News

पहली मानसूनी बारिश ने ही ली जान, दहशत…

नवीन समाचार, बेरीनाग, 30 जून 2022। उत्तराखंड में पहली मानसूनी बारिश ने ही जान ले ली है। पिथौरागढ़ जनपद में प्रसिद्ध कोटगाड़ी मंदिर को जाने वाली पांखू-कोटमन्या सड़क पर भारी बारिश से उफान पर आए नाले में बहने से एक व्यक्ति की मौत हो गई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक 47 वर्षीय गणेश पाठक निकटवर्ती ग्राम दशौली के निवासी और यहीं के ग्राम प्रधान गंगा पाठक के पति थे और हल्द्वानी से सामान मंगाकर स्थानीय दुकानों में सामान की आपूर्ति करते थे। इसी सिलसिले में पांखू बाजार से लौटते हुए वह पांखू से दो किलोमीटर आगे तेज गति से उफनते बरसाती नाले को पार करते हुए बाइक सहित बह गए। बाइक तो सड़क के निकट ही फंस गई, और उनकी मौके पर ही मौत हो गई। देखें विडियो :

नाले के पास खेत में धान की रोपाई कर रहे स्थानीय निवासी विनोद एवं अन्य लोगों ने उन्हें बहता देख नाले में उतरकर बचाने का प्रयास किया। काफी मशक्कत के बाद उन्हें नाले से निकाला जा सका, लेकिन तब तक उनकी पानी में डूबने से मौत हो चुकी थी। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भर उसे पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेजा। घटना से पूरे क्षेत्र में शोक की लहर है। साथ ही क्षेत्र के लोगों में बारिश को लेकर दहशत भी व्याप्त हो गई हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : तीन दोस्त नदी में नहा रहे थे, दो डूबे, हुई मौत, तीसरे को पता ही नहीं चला…!

नवीन समाचार, अल्मोड़ा, 26 जून 2022। रविवार को अल्मोड़ा से 10 किमी दूर विश्वनाथ घाट के पास सुयाल नदी में डूबने से दो युवकों की मौत हो गई। स्थानीय लोगों ने नदी से दोनों शवों को निकाला। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में ले कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार को नगर के तीन युवक-23 वर्षीय अभिषेक भारती पुत्र धीरेंद्र बहादुर निवासी मकेड़ी, 19 वर्षीय करन सिंह पुत्र कैलाश सिंह निवासी पोखरखाली व अजय कुमार पुत्र दीप चंद्र निवासी बाड़ीबगीचा नहाने के लिए सुयाल नदी में गए थे। दोपहर करीब एक बजे अभिषेक भारती और करन सिंह ने नदी में नहाने के लिए डुबकी लगाई, और गायब हो गए, जबकि अजय वहीं नदी किनारे पत्थर पर लेटा हुआ था। बताया गया है कि उसे घटना की भनक तक नहीं लगी।

जब काफी देर तक वह नदी से नहीं निकले तो अजय ने मदद के लिए हल्ला करना शुरू किया। इसके बाद वहां से गुजर रही महिला ने पास के गांव में इसकी सूचना दी। घटना के बाद स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे। स्थानीय तैराक आनंद नेगी ने दोनों डूबे युवकों को नदी से निकाला। इसके बाद पुलिस व एसडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंची और दोनों शवों को जिला अस्पताल लेकर आई। जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित किया। एसएसपी प्रदीप कुमार राय ने बताया कि नदी में नहाते समय डूबने से मौत की सूचना मिली है। घटना की जांच की जाएगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद स्थिति साफ होगी। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नदी में गिरा घर का ‘दीपक’, बचाया न जा सका, इसी वर्ष किया था इंटर पास

नवीन समाचार, चंपावत, 25 जून 2022। बरसात में नदियां काल बनने लगी हैं। उत्तराखंड के चंपावत जिले से दुःखद समाार है।यहां नेपाल सीमा से लगे ग्राम नीड़ में एक 17 वर्षीय किशोर की नदी में डूबने से मौत हो गई है। राजस्व विभाग, पुलिस व एसडीआरफ की टीम बमुश्किल उसे टीम खोज पाई। लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका। शव को पुलिस ने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सोंप दिया है। मृतक ने इसी वर्ष इंटरमीडिएट की परीक्षा पास की थी। युवा पुत्र की असामयिक मौत से उसके परिजनों के साथ ही पूरे गांव में शोक छा गया है।

क्षेत्रीय तहसीलदार ज्योति धपवाल व ग्राम प्रधान रमेश राम ने बताया कि 17 वर्षीय दीपक राम पुत्र हयात राम अपने परिवार की दो महिलाओं के साथ शुक्रवार को पास के ही गांव में एक निमंत्रण में जा रहा था। लोहावती नदी पार करते समय उसका पांव फिसल गया और नदी में जा गिरा। उसे तैरना नहीं आता था। इस कारण वह नदी में डूब गया।

सूचना पर पहुंची पुलिस, राजस्व व एसडीआरएफ की टीम ने उसके लिए खोज एवं बचाव अभियान चलाया। देर रात उसे नदी से निकाला गया। जहां से उसे 108 आपातकालीन एंबुलेंस सेवा के माध्यम से मंच स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। जहां चिकित्सकों ने दीपक को मृत घोषित कर दिया। ग्राम प्रधान रमेश राम ने बताया कि दीपक की मौत से पूरे गांव में शोक की लहर है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कश्मीर से चिंताजनक समाचार: उत्तराखंड के 4 लोगों सहित 14 लोगों के दल के साथ कश्मीर में हादसा

-संजीवनी अस्पताल हल्द्वानी के संचालक डॉ. महेश कुमार की 24 घंटे से तलाश जारी…

जम्मू-कश्मीर में ट्रेकिंग के दौरान झील में बहे हल्द्वानी के डॉ. महेश, 24  घंटे बाद भी नहीं लगा सुरागनवीन समाचार, जम्मू, 23 जून 2022। जम्मू-कश्मीर में ट्रेकिंग पर गए संजीवनी अस्पताल हल्द्वानी के संचालक डॉ. महेश कुमार के बारे में चिंताजनक समाचार है। बताया गया है कि डॉ. कुमार जम्मू कश्मीर के अनंतनाग जिले के पहलगाम इलाके में बुधवार को स्थानीय गाइड के साथ तारसर झील में डूब गए थे।

जम्मू कश्मीर के स्थानीय अधिकारियों के हवाले से आई ताजा जानकारी के अनुसार गांदरबल के गगनगीर इलाके के पर्यटक गाइड का शव लिद्दरवट में बरामद कर लिया गया है जबकि लापता पर्यटक डॉ. कुमार का पता लगाने के लिए अभियान जारी है। सभी डॉ. महेश की सलामती की प्रार्थना कर रहे हैं।

बताया गया है कि यह घटना सिकवास इलाके में तारसर झील पर तब हुई जब तीन स्थानीय गाइडों सहित 13 पर्यटकों का एक समूह बुधवार को दर्शन के लिए जा रहा था। समूह ने रात भर तारसर झील में रुकने का फैसला किया था, लेकिन बेमौसम बर्फबारी और भारी बारिश की वजह से उन्होंने पहलगाम लौटने का फैसला किया। अन्य पर्यटक और अन्य गाइड लिद्दरवट में उफान पर बह रही लिद्देर नदी की सहायक नदी पर बने एक अस्थायी पुल को पार करने में सफल रहे, वहीं डॉ महेश कुमार फिसल कर नदी में गिर गए। शकील ने पर्यटक को बचाने के लिए नदी में छलांग लगा दी लेकिन वह भी तेज बहाव में बह गया। तेज पानी के प्रवाह के कारण एक अस्थायी पुल से बह गया था।

पहलगाम के तहसीलदार डॉ मोहम्मद हुसैन मीर ने बताया कि कठिन परिश्रम के बाद जहां गाइड शकील का शव मिल गया है वहीं पर्यटक डॉ महेश को खोजने के लिए ऑपरेशन जारी है। पर्यटकों के संबंध में जैसे ही इनपुट प्राप्त हुए, राजस्व, पुलिस और एनडीआरएफ के प्रशिक्षित कर्मियों वाले बचाव दल की एक विशेष टीम को मौके पर भेजा गया। एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम ने दल के अन्य सदस्यों को वहां से निकाल कर आरू बेस कैंप तक पहुंचा दिया है।

बचाए गए 11 अन्य लोगों में हल्द्वानी के राजेश रोशन, नैनीताल के धरम, उत्तराखंड की कंचन, प्रो. डीवीआर, मुखान कुमैया (बेंगलुरु के प्रोफेसर निजी शिक्षक), बैंगलोर के जय राम, तमिलनाडु के सुकुमार ढांडापानी, विंकास कृष्ण, पहलगाम के स्थानीय मोहम्मद इशाक लोन (पर्यटक गाइड) और परवेज अहमद (पोनी वाला) शामिल हैं।

बताया गया है कि डॉ. महेश कुमार ट्रेकिंग के शौकीन हैं। वह समय-समय पर ट्रूकिंग के लिए दूरस्थ इलाकों में जाते रहे हैं। हाल ही में वह गढ़वाल भी ट्रेकिंग के लिए गए थे। वह अपनी बेटी के साथ संजीवनी अस्पताल का संचालन करते हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : बीए प्रथम वर्ष का छात्र नहाते हुए नाले में डूबा…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 17 जून 2022। मुख्यालय के निकट ज्योलीकोट स्थित नलेना नाले में नहाने गए एक 19 वर्षीय बीए प्रथम वर्ष के छात्र की डूबने से मौत हो गई। पुलिस के नाकाम रहने के बाद किसी तरह एसडीआरएफ ने बमुश्किल छात्र के शव को बरामद किया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार दोपहर करीब ढाई बजे कार्तिक पुत्र बसंत लाल निवासी मल्ला बेलुवाखान अपने छोटे भाई मयंक और तीन अन्य पड़ोसी युवकों के साथ नलेना नाले में नहाने के लिए गया था। साथियों के अनुसार इस दौरान वह अचानक फिसलकर नाले की गहराई में चला गया। साथियों ने उसे बचाने की भरसक कोशिश की, किंतु बचा नहीं पाए।

ज्योलीकोट के चौकी प्रभारी नरेंद्र कुमार ने बताया कि घटना की सूचना पर पुलिस बल मौके पर पहुचा लेकिन डूबे युवक को नहीं तलाशा जा सका। आखिर देर शाम एसडीआरएफ के जवान उसके शव को बमुश्किल बरामद कर पाए। इसके बाद पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। दुर्घटना के बाद मृतक के परिजन बदहवाश हो गए। मृतक के पिता टैक्सी चालक हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नदी में डूबने से ग्राम प्रधान पति की मौत

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 16 जून 2022। जनपद के बेतालघाट में कोसी नदी में डूबने ग्राम प्रधान पति की मौत हो गई। बताया गया है कि मृतक 32 वर्षीय दीपक कुमार की बाजार में आईडिया टावर के पास पेंटिंग की दुकान थी और वह पेंटिंग का काम करता था, और यहीं परिवार सहित रहता था। उसकी पत्नी ग्राम कोरड़ की ग्राम प्रधान है।

बताया गया है दीपक शाम चार बजे बेतालघाट पुल के पास नहा रहा था। इस दौरान वह तैरना न जाने एवं नदी की गहराई का ठीक से अंदाजा न लगा पाने की वजह से कोसी नदी में डूब गया। इससे उसकी मौत हो गयी। वह अपने पीछे पत्नी, एक पुत्र व एक पुत्री को छोड़ गये हैं। बताया गया है कि इन दिनों छुट्टियों की वजह से गांव गई हुई थी। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हृदयविदारक: हल्द्वानी से गर्मी की छुट्टियों में गांव गए तीन बच्चों की नदी में नहाते हुए डूबे, मौत, 1 अन्य की तलाश जारी

नवीन समाचार, कपकोट, 13 जून 2022। बागेश्वर जनपद के कपकोट में सोमवार को दिल दहला देने वाला हादसा हुआ है। क्षेत्र के गोगीना गांव में बर्थी गधेरे में नहाते समय चार किशोर डूब गए। इनमें से तीन के शव बरामद हो गए हैं, जबकि एक की खोजबीन जारी है। घटना से गांव में मातम छा गया है। मृतकों में तीन बच्चे हल्द्वानी में पढ़ते हैं। इन दिनों वह छुट्टी पर मूल गांव गए थे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कपकोट तहसील के गोगिना गांव में सोमवार की सुबह हृदय विदारक घटना हुई। घर से नाश्ता करने के बाद हल्द्वानी से छुट्टियों में परिवार सहित घर आए तीन किशोर एक स्थानीय किशोर के साथ पास ही स्थित बर्थी गधेरे में नहाने गए थे। इस दौरान न जाने क्या हुआ कि चारों गधेरे में बने एक गहरे तालाब में डूब गए। इससे गांव में अफरातफरी मच गई। तत्काल मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने तीन किशोरों को पानी से बाहर निकाल लिया, जबकि एक किशोर नहीं मिल पाया।

दूरस्थ क्षेत्र होने की वजह से प्रशासनिक बचाव दल रात्रि 8 बजे क्षेत्र में पहुंच पाया। को प्रशासन की टीम खोज रही है। जिला आपदा अधिकारी शिखा सुयाल ने बताया कि राजस्व पुलिस, एसडीआरएफ, मास्टर ट्रेनर की टीम घटना स्थल पर पहुंच रही है। चौथे बच्चे को खोजने का प्रयास जारी है। डूबने वालों की पहचान गोगिना गांव के 17 वर्षीय अभिषेक सिंह पुत्र त्रिलोक सिंह, 16 वर्षीय अजय सिंह पुत्र नारायण सिंह, 13 वर्षीय सुरेश सिंह उर्फ पंकज पुत्र दुर्गा सिंह व 14 वर्षीय विक्रम सिंह पुत्र नारायण सिंह शामिल हैं। इनमें से विक्रम का अभी पता नहीं चला है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : ‘नवीन समाचार’ Exclusive : भुजियाघाट में नाले में नहाते हल्द्वानी के एक युवक की मौत, पुलिस कर्मी भी हादसे का शिकार होने से बाल-बाल बचे…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 17 मई 2022। पानी की गहराई का पता लगाए बिना नदी में नहाने के कारण एक और युवक की जान चली गई। बीती यानी सोमवार की शाम हल्द्वानी-नैनीताल रोड पर भुजियाघाट के पास स्थित गधेरे में डूबने से एक युवक की मौत हो गई। इस दौरान पुलिस कर्मी भी हादसे का शिकार होने से बाल-बाल बचे। यह भी पढ़ें :

भयावह हादसा: एडवेंचर पार्क में रोमांच के चक्कर में महिला की चोटी फन कार की चेन में फंसी

प्राप्त जानकारी के अनुसार हल्द्वानी के मुखानी क्षेत्र निवासी करीब 25-26 वर्षीय दो युवक अनिकेत रैक्वाल व शिवम जोशी सोमवार शाम भुजियाघाट के पास के नाले में नहा रहे थे। इस दौरान अनिकेत गधेरे में बने एक तालाब में डूब गया। सूचना मिलने पर चौकी प्रभारी नरेंद्र कुमार की अगुवाई में पुलिस कर्मी मौके पर पहुंचे और अनिकेत को गधेरे से निकालकर सड़क पर लाए।

चौकी प्रभारी श्री कुमार ने बताया कि तब तक आंधी-तूफान आ गया था। अनिकेत की नब्ज चल रही थी। उसे 108 के माध्यम से सुशीला तिवारी चिकित्सालय भेजा गया। इसी दौरान पुलिस के वाहन भी भुजियाघाट में तूफान में टूटकर गिरे एक यूकेलिप्टस के पेड़ की चपेट में आने से बाल-बाल बचे। बाद में पता चला कि सुशीला तिवारी चिकित्सालय में उपचार के दौरान अनिकेट की मौत हो गई। मौसम खराब होने से यह सूचना मीडिया तक भी नहीं पहुंच पाई। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : दु:खद : ईद के बाद घूमने आए एक परिवार के नाबालिग सहित 4 लोगों की मौत, दो गंभीर

कोटद्वार: ईद पर पिकनिक मनाने आए थे, खोह नदी में डूबने से 4 दोस्तों की मौतनवीन समाचार, दुगड्डा-कोटद्वार, 3 मई 2022। ईद के दिन कोटद्वार-दुगड्डा मार्ग पर शाम 4 बजे खोह नदी में डूबने से चार लोगों की मौत हो गयी। मृतकों में एक नाबालिग भी शामिल है। जबकि 2 की हालत गंभीर बनी हुई है। उन्हें कोटद्वार बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सभी हताहत उत्तर प्रदेश के जिला बिजनौर स्थित नगीना थाना क्षेत्र के निवासी थे। दो लोगों को ईद के दिन हुई दुर्घटना के बाद पूरे इलाका गमगीन हो गया है। पुलिस ने मृतकों के शवों को कब्जे में लेकर पंचनामा व पोस्टमार्टम की कार्रवाई शुरू कर दी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार को नगीना निवासी एक परिवार के आठ सदस्य ईद के बाद दुगड्डा घूमने आए थे। शाम को उनमें से 6 लोग दुर्गा मंदिर व आमसौड़ के बीच खोह नदी के पास नहा रहे थे जबकि दो नाबालिग नदी के किनारे बैठे हुए थे। तभी नदी में नहा रहे लोग डूब गए। शाम लगभग 4 बजे स्थानीय पुलिस को नहा रहे कुछ लोगों के डूबने की सूचना मिली। मौके पर दुगड्डा पुलिस व कोतवाल विजय सिंह ने नेतृत्व में पहुंची

एसडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू कर 6 लोगों को गहरे पानी से निकाला। इस दौरान एक नाबालिग सहित 4 लोगों ने दम तोड़ दिया। मृतकों की शिनाख्त नगीना, बिजनौर उत्तर प्रदेश निवासी 42 वर्षीय नदीम पुत्र अनीश, 29 वर्षीय जेब पुत्र शाहिद, 24 वर्षीय गुड्डू पुत्र शाहिद व 15 वर्षीय गालिब पुत्र खालिद निवासी शेखी सराय नगीना, जनपद बिजनौर के रूप में हुई। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : दोस्तों के साथ गर्मी में नदी में नहाना 21 वर्षीय युवक को पड़ा भारी, मौत

नवीन समाचार, बागेश्वर, 17 अप्रैल 2022। बागेश्वर जनपद के बैजनाथ में गोमती नदी में बैराज में नहाते समय एक 21 वर्षीय युवक की डूबने से दर्दनाक मौत हो गई है। मृतक की पहचान उसके पास मिले आधार कार्ड से अल्मोड़ा जिले के बाड़ेछीना के ग्राम सीलगांव के निवासी 21 वर्षीय तुषार बिष्ट पुत्र प्रदीप बिष्ट के रूप में हुई है।

बैजनाथ के थानाध्यक्ष कैलाश बिष्ट ने बताया कि रविवार को कौसानी से कुछ युवक बैजनाथ मंदिर घूमने आए थे। इस बीच गर्मी अधिक होने की बात पर वीटू आर रिजॉर्ट कौसानी में कार्यरत तुषार बैराज में नहाते समय डूब गया। गनीमत रही कि उसका शरीर तत्काल ही पानी की सतह पर आ गया। आसपास के लोगउसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बैजनाथ ले गए। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में पंचायतनामा भरवाने के बाद पोस्टमार्टम के लिए भिजवाने की कार्रवाई शुरू कर दी है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : इस कारण गौला बैराज में डूबे काठगोदाम चौकी प्रभारी अमरपाल….

Imageनवीन समाचार, काठगोदाम, 18 मार्च 2022। होली-दीपावली जैसे त्योहारों एवं जन्मदिन जैसे खास मौकों पर अधिक ऐहतियात बरतने की जरूरत होती है, लेकिन कई लोग ऐसा करते नहीं हैं, और हादसों का शिकार हो जाते हैं। होली के दिन काठगोदाम के गौला बैराज में एक व्यक्ति को डूबने से बचाते हुए काठगोदाम चौकी प्रभारी पुलिस उप निरीक्षक अमरपाल सिंह की दुःखद मौत हो गई है। इससे पुलिस विभाग में शोक की लहर छा गई है। प्रदेश के डीजीपी अशोक कुमार एवं कार्यवाहक मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी कर्तव्य निर्वहन करते हुए उनके निधन पर दुःख जताया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शाम करीब पौने पांचे बजे 2015 में भर्ती हुए व नवंबर 2021 से मल्ला काठगोदाम के चौकी प्रभारी बनाये गये मूलरूप से बरेली व हाल विजयनगर नई बस्ती काशीपुर निवासी व वर्ष 2015 बैच के उप निरीक्षक 34 वर्षीय अमरपाल यादव आरक्षी संजय साहनी व प्रमोद कुमार के साथ गौला बैराज के पास अनावश्यक रूप से घूमने वाले लोगों को बाहर भेज रहे थे। इसी दौरान शीशमहल काठगोदाम में रहने वाला 25 वर्षीय संविदा कर्मी दीपक कोरंगा पुत्र कुंवर सिंह मूल निवासी ग्राम गुलर थाना कपकोट जिला बागेश्वर गौला बैराज में नहाने के दौरान डूबने लगा। उसे बचाने के लिए जल पुलिस का आरक्षी प्रताप गड़िया बैराज में कूदा ओर उसके पीछे दरोगा अमरपाल भी बैराज में कूद पड़े।

दोनों ने दीपक कोरंगा को बचा लिया। प्रताप दीपक को बाहर निकालकर लाने लगा, इसी दौरान अमरपाल सिंह बैराज के भंवर में फंसकर डूबने लगे। उन्हें बचाने के जब तक प्रयास होते वह बैराज के चैनल में डूब गए। इसके बाद उन्हें बैराज के गेट को खुलवाकर बाहर निकलवाकर बृजलाल हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

घटना की सूचना मिलने पर पत्नी के अलावा जनपद के एसएसपी पंकज भट्ट, एसपी सिटी हरबंस सिंह, एसपी क्राइम डा. जगदीश चंद्र व सीओ भूपेंद्र धोनी सहित अनेक वरिष्ठ विभागीय अधिकारी मौके पर पहुँचे और घटना की जानकारी ली। साथ ही पुलिस ने शव को पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। शव का देर शाम पोस्टमार्टम कर दिया गया। रविवार को गार्ड आफ आर्नर के साथ उन्हें अंतिम विदाई दी जाएगी। पूरे मामले की जांच भी की जा रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : होली के दिन नदी में नहाने गए दो बच्चों की मौत…

नवीन समाचार, बनबसा, 18 मार्च 2022। खासकर त्योहारों के दिन विशेष सावधानी रखने की जरूरत होती है, लेकिन कई बार होली उत्साह व उमंग में सावधानी करना भूल जाते हैं और हादसे हो जाते हैं, और रंग में भंग पड़ जाता है। चंपावत जिले के बनबसा में हुड्डी नदी में शुक्रवार को होली के मौके पर नदी में नहाते समय दो नाबालिग बंच्चे डूब गए। सूचना के बाद मौके पर पहुंचे परिजनों और पुलिस कर्मियों ने नदी से निकालकर दोनों बच्चों को अस्पताल पहुंचाया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बच्चों की मौत के बाद से परिजनों के साथ ही पूरे क्षेत्र में होली की खुशियों पर ग्रहण लग गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार सुबह करीब पौने नौ बजे 17 वर्षीय वियोम चंद सोराड़ी पुत्र त्रिलोक चंद सोराड़ी निवासी भजनपुर बनबसा और रितेह बटोला पुत्र महेंद्र बटोला निवासी निकट बैंक ऑफ बड़ौदा बनबसा नहाने के लिए हुडडी नदी में गए थे। नहाते समय दोनों अचानक गहरे पानीे में डूबने लगे। बच्चों के डूबने की खबर सुनकर मौके पर पहुंचे लोगों ने पुलिस को सूचना दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से दोनों नाबालिगों को पानी से बाहर निकाला और 108 एंबुलेंस की मदद से दोनों को टनकपुर के संयुक्त चिकित्सालय ले जाया गया जहा चिकित्सकों द्वारा उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। होली पर्व के दिन ऐसी ह्रदय विदारक घटना के बाद क्षेत्र मे शोक की लहर है। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजने के बाद स्वजनों को सौंप दिया। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नदी में नहाते हुए तीन युवक बहे, दो बचाए….

नवीन समाचार, टनकपुर, 10 अक्टूबर 2021। पूर्णागिरि दर्शन के लिए उत्तर प्रदेश के बरेली और बदायूं से आए तीन युवक शारदा घाट में नहाते हुए नदी की तेज धारा में बह गए। घाट में मौजूद जल पुलिस ने दो श्रद्धालुओं को सकुशल बाहर निकाल लिया जबकि देरी से मिले बरेली निवासी तीसरे श्रद्धालु की उपचार के लिए अस्पताल पहुंचने से पहले ही मौत हो गई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार को सार्थक सक्सेना (22) पुत्र प्रदीप सक्सेना, निवासी सिविल लाइन माल गोदाम रोड बदायूं, पुष्पेन्द्र मौर्य (22) पुत्र दीनदयाल मौर्य, निवासी चित्रांश नगर जिला परिसर बदायूं तथा अभिषेक गुप्ता (23) पुत्र स्वर्गीय राजीव गुप्ता निवासी इंदिरा नगर निकट शिव मंदिर बरेली, शारदा घाट में स्नान कर रहे थे। इस बीच पांव फिसलने से तीनों नदी की धारा में बह गए।

शोरगुल सुनकर वहां मौजूद जल पुलिस के सिपाहियों ने खोज एवं बचाव अभियान चला कर पुष्पेंद्र मौर्य और सार्थक सक्सेना को सकुशल बाहर निकाल लिया। जबकि अभिषेक गुप्ता भंवर की चपेट में आ गया था। उसे ढूंढने के लिए जल पुलिस ने एक घंटे तक सर्च ऑपरेशन चलाया, और युवक को नदी से निकालकर उपचार के लिए संयुक्त चिकित्सालय ले जाया गया लेकिन अस्पताल पहुंचने से पूर्व ही उसने दम तोड़ दिया।

चिकित्सक डॉ. मो. उमर और डॉ. सुमित ने बताया कि फेफड़ों में पानी भरने और दम घुटने के कारण अभिषेक की मौत हो गई। मनिहारगोठ चौकी प्रभारी जितेंद्र बिष्ट ने बताया कि शव का पंचनामा भरने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। बचाए गए युवक सार्थक सक्सेना ने बताया कि तीनों लोग साथ आए थे। मां पूर्णागिरी के दर्शन करने के बाद वे स्नान के लिए शारदा घाट आए थे। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : सुबह-सुबह नदी में नहाने गईं तीन युवतियां नदी में बहीं, एसडीआरएफ तलाश में जुटी..

नवीन समाचार, देहरादून, 3 अक्टूबर 2021। रविवार सुबह तड़के तीन महिलाओं के नदी के तेज बहाव में बहने का दुःखद समाचार है। प्राप्त जानकारी के अनुसार हरियाणा की तीन महिलाएं अपने परिवार के साथ देहरादून के हरिपुरकलां रायवाला में आई थीं।

सुबह करीब पांच बजे वह गीता कुटीर घाट पर नहा रही थीं, तभी तीनों नदी के तेज बहाव में बह गईं। घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और एसडीआरएफ की मदद से महिलाओं की तलाश शुरू कर दी है। फिलहाल तीनों का कोई पता नहीं चल पाया है।

जानकारी के अनुसार अपने परिजनों के साथ उत्तराखंड घूमने आई एक युवती और दो महिलाएं रात में एक आश्रम में रुकी हुई थीं। रविवार सुबह करीब 5 बजे जब वह कुटीर घाट पर नहाने के लिए पहुंची तो देखते ही देखते बह गई, जिसके बाद परिजनों में कोहराम मच गया। बहने वालों में 24 वर्षीया नेहा पुत्री सतवीर सिंह, 36 वर्षीया कुसुम पत्नी राजेश और 34 वर्षीया सीमा पत्नी नरेंद्र शामिल हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : 6 व 10 वर्षीय दो मासूम भाई नदी में बहे, एक शव बरामद

नवीन समाचार, कपकोट (बागेश्वर), 26 सितंबर 2021। बागेश्वर जिले के कपकोट में सरयू नदी में दो सगे 6 व 10 वर्षीय भाई नदी पार करते हुए बह गए। एसडीआरएफ की टीम ने 10 वर्षीय बड़े भाई का शव बरामद कर लिया, दूसरे की तलाश जारी है। हादसे के बाद से परिवार में कोहराम मचा है, जबकि गांव में शोक की लहर है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार भयूं गांव निवासी प्रकाश राम के पुत्र 10 वर्षीय मोहित और छह वर्षीय सुमित रविवार को पूर्वाह्न करीब 11 बजे सरयू नदी किनारे जा रहे थे। बताया गया कि घटना के दौरान उनकी मां आशा देवी घास लेने के लिए जंगल गई थी। जबकि उनकी बीमार दादी को लेकर दादा और पिता बागेश्वर गए थे। भालू गाड़ गधेरा पार करते समय उनके पैर फिसल गए और दोनों उफान में बह गए। कुछ दूरी पर ही यह गधेरा सरयू नदी में मिल जाता है।

शनिवार की रात भारी बारिश होने के कारण भी गधेरे का वेग अधिक था। आसपास के लोगों की सूचना पर रेगुलर व राजस्व पुलिस, फायर बिग्रेड, एसडीआरएफ व आपदा प्रबंधन की टीम ने रेस्क्यू चलाया। थानाध्यक्ष कपकोट मदन लाल ने बताया कि रेस्क्यू के दौरान अपराह्न करीब एक बजे मोहित का शव सरयू नदी किनारे बरामद कर लिया गया। जबकि छोटे भाई सुमित का शाम तक पता नहीं चल सका है। एनडीआरएफ की टीम रेस्क्यू में जुटी हुई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : महिला तीन बच्चों सहित नदी में बही, आंखों के सामने नदी में ओझल हो गया एक 10 वर्षीय लाल…

नवीन समाचार, रामनगर, 19 सितंबर 2021। बरसात के दिनों में नदी में नहाने से मौतों की अनेक घटनाएं हो चुकी हैं, लेकिन लोग इसके बावजूद बेखौफ नदी में उतर जाते हैं। ऐसे में नगर के पास ढिकुली में एक मां के साथ घूमने आए एक 10 वर्षीय बच्चे की कोसी नदी में नहाने के दौरान बहने से मौत हो गई। जबकि नदी में खुद बच्चे की मां, भाई व एक अन्य बच्ची को किसी तरह स्थानीय लोगों ने बचा लिया। काफी प्रयास के बाद बच्चे का शव एक किलोमीटर दूर नदी से बरामद हुआ। शव को पंचनामा की कार्रवाई के लिए पोस्टमार्टम के भेज दिया गया है। बच्चे की मौत से कोहराम मचा हुआ है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला मुरादाबाद के वुड बाजार मानपुर निवासी मो. अली पुत्र शरफदीन अपनी मां नगमा, चाचा तारिक, चाची, फूफा व बुआ सहित 12 लोगों के साथ रामनगर घूमने आया था। परिवार के लोगों में आठ बड़े व चार छोटे बच्चे थे। रामनगर से सभी लोग ढिकुली के पास कोसी नदी स्थित झूला पुल के नीचे कोसी नदी में नहा रहे थे। इसी दौरान नदी के तेज बहाव में अली उसकी मां नगमा, भाई फरजीन, नेहा व कशिश बहने लगे।
उनके चिल्लाने पर आसपास के लोगों ने तीनों को तो बहने से बचा लिया। लेकिन छोटा बच्चा अली तेज बहाव में बह गया। सूचना पर गिरिजा पुलिस चौकी प्रभारी मनोज नयाल व अग्निशमन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और नदी में सर्च अभियान चला कर करीब एक घंटे बाद बच्चे का शव ढिकुली में एक होटल के समीप नदी से बरादम कर लिया।
बताया गया है कि नगमा के दोनों बेटे अली व फरजीन नदी में उतरने की जिद कर रहे थे। इस पर मां ने उन्हें नदी में जाने की अनुमति दी। साथ ही कहा कि वह किनारे पर ही रहें। लेकिन दोनों बेटों के बुलाने पर बच्चों के साथ मां भी नदी किनारे चली गई। इस बीच पानी के वेग से अंजान मां, दोनों बेटे एक अन्य बच्ची बहने लगे। किसी तरह मां, एक बेटे व बच्ची को तो लोगों ने बचा लिया। लेकिन मां के आंखों के सामने ही अली बह गया। मां बच्चे को बचाने के लिए लोगों से गुहार लगाती रही। तब तक बच्चा तेज बहाव में आंखों से औझल हो चुका था और बाद में उसका शव ही मिल सका। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड ब्रेकिंग: अभी-अभी उफनती नदी पर वाहनों सहित भरभराकर गिरा पुल

नवीन समाचार, देहरादून, 27 अगस्त 2021। उत्तराखंड में लगातार हो रही बारिश से कई अनहोनी घटनाएं सामने आ रही हैं। शुक्रवार को प्रदेश की राजधानी देहरादून के डोईवाला में रानीपोखरी पुल अचानक उफनती नदी के दबाव में बीच से टूटकर गिर गया। बताया जा रहा है कि इस दौरान पुल से कई वाहन भी गुजर रहे थे, जो नदी में बह गए हैं। दो वाहन पुल के टूटे हिस्से में नीचे गिरी हुई हैं। एक बाइक सहित कुछ वाहनों को बचाकर लाया गया। कई वाहनों ने पीछे हटकर खुद को नदी में गिरने और वाहन में सवार लोगों ने पुल के टूटे हिस्से से भागकर खुद कर बहने से बचाया।  घटना की सूचना पुलिस को दे दी गई है। पुलिस मौके पर पहुंच रही है। देखें विडियो :

पुल के टूटने से दून का ऋषिकेश से संपर्क कट गया है। इसके बाद ऋषिकेश से देहरादून डोईवाला रानीपोखरी आदि क्षेत्रों में आने वाले वाहनों को ऋषिकेश नटराज से नेपाली फार्म को होकर देहरादून भेजा जा रहा है, जबकि देहरादून से रानीपोखरी ऋषिकेश को जाने वाला वाहनों को भानियावाला हरिद्वार बाईपास नेपाली फार्म से होकर ऋषिकेश भेजा जा रहा है। रानीपोखरी थानाध्यक्ष ने बताया कि पुल के दोनों ओर वाहनों को रोक दिया गया है‌‌। उप जिलाधिकारी डोईवाला लक्ष्मी राज चौहान ने बताया कि थानों भोगपुर मार्ग पर भी पानी के बहाव को देखते हुए वाहनों को रोका गया है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अब कार से उफनता नाला पार करते दरोगा साथी सहित बहे, बहकर एक किलोमीटर दूर पहुंची कार..

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 14 अगस्त 2021। बरसात के मौसम में पहाड चटक रहे हैं, और तराई-भाबर के क्षेत्रों में पहाड़ी नालों व नदियों के उफनने से लगातार दुर्घटनाएं सामने आ रही हैं। ऐसी ही परिस्थितियों में बीती यानी शुक्रवार की रात्रि चोरगलिया-गौलापार के बीच पड़ने वाले सूर्यानाला के उफान पर आ जाने से हल्द्वानी आ रहे पिथौरागढ़ में तैनात पुलिस एक दरोगा की कार नाले में बह गई। गनीमत रही कि कार में सवार दरोगा के साथी ने कार के बहते हुए कार का शीशा तोड़कर दोनों की जान बचाई। आज शनिवार को उनकी कार सड़क से करीब एक किलोमीटर दूर बरामद हुई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पिथौरागढ़ जिले में तैनात दरोगा तारा सिंह राणा शुक्रवार देर रात सितारगंज में अपने रिश्तेदार के पास से अपनी मारुति सुजुकी कार संख्या यूके04टी-2300 से हल्द्वानी लौट रहे थे। सूर्यानाला पर पहुंचते हुए दरोगा अंधेरे में सड़क पर बह रहे पानी का अंदाजा नहीं लगा पाए। इस कारण कार नाले में बहने लगी। इस पर तत्परता दिखाते हुए दरोगा के साथी ने कार का शीशा तोड़ा और दोनों किसी तरह बहती कार से सुरक्षित बाहर निकल आए, जबकि कार बहती चली गई। शनिवार को कार करीब 1 किलोमीटर दूर से बरामद की गई है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बारिश में उफने नाले में बही कार, युवकों ने हाथों की चेन बनाकर बचाया

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 13 अगस्त 2021। मानसूनी बारिश में नालों को पार करना जानलेवा हो सकता है, यह जानते हुए भी लोग कभी मजे में तो कभी मजबूरी में अपनी जान जोखिम में डालने से गुरेज नहीं कर रहे है। अब हल्द्वानी व नैनीताल विधानसभा की सीमा पर बावनडांठ-नैनीताल मोटर मार्ग पर शुक्रवार दोपहर उफनाए भाखड़ा नाले में एक कार की घटना हुई। गनीमत रही कि स्थानीय युवाओं ने कड़ी मशक्कत कर कार और उसमें सवार लोगों को पानी के बहाव से बचा लिया। इससे काफी देर तक यातायात भी बाधित रहा।

प्राप्त जानकारी के अनुसार नैनीताल से पटवाडांगर होते हुए बावनडांठ वाली सड़क पर नैनीताल विधानसभा क्षेत्र के मौना, बाना, हैड़ी, अनरोड़ी, नाइसेला, बोरागांव, बेल व हल्द्वानी विधानसभा क्षेत्र के चौंसला, मीठाआंवला और बसानी गांवों के बीच से गुजरती सड़क पर

शुक्रवार को हुई बारिश के दौरान मेन भाखड़ा नाला उफान पर था। इस बीच सड़क पर नाला पार करने की कोशिश कर रहा एक कार चालक कार सहित पानी में बहने लगा। पास में मौजूद स्थानीय युवाओं ने हिम्मत दिखाते हुए आपस में हाथ पकड़कर चेन बनाकर कार को बहाव से बाहर निकाल लिया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

बेहद दुःखद : भारी पड़ा नदी में नहाना, 18-19 साल के किशोरों की मौत

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 12 अगस्त 2021। बरसात में नदी में गहराई का पता किए बिना नहाने से बृहस्पतिवार को दो और जिंदगियां खत्म हो गई। जनपद के बेतालघाट व कोटाबाग विकासखंड की सीमा पर ओखलढूंगा क्षेत्र में दो युवाओं की डूबने से मौत हो गई। ग्रामीणों की मदद से एक शव बरामद कर लिया गया है, जबकि दूसरे युवक का शव घटनास्थल से पांच किमी दूर नदी के बीचो-बीच फंसा हुआ है। उसे निकालने के लिए बचाव अभियान शुरू किया गया है। परिजनों को भी सूचना भेज दी गई है। उल्लेखनीय है कि प्रदेश में बरसात के मौसम से पहले से ही नदियों में भंवर व गहराई का सही अंदाजा ना होने से कई मौतें हो चुकी हैं। लेकिन लोग संभलने का नाम नहीं ले रहे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बृहस्पतिवार को पीरुमदारा रामनगर से आठ युवक अलग अलग बाइकों में सवार हो कर बेतालघाट तथा कोटाबाग ब्लॉक की सीमा पर ओखलढुंगा क्षेत्र में पहुंचे। सभी कोसी नदी के किनारे बैठ कर कुछ खाने लगे कि तभी महेद्र नेगी (18) पुत्र अमर सिंह नेगी व सुमित कुमार (19) निवासी पीरूमदारा कोसी नदी में नहाने उतर गए। गहराई का सही अंदाजा ना होने से दोनों डूबते चले गए। दोनों के डूबने से चीख पुकार मच गई। साथ आए दो युवाओं ने उन्हें बचाने के लिए कोसी नदी में छंलाग भी लगाई पर वे भी डूबते युवकों को नहीं बचा सके। इस पर आसपास के ग्रामीणों को सूचना दी गई।

ग्रामीणों ने बमुश्किल नदी से पहले एक युवक का शव बाहर निकाला। जबकि दूसरे युवक का शव काफी खोजबीन के बाद घटनास्थल से करीब पांच किमी दूर कूणाखेत गांव के समीप नदी के बीच देखा गया है। नदी का बहाव तेज होने से नदी के बीचोंबीच फंसे हुए शव को निकालने का प्रयास किया जा रहा है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भारी पड़ी नदी में मौज मस्ती, दो लड़कियों सहित तीन दोस्त हुए नदी की धारा में ओझल

नवीन समाचार, ऋषिकेश, 4 अगस्त 2021। मुंबई से तीर्थनगरी ऋषिकेश घूमने आए पांच दोस्तों के लिए गंगा नदी में मौज-मस्ती भारी पड़ गई। बुधवार को गंगा तट पर नहा रहे पांच दोस्त निशा गोस्वामी, करण मिश्रा, मेलरॉय डांटे, अपूर्वा और मुधश्री गंगा तट पर जमकर अठखेलियां कर रहे थे। लेकिन उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि इस मौज मस्ती में उनके तीन दोस्त उनसे बिछड़ जाएंगे।

इस दौरान मेल रॉय, अपूर्वा और मधुश्री गंगा की गहराई को जाने बिना आगे की ओर निकल गए और वे तीनों गंगा की तेज बहाव में ओझल हो गए। तीन दोस्तों को खोने के गम में अन्य दो दोस्त सदमे में हैं।

घटना की सूचना जब तपोवन चौकी पुलिस को मिली तो मौके पर पहुंची थाना मुनिकीरेती पुलिस, जल पुलिस और एसडीआरएफ के जवानों ने रेस्क्यू अभियान चलाया, लेकिन उनका कहीं कुछ पता नहीं चला। थाना पुलिस ने उनके परिजनों को इसकी सूचना दे दी है। मौके पर पहुंची थाना पुलिस ने छानबीन शुरू की।

पूछताछ के बाद पता चला कि मुंबई से करण मिश्रा (20) पुत्र परेश मिश्रा, निवासी एफ-104, ऑरचिड, सूबूरदिया, न्यू लिंक रोड, कांदिवली वेस्ट मुंबई- 47, निशा गोस्वामी (21) पुत्री उमेश गोस्वामी, निवासी 1406 बिल्डिंग नंबर 2, आकृति अपटाउन, मीरारोड ईस्ट मुंबई, मेलरॉय डांटे (21) पुत्र रोबट डांटे, अपूर्वा केलकर (21) पुत्री हेमंत केलकर, निवासी बोरीवली ईस्ट उद्धवनगर मुंबई 66 और मधुश्री खुरसांगे (21) पुत्री प्रभाकर खुरसांगे, निवासी 703, बुरुनाली बोरीवली, ईस्ट उद्धवनगर मुंबई-66 बीते एक अगस्त को तीर्थनगरी घूमने आए थे। आज उनके साथ यह हादसा हो गया। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : गौला में डूबते 12 साल के बड़े भाई को बचाने कूदा 11 साल का छोटा भी, दोनों की मौत

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 22 जुलाई 2021। शहर से लगी गौला नदी में बरसात के दौरान बढ़े पानी में नहाने गए दो सगे भाइयों की मौत होने का समाचार है। प्राप्त जानकारी के अनुसार आंवला चौकी गेट के पास गौला में नहाते समय बड़ा भाई डूबने लगा तो छोटा भाई उसे बचाने के लिए खुद भी पानी में कूद गया। इस कारण दोनों भाई उफनाई गौला के तेज बहाव होने के कारण बह गए, और दोनों की मौत हो गई।

मृतकों की पहचान परिवार उत्तर गौजाजाली वार्ड 60 स्थित संतोषी माता मंदिर के पास रहने वाले रामप्रकाश के 11 व 12 वर्षीय पुत्रों रोमिंस व रोहन श्रीवास्तव के रूप में हुई है। उनके पिता के साथ ही मां भी मेहनत-मजदूरी करके परिवार चलाते हैं। उनकी अब केवल 10 वर्षीय बेटी बची है।मामले की जानकारी मिलने पर गोताखोरों के साथ पहुंची पुलिस ने काफी खोजबीन के बाद शवों को निकाल लिया है। एसपी सिटी व तहसीलदार की उपस्थिति में शवों का पंचनामा भरने की कार्रवाई की जा रही है। दोनों मासूमों की मौत से परिवार में कोहराम मच गया हैं। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : रामगंगा नदी में नहाना पड़ा भारी, पिता-पुत्र हुए लापता, तलाश जारी

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, मौलेखाल (अल्मोड़ा), 12 जुलाई 2021। अल्मोड़ा जनपद के मौलेखाल तहसील के सीमावर्ती मरचूला में रामगंगा नदी में नहाने उतरे मुरादाबाद निवासी पर्यटक पिता और पुत्र पानी के तेज बहाव में बह गए, जबकि छह परिजनों की जान किसी तरह किनारे आने से बच गई। दुर्घटना तब हुई जब बचाव दल की टीमें अचानक उफनी नदी के बीच फंसे पिता-पुत्र को बचाने के प्रयास में भी जुटी हुए थे, लेकिन तेज बहाव के कारण उनके हाथ से रस्सी छूट गई। नदी में बहे पिता पुत्र की ढूंढखोज में स्थानीय मौके के साथ ही घटनास्थल से पांच किमी आगे पौड़ी जिला प्रशासन की पहल पर बजरोटी में भी स्थानीय गोताखोरों एवं रामनगर से आई एसडीआरएफ की टीमें जुटी हुई हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद के पूनम विहार बैंक कालोनी निवासी राजेश कुमार ( 30) पुत्र राम अवतार, पत्नी, दो बच्चों और भाई, उनकी पत्नी और दो बच्चों के साथ कार्बेट नेशनल पार्क से लगे मरचूला क्षेत्र में रविवार सुबह घूमने आए थे। करीब 11 बजे सभी आठ परिजन रामगंगा नदी में नहाने के लिए उतरे। ऊपरी क्षेत्रों में बारिश होने से एकाएक नदी में बाढ़ आ गई और पानी का बहाव तेज हो गया। छह परिजन तो किसी तरह नदी किनारे पहुंच गए, लेकिन राजेश कुमार से पुत्र कार्मिक (8) का हाथ छूटने से वह पानी के तेज बहाव में बहने लगा। पानी का बहाव इतना तेज था की रस्सी उनके हाथ से छूट गई। पिता ने पुत्र को बाहर निकालने का काफी प्रयास किया। दोनों काफी देर तक दोनों नदी के किनारे आने के लिए जूझते रहे। बाद में स्थानीय निवासी मुकेश भदोला और रोहित रस्सी लेकर उन्हें बचाने पहुंचे। उन्होंने रस्सी नदी में डाली राजेश और कार्मिक ने रस्सी पकड़ भी ली थी, लेकिन पानी का बहाव इतना तेज था की रस्सी उनके हाथ से छूट गई और पानी के तेज बहाव में पिता पुत्र बह गए।

सूचना मिलने पर उपजिलधिकारी शिप्रा जोशी, तहसीलदार दलीप सिंह, थानाध्यक्ष धीरेंद्र पंत, राजस्व उप निरीक्षक कौशल चौहान आदि मौके पर पहुंचे। स्थानीय ग्रामीणों और गोताखोरो ने नदी में बहे पिता पुत्र की ढूंढखोज शुरू की लेकिन उनका कोई पता नहीं चल सका है। तहसीलदार दलीप सिंह ने बताया कि करीब पांच किमी आगे पौड़ी जिले की सीमा लगती है। वहां के प्रशासन को भी इस संबंध में सूचित कर दिया गया है। पौड़ी सीमा पर बजरोटी में वहां के स्थानीय गोताखोर भी नदी में बहे पिता-पुत्र की खोजबीन में लगे हैं। उन्होंने बताया कि रामनगर से एसडीआरएफ की टीम भी बुला ली गई है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बारिश ने लीली 22 वर्षीय युवती की जिंदगी, माता के दर्शन कर लौट रही थी…

नवीन समाचार, टनकपुर, 11 जुलाई 2021। उत्तराखंड में मानसून के औपचारिक आगमन से पहले ही बारिश ने कई जानें ले ली हैं। शनिवार रात्रि बागेश्वर जनपद के सुमगढ़ पति, पत्नी व बच्चे की घर ढहने के कारण मलबे में दबने से मौत हुई तो इधर टनकपुर में मूसलाधार बारिश के कारण बरसाती नाले में बाइक के बहने से पूर्णागिरि के दर्शन को अपने मित्र के साथ आई युवती की मौत हो गई, जबकि उसके साथी युवक की जान बमुश्किल बच पाई।

प्राप्त घटनाक्रम के अनुसार शनिवार को नैनीताल जनपद के बंगाली कालौनी लालकुआं निवासी शिवम गिरी पुत्र अशोक गिरी व 22 वर्षीया आरती यादव पुत्री कोमल यादव बाइक संख्या-यूके04एए- 3270 से माता पूर्णागिरि के दर्शन को आए थे। रविवार को मंदिर से दर्शन कर वापस लौटते समय उनकी बाइक ठुलीगाड़ से आगे रानीमोड़ के पास नाले में बह गई। घटना में बाइक सवार आरती यादव की मौत हो गई। जबकि शिवम गिरी तैरकर सुरक्षित बाहर निकल आया।

सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस के बचाव दल ने नाले से युवती के शव को बरामद कर लिया। जबकि उसके साथी युवक को ठुलीगाड़ थाने ले जाया गया। पूछताछ में उसने बताया कि मृतका उसकी दोस्त थी, जिसे वह अपनी बाइक से मां पूर्णागिरि के दर्शन के लिए लाया था। एसएसआई योगेश दत्त ने बताया कि मृतका के शव को पोस्टमार्टम के लिए संयुक्त चिकित्सालय टनकपुर भेज गया है। इधर युवती की मौत से उसके परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

 यह भी पढ़ें : ब्रेकिंग: कोसी नदी में चार दिन बाद बरामद हुआ हल्द्वानी के युवक का शरीर

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 29 जून 2021। बीते शनिवार 26 जून को भवाली-अल्मोड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग-87 पर स्थित नावली के पास कोसी नदी में नहाने के दौरान डूबे हल्द्वानी के गंगापुर कबड़वाल बच्ची नवाड, हल्दूचौड़ निवासी 25 वर्षीय रोहित कुमार पुत्र चंद प्रकाश का शव चार दिन बाद घटनास्थल से तीन किलोमीटर दूर से बरामद कर लिया। इसके लिए घटना के दिन से ही और इधर मंगलवार को सुबह चार बजे से ही युवक के शरीर की तलाश में जुटे हुए थे, तभी सुबह उन्हें युवक का शरीर मृत अवस्था में नदी में पत्थरों के बीच फंसा हुआ मिला। इसके बाद शव को खैरना चौकी पुलिस की मदद से पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेजने की तैयारी की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि रोहित बीते शनिवार को अपने छोटे भाई सौरभ तथा सूरज व जगतपाल शर्मा को साथ लेकर पहाड़ में सैर सपाटा करने के लिए निकला था। इस दौरान अपराह्न करीब साढ़े तीन बजे चारों युवक भवाली-अल्मोड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग-87 पर स्थित नावली के पास कोसी नदी में नहाने लगे। इस बीच रोहित नदी के गहरे पानी व भंवर वाले क्षेत्र में पहुंच गया और डूब गया। उसके साथियों ने उसे बचाने की भरसक कोशिश की लेकिन वह बाहर नहीं निकाला जा सका। इसके बाद उसके साथियों ने पुलिस को मामले की जानकरी दी। जिसके बाद मौके पर एसडीआरएफ तथा पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और खोज व बचाव अभियान शुरू किया। स्थानीय गोताखोर भी डूबे युवक को खोजने का प्रयास में जुटे, लकिन किसी को कोई सफलता नहीं मिली। बताया गया है कि रोहित घटना से पहले नदी में नहाते हुए गोता लगाकर गायब कई मिनट के लिए गायब हो जा रहा था। यह भी बताया जा रहा है ‘नहाने का मजा तभी है जब बॉडी पानी भरने के बाद फूलकर बाहर आ जाए..’ उसे साथियों ने इस बात को लेकर टोका भी था, लेकिन कौन जानता था कि जो बात वह कह रहा है, उसके साथ वही होने वाला है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : कोसी नदी में नहाने के दौरान डूबा एक युवक, एसडीआरएफ जुटी है तलाश में

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 26 जून 2021। हल्द्वानी से पहाड़ को घूमने निकले चार युवकों के लिए बरसात के दौरान उफनाई नदी में नहाना भारी पड़ गया। मुख्यालय से करीब 30 किलोमीटर दूर कोसी नदी में नहाने के दौरान हल्द्वानी के हल्दूचौड़ निवासी एक युवक डूब गया है। एसडीआरएफ व पुलिस के गोताखोरों द्वारा नदी में डूबे युवक को तलाशने रेक्स्यू अभियान शुरू कर दिया है। अलबत्ता गोताखोरों को युवक का कुछ पता नहीं चला है। आगे शाम घिरने के बाद बचाव दलों का अभियान प्रभावित भी हो सकता है। पुलिस की खैरना चौकी प्रभारी उप निरीक्षक आशा बिष्ट ने बताया कि समाचार लिखे जाने तक नदी में डूबे युवक का कोई पता नहीं चला है। एसडीआरएफ की टीम उनकी खोज में जुटी हुई है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : दुल्हन को ससुराल विदा करने आए पांच भाइयों के लिए शादी के दूसरे दिन ही नदी में आई मौत…

नवीन समाचार, सेराघाट, 09 जून 2021। अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ जनपद की सीमा पर बहने वाली सरयू नदी में नहाने गए पांच किशोरों की मौत हो गई। मृतकों में दुल्हन का सगा भाई और चचेरा भाई शामिल हैं, जबकि तीन अन्य किशोर भी दुल्हन के गांव के रिश्ते के भाई लगते हैं। यह सभी एक दिन पहले बारात के साथ दुल्हन को उसकी ससुराल विदा करने आए थे।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार को सेराघाट के रामपुर से एक बारात गणाई-गंगोली के धौलियाइजर कूना गांव गई थी। बारात लौटने पर परंपरा के तहत दुल्हन के भाई, चचेरा भाई सहित तीन अन्य युवक दुल्हन को छोडने के लिए दुल्हन की ससुराल रामपुर आए थे। बुधवार सुबह धौलियाइजर गांव कूना गणाई 15 वर्षीय तीन किशोर रवींद्र कुमार पुत्र गोकुल राम, साहिल कुमार पुत्र पूरन राम व पीयूष कुमार 15 वर्ष पुत्र कृष्ण कुमार, 16 वर्षीय राजेश कुमार पुत्र खीम राम तथा 17 वर्षीय मोहित कुमार पुत्र अशोक कुमार नदी के बहाव और गहराई की कोई जानकारी न होने के बावजूद रामपुर से लगभग आधा किमी दूर बहने वाली सरयू नदी में नहाने चले गए और नदी में नहाने लगे और इसी दौरन नदीकी अधिक गहराई में जाने पर डूब गए। इस दौरान कुछ लोगों ने किशोरों को डूबते हुए देखा। लेकिन दूरी की वजह से जब तक वह बचाने के लिए पहुंचते उससे पूर्व ही किशोर नदी में डूब कर ओझल हो गए थे। ग्रामीणों ने इसकी सूचना सेराघाट पुलिस चौकी को दी। सूचना मिलते ही पुलिस और राजस्व टीम मौके पर पहुंची और ग्रामीणों के साथ मिल कर रेस्क्यू अभियान चलाया तथा पांचों युवकों के शवों को काफी मशक्कत के बाद नदी से बरामद कर लिया। बताया गया है कि क्षेत्रीय परंपरा के अनुसार शादी के बाद दुल्हन की विदाई के दौरान उसके उसके भाई भी उसे ससुराल विदा करने जाते हैं। यह पांचों किशोर भी दुल्हन को उसकी ससुराल तक छोडने गए थे। इस घटना के बाद दुल्हन के घर और मायके में कोहराम मच गया है। वहीं पुलिस ने शवों का पंचनामा भरने के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

 यह भी पढ़ें : एसडीआरएफ ने दूसरे दिन ढूंढ निकाला भालूगाड़ के तालाब में डूबे युवक का शव बरामद, मूक-बधिर था मृतक व उसके सभी साथी

दान सिंह लोधियाल @ नवीन समाचार, धानाचूली, नैनीताल, 30 अगस्त 2020। शनिवार को मुख्यालय से करीब 40 किमी दूर मुक्तेश्वर थाना क्षेत्र के भालूगाड़ वाटरफॉल में घूमने आए पांच युवको में से एक युवक देर शाम तालाब में डूब गया था। रविवार सुबह एसडीआरएफ के जवानों ने करीब पौने घंटे की की मशक्कत के बाद उसका शव बरामद कर लिया। इस घटना में युवक की मौत से इतर भी एक दुःखद बात यह है कि मृतक सहित उसके साथ घूमने आए सभी 5 युवक मूक-बधिर थे। यानी सुन-बोल नहीं सकते हैं। इसलिए पुलिस को भी उनसे पूछताछ करने में काफी कठिनाई आई।

 इससे पूर्व शुक्रवार को थानाध्यक्ष मुक्तेश्वर कुलदीप सिंह एवं राजस्व उपनिरीक्षक पूरन चन्द्र गुणवंत ने बताया कि उन्हें फोन पर करीब शाम पांच बजे एक युवक के नदी में डूबने की सूचना मिली। सूचना मिलते ही पुलिस ने घटना स्थल पर पहुंचकर काफी खोजबीन की पर युवक का पता नहीं लग पाया। प्राप्त जानकारी के अनुसार डूबने वाले की पहचान हल्द्वानी के देवलचौड़ निवासी 25 वर्षीय विजय हर्नवाल पुत्र चन्दन सिह के रूप में हुई है। उसके साथी चार अन्य युवक ठीक-ठीक जानकारी नहीं दे रहे हैं। चार युवकों को पुलिस थाने ले आई है। इनमे दो नरेश सिह व चंदन सिंह बाजपुर ऊधमसिंह नगर के, जबकि लक्ष्मण सिंह व अंकित सनवाल हल्द्वानी के बताए जा रहे है। एसआई भुवन राणा ने बताया कि परिजनों के आने के बाद ही युवकों की अधिक जानकारी मिल पाएगी। ये युवक मोटरसाइकिल से यहाँ घूमने आए थे। उधर डूबे युवक को निकालने के लिए हल्द्वानी से एसडीआरएफ की टीम भी बुलाई गई है। कल सुबह तड़के रेस्क्यू अभियान चलेगा।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply