Crime

युवक ने युवती के परिजनों पर जताई धर्म परिवर्तन कराकर जबरन शादी कराने या झूठा फंसाने की आशंका

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नवीन समाचार, काशीपुर, 10 जनवरी 2021। शहर के मोहल्ला टांडाउज्जैन निवासी एक युवक ने रविवार को कोतवाली पुलिस व अपर पुलिस अधीक्षक काशीपुर को तहरीर देकर आरोप लगाया है कि दूसरे संप्रदाय की उसकी पूर्व सहकर्मी के परिवार वाले उसका धर्म परिवर्तन करा कर युवती से उसकी शादी करवाना चाहते हैं। युवक ने आशंका जताई है कि युवती के स्वजन कभी भी उसे झूठे केस में फंसा सकते हैं। युवक ने कोतवाली पुलिस से कार्रवाई की मांग की है।
युवक का कहना है कि वह जून 2018 में एक निजी कंपनी में काम करता था। उसी दौरान नगर निवासी एक युवती से उसकी जान-पहचान और फिर दोस्ती हो गई। युवती की गरीबी को देखते हुए समय-समय पर वह उसकी पैसे इत्यादि से मदद किया करता था। इधर लॉकडाउन के दौरान उसकी नौकरी छूट गई। 31 दिसंबर 2020 की शाम लगभग सात बजे युवती उसके घर आ गई और कहने लगी कि वह उसे कहीं ले चलो वरना वह आत्महत्या कर लेगी। इसके बावजूद वह युवती के काफी जिद करने पर उसे मात्र रोडवेज बस अड्डे के पास स्थित एक होटल में ले गया। और उसके परिजनों को सूचना देकर उसे उसके घर भेज दिया। फिर भी उसे आशंका है कि युवती के परिजन उसे किसी झूठे मामले में फंसा सकते हैं। इस मामले में यह बात भी प्रकाश में आ रही है कि युवती के परिजन युवक के खिलाफ युवती का उत्पीड़न करने के आरोप मंे पुलिस को तहरीर दे सकते हैं।

यह भी पढ़ें : कुणाल शर्मा बनकर ताहिर हुसैन ने मंदिर में की युवती से शादी, अब धर्म परिवर्तन कर निकाह करने का बना रहा दबाव, लव जेहाद से इंकार कर रही यूपी पुलिस..

शाहिद अंसारी @ नवीन समाचार, बरेली, 02 दिसम्बर 2020। योगी सरकार के उत्तर प्रदेश में लव जेहाद पर कानून लाते ही पहला मामला बरेली में दर्ज हुआ और पहले मामले को दर्ज हुए अभी 24 घंटा का समय भी नही बीता था कि एक और नया लव जेहाद का ताजा मामला प्रकाश में आ गया है। इस मामले में दूसरे धर्म के युवक ने अपने नाम और धर्म को छिपा कर एक युवती से मंदिर में विवाह कर उसकी आबरू लूट ली और अब उस पर धर्म परिवर्तन कर निकाह करने का दबाव बना रहा था। पुलिस ने इस मामले में मुकदमा तो दर्ज कर लिया है पर पुलिस अन्जान कारणांे से लव जिहाद से इंकार कर रही है। पुलिस का कहना है कि दोनों पुराने परिचित हैं। लड़की अब शादी से इंकार कर रही है। मुकदमा दर्ज होने के बाद अब साक्ष्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। आरोपित लड़के को गिरफ्तार कर लिया गया है।
योगी सरकार ने लव जेहाद के मामले पर अंकुश लगाने के लिए लव जेहाद के खिलाफ सख्त कदम उठाया है, लेकिन बरेली में लव जेहाद के एक के बाद एक मामले प्रकाश में आ रहे हैं। लव जेहाद कानून आने के बाद आये शहर और प्रदेश के दूसरे मामले में शहर के इज्जतनगर थाना क्षेत्र की एक युवती को दूसरे धर्म के युवक ने अपना नाम कुणाल बता कर पहले अपने प्यार के झांसे में लिया और फिर उससे मंदिर में शादी भी की। जब युवती गर्भवती हुई तो उसका जबरदस्ती गर्भपात करवा दिया। युवती ने इसका विरोध किया तो उसके साथ मारपीट की और अपना नाम ताहिर हुसैन बताया, तथा युवती से धर्म परिवर्तन कर निकाह करने का दबाव बनाना शुरू कर दिया। युवती के अनुसार ताहिर अपने आप को हिंदू धर्म का बताता था और उसके साथ मंदिर भी जाता था। उसने अपना नाम कुणाल शर्मा बताते हुए उसके साथ धोपेश्वरनाथ मंदिर में शादी भी की।

देखें विडियो :

युवती का आरोप है कि अब ताहिर उस पर धर्म परिवर्तन कर निकाह करने का दबाव बना रहा है, और ऐसा न करने पर उसको जान से मारने की धमकी भी दे रहा है। युवती न्याय के लिए पुलिस की शरण मे गई तो वहां भी हल्की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया। वहीं एसपी सिटी रवींद्र कुमार इस मामले को लव जेहाद का होने से भी इंकार कर रहे हैं। गौरतलब है कि प्रदेश में कुछ दिनों की अगर बात करें तो लव जेहाद के मामलों की बाढ़ सी आ गई है। सरकार लव जेहाद पर कानून तो ले आई है लेकिन लव जेहाद पर अंकुश लगाने के लिए कड़ी मशक्कत की जरूरत है। ताहिर सहित चार परिवार जनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें : देश में ‘लव जिहाद’ पर छिड़ी बहस के बीच उत्तराखंड सरकार अंतरधार्मिक विवाहों पर देगी 50 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि !

नवीन समाचार, टिहरी/देहरादून, 22 नवम्बर 2020। देश में ‘लव जिहाद’ पर छिड़ी बहस के बीच जहां भारतीय जनता पार्टी की मध्य प्रदेश तथा हरियाणा की सरकारें कड़े कानून बना रही हैं, वहीं उत्तराखंड सरकार का एक विवादित आदेश चर्चाओं में है। राज्य के टिहरी जनपद के समाज कल्याण अधिकारी दीपांकर घिल्डियाल ने 18 नवंबर 2020 को जारी एक ‘प्रेस नोट’ में कहा है कि ‘राष्ट्रीय एकता की भावना को जागृत रखने और सामाजिक एकता को बनाए रखने के लिए अंतरजातीय तथा अंतर धार्मिक विवाह काफी सहायक सिद्ध हो सकते हैं… इस प्रकार के विवाह को सक्रिय प्रोत्साहन देने के लिए समाज कल्याण विभाग उत्तराखंड द्वारा अंतरजातीय तथा अंतर धार्मिक विवाह करने वाले दंपत्ति को प्रोत्साहन स्वरूप 50 हजार रुपए प्रदान किए जाते हैं।’
ज्ञातव्य हो कि अंतरजातीय और अंतर धार्मिक विवाह को प्रोत्साहित करने को लेकर वर्ष 1976 में पूर्ववर्ती प्रांत उत्तर प्रदेश में ने ‘उत्तर प्रदेश अंतरजातीय अंतरधार्मिक विवाह प्रोत्साहन नियमावली 1976’ नियमावली बनाई गई थी। इस नियमावली के तहत अंतरजातीय और अंतर धार्मिक विवाह करने वाले दंपति को प्रोत्साहन स्वरूप 10 हजार का रुपये देने की घोषणा की गई थी। वर्ष 2014 में तत्कालीन कांग्रेस की विजय बहुगुणा सरकार ने ‘उत्तर प्रदेश अंतरजातीय अंतरधार्मिक विवाह प्रोत्साहन नियमावली 1976’ के नियम-6 में पुरस्कार की धनराशि को संशोधित कर दिया था। इसके तहत उत्तराखंड में अंतरजातीय और अंतर धार्मिक विवाह करने वाले दंपति को 50 हजार रुपये का पुरस्कार दिए जाने का प्रावधान किया गया था। इसमें शर्त यह है कि वर या वधु में से कोई एक अनुसूचित जाति से होना चाहिए और उनके द्वारा नियमानुसार विवाह कर एक वर्ष के भीतर प्रोत्साहन राशि के लिए आवेदन करना चाहिए। लव जेहाद के बढ़ते प्रकरणों के कारण यह शासनादेश अब समस्या का कारण बन गया है। इस आदेश को लेकर हिन्दूवादी नेता सड़कों पर हैं और राज्य की भाजपा सरकार पर पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार द्वारा ऐसे विवाहों को प्रोत्साहन को बढ़ावा देने की नीति को ही आगे बढ़ाने वाला बता रहे हैं। उनका कहना है कि इस आदेश की आढ़ में अनुसूचित वर्ग की कन्याओं के साथ अंर्तधार्मिक व अंर्तजातीय विवाह बढ़े हैं। बावजूद समाज में किसी तरह का सामाजिक सौहार्द नहीं बढ़ा। यानी यह नियम अपने उद्देश्य की पूर्ति करने की जगह समाज में वैमनस्य बढ़ाने वाला साबित हुआ है।
इस पर बताया जा रहा है कि विवाद बढ़ने पर अब उत्तराखंड सरकार इस शासनादेश से ‘अंतरधार्मिक विवाह’ शब्द हटाने जा रही है। शीघ्र ही इसका शासनादेश जारी होगा।

नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply

loading...