एबीवीपी नेताओं के हमलावरों को एसएसपी के संरक्षण का खुला आरोप, बर्खास्त करने की मांग

  • मामले में पिटे हल्द्वानी के छात्र नेता का एसएसपी को अभद्र गालियां देने वाला एक कथित ऑडियो भी वायरल
  • राज्यपाल से गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की मांग
  • अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद कार्यकर्ताओं ने जिला कलक्ट्रेट में प्रभारी अधिकारी को सोंपा ज्ञापन

नैनीताल। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने हल्द्वानी में गत दिवस होलिका दहन के दिन अपने कार्यकर्ताओं के हमलावर बदमाशों को जिले वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के ‘पूरे संरक्षण’ का खुला व सनसनीखेज आरोप लगाया है, और ‘ऐसे अपराधियों को संरक्षण देने वाले जिले के एसएसपी को बर्खास्त कर जिले को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने’ की मांग की है। खास बात यह है कि इस बारे में मंगलवार को जिले के प्रभारी अधिकारी को ज्ञापन देने वाले स्थानीय कार्यकर्ताओं को कोई जानकारी नहीं है। उनका कहना है कि यह ज्ञापन परिषद के प्रदेश नेतृत्व से उन्हें प्राप्त हुआ है, और वे संगठन के निर्देशों का पालन कर रहे हैं। प्रदेश नेतृत्व द्वारा तैयार प्रदेश के राज्यपाल को संबोधित इस ज्ञापन में कहा गया है कि प्रशासन की आड़ में हमलावर अवैध वसूली, लोगों को मारने व नशाखोरी आदि सभी तरह के आपराधिक कार्य करते हैं। लिहाजा हमलावरों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई किये जाने की मांग की गयी है। वहीं मामले में पिटे हल्द्वानी के एक छात्र नेता का एसएसपी को मां की गालिया देने वाला एक कथित ऑडियो भी वायरल हुआ है।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रदेश नेतृत्व के लेटर पैड पर राज्यपाल को भिजवाया गया ज्ञापन :

मंगलवार को अभाविप कार्यकर्ताओं जिला कलक्ट्रेट पहुंचकर प्रभारी अधिकारी अशोक कुमार जोशी को प्रदेश के राज्यपाल को संबोधित एक ज्ञापन सोंपा, जिसमें कहा गया है कि कुमाऊं मंडल के प्रवेश द्वार हल्द्वानी में जिस तरह त्योहार के दिन जानलेवा हमला किया गया, इससे शहर के आम निवासी भी दहशत में आ गये थे। ये बदमाश पूर्व में भी हल्द्वानी में कई वारदातों को अंजाम दे चुके हैं, बावजूद पुलिस उन पर हल्की धाराओं में कार्रवाई कर ही इतिश्री कर लेते हैं, और ये वापस छूटकर अपनी हरकतों पर वापस आ जाते हैं। इसलिए इन्हें चिन्हित कर इन पर गैंगस्टर व गुंडा एक्ट के तहत कार्रवाई कर लगाम लगाने की मांग की है। परिषद के विभाग संयोजक मोहित रौतेला, कॉलेज प्रमुख विशाल वर्मा, नगर प्रमुख मोहित लाल साह सहित कृष्णा जोशी, हरीश राणा, जितेंद्र बंगारी, सुमित बिष्ट, धनंजय रावत, मनोज मेहता, आकाश ठगुन्ना, सूरज जंतवाल, राकेश डंगवाल, पूनम बवाड़ी, प्रमोद कुमार व विकास जोशी अपने हस्ताक्षर युक्त ज्ञापन देने वालों में शामिल रहे।


Loading...

नवीन समाचार

मेरा जन्म 26 नवंबर 1972 को हुआ था। मैं नैनीताल, भारत में मूलतः एक पत्रकार हूँ। वर्तमान में मार्च 2010 से राष्ट्रीय हिन्दी दैनिक समाचार पत्र-राष्ट्रीय सहारा में ब्यूरो चीफ के रूप में कार्य कर रहा हूँ। इससे पहले मैं पांच साल के लिए दैनिक जागरण के लिए काम कर चुका हूँ। कुमाऊँ विश्वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग से ‘नए मीडिया’ विषय पर शोधरत हूँ। फोटोग्राफ़ी मेरा शौक है। मैं NIKON COOLPIX P530 और अडोब फोटोशॉप 7.0 के साथ फोटोग्राफी कर रहा हूँ। फोटोग्राफी मेरे लिए दुनियां की खूबसूरती को अपनी ओर से चिरस्थाई बनाने का बहुत छोटा सा प्रयास है। एक फोटो पत्रकार के रूप में मेरी तस्वीरों को नैनीताल राजभवन सहित विभिन्न प्रदर्शनियों में प्रस्तुत किया गया, तथा उत्तराखंड की राज्यपाल श्रीमती मार्गरेट अलवा द्वारा सम्मानित किया गया है। कुछ चित्रों को राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार भी प्राप्त हो चुके हैं। गूगल अर्थ पर चित्र उपलब्ध कराने वाली पैनोरामियो साइट पर मेरी प्रोफाइल को 18.85 Lacs से भी अधिक हिट्स प्राप्त हैं।पत्रकारिता और फोटोग्राफी के अलावा मुझे कवितायेँ लिखना पसंद है। काव्य क्षेत्र में मैंने नवीन जोशी “नवेन्दु” के रूप में अपनी पहचान बनाई है। मैंने बहुत सी कुमाउनी कवितायेँ लिखी हैं, कुमाउनी भाषा में मेरा काव्य संकलन उघड़ी आंखोंक स्वींड़ प्रकाशित हो चुका है, जो कि पुस्तक के के साथ ही डिजिटल (PDF) फार्मेट पर भी उपलब्ध होने वाली कुमाउनी की पहली पुस्तक है। मेरी यह पुस्तक गूगल एप्स पर भी उपलब्ध है। ’ यहां है एक पत्रकार, लेखक, कवि एवं छाया चित्रकार के रूप में मेरी रचनात्मकता, लेख, आलेख, छायाचित्र, कविताएं, हिंदी-कुमाउनी के ब्लॉग आदि कार्यों का पूरा समग्र। मेरी कोशिश है कि यहां नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड और वृहद संदर्भ में देश की विरासत, संस्कृति, इतिहास और वर्तमान को समग्र रूप में संग्रहीत करने की….। मेरे दिल में बसता है, मेरा नैनीताल, मेरा कुमाऊं और मेरा उत्तराखंड

Leave a Reply

%d bloggers like this: