कुमाऊं : पाषाण युग से रहा है यायावरी का केंद्र

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

      पाषाण युग से यायावरी का केंद्र रहा है कुमाऊं -पाषाणयुगीन हस्तकला को संजोए लखु उडियार से लेकर रामायण व महाभारत काल में हनुमान व पांडवों से लेकर प्रसिद्ध चीनी यात्री ह्वेनसांग, आदि गुरु शंकराचार्य, राजर्षि विवेकानंद, महात्मा गांधी व रवींद्रनाथ टैगोर सहित अनेकानेक ख्याति प्राप्त जनों के कदम पड़े -इनके पथों को भी विकसित किया जाए […]