Astha Crime

उत्तराखंड की युवती से धर्म परिवर्तन का दबाव बनाते हुए उत्पीड़न की हदें कीं पार… शादी का झांसा देकर दुष्कर्म किया, गर्भपात कराया, प्रतिबंधित मांस खिलाया, देह-व्यापार में धकेला…

नवीन समाचार, बरेली, 28 जनवरी 2023। उत्तराखंड निवासी एक युवती के साथ झूठे प्यार के नाम पर एक विधर्मी युवक ने वह सब किया जिसकी कोई भी धर्म इज़ाज़त नहीं देता। आरोपित ने जैसे किसी धर्म-विद्वेष से युवती से पहले स्वयं शादी का झांसा देकर दुष्कर्म किया, फिर धोखे से प्रतिबंधित मांस खिलाया। उसका गर्भपात कराया, उसकी अश्लील वीडियो बनाई और इसे वायरल करने की धमकी देकर उस पर धर्म परिवर्तन करने का दबाव भी बनाया। यही नहीं उससे देह व्यापार भी कराया गया।

UP: बरेली में धर्म परिवर्तन का मामला, महिला ने मुस्लिम युवक पर लगाया रेप का  आरोप – News18 हिंदीपुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तराखंड के जिला ऊधमसिंह नगर की रहने वाली युवती ने बताया कि वह काम के सिलसिले में बरेली आती थी। इसी दौरान भोजीपुरा के पचदौरा डोहरिया गांव निवासी जमील से उसकी जान-पहचान हो गई। एक दिन जमील उसे बातों में फंसाकर भोजीपुरा लेकिन गया और कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ पिलाकर उससे दुष्कर्म किया। विरोध करने पर शादी का झांसा दिया। गर्भवती हुई तो दवा देकर गर्भपात करा दिया। युवती का आरोप है कि आरोपित ने अपने दोस्तों से भी उससे दुष्कर्म करवाया। आरोपित उसे अपने दोस्तों से पत्नी बताकर मिलवाता था। बाद में वह उसके साथ देह व्यापार भी कराने लगा। यह भी आरोप लगाया कि आरोपित ने उसे धोखे से प्रतिबंधित मांस खिलाया। उसकी अश्लील वीडियो बनाई और इसे वायरल करने की धमकी देकर उस पर धर्म परिवर्तन करने का दबाव भी बनाया। 

पीड़िता कि शिकायत पर बरेली कि भोजीपुरा पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : लिव-इन में डेढ़ वर्ष से साथ रखकर तीन बार किया गर्भवती, अब निकाह के लिए बना रहा धर्मांतरण का दबाव, उत्तराखंड में भी दून-मुंबई जैसी घटनाओं की थी तैयारी !

नवीन समाचार, देहरादून, 21 जनवरी 2023। बिना शादी किए ‘लिव-इन’ में युवक-युवती के साथ रहने का हश्र दिल्ली व मुंबई के चर्चित मामलों में सभी देख रहे हैं, लेकिन लड़कियां जैसे अब भी समझने को तैयार नहीं हैं। अब दिल्ली की एक युवती ने देहरादून के लिव-इन पार्टनर पर दुष्कर्म करने और दो बार गर्भपात कराने के बाद तीसरी बार भी गर्भपात करने और अपने भाई व पिता के साथ मिलकर कई बार उस पर धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाने के साथ का आरोप लगाया है। पीड़िता के इन्कार करने पर आरोपित उसे छोड़कर चला गया है। पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। यह भी पढ़ें : उधार दिए पांच हजार रुपए वापस लेने के ऐवज में पत्नी से की छेड़छाड़, विरोध करने पर की मारपीट…

नई दिल्ली के तिलकनगर क्षेत्र की रहने वाली पीड़िता ने पटेलनगर थाने में लिखित तहरीर देकर बताया है कि वह पिछले करीब डेढ़ साल से नौशाद कुरैशी के साथ संस्कृति लोक कालोनी देहरादून में लिव-इन में रह रही है। उसने आरोप लगाया है कि नौशाद ने उससे शादी का वादा किया था। इसके लिए उसने उसे अपने साथ किराये के कमरे में रखा। वह बार-बार शादी का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म करता रहा। लेकिन, जब भी वह शादी के लिए कहती है तो नौशाद उसे टाल देता है। आरोप है कि वह तीन गर्भवती हो चुकी है। इस पर दो बार वह मारपीट कर गर्भपात करा चुका है, और अब तीसरी बार गर्भवती होने भी भी उस पर गर्भपात का दबाव बना रहा था। यह भी पढ़ें : पूर्व विधायक के पूर्व नौकर की संदिग्ध परिस्थितियों में पुलिस हिरासत में मौत…

पीड़िता ने कहा कि वह आरोपित के घर गई तो वहां उसके भाई शाहनवाज और पिता जाहिर कुरैशी ने उसने गाली गलौच की और उस पर निकाह करने के लिए धर्म बदलने करने का दबाव बनाया। इंस्पेक्टर पटेलनगर सूर्यभूषण नेगी ने बताया कि पीड़िता की शिकायत पर तीनों आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आरोपित नौशाद को लालपुल के पास से गिरफ्तार कर लिया और न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया है। पीड़िता वर्तमान में तीन माह की गर्भवती है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कबाड़ी महिला के साथ उसकी तीन बेटियों को भगा ले गया, अब बच्चियों का धर्म परिवर्तन कराने का आरोप…

नवीन समाचार, देहरादून, 8 जनवरी 2023। एक कबाड़ी पहले एक तीन बेटियों की मां को बेटियों सहित झांसे में लेकर भगा ले गया। अब आरोपों के अनुसार उसने महिला की तीन नाबालिग बेटियों का धर्मांतरण करा कर उन्हें मदरसे में दाखिल करा दिया है। इस मामले में बच्चियों की नानी की तहरीर पर धर्मांतरण कराने के आरोपित के खिलाफ नेहरू कॉलोनी थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। यह भी पढ़ें : पूरी रात जलता रहा मकान, सुबह पता चला, कई मवेशी जिंदा जले…

नेहरू कॉलोनी थाने के थानाध्यक्ष लोकेंद्र बहुगुणा ने बताया कि थाना क्षेत्र निवासी एक बुजुर्ग महिला ने तहरीर देकर कहा है कि उसकी एक बेटी की शादी दून में रहने वाले सोनू वर्मा नाम के लड़के से हुए। जिससे बेटी की तीन पुत्रियां जन्मीं। इनमें सबसे बड़ी आठ, दूसरी छह और तीसरी तीन वर्ष की है। दंपति में विवाद होने पर तीनों बच्चियों संग उनकी बेटी एक साल पहले मायके आकर रहने लगी। यह भी पढ़ें : पूर्व विधायक ने बदल दिया अपना और अपनी पत्नी का नाम, वजह खास….

आरोप है कि यहां हाशिम नाम का कबाड़ी निवासी नयागांव नेहरू कॉलोनी आता-जाता है। वह उसकी बेटी के संपर्क में आया। पिछले साल वह बेटी और उसकी तीन पुत्रियों को अपने साथ ले गया। अब बुजुर्ग महिला को पता लगा है कि उसकी नातिनों का धर्मांतरण कर उनका दाखिल जिला बिजनौर के चांदपुर स्थित मदरसे में करा दिया गया है। यह भी पढ़ें : आंगनबाड़ी और आशा कार्यकत्रियों की सेवा समाप्त, आठ माह के बच्चे का अपहरण कर उसे बेचने का मामला….

जानकारी होने पर बुजुर्ग महिला अपनी नातिनों को लेकर दून आई। इस दौरान विवाद भी हुआ। यहां आकर उन्होंने धर्मांतरण और मारपीट को लेकर हाशिम के खिलाफ तहरीर दी। तहरीर पर पुलिस ने हासिम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें : जालसाजी कर हिंदू रीति-रिवाज से की शादी, लेकिन शादी के बाद पवन निकला सलीम…

भगोड़ी दुल्‍हन से पीडि़त यूपी के युवक ने भभुआ में किया FIR, विवाह के नाम पर  जालसाजी करनेवाले सगे भाई गिरफ्तार - UP youth victimized by runaway bride,  filed FIR in Bhabhua,नवीन समाचार, बाजपुर, 17 दिसंबर 2022। बाजपुर में नाम बदलकर दूसरे धर्म की युवती से शादी करने व असलियत सामने आने के बाद उसकी पिटाई कर घर से निकालने का मामला सामने आया है। मामले में पीड़िता की मां ने कोतवाली में तहरीर दी है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड ने रणजी ट्रॉफी में कर दिया कमाल का प्रदर्शन….

भाजपा नेता विमल शर्मा के साथ कोतवाली पहुंची ग्राम खमरिया निवासी महिला ने तहरीर देकर कहा है कि वह मेहनत-मजदूरी करके अपना व अपने परिवार का भरण पोषण करती है। पूर्व में वह बेरिया रोड स्थित एक पोल्ट्री फार्म में कार्य करती थी। वहीं पर एक महिला ने खुद को हिंदू और खुद का नाम सेफाली बताते हुए उसकी पुत्री का रिश्ता अपने पुत्र पवन के लिए मांगा। आरोप है कि मना करने के बाद भी उसे झांसे में लेकर अपने पुत्र का विवाह उसकी पुत्री के साथ 11 अक्टूबर 2021 को हिंदू रीति रिवाज से किया गया। यह भी पढ़ें : गजब हाल : जिला कार्यकारिणी नैनीताल की, नैनीताल का एक भी पदाधिकारी नहीं, आधे एक विधानसभा के और …

विवाह बाद जब किसी कार्य से उसका आधार कार्ड देखा गया तो पवन बना युवक वास्तव में सलीम पुत्र मो.सोनू उर्फ आजाद निवासी ग्राम सैंडखेड़ा काशीपुर और महिला का वास्तविक नाम आमना निकला। उनके बैंक खाते में भी यही नाम व पता अंकित था। यह देखकर उसे अपने साथ हुई जालसाजी का अहसास हुआ। आरोप है कि जब धर्म छुपाने के बारे में पूछा गया तो गाली-गलौज की गई तथा उसकी पुत्री को पीट कर घर से निकाल दिया। पुलिस ने महिला की तहरीर पर जांच शुरू कर दी है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : यहां साईन ने नीलम बनकर मनोज संग लिए सात फेरे

Shade Ke Phare शादी के उलटे फेरे का राज जानेंगे तो कसम से हैरान रह जाएंगेनवीन समाचार, दिसंबर, 16 दिसंबर 2022। हिंदू धर्म की लड़कियो के नाम-धर्म बदलकर दूसरे धर्म मे शादी करने के मामले अक्सर सामने आते हैं, लेेिकन इधर सितारगंज की साईन नाम की लड़की के सनातन हिंदू धर्म स्वीकार कर नीलम बनने का मामला प्रकाश में आया है। साइन ने बीते गुरुवार को हिंदू रीति-रिवाज से अग्नि को साक्षी मानकर मनोज के साथ सात फेरे लिए। इस मौके पर समाज के अनेक संभ्रांत लोग भी उनकी खुशी में भागीदार बने। यह भी पढ़ें : गजब हाल : जिला कार्यकारिणी नैनीताल की, नैनीताल का एक भी पदाधिकारी नहीं, आधे एक विधानसभा के और आधे से अधिक एक नगर मंडल के….

साईन ने बताया कि वह पड़ोस में रहने वाले मनोज को पसंद करतीे थी। दोनों साथ पढ़ाई-लिखाई करते थे और कई मौके पर एक-दूसरे के सहयोगी भी बने। ऐसे में उनकी नजदीकी बढ़ती गई। दोनों ने अपने परिजनों को अपने रिश्ते की जानकारी दी। लेकिन अलग संप्रदाय के होने के कारण बड़े-बुजुर्ग शादी के लिए राजी नहीं हुए। दोनों ने अपनों को मनाने की तमाम कोशिश की। लेकिन सफलता नहीं मिली। इस पर साईन और मनोज मजहबी बंदिशों को तोड़ घर से निकल गए। यह भी पढ़ें : लिव-इन साथी महिला अपने ही अंतरंग पलों के वीडियो से शिक्षक को एक करोड़ के लिए कर रही ब्लेकमेल, फ्लैट पर भी कर लिया कब्जा

बाद में उनकी खोजबीन शुरू हुई। किसी तरह दोनों को समझा-बुझाकर घर लाया गया। लेकिन साईन मनोज के साथ ही रहने की जिद पर अड़ी रही। इसके बाद पूर्व व्यापार मंडल अध्यक्ष संजय गोयल और हरीश दुबे ने दोनों परिवारों को समझाया। गुरुवार को शहर के खटीमा मार्ग स्थित मौनी बाबा मंदिर में साईन ने सनातन धर्म स्वीकार कर अपना नाम नीलम रखा और मंदिर में अग्नि को साक्षी मानकर मनोज के साथ सात फेरे लिए। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नोएडा में धर्म-नाम पहचान छुपाकर कर रहा था उत्तराखंड की युवती से शादी, शादी के दिन ही पहुंचा सलाखों के पीछे…

UP: बरेली में धर्म परिवर्तन का मामला, महिला ने मुस्लिम युवक पर लगाया रेप का  आरोप – News18 हिंदीनवीन समाचार, नोएडा, 14 दिसंबर 2022। उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा इलाके में धर्म और पहचान छिपाकर उत्तराखंड की रहने वाली एक युवती को अपने प्रेम जाल में फंसाने, उसके साथ बलात्कार करने तथा धर्म परिवर्तन और विवाह के लिए दबाव बनाने का मामला सामने आया है। दिलचस्प बात यह भी है कि पीड़ित युवती और आरोपी की सोमवार को ही शादी होनी थी, लेकिन इससे पहले ही पीड़िता को उसके इरादों का भान हो जाने से इसी दिन उसके मंशूबों को ध्वस्त कर दादरी थाना पुलिस ने 23 वर्षीय आरोपित युवक को गिरफ्तार कर लिया है। यह भी पढ़ें : अब अंकिता हत्याकांड के मुख्य आरोपित पुलकित आर्य के पिता पर लगा घिनौना आरोप…

थाना दादरी के प्रभारी निरीक्षक उमेश बहादुर सिंह ने बताया कि उत्तराखंड की रहने वाली पीड़ित युवती ने शिकायत दर्ज कराई थी कि वह सूरजपुर स्थित एक निजी कंपनी में काम करती है और वहीं पर उसे आशीष ठाकुर नाम का एक लड़का मिला। युवती ने बताया कि आशीष ठाकुर ने खुद को हिंदू बताया था और इसके बाद दोनों के बीच दोस्ती के बाद प्यार हो गया और शारीरिक संबंध भी बन गए। यह भी पढ़ें : ‘अपने मुंह खुद मियां मिट्ठू’ हुए हल्द्वानी के व्लॉगर सौरभ जोशी, बोले, उनकी वजह से हल्द्वानी, उत्तराखंड व इंडिया ट्रेंड हो रहे हैं…

पीड़ित युवती ने पुलिस को दी शिकायत में कहा है कि आशीष ने एक दिन दुष्कर्म के बाद उसकी अश्लील वीडियो बना ली। इसके तीन महीने के बाद युवती को पता चला कि आशीष का का असली नाम हसीन सैफी है और वह मुस्लिम है। इसके बाद वह पुलिस थाने गई और आरोपित आशीष ऊर्फ हसीन सैफी के खिलाफ पुलिस में तहरीर दी। यह भी पढ़ें : अंकिता हत्याकांड में आरोप पत्र तैयार, न्यायालय में पेश करने की तिथि भी तय, पैरवी के लिए विशेष अधिवक्ता होगा नियुक्त…

थाना प्रभारी ने बताया कि इस मामले में दादरी थाने में पीड़िता की शिकायत के आधार पर भारतीय दंड संहिता की धारा 376 तथा उत्तर प्रदेश गैरकानूनी धर्मांतरण रोकथाम अध्यादेश के प्रावधानों के तहत मुकदमा दर्ज किया गया, और सोमवार को आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने यह भी बताया कि पीड़ित युवती और आरोपित की गिरफ्तारी के दिन सोमवार को ही शादी होनी थी। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं मंडल में उत्तराखंड धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम के तहत पहला मामला हुआ दर्ज

नवीन समाचार, रामनगर, 13 दिसंबर 2022। नाम बदलकर युवती से दोस्ती और फिर दुष्कर्म के बाद धर्म परिवर्तन के लिए दबाव बनाने के मामले में उत्तराखंड धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम 2018 के तहत उत्तराखंड के कुमाऊं मंडल में पहला मामला दर्ज हुआ है। पुलिस ने नगर की एक पीड़ित युवती की तहरीर पर आरोपित सहित पांच लोगों पर धर्मांतरण के लिए दबाव बनाने सहित अन्य धाराओं में अभियोग दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस के मुताबिक कुमाऊं में दर्ज यह पहला मुकदमा है। यह भी पढ़ें : गरीब बेटी ने सरकारी कोटे से निकाली मेडिकल की सीट, फीस के लिए मदद की गुहार

कोतवाल अरुण कुमार सैनी ने बताया कि क्षेत्र निवासी एक युवती ने पुलिस को तहरीर देकर आरोप लगाया है कि नगर के बंबाघेर निवासी साकिब सैफी नाम के युवक ने खुद को शिव ठाकुर बताकर यानी नाम-धर्म बदलकर उसके साथ दोस्ती की और दुष्कर्म किया। जब उसे साकिब की असलियत पता चली तो उसने विरोध किया। आरोप है कि युवक ने उसे पीटा और जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद साकिब ने अपने दोस्तों से उसकी बहन का भी पीछा करवाया। तहरीर में बताया कि आरोपित के परिजन भी उस पर धर्म परिवर्तन का दबाव बना रहे हैं। यह भी पढ़ें : शोध छात्र ने छात्राओं को उपलब्ध कराई मासिक धर्म की जानकारी, सैनेटरी पैड भी बांटे

कोतवाल ने बताया कि तहरीर के आधार पर पुलिस ने साकिब सैफी ऊर्फ शिव ठाकुर और उसके परिवार के सबा, यूनुस, राहिला और गजाला के खिलाफ धारा भारतीय दंड संहिता की धारा 323, 354, 354डी, 376, 504 व 506 और उत्तराखंड धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम 2018 के तहत मुकदमा दर्ज किया है। बताया कि आरोपित की ओर से भी तहरीर दी गई है जिसमें युवती पर भी शादी के लिए धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाने और प्रताड़ित करने का भी आरोप लगाया है। सीओ बलजीत सिंह भाकुनी ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग: भगत सिंह कोश्यारी ने की इस्तीफे की पेशकश ! चहुंओर से हो रही आलोचनाओं की स्थिति में केंद्रीय गृह मंत्री से मांगा परामर्श…

इधर, कुमाऊं परिक्षेत्र के डीआईजी डॉ. नीलेश आनंद भरणे का कहना है कि अभी नए धर्मांतरण से जुड़ा कोई भी शासनादेश प्राप्त नहीं हुआ है। इसलिए इस मामले को फिलहाल धर्मांतरण के तहत नहीं गिना जा सकता। आदेश आने के बाद नए नियम के अनुसार कार्रवाई होगी। जबकि एसएसपी पंकज भट्ट का कहना है कि उत्तराखंड धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम की धारा 3 में रिपोर्ट दर्ज की गई है। हालांकि इसे धर्मांतरण नहीं बल्कि धर्मांतरण के लिए दबाव की श्रेणी में रखा जा सकता है। जांच के बाद अधिनियम के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने के बाद युवती को जबरन धर्म परिवर्तन न करने पर अश्लील फोटो वायरल करने की धमकी

नवीन समाचार, हरिद्वार, 10 दिसंबर 2022। मध्यप्रदेश की एक युवती ने एक स्थानीय युवक पर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने और अश्लील फोटो खींचने तथा धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाने के आरोप लगाए हैं। आरोप है कि आरोपित ने विरोध करने पर जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए गाली-गलौज की। पुलिस ने युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड के दामाद बनने जा रहे हैं ‘मामाजी’, फिल्मी कलाकारों का लगा जमावड़ा…

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार मध्यप्रदेश के नीमच थाना क्षेत्र निवासी युवती ने पुलिस को बताया कि वर्ष 2021 में वह नौकरी की तलाश में उत्तराखंड आई थी। रानीपुर कोतवाली क्षेत्र स्थित पतंजलि योगग्राम में उसकी मुलाकात सोनू राजपूत नाम के युवक से हुई थी। युवक ने उसकी नौकरी पतंजलि योगग्राम में कॉल सेंटर में लगवा दी थी। इसके बाद दोनों में मोबाइल पर बातचीत होने लगी। बाद में युवक ने अपना नाम फरमान निवासी राजपुर, रानीपुर कोतवाली बताया। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड : कई आईएएस व पीसीएस अधिकारियों के दायित्वों में फेरबदल…

इसके बाद युवक 23 मार्च 2021 को उसे कलियर स्थित एक होटल में लेकर गया। वहां शादी का झांसा देकर उससे दुष्कर्म किया और मोबाइल से अश्लील फोटो खींच लिए। इसके बाद वह चार माह तक फरमान के साथ रही। शादी का दबाव बनाया तो फरमान ने मारपीट की और जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया। साथ ही फरमान ने उस पर जबरन धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाया। यह भी पढ़ें : 11 साल के बच्चे के अपहरण की सूचना से मचा रहा हड़कंप, पर खुलासा हुआ तो ऐसा कि कोई सोच भी नहीं सकता था…

ऐसा नहीं करने पर अश्लील फोटो वायरल करने की धमकी दी। डरकर वह अपने घर चली गई और परिजनों को आपबीती सुनाई। इसके बाद वह मां के साथ नीमच कैंट थाना, जिला नीमच मध्यप्रदेश गई और प्राथमिक सूचना दी। वहां पर शून्य में केस दर्ज कर घटनास्थल कलियर का होने के कारण नीमच से प्राथमिकी कलियर थाने भेजी गई। यह भी पढ़ें : 8 माह का बच्चा गायब, शनिदान मांगने वाले साधु पर शक….

सीओ पल्लवी त्यागी ने बताया कि तहरीर के आधार पर युवक के खिलाफ दुष्कर्म, एससीएसटी समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है। पीड़ित को कलियर बुलाकर बयान दर्ज कराए जाएंगे। उधर, एसपी देहात स्वप्न किशोर सिंह ने बताया कि युवती ने शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है जिसमें कार्रवाई की गई है। धर्म परिवर्तन के लिए दबाव बनाने के मामले की भी जांच की जा जाएगी। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : तो कुमाऊं मंडल के दौरे पर आएंगे प्रधानमंत्री मोदी, पुराने जबरन धर्मांतरण के मामलों में भी होगी कार्रवाई…

#DharmRakshakDhami Photo,#DharmRakshakDhami Photo by Surbhi Choudhary,Surbhi Choudhary on twitter tweets #DharmRakshakDhami Photo

नवीन समाचार, देहरादून, 8 दिसंबर 2022। उत्तराखंड में जबरन मतांतरण के पुराने मामलों में भी अब नए कानून के तहत कार्रवाई होगी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मीडिया से अनौपचारिक बातचीत में कहा कि सरकार ने राज्य में हुए ऐसे मामलों के संबंध में रिपोर्ट मांगी गई है।इसका अध्ययन करने के बाद कार्रवाई की जाएगी। यह भी पढ़ें : मॉल में चल रहे स्पा सेंटर में सेक्स रैकेट का खुलासा, दूसरे राज्य के ग्राहकों के साथ दो महिलाओं सहित पांच गिरफ्तार

इसके साथ ही सीएम धामी ने बताया कि वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भगवान भोलेनाथ के धाम कैलाश पर्वत के साथ नारायण आश्रम व मायावती आश्रम सहित अनेक धार्मिक महत्व के स्थलों के कुमाऊं मंडल के स्थलों का दौरा करने के लिए आग्रह करेंगे। यह भी पढ़ें : काबीना मंत्री के निजी सचिव व विभागाध्यक्ष के खिलाफ मुकदमा दर्ज…

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने हाल में जबरन मतांतरण पर 10 साल की सजा का प्राविधान करने के साथ ही जुर्माना राशि भी बढ़ाते हुए संबंधित कानून को सख्त करने के लिए विधेयक विधानसभा के शीतकालीन सत्र में पारित कराया है। जो भी इस प्रकार के कृत्य करेगा, उसके विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के कुमाऊं क्षेत्र के आगमन से यह क्षेत्र भी देश और विश्व का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करेंगे। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : सोशल मीडिया पर ट्रेंड हुआ #DharmRakshakDhami

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 2 दिसंबर 2022। उत्तराखंड सरकार को समान नागरिक संहिता लागू करने के अपने पहले चुनावी वादे को लागू करने में जहां इंतजार करना पड़ रहा है। करीब ढाई लाख सुझाव आने के बाद सरकार ने समान नागरिक संहिता का प्रारूप तैयार करने के गठित समिति का कार्यकाल छः माह बढ़ा दिया है, वहीं इससे पहले धर्मांतरण कानून लाकर प्रदेश के मुख्यमंत्री सोशल मीडिया पर छा गए हैं। यह भी पढ़ें : 8 की छुट्टी की तिथि में हुआ बदलाव

भले धामी और उनकी सरकार की ओर से इस मुद्दे पर अधिक कुछ भी न बोला गया हो, लेकिन इसके बाद सोशल मीडिया पर धामी के समर्थक बढ़ गए हैं और हैशटैग ‘धर्मरक्षक धामी’ ट्रेंड हो गया है। लोग इस हैशटैग पर मुख्यमंत्री धामी की तरह-तरह से प्रशंसा कर रहे हैं। यह भी पढ़ें : छात्रा से अपहरण कर रात भर में कई बार दुष्कर्म…

एक उपयोक्ता ने लिखा है, ‘धामी ने दिखाया दम, काम ज्यादा बातें कम, प्यार की आड़ में चल रहे धर्मांतरण पर कड़ा वार’, तो अन्य ने ‘धर्मांतरण व लव जिहादियों की दुकान पर धाकड़ धामी ने लगाया ताला’, पुष्कर धामी के अमोघ बाण का प्रहार, जबरन धर्मांतरण पर पहुंचाए सीधे कारागार, धर्मांतरण पर धामी का अचूक प्रहार, प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में आगे बढ़ रही है धामी सरकार जैसे कई पोस्टर भी बनाए गए हैं। यह भी पढ़ें : बच्चों के साथ बड़े भी आए सकते में, बच्चे जिसे ‘पूसी’ कहकर खेल रहे थे, उसकी सच्चाई पता चली तो उड़े होश….

उनकी तारीफ करने वालों में सभी धर्मों के लोग भी नजर आ रहे हैं, जबकि कई पोस्ट्स में लोग धामी की मिसाल देते हुए अन्य राज्यों से भी इसी तरह की पहल करने को कह रहे हैं। जबकि अन्य ने ‘धर्म परिवर्तन पर रोक के लिए धामी सरकार का चला चाबुक। विधानसभा ने पास किया कानून। धर्म की रक्षा को प्रतिबद्ध धामी सरकार, धर्मांतरण कानून लाकर मुख्यमंत्री @pushkardhami उत्तराखण्ड के अब तक के सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री बन गए हैं, मुख्यमंत्री @pushkardhami जी द्वारा लाया गया धर्मांतरण पर कानून सराहनीय है इससे उत्तराखंड वाकई में देवभूमि बन जाएगा।’ जैसी बातें भी लिखी हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड विधानसभा में धर्म परिवर्तन विधेयक पेश, जानें क्या हैं प्राविधान…

मुख्य पृष्ठ: उत्तराखण्ड विधान सभानवीन समाचार, देहरादून, 30 नवंबर 2022। उत्तराखंड में यदि कोई व्यक्ति स्वेच्छा से धर्म परिवर्तन करना चाहेगा तो उसे दो माह के भीतर जिलाधिकारी को अर्जी देनी होगी। साथ ही अर्जी देने के 21 दिन के भीतर उसे डीएम के समक्ष पेश भी होना पड़ेगा। डीएम की ओर से धर्म परिवर्तन करने वाले व्यक्ति की पूरी जानकारी सूचना पट्ट पर प्रदर्शित की जाएगी। जबकि यदि किसी व्यक्ति का जबरन धर्मांतरण किया जाता है तो इसकी शिकायत केवल वही व्यक्ति नहीं, बल्कि कोई भी व्यक्ति इसकी शिकायत दर्ज कर सकता है। यह भी पढ़ें : पुलिस को देखकर भागने लगीं दो महिलाएं, दौड़कर पकड़ा तो..

इसके इतर यदि कोई व्यक्ति धर्म परिवर्तन के उपरांत अपने ठीक पूर्व धर्म में परिवर्तन करता है यानी वापस लौटता है तो उसे कानून में धर्म परिवर्तन नहीं समझा जाएगा। ठीक पूर्व धर्म का मतलब उस धर्म से है जिसमें उस व्यक्ति की आस्था व विश्वास पहले से था और जिसके लिए वह स्वेच्छा व स्वतंत्र रूप से अभ्यस्त था। यह भी पढ़ें : 17 वर्ष की नाबालिग की मजबूरी का फायदा उठाकर रोज करता रहा दुष्कर्म, मिली उम्रकैद की सजा….

प्रदेश में जबरन धर्मांतरण के मामलों को रोकने के लिए सरकार ने उत्तराखंड धर्म स्वतंत्रता (संशोधन) विधेयक 2022 को सदन पटल पर रख दिया है। इस विधेयक में जबरन धर्मांतरण पर सख्त सजा और जुर्माने का प्रावधान किया जा रहा है। कानून अस्तित्व में आते ही जबरन धर्मांतरण गैर जमानती अपराध होगा। यह भी पढ़ें : छात्र को शराब पिलाकर नग्न किया और नग्नावस्था में बनाई अश्लील वीडियो, अब मांग रहे हजारों रुपए, मामला दर्ज

एक व्यक्ति के धर्मांतरण पर 2 से 7 साल की सजा हो सकती है और 25 हजार जुर्माना भी देना होगा। जबकि सामूहिक धर्मांतरण का दोष साबित होने पर 3 से 10 साल की सजा और 50 हजार रुपए जुर्माना देना पड़ेगा। पीड़ितों को न्यायालय के माध्यम से पांच लाख रुपये की प्रतिपूर्ति की जाएगी। कानून अस्तित्व में आते ही प्रदेश में धर्मांतरण का कानून अब संज्ञेय व गैर जमानती अपराध की श्रेणी में आएगा। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड ब्रेकिंग-अभी-अभी: राज्य सरकार के धर्मांतरण कानून में सख्ती की पहल के बीच एक चर्च में किया जा रहा था हिंदुओं का धर्मांतरण ! हुआ हंगामा..

Thumbnail imageनवीन समाचार, देहरादून, 20 नवंबर 2022। धामी मंत्रिमंडल द्वारा गत दिवस उत्तराखंड में धर्मांतरण पर कठोर कानून लाने का प्रस्ताव पारित होने की पृष्ठभूमि में राज्य की राजधानी देहरादून में धर्मांतरण के आरोप में रविवार देर शाम जमकर हंगामा हुआ है। आरोप है कि यहां एक चर्च में 60 से ज्यादा हिन्दुओं का पैसे और जमीन का लालच देकर धर्मांतरण किया जा रहा है। यह भी पढ़ें : अब पता चला, नैनीताल में कोहली को क्या सबसे अधिक पसंद आया.. धूप ?

इस सूचना पर रविवार को देहरादून पुलिस ने इसी रोड स्थित चर्चा पर दबिश दी। वहां पर 50 से 60 लोग धर्मांतरण के खेल में लगे होने की बात कही जा रही है। पुलिस कई लोगों को उठाकर आराघर चौकी में लाकर पूछताछ कर रही है। पकड़े लोग अभी कुछ बता नहीं रहे हैं। उनका कहना है कि हम लोग खुद अपनी मर्जी से धर्म परिवर्तन करके यहां प्रार्थना करने के लिए आए थे। यह भी पढ़ें : सुबह का विचारणीय समाचार : शिक्षक के विरुद्ध बच्चे को सजा के तौर पर दंड बैठक व मैदान के चक्कर लगवाने पर मुकदमा दर्ज

स्थानीय लोगों का कहना है कि यहां पर काफी दिनों से लोगों का आने-जाने का सिलसिला जारी है। यहाँ रवि फ्रांसिस नाम के व्यक्ति की अगुवाई में कई लोग धर्म परिवर्तन के कार्य में लंबे समय से लगे हुए हैं। वहीं पुलिस इस मामले में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। यह भी पढ़ें : हल्द्वानी : पटरी पर दो टुकड़ों में कटी मिली 27 वर्षीय युवक कि लाश, प्रेम प्रसंग कि सम्भावना…

मामले में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट का कहना है कि देवभूमि में इस तरह की कृत को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जो लोग इस तरह के खेल में शामिल हैं, उन्हें बेनकाब किया जाएगा। उन्होंने मुख्यमंत्री से भी अपील की है कि इस तरह के लोगों को चिन्हिृत कर दंडित किया जाए। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : तो कांग्रेस का हाथ-धर्मांतरण कराने वालों के साथ…! अध्यक्ष की आपत्ति ‘चोर की दाढ़ी में तिनका’ ?

हरियाणा: शादी और जायदाद का लालच देकर कराया धर्म परिवर्तन, देवी-देवताओं के  बारे में कहीं ये बातें - Gurgaon Newsनवीन समाचार, देहरादून, 17 नवंबर 2022। भाजपा ने धर्मान्तरण कानून में संशोधन को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की आपत्ति को ‘चोर की दाढ़ी में तिनका’ जैसी मंशा वाला बताया है। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता सुरेश जोशी ने आरोप लगाते हुए कहा, देवभूमि में जबरन धर्मान्तरण पर रोक लगाने वाले सख्त कानून का विरोध करना साबित करता है कि कांग्रेस का हाथ है धर्मांतरण कराने वालों के साथ है। यह भी पढ़ें : आखिर सही साबित हुए विराट कोहली के बारे में संभावना, किए बाबा नीब करौरी के कैंची धाम

श्री जोशी ने गुरुवार को बयान जारी करते हुए कहा कि राज्य निर्माण से पहले से ही प्रदेश में मिशनरी व कट्टर अल्पसंख्यक लोगों व संस्थाओं द्वारा जबरन या प्रलोभन से धर्म परिवर्तन की घटनायें सामने आती रही हैं, जिस पर भाजपा के शासनकालों में कड़ी कार्रवाई की गयी। इस प्रकार के प्रकरणों पर रोक लगाने व धर्मान्तरण की गैरकानूनी गतिविधियों में लिप्त लोगों में कानून का खौफ पैदा करने के लिए सख्त कानून की आवश्यकता महसूस की जा रही थी। इन्हीं जन आकांक्षाओं को पूर्ण करने का काम पुष्कर सिंह धामी की सरकार ने किया है। यह भी पढ़ें : नैनीताल : युवती के खाते से 1.37 लाख रुपए निकलने के मामले में हुआ सनसनीखेज खुलासा, हर कोई रह गया स्तब्ध

उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि चूंकि कांग्रेस के लिए यह चिंता का विषय नही है क्योंकि उन्हें समुदाय विशेष के ही वोटों की चिंता रहती है। लिहाजा धर्मान्तरण कानून संशोधन पर उनका शंका करना साबित करता है कि देवभूमिवासियों की धार्मिक पवित्रता व सांस्कृतिक पहचान कांग्रेस की प्राथमिकता में है ही नही, उनकी एक ही प्राथमिकता है तुष्टिकरण की नीति। यह भी पढ़ें : उच्च न्यायालय के स्थानांतरण पर किसने मांगा विधायक का इस्तीफा, और विधायक ने किस पर जताई नाराजगी

उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष की शंका का जबाब देते हुए कहा कि इस कानून का टारगेट या लक्ष्य सिर्फ वे लोग हैं जो आम लोगों की मजबूरी व सरलता का फायदा उठाकर या धन आदि के प्रलोभन व अनैतिक दबाब बनाकर धर्म परिवर्तन के गैरकानूनी कामों में लिप्त हैं या ऐसे अपराधी लोगों को संरक्षण दे रहे हैं। लिहाजा कांग्रेस पार्टी को विचार करना होगा कि वह टारगेट पर है या नही। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : छात्रा पर युवक डाल रहा धर्म परिवर्तन कर निकाह करने का दबाव, जलाकर मार डालने की भी दे रहा धमकी

नवीन समाचार, रामनगर, 11 नवंबर 2022। नैनीताल जिले के रामनगर ब्लॉक के पीरूमदारा गांव की एक छात्रा को एक अल्पसंख्यक युवक द्वारा धर्म परिवर्तन कर निकाह करने के लिए दबाव डालने और जलाकर मार डालने की धमकी देने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि आरोपित की धमकी से परेशान छात्रा ने स्कूल जाना तक छोड़ दिया है। मामले में छात्रा ने पुलिस में एक दिन पूर्व शिकायत की, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। जानकारी लगने पर क्षेत्रीय ग्रामीणों ने भी छात्रा को न्याय दिलाने की पुलिस से मांग की है, और पुलिस द्वारा कार्रवाई न किए जाने पर नाराजगी जताई है। यह भी पढ़ें : विधायक पर भारी पड़ने जा रहा है राज्य स्थापना दिवस पर दिया बयान, मिली चुनौती…

पीड़िता के आरोपों के अनुसार आरोपित युवक अलग-अलग मोबाइल नंबर से फोन कर उस पर निकाह करने के लिए दबाव डाल रहा है। उसका यह भी आरोप है कि उसका धर्म परिवर्तन कराना चाहता है। वह धमकी दे रहा है कि यदि स्कूल आई तो वह उसे जबरन उठा ले जाएगा। इस कारण उसने स्कूल जाना तक छोड़ दिया है। वह धमकी दे रहा है कि यदि पुलिस कार्रवाई हुई तो वह जेल से बाहर आकर उसे जलाकर मार डालेगा। यह भी पढ़ें : ट्रक की टक्कर से नैनीताल निवासी एक स्कूटी सवार की मौत, दूसरा गंभीर

शुक्रवार को चौकी पहुंची एक महिला ने भी मीडिया के समक्ष आरोपित युवक द्वारा छात्रा को धमकी देने की पुष्टि की। इधर मामले की जानकारी लगने पर पीड़िता के समर्थन में कई ग्रामीण और सेफ चाइल्ड संस्था के संचालक दीपांशु रावत, हिंदूवादी संगठन के सूरज चौधरी भी शुक्रवार को पीरूमदारा पुलिस चौकी पहुंच गए। उन्होंने छात्रा के परिजनों की ओर से एक दिन पूर्व पुलिस चौकी में तहरीर देने के बाद भी आरोपित युवक के खिलाफ कोई सख्त कार्रवाई नहीं होने पर गहरी नाराजगी जताई। यह भी पढ़ें : ट्रक की टक्कर से नैनीताल निवासी एक स्कूटी सवार की मौत, दूसरा गंभीर

इधर स्थानीय लोगों ने पुलिस से आरोपित युवक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। सीओ बलजीत भाकुनी ने बताया कि मामले की तहरीर चौकी में दी गई है। इसकी जांच कराई जा रही है। आरोपों की जांच के बाद ही इस मामले में कार्रवाई अमल में लायी जाएगी। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : 36 वर्षीय युवक ने धर्म परिवर्तन के लिए लगाई अर्जी

नवीन समाचार, देहरादून, 6 नवंबर 2022। शहर के एक 36 वर्षीय मुस्लिम युवक ने धर्म परिवर्तन के लिए जिलाधिकारी कार्यालय में अर्जी लगाई है। उसने अर्जी में कहा है कि वह मुस्लिम धर्म को त्यागकर हिंदू धर्म अपनाना चाहता है। जिलाधिकारी सोनिका ने बताया कि मुस्लिम धर्म से हिंदू धर्म मे परिवर्तन को लेकर कुछ अन्य आवेदन भी उन्हें मिले हैं। इन पर विधिक राय ली जा रही है। यह भी पढ़ें : नैनीताल से उच्च न्यायालय न समर्थन की मुहिम में पालिकाध्यक्ष व सभासदों का मिला समर्थन

प्राप्त जानकारी के अनुसार लक्खीबाग निवासी 36 वर्षीय युवक सईद अरशद ने जिलाधिकारी को भेजी गई अर्जी में कहा है कि वह स्वेच्छा से हिंदू धर्म अपनाना चाहता है। उन्होंने अर्जी देने के लिए जिलाधिकारी सोनिका से व्यक्तिगत रूप से भी मुलाकात का प्रयास किया, लेकिन मुलाकात नहीं होने पर उन्होंने ईमेल के माध्यम से अपनी अर्जी जिलाधिकारी को भेजी।

यह भी पढ़ें : रात्रि में हुए ध्वस्तीकरण के बाद अब बदलेगी नैनीताल के तल्लीताल क्षेत्र की सूरत…

अर्जी मिलने परं जिलाधिकारी सोनिका ने आवेदन को आगे की कार्रवाई के लिए अपर जिलाधिकारी को भेज दिया है। अपर जिलाधिकारी डॉ. बर्नवाल का कहना है कि इस सम्बन्ध में डीजीसी से राय प्राप्त की जा रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : दुखियारी युवती से दूसरे धर्म के युवक ने नाम-धर्म छिपाकर शादी का झांसा देकर किया दुष्कर्म, अब दे रहा था धमकी..

बहन' बुला कर रेप से लेकर इंस्टा पर दोस्ती के बाद बलात्कार तक: MP की 4 घटनाएँ

नवीन समाचार, देहरादून, 17 अक्तूबर 2022। हादसे में मंगेतर की मृत्यु होने से परेशान हिंदू युवती को मुस्लिम युवक ने नाम व धर्म छिपाकर शादी का झांसा दिया, और युवती को होटल में ले जाकर धोखे से नशीला पदार्थ पिलाकर उससे दुष्कर्म किया। एसएसपी दलीप सिंह कुंवर के निर्देश पर डालनवाला कोतवाली पुलिस ने आरोपित के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है। यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग: हल्द्वानी के 2 स्पा सेंटरों से मुक्त कराई गईं 10 युवतियां

डालनवाला कोतवाली के इंस्पेक्टर एनके भट्ट के अनुसार, क्लेमेंटाउन निवासी पीड़ित युवती ने बताया कि वह दोपहिया वाहन के शोरूम में काम करती है। एक आरोपित जावेद खान शोरूम में वाहन खरीदने आया था। उसने युवती को अपना नाम और धर्म छिपाकर खुद को डीके बताया। इसी दौरान आरोपित युवती का मोबाइल नंबर ले गया और दूसरे दिन से उसे फोन करने लगा। यह भी पढ़ें : सनसनीखेज घटना: खाई में मिले दो नर कंकाल, ऊपर पेड़ पर लड़की के बालों सहित दो….

कुछ दिन बाद उनकी मुलाकातें होने लगीं। एक रोज युवती ने आरोपित को बताया कि कुछ समय पहले उसके मंगेतर की मृत्यु हुई है। इस पर आरोपित ने उसे ढांढस बंधाते हुए शादी का प्रस्ताव रख दिया। युवती ने भी शादी के लिए हामी भर दी। युवती का आरोप है कि इसके बाद पांच दिसंबर 2021 को आरोपित ने उसे राजपुर रोड स्थित एक होटल में मिलने के लिए बुलाया। यह भी पढ़ें : आखिर सफल होती नजर आने लगी श्री नंदा देवी महोत्सव पर शुरू हुई मुहिम, डीएम ने 

वहां उसने युवती को शीतल पेय पीने को दिया, जिसे पीकर वह नशे में हो गई। इसका फायदा उठा कर आरोपित ने उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद दोनों 31 दिसंबर 2021 को मालदेवता स्थित एक रेस्टोरेंट में मिले। वहां आरोपित ने युवती को शीतल पेय और सिगरेट में नशा दिया और उसके नशे में होने पर आरोपित ने उसके साथ दोबारा दुष्कर्म किया। यह भी पढ़ें : आखिर सफल होती नजर आने लगी श्री नंदा देवी महोत्सव पर शुरू हुई मुहिम…

थोड़ी देर बाद युवती को होश आया, तब आरोपित अपनी मां से फोन पर बात कर रहा था और उन्हें अम्मी कह कर संबोधित कर रहा था। युवती ने सख्ती से पूछा तो आरोपित ने अपना असली नाम बताया। उस दिन युवती को यह भी पता चला कि आरोपित पहले से शादीशुदा है। आरोपित ने युवती को परिवार के बीच में आने पर परिजनों सहित जान से मारने की धमकी भी दी। पुलिस ने आरोपित को कोर्ट के समक्ष पेश कर जेल भेज दिया गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : ढाइ साल की बच्ची की हत्या के मामले में सनसनीखेज खुलासा, पिता निकला हत्यारा, हत्या के पीछे लिव इन रिलेशनशिप और धर्मांतरण…

मासूम बेटी का ब्लेड से गला रेतने का आरोपी पिता गिरफ्तारनवीन समाचार, हरिद्वार, 25 अगस्त 2022। दो दिन पूर्व यानी 23 अगस्त को हरिद्वार के सिडकुल थाना क्षेत्र के खाला टिहरा के जंगल में ढाई साल की बच्ची का गला रेत कर हत्या किए जाने का सनसनीखेत मामला प्रकाश में आया था। बच्ची का शव गन्ने के खेत में बरामद हुआ है। पुलिस ने मौके से मोबाइल फोन, दो नशे की गोलियां, खून से लथपथ एक टी-शर्ट व जूते बरामद थे। अब इस मामले का खुलासा हुआ है कि बच्ची की हत्या उसके ही पिता ने की थी। वहीं हत्या करने का कारण इससे भी अधिक सनसनीखेज है। यह भी पढ़ें : ढाई साल की बच्ची की गला रेत कर हत्या, शिनाख्त नहीं

हत्यारे पिता का दावा है कि वह दूसरे धर्म की युवती के साथ लिव इन में रहता था। उसकी लिव इन में पत्नी की तरह रहने वाली युवती बच्ची का धर्म परिवर्तन कराना चाहती है। इस कारण उसने बच्ची की हत्या कर दी और उसके बाद खुद का भी गला रेतकर जान देने की कोशिश की, लेकिन इसके बावजूद वह बच गया। पुलिस उसका एम्स ऋषिकेश में उपचार करा रही है। वह बोल नहीं पा रहा है। इसलिए उसने लिखकर यह जानकारी दी है।

बुधवार को जख्मी हालत में गिरफ्तार किए गए आरोपित पिता ने पूछताछ में यह सनसनीखेज खुलासा किया। पुलिस ने उसे भर्ती कराया है। एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार सिंह ने पूछताछ के आधार पर बताया कि मृतक बच्ची की शिनाख्त कुलदीप सिंह निवासी बागपत की पुत्री के रूप में हुई थी। कुलदीप सिडकुल में गाड़ी चलाता और वहीं फैक्टरी में काम करने वाली शबाना के साथ चार साल से लिव इन रिलेशनशिप में रहता था। मृतका कुलदीप और शबाना की संतान थी। पुलिस के अनुसार, शबाना कुलदीप पर शादी का दबाव बना रही थी और इसके लिए कुलदीप पर भी धर्म परिवर्तन करने का दबाव बना रही थी। शादी नहीं करने पर बेटी को मांग रही थी। इसी बात को लेकर दोनों के बीच कुछ दिनों पहले विवाद हुआ था। इसके बाद शबाना बेटी को लेकर अपने घर बिजनौर चली गई थी।

इस मामले पुलिस पहले शबाना के पास पहुंची। शबाना ने पूछताछ में कुलदीप पर बेटी की हत्या करने की आशंका जताई थी। कुलदीप के लापता होने पर पुलिस का शक गहरा गया था। मंगलवार देर रात सूचना मिली कि डालूवाला गांव में एक व्यक्ति लहूलुहान हालत में घूम रहा है। मौके पर पहुंची पुलिस ने कुलदीप को दबोच लिया। कुलदीप ने बताया कि सोमवार अपराह्न उसने बच्ची की गला रेतकर हत्या कर दी। फिर खुद को भी मारने की कोशिश की। काफी देर तक खेत में छिपा रहा। पकड़े जाने के डर से वहां से भाग निकला। पुलिस ने जिला अस्पताल में प्राथमिक उपचार कराने के बाद उसे एम्स ऋषिकेश में भर्ती करा दिया। वहां बुधवार को उसका ऑपरेशन हुआ।

गले में घाव होने से आरोपी अधिक देर तक बोल नहीं सका तो उसने कागज पर लिखकर पूरी बात बताई। कहा कि वह शबाना के साथ चार साल से लिव इन में रहता था। उनकी दो साल की बेटी थी, जिसे वह बहुत प्यार करता था। आरोप है कि शबाना बेटी के भी धर्मांतरण का दबाव बना रही थी। वह इसके लिए राजी नहीं था। अक्सर इसे लेकर झगड़ा होता था। उसे डर था कि शबाना साजिश रचकर बेटी का धर्मांतरण करा देगी। बेटी को मारने के बाद वह जिंदा नहीं रहना चाहता था, इसलिए अपने गर्दन पर ब्लेड मारी, लेकिन बच गया। बच्ची की पोस्टमार्टम रिपोर्ट बुधवार को आ गई, जिसमें मौत 24 घंटे पहले होने की पुष्टि हुई है। इस मामले में पुलिस ने अपनी तरफ से आरोपी कुलदीप के खिलाफ बुधवार को मुकदमा दर्ज कर लिया। उसके डिस्चार्ज होने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें : छात्रा से नाम-धर्म बदलकर दोस्ती, फिर दुष्कर्म, दो बार गर्भपात भी कराया, अब शादी के नाम पर दे रहा अगवा कर जान से मारने की धमकी

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 9 अगस्त 2022। भूतबंगला रुद्रपुर निवासी युवक ने अपना धर्म-नाम बदलकर छात्रा से दोस्ती की, और दोस्ती की आढ़ में घर में घुसकर दुष्कर्म किया। गर्भवती होने पर दो बार गर्भपात भी कराया, लेकिन शादी करने को कहने पर अगवा कर हत्या करने की धमकी दी। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार रुद्रपुर निवासी युवती ने इस साल इंटर की परीक्षा पास की है। उसके पिता की मौत हो चुकी है। उसकी मां मेहनत मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण कर रही है। इस बीच भूतबंगला निवासी फैजान पुत्र हबीब ने खुद को हिंदू बताते हुए अपना नाम निम्मर बताते उससे जान पहचान बढ़ाई।

आरोप है कि दो साल पहले एक दिन फैजान उर्फ निम्मर उसके घर आया और उससे दुष्कर्म किया। कहा कि इंटर पास करने के बाद वह उससे शादी कर लेगा। इसके बाद वह उसे अटरिया रोड स्थित होटल के साथ ही नैनीताल भी ले गया और वहां भी दुष्कर्म किया।

आरोप लगाया कि उसने उसे गर्भपात की दवा खिलाकर दो बार गर्भपात भी कराया। पीड़िता ने इंटर पास होने के बाद जब उससे विवाह करने के लिए कहा तो उसने इंकार कर दिया। धमकी दी कि वह उसे अगवा कर हत्या कर देगा। इसके साथ ही वह मानसिक रूप से भी प्रताड़ित कर रहा है।

इसकी शिकायत पीड़िता ने फैजान उर्फ निम्मर के परिजनों से की तो उन्होंने भी धमकी दी और उसका मोबाइल फोन छीनकर तोड़ दिया। एसएसआइ कमाल खान ने बताया कि पीड़िता की शिकायत पर आरोपित के खिलाफ दुष्कर्म के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया है। जांच महिला उप निरीक्षक नेहा राणा को सौंपी गई है। आरोपित की तलाश की जा रही है, जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें : आसिफ ने करन बनकर किया हल्द्वानी की तलाकशुदा का शारीरिक शोषण…

नवीन समाचार, देहरादून, 2 अगस्त 2022। हल्द्वानी की तलाकशुदा महिला से दूसरे धर्म के युवक ने नाम बदलकर दोस्ती की और मौके का फायदा उठाकर उससे कई बार दुष्कर्म किया। विरोध करने पर धमकियां दी गईं। महिला ने इस मामले में देहरादून एसएसपी से शिकायत की। एसएसपी के आदेश पर कोतवाली में केस दर्ज हुआ है।

पीड़िता का कहना है कि अपने पति से तलाक के बाद एक युवक से उसकी जान पहचान हुई। युवक ने अपना नाम करन बताया, और उसे झांसे में लेकर उसके साथ दुष्कर्म किया। वह उसे देहरादून लेकर आया और यहां भी उसने दुष्कर्म किया। कुछ दिन बाद पता चला कि उसका नाम करन नहीं बल्कि आसिफ अहमद है। एसएसपी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए संबंधित थाने को अभियोग पंजीकृत करने के आदेश दिए हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें : पहले दूसरे की पत्नी को भगा ले गया, फिर धर्म परिवर्तन कराकर छोड़ दिया, अब उसकी नाबालिग बेटी को भगा ले गया…!

नवीन समाचार, देहरादून, 10 जुलाई 2022। एक व्यक्ति की पत्नी को बहला फुसला कर ले जाने व बाद उसका धर्म परिवर्तन कराने के तीन साल बाद उसे छोड़ देने वाले तथा अब महिला की नाबालिग बेटी को भी भगा ले जाने का मामला प्रकाश में आया है। पीड़ित नव थाने में तहरीर सौंप कर नाबालिग बेटी की बरामदगी की गुहार लगाई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार रायपुर में रहने वाले एक व्यक्ति ने पुलिस थाने में सूचना दी है कि उसकी 15 वर्षीय बेटी बीती सात जुलाई से लापता है। पीड़ित का कहना है कि तीन साल पहले मजदूरी का काम करने वाला मोहनुद्दीन नजार उसकी पत्नी को बहला-फुसला कर भगा ले गया था। बाद में उसने उसकी पत्नी का धर्म परिवर्तन करवा कर उसे तीन साथ अपने साथ रखा और उसके बाद भगा दिया। इधर, करीब 6 माह पूर्व उसकी पत्नी वापस लौटकर उसके पास आ गई। लेकिन 7 जुलाई को उसकी 15 वर्षीय बड़ी बेटी और उसकी मां अचानक घर से गायब हो गई।

उसे पता चला है कि दोनों को मोइनुद्दीन जम्मू-कश्मीर भगा ले गया है। पीड़ित पिता को अपनी नाबालिग बेटी के साथ कुछ गलत हो जाने का डर सता रहा है। उसने पुलिस से उसकी पत्नी और बेटी की बरामदगी की गुहार लगाई है। उसकी तहरीर पर रायपुर पुलिस ने मामला दर्ज करके दोनों की तलाश शुरू कर दी है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें : पत्नी का धर्म परिवर्तन कराया, अब पति पर भी धर्म परिवर्तन करने का दबाव ! मिल रहे तरह-तरह के प्रलोभन !

नवीन समाचार, पिथौरागढ़, 19 जून 2022। पिथौरागढ़ जनपद के डीडीहाट में जीआइसी वार्ड में रहने वाले एक स्थानीय व्यक्ति ने किराए पर रहने वाले केरल निवासी व्यक्ति पर उसकी पत्नी का धर्म परिवर्तन कराने और अब उस पर भी धर्म परिवर्तन करने के लिए दबाव डालने का आरोप लगाया है।

डीडीहाट के जीआइसी वार्ड निवासी हरीश कुमार ने थानाध्यक्ष को पत्र लिखकर कहा है कि केरल निवासी एक ईसाई धर्मावलंबी जोमेन विन्सेट जीआइसी वार्ड में किराए के कमरे में रहता है। वह उसे शुक्रवार से उसे ईसाई धर्म अपनाने के लिए तरह-तरह के प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन के लिए दबाव बना रहा है। जबकि उसकी पत्नी का इसी व्यक्ति ने धर्म परिवर्तन करा दिया है। अब पत्नी भी उसे धर्म परिवर्तन के लिए उकसा रही है।

वहीं पुलिस का कहना है कि इस पत्र के आधार पर आरोपित जोमेन विन्सेट को बुलाकर स्पष्टीकरण मांगा गया, तो आरोपित ने आरोपों से इंकार किया। हरीश कुमार की पत्नी ने भी कहा कि धर्म परिवर्तन के लिए उस पर किसी तरह का दबाव नहीं डाला गया था। उसने अपनी स्वेच्छा से धर्म परिवर्तन किया है। स्थानीय विभिन्न संगठनों ने भी पुलिस से इस मामले की गहनता से जांच करने की मांग की है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड की युवती घर से नाराज होकर पहुंच गई यूपी, वहां मदद के नाम पर किया गया धर्म परिवर्तन और…

प्रतीकात्मक चित्रनवीन समाचार, प्रयागराज, 11 जून 2022। उत्तर प्रदेश की प्रयागराज की करेली पुलिस ने उत्तराखंड की एक युवती को अगवा कर धर्म परिवर्तन करने के आरोप में तीन युवकों को गिरफ्तार कर शनिवार को जेल भेज दिया है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तरांखड की एक युवती घरवालों से नाराज होकर कुछ दिन पहले प्रयागराज पहुंची थी। उसके पास पैसे नहीं थे। स्टेशन के बाहर शाहगंज निवासी आसिफ से उसका परिचय हुआ, और बातचीत में ही दोस्ती हो गई। युवती मदद के नाम पर युवती को आसिफ करेली में अपने दोस्त नौशाद के घर ले गया और उसको अपनी रिश्तेदार बताकर वहां रखवाया। इसके बाद अपने साले अकबर से उसका निकाह कराने की तैयारी कराने लगा।

इस बीच युवती की धर्म की जानकारी अकबर के घरवालों को हो गई। इस पर आरोपितों ने निकाह से पूर्व युवती का धर्म-परिवर्तन करा दिया। इसके बाद उसकी निकाह की तैयारी चल रही थी। गनीमत रही इस बीच किसी ने पुलिस को सूचना दे दी और करेली पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए छापमारी कर तीनों को गिरफ्तार कर लिया। युवती के घरवालों को बुलाया गया और उसे उसके घरवालों के साथ भेज दिया गया। यह स्पष्ट नहीं है कि युवती उत्तराखंड में कहां की थी। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : दूसरे धर्म के युवक से प्रेम की कीमत दो बार गर्भपात, धर्म परिवर्तन, देवर से खुद के यौन शोषण व बच्ची से गलत हरकतें…. !!

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

नवीन समाचार, देहरादून, 7 जून 2022। एक महिला को दूसरे धर्म के युवक से प्रेम संबंध बनाना भारी पड़ गया। आरोपों के अनुसार पहले तो युवक ने अपना धर्म परिवर्तन कर उससे शादी कर ली, लेकिन बाद में उसका धर्म परिवर्तन कराने के लिए दबाव बनाने को दो बार उसका गर्भपात करवा दिया, और फिर चार बच्चे पैदा करने बावजूद उसका उत्पीड़न किया। यहां तक कि उसके देवर ने उसका यौन शोषण किया और दूसरे देवर ने उसकी नाबालिग बेटी से गलत हरकतें कीं। अब महिला की शिकायत पर पुलिस ने आरोपित के विरुद्ध अभियोग पजीकृत कर लिया है।

आर्यनगर, डालनवाला निवासी एक महिला ने पुलिस को तहरीर देकर कहा है कि उसने वर्ष 2002 में देहरादून स्थित एक इंस्टीट्यूट सेएमसीए की पढ़ाई की थी। वहीं उसकी मुलाकात बिंजोकी कलां मलेरकोटला संगरूर, पंजाब निवासी अरशद अली धोट से हुई। अरशद ने उसके साथ नजदीकियां बढ़ाई और खुद धर्म परिवर्तन कर अपना नाम हर्ष चौधरी रख 2008 में हरिद्वार में उसके साथ शादी कर ली।

फरवरी 2009 में वह हर्ष चौधरी उर्फ अरशद अली के साथ हैदराबाद चली गई। आरोपित वहां नौकरी करता था। इस दौरान महिला गर्भवती हो गई। आरोपों के अनुसार आरोपित ने महिला से कहा कि इस्लामिक रीति-रिवाज से निकाह किए बिना उनकी औलाद नाजायज कहलाएगी। महिला ने ऐसा करने से इंकार करने पर आरोपित ने उसका गर्भपात करवा दिया। अक्टूबर 2009 में वह दोबारा गर्भवती हुई, तब भी आरोपित ने यही कहकर दोबारा उसका गर्भपात करवा दिया और धमकी दी कि बिना निकाह के वह बच्चे को स्वीकार नहीं करेगा।

इस पर पीड़िता ने बताया कि 2010 में आरोपित ने दारूल सलाम इस्लामिक सेंटर दिल्ली गेट, मलेरकोटला, पंजाब में उसका धर्म परिवर्तन कराया, और उसके साथ निकाह किया। सितंबर 2012 में महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया, जिसके बाद आरोपित ने महिला को उसके मायके छोड़ दिया और बच्चे को इस्लाम के अनुसार शिक्षा देने को कहा। 2015 में वह आरोपित के साथ अरब चली गई। जहां मई महीने में महिला ने बेटी को जन्म दिया। इसके बाद आरोपित ने उसकी पिटाई करनी शुरू कर दी। अप्रैल 2017 में महिला ने एक और बेटी व 2020 में चौथे बच्चे को जन्म दिया। 2

021 में आरोपित के पिता ने महिला को फोन कर पंजाब बुलाया, जहां उसे पता चला कि आरोपित पहले से ही शादीशुदा है और उसके बच्चे भी हैं। यहां महिला के देवर दिलशाद अली ने उसका यौन शोषण किया और दूसरे देवर ने महिला की बेटी के साथ गलत हरकत की। ससुरालियों से परेशान होकर अगस्त 2021 में महिला देहरादून आ गई और अपनी बहन के साथ रहने लगी। डालनवाला कोतवाली निरीक्षक एनके भट्ट ने बताया कि आरोपित पति हर्ष चौधरी उर्फ अरशद अली धोट तथा उसके भाई दिलशाद अली व यासीन अली तथा माता-पिता और आरोपित की दूसरी पत्नी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कंपनी में अधिकारी मामा-भांजे पर युवती से अवैध संबंध बनाने व धर्म परिवर्तन के लिए दबाव बनाने का आरोप

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 7 जून 2022। रुद्रपर की वेगा आटो कंपनी में कार्यरत ट्रांजिट कैंप निवासी एक युवती के साथ सिडकुल रुद्रपुर में दुर्व्यवहार का मामला सामने आया है। युवती ने दूसरे धर्म के प्लांट हेड और सुपरवाइजर पर अवैध संबंध बनाने व धर्म परिवर्तन करने के लिए के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया है। इंकार करने पर उसे कंपनी से निकाल दिया गया। इससे भड़के हिंदू युवा वाहिनी के लोग पीड़िता के साथ कंपनी पहुंचे और प्रदर्शन किया। कंपनी में हंगामे की सूचना पर पुलिस भी सक्रिय हो गई है।

पीड़िता का कहना है कि वह सिडकुल पंतनगर स्थित वेगा आटो कंपनी में आटो कंपनी में करीब डेढ़ साल से काम करती है। कंपनी का प्लांट हेड और सुपरवाइजर मुस्लिम समुदाय से हैं और रिश्ते में मामा-भांजे हैं। आरोप है कि दोनों ही लंबे समय से उस पर अवैध संबंध बनाने का दबान बना रहे थे। साथ ही अभद्र और अश्लील बातें भी करते थे। इसका विरोध करने पर कुछ दिनों पहले से धर्म परिवर्तन करने का दबाव भी बनाने लगे। दो जून को भी उन्होंने युवती पर दबाव बनाया। इंकार करने पर कंपनी में प्रवेश पर नो इंट्री लगा दी गई।

पीड़िता ने बताया कि इसकी शिकायत लेकर वह वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय भी फरियाद लेकर पहुंची, लेकिन उसे सिडकुल पुलिस चौकी भेज दिया गया। जहां उसने दोनों आरोपितों के खिलाफ तहरीर सौंपकर कार्रवाई की मांग की, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। इसके बाद थक हारकर पीड़िता ने हिंदू युवा वाहिनी के जिला अध्यक्ष को पत्र भेजकर उन्हें पूरी घटना से अवगत कराया। जिसके बाद सैकड़ों कार्यकर्ता कंपनी गेट पर धरना प्रदर्शन् किया और हंगामा किया।

इसका पता चलते ही सीओ सिटी अभय सिंह, थानाध्यक्ष पंतनगर राजेंद्र सिंह डांगी, सिडकुल चौकी प्रभारी पंकज कुमार आदि पुलिस कर्मियों के साथ मौके पर पहुंचे और जानकारी ली। सीओ सिटी अभय सिंह ने बताया कि पीड़िता ने तहरीर दी है। जांच की जा रही है, इसके बाद मामले में मुकदमा दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। वहीं सूत्रों के हवाले पता चला है कि कंपनी के सुपरवाइजर को पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : तलाकशुदा-तीन बच्चों की मां से नाम-धर्म बदलकर-शादी का झांसा देकर दुष्कर्म, अश्लील वीडियो-फोटो वायरल करने की धमकी व 10 लाख रुपए हड़पने के आरोप भी

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 6 जून 2022। हल्द्वानी कोतवाली क्षेत्र में तलाकशुदा तीन बच्चों की मां से एक युवक द्वारा अपना नाम बदलकर और शादी का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाने का मामला सामने आया है। आरोपित ने पीड़िता के अश्लील वीडियो और फोटो बनाकर उन्हें वायरल करने की धमकी भी दी। शिकायत पर पुलिस ने दुष्कर्म सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार कोतवाली क्षेत्र में रहने वाली शिकायतकर्ता महिला के तीन बच्चे हैं, उसका पूर्व पति से तलाक हो चुका है। कुछ वर्ष पूर्व उसकी एक युवक से मुलाकात हुई। उसने अपना नाम सनी आर्या बताया। इसके बाद युवक शादी का झांसी देकर महिला से शारीरिक संबंध बनाने लगा। महिला ने उसके मांगने पर अपने जेवरात बेच कर उसे दस लाख रुपये देने का भी दावा किया है। इसी बीच महिला को कहीं से पता चला कि युवक का असली नाम सन्नू खान है। महिला ने जब युवक से इस बारे में बात की वह उसकी अश्लील फोटो और वीडियो वायरल करने की धमकी देने लगा।

आरोप है कि इधर कुछ दिन पहले उसने महिला के घर जाकर उससे फिर 5 लाख रुपए मांगे, और मना करने पर पिस्टल निकाल ली। किसी तरह उसे वापस लौटाया। कोतवाल हरेन्द्र चौधरी ने बताया कि आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बीए की छात्रा ने जान गंवाकर चुकाई पढ़ाई की जगह प्रेमजाल में फंसने की कीमत, धर्म परिवर्तन के बाद अब कब्र से निकला कंकाल

प्रेमजाल में फंसाकर करवाया धर्म परिवर्तन, फिर प्रेमिका के साथ किया कुछ ऐसा जानकर काँप उठेगी रूहनवीन समाचार, देहरादून, 5 जून 2022। बीए की छात्रा को अपनी पढ़ाई की जगह एक युवक पर प्रेम के नाम पर भरोसा करने की कीमत अपनी जान गंवाकर चुकानी पड़ी। युवक ने उसे प्रेमजाल में फंसाया, उसका धर्म परिवर्तन कराया और, कलियर ले जाकर उसकी हत्या कर दी। अब पुलिस ने आरोपित की निशानदेही पर कब्र से युवती का कंकाल निकालकर उसकी डीएनए जांच एवं आगे की कानूनी कार्रवाई प्रारंभ कर दी है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार देहरादून के कैंट क्षेत्र निवासी बीए की छात्रा 2015 में संदिग्ध परिस्थिति में गायब हो गई थी। परिवार वालों की सुचना पर स्थानीय पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर उसकी बहुत तलाश की, लेकिन उसका कुछ पता नही चला है। इस बीच पता चला था कि छात्रा को बनारस के फुलवरिया निवासी शरीफ बहला-फुसलाकर ले गया है। तभी से पुलिस आरोपित शरीफ की तलाश कर रही थी।

इधर 20 मई को आरोपित शरीफ अपने घर पहुंचा तो बनारस पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने पूछताछ की तो शरीफ ने बताया कि वह लड़की को पिरान कलियर ले गया था। वहां पर उसने लड़की का धर्म परिवर्तन करवाया और दोनों साथ रहने लगे थे। 15 अप्रैल 2021 को उसकी मौत हो गई थी। इस पर उसने शव कलियर के साबरी कब्रिस्तान में दफना दिया था। इस पर पुलिस ने शरीफ पर हत्या का मामला दर्ज कर लिया।

इधर शनिवार को बनारस के कैंट थाने के वरिष्ठ उप निरीक्षक इंद्रकांत मिश्रा आरोपित शरीफ को लेकर कलियर पहुंची तथा स्थानीय पुलिस के साथ अदालत के आदेश पर नायब तहसीलदार ललित मोहन पोखरियाल एवं एसओ मनोहर भंडारी, स्वास्थ्य विभाग की टीम के सामने मृतक छात्रा के शव को कब्र से बाहर निकालकर उसके कंकाल के डीएनए जांच हेतु नमूने लिए। एसओ मनोहर सिंह भंडारी ने बताया कि कंकाल को रुड़की सिविल हॉस्पिटल भेज दिया गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : मायके वालों ने ही कर लिया बेटी का ‘अपहरण’

-बर्दास्त नहीं हुआ बेटी का दूसरे धर्म में शादी करना

प्रतीकात्मक चित्र

नवीन समाचार, हरिद्वार, 18 दिसंबर 2021। बेटी ने दूसरे धर्म के युवक से शादी कर ली तो परिजनों को यह बर्दास्त नहीं हो रहा। उन्होंने अपनी बेटी का ही अपहरण कर लिया। इससे पहले बेटी और दामाद उत्तराखंड उच्च न्यायालय से सुरक्षा ले चुके थे, इसलिए मामला बढ़ गया और बेटी के मायके वालों पर कानूनी तलवार लटक गई है। पुलिस ने फिलहाल बेटी को उसके मायके से बरामद कर उसके पति के सुपुर्द कर दिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पिरान कलियर थाने के धनौरी पुलिस चौकी क्षेत्र के एक गांव में अलग-अलग धर्म से संबंध रखने वाले प्रेमी युगल ने कुछ दिन पहले घर से फरार होकर शादी कर ली थी और शादी करने के बाद हाईकोर्ट से सुरक्षा की मांग की थी। इसके बाद दोनों पति-पत्नी के तौर पर कनखल थाना क्षेत्र के पंजनहेड़ी गांव में रहने लगे।

इधर बीते सोमवार को पति-पत्नी और युवक का मौसेरा भाई किसी काम से जमालपुर की ओर गए थे। इस बीच नव विवाहिता के मायके वालों ने उन्हें रोक लिया, और पकड़ कर जबरन गाड़ी में बैठा लिया। पति ने विरोध किया तो सरेराह हंगामा होने लगा, लोगों की भीड़ जमा हो गई। इस बीच पुलिस को दिनदहाड़े अपहरण की सूचना मिली।

हरकत में आई पुलिस टीम ने बाद में नव विवाहिता को सराय क्षेत्र से बरामद कर लिया, और उसे उसके पति को सोंद दिया। बाद में आरोपितों को जगजीतपुर चौकी लाकर जमकर फटकार लगाई गई। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आरोपितों के खिलाफ नव विवाहिता के पति ने शिकायत दी है। उनके खिलाफ जांच कर जरूरत पड़ने पर मामला दर्ज किया जा रहा है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल निवासी नितिन पंत को मौलाना ने दिया था हिंदू लड़कियों का धर्म परिवर्तन कराने का काम, पुलिस को सोंपी नामजद तहरीर

नितिन पंत

नवीन समाचार, सहारनपुर यूपी, 24 सितंबर 2021। यूपी एटीएस द्वारा विदेशी फंडिंग के साथ धर्मांतरण के आरोप में गिरफ्तार किये गये मौलाना कलीम सिद्दीकी के खिलाफ नैनीताल निवासी नितिन पंत ने भी पुलिस में नामजद तहरीर सोंपी है। नितिन का कहना है कि कलीम ने ही उसका धर्मांतरण करवाया और उसे इस्लाम के तौर-तरीके सिखाने के साथ उस पर हिंदू लड़कियों का धर्मातरण कराने का काम सोंपा। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : धर्मांतरण की चपेट में आए नैनीताल के युवक की हुई ‘घर वापसी’

नवीन समाचार, सहारनपुर (यूपी), 29 जुलाई 2021। राजस्थान में धर्मांतरण कर अली हसन बनाए गए नैनीताल के तल्लीताल निवासी नितिन पंत नाम के युवक की बुधवार को ‘घर वापसी’ हो गई है। सहारनपुर यूपी में बुधवार को हिंदू धर्म के पुरोहितों ने बजरंग दल के निपुण भारद्वाज के प्रयासों से माथे पर चंदन व तिलक लगाकर उनका ‘शुद्धीकरण’ किया गया। इसके अलावा स्थानीय हिंदूवादी संगठनों के लोग नितिन को लेकर सहारनपुर जनपद के एसएसपी से मिले और उन्हें पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी।

उल्लेखनीय है कि मंगलवार को ‘नवीन समाचार’ के प्रयासों से नैनीताल में नितिन पंत का मामला मुख्यालय सहित प्रदेश में चर्चा में आया, और उसके नैनीताल स्थित मूल आवास की पहचान हुई और बुधवार को सभी समाचार पत्रों में भी यह मुद्दा छाया हुआ है।

विस्तृत समाचार थोड़ी देर में, विस्तृत समाचार के लिए इस लिंक को रिफ्रेश करते रहें। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : धर्मांतरण की चपेट में आए नैनीताल के युवक की हुई पहचान, मुख्यमंत्री से मिलेंगे हिदूवादी..

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 28 जुलाई 2021। आपके प्रिय एवं भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में बुधवार सुबह तल्लीताल के युवक के युवक का धर्मांतरण किए जाने का समाचार पूरे दिन मुख्यालय में पुलिस, अभिसूचना इकाइयों व हिंदूवादी संगठनों के साथ आम लोगों के बीच चर्चा में रहा। पुलिस एवं अभिसूचना इकाइयां युवक की पहचान में जुटी रहीं और आखिर उसकी पहचान भी हो गई, साथ ही युवक से संपर्क भी हो गया। वहीं सहारनपुर यूपी में वह जिन बजरंग दल कार्यकर्ता निपुण भारद्वाज के साथ है, उन्होंने कहा है कि वह इस मामले में प्रेस वार्ता करेंगे और जल्द ही उत्तराखंड आकर यहां के मुख्यमंत्री से भी उसको संरक्षण देने व उसे पुर्नवासित करने की मांग भी करेंगे।

धर्मांतरण की चपेट में आये नितिन पंत (मोबाइल नंबर 7060636906) ने ‘नवीन समाचार’ को बताया कि उसके पिता देवेंद्र प्रसाद पंत का निधन हो चुका है। उनकी तल्लीताल बाजार में दुकान थी। उसके चाचा-ताऊ के बेटे यहां रहते हैं। जबकि उसके अपने बड़े भाई शैलेंद्र पंत अहमदाबाद में व छोटे भानु पंत जिंदल सिंथेटिक पानीपत में हैं। बहन पूजा पांडे सुयालबाड़ी स्थित नवोदय विद्यालय में शिक्षक के पद पर कार्यरत पति के साथ रहती हैं। मुस्लिम धर्म के लोगों के साथ व मुस्लिम धर्म में रहने के कारण उसे अपने भाइयों से कोई सहयोग नहीं मिल रहा है। उसकी शादी भी नहीं हो पाई। क्योंकि उसे मुस्लिम बनाने वाले लोगों ने उससे कहा कि उसके धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम बनने के कारण कोई मुस्लिम लड़की उससे निकाह नहीं करेगी, साथ ही हिंदू लड़की भी सहज रूप में उससे शादी नहीं करेगी। इसलिए वह हिंदू लड़कियों को बहकाकर मुस्लिम बनाने का काम करे। इसके लिए उसे रुपए भी मिलेंगे। उसने उत्तराखंड सरकार पुर्नवास करे। सीएम से मुलाकात करेंगे। वहीं नितिन ने भी हिंदू धर्म में पुर्नवासित किए जाने के लिए मदद की गुहार भी लगाई है। इधर तल्लीताल थाना प्रभारी विजय मेहता ने भी उसकी पहचान होने की बात कही। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : तल्लीताल के युवक का हुआ धर्मांतरण ! पुलिस में शिकायत, हिंदूवादी कराएंगे ‘घर वापसी’

नवीन समाचार, सहारनपुर (यूपी), 28 जुलाई 2021। यूपी के सहारनपुर में नैनीताल निवासी एक युवक का धर्मांतरण किए जाने का मामला सामने आया है। खुद को नैनीताल के तल्लीताल निवासी नितिन पंत पुत्र स्वर्गीय देवेंद्र प्रसाद पंत बताने वाले युवक का कहना है कि उसका राजस्थान में जबरन धर्म परिवर्तन किया गया। इसके बाद उसे मुजफ्फरनगर व सहारनपुर के नागल क्षेत्र के मदरसों में बंधक बनाकर भूखा रखा गया और प्रताड़ित किया गया। किसी तरह से युवक बचकर सहारनपुर पहुंचा और बजरंगदल के पदाधिकारियों से संपर्क किया। साथ ही एसपी से भी शिकायत की गई है। वह अब अपने घर भी जाना चाहता है। वहीं बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने शुद्धीकरण कराकर उसकी ‘घर वापसी’ कराने की बात कही है।

नैनीताल तल्लीताल निवासी नितिन पंत ने बजरंग दल के स्थानीय कार्यकर्ता निपुण भारद्वाज व बालाजी घाट के संचालक अतुल तुली को बताया कि वर्ष 2010 में वह नौकरी की तलाश में राजस्थान के अलवर जिले के भिवाड़ी गया था। वहां उसे नौकरी तो नहीं पर मुस्लिम समाज के युवक मिले। आरोप है कि वे उसे राजस्थान के मेवात के गांव पंचगावा में ले गए। यहां पर कुछ मौलवियों ने पिस्टल दिखाकर उसका जबरन धर्मांतरण कराया, और उसका नाम बदलकर अली हसन रख दिया गया। इसके बाद उसे एक बंद कमरे में कई दिन तक भूखा रखा गया। उसे नौकरी, मकान व रुपए देने का लालच भी दिया गया था, और उस पर हिंदू समाज की लड़कियों को अपने जाल में फंसाकर धर्म परिवर्तन कराने का दबाव भी डाला गया था।

वहां उसे इस्लाम धर्म के बारे में शिक्षा दी जाती थी। यदि वह विरोध करता था तो बिजली का करंट दिया जाता था। शुरुआत में उसे सुंदर लड़की से निकाह कराने का लालच दिया गया, लेकिन बाद में मना कर दिया गया। इसके बाद उसे पहले मुजफ्फरनगर के एक मदरसे में और बाद में सहारनपुर के एक मदरसे में भेज दिया गया। किसी तरह से वह यहां से भागकर हिंदू संगठन के लोगों के पास पहुंचा तो एसपी सिटी को तहरीर दी गई। एसपी सिटी राजेश कुमार का कहना है कि मामले की जांच कराई जा रही है। जल्द ही मुकदमा दर्ज किया जाएगा। (डॉ.नवीन जोशी)  आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

‘नवीन समाचार’ पर पूर्व में प्रकाशित धर्म परिवर्तन से संबंधित समाचारों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply