News

ग्लोबलवार्मिंग का प्रभाव ! तीन माह पूर्व ही “काफल पाको पूसा…!!!” 🤔

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये     नवीन समाचार, नैनीताल, 9 जनवरी 2019। कुमाऊं के सुप्रसिद्ध लोकगीत ‘बेड़ू पाको बारों मासा, ओ नरैंण काफल पाको चैता’ में वर्णित व चैत यानी चैत्र माह के आखिर में पकना शुरू करने वाला और वास्तव में मई-जून की गर्मियों में शीतलता प्रदान करने वाला काफल (वानस्पतिक नाम मैरिका […]

loading...