News

वोकल फॉर लोकल : नैनीताल का मधु ग्राम-आम ग्राम बन गया खास, कई संदेश

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

      -गांव के 90 फीसद परिवार जुड़े हैं शहद उत्पादन ने, छह माह में 50 टन शहद का उत्पादन कर प्रति परिवार कमा लेते हैं दो से ढाई लाख, निर्यात किया जाता है शहद नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 15 सितंबर 2020। नैनीताल जनपद का ज्योली गांव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘वोकल फॉर लोकल’ का […]

News

हनुमानगढ़ी में पर्यटन के लिए मौजूद है एक अनछुवा आयाम

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

      -हिरन प्रजाति के वन्य जीवों से गुलजार है यह क्षेत्र, बन सकते हैं पर्यटन का नया जरिया नवीन समाचार, नैनीताल, 06 सितंबर 2020। जैव विविधता से परिपूर्ण सरोवरनगरी का हनुमानगढ़ी क्षेत्र इन दिनों हिरन प्रजाति के वन्य जीवों से गुलजार है। इस मौसम में यहां हिरन प्रजाति के घुरड़ों के कई सारे झुंड कई बार […]

News

कोरोना पर सबसे बड़ी खबर: नैनीताल के सबसे बड़े मनुमहारानी होटल में ‘ले ऑफ’, 80 कर्मचारियों को मिलेगा सिर्फ आधा वेतन

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

       नवीन समाचार, नैनीताल, 9 जुलाई 2020। कोराना की महामारी का कानूनी तौर पर सबसे पहला शिकार पर्यटननगरी सरोवरनगरी का सबसे बड़ा होटल मनुमहारानी हुआ है। पिछले तीन माह से भी अधिक समय से बंद होने के बावजूद अपने कर्मचारियों को पूरा वेतन दे रहे होटल प्रबंधन ने होटल में कानूनी तौर पर ‘ले-ऑफ’ (छंटनी) […]

News

‘नवीन समाचार’ के सभी समाचार एक जगह

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

       गांधी जयंती पर गौहत्या करते पकड़े गए आरोपित की जमानत अर्जी खारिज20 October 2021 भाजपा विधायक की गाड़ी रोकी, गनर को पीटा, वर्दी भी फाड़ डाली…20 October 2021 बलियानाला में भयावह तरीके से हो रहा भूस्खलन, लोग घर छोड़ भागे20 October 2021 कुमाऊं विश्वविद्यालय ने बारिश की वजह से स्थगित की परीक्षाएं20 October 2021 […]

थाइलैंड की राजकुमारी ने उत्तराखंड से देखा पूरा ब्रह्मांड, पर नहीं देख पाईं दुनिया को दिखाने वालों का दर्द…

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

      नियमित रूप से नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड के समाचार अपने फोन पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप में इस लिंक https://t.me/joinchat/NgtSoxbnPOLCH8bVufyiGQ से एवं ह्वाट्सएप ग्रुप से इस लिंक https://chat.whatsapp.com/ECouFBsgQEl5z5oH7FVYCO पर क्लिक करके जुड़ें। -एक कलाकृति में विश्व को पर्यावरण संरक्षण का संदेश देने वाला इतिहास भी देखा -देवस्थल पहुंचकर दुनिया की सबसे बड़ी दूरबीनों […]

देखें धरती पर स्वर्ग, जैसा पहले कभी न देखा हो, रहस्यमय दारमा-पंचाचूली वैली…

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

      -पर्यटको की पसंदीदा सैरगाह व पयर्टन स्थल के साथ ही ऐतिहासिक एवं धार्मिक नगरी व साधकों की साधना स्थली भी है दारमा वैलीडॉ. एम0 एस0 दुग्ताल @ नवीन समाचार, 26 जुलाई 2019। पौराणिक अभिलेखों के अनुसार भारत के उत्तर में 75 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल तक फैला, तिब्बत के पश्चिम सीमा से लगा ‘उत्तर कुरू‘ […]

‘लंदन फॉग’ से दिलकश-रुमानी हुआ नैनीताल का मौसम

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

      -पर्यटन एवं पैदल घूमने के लिए बेहतर होता है यह मौसम नवीन समाचार, नैनीताल, 4 जुलाई 2019। प्रदेश में मानसून के आगमन एवं मौसम विभाग द्वारा जनपद में मानसूनी वर्षा की चेतावनी पर बृहस्पतिवार को मुख्यालय एवं आसपास के क्षेत्रों में बारिश तो नहीं हुई, अलबत्ता ‘लंदन फॉग’ कहे जाने वाले मानसूनी कोहरे से नगर […]

नैनीताल में ‘नेचुरल एसी’ बना कौतूहल का केंद्र, उमड़ रहे सैलानी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

       -बारापत्थर चौराहे पर सैलानी आकर लेने लगे हैं इसका अनुभव नवीन समाचार, नैनीताल, 31 मई 2019। सरोवरनगरी में एक पहाड़ी चट्टान पर करीब पांच वर्ष पूर्व प्रकाश में आया ‘नेचुरल एसी’ सैलानियों के साथ ही नगरवासियों के बीच भी आकर्षण और कौतूहल का केंद्र बना हुआ है। अब बड़ी संख्या में सैलानी और स्थानीय […]

‘भारत के स्विटजरलेंड’ में गांधी जी ने लिखी थी ‘अनासक्ति योग’

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

      राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एक अलग दृष्टि के महामानव थे। यही कारण है कि उन्होंने अपनी आग उगलती बंदूकों और जुल्मो-सितम के लिए पहचाने जाने वाले अंग्रेजों को, जिनके राज में तब कभी सूर्य अस्त न होता था, एक अलग तरह के अहिंसा के अस्त्र का प्रयोग कर असंभव को संभव कर दिखाते हुए देश से […]

साफ़ हुई पंचाचूली-पिंडारी ग्लेशियर रूट की राह, रेकी कर लौटे पुणे के दल ने सराही व्यवस्थाएं

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

      -केएमवीएन आगामी मार्च माह से यहां करायेगा बड़े स्तर पर ट्रेकिंग-होम स्टे नवीन समाचार, नैनीताल, 17 दिसंबर 2018। केएमवीएन यानी कुमाऊं मंडल विकास निगम आगामी मार्च माह से कुमाऊं मंडल के पंचाचूली एवं पिंडारी ग्लेशियर के यात्रा मार्गों पर बड़े स्तर पर ट्रेकिंग एवं होम स्टे की योजना को आगे बढ़ाना जा रहा है। इस […]

महेश खान: यानी प्रकृति और जैव विविधता की खान

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

      पहली नजर में दो हिंदू-मुस्लिम नामों का सम्मिश्रण लगने वाले महेश खान के नाम में ‘खान’ कोई जाति या धर्म सूचक शब्द नहीं है, लेकिन ‘खान’ शब्द को दूसरे अर्थों में प्रयोग करें तो यह स्थान प्रकृति के लिए भी प्रयोग किए जाने वाले महेश यानी शिव की धरती कहे जाने वाले कुमाऊं में वानस्पतिक […]

राजुला-मालूशाही और उत्तराखंड की रक्तहीन क्रांति की धरती, कुमाऊं की काशी-बागेश्वर

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

      पौराणिक काल से ऋषि-मुनियों की स्वयं देवाधिदेव महादेव को हिमालय पुत्री पार्वती के साथ धरती पर उतरने के लिए मजबूर करने वाले तप की स्थली बागेश्वर कूर्मांचल-कुमाऊं मंडल का एक प्रमुख धार्मिक एवं पर्यटन स्थल है। नीलेश्वर और भीलेश्वर नाम के दो पर्वतों की उपत्यका में सरयू, गोमती व विलुप्त मानी जाने वाली सरस्वती नदी […]

पक्षी-तितली प्रेमियों का सर्वश्रेष्ठ गंतव्य है पवलगढ़ रिजर्व

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

      उत्तराखंड का नैनीताल जनपद में रामनगर वन प्रभाग स्थित पवलगढ़ रिजर्व पक्षी प्रेमियों के लिए बेहतरीन गंतव्य है। दिल्ली से सड़क और रेल मार्ग से करीब 260 किमी तथा नजदीकी हवाई अड्डे पंतनगर से करीब 87 किमी दूर रामनगर के जिम कार्बेट नेशनल पार्क से कोसी नदी के दूसरी-पूर्वी छोर से सटा 5824 हैक्टेयर में […]

भगवान राम की नगरी के समीप माता सीता का वन ‘सीतावनी’

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

       देवभूमि कुमाऊं-उत्तराखंड में रामायण में सतयुग, द्वापर से लेकर त्रेता युग से जुड़े अनेकों स्थान मिलते हैं। इन्हीं में से एक है त्रेता युग में भगवान राम की धर्मपत्नी माता सीता के निर्वासन काल का आश्रय स्थल रहा वन क्षेत्र-सीतावनी, जो अपनी शांति, प्रकृति एवं पर्यावरण के साथ मनुष्य को गहरी आध्यात्मिकता के साथ मानो उसी […]

नवीन समाचार एक्सक्लूसिव: कालीचौड़ मंदिर के पास मिले प्राचीन शिलालेख

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

       नवीन समाचार, नैनीताल, 6 अगस्त 2019। जनपद के गौलापार खेड़ा स्थित कालीचौड़ मंदिर में प्राचीन शिलालेख मिलने का खुलासा हुआ है। क्षेत्रवासी साहित्यकार दामोदर जोशी ‘देवांशु’ ने बताया कि कालीचौड़ मंदिर के पैदल मार्ग पर मंदिर से करीब 50 मीटर पहले मार्ग किनारे के एक पत्थर पर शिलालेख देखे गये हैं, जबकि क्षेत्र में […]