जानें सामुद्रिक शास्त्र व भविष्य पुराण के अनुसार स्वप्न फल, विभिन्न अंगों के फड़कने और शकुन-अपशकुन के प्रभाव

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

जाने और समझें शरीर के अंगों का फड़कना क्या होता हैं ? जानिए क्या होता हैं अंगों के फड़कने का प्रभाव ??

भारतीय सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार मानव शरीर के विभिन्न अंगों का फड़कना बेहद विशेष होता है। इसके अनुसार हर अंग किसी ना किसी भविष्यवाणी की तरफ इशारा करता है।
हमारे हिन्दु शास्त्रों मे अगों के फङकने को काफी महत्व दिया गया है और उनको शुभाशुभ घटनाओं का पूर्वाभास माना गया है।

ऐसा विश्वास किया जाता है कि पुरुष के शरीर के दाहिने अंगों का फङकना और स्त्री के बांयें अंगों का फङकना शुभ होता है।
✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻🌹🌹🙏🏻🙏🏻
सिर के अलग-अलग हिस्सों का फड़कना….

सिर के अलग-अलग हिस्सों के फड़कने का भिन्न-भिन्न अर्थ होता है जैसे-

मस्तक फड़कने से भौतिक सुखों की प्राप्ति होती है। कनपटी फड़के तो इच्छाएं पूर्ण होती है। सिर के बाँयी ओर के हिस्से में फडकन हो तो इसे बहुत ही शुभ माना गया है। आने वाले दिनों में यात्रा करनी पड सकती है। यदि आपकी यात्रा बिजनेस से सम्बंधित है तो ज्यादा नहीं तो थोडा बहुत लाभ अवश्य होगा. आपके सिर के दांयी ओर के हिस्से में फडकन है तो यह शुभ फलदायक स्थिति है आपको धन, किसी राज सम्मान, नौकरी में पदोंन्नती, किसी प्रतियोगिता में पुरस्कार, लाटरी में जीत, भूमि लाभ आदि की प्राप्ति हो सकती है।

👉🏻👉🏻आपके सिर का पिछला हिस्सा फडकता है तो समझ लीजिए आपका विदेश जाने का योग बन रहा है और वहाँ आपको धन की प्राप्ति भी होने वाली है. लेकिन अपने देश में लाभ की कोई संभवना नहीं है आपके सिर के अगले हिस्से में फडकन हो रही है तो यह स्थिति स्वदेश या परदेश दोनों में ही धन मान प्राप्ति का कारण बन सकती है।

👉🏻👉🏻आपका सम्पूर्ण सिर फडक रहा है तो यह सबसे अधिक शुभ स्थिति है आपको दुसरे का धन मिल सकता है, मुकद्दमे में जीत हो सकती है. राजसम्मान मिल सकता है. या फिर भूमि की प्राप्ति हो सकती है।
✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻🌹🌹🙏🏻🙏🏻
कंठ आदि का फड़कना—
कंठ गला तेज गति से फडकता है तो स्वादिष्ट और मनपसंद भोजन मिलता है. किसी स्त्री का कंठ फडकता है तो उसे गले का आभूषण प्राप्त होता है।
कंठ का बांया भाग फड़कता है तो धन की उपलब्धि कराता है।

👉🏻👉🏻 किसी स्त्री के कंठ के निचले हिस्से का फडकना कम मूल्य के आभूषणों की प्राप्ति की सूचना देता है । कंठ का उपरी भाग फडकता है तो सोने की माला मिलने की संभावना बड जाति है। कंठ की घाटी के नीचे फडकन होती है तो किसी हथियार से घायल होने की संभावना रहती है।

👉🏻🙏🏻सम्पूर्ण मूँछो में फडकन है तो इसका फल बहुत ही शुभ माना गया है इससे दूध, दही, घी, धन धान्य का योग बनता है। अगर आपकी मूंछ का दांया हिस्सा फडकता है तो इसे शुभ समझना चाहिए। आपकी बाँयी मूंछ फडकती है तो आपका किसी से बहस या झगडा हो सकता है।

👉🏻👉🏻आपके तालू में फडकन है तो यह आर्थिक लाभ का शुभ संकेत है. दाया तालू में फडकन है तो यह बिमारी की सूचना दे रहा है। बाये तालू में फडकन है तो आप किसी अपराध में जेल जा सकते है।
✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻🌹🌹🙏🏻🙏🏻
आँख का फड़कना—

👉🏻👉🏻दाहिनी आंख व भौंह फड़के तो समस्त अभिलाषा पूर्ण होती है। बांई आंख व भौंह फड़के तो शुभ समाचार मिलता है। दायीं आँख ऊपर की ओर के फलक में फडकती है तो धन कीर्ति आदि की वृद्धि होती है। नौकरी में पदोन्नति होती है नीचे का फलक फडकता है तो अशुभ होने की संभवना रहती है।
👉🏻👉🏻बाँयी आँख का उपरी फलक फडकता है तो दुश्मन से और अधिक दुश्मनी हो सकती है. नीचे का फलक फडकता है तो किसी से बेवजह बहस हो सकती है और अपमानित होना पड सकता है।
👉🏻👉🏻बाँयी आँख की नाक की ओर का कोना फडकता है जिसका फल शुभ होता है. पुत्र प्राप्ति की सूचना मिल सकती है या किसी प्रिय व्यक्ति से मुलाकात हो सकती है।

👉🏻👉🏻दांयी आँख फडकती है तो यह शुभ फलदायक होता है. लेकिन अगर किसी स्त्री की दांयी आँख फडकती है तो उसे अशुभ माना जाता है।

👉🏻👉🏻दोनों आँखे एक साथ फडकती हो तो चाहे वह स्त्री की हो या पुरुष की उनका फल एक जैसा ही होता है। किसी बिछुडे हुए अच्छे मित्र से मुलाकात हो सकती है।

👉🏻👉🏻दांयी आँख पीछे की ओर फडकती है तो इसका फल अशुभ होता है। बाँयी आँख ऊपर की और फडकती हो तो इसका फल शुभ होता है. स्त्री की बाँयी आँख फडकती हो तो शुभ फल होता है।
👉🏻👉🏻दोनों गाल यदि फड़के तो अतुल धन की प्राप्ति होती है। यदि होंठ फडफ़ड़ाएं तो हितैषी का आगमन होता है। मुंह का फड़कना पुत्र की ओर से शुभ समाचार का सूचक होता है।
👉🏻👉🏻यदि लगातार दाहिनी पलक फडफ़ड़ाए तो शारीरिक कष्ट होता है।

👉🏻👉🏻शरीर के मध्य भागों का फड़कना—
पीठ फड़के तो विपदा में फंसने की संभावना रहती है। दाहिनी ओर की बगल फड़के तो नेत्रों का रोग हो जाता है। पसलियां फड़के तो विपदा आती है। छाती में फडफ़ड़ाहट मित्र से मिलने का सूचक होती है। ह्रदय का ऊपरी भाग फड़के तो झगड़ा होने की संभावना होती है। नितंबों के फड़कने पर प्रसिद्धि व सुख मिलता है।
👉🏻👉🏻यदी आपके पेट में फडकन है तो यह अन्न की समृद्धि की सूचना देता है। यदि पेट का दांया हिस्सा फडक रहा है तो घर में धन दौलत की वृद्धि होगी सुख और खुशहाली बडती है.अगर आपके पेट का बांया हिस्सा फडकता है तो धन समृद्धि धीमी गति से बडती है वैसे यह शुभ नहीं है. पेट का उपरी भाग फडकता है तो यह अशुभ होता है। लेकिन पेट के नीचे का भाग फडकता है तो स्वादिष्ट भोजन की प्राप्ति होती है।

👉🏻👉🏻पीठ दांयी ओर से फडक रही है तो धन धान्य की वृद्धि हो सकती है लेकिन पीठ के बांये भाग का फडकना ठीक नहीं होता है। मुकद्दमे में हार या किसी से झगडा हो सकता है। बायी पीठ में फडकन धीमी हो तो परिवार में कन्या का जन्म होना संभव है और फडकन तेज हो तो अपरिपक्व यानि समय से पहले ही प्रसव हो सकता है। पीठ का उपरी हिस्सा फडक रहा हो तो धन की प्राप्ति होती है और पीठ का निचला हिस्सा फडकता है तो बहुत से मनुष्यों की प्रशंसा मिलने की संभावना रहती है।

👉🏻👉🏻हाथ के विभिन्न हिस्सों का फड़कना–

दाहिनी ओर का कंधा फड़के तो धन-संपदा मिलती है। बांई ओर का फड़के तो सफलता मिलती है या रक्त विकार या वात सम्बन्धी विकार उत्पन्न हो सकते हैं और यदि दोनों कंधे फड़कें तो झगड़े की संभावना रहती है। हथेली में यदि फडफ़ड़ाहत हो तो व्यक्ति किसी विपदा में फंस जाता है। हाथों की अंगुलियां फड़के तो मित्र से मिलना होता है। दाईं ओर की बाजू फड़के तो धन व यश लाभ तथा बाईं ओर की बाजू फड़के तो खोई वस्तु मिल जाती है। दाईं ओर की कोहनी फड़के तो झगड़ा होता है, बाईं ओर की कोहनी फड़के तो धन की प्राप्ति होती है।

👉🏻👉🏻पैर के विभिन्न हिस्सों का फड़कना–
दाहिनी ओर की जांघ फड़के तो अपमान होता है, बाईं ओर की फड़के तो धन लाभ होता है। आपके दांये घुटने में फड़कन है तो आपको सोने की प्राप्ति हो सकती है और यदि दांये घुटने का निचला हिस्सा फडक रहा है तो यह शत्रु पर विजय हासिल करने का संकेत है। आपके बांये घुटने का निचला हिस्सा फडक रहा है तो आपके कार्य पूरा होने की संभावना बड जाती है. बाये घुटने का उपरी हिस्सा फडक रहा है तो इसका फल कुछ नहीं होता है।

👉🏻👉🏻गुप्तांग फड़के तो दूर की यात्रा पर जाना होता है।

दाईं ओर का अंडकोष फड़के तो खोई वस्तु की प्राप्ति होती है, बाईं ओर का फड़के तो पुत्र से सुख और विदेश यात्रा का योग बनता है। दाहिनें पैर का तलवा फड़के तो कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है, बाईं ओर का फड़के तो निश्चित रूप से यात्रा पर जाना होता है।
✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻🌹🌹🙏🏻🙏🏻
इसी प्रकार अलग-अलग अंग के फड़कने के अलग-अलग फल मिलते हैं–

• कण्ठ के फड़कने से ऐश्वर्यलाभ होता है।
• ऐसे ही मुख के फड़कने से मित्र लाभ होता है और होठों का फड़कना प्रिय वस्तु की प्राप्ति का संकेत देता है।
• यदि मस्तक फड़के तो भू-लाभ मिलता है।
• ललाट का फड़कना स्नान लाभ दिलाता है।
• यदि कंधे फड़के तो भोग-विलास में वृद्धि होती है।
• हाथों का फड़कना उत्तम कार्य से धन मिलने का सूचक है।
• वक्षःस्थल का फड़कना विजय दिलाने वाला होता है।
• हृदय फड़के तो इष्टसिद्धि दिलाती है।
• नाभि का फड़कना स्त्री को हानि पहुँचाता है।
• उदर का फड़कना कोषवृद्धि होती है।
• गुदा का फड़कना वाहन सुख देता है।
• दोनों भौंहों के मध्य फड़कन सुख देने वाली होती है।
• कपोल फड़के तो शुभ कार्य होते हैं।
• नेत्र का फड़कना धन लाभ दिलाता है।
• नेत्रकोण फड़के तो आर्थिक उन्नति होती है।
• आँखों के पास फड़कन हो तो प्रिय का मिलन होता है।

जानिए कुछ शुभ – अशुभ शकुन व उनके फल को…

1. यदि प्रातः काल जागते ही शंख, घंटा, भक्ति संगीत आदि का स्वर सुनाई दे तो अत्यंत शुभ होता है। आपका पूरा दिन हर्षपूर्ण बीतेगा।

2. यदि जागने पर सबसे पहले दही या दूध से भरे पात्र पर निगाह पड़े तो भी शुभ समझा जाता है।

3. यदि सुबह सुबहघर में कोई भिखारी माँगने आ जाए तो यह समझिये कि आपका फंसा हुआ या उधार दिया हुआ धन
आपको शीघ्र ही वापस मिलेगा ।

4. यदि घर से किसी कार्य से बाहर जाते हुए तो आपके सामने सुहागन स्त्री अथवा गाय आ जाए तो कार्य में पूर्ण सफलता मिले का योग बनता है ।

5. यदि किसी कार्य से जाते हुए आपके सामने कोई व्यक्ति गुड़ ले जाता हुआ दिखे तो बहुत अधिक लाभ होता है।

6. यदि रास्ते में कोई प्राणी सुन्दर फूल या हरी घास लेकर जाता मिले या आपको किसी दुकान में यह नज़र आ जाये तो बहुत शुभ होता है ।

7. यदि जाते समय मार्ग में कोई भी स्त्री/पुरुष दूध या पानी से भरा बर्तन लेकर दिख जाये तो यह बहुत ही शुभ शकुन होता है ।

8. यदि यात्रा में जाते समय भगवान की आरती ,भजन आदि सुनाई दे तो यह बहुत ही शुभ माना जाता है , आपकी यात्रा के सफल होने के पुरे योग है ।

9. यदि मार्ग में हसंता खेलता हुआ बालक और फल फूल बेचने
वाला कोई नज़र आ जाये तो आपको निसंदेह लाभ की
प्राप्ति होगी ।

10.यदि किसी भी कार्य के लिए जाते समय जब आप कपड़े पहने और आपकी जेब से पैसे गिर
जाएँ तो यह धन प्राप्ति का संकेत है। और यदि कपड़े उतारते
समय भी ऐसा ही हो तो भी
यह शुभ शकुन होता है।

11. यदि आपके शरीर पर चिड़िया बीट कर दे तो यह समझिये की आपकी दरिद्रता दूर
होने वाली है। ये बहुत ही शुभ शकुन हैं ।

12. यदि घर से बाहर निकलते ही आप वर्षा से भीग जाएँ तो यह बहुत ही शुभ शकुन है।

13. यदि घर से बाहर किसी भी कार्य के लिए जाते समय आपको राह में साधू,सन्यासी आदि दिखाई पद जाएँ तो यह भी आपकी यात्रा के लिए अति शुभ शकुन होता है ।

14.ध्यान रखें यदि ब्राह्मण, घोड़ा, हाथी, नेवला , बाज, मोर, दूध,
दही, फल, फूल, कमल, भक्ति संगीत, अन्न, जल से भरा कलश, बंधा हुआ एक पशु,
मछली, प्रज्वलित अग्नि, छाता, वैश्या, कोई भी शस्त्र, कोई भी रत्न, स्त्री, कन्या, धुले हुए वस्त्र सहित धोबी, घी, मिट्टी, सरसों, गन्ना, शव यात्रा, पालकी, ध्वजा, बकरा, अपना प्रिय मित्र, बच्चे के सहित स्त्री, गाय बछड़ा सहित, सफेद बैल,
साधु, कल्पवृक्ष, शहद, शराब, या कूड़े से भरी टोकरी,सामान से लदा वाहन यदि यात्रा के वक्त यह कुछ भी राह में पड़ जाए तो निश्चय ही आपको सफलता प्राप्त होगी।

स्वप्न फल के प्रभाव:

भविष्य पुराण में इस बारे में विस्तार से बताया गया है कि रात के किसी पहर में सोते हुए आपने जो सपना देखा है, उसका क्या मतलब होता है। आइए, जानते हैं सपने में कमल, सोना, चंद्रमा, गाय इत्यादि देखने का क्या मतलब होता है…

1. सपने में इन चीजों का उदय देखना

अगर आप सपने में सूर्य को उदय होते हुए, चंद्रमा या इंद्रधनुष देखते हैं तो इसका अर्थ होता है कि आपको जल्द समृद्धि मिलनेवाली है।

2. इससे मिलता है ऐश्वर्य

माला पहने किसी व्यक्ति को देखना, गाय देखना, बांसुरी की आवाज सुनना, सफेद कमल देखना, दर्पण देखना, सोना, तलवार, खून निकलता हुआ देखना इत्यादि से ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है।

3. समृद्धि में होगी बढ़ोतरी

सपने में पेड़ पर चढ़ना, गाय, भैंस को देखना बहुत ही शुभ माना जाता है। ये सपने इस बात का संकेत होते हैं कि आपको जल्द समृद्धि मिलेगी।

4. ऐसा देखने पर होती है बल में वृद्धि

अगर आप सपने में अपने आपको चांदी के बर्तन, कमल या कमल के पत्ते में खीर खाते हुए देखा है, तो इसका अर्थ है कि आपके शारीरिक बल में वृद्धि शीघ्र ही वृद्धि होगी।

5. विजय देखने पर होता है ऐसा

अगर आप सपने में खुद को किसी से युद्ध करते हुए और जीतते हुए देखते हैं तो इसका अर्थ होता है कि आपको जल्द ही किसी कार्य में सफलता मिलनेवाली है या आप अपने प्रतिस्पर्धियों को मात देनेवाले हैं। आपको सुख की प्राप्ति होगी।

6. सपने में जलना

अगर आपने सपने में अपने शरीर के किसी अंग को आग में जलते हुए देखा है या सपने में आपके सिर में चोट लग गई है तो आपको डरने नहीं, बल्कि खुश होने की जरूरत है। क्योंकि इसका अर्थ होता है कि आपको कहीं से संपत्ति प्राप्त होनेवाली है।

7. सपने में दिख जाए गुरुजन तो

यदि आपने सपने में अपने गुरु, देवता, वृद्ध या ब्राह्मण को देखा है और उन्होंने आपसे कुछ कहा है तो इस बात का ध्यान रखें कि उनकी कही बातें सच साबित होनेवाली हैं।

8. अगर कट जाए सिर तब

अगर सपने में आपका सिर कट गया है, पैर फट गए हैं, या पैरों में बेड़ी पड़ गई है तो इसका अर्थ है कि आपको राज्य की प्राप्ति अथवा राज्य से सम्मान की प्राप्ति होगी। सपने में रोने से हर्ष और खुशी मिलती है।

9. आपने सपने में किया हो पराक्रम

यदि आप सपने में खुद को हाथी पर चढ़ता हुआ देखते हैं, घोड़ा, बैल, श्वेत कमल, ग्रह और तारों का ग्रास देखें, पृथ्वी को उलटकर रख दें, पहाड़ को उखाड़ दें तो इसका अर्थ होता है कि आपको जल्द ही ऐश्वर्य की प्राप्ति और राज्य की तरफ से सम्मान मिलेगा।

10. डरावने सपने सुंदर फल

अगर आप अपने पेट की आंत निकलते हुए और उससे किसी वृक्ष को लपेटते हुए देखें, सपने में पर्वत, समुद्र या नदी पार करें, सुंदरी स्त्री की गोद में बैठें, बहुत-सी महिलाएं आपको आशीर्वाद दें, आपके शरीर को कीड़े खाएं सपने में आप सपना देख रहे हों, मंगलमय चिह्न दिखें तो धन और सेहत दोनों की स्थिति में सुधार होता है।

11. यह भी है ध्यान रखनेवाली बात

जिन सपनों का फल अच्छी चीजों को प्राप्ति होती है यदि उन सपनों को कोई रोगी देखता है तो उसकी बीमारी जल्दी दूर हो जाती है। रात में स्वप्न देखने के बाद प्रात:काल स्नान करके अपने ईष्ट देव को अपना स्वप्न सुनाना चाहिए। आस्था है कि ऐसा करने से अच्छे फल का प्रभाव शीघ्र दिखाई पड़ता है और बुरे प्रभाव बेअसर रहते हैं।

Leave a Reply

Loading...
loading...