विज्ञापन सड़क किनारे होर्डिंग पर लगाते हैं, और समाचार समाचार माध्यमों में निःशुल्क छपवाते हैं। समाचार माध्यम कैसे चलेंगे....? कभी सोचा है ? उत्तराखंड सरकार से 'A' श्रेणी में मान्यता प्राप्त रही, 30 लाख से अधिक उपयोक्ताओं के द्वारा 13.7 मिलियन यानी 1.37 करोड़ से अधिक बार पढी गई अपनी पसंदीदा व भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में आपका स्वागत है...‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने व्यवसाय-सेवाओं को अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए संपर्क करें मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व saharanavinjoshi@gmail.com पर... | क्या आपको वास्तव में कुछ भी FREE में मिलता है ? समाचारों के अलावा...? यदि नहीं तो ‘नवीन समाचार’ को सहयोग करें। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने परिचितों, प्रेमियों, मित्रों को शुभकामना संदेश दें... अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में हमें भी सहयोग का अवसर दें... संपर्क करें : मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व navinsamachar@gmail.com पर।

July 24, 2024

वनाग्नि से उत्तराखंड में पर्यटन प्रभावित न हो, केंद्रीय मंत्री ने कहा-उत्तराखंड पर्यटन के लिये पूरी तरह सुरक्षित

0
(Announcement of BJP Tickets)

नवीन समाचार, नैनीताल, 29 अप्रैल 2024 (Tourism in Uttarakhand is safe from Forest Fire)। क्षेत्रीय सांसद एवं केंद्रीय मंत्री अजय भट्ट ने जनपद में वनाग्नि की विभीषिका के बीच जनपद के महेशखान क्षेत्र में भड़की आग का स्थलीय निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने संदेश दिया कि नैनीताल सहित पूरा प्रदेश वनाग्नि की घटनाओं से पर्यटन के लिहाज से बिल्कुल भी प्रभावित नहीं है। पर्यटकों को उत्तराखंड आने में वनाग्नि के दृष्टिगत डरने की जरूरत नहीं है।

(Tourism in Uttarakhand is safe from Forest Fire) वनाग्नि घटनाओं का जायजा लेने पहुंचे केंद्रीय मंत्री अजय भट्ट, कहा- उत्तराखंड  पर्यटन के लिये पूरी तरह सुरक्षित - हिन्दुस्थान समाचारसोमवार को नैनीताल जनपद मुख्यालय के निकट भवाली रेंज के गागर बीट के अंतर्गत महेशखान ईको टूरिज्म यानी पारिस्थितिकी पर्यटन का एक बड़ा प्रसिद्ध केंद्र है। क्षेत्रीय सांसद एवं केंद्रीय मंत्री अजय भट्ट सोमवार को यहां लगी वनाग्नि का पैदल स्थलीय निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कहा कि यहां आग को बुझाने में एसडीआरएफ के साथ एनडीआरएफ भी भी जुटी है। इससे पहले मुख्यमंत्री के भी स्वयं संज्ञान लेने एवं भारतीय सेना के एमआई-17 हेलीकॉप्टर की मदद लेकर मुख्यालय के पास जंगलों में लगी आग को बुझा लिया गया है।

वनाग्नि की घटनाओं से एक भी जनहानि-एक भी पशु हानि नहीं हुई (Tourism in Uttarakhand is safe from Forest Fire)

उन्होंने पर्यटन नगरी में करीब 1500 पर्यटकों के वनाग्नि की घटनाओं के बाद पूर्व में की गयी होटलों की बुकिंग निरस्त किये जाने के सवालों पर कहा कि नैनीताल ही नहीं पूरा प्रदेश वनाग्नि से सुरक्षित है। वनाग्नि की घटनाएं शहरों से दूर जंगलों में हो रही हैं, और इन्हें तत्परता से बुझाया भी जा रहा है। वनाग्नि की घटनाओं से एक भी जनहानि के साथ एक भी पशु हानि भी नहीं हुई है। इसलिये घबराने और बुकिंग निरस्त करने का कोई कारण नहीं है। इस दौरान उन्होंने विभागीय अधिकारियों को भी आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। भ्रमण कार्यक्रम में उनके साथ सांसद प्रतिनिधि गोपाल रावत सहित कई वनाधिकारी एवं पार्टी जन शामिल रहे। (Tourism in Uttarakhand is safe from Forest Fire)

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप चैनल से, फेसबुक ग्रुप से, गूगल न्यूज से, टेलीग्राम से, कू से, एक्स से, कुटुंब एप से और डेलीहंट से जुड़ें। अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..। (Tourism in Uttarakhand is safe from Forest Fire)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :