Business News

जीएसटी बिल प्राप्त करने वाले उपभोक्ता होंगे पुरस्कृत, योजना में लें भाग और पायें आकर्षक ईनाम…

BLIPनवीन समाचार, नैनीताल, 23 नवंबर 2022। जीएसटी अदा करने वाले उपभोक्ताओं को प्रोत्साहित करने के विशेष मकसद से उत्तराखंड में जीएसटी ग्राहक ऑनलाइन ईनाम योजना शुरु की गयी है। कर निर्धारण विभाग के असिस्टेट कमिश्नर अभिषेक सिंह ह्यांकी ने बताया कि इस योजना में मिठाई, रेस्टोरेन्ट (मल्टी नेशनल एवं नेशनल फूड चेन जैसे मैक्डोनाल्ड, डोमिनोज, केएफसी, सबवे, कैफे कॉफी डे, कोस्टा कॉफी, पिज्जा हट, हल्दीराम, बर्गर किंग, डकिन्स, सागर रत्न इत्यादि को छोड़ते हुए), गैर-ब्रांडेड रेडीमेड वस्त्र, कपडा, साडी, सैलून, ब्यूटी पार्लर, गेमिंग पार्लर, लॉन्ड्री सेवाएं, गैर-ब्रांडेड जूते, ड्राई फ्रूटस, आर्टीफिशियल ज्वेलरी के जीएसटी में पंजीकृत आपूर्तिकर्ताओं, विक्रेताओं द्वारा जारी बिलों पर लागू होगी। पूरी जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड ब्रेकिंग: कल की छुट्टी पर आया बड़ा अपडेट

योजना में भाग लेने के लिए बिलों की न्यूनतम कर योग्य धनराशि 200 रुपए होगी। 1 सितम्बर, 2022 से 31 मार्च 2023 तक के केवल बी2सी बिल जो उपभोक्ताओं को जारी किये गये हों वही इस योजना के पात्र होंगे। अलबत्ता राज्य सरकार कभी भी इस योजना को निरस्त, विस्तारित या संशोधित कर सकती है। ई-कॉर्मस ऑपरेटर के माध्यम से ऑनलाइन क्रय की गयी वस्तुओं व सेवाओं के बिलों पर लागू नहीं होगी। यह भी पढ़ें : पति को बांधकर विवाहिता के साथ चार युवकों ने किया सामूहिक दुष्कर्म, नाबालिग भतीजी के साथ भी की छेड़छाड़

योजना की अवधि में लकी ड्रा के माध्यम से मासिक तथा योजना की समाप्ति के पश्चात मेगा लकी ड्रा के माध्यम से पुरस्कार दिये जायेंगे। प्रत्येक माह 1500 व्यक्तियों को लकी ड्रॉ के माध्यम से चयनित करते हुए मोबाइल, स्मार्ट वॉच तथा एयर फोन आदि के पुरस्कार दिए जाएंगे। नवम्बर 2022 हेतु सितम्बर 2022 से नवम्बर 2022 तक खरीद के बिल शामिल किए जाएंगें। मेगा ड्रा अप्रैल 2023 में किया जायेगा। जिन बिलों पर लकी ड्रा निकलेगा, उनका सत्यापन व बिल धारक के नाम व पते की पुष्टि करने के उपरान्त ही पुरस्कार वितरित किये जायेगे। यह भी पढ़ें : चलते वाहन पर गिरा विशाल बोल्डर, चालक-परिचालक की मौके पर ही दर्दनाक मौत

फर्जी बिल बनाने वालों अथवा योजना का दुरूपयोग करने वालों के विरुद्ध सुसंगत धाराओं में विधिक कार्रवाई की जायेगी। बताया कि पुरस्कार निकलने के बाद के उपरान्त ही इनाम दिया जायेगा। क्रेता अपलोड किये गये बिल की प्रति सुरक्षित रखेंगे एवं इनाम घोषित होने पर प्रस्तुत करेंगे। किसी भी विवाद की स्थिति में आयुक्त कर का निर्णय अंतिम होगा। श्री ह्यांकी ने कहा कि उपभोक्ताओं से अनुरोध है कि अधिक से अधिक संख्या में अधिक से अधिक बिल एकत्र एवं अपलोड करके योजना में सहभागी बनें। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : 15 अगस्त पर व्यापार मंडल तल्लीताल करेगा विशेष आयोजन, 11 लोगों को मिलेगा ‘नैनीताल रत्न’

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 13 अगस्त 2022। स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त पर नगर के तल्लीताल व्यापार मंडल के द्वारा विशेष कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इस दौरान नगर के 11 वरिष्ठ नागरिकों को ’नैनीताल रत्न’ के रूप में सम्मानित किया जाएगा। साथ ही इस दौरान रस्सा-खींच तथा बच्चों के लिए फैंसी ड्रैस तथा म्यूजिकल चेयर सहित विभिन्न खेलकूद प्रतियोगिताएं भी आयोजित होंगी। रस्सा-खींच प्रतियोगिता के विजेताओं को 5,100 का प्रथम और 2,100 का द्वितीय पुरस्कार दिया जाएगा।

व्यापार मंडल तल्लीताल की अध्यक्ष मारुति नंदन साह की अध्यक्षता एवं महामंत्री अमनदीप सिंघ ‘सनी’ के संचालन में आयोजित हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया है। बताया गया है कि कार्यक्रम की शुरुआत प्रातः 9 बजे ध्वजारोहण के साथ होगी। बताया गया है कि इस कार्यक्रम में डीएम धीराज गर्ब्याल ने बतौर मुख्य अतिथि शामिल रहने की सहमति प्रदान की है।

बैठक में उपाध्यक्ष नासिर खान, महिला उपाध्यक्ष ममता जोशी, उपसचिव जयंत उप्रेती, ‘शैलू’, कोषाध्यक्ष हरीश लाल, जिला कमेटी सदस्य फैज तथा भारत लाल साह, सोहन लाल साह, कमलेश साह ‘कान्हा’, दिनेश कर्नाटक, घनश्याम बेलवाल, सईब अहमद, अर्जुन साह व हर्ष साह इत्यादि व्यापारी भी मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : व्यापार मंडल ने सीएम को ज्ञापन भेजा, कहा-गलत हैं तो कार्रवाई करो, उत्पीड़न बंद करो…

सोमवार को मुख्यमंत्री को संबोधित 14 सूत्रीय ज्ञापन जिला विद्यालय निरीक्षक  को सौंपा | PrimarykaTeacherडॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 26 जुलाई 2022। प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल की नैनीताल इकाई ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को जिलाधिकारी के माध्यम से जीएसटी विभाग के सर्वे बंद कराए जाने की मांग करते हुए पत्र प्रेषित किया। पत्र में कहा गया है कि वर्तमान में उत्तराखंड प्रदेश में वाणिज्यिक कर विभाग द्वारा जीएसटी कर संग्रह बढ़ाए जाने के नाम पर व्यापारियों के स्थलीय निरीक्षण किया जा रहे हैं। इसकी आड़ में उत्पीड़न की कुछ घटनाएं भी हुई हैं।

कहा गया है कि यदि कोई व्यापारी अनुचित या गैर कानूनी कार्य कर रहा है तो विभाग करों में हेराफेरी करने वाली फर्मों को नोटिस जारी कर उचित कार्यवाही की जाए परंतु सर्वेक्षण के नाम पर बाजार में किए जा रहे उत्पीड़न को तत्काल प्रभाव से बंद कराया जाए। कहा कि व्यापार मंडल हमेशा की सरकार की नीतियों का स्वागत करेगा, परन्तु उत्पीड़न का पुरजोर विरोध किया जाएगा। ज्ञापन में अध्यक्ष मारुति नंदन साह व महामंत्री अमनदीप सिंह के हस्ताक्षर हैं। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : व्यापारियों ने ‘एकल प्रयोग’ प्लास्टिक पर प्रशासन से की स्थिति स्पष्ट करने की मांग

Delhi Government Launched Awareness Programme About Single Use Plastic As  Ban From Today Ann | Single Use Plastic Ban: सिंगल यूज प्लास्टिक पूरी तरह  से बैन, विकल्प को लेकर दिल्ली सरकार नेनवीन समाचार, नैनीताल, 18 जुलाई 2022। भारत सरकार ने 1 जुलाई 2022 से सिंगल यूज या एक बार उपयोग होने वाले प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगा दिया है। पॉलीस्टायरीन और विस्तारित पॉलिस्ट्रीन सहित एक बार उपयोग होने वाले प्लास्टिक का निर्माण, आयात, भंडारण, वितरण, बिक्री और उपयोग पर प्रतिबंध संबंधी यह आदेश 1 जुलाई 2022 से प्रभावी हो गया है।

नए शासनादेश के तहत शासन-प्रशासन ‘सिंगल यूज’ यानी एकल प्रयोग प्लास्टिक प्रतिबंधित होने की बात कर रहा है, लेकिन दूध, दही के साथ विभिन्न उत्पादों की थैलियों, पानी एवं शीतल पेय की बोतलों आदि के रूप में एकल उपयोग प्लास्टिक का कई सरकारी उपक्रम की इकाइयों के द्वारा भी उपयोग किया जा रहा है। ऐसे में कई उत्पादों के प्रति नगर के व्यवसायी भ्रमित हैं। उन्होंने इस पर प्रशासन से भ्रम की स्थिति को दूर करने एवं स्थिति स्पष्ट करने का अनुरोध किया है।

नगर के मां नयना देवी व्यापार मंडल के संस्थापक अध्यक्ष पुनीत टंडन ने बताया कि प्रशासन ने एकल उपयोग प्लास्टिक का प्रयोग करने के नाम पर कुछ व्यापारियों के चालान किए हैं, लेकिन यह साफ नहीं किया है कि किस प्लास्टिक को उपयोग करने की अनुमति है और किसे नहीं। इससे व्यापारियों में भ्रम व असमंजस की स्थिति है। लिहाजा प्रशासनिक कार्रवाई पर व्यापारियों में नाराजगी है।

टंडन ने इन स्थितियों पर सबंधित प्रशासनिक अधिकारियों से आग्रह किया है कि वह व्यापार मंडल के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर इस भ्रम-असमंजस को दूर करें तथा व्यापारियों की इस संबंध में शंकाओं-दुविधाओं को दूर करें, तथा बताएं कि किस प्रकार की वैकल्पिक व्यवस्था की जा सकती है, ताकि व्यापारियों नियमों का पालन करने के लिए अपने स्तर पर समुचित व्यवस्था करें। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : एक्सपाइरी सामान पाए जाने पर जनरल स्टोर का किया चालान, दो लाख तक का लग सकता है जुर्माना

नवीन समाचार, भीमताल, 26 अप्रैल 2022। विकास भवन के कर्मचारियों की शिकायत पर नगर के मल्लीताल स्थित पढालनी जनरल स्टोर पर कालातीत (एक्सपाइरी) खाद्य पदार्थो का उपभोक्ताओं को विक्रय करने पर मंगलवार को कार्रवाई की गई। कालातीत खादय सामग्री को मौके पर ही नष्ट किया गया, और जनरल स्टोर के खिलाफ खाद्य संरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 के तहत कार्रवाई की गई।

कर्मचारियों की शिकायत पर जनपद के मुख्य विकास अधिकारी डा. संदीप तिवारी ने गम्भीरता से लेते हुये खाद्य सुरक्षा अधिकारी को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये। उनके निर्देशों पर खाद्य सुरक्षा अधिकारी कैलाश चंद्र टम्टा एवं नंद किशोर द्वारा मंगलवार को संयुक्त रूप से पढालनी जनरल स्टोर भीमताल का औचक निरीक्षण कर छापा मारा। छापेमारी के दौरान दुकान में नमकीन, दलिया सहित अन्य खाद्य पदार्थ कालातीत पाये गये।

खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने प्रतिष्ठान का खाद्य संरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 की धारा 26, 27 व 58 के तहत चालान किया गया। बताया गया क अधिनियम की धारा 58 के तहत अधिकतम 2 लाख रुपए जुर्माने का प्रावधान है। कार्रवाई के दौरान संयुक्त मजिस्ट्रेट प्रतीक जैन, जिला विकास प्राधिकरण के सचिव पंकज उपाध्याय, तहसीलदार नवाजिश सहित सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित रहे। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : टैक्सी बाइक संचालक सवारियों के लिए भिड़े, पुलिस ने शांति भंग की आशंका में किया गिरफ्तार

पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए टैक्सी संचालक।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 17 अप्रैल 2022। नगर में सैलानियों की आमद बढ़ने के साथ सैलानियों से संबंधित विवाद बढ़ गए हैं। इसी कड़ी में रविवार को बाइक टैक्सी का काम करने वाले दो लोग आपस में भिड़ गए। इस पर पुलिस ने दोनों को शांति भंग की आशंका में भारतीय दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 151 के तहत गिरफ्तार कर लिया। बाद में उन्हें सिटी मजिस्ट्रेट के न्यायालय में पेश किया गया। अलबत्ता वहां से उन्हें जमानत मिल गई।

बताया गया है कि पीयूष साह पुत्र राजेश लाल साह निवासी मॉल रोड की मॉल रोड में बाइक किराए पर देने की दुकान है। आरोप है कि कुंदन रौतेला पुत्र शेर सिंह रौतेला निवासी ग्राम रौतेला जाप लमगड़ा जिला अल्मोड़ा वर्तमान निवासी सैनिक स्कूल मल्लीताल के पास दुकान से बाइक तय कर निकलने वाले सैलानियों को दुकान से सस्ती दरों पर स्कूटी, बाइक, टैक्सी आदि दिलाने के लिए बरगला रहा था। इसी पर दोनों में विवाद हो गया।

दिलचस्प बात यह भी रही कि दोनों ने ही आपस में भिड़ने के साथ पुलिस को 112 पर एक-दूसरे के खिलाफ कार्रवाई करने की शिकायत की। इस पर मौके पर पहुंची पुलिस ने आपस में झगड़ रहे दोनों को ही शांति भंग होने की आशंका में गिरफ्तार कर लिया। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हल्द्वानी के व्यवसायी को यूपी पुलिस गिरफ्तार कर ले गई

-वर्ष 2010 का कालाबाजारी का मामला
नवीन समाचार, हल्द्वानी, 4 मार्च 2022। पेट्रोलियम पदार्थों की कालाबाजारी के मामले में हल्द्वानी के एक पेट्रोल पंप स्वामी को उत्तर प्रदेश की पुलिस गिरफ्तार करके ले गई है। आरोप है कि उत्तर प्रदेश के जिला बिजनौर में चल रहे मुकदमे में पंप स्वामी पेशी पर नहीं जा रहा था। इसलिए गुरुवार को धामपुर थाना पुलिस हल्द्वानी पहुंची और कोतवाली पुलिस को सूचित करने के बाद उसे अपने साथ लेकर गई।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्ष 2010 में पेट्रोलियम पदार्थों की कालाबाजारी में मल्ला गोरखपुर वार्ड नंबर 11 निवासी संजीव शर्मा का एक टैंकर यूपी में पकड़ा गया था। तब से मामले की जांच चल रही है। आरोप है कि इसके बाद से पंप स्वामी ने इस मामले की ओर कोई ध्यान नहीं दिया। यहां तक कि वह पेशी पर भी नहीं गया। इसका परिणाम ही उसकी गिरफ्तारी के रूप में सामने आया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल में बदलेगा सब्जी मंडी का स्थान….

-तीसरी बार डीएसए मैदान में स्थानांतरित होगी सब्जी मंडी
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 10 जनवरी 2022। कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों के दृष्टिगत जनपद मुख्यालय में तीसरी बार सब्जी मंडी को डीएसए मैदान में स्थानांतरित करने के आदेश हुए हैं। इससे पूर्व कोरोना की पहली व दूसरी लहरों के दौरान मार्च 2020 व अप्रैल 2021 में भी मल्लीताल बड़ा बाजार में रामलीला मैदान के पास लगने वाली सब्जी मंडी को डीएसए मैदान में स्थानांतरित किया गया था। अब सोमवार को एक बार पुनः सिटी मजिस्ट्रेट प्रतीक जैन ने इस बारे में आदेश जारी कर दिए हैं।

आदेश के अनुसार 12 जनवरी से सब्जी मंडी डीएसए मैदान में लगेगी। बताया गया है कि नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी, मल्लीताल के थानाध्यक्ष, पूति निरीक्षक एवं मंडी समिति नैनीताल के पदाधिकारियों के साथ बैठक के बाद यह निर्णय लिया गया है। अधिशासी अधिकारी एवं पूर्ति निरीक्षक को इस हेतु व्यवस्थाएं करने तथा मल्लीताल कोतवाल को इस दौरान कोविड-19 के मास्क एवं सामाजिक दूरी आदि के नियमों का पालन सुनिश्चित करने को कहा गया है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हल्द्वानी में दुकानों में बिकते मिले बड़ी कंपनियों के नकली उत्पाद, दो दुकानदार गिरफ्तार

Punjab police officer chases car at high speed, 2 arrested | पंजाब पुलिस  अधिकारी ने तेज रफ्तार कार का किया पीछा, 2 गिरफ्तार -नवीन समाचार, देहरादून, 10 दिसंबर 2021। नैनीताल जनपद में नकली उत्पाद बनाने के बड़े काले धंधे का भंडाफोड़ हुआ है। जनपद के हल्द्वानी स्थित वनभूलपुरा में हिन्दुस्तान यूनीलीवर लिमिटेड के लैक्मे व एले-18 जैसे बड़े ब्रांड के नकली उत्पादों का निर्माण और होती मिली है। इस पर पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार हिन्दुस्तान लीवर के प्रभात कुमार गुप्ता तथा उनकी टीम को साथ लेकर हल्द्वानी पुलिस ने शुक्रवार को लाइन नंबर 1 थाना बनभूलपुरा स्थित इरफान कादरी कास्मेटिक एवं बेंगल स्टोर नाम की सौंदर्य प्रसाधन सामग्री की दुकान में छापेमारी की तो यहां लैक्मे व एले-18 के सौंदर्य प्रसाधन सामग्री के 791 नकली उत्पाद बरामद हुए। इस पर दुकान में मौजूद 20 वर्षीय मो. जुनैद पुत्र रईस निवासी मोहल्ला खेड़ा रम्पुरा रुद्रपुर ऊधमसिंह नगर को गिरफ्तार कर लिया गया।

इसके अलावा लाईन नबर 1 मून पैलेस नाम की दुकान में की गई छापेमारी में 32 वर्षीय दुकान स्वामी जावेद मियां अंसारी पुत्र बाबू मियां निवासी लाइन नंबर 17 आजादनगर थाना बनभूलपुरा के कब्जे से लैक्मे, लैक्मे आइकॉनिक, काजल व लिपस्टिक आदि के कुल 406 नकली नग बरामद किए गए। इस पर जावेद को भी गिरफ्तार कर लिया गया। दोनों मामलों में पुलिस की कार्रवाई में उपनिरीक्षक अमरपाल सिंह व विजयपाल सिंह, एचसीपी विजय कुमार व कमल पंत, आरक्षी हरिकृष्णा मिश्रा, हरभजन सिंह व साबिया अंसारी तथा कंपनी के प्रभात कुमार गुप्ता तथा बिपिन नागर शामिल रहे। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : आपदा में बचाने को सेना बुलानी पड़ी, दो दिन बाद ही छावनी परिषद ने थमाया 15-17 लाख का बिल

-शहरी विकास मंत्री से मिले छावनी परिषद के दुकानदार

छावनी परिषद के दुकानदारों से ज्ञापन ग्रहण करते शहरी विकास मंत्री बंशीधर भगत।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 5 नवंबर 2021। छावनी परिषद के दुकानदारो के शिष्टमंडल ने शुक्रवार को मुख्यालय आगमन पर प्रदेश के शहरी विकास मंत्री बंशीधर भगत से वार्ता की। इस दौरान उन्होंने पूर्व की तरह उन्हें किरायेदार लाइसेंस धारक की जगह लीजधारक के रूप में रखने एवं दुकानों का किराया नगरपालिकाओं की तरह बढ़ाने का अनुरोध किया।

भाजपा नेता पूरन मेहरा की अगुवाई में श्री भगत से मिलते हुए दुकानदारों का कहना था कि गत 18-19 अक्टूबर को उन्हें बचाने के लिए सेना भी बुलानी पड़ी थी, इसके बावजूद इसके दो दिन बाद ही छावनी परिषद के स्टेट ऑफीसर ने दुकानो के किराये में अत्यधिक वृद्धि कर उन्हें 48 घंटे के भीर 15 से 17 लाख रुपए चुकाने का नोटिस थमा दिया।

उच्च न्यायालय की ओर से भी उन्हें 4 लाख रुपए प्रति दुकानदार तीन सप्ताह के अंदर सिक्योरिटी के रूप में जमा करने को कहा गया हैं यह भी कहा कि वर्ष 2007-08 से किराये में 220 फीसद की बढ़ोत्तरी की गई है, साथ ही कई अन्य कर भी लगाए गए हैं। आगे उन्होंने किराये की अवशेष धनराशि को 10 से 12 वर्षों के नए संशोधित किरासे के साथ खंडों में भुगतान करने की अनुमति एवं किराया मौजूदा 20 फीसद की जगह हर 5 वर्षों में 5 से 10 फीसद बढ़ाने का अनुरोध किया।

इस पर श्री भगत ने डीएम धीराज गर्ब्याल से बात की, एवं श्री गर्ब्याल ने छावनी परिषद के अधिशासी अधिकारी को बुलाकर इस बारे में प्रस्ताव बनाने की बात कही। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : दीपावली पर गायब हुआ कोरोना, आपदा व महंगाई का खास असर !

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 3 नवंबर 2021। लगता है कोरोना, आपदा व महंगाई जैसे शब्द केवल कहने भर को रह गए हैं। इन तीनों के भय के बीच आशंका थी कि धनतेरस फीका रहेगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। नगर के बाजारों में धनतेरस पर पूर्वाह्न से ही सैलानियों की ऐसी भीड़ उमड़ी कि यह सभी शब्द बेअसर दिखे। कोरोना के दृष्टिगत सामाजिक दूरी तो बिल्कुल भी नहीं दिखी, वहीं मास्क पहनने में भी लोग लापरवाह दिखे।

अनेक लोग जहां भारी भीड़भाड़ के बावजूद बिना मास्क के दिखे, वहीं अनेक लोग मास्क को ठोड़ी के नीचे लटकाकर केवल औपचारिकता पूरी करते दिखे। खरीददारी में भी कहीं आपदा या महंगाई का कोई असर नहीं दिखा।

बताया जा रहा है कि इसका कारण पिछले वर्ष दीपावली पर कोरोना का अत्यधिक असर था। इस कारण दीपावली ठीक से नहीं मना पाए थे। इसलिए इस वर्ष बेहतर तरीके से दीपावली मना रहे है।

अलबत्ता, तल्लीताल व्यापार मंडल के महासचिव अमनदीप सिंह सनी ने कहा कि धनतेरस पर औसत कारोबार हुआ। बाजारों में बाहर से आकर बड़ी संख्या में फड़-खोखे वाले भी लगे। दीपावली की तैयारी बैठक में प्रशासन से अनुरोध किया गया था कि यह न लगने पाएं, लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। प्रशासन इस बारे में लाचार दिखा।

उधर पटाखा व्यवसायियों के अनुसार पिछले वर्ष के मुकाबले करीब 30 फीसद अधिक मूल्य पर खरीदे गए। अलबत्ता खरीददारी सामान्य के स्तर पर ही हुई। न कम न अधिक। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : दूषित खाद्य उत्पाद बेचने पर डेढ़ दर्जन विक्रेताओं को नोटिस

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 13 अक्टूबर 2021। जिला व मंडल में दूषित खाद्य पदार्थ बेचने पर खाद्य सुरक्षा विभाग ने करीब डेढ़ दर्जन विक्रेताओं को नोटिस जारी कर दिए हैं। इससे विक्रेताओं में हड़कंप की स्थिति रही।

हुआ यह कि बुधवार को खाद्य सुरक्षा अधिकारी संजय कुमार सिंह ने अपनी टीम के साथ नगर में त्योहारों के दृष्टिगत यदा-कदा होने वाली छापेमारी के तहत पंत पार्क एवं अंडा मार्केट क्षेत्र में खाद्य पदार्थ बेचने वालों की जांच की। इस दौरान पंत पार्क में एक दर्जन विकेता बिना लाइसेंस के एवं खुले में खाद्य सामग्री बेचते मिले। इसी तरह अंडा मार्केट क्षेत्र में करीब आधा दर्जन मीट विक्रेता मीट को ढके बिना असुरक्षित तरीके से मीट बेचते मिले। इस पर करीब डेढ़ दर्जन विक्रेताओं को खाद्य सुरक्षा अधिनियम की धारा 32 के तहत नोटिस जारी किए गए। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : होटल संचालक-व्यापारी नेता व साथियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज, ऐसे ही मामले में पहले भी दो बार हो चुकी है चालान की कार्रवाई

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 9 सितंबर 2021। नगर के मल्लीताल स्थित एक होटल में तल्लीताल के व्यापारी नेता व होटल संचालक द्वारा दूसरी बार तोड़फोड़ व अन्य आरोपों में मामला दर्ज हुआ है। पूर्व में भी तल्लीताल व्यापारी मंडल का चुनाव लड़ चुके जगदीश लाल साह व उनके साथियों के खिलाफ मल्लीताल कोतवाली में होटल स्वामी द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज किया गया है। बताया गया है कि पूर्व में यह साह इस होटल का लीज पर संचालन करते थे, लेकिन उनकी गतिविधियों के कारण होटल मालिक ने उनके होटल में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया था, लेकिन इसके बावजूद वह होटल में घुसकर अवांछित गतिविधियां करते रहते हैं। पूर्व में भी इस तरह की घटना हो चुकी है, तब पुलिस ने उनके खिलाफ चालान की कार्रवाई की थी, लेकिन अब मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार गत सोमवार को व्यापारी नेता जगदीश साह व उनके साथियों ने पूर्व में उनके द्वारा लीज पर संचालित होटल में तोड़फोड़ व अभद्रता की। इस दौरान उन्होंने दो सीसीटीवी मॉनिटर सहित कई सामान तोड़ डाला। होटल कर्मियों के समझाने के बाद भी जब वह नहीं माने तो होटल कर्मियों ने कोतवाली पुलिस को फोन से सूचना दी। सूचना पर कोतवाली पुलिस ने मौके पर पहुंचकर होटल व्यवसाई को शांत करने का प्रयास किया। जब वह नहीं माने तो पुलिस उन्हें कोतवाली ले आई। इसके बाद पुलिस ने तब उनके खिलाफ पुलिस एक्ट में कार्रवाई की।

लेकिन अब होटल मालिक विवेक पुनवानी की तहरीर के बाद पुलिस ने व्यापारी नेता सहित चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। एसएसआई कश्मीर सिंह ने बताया तल्लीताल निवासी जगदीश साह, तरुण भट्ट, संजय व गौरव चौधरी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 323, 427, 552, 504 व 506 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : नैनीताल में खुली देश की सबसे बड़ी लॉड्री चेन की शाखा

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 1 सितंबर 2021। नगर के तल्लीताल में देश की सबसे बड़ी, 260 से अधिक शाखाओं वाली लॉड्री चेन, यूक्लीन की शाखा खुल गई है। नगर पालिका अध्यक्ष सचिन नेगी ने इस शाखा का शुभारंभ किया।

शाखा खोलने वाले नगर के युवा उद्यमी मणिकांत साह व तन्मय साह ने बताया कि यहां 45 मिनट में कपडे़ धोकर, सुखाकर व प्रेस करके मिल जाएंगे। 60 से 90 रुपए प्रति किग्रा की दर से यह सेवाएं दी जाएंगी। यहां कपड़ों के अलावा जूते, कार्पेट, सोफा आदि को भी धोने की सुविधा उपलब्ध है। इस मौके पर आभा साह, राजेंद्र लाल साह सहित अनेक गणमान्य जन मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : नैनीताल में लॉक डाउन के बाद अचानक आई बिरयानी व चाउमिन-मोमो की बाढ़, संकरी सड़कों पर भी सजे बड़े भगोने व तंदूर

मोहन को के पास सड़क पर तंदूर व आगे बिरयानी की दुकान।

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 29 अगस्त 2021। सरोवरनगरी में लॉक डाउन में छूट के बाद जगह-जगह तंदूर, बिरयानी और चाउमिन-मोमो की कई नई-नई दुकानें सज गई हैं। खास बात यह है कि इन अधिकांश दुकानों के द्वारा सड़क पर अतिक्रमण किया जा रहा है। खासकर मोहन को से नैनीताल क्लब तिराहे जैसी संकरी सड़क पर तंदूर और बिरयानी के बड़े-बड़े भगोने अतिक्रमण कर बाहर तक फैले रहते हैं। गौरतलब है कि इस संकरे मार्ग पर दो पहिया और चार पहिया वाहनों का ही गुजरना मुश्किल होता है। ऐसे में पैदल राहगीरों के लिए हमेशा इन भगोनों व तंदूर में गिरने-झुलसने का खतरा बना हुआ है।

यहां के अलावा भी मल्लीताल पुलिस कोतवाली के निकट गाड़ी पड़ाव के साथ ही माल रोड पर भी यही प्रवृत्ति देखी जा रही है। इससे स्थानीय लोगों में साफ तौर पर नाराजगी है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : रक्षाबंधन का भारी उत्साह, बाजारों में रौनक, पूरी सड़क घेर कर लगी दुकानें

शनिवार को मल्लीताल बड़ा बाजार में पूरी बाजार को घेरकर लगी राखी और मिठाइयों की दुकानें।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 21 अगस्त 2021। रविवार को भाई-बहन के सर्वाधिक पवित्र प्रेम के पर्व रक्षाबंधन के लिए मुख्यालय में खासकर बाजारों में खासी रौनक नजर आ रही है। नगर में रक्षाबंधन के लिए काफी दुकानें सजी हुई हैं। बल्कि कई स्थानों पर बाजार रक्षाबंधन की वजह से सजी दुकानों की वजह से घिर गई है। मल्लीताल के बड़ा बाजार में राखी और मिठाई की दुकानों ने पूरी सड़क घेर ली है। इस वजह से बाजारों में खरीददारों का पैदल गुजरना भी मुश्किल साबित हो रहा है। इससे अन्य दुकानदार भी परेशान हैं, अलबत्ता एक दिन का त्योहार बताकर चुप हैं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : नैनीताल में बाजारों को मिली छूट को लोग समझ रहे कोरोना से मिल गई है छूट…

-पुलिस की सक्रियता भी नहीं दिख रही
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 14 जून 2021। जी हां, प्रदेश सरकार ने व्यापारियों के भारी दबाव के बाद कोविड कर्फ्यू में बाजारों को सप्ताह में तीन दिन की छूट क्या दी, लोग इसे मानो कोविड से मिली छूट मान लिया है। सोमवार को जिला-मंडल मुख्यालय में बाजारों की ऐसी ही स्थिति देखी गई है। यहां कोविड प्रोटोकॉल के खासकर सामाजिक दूरी के नियम को धता बताते हुए बाजारों में उमड़ रहे लोग जैसे यह मान कर चल रहे हैं कि दुनियां भर में 38 लाख और भारत में 3.74 लाख यानी विश्व के सापेक्ष करीब 10 फीसद लोगों का जीवन लीलने वाली कोरोना की महामारी ने भी इस दौरान संक्रमण ना फैलाने की छूट दे दी हो। स्थिति यह हो रही है कि बाजारों में नियमों का पालन करते हुए निकलने वालों के लिए लोगों से बचकर निकलना मुश्किल हो रहा है। एक-दूसरे से दूरी बरतना किसी के मन-मस्तिष्क में नजर नहीं आ रहा है, वहीं कई लोग मास्क भी न पहनकर जैसे कोरोना के विषाणु को खुद को और दूसरे लोगों का जीवन एक बार फिर खतरे में डालने की चुनौती दे रहे हैं। साथ ही नगर में सैलानियों की उपस्थिति भी छिटपुट दिखने लगी है, और वह भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते नजर नहीं आ रही है। वहीं पुलिस भी जैसे कोरोना से निपटते हुए थक गई है और उसकी सक्रियता बाजारों में कहीं भी नजर नहीं आ रही है। वहीं चालानी कार्रवाई भी काफी हद तक घट गई है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : कोरोना काल में ऋणों की अदायगी व ब्याज में छूट चाह रहे लोगों-व्यवसायियों को ‘सुप्रीम’ झटका

नवीन समाचार, नई दिल्ली, 11 जून 2021। कोरोना की दूसरी लहर में आर्थिक संकट से जूझ रहे और ईएमआई यानी किस्तों में राहत की उम्मीद पाल रहे लोगों-व्यवसायियों के लिए गहरे झटके का समाचार है। सर्वोच्च न्यायालय ने लोन मोरेटोरियम योजना को आगे बढ़ाने तथा ब्याज माफी संबंधित याचिका खारिज कर दी है। जस्टिस अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली पीठ ने संबंधित याचिका को यह कहते हुए खारिज कर दिया है कि यह नीतिगत मामला है और न्यायालय सरकार की नीतियों में हस्तक्षेप नहीं कर सकती। शीर्ष न्यायालय ने कहा, याचिकाकर्ताओं को अपनी मांग के लिए केंद्र सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के पास जाना चाहिए। याचिका में नए ऋण स्थगन, ऋण पुनर्गठन योजना के तहत समय दिए जाने और बैंकों की ओर से गैर-निष्पादित परिसंपत्तियों (एनपीए) की घोषणा पर अस्थाई रोक लगाने का अनुरोध किया गया था। ऐसे में अब ऋणों की अदायगी व ब्याज में छूट चाह रहे लोगों-व्यवसायियों के लिए सरकार से ही गुहार लगाने के अलावा और कोई रास्ता नहीं बचा रह गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : व्यापारियों ने की राहत की मांग, विधायक ने कहा-नियमों के बाहर भी मदद का करेंगे प्रयास

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 11 जून 2021। प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल की तल्लीताल इकाई ने शुक्रवार को तल्लीताल गांधी मूर्ति के नीचे कोरोना काल में हुए आर्थिक नुकसान के सापेक्ष राहत के लिए सरकार से गुहार लगाई। खासकर ऋणों को पुर्ननियोजित करने और ऋणों की किस्तों व ब्याज की अदायगी तथा व्यवसाय का टर्नओवर, जीएसटी व आयकर रिटर्न जमा करने तथा पेनाल्टी व सरचार्ज आदि में छूट व उदारता बरतने की मांग भी की गई। इस बीच व्यापारियों के प्रदर्शन की जानकारी लगने पर उनके बीच पहुंचे क्षेत्रीय विधायक ने उनकी मांगों को शासन तक पहुंचाने और नियमों के बाहर भी जाकर यथासंभव मदद दिलाने का आश्वासन दिया। इस पर व्यापार मंडल अध्यक्ष मारुति नंदन साह व महासचिव अमनदीप सिंह ने विधायक का उनके बीच आने और उनकी मांगों पर गंभीरता दिखाने के लिए आभार भी जताया।
इस मौके पर व्यापारियों की ओर से विधायक को मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन भी सोंपा गया। ज्ञापन में कहा गया कि उत्तराखंड पर्यटन प्रदेश है। जब तक राज्य में पर्यटकों का आवागमन सुचारू रूप से सरल प्रक्रिया के तहत नहीं होता, तब तक राज्य में व्यवसाय का सामान्य स्थिति में आना संभव नहीं है। प्रदर्शन में हरीश लाल, नासिर खान, ममता जोशी व जयंत उप्रेती आदि व्यापार मंडल के प्रतिनिधि भी शामिल रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें : मदिरालयों को तीन दिन व अन्य को एक दिन खोलने का निर्णय जले पर नमक छिड़कने वाला

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 07 जून 2021। कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर राज्य सरकार की ओर से एक बार फिर लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने पर व्यापारियों में अत्यधिक आक्रोश है। राज्य के लगभग सभी व्यापारिक संगठन सरकार के खासकर रविवार को जारी आदेश पर विरोध में उतर आए हैं। लोग सरकार के ताजा आदेश को हास्यास्पद ही नहीं शर्मनाक करार दे रहे हैं, जिसमें अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठानों को अगले सप्ताह एक या दो दिन, जबकि शराब की दुकानों को तीन दिन खोलने का तुगलकी फरमान करार दिया गया है।

सोमवार को डीएम से मिलकर शासनादेश पर विरोध जताते मां नयना देवी व्यापार मंडल के संस्थापक अध्यक्ष पुनीत टंडन व अन्य।

इसी कड़ी में सोमवार को नगर के माँ नयना देवी नैनीताल व्यापार मंडल के पदाधिकारियों और सदस्यों की गोलघर में बैठक हुई। साथ ही उन्होंने संस्थापक अध्यक्ष पुनीत टंडन के नेतृत्व में डीएम धीराज गर्ब्याल एवं एसडीएम प्रतीक जैन से मिलकर ताजा शासकीय आदेश के विरुद्ध अपना आक्रोश व्यक्त किया और दोटूक कहा कि व्यापारियों को मजबूरन आदेशों को पालन न करने पर विवश होना पड़ेगा। सरकार खुद कोविड के 1000 व 500 से नीचे दैनिक मामले आने पर कोविड कर्फ्यू हटाने के अपने बयान से पलट गई है। इस बात की भी कठोर निंदा की गई कि मदिरा की दुकानों को सप्ताह में तीन दिन और कपड़े और अन्य को एक दिन खोलने का निर्णय आम व्यापारी वर्ग के साथ ना केवल घोर नाइंसाफी बल्कि जले पर नमक छिड़कने वाला हैं। उन्होंने डीएम के समक्ष पूरी मजबूरी से कहा कि अगर मदिरा की दुकानों को तीन दिन खोला जा सकता है तो 5 सप्ताह बाद आम व्यापारी भी उतनी ही राहत का हकदार है। इस दौरान डीएम श्री गर्ब्याल ने शिष्ट मंडल को आश्वासन दिया कि वह शासन तक व्यापारियों की नाराजगी और सभी परेशानियों को अपने स्तर से पहुंचाऐंगे। शिष्टमंडल में तरुण कांडपाल, शिवशंकर मजूमदार, अमनप्रीत सिंह, जुनैद अहमद, हरीश जोशी व तन्मय कांडपाल शामिल रहे।

व्यापारी भीख मांगकर जताएंगे विरोध
नैनीताल। मल्लीताल में प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल मल्लीताल के पदाधिकारियों व अन्य व्यापारियों ने सड़क पर उतरकर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। व्यापारियों ने ऐलान किया कि मंगलवार को सभी व्यापारी मल्लीताल रिक्शा स्टैंड के समीप भीख मांग कर विरोध जताएंगे। इस दौरान व्यापारियों ने लाकडाउन बढ़ाये जाने पर रोष जताते हुए मल्लीताल राम सेवक सभा प्रांगण से बड़ा बाजार, गोलघर होते हुए जयलाल साह बाजार तक जुलूस निकाला, और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। प्रदर्शन करने वालों में व्यापार मंडल अध्यक्ष किशन नेगी, सचिव त्रिभुवन फर्त्याल सहित राजेश वर्मा, मो. रईस खान, भारती कैड़ा, परीक्षित साह, सिद्धार्थ क्षेत्री, आनंद खंपा, पान सिंह खम्पा, गिरीश जोशी व अनुराग साह सहित बड़ी संख्या में व्यवसायी शामिल रहे। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

व्यापारियों ने दिया धरना, सीएम को भिजवाया ज्ञापन
नैनीताल में लॉकडाउन बढ़ाने के विरोध में उतरे व्यापारी, एसडीएम को सौंपा ज्ञापननैनीताल। नगर के तल्लीताल गांधी मूर्ति पर प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल की तल्लीताल इकाई के सदस्यों ने कोविड कर्फ्यू के चौथे चरण में आम व्यापारियों को राहत न मिलने का आरोप लगाते हुए धरना-प्रदर्शन किया। अध्यक्ष मारुति नंदन साह व महामंत्री अमनदीप सिंह की अगुवाई में हुए प्रदर्शन के बाद मुख्यमंत्री को ज्ञापन भी भेजा गया। ज्ञापन में व्यापारियों की व्यथा को समझकर व्यापार के अनुकूल निर्णय लेने का आग्रह करते हुए कहा गया है कि कोविड-19 की वैश्विक महामारी के इस दौर में प्रदेश में संक्रमण की दर व संख्या दिन प्रतिदिन घट और स्वस्थ संक्रमितों की संख्या बढ़ती जा रही है। इसके बाद भी कोविड कर्फ्यू एक सप्ताह के लिए बढ़ाया गया है। इससे खासकर गैर आवश्यकीय श्रेणी के व्यापारी वर्ग व्यापारिक गतिविधियां न होने से दयनीय स्थिति में पहुंच गया है। जबकि गत वर्ष के विपरीत ऑनलाइन बिक्री की व्यवस्था चालू है। यह भी कहा गया है कि राशन, दूध-डेयरी आदि की दुकानें कम समय के लिए खुलने से संक्रमण का खतरा अधिक है, इसलिए अधिक समय दिया जाना चाहिए। इस मौके पर व्यापार मंडल के उपाध्यक्ष नासिर खान, महिला उपाध्यक्ष ममता जोशी, महामंत्री अमनदीप आनंद, उपसचिव जयंत उप्रेती, कोषाध्यक्ष हरीश कुमार, सुखदीप आनंद, कमल कुमार, हाजी शमशाद, विक्की राठौर, राजेंद्र मनराल आयुष भंडारी, राजेंद्र मेहरा, वसीम कुरैशी, शमी कुरैशी, मोहम्मद अकरम, सोनू, मोहम्मद रिहान, अंचल पंत, आरती बिष्ट, मयंक शाह, गुड्डू खान, मोहम्मद दानिश, मोहम्मद ताज आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़ें : शुक्रवार को उत्तराखंड में पूर्वाह्न 7 से 12 बजे तक खुली रहेंगी राशन व स्टेशनरी की दुकानें

नवीन समाचार, नैनीताल, 20 मई 2021। प्रदेश के मुख्य सचिव ने बृहस्पतिवार अपराह्न राज्य में शुक्रवार 21 मई को कोविड कर्फ्यू के दौरान राशन की दुकानें व जनरल स्टोर सुबह 7 से 12 बजे तक खुले रखने के आदेश जारी किए हैं। इस आदेश के क्रम में एसडीएम प्रतीक जैन ने बताया कि शुक्रवार को सुबह 7 से 12 बजे तक जिला मुख्यालय में भी राशन की दुकानें खुली रहेंगी। वहीं डीएम धीराज गर्ब्याल ने शुक्रवार को जनपद में सुबह सात से 12 बजे तक स्टेशनरी यानी कॉपी-किताब की दुकानें भी खुली रखने के आदेश जारी किए हैं। 

यह भी पढ़ें : नैनीताल में राशन व जरूरी सामान की आपूर्ति के लिए 56 प्रतिष्ठान अधिकृत, शेष के खिलाफ होगी कार्रवाई….

नवीन समाचार, नैनीताल, 12 मई 2021। नैनीताल जिला प्रशासन ने जिला मुख्यालय में दैनिक जरूरी सामान एवं राशन की होम डिलीवरी करने की व्यवस्था कर दी है। इस हेतु नगर के विभिन्न क्षेत्रों की 56 दुकानों को अधिकृत किया गया है। संयुक्त मजिस्ट्रेट प्रतीक जैन की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि यह प्रतिष्ठान प्रतिदिन सुबह 10 से अपराह्न एक बजे तक सामान की कीमत के साथ न्यूनतम डिलीवरी चार्ज लेकर घर पर राशन की आपूर्ति कराएंगे। इनके अतिरिक्त अन्य किसी भी व्यक्ति के द्वारा होम डिलीवरी किए जाने पर उसके खिलाफ विधिक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। बताया गया है कि होम डिलीवरी कर सकने योग्य दुकानों से नाम मांगे गए थे, जिन लोगों ने नाम दिए, उनके नाम सूची में शामिल किए गए हैं।
देखें निश्चित की गई 56 दुकानों की सूची व संयुक्त मजिस्ट्रेट का आदेश : Nainital_Ration Shops_ Home Delivery_Order

नैनीताल के होम डिलीवरी वाले समस्त प्रतिष्ठानों की सूची इस लिंक पर भी देखी जा सकती है :https://www.mynainital.in/

इस वेबसाइट पर शादी के लिए अनुमति, उत्तराखंड में अथवा उत्तराखंड से आने-जाने के लिए, कोरोना योद्धा के रूप में स्वयं को स्वयं सेवक के रूप में पंजीकृत कराया जा सकता है तथा लेटेस्ट कोरोना गाइडलाइन जानी जा सकती है।

यह भी पढ़ें : बाजार बंदी का समय बढ़ाने की मांग, कहा-कम समय से बढ़ेगा कोरोना संक्रमण का खतरा..

नवीन समाचार, नैनीताल, 21 अप्रैल 2021। नगर के व्यपारिक संगठन मां नयना देवी व्यापार मंडल ने मुख्य सचिव के दवाइयाँ और पेट्रोल पम्प के अलावा दिन में दो बजे से बाजारों की पूर्ण बंदी के आदेश को संशोधित करने की मांग की है। मांग की गई है। बाजार बंदी का समय अपराह्न दो बजे की शाम पांच बजे किया जाए। संगठन के संस्थापक अध्यक्ष पुनीत टंडन ने इस संबंध में मुख्यमंत्री के सचिव को भेजे पत्र में कहा है कि दो बजे का समय दुकानदारों के साथ ही रेस्टोेरेंटों के लिए सहज व संभव नहीं है, और एक तरह से लॉकडाउन ही है।
इसलिए आर्थिक गतिविधियों और व्यापारी वर्ग की निरंतरता बनी रहे, साथ ही वे स्वयं को किसी भी मानसिक तनाव या परेशानी से बचा सकें, के लिए ऐसा करना बेहद जरूरी है। इस प्रकार के दो बजे के समय से व्यापारी स्वयं को असहाय महसूस पाते हैं और मानसिक रूप से बेहद दबाव महसूस कर रहें हैं। प्रदेश शासन का भी यह दायित्व है कि वर्तमान हालत में सभी प्रदेश वासियों, खासकर व्यापारी वर्ग को किसी प्रकार की मानसिक तनाव का सामना ना कराए।

कम समय से बढ़ेगा कोरोना संक्रमण का खतरा
इसी तरह प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल की तल्लीताल नैनीताल इकाई के अध्यक्ष मारुति नंदन साह की ओर से डीएम धीराज गर्ब्याल को ज्ञापन सोंपकर कहा है कि अपराह्न दो बजे से बाजार बंदी व्यवहारिक तौर पर संभव नहीं है। अभी व्यापारी पिछले वर्ष के लॉकडाउन से ही नहीं उबर पाए हैं। यह भी कहा है कि व्यापारिक गतिविधियों के लिए समयसीमा कम होने से बाजारांे में ग्राहकों की अधिक भीड़ होगी, इससे कोरोना का संक्रमण और अधिक बढ़ सकता है। इसलिए बाजार बंदी का समय सात बजे रात्रि कर्फ्यू के साथ ही शाम होना चाहिए।

यह भी पढ़ें : नैनीताल कैमिस्ट एसोसिएशन के चंदन अध्यक्ष व अमरप्रीत महामंत्री निर्वाचित

नवीन समाचार, नैनीताल, 07 मार्च 2021। रविवार को उत्तरांचल औषधि व्यवसायी महासंघ से संबद्ध नैनीताल कैमिस्ट एसोसिएशन के चुनाव बोट हाउस क्लब में आयोजित हुए। प्रदेश उपाध्यक्ष नीरज कांडपाल, संरक्षक नरेश साहनी, जिलाध्यक्ष प्रेम मदान व उपाध्यक्ष मनोज जोशी की उपस्थिति एवं चुनाव अधिकारी संजय जैन की देखरेज में हुए चुनाव में सर्वसम्मति से मुकुल गंगोला को संरक्षक, हिमानी मेडिकोज के चंदन बिष्ट को अध्यक्ष, संतोष तिवाड़ी को उपाध्यक्ष, अमरप्रीत सिंह को महामंत्री, जीवन करगेती को कोषाध्यक्ष व धीरज साह को संगठन मंत्री निर्वाचित किया गया। नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को वरिष्ठ नेताओं ने बधाई एवं शुभकामनाएं दीं।

यह भी पढ़ें : अब मल्लीताल व्यापार मंडल भी आया आंदोलन की राह पर…

-पानी के बढ़े बिलों के विरोध में किया प्रदर्शननवीन समाचार, नैनीताल, 16 फरवरी 2021। नगर का मल्लीताल व्यापार मंडल भी कार्यकारिणी के विस्तार के साथ सक्रिय होता नजर आ रहा है। मंगलवार को व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने अध्यक्ष किशन नेगी के नेतृत्व में पानी के बढ़ेे बिलों के विरोध में मल्लीताल बड़ा बाजार के चौक पर उत्तराखंड जल संस्थान के खिलाफ प्रदर्शन किया।
उनका कहना था कि कोरोना काल में पानी का उपयोग न होने के बावजूद आम लोगों एवं व्यापारिक प्रतिष्ठानों के पानी के बिल काफी बड़ी धनराशि के आ रहे हैं। इस कारण लॉक डाउन की वजह से पहले ही खराब आर्थिक स्थिति झेल रहे लोगों पर पानी के बड़े बिल भारी पड़ रहे हैं। इस दौरान कहा कि अगर जल्द पानी के बड़े हुए बिलों में कटौती नही की गई तो आंदोलन को और तेज किया जाएगा। प्रदर्शन में व्यापार मंडल के महासचिव त्रिभुवन फर्त्याल, उपाध्यक्ष रहीश खान, महिला उपाध्यक्ष भारती कैड़ा, उपसचिव परीक्षित साह, कोषाध्यक्ष सिद्धार्थ छेत्री व उपाध्यक्ष राजेश वर्मा आदि व्यापारी शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : मल्लीताल व्यापार मंडल में रुचिर बने संगठन मंत्री, दर्जनों अन्य को भी मिलीं जिम्मेदारियां

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 फरवरी 2021। मल्लीताल व्यापार मंडल के द्वारा रविवार को बैठक आयोजित कर व्यापारियों को विभिन्न पदों पर मनोनीत कर जिम्मेदारियां दी गयीं।
मल्लीताल व्यापार मंडल के नव नियुक्त पदाधिकारी।

शंकर दत्त जोशी, हरप्रीत सिंह, अहमद सिद्दीकी, आनंद खम्पा व पेमा गेकिल शिथार को संरक्षक, रुचिर साह को संगठन मंत्री, सुनील बोरा व प्रकाश पांडे को मीडिया प्रभारी, सैयद नदीम मून व निखिल बिष्ट को विधि प्रकोष्ठ प्रभारी, मोहन नेगी को विशेष आमंत्रित सदस्य तथा भारती साह, राजन आर्या, रीता जोशी, दीवान ढैला, गुरू, गुड्डू-वसी, हिमांशु जोशी, गौरव बिष्ट, अरशी जमाल सिद्दीकी, अतुल पाल, प्रकाश भट्ट, श्याम, हारून खान, अनिल ठाकुर, संजय चौधरी, उमाशंकर मिश्रा, रमन कुमार, शैलेश बिष्ट, कनक प्रभात, धीरज नेगी, कमलेश ढोंढियाल, प्रियंका चौरसिया, दत्ता बाबू, सनी अतरूस, जितेंद्र सिंह, आरती अग्रवाल, अनुज साह, भगवान कुंवर, राज साह, रीता जोशी व विक्रम रावत को कार्यकारिणी सदस्य मनोनीत किया गया है।

यह भी पढ़ें : बर्ड फ्लू के भय से आधे हुए अंडा-मुर्गे के खरीददार, फिर भी कीमतें शीर्ष पर

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 जनवरी 2021। देश-प्रदेश में फैले ‘बर्ड फ्लू’ के भय से जिला-मंडल मुख्यालय में अंडे और मुर्गे के खरीददार तो पहले के मुकाबले आधे हो गए हैं। फिर भी अंडा व मुर्गी की कीमतें स्थिर एवं अपने अब तक के सर्वोच्च स्तर पर बनी हुई हैं। इसका कारण पिछले दिनों कोरोना विषाणु के दौर में छोटे उत्पादकों का इस कारोबार से हट जाना व सीमित उत्पादक ही रह जाना बताया जा रहा है।
उल्लेखनीय है कि नगर में अंडे की 30 अंडों की क्रेट पिछले सप्ताह अब तक के सर्वाधिक 200 रुपए और मुर्गा 240 रुपए प्रति किग्रा तक चढ़ गई थी, जो कि कमोबेश स्थिर बनी हुई है। नगर अंडा-मुर्गा विक्रेता जाकिर हसन व अतुल पाल ने बीते एक सप्ताह में इन दोनों की आपूर्ति में 40 से 50 फीसद तक की गिरावट होने की बात कही, लेकिन इसके बावजूद इनकी कीमतों में अपेक्षित कमी नहीं आई है, बल्कि अगले कुछ दिनों में कीमतें और बढ़ने की संभावना जताई जा रही है। यदि बर्ड फ्लू का प्रभाव बढ़ता है प्रभाव घटने के बावजूद कीमतें अधिक बढ़ सकती है। इसका कारण यह है कि कोरोना काल के बाद से ही खास कर मुर्गे की आपूर्ति काफी घट गई है। क्योंकि कोरोना काल में कई छोटे मुर्गा उत्पादक अपने पॉल्ट्री फार्म बंद कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें : मल्लीताल व्यापार मंडल के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों का हुआ शपथ ग्रहण, अधिकारियों पर घूसखोरी के आरोप, विधायक ने कहा ‘मैं पीछे पड़ूंगा’

-पूर्व पदाधिकारियों को भी सम्मानित किया, काबीना मंत्री यशपाल आर्य व विधायक संजीव आर्य भी मौजूद रहे

नवीन समाचार, नैनीताल, 09 जनवरी 2021। व्यापार मंडल मल्लीताल के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को शनिवार को प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष नवीन वर्मा के द्वारा एक कार्यक्रम में शपथ दिलाई गई। इस दौरान काबीना मंत्री यशपाल आर्य व विधायक संजीव आर्य की मौजूदगी में पूर्व पदाधिकारियों को भी सम्मानित किया गया। मल्लीताल रामसेवक सभा में आयोजित कार्यक्रम में श्री वर्मा ने राज्य के व्यापारियों को कोरोना काल के दौरान के बिजली व पानी आदि के बिलों पर सरचार्ज तथा ब्याज पर ब्याज की छूट देने की मांग उठाई। इस दौरान अध्यक्ष किशन नेगी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष राजेश वर्मा, कनिष्ठ उपाध्यक्ष रईश खान, महिला उपाध्यक्ष भारती कैड़ा, सचिव त्रिभुवन फर्त्याल, उपसचिव परीक्षित साह व कोषाध्यक्ष सिद्धार्थ क्षेत्री को शपथ दिलाई गई। इस दौरान तिब्बती शरणार्थी संगठन की ओर से पीजी शिथर ने सभी मंचासीन अतिथियों को पवित्र अंगवस्त्र भेंट किये। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि यशपाल आर्य ने नैनीताल की वैश्विक पहचान बताते हुए नवनिर्वाचित पदाधिकारियों से उन्हें मिली जिम्मेदारी का निर्वाह करने को कहा। कार्यक्रम में भवाली के नगर पालिका अध्यक्ष संजय वर्मा, नैनीताल पालिका के सभासद राजू टांक, कैलाश रौतेला, भगवत रावत, मोहन नेगी व राहुल पुजारी, प्रांतीय व्यापारी नेता जगदीश बवाड़ी, जिलाध्यक्ष विपिन गुप्ता, महिला जिलाध्यक्ष कुसुम दिगारी, दिनेश साह, वेद साह, अमित साह, सैयद नदीम मून, रवैल सिंह आनंद, बहादुर बिष्ट व कमलेश ढौंढियाल आदि मौजूद रहे।

अध्यक्ष ने लगाए विभागों पर भ्रष्टाचार के आरोप, विधायक ने कहा ‘मैं पीछे पड़ूंगा’
नवनिर्वाचित अध्यक्ष किशन नेगी ने जल संस्थान, विद्युत विभाग, जिला विकास प्राधिकरण व एसएसएसआई से जुड़े अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए। कहा कि, जल संस्थान जो आएंगे उनका बिल ठीक करने को कह रहा है। इससे लगता है उनके कोई कायदे-कानून नहीं हैं। कहा कि, प्राधिकरण को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के कहे अनुसार समाप्त ही हो जाना चाहिए। साथ ही नगर के दोनों फूड इंस्पेक्टरों पर फूड लाइसेंस के लिए 10-10 हजार रुपए घूस लेने का सार्वजनिक तौर पर आरोप भी लगाया। उन्होंने कहा कि अधिक समस्याएं बताएंगे तो विधायक कहेंगे, कि ‘पीछे ही पड़ गए’ इस पर अपने संबोधन में विधायक संजीव आर्य ने भी चुटकी लेते हुए कहा कि अब वह अध्यक्ष के ‘पीछे पड़ेंगे’। जैसा-जैसा अध्यक्ष कहेंगे, उनके साथ पीछे से चलेंगे और समस्याओं का समाधान कराएंगे। उन्होंने 89 करोड़ रुपए खर्च कर एडीबी द्वारा बनाई गई नगर की पेयजल लाइनों को धन का दुरुपयोग भी करार दिया।

राम लीला मैदान की छत को 10 लाख तथा बाजारों के गेट बनाने की घोषणा
नैनीताल। कार्यक्रम के दौरान विधायक संजीव आर्य ने तल्लीताल बाजार की तरह मल्लीताल बाजार और तिब्बती मार्केट के लिए भव्य गेट बनाने की घोषणा की। साथ ही सांसद निधि व विधायक निधि के पांच-पांच लाख रुपयों से रामलीला मैदान के ऊपर होली से पहले छत डालने की घोषणा भी की। साथ ही सीजन से पहले नारायणनगर में केंद्र सरकार से स्वीकृत 25 बीघा जमीन पर शौचालय जैसी बुनियादी सुविधाएं पूरी करने और नगर के सीवर ट्रीटमेंट प्लांट के लिए मार्च माह तक निविदा प्रक्रिया और अप्रैल माह तक इसे धरातल पर उतारने की बात भी कही।

यह भी पढ़ें : नवनिर्वाचित तल्लीताल व्यापार मंडल ने ग्रहण की शपथ, गैर राजनीतिक मंच से भी छुप न पाई राजनीति…

-प्रदेश के काबीना मंत्री यशपाल आर्य, विधायक संजीव आर्य, पूर्व सांसद डा. महेंद्र पाल भी रहे मौजूद

व्यापार मंडल तल्लीताल के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को काबीना मंत्री की उपस्थिति में शपथ दिलाते प्रदेश अध्यक्ष नवीन वर्मा।

नवीन समाचार, नैनीताल, 10 दिसम्बर 2020। नगर की नवनिर्वाचित तल्लीताल व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने बृहस्पतिवार को एक बड़े कार्यक्रम में शपथ ग्रहण की और कार्यभार संभाला। प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष नवीन वर्मा ने अध्यक्ष मारुति नंदन साह, महामंत्री अमनदीप सिंह ‘सनी’, उपाध्यक्ष नासिर खान, महिला उपाध्यक्ष ममता जोशी, कोषाध्यक्ष हरीश लाल एवं उपसचिव जयंत उप्रेती को प्रदेश के काबीना मंत्री यशपाल आर्य, विधायक संजीव आर्य, पूर्व सांसद डा. महेंद्र पाल व ब्लॉक प्रमुख डा. हरीश बिष्ट की मौजूदगी में शपथ दिलाई। निवर्तमान कार्यकारिणी के अध्यक्ष भुवन लाल साह एवं अन्य पदाधिकारियों ने भी सौहार्दपूर्ण माहौल में नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को बधाई दी।
तल्लीताल बाजार में आयोजित कार्यक्रम में नवनियुक्त अध्यक्ष मारुति नंदन साह ने बिजली-पानी के बिलों के अधिक आने, बलियानाला क्षेत्र में ध्वस्त हुए कृष्णापुर के लिए व श्मशान घाट के लिए सड़क के निर्माण तथा तल्लीताल में खाली पड़े स्कूलों की जगह पर पार्किंग निर्माण की मांग रखी। महासचिव सनी ने भरोसा जताया कि व्यापारी हित में कार्य करेंगे। प्रदेश अध्यक्ष नवीन वर्मा ने कोरोना काल में व्यापारियांे को हुए नुकसान को देखते हुए सरकार से ब्याज पर ब्याज न लेने की अपील की। मुख्य अतिथि काबीना मंत्री यशपाल आर्य ने तल्लीताल में पार्किंग की समस्या को दूर करने का आश्वासन दिया। विधायक संजीव आर्य ने सभी मांगों पर बिंदुवार जवाब दिए। इस दौरान अतिथियों एवं पदाधिकारियों का पुष्पगुच्छों से स्वागत एवं प्रतीक चिन्ह भेंटकर अभिनंदन किया गया। कार्यक्रम में दायित्वधारी पीसी गोरखा, कुसुम दिगारी, विपिन कांडपाल, रवैल सिंह आनंद, ईशा साह, डा. सरस्वती खेतवाल, नीलू एल्हेंस, मुन्नी तिवारी, शांति मेहरा, यूनुस सलमानी, सैयद नदीम मून, सभासद रेखा आर्य, गजाला कमाल, कुंदन बिष्ट, रुचिर साह, विक्की राठौर सहित बड़ी संख्या में अन्य लोग मौजूद रहे।

भाजपा-कांग्रेस के पदाधिकारी एक मंच पर आए, राजनीतिक बातें भी हुईं
नैनीताल। व्यापार मंडल का मंच हालांकि गैर राजनीतिक होता है, किंतु चुनावों से लेकर शपथ ग्रहण समारोह तक राजनीतिक बातें होती रहीं। नवनिर्वाचित अध्यक्ष मारुति नंदन साह ने भी दोनों दलों के कार्यकर्ताओं का उल्लेख करते हुए स्वागत किया। मंच पर भाजपा सरकार के काबीना मंत्री यशपाल आर्य व भाजपा विधायक संजीव आर्य के साथ पूर्व जनता दल व कांग्रेस सांसद डा. महेंद्र पाल साथ बैठे। कार्यक्रम में नगर पालिका अध्यक्ष सचिन नेगी को भी आमंत्रित किया गया था, पर वह देहरादून गए होने की वजह से कार्यक्रम में उपस्थित नहीं हुए। हालांकि इस मुद्दे पर भी लोग खूब चर्चा करते दिखे।
वहीं काबीना मंत्री यशपाल आर्य का संबोधन पुत्र संजीव को नैनीताल वासियों द्वारा जिताने के उल्लेख से शुरू होकर उनके कार्यों का बखान करने के साथ उन पर आगे भी विश्वास बनाने रखने के संदेश तक गया। उन्होंने इस कार्यकाल में हुए कार्यों का जिक्र करते हुए पूर्व में यह कार्य न होने के लिए संबंधितों से जवाब मांगने को भी कहा। वहीं राजनीतिक बातें होने को लेकर राजनीतिक निहितार्थ भी निकाले जाते रहे। मल्लीताल व्यापार मंडल चुनाव के संभावित प्रत्याशी भी काबीना मंत्री एवं विधायक का आशीर्वाद लेने पहुंचे और उन्हें जीत का भरोसा व आशीर्वाद भी मिला। संचालन जिला महामंत्री हर्षवर्धन पांडे व महेश तिवारी ने किया।

महिला उपाध्यक्ष की दोनों पदाधिकारियों को महिला मोर्चा में पदाधिकारी बनाया
नैनीताल। कार्यक्रम में मौजूद व्यापार मंडल की महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष कुसुम दिगारी ने व्यापार मंडल चुनाव में महिला उपाध्यक्ष पद पर विजयी रही ममता जोशी को नगर की महिला शाखा की संयोजक एवं पराजित रहीं आरती बिष्ट को उपाध्यक्ष नियुक्त किया। साथ ही उनसे नगर में महिला व्यवसायियों को संगठन से जोड़ने व प्रोत्साहित करने को भी कहा।

यह भी पढ़ें : तल्लीताल व्यापार मंडल के चुनाव परिणाम घोषित, अध्यक्ष मारुति नंदन साह व महासचिव अमनदीप सिंह बने..

नवीन समाचार, नैनीताल, 29 नवम्बर 2020। तल्लीताल व्यापार मंडल के चुनाव के परिणाम आ गए हैं। अध्यक्ष पद पर मारुति नंदन साह 63 वोटों से, उपाध्यक्ष पद पर नासिर खान 10 वोटों से, महिला उपाध्यक्ष पद पर ममता जोशी 179 वोटों से व महासचिव पद पर अमनदीप सिंह 10 वोट से विजयी रहे। वहीं कोषाध्यक्ष पद पर हरीश लाल एवं उप सचिव पद पर जयंती उप्रेती विजयी रहे। प्राप्त चुनाव परिणामों के अनुसार अध्यक्ष पद पर मारुति नंदन साह को 236 व मनोज साह को 173 वोट मिले। इसी तरह उपाध्यक्ष पद पर राजेंद्र सिंह मनराल को 120, नासिर खान को 131, विक्रम राठौर को 101 व सुमित साह को 37, महिला उपाध्यक्ष में ममता जोशी को 292 व आरती बिष्ट को 113, महासचिव पद पर अमनदीप सिंह को 205 व हेमंत रुवाली को 195, उपसचिव मो रिहान को 84, पंकज राठौर को 50, कनक साह को 93, जयंती उप्रेती को 159, कोषाध्यक्ष पद में हरीश लाल को 188, मयंक साह को 130 व सुरेंद्र चंद्र सिंह को 73 मत मिले।
उद्योग व्यापार मंडल तल्लीताल मारुति नंदन अध्यक्ष बने, अमनदीप महासचिव चुने गए

इससे पहले सुबह साढ़े नौ बजे से साढ़े तीन बजे तक हुए मतदान में कुल 431 सदस्यों में से 415 यानी 96 फीसद से अधिक मतदाताओं ने मतदान किया। अध्यक्ष पद पर शुरू से चुनाव परिणाम एकतरफा पूर्व अध्यक्ष मारुति नंदन साह के पक्ष में नजर आए। यही स्थिति महिला उपाध्यक्ष पद पर ममता जोशी के साथ भी रही। जबकि प्रतिष्ठा के दूसरे महत्वपूर्ण महासचिव पद पर दोनों प्रत्याशियों के बीच कांटे का संघर्ष देखने को मिला। दोनों प्रत्याशी शुरुआती चरणों में कभी एक तो कभी दूसरा कुछ मतों से ही आगे-पीछे होते रहे। उल्लेखनीय है कि मारुति नंदन साह कांग्रेस पार्टी के पूर्व नगर अध्यक्ष भी रहे हैं। उनकी जीत पर कांग्रेस पार्टी के नगर मीडिया प्रभारी कैलाश मिश्रा सहित अन्य लोगों ने बधाई दी है। सोशल मीडिया पर उन्हें बधाई देने का सिलसिला शुरू हो गया है। वहीं महासचिव पद पर विजयी रहे अमनदीप सिंह ‘सन्नी’ को भी लगातार बधाइयां मिल रही हैं।

यह भी पढ़ें : भीमताल व्यापार मंडल के चुनाव परिणाम घोषित.. दूसरी बार जीते प्रत्याशी

-दूसरी बार सौरभ रौतेला बने अध्यक्ष व हिमांशु रौतेला उपाध्यक्ष,
नवीन समाचार, भीमताल, 23 नवम्बर 2020। भीमताल प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल की कार्यकारिणी के लिये सोमवार को रामलीला मैदान में मतदान हुआ। पुलिस सुरक्षा के मध्य हुए मतदान में सौरभ रौतेला ने दोबारा अध्यक्ष पद पर बाजी मारी। उन्होंने अपने निकटतम उम्मीदवार मनोज दुर्गापाल को 113 मतों से पराजित किया। सौरभ रौतेला को 385 मत मिले जब कि मनोज दुर्गापाल को 272 मतों से संतुष्ट होना पड़ा। वहीं इसी पद पर अखिलेश सेमवाल अक्की को 44 मत मिले। उपाध्यक्ष पद पर हिमांशु रौतेला दूसरी बार जीत गए। उन्होंने अपने निकटतम उम्मीदवार को ललित पोखरिया 127 मतों के अंतर से पराजित किया। हिमांशु को 391और ललित पोखरिया 264 मत मिले। जबकि तीसरे उम्मीदवार पदम सिंह कुल्याल को 35 मतों पर संतुष्ट होना पड़ा। उपसचिव पद पर कांटे की टक्कर रही। इस पद पर मनीष कुमार विजयी हुए। मनीष कुमार ने अपने निकटतम उम्मीदवार आशीष पाठक को 18 मतों के अंतर से पराजित किया। मनीष को 348 और आशीष पाठक 330 मत मिले। महिला उपाध्यक्ष पद पर मुक्ता खड़का महामंत्री पद पर पवन जोशी और कोषाध्यक्ष पद पर मोहित श्रीवास्तव पूर्व में ही निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं। चुनाव कराने करने के लिये जिला निर्वाचन अधिकारी रवेल सिंह आनंद, मुख्य चुनाव अधिकारी राम पाल सिंह गंगोला ,सहायक चुनाव अधिकारी पंकज जोशी, मुख्य चुनाव संयोजक प्रवीण पटवाल, उप संयोजक पंकज उप्रेती, मुख्य व्यवस्थापक चंदन नौगाई, चुनाव संरक्षक कुर्बान अली जाफरी व नवीन चंद्र आर्य, नीरज रैकुनी, थानाध्यक्ष कैलाश चंद्र जोशी आदि उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें : नैनीताल सब्जी मंडी में सब्जियों पर बनी बात… ढाई किलो से कम भी मिल सकेंगी सब्जियां

नवीन समाचार, नैनीताल, 15 अक्टूबर 2020। पिछले कुछ दिनों से नगर की मल्लीताल स्थित सब्जी मंडी में आढ़ितयों ने स्थानीयों जनता को ढाई किलो से कम सब्जियां देने से इंकार कर दिया था। इस कारण नगर की जनता को परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। इस समस्या का बृहस्पतिवार को समाधान हो गया है। समस्या का संज्ञान लेते हुए जिला, नगर और पुलिस प्रशासन की संयुक्त टीम ने बृहस्पतिवार को मल्लीताल सब्जी मंडी पहुंच कर आढ़तियों के साथ वार्ता की और उन्हें निर्देशित किया था कि वे गरीब जनता की परेशानी का ध्यान रखते हुए कम मात्रा में भी सब्जियां बेचें। इसके साथ ही आज सभी आढ़तियों ने एसडीएम विनोद कुमार से भी वार्ता की। आढ़तियों ने कहा कि कम सब्जियां न देने के निर्णय से उनका कोई लेना-देना नहीं है। उन्हें कम मात्रा में सब्जियां देने में कोई समस्या नहीं है। एसडीएम कुमार ने बताया कि आढ़तियों ने कम मात्रा में भी ग्राहकों को सब्जियां बेचने पर अपनी सहमति जता दी है। अब मंडी में ग्राहकों को परेशानियों का सामना नही करना पड़ेगा। साथ ही उन्होंने कहा कि फुटपाथ पर अतिक्रमण के संबंध मंे नगर पालिका अपना काम करेगी। नगर पालिका को पहले ही निर्देशित किया गया है।

यह भी पढ़ें : आढ़तियों पर उल्टा पड़ा ढाई किलो से अधिक सब्जी खरीदने का फरमान, अब 3 दिन का अल्टीमेटम..

नवीन समाचार, नैनीताल, 12 अक्टूबर 2020। नगर के मल्लीताल बाजार के आढ़तियों ने सामाजिक दूरी बनाने की आढ़ में रविवार से आम लोगों के लिए कम से कम ढाई किलो सब्जी, हरी सब्जी, धनिया या पालक की कम से कम 10 गड्डियां और अदरक, लहसुन जैसी सामग्री कम से कम एक किलो खरीदने का स्वयं एकतरफा नियम बनाकर लागू कर दिया था। यह नियम बनाना आढ़तियों पर भारी पड़ा है। इस मामले में शिकायत मिलने पर एसडीएम विनोद कुमार ने तहसीलदार, पूर्ति निरीक्षक और पालिका के ईओ की तीन सदस्यीय जांच टीम गठित कर दी थी। अब जांच टीम की जांच में अनेक आढ़ती ऐसे निकले, जिनका नगर पालिका में पंजीकरण ही नहीं है। यानी वे खुद नियमों का पालन किये बिना सड़क पर अतिक्रमण कर सब्जियां बेच रहे थे और दूसरों को परेशान करने के लिए ऊल-जुलूल नियम बना रहे थे। अब प्रशासन ने उन्हें तीन दिन के भीतर नगर पालिका में अपना पंजीकरण कराने की चेतावनी दी है। अन्यथा व सब्जियां ही नहीं बेच पाएंगे। खासकर फुटपाथ पर सब्जियां नहीं बेची जाएंगी।
उल्लेखनीय है कि नगर की सब्जी मंडी में सस्ती सब्जियां बेचना कभी भी नगर के खासकर सब्जी विक्रेताओं को नहीं भाता है। क्योंकि इससे लोग उनकी दुकानों पर सब्जियां खरीदने के लिए डेढ़ से दोगुनी दरों पर लुटने नहीं जा पाते हैं। नगर की सब्जी की दुकानों पर यह आरोप भी आमतौर पर लगते हैं कि वे सब्जियां बासी होने पर भी सब्जियां गरीबों के लिए भी सस्ती करते। अलबत्ता, सड़ जाने पर सड़क पर फेंक देते हैं।

यह भी पढ़ें : वाणिज्य कर विभाग के अधिकारियों पर 10 हजार करोड़ रुपए की कर चोरी का आरोप लगाने वाले याचिका पर हाईकोर्ट ने लगाया 1 लाख का जुर्माना, याचिका खारिज

नवीन समाचार, नैनीताल, 19 अगस्त 2020। उत्तराखंड हाईकोर्ट ने वाणिज्य कर विभाग के अधिकारियों द्वारा करोड़ों रुपये की कर चोरी करने की जांच सीबीआई से कराने की मांग को लेकर दायर जनहित याचिका को खारिज करते हुए याचिका में गलत तथ्य पेश करने पर याचिकाकर्ता पर एक लाख रुपए का जुर्माना लगाया है। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2018 में भी याचिकाकर्ता से न्यायालय ने एक लाख रुपए जमा करवाए थे।
मामले के अनुसार वर्ष 2017 में रुड़की निवासी धर्मेंद्र सिंह ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर कर कहा था कि वाणिज्य कर विभाग के अधिकारियों द्वारा बड़े उद्योगपतियों के साथ सांठ-गांठ कर सालाना दस हजार करोड़ की कर चोरी की जा रही है। इस मामले की शिकायत करने पर राज्य कर आयुक्त ने कुछ अधिकारियों को नोटिस भेजे। लेकिन उनके खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की गई। याचिका में वित्त सचिव अमित नेगी व कई वरिष्ठ अधिकारियों सहित कुल 47 पक्षकार बनाये गये थे। बुधवार को इस याचिका की वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति रवि मलिमथ व न्यायमूर्ति एनएस धानिक की खण्डपीठ में सुनवाई हुई। खण्डपीठ ने याचिका को तथ्यहीन मानते हुए उसे खारिज करते हुए याचिका कर्ता पर एक लाख का जुर्माना भी लगाया।

यह भी पढ़ें : भवाली के व्यापार मंडल अध्यक्ष 6 माह के लिए जिला बदर

नवीन समाचार, भवाली, 29 जुलाई 2020। भवाली नगर के व्यापार मंडल अध्यक्ष नरेश पांडे को कुमाऊँ मंडल के आयुक्त अरविंद सिंह ह्यांकी के द्वारा 6 माह के लिए जिला बदर कर दिया गया है। बताया गया है कि यह कार्रवाई उनके खिलाफ पूर्व में दर्ज कई मामलों के तहत की गई है। इस आदेश के बाद भवाली के कोतवाल आशुतोष कुमार सिंह ने नगर के कहलक्वीरा निवासी नरेश पांडे को नैनीताल जनपद से बाहर अल्मोड़ा जिले की सीमा पर क्वारब तक छोड़ दिया गया।
बताया गया है कि व्यापार मंडल अध्यक्ष नरेश पांडे के खिलाफ पूर्व से कई मामले भवाली कोतवाली में दर्ज थे, जिनके खिलाफ पांडे ने न्यायालय में अपील की थी। इधर 8 जुलाई को भी भवाली कोतवाली में पांडे के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 323, 504 व 506 के तहत मुकदमा दर्ज हुआ। इस पर उनकी अपराधिक प्रवृत्ति को देखते हुए कुमाऊँ मंडल के आयुक्त ने उन्हें 6 माह के लिए जिला बदर कर दिया है। कोतवाल आशुतोष कुमार ने बताया कि कुमाउं कमिश्नर ने अनुपालन में नरेश पाण्डे को 6 माह के लिए जिला बदर किया गया हैं।

यह भी पढ़ें : सप्ताहांत के लॉक डाउन के खिलाफ आन्दोलन को बढ़ा समर्थन

-मल्लीताल व्यापार मंडल के आन्दोलन में तल्लीताल व्यापार मंडल भी आया साथ

नवीन समाचार, नैनीताल, 28 जुलाई 2020। मल्लीताल व्यापार मंडल द्वारा सोमवार से सप्ताहांत के लॉक डाउन के खिलाफ चलाए जा रहे अंादोलन में तल्लीताल व्यापार मंडल भी मंगलवार को साथ आ गया और पूर्ण समर्थन व्यक्त किया। इस मौके पर उपस्थित व्यापारियों ने कहा कि नगर में सप्ताहांत पर ही थोड़ा-बहुत कारोबार होता है। इस दौरान बंदी से खासकर रेस्टोरेंट जैसे प्रतिष्ठान चला पाने संभव नहीं हैं, और रेस्टारेंटों से किराना से लेकर सब्जी तक कई तक के क्रियाकलाप प्रभावित हो रहे हैं, और भविष्य में रेस्टोरेंट बंद होने के साथ कई लोगांे का रोजगार भी जा सकता है। प्रदर्शन में मल्लीताल व्यापार मंडल के अध्यक्ष किशन नेगी तल्लीताल व्यापार मंडल अध्यक्ष भुवन लाल साह, जीत सिंह आनंद, विक्रम राठौर, कनक साह, हेमंत रुबाली, पुनीत टंडन, अनुज साह, पंकज टंडन, तरुण कांडपाल, कमलेश ढोंढियाल, त्रिभुवन फर्त्याल, रुचिर साह, राजेश वर्मा, कैलाश मिश्रा, साकिर अली आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : लगे ‘चाय पियो छुपके-शराब पियों खुलके’ के नारे

-मल्लीताल व्यापार मंडल ने सरकार पर तंज कसते हुए खोला मोर्चा
-मल्लीताल व्यापार मंडल ने किया विरोध प्रदर्शन, रैली निकाली, कहा-तीन दिन करते रहेंगे प्रदर्शन
नवीन समाचार, नैनीताल, 27 जुलाई 2020। मल्लीताल व्यापार मंडल ने एक बार पुनः राज्य सरकार के सप्ताहांत के दो दिवसीय लॉक डाउन एवं इस दौरान खासकर शराब की दुकानों को खोले जाने को लेकर राज्य सरकार को निशाने पर लिया। सोमवार को व्यापार मंडल ने सरकार के विरोध में मल्लीताल रामलीला मैदान में विरोध प्रदर्शन किया और मल्लीताल बाजार में रैली निकाली। इस दौरान व्यापारी नेता ‘चाय पियो छुपके-शराब पियो खुलके’, ‘लाचार व्यापारियों को सरकार क्यों मार रही लात’ और ‘व्यापारियों का शोषण बंद करो’ के नारे लिखे पोस्टर हाथों में लिये हुए थे। इन पोस्टरों के साथ उन्होंने मल्लीताल बाजार में रैली भी निकाली। आगे उन्होंने यह विरोध प्रदर्शन तीन दिन तक जारी रखने तथा चौथे दिन पूरे शहर में रैली निकालने की बात कही।

इस दौरान व्यापारी नेताओं का कहना था कि नैनीताल जैसे पर्यटन से जुड़े शहरों में सप्ताहांत पर ही कारोबार होता है। लॉक डाउन के दौरान उनका चौपट हुआ कारोबार अनलॉक की प्रक्रिया के बाद किसी तरह पटरी पर लौट रहा था, लेकिन सरकार के सप्ताहांत को लॉक डाउन घोषित की घोषणा से उनका कारोबार फिर चौपट हो गया है। सरकार जब शराब की दुकानें खोल सकती है, तो उन्हें चाय की दुकानें खोलने से क्या गुरेज हैं। प्रदर्शन में व्यापार मंडल अध्यक्ष, उपाध्यक्ष कमलेश ढोंढियाल, कैलाश मिश्रा, त्रिभुवन फर्त्याल, विवेक वर्मा, शाकिर अली, राजेश वर्मा, रुचिर साह, दिलशाद हुसैन, नब्बू खान, सुमित खन्ना, फिरोज सिद्द्ीकी आदि शामिल रहे।
उल्लेखनीय है कि मल्लीताल व्यापार मंडल ने राज्य सरकार द्वारा सप्ताहांत पर दो दिवसीय लॉक डाउन की घोषणा करने पर दूसरे सप्ताहांत लॉक डाउन का विरोध करने-अपने प्रतिष्ठान खोलने की घोषणा की थी, लेकिन दूसरे सप्ताहांत यानी शनिवार और रविवार को ऐसा कोई विरोध प्रदर्शन देखने को नहीं मिला। अलबत्ता सोमवार को वे पुनः विरोध की राह पर उतर आए।

यह भी पढ़ें : नैनीताल के व्यापारियों ने किया प्रशासन के खिलाफ खुली जंग का ऐलान

-नैनीताल के संयुक्त व्यापार मंडल ने की हर सप्ताहांत के लॉक डाउन के विरोध की घोषणा
-कहा-अगले शनिवार-रविवार रोज की तरह खोलेंगे प्रतिष्ठान, किसी भी बाधा का मिलकर करेंगे सामना
नवीन समाचार, नैनीताल, 20 जुलाई 2020। दो दिन पूर्व राज्य सरकार की सप्ताह में दो दिन-सप्ताहांत पर लॉक डाउन की घोषणा का विरोध करने वाले नैनीताल के व्यापारियों ने अब इस मामले में सरकार के समक्ष दो टूक बगावत का ऐलान करते हुए एक स्वर में कहा है कि यदि अगले सप्ताहांत भी लॉक डाउन लागू किया जाता है तो वह इसका विरोध करेंगे। कहा है कि शनिवार और रविवार को नगर के सम्पूर्ण व्यावसायिक प्रतिष्ठान अपना कड़ा विरोध दर्ज कराते हुए रोज की तरह निर्धारित समयानुसार खुलेंगे और इसकी जानकारी बाकायदा प्रदेश शासन और नैनीताल जिला प्रशासन के अधिकारियों को लिखित रूप में अवगत करायेंगे।
अपनी दो दिन पूर्व की गयी घोषणा के अनुरूप सोमवार को नगर के मल्लीताल और तल्लीताल व्यापार मंडल नैनीताल की संयुक्त आम सभा में यह फैसला किया गया। व्यापारियों ने यह ऐलान करने के साथ ही कहा कि प्रशासन से हर सप्ताहांत दो दिन के लॉक डाउन के आदेश को तुरंत बदलाव करने और धीरे धीरे व्यापार को रास्ते में आने में अपना सहयोग देने की का अनुरोध भी करेंगे। यह भी कहा कि किसी भी प्रतिष्ठान को शनिवार और रविवार को खोलने में यदि किसी प्रकार की परेशानी आती है तो संयुक्त व्यापार मंडल एकजुटता से साथ इसके विरोध में खड़े हांेगे। उन्होंने लॉक डाउन में शराब की दुकानें खुली होने और राशन की दुकानें बंद होने के सरकार के आदेश पर भी गहरे तंज कसे। उन्होंने इस बात को भी उठाया कि मुख्यमंत्री ने केवल पिछले सप्ताहांत ही लॉक डाउन की बात पत्रकार वार्ता में कही थी, जबकि नैनीताल जिला प्रशासन ने 17 जुलाई के आदेश में हर सप्ताहांत लॉकडाउन के आदेश जारी किये हैं। इसके साथ ही प्रतिष्ठानों के बिजली के बिलों मे फिक्स चार्ज को पूर्णता माफ करने और मीटर चार्ज जुलाई माह के अंत तक घरेलू दरो के आधार पर लेने की मांग भी की गई। आम सभा में व्यापार मंडल अध्यक्ष किशन नेगी उपाध्यक्ष कमलेश ढोंढियाल, त्रिभुवन फर्त्याल, पुनीत टंडन, जीत सिंह आनंद, रुचिर साह, तल्लीताल व्यापार मंडल के सचिव हेमंत रुवाली, विक्की राठौड़, ममता जोशी व कनक साह आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : शराब की दुकानों के अलावा बाजार रहे बंद, व्यवसायियों ने औचित्यहीन बताकर दी आंदोलन की चेतावनी

-पुलिस द्वारा किराना व राशन की दुकानें भी बंद करने से उखड़े, कहा दो दिन का लॉक डाउन केंद्र सरकार के अनलॉक 1 व 2 के निर्देशों के विरु

ग्राहकों के बिना सूनी पड़ी शराब की दुकान।

द्ध एवं व्यवसायियों में तनाव बढ़ाने वाला
नवीन समाचार, नैनीताल, 18 जुलाई 2020। प्रदेश सरकार द्वारा शनिवार व रविवार को घोषित दो दिन के लॉक डाउन का मुख्यालय में काफी असर रहा। सुबह जिला प्रशासन की ओर से देर से आदेश आने एवं लोगों को इसके बारे में जानकारी न होने की वजह से काफी असमंजसपूर्ण स्थिति रही। लेकिन बाद में राशन की दुकानें भी बंद करा दी गईं, अलबत्ता शराब की दुकानें नियमानुसार खुली रहीं। लेकिन शराब की दुकानों पर भी खरीददार न आने से सरकार द्वारा सभी दुकानें बंद करने व केवल शराब की दुकानें खोलने की मंशा पर सवाल उठे।
इधर मल्लीताल व्यापार मंडल के अध्यक्ष किशन नेगी, उपाध्यक्ष कमलेश ढोंढियाल सहित तरुण कांडपाल, जूनैद अहमद, पुनीत टंडन, रुचिर साह, सुमित खन्ना, सुमित साह, चंदन बिष्ट आदि ने प्रेस को विज्ञप्ति जारी कर सरकार द्वारा लागू किये गये दो दिन के लॉकडाउन को औचित्यहीन करार दिया। कहा कि इसका कोई आधार नहीं है, और ना ही यह समाज के हित में और सकारात्मक ही है। युवा व्यवसायी पुनीत टंडन ने कहा कि बमुश्किल व्यवसाय पटरी पर लौट रहा था। खासकर सप्ताहांत पर व्यवसायियों को अच्छे व्यवसाय की उम्मीद होती है, लेकिन सरकार ने बिना यह सुनिश्चित किये कि दो दिन के लॉक डाउन में जांच में तेजी लाकर आगे कोरोना के मामलों में रोकथान सुनिश्चित करने का कोई प्रयास किया है। वहीं व्यवसायियों ने कहा कि यह बंद सिर्फ और सिर्फ समाज को आघात और व्यापारियों के अहित में तथा गरीबों के खिलाफ तथा पूर्ण रूप से पर्यटन को भारी नुकसान पहुंचाने वाला है, साथ ही केंद्र सरकार के अनलॉक 1 और 2 के दिशानिर्देशों पर भी पानी फेरने वाला है। यह व्यापारियों में मानसिक तनाव बढ़ाने के साथ उनके व्यवसायों को पटरी पर लाने में गतिरोध उत्पन्न करने वाला भी है, और इसका कोई लाभ नजर नहीं आ रहा है। लिहाजा करोना की लड़ाई के लिए भी इस व्यर्थ, तथा तथ्यहीन लॉकडाउन एवं इस दौरान पुलिस के द्वारा आज किराना स्टोर व आटा-चावल की दुकानों को बंद कराने के निर्णय का व्यापारी पुरजोर विरोध करते हैं। इस संबंध में आगे व्यवसायियों ने 20 जुलाई को रामसेवक सभा में बैठक भी बुलाई है ताकि आपस में विचार-विमर्श के बाद विरोध को आंदोलन का रूप दिया जा सके।

यह भी पढ़ें : नैनीताल: रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचे चिकन-मटन के दाम 

नवीन समाचार, नैनीताल, 27 मई 2020। लॉक डाउन के दौरान जहां कोरोना विषाणु के संक्रमण की अफवाहों के बीच देश में खासकर चिकन के दाम 10-20 रुपए प्रति किलो तक हो जाने एवं कई पॉल्ट्री फार्म स्वामियों के द्वारा मुर्गी के बच्चे मारने या जंगल में छोड़े जाने की भी खबरें आ रही थीं, वहीं अब चिकन व मटन के दामों में बेतहाशा बढ़ोत्तरी हो गई हैं। सरोवरनगरी में बुधवार को चिकन रिकॉर्ड 280 एवं मटन 600 रुपए प्रति किग्रा के भाव बेचा गया। नगर के चिकन व्यवसायी मनीष कुमार ने बताया कि लॉक डाउन के दौरान मुर्गी के बच्चों को मार दिये जाने जैसे कारणों से अब चिकन उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। ऐसे में आपूर्ति कम हो गई है, और खपत बढ़ गई है। जिस कारण कीमतें बढ़ गई है। उन्होंने बताया कि मुख्यालय में 22 मार्च के आसपास चिकन 140 रुपये प्रति किग्रा के भाव तक बेचा गया, लेकिन अब, अब तक के सर्वाधिक 280 रुपए प्रति किग्रा के भाव पर पहुंच गया है। अलबत्ता अंडा अभी सामान्य दरों पर ही है। 120 रुपए में 30 अंडों की क्रेट उपलब्ध है।

यह भी पढ़ें : साबाश ! कोरोना से जंग के लिए लिया साप्ताहिक बाजार बंदी का निर्णय 

नवीन समाचार, नैनीताल, 26 मई 2020। जहां व्यापारियों में दुकानें खोलने का समय बढ़ाने को लेकर उत्सुकता देखी जा रही है, और कच्ची व आवश्यक वस्तुओं के नाम पर व्यापारी साप्ताहिक बंदी के नियमों व श्रम कानूनों की खुलेआम उपेक्षा करते हैं, के कालाढुंगी व्यापार मंडल ने कोरोना से जंग में अपना योगदान देने के लिए हर सप्ताह मंगलवार को साप्ताहिक बंदी करने का निर्णय लिया है। कालाढुंगी में अब बाजार हर मंगलवार को बंद रहेंगे। 

वहीं व्यापारी नेता नीरज तिवारी ने बताया कि कोराना विषाणु के फैलते प्रकोप को देखते हुए प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल की कालाढुंगी इकाई के अध्यक्ष मयंक मेहरा की अगुवाई में यह निर्णय एक दिन पूर्व ही सोमवार को लिया गया, और मंगलवार को बाजार बंदी का स्वैच्छिक आधार पर अच्छा प्रभाव देखा गया। कच्चा कारोबार बताने वाले मिठाई, सब्जी से लेकर आवश्यक वस्तुओं की श्रेणी में आने वाले राशन विक्रेताओं और बारबर आदि की अधिकांश दुकानें भी आज बंद रहीं। इस पहल में जनक राज उप्पल, भगवत बिष्ट, नीरज तिवारी, नंद राम टम्टा, मो. राजा, डा. सीमा जोशी मिश्रा, रवि यादव, मो. मेहताब, कुशल खाती, विपिन पांडे, विपुल, दीपक राणा के साथ ही रमेश गुप्ता, दीपक सैनी, संदीप, भुवन सैनी, मो. रजा आदि का भी सहयोग रहा।

यह भी पढ़ें : प्रशासन के सब्जियां बेचने का प्रयोग सफल, व्यापार मंडल में दोफाड़ की स्थिति !

-सोमवार को राशन व पशु चारा भी बेचने का प्रबंध कर सकता है प्रशासन

डीएसए मैदान में प्रशासन द्वारा लगाई गई दुकान में बिना लाइन सामाजिक दूरी बनाते हुए खरीददारी करते लोग।

नवीन समाचार, नैनीताल, 29 मार्च 2020। कोरोना (कोविड -19) महामारी से लड़ने के लिये लॉक डाउन लगने के बाद से सरोवरनगरी में सब्जियां लेने को लेकर मची मारामारी समाप्त हो गई है। यहां सब्जियां के लिए अचानक लोगों की भीड़ लगने पर सब्जी मंडी को पहले डीएसए मैदान में स्थानांतरित करना पड़ा था। डीएसए मैदान में भी शुरुआती दो दिन सब्जियां लेने के लिए अफरातफरी का माहौल रहा, और लोगों को लंबी लाइनों में लगकर सब्जियां खरीदनी पड़ीं। लेकिन शनिवार को लाइनों में आई कमी के बाद रविवार को लाइन लगनी बंद हो गई। ऐसे में यहां लोगों ने आराम से सोशल डिस्टेंसिंग यानी सामाजिक दूरी बनाते हुए खरीददारी की। इस कार्य में एसडीएम विनोद कुमार, तहसीलदार भगवान सिंह चौहान, नगर कोतवाल अशोक कुमार, नगर पालिका अध्यक्ष सचिन नेगी तथा पुलिस एवं नगर पालिका के कर्मी उल्लेखनीय योगदान दे रहे हैं। आगे प्रशासन की ओर से राशन एवं पशु चारा भी मंगवाकर बेचने की तैयारी है।
उल्लेखनीय है कि डीएसए मैदान में सब्जी आढ़तियों के साथ ही पुलिस-प्रशासन ने भी अपने खर्च पर सब्जियां खरीदकर खरीद की दरों पर ही सस्ती सब्जियां बेचने के लिए स्टॉल लगाया हुआ है। यहां आलू 130 एवं प्याज 150 रुपए का पांच किलो तथा मटर 35 रुपए प्रति किग्रा के भाव से बेची गई। सब्जियां बेचने में भाजपा के पूर्व नगर अध्यक्ष मनोज जोशी, भाजयुमो नगर अध्यक्ष विकास जोशी, पूर्व अध्यक्ष मोहित साह आदि स्वयं सेवी योगदान दे रहे हैं। इससे अन्य दुकानों में भी सब्जियां कमोबेश ऐसी ही सस्ती दरों पर उपलब्ध हुईं। अलबत्ता नगर में कुछ लोगों के द्वारा मटर 80 रुपए प्रति किग्रा के भाव तक बेचे जाने की भी चर्चा हो रही है।

राशन बेचने पर व्यापार मंडल में दो फाड़ ! चालान के बाद भी प्रशासन का दे रहे साथ

नैनीताल। नगर में सब्जियां की व्यवस्था तो सुधर गई है, किंतु राशन के मामले में ऐसा नहीं है। मल्लीताल व्यापार मंडल के गत दिनों पुलिस प्रशासन से नाराजगी के बाद बाजार बंद कराने के बाद बाजार में राशन जैसे आवश्यकीय सेवाओं की केवल प्रभु दयाल हरबंश लाल, गर्ग एंड कंपनी व श्याम संुदर पंसारी की दुकानें ही खुल रही थीं। इस पर प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल को भी हस्तक्षेप कर दुकानें खोलने को कहना पड़ा है। इसके बाद प्रभु दयाल हरबंश लाल, गर्ग एंड कंपनी व श्याम संुदर पंसारी के साथ ही गिरीश लाल साह, भुवन चंद्र जोशी, वाहिद, खालिक, सुरेश बवाड़ी एंड कंपनी व पतंजलि स्टोर आदि की दुकानें भी खुलने लगी हैं। लेकिन शेष बाजार बंद ही रह रही है। प्रभु दयाल हरबंश लाल फर्म के सुमित खन्ना ने बताया कि प्रशासन ने गत दिवस गलतफहमी में उनकी दुकानों का चालान भी कर दिया था, बावजूद वे इस नाजुक समय में प्रशासन के साथ हैं, और व्यापार मंडल के रुख से अलग होकर न केवल दुकान खोलकर सामान न्यूनतम दरों में बेच रहे हैं, वरन गरीबों एवं जरूरतमंदों की भरपूर मदद भी कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें : महंगी सब्जी बेचने पर दुकानदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज

नवीन समाचार, नैनीताल, 27 मार्च 2020। महंगी सब्जी बेचने के आरोप में तल्लीताल थाना पुलिस ने तल्लीताल बाजार के सब्जी विक्रेता आदित्य साह के विरुद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम की धारा 3/7 के तहत अभियोग पंजीकृत कर दिया है। तल्लीताल थाना प्रभारी विजय मेहता ने बताया कि जिला पूर्ति निरीक्षक राहुल डांगी की शिकायत पर यह कार्रवाई की गई है। श्री डांगी ने पुलिस को सूचना दी थी कि सब्जी विक्रेता आदित्य साह के द्वारा तल्लीताल बाजार में फल व सब्जियों को बाजार भाव से अत्यधिक ऊंचे दाम पर बेचा जा रहा है, जो कि आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत अपराध है।

यह भी पढ़ें : सब्जी बेचने से व्यापारियों ने हाथ खड़े किए, पुलिस-प्रशासन, स्वयं सेवियों ने बेची सब्जियां

नवीन समाचार, नैनीताल, 26 मार्च 2020। बृहस्पतिवार सुबह पुलिस व व्यवसायियों के बीच हुए तनाव से प्रशासन द्वारा नगर के बड़े डीएसए फ्लैट्स मैदान में सब्जी बेचने के लिए की गई व्यवस्था पर पलीता लग गया। यहां सब्जियों की गाड़ियां आई भीं, लेकिन व्यवसायियों-आढ़तियों ने इन्हें खरीदकर बेचने से इंकार कर दिया। इस पर अजीबो-गरीब स्थितियां उत्पन्न हो गईं। लंबी लाइनों में खड़े लोग भी इस पर आक्रोशित हो गए। उन्होंने व्यापार मंडल अध्यक्ष से भी बात की, लेकिन वे बिना समाधान किए चले गए। इसके बाद पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों ने स्वयं पैंसे मिलाकर गाड़ियों में रखी सब्जियां खरीदीं और नगर के स्वयं सेवी युवाओं के माध्यम से आम जनता को उपलब्ध कराईं। इस दौरान केवल आलू, प्याज, मटर व हरी धनिया ही उपलब्ध कराई जा सकीं। सब्जियों की कम उपलब्धता के कारण लोगों के लिए लाइन में दूर खड़े होने के लिए बनाई गई व्यवस्था ध्वस्त हो गई, और लोग एक दूसरे से सटकर खरीददारी करते देखे गए। फिर भी सुबह नौ बजे तक ही सारी सब्जियां बिक गईं, कई मौजूद लोगों को सब्जियां नहीं मिल पाईं। ऐसे में अनेक लोगों को बिना सब्जियां लिए लौटना पड़ा। ऐसे में कई लोग मल्लीताल बाजार स्थित सब्जी की दुकानों पर आ गये। यहां भी सब्जियां खरीदने के लिए भारी जमावड़ा दिखा। वहीं राशन आदि की बेहद सीमित दुकानें ही खुलीं, और उन्होंने बाहर से खाद्यान्न न आने की बात कह सामान समाप्त होने की बात कही।
खाद्यान्न-सब्जियां लाने वाले वाहनों पर कोई रोक नहीं, आगे होम डिलीवरी की तैयारी
नैनीताल। इधर एसडीएम विनोद कुमार ने साफ किया कि खाद्यान्न एवं सब्जियां लाने वाले वाहनों पर कभी भी रोक नहीं है। एसडीएम विनोद कुमार ने सब्जी आढ़तियों, स्वयं सेवियों से कई बैठकें कीं और शुक्रवार से व्यवस्थाएं बेहतर होने का विश्वास जताया। कहा कि सब्जियों की दरें भी सार्वजनिक की जाएंगी। वहीं मल्लीताल व्यापार मंडल अध्यक्ष किशन सिंह नेगी ने मल्लीताल कोतवाल अशोक कुमार सिंह पर दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने बीती रात्रि बेवजह एक आढ़ती को उसके घर के पास पीटा। वे बाजार में अन्य लोगों से भी बेवजह बदतमीजी कर रहे हैं। इसलिए उनके द्वारा माफी मांगने की मांग रखी गई है। वहीं यह पूछने पर कि व्यापारी ऐसे नाजुक समय में अपनी दुकानें बंद कर अपनी जिम्मेदारी का निर्वाह नहीं कर रहे हैं, उन्होंने कहा कि बाहर से आपूर्ति में समस्या है। अलबत्ता उन्होंने कहा कि शुक्रवार को सात नंबर एवं शनिवार को सूखाताल में वाहनों से सब्जियांे की आपूर्ति की जाएगी। इसी तरह आगे अन्य इलाकों में भी सब्जियां पहुंचाने की कोशिश की जा रही है।

यह भी पढ़ें : कोरोना के कारण बदलेगा मंडी का स्थान, मल्लीताल की फ्लैट्स व तल्लीताल की डांठ पर लगेगी

-डीएसए मैदान में लगेगी सब्जी मंडी, आदेश जारी

Cricket Match in Flats Nainital -1899

नवीन समाचार, नैनीताल, 25 मार्च 2020। कोरोना विषाणु के संक्रमण को देखते हुए मुख्यालय में सब्जी मंडी का संचालन अगले आदेशों तक मल्लीताल सब्जी मंडी वर्तमान रामलीला मैदान के स्थान पर नगर के ऐतिहासिक डीएसए-फ्लैट्स मैदान में लगेगी। एसडीएम विनोद कुमार ने बुधवार को नोवल कोरोना विषाणु के संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु आढ़तियों एवं उपभोक्ताओं की भीड़भाड़ को देखते डीएसए मैदान का अधिग्रहण कर आदेश जारी कर दिए हैं। इसके साथ ही तल्लीताल की मंडी तल्लीताल डांठ पर लगेगी। उल्लेखनीय है कि कोरोना के संक्रमण बढ़ने के बाद मौजूदा मंडी स्थल में उपभोक्तओं एवं विक्रेताओं की भीढ़ बढ़ने के कारण ‘सोशल डिस्टेंसिंग’ के प्रयास निष्प्रभावी हो रहे थे। इसी कारण मंडी का स्थल बदला गया है। एसडीएम विनोद कुमार ने कहा कि आगे सब्जियों की नगर में आपूर्ति सुनिश्चित करने का प्रयास किया जा रहा है। साथ ही भीड़भाड़ रोकने के दृष्टिकोण से प्रमुख खाद्यान्नों की बिक्री का प्रबंध भी डीएसए मैदान में करने पर भी विचार किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें : सुबह आठ बजे ही नैनीताल से सब्जी गायब, राशन का भी टोटा…

सिर्फ तीन घंटे की छूट पड़ सकती है कोरोना पर भारी, भीड़ में लोग नहीं रख पा रहे सोशल डिस्टेंसिंग का खयाल
नवीन समाचार, नैनीताल, 25 मार्च 2020। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर देश 21 दिन के ‘लॉक डाउन’ पर है। संकल्प मजबूत है-कोरोना को हराना है, किसी भी हाल में रोड पर नहीं जाना है। लेकिन प्रशासनिक व्यवस्थाओं की कमी से इस अभियान की सफलता पर पूरा विश्वास नहीं हो रहा। लॉक डाउन के दूसरे दिन ही, सुबह के एक घंटे में ही जिला-मंडल मुख्यालय नैनीताल की मंडी से सब्जी गायब हो गयी है। नौ बजे तो पूरी मंडी ही उठ चुकी थी। बताया गया कि प्रधानमंत्री के संबोधन के बाद अति सक्रिय हुई पुलिस की सख्ती की वजह से आज केवल हल्द्वानी व गांवों से एक-एक पिकप सब्जी ही आई और कुछ ही देर में बिक गई।
इसके अलावा भी बाजार में चीनी नहीं है। 45-60 रुपए से सस्ता चावल उपलब्ध नहीं है। आटा भी खत्म होने को है। साथ ही दुकानों में पहले से मौजूद अन्य खाद्य सामग्री भी खत्म हो रही है, और दुकानदार कह रहे हैं आगे कोई सामान आने की उम्मीद भी नहीं है। पुलिस का खौफ सुबह 7 से 10 बजे की अनुमन्य समय सीमा के दौरान भी दुकानदारों पर दिख रहा है। आवश्यक सामग्री के दुकानदार भी दुकानें नहीं खोल रहे या दुकान का छोटा हिस्सा की खोलकर सामान दे रहे हैं। इससे राशन ही नहीं दवाइयों की दुकानों पर भी भारी भीड़ इकट्ठा हो रही है, और प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के आह्वान तथा कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए जरूरी ‘सोशल डिस्टेंसिंग’ को पलीता लगा रही है। इस बारे में पूछे जाने पर जिला पूर्ति अधिकारी मनोज वर्मन ने कहा कि अप्रैल माह में सार्वजनिक वितरण प्रणाली की यानी सरकारी सस्ते गल्ले की दुकानों में खाद्यान्न की आपूर्ति सुचारू की जा रही है। इसके साथ ही बाजारों की दुकानों में भी आपूर्ति सुचारू करने के प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आपूर्ति में व्यवधान पहुंचाने एवं आगे सामग्री न आने की अफवाह फैलाने वाले दुकानदारों के खिलाफ भी कार्रवाई की जा सकती है।

यह भी पढ़ें : बाजारों में 25 तक स्वैच्छिक बंदी का ऐलान, सब्जी व राशन की दुकानों तथा मेडिकल स्टोरों को बंद से छूट

नवीन समाचार, नैनीताल, 21 मार्च 2020। नगर के मल्लीताल व्यापार मंडल ने रविवार 22 मार्च से 25 तक नगर की बाजारों को स्वैच्छिक रूप से बंद करने का ऐलान कर दिया है। इस बारे में शनिवार दोपहर से बाजारों में मुनादी भी करवा दी गई है। व्यापार मंडल के उपाध्यक्ष कमलेश ढोंढियाल ने बताया कि 22 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर सभी प्रतिष्ठान ‘जनता कर्फ्यू’ के तहत बंद रहेंगे, जबकि 23 से 25 तक आवश्यक वस्तुओं के अंतर्गत सब्जी व राशन की दुकानों तथा मेडिकल स्टोरों को बंद से छूट देने की बात कही गयी है। वहीं अध्यक्ष किशन नेगी ने कहा कि बंदी स्वैच्छिक आधार पर रहेगी। दुकानें बंद करने के लिए किसी तरह की जबर्दस्ती नहीं की जाएगी। वहीं तल्लीताल व्यापार मंडल के अंतर्गत दुकानों को 22 मार्च को पूर्णतया बंद रखने का निर्णय लिया गया है।

यह भी पढ़ें : नाव-घोड़े, चाट पार्क, तिब्बती-भोटिया मार्केट, नयना देवी मंदिर भी बंद…

नवीन समाचार, नैनीताल, 20 मार्च 2020। नगर पालिका नैनीताल ने शुक्रवार को नगर में पर्यटन से जुड़े घोड़ों व नावों का संचालन बंद कर दिया है। इसके साथ ही चार्ट पार्क व भोटिया मार्केट बंद करने की मुनादी भी करवा दी गई है। वहीं नगर के तिब्बती शरणार्थी समुदाय के लोगों ने स्वयं ही अपनी संकरी व नगर की खरीददारी के लिए प्रसिद्ध तिब्बती मार्केट को बंद कर दिया है। नगर पालिका की कर अधीक्षक लता आर्य ने अधिशासी अधिकारी अशोक कुमार वर्मा के हवाले से बताया कि नगर के कोरोना संक्रमण के विभिन्न संभावित क्षेत्रों-तल्लीताल, मल्लीताल बाजार व बारापत्थर घोड़ा स्टेंड एवं शौचालयों में संक्रमण रोधी दवा का छिड़काव कर दिया गया है। पूछे जाने पर बताया कि समस्त पर्यावरण मित्रों को सेनिटाइजर, ग्लब्स व मास्क भी दे दिये गए हैं।
इधर शुक्रवार को डीएम सविन बंसल ने कोरोना के दृष्टिगत जनपद के सभी मंदिर, मस्जिद, गुरूद्वारों व चर्च आदि के धर्मगुरूओं से शुक्रवार सुबह अपील की थी कि कोरोना विषाणु के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए भीड़-भाड़ या किसी भी जमावड़े को टालें या सम्भव हो सके तो स्थगित करें। इसका कुछ असर भी हुआ। बताया गया कि नगर की मुख्य जामा मस्जिद में अन्य दिनों के मुकाबले काफी कम लोग जुमे की नमाज अदा करने पहुंचे और उनमें से कई से मास्क भी लगाए हुए थे। इधर नगर की आराध्य देवी माता नयना के प्रसिद्ध मंदिर को लोगों को कोरोना से बचाने के उद्देश्य से शनिवार सुबह से बंद करने की घोषणा कर दी गई है। मंदिर के मुख्य ट्रस्टी राजीव लोचन साह ने बताया कि आज कार्यकारिणी की बैठक में इस बारे में निर्णय लिया जा जा रहा है।

यह भी पढ़ें : जीएसटी वार्षिक रिटर्न भरने से पहले जरूर ले लें यह जानकारियां 

सुंदर प्रकाश बड़कोटी @ नवीन समाचार, 7 दिसंबर 2018। सामान्य करदाताओं (जीएसटीआर-9) और कंपोजीशन योजना के तहत आनेवाले करदाताओं (जीएसटीआर-9ए) के लिये सालाना रिटर्न फार्म भरने की अंतिम तिथि 31 दिसंबर 2018 है। इसलिए आज हमारे विशेषज्ञ हमारे व्यवसायी पाठकों के लिए जीएसटी के सालाना रिटर्न फार्म भरने  उपयोगी जानकारी दे रहे हैं। यदि इसके बाद भी आपके कोई प्रश्न हों तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें। हम आपके प्रश्नों के उत्तर देने के प्रयास करेंगे।

जीएसटीआर-9| GSTR-9

यह आपका वार्षिक रिटर्न (Annual Return) फॉर्म होता है। इसमें आपने कारोबारी साल में जो हर महीने यानी 12 बार फॉर्म GSTR-3B जमा किया है, उनका Details इसमें देना होता है। जो टैक्स आपने साल भर में जमा किया है, जो भी Export या Import किया है, उसका भी Detail देना होता है। उदाहरण के लिए आप जो भी कारोबार वित्तीय वर्ष 2017-18 के दौरान करेंगे, उसका Return अगले वित्तीय वर्ष में 31 दिसंबर तक जमा कर देना होगा। कारोबार वाले Financial Year के बाद अगले वित्तीय वर्ष में 31 दिसंबर तक इसे जमा करना होता है।

GSTR-9A| जीएसटीआर 9 ए

Composition स्कीम के तहत रजिस्टर्ड लोगों के लिए यह सालाना रिटर्न (Annual Return) होता है। इसमे साल भर के दौरान भरे गए चारों तिमाही रिटर्न (Quarterly Returns) का ब्योरा देना होता है। कारोबार वाले Financial Year के बाद अगले वाले Financial Year में 31 दिसंबर तक इसे जमा करना अनिवार्य होता है।

जीएसटीआर-10| GSTR-10 

जो व्यक्ति अपना जीएसटी रजिस्ट्रेशन सरेंडर करता हे या जिसका Registration कैंसल हो जाता है उसे Form GSTR-10 के रूप में फाइनल रिटर्न भरकर जमा करना होता है। Registration सरेंडर या कैंसल होने के तीन महीने के भीतर इसे जमा करना होता है। उसे अपना Input tax credit और capital goods का ब्योरा देना होता है। साथ ही साथ कुल टैक्स देनदारी और कुल जमा किए गए टैक्स का भी ब्योरा भरना पडता है।

जीएसटी में ऑडिट)( GSTR-9C) : प्रत्येक पंजीकृत व्यक्ति जिसका वित्तीय वर्ष के दौरान जीएसटी ऑडिट टर्नओवर सीमा (2 करोड़ रुपये) पार कर चुकी है, का (CMA) कॉस्ट एकाउंटेंट या (CA) चार्टर्ड अकाउंटेंट  द्वारा जीएसटी लेखा-जोखा ऑडिट रिपोर्ट और सर्टिफिकेट के साथ GSTR-9C भरना है

GST Expert and Practicing Cost Accountnat, GST Solutions Ranikhet and SPB & Co.New Delhi  के प्रबंधकीय भागीदार CMA Sunder P. Budkoti ने कहा ‘वार्षिक कर रिटर्न एक प्रकार से किसी कारोबारी द्वारा भरे जाने वाले मासिक रिटर्न का ही एकीकृत रूप है और इससे राजस्व विभाग के समक्ष आपका पूरा लेनदेन सामने आ जाता है। इस फार्म में अतिरिक्त इनपुट क्रेडिट का दावा करने की कोई गुंजाइश नहीं है।’

उन्होंने कहा कि विभाग के पास व्यापार और उद्योग के काफी आंकड़े उपलब्ध होंगे और विभाग के लिये इसमें इनपुट टैक्स क्रेडिट दावा में विसंगतियों का पता लगाना और अंतिम कर भुगतान का पता लगाना काफी आसान होगा।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply