विज्ञापन सड़क किनारे होर्डिंग पर लगाते हैं, और समाचार समाचार माध्यमों में निःशुल्क छपवाते हैं। समाचार माध्यम कैसे चलेंगे....? कभी सोचा है ? उत्तराखंड सरकार से 'A' श्रेणी में मान्यता प्राप्त रही, 30 लाख से अधिक उपयोक्ताओं के द्वारा 13.7 मिलियन यानी 1.37 करोड़ से अधिक बार पढी गई अपनी पसंदीदा व भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में आपका स्वागत है...‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने व्यवसाय-सेवाओं को अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए संपर्क करें मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व saharanavinjoshi@gmail.com पर... | क्या आपको वास्तव में कुछ भी FREE में मिलता है ? समाचारों के अलावा...? यदि नहीं तो ‘नवीन समाचार’ को सहयोग करें। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने परिचितों, प्रेमियों, मित्रों को शुभकामना संदेश दें... अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में हमें भी सहयोग का अवसर दें... संपर्क करें : मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व navinsamachar@gmail.com पर।

July 25, 2024

लोक सभा चुनाव के मौके पर उत्तराखंड के लाखों तदर्थ व संविदा कर्मियों को मिल सकता है नियमितीकरण का बड़ा तोहफा…

0

नवीन समाचार, देहरादून, 15 मार्च 2024 (Uttarakhand-Lakhs of Workers will be regularize)। उत्तराखंड की धामी सरकार लोक सभा चुनाव के मौके पर राज्य में तदर्थ व संविदा के आधार पर कार्यरत कर्मियों को नियमितीकरण का बड़ा तोहफा देने जा रही है। राज्य की धामी सरकार के मंत्रिमंडल ने उत्तराखंड उच्च न्यायालय के निर्णय के क्रम में विनियमितीकरण नियमावली को मंजूरी दे दी है। इस नीति के अनुसार प्रदेश में 10 वर्ष तक तदर्थ व संविदा कर्मी के रूप में सेवा देने वाले कर्मचारी नियमित हो सकेंगे। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड के हजारों अनियमित कर्मचारियों के नियमितीकरण के लिये उच्च न्यायालय से आया बड़ा फैसला

अब कार्मिक विभाग तय करेगा कट आफ डेट (Uttarakhand-Lakhs of Workers will be regularize)

ucc, Dhami Cabinet ke Faisle, Uttarakhand-Lakhs of Workers will be regularizeअब कार्मिक विभाग नियमावली से लाभान्वित होने वालों की कट आफ डेट तय करने के साथ ही यह तय करेगा कि नियमावली को मौजूदा परिप्रेक्ष्य में किस तरह से लागू किया जाए। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की मंत्रिमडल के इस निर्णय से सरकारी विभागों, निगमों, परिषदों व स्वायत्तशासी संस्थाओं में 10 वर्ष तक लगातार कार्य करने वाले तदर्थ व संविदा कर्मियों के नियमित होने की राह खुल गई है।

बताया गया है कि मंत्रिमंडल की बैठक में अधिकांश मंत्री इस बात के पक्षधर थे कि आज की तिथि तक 10 साल की सेवा पूरी कर चुके जितने भी अस्थायी कर्मचारी हैं, सरकार उन्हें नियमित कर दे। वहीं, मुख्यमंत्री ने कार्मिक एवं न्याय विभाग को इस प्रस्ताव पर न्यायिक व विधिक परामर्श लेने के निर्देश भी दिए।

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार ने वर्ष 2013 में सरकारी विभागों के साथ निगमों, परिषदों एवं स्वायत्तशासी संस्थाओं में काम करने वाले तदर्थ व संविदा कर्मियों के विनियमितीकरण के लिये एक नियमावली तैयार की थी। इसमें प्रविधान किया गया कि वर्ष 2011 में बनाई नियमावली के तहत जो कर्मचारी विनियमित नहीं हो पाए, उन्हें विनियमित किया जाएगा। (Uttarakhand-Lakhs of Workers will be regularize)

https://deepskyblue-swallow-958027.hostingersite.com/big-decision-for-regularization-of-employees/

इसके बाद सरकार ने वर्ष 2016 में संशोधित विनियमितीकरण नियमावली जारी की, जिसमें 10 वर्ष की सेवा अवधि को घटाकर पांच वर्ष तक सीमित कर दिया गया। इसे उच्च न्यायालय में चुनौती दी गई, और उच्च न्यायालय ने नियुक्तियों पर रोक लगा दी थी। (Uttarakhand-Lakhs of Workers will be regularize)

अब बीते फरवरी माह में उच्च न्यायालय ने 2013 की विनियमितीकरण नियमावली को सही ठहराया है, जिसमें 10 साल तक कार्य करने वाले संविदा व तदर्थ कर्मियों को विनियमित करने की व्यवस्था है। न्यायालय के इस निर्णय के क्रम में कार्मिक विभाग ने वर्ष 2013 की विनियमितीकरण नियमावली की तर्ज पर ही संशोधित नियमावली मंत्रिमंडल के समक्ष प्रस्तुत की, जिसे मंत्रिमंडल ने मंजूरी प्रदान कर दी है। (Uttarakhand-Lakhs of Workers will be regularize)

हाई कोर्ट ने दिया था यह आदेश (Uttarakhand-Lakhs of Workers will be regularize)

उल्लेखनीय है कि इस मामले में उत्तराखंड उच्च न्यायालय की खंडपीठ ने इस संबंध में सभी याचिकाओं को निस्तारित करते हुए निर्णय दिया है कि चार दिसंबर 2018 से पूर्व जिन कार्मिकों को नियमितीकरण किया जा चुका है उन्हें नियमित माना जाए और अन्य को दस वर्ष की दैनिक वेतन के रूप में सेवा करने की बाध्यता के आधार पर नियमित किया जा सकता है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप चैनल से, फेसबुक ग्रुप से, गूगल न्यूज से, टेलीग्राम से, कू से, एक्स से, कुटुंब एप से और डेलीहंट से जुड़ें। अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..। (Uttarakhand-Lakhs of Workers will be regularize)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :