खाई में गिरे स्मैक तस्कर, पुलिस ने बचाये फिर जेल भेजे

पुलिस की गिरफ्त में स्मैक तस्कर और सुबकती मां (इनसेट में)।

नैनीताल, 14 सितंबर 2018। नगर के आधार बलियानाला में हुए जबर्दस्त भूस्खलन के कारण क्षतिग्रस्त हुए मार्ग पर जबरन मोटरसाइकिल से आते हुए दो स्मैक तस्तर घायल हो गये। उनकी बाइक भी सैकड़ों फिट गहरी खाई में जा गिरी। दो युवकों के बाइक सहित खाई में गिरने की सूचना पर तल्लीताल थाना प्रभारी ने उन्हें बचाया, लेकिन उनकी इतने खतरनाक मार्ग से पुलिस द्वारा लगायी गयी तारबाड़ को फांदकर आने पर शक होने पर उनकी तलाशी ली गयी, इसमें दोनों के पास से 8 ग्राम से अधिक स्मैक बरामद की गयी। इसके बाद दोनों को अस्पताल में उपचार कराने के बाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। 4.83 ग्राम स्मैक के साथ पकड़ा गया एक युवक राहुल रावत पुत्र प्रताप सिंह रावत निवासी नैनीताल क्लब पहले भी मल्लीताल कोतवाली के द्वारा स्मैक के साथ गिरफ्तार किये जाने के बाद जेल से जमानत पर छूटा था, जबकि दूसरे नितिन कुमार पुत्र स्वर्गीय प्रकाश आर्या निवासी वेल्ड्रॉफ कंपाउंड मल्लीताल के पास 3.43 ग्राम स्मैक बरामद हुई। उसकी मां भी थाने पहुंची थी और बेटे के जेल जाने पर सुबकती रही। उसने कहा कि पति के गुजरने के बाद वह दोनों बेटों को पाल रही है। अगर दुबारा उसने ऐसी हरकत की तो फिर वह उसे बचाने नहीं आएगी।

यह भी पढ़ें: तल्लीताल पुलिस ने गिरफ्तार किये दो स्मैक के लती तस्कर

तल्लीताल थाना पुलिस की गिरफ्त में आये स्मैक के लती तस्कर।

नैनीताल, 14 अगस्त 2018। नगर में पुलिस को नशे के खिलाफ चलाई जा रही मुहिम में फिर सफलता मिली है। मल्लीताल कोतवाली के बाद अब तल्लीताल थाना पुलिस ने मंगलवार देर रात्रि दो स्मैक तस्करों को गिरफ्तार किया है। दोनों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया है। थाना प्रभारी राहुल राठी ने बताया कि एसआई मनोज नयाल और अन्य पुलिस कर्मी मंगलवार रात हल्द्वानी रोड पर चेकिंग अभियान चला रहे थे। इस दौरान हनुमानगढ़ में सामने से आ रहे दो बाइक सवार युवक पुलिस को देख बाइक वापस मोड़ने लगे। इससे पुलिस को उन पर शक होने लगा और उन्हें घेराबंदी कर पकड़ लिया गया। दोनों आरोपितों-फैजल और जावेद अली निवासी रॉयल होटल कम्पाउंड मल्लीताल के पास से क्रमशः 1.57 ग्राम व 1.46 ग्राम स्मैक स्मैक बरामद हुई। पूछताछ में दोनों ने बताया कि उन्हें स्मैक के नशे की लत है। बिलासपुर से खरीदने के बाद वह लौट रहे थे। जेब खर्च के लिए पुड़िया बनाकर बेच भी देते हैं। दोनों को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है।
तल्लीताल थाना पुलिस की गिरफ्त में आये स्मैक के लती तस्कर।

 

यह भी पढ़ें : मल्लीताल पुलिस ने फिर पकड़ी छोटी मछली, बड़ी मछली अभी भी पहुंच से दूर

नैनीताल, 2 अगस्त 2018। मल्लीताल कोतवाली पुलिस ने जिले के पुलिस कप्तान से मासिक अपराध समीक्षा बैठक में पड़ी फटकार के बाद फिर एक छोटे स्मैक बेचने वाले को गिरफ्तार किया है। उसके कब्जे से 4.90 ग्राम स्मैक बरामद बताई गयी है। अलबत्ता नगर के स्मैक के कम से दो बड़े कारोबारी अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं।

नैनीताल। बृहस्पतिवार को स्मैक के साथ पुलिस की गिरफ्त में आया युवक।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार बृहस्पतिवार को उप निरीक्षक पूरन सिंह मर्तोलिया एवं आरक्षी मनोज जोशी, विनोद यादव व सोनू कुमार ने चेकिंग के दौरान पंगोट रोड पर टांकी बैंड के पास राहुल रावत नाम के युवक को 4.9 ग्राम स्मैक के साथ पकड़ा। पकड़े गये राहुल ने बताया कि वह खुद भी स्मैक पीता है, और अपना खर्चा चलाने के लिए थोड़ी मात्रा में स्मैक बेच भी लेता है। यानी वह युवा पीढ़ी के लिए इस जानलेवा काले कारोबार की बहुत छोटी मछली है, और बड़ी मछलियां अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं। कोतवाली पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट की धारा 8/21 के तहत मेडिकल परीक्षण कराने के बाद उसे न्यायालय में पेश किया और वहां से उसे जेल भेज दिया गया। उल्लेखनीय है कि दो दिन पूर्व कोतवाली पुलिस ने स्मैक के अपेक्षाकृत बड़े तस्कर रोहित तिवारी को 8.1 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार कर जेल भेजा था।

यह भी पढ़ें: ऐसा क्या हुआ कि कप्तान की डांट पड़ते ही पुलिस ने पकड़ लिया स्मैक तस्कर !

-4 माह पहले कम बरामदगी बताकर छोड़ दिया था इसी तस्कर को

मंगलवार को पुलिस की गिरफ्त में चरस तस्कर।

नैनीताल, 31 जुलाई 2018। शहर की फिजाओं में जानलेवा नशे का जहर घोलने वाला स्मैक तस्कर आखिर पुलिस की गिरफ्त में आ ही गया है। इस बार उसके कब्जे से 8.1 ग्राम स्मैक बरामद हुई है। इससे पूर्व मार्च माह में भी उसके कब्जे से पुलिस ने 18 पुड़िया स्मैक बरामद हुई थी। तब उसे पुलिस ने निर्धारित से कम मात्रा होने के कारण छोड़ दिया था। बरामद की गयी स्मैक से करीब 80 पुड़िया यानी 80 डोज बनाई जा सकती हैं। पकड़ी गयी स्मैक को ठीक-ठाक बड़ी खेप माना जा रहा है। पकड़े गये आरोपित की अप्रैल माह में ही शादी हुई है, और उसकी शादी में स्मैक को लेकर ही गोली चलने की बात भी कही जाती है, जिससे एक बाराती युवक घायल हो गया था। खास बात यह भी है कि स्मैक तस्कर की गिरफ्तारी व स्मैक की बरामदगी जनपद के पुलिस कप्तान द्वारा नैनीताल पुलिस को पड़ी डांट के कुछ ही घंटों के भीतर हुई है।
मंगलवार को एएसपी हरीश चंद्र सती ने मल्लीताल कोतवाली में मामले का खुलासा करते हुए बताया कि आरोपित रोहित तिवारी पुत्र कृष्णानंद तिवारी को सोमवार देर रात्रि चूनाधारा के पास पुलिस ने नियमित गस्त के दौरान पकड़ा। गिरफ्तारी करने वाली पुलिस टीम में उप निरीक्षक दीपक बिष्ट, आरक्षी मनोज जोशी, विनोद यादव व सोनू कुमार आदि पुलिस कर्मी शामिल रहे। उसके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की धारा 8/21 के तहत कार्रवाई की गयी है। इस मौके पर सीओ विजय थापा व नगर कोतवाल विपिन चंद्र पंत भी शामिल रहे।

क्राइम मीटिंग में एसएसपी की झाड़ का हुआ असर !

नैनीताल। मल्लीताल कोतवाली पुलिस द्वारा आज स्मैक कारोबारी की गिरफ्तारी व उससे 8.1 ग्राम स्मैक की बरामदगी को एक दिन पूर्व ही जिले की मासिक अपराध समीक्षा बैठक में एसएसपी जनमेजय खंडूड़ी से पड़ी झाड़ का असर माना जा रहा है। क्योंकि नगर में स्मैक की बड़े पैमाने पर खरीद-फरोख्त की जानकारियां तो नगर में आम हैं, किंतु इस बार बैठक के कुछ ही घंटों में सक्रिय होकर पुलिस ने यह बरामदगी व गिरफ्तारी कर अपनी जान बचा ली है। उल्लेखनीय है कि नैनीताल पुलिस ने इससे पूर्व मार्च माह में इसी आरोपित से तब केवल 14 पुड़िया स्मैक ही मिलने का दावा किया था। वहीं बाद में तल्लीताल पुलिस ने अभिषेक साह नाम के एक अन्य आरोपित को 14.94 ग्राम स्मैक के साथ पकड़ा था। उल्लेखनीय है कि रोहित तिवारी से 14 पुड़िया स्मैक पकड़े जाने के एक दिन पूर्व ही करीब 10 ग्राम यानी 100 पुड़िया स्मैक रोहित तिवारी के पास आने की सूचना थी। ऐसे में नैनीताल पुलिस पर स्मैक कारोबारियों को संरक्षण प्राप्त होने के आरोप भी अक्सर लगते रहते हैं। पुलिस बच्चों में जागरूकता फैलाने के स्तर पर तो काम करती दिखती है, लेकिन कार्रवाई करते हुए नहीं। एएसपी हरीश चंद्र सती ने स्वीकारा कि स्मैक का कारोबार यहां अनवरत चल रहा है। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि कोतवाली पुलिस इस कार्रवाई से पहले क्या स्मैक कारोबार का पता होने के बावजूद इसके प्रति शांत नहीं बैठी थी।

एक कारोबारी व अधिवक्ता सहित कई पुलिस के रडार पर

नैनीताल। मामले का खुलासा करते हुए एएसपी हरीश चंद्र सती ने कहा कि नगर में 5 से 7 लोग अभी भी पुलिस के रडार पर हैं। यह लोग घर से उपेक्षित महसूस कर रहे बच्चों के बीच घुल मिलकर उन्हें नशे का दो बार में स्वाद चखाकर ही आदी बना डालते हैं। बताया गया है कि मल्लीताल बड़ा बाजार के प्रतिष्ठित व्यवसायी का कारोबारी पुत्र एवं एक अधिवक्ता पर भी पुलिस की नजर है। कारोबारी पुत्र नगर में स्मैक के कारोबार का मुख्य सूत्रधार बताया जा रहा है।

यह भी पढ़ें:  पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष व अधिवक्ता तथा उसके भाई पर मुकदमा दर्ज

स्मैक कारोबारी की बीती 18 अप्रैल को हुई बारात में गोली चलाकर युवक को घायल करने के अधिवक्ता व पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष सुंदर सिंह मेहरा और उसके भाई देवेंद्र सिंह मेहरा पर राजस्व पुलिस में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। घायल के भाई नरेंद्र बिष्ट की तहरीर पर दोनों के खिलाफ जानलेवा हमला करने व अन्य आरोपों में मुकदमा दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ें: स्मैक कारोबारी की बारात में चली गोली, युवक घायल, अधिवक्ता व भाई पर आरोप

-बुधवार को मुख्यालय से बगड़ के लिए गयी थी बारात, पूर्व छात्र नेता व अधिवक्ता तथा उसके भाई पर लगा है गोली मारने का आरोप

पैर में गोली लगने से घायल युवक को सहारा देते साथी।

नैनीताल, 18 अप्रैल 2018। बुधवार को नैनीताल के चार्टन लॉज से निकटवर्ती ग्राम बगड़-पंगोट गयी एक बारात में बारातियों में आपस में विवाद हो गया। विवाद इतना बड़ा कि नगर के एटीआई निवासी 25 वर्षीय युवक उमेश बिष्ट पुत्र लक्ष्मण सिंह बिष्ट को गोली मार दी गयी। दैवयोग से गोली उमेश के पैर में लगी, जिससे उसकी जान बच गयी। इमरान, वैभव, महेंद्र व सुरेंद्र आदि साथी उसे बचाकर जिला अस्पताल ले कर आये। यहां से प्राथमिक उपचार के उपरांत उसे हल्द्वानी के उच्च केंद्र के लिए संदर्भित कर भेज दिया गया है।
मामले में कुमाऊं विवि के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष व वर्तमान में अधिवक्ता तथा उसके भाई पर गोली मारने का आरोप लगा है। पीड़ित की ओर से कोतवाली पुलिस में तहरीर दी गयी। इस पर पुलिस ने पीड़ित को मामला राजस्व क्षेत्र का बताकर संबंधित राजस्व क्षेत्र में तहरीर देने की सलाह दी है।

स्मैक पकड़े जाने के लिए आया था दूल्हे का नाम
नैनीताल। उल्लेखनीय है कि बुधवार को जिस बारात में गोली चलने की घटना हुई, वह नगर के चार्टन लॉज निवासी रोहित तिवाड़ी की थी। रोहित की मल्लीताल पिछाड़ी बाजार में कोणार्क होटल के नीचे दुकान है। कोतवाली पुलिस के अनुसार रोहित को गत दिनों एसटीएफ ने 14 पुड़िया स्मैक के साथ पकड़ा था, किंतु स्मैक की मात्रा एक ग्राम से कम होने की वजह से बाद में उसके खिलाफ संबंधित धाराओं में कार्रवाई के बजाय केवल चालान कर दिया गया था। पुलिस के द्वारा आशंका व्यक्त की जा रही है कि विवाद की वजह स्मैक भी हो सकती है।

फिर साबित हुआ नैनीताल में स्मैक का कारोबार, अब 5 ग्राम के साथ पकड़ा गया स्थानीय तस्कर

नैनीताल। जिला व मंडल मुख्यालय में जानलेवा स्मैक का नशा गहरा पसरा हुआ है। यह बात शनिवार को बार फिर साबित हो गयी। पुलिस ने एक स्मैक तस्कर को 4.94 ग्राम स्मैक के साथ दबोचा है। उसके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की धारा 8/21 के तहत अभियोग पंजीकृत कर लिया गया है। साथ ही नगर में स्मैक के काले कारोबार के खिलाफ तथ्य संकलन जारी रखने का इरादा जाहिर करने के साथ एसआई रेवती पंत को मामले की जांच सौंप दी है।
एएसपी हरीश चंद्र सती ने बताया कि नगर के माल रोड पर मैरीनो होटल के पास रहने वाले अभिषेक साह पुत्र स्वर्गीय राजेश साह को हल्द्वानी रोड से हनुमानगढ़ी जाने वाले रास्ते पर पकड़ा गया। उसे पकड़ने वाली टीम में तल्लीताल के थाना प्रभारी मनोज सिंह, आरक्षी मनोज सिंह, राजा राम व शिवराज राणा शामिल थे। पकड़ा गया युवक पूर्व में मल्लीताल जिला अस्पताल के पास की पार्किंग में काम करता था।

स्मैक पीने वाले 5 युवक भी पकड़े, काउंसिलिंग कर छोड़े
नैनीताल। पुलिस ने स्मैक तस्कर के साथ ही पांच युवकों को भी पकड़ा है। नगर के तल्लीताल क्षेत्र के के ये युवक सभी तरह के घर-परिवारों के और कम उम्र के हैं। जिससे समझा जा सकता है कि कोई भी बच्चा इस जानलेवा नशे की गिरफ्त में आ सकता है। फिलहाल पुलिस ने पकड़े गये युवकों के परिजनों को थाने में बुलाकर उनके सामने ही काउंसिलिंग की, और नशे के खतरों से अवगत कराकर आगे इसका प्रयोग न करने की ताकीद की। साथ ही नगर के अन्य अभिभावकों से भी अपील की है कि वे अपने बच्चों पर नजर रखें। यदि उनका बच्चा असामान्य व्यवहार कर रहा है। घर से पैंसे ले जा रहा है, और नशा कर रहा है, तो उसे समझाएं व नशे से दूर करें। एएसपी ने बताया कि नगर में करीब 2 दर्जन युवाओं के इस नशे की गिरफ्त में होने की जानकारी है।

250 रुपए में आती है एक बार की पुड़िया
नैनीताल। एएसपी ने बताया कि नगर में तस्कर करीब 250 रुपए की स्मैक की एक बार उपयोग करने वाली पुड़िया बेच रहे हैं। शुरुआत में तस्कर बच्चों को मुफ्त में एक-दो पुड़िया उपलब्ध कराकर नशे का शौक चढ़ाते हैं, और बाद में रुपए ऐंठते हैं। पुड़िया बहुत छोटी होती हैं, इन्हें कहीं भी छिपाया जा सकता है। पुलिस करीब 64 पुड़ियाओं में आने वाली दो ग्राम स्मैक पर कार्रवाई कर सकती है। नगर में 20-20 के करीब पुड़िया लाकर स्मैक का काला कारोबार करने वाले कई लोग तथा स्मैकियों के कई अड्डे भी पुलिस के रडार पर आ चुके हैं। आगे पुलिस सादी वर्दी में भी स्मैकियों के खिलाफ कार्रवाई करेगी।

पुलिस की कार्रवाई पर संदेह बरकरार
नैनीताल।एक स्मैक तस्कर को गिरफ्तार करने के बावजूद लोगों का पुलिस की कार्रवाई पर संदेह बरकरार है। खासकर पिछली कार्रवाई को लेकर, जिसमें स्मैक का बड़ा तस्कर बताए जा रहे व्यक्ति को 14 पुड़िया से कम बताकर मात्र चालान कर छोड़ दिया, और उसके द्वारा दिये गए सुरागों व मल्लीताल में बताए गए अन्य अड्डों व कारोबारियों पर अब तक कार्रवाई न होने से भी संदेह गहरा रहा है। इस मामले में भी पकड़े गए तस्कर ने एक और व्यक्ति के साथ होने का खुलासा किया है। अब देखना होगा कि पुलिस आगे इस दिशा में क्या कठोर कार्रवाई करती है।

यह भी पढ़ें : 14 पुड़िया स्मैक के साथ दबोचा दुकानदार, एक दिन पहले ही आई थी 100, बाकी गई कहां ?

नैनीताल। जिले भर में एसएसपी जनमेजय खंडूड़ी के निर्देशों पर चल रही नशे के खिलाफ कार्रवाई बमुश्किल शुक्रवार को एसओजी के माध्यम से मुख्यालय पहुंची, लेकिन भरोसेमंद सूत्रों के अनुसार इसमें ‘खेल’ कर दिया गया। एसओजी ने मल्लीताल के पिछाड़ी बाजार में कोणार्क होटल के नीचे के एक दुकानदार मोहित तिवाड़ी को स्मैक के साथ दबोचा। इसके साथ नगर कोतवाली की अब तक की अनेक शिकायतों के बावजूद ‘नां’ के इतर, नाक के नीचे, चंद कदमों पर स्मैक का कारोबार होने की पुष्टि हो गयी, जबकि नैनीताल पुलिस कई शिकायतों, नगर में स्मैक के एक नशेड़ी द्वारा अपने ही पिता को स्मैक के लिए पैंसे न देने पर चाकू मारने जैसी वारदात होने के बावजूद अब तक नशे के इन काले कारोबारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर पाई थी।

यह भी दिलचस्प रहा कि सामान्यतया किसी आरोपी को चोरी की योजना बनाते पकड़ने के लिए उसके हाथ में खुद ही ‘आला नकब’, नशीले पदार्थों के साथ पकड़े जाने के लिए खुद ही उसकी जेब में नशे की पुड़िया और इन्काउंटर में बेहद पुराना कट्टा थमाने के लिए कुख्यात पुलिस इस मामले में कथित तौर पर इसलिए कार्रवाई नहीं कर पाई कि युवक के पास स्मैक की 14 पुड़िया ही मिलीं, जो कि एक ग्राम से कम थी। कुछ पुड़िया भी अधिक होतीं तो युवक के विरुद्ध संबंधित धारा में मुकदमा दर्ज हो सकता था, लेकिन कम होने पर उसके खिलाफ महज उत्तराखंड पुलिस अधिनियम के तहत मात्र एक हजार रुपए के चालान की खानापूरी कर उसे छोड़ दिया। यह भी इसलिए कि मामला मीडिया के संज्ञान में आ चुका था। मीडिया को यह भी समझाया गया है कि रोहित की अगले माह ही 18 अप्रैल को शादी होनी भी तय थी, और उस ‘बेचारे’ के पास स्मैक खुद के ही उपयोग के लिए ही थी। इसलिए उसे छोड़ दिया गया। यहां सवाल उठना लाजिमी है कि पुलिस को मोहित के पास निर्धारित सीमा से कुछ ही पुड़िया स्मैक कम क्यों मिली ? कहीं कुछ पुड़िया कम तो नहीं दिखा दी गयी ? 

भरोसेमंद सूत्रों की मानें तो एसएसपी को एक दिन पहले ही नगर में 100 पुड़िया स्मैक आने की वास्तव में सही सूचना मिली थी। इस जाल को तोड़ने के लिए नैनीताल पुलिस से इतर एसओजी को जिम्मेदारी दी गयी। तिवाड़ी ने भी पुलिस के समक्ष खुलासा किया कि नगर में एक प्रतिष्ठित व्यवसायी का पुत्र गदरपुर से लाकर चीना बाबा मंदिर के पास से व एक अन्य स्थानीय युवक हल्द्वानी से लाकर यह काला कारोबार करता है तथा एक, पूर्व छात्र नेता भी स्मैक का इस्तेमाल कर पीड़ित व अन्य को इस जानलेवा नशे की गिरफ्त में धकेलने वाला बताया गया है।

सवाल यह भी है कि एक दिन में ही शेष 86 पुड़िया कहाँ चली गयीं ? क्या ये प्रयोग कर ली गयीं ? यदि ऐसा है, तो यह और भी अधिक भयावह है कि छोटे से नगर में इस जानलेवा नशे की इतनी अधिक खपत है, और यदि नहीं तो तो पुलिस इसे बरामद क्यों नहीं कर पाई ?

बताया गया है कि एसओजी द्वारा तिवाड़ी को स्मैक के साथ पकड़े जाने पर पूछताछ में पुलिस के ‘रडार’ पर आये अन्य काले धन्धेबाज़ों के घरों की स्थानीय पुलिस की मदद से तलाशी ली जानी थी, लेकिन इसमें उचित सहयोग नहीं मिला, लिहाजा तलाशी नहीं हो पाई। इसलिए आज की कार्रवाई महज खानापूरी बनकर रह गयी।

उल्लेखनीय है कि नगर में चीना बाबा चौराहे में स्मैक की बिक्री होने और मेट्रोपोल पार्किंग क्षेत्र में स्मैकियों का अड्डा होने, स्कूली बच्चों द्वारा भी स्मैक का इस्तेमाल किये जाने की लंबे समय से आम चर्चाएं हैं। स्थानीय लोग कोतवाली पुलिस को कई बार सूचना दे चुके हैं, बावजूद पुलिस ने कभी कोई उल्लेखनीय कार्रवाई नहीं की है।

एएसपी हरीश चंद्र सती ने कहा कि तिवाड़ी से नगर में स्मैक का इस्तेमाल करने व इसे लाकर बेचने वाले कारोबारियों के बारे में कई अति महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे हैं। इन पर पुलिस व एसओजी आगे शीघ्र कार्रवाई करेगी।

Loading...

नवीन समाचार

मेरा जन्म 26 नवंबर 1972 को हुआ था। मैं नैनीताल, भारत में मूलतः एक पत्रकार हूँ। वर्तमान में मार्च 2010 से राष्ट्रीय हिन्दी दैनिक समाचार पत्र-राष्ट्रीय सहारा में ब्यूरो चीफ के रूप में कार्य कर रहा हूँ। इससे पहले मैं पांच साल के लिए दैनिक जागरण के लिए काम कर चुका हूँ। कुमाऊँ विश्वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग से ‘नए मीडिया’ विषय पर शोधरत हूँ। फोटोग्राफ़ी मेरा शौक है। मैं NIKON COOLPIX P530 और अडोब फोटोशॉप 7.0 के साथ फोटोग्राफी कर रहा हूँ। फोटोग्राफी मेरे लिए दुनियां की खूबसूरती को अपनी ओर से चिरस्थाई बनाने का बहुत छोटा सा प्रयास है। एक फोटो पत्रकार के रूप में मेरी तस्वीरों को नैनीताल राजभवन सहित विभिन्न प्रदर्शनियों में प्रस्तुत किया गया, तथा उत्तराखंड की राज्यपाल श्रीमती मार्गरेट अलवा द्वारा सम्मानित किया गया है। कुछ चित्रों को राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार भी प्राप्त हो चुके हैं। गूगल अर्थ पर चित्र उपलब्ध कराने वाली पैनोरामियो साइट पर मेरी प्रोफाइल को 18.85 Lacs से भी अधिक हिट्स प्राप्त हैं।पत्रकारिता और फोटोग्राफी के अलावा मुझे कवितायेँ लिखना पसंद है। काव्य क्षेत्र में मैंने नवीन जोशी “नवेन्दु” के रूप में अपनी पहचान बनाई है। मैंने बहुत सी कुमाउनी कवितायेँ लिखी हैं, कुमाउनी भाषा में मेरा काव्य संकलन उघड़ी आंखोंक स्वींड़ प्रकाशित हो चुका है, जो कि पुस्तक के के साथ ही डिजिटल (PDF) फार्मेट पर भी उपलब्ध होने वाली कुमाउनी की पहली पुस्तक है। मेरी यह पुस्तक गूगल एप्स पर भी उपलब्ध है। ’ यहां है एक पत्रकार, लेखक, कवि एवं छाया चित्रकार के रूप में मेरी रचनात्मकता, लेख, आलेख, छायाचित्र, कविताएं, हिंदी-कुमाउनी के ब्लॉग आदि कार्यों का पूरा समग्र। मेरी कोशिश है कि यहां नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड और वृहद संदर्भ में देश की विरासत, संस्कृति, इतिहास और वर्तमान को समग्र रूप में संग्रहीत करने की….। मेरे दिल में बसता है, मेरा नैनीताल, मेरा कुमाऊं और मेरा उत्तराखंड

Leave a Reply

%d bloggers like this: