Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

काम की खबर : खुशखबरी! ट्रेन की जनरल टिकट से जुड़ा यह नियम हुआ आसान, जानिए रेलवे की नई सेवा के बारे में…

Spread the News

नवीन समाचार, नई दिल्ली 1 जनवरी 2019। रेलवे ने यात्रियों की यात्रा को सुगम बनाने के लिए कई कदम उठाए हैं. हाल ही भारतीय रेलवे ने UTS ऐप लॉन्च किया है. इसके जरिए यात्री घर बैठे जनरल टिकट बुक कर सकते हैं. वेस्टर्न रेलवे की ट्वीट के मुताबिक, UTS ऑन मोबाइल ऐप के द्वारा यात्री उपनगरीय और गैर उपनगरीय स्टेशनों के लिए अनारक्षित टिकट और प्लेटफॉर्म टिकट आसानी से बुक कर सकते हैं वो भी बिना लंबी लाइन में लगे.

कैसे बुक करें टिकट- सबसे पहले अपने मोबाइल में UTS ऐप डाउनलोड करें. इसके बाद अपना नाम, मोबाइल नंबर, आई-डी कार्ड नंबर की जानकारी भरें और रजिस्टर करें. रजिस्टर करने पर एक ओटीपी आपके मोबाइल नंबर में आएगा. अब आपका साइन अप हो सकेगा. इसके बाद आईडी और पासवर्ड आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आएगा. जिसके जरिए UTS लॉग इन होगा. 

  • image description

R-Wallet को करना होगा रिचार्ज- R-Wallet को आप पेटीएम, ऑनलाइन बैंकिंग या क्रेडिट/डेबिट कार्ड के जरिए रीचार्ज कर सकते हैं. इसे आप न्यूनतम 100 रुपये से रिचार्ज कर सकते हैं. रिचार्ज की अधिकतम राशि 10,000 रुपये है. अगर आप 10 हजार का रीचार्ज करते हैं तो 500 का कैशबैक भी उपलब्ध है.

रखें इन बातों का ख्याल
– अनारक्षित टिकट, सीजन टिकट, प्लेटफार्म टिकट भी बुक कर सकते हैं.
– यात्रा टिकट स्टेशन के पांच किमी की परिधि और प्लेटफार्म टिकट दो किमी की दूरी पर बन सकेंगे.
– स्टेशन परिसर में घुसने के बाद टिकट बुक नहीं हो सकेंगे. जिससे यात्री ट्रेन के भीतर टीटीई को देखकर बुक न कर सकें. बल्कि पहले से कर लें.
– अग्रिम टिकट और रियायती टिकट बुक नहीं होंगे, यात्रा वाले दिन ही टिकट बुक होंगे.
– बुक हो चुके पेपरलेस टिकट को शो टिकट में क्लिक कर देखा जा सकता है निरस्त नहीं किया जा सकता.

एक बार में चार टिकट की बुकिंग- इस टिकट पर भी यात्रियों को पीएनआर नंबर दिया जाएगा. एक पीएनआर पर यात्री अधिकतम चार लोगों की टिकट को बुक करा सकेंगे. किस स्टेशन से चलना और किस स्टेशन पर उतरना है, इससे जुड़ा जीपीएस संदेश टिकट बुकिंग के बाद आएगा. टिकट का भुगतान डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, पेटीएम आदि से कर सकेंगे.

Loading...

नवीन समाचार

मेरा जन्म 26 नवंबर 1972 को हुआ था। मैं नैनीताल, भारत में मूलतः एक पत्रकार हूँ। वर्तमान में मार्च 2010 से राष्ट्रीय हिन्दी दैनिक समाचार पत्र-राष्ट्रीय सहारा में ब्यूरो चीफ के रूप में कार्य कर रहा हूँ। इससे पहले मैं पांच साल के लिए दैनिक जागरण के लिए काम कर चुका हूँ। कुमाऊँ विश्वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग से ‘नए मीडिया’ विषय पर शोधरत हूँ। फोटोग्राफ़ी मेरा शौक है। मैं NIKON COOLPIX P530 और अडोब फोटोशॉप 7.0 के साथ फोटोग्राफी कर रहा हूँ। फोटोग्राफी मेरे लिए दुनियां की खूबसूरती को अपनी ओर से चिरस्थाई बनाने का बहुत छोटा सा प्रयास है। एक फोटो पत्रकार के रूप में मेरी तस्वीरों को नैनीताल राजभवन सहित विभिन्न प्रदर्शनियों में प्रस्तुत किया गया, तथा उत्तराखंड की राज्यपाल श्रीमती मार्गरेट अलवा द्वारा सम्मानित किया गया है। कुछ चित्रों को राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार भी प्राप्त हो चुके हैं। गूगल अर्थ पर चित्र उपलब्ध कराने वाली पैनोरामियो साइट पर मेरी प्रोफाइल को 18.85 Lacs से भी अधिक हिट्स प्राप्त हैं।पत्रकारिता और फोटोग्राफी के अलावा मुझे कवितायेँ लिखना पसंद है। काव्य क्षेत्र में मैंने नवीन जोशी “नवेन्दु” के रूप में अपनी पहचान बनाई है। मैंने बहुत सी कुमाउनी कवितायेँ लिखी हैं, कुमाउनी भाषा में मेरा काव्य संकलन उघड़ी आंखोंक स्वींड़ प्रकाशित हो चुका है, जो कि पुस्तक के के साथ ही डिजिटल (PDF) फार्मेट पर भी उपलब्ध होने वाली कुमाउनी की पहली पुस्तक है। मेरी यह पुस्तक गूगल एप्स पर भी उपलब्ध है। ’ यहां है एक पत्रकार, लेखक, कवि एवं छाया चित्रकार के रूप में मेरी रचनात्मकता, लेख, आलेख, छायाचित्र, कविताएं, हिंदी-कुमाउनी के ब्लॉग आदि कार्यों का पूरा समग्र। मेरी कोशिश है कि यहां नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड और वृहद संदर्भ में देश की विरासत, संस्कृति, इतिहास और वर्तमान को समग्र रूप में संग्रहीत करने की….।मेरे दिल में बसता है, मेरा नैनीताल, मेरा कुमाऊं और मेरा उत्तराखंड

Leave a Reply