News

दुःखद ब्रेकिंग : नगर पालिका अध्यक्ष सचिन नेगी के पिता का निधन, शोक की लहर

नवीन समाचार, नैनीताल, 25 जनवरी 2023। नैनीताल नगर पालिका के अध्यक्ष सचिन नेगी के पिता प्रेम सिंह नेगी का बुधवार दोपहर असामयिक निधन हो गया। पारिवारिक सूत्रों के अनुसार 69 वर्षीय स्वर्गीय नेगी पिछले काफी समय से अस्वस्थ चल रहे थे। उनका दिल्ली के निजी चिकित्सालयों में उपचार चल रहा था। दो दिन पूर्व ही वह दिल्ली से लौटे थे। उनके निधन से नगर में नगर पालिका एवं राजनीति व व्यवसाय सहित विभिन्न संगठनों से जुड़े लोगों में शोक की लहर है। यह भी पढ़ें : फिल्म की शूटिंग के बहाने नैनीताल की नाबालिग छात्रा की अश्लील फिल्म बनाई

स्वर्गीय प्रेम सिंह नेगी

प्राप्त जानकारी के अनुसार बुधवार दोपहर 12 बजे स्वर्गीय नेगी ने तल्लीताल पायल होटल स्थित अपने आवास पर अंतिम सांस ली। वह अपने पीछे पत्नी तथा दो पुत्र, होटल व्यवसायी संदीप एवं पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी व कुमाऊं विवि के कृषि विभाग में कार्यरत बहु डॉ. वंदना नेगी सहित भरा-पूरा परिवार छोड़ गए हैं। काफी मिलनसार प्रवृति के ‘मुन्ना मामू’ के नाम से लोकप्रिय रहे स्वर्गीय नेगी की गिनती नगर के प्रमुख होटल व्यवसायियों में होती थी। उनके असामयिक निधन का समाचार मिलने के बाद उनके आवास पर नगर के आम एवं गणमान्य लोगों, राजनीतिक दलों के लोगों एवं पालिका के अधिकारियों व सभासदों का जमावड़ा लग गया। यह भी पढ़ें : देर शाम व्यवसायी के भतीजे को नुकीली वस्तु के वार से लहूलुहान किया

अपराह्न करीब तीन बजे उनकी अंतिम यात्रा उनके आवास से रानीबाग के लिए प्रारंभ हुई। विधायक सरिता आर्य, डीएम धीराज गर्ब्याल, पूर्व सांसद डॉ. महेंद्र पाल, पूर्व विधायक डॉ. नारायण सिंह जंतवाल, पूर्व पालिकाध्यक्ष मुकेश जोशी, कॉंग्रेस नगर अध्यक्ष अनुपम कबड़वाल सहित नगर पालिका के सभासदों, पालिका कर्मियों एवं विभिन्न राजनीतिक एवं गैर राजनीतिक सामाजिक संगठनों के लोगों ने स्वर्गीय नेगी के असामयिक निधन पर शोक व्यक्त कर उन्हें श्रद्धांजलि दी है। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड में और महंगा होगा जमीन खरीदना, कैबिनेट में प्रस्ताव की तैयारी

इधर रॉयल बास्केटबॉल कलब द्वारा नगर पालिका स्वर्गीय नेगी के आकस्मिक निधन पर शोक सभा आयोजित की गयी, जिसमें आनन्द खम्पा, राजीव गुप्ता, हरीश जोशी, विनोद कनारी, दिनेश वर्मा इत्यादि सदस्यों ने शोक सवेदना व्यक्त की। कूटा यानी कुमाऊं विवि शिक्षक संघ के अध्यक्ष प्रो. ललित तिवारी, डॉ. नीलू लोधियाल, डॉ. विजय कुमार, डॉ. संतोष कुमार, डॉ. दीपिका गोस्वामी, डॉ. सीमा चौहान, डॉ. दीपक कुमार व डॉ. दीपाक्षी जोशी आदि ने भी स्वर्गीय नेगी के निधन पर शोक जताया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : वरिष्ठ पत्रकार पालीवाल बंधुओं को मातृशोक

नवीन समाचार, नैनीताल, 5 जनवरी 2023। नगर के वरिष्ठ पत्रकार माधव पालीवाल एवं भीमताल में कार्यरत पत्रकार पूरन पालीवाल की माता 78 वर्षीय चंद्रा पालीवाल का गुरुवार को पैतृक गांव अल्मोड़ा के पाली गुणादित्य में असामयिक निधन हो गया। वह लंबे समय से बीमार थीं। उनका अंतिम संस्कार के पैतृक श्मशान घाट पर शुक्रवार को सुबह 9 बजे होगा। वह अपने पीछे पांच बेटे व एक बेटी का भरा-पूरा परिवार छोड़ गई हैं। यह भी पढ़ें : हल्द्वानी के बनभूलपुरा मामले में आया सर्वोच्च न्यायालय का अंतरिम आदेश…

उनके शिव दत्त पालीवाल का पूर्व में निधन हो चुका है। उनके सबसे बड़े पुत्र दयाकिशन पालीवाल सूचना निदेशालय देहरादून में वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी हैं। स्वर्गीय चंद्रा पालीवाल शुभ कार्यों में शगुन आंखर गाने गाते हुए लोक संस्कृति से भी जुड़ी थीं, साथ ही क्षेत्र में दाई के रूप में भी उनकी ख्याति थी। यह भी पढ़ें : 11 वर्ष की बच्ची के घर से भागने पर पुलिस के हाथ पांव फूले, वजह चिंताजनक…

उनके निधन पर प्रदेश के सूचना महानिदेशक बंशीधर तिवारी, विधायक सरिता आर्य, पूर्व विधायक संजीव आर्य, पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी, पूर्व पालिकाध्यक्ष मुकेश जोशी के साथ ही नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स-इंडिया के डा. गिरीश रंजन तिवारी, डॉ नवीन जोशी, अफजल हुसैन फौजी, रवि पांडे, किशोर जोशी, राजू पांडे, रितेश सागर, तेज सिंह, कंचन वर्मा, गौरव जोशी व संगीत बोरा के साथ नगर के समस्त पत्रकारों ने गहरा दुःख व्यक्त किया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं विश्वविद्यालय के विद्वान पूर्व प्रोफेसर जोशी का निधन, शोक की लहर…

नवीन समाचार, नैनीताल, 25 अक्तूबर 2022। कुमाऊं विश्वविद्यालय के संस्कृत विभाग के पूर्व प्रोफेसर एवं विभागाध्यक्ष तथा डी लिट की मानद उपाधि एवं शास्त्री, राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान (मानव संसाधन मंत्रालय, भारत सरकार) द्वारा शास्त्रचूड़ामणि विद्वान उपाधि, यूजीसी वृहत शोध परियोजना में कुमाऊं में ज्योतिष परंपरा के प्रधान अन्वेषक, कई पुस्तकों के रचयिता, व्याख्याकार और संपादक प्रो. जगन्नाथ जोशी का सोमवार को बेंगलुरु में असामयिक देहावसान हो गया। यह भी पढ़ें : दीपावली पर पहाड़ के लाल-सेना के सूबेदार की असामयिक मौत की सूचना से शोक की लहर…

उनके निधन से अकादमिक जगत में शोक की लहर छा गई है। कूटा यानी कुमाऊं विश्वविद्यालय शिक्षक संघ ने प्रो. जोशी के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है तथा उन्हें श्रद्धांजलि दी है। यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग: पूर्व डीजीपी सहित आठ लोगों पर मुकदमा दर्ज

उल्लेखनीय है कि प्रो. जोशी ने अनेक ग्रंथों का मूल लेखन, व्याख्या और संपादक के रूप में पुस्तकें लिखी। प्रो. जोशी का नैनीताल के तल्लीताल तथा हल्द्वानी में आवास है। उनकी पुत्री प्रो कमला पंत एमबीपीजी कॉलेज हल्द्वानी में संस्कृत की प्रोफेसर है, तथा पुत्र बेंगलुरु में रहते हैं। प्रो जोशी 1998 में सेवा निवृत हुए। यह भी पढ़ें : बड़ा समाचार: दीपावली के रोज 22 वर्षीय युवक की गोली मारकर हत्या, पहले भी किया था हमला…

उनका बेंगलुरू में निधन हुआ तथा वही अंतिम संस्कार किया गया। कूटा अध्यक्ष प्रो. ललित तिवारी, डॉ. विजय कुमार, डॉ. सोहेल जावेद, डॉ. दीपक कुमार, डॉ. दीपिका गोस्वामी, डॉ. प्रदीप, डॉ. पैनी जोशी, डॉ. गगन होती, डॉ. मनोज धूनी व डॉ. सीमा चौहान ने शोक व्यक्त किया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave a Reply