‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान में नैनीताल डीएम ने की अभिनव पहल, छात्राएं बोलीं-‘थैंक यू डीएम अंकल’

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नियमित रूप से नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड के समाचार अपने फोन पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप में इस लिंक https://t.me/joinchat/NgtSoxbnPOLCH8bVufyiGQ से एवं ह्वाट्सएप ग्रुप से इस लिंक https://chat.whatsapp.com/ECouFBsgQEl5z5oH7FVYCO पर क्लिक करके जुड़ें।

-डीएम ने ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान के तहत अभिनय पहल करते हुए छात्राओं को कराया नैनी झील में नौकायन, झीलों के शहर में रहने के बावजूद अनेक छात्राओं ने पहली बार किया नौकायन

बच्चियों के साथ नौका पर नैनी झील की सैर को निकले डीएम सविन बंसल।

नवीन समाचार, नैनीताल, 17 फरवरी 2020। डीएम सविन बंसल की पहल पर सरोवरनगरी में ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान में एक नया आयाम जोड़ते हुए शहर के विभिन्न विद्यालयों की लभगग 1100 छात्राआंे को नैनी झील में नौकायन का आनंद दिलाया गया। इसमें ऐसी अनेक छात्राएं भी शामिल थीं, जिन्होंने नैनी सरोवर के नगर में रहने के बावजूद नैनी झील में कभी नौकायन नहीं किया था। इसलिए छात्राएं नौकायन कर बेहद आह्लादित नजर आईं। उनके चेहरे पर आत्मविश्वास एवं खुशी के भाव देखे गये। बहुत सी छात्राओं ने तो खुशी में स्वयं नाव की पतवार थाम कर नाव भी चलाईं। वे इतनी प्रसन्न थी कि उन्होने कहा-‘थैक यू डीएम अंकल’। डीएम की इस पहल की नगरवासियों व विद्यालयों द्वारा भी सराहना की गई।
आयोजन के तहत नगर के जीजीआईसी, एशडेल, मोहन लाल साह बालिका विद्यालय, भारतीय शहीद सैनिक स्कूल, कन्या जूनियर हाई स्कूल, बिशप स्कूल, डीएसबी व एनसीसी नेवल विंग की लगभग 1100 छात्राओं ने सोमवार सुबह ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ स्लोगनों के साथ शहर के विभिन्न मार्गो से फ्लैट्स मैदान तक जागरूकता रैली निकाली। यहां डीएम ने स्वयं उनका स्वागत किया। इसके उपरान्त नयना देवी बोट स्टैंड से डीएम बंसल ने नौकायन का शुभांरभ किया। सभी छात्राओं ने भी नयना देवी तथा बोट हाउस क्लब के पास के बोट स्टैंड से ‘बेटी पढाओ’ के स्लोगनों एवं रंग-बिरंगे गुब्बारों से सजी 213 नावों पर नैनी झील में नौकायन का लुत्फ उठाया।
आगेे बोट हाउस क्लब में डीएम बंसल ने बच्चियों को संबोधित करते हुए कहा कि बेटी एवं बेटे में कोई फर्क नहीं है। आज बेटियां अपनी मेहनत से कई उच्च पदों एवं सभी क्षेत्रों में अपनी प्रतिभा से ऊंचाईयों को छूते हुए अपने माता-पिता, देश एवं प्रदेश का नाम रोशन कर रही हैं। उन्होंने बालिकाओ से अपील की कि वे जीवन में जो भी मुकाम हासिल करना चाहती हैं उसके लिए कड़ी मेहनत करें और अपने लक्ष्य प्राप्त करें। डीएम ने कहा, सेवाओं का चुनाव करना बालिकाओं का काम है, उनका मार्गदर्शन करना हमारा दायित्व है। बालिकाएं अपनी अभिरुचि के कार्य क्षेत्र का चुनाव करें ताकि उस क्षेत्र में समाज को सबसे अच्छी सेवा प्रदान कर सकें।
बालिकाओं को तूलिका जोशी ने बालिका पोषण, जिला कार्यक्रम अधिकारी अनुलेखा बिष्ट ने बेटी बचाओं-बेटी पढाओ, प्रोवेशन अधिकारी व्योमा जैन ने महिला कल्याण योजनाओं व महिला हैल्पलाइन की विस्तृत जानकारियां दीं। कार्यक्रम में सीडीओ विनीत कुमार, जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी, उप शिक्षा अधिकारी सुलोचना पांडे ने भी बालिकाओं को सम्बोधित किया।

यह भी पढ़ें : मुख्यमंत्री ने सराही डीएम सविन बंसल की पहल, पूरे प्रदेश में लागू करेंगे…

-सराही गई चार माह में 415 वन पंचायतों में सरपंचों का चुनाव कराने की पहल

चेक वितरित करते डीएम, दर्जा राज्य मंत्री व डीएफओ

नवीन समाचार, नैनीताल, 13 फरवरी 2020। जनपद के डीएम सविन बंसल की अल्प समय में जनपद की सभी वन पंचायतों में सरपंचो का निर्वाचन कराकर नव निर्वाचित सरपंचो को कार्यभार दिलाने की पहल की सूबे के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सराहना की है। डीएम बंसल ने विगत जून में जिले की कमान संभाली थी, तब जिले में केवल 70 वन पंचायतों में ही वन पंचायत सरपंच थे। शेष 415 वन पंचायतों में निर्वाचन प्रक्रिया न होने के कारण वन पंचायते बिना सरपंचो के निष्क्रिय पड़ी थीं। वन पंचायतों के महत्व को ध्यान में रखते हुए डीएम ने सभी एसडीएम को निर्देश दिए थे कि वे तत्परता के साथ रिक्त पड़ी वन पंचायतों में प्राथमिकता के आधार पर निर्वाचन प्रक्रिया सम्पन्न कराये। उनकी इस पहल का यह असर हुआ कि चार महीने के अल्पकाल में ही जनपद की सभी 485 वन पंचायतों में सरपंचो का चुनाव सम्पन्न हुआ और सभी वन पंचायतों को निर्वाचित सरपंच मिल गये। डीएम बंसल की इस मेहनत और कार्यकुशलता को देखते हुए मुख्यमंत्री रावत ने उन्हें शाबासी दी है और कहा है कि उत्तराखण्ड के सभी जनपदों में नैनीताल की तर्ज पर निष्क्रिय वन पंचायतों में निर्वाचन कराकर वन पंचायतों को सक्रिय किया जायेगा।
डीएम बंसल ने बताया कि वन पंचायतों को आर्थिक रूप से सुदृढ़ करने के लिए प्रशासनिक स्तर पर पहल प्रारंभ कर दी गयी है। पिछले पांच साल से डम्प लीसा रॉयल्टी का भुगतान भी वन पंचायतों को नहीं किया जा रहा था। उन्होंने लगभग वर्षों के बाद डम्प लीसा रॉयल्टी में से 20 लाख का भुगतान 30 वन पंचायतों के सरपंचो को कर दिया है। भविष्य में भी यह भुगतान जारी रहेगा। आगे वन पंचायतों को कार्यदायी संस्था के रूप में निर्माण कार्यों के लिए विधायक निधि, सांसद निधि व मनरेगा के माध्यम से कार्य आवंटित किये जायेंगे। उन्होंने विश्वास जताया कि वन पंचायत सरपंच सरकार की योजनाओं के प्रचार-प्रसार के साथ ही योजनाओं को सम्बन्धित क्षेत्रों के लोगों तक पहुॅचाने में सरकार व शासन की मदद करेंगे। वन पंचायतों में महिलाओं के लिए निर्धारित 50 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था भी पुरजोर तरीके से बढ़ायी जायेगी, तथा अनारक्षित वनों में वनाग्नि रोकने के लिए वन पंचायते सक्रियता से कार्य करेंगी, इसके लिए उनको विशेष सुविधाएं एवं प्रशासनिक सहयोग दिया जायेगा। जायका के माध्यम से वन पंचायतों में स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से कार्य कराये जायेंगे। इसके लिए जनपद की सभी वन पंचायतों में महिला स्वयं सहायता समूहों का गठन भी किया जायेगा। प्रशासन वन पंचायतों के नए सिरे से सीमांकन की दिशा में भी कार्य करेगा। वनो के संवर्धन, संरक्षण, वर्षा जल संरक्षण हेतु नई कार्य योजना भी बनाकर धरातल पर कार्य किया जायेगा।

यह भी पढ़ें : ‘बेटी पढ़ाओ’ के लिए डीएम की अच्छी पहल : गरीब घर की बेटी को नर्सिंग कॉलेज में दिलाया दाखिला

नवीन समाचार, नैनीताल 29 जनवरी 2020। गरीब बच्चों के अरमानों को पंख लगाने और उनके लक्ष्य तक पहुंचाने में जनपद के युवा जिलाधिकारी सविन बंसल सदैव आगे रहते हैं। इसी कड़ी में देश में प्रधानमंत्री मोदी के आह्वान पर चल रहे ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान के डीएम बंसल ने जनपद के विकासखंड धारी के सुदूरवर्ती ग्राम सरना की तोक खरंखा पदमपुरी निवासी एक गरीब किसान की बेटी सोनी की पढ़ाई जारी रखने की अच्छा को पूरा किया है। डीएम ने सोनी का दाखिला उसकी अभिलाषा के अनुरूप पाल नर्सिंग कॉलेज हल्द्वानी में जीएनएम कोर्स में करा दिया है। जहां वह पूरी मेहनत से अपनी रुचि के पाठ्यक्रम में अध्ययन कर रही है। डीएम ने बताया कि सोनी की फीस व पढ़ाई के खर्चे की व्यवस्था प्रशासन द्वारा वहन की जायेगी।
बताया गया है कि सोनी के पिता एक गरीब किसान हैं। उनकी चार संतानों में से एक सोनी भी है। सोनी ने राजकीय बालिका इंटर कॉलेज धारी से इंटरमीडिए की परीक्षा 65 फीसदी अंक हासिल कर उत्तीर्ण की। परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण उसके माता-पिता उसे आगे की शिक्षा दिलाने में असमर्थ थे। जब यह बात डीएम बंसल के संज्ञान में आई तो उन्होंने बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी अनुलेखा बिष्ट से बालिका तथा उसके माता-पिता से सम्पर्क करने और भरोसा देने की बात कही कि सोनी की आगे की पढ़ाई डीएम करायेंगे। नतीजा यह हुआ कि सोनी के माता-पिता आगे की पढ़ाई के लिए तैयार हो गए और अपनी सहमति दी। इसके बाद उसे पाल नर्सिंग कॉलेज हल्द्वानी में जीएनएम पाठ्यक्रम में प्रवेश दिला दिया गया है।

यह भी पढ़ें : 160 मीटर लंबी पेंटिंग बनाकर दिया नैनी झील के संरक्षण का संकल्प..

-नगर के लर्निंग ट्री चिल्ड्रन एकेडमी स्कूल की ओर से की गई अभिनव पहल

160 मीटर लंबी पेंटिंग में रंग भरते नगर पालिका अध्यक्ष सचिन नेगी, पालिका सभासद एवं अन्य।

नवीन समाचार,नैनीताल, 2 दिसंबर 2019। नगर के लर्निंग ट्री चिल्ड्रन एकेडमी स्कूल की ओर से सोमवार को एक अभिनव पहल करते हुए 160 मीटर लंबी पेंटिंग बनाकर नैनी झील के संरक्षण का संदेश दिया गया। मल्लीताल बॉस्केटबॉल कोर्ट में बनाई गई इस पेंटिंग में मुख्य अतिथि नगर के प्रथम नागरिक यानी नगर पालिका अध्यक्ष सचिन नेगी, विशिष्ट अतिथि ऑल इंडिया वीमन कांफ्रेंस की अध्यक्ष मुन्नी तिवारी से लेकर नगर पालिका सभासद व विद्यालय की प्रधानाचार्या गजाला कमाल, सभासद भगवत रावत सहित सभी 15 सभासद, विद्यालय की प्रबंधक नाहिदा अफजाल, हिमानी बोरा, आलिया बिलाल, तनूजा आर्या, ममता नेगी, जमाल शानू आदि लोगों एवं विद्यालय के बच्चों ने भी रंग भरकर अपना योगदान दिया।

राज्य के सभी प्रमुख समाचार पोर्टलों में प्रकाशित आज-अभी तक के समाचार पढ़ने के लिए क्लिक करें इस लाइन को…

प्रधानाचार्या श्रीमती कमाल ने बताया कि बनाये गये चित्र में समुद्र एवं समुद्र के अंदर के जल-जीवन का चित्रण करके नैनी झील एवं इसमें रहने वाली मछलियों के संरक्षण का संदेश दिया गया।

Leave a Reply

Loading...
loading...
google.com, pub-5887776798906288, DIRECT, f08c47fec0942fa0

ads

यह सामग्री कॉपी नहीं हो सकती है, फिर भी चाहिए तो व्हात्सएप से 9411591448 पर संपर्क करें..