Crime

कीटनाशक पीकर आत्महत्या की कोशिश करने वाली विवाहिता की तहरीर पर ससुरालियों पर दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नवीन समाचार, लालकुआं, 23 जुलाई 2021। गत दिवस कीटनाशक पीकर आत्महत्या का प्रयास करने वाली निकटवर्ती घोड़ानाला बिंदूखत्ता निवासी विवाहिता ने ससुरालियों पर दहेज के लिए उत्पीड़न करने, उसे उसके नवजात बच्चे से जबरन अलग करने और आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया है। कोतवाली लालकुआं पुलिस ने उसकी तहरीर पर ससुरालियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच प्रारंभ कर दी है।

शुक्रवार को विवाहिता ने कोतवाली में तहरीर देते हुए बताया कि उसका विवाह 2017 में नागेश जोशी पुत्र लीलाधर जोशी निवासी घोड़ानाला बिंदूखत्ता से हुआ था। इस विवाह में उसके पिता विनोद कुमार अंडोला ग्राम हरिपुर, ऊधमसिंह नगर ने अपनी क्षमतानुसार दहेज दिया था। लेकिन विवोह के कुछ महीनो बाद ही सास-तुलसी देवी, पति-नागेश, ससुर लीलाधर जोशी, और ननद-माया देवी आदि ने उस पर दहेज की मांग करते हुए मानसिक व शारीरिक उत्पीडन करना शुरू कर दिया। 2018 में पुत्र होने के जन्म के बाद भी उनका व्यवहार नहीं बदला। उसका पति नशे का आदी भी हैं।

2020 में पुलिस चौकी प्रभारी राकेश कठायत के समक्ष मौखिक तौर पर सुलहनामा भी हुआ। उसके बाद ससुराल वालों का व्यवहार पहले से और ज्यादा उग्र हो गया। उसे निरंतर शारीरिक एवं मानसिक प्रताड़ना देते हुए मारने के लिए उकसाया जाता रहा। इधर 18 जुलाई 2021 की शाम को सास, ससुर और पति ने उसे बुरी तरह से पीटा और गालियां दीं। जिसके बाद कोई रास्ता न देखते हुए उसने कीटनाशक का सेवन कर लिया। जिसके बाद भाइयों ने उसका सुशीला तिवारी अस्पताल में इलाज कराया। अब उसे ससुरालियों से अपनी और बेटे की जान का भय है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : पत्नी की दहेज हत्या एवं डेढ़ वर्षीय बेटे की हत्या के मामले में पति दोषी करार, बेल से जेल भेजा

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 20 जुलाई 2021। जनपद की प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश प्रीतू शर्मा की अदालत ने भावना नाम की विवाहिता की दहेज के लिए एवं उसके दुधमुंहे डेढ़ वर्षीय पुत्र खिलेश की विषपान से हुई हत्या के मामले में केशव दत्त मेलकानी पुत्र पान देव निवासी पतलिया जिला नैनीताल को दोषी करार दे दिया है। इसके बाद जमानत में बाहर रह रहे पति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। सजा पर सुनवाई आगामी 24 जुलाई को है।

मामले में जिला शासकीय अधिवक्ता सुशील कुमार शर्मा ने अभियोजन की ओर से 9 गवाह पेश करते हुए इस तथ्य को साबित किया कि शादी के बाद से ही अभियुक्त मृतका को एक लाख रुपए और लाने की मांग करते हुए आए दिन मारपीट करता था। यह धमकी भी देता था कि वह दूसरी जगह शादी करके अच्छा दहेज लेगा। घटना से पहले दो बार उसने ग्राम प्रधान व क्षेत्र पंचायत सदस्य आदि के सामने पत्नी से दहेज की मांग करने का जुर्म स्वीकार किया था। बाद में उसके पत्नी व दुधमुंहे बेटे को 19 दिसंबर 2015 को जहर दे दिया था, जिससे उनकी मौत हो गई। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : 20 लाख दहेज मांग रहे नैनीताल के हत्यारोपित पति को साढ़े चार माह बाद भी नहीं मिली जमानत

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 19 जुलाई 2021। जनपद की प्रभारी जिला एवं सत्र न्यायाधीश-प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश प्रीतू शर्मा की अदालत ने गत दो फरवरी को मुख्यालय के अयारपाटा क्षेत्र में हुई एक विवाहिता की मौत के मामले में करीब साढ़े चार माह से जेल में बंद उसके पति दीप शर्मा पुत्र ईश्वरी दत्त शर्मा को जमानत नहीं दी है।

इस मामले में जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने अभियोजन पक्ष की ओर से जमानत याचिका का विरोध करते हुए बताया कि आरोपित का विवाह मृतका अंशु से 28 फरवरी 2017 को हुआ था। वह पत्नी से 20 लाख रुपए दहेज की मांग करते हुए न देने पर जान से मारने की धमकी दे रहा था। उससे दहेज के लिए लगातार मारपीट भी की जाती थी और उसे कई बार मायके भेज दिया जाता था। आरोपित द्वारा महिला फांसी पर लटकी हुई बताई गई, जबकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार उसकी मौत दम घुटने व गला दबाने से हुई थी। उसके चेहरे पर भी खरोंच के निशान पाए गए थे। लिहाजा घटना को गंभीर मानते हुए न्यायालय ने दहेज हत्यारोपित पति का जमानत प्रार्थना पत्र खारिज कर दिया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : प्रेम विवाह के एक साल बाद ही आत्महत्या करने वाली विवाहिता के ससुरालियों की जमानत अर्जी खारिज

-ससुरालियों के उत्पीड़न से परेशान होकर विवाहिता ने मायके आकर आत्महत्या कर ली थी
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 13 जुलाई 2021। जनपद की प्रभारी जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रीतू शर्मा की अदालत ने गत 22 अप्रैल को मरी मनीषा नाम की विवाहिता की दहेज के लिए हत्या करने की आरोपित, मृतका की सास देवी ननद संगीता, जेठ पंकज बोहरा निवासी पथरिया पीर, नेस विला रोड देहरादून की जमानत अर्जी खारिज कर दी।

अभियोजन की ओर से जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने आरोपित की जमानत अर्जी का विरोध करते हुए बताया कि दीवान सिंह भंडारी निवासी गांधी नगर बिंदूखता की पुत्री मनीषा का 9 अगस्त 2019 को देहरादून निवासी नीरज से प्रेम विवाह हुआ था। शादी में 50 हजार की सोने की अंगूठी व अन्य सामान दहेज में दिए थे। फिर भी आरोपित 2 लाख रुपए नकद व कार की मांग कर रहे थे। इस पर उन्हें 1 लाख रुपए देने के बाद भी उसे परेशान करते थे। उत्पीड़न से परेशान होकर मनीषा ने 15 अप्रैल को मायके में ही आत्महत्या कर ली थी। इस आधार पर न्यायालय ने आरोपितों की जमानत अर्जी धारा 304 बी के अंतर्गत खारिज कर दी। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : दहेज कम मिलने की शिकायत कर नवविवाहिता को छोड़ पति ने की दूसरी शादी

-राजस्व पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 08 जुलाई 2021। मुख्यालय से करीब 15 किमी दूर पंगोट के मल्ला बगड़ गांव की रहने वाली एक नवविवाहिता ने अपने पति तथा अन्य ससुरालियों पर दहेज उत्पीड़न तथा पति पर दूसरा विवाह भी करने का आरोप लगाया है। शिकायत पर राजस्व पुलिस ने महिला के पति सहित चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच रेगुलर पुलिस को हस्तांतरित कर दी है।

प्राप्त जानकारी के अुनसार मल्ला बगड़ निवासी कविता आर्या की शादी बीती 15 मार्च को बगड़ निवासी कमल कुमार के साथ हुई। शादी के कुछ समय बाद उसका पति घर छोड़कर चला गया। इस बीच वह मायके चली गई। इस दौरान महिला के प्रार्थना पत्र के आधार पर पुलिस में उसकी गुमशुदगी भी दर्ज कराई गई, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चल सका। उसके मायके वालों ने जब उसके ससुराल वालों से उसे मायके से ले जाने के लिए कहा तो ससुरालियों की ओर से दहेज कम मिलने की बात कहकर उसे मायके में ही रहने को कह दिया गया। करीब एक माह बाद उसके पति का फोन आया और उसने भी दहेज नहीं देने की बात कही। साथ ही बताया कि दहेज कम लाने के कारण वह किसी अन्य युवती से विवाह कर चुका है। तहरीर के बाद पुलिस ने नवविवाहिता के पति कमल कुमार, ससुर डुंगर लाल, सास तथा देवर के खिलाफ दहेज समेत विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : गौलापार की बेटी की शादी के दूसरे माह ही दिल्ली में कर दी गई दहेज के लिए हत्या, एक दिन पहले ही मायके से ले गया था पति..

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 19 जून 2021। गौलापार के लछमपुर तारानवाड निवासी एक युवती की शादी के दूसरे माह में ही दिल्ली में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत होने का समाचार है। मृतका मौत के एक दिन पहले ही मायके से ससुराल गई थी। मृतका के शरीर पर अधिकांश जगहों पर पर चोट के गंभीर निशान मिले हैं। इस पर मायके पक्ष के लोगों ने दिल्ली पहुंच कर उसके ससुरालियों के खिलाफ पुलिस में दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज करा दिया है। वहीं पुलिस ने भी त्वरित कार्रवाई करते हुए पति सहित ससुराल पक्ष के चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि गिरफ्तारी के दौरान आरोपित पति के पास से दहेज में मिले जेवर व नगदी भी बरामद हुई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार लक्षमपुर तारानवाड़़ निवासी किसान हीरा सिंह रौतेला की बेटी भारती की शादी इसी वर्ष गत 26 अप्रैल को दिल्ली के फतहेपुर बेरी निवासी कुलदीप राणा के साथ हुई थी। शादी के बाद से भारती का उत्पीडन शुरू हो गया था। इधर गत नौ जून को दामाद गौलापार आया था और 16 जून की सुबह कार से भारती को साथ ले गया था। लेकिन अगले दिन ही 17 जून की सुबह दिल्ली में रहने वाले उनके साले ने उन्हें बताया कि भारती की मौत हो गई है। परिजनों के अनुसार मामले में भारती के पति कुलदीप, उसके पिता, मां व भाई के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : 6 माह पहले ही किया था प्रेम विवाह, अब आत्महत्या व दहेज हत्या में उलझी गुत्थी…

नवीन समाचार, कालाढुंगी (नैनीताल), 01 जून 2021। नैनीताल जनपद के कालाढूंगी के ग्राम पतलिया निवासी हेमलता नाम की युवती की छह माह पूर्व नवंबर 2020 में रुद्रपुर के आवास विकास निवासी युवक से प्रेम विवाह किया था। विवाह के बाद हेमलता अपने पति के साथ गुरुग्रामके हेवीटेट सोसायटी सेक्टर 99ए में रह रही थी। इधर सोमवार यानी 31 मई को हेमलता के पति ने उसके भाई को फोन कर बताया कि उसने आत्महत्या कर ली है। परिजन वहां पहुंचे तो शव बेड पर पड़ा हुआ था। परिजनों ने ससुरालियों पर हेमलता की दहेज के लिए हत्या करने का आरोप लगाते हुए गुरुग्राम की चौकी धनकोर्ट पुलिस को तहरीर सौंप दी है। और इंटरनेट पर भी हत्यारोपितों पर कार्रवाई करने की मुहिम चलाई है।

मृतका के भाई मोहित सुयाल व बड़ी बहन ज्योति का कहना है कि हेमलता के पति ने 31 मई को उन्हें फोन कर बताया कि बताया कि वह रात्रि में खाना खाकर बालकनी में सो गया था। देर रात उसकी आंख खुली तो कमरे में गया। जहां पर हेमलता लटकी मिली। वहीं परिजनों का यह भी कहना है कि मौत से दो दिन पहले ही हेमलता ने अपनी मां को फोन कर बताया था कि उसकी सास और पति उसे प्रताड़ित करते हैं। यह भी बताया कि शादी के दो दिन बाद ही उसकी सास ने दुल्हन के सारे जेवर उतरवा कर अपने पास रख लिए। इसके बाद उनसे दस लाख रुपये की मांग की गई। उन्होंने इतने रुपए देने में असमर्थता जताई और जुटाकर एक लाख रुपये दिए। इसलिए ही हेमलता की हत्या कर दी गई। (डॉ.नवीन जोशी)

यह भी पढ़ें : मंगेतर से शादी के 3 दिन पहले तक बनाता रहा जबरन शारीरिक संबंध, लेकिन शादी के दिन इंतज़ार करती रह गई दुल्हन…

नवीन समाचार, काशीपुर, 28 मई 2021। शादी तय होने के बाद युवक कई महीनों पहले से अपनी मंगेतर को कई होटलों में ले जाकर और इधर शादी की तय तिथि से तीन दिन पहले भी मंगेतर के घर में शारीरिक संबंध बनाने के बाद तय तिथि को बारात लेकर नहीं आया। युवती व उसके परिजन बारात का इंतजार करते रह गए। इसे लेकर अब युवती ने पुलिस में युवक व उसके परिजनों के खिलाफ तहरीर देकर न्याय दिलाने की गुहार लगाई है।
निकटवर्ती कुंडेश्वरी चौकी क्षेत्र निवासी एक युवती ने पुलिस को तहरीर देकर कहा है कि उसकी कुंडा थाना क्षेत्र के एक युवक से 27 मई को शादी होनी थी। रिश्ता तय होने के बाद से युवक ने जबरन उसकी मर्जी के खिलाफ उससे दिल्ली, रामनगर, जिम कॉर्बेट और काशीपुर के होटलों में ले जाकर शारीरिक संबंध बनाये। इधर, कुछ दिन बाद युवक अपने पिता के साथ उसके घर आया और दहेज में 10 लाख रुपये की मांग करने लगा। इस पर माता-पिता ने पांच लाख का इंतजाम कर युवक और उसके पिता को दे दिये। इधर तीन दिन पहले 24 मई की सुबह युवक और उसके पिता फिर घर पर आये। इस दौरान भी युवक उससे बात करने के बहाने उसे कमरे में ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया। लेकिन जाते समय युवक ने कहा कि पांच लाख रुपये, कार और बुलेट देने पर ही शादी करेंगे, और शादी के दिन जब दुल्हन व उसके परिजन बारात का इंतजार कर रहे थे, युवक बारात लेकरही नहीं आया। मामले में पुलिस का कहना है कि तहरीर मिली है जांच के बाद मामले पर मुकदमा दर्ज कर उचित कार्रवाई की जाएगी। (डॉ.नवीन जोशी)

यह भी पढ़ें : गला दबाकर की गई थी महिला की हत्या

-दहेज हत्या के आरोप में पति गिरफ्तार, न्यायालय ने जेल भेजा.., दो फरवरी को जिला चिकित्सालय से लौटने के बाद घर में फंदे से लटकी मिली थी विवाहिता
नवीन समाचार, नैनीताल, 01 मार्च 2021। जिला मुख्यालय के मल्लीताल अयारपाटा क्षेत्र में बीते माह दो फरवरी की दोपहर घर में संदिग्ध अवस्था में, गले में चोट के निशान के साथ शादी के चार साल बाद ही मृत मिली महिला अंशु शर्मा की मौत के मामले में पुलिस ने सोमवार को करीब एक माह बाद उसके पति दीप शर्मा को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। मामले के विवेचनाधिकारी सीओ विजय थापा ने बताया कि मृतका की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ‘स्टेंगुलेशन’ यानी गला दबाकर मारना आने पर उसे दहेज हत्या के आरोप में भारतीय दंड संहिता की धारा 304 बी के तहत यह कार्रवाई की गई है। आरोपित दीप शर्मा नगर के एक होटल में काम करता है। घटना के दिन पति के अनुसार खुद को व बेटी को जिला चिकित्सालय में दिखाने के बाद घर लौटी अंशु फंदे से लटकी हुई मिली। उसने अंशु को आनन-फानन में नीचे उतारा और पड़ोसियों की मदद से बीडी पांडे जिला चिकित्सालय पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
उल्लेखनीय है कि इस मामले में मृतका के भाई नीरज पलड़िया के द्वारा घटना के दिन ही पुलिस को दी गई तहरीर के आधार पर मल्लीताल कोतवाली पुलिस ने मृतका के पति दीप शर्मा, सास वैष्णवी देवी, ननद मुन्नी जोशी, ननदोई कैलाश जोशी सहित उनके दो बच्चों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 304 बी के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया था। उल्लेखनीय है कि नीरज ने पुलिस को तहरीर देकर आरोप लगाया था कि मृतका के ससुरालियों ने उन्हें फोन कर घटना की सूचना तक नहीं दी। जबकि दिल्ली में रह रहे रिश्तेदारों को मामले की सूचना दी गई। आरोप लगाया कि मृतका के पति और ससुराली हमेशा उनसे दहेज की मांग करते थे। शादी में पर्याप्त दहेज देने के बावजूद ससुरालियों का उत्पीड़न कम नहीं हुआ। कुछ समय पूर्व आरोपी पति उसे तलाक देने को भी कह रहा था।

यह भी पढ़ें : दहेज में ऑडी कार मांग रही थी कांग्रेस नेत्री, अब मौत पर बेटों सहित 6 लोगों पर दहेज हत्या के आरोप में नामजद मुकदमा

नवीन समाचार, हरिद्वार, 25 फरवरी 2021 कांग्रेस नेत्री पूनम भगत की पुत्रवधु की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के मामले में मायके वालों की तहरीर पर पुलिस ने पूनम भगत व उनके बेटे शिवम भगत, सौभाग्य भगत, बेटी शिवांगी भगत व दामाद अमन पाराशर निवासी बटाला, पंजाब व कार्तिक वशिष्ठ निवासी देवतान ज्वालापुर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। उल्लेखनीय है कि ज्वालापुर के मोहल्ला देवतान निवासी कांग्रेस नेता पूनम भगत के बेटे शिवम की पत्नी यशिका की बुधवार दोपहर संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। इस मामले में यशिका के पिता महेंद्र गौतम ने गुरुवार को ज्वालापुर कोतवाली में तहरीर देकर बताया कि उन्होंने नौ दिसंबर 2020 को अपनी बेटी यशिका की शादी पूनम भगत के बेटे शिवम उर्फ ऐश्वर्य से की थी। शादी में 40 लाख रुपये खर्च किए गए थे। तहरीर में आरोप लगाया कि पूनम भगत व उनका परिवार दहेज में ऑडी कार की मांग करते हुए उनकी बेटी को प्रताड़ित कर रहे थे। 31 दिसंबर को भी यशिका के साथ मारपीट कर उसे घर से निकाल दिया था। कुछ दिन बाद शिवम के माफी मांगने पर उन्होंने बेटी को ससुराल भेज दिया था। आरोप लगाया कि बुधवार को शिवम ने उनके बेटे ध्रुव गौतम के मोबाइल पर काल कर अपने घर बुलाया। मायके से परिवार जब शिवम के घर पहुंचे तो पूनम भगत अपने बेटे सौभाग्य भगत के साथ घर से बाहर चली गई। घर के अंदर उनकी बेटी का शव बेड पर पड़ा हुआ था। आरोप लगाया कि शिवम भगत, पूनम भगत व सौभाग्य भगत ने कार्तिक वशिष्ठ की मदद से उनकी बेटी की दहेज की खातिर हत्या की है।
मामले की जांच सीओ सिटी अभय प्रताप सिंह को सौंपी गई है। सीओ ने गुरुवार शाम कांग्रेस नेता के घर का मौका मुआयना कर जांच शुरू कर दी। मामले में मायके वालों के साथ-साथ पड़ोसियों के बयान भी दर्ज किए जाएंगे। कांग्रेस नेता पूनम भगत का दावा है कि जिस समय यशिका की मौत हुई, वह घर पर नहीं थी। पुलिस कांग्रेस नेत्री के इस दावे का सच भी पता लगाएगी। मामले में यह बात भी प्रकाश में आई है कि मायके वाले चाहते थे कि रात में ही शव का पोस्टमार्टम हो। उन्हें आशंका थी कि कांग्रेस नेत्री अपने रसूख का इस्तेमाल कर कुछ गड़बड़ कर सकती है। जिलाधिकारी से अनुमति मिलने पर पुलिस ने रात में ही डॉक्टरों के पैनल से शव का पोस्टमार्टम कराया। रात में ही कनखल स्थित श्मशान घाट पर शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। उधर हिरासत में लिए गए शिवम ने पुलिस को बताया कि बुधवार दोपहर वह क्रिकेट खेलने गया हुआ था, उसी दौरान यशिका ने उसे वाट्सएप पर मैसेज किया था कि वह जान देने जा रही है। हालांकि उसने मैसेज बाद में देखा। वह जब घर आया तो कमरे का दरवाजा बंद था। तब उसने यशिका के मायके वालों को सूचना दी। पुलिस शिवम के इस दावे की सच्चाई का पता लगा रही है। शिवम का मोबाइल पुलिस ने कब्जे में ले लिया है। वहीं, मौत का सच जानने के लिए पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

यह भी पढ़ें : बॉक्सर नवविवाहिता की शादी के सात माह बाद ही ससुराल में संदिग्ध मौत, हत्या-आत्महत्या में उलझी गुत्थी

नवीन समाचार, काशीपुर, 04 फरवरी 2021। शहर की कुमाऊं कालोनी मेंएक 23 वर्षीय नवविवाहिता की मौत हो गई। उसकी शादी सात माह पहले ही हुई थी। यह भी उल्लेखनीय है कि मृतका बॉक्सिंग की खिलाड़ी थी। उसके स्वजनों ने उसके पति सहित ससुराल पक्ष पर उसकी दहेज के लिए हत्या करने का आरोप लगाया है। जबकि ससुराल पक्ष के लोगों का कहना है कि महिला ने फांसी लगाकर आत्महत्या की है। मायके वालों का आरोप बेबुनियाद है। पुलिस ने तहरीर मिलने पर कार्रवाई करने की बात कही है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बॉक्सर दीपा पुत्री राधेश्याम की शादी 18 जून 2020 को लॉकडाउन के दौरान केलाखेड़ा की शांति कालोनी निवासी जगदीश पुत्र कल्लू के साथ हुई थी। इधर बुधवार शाम लगभग साढ़े तीन बजे ससुराल में संदिग्ध परिस्थितियों में उसकी मौत हो गई। ससुराल पक्ष के अनुसार उसने फांसी लगाकर आत्महत्या की है। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा भरने के बाद शव का पोस्टमार्टम करा दिया है। इसके बाद ही मौत के असली कारणों का खुलासा होगा। इधर मृतका की बहन ने बताया कि वह बाक्सिंग की खिलाड़ी थी और वर्तमान में बीए फाइनल की छात्रा थी और दो भाई व दो बहनों में दूसरे नंबर की थी। मृतका का पति जगदीश रुद्रपुर में एक निजी कंपनी में काम करता है। प्रीति ने बताया कि घटना से पहले उसकी बहन ने फोन कर ससुराल वालों पर मारपीट करने का आरोप लगाया था। उसने अपनी जान का खतरा भी बताया था। ससुराल वाले दहेज में बाइक आदि के लेकर उसे प्रताड़ित करते थे। बहन ने आरोप लगाया है कि दीपा की हत्या की गई है।

यह भी पढ़ें : मृतका की मौत के मामले में मायके वालों की तहरीर पर पुलिस ने की कार्रवाई

-पति, सास, ननद-नंदोई आदि के खिलाफ दर्ज किया धारा 304बी के तहत मुकदमा
नवीन समाचार, नैनीताल, 02 फरवरी 2021। जिला मुख्यालय के मल्लीताल अयारपाटा क्षेत्र में मंगलवार दोपहर घर में संदिग्ध अवस्था में, गले में चोट के निशान के साथ मृत मिली महिला की मौत के मामले में उसके मायके वालों ने पुलिस में तहरीर दी है। इसके आधार पर कोतवाली पुलिस ने मृतका के पति दीप शर्मा, सास वैष्णवी देवी, ननद मुन्नी जोशी, ननदोई कैलाश जोशी सहित उनके दो बच्चों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 304 बी के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।
यह भी पढ़ें: नैनीताल : नवविवाहिता के घर से आई चीख की आवाज और मिली मृत, हत्या-आत्महत्या में उलझी मौत की गुत्थी..

दिल्ली के सैलानी की नैनीताल में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

देर शाम मृतका के भाई नीरज पलड़िया ने पुलिस को तहरीर देकर आरोप लगाया कि मृतका के परिजनों ने उन्हें फोन कर घटना की सूचना तक नहीं दी। जबकि दिल्ली में रह रहे रिश्तेदारों को मामले की सूचना दी गई। आरोप लगाया कि एक होटल में काम करने वाले मृतका के पति और ससुराली हमेशा उनसे दहेज की मांग करते थे। शादी में पर्याप्त दहेज देने के बावजूद ससुरालियों का उत्पीड़न कम नहीं हुआ। कुछ समय पूर्व आरोपी पति उसे तलाक देने को भी कह रहा था। इससे पूर्व अपराह्न करीब ढाई बजे भीमताल से जिला चिकित्सालय पहुंचे महिला के मायके पक्ष के लोगों ने अंशु के पति, सास और नंद-नंदोई आदि पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए हंगामा भी किया। उधर मृतका के परिजनों की ओर से कहा जा रहा है कि मंगलवार की सुबह करीब दस बजे अंशु अपनी बेटी के साथ बीडी पांडे जिला चिकित्सालय गई थी और लगभग 11.30 बजे वहां से अपने घर लौट आई। दिन में करीब 12 बजे जब उसके परिजन घर के पास आंगन में धूप सेंक रहे थे, तभी उसकी दो वर्षीय बेटी ने मां के पास जाने की जिद की। बेटी को लेकर पति घर के अंदर गया, तो दरवाजा अंदर से बंद मिला। इस पर पति ने दरवाजे को धक्का देकर खोला। पति के मुताबिक अंदर पत्नी अंशु फंदे से लटकी हुई मिली। उसने अंशु को आनन-फानन में नीचे उतारा और पड़ोसियों की मदद से बीडी पांडे जिला चिकित्सालय पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

यह भी पढ़ें : पुलिस कर्मी पत्नी पर दिखा रहा वर्दी का रौब, बच्चों सहित घर से निकालकर सहारा दे रहे भाई को भी दी जान से मारने की धमकी !

-पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा, यूपी पुलिस का सिपाही है आरोपित
नवीन समाचार, हल्द्वानी, 17 जनवरी 2021। हल्द्वानी निवासी महिला ने अपने पति पर दहेज के लिए प्रताणित करने का आरोप लगाते हुए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने मारपीट और दहेज उत्पीड़न के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया है और जांच करने की बात कही है। खास बात यह भी है कि आरोपी यूपी पुलिस में कार्यरत है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार हल्द्वानी के छड़ायल निवासी मंजू ध्यानी की शादी सहारनपुर, यूपी में तैनात सिपाही राजेश ध्यानी के साथ 21 मई 2014 को हुई थी। मंजू का आरोप है कि राजेश शराब पीकर आए दिन उनके साथ गालीगलौज करता था और दहेज को लेकर ताने देता था। प्रताड़ना से परेशान होकर उसने सहारनपुर पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। इसके बाद भी दिसंबर 2019 में राजेश ने लोहे की रॉड से मंजू पर हमला किया। मंजू के घायल होने की सूचना मिलने पर उनका भाई उसे मायके ले आया। लेेकिन बाद में माफी मांगने पर वह फिर राजेश के पास चली गई। लेकिन इधर 27 नवंबर 2020 को राजेश ने फिर उनके साथ मारपीट की और उसे दोनों बच्चों सहित घर से बाहर निकाल दिया। इस पर वह फिर मायके अपने भाई भुवन चंद्र मठपाल के पास चली आई। मंजू ने यह भी आरोप लगाया है कि राजेश ने अपनी वर्दी का रौब दिखाते हुए उसके भाई भुवन को भी जान से मारने की धमकी दी। इस पर मंजू ने मुखानी पुलिस से उसकी शिकायत की। थानाध्यक्ष सुशील कुमार ने बताया कि इस मामले में राजेश के खिलाफ 498 ए और 3/4 दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज किया गया है। नियमानुसार जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें : हद है ! शादी के पांच माह के भीतर ही दूसरा निकाह करने पर आमादा हुआ पति, कर दी पत्नी की गला घोंट कर हत्या !

नवीन समाचार, किच्छा, 22 दिसम्बर 2020। ऊधमसिंह नगर जिले के पुलभट्टा थाना अंतर्गत वार्ड 20 निवासी एक नवविवाहिता की शादी के पांच माह के भीतर ही संदिग्ध परिस्थितियों में मौत से हड़कंप मच गया। इस मामले में मृतका के परिजनों ने दामाद पर गला घोंट कर मारने का आरोप लगाया है। घटना की सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुच शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार वार्ड 20 के सीरिया मस्जिद निवासी 22 वर्षीय सना बेगम पत्नी मो. सलीम की मध्य रात्रि संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। मौत की जानकारी मिलने पर मूल रूप से मिर्जापुर थाना बहेड़ी जिला बरेली व हाल निवासी वार्ड 18 चार बीघा पुलभट्टा निवासी मृतका के पिता अब्दुल शमी व मां हाशमीन बेगम मंगलवार सुबह पुत्री के ससुराल पहुंचे। उन्होंने थाना पुलिस को घटना की सूचना दी। इस पर एसआई कीर्ति भट्ट व एसआई बसंत पंत मौके पर पहुचे। शादी को छह माह का समय होने के कारण तहसीलदार जगमोहन त्रिपाठी, राजस्व निरीक्षक अशोक कुमार भी मौके पर पहुंचे। मृतका के पिता अब्दुल शमी ने बताया कि पांच माह पूर्व जुलाई में उन्होंने मुस्लिम रीति रिवाज से अपनी पुत्री सना का विवाह मोहम्मद सलीम पुत्र अहमद हुसैन के साथ किया था। शादी के बाद से ही दामाद लगातार दूसरा निकाह करने को लेकर सना को प्रताड़ित कर रहा था। इधर बीती रात करीब 10 बजे उसकी सना के साथ बात भी हुई थी। तब वह पूरी तरह से स्वस्थ थी। रात करीब 11 बजे दामाद ने फोन कर सना की तबीयत खराब होने की बात बताते हुए कहा कि वह उसे मजार पर लेकर जा रहे हैं। जब उन्होंने अपने भाई को मजार पर भेजा तो मौके पर कोई भी मौजूद नहीं था। इसी बीच दामाद सलीम ने दोबारा फोन कर बताया कि सना की मौत हो गई है, जिसके बाद सभी लोग सना के ससुराल पहुंचे। जहां उनकी बेटी मृत अवस्था में पड़ी हुई थी।

यह भी पढ़ें : एसडीएम पर पत्नी ने लगाया दहेज उत्पीड़न का आरोप, पुलिस ने नहीं सुनी, अब कोर्ट के आदेश पर दर्ज किया मुकदमा..

नवीन समाचार, रुद्रपुर, 11 दिसंबर 2020। जिन पर दूसरों को न्याय दिलाने की जिम्मेदारी होती है, उनके परिवारजनों को ही उन पर आरोप लगाकर न्याय दिलाने की गुहार लगानी पड़े तो क्या कहेंगे। एक एसडीएम पर उसकी पत्नी ने दहेज के लिए उत्पीडन करने व जबरन तलाकनामे पर हस्ताक्षर करवाने का प्रयास करने आरोप लगाने का मामला प्रकाश में आया है। आरोपित एसडीएम का विवाह दो वर्ष पूर्व ही हुआ था। पीड़िता ने पुलिस से शिकायत की, लेकिन पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया। इस पर पत्नी को न्यायालय की शरण लेनी पड़ी है। अब न्यायालय के आदेशों पर पुलिस ने पति सहित सात ससुरालियों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर लिया है। बताया गया है कि आरोपित यूपी में एसडीएम है।
पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार निकटवर्ती दानपुर, कीरतपुर निवासी रिंकी नाम की विवाहिता ने न्यायालय को सौंपे शिकायती पत्र में कहा था कि उसका विवाह 15 दिसंबर 2018 को यूपी के थाना और जिला देवरिया के ग्राम मूड़ाडीह निवासी अरुण कुमार गौड़ पुत्र राम चंद्र गौड़ से हुआ था। उसका पति अरुण कुमार गौड़ वर्तमान में एसडीएम के पद पर तैनात है। पति के पद के अनुरूप उसके परिजनों ने शादी में 30 लाख रुपए नगद और कार सहित लाखों रुपए के जेवरात तथा अन्य सामान दहेज में दिये थे। इसके बावजूद पति ने विवाह के बाद पति ने हनीमून पर गोवा से ही उसके साथ अभद्रता पूर्ण व्यवहार शुरू कर दिया था। गोवा से वापस आने के बाद पति के साथ ही ससुर तथा अन्य परिजन दिलीप कुमार, मंजू देवी, शशि प्रभा, अजय कुमार और रंजीता देवी ने उससे 30 लाख रुपये और दहेज में लाने की मांग करते हुए मारपीट की। इधर सात अप्रैल 2020 को भी पति ने उससे मारपीट की और उसकी अश्लील फोटो भी खींची, तथा उसे घर से निकाल दिया। फिर भी 9 मई 2020 को पति दो सिपाहियों और चालक के साथ उसके मायके आया और मारपीट कर जबरन तलाकनामे पर हस्ताक्षर करने का प्रयास हुए लाइसेंसी पिस्टल दिखाकर घर से जबरन ले जाने लगा। शोर होने पर उसके मायके वालों ने उसे बचाया। मामले की शिकायत पुलिस से की, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। इधर, न्यायालय के आदेश पर पुलिस ने पति सहित सात ससुरालियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। कोतवाल एनएन पंत ने पत्रकारों को बताया कि मुकदमा दर्ज किया गया है। जांच की जा रही है, इसके बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें : शादी के दो वर्ष के भीतर ही कर दी पत्नी की दहेज के लिए हत्या.. आरोपित पति को नहीं मिली जमानत…

नवीन समाचार, नैनीताल, 24 नवम्बर 2020। जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजीव कुमार खुल्बे की अदालत ने दहेज के लिए हत्या करने के आरोपित का जमानत प्रार्थना पत्र खारिज कर दिया है। मंगलवार को मामले में आरोपित तल्ली हल्द्वानी पुरानी आईटीआई निवासी कृपाल सिंह पुत्र भगवान सिंह की अमानत अर्जी का विरोध करते हुए जिला शासकीय अधिवक्ता-फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने बताया कि आरोपित के खिलाफ उसके ससुर दीवान सिंह बोरा पुत्र हरीश बोरा निवासी राम मंदिर, गणाई-गंगोली बेरीनाग की शिकायत पर दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपित की शादी मई 2018 में शिकायतकर्ता की पुत्र रिचु से हुई थी। आरोपित पति एवं सास-ससुर रिचु को 10 लाख रुपए और दहेज की मांग करते हुए प्रताणित करते थे। जून 2019 में रिचु द्वारा एक पुत्री को जन्म दिया, जिसके बाद उत्पीणन और बढ़ गया। इस दौरान दिसंबर 2019 में बच्ची की भी मौत हो गई। इधर 10 मई 2020 को रिचु ने अपनी मां को फोन कर ससुरालियों के द्वारा 10 लाख रुपए की मांग किए जाने और अपनी जान का खतरा होने की सूचना दी। 11 मई को दामाद कृपाल खुद ससुराल आया और ट्रक खरीदने के लिए 10 लाख रुपए मांगे। इसके दो दिन बाद ही 13 मई की सुबह रिचु की उसकी ससुराल में जहर खाने से मौत हो गई। इस पर उसके खिलाफ भादंसं की धारा 304बी के तहत मुकदमा दर्ज हुआ। इस दलील पर न्यायालय ने आरोपित की जमानत अर्जी खारिज कर दी।

यह भी पढ़ें : पत्नी को दहेज की मांग पर जहर पिलाकर मारने के आरोपित पति की जमानत अर्जी खारिज

नवीन समाचार, नैनीताल, 29 सितंबर 2020। जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजीव कुमार खुल्बे की अदालत ने पत्नी को दहेज की मांग पर जहर पिलाकर मारने के आरोपित पति की जमानत अर्जी खारिज कर दी। मंगलवार को जेल में बंद आरोपित के जमानत प्रार्थना पत्र का विरोध करते हुए जिला शासकीय अधिवक्ता सुशील कुमार शर्मा ने अदालत को बताया कि आरोपित जसवंत लाल पुत्र बिशन राम निवासी ग्राम पतलिया कोटाबाग ने गत एक जून की शाम अपनी पत्नी प्रेमा निवासी ग्राम बासी पोस्ट सौड़ कालाढुंगी को हाथ-पैर बांधकर मारा पीटा और जहर पिलाकर मार डाला। उनकी शादी करीब पांच वर्ष पूर्व हुई थी और पति पहले से ही पत्नी को कम दहेज लाने को लेकर प्रताणित करता था। मृतका ने मृत्यु के दो दिन पूर्व भी मायके में इसकी फोन पर शिकायत की थी। इन तथ्यों पर अदालत ने आरोपित की जमानत अर्जी को खारिज कर दिया। जबकि उसकी 75 वर्षीय मां नंदी देवी को उम्र एवं विशेष आरोप न होने के आधार पर जमानत दे दी।

यह भी पढ़ें : पहले पत्नी को बीड़ी से जलाता थी, फिर फिर पेट्रोल छिड़ककर आग ही लगा दी, अब लगाई जमानत के लिए गुहार…

नवीन समाचार, नैनीताल, 24 सितंबर 2020। जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजीव कुमार खुल्बे की अदालत ने शुक्रवार को पत्नी पर शक करने व हत्यारोपित पति गुड्डू के जमानत प्रार्थना पत्र को खारिज कर दिया। मामले में आरोपित की जमानत अर्जी का विरोध करते हुए जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने न्यायालय के समक्ष तर्क दिया कि आरोपित गुड्डू पुत्र बाबू लाल निवासी रेशमा स्थान रामनगर की 11 वर्ष पूर्व इस्माइल पुत्र यूसुफ की पुत्र बबली से विवाह हुआ था। गत 11 अगस्त को बबली घर में 50 फीसद से अधिक जली हुई मिली। बाद में उसकी मौत हो गई। गुड्डू पर आरोप है कि उसने पहले शराब पीकर पत्नी से मारपीट की और फिर पेट्रोल छिड़ककर उस पर आग लगा दी। वह अपनी पत्नी पर शक करता था और उस पर नजर रखने के लिए घर में सीसीटीवी कैमरे लगाए थे और उसकी रिकॉर्डिंग अपने मोबाइल ने जोड़ी थी पर घटना के कुछ दिन पूर्व कैमरे हटा दिए थे। वह अपनी पत्नी के शरीर को बीड़ी से जलाकर भी मारपीट करता था। मृत्यु से पूर्व बबली ने पड़ोसियों को बताया था कि पति के शारीरिक व मानसिक शोषण से अत्यधिक परेशान होकर उसने ऐसा कदम उठाया। इस आधार पर न्यायालय ने आरोपित पति की जमानत अर्जी खारिज कर दी।

यह भी पढ़ें : नैनीताल की बेटी ने दून निवासी पति व ससुरालियों पर लगाया दहेज उत्पीड़न का आरोप

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 अगस्त 2020। नगर के मल्लीताल निवासी एक महिला ने अपने ससुराल पक्ष पर दहेज उत्पीड़न का गंभीर आरोप लगाते हुए पुलिस में शिकायत की है। महिला का कहना है कि उसकी शादी देहरादून निवासी युवक के साथ नवंबर 2018 में हुई थी। शादी के बाद से ही ससुराल वाले दहेज के लिए उस पर दबाव बनाकर शारीरिक व मानसिक उत्पीड़न करने लगे थे। शादी के एक साल के बाद भी वे नहीं सुधरे तो उसने मायके वालों को जानकारी दी और 5 अक्टूबर 2019 को ससुराल में झगड़ा होने के बाद वह मायके चली आई। अब उसने कोतवाली पुलिस से कार्यवाही की मांग की है। इधर कोतवाली पुलिस ने महिला की तहरीर के आधार पर मामले की रिपोर्ट महिला हेल्पलाइन को भेज दी है, जिसके बाद आगे की कार्रवाई होगी।

यह भी पढ़ें : पति से फोन पर हुए विवाद पर नवविवाहिता ने मायके में गटका जहर, मौत..

-10 माह पूर्व ही हुआ था विवाह, लॉक डाउन से अपनी मां की देखरेख के लिए मायके में ही रह रही थी नवविवाहिता
-मायके वालों ने पति व ससुराल पक्ष पर लगाये प्रताड़ना के आरोप, पति द्वारा फोन पर मायके वालों पर कुछ कह देने से थी नाराज
नवीन समाचार, नैनीताल, 12 जुलाई 2020। मुख्यालय के समीपवर्ती घुघुसिंगड़ी क्षेत्र में लॉक डाउन से अपनी बीमार मां की देखरेख के लिए मायके में रह रही, मात्र 10 माह पूर्व ही विवाहित हुई, एक नवविवाहिता ने फोन पर पति द्वारा उसके मायके वालों के लिए कुछ गलत कह दिये जाने पर अवसाद में घर में रखा कीटनाशक गटक लिया। परिजन उपचार के लिए उसे बीडी पांडे जिला चिकित्सालय लेकर पहुंचे। यहां उपचार के दौरान रविवार सुबह उसकी मौत हो गयी। पुलिस ने तहसीलदार की मौजूदगी में उसका पंचनामा कर शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है। इधर मायके पक्ष के लोगों ने अभी कोई तहरीर तो नहीं सोंपी है, अलबत्ता उन्होंने आरोप लगाया है कि ससुराल पक्ष के लोग और पति शादी के बाद से ही उससे मारपीट और गाली-गलौज करते थे।
जानकारी के मुताबिक घुघु सिगड़ी निवासी 22 वर्षीय पूजा बिष्ट पुत्री गोधन सिंह बिष्ट का विवाह 10 माह पूर्व धनपुर कालाढूंगी निवासी नरेश बिष्ट से हुआ था। नरेश हिमांचल प्रदेश में किसी कंपनी में कार्यरत है। इधर लॉक डाउन के दौरान पूजा की मां की तबियत बिगड़ी तो देखभाल के लिए वह मायके चली आयी। शनिवार को पूजा अपने पति से फोन पर बात कर रही थी कि पति ने उससे और उसके मायके पक्ष के लोगों को लेकर गाली-गलौज कर दी। जिससे गुस्से में आकर पूजा ने घर पर रखा कीटनाशक गटक लिया। परिजनों को जब यह पता लगा तो वह उसे लेकर बीडी पांडे जिला चिकित्सालय पहुंचे। जहां उसे उपचार दिया जा रहा था। रविवार सुबह उपचार के दौरान अचानक उसकी तबियत बिगडने के बाद उसकी मौत हो गयी। पूजा के पिता का आरोप है कि ससुराल पक्ष और पति उससे अक्सर मारपीट करते थे, जिससे उसने ऐसा आत्मघाती कदम उठा लिया। सूचना के बाद तहसीलदार भगवान सिंह चौहान ने अस्पताल पहुंच कर परिजनों से पूछताछ की। उन्होंने बताया कि महिला के शव को पंयायतनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया हैं। इस मामले में फिलहाल कोई शिकायत प्राप्त नहीं हुई है।

यह भी पढ़ें : विवाहिता की हत्या में पति व देवर गिरफ्तार कर जेल भेजे

-कोर्ट ने दोनों आरोपितों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा जेल
दान सिंह लोधियाल @ नवीन समाचार, धानाचूली, 30 जून 2020। बीती 18 जून को धारी तहसील के जाड़ापानी ग्राम सभा कुलोरी मे गीता देवी पत्नी कैलाश थुवाल की संदिग्ध हालत में मौत हो गई थी। इस पर मृतका के मायके वालों ने पति और उसके देवर के खिलाफ हत्या के आरोप में भातीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। तभी से राजस्व पुलिस जांच में जुट गई थी। इधर सोमवार को राजस्व पुलिस ने दोनों आरोपितों, मृतका के पति कैलाश थुवाल पुत्र मनोहर थुवाल एवं देवर विनोद थुवाल को गिरफ्तार कर मंगलवार को कोर्ट में पेश किया। जहां से न्यायालय ने दोनों आरोपितों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।
जांच अधिकारी व उपनिरीक्षक पूरन चंद्र गुणवंत ने बताया कि सोमवार को उपनिरीक्षक हेम चन्द्र पलडिया, प्रकाश देवतल्ला, रवि पांडे, प्रकाश सैनी व अनुसेवक गंगा दत्त उप्रेती, नारायण सिंह भीम सिंह आदि ने दोनों अभियुक्तों को उनके घर से धर दबोचा। जाँच अधिकारी ने बताया पीएम रिपोर्ट आज शाम तक मिलने की बात कही।

यह भी पढ़ें : सास-ससुर, ननद-नंदोई पर दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज

10 लाख रुपये व स्कॉर्पियो कार की मांग का आरोप
मुस्तजर फारूकी, काशीपुर, 2 फरवरी 2020।कालाढूंगी वार्ड नम्बर 6 निवासी शमीम फारूकी ने अपने सास ससुर व नंद तथा नंदोई पर दहेज के लिए उत्पीड़न करने तथा 10 लाख रुपये व स्कॉर्पियो कार की मांग का आरोप लगाते हुए थाना कालाढूंगी में सभी के विरुद्ध दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराया है। कालाढूंगी वार्ड 6 निवासी हाजी मो, उस्मान की पुत्री शमीम फारूकी का विवाह मुस्लिम रीति रिवाज के साथ 01 जनवरी 2019 को संतोषपुर बन्नाखेड़ा थाना बाजपुर जिला ऊधम सिंह नगर निवासी हाजी कासिम के पुत्र मो, कामिल के साथ हुआ था। थाने में दी गयी तहरीर में कहा गया कि विवाह के कुछ समय बाद ही उसके पति व सास ससुर तथा नंद नंदोई कम दहेज लाने को लेकर उसे प्रताड़ित करने लगे। तथा ससुरालियों ने उसके पति मो, कामिल को दुबई भगा दिया। उसके ससुर कासिम, सास सालिहा सहित नंद मेहताब जहां व उसका पति रऊफ दहेज कम लाने की बात करते हुए उसे प्रताड़ित करने लगे तथा उससे 10 लाख रुपये व एक स्कॉर्पियो कार लाने के लिए दबाव बनाने लगे। तहरीर में कहा गया कि विवाह के दौरान 2 हजार बारातियों को अच्छा खाना सहित स्विफ्ट कार व लाखों रुपयों के उपहार सगाई तथा मेहंदी पर भी काफी खर्च किया गया।तहरीर में शमीम फारूकी ने बताया कि उसने प्रताड़ित होकर अपनी पति को फोन किया तो उन्होंने अपने घरवालों को समझाने की बात की और कुछ दिन बाद उन्होंने भी फोन उठाना व मेसेज का जवाब देना भी बंद कर दिया। जिसके बाद 27 अगस्त 2019 को सास ससुर ने उसके साथ मारपीट व गाली गलौच करते हुए घर से निकाल दिया। तथा धमकी दी कि अगर तूने या तेरे घरवालों ने कोई कार्रवाई की तो अंजाम भुगतने को तैयार रहना। पीड़ित शमीम फारूकी की तहरीर पर कालाढूंगी पुलिस द्वारा थाना कालाढूंगी में दहेज उत्पीड़न व मारपीट की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। मामले की जांच एसआई रजनी आर्या को सौंपी गई है।

 

यह भी पढ़ें : पत्रकार की पुत्री के दहेज हत्यारोपित फौजी पति को नहीं मिली जमानत

नवीन समाचार, नैनीताल, 26 मार्च 2019। मुक्तेश्वर के पत्रकार गंगा सिंह की पुत्री बिमला की बीते वर्ष 27 दिसंबर को अपनी पसंद से विवाह करने के आठ माह के भीतर ही मौत हो गयी थी। इस मामले में उसके फौजी पति गौरव सिंह, मौसेरी सास सरस्वती देवी व शादी में बिचौलिया रहे कृपाल सिंह के विरुद्ध मुक्तेश्वर पुलिस में मामला दर्ज हुआ था। तभी से जेल में बंद फौजी पति गौरव सिंह ने इधर अपनी जमानत के लिए अदालत में अर्जी दी थी।
मंगलवार को प्रभारी जिला जज प्रथम अतिरिक्त जिला जज विनोद कुमार की अदालत में जमानत अर्जी पर सुनवाई के दौरान जिला शासकीय अधिवक्ता सुशील कुमार शर्मा ने विरोध करते हुए बताया कि आरोपित 10 लाख रुपये की मांग कर रहे थे। दिसंबर माह में ही उन्हें 35 हजार रुपये दिये भी गये थे, बावजूद उन्होंने जहर पिलाकर बिमला की हत्या कर दी थी। उन्होंने सात गवाह भी पेश किये जिन्होंने आरोपों की पुष्टि की। इस पर न्यायालय ने जमानत अर्जी खारिज कर दी।

पूर्व समाचार : पत्रकार की पुत्री की दहेज हत्या के प्रकरण का आरोपी पहुँचा जेल

दान सिंह लोधियाल @ नवीन समाचार, धानाचूली, 7 जनवरी 2019। मुक्तेश्वर थाने क्षेत्र में हुई पत्रकार की पुत्री की दहेज हत्या के मुख्य आरोपी गौरव सिंह को आज कोर्ट में पेश किया गया। जहाँ से उसे जेल भेज दिया गया है। सोमवार को विवेचना अधिकारी सीओ आरएस नबियाल ने यह जानकारी देते हुए बताया कि आगे की जाँच जारी रहेगी।
उल्लेखनीय है 26 दिसंबर धानाचूली निवासी गंगा सिंह बिष्ट की पुत्री विमला बिष्ट की संदिग्ध हालत में मौत होने पर मृतका के पिता द्वारा अपने दामाद गौरव सिंह, उसकी नानी एक अन्य के खिलाफ दहेज हत्या का भादस की धारा 304 बी के तहत थाना मुक्तेश्वर में मुकद्दमा दर्ज कराया गया था। मामले की विवेचना सीओ भवाली आरएस नबियाल द्वारा की जा रही है। पीएम रिपोर्ट मिलने के उपरांत मुख्य आरोपित गौरव को बीते रविवार को गिरफ्तार कर लिया था। इधर मृतका के पिता गंगा सिंह बिष्ट ने आरोप लगाया है कि उनकी पुत्री के पांव में गले में चोट के निशान थे, उसको मारपीट कर जहर देकर मारा गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि आरोपी के द्वारा धनबल का प्रयोग करके पीएम रिपोर्ट पर भी छेड़छाड़ की गई है। उन्होंने अन्य आरोपितों के गिरफ्तारी न होने पर भी संदेह जताया है।

सीओ को ज्ञापन सोंपते मुख्यालय के पत्रकार।

पत्रकार की पुत्री की दहेज के लिए हत्या पर पत्रकारों में आक्रोश

नवीन समाचार, नैनीताल, 29 दिसंबर 2018। जनपद के धानाचूली से एक समाचार पत्र के लिए पत्रकारिता करने वाले पत्रकार गंगा सिंह बिष्ट की नवविवाहिता पुत्री की दो दिन पूर्व ससुरालियों ने दहेज के लिए हत्या कर दी है। इससे जनपद भर के पत्रकारों में आक्रोश है। शनिवार को इस संबंध में धानाचूली क्षेत्र के पत्रकारों द्वारा थाना मुक्तेश्वर पहुंचकर आरोपित ससुरालियों के खिलाफ तहरीर दी, जिस पर भारतीय दंड संहिता की धारा 304 बी के तहत मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया। तहरीर में बताया गया है कि बेटी के ससुराली 10 लाख रुपये की मांग कर रहे थे। मृत्यु से कुछ देर पूर्व बेटी ने अपनी पूरी होने जा रही कन्याधन की पासबुक के बारे में भी जानकारी ली थी। यानी ससुराली उसका कन्याधन भी हड़पना चाह रहे थे। इधर मुख्यालय के पत्रकारों ने भी इस मुद्दे पर पुलिस क्षेत्राधिकारी विजय थाप के माध्यम से एएसपी को ज्ञापन दिया एवं दहेज हत्या के आरोपितों को शीघ्र गिरफ्तार कर जेल की सलाखों के पीछे पहुंचाने की मांग की। इस मौके पर नवीन जोशी, कमल जगाती, अजमल हुसैन, दीवान बिष्ट, सुरेश कांडपाल, सुनील बोरा, भूपेंद्र रावत, मनीश उपाध्याय आदि पत्रकार मौजूद रहे।

उल्लेखनीय है कि प्रमुख दैनिक समाचार पत्रों ने अपनी ही बिरादरी के एक पत्रकार के साथ घटी इतनी बड़ी दुर्घटना का दुःख बांटने तक की इंसानियत नहीं दिखाई और बहुत ही ‘हल्की’ खबर लगाई। इस पर भी पत्रकारों में कड़ा आक्रोश है।

पूर्व समाचार : दहेज की बलि चढ़ी समाचार पत्र प्रतिनिधि की पुत्री, फौजी पर लगा दहेज हत्या का आरोप

मुक्तेश्वर थाने के सुनकिया गांव की है घटना, हल्द्वानी में इलाज के दौरान हुई नवविवाहिता की मौत, इसी वर्ष 9 मार्च को हुई थी शादी
नवीन समाचार, धानाचूली, 28 दिसंबर 2018। मुक्तेश्वर थाना क्षेत्र के सुनकिया गांव में एक नव विवाहिता घरेलू हिंसा की भेंट चढ़ गयी। मृतका के पिता के द्वारा अपनी पुत्री के ससुरालियों, उसके फौजी पति आदि पर दहेज हत्या करने का आरोप लगाया गया है, तथा उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की तैयारी की जा रही है। मृतका की इसी वर्ष मार्च माह में ही शादी हुई थी। उधर मृतका का पोस्टमार्टम कराने के बाद अंतिम संस्कार रानीबाग में कर दिया गया है। मृतका के पिता हल्द्वानी से प्रकाशित एक दैनिक समाचार पत्र के प्रतिनिधि हैं।
प्राप्त जानकारी के अनुसार धानाचूली निवासी गंगा सिंह बिष्ट की पुत्री विमला बिष्ट (22) का विवाह मुक्तेश्वर थाना क्षेत्र के लेटीबुंगा निवासी हिम्मत सिंह उर्फ पहाड़ी के फौज में कार्यरत पुत्र गौरव सिंह के साथ इसी वर्ष मार्च माह में हुआ था। अब यह परिवार सुनकिया गांव में रहता है। बताया गया है कि बृहस्पति को विमला ने अपने पिता को फोन कर उसे मायके ले जाने को कहा था, साथ ही अपने पति व सास पर मारपीट करने की बात भी कही थी। इस पर उसके पिता गंगा सिंह द्वारा उसको लेने के लिए अल्टो कार भेजी। जिस पर उसे पता चला कि उसकी बेटी ने जहर खा लिया है। आनन-फानन में बिमला का पति उसे कार से सरगाखेत मुक्तेश्वर के चिराग अस्पताल में ले गया। जहां से उसे पहले पदमपुरी अस्पताल और वहां से हल्द्वानी के सुशीला तिवारी चिकित्सालय रेफर कर दिया गया। जहां उसने बृहस्पतिवार रात्रि में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। इधर शुकवार को उसका पीएम कराया गया। जिसके बाद उसका गमगीन माहौल में रानीबाग चित्रशिला घाट में अंतिम संस्कार कर दिया गया।

बेटी के अंतिम शब्द: पापा काश मैं आपकी बात मान लेती, ये लोग मुझे मार डालेंगे !
धानाचूली। सूत्रों के अनुसार बेटी के अंतिम शब्द थे – पापा जल्दी यहां आ जाओ, नहीं तो ये लोग मुझे मार डालेंगे। इस पर पापा बोले, बेटा तू चिंता मत कर, मैंने गाड़ी भेज दी है। पहले घर आ जा, फिर देखेंगे क्या करना है। साथ ही वह बार-बार यही कहती रही कि मैंने यहां शादी करके गलती की। काश, मैं आपकी बात मान लेती तो ये दिन नही देखना पड़ता। मेरी जिंदगी खराब हो गयी। यह आखरी शब्द मृतका विमला के थे। इसके बाद वह नही बोली। बताया जा रहा है विमला ने अपने परिजनों की इच्छा के विपरीत अपनी पसंद से विवाह किया था।

Leave a Reply