News

फेसबुक पर लिखा खुदकुशी का मैसेज, फिर खा ली मां की डिप्रेशन की दवा, पुलिस ने बचाया..

0 0

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Read Time:119 Minute, 50 Second

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 21 नवम्बर 2020। बेरोजगारी और पारिवारिक कलह के कारण परेशान एक युवक ने फेसबुक पर खुदकुशी करने का मैसेज लिख भेजा। इस पोस्ट का जैसे ही पुलिस को पता चला तो हड़कंप मच गया। तत्काल जांच की गई। जानकारी मिली कि युवक मुखानी का रहने वाला है। इसके बाद पुलिस ने युवक के घर जाकर उसे बेस अस्पताल में भर्ती कराया। बताया जा रहा है कि युवक ने फेसबुक पर खुदकुशी किए जाने की बात रखते हुए अपनी मां की डिप्रेशन की 6 गोलियां एक साथ खा ली थी।
जानकारी के अनुसार मुखानी में विवेकानंद हॉस्पिटल के पास रहने वाले बेरोजगार युवक आशीष का पत्नी से विवाद चल रहा है। इस कारण उसने मानसिक तनाव में आ गया, शुक्रवार की मध्य रात्रि करीब 12 बजे कई कारण लिखकर खुदकुशी करने की पोस्ट फेसबुक में पोस्ट की। पुलिस ने जानकारी मिलते ही युवक को बेस अस्पताल में भर्ती कराया। युवक ने अपनी मां के डिप्रेशन की दवाई में छह गोलियां एक साथ खा लीं। युवक इससे पूर्व डिश लगाने का काम करता था।

यह भी पढ़ें : विद्यालयों को सेनिटाईजेशन पंप, हाइपो थर्मल स्कैनर, सोडियम हाइपोक्लोराइट स्प्रे आदि किए भेंट

नवीन समाचार, नैनीताल, 1 नवम्बर 2020। सोमवार से 10वीं व 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए विद्यालय खुल रहे हैं। इसके दृष्टिगत बेतालेश्वर सेवा समिति के निदेशक समाज सेवी राहुल अरोड़ा ने रविवार को राजकीय आदर्श इंटर कॉलेज बेतालघाट के सभागार में आयोजित एक कार्यक्रम में बेतालघाट विकासखंड के विभिन्न माध्यमिक विद्यालयों एवं निजी विद्यालयों में छात्रों व अध्यापकों की सुरक्षा के लिए मास्क, सेनिटाइजर, सेनिटाईजेशन पंप, हाइपो थर्मल स्कैनर, सोडियम हाइपोक्लोराइट स्प्रे, दीवाल घड़ियां आदि निशुल्क दान की गईं। साथ ही उन्होंने आश्वस्त किया कि भविष्य में भी शिक्षकों व विद्यार्थियों को किसी प्रकार की समस्या हो तो वह हमेशा सेवा के लिए तत्पर रहेंगे। समस्त विद्यालयों के प्रबंधन ने उनके इस पुण्य कार्य के लिए आभार व्यक्त किया। राजकीय आदर्श इंटर कॉलेज के प्राचार्य डा. सत्यभानु शास्त्री ने उनके इस कार्य के लिए भूरि-भूरि प्रशंसा की। इस अवसर पर भाजपा बेतालघाट मंडल के अध्यक्ष प्रताप सिंह बोहरा, अधिवक्ता दीप रेखाडी, रमेश तिवारी, व्यापार मंडल अध्यक्ष बालम सिंह बोहरा, नीतू सिंह, केएस जलाल, तारा भंडारी, मोहित बिष्ट सहित विभिन्न विद्यालयों से आए शिक्षक, विद्यालयों के प्रतिनिधि सहित अन्य लोग उपस्थित रहे। सभा का संचालन विजय बधानी ने किया।

यह भी पढ़ें : डीडीएस फाउंडेशन ने 30 गरीब बच्चों को भेंट की 1.35 लाख रुपए की छात्रवृत्ति

नवीन समाचार, नैनीताल, 08 अक्टूबर 2020। नगर के डीडीएस चाइल्ड फाउंउेशन के द्वारा बृहस्पतिवार को नगर के 30 आर्थिक रूप से कमजोर एवं मेधावी छात्र-छात्राओं को 1500 रुपए प्रतिमाह की दर से कुल रुपए 1.35 लाख की छात्रवृत्ति भेंट की। इस अवसर पर फाउंडेशन के अध्यक्ष डीसीएस खेतवाल ने कहा कि गरीब बच्चे भी संपन्न बच्चों की तरह अपनी शिक्षा निर्बाध तरीके से पूरी कर सकें, इस उद्देश्य से छात्रवृत्ति दी जा रही है। इस मौके पर संस्था की सचिव ममता रावत, कोषाध्यक्ष दीपक गुरुरानी, डा. सरस्वती खेतवाल, गौरव तिवारी, तारा साह, गोविंद कोरंगा के साथ ही बच्चों के अभिभावक भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : अधिवक्ता ने कोरोना से गंभीर महिला को किया प्लाज्मा दान

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 22 सितंबर 2020। मंगलवार को सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय में भर्ती अल्मोड़ा निवासी 54 वर्षीया कोरोना संक्रमित महिला उमा साह को जिला बार एसोसिएशन के सदस्य भवाली निवासी अधिवक्ता शिवांशु जोशी ने महादान कर उनकी जान बचाई। इससे पहले उनका एन्टी बॉडी टेस्ट भी किया गया। हुआ यह कि बेस चिकित्सालय अल्मोड़ा में कोरोना पॉजिटिव एवं हालत चिंताजनक पाए जाने के बाद महिला को सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय रेफर किया गया था। वहां उपचार के लिए उन्हें ‘ए पॉजिटिव’ प्लाज्मा की जरूरत थी। महिला का 25 वर्षीय पुत्र बॉबी भी कोरोना पॉजिटिव होकर सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय में ही भर्ती है। इस पर हल्द्वानी निवासी एक संस्था से जुड़ी प्रतिभा बिष्ट व अस्पताल के डॉ मकरंद सिंह ने अधिवक्ता शिवांशु जोशी से प्लाज्मा देकर महिला की मदद करने का आग्रह किया। महिला की गम्भीर स्थिति को देखते हुवे मंगलवार को अधिवक्ता शिवांशु जोशी ने तुरंत सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय पहुंचकर प्लाज्मा दान किया। इस पर महिला के परिवार ने उनका आभार जताया।

यह भी पढ़ें :युवक-युवती ने पेश की मिसाल

नवीन समाचार, नैनीताल, 17 सितंबर 2020। मुख्यालय में युवक-युवती ने अनुकरणीय उदाहरण प्रस्तुत किया है। द्वाराहाट से बीटेक करने वाली नगर निवासी छात्रा सौम्या पांडेय ने परीक्षा के दौरान बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के रक्तकोष में आकर स्वैच्छिक रक्तदान किया। उन्होंने बुधवार को परीक्षा देने के तत्काल बाद रक्तदान किया। इस दौरान सौम्या की माता तनूजा पांडे, डा. सरस्वती खेतवाल एवं एक कदम अच्छाई की ओर संस्था के अध्यक्ष अभिषेक मुल्तानिया व रजनीश मिश्रा आदि उपस्थित रहे।
वहीं नगर निवासी वैभव आर्य ने बृहस्पतिवार को अपने जन्मदिन के अवसर पर अपने साथियों मनीष कुमार व गौरव बिष्ट के साथ मिलकर गरीब असहाय लोगों को एक लीटर दूध व बिस्किट भेंट किए व व उनसे आशीर्वाद प्राप्त किया।

यह भी पढ़ें : घर पर उपलब्ध कराया इलाज व दवाइयां…

नवीन समाचार, नैनीताल, 20 अगस्त 2020। कोरोना काल में लोग मामूली बुखार, सर्दी-जुकाम, सिर दर्द के उपचार के लिए भी अस्पताल जाने से बच रहे हैं। ऐसे में बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के वरिष्ठ फिजीशियन डा. एमएस दुग्ताल द्वारा किये गये प्रयास को काफी सराहा जा रहा है। जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डा. केएस धामी के निर्देशों पर आज डा. दुग्ताल नगर के सात नंबर क्षेत्र में कई बीमारियों से ग्रस्त एवं घर पर ही उपचार करा रहे 90 वर्षीय मरीज को देखने एंबुलेंस लेकर घर पर पहुंचे और बुजुर्ग को जरूरी चिकित्सा उपलब्ध कराइ्र। वहीं इस दौरान क्षेत्र के भौगोलिक रूप से काफी ऊंचाई पर होने की समस्या को देखते हुए उन्होंने वहीं क्षेत्रीय लोगों को अपने पास मौजूद दवाओं का वितरण किया। इस दौरान करीब 50 लोगों को घर पर ही डा. दुग्ताल के पास मौजूद सर्दी-जुकाम, सिर दर्द व विटामिन आदि की दवाइयां मिल गईं। पीएमएस डा. धामी ने भी उनके इस प्रयास की सराहना की।
इधर नगर के नारायण नगर वार्ड के सभासद भगवत रावत ने कोविड-19 महामारी से बचाव के अपने अभियान के तहत बृहस्पतिवार को नगर के एटीआई, हाई कोर्ट कॉलोनी व ओक पार्क क्षेत्र में लोगों को होम्योपैथी की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली दवाओं का वितरण किया। इस मौके पर उनके साथ नरेंद्र बिष्ट व अन्य लोग भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : आज नैनीताल के दो सभासदों के किया गुड वर्क…

नवीन समाचार, नैनीताल, 15 अगस्त 2020। नगर के दो सभासदों भगवत सिंह रावत और मनोज साह जगाती हमेशा से कुछ न कुछ अच्छा करते रहते हैं। शनिवार को भी जहां जगाती ने अपना पौधरोपण अभियान जारी रखा, वहीं भगवत लोगों को कोरोना से लड़ने के लिए मजबूत करने के अभियान में जुटे रहे। जगाती ने आज अपनी संस्था ‘जय जननी-जय भारत’ के साथ महिला स्वावलंबन समूह ‘गर्ल्स टु क्राफ्ट’ के साथ देश के शहीदों की याद में पौधरोपण किया। इस दौरान उन्होंने भुवन लोहनी, बॉबी साह व रवींद्र मेहरा द्वारा उपलब्ध कराये गए काकिश व अंगू के करीब 130 पौधे अरविंद आश्रम के पास अयारपाटा के जंगल में लगाए। अभियान में मनोज कुंवर, पवन आर्या, परवेज आलम, हरीश बिष्ट, हेमंत सिंह डंगवाल, जीशान अली, दीप शर्मा व प्रीति शर्मा सहित उनकी टीम के सदस्य शामिल रहे।
वहीं पवन कुमार उपाध्याय ने बताया कि सभासद भगवत रावत ने अपने नारायण नगर वार्ड के नारायण नगर, पिटरिया, गोपाला सदन तथा पैलेस रिजॉर्ट हाउसिंग सोसायटी मल्लीताल में लोगों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले होम्यापैथी की दवा की गोलियां वितरित कीं। बताया गया कि यह दवा लगातार तीन दिन तक बच्चों को 4 और बड़ों को 6 गोली लेनी होती हैं।

यह भी पढ़ें : ब्रेकिंग अभी-अभी : कोरोना-लॉक डाउन में बेरोजगार होने से युवक नैनी झील में कूदा

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 अगस्त 2020। कोरोना-लॉक डाउन में बेरोजगार होने पर एक युवक ने नैनी झील में कूद मार दी। गनीमत रही कि पुलिस एवं स्थानीय लोगों की जल्दी उस पर नजर पड़ गई और उसे सकुशल बचा लिया गया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बुधवार शाम करीब छह बजकर 10 मिनट पर तल्लीताल की चीता मोबाइल को दर्शन घर पार्क में एक व्यक्ति के झील में कूदने की सूचना मिली। इस पर तल्लीताल थाना प्रभारी विजय मेहता, सीओ विजय थापा, चीता मोबाइल के वरिष्ठ आरक्षी शिवराज राणा एवं सुरेंद्र धामी आदि मौके पर पहुंचे तथा उसे लकड़ी की जैटी के पास से झील से बाहर निकाल लिया। उसकी पहचान 40 वर्षीय आसिम पुत्र अनीस निवासी बूचड़खाना तल्लीताल, के रूप में हुई। उसकी पत्नी के साथ दो बच्चे हैं। बताया गया है कि आसिम नगर में बाइक टैक्सी चलाता है। इन दिनों लॉक डाउन की वजह से बेरोजगार होने की वजह से शराब के नशे में वह नैनी झील में कूद गया।

यह भी पढ़ें : नगर पालिका कर्मी शराब के नशे में नैनी झील में कूदा, फिर डर गया, पुलिस ने बचाया

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 अगस्त 2020। मंगलवार पूर्वाह्न करीब साढ़े 11 बजे नगर पालिका का एक कर्मचारी शराब के नशे में पाषाण देवी मंदिर के पास ने नैनी झील में कूद गया। बताया गया है कि कूदने के बाद वह डर गया और झील किनारे की घास पकड़कर बचने का प्रयास करने लगा। गनीमत रही कि किसी ने इसकी सूचना चीता मोबाइल शिवराज राणा को दी। राणा एसआई दीपक बिष्ट व अन्य पुलिस कर्मियों की मदद से तत्काल मौके पर पहुंचे और गोताखोर सुरेश बहादुर थापा की मदद से नैनी झील से उसे सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। बताया गया कि नशे में होने की वजह से झील से बाहर आने में भी सहयोग नहीं कर रहा था। इस उसे रेस्क्यू करके झील से बाहर लाया गया।
तल्लीताल पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार उसकी पहचान करीब 45 वर्षीय तस्लीम पुत्र मूल निवासी संभल मुरादाबाद व हाल निवासी चार्टन लॉज मल्लीताल है। वह इस दौरान काफी शराब पिये हुए था। उसने बताया है कि वह नगर पालिका नैनीताल में ट्रक चलाता है। उसे बचाने वालों में तल्लीताल थाना प्रभारी विजय मेहता, आरक्षी राजा राम, सुरेंद्र धामी आदि ने भी योगदान दिया।

यह भी पढ़ें : Good Work : मां से लड़कर युवक ने लगाई मौत की छलांग, देवदूतों ने बचाया

नवीन समाचार, काठगोदाम, 9 अगस्त 2020। हल्द्वानी के सौरभ होटल के पीछे वैलेजली लॉज निवासी युवक पुनीत कुमार जोशी पुत्र स्वर्गीय हरीश चंद्र जोशी हरीश जोशी के लिए रविवार सुबह काठगोदाम पुलिस देवदूत साबित हुई। हुआ यह कि हरीश सुबह अपनी मां से किसी बात पर कहासुनी होने के बाद आवेश में आकर काठगोदाम के गौला बैराज आ गया और मौत को गले लगाने के लिए बैराज में छलांग लगा दी। लेकिन उसकी किस्मत अच्छी थी कि किसी ने तत्काल इसकी सूचना थानाध्यक्ष काठगोदाम नंदन सिंह रावत को दे दी, जो तत्काल ही गोताखोर मनोज बहुखंडी को लेकिर मौके पर पहुंचे और पहले भी कई लोगों के लिए देवदूत साबित हुए मनोज बहुखंडी ने अपनी सूझबूझ से गोला बैराज में कूदकर पुनीत को सकुशल बचा लिया।

श्री रावत ने बताया कि घटना सुबह साढ़े आठ बजे के आसपास की है। पुनीत 22-23 वर्षीय व अविवाहित है। वह दिल्ली में नौकरी करता है और इन दिनों घर मां के पास आया हुआ था। उसके पिता का देहांत हो चुका है, जबकि मां हल्द्वानी के एक बड़े निजी चिकित्सालय में नौकरी करती हैं। उसने बताया कि सुबह मां से कहासुनी होने पर आवेश में उसने यह कदम उठा लिया।

यह भी पढ़ें : मध्य रात्रि भारी बारिश के बीच सामने आया नैनीताल पुलिस का ‘गुड वर्क’, तेज बहते बरसाती नाले में चलाया बचाव अभियान

-चंपावत निवासी डंपर चालक को बचाया
नवीन समाचार, नैनीताल, 29 जुलाई 2020। बीती देर रात्रि हुई एक दुर्घटना में नैनीताल की ज्योलीकोट चौकी पुलिस का बड़ा ‘गुड वर्क’ प्रकाश में आया है। मामले में पुलिस ने गहरे नाले में गिरे डंपर के गिरने से बुरी तरह से घायल हुए चालक को मध्य रात्रि के बाद तक बारिश व गधेरे में बरसाती पानी के तेज बहाव के बीच कई घंटों तक बचाव अभियान चलाकर सकुशल बचाने में सफलता पाई है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार रात्रि करीब 11 बजे ज्योलीकोट चौकी पुलिस को सूचना मिली की एक डंपर खूंपी के पास गहरी खाई में गिर गया है। इस सूचना पर तत्काल चौकी प्रभारी दिलीप कुमार आपदा बचाव के उपकरणों तथा पुलिस बल के साथ तत्काल घटनास्थल पर पहुंचे। वहां खूपी भूमियाधार पुल के पास पुल से करीब 50 फीट गहरे नीचे पानी के गधेरे में डंपर संख्या यूके01सीए-0952 गिरा हुआ था। इस पर तत्काल ही पुलिस कर्मियों ने अपनी जान की परवाह किये बिना गधेरे में बरसाती पानी के बहुत तेज बहाव व बारिश के बीच काफी ढूंढ खोज कर बमुश्किल 44 वर्षीय चालक राजेंद्र सिंह अधिकारी पुत्र गोपाल सिंह अधिकारी निवासी रैगांव जनपद चंपावत को पैरों में व कमर आदि में गंभीर चोटों के साथ गंभीर रूप से घायल अवस्था में बचाया और 108 आपातकालीन एंबुलेंस से बीडी पांडे जिला चिकित्सालय भिजवाया। बचाव अभियान में चौकी प्रभारी दिलीप कुमार के अलावा आरक्षी कमल बिष्ट, अमरेंद्र कुमार, उमेश सती, रामायण प्रजापति व होमगार्ड अनिल तिवारी शामिल रहे।

विधायक पुत्र ने किया पिता के सपनों को साकार, क्षेत्रवासियों ने जताया आभार…

यह भी पढ़ें : दिल्ली से 15 दिन पूर्व घर से भागी बच्ची नैनीताल में मिली…

नवीन समाचार, नैनीताल, 7 जुलाई 2020। नैनीताल पुलिस की चीता मोबाइल टीम के हेड कांस्टेबल शिवराज राणा ने मंगलवार को एक 16 वर्षीया बच्ची को एक तरह से बचा लिया। बताया गया है कि यह बच्ची राणा को तल्लीताल रोडवेज स्टेशन के पास इधर-उधर घूमते हुए दिखी। पूछने पर उसने बताया कि वह दिल्ली से आई है। लेकिन वह इस प्रश्न का ठीक से जवाब नहीं दे पाई कि वह यहां किसके साथ आई है। उसके पास केवल एक छोटे मोबाइल के अलावा कोई बैग, सामान, रुपए आदि भी नहीं थे। शक होने पर द्वारा चीता मोबाइल थाना तल्लीताल द्वारा तत्काल ऐसे बच्चों का संरक्षण करने वाली संस्था विमर्श से संपर्क किया गया। विमर्श संस्था की टीम भेज को उसने पूछताछ में बताया कि वह दिल्ली से 15 दिन पहले अपने घर से भाग कर आ गई थी। आज सुबह ही नैनीताल पहुंची है। इस पर पुलिस ने उसका बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में मेडिकल कराया, जहां से उसे संस्थागत एकांतवास में भेज दिया गया। साथ ही उसके परिवारजनों से संपर्क कर उन्हें इस बात की सूचना दी गई।

यह भी पढ़ें : सब्जियां लेने से पहले की थर्मल स्कैनिंग, मास्क भी बांटे

नवीन समाचार, नैनीताल, 5 जुलाई 2020। कई बार की तरह इस रविवार सुबह भी नगर के अयारपाटा वार्ड में शेरवुड कॉलेज के पास कोरोना की महामारी व लॉक डाउन को देखते हुए ताजी व सस्ती सब्जियांे की मंडी लगाई गई। क्षेत्रीय सभासद मनोज साह जगाती ने बताया कि बारिश के बावजूद लगी इस सब्जी मंडी में बिना मास्क पहन के आये लोगो को मास्क दिये गये और सभी को थर्मल स्कैनिग करने के बाद ही सब्जी दी गयी। साथ ही हर बार की तंरह इस बार भी कुछ गरीब परिवारों को निःशुल्क सब्जी भी उपलब्ध कराई गई। इस कार्य में क्षेत्र के सामाजिक कार्यकर्ता मनोज कुँवर, दिनेश भट्ट, गोविन्द सिराला व भुवन जोशी ने सहयोग किया। उन्होंने बताया कि यहां सब्जियां वितरित करने का उद्देश्य है क्षेत्र की जनता को भीड़भाड़ की जगह में जाने से बचाना भी है। उल्लेखनीय है कि ऊंचाई वाला क्षेत्र होने के कारण इस क्षेत्र में सब्जियों की कोई दुकान नहीं है।

यह भी पढ़ें : लॉक डाउन में वेतन नहीं मिला, फिर भी जरूरतमंदों को बांटी खाद्य सामग्री

नवीन समाचार, नैनीताल, 2 जुलाई 2020। नगर के पब्लिक स्कूल शिक्षक एवं कर्मचारी समिति के सदस्यों ने बृहस्पतिवार को नगर के अम्तुल्स पब्लिक स्कूल के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को खाद्य सामग्री के पैक वितरित किये। बताया गया कि इन कर्मचारियों को स्कूल प्रबंधन के द्वारा लॉक डाउन के दौरान वेतन नहीं दिया गया है। इन्हें अप्रैल माह का आधार वेतन ही दिया गया, जबकि मई और जून माह का वेतन दिया ही नहीं गया है। इससे कर्मचारियों को अपने परिवार के भरण-पोषण आदि में अत्यधिक परेशानी हो रही है। समिति के सदस्यों ने इस बारे में पूर्व में जिलाधिकारी को तथा बृहस्पतिवार को मंडलीय अपर निदेशक-माध्यमिक शिक्षा को पत्र लिखकर भी वेतन न मिलने की शिकायत की है। खाद्य सामग्री वितरण के अवसर पर कल्याण समिति की नलिनी नेगी, मोहम्मद जफर, जगदीश कांडपाल, लाल सिंह नेगी, सुरेश पांडे, मोहन राम, निलय कुमार, राजेश चंद्रा व नंद किशोर आदि पदाधिकारी शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : चिकित्सकों, पुलिस-पालिका व मीडिया कर्मियों को किया सम्मानित

नवीन समाचार, नैनीताल, 27 जून 2020। अम्तुल्स पब्लिक स्कूल की ओर से शनिवार को कोरोना की महामारी के संक्रमण काल में तमाम खतरों के बावजूद अपने कार्य में लगे लोगों को ‘कोरोना वॉरियर्स’ के रूप में सम्मानित किया गया। खास बात यह रही कि किसी को विशेष प्रमाण पत्र की जगह नगर के कोतवाली मल्लीताल व थाना तल्लीताल के साथ ही तल्लीताल डांठ व मल्लीताल रिक्शा स्टेंड की पुलिस पोस्ट के समस्त पुलिस कर्मियों, बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के समस्त सभी चिकित्सकों, नर्सों एवं चिकित्सा कर्मियों, नगर पालिका के समस्त कर्मचारियांे एवं मीडिया कर्मियों को सम्मानित किया गया। सम्मानित होने वालों में प्रमुख रूप से बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डात्र केएस धामी, वरिष्ठ फिजीशियन डा. एमएस दुग्ताल, मल्लीताल के कोतवाल अशोक कुमार सिंह, तल्लीताल के थाना प्रभारी विजय मेहता, नगर पालिका अध्यक्ष सचिन नेगी प्रमुख रहे। वहीं विद्यालय की ओर से प्रधानाचार्या अनीता खान, मो. जफर, राजेश कुमार सहित व समस्त कर्मी तथा नगर पालिका सभासद गजाला कमाल प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : मोबाइल न देने पर घर से भागी नाबालिक को पुलिस ने घंटे भर में ही ढूंढ निकाला

नवीन समाचार, नैनीताल, 19 जून 2020। शुक्रवार को समीपवर्ती ग्राम भूमियाधार निवासी एक नाबालिक बालिका मां की डांट से क्षुब्ध होकर घर छोड़कर निकल भागी। इस पर ज्योलीकोट चौकी पुलिस तत्काल सक्रिय हुई और एक घंटे के भीतर ही बालिका को सकुशल बरामद कर परिजनों को सौंप दिया।
ज्योलीकोट चौकी प्रभारी दिलीप कुमार ने बताया कि पुलिस को शुक्रवार प्रातः ग्राम भूमियाधार से एक नाबालिक लड़की के अपना घर छोड़कर भागने की सूचना मिली। इस पर पुलिस ने स्थानीय स्तर पर वाहनों की सघन चेकिंग शुरू की। चेकिंग में टैक्सी में बैठकर हल्द्वानी की ओर जा रही नाबालिग बालिका को पुलिस ने ज्योलीकोट के नलेना के पास बरामद कर उसके परिजनों को सौंप दिया। परिजनों ने बताया कि उनकी बेटी के पास मोबाइल नहीं है, और वह अपनी मां के मोबाइल को लगातार इस्तेमाल करती थी। इसी बात पर उसको मना किया गया और पढ़ाई पर ध्यान देने के लिए कहा गया तो बालिका घर छोड़ कर चली गई।

यह भी पढ़ें : लॉक डाउन में नैनीताल के बेरोजगार युवाओं ने तलाशा नया रोजगार..

-नेपाली श्रमिकों के लौटने से स्थानीय युवाओं ने संभाला उनका काम
-नाव चालक एवं फड़ आदि लगाकर करते थे रोजगार, वह रोजगार बंद हो गया
नवीन समाचार, नैनीताल, 5 जून 2020। समस्याएं नये अवसर भी उपलब्ध कराती हैं, बस नये अवसरों को पहचानना होता है। ऐसा ही कुछ नगर के युवाओं के साथ हुआ है। यहां नौका चालक एवं नैनी झील के पास फड़ इत्यादि लगाकर रोजगार करने वाले युवा कोरोना, लॉक डाउन और पर्यटन कारोबार चौपट हो जाने की वजह से बेरोजगार हो गये हैं। उधर नगर में खासकर सामान उठाने के काम में लगे नेपाली श्रमिक अपने देश लौट गये हैं। इन स्थितियों के बीच नगर के कुछ युवाओं ने नेपाली श्रमिकों का काम अपनाकर एक तरह का अनुकरणीय उदाहरण प्रस्तुत किया है।
उल्लेखनीय है कि पर्वतीय नगर में सामान उठाकर एक से दूसरी जगह पहुंचाने का काम कठिन होता है। दशकों से यह कार्य मजबूत कद काठी के नेपाली श्रमिक कर रहे हैं। नगर के युवा अब तक ऐसे कार्य में संकोच ही करते थे। किंतु इधर लॉक डाउन में उनके अपने देश लौट जाने से नगर में सामान उठाने का काम काफी प्रभावित हो गया है। खासकर नगर के व्यवसायियों का वाहनों से आने वाला बड़ा सामान भी उनके प्रतिष्ठानों पर पहुंचने की समस्या उत्पन्न हो गई थी। नगर में अब तक वाहनों से आने वाला सामान उतारकर और उसे बिल्टी के आधार पर संबंधित प्रतिष्ठानों तक पहुंचाने का कार्य नेपाली श्रमिक ही करते थे। इधर समस्या उत्पन्न होने पर नगर के युवा इस कार्य को व्यवस्थित तरीके से व्यापार मंडल के पदाधिकारी विवेक वर्मा के निर्देशन में कार्य करना प्रारंभ किया है। अब वे सुबह-सुबह दो पहिया व अन्य छोटे वाहनों के माध्यम से सामान संबंधित प्रतिष्ठानों में पहुंचा रहे हैं। इस पूरी व्यवस्था में नगर के व्यवसायी सुमित खन्ना, पुनीत टंडन, रुचिर साह आदि की भी महत्वपूर्ण भूमिका रही है। रुचिर साह ने बताया कि इससे युवाओं को अच्छी आय भी प्राप्त हो रही है।
चित्र परिचयः 05एनटीएल-1ः नैनीताल: लॉक डाउन के दौरान सामान की डिलीवरी का कार्य संभाले नगर के युवा।

यह भी पढ़ें : गामीणों ने लॉकडाउन में श्रमदान कर गांव के लिए बना डाली तीन किमी सड़क

नवीन समाचार, नैनीताल, 15 मई 2020। नैनीताल जनपद के दूरस्थ बेतालघाट ब्लॉक के दूरस्थ गांव जिनोली के ग्रामीणों ने लॉकडाउन का सदुपयोग कर अनुकरणीय उदाहरण पेश किया है। ग्राम वासी संजय नेगी ने बताया कि ग्रामीणों ने श्रमदान से तीन किलोमीटर कच्ची सड़क बना डाली है। युवाओं ने सकदीना जिनोली मोटर मार्ग के पटोरी चौक से गांव तक तीन किलोमीटर लंबी सड़क काटकर अपने गांव तक दो पहिया वाहन पहुंचा दिए। इस कार्य मे कई वे युवक भी शामिल हुए जो अन्य क्षेत्रों में नौकरी कर रहे थे और इन दिनों गांव में आए हुए हैं। गांव को आने-जाने में होने वाली परेशानी को देख लगभग एक दर्जन युवकों ने इस दौरान श्रमदान कर सड़क का निर्माण कर दिया। इसके बाद जब पहली बार गांव में दोपहिया वाहन पहुंचे तो उन्हें देखकर ग्रामीण खुश नजर आए, और उन्होंने खुशी व्यक्त की।https://www.facebook.com/story.php?story_fbid=1192679611071251&id=206513083021247

यह भी पढ़ें : एसडीएम में जागा माटी का प्यार, लॉक डाउन में फंसे गृह क्षेत्र के युवाओं को भिजवाया घर

घर जाने को तैयार युवा

नवीन समाचार, नैनीताल, 9 मई 2020। नैनीताल के एसडीएम विनोद कुमार शनिवार को लोहाघाट के पांच युवाओं के लिए मसीहा साबित हुए। हुआ यह कि कुमाऊं विवि में काम के सिलसिले में मुख्यालय आये बाराकोट ब्लॉक के रेगांव निवासी कृष्णा अधिकारी, दीपक व लोकमान आदि चार युवा नगर में कोरोना संक्रमण के लिए लागू लॉकडाउन के कारण लंबे समय से फंसे हुए थे। उन्होंने जेब खर्च की समाप्ति के बाद दोस्तों व उनके परिचितों की सहायता मांगकर किसी तरह जान बचाई। इधर दो रोज पहले उन्होंने फेसबुक पर पोस्ट लिखी और मदद मांगी तो लोहाघाट के मूल निवासी एसडीएम विनोद कुमार की नजर इस पोस्ट पर पड़ गई। उन्होंने कल ही संपर्क साधा और उन्हें घर वापसी का भरोसा दिलाया। शनिवार को एसडीएम ने चार युवाओं के साथ ही एक अन्य किमतोली के समीप सुदरका निवासी चंद्रकांत के लिए भी वाहन का इंतजाम कराया और उन्हें उनके घर लोहाघाट भेजा। एसडीएम का कहना है कि उन्होंने सिर्फ फर्ज निभाया। डीएम सविन बंसल की कार्यप्रणाली से उन्हें यह प्रेरणा मिली है।

यह भी पढ़ें : अंडरवर्ल्ड डॉन ने कोरोना से जंग में दिये 11 हजार, अन्य कैदियों ने भी दिये करीब 45 हजार

प्रकाश पांडे उर्फ पीपी

नवीन समाचार, सितारगंज, 4 मई 2020। कोरोना से जंग में कुल अलग समाचार भी आ रहे हैं। जहां कोरोना की विभीषिका के दौरान जेलों से बंदियों को छोड़ने की नौबत आ गई थी, वहीं अब सितारगंज सेंट्रल जेल से खबर है कि यहां बड़े अपराधों में सजा काट रहे कुख्यात कैदियों के दिल भी कोरोना के आगे पिघल गये हैं। यहां जेल में बंद अंडरवर्ल्ड डॉन प्रकाश पांडे उर्फ पीपी ने जेल में की गई मेहनत की कमाई से प्रधानमंत्री राहत कोष में 11 हजार रुपए जमा करा दिए हैं। उनके अलावा एक अन्य कैदी पूरन सिंह ने भी पांच हजार रुपए दिए हैं। वहीं उम्र कैद व अन्य सजा भुगत रहे अन्य कैदियों ने भी करीब 39 हजार रुपये दिये हैं। जेल अधीक्षक डीआर मौर्या ने बताया कि प्रकाश पांडे समेत 18 कैदियों ने 55 हजार से अधिक रुपए राहत कोष में दिए हैं। जेल अधीक्षक का कहना है कि जेल में बंद कैदियों में भी राष्ट्रप्रेम का जज्बा है जिसकी वजह से ही उन्होंने आपदा काल में दान करने का मन बनाया है। बताया गया है कि वर्तमान में सेंट्रल जेल व संपूर्णानंद शिविर खुली जेल में 650 से अधिक कैदी बंद है।
उल्लेखनीय है कि अंडरवर्ल्ड डॉन पीपी की विगत विधानसभा चुनाव में जेल से ही चुनाव लड़ने की भी चर्चा थी। इससे पूर्व उसने स्वयं को गरीबों के हितैषी के रूप में भी पेश किया था।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : न्यायाधीशों, पूर्व विधायक व संस्था ने जरूरतमंदों को बांटी मदद..

नवीन समाचार, नैनीताल, 25 अप्रैल 2020। जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजीव कुमार खुल्बे एवं मुख्यालय में तैनात पीठासीन न्यायिक अधिकारियों-न्यायाधीशों ने शनिवार को कोरोना विषाणु कोविद -19 के कारण लागू लॉकडाउन से उत्पन्न संकट के दृष्टिगत नगर के कमजोर आय वर्ग के 100 परिवारों एवं जरूरतमंद परिवारों को राशन के पैक भेंट किये। इस कार्य में प्रथम अपर जिला जज विनोद कुमार, द्वितीय अपर जिला जज राकेश कुमार सिंह, परिवार न्यायाधीश बृजेंद्र सिंह, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट मुकेश चंद्र आर्या, सिविल जज अभय सिंह व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण इमरान मोहम्मद खान आदि ने भी योगदान दिया।
पूर्व विधायक ने कोटाबाग के ग्रामीण क्षेत्रों में वितरित किया खाद्यान्न
नैनीताल। पूर्व विधायक एवं प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सरिता आर्य के द्वारा जनपद के दूरस्थ विकासखंड कोटाबाग के ग्राम रानीकोटा, देवीपुरा, सिमलखेत, रियाड़, तल्ला रियाड़, मल्ला, डोला, डूमैला व बाघनी में जरूरतमंद व असहाय लोगों को खाद्यान्न व मास्क का वितरण किया गया। इस मौके पर उनके साथ नगर कांग्रेस अध्यक्ष अनुपम कबडवाल, कोटाबाग विकासखंड के ग्राम प्रधान संगठन के अध्यक्ष हीराबल्लभ बधानी भी साथ रहे।
विमर्श संस्था ने 340 परिवारों को भेंट की खाद्य सामग्री
नैनीताल। विमर्श संस्था के द्वारा लॉक डाउन के दौरान जनपद के भीमताल, बेतालघाट, रामगढ़, धारी व हल्द्वानीके 340 परिवारों को खाद्य सामग्री और 100 किशोरियों को सैनिटरी पैड व मास्क आदि उपलब्ध कराये गये हैं। संस्था की समन्वयक गायत्री दरम्वाल ने बताया कि इसके साथ ही संस्था के द्वारा महिला संगठन, किशोरी संगठन व युवा संगठनों के माध्यम से लोगों को सरकार द्वारा कोविद-19 के दृष्टिगत जारी दिशा-निर्देशों के प्रति जागरूक भी किया जा रहा है, और 1098 चाइल्ड हेल्प लाइन के माध्यम से बच्चों की मदद भी की जा रही है।

यह भी पढ़ें : ‘नवीन समाचार’ में आज इन ‘कोरोना योद्धाओं’ की है चर्चा-भाजपा जिला संयोजक ने प्रशासन को भेंट किये मास्क

नवीन समाचार, नैनीताल, 22 अप्रैल 2020। भाजपा जिला संयोजक पंकज राठौर ने बुधवार को मुख्यालय स्थित डीएसए मैदान एसडीएम विनोद कुमार व कोतवाली प्रभारी अशोक कुमार सिंह को सामाजित दूरी बनाते हुए जरूरतमंदों में बांटने के लिए दर्जनों मास्क भेंट किये। साथ ही उन्होंने नैनीताल पुलिस, एसडीएम, नगर पालिका के पर्यावरण मित्रों, चिकित्सकों एवं चिकित्सा कर्मियों तथा मीडिया कर्मियों का कोरोना से जंग में बिना रुके, बिना थके सक्रिय योगदान देने पर आभार करते हुए उन्हें कोरोना विषाणु की आपदा मंे कर्मवीर योद्धा बताया। उन्होंने जनता से प्रशासन का सहयोग करने और अपने घरों में सतर्कता से रहने, सामाजिक दूरी का पालन करने व मास्क जरूर पहनने का भी आह्वान किया।

बिंदूखत्ता में बालाजी मंडली ने गरीबों को बांटी राशन सामग्री
लालकुआं। बिंदूखत्ता में बालाजी मंडली ने 15 गरीबों को राशन की सामग्री वितरित की। बताया गया कि आगे भी दो दिन बाद पुनः राशन सामग्री बांटी जाएगी। राशन वितरण में दुग्ध डेरी बिंदुखत्ता के पूर्व अध्यक्ष सोनू जोशी, दीपक शर्मा, गिरीश जोशी, दिनेश रावत, प्रतीक जोशी, नीरज कबडवाल, शर्मा जी, राजू भाई व ललित दानू आदि ने सहयोग किया।

स्काउट-गाइड भी दे रहे योगदान
नैनीताल। कोरोना की वैश्विक महामारी के दौरान भारत स्काउट-गाइड नैनीताल द्वारा बुधवार को भवाली नगर पालिका के लगभग 50 से अधिक वास्तविक कोरोना योद्धाओं-पर्यावरण मित्रों को सैनिटरी किट भेंट किये। जिला सचिव व नोडल अधिकारी आरएस जीना ने बताया कि पहले लॉक डाउन से अभी तक नैनीताल जिले के सभी स्काउट-गाइड अपने स्तर से लगभग 300 परिवारों तक राशन के किट, हल्द्वानी, रामनगर, नैनीताल नगर निगम-पालिका के लगभग 250 पर्यावरण प्रेमियों को सैनिटरी किट एवं स्थानीय स्तर पर कई सदस्यों द्वारा घर में स्वयं तैयार कर लगभग 500 से अधिक मास्क आस-पास के लोगों को निःशुल्क वितरण कर चुके हैं। साथ ही रोवर-रेंजर सार्वजनिक स्थानों को सैनिटाइज करने व सामाजिक दूरी तथा सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों को पोस्टर बनाकर व सोशियल मीडिया में विभिन्न प्रकार से जन जागरूक अभियान चलाने के साथ ही एसडीआरएफ के सहयोग से वरिष्ठ स्काउट-गाइड के रूप में स्वयं सेवक के रूप में भी कार्य कर रहे हैं। इस मौके पर राज्य आयुक्त एवं अपर निदेशक प्रारम्भिक शिक्षा रघुनाथ लाल आर्य के साथ ही नगर पालिकाध्यक्ष संजय वर्मा, अधिशासी अधिकारी ईश्वर सिंह रावत, बीईओ रामगढ़ अश्वनी रावत, गौरा देवी देव, हिमांशु पांडे, बीएन उपाध्याय, शबनम, प्रकाश आर्या, अंजना पंत व इंद्र देव टम्टा आदि लोग मौजूद रहे।
इधर नैनीताल में पृथ्वी दिवस के मौके पर गाइड एवं विपनैट क्लब की सचिव स्मृति पांडे की डॉक्यूमेंट्री फिल्म-गो ग्रीन को लांच किया गया। साथ ही उन्होंने संस्कृति पांडे व संस्कार पांडे के साथ घर पर तैयार फूलो के गमलों से ‘स्टे होम इंडिया’ लिखकर कोरोना के प्रति भी जागरूकता का संदेश दिया गया।

श्रीराम सेवक सभा 102 परिवारों केा देगी राशन के पैकेट
नैनीताल। नगर की सबसे पुरानी धार्मिक-सामाजिक संस्था श्रीराम सेवक सभा के द्वारा बृहस्पतिवार को 102 परिवारों के लिए खाद्य सामग्री के पैकेट जिला प्रशासन को दिये जाएंगे। सभा के महासचिव जगदीश बवाड़ी ने यह जानकारी दी है।

10 वाहनों का चालान, जरूरतमंदों की मदद
नैनीताल। तल्लीताल पुलिस ने बुधवार को कोरोना विषाणु कोविड-19 संक्रमण के दृष्टिगत लॉक डाउन के दौरान लॉक डाउन एवं यातायात नियमों का उल्लंघन करते हुए 10 वाहन चालकों के विरुद्ध 81 पुलिस अधिनियम के अंतर्गत कर कार्रवाई की और 2500 रुपए का संयोजन शुल्क वसूला। साथ ही स्थानीय जन सहयोग से थाना क्षेत्र अंतर्गत जरूरतमंद लोगों को 200 पैकेट लंच पैकेट व 5 जरूरतमंद लोगों को करीब 50 किलो राशन सामग्री वितरित की।

ग्रामीण बुजुर्ग ने पीएम केयर्स में 50 हजार रुपए जमा कराए
पीएम राहत कोष के लिए चेक सौंपते हुए।

नवीन समाचार, नैनीताल, 16 अप्रैल 2020। जनपद के रामगढ़ विकासखंड के शीतला गांव के छतोला निवासी बुजुर्ग किशन सिंह बिष्ट ने बृहस्पतिवार को कोरोना से लड़ने के लिए सेवानिवृत्ति के बाद जमा पूंजी में से 50,000 हजार रुपये की धनराशि पीएम केयर्स में जमा करवाई है। किशन सिंह भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान (आईवीआरआई) मुक्तेश्वर में कार्यरत थे। पांच वर्ष पूर्व सेवानिवृत्त हुए हैं। उन्होंने मुक्तेश्वर स्थित एसबीआई शाखा में पहुंचकर बैंक कर्मी अंकित लोहनी के माध्यम से पीएम केयर्स में यह धनराशि जमा करवाई।

सभासद ने नवजात बच्चों के दूध के लिए उपलब्ध कराई धनराशि
नैनीताल। नैनीताल नगर पालिका के स्नोव्यू वार्ड के सभासद पुष्कर बोरा ने एक अभिनव पहल करते आठ महिलाओं को 690-690 रुपए के चेक अपनी ओर से भेंट किये। बोरा का कहना है कि उनके वार्ड में केवल दूध पर निर्भर बच्चों को लॉक डाउन के दौरान परिवार की कमजोर आर्थिक स्थिति के कारण दूध उपलब्ध न होने की बात पता चली। इस पर उन्होंने ऐसी आठ महिलाओं को एक माह के दूध के लिए यह धनराशि भेंट की है। सभासद के इस प्रयास की सराहना की जा रही है।

शेरवानी हिल टॉप ने 72 ग्रामीण परिवारों को भेंट किया राशन
नैनीताल। नगर के शेरवानी हिल टॉप होटल की ओर से बृहस्पतिवार को जनपद के दूरस्थ सौड़, घुघूखान व सिगड़ी के 72 ग्रामीणों को खाद्य सामग्री का वितरण किया। ग्रामीणों को खाद्य सामग्री वितरित करने में होटल के महाप्रबंधक गोपाल दत्त, प्रबंधक दिनेश पालीवाल, दलीप, राजेंद्र आदि अधिकारी व कर्मचारी भी शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : 85 जरूरतमंदों की मदद की, वाल्मीकि मंदिर समिति को भेंट किये 10 हजार

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 अप्रैल 2020। कोरोना विषाणु के संक्रमण से बचाव के लिए लागू लॉक डाउन के कारण असहाय व जरूरतमंद लोगों के बीच समाजसेवी अपने अपने स्तर से खाद्य सामग्री का वितरण कर रहे है। इसी कड़ी में रविवार को समाजसेवी व वरिष्ठ कांग्रेस नेता हेम चंद आर्य ने भीमताल ब्लॉक के डोब ल्वेशाल क्षेत्र में 85 जरूरतमंद लोगों को आटा, चावल, तेल, दाल, चीनी, चायपत्ती व मसाले आदि खाद्य सामग्री का वितरण किया। उन्होंने कहा कि आगे भी वे इसी तरह असहाय जरूरतमंद लोगों की मदद करते रहेंगे। इस दौरान सुधांश रजवार, शुभम कुमार, प्रधान पति संजू आर्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य राजू आर्य, उप प्रधान सुमन आर्य, बालम सिंह, विनोद आर्य, रमेश आर्य, जीवन सिंह व संजय आर्य आदि लोग मौजूद रहे।

इधर नगर में वाल्मीकि पंचायत नैनीताल ने रविवार को गरीबों की सहायता व राशन वितरण हेतु वाल्मीकि मंदिर समिति तल्लीताल को 10 हजार रुपये की सहयोग राशि उपलब्ध करायी।

यह भी पढ़ें : देश के राष्ट्रपति ने की उत्तराखंड की देवकी की तारीफ…

नवीन समाचार, नई दिल्ली, 10 अप्रैल 2020। देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उत्तराखंड देवकी की बुजुर्ग महिला 60 वर्षीया देवकी भंडारी की उदारता की प्रशंसा की है। देश के राष्ट्रपति के ट्विटर हैंडल से शुक्रवार को इस संबंध में श्रीमती भंडारी की तस्वीर के साथ एक पोस्ट शेयर की गई है, जिसमें कहा गया है: ‘उत्तराखंड के चमोली की रहने वाली श्रीमती देवकी भंडारी के उदारता पूर्ण योगदान के बारे में जानकर अत्यधिक प्रसन्नता हुई। उन्होंने एक सच्चे राष्ट्र निर्माता की भावना से अपनी जीवन भर की कमाई के 10 लाख रुपये पीएम केयर्स फंड में सौंप दिए हैं।’
देखें राष्ट्रपति की पोस्ट :

यह भी पढ़ें : 60 वर्षीया देवकी का कोई नहीं, पीएम केयर्स फंड में दे दिये 10 लाख रुपए

Blog single photoनवीन समाचार, गौचर (चमोली), 8 अप्रैल 2020। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कोरोना से जंग में ऐसे लोग भी साथ आ रहे हैं, जिनके आगे-पीछे बुढ़ापे का कोई सहारा नहीं है। ऐसी ही उदार दिल की देवकी देवी (60) हैं। उन्होंने अपनी जमा-पूंजी के 10 लाख रुपये पीएम केयर फंड को दे दिए हैं।
देवकी देवी चमोली जिले के गौचर में रहती हैं। उनकी कोई संतान भी नहीं हैं। उनके पति रेशम विभाग में थे। कुछ समय पहले उनका निधन हो चुका है। अपनी आय को सामाजिक कार्यों में खर्च करना उनके लिए कोई नहीं बात नहीं है। स्थानीय लोग बताते हैं कि इससे पहले भी देवकी देवी एक मेधावी छात्र की पढ़ाई का खर्च वहन कर चुकी हैं। देवकी के पिता स्वतत्रंता संग्राम सेनानी थे। देवकी कहती हैं कि वे प्रधानमंत्री मोदी के व्यक्तित्व और उनकी देशसेवा के जज्बे से प्रभावित हैं। इसलिए उन्होंने अपनी जमा-पूंजी प्रधानमंत्री को सौंपी है, जिससे वह कोरोना की लड़ाई जीत सकें।

यह भी पढ़ें : अनुकरणीय : छात्राओं ने अपने जेब खर्च से जरूरतमंदों को बांटा 200 किलो राशन व मास्क

गेठिया में पुलिस के माध्यम से जरूरतमंदों को राशन भेंट करने पहुंची छात्राएं।

नवीन समाचार, नैनीताल, 9 अप्रैल 2020। तल्लीताल पुलिस को उनके द्वारा लोगों की सहायता के लिए चलाई जा रही मुहिम में तल्लीताल क्षेत्र में रहने वाली कुछ स्कूली छात्राओं का साथ मिला है। द्वाराहाट पॉलिटेक्निक व राजस्थान के वनस्थली कॉलेज में अध्ययनरत इन छात्राओं ने अनुकरणीय मिसाल पेश करते हुए ‘कोरोना हिल रिलीफ फंड ग्रुप’ का गठन किया है। सोमवार को इन छात्राओं ने तल्लीताल थाना पुलिस के माध्यम से अपने जेब खर्च से बचाए हुए पैसों से निकटवर्ती ग्राम भूमियाधर, गेठिया व खूपी में निवासरत 20 असहाय गरीब वृद्ध निराश्रित लोगों को सामाजिक दूरी बनाते हुए 200 किलो राशन व घर में बनाए मास्क वितरित किए हैं।

यह भी पढ़ें : श्रद्धा गुरुरानी तिवारी गजल पर शास्त्रीय नृत्य से तो बिष्ट परिवार गीत से लोगों को कर रहे हैं जागरूक..

नवीन समाचार, नैनीताल, 6 अप्रैल 2020। भारत सरकार के सूचना प्रसारण मंत्रालय के फील्ड आउटरीच कार्यालय में कार्यरत श्रद्धा गुरुरानी तिवारी कोरोना विषाणु के खिलाफ लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से शास्त्रीय नृत्य के माध्यम से लोगों को घरों से बाहर ना निकलने व सोशल डिस्टेंस बनाकर रखने की अपील कर रही हैं। प्रसिद्ध गीतकार गुलजार की गजल ‘बेवजह घर से निकलने की जरूरत क्या है….मौत से आंख मिलाने की जरूरत क्या है’ पर उनकी नृत्य की प्रस्तुति मनमोहक है तथा प्रधानमंत्री मोदी के घर से काम करने यानी ‘वर्क टू होम’ के आह्वान को सुंदर तरीके से आगे बढ़ा रही हैं। इसकी सराहना सूचना प्रसारण मंत्रालय द्वारा भी की गई है। श्रद्धा गुरुरानी ने बताया कि यह गजल गुलजार की है, इसमें स्वर अंजलि जरिया ने दिया है। उल्लेखनीय है कि लॉक डाउन के दौरान सूचना प्रसारण मंत्रालय के फील्ड आउटरीच ब्यूरो के अन्य अधिकारी-कर्मचारी भी इसी तरह अपनी ओर से जागरूकता के विशेष प्रयास कर रहे हैं।

यहीं तैनात नैनीताल निवासी रश्मि बिष्ट व उनके पति गोपेश बिष्ट ने भी इसी कड़ी में एक गीत ‘ मातृभूमि की रक्षा को संकल्प यही उठाना है, हाथ जोड़कर हाथ धोकर कोरोना को हराना है’ तैयार किया है। यह गीत भी काफी पसंद किया जा रहा है। इस गीत में आवाज गोपेश बिष्ट ने दी है। जबकि उनकी बेटी लावन्या बिष्ट, स्मृति बिष्ट और शास्वत बिष्ट ने भी सहयोग किया है।

यह भी पढ़ें : ‘कोरोना फाइटर्स’ की मदद को आगे आए ‘कोरोना वॉरियर्स’

नवीन समाचार, नैनीताल, 5 अप्रैल 2020। विश्व व्याप्त कोरोना विषाणु की महामारी से लड़ने में जहां कुछ लोग सीधे ‘कोरोना फाइटर्स’ के रूप में कोरोना से सीधा मोर्चा ले रहे हैं, वहीं पूरा देश ‘कोरोना वॉरियर्स’ के रूप में घर बैठे भी उनकी मदद कर रहा है। ऐसे में नगर में कोरोना वॉरियर्स द्वारा कोरोना फाइटर्स की मदद के लिए आगे आने के नये अनुकरणीय दृश्य नजर आ रहे हैं।
इसी कड़ी में नगर के सेंट जोसफ कॉलेज के प्रधानाचार्य ब्रदर हैक्टर पिंटो ने रविवार को नगर के करीबी मनोरा गांव में जरूरतमंद ग्रामीणों को खाद्य सामग्री उपलब्ध कराई। साथ ही लगातार अपनी ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मियों को बिस्किट व चॉकलेट आदि भेंट किये। वहीं एसथ्री फाउडेशन की टीम ग्रीन आर्मी के सदस्यों ने धूप में सड़कों पर ड्यूटी में तैनात पुलिस कर्मियों को इलाहाबाद बैंक के सहयोग से फ्रूटी पिलाई। इधर भाजपा जिला महिला मोर्चा की अध्यक्ष जीवंती भट्ट के द्वारा गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहे तल्लीताल धर्मशाला के पास रहने वाले 22 लोगों को राशन सामग्री वितरण की गई। इससे पहले भी उनके द्वारा मल्लीताल आवागढ़ कंपाउंड के 20 परिवारों को राशन सामग्री वितरण की गई है। इधर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कार्यकर्ता भी दूसरों की मदद में जुटे हुए हैं।

सरस्वती विहार माध्यमिक विद्यालय ने मुख्यमंत्री राहत कोष में दिये 50 हजार
नैनीताल। नगर के दुर्गापुर स्थित पार्वती प्रेमा जगाती सरस्वती विहार माध्यमिक विद्याीलय ने कोरोना विषाणु के निवारण हेतु मुख्य मंत्री राहत कोष में 50 हजार रुपए का अंशदान दिया है। साथ ही विद्यालय नेे आस-पास के 40 जरूरत मंद परिवारों को खाद्य सामग्री ज्योलिकोट पुलिस चौकी के पुलिस कर्मीयों की मदद से भेंट की है। विद्यालय के प्रबन्धक डा. केपी सिंह ने कहा कि सभी एकजुट होकर इस महामारी का मुकाबला कर सकते हैं। विद्यालय प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष कामेश्वर प्रसाद काला ने विद्यालय परिवार के सभी सदस्यों को महामारी से लड़ने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा निर्देशित सुझाओं का पालन करने का आग्रह किया है।

एनसीसी कैडेट दीप्ति कर रही जनता से अपील
नैनीताल। नगर की एनसीसी कैडेट दीप्ति बोरा इन दिनों कोरोना से बचाव के लिए आम जन से अपील कर अनूठी मिसाल पेश कर रही हैं। उन्होंने एनसीसी कैडेटों के लिए कुछ पोस्टर तैयार किये हैं, जिनके जरिये वे आम जन से प्रधानमंत्री राहत कोष में दान दने, गरीबों के लिए पुलिस प्रशासन को राशन भेंट करने, अपने घर से भोजन बनाकर आस पास के गरीबों में वितरित करने, अपने घरों में रहने वाले गरीब किरायेदारों को घर से न निकालने, अपनी सोसायटी या मोहल्ले में आये बाहरी लोगों की सूचना पुलिस को गुप्त रूप से देने एवं केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा कोरोना से लड़ने के लिए दिये जा रहे दिशा-निर्देशों का पालन करने की अपील कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें : सामाजिक कार्यकर्ता ने चिकित्सकों को भेंट किये खुद तैयार किए हुए मास्क

नवीन समाचार, नैनीताल, 4 अप्रैल 2020। नगर के मॉडल कॉटेज कम्पाउंड स्थित हनुमान मन्दिर के पास जोशी निवास में रहने वाले सामाजिक कार्यकर्ता चंदन जोशी ने शनिवार को कोरोना वायरस संक्रमण के लिए लड़ रहे बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के समस्त चिकित्सकों, सफाई कर्मियों के साथ वहां के अन्य कर्मियों को स्वयं के प्रयास से तैयार किये गए मास्क वितरित किये। इस कार्य में मुकेश कुमार व नंदन कुमार की भी बड़ी भूमिका रही, जो रात-दिन एक कर के कोरोना विषाणु के सकं्रमण के विरुद्ध लड़ रहे लोगों के लिए मास्क तैयार कर रहे है।
उल्लेखनीय है कि चंदन जोशी की एक सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में नगर में एक अलग पहचान हैं। इन दिनों वह बिड़ला चुंगी व छत्तीस सीढ़ी में 7 नम्बर वासियों के लिए सब्जी वितरण में अपना सहयोग निभा रहे हैं। जोशी का कहना है कि वर्तमान दौर में कोरोना विषाणु के संक्रमण से बचना व बचाना सभी का कर्तव्य है। लोग खुद व अपने बच्चों को घर से बाहर न निकलने दें।

यह भी पढ़ें : आर्य समाज मंदिर ने पीएम केयर में दिये 21 हजार, पालिका ने अपने कर्मचारियों को बांटे राशन पैक

-जरूरतमंदों की बढ़-चढ़कर मदद को लगातार आगे आ रहे कोरोना वॉरियर्स
नवीन समाचार, नैनीताल, 3 अप्रैल 2020। आर्य समाज मंदिर मल्लीताल नैनीताल ने संस्था के वरिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य जेएस सामंत की प्रेरणा से शुक्रवार को पीएम केयर में मदद देने के लिए 21 हजार रुपए भारतीय स्टेट बैंक की मल्लीताल शाखा में जमा किए। संस्था की ओर से कहा गया है कि वह हमेशा से ऐसी स्थितियों में देश के लिए सहायता, सहयोग करते आए हैं। इधर नगर पालिका के द्वारा अपने जरूरतमंद कर्मचारियों को और विधायक संजीव आर्य की अगुवाई में बने ‘हेल्पिंग हैंड’ समूह के द्वारा जरूरतमंदों की मदद का अभियान भी जारी है। उधर तल्लीताल पुलिस के जवान भी एसआई जरूरतमंदों की मदद के अभियान में जुटे हुए हैं, और समाजसेवियों की मदद से लोगों को घर-घर राशन, भोजन एवं अन्य सामग्री पहुंचा रहे हैं। इधर शुक्रवार को ‘जय जननी जय भारत’ संस्था से जुड़े परवेज आलम व नाजिम ने असहाय, निर्धन वर्ग के लोगों को कोरोना से बचाव के लिए मास्क बांटे।

नगर पालिका ने अपने कर्मचारियों को बांटे राशन के पैक
नैनीताल। नगर पालिका प्रशासन द्वारा कोरोना के संक्रमण से बचाव के कार्य में इन विषम परिस्थिती में भी अपने कार्य पर डटे हुए कर्मचारियों को प्रोत्साहन स्वरूप वार्ड सर्किल वार जरूरी राशन उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके लिए पालिका प्रशासन ने 350 से अधिक राशन के पैक बनाये हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को लगभग 4 से 5 सर्किल के लगभग 80 कर्मचारियों को नगर पालिका अध्यक्ष सचिन नेगी व अधिशासी अधिकारी अशोक वर्मा के हाथों सामाजिक दूरी बनाते हुए राशन उपलब्ध कराया गया। बताया गया कि प्रति दिन 3 से 4 सर्किल के कर्मचारियों को समयांतराल पर बुला कर राशन वितरित किया जाएगा। इसके लिए पूर्व में संबंाित सफाई हवलदार को सूचित किया जाएगा। इस मौके पर देवभूमि उत्तराखंड सफाई कर्मचारी संघ के अध्यक्ष धर्मेश प्रसाद, महासचिव सोनू सहदेव, उपाध्यक्ष संजय भगत, उपसचिव कमल कुमार, मंगूलाल, अमित सहदेव, सहित कई कर्मचारी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : जरूरतमंदों की बढ़-चढ़कर मदद को आगे आ रहे ‘कोरोना वॉरियर्स’, एसोसिएशन ने दिए पीएम केयर में 51 हजार..

नवीन समाचार, नैनीताल, 2 अप्रैल 2020। ताइक्वांडो एसोसिएशन उत्तरांचल के महासचिव चंद्रविजय सिंह बिष्ट ने बृहस्पतिवार को उत्तराखंड ओलंपिक एसोसिएशन के माध्यम से पीएम केयर में मदद देने के लिए 51 हजार रुपए भेजे हैं।
इधर अनेक लोग इस दौरान मदद के लिए आगे आ रहे हैं। शिल्पकार सभा नैनीताल के अध्यक्ष संजय कुमार ‘संजू’, महामंत्री रमेश चंद्रा, राजेश लाल, बच्ची चंद्र, संजय कुमार, चंदू, संजय कुमार व राजन व्यास आदि सदस्यों ने बृहस्पतिवार को आपस में मिलकर धन एकत्रित कर 50 जरूरतमंद परिवारों को चिन्हित कर अम्बेडकर भवन में राशन वितरित किया। उधर नगर पालिका के द्वारा अपने जरूरतमंद कर्मचारियों को और विधायक संजीव आर्य की अगुवाई में बने ‘हेल्पिंग हैंड’ समूह के द्वारा जरूरतमंदों की मदद का अभियान जारी है। आज सभासद मनोज साह जगाती, मनोज कंुवर, हीरा सिंह मेहरा, आयुष मेहरा, मिलन कीर्ति, राहुल व शंकर जोशी आदि के द्वारा गरीब, दैनिक मजदूरी करने वाले परिवारों को राशन और हरी सब्जी बांटी गई। इनके अलावा नगर पालिका के तल्लीताल वार्ड की सभासद प्रेमा अधिकारी ने नवरात्र के उपवास के बावजूद बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में एक यूनिट रक्तदान कर बड़ा उदाहरण प्रस्तुत किया। उधर नगर की समाजसेवी व भाजपा नेत्री मीनू बुधलाकोटी ने शेरवानी लॉज क्षेत्र में स्वयं सिलकर तैयार किये गए मास्क मास्क नहीं ले पा रहे राहगीरों को मास्क बांटे। इधर डीएसए फ्लैट्स मैदान में प्रशासन के द्वारा आरिफ कैसल्स एवं गुरुद्वारा व अन्य की मदद से सैकड़ों लोगों को भोजन कराये। मल्लीताल मोहन-को चौराहे के पास मंच थियेटर के इदरीश मलिक की ओर से बड़ी संख्या में लोगों को भोजन कराया गया।

यह भी पढ़ें : मुख्यमंत्री राहत कोष में मुख्यमंत्री ने पांच माह का वेतन देकर खींची बड़ी रेखा, पत्नी, बेटियां, सचिव, डीजी हेल्थ ने भी दिल खोला

नवीन समाचार, देहरादून, 31 मार्च 2020। कोरोना की वैश्विक महामारी से उत्तराखंड में बचने एवं लड़ने के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में बड़ी मदद आने लगी हैं। इसकी शुरुआत स्वयं से कर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने करके बड़ा उदाहरण पेश किया है। मुख्यमंत्री रावत ने अपने 5 माह का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देने का निर्णय लिया है। उनके साथ ही उनकी धर्मपत्नी सुनीता रावत ने 1 लाख रुपए का चेक, मुख्यमंत्री की बेटी कृति रावत ने 50,000 एवं श्रृजा ने 2000 रुपए का चेक मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए दिए हैं।
इनके अलावा राजधानी के द इंडियन एकेडमी सीनियर सेकेंडरी स्कूल की ओर से स्कूल के डायरेक्टर मुनेंद्र कंडारी ने मुख्यमंत्री राहत कोष हेतु दो लाख का चेक दिया गया है। वहंी प्रदेश की स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ अमिता उप्रेती एवं उनके पति डॉ ललित मोहन उप्रेती ने 50-50 हजार रुपए के चेक, मुख्यमंत्री के ओएसडी जेसी खुल्बे ने 5,000 रुपए का चेक, वरिष्ठ प्रमुख निजी सचिव केके मदान ने 11000 रुपए का चेक एवं वरिष्ठ निजी सचिव हेमचंद्र भट्ट ने 5,100 रुपए के चेक भी मुख्यमंत्री राहत कोष में दिए हैं।

यह भी पढ़ें : कोरोना लॉक डाउन : कोरोना से मुकाबले में बढ़-चढ़कर योगदान दे रहे ‘कोरोना वॉरियर्स’

नवीन समाचार, नैनीताल, 29 मार्च 2020। कोरोना (कोविड -19) के प्रसार के नाजुक दौर में प्रशासन के साथ ही ‘कोरोना वॉरियर्स’ कहे जा रही अनेक लोग अलग-अलग तरीकों से जरूरतमंदों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं। रविवार को इसी कड़ी में जिला प्रशासन द्वारा नगर के फ्लैटस मैदान मंे स्वयं सेवी संस्थाओं के सहयोग से गरीब, असहाय लोगों को खाने के पैकेट वितरित किये गए। एसडीएम विनोद कुमार व अनुराग आर्य ने बताया कि डीएम सविन बंसल के निर्देशों पर गुरुद्वारा गुरुसिंह सभा कमेटी, आरिफ कैंसल्स, ए-वन बेकरी व राजहंस आदि के सहयोग से रविवार दोपहर 200 गरीब असहाय लोगों को खाने के पैकेट वितरित किये गये।

शोध छात्रों ने राहत के लिए दी एक दिन की छात्रवृत्ति
नैनीताल। मुख्यालय स्थित कुमाऊं विवि के डीएसबी परिसर स्थित नैनो साइंस एवं नैनो टैक्नोलाजी के प्रो. नंद गोपाल साहू के निर्देशन में शोधरत सभी शोध छात्रों ने अपनी एक दिन की छात्रवृत्ति के कुल 10594 रुपए कोरोना के लिए दान कर अपनी तरह का अनूठा व अनुकरणीय उदाहरण पेश किया है। यह धनराशि नगर में जरूरतमंदों की मदद के लिए जारी किए गए बैंक के खाते में जमा किये गए हैं। अपनी छात्रवृत्ति देने वालों में शोध छात्र मनोज कडाकोटी, संदीप पांडे, चेतना, मोनिका मटियानी, अनीता राणा, गौरव ततराड़ी, हिमानी तिवारी, भाष्कर बोहरा, नीमा पांडे, सतीश सती, दिवान उनियाल आदि शामिल हैं।

आरएसएस का राहत अभियान भी जारी
नैनीताल। आरएसएस यानी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का कोरोना व लॉक आउट के दौरान जरूरतमंदों की मदद के अभियान रविवार को भी जारी रहा। आरएसएस के नगर कार्यवाह व हाईकोर्ट के अधिवक्ता सुयश पंत के नेतृत्व में अधिवक्ता अमर मूर्ति शुक्ला, संतोष पंत, गौरव जोशी, भारत मेहरा, विश्वकेतु वैद्य, मनोज साह जगाती, मयंक पाठक, धर्मेन्द्र, दीपक टम्टा व आमिर आदि के प्रयास से रविवार को नगर के 7 नंबर, स्टाफ हाउस, मेट्रोपोल, जुबली हॉल कंपाउंड व शेरवानी आदि क्षेत्रों के 25 परिवारों को आटा ,चीनी, दाल चायपत्ती आदि देकर मदद की गई। बताया गया है कि इससे पहले भी आरएसएस के स्वयंसेवकों द्वारा नगर में गत 26 मार्च को 5, 27 को को 10 तथा 28 मार्च को 20 परिवारों की सहायता की गई है।

तल्लीताल थाना पुलिस ने घरों पर पहुंचाया असहायों को भोजन
नैनीताल। थाना तल्लीताल पुलिस द्वारा क्षेत्र में अकेले निवास कर रहे 27 बुजुर्ग व निराश्रित असहाय लोगों को गंगा स्टोर के कान्हा साह व जीनू पांडे आदि समाज सेवियों के सहयोग से उनके घरों में आवश्यक राशन वितरित किया। तल्लीताल पुलिस ने लोगों से आह्वान किया है कि ऐसे जरूरतमंदों की सूची 9410518195 नंबर पर संपर्क कर दी जा सकती है।

युवा सेना ने भी करेगी मदद
नैनीताल। शिव सेना की युवा सेना के कार्यकर्ता भी लोगों की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाए हैं। जिलाध्यक्ष हेमंत बेदी के नेतृत्व में कार्यकताओं ने जरूरतमंदों, दिहाड़ी मजदूरों व विकलांगों आदि को राशन, सेनिटाइजर, मास्क व साबुन आदि बांटे हैं।

यह भी पढ़ें : मदद करने आगे आ रहे कई लोग व संस्थाएं, उधर मदद चाहने वाले मांग रहे ब्रांडेड उत्पाद

नवीन समाचार, नैनीताल, 27 मार्च 2020। कोरोना विषाणु के प्रकोप के कारण लागू लॉक डाउन के दौरान निर्बलों-जरूरतमंदों के लिए राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ, गुरुद्वारा गुरु सिंह सभा, अम्तुल्स पब्लिक स्कूल सहित कई अन्य संस्थाएं आगे आ रही हैं। वहीं एक ऐसा उदाहरण भी सामने आया है जहां मदद पाने वाले ब्रांडेड उत्पादों की अपेक्षा कर रहे हैं।
शुक्रवार को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के नगर कार्यवाह व उत्तराखंड उच्च न्यायालय के अधिवक्ता सुयश पंत के नेतृत्व में अधिवक्ता भारत मेहरा, दरबान सिंह गैड़ा व विश्वकेतु वैद्य आदि के प्रयासों से नगर के विड़ला चुंगी तथा वेलड्रॉफ कंपाउंड यानी मुख्य पोस्ट ऑफिस के पांच-पांच पत्रकारों को आटा, चीनी, दाल, तेल, चायपत्ती, नमक, मसाले व साबुन देकर मदद की। मदद पाने वालों में नगर में फंसे बाइक-टैक्सी ड्राइवर, चालक व विद्यार्थी शामिल थे जो लॉक डाउन के कारण नगर में फंसे थे। इधर नगर के ‘आजाद मंच’ ने जरूरतमंदों के लिए जरूरी सामानों की ‘फ्री होम डिलीवरी’ सेवा शुरू की है। इस पर मंच के संस्थापक मो. खुर्शीद हुसैन ने बताया कि उनसे कई समर्थ लोगों ने ब्रांडेड उत्पाद व चॉकलेट आदि की होम डिलीवरी करने की गुजारिश की। इस पर उन्हें यह सेवा केवल असहायों, बुजुर्गों व बीमारों के लिए सीमित करनी पड़ी है। गौरतलब है कि स्थानीय विधायक संजीव आर्य के प्रयासों से नगर के अनेक जनप्रतिनिधियों एवं समाजसेवियों के साथ ही नगर के अम्तुल्स पब्लिक स्कूल सहित कुछ अन्य व्यक्तियों व संस्थाओं ने भी लॉक डाउन के दौरान जरूरतमंदों की मदद करने की पेशकश की है।

यह भी पढ़ें : अधिवक्ता परिषद ने पांच परिवारों को उपलब्ध कराया राशन

नवीन समाचार, नैनीताल, 24 मार्च 2020। कोरोना के संक्रमण एवं प्रदेश में लगे ‘लॉक डाउन’ के बीच मजदूर एवं कमजोर आय वर्ग के लोग अपने दैनिक कार्य पर नहीं जा पा रहे हैं। ऐसे में मंगलवार को अधिवक्ता परिषद उत्तराखंड उनकी मदद को आगे आया। परिषद के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य शशिकांत शांडिल्य के नेतृत्व में उत्तराखंड उच्च न्यायालय के अधिवक्ता सुयश पंत व भारत मेहरा एवं विश्वकेतु वैद्य आदि ने संयुक्त प्रयासों से नगर के सूखाताल की बस्ती में रहने वाले 5 परिवारों की 5 किलो आटा, 1 किलो चीनी, 1 किलो दाल, चायपत्ती व साबुन आदि देकर मदद की। उन्होंने कहा कि जब तक लॉक डाउन की स्थिति बनी रहती है वह ऐसे ही निरंतर प्रयासरत रहेंगे। उन्होंने अन्य लोगों से निर्बलों की मदद में अपना योगदान देने की अपील की।

यह भी पढ़ें : नैनीताल पुलिस का गुड वर्क : 16 साल की नाबालिग को भिजवाया घर

नवीन समाचार, नैनीताल, 13 मार्च 2020। शुक्रवार 13 मार्च को तल्लीताल पुलिस को रोडवेज स्टेशन तल्लीताल के पास बहेड़ी, जिला बरेली उत्तर प्रदेश निवासी एक करीब 16 वर्षीय नाबालिग बालिका मिली। उसने बताया कि वह अपने माता-पिता से नाराज होकर बिना बताए अपने घर बहेड़ी से नैनीताल आ गई थी।
थाना तल्लीताल पुलिस द्वारा तत्काल उसके परिवारजनों से संपर्क कर उसे सुरक्षित उसके परिजनों को बुलाकर चाइल्ड विमर्श संस्था के सदस्यों की मौजूदगी में काउंसलिंग कराकर उसके माता-पिता को सुपुर्द किया गया। बालिका के मिलने पर उसके माता-पिता द्वारा तल्लीताल पुलिस की मुक्तकंठ से प्रशंसा की गई व नैनीताल पुलिस का धन्यवाद व्यक्त किया गया।

यह भी पढ़ें : डीएम के प्रयास से मौके पर ही मिलने लगा तनूजा व उसके परिवार को सरकारी योजनाओं का लाभ

मौके पर ही परिवार रजिस्टर में नाम लिखने के बाद अधिकारियों के साथ तनूजा व उसका परिवार।

नवीन समाचार, नैनीताल, 6 मार्च 2020। डीएम सविन बंसल की संवेदनशीलता से जनपद के दूरस्थ गांव दुदली निवासी सभी सरकारी योजनाओं से वंचित छात्रा तनूजा एवं उसके परिवार का चार दिन के भीतर आधार कार्ड बन गया, बैंक में खाता खुल गया और इसके साथ ही उसे व उसके परिवार को विभिन्न योजनाओं का लाभ मिलने की राह खुल गई है।
बताया गया है कि गत दिवस रात्रि चौपाल के जनपद के दूरस्थ गांव बिरसिंग्या व दुदली को पैदल जाते हुए डीएम बंसल ने

अनायास ही स्कूल जाती बच्ची तनूजा को विभिन्न योजनाओं का लाभ मिलने की जानकारी ली। छात्रा ने बताया कि उसे किसी योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। पता करने पर पता चला कि उसके परिवार का नाम गांव के परिवार रजिस्टर में नहीं है, इस पर डीएम ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया, जिन्होंने उसके परिवार का नाम परिवार रजिस्टर में दर्ज करने के साथ ही उसका आधार कार्ड बनाने की ऑपचारिकता पूरी करा दी हैं, तथा उसका व उसके परिवार को बैंक में खाता खोलने की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। डीएम ने बताया कि अब तनूजा के परिवार को प्रधानमंत्री आवास योजना के साथ ही विभिन्न सरकारी योजनाओं तथा तनुजा को ऑनलाईन छात्रवृत्ति, किताबों व ड्रेस की धनराशि प्राप्त हो सकेगी। उन्होंने बताया कि उनका दो दिवसीय क्षेत्र भ्रमण एवं बहुद्देशीय शिविर एवं जनता दरबार कई ऐसे गरीब लोगों को संजीवनी दे गया है, जो अपना काम कराने के लिए इधर-उधर भटक रहे थे। डीएम ने कहा कि वह आगे भी इस प्रकार की चौपालें एवं बहुद्देशीय शिविर आयोजित करेंगे।

यह भी पढ़ें : अल्मोड़ा की दो बच्चियों के लिए ‘देवदूत’ साबित हुए नैनीताल पुलिस के ‘शिव’

नवीन समाचार, नैनीताल , 3 फरवरी 2020। अल्मोड़ा के दो बच्चियों व उनके परिजनों के लिए सोमवार को तल्लीताल थाने में कार्यरत पुलिस कर्मी शिव राणा किसी देवदूत से अधिक साबित हुए। हुआ यह कि आज 3 फरवरी को अल्मोड़ा के राजपुरा से दो नाबालिग बच्चियां -इरम तथा सिमरन (उम्र करीब 11 वर्ष एवं 12 वर्ष) घर से बिना बताए नैनीताल आ गईं। चीता मोबाइल के रूप में कार्यरत आरक्षी शिव राणा ने उन्हें तल्लीताल डांठ चौराहे पर अकेले देखा तो सुरक्षा की दृष्टि से उन्हें थाना तल्लीताल की महिला कांस्टेबल की निगरानी में पहुंचा दिया। वहां से पुलिस ने बच्चों से पूछताछ कर उनके परिजनों की जानकारी ली, और परिजनों कोे सूचित कर दोनों बच्चियों को सकुशल उनके परिजनों के सुपुर्द कर दिया। इससे दोनों के परिजनों ने ही बड़ी राहत की सांस ली।

यह भी पढ़ें : खोए मोबाइल ढूंढने में नैनीताल पुलिस का जवाब नहीं, 16 लाख से अधिक के मोबाइल ढूंढकर लौटाए

नवीन समाचार, नैनीताल 29 जनवरी 2020। नैनीताल पुलिस ने बुधवार को खोए हुए 16 लाख रुपए से अधिक मूल्य के 123 मोबाइल फोन ढूंढ निकालने का दावा किया, और इन्हें इनके मूल मालिकों को सोंपने की प्रक्रिया शुरू की। बताया गया कि जिले के एसएसपी ने आम जनता के मोबाइल खोने व चोरी होने के लिखित शिकायतों को गम्भीरता से लेते हुये इन पर त्वरित कार्यवाही हेतु उत्तराखंड पुलिस मोबाइल एप सेल को प्रभावी किया है। इस सेल के द्वारा एएसपी हल्द्वानी के निर्देशन, सीओ हल्द्वानी के पर्यवेक्षण एवं एसओजी के प्रभारी निरीक्षक अबुल कलाम के नेतृत्व में प्राप्त शिकायतों के आधार पर आरक्षी अशोक रावत व चंदन सिंह के द्वारा प्रदेश के अतिरिक्त उत्तर प्रदेश, बिहार, पंजाब, दिल्ली, राजस्थान, केरल व पश्चिम बंगाल के विभिन्न जनपदों से विभिन्न कम्पनियों के लगभग 16,46100 रुपए मूल्य के कुल 123 मोबाइल फोन बरामद कर उनके मूल मालिकों के सुपुर्द किये गये हैं बताया गया हे कि इससे पहले इस सेल के द्वारा 1093 मोबाइल रिकवर किये गये थे, जबकि अब यह संख्या 1216 तक पहुंच गई है।

यह भी पढ़ें : पुलिस के हाथ होते हैं इतने लंबे : नैनीताल से चोरी गाड़ी को काटने वाले हजार किमी दूर के कबाड़ी के हलक से निकाल लाई पुलिस

-चोरी की दो गाड़ियां भी कीं बरामद

नवीन समाचार, नैनीताल, 8 जनवरी 2020। वाकई पुलिस के हाथ बहुत लंबे होते हैं। पुलिस ने ‘जहां चाह-वहां राह’ की कहावत पर चलते हुए नैनीताल से करीब ढाई महीने पहले चुराई गई गाड़ी को गाड़ियों को काटने वाले हजार किमी दूर कानपुर में बैठे कबाड़ी के हलक में हाथ डालकर बरामद कर बड़ा अनुकरणीय उदाहरण पेश किया है। अक्टूबर 2019 में चुराई गई एक इनोवा कार को काटने वाले कबाड़ी को कानपुर से चोरी की दो गाड़ियों के साथ गिरफ्तार किया गया है और न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया है।

बुधवार को मुख्यालय स्थित रिजर्व पुलिस लाइन में पुलिस क्षेत्राधिकारी विजय थापा व तल्लीताल थाना प्रभारी विजय मेहता ने पत्रकार वार्ता में खुलासा किया कि 21 अक्टूबर 2019 को शाहजहांपुर से नैनीताल घूमने आये सैलानी प्रताप सिंह पुत्र राजबहादुर ने तल्लीताल थाने में अपनी इनोवा कार संख्या यूपी14बीएस-5700 के चोरी होने की प्राथमिकी तल्लीताल थाने में दर्ज कराई थी। इधर 3 जनवरी को पुलिस ने जिन दो अंतर्राज्यीय वाहन चोर तस्करों परवेज अहमद व रियासत खान को गिरफ्तार किया था, उनसे पड़ताल करने पर पुलिस को पता चला कि उन्ही तस्करों ने इस इनोवा कार को नगर से चुराकर फजलगंज कानपुर यूपी के कबाड़ी विशाल जायसवाल पुत्र जगदीश कुमार जायसवाल को बेचा था। इस पर पुलिस की टीम उप निरीक्षक दिलीप कुमार के नेतृत्व में कानपुर गई और कबाड़ी विशाल जायसवाल के कब्जे से चोरी की इनोवा कार तथा एक अन्य बिना नंबर की इनोवा कार को बरामद कर लिया। पुलिस कबाड़ी विशाल जायसवाल को भी गिरफ्तार कर साथ ले आई। कबाड़ी ने स्वीकारा है कि वह लंबे समय से चोरी के वाहनों को काटकर उनके इंजन-चेसिस नंबर स्क्रैब वाहनों में बदलकर बेचने का काम करता है। इस मौके पर एसओजी प्रभारी अब्दुल कलाम, आरक्षी राजा राम, त्रिलोक रौतेला व जितेंद्र कुमार आदि भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : पुलिस का गुड वर्क, ढाई कुंतल गौवंशीय मांस के साथ चार तस्करों को दबोचा, 5 गायों को भी कटने से बचाया

नवीन समाचार, सितारगंज, 7 जनवरी 2020। सितारगंज की कोतवाली पुलिस ने मंगलवार को गौ संरक्षण अभियान के अंतर्गत बड़ी कार्रवाई करते हुए निकटवर्ती ग्राम गौरीखेड़ा में छापा मारकर करीब ढाई कुंतल प्रतिबंधित गौ वंशीय पशु मंाश के साथ ही चार जीवित गाय और बछिया के साथ गौकशी मे लिप्त 4 लोगों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। आरोपितों को न्यायालय मे पेश कर जेल भेजा जा रहा है।
नगर कोतवाल सलाहउद्दीन ने बताया की एसएसपी के निर्देशों पर पुलिस टीम ने मंगलवार प्रातः कुमाऊं परिक्षेत्र के गोवंश संरक्षण स्क्वॉड के प्रभारी अंबी राम आर्या एवं उप निरीक्षक धीरेंद्र परिहार के नेतृत्व मे ग्राम गौरीखेड़ा मे मुखबिर की सूचना पर एक झोपड़ी में छापा मारकर 65 वर्षीय सब्बीर अहमद पुत्र सद्दीक अहमद व उनके हमउम्र रहमत हुसैन पुत्र अहमद हुसैन निवासी ग्राम गौरीखेड़ा, 22 वर्षीय शहीद पुत्र छोटे निवासी ग्राम नयागांव तथा 26 वर्षीय महमूद हुसैन पुत्र जफर हुसेन निवासी ग्राम करघना थाना अमरिया उत्तर प्रदेश को गिरफ्तार किया। उनके कब्जे से एक बैल का ढाई कुंतल प्रतिबंधित मांस तथा बाहर बंधी 4 गाय और बछिया बरामद की। पुलिस के अनुसार सभी आरोपितों ने अपने बयान में गौकशी करने की बात कबूल की है। पुलिस टीम मे कोतवाल के साथ दरोगा विनोद कुमार, आरक्षी जीवन जोशी, जगपाल सिंह, गणेश सत्याल, स्वरुप सिंह, चंद्रशेखर, नरेन्द्र कुमार, जगदीश लोहानी, दीपक जोशी आदि भी शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : खुशखबरी: डीएम की पहल पर बहुरेंगे बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के दिन, नए वर्ष पर मिले 55 लाख के तोहफे

-जिला चिकित्सालय को वापस मिले डंप पड़े 55 लाख, अब रात 8 बजे तक हो सकेंगी पैथोलॉजी जांचें

डीएम सविन बंसल

नवीन समाचार, नैनीताल, 2 जनवरी 2020। नये वर्ष पर मुख्यालय स्थित बीडी पांडे जिला चिकित्सालय को 55 लाख के तोहफे मिले हैं। बेस चिकित्सालय हल्द्वानी की तरह अब यहां पैथोलोजी लैब में सभी प्रकार की जांचें सुबह 8 बजे से रात्रि 8 बजे तक होंगी। डीएम सविन बंसल ने पैथोलोजी लैब के लिए दो अतिरिक्त तकनीशियन उपलब्ध करा दिये हैं। इसके अलावा जिला चिकित्सालय वर्ष 2011 से चिकित्सालय में डम्प पड़ी 55 लाख की धनराशि का उपयोग कर सकेगा। डीएम ने इस धनराशि की जानकारी शासन को दी थी। डीएम की रिपोर्ट पर इस धनराशि को शासन ने जन स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी के लिए जिलाधिकारी को आवंटित कर दिया है। डीएम श्री बंसल ने बताया कि इस धनराशि को अस्पताल के मरीजों के लिए शौचालय मरम्मत, सीवरेज से प्रभावित ऑपरेशन थियेटर व एक्स-रे रूम को अस्पताल के जन औषधि केन्द्र के पास शिफ्ट करने के लिए कार्यदायी संस्था आरडब्ल्यूडी को आवंटित कर दिया गया है। साथ ही अस्पताल में मरीजों के लिए बैंच एवं शेड बनवाने की स्वीकृति भी दी गयी है।
उल्लेखनीय है कि डीएम ने जनपद में आने के बाद जिला चिकित्सालय के अपने पहले निरीक्षण में अस्पताल के लेखा सम्बन्धी अखिलेख आधे अधूरे तथा अस्त-व्यस्त और अस्पताल की व्यवस्थाएं बेपटरी मिली थीं। लेखा संबंधी अखिलेखों व व्यवस्थाओं को दुरस्त करने के लिए एडीएम व मुख्य कोषाधिकारी ने कई बार चिकित्सालय का संयुक्त निरीक्षण किया। मुख्य कोषाधिकारी की रिपोर्ट पर पुराने चार्टड एकाउंटेंट को हटा कर नए की तैनाती की गयी, जिससे यह वित्तीय गड़बड़ी प्रकाश में आई। इस वित्तीय गड़बड़ी के चलते अस्पताल को शासन से कोई ग्रांट नहीं मिल पा रही थी। इसलिए अस्पताल की सफाई, भोजन व्यवस्था एवं आवश्यक दवाईयों की खरीद भी प्रभावित हो रही थी।

यह भी पढ़ें : 13 दिन बाद पौड़ी गढ़वाल में मिलीं नैनीताल से गायब दो महिलाएं…

नवीन समाचार, नैनीताल, 30 दिसंबर 2019। मल्लीताल कोतवाली पुलिस ने गत 17 दिसंबर को नगर से गायब हुई दो महिलाओं को 13 दिन बाद सोमवार को पौड़ी गढ़वाल के ग्राम रणगांव थाना थलीसेंण क्षेत्र से सकुशल बरामद कर उसके परिजनों को सोंप दिया। बताया गया है कि मूलतः नेपाल के कालीकोट निवासी व यहां आवागढ़ कंपाउंड में रहने वाले जय बहादुर की 35 वर्षीया पत्नी लाल कोंगरा व गौरव बहादुर की पत्नी रुपसा के गुमशुदा होने की शिकायत मल्लीताल कोतवाली में दर्ज कराई थी। महिलाओं को बरामद करने वाली पुलिस टीम में प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार, उप निरीक्षक हरीश सिंह, आरक्षी जय प्रकाश व महिला आरक्षी सुषमा शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : डीआईजी जोशी के प्रयासों से गर्म होंगी जरूरतमंदों की सर्द रातें…

-जरूरतमंदों को बांटी रजाइयां, लेने को उमड़े लोग, पूर्व में भी वरिष्ठ नागरिकों को फल, दवाएं व आटा-चावल उपलब्ध कराने तथा हल्द्वानी में एक मूक-बधिर पिता-पुत्र का घर बना चुके हैं जोशी

जरूरतमंद को रजाई भेंट करते डीआईजी जोशी, साथ में अन्य पुलिस के अधिकारी।

नवीन समाचार, नैनीताल, 10 दिसंबर 2019। डीआईजी जगत राम जोशी ने मंगलवार को मुख्यालय में 100 जरूरतमंद लोगों को रजाइयां भेंट कर उनकी सर्द रातों में कुछ गर्मी लाने का प्रयास किया। इससे पूर्व श्री जोशी हल्द्वानी में ऐसे ही 700 जरूरतमंद लोगों को रजाइयां वितरित कर चुके हैं। वह कुमाऊं परिक्षेत्र में पुलिस के माध्यम से वरिष्ठ नागरिकों को फल, दवाएं व आटा-चावल उपलब्ध कराने का भी अभियान चलाए हुए हैं। बीते माह दीपावली के दौरान धनतेरस के दिन उन्होंने हल्द्वानी में एक मूक-बधिर पिता-पुत्र को घर बना कर दिया था और मिसाल पेश की थी। इस तरह श्री जोशी अधिकारियों के लिए मिसाल पेश कर रहे हैं। श्री जोशी ने बताया कि समाज में बहुत से लोग जरूरतमंद हैं। दूसरी ओर बहुत से लोग ऐसे जरूरतमंदों की मदद करना चाहते हैं, परंतु उन्हें इसके लिए कोई माध्यम नहीं मिल पाता है। उन्होंने इन दोनों वर्गों के बीच सेतु का कार्य कर जरूरतमंदों की शीतकाल की समस्याओं में कुछ कमी लाने का प्रयास किया है। आगे भी ऐसे प्रयास जारी रहेंगे। बताया कि पुलिस कर्मियों के माध्यम से उनकी बीट क्षेत्रों से जरूरतमंदों का चयन किया गया। इस दौरान रजाइयां लेने के लिए डीआईजी कार्यालय के सामने जरूरतमंदों का जमावड़ा लगा रहा। कई लोग रजाइयां न मिल पाने के कारण भी परेशान रहे। इस मौके पर अपर राज्य रेडियो अधिकारी जीएस पांडे सहित पुलिस के अन्य अधिकारी-कर्मचारी भी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें : दिव्यांग आधार कार्ड बनाने न आ पाया तो आधार बनाने उसके घर पहुंच गई सरकार..

-दिव्यांग का उसके घर पर जाकर बनाया आधार कार्ड, दूरस्थ कोश्या कुटौली तहसील के ग्राम ल्वेशाल का मामला

नवीन समाचार, 4 दिसंबर 2019। नैनीताल, एसएनबी। डीएम सविन बंसल की पहल पर बुधवार को जनपद के दूरस्थ तहसील कोश्या कुटोली के ग्राम ल्वेशाल के निवासी दिव्यांग व्यक्ति खुशाल सिंह का उनके आवास पर जाकर आधार कार्ड बनाया गया है। बताया गया कि जनपद के ई-डिस्ट्रिक्ट मैनेजर विकास द्वारा टीम सदस्यों के साथ पहुंचकर मौके पर ही खुशाल सिंह का आधार कार्ड बनवाया गया। श्री विकास ने बताया कि डीएम श्री बंसल के निर्देश हैं कि दिव्यांगजनों के आधार कार्ड उनके आवास पर जाकर बनाये जायें। अन्य अक्षम लोग भी जिला कार्यालय में जानकारी उपलब्ध करा सकते हैं, ताकि टीम उनके आवास पर जाकर संबंधित दिव्यांग व्यक्तियों के आधार कार्ड उनके आवास पर जाकर बनाने का काम कर सके।
उल्लेखनीय है कि गत दिनों बेतालघाट क्षेत्र के लोगों ने डीएम संविन बंसल से मुलाकात कर बताया था कि दुर्गम इलाके में आधार कार्ड बनाने में काफी दिक्कत आ रही है। खासकर दिव्यांगजनों के आधार कार्ड बनाये जाने में काफी कठिनाई है। इससे पात्र लोगों को सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। इस पर डीएम ने संबंधित अधिकारियों को मौके पर जाकर आधार कार्ड बनाने के निर्देश दिये थे। 

यह भी पढ़ें : पुलिस ने सकुशल ढूंढ निकाला घर से गायब व्यक्ति

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 नवंबर 2019। नैनीताल की तल्लीताल थाना पुलिस ने गत 8 नवंबर को कोतवाली भवाली क्षेत्रांतर्गत ग्राम बजूठिया देवधार नथुवाखान निवासी गायब हुए 45 वर्षीय हरेंद्र सिंह साही, पुत्र कर्ण बहादुर शाही को बरामद कर परिवार को बड़ी राहत दी। हरेंद्र 8 नवंबर को घर से बिना बताए चले गए थे, जिसकी गुमशुदगी कोतवाली भवाली में दर्ज कराई गई थी तथा उनकी बरामदगी हेतु जनपद स्तर पर प्रयास किये जा रहे थे। इधर बृहस्पतिवार को थाना तल्लीताल पुलिस को तल्लीताल रोडवेज के पास हरेंद्र घूमते हुए दिखाई दिये। पता किया गया तथा तो उनकी पुष्टि हो गई। तल्लीताल थानाध्यक्ष राहुल राठी ने कोतवाली भवाली को इसकी सूचना दी, साथ ही हरेंद्र के परिवारजनों को सूचित किया। परिजनों ने थाने में आकर उनकी पुष्टि की। साथ ही उन्हें सकुशल ढूंढने पर नैनीताल पुलिस की मुक्त कंठ से प्रशंसा की और धन्यवाद व्यक्त किया।

यह भी पढ़ें : विधायक ने फिल्मी स्टाइल में दुर्घटना कर भाग रहे डंपर चालक को पीछा कर पकड़ा, घायल को अस्पताल पहुंचवाया

नवीन समाचार, जसपुर (ऊधमसिंह नगर), 13 नवंबर 2019। उत्तराखंड के उधमसिंहनगर के जसपुर में विधायक ने जनप्रतिनिधियों के तौर पर उल्लेखनीय मिसाल पेश की है। विधायक ने दुर्घटना कर भाग रहे एक डंपर को फिल्मी स्टाइल में पीछा कर दबोच लिया और फिर पुलिस को सोंप दिया। इस घटना के बाद विधायक की हर ओर प्रशंसा हो रही है।जसपुर विधायक आदेश चौहान के लिए इमेज परिणाम
प्राप्त जानकारी के अनुसार बीती रात्रि मुकेश पुत्र भोजराज निवासी मोहल्ला दिल्ला सिंह शिवराजपुर से बाइक पर घर लौट रहा था। तभी रास्ते में एक बेकाबू डंपर ने उनकी बाइक को टक्कर मार दी। इससे मुकेश सड़क पर जा गिरा। मुकेश के अनुसार इसके बाद डंपर चालक ने डंपर को भगा दिया। मुकेश ने किसी तरह अपना पैर मोड़कर खुद पर डंपर को चढ़ने से बचाया। संयोग से इसी बीच पीछे से जसपुर विधायक आदेश चौहान भी आ रहे थे। उन्होंने पूरा घटनाक्रम देखा और अपनी गाड़ी रोककर मुकेश को सड़क किनारे सुरक्षित बिठाया। इसके बाद उन्होंने डंपर का पीछा किया और कुछ आगे जाकर उसे रुकवा लिया। आरोपी चालक को कुंडा पुलिस को सौंपा गया है। पुलिस के अनुसार मामले में तहरीर पर कार्रवाई की जायेगी। बाद में विधायक चौहान ने पत्रकारों को बताया कि वह एक समारोह में शामिल होने काशीपुर जा रहे थे। तभी घटना देखी। आरोपी को पुलिस को सौंपने के बाद मुकेश को अस्पताल पहुंचवाया। उधर, मुकेश की पत्नी प्रियंका और परिजनों ने विधायक का आभार जताया है।

यह भी पढ़ें : वनाग्नि के कारण ‘पिरूल’ के इतने सारे लाभ लेने लगा नैनीताल

-जनपद में दो स्थानों-चोपड़ा और श्याम खेत में शुरू हुई पिरूल संबंधी बहुद्देश्यीय योजना
-तीन रुपए प्रति किग्रा की दर से खरीदा जा रहा है पिरूल, पिरूल से ब्रिकेट तैयार करने की है योजना

श्याम खेत में एकत्र किये गए पिरूल के साथ ग्रामीण।

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 नवंबर 2019। वनाग्नि का बड़ा कारण बनने वाली, चीड़ की पिरूल कही जाने वाली निरुपयोगी नुकीली पत्तियों के निस्तारण एवं इसे उपयोगी बनाने के लिए नैलीताल जनपद के भीमताल विकासखंड में दो स्थानों पर पाइलट प्रोजेक्ट के तहत बहुददेश्यीय योजना प्रारंभ हो गई है। प्रमुख वन संरक्षक-उत्तराखंड डा. कपिल जोशी के प्रयासों से शुरू हुई इस योजना के तहत जनपद में भवाली के निकट श्यामखेत एवं ज्योलीकोट के निकट चोपड़ा गांवों में तीन रुपए प्रति किग्रा की दर से पिरूल खरीदा जा रहा है। इससे ग्रामीण महिलाओं को घर पर ही पिरूल एकत्र करने का रोजगार मिल गया है। महिलाएं प्रतिदिन 100 किग्रा तक पिरूल एकत्र कर 300 रुपए तक कमा रहे हैं। वहीं जंगल सूखे पिरूल से खाली हो रहे हैं। इससे आगे इन जंगलों में वनाग्नि की संभावना नहीं रहेगी। आगे एकत्र किये जा रहे पिरूल से फैक्टरी में ब्रिकेट बनाने की योजना है, जो कि ईधन के लिए उपयोग किये जाएंगे। इसके अलावा इस योजना से जैविक खाद, ईधन का बेहतर विकल्प मिलने के लाभ भी बताए जा रहे हैं।
परियोजना के समन्वयक पूर्व वनाधिकारी कैलाश जोशी ने बताया कि योजना के लिए आईआईटी रुड़के के वैज्ञानिकों के द्वारा स्थानीय लोगों को ब्रिकेट बनाने की फैक्टरी में भी रोजगार मिलेगा। इन ब्रिकेट को जलाने के लिए अंगीठी भी निःशुल्क दी जानी है। पिरूल एकत्र करने के लिए ग्रामीणों को रैक, तिरपाल, दस्ताने, नेट, जूते, मौजे, बोरे व कट्टे आदि सहायक सामग्री भी निःशुल्क उपलब्ध कराई जा रही है। कहा कि योजना राज्य के वनों में स्वच्छंद वातावरण, पर्यावरण संरक्षण, हरीतिमा, दोषहीन ईधन प्रणाली, सुदृढ़ आर्थिकी और रोजगार के बेहतर अवसर भी उपलब्ध करा रही है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल पुलिस ने सैलानी की बड़ी मदद कर ‘मित्र पुलिस’ का नाम किया साकार

नवीन समाचार, नैनीताल, 4 नवंबर 2019। नैनीताल कोतवाली पुलिस ने सोमवार को पश्चिम बंगाल के एक परेशान सैलानी की मदद कर ‘मित्र पुलिस’ का नाम साकार कर दिया। हुआ यह कि पश्चिम बंगाल के नंदबागान हावड़ा निवासी पर्यटक मुकेश तापड़िया का रविवार को नगर में सैर-सपाटे के दौरान 10 हजार की नगदी व एटीएम, क्रेडिट कार्ड सहित कई महत्वपूर्ण दस्तावेजों युक्त पर्स कहीं गुम हो गया। मुकेश को पर्स खोने का अहसास नगर से लौटने के बाद रुद्रपुर के आसपास हुआ। परेशान मुकेश पर्स की तलाश में वापस नैनीताल लौटे और बीती शाम ही मल्लीताल कोतवाली को पर्स गुम होने की सूचना दी। इस पर मल्लीताल पुलिस रात्रि से ही सक्रिय हुई और मुकेश द्वारा दिन में घूमे हुए उनके द्वारा पर्स गिरने के संभावित स्थानों पर पर्स की तलाश की। खासकर एचसीपी सत्येंद्र गंगोला की पर्स ढूंढने में मेहनत रंग लाई और उन्होंने केव गार्डन के पास गिरे पर्स को सोमवार को तलाश लिया और उसे पर्यटक मुकेश को लौटा दिया। अच्छी बात यह भी रही कि पर्स पूरी धनराशि एवं सभी दस्तावेजों के साथ मिल गया। पर्स पाकर मुकेश ने मल्लीताल कोतवाली पुलिस एवं तत्पर सहयोग हेतु नैनीताल पुलिस की सराहना की।

यह भी पढ़ें : सभी डीएम के ऐसे ही गांवों के दौरे हों तो बदल जाएगी ग्रामीण भारत की तस्वीर, एक गांव की तस्वीर बदलने का रास्ता हुआ साफ..

-डीएम द्वारा पैदल चलकर गांव में लगाई गई चौपाल का हुआ बड़ा असर
-गत माह मलुवाताल गांव में पैदल पहुंचकर चौपाल में उठी मांग का संज्ञान लेकर गठित की गई समिति की सिफारिश पर डीएम ने शासन से की गांव को विस्थापन की श्रेणी से बाहर करने की प्रबल संस्तुति, सड़क बनाने के भी दिये निर्देश

मलुवाताल में लगी चौपाल में पैदल पहुंचने पर डीएम को दुलारती गांव की एक वृद्धा (फाइल फोटो)।

नवीन समाचार, नैनीताल, 9 अक्तूबर 2019। जनपद के दूरस्थ भूस्खलन प्रभावित गांव मुलवाताल को गत सितंबर माह में डीएम सविन बंसल द्वारा किये गये गांव के पैदल दौरे का लाभ मिलने जा रहा है। डीएम सविन बंसल ने प्रदेश के आपदा सचिव अमित नेगी से मलुवाताल गांव को विस्थापन एवं पुनर्वास की श्रेणी से बाहर करने की अपनी ओर से प्रबल संस्तुति कर दी है। इससे गांव में विकास कार्य कराने संभव हो जाएंगे, तथा ग्रामीणों की गांव को सड़क मार्ग से जोड़ने की मांग को पूरा करने के लिए डीएम ने शासन से स्वीकृति की प्रत्याशा में पीएमजीएसवाई के अधिशासी अभियंता को मलुवाताल में जनहित को दृष्टिगत रखते हुए सड़क निर्माण की कार्यवाही प्रारम्भ करने के निर्देश भी दे दिये हैं।
उल्लेखनीय है कि डीएम बंसल द्वारा मलुवाताल में पैदल पहंुचकर लगाई गई चौपाल में ग्रामीणों ने गांव को जोड़ने के लिए सड़क नहीं होने को अपनी प्रमुख समस्या बताया था। यह गांव भूस्खलन प्रभावित होने के कारण विस्थापन की श्रेणी में था, इसलिए यहां सड़क का निर्माण सहित कोई भी विकास कार्य शासन से नहीं हो सकता था। इस पर ग्रामीणों की बात को गंभीरता से लेते हुए डीएम बंसल ने भू-वैज्ञानिक, जिला टास्क फोर्स, अधिशासी अभियंता सिंचाई नैनीताल तथा आपदा प्रबन्धन अधिकारी नैनीताल की संयुक्त टीम बनाकर गांव का निरीक्षण कर विस्तृत आख्या प्रस्तुत करने के निर्देश दिये थे। इधर गठित समिति ने डीएम को सौंपी गई रिपोर्ट में स्पष्ट तौर पर कहा है कि गांव में कलसा नदी से हो रहे भू कटाव को सुरक्षा दीवार एवं सुरक्षात्मक कार्यों से रोका जा सकता है। साथ ही यह भी कहा है कि मलुवाताल भूस्खलन आदि आपदाओं के परिप्रेक्ष्य में वर्तमान भूगर्भीय स्थिति के दृष्टिगत सुरक्षित है तथा विस्थापन, पुनर्वास की श्रेणी में रखे जाने हेतु उपयुक्त प्रतीत नहीं होता है। इसलिए मुलवाताल को विस्थापन एवं पुनर्वास श्रेणी से अवमुक्त रखा जाए।

यह भी पढ़ें : नेताजी ने पेश की मिसाल, फ्लीट रोक कर घायलों को भिजवाया अस्पताल..

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 30 सितंबर 2019। यूं तो नैनीताल सांसद व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट की अक्सर चर्चा उनके बयानों को लेकर होती है, किंतु सोमवार को उनकी चर्चा उनके सद्कर्मों को लेकर है। भट्ट सोमवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे रेलवे की एक बैठक में भाग लेने के लिए अपने काफिले के साथ हल्द्वानी से बरेली जा रहे थे। बेरीपड़ाव के पास अचानक उन्होंने एक दुर्घटना देखी, जिसमें एक मोटरसाइकिल सवार वृद्ध महिला व एक युवक घायल हो गये थे। भट्ट ने तुरंत अपना काफिला रुकवाया और अपने सुरक्षा कर्मियों की मदद से घायल वृद्धा व युवक को सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी भिजवाया। साथ ही मेडिकल कॉलेज के सीएमएस डा. अरुण जोशी से बात कर घायलों का तुरंत बेहतर उपचार शुरू करने के निर्देश भी दिये। इसके बाद ही वे अपने काफिले के साथ बरेली के लिए रवाना हुए। यह घटना छद्म सामाजिक कार्यकर्ताओं के कारण बदनाम से हो चले ‘नेतागिरी’ शब्द की साख बढ़ाने वाली तो है ही, यह घटना अन्य नेताओं के लिए भी अनुकरणीय हो सकती है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल में बच्चे अपने सद्कर्मों से बड़ों को पेश कर रहे चुनौती

-बच्चों ने गरीब-असहायों को रोटी बैंक से भोजन कराया

गरीब-असहाय को भोजन कराते बच्चे।

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 अगस्त 2019। नगर के कुछ बच्चों के द्वारा अभिनव पहल करते हुए ‘रोटी बैंक’ संचालित किया जा रहा है। इस रोटी के जरिये नगर के सेंट जेवियर स्कूल के 11वीं छात्र वैभव चंद्र तथा सीआरएसटी के 10वीं कक्षा के छात्र फैसल खान व अदनान ने बुधवार को स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर गरीब व असहाय लोगों को दाल, रोटी व समोसे खिलाया। इस अभियान के जरिये बच्चे बड़ों को भी ऐसे ही सामाजिक कार्य करने की प्रेरणा दे रहे हैं। उनका कहना है कि जब वे बच्चे होकर भी ऐसे कार्य कर सकते हैं तो समर्थ लोगों को भी इस दिशा में आगे आना चाहिए। वैभव ने बताया कि वह रोटियां अपने घर से लाते हैं और अपना जेब खर्च जमा होने पर रेस्टोरेंट से खरीदकर भी गरीबों को भोजन कराते रहते हैं।

पूर्व समाचार : https://wordpress.com/post/navinsamachar.wordpress.com/7839

About Post Author

नवीन समाचार

‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

loading...