उत्तराखण्ड क्रिकेट में टीम के मैदान में उतरने से पहले ही 3 खिलाड़ी आउट हो गए हैं। वह भी केवल एक पारी के लिए नहीं, जैसा कि क्रिकेट में होता ही है, बल्कि पूरे 2 वर्ष के लिए। जी हां, हम बात कर रहे हैं उत्तराखंड की अंडर-19 क्रिकेट टीम की। इसके 3 खिलाड़ियों-प्रशांत कुमार, नितीश जोशी और लक्ष्य सिंह पंवार को फर्जी आयु प्रमाण पत्र देने की पुष्टि हो जाने के बाद 2 वर्ष तक घरेलू क्रिकेट पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

टीम के चयन प्रक्रिया शुरू से ही विवाद में रही। पहले सीनियर टीम के ट्रायल ओपन ना रखने वाल विवाद हुआ। उसके बाद अंडर-19 और अंडर-16 टीम के चयन पर सवाल उठाते हुए हल्द्वानी निवासी नंदन सिंह ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर कर दी। हाईकोर्ट ने उत्तराखंड क्रिकेट एसोसिएशन, हरिद्वार जिला क्रिकेट एसोसिएशन और उत्तराखंड क्रिकेट कंसेंसेस कमेटी को नोटिस जारी कर एक अक्टूबर तक जवाब दाखिल करने के निर्देश दिए हैं। फिलहाल राज्य की अंडर-16 टीम का चयन नहीं हुआ है और याचिकाकर्ता ने कैसे अंडर-16 टीम के चयन पर सवाल उठाया ये समझ से बाहर है।

वहीं अंडर-19 क्रिकेट टीम को तीन खिलाड़ियों पर उम्र का फर्जी दस्तावेज पेश करने का आरोप लगा है। कार्रवाई करते हुए उत्तराखण्ड क्रिकेट कन्सेंस कमेटी ने तीनों को दो साल के लिए भारतीय घरेलू क्रिकेट से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। प्रशांत कुमार, नितीश जोशी और लक्ष्य सिंह पंवार ने  चयनित होने के लिए फर्जी दस्तावेजों का सहारा लिया था और जांच के दौरान उन्होंने ये माना है। बता दें कि उत्तराखण्ड क्रिकेट कन्सेंस कमेटी के मार्गदर्शन में राज्य पहली बार घरेली क्रिकेट में भाग ले रहा है।

बैन की प्रोफेसर रत्नाकर शेट्टी ने की पुष्टि

अंडर-19 टीम में उम्र का फर्जीवाड़ा कर कुछ ऐसे खिलाड़ी भी शामिल हो गए, जो योग्य नहीं थे। इन खिलाड़ियों की उम्र 21 वर्ष से अधिक है, लेकिन इन खिलाड़ियों ने अपनी उम्र कम बताने के लिए फर्जी दस्तावेजों का सहारा लिया। जिसके लिए उत्तराखंड की अंडर-19 टीम का चयन किया गया। लेकिन, अंडर-19 टीम में उम्र का फर्जीवाड़ा कर कुछ ऐसे खिलाड़ी भी शामिल हो गए, जो योग्य नहीं थे।

इन खिलाड़ियों की उम्र 21 वर्ष से अधिक है, लेकिन इन खिलाड़ियों ने अपनी उम्र कम बताने के लिए फर्जी दस्तावेजों का सहारा लिया। जिससे खिलाड़ी टीम में तो शामिल हो गए।इसकी शिकायत रत्नाकर शेट्टी से की गई। जिस पर उन्होंने तत्काल संज्ञान लिया।बीसीसीआइ ने तीनों खिलाड़ियों को दो-दो साल के लिए प्रतिबंधित किया है। ये तीनों उत्तराखंड व बीसीसीआइ के संबद्ध टूर्नामेंट में नहीं खेल पाएंगे।

यह है खिलाड़ियों की असली पहचान

– नितीश जोशी, जन्मतिथि: 05-05-1997, ऊधमसिंह नगर निवासी ने काशीपुर के राधेहरि राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय से 2017-18 में बीए तृतीय वर्ष की परीक्षा पास की है।

– प्रशांत कुमार, जन्मतिथि: 01-04-1997, रुड़की के सरस्वती विद्या मंदिर से 12वीं की पढ़ाई की है। फेल होने पर 10 जून 2014 को उन्होंने टीसी ली है।

लक्ष्य सिंह पंवार, जन्मतिथि: 03-10-1995, विकासनगर निवासी ने महाराणा प्रताप स्पो‌र्ट्स कॉलेज से प्रेक्टिस की है। (इनपुट हल्द्वानी लाइव. कॉम)

उत्तराखंड में अगले सत्र से आईपीएल मैच खिलाये जाने की तैयारी…