विज्ञापन सड़क किनारे होर्डिंग पर लगाते हैं, और समाचार समाचार माध्यमों में निःशुल्क छपवाते हैं। समाचार माध्यम कैसे चलेंगे....? कभी सोचा है ? उत्तराखंड सरकार से 'A' श्रेणी में मान्यता प्राप्त रही, 30 लाख से अधिक उपयोक्ताओं के द्वारा 13.7 मिलियन यानी 1.37 करोड़ से अधिक बार पढी गई अपनी पसंदीदा व भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में आपका स्वागत है...‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने व्यवसाय-सेवाओं को अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए संपर्क करें मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व saharanavinjoshi@gmail.com पर... | क्या आपको वास्तव में कुछ भी FREE में मिलता है ? समाचारों के अलावा...? यदि नहीं तो ‘नवीन समाचार’ को सहयोग करें। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने परिचितों, प्रेमियों, मित्रों को शुभकामना संदेश दें... अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में हमें भी सहयोग का अवसर दें... संपर्क करें : मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व navinsamachar@gmail.com पर।

July 25, 2024

हल्द्वानी हिंसा पर सपा नेता ने चला इमोशनल कार्ड, मरने वालों के लिये की ‘जन्नत’ की दुवा, अब्दुल मलिक को बताया भाई का हत्यारा…

0

SP Leader Played Emotional Card on Haldwani

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 19 फरवरी 2024 (SP Leader Played Emotional Card on Haldwani)। समाजवादी पार्टी के उत्तराखण्ड प्रभारी अब्दुल मतीन सिद्दीकी ने हल्द्वानी में 8 फरवरी को हुई हिंसक घटना पर एक तरह से ‘इमोशनल कार्ड’ चला है। घटना के 11 दिन बाद उन्होंने घटना की कड़े शब्दों में निंदा करने की बात कहते हुये उन्होंने इस घटना में अपने प्राण त्यागने वालों को ‘जन्नतुल फिरदोस में आला मकाम’ की दुवा की है और इस घटना के लिये सबसे पहले गिरफ्तार होने वालों में शामिल अपने भाई जावेद सिद्दीकी को बेकसूर बताया है।

(SP Leader Played Emotional Card on Haldwani) सपा नेता अब्दुल मतीन सिद्दीकी ने उठाई बनभूलपुरा हिंसा की सिटिंग जज से जांच  की, भाई की गिरफ्तारी पर उठाए सवाल | Janpaksh Aajkalसीबीआई या हाईकोर्ट के वर्तमान न्यायाधीश से जाँच की मांग (SP Leader Played Emotional Card on Haldwani)

साथ ही घटना के मुख्य आरोपित अब्दुल मलिक को अपने भाई का हत्यारा भी करार दिया है। साथ ही घटना में राजनीतिक हित साधते हुए इस प्रकरण की सीबीआई या हाईकोर्ट के वर्तमान न्यायाधीश से जाँच की मांग भी उठा दी है। कहीं भी जिला प्रशासन की इस घटना के दौरान संयम बरतने की प्रशंसा नहीं की है।

सिद्दीकी ने कहा है, ‘हल्द्वानी वासियों के साथ-साथ हमारे लिये यह सबसे दुर्भाग्य पूर्ण घड़ी है कि हमें अपनी हल्द्वानी में अपनी जिन्दगी में इस तरह की घटना देखना पड़ी। इस घटना की जितनी भी निंदा की जाये कम है। इस प्रकरण की सीबीआई या हाई कोर्ट के सीटिंग जज के द्वारा जाँच होनी चाहिये, और इस प्रकरण में जो भी दोषी हों उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही होनी चाहिये।

जावेद रो-रोकर मेरी कसम खा रहा था (SP Leader Played Emotional Card on Haldwani)

हल्द्वानी दंगे के दानव पुलिस गिरफ्त में।

उनके भाई जावेद सिद्दीकी के इस प्रकरण में शामिल होने के प्रश्न पर उन्होंने कहा है कि जावेद सिद्दीकी ने ऐसा कोई कार्य नहीं किया है जिससे शहर का माहोल खराब हो। उसने बार-बार लोगों से शान्ति बनाने की अपील की लेकिन भीड़ इतनी उग्र हो चुकी थी कि वह किसी की बात सुनने को तैयार नहीं थी। वैसे भी अगले दिन रात को जब पुलिस जावेद की गिरफ्तारी के लिए आई थी, तब भी वह फोन पर मुझसे रो-रो कर अपने बच्चों की व मेरी कसमें खा-खा कर कह रहा था कि मैं तो लोगों को पत्थरबाजी व हुड़दंग से रोक रहा था। यह मुझे ही क्यों पकड़ने आये हैं।

लेकिन फिर भी प्रशासन ने पता नहीं किन हालातों या किन फुटेजांे के आधार पर उसकी गिरफ्तारी की है। लेकिन मुझे इस बात का विश्वास है कि अगर उसने अपने बच्चों के साथ-साथ मेरी भी कसम खाई है तो मुझे पूरा यकीन है कि वह कम से कम मेरी तो झूठी कसम नहीं खा सकता है। क्योंकि मैंने अपने बहन भाईयों को अपनी औलाद से भी बड़ कर पाला है।

जब मेरे पिता का इंतकाल हुआ था, तब जावेद की उम्र मात्र ढाई साल थी, और सबसे बड़ी बात यह है कि मेरे यहाँ शादी की तैयारियाँ चल रही थी। 15 फरवरी को मेरे छोटे बेटे की शादी थी, और 17 फरवरी को हल्द्वानी के विंटेज ग्रीन में रिसेप्शन था। जो इस प्रकरण के चलते स्थगित करना पड़ा। इसी लिये मेरी सभी पत्रकार साथियों से और जिला व स्थानीय प्रशासन से हाथ जोड़ कर विनती है कि एक बार इस प्रकरण की दुबारा बारीकी से जाँच कराने की कृपा करें। जिससे किसी निर्दोष को सजा के साथ-साथ शर्मिंदगी ना उठानी पड़े।

पूरा शहर मेरे परिवार को जानता है (SP Leader Played Emotional Card on Haldwani)

वैसे भी पूरा शहर मेरे बच्चों व मेरे परिवार को भली भाँति जानता है। हमने अपने बच्चों व परिवार को ऐसे संस्कार कभी नहीं दिये। हम लोगों ने हमेशा हर जगह आपसी भाईचारा बढ़ाने व आपस में प्यार मोहब्बत से रहने का पैगाम ही दिया, और प्रयास भी किया है। हल्द्वानी में कई बार लोगों ने माहौल खराब करने की कोशिश की, लेकिन यहाँ के सभ्रांत व्यक्तियों व लोगों की दुआओं से हमेशा यहाँ का माहौल शांत कराने में सफल रहे हैं। लेकिन 8 फरवरी की घटना की तो हम लोगों ने कभी सपने में भी कल्पना नहीं की थी। (SP Leader Played Emotional Card on Haldwani)

अब्दुल मलिक हमारे भाई का हत्यारा (SP Leader Played Emotional Card on Haldwani)

दूसरी सबसे बड़ी बात यह है कि हम अब्दुल मलिक के मद्दगार तो कभी हो ही नहीं सकते। क्योंकि वह, उसका भाई व भतीजा मेरे छोटे भाई और हर दिल अजीज नेता भाई अब्दुल रऊफ सिद्दीकी के हत्यारे हैं। और उसका मुकदमा अब भी इलाहाबाद हाई कोर्ट में चल रहा है। इसलिये हमारा यही कहना है कि एक बार इसकी बारीकी से निष्पक्ष जाँच हो जाये उसके बाद जो भी दोषी हों उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही होनी ही चाहिये। (SP Leader Played Emotional Card on Haldwani)

साथ ही जिन लोगों ने इस घटना में अपने प्राण त्याग दिये है, उनको अल्लाह ताला जन्नतुल फिरदोस में आला मकाम अता फरमाए और उनके परिवार को इस दुःख को सहन करने की शक्ति प्रदान करे। (SP Leader Played Emotional Card on Haldwani)

साथ ही जो भी पुलिस अधिकारी,कर्मचारी या निगम कर्मचारी व जनता के जो भी लोग घायल हुए हैं। उनके शीघ्र स्वस्थ होने की हम कामना व प्रार्थना करते है। साथ ही उत्तराखण्ड सरकार से मृतक व घायलों को उचित मुआवजा देने की अपील करते हुए जनता से भी आपसी भाईचारा बनाये रखने की एवं अफवाहों से सावधान रहने की अपील करते हैं। (SP Leader Played Emotional Card on Haldwani)

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप चैनल से, फेसबुक ग्रुप से, गूगल न्यूज से, टेलीग्राम से, कू से, एक्स से, कुटुंब एप से और डेलीहंट से जुड़ें। अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..। (SP Leader Played Emotional Card on Haldwani)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :