News

बड़ी कामयाबी : पुलिस कर्मियों की साँठ-गाँठ से उत्तराखंड के सबसे बड़ी 15 किलो स्मैक की तस्करी का भंडाफोड़, 2 पुलिस कर्मियों व सरगना सहित 6 लोग गिरफ्तार

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नवीन समाचार, हरिद्वार, 17 अप्रैल 2021। देहरादून एसटीएफ और एडीटीएफ ने हरिद्वार में पुलिसकर्मियों की शह पर चल रहे नशा तस्करों के बड़े गैंग का खुलासा किया है। इसमें दो पुलिसकर्मियों सहित गैंग लीडर और तीन अन्य को गिरफ्तार किया गया है। उनके कब्जे से भारी मात्रा में चरस, स्मैक भी बरामद की गई है। नशा तस्करी का यह पूरा खेल एंटी ड्रग्स फोर्स में तैनात और अन्य पुलिसकर्मियों की शह पर चल रहा था। बताया गया है कि आरोपियों के द्वारा 15 किलो स्मैक की यानी करीब डेढ़ करोड़ रुपये की डील की तैयारी की जा रही थी।
पुलिस मुख्यालय में उत्तराखंड पुलिस के प्रवक्ता नीलेश आनंद भरणे और एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह ने बताया कि एसटीएफ को विगत कुछ दिनों से सूचना मिल रही थी कि हरिद्वार के ज्वालापुर क्षेत्र में नशा तस्करों का एक संगठित गिरोह चल रहा है। सूचना पर एसटीएफ और एडीटीएफ की संयुक्त टीम का गठन किया। इसके बाद गोपनीय व सर्विलांस के माध्यम से जानकारी जुटाई गई। पुख्ता साक्ष्य मिलने के बाद शुक्रवार को एसपी एसटीएफ जवाहरलाल के नेतृत्व में टीमों का गठन किया गया और राहिल फत्र मुस्तफा निवासी कस्सावाला, गैंग लीडर सत्तार पुत्र असगर, गंगेश पत्नी स्व. मोहनलाल, इरफान पुत्र जगशहीद निवासी एकड़ पथरी को गिरफ्तार किया गया। मौके पर राहिल के कब्जे से 198 ग्राम स्मैक और कुछ रकम, गंगेश से 1.25 किलो चरस बरामद की गई। पूछताछ के बाद तस्करों को शह देने वाले ज्वालापुर थाने में नियुक्त कांस्टेबल अमजद और हरिद्वार एंटी ड्रग्स फोर्स में तैनात कांस्टेबल रईस राजा को भी गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपियों को शनिवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा।
गैंग लीडर सत्तार ने बताया कि उनका पूरा धंधा ज्वालापुर थाने में तैनात सिपाही अमजद अैर एंटी ड्रग्स फोर्स में तैनात सिपाही रईस राजा के संरक्षण में चलता था। जब भी थाना स्तर से कोई कार्रवाई होती, अमजद उन्हें सूचना देता था, जबकि जब भी एसटीएफ की कोई कार्रवाई होती थी तो एंटी ड्रग्स फोर्स में तैनात रईस राजा सूचना दे देता था। इसके लिए दोनों सिपाहियों को अच्छी-खासी रकम दी जाती थी। तस्करों के गैंग लीडर सत्तार पर 38 मुकदमे दर्ज हैं।, वह ज्वालापुर थाने का हिस्ट्रीशीटर है। दो बार उस पर गैंगस्टर भी लग चुका है। इस धंधे में उनका बेटा शाहरुख भी शामिल था। जिसे 2019 में रुड़की थाना से नशीले इंजेक्शनों से गिरफ्तार किया गया था। फिलहाल वह एक साल से जेल में है। वहीं महिला नशा तस्कर गंगेश भी उत्तरकाशी के नारकोटिक्स के एक अभियोग में 10 साल की सजायाफ्ता है। उसके भी पुलिस थानों में गहरे संबंध हैं और वहीं गैंग लीडर को पुलिस कार्रवाई की सूचना देती थी। इरफान पहले भी जेल जा चुका है। वह विभिन्न जगहों से स्मैक, चरस आदि एकत्रित कर राहिल को उपलब्ध कराता था। राहिल भी इससे पहले 2017 में एनडीपीएस एक्ट में गिरफ्तार हो चुका है।
बताया गया है कि तस्करों की बहुत जल्दी ही 15 किलो स्मैक की डील होने वाली थी। इसके लिए राहिल ने पथरी क्षेत्र में रहने वाले इरफान से बातचीत की थी। इसका पैसा गैंग लीडर सत्तार की ओर से दिया जाना था। डील होने पर गैंग की ओर से इसे अलग-अलग जगह पहुंचाया जाना था।
इधर पुलिस के संरक्षण में चल रहे नशा तस्करी के इस मामले को डीजीपी अशोक कुमार ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने कहा कि जिन्हें कार्रवाई के लिए रखा गया, उनका इस प्रकार के धंधे में लिप्त पाया जाना गंभीर मामला है। वर्दीधारी अपराधियों को किसी भी हालात में बख्शा नहीं जाएगी। उनकी जगह जेल में होगी। दोनों पुलिसकर्मियों की पूरी रिकॉर्डिंग है। अगर कोई पुलिसकर्मी इस प्रकार के धंधों में लिप्त पाया जाता है तो उसे सीधे बर्खास्त कर जेल भेजा जाएगा।

यह भी पढ़ें : नैनीताल पुलिस ने एक व्यक्ति से बरामद की लाखों की स्मैक

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 12 अप्रैल 2021। कोतवाली हल्द्वानी पुलिस ने सोमवार को एक व्यक्ति के कब्जे से 54.10 ग्राम अवैध स्मैक बरामद की। बरामद की गई स्मैक की कीमत करीब साढ़े 5 लाख रुपये बताई जा रही है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रीति प्रियदर्शिनी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नैनीताल महोदया के द्वारा जनपद में चलाए जा रहे नशे के विरुद्ध अभियान के तहत डॉ. जगदीश चंद्र अपर पुलिस अधीक्षक नगर हल्द्वानी महोदय के दिशा-निर्देशन में श्री प्रमोद शाह क्षेत्राधिकारी हल्द्वानी के पर्यवेक्षण में मनोज रतूड़ी प्रभारी निरीक्षक कोतवाली हल्द्वानी के नेतृत्व में जनपद नैनीताल पुलिस द्वारा अवैध मादक पदार्थों की तस्करी/सेवन के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के अंतर्गत आज बीती 11 अप्रैल की रात्रि को देवेंद्र बिष्ट चौकी प्रभारी मंगल पड़ाव के द्वारा चेकिंग के दौरान कोतवाली हल्द्वानी के द्वारा रामलीला ग्राउंड हल्द्वानी से 1व्यक्ति निवासी दरऊ किच्छा के कब्जे से 54.10 ग्राम स्मैक बरामद की गई। इस संबंध में आरोपी के विरुद्ध कोतवाली हल्द्वानी में एन.डी.पी.एस. एक्ट की धाराओं के अंतर्गत अभियोग पंजीकृत किया गया। उसे आज न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया जा रहा है। पुलिस टीम में आरक्षी इसरार नबी, उमेश पंत, वीरेंद्र चौहान व एसओजी के जितेंद्र कुमार आदि शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : एक युवती व तीन युवकों के कमरे में अश्लील हरकत करने की सूचना पर पुलिस ने गांव के एक घर में मारा छापा, मामला निकला जानलेवा….

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 31 मार्च 2021। राज्य में शहरों ही नहीं बल्कि ग्रामीण क्षेत्रों में स्मैक का जानलेवा नशा पहंुच गया है। खास बात यह भी है समाज के एक वर्ग के लोग ही इस नशे की गिरफ्त में आ रहे हैं या साजिशन उन्हें नशे का आदी बनाया जा रहा है। ताजा मामला शहर के गोरापड़ाव क्षेत्र का है। यहां एक कमरे में एक युवती और तीन युवकों के अश्लील हरकतें करने की सूचना पर पहुंची पुलिस को जांच में पता चला कि असल में वे स्मैक के नशे के आदी थे और कमरे में नशा कर रहे थे।
बताया गया कि ग्रामीण व ग्राम प्रधान पहले सूचना पर मौके पर पहुंचे और उन्होंने बाहर से दरवाजा बंद कर इसकी सूचना मंडी पुलिस को दी। सूचना पर पहुंचे मंडी चौकी प्रभारी दिनेश जोशी ने कमरे के अंदर से युवती सहित तीन युवकों को पकड़ा और उन्हें मंडी चौकी लाया गया। यहां पूछताछ में पता लगा कि तीनों स्मैक के आदी है और अक्सर यहां पर स्मैक पीने के लिए आते रहते है। पुलिस ने तीनों की काउंसलिंग कर एक युवक को नशा मुक्ति केंद्र जबकि युवती व दो युवकों की काउंसलिंग कर परिजनों के सुपुर्द कर दिया।

यह भी पढ़ें : स्मैक के साथ पकड़ा गया नगर का 20 वर्षीय युवक

नवीन समाचार, नैनीताल, 13 मार्च 2021। नगर में जानलेवा स्मैक पीने-पिलाने और बेचकर युवा पीढ़ी का जीवन बर्बाद करने का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा। इस पर पुलिस की छिटपुट कार्रवाई के बावजूद लगाम नहीं लग पा रही है। बल्कि अब शहर के आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों के युवा भी काले कारोबारियों के निशाने पर हैं। शनिवार को थाना तल्लीताल के उप निरीक्षक दीपक बिष्ट ने शाम सवा पांच बजे के करीब कैलाखान-गेठिया रोड पर 20 वर्षीय अरुण कुमार पुत्र राकेश लाल निवासी जीबी पंत हॉस्पिटल रोड थाना तल्लीताल को पल्सर मोटरसाइकिल संख्या यूके04एडी-4840 पर 4.55 ग्राम स्मैक के साथ दबोचने में सफलता प्राप्त की। बाद में उसके विरुद्ध एनडीपीएस एक्ट की धारा 8/21/60 के तहत अभियोग पंजीकृत किया गया।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड एसटीएफ को बड़ी कामयाबी, करीब 60 लाख की स्मैक की बड़ी बरामदगी

नवीन समाचार, देहरादून, 09 मार्च 2021। उत्तराखंड एसटीएफ यानी स्पेशल टास्क फोर्स की एन्टी ड्रग्स टास्क फोर्स के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है। रविवार देर रात हरिद्वार में दो नशा तस्करों को गिरफ्तार कर उनसे 577 ग्राम स्मैक बरामद की गई है। एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह ने बताया कि हरिद्वार जिले की एटीडीएफ की टीम ने चंडीघाट पुलिस चौकी थाना श्यामपुर हरिद्वार के पास चेकिंग करते हुए सूरज कुमार पुत्र सुशील कुमार निवासी ग्राम रामपुर थाना पाना तहसील रामपुर जिला छपरा बिहार और सोनू सैनी पुत्र पवन सैनी निवासी ग्राम रायपुर थाना भगवानपुर जनपद हरिद्वार उम्र 32 वर्ष को स्मैक के साथ गिरफ्तार किया। तस्कर बरेली से स्मैक लेकर आ रहे थे। पूछताछ में तस्करों ने पूछताछ में काफी जानकारी दी है, जिसपर आगे कार्यवाही की जा रही है।
इसके अलावा भी एक अन्य मामले में विकासनगर कोतवाली पुलिस ने रविवार रात क्षेत्र में चेकिंग के दौरान एक युवक को चार ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार किया है। आरोपित के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट में मुकदमा दर्ज किया गया है। पूछताछ में आरोपित ने पुलिस को अपनी पहचान दिलशाद निवासी वार्ड नंबर 13 ढकरानी बताई है। कोतवाल राजीव रौथाण के अनुसार आरोपित को सोमवार को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ें : कल लगाई थी नशे के खिलाफ दौड़, आज स्मैक बेचते पकड़े गए नगर के दो युवक

नवीन समाचार, नैनीताल, 07 मार्च 2021। प्रशासन द्वारा मुख्यालय में नशे के खिलाफ दौड़ आयोजित करने के अगले दिन ही कोतवाली पुलिस ने दो युवकों को स्मैक के साथ पकड़ने में सफलता पाई है। एसएसआई कश्मीर ंिसह ने बताया कि नीरज अधिकारी पुत्र हीरा सिंह अधिकारी नाम के युवक के कब्जे से 3.42 ग्राम व सागर परिहार पुत्र गोपाल सिंह के कब्जे से 2.15 ग्राम स्मैक बरामद हुई है। दोनों नगर के मल्लीताल शेरवानी कंपाउंड क्षेत्र के निवासी हैं। उन्होंने पुलिस को बताया है कि वह स्मैक पीते भी हैं, और हल्द्वानी से लाकर बेचते भी थे। पुलिस ने दोनों युवकों के खिलाफ एडीपीएस एक्ट में मुकदमा पंजीकृत कर लिया है और उन्हें न्यायालय में पेश करने की तैयारी की जा रही है।

यह भी पढ़ें : पहाड़ के युवाओं की नशों को खोखला करने के लिए ले जाई जा रही थी 11 लाख की स्मैक, पकड़ी गई

नवीन समाचार, नैनीताल, 07 फरवरी 2021। उत्तराखंड पुलिस के नशे के सौदागरों के खिलाफ जारी अभियान के तहत अल्मोड़ा पुलिस ने दो तस्करों को करीब 11 लाख रुपए की स्मैक के साथ गिरफ्तार करने की सफलता प्राप्त की है। तस्कर यह स्मैक एक नये तरीके से, रास्ते में वाहनों की अदला-बदली कर और अपने मोबाइल नंबरों को बंद रखकर ले जा रहे थे कि घात लगाए अल्मोड़ा पुलिस की एसओजी टीम ने उन्हें दबोच लिया। पकड़े गए मात्र 23 वर्षीय युवक नादिर खान पुत्र नाजिम खान, निवासी. मोहल्ला भट्टीतोला वार्ड नंबर. 10, थाना बिलासपुर जिला रामपुर, उत्तर प्रदेश के पास से 105.60 ग्राम की बड़ी मात्रा में स्मैक बरामद हुई है, जिसकी कीमत 11 लाख आंकी गई है। उसके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की धारा 8/21 के अंतर्गत कार्यवाही की गई। पूछताछ में नादिर ने बताया कि वह मिलक रामपुर से नावेद नामक के लड़के से स्मैक खरीदकर, अलग-अलग प्राइवेट वाहनों से आकर अल्मोड़ा के युवाओं को छोटी छोटी पुड़िया बनाकर देने की फिराक में था। उसने यह भी बताया कि पहाड़ी क्षेत्रों में मैदानी क्षेत्रों के मुकाबले स्मैक के ऊंचे दाम मिल जाते हैं। इसलिए वह पहाड़ों में आकर युवाओं को स्मैक बेचकर अधिक मुनाफा कमाता है। इधर न्यायिक व्यवस्था से जुड़े एक सूत्र ने यह भी अनौपचारिक तौर पर बताया कि एक खास वर्ग के लोग एक खास एजेंडा के तहत भी स्मैक लाकर मासूम स्कूली बच्चों को उपलब्ध करा रहे हैं। पुलिस टीम में एसओजी के दरोगा नीरज भाकुनी, ओमप्रकाश नेगी, धारानौला चौकी प्रभारी, एसओजी के आरक्षी दिनेश नगरकोटी, कानि एसओजी मनमोहन, एसओजी कानि भूपेन्द्र पाल व विजय आगरी शामिल हैं। एसएसपी पंकज भट्ट ने इस बड़ी उपलब्धि पर नशे के तस्करों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को उत्साहवर्धन हेतु 2500 रुपये का नगद पुरस्कार देने की घोषणा की है।

यह भी पढ़ें : अल्मोड़ा में हल्द्वानी-बागेश्वर के तस्करों से अब तक की स्मैक व चरस की सबसे बड़ी बरामदगी….

नवीन समाचार, अल्मोड़ा, 28 जनवरी 2020। नवनियुक्त एसएसपी पंकज भट्ट की नशे के सौदागरों पर बढ़ाये गए दबाव के फलस्वरूप जनपद में अब तक स्मैक पर सबसे बड़ी 32.15 ग्राम की बरामदगी की गई है। साथ ही साढ़े 3 किलोग्राम से अधिक चरस की भी बरामदगी की गई है।
अल्मोड़ा के युवाओं की रगों में जहर घोलने वाले हल्द्वानी निवासी दो तस्कर स्मैक के साथ गिरफ्तार किये गए हैं।उल्लेखनीय है कि एसएसपी पंकज भट्ट के जनपद में आगमन के उपरान्त जनपद के युवाओं एवं स्कूली छात्र-छात्राओं को नशे की चपेट में आने से बचाने हेतु जनपद में मादक पदार्थो की तस्करी करने वालों के विरूद्व सख्त कदम उठाते हुए नशे के सौदागरों पर सतर्क दृष्टि रखते हुए रखते हुए कड़ी कार्यवाही किये जाने हेतु जनपद के सभी थाना प्रभारियों एवं एसओजी टीम को सख्त निर्देश दिये गये हैं। इसके अनुपाल में एसओजी अल्मोड़ा की टीम ने दो नशे के सौदागरों को स्मैक के साथ गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। एसओजी अल्मोड़ा एवं कोतवाली की संयुक्त टीम द्वारा ग्राम चौसली के पास डोबा तिराहे के पास मोटरसाइकिल संख्या यूके-04एसी-2938 को चेक किये जाने पर 28 वर्षीय सचिन गुप्ता पुत्र ईश्वर चन्द्र गुप्ता निवासी नई आबादी, जीतपुर नेगी, हल्द्वानी नैनीताल व 24 वर्षीय विक्की आर्या पुत्र संजय आर्या निवासी मोहल्ला नई बस्ती राजपुरा, हल्द्वानी नैनीताल के कब्जे से करीब 3 लाख 20 हजार रुपये मूल्य की 32.15 ग्राम स्मैक बरामद कर दोनों को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही घटना में लिप्त वाहन को सीज किया गया है। इस मामले में एसओजी प्रभारी भूपेन्द्र बृजवाल ने बताया कि नशे की तस्करी को रोकने हेतु लगातार सर्च अभियान चलाये जा रहे हैं। इसी दौरान यह बरामदगी हुई है। पूछताछ पर दोनों ने बताया कि दोनों हल्द्वानी में टुकटुक चालक हैं, अधिक लाभ प्राप्त करने हेतु हल्द्वानी से स्मैक लाकर अल्मोड़ा में बेचने हेतु ला रहे थे। पुलिस टीम को उत्साहवर्धन हेतु 1000 रुपये के नगद पुरस्कार से पुरूस्कृत करने की घोषणा की है।
इसके अलावा स्पेशल टास्क फोर्स, एन्टी ड्रग्स टास्क फोर्स एवं कोतवाली अल्मोड़ा पुलिस की सयुक्त टीम ने चैकिंग के दौरान लोधिया बैरियर के पास बुलेट मोटरसाइकिल संख्या यूके-15बी-5487 को चेक किये जाने पर ग्राम-पोस्ट सौराग तहसील कपकोट बागेश्वर निवासी 23 वर्षीय पवन सिंह दानू पुत्र जीवन सिंह दानू निवासी व 27 वर्षीय प्रताप राम पुत्र धनी राम को करीब तीन लाख पचास हज़ार रुपये मूल्य की 3.523 किग्रा चरस के साथ गिरफ्तार किया है। पुलिस उपाधीक्षक वीर सिंह ने बताया कि कुमाऊँ परिक्षेत्र की एन्ट्री ड्रग्स टास्क फोर्स की टीम के साथ चेकिंग के दौरान यह बरामदगी हुई है। मामले में एक अन्य व्यक्ति 35 वर्षीय दीवान सिंह दानू पुत्र रुप सिंह दानू निवासी ग्राम सौराग अंधेरे का फायदा उठाकर मौके से फरार हो गया। उसकी गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि पवन सिंह एवं प्रताप राम दिल्ली में प्राइवेट नौकरी करते थे लाॅकडाउन में घर आकर रहने लगे एवं अधिक धन कमाने के लालच में चरस की तस्करी कर रहे थे। उनके विरुद्ध कोतवाली अल्मोड़ा में धारा-8/20/60 एनडीपीएस अधिनियम के अन्तर्गत अभियोग पंजीकृत कर आवश्यक कार्यवाही की जा रही है। साथ ही वाहन को सीज किया गया है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल पुलिस ने 15 ग्राम स्मैक के साथ एक को किया गिरफ्तार

नवीन समाचार, नैनीताल, 18 दिसंबर 2020। जनपद नैनीताल स्तर पर अवैध नशे की तस्करी व सेवन के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के अंतर्गत संजय कुमार कोतवाली प्रभारी हल्द्वानी के नेतृत्व में उप निरीक्षक दिनेश चंद्र जोशी चौकी प्रभारी मंडी के द्वारा थाना क्षेत्र अंतर्गत सघन चेकिंग अभियान के दौरान मंडी बाईपास पर मोटरसाइकिल से आते हुए
तीन पानी थाना हल्द्वानी जिला नैनीताल निवासी एक 29 वर्षीय व्यक्ति के कब्जे से 15.05 ग्राम अवैध स्मैक बरामद कर उसे गिरफ्तार किया गया।
उसके खिलाफ धारा-8/21/60 NDPS के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत करते हुए आरोपित को न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत करते हुए न्यायिक हिरासत में भेजा जा रहा है। साथ ही उसकी मोटरसाइकिल Uk-04F-6494 को सीज किया गया है। पूछताछ में उसने बताया कि अवैध स्मैक कुछ दिन पहले बिलासपुर से लाया है। बताया गया कि सह-अभियुक्त को वांछित कर उसके विरुद्ध जांच जारी है।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं STF को बड़ी सफलता : मोटर साइकिल से बरामद की 28 लाख रुपए की स्मैक…

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 10 नवम्बर 2020। उत्तराखंड के उधम सिंह नगर से नशे के सौदागरों के खिलाफ बड़ी खबर आ रही है। एसटीएफ कुमाऊं को मिली स्मैक तस्करों के खिलाफ बड़ी सफलता मिली है। एसटीएफ की टीम ने 330 ग्राम स्मैक के साथ तीन नशे के सौदागर दबोचे हैं। बरामद की गई स्मैक की कीमत 28 लाख रुपये आंकी जा रही है।
एसटीएफ के कुमाऊं प्रभारी महेंद्र सिंह धानक ने मीडिया को बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी उत्तर प्रदेश के बरेली से उत्तराखंड में स्मैक तस्करी कर लाई जा रही है। सूचना को गंभीरता से लेते हुए एसटीएफ ने नैनीताल हाईवे पर मटकोटा क्षेत्र में चेकिंग अभियान चलाते हुए बाइक सवार तीन लोगों को जांच के लिए रोका। तलाशी के दौरान आरोपियों के पास 330 ग्राम स्मैक बरामद हुई , पूछताछ में पकड़े गए आरोपियों ने अपना नाम नदीम खान पुत्र असलम खान निवासी थाना बारादरी जिला बरेली,
बबलू पुत्र मौ.अली निवासी थाना बारादरी जिला बरेली व फुरकान पुत्र अकबर अली निवासी भोट जिला रामपुर बताया। पकड़ी गई स्मैक की कीमत 28 लाख रुपये आंकी जा रही है। एसटीएफ ने अभियुक्तों के विरुद्ध एनडीपीएस अधिनियम के तहत पंतनगर थाने में अभियोग पंजीकृत कर अग्रिम कार्रवाई शुरू कर दी गई है। नशे के खिलाफ अभियान में एसटीएफ की यह बड़ी कामयाबी मानी जा रही है।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड में स्मैक तस्कारों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, दो युवकों से बरामद हुई करीब 60 लाख की स्मैक

नवीन समाचार, देहरादून, 12 अक्टूबर 2020। उत्तराखंड के युवा नशे के सौदागरों के निशाने पर हैं। देहरादून पुलिस ने पटेलनगर में स्मैक तस्करों के खिलाफ चलाए जा रहे ‘ऑपरेशन सत्य’ के तहत बड़ी सफलता प्राप्त की है। बीती रात को सीओ सदर अनुज ने पटेलनगर क्षेत्र में गश्त के दौरान आईएसबीटी बस अड्डा परिसर में दो संदिग्ध युवकों को पकड़ा। युवकों ने अपना परिचय विमल पुत्र रामबाबू और पुष्पेंद्र सिंह पुत्र हरविंद्र सिंह निवासी मुरादाबाद बताया। विमल ग्रेजुएट है, जबकि पुष्पेंद्र का इलेक्ट्रॉनिक का काम है। तलाशी के दौरान उनके पास से 500 पांच ग्राम स्मैक बरामद हुई। जिसकी कीमत करीब साठ लाख रुपये बताई जा रही है। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि दोनों बरेली से स्मैक अलग-अलग पैकेटों में छिपाकर लाए थे। उन्हें दून के एक ड्रग पैडलर को स्मैक की डिलीवरी करनी थी। दोनों बस से देहरादून पहुंचे थे। उनके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने बताया कि आरोपियों से पूछताछ में अहम जानकारियां मिली हैं। आरोपियों के संपर्क में रहने वाले लोगों के बारे में पता किया जा रहा है। जल्द ही गिरोह का नेटवर्क ध्वस्त किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : नैनीताल में स्मैक लाते नगर के ही दो युवक पकड़े गए

नवीन समाचार, नैनीताल, 28 अगस्त 2020। जिला-मंडल मुख्यालय में नशे का कारोबार जारी है। कोतवाली पुलिस ने मंगोली क्षेत्र से नगर के ही दो युवकों- चीना हाउस कंपाउंड मल्लीताल निवासी निखिल साह पुत्र जीवन साह एटीआई मल्लीताल निवासी हितेश कुमार पुत्र प्रकाश चंद्र को 5.5 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार किया है। दोनों के खिलाफ एनडीपीएस की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।
प्राप्त जानकारी के मुताबिक कोतवाली पुलिस के एएसआई सत्येंद्र गंगोला ने मुखबिर से सूचना एक पल्सर बाइक पर आ रहे दो युवकों को रोकने के बावजूद न रुकने पर पीछा करके दबोचा। पूछताछ और तलाशी लेने पर युवकों के पास 5.5 ग्राम स्मैक बरामद हुई। इस पर उनके खिलाफ एनडीपीएस की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

यह भी पढ़ें : हल्द्वानी से स्मैक लाते नैनीताल के दो युवक दबोचे..

नवीन समाचार, नैनीताल, 21 सितंबर 2020। जिला-मंडल मुख्यालय में जानलेवा नशे का कारोबार जारी है। मंगलवार को थाना तल्लीताल की ज्योलीकोट चौकी पुलिस ने चौकी प्रभारी उपनिरीक्षक जोगा सिंह की अगुवाई में ज्योलीकोट चौकी के सामने हल्द्वानी की ओर से आती हुई मोटरसाइकिल संख्या यूके04टीए-8156 से आ रहे अपर माल रोड तल्लीताल निवासी दो लोगों गौरव पाठक पुत्र बंशीधर पाठकएवं अभिषेक उर्फ लक्की पुत्र राजेश लाल को स्मैक के साथ गिरफ्तार किया। इनमें से गौरव पाठक के कब्जे से 3 ग्राम व अभिषेक के कब्जे से 3.7 ग्राम अवैध स्मैक बरामद हुई। इस पर तल्लीताल थाने में एनडीपीएस एक्ट की धारा 33/20 व व 8/20/60 के तहत अभियोग पंजीकृत किया गया। उन्होंने बताया कि हल्द्वानी से स्मैक लाकर नैनीताल में पुड़िया बनाकर बेचते हैं। पुलिस टीम में आरक्षी अमरेंद्र, उमेश सती व गोविंद उप्रेती शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : स्मैक के साथ एक युवक दबोचा

नवीन समाचार, नैनीताल, 20 जुलाई 2020। नैनीताल की मल्लीताल पुलिस ने रविवार की रात्रि 3.46 ग्राम स्मैक के साथ एक युवक को गिरफ्तार किया है, तथा उसे एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा पंजीकृत कर जेल भेज दिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार कोतवाली पुलिस के एसएसआई यूनुस खान ने क्षेत्रवासियों की शिकायत पर बीती रात सैनिक स्कूल के क्षेत्र में चेकिंग अभियान चलाया। इस दौरान अन्य लोग तो भाग गए पर स्थानीय निवासी निमेश पंत पुत्र पूरन पंत नाम का एक युवक पुलिस की पकड़ में आया। उसके पास तलाशी में 3.46 ग्राम स्मैक बरामद हुई। पूछताछ में युवक ने स्वीकारा कि वह अन्य युवकों को स्मैक बेचने गया था। उसका कहना था कि वह स्मैक बेचकर अपना खर्चा चलाता है।

यह भी पढ़ें : स्मैक व चरस तस्करों की जमानत अर्जी खारिज

नवीन समाचार, नैनीताल, 26 मई 2020। द्वितीय जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं विशेष न्यायाधीश एनडीपीएस एक्ट राकेश कुमार सिंह की अदालत ने गत आठ मई को गौला पुल हल्द्वानी के पास 20 ग्राम से अधिक स्मैक के साथ पकड़े गये एक आरोपित मो. दानिश पुत्र अशफाक निवासी गौजाजाली वनभूलपुरा की जमानत अर्जी खारिज कर दी है। वहीं एक अन्य मामले में न्यायालय ने गत 17 मई को भीमताल के तल्लीताल तिराहे के पास 500 ग्राम चरस के साथ पकड़े गये दो लोगों में से एक विशन दत्त पुत्र दीना मणि पलड़िया निवासी ग्राम बानना थाना भीमताल की जमानत अर्जी भी खारिज कर दी गई है। दोनों मामलों में जिला शासकीय अधिवक्ता सुशील कुमार शर्मा व एडीजीसी पूजा साह ने अभियोजन प़क्ष की ओर से जमानत अर्जी का विरोध करते हुए न्यायालय का बताया कि आरोपित लॉक डाउन के दौरान लोगों की जान जोखिम में डालने का अपराध कर रहा था। इसलिये उसे जमानत नहीं दी जानी चाहिये।

यह भी पढ़ें : लॉक डाउन में 43 ग्राम स्मैक व 16 किलो गांजे के साथ पकड़े गये तस्करों की जमानत अर्जी खारिज

नवीन समाचार, नैनीताल, 21 मई 2020। द्वितीय जिला सत्र न्यायाधीश एवं विशेष न्यायाधीश एनडीपीएस अधिनियम राकेश कुमार सिंह की अदालत ने बीती 28 अप्रैल 2020 को लालकुआं पुलिस के द्वारा स्मैक की 47ग्राम से अधिक मात्रा के साथ पकड़े गये दो लोगों की जमानत अर्जी खारिज कर दी है। जिला शासकीय अधिवक्ता सुशील कुमार शर्मा एवं एडीसी पूजा साह ने अभियोजन पक्ष कीे ओर से आरोपितों की जमानत अर्जी का विरोध करते हुए बताया कि दोनों कर्फ्यूग्रस्त इंद्रा नगर बनभूलपुरा हल्द्वानी निवासी फरियाद पुत्र अहमद हुसैन व दिलदार हुसैन पुत्र कबूल अहमद को लॉक डाउन के बावजूद किच्छा से लालकुआं आते हुए 24 व 23 ग्राम स्मैक पुलिस ने पकड़ा गया था। न्यायालय ने आरोपों से संतुष्ट होकर उनकी जमानत खारिज कर दी।
इसके अलावा एक अन्य मामले में इसी अदालत ने गत 20 मार्च को 16 किलोग्राम गांजे के साथ पकड़े गये आरोपित ग्राम-पोस्ट नैल पट्टी तल्ला चकोट तहसील स्याल्दे जिला अल्मोड़ा निवासी तारा सिंह पुत्र आन सिंह की जमानत अर्जी खारिज कर दी। वह अपनी टाटा सूमो गाड़ी के बोनट में छुपाकर ले जा रहा था। शासकीय अधिवक्ता सुशील कुमार शर्मा एवं एडीसी पूजा साह ने अभियोजन पक्ष कीे ओर से आरोपितों की जमानत अर्जी का विरोध करते हुए कहा कि वह लॉक डाउन के नियमों का उल्लंघन कर अवैध रूप से इतनी बड़ी मात्रा में गांजा ले जा रहा था।

एफएसएल की जांच रिपोर्ट में देरी से आरोपितों को मिल रहा लाभ
नैनीताल। जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने एफएसएल यानी विधि विज्ञान प्रयोगशाला की रिपोर्ट सही समय पर आने की आवश्यकता जताई है। उन्होंने कहा कि एफएसएल की रिपोर्ट समय पर नहीं आने से कई अपराधी रिपोर्ट न आने के आधार पर ही जमानत का लाभ प्राप्त कर ले रहे हैं। उन्होने कहा कि खासकर बडे़ मामलो में एफएसएल प्राथमिकता से समय पर जांच रिपोर्ट दे तो आरोपितों को कानूनी लाभ लेने से रोका जा सकता है।

यह भी पढ़ें : बहेड़ी व काशीपुर की महिला स्मैक तस्करों को नहीं मिली जमानत

नवीन समाचार, नैनीताल, 5 मई 2020। जनपद के द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश एवं विशेष न्यायाधीश एनडीपीएस एक्ट राकेश कुमार सिंह की अदालत ने नशे के कई कारोबारियों की जमानत अर्जियों को खारिज कर दिया है। जिला शासकीय अधिवक्ता सुशील कुमार शर्मा ने एक मामले में आरोपित को एक दिन पूर्व ही चार मार्च 2020 को काठगोदाम पुलिस के सिपाहियों ने हल्द्वानी-कुंवरपुर बाइपास के पास 36 वर्षीय युधिष्ठिर गंगवार पुत्र उमेश चंद्र गंगवार निवासी ग्राम डंडिया नवायल पोस्ट रसूलपुर थाना बहेड़ी जिला बरेली यूपी को करीब 106.5 ग्राम स्मैक के साथ पकड़ा गया है। वह जमानत का दुरुपयोग कर सकता है। समाज में नशे का जहर फैला रहे ऐसे व्यक्ति को जमानत नहीं दी जानी चाहिये।
वहीं दूसरे मामले में न्यायालय ने स्मैक की बड़ी तस्कर बताई जाने वाली व कई मामलों में संलिप्त रेशमा भाभी पत्नी मो. अजहर निवासी मोहल्ला अलीखां, ढेलाबस्ती कटोराताल काशीपुर नाम की महिला की जमानत अर्जी भी खारिज कर दी है। जिला शासकीय अधिवक्ता शर्मा ने न्यायालय को बताया कि 25 जुलाई 2019 को रामनगर पुलिस के दरोगा जयपाल सिंह चौहान व पुलिस बल ने तीन लोगों-कपिल कश्यप, जीवन आर्या व गोपी टम्टा को स्मैक बेचते हुए पकड़ा था। उन्होंने रेशमा से स्मैक लाकर बेचने की बात कही थी। जांच में यह बात साबित भी हो चुकी है। वह स्मैक बेचती भी पायी गयी थी। इन दलीलों पर न्यायालय ने उसकी जमानत अर्जी भी खारिज कर दी।

यह भी पढ़ें : लॉक डाउन के दौरान पुलिस ने स्मैक के साथ पकड़े दो युवक

नवीन समाचार, नैनीताल, 22 अप्रैल 2020। लॉक डाउन में भले वैध तरीके से व्यवसाय करने वालों का कारोबार बुरी तरह से प्रभावित हुआ हो, लेकिन स्मैक जैसे जानलेवा नशे के कारोबारी अपना कारोबार जारी रखे हुए हैं। बुधवार दोपहर कोतवाली पुलिस ने गौरव पाठक पुत्र बंशीधर पाठक निवासी जू रोड जिला पंचायत, फरमान अली पुत्र मेहताब अली निवासी रॉयल होटल कंपाउंड मल्लीताल निवासी मल्लीताल को क्रमशः 2.3 व 2.76 ग्राम यानी करीब 5.06 ग्राम स्मैक के साथ मोहन-को चौराहे के पास से गिरफ्तार किया है। उनके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की धारा 8, 20, 21, 60 एवं भारतीय दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 188 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। कोतवाल अशोक कुमार सिंह ने बताया कि दोनों को न्यायालय में पेश किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल पुलिस ने पकड़ा 15 लाख का जानलेवा नशा, न जाने कितने बरबाद होने से बचे..

नवीन समाचार, नैनीताल, 5 मार्च 2020। नैनीतान पुलिस ने नशे के विरूद्ध चेकिग अभियान चलाते हुए 36 वर्षीय युधिष्ठर गंगवार को क्षेत्र में 108 ग्राम स्मैक की तस्करी करते हुए संदिग्ध अवस्था में पकड़ा। जानकारी के अनुसार युधिष्ठर गंगवार पुत्र उमेश चन्द्र बरेली उत्तर प्रदेश का रहने वाला है जोकि 108 ग्राम स्मैक लेकर बनभूलपुरा क्षेत्र में बेचने जो रहा था।

haldwani news

लेकिन क्षेत्र में पुलिस द्वारा तस्करी करने वालों के विरूद्व काफी सख्त चेकिंग चल रही थी जिस कारण अपराधी पकड़ा गया। अपराधी से बरामद स्मैक की कीमत करीब 4.50 लाख बताई जा रही है वहीं अन्तराष्ट्रीय मार्केट में इसकी कीमत करीब 15 लाख है। पुलिस युवक के पूर्व आपराधिक रिकाॅर्ड के बारे में भी जांच की रही है इसके साथ ही पुलिस द्वारा अपराधी पर एनडीपीसी एक्ट द्वारा कार्यवाही की जाएगी। (साभार : न्यूज़ टुडे नेटवर्क)

यह भी पढ़ें : बड़ा आदेश: किलो भर स्मैक के साथ पकड़े गए स्मैक तस्कर को अब तक की सबसे बड़ी-20 साल की जेल, 2 लाख जुर्माना

-जिले में सबसे बड़ी 900 ग्राम स्मैक के साथ पकड़ा गया था आरोपित
नवीन समाचार, नैनीताल, 20 फरवरी 2020। द्वितीय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश तथा विशेष न्यायाधीश एनडीपीएस राकेश कुमार सिंह की अदालत ने 7 वर्ष पुराने मामले में जनपद की सबसे बड़ी करोड़ों रुपए मूल्य की 900 ग्राम स्मैक के साथ धरे गए तस्कर को 20 वर्ष के कठोर कारावास और दो लाख रुपये अर्थदंड की बड़ी सजा सुनाई है। मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से पैरवी करते हुए सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता पूजा साह की ओर से 8 गवाह पेश किए गए। जबकि जिला शासकीय अधिवक्ता सुशील कुमार शर्मा ने स्मैक की बड़ी मात्रा में होने का हवाला देते हुए कड़ी सजा देने की मांग की।
उल्लेखनीय है कि 29 जुलाई 2013 रामनगर कोतवाली के एसआई कमलेश भट्ट ने आरक्षी महेंद्र पाल व जयपाल के साथ काशीपुर-रामनगर मार्ग पर चेकिंग करने के दौरान मोटर साइकिल से आते एक युवक को रोका। रोके जाने पर वह घबरा गया और बाइक से बैरियर को टक्कर मार दी। मोटर साइकिल गिरने के बाद वह वन विभाग के सरकारी क्वार्टर की ओर भाग गया। आरक्षी ने दौड़कर उसे दबोच लिया। उसने अपना नाम गुलरभट्टी रामनगर निवासी शरीफ अहमद बताया। उसके पास से 900 ग्राम स्मैक बरामद की। आरोपी ने 12 हजार रुपये प्रति तोला इसे बेचे जाने की जानकारी दी। वह गजरौला में मनचंदा व बंटी नाम के युवकों से स्मैक खरीदकर काशीपुर, पीरूमदारा व रामनगर में बेचता था। पुलिस ने एनडीपीएस की धाराओं में उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। मामले में डीजीसी ने कहा कि 900 ग्राम स्मैक बरामद होना वाणिज्यिक है। इससे समाज पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव को देखते हुए और स्मैक तस्करी से जुड़े लोगों को चेतावनी देने के लिए आरोपी को सख्त से सख्त सजा देने की पैरवी की। इस पर अदालत ने आरोपी तस्कर शरीफ को 20 वर्ष का कठोर कारावास और दो लाख रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई। साथ ही अपर जिला जज नेएसआई कमलेश भट्ट के माध्यम से वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक यूएस नगर को निर्देशित किया है कि वह भविष्य में नारकोटिक्स ब्यूरो ऑफ इंडिया के दिशा निर्देशों के अनुरूप एनडीपीएस एक्ट के प्रावधानों के अनुसार कार्रवाई करें।

यह भी पढ़ें : जनपद में बरामद हुई 31 किलो चरस और पौने दो किलो स्मैक, 142 किलो गांजा, 2 किलो अफीम और भी बहुत….

नवीन समाचार, नैनीताल, 7 फरवरी 2020। जनपद में नशे के खिलाफ चल रहे अभियान के तहत शुक्रवार को हल्द्वानी पुलिस को बड़ी सफलता मिली। पुलिस ने एफटीआई रोड तरणताल के पास मो. खालिक हुसैन पुत्र लियाकत हुसैन निवासी कटरा ढाल थाना देवरनिया जिला बरेली यूपी को 51.4 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार किया। बरामद की गई स्मैक की कीमत पांच लाख रुपए से अधिक बतायी जा रही है। यह बरामदगी इसलिए भी बड़ी है कि इससे सैकड़ों लोग स्मैक का नशा करने से बच जाएंगे। उल्लेखनीय है एक ग्राम स्मैक से करीब एक दर्जन लोगों को स्मैक की डोज मिल जाती है। गिरफ्तारी-बरामदगी करने वाली पुलिस टीम में नगर कोतवाल संजय कुमार, मेडिकल चौकी प्रभारी कैलाश नेगी, एसएसआई कश्मीर सिंह, एसआई जितेंद्र सोराड़ी, एसओजी के आरक्षी कुंदन कठायत, त्रिलोक सिंह, चंदन व हृदयेश शामिल रहे।

बीते वर्ष 203 तस्करों से बरामद हुई 31 किलो चरस और पौने दो किलो स्मैक
नैनीताल। जनपद में नशा किस कदर युवा पीढ़ी की नशों में चढ़ रहा है, आंकड़े इसके गवाह हैं। बताया गया है कि पुलिस ने पिछले वर्ष 2019 में 203 तस्करों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 31 किलो चरस और पौने दो किलो स्मैक के साथ ही हजारों की संख्या में नशीली गोलियां और 142 किलो गांजा सहित 2 किलो अफीम बरामद की थी।

नोटः– जनपद नैनीताल की सम्मानित जनता अनुरोध है कि स्मैक, चरस शराब की अवैघ बिक्री तथा तस्करी की गोपनीय सूचना नैनीताल पुलिस द्वारा जारी किये गये 7519051905, 9719291929, नम्बरों पर फोन/ मैसेज/व्हाट्स-एप के माध्यम से जनपद नैनीताल को नशा मुक्त करने में पुलिस को सहयोग करने का कष्ट करें।

यह भी पढ़ें : नशे के तस्करों के खिलाफ बड़ा दिन: करीब दो हजार लोगों को नहीं मिल पाएगी नशे की खुराक, शायद छोड़ दें…

-किच्छा में 102 ग्राम स्मैक व रामनगर में 80 किलो गांजा बरामद
नवीन समाचार, रामनगर/किच्छा, 19 जनवरी 2020। कुमाऊं पुलिस के लिए रविवार का दिन खासकर नशे के तस्करों के खिलाफ बड़ा दिन रहा। पुलिस ने आज एसटीएफ की मदद से किच्छा में 102 ग्राम स्मैक और रामनगर में 80.37 किग्रा गांजे की बरामद की है। पकड़ी गई स्मैक की कीमत करीब 10 लाख रुपए एवं बरामद चरस की कीमत करीब ढाई लाख रुपए बताई जा रही है। उल्लेखनीय है कि एक ग्राम स्मैक से करीब एक दर्जन लोगों को जबकि एक किग्रा गांजे नशे से सौ से अधिक लोगों को नशे का आदी बनाया जा सकता है। इस लिहाज से आज की बरामदगी से करीब दो हजार लोगों को नशे की खुराक मिलने से बच गई। उम्मीद की जा सकती है कि इनमें से कुछ लोग नशा छोड़कर अपना जीवन संवार लें।
पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस क्षेत्राधिकारी रामनगर पंकज गैरोला के निर्देशन में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली रामनगर श्री रवि कुमार सैनी के नेतृत्व में उपनिरीक्षक प्रकाश सिंह मेहरा, कांस्टेबल तालिब हुसैन व महबूब अली के द्वारा थाना रामनगर क्षेत्र अंतर्गत प्राइमरी स्कूल खताडी जाने वाले रास्ते में चेकिंग के दौरान स्थानीय निवासी 27 वर्षीय मोहम्मद परवेज पुत्र अब्दुल रहमान के कब्जे से वाहन संख्या डीएल8सीएडी-4173 से अवैध तरीके से ले जाया जा रहा 80 किलो 370 ग्राम गांजा बरामद किया है। आरोपित को एनडीपीएस एक्ट के तहत अभियोग पंजीकृत कर जेल भेज दिया गया है। वहीं एसटीएफ के एसआई पंकज बेलवाल के साथ बृजभूषण गुरुरानी, दुर्गा सिंह पापड़ा, महेंद्र गिरी, गोविंद सिंह बिष्ट व राजेंद्र सिंह महरा ने किच्छा में पुलभट्टा पुलिस को साथ लेकर एक बिना नंबर की बाइक से आ रहे वसीम खां पुत्र राहत खां निवासी तिलमासा थाना मीरगंज बरेली को 102 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार किया है। बरामद की गई स्मैक की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में दस लाख रुपए बताई जा रही है। बताया गया है कि पकड़े गए तस्कर की पुलिस को लंबे समय से तलाश थी। तस्कर ने पूछताछ के दौरान एसटीएफ को बताया कि वह बरेली के मेहरबान से स्मैक खरीद कर किच्छा, सितारगंज, रुद्रपुर आदि क्षेत्र में स्मैक की सप्लाई करता है।

यह भी पढ़ें : स्मैकियों पर कार्रवाई के लिए सभासदों ने एसएसपी-कमिश्नर को भेजे पत्र, दी आंदोलन की धमकी

नवीन समाचार, नैनीताल, 16 जनवरी 2020। नगर पालिका नैनीताल के सभासदों ने स्नोव्यू वार्ड के सभासद पुष्कर बोरा के नेतृत्व में बृहस्पतिवार को जनपद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा को एक पत्र सोंपा, तथा पत्र की प्रति कुमाऊं मंडल के आयुक्त राजीव रौतेला को भी भेजी। उनका कहना था कि वे बुधवार को नगर के विभिन्न क्षेत्रों में स्मैकियों तथा अराजक तत्वों के द्वारा लूटपाट किये जाने की शिकायत लेकर मल्लीताल कोतवाली गए थे, किंतु वहां मौजूद पुलिस कर्मियों ने उनसे कहा, ‘हमारे पास फोर्स नहीं है, अगर आपका इस विषय पर धरना देना है तो अभी दे दो‘। उन्होंने इस पर कार्रवाई करने की मांग की। साथ ही कार्रवाई न होने पर स्मैक तथा लूटपाट एवं पुलिस प्रशासन द्वारा की गई लापरवाही के विरुद्ध जन आंदोलन करने की चेतावनी भी दी। पत्र में भगवत रावत, राजू टांक, निर्मला चंद्रा, सुरेश चंद्रा, सागर आर्या, मनोज साह जगाती व कैलाश रौतेला के भी हस्ताक्षर हैं।

यह भी पढ़ें : स्मैकियों पर पुलिस के रवैये से नाराज सभासद कमिश्नर से मिलेंगे

-सभासदों ने स्मैकियों के खिलाफ कोतवाल को सोंपा पत्र, वहां एक पुलिस कर्मी के कथित तौर पर फोर्स की कमी की बात पर उखड़े
नवीन समाचार, नैनीताल, 15 जनवरी 2020। नगर पालिका नैनीताल के सभासदों ने स्नोव्यू वार्ड के सभासद पुष्कर बोरा के नेतृत्व में मल्लीताल कोतवाल को पत्र लिखकर क्षेत्र में स्मैकियों तथा अराजक तत्वों के द्वारा लूटपाट किये जाने की शिकायत करते हुए शीघ्र उचित कार्रवाई किये जाने की मांग की है। सभासदों का आरोप है कि शहर में स्मैकियों द्वारा शाम को दैनिक मजदूरी कर घर लौटने वाले लोगों के साथ मारपीट व लूट पाट की जा रही है। इससे क्षेत्रीय लोगों व महिलाओं में काफी भय का माहौल उत्पन्न हो रहा है। पत्र में भगवत रावत व मनोज साह जगाती के भी हस्ताक्षर थे। पत्र की प्रति एसएसपी को भी भेजी गई है।

इसी दौरान कथित तौर पर कोतवाली के एक पुलिस कर्मी ने सभासदों से कह दिया कि पुलिस में फोर्स की कमी है। इसलिए इस मामले में पुलिस कुछ नहीं कर सकती। इस पर सभासद भड़क गए और उन्होंने इस मसले पर कुमाऊं कमिश्नर से मिलने का ऐलान कर डाला है।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं एसटीएफ को मिली बड़ी कामयाबी, 20 लाख की स्मैक बरामद

नवीन समाचार, किच्छा, 2 दिसंबर 2019। नशा तस्करी के खिलाफ पुलिस उप महानिरीक्षक एसटीएफ रिद्धिम अग्रवाल के दिशा निर्देशन में कुमाऊं यूनिट पंतनगर की टीम ने सूचना के आधार पर बड़ी कार्रवाई करते हुए करीब 20 लाख से अधिक कीमत की स्मैक के साथ एक तस्कर को दबोचने में सफलता हासिल की है। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह उत्तराखंड-उत्तर प्रदेश के सीमावर्ती बहेड़ी क्षेत्र निवासी शानू नामक युवक से स्मैक की खरीद कर पुलभट्टा , नानकमत्ता, सितारगंज आदि क्षेत्रों के स्कूल कॉलेजों में स्मैक की बिक्री करता था, और लंबे समय से इस धंधे में लिप्त था। पूर्व में नानकमत्ता पुलिस द्वारा भी उसे एनडीपीएस एक्ट के तहत तथा सितारगंज पुलिस द्वारा आबकारी एक्ट के तहत गिरफ्तार किया जा चुका है । बरामद स्मैक की अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कीमत करीब 20 लाख से अधिक बताई जा रही है । स्मैक तस्करी के इस कारोबार में आरोपी की पत्नी की भी भागीदारी बताई जा रही है।
पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एसटीएफ की कुमाऊ यूनिट पंतनगर के उप निरीक्षक पंकज बेलवाल, उपनिरीक्षक बृजभूषण गुरुरानी , आरक्षी दुर्गा सिंह, गोविंद बिष्ट, वीरेंद्र चौहान, गुरवंत सिंह, राजेंद्र मेहरा व सुरेंद्र कन्याल की टीम ने पुलभट्टा थाना अंतर्गत ग्राम बरा में औचक कार्रवाई करते हुए बाइक संख्या यूके06टीए- 0614 पर सवार ग्राम साधु नगर, थाना सितारगंज, जिला ऊधमसिंह नगर निवासी गुरमेज सिंह पुत्र कश्मीर सिंह को हिरासत में लिया। तलाशी में उसके पास से करीब 22 ग्राम स्मैक बरामद हुई। आरोपी के खिलाफ पुलभट्टा थाने में एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी गई है।

यह भी पढ़ें : जेल से छूटते ही फिर करने लगा स्मैक तस्करी, पुलिस-एसओजी ने फिर पहुंचाया जेल

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 24 नवंबर 2019। नैनीताल पुलिस व एसओजी की संयुक्त टीम ने रविवार को अमन सिद्दीकी पुत्र आफताब सिद्दीकी निवासी गफूर बस्ती नाम के एक व्यक्ति को 4.5 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार किया। खास बात यह रही कि पुलिस के अनुसार पकड़ा गया तस्कर लंबे समय से स्मैक तस्करी में लिप्त रहा है। वह तीन माह पूर्व ही जेल से छूटा था और जेल से छूटते ही फिर से स्मैक की तस्करी करने लगा था। पुलिस ने उसके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई कर जेल भेज दिया गया है। उसने बताया कि वह स्मैक किच्छा में हमीर नामक व्यक्ति से खरीद कर लाता है और यहां पुडिया बनाकर उसे महंगे दामों में बेचने का काम करता है।

राज्य के सभी प्रमुख समाचार पोर्टलों में प्रकाशित आज-अभी तक के समाचार पढ़ने के लिए क्लिक करें इस लाइन को…

जानकारी के अनुसार बीती रात एसओजी टीम को मुखबिर से सूचना मिली कि बनभूलपुरा थाना क्षेत्र के गफूर बस्ती में एक तस्कर स्मैक की बिक्री कर रहा है। इस सूचना पर एसओजी टीम ने बनभूलपुरा थाना पुलिस के साथ क्षेत्र में छापा मार कर अमन सिद्दीकी को दबोचा। उससे कुछ अहम जानकारियां जुटाई गई हैं। जिनके आधार पर अन्य तस्करों की गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं। साथ ही उसके मोबाइल में मिले नंबरों के आधार पर अन्य तस्करों को चिन्हित करने का कार्य भी किया जा रहा है। सफलता प्राप्त करने वाली टीम में एसओजी प्रभारी दिनेश पंत, एसआई कृपाल सिंह, कांस्टेबल जितेंद्र कुमार, त्रिलोक रौतेला, मुन्ना सिंह शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : हद है, तस्कर चप्पलों के तलों में छुपाकर स्मैक लाते हैं, और स्मैकिये मजे से पीते हैं…

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 नवंबर 2019। बनभूलपुरा पुलिस ने रेलवे स्टेशन के पास चेकिंग के दौरान तीन लोगों को 12.5 ग्राम स्मैक के साथ धर दबोचा। तीनों ने चप्पलों के सोल में स्मैक छिपाया था। पूछताछ में पता चला कि तीनों बहेड़ी से स्मैक लेकर आए हैं। थानाध्यक्ष सुशील कुमार ने पत्रकारों को बताया कि बृहस्पतिवार दोपहर एसआई मनोज कुमार, एसआई संजीत कुमार राठौर, कांस्टेबल घनश्याम आर्या एवं एहसान फर्नीचर लाइन में गश्त कर रहे थे। इस बीच रेलवे स्टेशन की तरफ से आ रहे तीन संदिग्ध पुलिस को देखकर भागने लगे, लेकिन पुलिस ने तीनों को पकड़ लिया। तलाशी के दौरान पाकेट से स्मैक नहीं मिलने पर पुलिस ने उनके चप्पलों को पलटा तो कलई खुल गई। तीनों चप्पल के सोल के अंदर स्मैक छिपाए थे। पुलिस ने तीनों से 12.5 ग्राम स्मैक बरामद की। पकड़े गए लोगों में इंदिरानगर बड़ी मस्जिद के पास रहने वाला रियासत, लाइन नंबर 17 मोहम्मद इरफान, इंदिरानगर निवासी मोहम्मद नसीम शामिल हैं। आरोपियों ने पुलिस को बताया कि वे बहेड़ी के एजाज से स्मैक खरीदकर लाए थे। वे ट्रेन से उतरकर घर जा रहे थे। थानाध्यक्ष कुमार ने बताया कि स्मैक के साथ गिरफ्तार आरोपियों को पहले भी पुलिस ने काउंसलिंग कर सुधारने की कोशिश की थी, लेकिन हर तीसरे दिन तीनों स्मैक खरीदने के लिए बहेड़ी चले जाते हैं।

स्मैक की तस्करी से संबंधी पुराने समाचार पढ़ने के लिए इन लाइनों को क्लिक करें।

नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply

loading...