News

नंदा देवी महोत्सव पर ‘आंचल’ दूध ने दिया झटका

uttarakand dairy federation aanchal brand pahadi ghree almora baal mithai  delivered in country - पहाड़ी घी और अल्माेड़ा की बाल मिठाई की खुशबू अब  देशभर में महकेगीनवीन समाचार, लालकुआं, 1 सितंबर 2022। इधर आज से प्रदेश में नंदा देवी के महोत्सवों की शुरुआत हो रही है, और उधर मदर डेयरी व अमूल से कदमताल करते हुए प्रदेश के अपने दुग्ध ब्रांड आंचल ने भी अपने उपभोक्ताओं को महंगाई का झटका दे दिया है। यह झटका इसलिए भी तेज है कि यह केवल 5 माह में ही दूसरी बार लगा है। इससे पूर्व अमूल ने इसी वर्ष 21 मार्च को दूध के दामों में दो रुपए प्रति लीटर की वृद्धि की थी, अब पुनः दो रुपए प्रति लीटर की वृद्धि कर दी गई है।

इस वृद्धि के बाद राज्य में आधा लीटर स्टेंडर्ड दूध 25 की जगह 26 रुपए का यानी एक लीटर 52 रुपए अलबत्ता, एक लीटर का पैक 49 की जगह 51 रुपए का, टोंड मिल्क 46 की जगह 48 रुपए प्रति लीटर, डबल टोंड मिल्क 45 की जगह 50 रुपए प्रति लीटर, स्किम्ड मिल्क 35 की जगह 40 रुपए प्रति लीटर, फुल क्रीम मिल्क 60 की जगह 62 रुपए प्रति लीटर, मक्खन 430 की जगह 460 रुपए प्रति किलो, क्रीम 360 की जगह 370 रुपए प्रति लीटर कर दिया गया है।

इस बारे में आंचल के मार्केंटिंग हेड संजय भाकुनी ने भाकुनी ने कहा कि वृद्धि का पूरा लाभ दुग्ध उत्पादकों को दिया गया है। वृद्धि अन्य उत्पादों के 10 दिन बाद की गई है। यह भी बताया कि बच्चों के लिए जरूरी पर्वतीय गाय के दूध की कीमतों को नहीं बढ़ाया गया है, इसे 50 रुपए प्रति लीटर ही रखा गया है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : नैनीताल: विश्व दुग्ध दिवस मनाया

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 1 जून 2022। दुनिया भर में आज 1 जून को विश्व दुग्ध दिवस यानी वर्ल्ड मिल्क डे मनाया गया। दूध हमारी जिंदगी में कितना महत्व रखता है, इसके महत्व को समझने और दूध को इस दिन को मनाया जाता है। दूध की इस महत्ता को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र के खाद्य एवं कृषि संगठन ने हर साल 1 जून को विश्व दुग्ध दिवस मनाने की शुरुआत की थी, ताकि दुनिया भर में लोग दूध और दूध निर्मित चीजों की महत्ता एवं उपयोगिता को समझें।

इसी कड़ी में बुधवार को नैनीताल दुग्ध डिपो में स्कूली बच्चो के साथ विश्व दुग्ध दिवस मनाया गया। इस अवसर पर दुग्ध डिपो के प्रभारी बिपिन तिवारी ने बच्चों को आंचल को योग्हर्ट दही भेंट किया और आंचल द्वारा हाल ही में अनेक फ्लेवर्स में लांच की गई आइसक्रीम्स व अन्य उत्पादों की भी जानकारी दी। इस दौरान देश के दुग्ध पुरुष डॉ. वर्गीज कुरियन को भी याद किया गया। इस मौके पर प्रकाश जोशी, जगदीश, नैन सिंह, कैलाश के साथ ही दुग्ध उपभोक्ता चंचल व दलीप फर्त्याल आदि भी मौजूद रहे। अन्य ताज़ा नवीन समाचार पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : आंचल ने नई सरकार के गठन से पहले ही उपभोक्ताओं को दिया जोर का झटका

नवीन समाचार, लालकुआं, 20 मार्च 2022। नैनीताल दुग्ध उत्पादक संघ आंचल ने दुग्ध उत्पादकों को दो रुपए प्रति लीटर का तोहफा देने के बाद दुग्ध उपभोक्ताओं को नई सरकार के गठन से पहले ही दो रुपए प्रति लीटर दरें बढ़ाकर जोर का झटका दे दिया है। दुग्ध संघ के अध्यक्ष मुकेश बोरा ने कहा कि दुग्ध बाजार में प्रतिस्पर्धा में मौजूद अन्य कंपनियों की दूध की दरें अधिक कर देने के बाद उन्हें भी मजबूरी में दो रुपए प्रति लीटर बढ़ाने पड़े हैं।

सबसे अधिक खपत होने वाले स्टैंडर्ड दूध की कीमत में प्रति लीटर 2 रुपए की वृद्धि करते हुए इसे 48 रुपये से 50 रुपये और फुल क्रीम दूध की कीमत 58 रुपये से बढकर 60 रुपये प्रति लीटर कर दी गई है। अन्य दुग्ध उत्पादों व दूध की अन्य पैकिंग में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई हैं। दुग्ध उत्पादकों के लिए दरें बढ़ाने के बाद उत्पादकों को भी दूध की कीमत बढ़ने की आशंका तो थी पर माना जा रहा था कि इसके लिए नई सरकार के गठन का इंतजार किया जाएगा और यह भी उम्मीद भी सरकार बढ़ने वाली कीमतों में कुछ रियायत देगी। लेकिन दुग्ध संघ ने ऐसा नहीं होने दिया। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : एनसीसी के शिविर में अरिन, इशिता, हर्षित व अंजली सम्मानित

A more patriotic and a trained youth: National Cadet Corps (NCC) - Goa  Chronicleडॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 9 जनवरी 2022। एनसीसी की 5 यूके नेवल यूनिट नैनीताल के तत्वाधान में गत तीन जनवरी से नगर के सीआरएसटी इंटरमीडिएट कॉलेज में चल रहे सात दिवसीय वार्षिक प्रशिक्षण कार्यक्रम-2022 का रविवार को विधिवत समापन हो गया। डिप्टी कैम्प कमांडेंट सब लेफ्टिनेंट डॉ. रीतेश साह ने बताया कि शिविर में अरिन राणा व इशिता राजपूत को ‘सीनियर विंग बेस्ट कैडेट लीडिंग कैडेट’ चुना गया। वहीं परेड श्रेणी में हर्षित जोशी को बेस्ट सीनियर डिवीजन कैडेट लीडिंग कैडेट तथा अंजली कांडपाल को बेस्ट सीनियर विंग कैडेट पेट्टी ऑफिसर कैडेट चुना गया। कैंप में राजपूत डिवीजन को विजेता तथा कोलकाता डिवीजन को उप विजेता की ट्रॉफी प्रदान की गई।

समापन अवसर पर बोलते हुए प्रख्यात अंतरर्राष्ट्रीय छायाकार एवं पर्यावरणविद् पद्मश्री अनूप साह ने कैडेटों को उत्तराखंड के पर्यावरण के महत्वपूर्ण आयामों से परिचित कराया। कमान अधिकारी कमांडर डीके सिंहने बताया कि इस सात दिवसीय कार्यक्रम में कैडेटों को वेपन ट्रेनिंग, ड्रिल, सीमैनशिप, राष्ट्रीय एकता की अवधारणा, नेवल ओरियंटेशन, नेवीगेशन, कम्युनिकेशन, पर्यावरण, आपदा प्रबंधन, शिप मॉडलिंग, योग सहित अन्य विषयों के बारे में जानकारी दी गयी।

समापन कार्यक्रम में कैडेटों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इस अवसर पर भारतीय शहीद सैनिक विद्यालय के प्राचार्य बिशन सिंह मेहता, फाल्गुनी सिंह, वीरेंद्र राणा आदि अतिथि उपस्थित रहे। आयोजन में सब लेफ्टिनेंट शैलेन्द्र चौधरी, गोविंद बोरा, नवीन धुसिया व जय बोरा, नितेश चंद्रा, सुनीत बलूनी, जयभान, पंकज ओली, हेमंत कुमार, नवनीत, कमलेश जोशी, भगवत बिष्ट, दीपक साह, रमेश तिवारी, टीपी थापा, कमलेश बोरा, प्रकाश व शोभिन आदि ने योगदान दिया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : आपदा प्रभावितों को सांसद प्रतिनिधि ने भेंट किए राहत के चेक

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 29 अक्टूबर 2021। आपदा पीड़ित परिवारों को सरकार द्वारा आर्थिक सहायता के चेक व राशन सामग्री वितरित किये जा रहे हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को जिला कलक्ट्रेट स्थित तहसील परिसर में केंद्रीय रक्षा व पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट जी के सांसद प्रतिनिधि गोपाल रावत ने एसडीएम प्रतीक जैन की अगुवाई में आपदा प्रभावितों को चेक वितरित किए।

इस अवसर पर भाजपा के मंडल अध्यक्ष आनंद बिष्ट, जिला सह सोशल मीडिया प्रभारी विश्वकेतु वैद्य, महिला मोर्चा की नगर अध्यक्ष दीपिका बिनवाल, ओबीसी मोर्चें की नगर अध्यक्ष ज्योति गोस्वामी, अल्पसंख्यक मोर्चे के नगर अध्यक्ष फैसल कुरैसी, छावनी परिषद के सदस्य बहादुर रौतेला, आरती बिष्ट, विभोर भट्ट, रचित तिवारी, रोहित भाटिया, सचिन जनौटी, अजय कुमार उपाध्याय सहित कई अन्य भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित रहे। अन्य ताज़ा नवीन समाचार पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : आपदा से तेजी से उबर रहा है नैनीताल, देखें कितना हुआ सरकारी सुविधाओं को नुकसान और कितना हो गयीं सुचारू…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 28 अक्टूबर 2021। नैनीताल जनपद में आपदा के दौरान लोक निर्माण विभाग की 116 सड़कें बाधित हुई थी। गुरुवार को लोक निर्माण विभाग ने इनमें से 11 सड़कें अस्थाई रूप से खोल दीं। इसके साथ अब तक कुल 86 सड़कें सुचारू कर दी गई हैंं।

इसी तरह पीएमजीएसवाई की आपदा से जनपद में कुल 65 सड़के बंद हुईं। डीएम धीराज गर्ब्याल ने बताया कि गुरूवार को खोली गई एक सड़क के साथ अब तक 35 सड़कें अस्थाई रूप से खोल दी गई है।

इसी तरह पेयजल विभाग की 294 योजनाएं क्षतिग्रस्त हुई थी। गुरूवार को 40 सहित अब तक कुल इनमें से 128 योजनाएं, विद्युत विभाग की आपदा के दौरान बाधित हुई 600 गॉवों की विद्युत आपूर्ति में से गुरुवार को पांच गॉवों सहित अब तक 589 गॉवों में विद्युत आपूर्ति बहाल, सिचाई महकमे की आपदा के दौरान क्षतिग्रस्त हुई 389 नहरों व गूलों में से गुरुवार को 14 सहित अब तक कुल 62 नहरों का सुचारू कर दिया गया है।

इसके अलावा चिकित्सा विभाग द्वारा निगलाट, रातीघाट, लोहाली, थापली, धनियाकोट, सिमलखा, ऊॅचाकोट, मल्ली सेटी, सुकना, हैडाखान, नौघर व घोडिया हल्सौं में नौ शिविरों का आयोजन किया गया और इनमें 1037 लोगो का परीक्षण कर दवायें और पूर्ति विभाग द्वारा राशन किट भी वितरित की गयीं। अन्य ताज़ा नवीन समाचार पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कल के लिए तीन विशेष व जरूरी कार्यक्रमों की जानकारियां

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 10 सितंबर 2021। कल यानी शनिवार के लिए तीन बड़ी जानकारियां हैं। पहला कल से नैनीताल में नंदा देवी महोत्सव का आयोजन शुरू होने जा रहा है। 1916 से शुरू हुआ यह आयोजन दो विश्व युद्धों के होने के बावजूद लगातार चलता रहा, लेकिन गत वर्ष से कोरोना ने इस आयोजन पर ब्रेक लगाए हैं। पिछले वर्ष काफी सीमित रहने के बाद इस वर्ष इस आयोजन में श्रद्धालु दो वर्ष बाद माता नंदा-सुनंदा के दर्शन कर पाएंगे। कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी (https://navinsamachar.com/nanda-mahotsav/) इस लिंक पर देखी जा सकती है। ‘नवीन समाचार’ भी नंदाष्टमी के दिन से इस आयोजन का लाइव प्रसारण करेगा। वहीं दो अन्य महत्वपूर्ण समाचार निम्नवत् हैं:

प्री-पीएचडी कोर्स वर्क की दो दिवसीय परीक्षा कल से
नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय नैनीताल द्वारा प्री-पीएचडी कोर्स वर्क के 2 प्रश्न पत्रों की परीक्षा 11 और 12 सितंबर को प्रातः 11 बजे से अपरान्ह 2 बजे तक आयोजित की जाएगी। 25 विषयों की इस परीक्षा में 322 अभ्यर्थी शामिल होंगे। परीक्षा कुमाऊं विश्विद्यालय डीएसबी परिसर नैनीताल में आयोजित की जाएगी। परीक्षा हेतु डॉ. आशीष तिवारी को वरिष्ठ केंद्राध्यक्ष बनाया गया है, प्रतियोगी परीक्षाओं को देखते हुए वाणिज्य के शोधार्थियों के प्रथम प्रश्न पत्र की परीक्षा 17 सितंबर को और वाणिज्य विभाग तथा भूगर्भ विज्ञान और जंतु विज्ञान विषय के शोधार्थियों की दूसरे प्रश्न पत्र की परीक्षा 16 सितंबर को होगी। परीक्षा नियंत्रक प्रो. हरीश बिष्ट ने बताया कि परीक्षार्थी अपना प्रवेश पत्र कुमाऊं विश्वविद्यालय के पोर्टल से डाउनलोड कर सकते है।

प्रदेश के सभी न्यायालयों में राष्ट्रीय लोक अदालत कल
नैनीताल। उत्तराखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यपालक अध्यक्ष वरिष्ठ न्यायमूर्ति मनोज कुमार तिवारी के निर्देशों के अनुपालन में शनिवार 11 सितंबर को उच्च न्यायालय नैनीताल तथा राज्य के समस्त जनपद न्यायालयों, बाह्य न्यायालयों, श्रम न्यायालय, ऋण वसूली न्यायाधिकरण देहरादून सहित राज्य उपभोक्ता विवाद प्रतितोष आयोग, जिला उपभोक्ता प्रतितोष आयोग में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जा रहा है। यह जानकारी देते हुए प्राधिकरण के सदस्य-सचिव राजीव कुमार खुल्बे ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में फौजदारी के शमनीय मामले, धारा 138 एनआई एक्ट के मामले, मोटर दुर्घटना प्रतिकर के मामले, वैवाहिक एवं कुटुम्ब न्यायालयों के मामले, श्रम सम्बन्धी मामले, भूमि अर्जन के मामले, दीवानी वाद मामले, राजस्व सम्बन्धी वाद, विद्युत व जलकर बिलों के मामले, वेतन भत्तो एवं सेवानिवृत्ति से सम्बन्धित मामले, बैंक एवं ऋण वसूली से सम्बन्धित तथा सुलह-समझौते के आधार पर निस्तारित हो सकने वाले मामलों का निस्तारण किया जायेगा। अन्य ताज़ा नवीन समाचार पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : ब्रेकिंग नैनीताल: करीब 800 फिट गहरी खाई में गिरा युवक, अभी-अभी बचाया

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 21 अगस्त 2021। बरसात के मौसम में लगातार हादसे हो रहे हैं। शनिवार शाम बरेली से आया एक युवक नगर में खाई में गिर गया। तल्लीताल थाना पुलिस ने उसे बचाने के लिए एसडीआरएफ व अग्निशमन बलों की मदद से बारिश और रात्रि में अधेरे के बावजूद खोज एवं बचाव अभियान चलाया। देखें घटना का एक्सक्लूसिव विडियो :

युवक की पहचान बरेली निवासी रचित पुत्र विजय कुमार के रूप में हुई है। स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना देते हुए बताया कि शनिवार शाम करीब साढ़े सात बजे हल्द्वानी रोड पर पुराने कूड़ा खड्ड के पास स्थित पानी के धारे के पास यह युवक शराब के नशे में घूमते हुए देखा गया था। बाद में वह शराब के नशे में करीब 700-800 फिट गहराई में गिर गया।

सूचना मिलने पर पुलिस, एसडीआरएफ और दमकल विभाग की टीमों ने रात के अंधेरे और बारिश के बावजूद उसे करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद बमुश्किल खाई से बचाया। युवक ने बताया कि वह आज ही बरेली से आया था। नशे के कारण वह साफ-साफ जानकारी नहीं दे पा रहा था। बाद में उसे 108 एंबुलेंस की मदद से बीडी पांडे जिला चिकित्सालय भेज दिया गया। आश्चर्यजनक तौर पर घायल युवक को मामूली चोटें ही आई हैं।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं मंडल के नवनियुक्त आयुक्त ने संभाला कार्यभार, बताईं प्राथमिकताएं

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 17 जुलाई 2021। कुमाऊं मंडल के नवनियुक्त आयुक्त के रूप में वरिष्ठ आईएएस अधिकारी सुशील कुमार ने शनिवार को आयुक्त कार्यालय में एवं उत्तराखंड प्रशासन अकादमी के निदेशक के पद का कार्यभार ग्रहण कर लिया है। आयुक्त कार्यालय पहुंचने पर अपर आयुक्त संजय खेतवाल, कुमाऊँ मंडल विकास निगम के प्रबंध निदेशक नरेद्र भंडारी, अपर जिलाधिकारी केएस टोलिया, संयुक्त मजिस्ट्रेट प्रतीक जैन, जिला विकास प्राधिकरण के सचिव पंकज उपाध्याय, पुलिस अधीक्षक देवेंद्र पिंचा आदि ने पुष्प गुच्छ एवं पौधे भेंटकर उनका स्वागत किया।

इस दौरान उपस्थित प्रेस प्रतिनिधियों से वार्ता करते हुए श्री कुमार ने कहा कि वे कुमाऊं की भौलिक परिस्थितियों के वाकिफ हैं। कोविड की स्थित पर पैनी नजर रखते हुए स्वास्थ्य सुविधाऐं सुदृढ़ की जायेंगी तथा कोविड के कार्यों में लगे कर्मचारियों को प्रोत्साहित किया जायेगा। उन्होंने वर्षाकाल में दैवीय आपदा-बचाव से निपटने के लिए तैयार रहने तथा जनता के प्रति जवाबदेहीयुक्त प्रशासन पर बल देते हुए जनसमस्याओं का प्राथमिकता से निस्तारण करने की बात कही। साथ ही उन्होंने औद्योगिक विकास की ओर बढ़ने और ग्रामीण क्षेत्रों में आजीविका और रोजगार की ओर विशेष ध्यान देने की बात भी कही। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : विषाक्त पदार्थ खाकर पहुंचा थाने बुलाया गया युवक, पत्नी व ससुरालियों के खिलाफ दर्ज हुआ केस

नवीन समाचार, पंतनगर, 19 जनवरी 2021। उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर की पंतनगर थाना पुलिस में उस समय हड़कंप मच गया जब पुलिस के बुलाने पर एक युवक विषपान कर थाने में पहुंच गया। ऐसे में पूछताछ करना भूल कर पुलिस को उसका उपचार कराने के लिए अस्पताल दौड़ना पड़ गया।

हुआ यह कि एक चोरी के मामले में पंतनगर पुलिस को सिडकुल की एक फैक्टरी में कार्यरत व हल्दी में रहने वाले रवि चौहान पुत्र प्यारे लाल चौहान पर शक था। रवि को दबोचने के लिए पंतनगर पुलिस ने पहले उसके पिता प्यारे लाल और उसके छोटे भाई को उठा कर थाने में बैठा लिया। इस पर रवि खुद थाने पहुंच गया। इस पर पुलिस ने उसके भाई व पिता को घर भेज दिया, लेकिन जब उसने बताया कि वह रुद्रपुर गांधी पार्क से विषाक्त पदार्थ खाकर आया है तो पुलिस कर्मियों के भी हाथ-पांव फूल गए। वे तुरंत उसे लेकर अस्पताल पहुंचे और उसके पिता व भाई को भी अस्पताल बुला लिया। इस मामले में एसपी सिटी देवेंद्र पिंचा की ओर से बताया गया कि युवक रवि का अपनी पत्नी से विवाद चल रहा था। उसकी पत्नी ने उस पर दहेज का मुकदमा दर्ज कराया था। इस वजह से वह परेशान था। उसके भाई की तहरीर पर उसकी पत्नी व ससुराल पक्ष के लोगों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया है और मामले की जांच चल रही है।

यह भी पढ़ें : भारी पड़ा पहले नवरात्र पर व्रत तोड़ना, दर्जनों श्रद्धालु अस्पताल में हुए भर्ती

नवीन समाचार, रुड़की, 18 अक्टूबर 2020। रुड़की और आसपास के क्षेत्रों के लोगों को पहली नवरात्र पर व्रत खोलते समय शुद्ध माने जाने वाले कुट्टू के आटे के पकवान खाने भारी पड़ गए। यहां कुट्टू का आटा खाने के बाद दर्जनों लोग बीमार हो गए । बीमार लोगों को रुड़की के सरकारी अस्पताल, विनय विशाल अस्पताल एवं अन्य अस्पतालों में भर्ती करवाया गया। जहां से कुछ लोगों को प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया गया है, जबकि अन्य का उपचार अब भी चल रहा है। वहीं पुलिस उन दुकानों खंगाल रही है जहां से आटा खरीदा गया था।

जानकारी के अनुसार रात करीब 10 बजे रुड़की के सरकारी अस्पताल और विनय विशाल अस्पताल में उल्टी और चक्कर आने के शिकायत लेकर मरीज पहुंचने लगे। जब जानकारी जुटाई गई तो पता लगा कि सभी ने नवरात्रि का व्रत रखा था और शाम के समय कुट्टू के आटे से बना हुआ खाना खाया था। बीमार लोगों में एक-एक परिवार के चार से पांच एवं अन्य परिवारों से 1 से 2 सदस्य शामिल थे। करौंदी भगवानपुर निवासी सुशीला पत्नी रघुवेंद्र ने बताया कि कल परिवार के लोगों ने पहले नवरात्र का व्रत रखा था। शाम को व्रत खोलने के बाद ही उन्होंने कूटू के आटे का सेवन किया और उसके बाद रात करीब 10 बजे से उनकी तबीयत बिगड़ने लगी। उन्हें चक्कर एवं उल्टी आना शुरू हो गया। उन्हें रात 11:30 बजे रुड़की के विनय विशाल हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया।

इसके अलावा सुशीला 49 वर्ष, शैली 27 वर्ष, अनुषी 30 वर्ष,अंकित 30 वर्ष, विनीत 28 वर्ष एवं सुशांत 26 वर्ष का उपचार रुड़की के विनय विशाल में चल रहा है। अस्पताल के चिकित्सकों ने बताया कि उनके यहां देर रात करीब 25 मरीज आये थे, जिसमें से 13 को प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया गया। 12 अभी भर्ती हैं। कुल मिलाकर अभी तक 32 से अधिक लोगों की जानकारी मिली है जिसमें से कुछ सरकारी अस्पताल एवं अन्य अस्पतालों में भर्ती हैं। वही इतनी बड़ी संख्या में लोगों के बीमार होने की सूचना के बाद पुलिस ने दुकानों पर छापेमारी शुरू की और कुट्टू के आटे के सैंपल लिए और जानकारी जुटाई की आटा कहां से आया था। गंगनहर कोतवाली प्रभारी मनोज मेनवाल के नेतृत्व में एसएसआई देवराज शर्मा एवं अन्य पुलिस टीम ने विभिन्न दुकानों पर जाकर जाँच की है। इस संबंध में रुड़की सीओ चंदन सिंह बिष्ट का कहना है कि
पुलिस टीम ने दुकानों पर जाकर चेकिंग की है और फिलहाल दुकानदारों को कुट्टू का आटा बेचने के लिए मना किया है। खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम को भी सूचना दे दी गई है वह आकर आगे की कारवाई करेेंगे।

यह भी पढ़ें : नवदंपति पति-पत्नी के झगड़े-विषपान की झूठी सूचनाओं पर पुलिस को दौड़ाया

नवीन समाचार, नैनीताल, 25 सितंबर 2020। शनिवार शाम करीब साढ़े आठ बजे नगर की तल्लीताल थाने की चीता मोबाइल पुलिस को नवदंपति पति-पत्नी के झगड़े-विषपान की झूठी सूचनाओं पर दो-दो बार दौड़ना पड़ा। चीता मोबाइल टीम के प्रभारी के वरिष्ठ आरक्षी शिवराज राणा ने बताया कि पहली बार खुद को डीएसबी परिसर निवासी बताने वाली शीतल नाम की महिला ने 112 नंबर पर पति से झगड़ा होने की सूचना दी। उसका कहना था कि एक वर्ष पूर्व ही उसका विवाह हुआ है, और पति झगड़ रहा है। इस पर राणा डीएसबी परिसर तक दौड़े। वहां जाकर पता चला कि वह डीएसबी नहीं मल्लीताल थाना पुलिस के कुमाऊं विश्वविद्यालय परिसर में रहते हैं। बाद में महिला शीतल के ससुर रमेश कुमार ने चीता मोबाइल को सूचना दी कि उसके पुत्र महेश कुमार ने पत्नी शीतल से विवाद के बाद विषपान कर लिया है। महेश को बीडी पांडे जिला चिकित्सालय लाया गया है। राणा चिकित्सालय पहुंचे तो चिकित्सकों एवं महेश ने विषपान करने से इंकार किया, बल्कि बताया कि उसे चक्कर आ गया था। अब वह ठीक है। इस पर पुलिस ने भी राहत की सांस ली। बताया गया है कि पिता-पुत्र दोनों कुमाऊं विश्वविद्यालय में कार्यरत हैं।

यह भी पढ़ें : नैनीताल डीएम ने जिला कारगार में अन्य जिलों के बंदियों को रखे जाने पर लगाई रोक…

बन्दियों को जिला कारागार नैनीताल में निरूद्ध किये जाने हेतु अग्रिम आदेशों तक प्रतिबन्धित किया

नवीन समाचार, नैनीताल, 16 सितंबर 2020। जिलाधिकारी एवं जिला मजिस्ट्रेट सविन बंसल ने वर्तमान में कोविड.19 संक्रमण के प्रसार पर नियंत्रण एवं जनपद नैनीताल हेतु जिला कारागार नैनीताल को घोषित कोरोना डिटेंशन सेंटर में दिये गये निर्देशानुसार चिकित्सकीय व्यवस्थाएं सुनिश्चित किये जाने हेतु जनहित के दृष्टिगत अन्य जनपद के बन्दियों को जिला कारागार नैनीताल में निरूद्ध किये जाने हेतु अग्रिम आदेशों तक प्रतिबन्धित किया है। इस अवधि में स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्क्रीनिंग एवं चिकित्सीय परीक्षण, सम्पर्क व्यक्ति की पहचान, प्राईमरी व्यक्तियों के कान्टेक्ट, प्राईमरी कान्टेक्ट के आईसोेलेशन, चिकित्सीय परीक्षण एवं आवश्यकतानुसार सैम्पल लिये जाने एवं सैम्पलों के प्राप्त परिणामों के आधार पर आंकलन किये जाने के उपरान्त प्रतिबन्धो में छूट प्रदान की जायेगी। गौरतलब है कि जिला कारागार नैनीताल में निरूद्ध 70 विचाराधीन बन्दीगणो की आरटीपीसीआर जाॅच में 53 बन्दियों की रिपोर्ट कोरोना पाॅजीटिव पायी गयी थी। जिसके पश्चात जिलाधिकारी नैनीताल के आदेशानुसार इंसीडेंट रेस्पोंस सिस्टम के अन्तर्गत गठित इंसीडेंट रेस्पोंस टीम द्वारा जिला कारागार नैनीताल में रह रहे बन्दियो एवं व्यक्तियों के स्वास्थ्य हित में तथा आम जनमानस में कोविड.19 के प्रसार की प्रबल संभावना होने के दृष्टिगत एवं कोविड.19 के प्रसार की रोकथाम हेतु तत्काल प्रभाव से मुख्य धारा से पृथक किये जाने के साथ ही जिला कारागार परिक्षेत्र को अग्रिम आदेशों तक समस्त प्रकार की गतिविधियों को स्थगित रखते हुए किसी भी प्रकार के आवागमन हेतु बन्द किया जाना तथा अन्य जनपदों से आने वाले सिद्धदोष बन्दियों एवं निरूद्ध बन्दियों के जेल परिसर में आने पर भी सुरक्षा की दृष्टि से रोक लगाये जाने की संस्तुति की गयी थी।
शासन द्वारा जारी निर्देशानुसार प्रदेश में स्थित कारागारों में कोरोना वायरस से पीड़ित व्यक्तियों के जेल के अन्दर प्रवेश करने से पूरी जेल में सभी कैदियों में संक्रमण होने की सभावना को रोकने हेतु तत्काल प्रत्येक जनपद में कोरोना प्रीवेंटिव डिटेंशन सेंटर 100 से 200 क्षमता वाले चिन्हित कर खोले जाने तथा पुलिस द्वारा गिरफ्तार किस भी व्यक्ति को एक माह तक कोरोना प्रीवेंटिव डिटेंशन सेंटर में रखे जाने तथा तत्पश्चात कोरोना वायरस से पीड़ित न होने पर उसे जेल में शिफ्ट किये जाने हेतु कोरोना प्रीवेंटिव डिटेंशन सेंटर स्थापित किये गये हैं। महानिरीक्षक कारागार द्वारा जनपद नैनीताल हेतु जिला कारागार नैनीताल को कोरोना प्रीवेंटिव डिटेंशन सेंटर घोषित किया गया है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल जेल 14 दिन बाद कंटेनमेंट जोन से मुक्त, 123 बंदी हल्द्वानी भेजे, अब यहां आ सकेंगे नैनीताल-यूएस नगर के नये बंदी

नवीन समाचार, नैनीताल, 18 अगस्त 2020। पिछले दिनों 6 कोरोना पॉजिटिव मामले आने के बाद कंटेनमेंट जोन में तब्दील किये नैनीताल जेल के इस दौरान रह रहे 123 बंदियों को मंगलवार जांच में कोरोना की पुष्टि न होने के बाद हल्द्वानी जेल शिफ्ट कर दिया है। इसके बाद अब नैनीताल जेल का फिर से नये रोगियों के लिए कोविद समर्पित आइसोलेशन जेल के रूप में उपयोग किया जा सकेगा। इसके बाद यहां नैनीताल एवं यूएस नगर के नये बंदियों को 14 दिन के लिए रखा जाएगा और यहां उन्हें इस अवधि में कोरोना की पुष्टि न होने पर अन्य जेल में स्थानांतरित किया जाएगा।
नैनीताल कारागार के जेलर रमेश कुमार भारती के अनुसार बीती 31 जुलाई से जेल को कंटेनमेंट जोन घोषित किया था। इस दौरान यहां किसी भी कैदी को नहीं लाया गया। जेल के कंटेनमेंट जोन से हटने के बाद मंगलवार को जेल में मौजूद 130 बंदियों में से किचन में कार्य करने वाले चार बंदियों को छोड़कर शेष 123 बंदियों को पांच वाहनों से हल्द्वानी भेज दिया है। जबकि तीन को रिहा कर दिया है।

यह भी पढ़ें : वैभव, भास्कर, दीपक, पूनम, ज्योति, शिवानी, सोनी आदि को मिलीं हिजामं व वीरांगना वाहिनी में जिम्मेदारियां

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 अगस्त 2020। हिंदू जागरण मंच की जनपद नैनीताल तथा हल्द्वानी महानगर सहित सभी नगरों, ब्लॉकों एवं ग्रामीण इकाइयों की बैठक में नगर के वैभव आर्या को हिंदू जागरण मंच की युवा वाहिनी का नगर अध्यक्ष, भास्कर आर्य को हिंदू जागरण मंच का जिला उपाध्यक्ष व दीपक दास को नगर महांमंत्री तथा वीरांगना वाहिनी में पूनम को नगर अध्यक्ष, ज्योति जोशी को जिला मंत्री, शिवानी पावर और सोनी अनीश एनी को नगर महामंत्री नैनीताल, पूनम सुयाल को नगर उपाध्यक्ष, महिमा मिश्रा, आकांक्षी माड़मी व मीना आगरी को नगर मंत्री तथा यामिनी आर्या एवं दीप्ति बोरा को नगर प्रचार प्रमुख घोषित किया गया। बैठक में हिंदू जागरण मंच के प्रदेश संगठन मंत्री भगवान सिंह कार्की, पान सिंह बिष्ट, नवीन चन्द्र तिवारी, सचिन मोहन सिंह मेहता, हेम चन्द्र जोशी, डॉ. केतकी तारा कुमय्यां, हरीश राणा भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : ब्रेकिंग: अभी-अभी दोस्त के साथ नैनीताल आई हल्द्वानी की नाबालिग किशोरी झील में कूदी

नवीन समाचार, नैनीताल, 4 अगस्त 2020। हल्द्वानी से अपने दोस्त के साथ नैनीताल घूमने आई एक करीब 15-16 वर्षीय किशोरी मंगलवार शाम करीब सात बजे मल्लीताल कैपिटॉल सिनेमा के पास ने नैनी झील में कूद गई। जल्दी पता चल जाने पर सीतापुर निवासी एक सैलानी युवक अभय मिश्रा व मल्लीताल कोतवाली के एसआई हरीश सिंह ने अपनी जान की परवाह किये बिना झील में कूदकर उसकी जान बचा ली। समाचार लिखे जाने तक पुलिस किशोरी व उसके दोस्त को मल्लीताल कोतवाली ले जाकर उनसे पूछताछ व काउंसिलिंग कर रही है। बताया गया है कि किशोरी हल्द्वानी के रामपुर रोड क्षेत्र की निवासी है।

यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग: अभी-अभी विकास दुबे मारा गया

आरोपी विकास दुबे (फाइल फोटो)नवीन समाचार, कानपुर, 10 जुलाई 2020। गत दिवस बिकरू गांव में उसे पकड़ने आए 8 पुलिस कर्मियों की हत्या का दुर्दांत अपराधी विकास दुबे के बारे में बड़ी खबर है। शुक्रवार सुबह करीब पौने आठ बजे उसकी मौत हो गई है। आज सुबह साढ़े छह बजे के करीब उज्जैन से कानपुर लाये जाते समय कानपुर के बाहरी भौती-पनकी इलाके में उस गाड़ी का एक्सीडेंट हुआ, जिसमें एसटीएफ के जवान उसे ला रहे थे। इस दौरान उसने एसटीएफ के जवानों की पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश की। इस पर एसटीएफ व उसके बीच इनकाउंटर हुआ, जिसमें अपुष्ट सूत्रों के अनुसार उसे दो से तीन गोलियां लगी, तथा एसटीएफ के एक-दो जवान भी घायल हुए। उसे हैलेट अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उल्लेखनरीय है कि उसे चार राज्यों में आठ दिन तक भागने के बाद कल ही उज्जैन मंदिर में पकड़ा गया था। उसकी मौत के साथ उसके द्वारा किये जाने वाले कई खुलासों, खास कर उसके मददगार सफेदपोशों के नाम उसकी मौत के साथ ही दफ्न हो गई। उसके पांच साथी भी पहले ही इन्काउंटर में मारे जा चुके हैं।

यह भी पढ़ें : नैनीताल: कोविद अस्पताल के पास पीपीई किट मिलने से हड़कंप 

नवीन समाचार, नैनीताल, 22 जून 2020। नगर में एक कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति आने एवं उसकी वजह से करीब 80 लोगों को संस्थागत आइसोलेशन में भेजने की स्थितियों के बीच सोमवार शाम नगर में एक बार फिर हड़कंप मच गया। हुआ यह कि नगर पालिका सभासद मनोज साह जगाती ने नगर के कोविद समर्पित अस्पताल के रूप में उपयोग में लाये जा रहे रियो ग्रांड होटल के पास सड़क पर एक विक्षिप्त महिला को पीपीई किट से खेलते हुए देखे जाने का दावा किया, और उस महिला के शहर भर में घूमने तथा पीपीई किट के कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने की संभावना के दृष्टिगत इससे बड़ा खतरा बताया। इसके बाद हरकत में आये स्वास्थ्य विभाग एवं पुलिस-प्रशासन ने किट को बरामद कर विधिवत सही तरह से नष्ट करवा दिया गया है। जबकि जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डा. केएस धामी ने हालांकि कहा कि रियो ग्रांड से करीब 100 मीटर दूर धामपुर बैंड के पास मिली पीपीई किट जिला चिकित्सालय के चिकित्सकों व कर्मियों द्वारा प्रयोग की जा रही किट जैसी नहीं है। साथ ही यह नई भी लग रही थी। फिर भी वे पूरे मामले की जांच करवाएंगे।
डा. धामी ने इसके साथ ही बताया कि टीआरएच सूखाताल में नगर के एकमात्र कोरोना संक्रमित के संपर्क में आये करीब 80 लोग आइसोलेशन में रखवा दिये गये हैं। वहीं उन्होंने गुरुग्राम से आकर स्वयं को गाजियाबाद से आया बताकर सात दिन के संस्थागत आइसोलेशन से बचे दो लोगों को लाकर सात दिन के आइसोलेशन में भिजवाने के लिए पुलिस को कहा है।

यह भी पढ़ें : दो वर्ष बाद शुरू हुई नैनीताल में पशु वधशाला, एसडीएम ने किया शुभारंभ 

-45 लाख रुपए से हुआ है निर्माण, प्रतिदिन 15 बकरों व दो भैंसों को बेहोश करके काटा जा सकेगा
नवीन समाचार, नैनीताल, 18 जून 2020।उच्च न्यायालय के आदेश के बाद बृहस्पतिवार को नगर के हरिनगर क्षेत्र में नयी बनी आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित स्लॉटर हाउस यानी पशु वधशाला शुरू हो गयी। एसडीएम विनोद कुमार ने नगर पालिका अध्यक्ष सचिन नेगी, पुलिस क्षेत्राधिकारी विजय थापा एवं नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी अशोक कुमार वर्मा आदि की मौजूदगी में करीब 45 लाख रुपये की लागत से बनी आधुनिक पशु वधशाला का औपचारिक शुभारंभ किया। इसके साथ करीब दो वर्ष बाद नगर में पशु वधशाला उपलब्ध हो गई है। बताया गया कि नगर पालिका ने यहां प्रतिदिन 15 बकरे और दो भैंस काटने का लाइसेंस खाद्य सुरक्षा विभाग से लिया है। शुभारंभ के उपरांत पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. हेमा राठौर, की देखरेख में नियम अनुसार जानवरों को पहले बेहोश करने के बाद काटा गया।
उल्लेखनीय है कि वर्ष 2018 में उच्च न्यायालय ने नियमों के अनुरूप नहीं चलने पर प्रदेश में सभी स्लॉटर हाउस बंद करने के आदेश दिये थे। इस पर नगर पालिका नैनीताल ने 22 सितंबर 2018 को 72 घंटे में स्लॉटर हाउस बंद करने के निर्देश मीट व्यापारियों को दिए थे। तब से स्लॉटर हाउस बंद चल रहे थे। बताया गया है कि नई पशु वधशाला में काटे जाने वाले पशुओं के रक्त को इकट्ठा करने के लिए टैंक बनाए गए हैं। जिसे तकनीकी प्रक्रिया से शोधित किया जाएगा, तथा अन्य गंदगी अन्य टैंक में जाएगी। इस मौके पर नगर पालिका की सभासद रेखा आर्य, अभियंता डीएस मेहरा, स्वास्थ्य निरीक्षक कुलदीप सिंह, गोपाल सिंह नेगी, राजेंद्र जोशी, जाकिर हसन व इकबाल कुरैशी सहित विभागीय कर्मचारी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : एसडीएम ने अवैध खनन करने पर किया पट्टा निरस्त, सवा चार लाख का लगाया जुर्माना

नवीन समाचार, देहरादून, 6 जून 2020। डीएम सविन बंसल के निर्देशों पर कोश्यॉ कुटौली की एसडीएम ऋचा सिंह ने शनिवार को अवैध खनन के खिलाफ छापेमारी की। इस दौरान ग्राम सौनगांव में पुष्कर सिंह त्रिपाठी को आवंटित खनन स्थल की छापेमारी में सीसीटीवी कैमरे में पूर्व की कोई रिकोर्डिंग नहीं मिलने, खनन स्थल पर उपखनिज की तौल हेतु धर्मकांटा नहीं लगाने, गाड़ियों द्वारा ले जाये गये उपखनिज का कोई रिकोर्ड नहीं रखने, मौके पर उपस्थित प्रतिनिधियों के पास पट्टे से सम्बन्धित कोई अभिलेख नहीं होने तथा पट्टा क्षेत्र में कुछ सीमा पिलर क्षतिग्रस्त व कुछ एएफजीएच पीलर मौजूद नहीं पाये जाने व पीलरों से बाहर 504 घनमीटर अवैध खनन पाये जाने पर उत्तराखण्ड खनिज नियमावली 2006 एवं उत्तराखण्ड खनिज नीति 2016 के अनुसार रॉयल्टी का 5 गुना अर्थात 440 प्रति घनमीटर की दर से दो लाख इक्कीस हजार सात सौ आठ रूपये मात्र तथा अर्थ दण्ड के रूप में दो लाख रूपये अर्थात कुल चार लाख इक्कीस हजार सात सौ साठ रूपये आरोपित करने तथा पट्टाधारक के विरूद्ध कठोर अनुशासनात्मक कार्यवाही की संस्तुति की है।
इसके अलावा तल्ला गॉव के नजदीक मॉ गिरजा स्टोन क्रेशर के पास से वाहन संख्या-यूकेे 01सीए-0845 के वाहन चालक सुन्दर सिंह का उप खजिन से भरा वाहन बिना रॉयल्टी के पकड़ा गया। वाहन चालक द्वारा मौके पर कोई भी रॉयल्टी न होने एवं न ही मोबाइल में कोई मैसेज दिखाया। इस पर अवैध उप खनिज में प्रयुक्त वाहन एवं अवैध उप खनिज को जब्त करते हुए अर्थदण्ड लगाया गया।

यह भी पढ़ें : लॉक डाउन में खनन के विरोध में उतरे ग्रामीण

नवीन समाचार, नैनीताल, 8 मई 2020। जमरानी में खनन शुरू होते ही शनिवार की सुबह लोग भड़क गए। कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका जताते हुए सैकड़ों लोग खनन बंद करने को लेकर प्रशासन के खिलाफ नदी में ही धरने पर बैठ गए। ग्रामीणों का गुस्सा देख अफसर मौके पर पहुंचे। वार्ता के बाद खनन बंद होने पर ग्रामीण शांत हुए।
इस मौके पर भौर्सा के पूर्व प्रधान राजू पलड़िया ने बताया कि कोविड-19 महामारी के संक्रमण के चलते ग्रामीण खनन बंद करने को लेकर मांग करते आ रहे हैं। प्रशासन ने उनकी मांग को दरकिनार कर राजस्व की खातिर खनन शुरू किया है। उन्होंने कहा कि जब-तक खनन बंद नहीं हो जाता, तब तक ग्रामीण विरोध करेंगे। अमृतपुर के प्रधान डीके शर्मा ने कहा कि देश भर में कोविड-19 के फैलते संक्रमण के बावजूद सरकार और प्रशासन राजस्व के लिए ग्रामीणों की जान की परवाह किए बिना खनन कराने में लगे हुए हैं। इधर, विधायक राम सिंह कैड़ा ने भी डीएम सविन बंसल से खनन बंद करने को कहा है।

यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग: कुमाऊं मंडल के एकमात्र कर्फ्यूग्रस्त क्षेत्र से कर्फ्यू हटेगा

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 1 मई 2020। उत्तराखंड के कुमाऊं मंडल के एकमात्र कर्फ्यूग्रस्त बनभूलपुरा क्षेत्र में हालतों में सुधार को देखते हुए आगामी 3 मई से कर्फ्यू वापस ले लिया जायेगा। इसके बाद बनभूलपुरा मे भी प्रातः 7 बजे से 1 बजे तक अन्य क्षेत्रोें की भांति भारत सरकार से अनुमन्य आवश्यकीय सेवायें उपलब्ध रहेंगी। कर्फ्यू में ढील देने तथा हटाने के सम्बन्ध में शुक्रवार को डीएम सविन बंसल की अध्यक्षता में एक महत्वपूर्ण बैठक डीएम के शिविर कार्यालय मे देर रात्रि सम्पन्न हुई। इस बैठक में एसएसपी सुनील कुमार मीणा भी उपस्थित रहे। बैठक मे तय किया गया कि अग्रिम आदेशों तक बनभूलपुरा क्षेत्र में कन्टैंनमेंट एवं बफर जोन की स्थिति कायम रखी जायेगी किसी भी व्यक्ति को पास के साथ बनभूलपुरा क्षेत्र मे केवल चिकित्सा आकस्मिकता, अतिआवश्यक, पारिवारिक प्रयोजन आपूर्ति हेतु ही आने व जाने की अनुमति होगी। कर्फ्यू क्षेत्र की बाहरी परिधि पर नियंत्रण पूर्वक बना रहेगा।

यह भी पढ़ें : बिड़ला विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य को पत्नी सहित 14 दिन के भेजा संस्थागत एकांतवास में

-बीमार पुत्र को छोड़कर दिल्ली से वापस आये थे, किसी भी रेड जोन जिले या प्रदेश से जनपद में आने पर 14 दिन के संस्थागत एकांतवास में भेजे जाने के नियम की जद में आने के कारण जाना पड़ा
नवीन समाचार, नैनीताल, 28 अप्रैल 2020। सरोवरनगरी के प्रतिष्ठित बिड़ला विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य अनिल शर्मा एवं उनकी पत्नी आशा शर्मा को मंगलवार को 14 दिन के लिए पर्यटक आवास गृह स्थित इंस्टीट्यूशनल क्वारन्टाइन यानी संस्थागत एकांतवास में भेज दिया गया है। ऐसा इसलिए कि दोनों पति-पत्नी अपने बीमार पुत्र को छोड़कर दिल्ली से वापस आये थे। किसी भी रेड जोन जिले या प्रदेश से जनपद में आने पर 14 दिन के संस्थागत एकांतवास में भेजे जाने के नियम की जद में आने के कारण उन्हें संस्थागत एकांतवास में जाना पड़ा। इस तरह उन्होंने एक उदाहरण भी प्रस्तुत किया है। डा. धामी ने बताया कि आज संस्थागत एकांतवास से पांच लोगों को 14 दिन की अवधि पूरी होने पर घर भेजा गया था, वहीं दो नये लोगों को यहां रखे जाने के बाद यहां रखे गये लोगों की कुल संख्या 11 हो गई है।

बीडी पांडे जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डा. केएस धामी ने बताया कि श्री एवं श्रीमती शर्मा मंगलवार को दिन में स्वयं ही जिला चिकित्सालय में जांच के लिए आये थे। उनमें किसी भी तरह के कोरोना से संबंधित प्रारंभिक लक्षण भी नहीं थे। फिर भी वे स्वयं ही अपने आवास पर होम क्वारन्टाइन पर जाना चाहते थे। किंतु नये नियमों के तहत किसी भी रेड जोन जिले या रेड जोन प्रदेश से जनपद में आने पर 14 दिन के संस्थागत एकांतवास में भेजे जाने का नियम लागू है। इस कारण जिला प्रशासन एवं शासन से दिशा-निर्देश प्राप्त कर उन्हें संस्थागत एकांतवास में भेजा गया। बताया गया है कि वह दोनों गत 26 अप्रैल को अपने पुत्र को छोड़ने दिल्ली गए थे और कल ही वापस नैनीताल आये थे। केंद्र सरकार के आदेश अनुसार जो भी व्यक्ति जिले या प्रदेश के बाहर जाएगा या रेड जोन से प्रदेश में आएगा, उसे 14 दिन के लिए क्वॉरेंटाइन किया जाएगा। इस आदेश पर ही उन्हें 14 दिन के लिए संस्थागत एकांतवास में भेजा गया है।

यह भी पढ़ें : निजामुद्दीन मरकज में शामिल हुए उत्तराखंड लोगों की पहचान के निर्देश

नवीन समाचार, देहरादून, 2 अप्रैल 2020। उत्तराखंड सरकार ने निजामुद्दीन में एक मार्च से 15 मार्च के बीच एक धार्मिक आयोजन में उत्तराखंड के भी कुछ लोगों के हिस्सा लेने की खबरों का संज्ञान लेते हुए प्रदेश के सभी जिला प्रशासनों-जिलाधिकारियों और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में शामिल होकर लौटे प्रदेश की लोगों की पहचान के निर्देश दिये हैं। एक समाचार एजेंसी के अनुसार एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि इन अधिकारियों से ‘तबलीग ए जमात’ के प्रमुख लोगों से बात कर उन्हें अपने समुदाय के सदस्यों को समझाने को भी कहा गया है ताकि वे स्वयं सामने आकर मरकज में शामिल होने के बारे में पुष्टि करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : जेल से बाहर आये, घर तक छोड़े भी गये 49 कैदी

नवीन समाचार, नैनीताल, 30 मार्च 2020। सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों पर उच्च न्यायाय के मुख्य न्यायाधीश द्वारा गठित उच्च स्तरीय समिति के 7 साल से कम सजा वाले कैदियों और छोटे अपराधों वाले विचाराधीन बंदियों की रिहाई के आदेश पर जनपद में 49 बंदियों को सोमवार को जेल से 6 माह की पैरोल व अंतरिम जमानत पर छोड़ दिया गया है। सोमवार को रिहा किये गये कैदियों को जिला प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराये गए वाहन से उनके घरों तक पहुंचा दिया गया है। इनमें से हल्द्वानी जेल से 46 एवं नैनीताल जिला कारागार से तीन कैदियों की रिहाई हुई है। आगे नैनीताल जेल से पांच और कैदियों की रिहाई हो सकती है।
वरिष्ठ जेल अधीक्षक मनोज आर्य ने बताया कि उत्तराखंड में हल्द्वानी की जेल से सर्वाधिक 292 कैदियों को छह माह के पैरोल और अंतरिम जमानत पर छोड़ा जाना है। आज रिहा होने वाले 46 कैदियों में से अधिकांश चोरी और टप्पेबाजी के आरोप में जेल में बंद थे। वहीं नैनीताल जिला कारागार के जेलर रमेश चंद्र भारती ने बताया कि आज तीन कैदियों को आदेश आ जाने के बाद छोड़ा गया। आगे यहां से पांच और कैदियों को छोड़ा जाना है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : सरकारी सस्ता गल्ला दुकान पर लगे आरोप, जांच के बाद हो सकता है लाइसेंस निरस्त

नवीन समाचार, नैनीताल, 29 मार्च 2020। नगर के आल्मा कॉटेज स्थित सरकारी सस्ते-गल्ले की दुकान को लेकर रविवार को हंगामा हो गया। क्षेत्रवासियों ने दुकान स्वामी रेखा जोशी पर अभद्रता एवं राशन न देने का आरोप लगाते हुए मंडलायुक्त से शिकायत कर दी। आरोप लगाया कि अब तक राज्य सरकार द्वारा जारी दाल केवल एक बार ही कार्ड धारकों को दी है, साथ ही फरवरी माह का राशन दिये बिना ही कार्डों में अंकित कर दिया। यह भी आरोप लगाया कि दुकान स्वामी के पति राजकीय सेवा में हैं। इस पर मंडलायुक्त ने डीएम सविन बंसल एवं डीएम ने जिला पूर्ति अधिकारी को मामले की जांच करने के निर्देश दिऐ। आदेशों पर खाद्य निरीक्षक राहुल डांगी ने मौके पर पड़ताल की। दर्जनों कार्ड धारकों के बयान भी लिए, जिनमें अनेक आरोपों की पुष्टि हुई है। बताया गया है कि इस पर दुकान का लाइसेंस निरस्त करने की संस्तुति उच्चाधिकारियों से कर दी है। बताया गया कि दुकान में बड़ी मात्रा में चावल एवं गेहूं भी पाया गया।

यह भी पढ़ें : बड़ा समाचार : उत्तराखंड में 855 कैदी आएंगे जेल से बाहर

-सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों पर उत्तराखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश द्वारा गठित उच्च स्तरीय समिति ने लिया निर्णय

नवीन समाचार, नैनीताल, 27 मार्च 2020। सर्वोच्च न्यायालय के सात साल या उससे कम की सजा या छोटे अपराधों के मुकदमों का सामना कर रहे कैदियों को पैरोल या अंतरिम जमानत देने के आदेश पर उत्तराखंड में 855 कैदी जेल से बाहर आएंगे। सर्वोच्च न्यायालय के कोरोना विषाणु के प्रकोप के दृष्टिगत जेलों में सोसियल डिस्टेंसिंग यानी सामाजिक दूरी बनाने के लिए दिये गए आदेशों पर उत्तराखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति रमेश रंगनाथन द्वारा इस हेतु उत्तराखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष न्यायमूर्ति सुधांशु धूलिया की अध्यक्षता में गठित उच्च स्तरीय समिति ने इस बारे में निर्णय ले लिया है। निर्णय के अनुसार 855 कैदियों को छह माह के लिए पैरोल या अंतरिम जमानत दी जा सकती है। 

उत्तराखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के सदस्य सचिव-जिला जज डा. जीके शर्मा ने शुक्रवार को बताया कि न्यायमूर्ति धूलिया की अध्यक्षता वाली उच्च स्तरीय समिति ने सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों पर शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से जिला विधिक सेवा प्राधिकरणों के साथ बैठक की। बैठक में जिला प्राधिकरणों द्वारा उपलब्ध कराये गए ब्यौरों के अनुसार राज्य में 264 सजायाफ्ता एवं 627 विचाराधीन कैदी सात साल या उससे कम सजा प्राप्त तथा छोटे अपराधों में जेल में बंद हैं मिले। उन्हें उनके अपराध और व्यवहार के आधार पर फिलहाल पैरोल या अंतरिम जमानत दी जा सकती है। लेकिन यह तथ्य भी प्रकाश मं आया कि इनमें से 36 कैदी वर्तमान में अस्वस्थ हैं, इसलिए उन्हें अभी पैरोल या अंतरिम जमानत नहीं दी जा सकती है। कारागार प्रशासन से उनका पूर्ण उपचार कराने तथा उन्हें स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के तहत एकांतवास में रखने को भी कहा गया है। लिहाजा शेष 855 को छह माह के लिए पैरोल या अंतरिम जमानत दिये जाने की संस्तुति करते हुए समिति के सदस्य प्रदेश के गृह सचिव को आदेश दिये गए है। इस बारे में जेल प्रशासन को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के माध्यम से राज्य सरकार या संबंधित न्यायालय को पैरोल या अंतरिम जमानत का प्रार्थना पत्र ऑनलाइन देना होगा। कैदियों को जेल से छोड़ने के बाद लॉक डाउन के नियमों का पालन करते हुए उनके स्थानों तक पहुंचाने को भी कहा गया है। 

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply