Crime

नैनीताल पुलिस ने पकड़ा 15 लाख का जानलेवा नशा, न जाने कितने बरबाद होने से बचे..

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नियमित रूप से नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड के समाचार अपने फोन पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप में इस लिंक https://t.me/joinchat/NgtSoxbnPOLCH8bVufyiGQ से एवं ह्वाट्सएप ग्रुप https://chat.whatsapp.com/BXdT59sVppXJRoqYQQLlAp से इस लिंक पर क्लिक करके जुड़ें।

नवीन समाचार, नैनीताल, 5 मार्च 2020। नैनीतान पुलिस ने नशे के विरूद्ध चेकिग अभियान चलाते हुए 36 वर्षीय युधिष्ठर गंगवार को क्षेत्र में 108 ग्राम स्मैक की तस्करी करते हुए संदिग्ध अवस्था में पकड़ा। जानकारी के अनुसार युधिष्ठर गंगवार पुत्र उमेश चन्द्र बरेली उत्तर प्रदेश का रहने वाला है जोकि 108 ग्राम स्मैक लेकर बनभूलपुरा क्षेत्र में बेचने जो रहा था।

haldwani news

लेकिन क्षेत्र में पुलिस द्वारा तस्करी करने वालों के विरूद्व काफी सख्त चेकिंग चल रही थी जिस कारण अपराधी पकड़ा गया। अपराधी से बरामद स्मैक की कीमत करीब 4.50 लाख बताई जा रही है वहीं अन्तराष्ट्रीय मार्केट में इसकी कीमत करीब 15 लाख है। पुलिस युवक के पूर्व आपराधिक रिकाॅर्ड के बारे में भी जांच की रही है इसके साथ ही पुलिस द्वारा अपराधी पर एनडीपीसी एक्ट द्वारा कार्यवाही की जाएगी। (साभार : न्यूज़ टुडे नेटवर्क)

यह भी पढ़ें : बड़ा आदेश: किलो भर स्मैक के साथ पकड़े गए स्मैक तस्कर को अब तक की सबसे बड़ी-20 साल की जेल, 2 लाख जुर्माना

-जिले में सबसे बड़ी 900 ग्राम स्मैक के साथ पकड़ा गया था आरोपित
नवीन समाचार, नैनीताल, 20 फरवरी 2020। द्वितीय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश तथा विशेष न्यायाधीश एनडीपीएस राकेश कुमार सिंह की अदालत ने 7 वर्ष पुराने मामले में जनपद की सबसे बड़ी करोड़ों रुपए मूल्य की 900 ग्राम स्मैक के साथ धरे गए तस्कर को 20 वर्ष के कठोर कारावास और दो लाख रुपये अर्थदंड की बड़ी सजा सुनाई है। मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से पैरवी करते हुए सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता पूजा साह की ओर से 8 गवाह पेश किए गए। जबकि जिला शासकीय अधिवक्ता सुशील कुमार शर्मा ने स्मैक की बड़ी मात्रा में होने का हवाला देते हुए कड़ी सजा देने की मांग की।
उल्लेखनीय है कि 29 जुलाई 2013 रामनगर कोतवाली के एसआई कमलेश भट्ट ने आरक्षी महेंद्र पाल व जयपाल के साथ काशीपुर-रामनगर मार्ग पर चेकिंग करने के दौरान मोटर साइकिल से आते एक युवक को रोका। रोके जाने पर वह घबरा गया और बाइक से बैरियर को टक्कर मार दी। मोटर साइकिल गिरने के बाद वह वन विभाग के सरकारी क्वार्टर की ओर भाग गया। आरक्षी ने दौड़कर उसे दबोच लिया। उसने अपना नाम गुलरभट्टी रामनगर निवासी शरीफ अहमद बताया। उसके पास से 900 ग्राम स्मैक बरामद की। आरोपी ने 12 हजार रुपये प्रति तोला इसे बेचे जाने की जानकारी दी। वह गजरौला में मनचंदा व बंटी नाम के युवकों से स्मैक खरीदकर काशीपुर, पीरूमदारा व रामनगर में बेचता था। पुलिस ने एनडीपीएस की धाराओं में उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। मामले में डीजीसी ने कहा कि 900 ग्राम स्मैक बरामद होना वाणिज्यिक है। इससे समाज पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव को देखते हुए और स्मैक तस्करी से जुड़े लोगों को चेतावनी देने के लिए आरोपी को सख्त से सख्त सजा देने की पैरवी की। इस पर अदालत ने आरोपी तस्कर शरीफ को 20 वर्ष का कठोर कारावास और दो लाख रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई। साथ ही अपर जिला जज नेएसआई कमलेश भट्ट के माध्यम से वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक यूएस नगर को निर्देशित किया है कि वह भविष्य में नारकोटिक्स ब्यूरो ऑफ इंडिया के दिशा निर्देशों के अनुरूप एनडीपीएस एक्ट के प्रावधानों के अनुसार कार्रवाई करें।

यह भी पढ़ें : जनपद में बरामद हुई 31 किलो चरस और पौने दो किलो स्मैक, 142 किलो गांजा, 2 किलो अफीम और भी बहुत….

नवीन समाचार, नैनीताल, 7 फरवरी 2020। जनपद में नशे के खिलाफ चल रहे अभियान के तहत शुक्रवार को हल्द्वानी पुलिस को बड़ी सफलता मिली। पुलिस ने एफटीआई रोड तरणताल के पास मो. खालिक हुसैन पुत्र लियाकत हुसैन निवासी कटरा ढाल थाना देवरनिया जिला बरेली यूपी को 51.4 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार किया। बरामद की गई स्मैक की कीमत पांच लाख रुपए से अधिक बतायी जा रही है। यह बरामदगी इसलिए भी बड़ी है कि इससे सैकड़ों लोग स्मैक का नशा करने से बच जाएंगे। उल्लेखनीय है एक ग्राम स्मैक से करीब एक दर्जन लोगों को स्मैक की डोज मिल जाती है। गिरफ्तारी-बरामदगी करने वाली पुलिस टीम में नगर कोतवाल संजय कुमार, मेडिकल चौकी प्रभारी कैलाश नेगी, एसएसआई कश्मीर सिंह, एसआई जितेंद्र सोराड़ी, एसओजी के आरक्षी कुंदन कठायत, त्रिलोक सिंह, चंदन व हृदयेश शामिल रहे।

बीते वर्ष 203 तस्करों से बरामद हुई 31 किलो चरस और पौने दो किलो स्मैक
नैनीताल। जनपद में नशा किस कदर युवा पीढ़ी की नशों में चढ़ रहा है, आंकड़े इसके गवाह हैं। बताया गया है कि पुलिस ने पिछले वर्ष 2019 में 203 तस्करों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 31 किलो चरस और पौने दो किलो स्मैक के साथ ही हजारों की संख्या में नशीली गोलियां और 142 किलो गांजा सहित 2 किलो अफीम बरामद की थी।

नोटः– जनपद नैनीताल की सम्मानित जनता अनुरोध है कि स्मैक, चरस शराब की अवैघ बिक्री तथा तस्करी की गोपनीय सूचना नैनीताल पुलिस द्वारा जारी किये गये 7519051905, 9719291929, नम्बरों पर फोन/ मैसेज/व्हाट्स-एप के माध्यम से जनपद नैनीताल को नशा मुक्त करने में पुलिस को सहयोग करने का कष्ट करें।

यह भी पढ़ें : नशे के तस्करों के खिलाफ बड़ा दिन: करीब दो हजार लोगों को नहीं मिल पाएगी नशे की खुराक, शायद छोड़ दें…

-किच्छा में 102 ग्राम स्मैक व रामनगर में 80 किलो गांजा बरामद
नवीन समाचार, रामनगर/किच्छा, 19 जनवरी 2020। कुमाऊं पुलिस के लिए रविवार का दिन खासकर नशे के तस्करों के खिलाफ बड़ा दिन रहा। पुलिस ने आज एसटीएफ की मदद से किच्छा में 102 ग्राम स्मैक और रामनगर में 80.37 किग्रा गांजे की बरामद की है। पकड़ी गई स्मैक की कीमत करीब 10 लाख रुपए एवं बरामद चरस की कीमत करीब ढाई लाख रुपए बताई जा रही है। उल्लेखनीय है कि एक ग्राम स्मैक से करीब एक दर्जन लोगों को जबकि एक किग्रा गांजे नशे से सौ से अधिक लोगों को नशे का आदी बनाया जा सकता है। इस लिहाज से आज की बरामदगी से करीब दो हजार लोगों को नशे की खुराक मिलने से बच गई। उम्मीद की जा सकती है कि इनमें से कुछ लोग नशा छोड़कर अपना जीवन संवार लें।
पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस क्षेत्राधिकारी रामनगर पंकज गैरोला के निर्देशन में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली रामनगर श्री रवि कुमार सैनी के नेतृत्व में उपनिरीक्षक प्रकाश सिंह मेहरा, कांस्टेबल तालिब हुसैन व महबूब अली के द्वारा थाना रामनगर क्षेत्र अंतर्गत प्राइमरी स्कूल खताडी जाने वाले रास्ते में चेकिंग के दौरान स्थानीय निवासी 27 वर्षीय मोहम्मद परवेज पुत्र अब्दुल रहमान के कब्जे से वाहन संख्या डीएल8सीएडी-4173 से अवैध तरीके से ले जाया जा रहा 80 किलो 370 ग्राम गांजा बरामद किया है। आरोपित को एनडीपीएस एक्ट के तहत अभियोग पंजीकृत कर जेल भेज दिया गया है। वहीं एसटीएफ के एसआई पंकज बेलवाल के साथ बृजभूषण गुरुरानी, दुर्गा सिंह पापड़ा, महेंद्र गिरी, गोविंद सिंह बिष्ट व राजेंद्र सिंह महरा ने किच्छा में पुलभट्टा पुलिस को साथ लेकर एक बिना नंबर की बाइक से आ रहे वसीम खां पुत्र राहत खां निवासी तिलमासा थाना मीरगंज बरेली को 102 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार किया है। बरामद की गई स्मैक की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में दस लाख रुपए बताई जा रही है। बताया गया है कि पकड़े गए तस्कर की पुलिस को लंबे समय से तलाश थी। तस्कर ने पूछताछ के दौरान एसटीएफ को बताया कि वह बरेली के मेहरबान से स्मैक खरीद कर किच्छा, सितारगंज, रुद्रपुर आदि क्षेत्र में स्मैक की सप्लाई करता है।

यह भी पढ़ें : स्मैकियों पर कार्रवाई के लिए सभासदों ने एसएसपी-कमिश्नर को भेजे पत्र, दी आंदोलन की धमकी

नवीन समाचार, नैनीताल, 16 जनवरी 2020। नगर पालिका नैनीताल के सभासदों ने स्नोव्यू वार्ड के सभासद पुष्कर बोरा के नेतृत्व में बृहस्पतिवार को जनपद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा को एक पत्र सोंपा, तथा पत्र की प्रति कुमाऊं मंडल के आयुक्त राजीव रौतेला को भी भेजी। उनका कहना था कि वे बुधवार को नगर के विभिन्न क्षेत्रों में स्मैकियों तथा अराजक तत्वों के द्वारा लूटपाट किये जाने की शिकायत लेकर मल्लीताल कोतवाली गए थे, किंतु वहां मौजूद पुलिस कर्मियों ने उनसे कहा, ‘हमारे पास फोर्स नहीं है, अगर आपका इस विषय पर धरना देना है तो अभी दे दो‘। उन्होंने इस पर कार्रवाई करने की मांग की। साथ ही कार्रवाई न होने पर स्मैक तथा लूटपाट एवं पुलिस प्रशासन द्वारा की गई लापरवाही के विरुद्ध जन आंदोलन करने की चेतावनी भी दी। पत्र में भगवत रावत, राजू टांक, निर्मला चंद्रा, सुरेश चंद्रा, सागर आर्या, मनोज साह जगाती व कैलाश रौतेला के भी हस्ताक्षर हैं।

यह भी पढ़ें : स्मैकियों पर पुलिस के रवैये से नाराज सभासद कमिश्नर से मिलेंगे

-सभासदों ने स्मैकियों के खिलाफ कोतवाल को सोंपा पत्र, वहां एक पुलिस कर्मी के कथित तौर पर फोर्स की कमी की बात पर उखड़े
नवीन समाचार, नैनीताल, 15 जनवरी 2020। नगर पालिका नैनीताल के सभासदों ने स्नोव्यू वार्ड के सभासद पुष्कर बोरा के नेतृत्व में मल्लीताल कोतवाल को पत्र लिखकर क्षेत्र में स्मैकियों तथा अराजक तत्वों के द्वारा लूटपाट किये जाने की शिकायत करते हुए शीघ्र उचित कार्रवाई किये जाने की मांग की है। सभासदों का आरोप है कि शहर में स्मैकियों द्वारा शाम को दैनिक मजदूरी कर घर लौटने वाले लोगों के साथ मारपीट व लूट पाट की जा रही है। इससे क्षेत्रीय लोगों व महिलाओं में काफी भय का माहौल उत्पन्न हो रहा है। पत्र में भगवत रावत व मनोज साह जगाती के भी हस्ताक्षर थे। पत्र की प्रति एसएसपी को भी भेजी गई है।

इसी दौरान कथित तौर पर कोतवाली के एक पुलिस कर्मी ने सभासदों से कह दिया कि पुलिस में फोर्स की कमी है। इसलिए इस मामले में पुलिस कुछ नहीं कर सकती। इस पर सभासद भड़क गए और उन्होंने इस मसले पर कुमाऊं कमिश्नर से मिलने का ऐलान कर डाला है।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं एसटीएफ को मिली बड़ी कामयाबी, 20 लाख की स्मैक बरामद

नवीन समाचार, किच्छा, 2 दिसंबर 2019। नशा तस्करी के खिलाफ पुलिस उप महानिरीक्षक एसटीएफ रिद्धिम अग्रवाल के दिशा निर्देशन में कुमाऊं यूनिट पंतनगर की टीम ने सूचना के आधार पर बड़ी कार्रवाई करते हुए करीब 20 लाख से अधिक कीमत की स्मैक के साथ एक तस्कर को दबोचने में सफलता हासिल की है। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह उत्तराखंड-उत्तर प्रदेश के सीमावर्ती बहेड़ी क्षेत्र निवासी शानू नामक युवक से स्मैक की खरीद कर पुलभट्टा , नानकमत्ता, सितारगंज आदि क्षेत्रों के स्कूल कॉलेजों में स्मैक की बिक्री करता था, और लंबे समय से इस धंधे में लिप्त था। पूर्व में नानकमत्ता पुलिस द्वारा भी उसे एनडीपीएस एक्ट के तहत तथा सितारगंज पुलिस द्वारा आबकारी एक्ट के तहत गिरफ्तार किया जा चुका है । बरामद स्मैक की अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कीमत करीब 20 लाख से अधिक बताई जा रही है । स्मैक तस्करी के इस कारोबार में आरोपी की पत्नी की भी भागीदारी बताई जा रही है।
पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एसटीएफ की कुमाऊ यूनिट पंतनगर के उप निरीक्षक पंकज बेलवाल, उपनिरीक्षक बृजभूषण गुरुरानी , आरक्षी दुर्गा सिंह, गोविंद बिष्ट, वीरेंद्र चौहान, गुरवंत सिंह, राजेंद्र मेहरा व सुरेंद्र कन्याल की टीम ने पुलभट्टा थाना अंतर्गत ग्राम बरा में औचक कार्रवाई करते हुए बाइक संख्या यूके06टीए- 0614 पर सवार ग्राम साधु नगर, थाना सितारगंज, जिला ऊधमसिंह नगर निवासी गुरमेज सिंह पुत्र कश्मीर सिंह को हिरासत में लिया। तलाशी में उसके पास से करीब 22 ग्राम स्मैक बरामद हुई। आरोपी के खिलाफ पुलभट्टा थाने में एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी गई है।

यह भी पढ़ें : जेल से छूटते ही फिर करने लगा स्मैक तस्करी, पुलिस-एसओजी ने फिर पहुंचाया जेल

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 24 नवंबर 2019। नैनीताल पुलिस व एसओजी की संयुक्त टीम ने रविवार को अमन सिद्दीकी पुत्र आफताब सिद्दीकी निवासी गफूर बस्ती नाम के एक व्यक्ति को 4.5 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार किया। खास बात यह रही कि पुलिस के अनुसार पकड़ा गया तस्कर लंबे समय से स्मैक तस्करी में लिप्त रहा है। वह तीन माह पूर्व ही जेल से छूटा था और जेल से छूटते ही फिर से स्मैक की तस्करी करने लगा था। पुलिस ने उसके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई कर जेल भेज दिया गया है। उसने बताया कि वह स्मैक किच्छा में हमीर नामक व्यक्ति से खरीद कर लाता है और यहां पुडिया बनाकर उसे महंगे दामों में बेचने का काम करता है।

राज्य के सभी प्रमुख समाचार पोर्टलों में प्रकाशित आज-अभी तक के समाचार पढ़ने के लिए क्लिक करें इस लाइन को…

जानकारी के अनुसार बीती रात एसओजी टीम को मुखबिर से सूचना मिली कि बनभूलपुरा थाना क्षेत्र के गफूर बस्ती में एक तस्कर स्मैक की बिक्री कर रहा है। इस सूचना पर एसओजी टीम ने बनभूलपुरा थाना पुलिस के साथ क्षेत्र में छापा मार कर अमन सिद्दीकी को दबोचा। उससे कुछ अहम जानकारियां जुटाई गई हैं। जिनके आधार पर अन्य तस्करों की गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं। साथ ही उसके मोबाइल में मिले नंबरों के आधार पर अन्य तस्करों को चिन्हित करने का कार्य भी किया जा रहा है। सफलता प्राप्त करने वाली टीम में एसओजी प्रभारी दिनेश पंत, एसआई कृपाल सिंह, कांस्टेबल जितेंद्र कुमार, त्रिलोक रौतेला, मुन्ना सिंह शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : हद है, तस्कर चप्पलों के तलों में छुपाकर स्मैक लाते हैं, और स्मैकिये मजे से पीते हैं…

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 नवंबर 2019। बनभूलपुरा पुलिस ने रेलवे स्टेशन के पास चेकिंग के दौरान तीन लोगों को 12.5 ग्राम स्मैक के साथ धर दबोचा। तीनों ने चप्पलों के सोल में स्मैक छिपाया था। पूछताछ में पता चला कि तीनों बहेड़ी से स्मैक लेकर आए हैं। थानाध्यक्ष सुशील कुमार ने पत्रकारों को बताया कि बृहस्पतिवार दोपहर एसआई मनोज कुमार, एसआई संजीत कुमार राठौर, कांस्टेबल घनश्याम आर्या एवं एहसान फर्नीचर लाइन में गश्त कर रहे थे। इस बीच रेलवे स्टेशन की तरफ से आ रहे तीन संदिग्ध पुलिस को देखकर भागने लगे, लेकिन पुलिस ने तीनों को पकड़ लिया। तलाशी के दौरान पाकेट से स्मैक नहीं मिलने पर पुलिस ने उनके चप्पलों को पलटा तो कलई खुल गई। तीनों चप्पल के सोल के अंदर स्मैक छिपाए थे। पुलिस ने तीनों से 12.5 ग्राम स्मैक बरामद की। पकड़े गए लोगों में इंदिरानगर बड़ी मस्जिद के पास रहने वाला रियासत, लाइन नंबर 17 मोहम्मद इरफान, इंदिरानगर निवासी मोहम्मद नसीम शामिल हैं। आरोपियों ने पुलिस को बताया कि वे बहेड़ी के एजाज से स्मैक खरीदकर लाए थे। वे ट्रेन से उतरकर घर जा रहे थे। थानाध्यक्ष कुमार ने बताया कि स्मैक के साथ गिरफ्तार आरोपियों को पहले भी पुलिस ने काउंसलिंग कर सुधारने की कोशिश की थी, लेकिन हर तीसरे दिन तीनों स्मैक खरीदने के लिए बहेड़ी चले जाते हैं।

स्मैक की तस्करी से संबंधी पुराने समाचार पढ़ने के लिए इन लाइनों को क्लिक करें।

राज्य के सभी प्रमुख समाचार पोर्टलों में प्रकाशित आज-अभी तक के समाचार पढ़ने के लिए क्लिक करें इस लाइन को…

नियमित रूप से नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड के समाचार अपने फोन पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप में इस लिंक https://t.me/joinchat/NgtSoxbnPOLCH8bVufyiGQ से एवं ह्वाट्सएप ग्रुप से इस लिंक https://chat.whatsapp.com/ECouFBsgQEl5z5oH7FVYCO पर क्लिक करके जुड़ें।

Leave a Reply

Loading...
loading...