News

खुशखबरी: अब अपने मोबाइल पर कुमाउनी-गढ़वाली में लिख सकेंगे अपने मन की बात… गूगल ने शुरू की सेवा

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

       नवीन समाचार, नैनीताल, 02 दिसम्बर 2020। उत्तराखंड की लोकभाषाओं के बोलने वालों, साहित्यकारों, पाठकों व चाहने वालों के लिए खुशखबरी व बड़ी सफलता है। गूगल ने उत्तराखंड की दो प्रमुख लोक भाषाओं गढ़वाली व कुमाउनी को अपने गूगल कीबोर्ड-जीबोर्ड में स्थान दे दिया है। इसका लाभ अब कुमाउनी व गढ़वाली में लिखना चाहने वाले […]

News

आपका कोना : क्या करें लॉक डाउन में उत्तराखंड लौटे प्रवासी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

       (‘नवीन समाचार’ के इस ‘आपका कोना’ स्तंभ में हम ‘नवीन समाचार’ के पाठकों की कविताएं, लेख, विचार आदि प्रकाशित करते हैं। यदि आप भी ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने विचार, कविता-लेख आदि प्रकाशित कर हमारे अन्य पाठकों तक पहुंचना चाहते हैं तो हमें अपने विचार, कविता या लेख आदि हमें हमारे व्हाट्सएप नंबर […]

जानें, क्या है सोलह श्राद्धों का महत्व

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

       दामोदर जोशी ‘देवांशु’, हल्द्वानी, 29 सितम्बर 2018। श्राद्ध, श्रद्धा का वार्षिक अनुष्ठान है। अपने पितरों के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करने का एक पर्व है। वैसे तो प्रतिमाह पड़ने वाला कृष्ण पक्ष (पूर्णिमा के बाद की प्रथमा से लेकर अमावास्या तक) श्राद्ध पक्ष माना जाता है। वहीं कर्मकांडी और भीरु जन नित्य ही ब्रहम् मुहूर्त […]

कुमाउनी समग्र

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

       पढ़ें कुमाऊनी कवितायेँ, हिंदी भावानुवाद के साथ : दशहराक दिनाक तें खास कविता: भैम पनर अगस्ता्क दिन गाड़ ऐ रै… नईं जमा्न में… चुनावों पारि कुमाउनी कविता: फरक पडूं कां है रै दौड़ आम आदिम होलि पारि रंङोंकि कविता: पर्या रंङ खबरदार ! उमींद उदंकार लड़ैं चिनांड़ पछ्यांण ‘लौ’ कि ल्येखूं सिणुंक ढुड. राजक […]

loading...