विज्ञापन सड़क किनारे होर्डिंग पर लगाते हैं, और समाचार समाचार माध्यमों में निःशुल्क छपवाते हैं। समाचार माध्यम कैसे चलेंगे....? कभी सोचा है ? उत्तराखंड सरकार से 'A' श्रेणी में मान्यता प्राप्त रही, 30 लाख से अधिक उपयोक्ताओं के द्वारा 13.7 मिलियन यानी 1.37 करोड़ से अधिक बार पढी गई अपनी पसंदीदा व भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में आपका स्वागत है...‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने व्यवसाय-सेवाओं को अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए संपर्क करें मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व saharanavinjoshi@gmail.com पर... | क्या आपको वास्तव में कुछ भी FREE में मिलता है ? समाचारों के अलावा...? यदि नहीं तो ‘नवीन समाचार’ को सहयोग करें। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने परिचितों, प्रेमियों, मित्रों को शुभकामना संदेश दें... अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में हमें भी सहयोग का अवसर दें... संपर्क करें : मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व navinsamachar@gmail.com पर।

July 24, 2024

इमरजेंसी में चिकित्सक की कनपटी पर पिस्तौल रखकर बोले युवक, ‘इलाज करते हो या हम करें तुम्हारा इलाज…।’

0

नवीन समाचार, देहरादून, 6 मई 2024 (Threat to Doctor-Do you treat us or we treat you)। देहरादून के दून चिकित्सालय में दो युवकों की हरकत से चिकित्सक सकते में आ गये। यहां फिल्मी अंदाज में युवकों ने चिकित्सक की कनपटी पर पिस्तौल तान दी और बोले, ‘इलाज करते हो या हम करें तुम्हारा इलाज…।’ घबराए चिकित्सक ने शोर मचाया तो चिकित्सालय में मरीज और स्टाफ इकट्ठा हो गया।

आक्रोशित कार्य बहिष्कार की घोषणा कर डाली (Threat to Doctor-Do you treat us or we treat you)

(Threat to Doctor-Do you treat us or we treat you) इलाज करते हो या हम करें तुम्हारा इलाज,डॉक्टर को दिखाई युवकों ने पिस्टलइस बीच युवकों को लोगों ने दबोच लिया, लेकिन एक युवक वहां से भागने में सफल रहा। बाद में पुलिस ने आरोपित युवक को पकड़ लिया। युवकों के इस दुस्साहस से चिकित्सकों में रोष व्याप्त हो गया। उन्होंने कुछ देर बाद कार्य बहिष्कार की घोषणा भी कर डाली। इस दौरान करीब दो घंटे तक मरीजों व उनके तीमारदारों को दिक्कतों का सामना भी करना पड़ा।

दून अस्पताल की इमरजेंसी में तैनात डॉ. मुहम्मद आमिर खान ने बताया कि वह शाम सात बजे के आसपास इमरजेंसी के अंदरूनी कक्ष में मरीज को देख रहे थे। उनके साथ और चिकित्सक भी थे। इस बीच दो युवक आए और इलाज करने के लिए कहने लगे। डॉ. आमिर ने उन्हें पर्चा बनाकर लाइन में आने को कहा तो आरोपितों ने अभद्र भाषा का प्रयोग किया और धमकाने लगे। (Threat to Doctor-Do you treat us or we treat you)

इसके बाद एक आरोपित ने पिस्टल दिखाई। इस पर डॉ. आमिर ने चिकित्सालय के सुरक्षा कर्मी को पुकारा तो वह कक्ष के बाहर मौजूद नहीं मिला। अलबत्ता शोर सुनकर पहुंचे अन्य चिकित्सकों व चिकित्सा कर्मियों ने एक आरोपित को पकड़ लिया, लेकिन पिस्टल दिखाने वाला आरोपित भाग निकला। (Threat to Doctor-Do you treat us or we treat you)

पिस्तौल खाली सिगरेट जलाने वाला लाइटर था (Threat to Doctor-Do you treat us or we treat you)

इस दौरान आक्रोशित हुए चिकित्सक कार्य बहिष्कार की धमकी देने लगे, इस कारण दो घंटे तक इमरजेंसी बाधित रही। अलबत्ता इस बीच यह भी पता चला कि दिखाई गयी पिस्तौल नकली था और खाली सिगरेट जलाने वाला लाइटर था। इस पर चिकित्सकों का गुस्सा कुछ शांत हुआ। (Threat to Doctor-Do you treat us or we treat you)

दोनों आरोपित नशे की हालत में थे (Threat to Doctor-Do you treat us or we treat you)

दून चिकित्सालय के एमएस डॉ. अनुराग अग्रवाल ने बताया कि चिकित्सालय में इस तरह की घटनाएं बढ़ रही हैं। इसके लिए पुलिस से सहयोग मांगा गया है। एक पुलिसकर्मी चिकित्सालय में 24 घंटे रहे, ताकि किसी तरह की अनहोनी की आशंका न हो। वहीं शहर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक कैलाश भट्ट ने बताया कि दोनों आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। दोनों आरोपित नशे की हालत में थे। (Threat to Doctor-Do you treat us or we treat you)

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप चैनल से, फेसबुक ग्रुप से, गूगल न्यूज से, टेलीग्राम से, कू से, एक्स से, कुटुंब एप से और डेलीहंट से जुड़ें। अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..। (Threat to Doctor-Do you treat us or we treat you)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :