरिद्वार, 10 दिसंबर 2022। मध्यप्रदेश की एक युवती ने एक स्थानीय युवक पर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने और अश्लील फोटो खींचने तथा धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) करने का दबाव बनाने के आरोप लगाए हैं।

(Dharm Parivartan) आरोप है कि आरोपित ने विरोध करने पर जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए गाली-गलौज की। पुलिस ने युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड के दामाद बनने जा रहे हैं ‘मामाजी’, फिल्मी कलाकारों का लगा जमावड़ा…

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार मध्यप्रदेश के नीमच थाना क्षेत्र निवासी युवती ने पुलिस को बताया कि वर्ष 2021 में वह नौकरी की तलाश में उत्तराखंड आई थी। रानीपुर कोतवाली क्षेत्र स्थित पतंजलि योगग्राम में उसकी मुलाकात सोनू राजपूत नाम के युवक से हुई थी।

(Dharm Parivartan) युवक ने उसकी नौकरी पतंजलि योगग्राम में कॉल सेंटर में लगवा दी थी। इसके बाद दोनों में मोबाइल पर बातचीत होने लगी। बाद में युवक ने अपना नाम फरमान निवासी राजपुर, रानीपुर कोतवाली बताया। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड : कई आईएएस व पीसीएस अधिकारियों के दायित्वों में फेरबदल…

इसके बाद युवक 23 मार्च 2021 को उसे कलियर स्थित एक होटल में लेकर गया। वहां शादी का झांसा देकर उससे दुष्कर्म किया और मोबाइल से अश्लील फोटो खींच लिए। इसके बाद वह चार माह तक फरमान के साथ रही।

(Dharm Parivartan) शादी का दबाव बनाया तो फरमान ने मारपीट की और जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया। साथ ही फरमान ने उस पर जबरन धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) करने का दबाव बनाया। यह भी पढ़ें : 11 साल के बच्चे के अपहरण की सूचना से मचा रहा हड़कंप, पर खुलासा हुआ तो ऐसा कि कोई सोच भी नहीं सकता था…

ऐसा नहीं करने पर अश्लील फोटो वायरल करने की धमकी दी। डरकर वह अपने घर चली गई और परिजनों को आपबीती सुनाई। इसके बाद वह मां के साथ नीमच कैंट थाना, जिला नीमच मध्यप्रदेश गई और प्राथमिक सूचना दी। वहां पर शून्य में केस दर्ज कर घटनास्थल कलियर का होने के कारण नीमच से प्राथमिकी कलियर थाने भेजी गई। यह भी पढ़ें : 8 माह का बच्चा गायब, शनिदान मांगने वाले साधु पर शक….

सीओ पल्लवी त्यागी ने बताया कि तहरीर के आधार पर युवक के खिलाफ दुष्कर्म, एससीएसटी समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है। पीड़ित को कलियर बुलाकर बयान दर्ज कराए जाएंगे। उधर, एसपी देहात स्वप्न किशोर सिंह ने बताया कि युवती ने शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है जिसमें कार्रवाई की गई है।

धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) के लिए दबाव बनाने के मामले की भी जांच की जा जाएगी। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : तो कुमाऊं मंडल के दौरे पर आएंगे प्रधानमंत्री मोदी, पुराने जबरन धर्मांतरण के मामलों में भी होगी कार्रवाई…

#DharmRakshakDhami Photo,#DharmRakshakDhami Photo by Surbhi Choudhary,Surbhi Choudhary on twitter tweets #DharmRakshakDhami Photo

नवीन समाचार, देहरादून, 8 दिसंबर 2022। उत्तराखंड में जबरन मतांतरण के पुराने मामलों में भी अब नए कानून के तहत कार्रवाई होगी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मीडिया से अनौपचारिक बातचीत में कहा कि सरकार ने राज्य में हुए ऐसे मामलों के संबंध में रिपोर्ट मांगी गई है। इसका अध्ययन करने के बाद कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें : मॉल में चल रहे स्पा सेंटर में सेक्स रैकेट का खुलासा, दूसरे राज्य के ग्राहकों के साथ दो महिलाओं सहित पांच गिरफ्तार

इसके साथ ही सीएम धामी ने बताया कि वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भगवान भोलेनाथ के धाम कैलाश पर्वत के साथ नारायण आश्रम व मायावती आश्रम सहित अनेक धार्मिक महत्व के स्थलों के कुमाऊं मंडल के स्थलों का दौरा करने के लिए आग्रह करेंगे। यह भी पढ़ें : काबीना मंत्री के निजी सचिव व विभागाध्यक्ष के खिलाफ मुकदमा दर्ज…

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने हाल में जबरन मतांतरण पर 10 साल की सजा का प्राविधान करने के साथ ही जुर्माना राशि भी बढ़ाते हुए संबंधित कानून को सख्त करने के लिए विधेयक विधानसभा के शीतकालीन सत्र में पारित कराया है।

(Dharm Parivartan) जो भी इस प्रकार के कृत्य करेगा, उसके विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के कुमाऊं क्षेत्र के आगमन से यह क्षेत्र भी देश और विश्व का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करेंगे। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : सोशल मीडिया पर ट्रेंड हुआ #DharmRakshakDhami

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 2 दिसंबर 2022। उत्तराखंड सरकार को समान नागरिक संहिता लागू करने के अपने पहले चुनावी वादे को लागू करने में जहां इंतजार करना पड़ रहा है।

(Dharm Parivartan) करीब ढाई लाख सुझाव आने के बाद सरकार ने समान नागरिक संहिता का प्रारूप तैयार करने के गठित समिति का कार्यकाल छः माह बढ़ा दिया है, वहीं इससे पहले धर्मांतरण कानून लाकर प्रदेश के मुख्यमंत्री सोशल मीडिया पर छा गए हैं। यह भी पढ़ें : 8 की छुट्टी की तिथि में हुआ बदलाव

भले धामी और उनकी सरकार की ओर से इस मुद्दे पर अधिक कुछ भी न बोला गया हो, लेकिन इसके बाद सोशल मीडिया पर धामी के समर्थक बढ़ गए हैं और हैशटैग ‘धर्मरक्षक धामी’ ट्रेंड हो गया है। लोग इस हैशटैग पर मुख्यमंत्री धामी की तरह-तरह से प्रशंसा कर रहे हैं। यह भी पढ़ें : छात्रा से अपहरण कर रात भर में कई बार दुष्कर्म…

एक उपयोक्ता ने लिखा है, ‘धामी ने दिखाया दम, काम ज्यादा बातें कम, प्यार की आड़ में चल रहे धर्मांतरण पर कड़ा वार’, तो अन्य ने ‘धर्मांतरण व लव जिहादियों की दुकान पर धाकड़ धामी ने लगाया ताला’, पुष्कर धामी के अमोघ बाण का प्रहार, जबरन धर्मांतरण पर पहुंचाए सीधे कारागार, धर्मांतरण पर धामी का अचूक प्रहार, प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में आगे बढ़ रही है धामी सरकार जैसे कई पोस्टर भी बनाए गए हैं।

यह भी पढ़ें : बच्चों के साथ बड़े भी आए सकते में, बच्चे जिसे ‘पूसी’ कहकर खेल रहे थे, उसकी सच्चाई पता चली तो उड़े होश….

उनकी तारीफ करने वालों में सभी धर्मों के लोग भी नजर आ रहे हैं, जबकि कई पोस्ट्स में लोग धामी की मिसाल देते हुए अन्य राज्यों से भी इसी तरह की पहल करने को कह रहे हैं। जबकि अन्य ने ‘धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) पर रोक के लिए धामी सरकार का चला चाबुक। विधानसभा ने पास किया कानून।

(Dharm Parivartan) धर्म की रक्षा को प्रतिबद्ध धामी सरकार, धर्मांतरण कानून लाकर मुख्यमंत्री @pushkardhami उत्तराखण्ड के अब तक के सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री बन गए हैं, मुख्यमंत्री @pushkardhami जी द्वारा लाया गया धर्मांतरण पर कानून सराहनीय है इससे उत्तराखंड वाकई में देवभूमि बन जाएगा।’ जैसी बातें भी लिखी हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड विधानसभा में धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) विधेयक पेश, जानें क्या हैं प्राविधान…

नवीन समाचार, देहरादून, 30 नवंबर 2022। उत्तराखंड में यदि कोई व्यक्ति स्वेच्छा से धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) करना चाहेगा तो उसे दो माह के भीतर जिलाधिकारी को अर्जी देनी होगी। साथ ही अर्जी देने के 21 दिन के भीतर उसे डीएम के समक्ष पेश भी होना पड़ेगा।

(Dharm Parivartan) डीएम की ओर से धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) करने वाले व्यक्ति की पूरी जानकारी सूचना पट्ट पर प्रदर्शित की जाएगी। जबकि यदि किसी व्यक्ति का जबरन धर्मांतरण किया जाता है तो इसकी शिकायत केवल वही व्यक्ति नहीं, बल्कि कोई भी व्यक्ति इसकी शिकायत दर्ज कर सकता है। यह भी पढ़ें : पुलिस को देखकर भागने लगीं दो महिलाएं, दौड़कर पकड़ा तो..

इसके इतर यदि कोई व्यक्ति धर्म परिवर्तन के उपरांत अपने ठीक पूर्व धर्म में परिवर्तन करता है यानी वापस लौटता है तो उसे कानून में धर्म परिवर्तन नहीं समझा जाएगा। ठीक पूर्व धर्म का मतलब उस धर्म से है जिसमें उस व्यक्ति की आस्था व विश्वास पहले से था और जिसके लिए वह स्वेच्छा व स्वतंत्र रूप से अभ्यस्त था। यह भी पढ़ें : 17 वर्ष की नाबालिग की मजबूरी का फायदा उठाकर रोज करता रहा दुष्कर्म, मिली उम्रकैद की सजा….

प्रदेश में जबरन धर्मांतरण के मामलों को रोकने के लिए सरकार ने उत्तराखंड धर्म स्वतंत्रता (संशोधन) विधेयक 2022 को सदन पटल पर रख दिया है। इस विधेयक में जबरन धर्मांतरण पर सख्त सजा और जुर्माने का प्रावधान किया जा रहा है। कानून अस्तित्व में आते ही जबरन धर्मांतरण गैर जमानती अपराध होगा। यह भी पढ़ें : छात्र को शराब पिलाकर नग्न किया और नग्नावस्था में बनाई अश्लील वीडियो, अब मांग रहे हजारों रुपए, मामला दर्ज

एक व्यक्ति के धर्मांतरण पर 2 से 7 साल की सजा हो सकती है और 25 हजार जुर्माना भी देना होगा। जबकि सामूहिक धर्मांतरण का दोष साबित होने पर 3 से 10 साल की सजा और 50 हजार रुपए जुर्माना देना पड़ेगा।

(Dharm Parivartan) पीड़ितों को न्यायालय के माध्यम से पांच लाख रुपये की प्रतिपूर्ति की जाएगी। कानून अस्तित्व में आते ही प्रदेश में धर्मांतरण का कानून अब संज्ञेय व गैर जमानती अपराध की श्रेणी में आएगा। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड ब्रेकिंग-अभी-अभी: राज्य सरकार के धर्मांतरण कानून में सख्ती की पहल के बीच एक चर्च में किया जा रहा था हिंदुओं का धर्मांतरण ! हुआ हंगामा..

नवीन समाचार, देहरादून, 20 नवंबर 2022। धामी मंत्रिमंडल द्वारा गत दिवस उत्तराखंड में धर्मांतरण पर कठोर कानून लाने का प्रस्ताव पारित होने की पृष्ठभूमि में राज्य की राजधानी देहरादून में धर्मांतरण के आरोप में रविवार देर शाम जमकर हंगामा हुआ है। आरोप है कि यहां एक चर्च में 60 से ज्यादा हिन्दुओं का पैसे और जमीन का लालच देकर धर्मांतरण किया जा रहा है। यह भी पढ़ें : अब पता चला, नैनीताल में कोहली को क्या सबसे अधिक पसंद आया.. धूप ?

इस सूचना पर रविवार को देहरादून पुलिस ने इसी रोड स्थित चर्चा पर दबिश दी। वहां पर 50 से 60 लोग धर्मांतरण के खेल में लगे होने की बात कही जा रही है। पुलिस कई लोगों को उठाकर आराघर चौकी में लाकर पूछताछ कर रही है। पकड़े लोग अभी कुछ बता नहीं रहे हैं।

(Dharm Parivartan) उनका कहना है कि हम लोग खुद अपनी मर्जी से धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) करके यहां प्रार्थना करने के लिए आए थे। यह भी पढ़ें : सुबह का विचारणीय समाचार : शिक्षक के विरुद्ध बच्चे को सजा के तौर पर दंड बैठक व मैदान के चक्कर लगवाने पर मुकदमा दर्ज

स्थानीय लोगों का कहना है कि यहां पर काफी दिनों से लोगों का आने-जाने का सिलसिला जारी है। यहाँ रवि फ्रांसिस नाम के व्यक्ति की अगुवाई में कई लोग धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) के कार्य में लंबे समय से लगे हुए हैं। वहीं पुलिस इस मामले में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। यह भी पढ़ें : हल्द्वानी : पटरी पर दो टुकड़ों में कटी मिली 27 वर्षीय युवक कि लाश, प्रेम प्रसंग कि सम्भावना…

मामले में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट का कहना है कि देवभूमि में इस तरह की कृत को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जो लोग इस तरह के खेल में शामिल हैं, उन्हें बेनकाब किया जाएगा। उन्होंने मुख्यमंत्री से भी अपील की है कि इस तरह के लोगों को चिन्हिृत कर दंडित किया जाए। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : तो कांग्रेस का हाथ-धर्मांतरण कराने वालों के साथ…! अध्यक्ष की आपत्ति ‘चोर की दाढ़ी में तिनका’ ?

नवीन समाचार, देहरादून, 17 नवंबर 2022। भाजपा ने धर्मान्तरण कानून में संशोधन को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की आपत्ति को ‘चोर की दाढ़ी में तिनका’ जैसी मंशा वाला बताया है। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता सुरेश जोशी ने आरोप लगाते हुए कहा,

(Dharm Parivartan) देवभूमि में जबरन धर्मान्तरण पर रोक लगाने वाले सख्त कानून का विरोध करना साबित करता है कि कांग्रेस का हाथ है धर्मांतरण कराने वालों के साथ है। यह भी पढ़ें : आखिर सही साबित हुए विराट कोहली के बारे में संभावना, किए बाबा नीब करौरी के कैंची धाम

श्री जोशी ने गुरुवार को बयान जारी करते हुए कहा कि राज्य निर्माण से पहले से ही प्रदेश में मिशनरी व कट्टर अल्पसंख्यक लोगों व संस्थाओं द्वारा जबरन या प्रलोभन से धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) की घटनायें सामने आती रही हैं, जिस पर भाजपा के शासनकालों में कड़ी कार्रवाई की गयी।

(Dharm Parivartan) इस प्रकार के प्रकरणों पर रोक लगाने व धर्मान्तरण की गैरकानूनी गतिविधियों में लिप्त लोगों में कानून का खौफ पैदा करने के लिए सख्त कानून की आवश्यकता महसूस की जा रही थी। इन्हीं जन आकांक्षाओं को पूर्ण करने का काम पुष्कर सिंह धामी की सरकार ने किया है। यह भी पढ़ें : नैनीताल : युवती के खाते से 1.37 लाख रुपए निकलने के मामले में हुआ सनसनीखेज खुलासा, हर कोई रह गया स्तब्ध

उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि चूंकि कांग्रेस के लिए यह चिंता का विषय नही है क्योंकि उन्हें समुदाय विशेष के ही वोटों की चिंता रहती है। लिहाजा धर्मान्तरण कानून संशोधन पर उनका शंका करना साबित करता है कि देवभूमिवासियों की धार्मिक पवित्रता व सांस्कृतिक पहचान कांग्रेस की प्राथमिकता में है ही नही, उनकी एक ही प्राथमिकता है तुष्टिकरण की नीति।

यह भी पढ़ें : उच्च न्यायालय के स्थानांतरण पर किसने मांगा विधायक का इस्तीफा, और विधायक ने किस पर जताई नाराजगी

उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष की शंका का जबाब देते हुए कहा कि इस कानून का टारगेट या लक्ष्य सिर्फ वे लोग हैं जो आम लोगों की मजबूरी व सरलता का फायदा उठाकर या धन आदि के प्रलोभन व अनैतिक दबाब बनाकर धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) के गैरकानूनी कामों में लिप्त हैं या ऐसे अपराधी लोगों को संरक्षण दे रहे हैं। लिहाजा कांग्रेस पार्टी को विचार करना होगा कि वह टारगेट पर है या नही। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : छात्रा पर युवक डाल रहा धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) कर निकाह करने का दबाव, जलाकर मार डालने की भी दे रहा धमकी

नवीन समाचार, रामनगर, 11 नवंबर 2022। नैनीताल जिले के रामनगर ब्लॉक के पीरूमदारा गांव की एक छात्रा को एक अल्पसंख्यक युवक द्वारा धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) कर निकाह करने के लिए दबाव डालने और जलाकर मार डालने की धमकी देने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि आरोपित की धमकी से परेशान छात्रा ने स्कूल जाना तक छोड़ दिया है।

(Dharm Parivartan) मामले में छात्रा ने पुलिस में एक दिन पूर्व शिकायत की, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। जानकारी लगने पर क्षेत्रीय ग्रामीणों ने भी छात्रा को न्याय दिलाने की पुलिस से मांग की है, और पुलिस द्वारा कार्रवाई न किए जाने पर नाराजगी जताई है। यह भी पढ़ें : विधायक पर भारी पड़ने जा रहा है राज्य स्थापना दिवस पर दिया बयान, मिली चुनौती…

पीड़िता के आरोपों के अनुसार आरोपित युवक अलग-अलग मोबाइल नंबर से फोन कर उस पर निकाह करने के लिए दबाव डाल रहा है। उसका यह भी आरोप है कि उसका धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) कराना चाहता है। वह धमकी दे रहा है कि यदि स्कूल आई तो वह उसे जबरन उठा ले जाएगा।

(Dharm Parivartan) इस कारण उसने स्कूल जाना तक छोड़ दिया है। वह धमकी दे रहा है कि यदि पुलिस कार्रवाई हुई तो वह जेल से बाहर आकर उसे जलाकर मार डालेगा। यह भी पढ़ें : ट्रक की टक्कर से नैनीताल निवासी एक स्कूटी सवार की मौत, दूसरा गंभीर

शुक्रवार को चौकी पहुंची एक महिला ने भी मीडिया के समक्ष आरोपित युवक द्वारा छात्रा को धमकी देने की पुष्टि की। इधर मामले की जानकारी लगने पर पीड़िता के समर्थन में कई ग्रामीण और सेफ चाइल्ड संस्था के संचालक दीपांशु रावत, हिंदूवादी संगठन के सूरज चौधरी भी शुक्रवार को पीरूमदारा पुलिस चौकी पहुंच गए।

(Dharm Parivartan) उन्होंने छात्रा के परिजनों की ओर से एक दिन पूर्व पुलिस चौकी में तहरीर देने के बाद भी आरोपित युवक के खिलाफ कोई सख्त कार्रवाई नहीं होने पर गहरी नाराजगी जताई। यह भी पढ़ें : ट्रक की टक्कर से नैनीताल निवासी एक स्कूटी सवार की मौत, दूसरा गंभीर

इधर स्थानीय लोगों ने पुलिस से आरोपित युवक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। सीओ बलजीत भाकुनी ने बताया कि मामले की तहरीर चौकी में दी गई है। इसकी जांच कराई जा रही है। आरोपों की जांच के बाद ही इस मामले में कार्रवाई अमल में लायी जाएगी। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : 36 वर्षीय युवक ने धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) के लिए लगाई अर्जी

नवीन समाचार, देहरादून, 6 नवंबर 2022। शहर के एक 36 वर्षीय मुस्लिम युवक ने धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) के लिए जिलाधिकारी कार्यालय में अर्जी लगाई है। उसने अर्जी में कहा है कि वह मुस्लिम धर्म को त्यागकर हिंदू धर्म अपनाना चाहता है।

(Dharm Parivartan) जिलाधिकारी सोनिका ने बताया कि मुस्लिम धर्म से हिंदू धर्म मे परिवर्तन को लेकर कुछ अन्य आवेदन भी उन्हें मिले हैं। इन पर विधिक राय ली जा रही है। यह भी पढ़ें : नैनीताल से उच्च न्यायालय न समर्थन की मुहिम में पालिकाध्यक्ष व सभासदों का मिला समर्थन

प्राप्त जानकारी के अनुसार लक्खीबाग निवासी 36 वर्षीय युवक सईद अरशद ने जिलाधिकारी को भेजी गई अर्जी में कहा है कि वह स्वेच्छा से हिंदू धर्म अपनाना चाहता है। उन्होंने अर्जी देने के लिए जिलाधिकारी सोनिका से व्यक्तिगत रूप से भी मुलाकात का प्रयास किया, लेकिन मुलाकात नहीं होने पर उन्होंने ईमेल के माध्यम से अपनी अर्जी जिलाधिकारी को भेजी।

यह भी पढ़ें : रात्रि में हुए ध्वस्तीकरण के बाद अब बदलेगी नैनीताल के तल्लीताल क्षेत्र की सूरत…

अर्जी मिलने परं जिलाधिकारी सोनिका ने आवेदन को आगे की कार्रवाई के लिए अपर जिलाधिकारी को भेज दिया है। अपर जिलाधिकारी डॉ. बर्नवाल का कहना है कि इस सम्बन्ध में डीजीसी से राय प्राप्त की जा रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : ढाइ साल की बच्ची की हत्या के मामले में सनसनीखेज खुलासा, पिता निकला हत्यारा, हत्या के पीछे लिव इन रिलेशनशिप और धर्मांतरण…

नवीन समाचार, हरिद्वार, 25 अगस्त 2022। दो दिन पूर्व यानी 23 अगस्त को हरिद्वार के सिडकुल थाना क्षेत्र के खाला टिहरा के जंगल में ढाई साल की बच्ची का गला रेत कर हत्या किए जाने का सनसनीखेत मामला प्रकाश में आया था। बच्ची का शव गन्ने के खेत में बरामद हुआ है।

(Dharm Parivartan) पुलिस ने मौके से मोबाइल फोन, दो नशे की गोलियां, खून से लथपथ एक टी-शर्ट व जूते बरामद थे। अब इस मामले का खुलासा हुआ है कि बच्ची की हत्या उसके ही पिता ने की थी। वहीं हत्या करने का कारण इससे भी अधिक सनसनीखेज है। यह भी पढ़ें : ढाई साल की बच्ची की गला रेत कर हत्या, शिनाख्त नहीं

हत्यारे पिता का दावा है कि वह दूसरे धर्म की युवती के साथ लिव इन में रहता था। उसकी लिव इन में पत्नी की तरह रहने वाली युवती बच्ची का धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) कराना चाहती है।

(Dharm Parivartan) इस कारण उसने बच्ची की हत्या कर दी और उसके बाद खुद का भी गला रेतकर जान देने की कोशिश की, लेकिन इसके बावजूद वह बच गया। पुलिस उसका एम्स ऋषिकेश में उपचार करा रही है। वह बोल नहीं पा रहा है। इसलिए उसने लिखकर यह जानकारी दी है।

बुधवार को जख्मी हालत में गिरफ्तार किए गए आरोपित पिता ने पूछताछ में यह सनसनीखेज खुलासा किया। पुलिस ने उसे भर्ती कराया है। एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार सिंह ने पूछताछ के आधार पर बताया कि मृतक बच्ची की शिनाख्त कुलदीप सिंह निवासी बागपत की पुत्री के रूप में हुई थी।

(Dharm Parivartan) कुलदीप सिडकुल में गाड़ी चलाता और वहीं फैक्टरी में काम करने वाली शबाना के साथ चार साल से लिव इन रिलेशनशिप में रहता था। मृतका कुलदीप और शबाना की संतान थी। पुलिस के अनुसार, शबाना कुलदीप पर शादी का दबाव बना रही थी और इसके लिए कुलदीप पर भी धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) करने का दबाव बना रही थी।

(Dharm Parivartan) शादी नहीं करने पर बेटी को मांग रही थी। इसी बात को लेकर दोनों के बीच कुछ दिनों पहले विवाद हुआ था। इसके बाद शबाना बेटी को लेकर अपने घर बिजनौर चली गई थी। इस मामले पुलिस पहले शबाना के पास पहुंची। शबाना ने पूछताछ में कुलदीप पर बेटी की हत्या करने की आशंका जताई थी। कुलदीप के लापता होने पर पुलिस का शक गहरा गया था।

(Dharm Parivartan) मंगलवार देर रात सूचना मिली कि डालूवाला गांव में एक व्यक्ति लहूलुहान हालत में घूम रहा है। मौके पर पहुंची पुलिस ने कुलदीप को दबोच लिया। कुलदीप ने बताया कि सोमवार अपराह्न उसने बच्ची की गला रेतकर हत्या कर दी। फिर खुद को भी मारने की कोशिश की। काफी देर तक खेत में छिपा रहा।

(Dharm Parivartan) पकड़े जाने के डर से वहां से भाग निकला। पुलिस ने जिला अस्पताल में प्राथमिक उपचार कराने के बाद उसे एम्स ऋषिकेश में भर्ती करा दिया। वहां बुधवार को उसका ऑपरेशन हुआ। गले में घाव होने से आरोपी अधिक देर तक बोल नहीं सका तो उसने कागज पर लिखकर पूरी बात बताई।

(Dharm Parivartan) कहा कि वह शबाना के साथ चार साल से लिव इन में रहता था। उनकी दो साल की बेटी थी, जिसे वह बहुत प्यार करता था। आरोप है कि शबाना बेटी के भी धर्मांतरण का दबाव बना रही थी। वह इसके लिए राजी नहीं था। अक्सर इसे लेकर झगड़ा होता था। उसे डर था कि शबाना साजिश रचकर बेटी का धर्मांतरण करा देगी।

(Dharm Parivartan) बेटी को मारने के बाद वह जिंदा नहीं रहना चाहता था, इसलिए अपने गर्दन पर ब्लेड मारी, लेकिन बच गया। बच्ची की पोस्टमार्टम रिपोर्ट बुधवार को आ गई, जिसमें मौत 24 घंटे पहले होने की पुष्टि हुई है। इस मामले में पुलिस ने अपनी तरफ से आरोपी कुलदीप के खिलाफ बुधवार को मुकदमा दर्ज कर लिया। उसके डिस्चार्ज होने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें : दूसरे धर्म के युवक से प्रेम की कीमत दो बार गर्भपात, धर्म परिवर्तन, देवर से खुद के यौन शोषण व बच्ची से गलत हरकतें…. !!

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

नवीन समाचार, देहरादून, 7 जून 2022। एक महिला को दूसरे धर्म के युवक से प्रेम संबंध बनाना भारी पड़ गया। आरोपों के अनुसार पहले तो युवक ने अपना धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) कर उससे शादी कर ली, लेकिन बाद में उसका धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) कराने के लिए दबाव बनाने को दो बार उसका गर्भपात करवा दिया, और फिर चार बच्चे पैदा करने बावजूद उसका उत्पीड़न किया।

(Dharm Parivartan) यहां तक कि उसके देवर ने उसका यौन शोषण किया और दूसरे देवर ने उसकी नाबालिग बेटी से गलत हरकतें कीं। अब महिला की शिकायत पर पुलिस ने आरोपित के विरुद्ध अभियोग पजीकृत कर लिया है।

आर्यनगर, डालनवाला निवासी एक महिला ने पुलिस को तहरीर देकर कहा है कि उसने वर्ष 2002 में देहरादून स्थित एक इंस्टीट्यूट सेएमसीए की पढ़ाई की थी। वहीं उसकी मुलाकात बिंजोकी कलां मलेरकोटला संगरूर, पंजाब निवासी अरशद अली धोट से हुई। अरशद ने उसके साथ नजदीकियां बढ़ाई और खुद धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) कर अपना नाम हर्ष चौधरी रख 2008 में हरिद्वार में उसके साथ शादी कर ली।

फरवरी 2009 में वह हर्ष चौधरी उर्फ अरशद अली के साथ हैदराबाद चली गई। आरोपित वहां नौकरी करता था। इस दौरान महिला गर्भवती हो गई। आरोपों के अनुसार आरोपित ने महिला से कहा कि इस्लामिक रीति-रिवाज से निकाह किए बिना उनकी औलाद नाजायज कहलाएगी।

(Dharm Parivartan) महिला ने ऐसा करने से इंकार करने पर आरोपित ने उसका गर्भपात करवा दिया। अक्टूबर 2009 में वह दोबारा गर्भवती हुई, तब भी आरोपित ने यही कहकर दोबारा उसका गर्भपात करवा दिया और धमकी दी कि बिना निकाह के वह बच्चे को स्वीकार नहीं करेगा।

इस पर पीड़िता ने बताया कि 2010 में आरोपित ने दारूल सलाम इस्लामिक सेंटर दिल्ली गेट, मलेरकोटला, पंजाब में उसका धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) कराया, और उसके साथ निकाह किया। सितंबर 2012 में महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया, जिसके बाद आरोपित ने महिला को उसके मायके छोड़ दिया और बच्चे को इस्लाम के अनुसार शिक्षा देने को कहा।

(Dharm Parivartan) 2015 में वह आरोपित के साथ अरब चली गई। जहां मई महीने में महिला ने बेटी को जन्म दिया। इसके बाद आरोपित ने उसकी पिटाई करनी शुरू कर दी। अप्रैल 2017 में महिला ने एक और बेटी व 2020 में चौथे बच्चे को जन्म दिया। 2

021 में आरोपित के पिता ने महिला को फोन कर पंजाब बुलाया, जहां उसे पता चला कि आरोपित पहले से ही शादीशुदा है और उसके बच्चे भी हैं। यहां महिला के देवर दिलशाद अली ने उसका यौन शोषण किया और दूसरे देवर ने महिला की बेटी के साथ गलत हरकत की।

(Dharm Parivartan) ससुरालियों से परेशान होकर अगस्त 2021 में महिला देहरादून आ गई और अपनी बहन के साथ रहने लगी। डालनवाला कोतवाली निरीक्षक एनके भट्ट ने बताया कि आरोपित पति हर्ष चौधरी उर्फ अरशद अली धोट तथा उसके भाई दिलशाद अली व यासीन अली तथा माता-पिता और आरोपित की दूसरी पत्नी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कंपनी में अधिकारी मामा-भांजे पर युवती से अवैध संबंध बनाने व धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) के लिए दबाव बनाने का आरोप

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 7 जून 2022। रुद्रपर की वेगा आटो कंपनी में कार्यरत ट्रांजिट कैंप निवासी एक युवती के साथ सिडकुल रुद्रपुर में दुर्व्यवहार का मामला सामने आया है। युवती ने दूसरे धर्म के प्लांट हेड और सुपरवाइजर पर अवैध संबंध बनाने व धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) करने के लिए के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया है।

(Dharm Parivartan) इंकार करने पर उसे कंपनी से निकाल दिया गया। इससे भड़के हिंदू युवा वाहिनी के लोग पीड़िता के साथ कंपनी पहुंचे और प्रदर्शन किया। कंपनी में हंगामे की सूचना पर पुलिस भी सक्रिय हो गई है।

पीड़िता का कहना है कि वह सिडकुल पंतनगर स्थित वेगा आटो कंपनी में आटो कंपनी में करीब डेढ़ साल से काम करती है। कंपनी का प्लांट हेड और सुपरवाइजर मुस्लिम समुदाय से हैं और रिश्ते में मामा-भांजे हैं।

आरोप है कि दोनों ही लंबे समय से उस पर अवैध संबंध बनाने का दबान बना रहे थे। साथ ही अभद्र और अश्लील बातें भी करते थे। इसका विरोध करने पर कुछ दिनों पहले से धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) करने का दबाव भी बनाने लगे। दो जून को भी उन्होंने युवती पर दबाव बनाया। इंकार करने पर कंपनी में प्रवेश पर नो इंट्री लगा दी गई।

पीड़िता ने बताया कि इसकी शिकायत लेकर वह वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय भी फरियाद लेकर पहुंची, लेकिन उसे सिडकुल पुलिस चौकी भेज दिया गया। जहां उसने दोनों आरोपितों के खिलाफ तहरीर सौंपकर कार्रवाई की मांग की, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई।

(Dharm Parivartan) इसके बाद थक हारकर पीड़िता ने हिंदू युवा वाहिनी के जिला अध्यक्ष को पत्र भेजकर उन्हें पूरी घटना से अवगत कराया। जिसके बाद सैकड़ों कार्यकर्ता कंपनी गेट पर धरना प्रदर्शन् किया और हंगामा किया।

इसका पता चलते ही सीओ सिटी अभय सिंह, थानाध्यक्ष पंतनगर राजेंद्र सिंह डांगी, सिडकुल चौकी प्रभारी पंकज कुमार आदि पुलिस कर्मियों के साथ मौके पर पहुंचे और जानकारी ली। सीओ सिटी अभय सिंह ने बताया कि पीड़िता ने तहरीर दी है।

(Dharm Parivartan) जांच की जा रही है, इसके बाद मामले में मुकदमा दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। वहीं सूत्रों के हवाले पता चला है कि कंपनी के सुपरवाइजर को पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : तलाकशुदा-तीन बच्चों की मां से नाम-धर्म बदलकर-शादी का झांसा देकर दुष्कर्म, अश्लील वीडियो-फोटो वायरल करने की धमकी व 10 लाख रुपए हड़पने के आरोप भी

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 6 जून 2022। हल्द्वानी कोतवाली क्षेत्र में तलाकशुदा तीन बच्चों की मां से एक युवक द्वारा अपना नाम बदलकर और शादी का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाने का मामला सामने आया है। आरोपित ने पीड़िता के अश्लील वीडियो और फोटो बनाकर उन्हें वायरल करने की धमकी भी दी। शिकायत पर पुलिस ने दुष्कर्म सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार कोतवाली क्षेत्र में रहने वाली शिकायतकर्ता महिला के तीन बच्चे हैं, उसका पूर्व पति से तलाक हो चुका है। कुछ वर्ष पूर्व उसकी एक युवक से मुलाकात हुई। उसने अपना नाम सनी आर्या बताया। इसके बाद युवक शादी का झांसी देकर महिला से शारीरिक संबंध बनाने लगा।

(Dharm Parivartan) महिला ने उसके मांगने पर अपने जेवरात बेच कर उसे दस लाख रुपये देने का भी दावा किया है। इसी बीच महिला को कहीं से पता चला कि युवक का असली नाम सन्नू खान है। महिला ने जब युवक से इस बारे में बात की वह उसकी अश्लील फोटो और वीडियो वायरल करने की धमकी देने लगा।

आरोप है कि इधर कुछ दिन पहले उसने महिला के घर जाकर उससे फिर 5 लाख रुपए मांगे, और मना करने पर पिस्टल निकाल ली। किसी तरह उसे वापस लौटाया। कोतवाल हरेन्द्र चौधरी ने बताया कि आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बीए की छात्रा ने जान गंवाकर चुकाई पढ़ाई की जगह प्रेमजाल में फंसने की कीमत, धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) के बाद अब कब्र से निकला कंकाल

प्रेमजाल में फंसाकर करवाया धर्म परिवर्तन, फिर प्रेमिका के साथ किया कुछ ऐसा जानकर काँप उठेगी रूहनवीन समाचार, देहरादून, 5 जून 2022। बीए की छात्रा को अपनी पढ़ाई की जगह एक युवक पर प्रेम के नाम पर भरोसा करने की कीमत अपनी जान गंवाकर चुकानी पड़ी। युवक ने उसे प्रेमजाल में फंसाया, उसका धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) कराया और, कलियर ले जाकर उसकी हत्या कर दी। अब पुलिस ने आरोपित की निशानदेही पर कब्र से युवती का कंकाल निकालकर उसकी डीएनए जांच एवं आगे की कानूनी कार्रवाई प्रारंभ कर दी है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार देहरादून के कैंट क्षेत्र निवासी बीए की छात्रा 2015 में संदिग्ध परिस्थिति में गायब हो गई थी। परिवार वालों की सुचना पर स्थानीय पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर उसकी बहुत तलाश की, लेकिन उसका कुछ पता नही चला है। इस बीच पता चला था कि छात्रा को बनारस के फुलवरिया निवासी शरीफ बहला-फुसलाकर ले गया है। तभी से पुलिस आरोपित शरीफ की तलाश कर रही थी।

इधर 20 मई को आरोपित शरीफ अपने घर पहुंचा तो बनारस पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने पूछताछ की तो शरीफ ने बताया कि वह लड़की को पिरान कलियर ले गया था। वहां पर उसने लड़की का धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) करवाया और दोनों साथ रहने लगे थे।

15 अप्रैल 2021 को उसकी मौत हो गई थी। इस पर उसने शव कलियर के साबरी कब्रिस्तान में दफना दिया था। इस पर पुलिस ने शरीफ पर हत्या का मामला दर्ज कर लिया। इधर शनिवार को बनारस के कैंट थाने के वरिष्ठ उप निरीक्षक इंद्रकांत मिश्रा आरोपित शरीफ को लेकर कलियर पहुंची तथा स्थानीय पुलिस के साथ अदालत के आदेश पर नायब तहसीलदार ललित मोहन पोखरियाल

(Dharm Parivartan) एवं एसओ मनोहर भंडारी, स्वास्थ्य विभाग की टीम के सामने मृतक छात्रा के शव को कब्र से बाहर निकालकर उसके कंकाल के डीएनए जांच हेतु नमूने लिए। एसओ मनोहर सिंह भंडारी ने बताया कि कंकाल को रुड़की सिविल हॉस्पिटल भेज दिया गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : मायके वालों ने ही कर लिया बेटी का ‘अपहरण’

-बर्दास्त नहीं हुआ बेटी का दूसरे धर्म में शादी करना

नवीन समाचार, हरिद्वार, 18 दिसंबर 2021। बेटी ने दूसरे धर्म के युवक से शादी कर ली तो परिजनों को यह बर्दास्त नहीं हो रहा। उन्होंने अपनी बेटी का ही अपहरण कर लिया। इससे पहले बेटी और दामाद उत्तराखंड उच्च न्यायालय से सुरक्षा ले चुके थे, इसलिए मामला बढ़ गया और बेटी के मायके वालों पर कानूनी तलवार लटक गई है। पुलिस ने फिलहाल बेटी को उसके मायके से बरामद कर उसके पति के सुपुर्द कर दिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पिरान कलियर थाने के धनौरी पुलिस चौकी क्षेत्र के एक गांव में अलग-अलग धर्म से संबंध रखने वाले प्रेमी युगल ने कुछ दिन पहले घर से फरार होकर शादी कर ली थी और शादी करने के बाद हाईकोर्ट से सुरक्षा की मांग की थी। इसके बाद दोनों पति-पत्नी के तौर पर कनखल थाना क्षेत्र के पंजनहेड़ी गांव में रहने लगे।

इधर बीते सोमवार को पति-पत्नी और युवक का मौसेरा भाई किसी काम से जमालपुर की ओर गए थे। इस बीच नव विवाहिता के मायके वालों ने उन्हें रोक लिया, और पकड़ कर जबरन गाड़ी में बैठा लिया। पति ने विरोध किया तो सरेराह हंगामा होने लगा, लोगों की भीड़ जमा हो गई। इस बीच पुलिस को दिनदहाड़े अपहरण की सूचना मिली।

हरकत में आई पुलिस टीम ने बाद में नव विवाहिता को सराय क्षेत्र से बरामद कर लिया, और उसे उसके पति को सोंद दिया। बाद में आरोपितों को जगजीतपुर चौकी लाकर जमकर फटकार लगाई गई। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आरोपितों के खिलाफ नव विवाहिता के पति ने शिकायत दी है। उनके खिलाफ जांच कर जरूरत पड़ने पर मामला दर्ज किया जा रहा है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल निवासी नितिन पंत को मौलाना ने दिया था हिंदू लड़कियों का धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) कराने का काम, पुलिस को सोंपी नामजद तहरीर

नवीन समाचार, सहारनपुर यूपी, 24 सितंबर 2021। यूपी एटीएस द्वारा विदेशी फंडिंग के साथ धर्मांतरण के आरोप में गिरफ्तार किये गये मौलाना कलीम सिद्दीकी के खिलाफ नैनीताल निवासी नितिन पंत ने भी पुलिस में नामजद तहरीर सोंपी है।

(Dharm Parivartan) नितिन का कहना है कि कलीम ने ही उसका धर्मांतरण करवाया और उसे इस्लाम के तौर-तरीके सिखाने के साथ उस पर हिंदू लड़कियों का धर्मातरण कराने का काम सोंपा। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : धर्मांतरण की चपेट में आए नैनीताल के युवक की हुई ‘घर वापसी’

नवीन समाचार, सहारनपुर (यूपी), 29 जुलाई 2021। राजस्थान में धर्मांतरण कर अली हसन बनाए गए नैनीताल के तल्लीताल निवासी नितिन पंत नाम के युवक की बुधवार को ‘घर वापसी’ हो गई है। सहारनपुर यूपी में बुधवार को हिंदू धर्म के पुरोहितों ने बजरंग दल के निपुण भारद्वाज के प्रयासों से माथे पर चंदन व तिलक लगाकर उनका ‘शुद्धीकरण’ किया गया।

(Dharm Parivartan) इसके अलावा स्थानीय हिंदूवादी संगठनों के लोग नितिन को लेकर सहारनपुर जनपद के एसएसपी से मिले और उन्हें पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी।

उल्लेखनीय है कि मंगलवार को ‘नवीन समाचार’ के प्रयासों से नैनीताल में नितिन पंत का मामला मुख्यालय सहित प्रदेश में चर्चा में आया, और उसके नैनीताल स्थित मूल आवास की पहचान हुई और बुधवार को सभी समाचार पत्रों में भी यह मुद्दा छाया हुआ है।

विस्तृत समाचार थोड़ी देर में, विस्तृत समाचार के लिए इस लिंक को रिफ्रेश करते रहें। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : धर्मांतरण की चपेट में आए नैनीताल के युवक की हुई पहचान, मुख्यमंत्री से मिलेंगे हिदूवादी..

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 28 जुलाई 2021। आपके प्रिय एवं भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में बुधवार सुबह तल्लीताल के युवक के युवक का धर्मांतरण किए जाने का समाचार पूरे दिन मुख्यालय में पुलिस, अभिसूचना इकाइयों व हिंदूवादी संगठनों के साथ आम लोगों के बीच चर्चा में रहा।

(Dharm Parivartan) पुलिस एवं अभिसूचना इकाइयां युवक की पहचान में जुटी रहीं और आखिर उसकी पहचान भी हो गई, साथ ही युवक से संपर्क भी हो गया। वहीं सहारनपुर यूपी में वह जिन बजरंग दल कार्यकर्ता निपुण भारद्वाज के साथ है, उन्होंने कहा है कि वह इस मामले में प्रेस वार्ता करेंगे और जल्द ही उत्तराखंड आकर यहां के मुख्यमंत्री से भी उसको संरक्षण देने व उसे पुर्नवासित करने की मांग भी करेंगे।

धर्मांतरण की चपेट में आये नितिन पंत (मोबाइल नंबर 7060636906) ने ‘नवीन समाचार’ को बताया कि उसके पिता देवेंद्र प्रसाद पंत का निधन हो चुका है। उनकी तल्लीताल बाजार में दुकान थी। उसके चाचा-ताऊ के बेटे यहां रहते हैं। जबकि उसके अपने बड़े भाई शैलेंद्र पंत अहमदाबाद में व छोटे भानु पंत जिंदल सिंथेटिक पानीपत में हैं।

(Dharm Parivartan) बहन पूजा पांडे सुयालबाड़ी स्थित नवोदय विद्यालय में शिक्षक के पद पर कार्यरत पति के साथ रहती हैं। मुस्लिम धर्म के लोगों के साथ व मुस्लिम धर्म में रहने के कारण उसे अपने भाइयों से कोई सहयोग नहीं मिल रहा है। उसकी शादी भी नहीं हो पाई। क्योंकि उसे मुस्लिम बनाने वाले लोगों ने उससे कहा कि उसके धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम बनने के कारण कोई मुस्लिम लड़की उससे निकाह नहीं करेगी, साथ ही हिंदू लड़की भी सहज रूप में उससे शादी नहीं करेगी।

(Dharm Parivartan) इसलिए वह हिंदू लड़कियों को बहकाकर मुस्लिम बनाने का काम करे। इसके लिए उसे रुपए भी मिलेंगे। उसने उत्तराखंड सरकार पुर्नवास करे। सीएम से मुलाकात करेंगे। वहीं नितिन ने भी हिंदू धर्म में पुर्नवासित किए जाने के लिए मदद की गुहार भी लगाई है। इधर तल्लीताल थाना प्रभारी विजय मेहता ने भी उसकी पहचान होने की बात कही। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : तल्लीताल के युवक का हुआ धर्मांतरण ! पुलिस में शिकायत, हिंदूवादी कराएंगे ‘घर वापसी’

नवीन समाचार, सहारनपुर (यूपी), 28 जुलाई 2021। यूपी के सहारनपुर में नैनीताल निवासी एक युवक का धर्मांतरण किए जाने का मामला सामने आया है। खुद को नैनीताल के तल्लीताल निवासी नितिन पंत पुत्र स्वर्गीय देवेंद्र प्रसाद पंत बताने वाले युवक का कहना है कि उसका राजस्थान में जबरन धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) किया गया।

(Dharm Parivartan) इसके बाद उसे मुजफ्फरनगर व सहारनपुर के नागल क्षेत्र के मदरसों में बंधक बनाकर भूखा रखा गया और प्रताड़ित किया गया। किसी तरह से युवक बचकर सहारनपुर पहुंचा और बजरंगदल के पदाधिकारियों से संपर्क किया। साथ ही एसपी से भी शिकायत की गई है। वह अब अपने घर भी जाना चाहता है। वहीं बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने शुद्धीकरण कराकर उसकी ‘घर वापसी’ कराने की बात कही है।

नैनीताल तल्लीताल निवासी नितिन पंत ने बजरंग दल के स्थानीय कार्यकर्ता निपुण भारद्वाज व बालाजी घाट के संचालक अतुल तुली को बताया कि वर्ष 2010 में वह नौकरी की तलाश में राजस्थान के अलवर जिले के भिवाड़ी गया था। वहां उसे नौकरी तो नहीं पर मुस्लिम समाज के युवक मिले। आरोप है कि वे उसे राजस्थान के मेवात के गांव पंचगावा में ले गए।

(Dharm Parivartan) यहां पर कुछ मौलवियों ने पिस्टल दिखाकर उसका जबरन धर्मांतरण कराया, और उसका नाम बदलकर अली हसन रख दिया गया। इसके बाद उसे एक बंद कमरे में कई दिन तक भूखा रखा गया। उसे नौकरी, मकान व रुपए देने का लालच भी दिया गया था, और उस पर हिंदू समाज की लड़कियों को अपने जाल में फंसाकर धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) कराने का दबाव भी डाला गया था।

वहां उसे इस्लाम धर्म के बारे में शिक्षा दी जाती थी। यदि वह विरोध करता था तो बिजली का करंट दिया जाता था। शुरुआत में उसे सुंदर लड़की से निकाह कराने का लालच दिया गया, लेकिन बाद में मना कर दिया गया। इसके बाद उसे पहले मुजफ्फरनगर के एक मदरसे में और बाद में सहारनपुर के एक मदरसे में भेज दिया गया।

(Dharm Parivartan) किसी तरह से वह यहां से भागकर हिंदू संगठन के लोगों के पास पहुंचा तो एसपी सिटी को तहरीर दी गई। एसपी सिटी राजेश कुमार का कहना है कि मामले की जांच कराई जा रही है। जल्द ही मुकदमा दर्ज किया जाएगा। (डॉ.नवीन जोशी)  आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

‘नवीन समाचार’ पर पूर्व में प्रकाशित धर्म परिवर्तन (Dharm Parivartan) से संबंधित समाचारों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave a Reply

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :

 - 
English
 - 
en
Gujarati
 - 
gu
Kannada
 - 
kn
Marathi
 - 
mr
Nepali
 - 
ne
Punjabi
 - 
pa
Sindhi
 - 
sd
Tamil
 - 
ta
Telugu
 - 
te
Urdu
 - 
ur

माफ़ कीजियेगा, आप यहाँ से कुछ भी कॉपी नहीं कर सकते

नये वर्ष के स्वागत के लिये सर्वश्रेष्ठ हैं यह 13 डेस्टिनेशन आपके सबसे करीब, सबसे अच्छे, सबसे खूबसूरत एवं सबसे रोमांटिक 10 हनीमून डेस्टिनेशन सर्दियों के इस मौसम में जरूर जायें इन 10 स्थानों की सैर पर… इस मौसम में घूमने निकलने की सोच रहे हों तो यहां जाएं, यहां बरसात भी होती है लाजवाब नैनीताल में सिर्फ नैनी ताल नहीं, इतनी झीलें हैं, 8वीं, 9वीं, 10वीं आपने शायद ही देखी हो… नैनीताल आयें तो जरूर देखें उत्तराखंड की एक बेटी बनेंगी सुपरस्टार की दुल्हन उत्तराखंड के आज 9 जून 2023 के ‘नवीन समाचार’ बाबा नीब करौरी के बारे में यह जान लें, निश्चित ही बरसेगी कृपा नैनीताल के चुनिंदा होटल्स, जहां आप जरूर ठहरना चाहेंगे… नैनीताल आयें तो इन 10 स्वादों को लेना न भूलें बालासोर का दु:खद ट्रेन हादसा तस्वीरों में नैनीताल आयें तो क्या जरूर खरीदें.. उत्तराखंड की बेटी उर्वशी रौतेला ने मुंबई में खरीदा 190 करोड़ का लक्जरी बंगला नैनीताल : दिल के सबसे करीब, सचमुच धरती पर प्रकृति का स्वर्ग