विज्ञापन सड़क किनारे होर्डिंग पर लगाते हैं, और समाचार समाचार माध्यमों में निःशुल्क छपवाते हैं। समाचार माध्यम कैसे चलेंगे....? कभी सोचा है ? उत्तराखंड सरकार से 'A' श्रेणी में मान्यता प्राप्त रही, 30 लाख से अधिक उपयोक्ताओं के द्वारा 13.7 मिलियन यानी 1.37 करोड़ से अधिक बार पढी गई अपनी पसंदीदा व भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में आपका स्वागत है...‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने व्यवसाय-सेवाओं को अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए संपर्क करें मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व saharanavinjoshi@gmail.com पर... | क्या आपको वास्तव में कुछ भी FREE में मिलता है ? समाचारों के अलावा...? यदि नहीं तो ‘नवीन समाचार’ को सहयोग करें। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने परिचितों, प्रेमियों, मित्रों को शुभकामना संदेश दें... अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में हमें भी सहयोग का अवसर दें... संपर्क करें : मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व navinsamachar@gmail.com पर।

July 25, 2024

बाबा नीब करौरी ने बताये उन संकेतों को जानें, जिनसे आपके जीवन में आने वाले हैं ‘अच्छे दिन’

0

Know the signs told by Baba Nib Karori, from which ‘good days’ are going to come in your life, baaba neeb karauree ne bataaye un sanketon ko jaanen, jinase aapake jeevan mein aane vaale hain ‘achchhe din’

बाबा नीब करौरी के बारे में यह जान लें, निश्चित ही बरसेगी कृपा

नवीन समाचार, आस्था डेस्क, नैनीताल। बाबा नीब करौरी (अपभ्रंस नीम करौली) के प्रति लोगों में अपार श्रद्धा है। बाबा भगवान हनुमान के परम भक्त थे। उन्होंने हनुमान जी के अनेक मंदिर मनाए। लेकिन बाबा के भक्त बाबा जी को भी भगवान हनुमान का अवतार मानते हैं। हालांकि बाबा खुद को साधारण व्यक्ति मानते थे और किसी भी भक्त या अनुयायी को अपने पैर भी छूने नहीं देते थे। यह भी पढ़ें : बाबा नीब करौरी, जिन्होंने नैनीताल की फल पट्टी के सेब को चख कर बना दिया दुनिया का ‘एप्पल’, बाबा व उनके कैंची धाम के बारे में पूरी जानकारी

कौन थे बाबा नीम करोली, जिनके PM Modi और जुकरबर्ग समेत दुनियाभर में हैं  भक्त? जानें क्या है कैंची धाम की महत्ता | Interesting facts about Baba neem karoli  Kainchi Dham ...बाबा नीब करौरी ने अनेक लोगों का जीवन बदल दिया। स्टीव जॉब्स, मार्क जुकरबर्ग, बराक ओबामा, जूलिया रॉबर्ट्स, विराट कोहली व इस कड़ी में हाल में जुड़ीं, बुरे दौर से गुजरते हुए भी बाबा का नाम लेकर देश के लिए विश्व चैंपियनशिप में पहला स्वर्ण पदक लाने वाली मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन जैसे नामों की लंबी श्रृंखला है।  यह भी पढ़ें : बाबा नीब करौरी की कृपा से महिला विश्व चैंपियनशिप में जड़ा ऐतिहासिक ‘गोल्डन पंच’

कहा जाता है कि एक समय में एक से अधिक स्थानों पर मौजूद रहने और अचानक गायब होकर कहीं और प्रकट रहने की सिद्धि प्राप्त बाबा नीब करौरी आज भी स्वयं लोगों को अपने कैंची धाम बुलाते हैं। इसके लिए स्वप्न में स्वयं बाबा के या बंदरों के दर्शन होने लगते हैं। यह भी पढ़ें : धनी बनना चाहते हैं तो जानें बाबा नीब करौरी द्वारा बताए धनी बनने के तीन उपाय

बाबा ने अपने भक्तों को धनी होने के उपाय बताने के साथ जीवन में अच्छे दिन आने से पहले दिखने वाले संकेतों की जानकारी भी दी थी। इन्हीं उपायों को हम आपके सामने रखने जा रहे हैं:

  1. साधु-संत: अचानक आपको साधु-संतों के दर्शन हो जाएं तो समझिए कि भगवान की कृपा आप पर बरसने वाली है और आपका सोया हुआ भाग्य जागने वाला है। नीब करौरी बाबा कहते हैं कि साधु संतों का दिखना इस बात का संकेत है कि उन्हें ईश्वर द्वारा देवदूत के रूप में भेजा गया है। इसलिए यह संकेत भी है कि आप जिन परेशानियों से अब तक घिरे हुए थे वह जल्द ही समाप्त होने वाले हैं।
  2. भक्ति में बहने लगे आंसू: भगवान की भक्ति करते हुए या कीर्तन-भजन के दौरान अगर आपके आंखों से आंसू बहने लगें तो इसे भी बहुत शुभ संकेत माना जाता है। इसका अर्थ है कि आपको स्वयं ईश्वर द्वारा पुकारा गया है। ऐसे में आपको पूजा-पाठ करनी चाहिए और ईश्वर की भक्ति करनी चाहिए। इससे जीवन की समस्त परेशानियां दूर हो जाएंगी।
  3. पशु-पक्षी: अगर पशु-पक्षी आपके घर पर आएं तो इसे भी बहुत अच्छा माना गया है। अगर पक्षी आपके घर के भीतर प्रवेश कर जाएं तो यह शुभ संकेत होता है। इससे जीवन में मौजूद नकारात्मकताओं का अंत होता है और लाभ व उन्नति के अवसर प्राप्त होते हैं।
  4. पितरों का स्वप्न में खुश नजर आना: अगर आपको सपने में अपने मृत पितरों के दर्शन होते हैं तो समझिए कि पितर आपको आशीर्वाद दे रहे हैं और आपका अच्छा समय आने वाला है। लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि सपने में पितर दुःखी या रोते हुए न दिखाई दें। पितरों का अच्छी मुद्रा में दिखना ही शुभ संकेत माना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :