यह सामग्री कॉपी नहीं हो सकती है, फिर भी चाहिए तो व्हात्सएप से 8077566792 पर संपर्क करें..

हद है, तस्कर चप्पलों के तलों में छुपाकर स्मैक लाते हैं, और स्मैकिये मजे से पीते हैं…

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 नवंबर 2019। बनभूलपुरा पुलिस ने रेलवे स्टेशन के पास चेकिंग के दौरान तीन लोगों को 12.5 ग्राम स्मैक के साथ धर दबोचा। तीनों ने चप्पलों के सोल में स्मैक छिपाया था। पूछताछ में पता चला कि तीनों बहेड़ी से स्मैक लेकर आए हैं। थानाध्यक्ष सुशील कुमार ने पत्रकारों को बताया कि बृहस्पतिवार दोपहर एसआई मनोज कुमार, एसआई संजीत कुमार राठौर, कांस्टेबल घनश्याम आर्या एवं एहसान फर्नीचर लाइन में गश्त कर रहे थे। इस बीच रेलवे स्टेशन की तरफ से आ रहे तीन संदिग्ध पुलिस को देखकर भागने लगे, लेकिन पुलिस ने तीनों को पकड़ लिया। तलाशी के दौरान पाकेट से स्मैक नहीं मिलने पर पुलिस ने उनके चप्पलों को पलटा तो कलई खुल गई। तीनों चप्पल के सोल के अंदर स्मैक छिपाए थे। पुलिस ने तीनों से 12.5 ग्राम स्मैक बरामद की। पकड़े गए लोगों में इंदिरानगर बड़ी मस्जिद के पास रहने वाला रियासत, लाइन नंबर 17 मोहम्मद इरफान, इंदिरानगर निवासी मोहम्मद नसीम शामिल हैं। आरोपियों ने पुलिस को बताया कि वे बहेड़ी के एजाज से स्मैक खरीदकर लाए थे। वे ट्रेन से उतरकर घर जा रहे थे। थानाध्यक्ष कुमार ने बताया कि स्मैक के साथ गिरफ्तार आरोपियों को पहले भी पुलिस ने काउंसलिंग कर सुधारने की कोशिश की थी, लेकिन हर तीसरे दिन तीनों स्मैक खरीदने के लिए बहेड़ी चले जाते हैं।

यह भी पढ़ें : नैनीताल में स्मैक के साथ एक गिरफ्तार, 6 स्मैकियों की कराई काउंसिलिंग

पुलिस की गिरफ्त में मल्लीताल कोतवाली पुलिस।

नवीन समाचार, नैनीताल, 13 नवंबर 2019। नैनीताल कोतवाली पुलिस ने मंगलवार की मध्य रात्रि 12 बजे एक युवक को 2.6 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार किया है। बताया गया है कि 22 वर्षीय युवक दीपक कुमार उर्फ ज्ञानू पुत्र स्वर्गीय भुवन कुमार निवासी मुख्य डाकघर परिसर मल्लीताल को मल्लीताल रॉयल होटल के निकट एक शौचालय के पास से दबोचा गया। साथ ही उससे स्मैक खरीदने वाले 6 अन्य युवक भी पकड़ में आये। उन्हें उनके परिजनों के साथ थाने में बुलाकर पुलिस ने उनकी काउंसिलिंग कराई, जबकि दीपक कुमार को 8/21 एनडीपीएस एक्ट के लिए मुकदमा पंजीकृत न्यायालय के आदेश पर जेल भेज दिया। पुलिस ने पकड़े गए आरोपित के हवाले से बताया कि वह हल्द्वानी से कम मात्रा में स्मैक लाकर स्थानीय युवकों को स्मैक उपलब्ध कराकर अपना खर्चा चलाता था, और स्वयं भी स्मैक पीता था। वह स्मैक के कारण ही गोली मार कर हत्या किये गये रोहित तिवारी के साथ भी काम कर चुका है। गिरफ्तारी करने वाली टीम में सीओ विजय थापा, नगर कोतवाल अशोक कुमार सिंह, उप निरीक्षक हरीश सिंह, एएसआई सत्येंद्र गंगोला, आरक्षी मनोज जोशी, जय प्रकाश व विनोद कुमार शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : बिन मां-बाप की 11वीं कक्षा में पढ़ने वाली लड़की व छोटे भाई को पहले बनाया स्मैक का लती

-फिर करते रहे दुष्कर्म, आठ माह के गर्भ का पता चलने पर हुई गायब

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 12 नवंबर 2019। हल्द्वानी में एक बिन मां-बाप के भाई-बहन को स्मैक का लती बनाने और बहन को स्मैक के लिए हर बार हवस का शिकार बनाकर गर्भवती करने का मानवता को शर्मसार करने और स्मैक के बढ़ते खतरे को बताने वाला समाचार प्रकाश में आया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार भाई-बहन अपने नाना के साथ रहते हैं। उनके माता-पिता का निधन हो चुका है। अकेलेपन के बीच वे स्मैकियों के संपर्क में आ गए और धीरे-धीरे स्मैक के लती हो गए। हालत यहां तक पहुंच गई है कि 11वीं कक्षा में पढ़ने वाली बहन को स्मैक उपलब्ध कराने के नाम पर स्मैकियों ने कई बार अपनी हवस का शिकार बना लिया। इधर दो दिन पहले युवती किसी तरह जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पहुंची, जहां से दो दिन पहले युवती किसी तरह वह जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पहुंची, जहां से उसे उसे नशे से मुक्त कराने के लिए निर्वाण नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती कराया गया। यहां से उसे सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज में शारीरिक जांच के लिए ले जाया गया, जहां जांचों के दौरान उसे आठ माह का गर्भ होने का पता चला है। यह जानकारी लगने पर किशोरी शौचालय जाने की बात कह अचानक गायब हो गई है।

यह भी पढ़ें : स्मैकिए ने रुपए न मिलने पर खुद को किया कमरे में बंद, पुलिस पर किया पथराव, चलाया चाकू, मीडियाकर्मी की हिम्मत से आया कब्जे में

नवीन समाचार, नैनीताल, 2 अक्तूबर 2019। बुधवार को ‘विश्व अहिंसा दिवस’ के मौके पर मुख्यालय में स्मैक के नशे में हिंसक हुए युवक के खौफ से उसके घर वालों के साथ ही पुलिस भी परेशान रही। आखिर एक पुलिस कर्मी की हिम्मत से नशेड़ी स्मैकिया किसी तरह काबू में आया। पूरे मामले में स्मैकिये के पिता के साथ पुलिस के अधिकारी को भी हल्का चाकू लग गया। वहीं एक पुलिस के दरोगा को पत्थर लगने से हल्की चोट आई। स्मैकिया युवक पूर्व में भी स्मैक के लिए रुपए न मिलने पर खुद को आग लगाने का प्रयास कर चुका था, तब भी पुलिस ने उसे बचाया था। इस पूरे मामले में मुख्यालय में स्मैक का नशा किस हद तक युवाओं को अपनी चपेट में ले चुका है, इसकी बानगी भी देखने को मिली।

स्मैकिये युवक को नशा मुक्ति केंद्र के लिए ले जाते लोग।
चाकू से हथेली में लगी खरोंच देखते पुलिस इंस्पेक्टर।

घटनाक्रम के अनुसार नगर के माल रोड के पीछे पुराने एनसीसी कार्यालय के पास बैरम विला कंपाउंड क्षेत्र में रहने वाले, नगर के एक विद्यालय में बडे़ बाबू के पद पर कार्यरत पिता ने मल्लीताल कोतवाली पुलिस को सूचना दी कि उसका पुत्र स्मैक के नशे का आदी है। पिछले दिनों उसे पुलिस ने स्मैक के साथ पकड़ा भी था और हल्द्वानी के नशा मुक्ति केंद्र में भी उसका इलाज हुआ था। इधर वह स्मैक के लिए 15 हजार रुपए मांग रहा था। न देने पर उसने खुद को कमरे में बंद कर लिया था। इस पर पुलिस वाले उसके घर के पास पहुंचे तो उसे पुलिस कर्मियों पर बड़ा सा पत्थर फेंक दिया। एक उप निरीक्षक को पत्थर से बचते-बचते चोट भी आई। बाद में उसने खुद को फिर से कमरे में बंद कर लिया। पुलिस कर्मी किसी तरह पीछे की ओर से अंदर घुसने का प्रयास कर रहे थे। तभी युवक के पड़ोस में ही रहने वाले एक मीडिया कर्मी सुनील बोरा के धक्के से अगला दरवाजा ही खुल गया। अंदर युवक को काबू करने की कोशिश के दौरान युवक द्वारा चलाया चाकू सुनील की स्वेटर में फंस गया। तब तक उसके पिता व पुलिस इंस्पेक्टर भी कमरे में आ गये। उसे दबोचने की कोशिश में भी दोनों को भी चाकू से खरोंचें आईं। इसके बाद बमुश्किल कई लोगों ने मिलकर युवक को कब्जे में किया और उसे उसके पिता के साथ नशा मुक्ति केंद्र हल्द्वानी भेजा गया। बताया गया कि 20-22 वर्षीय युवक सातवीं-आठवीं कक्षा से ही पहले चरस व इधर कुछ वर्षों से स्मैक पीने लगा है। पिछले दिनों वह स्मैक के लिए रुपए न देने पर घर में आग भी लगा चुका है।

यह भी पढ़ें : पुलिस-एसओजी ने दो तस्करों से बरामद की 41.78 ग्राम स्मैक, स्मैक के लिए लूटने वाले की जमानत अर्जी खारिज

नवीन समाचार, नैनीताल, 1 अक्तूबर 2019। हल्द्वानी की मंडी चौकी पुलिस ने मंगलवार को एसओजी की मदद से मोतीनगर बैरियर से मोहम्मद रिफाकत अली पुत्र अकबर अली निवासी जगतपुर नई बस्ती बरेली उत्तर प्रदेश के कब्जे से 21.49 ग्राम व रसीद पुत्र नासिर निवासी मोहल्ला नसीराबाद मिलक रामपुर उत्तर प्रदेश के कब्जे से 20.07 ग्राम अवैध स्मैक यानी कुल 41.78 ग्राम स्मैक बरामद की। दोनों के विरुद्ध एनडीपीएस एक्ट के तहत अभियोग पंजीकृत किया गया है। गिरफ्तार करने वाली टीम में चौकी प्रभारी मुनव्वर हुसैन, उप निरीक्षक दिलबर सिंह भंडारी, आरक्षी ललित मेहरा, इसरार अहमद तथा एसओजी के आरक्षी कुंदन सिंह व अशोक सती शामिल रहे।

नोट: पंचायत चुनावों की पूरी अवधि के लिए ‘सबसे सस्ती’ दरों पर विज्ञापन के लिए संपर्क करें 9412037779 अथवा 8077566792 पर।

स्मैक के लिए रूपये लूटने वाले युवक की जमानत अर्जी खारिज

विगत माह 11 अगस्त 2019 को हल्द्वानी में शिवांश केसरवानी नाम के व्यक्ति से चार युवकों ने मारपीट कर उसकी जेब में रखे 15,500 रुपए, एटीएम कार्ड, आधार कार्ड व पेन कार्ड रखा पर्स लूट लिया था। इस मामले में 14 अगस्त को पकड़े गये फैजान पुत्र तुफैल निवासी वार्ड नंबर 14 बनभूलपुरा हल्द्वानी को पुलिस ने दो हजार रुपए नगद तथा शिकांश केशरवानी के आधार कार्ड के साथ दबोचा था। तभी से जेल में बंद फैजान ने जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजीव कुमार खुल्बे की अदालत में जमानत अर्जी दाखिल की थी। इस पर मंगलवार को सुनवाई हुई। अभियोजन पक्ष की ओर से जिला शासकीय अधिवक्ता एसके शर्मा ने पैरवी करते हुए जमानत का विरोध किया। बताया कि आरोपित अपना अपराध स्वीकार कर चुका है कि स्मैक के नशे की लत के लिए उसने लूटपाट की और स्मैक के लिए पीड़ित का मोबाइल भी बेच दिया और मिले रुपयों से चारों ने स्मैक पी। बताया कि अन्य तीनों युवकों की जमानत अदालत पहले ही खारिज कर चुकी है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल पुलिस-एसओजी ने वेल्डर से बरामद की करीब ढाई करोड़ की स्मैक, 4535 डोज लेने से बचाये युवा….

नवीन समाचार, हल्द्वानी, 2 सितम्बर 2019। नैनीताल-उत्तराखंड पुलिस ने नशे के खिलाफ अभियान के तहत  एक तस्कर को 453.5 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार किया है। उसके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्यवाही कर जेल भेज दिया है। यह पहला अवसर है जब पुलिस व एसओजी की टीम ने इतनी बड़ी मात्रा में स्मैक बरामद करने में सफलता हासिल की है। पुलिस के सूत्रों के अनुसार  1 ग्राम स्मैक  से करीब 16 पुड़िया बनती हैं, यानी पकड़ी गई स्मैक से 4535 से अधिक युवाओं को नशे की गिरफ्त में जाने से अथवा एक डोज लेने से बचा लिया गया है। बरामद स्मैक की कीमत करीब ढाई करोड़ रुपये आंकी जा रही है।

जानकारी के अनुसार बनभूलपुरा थाना पुलिस व एसओजी की संयुक्त टीम ने गौलापुल चैक पोस्ट पर चैकिंग अभियान चलाया था कि तभी उसे एक युवक आता दिखाई दिया। शक होने पर जब पुलिस ने उसके बैग की तलाशी ली तो उसमें काली पन्नी में रखी गई 453.5 ग्राम स्मैक, दो मोबाइल फोन व 340 रूपये की नगदी बरामद हुई। पूछताछ में पकड़े गये तस्कर ने अपना नाम मोहम्मद सोहेल पुत्र स्व. शफीक अहमद निवासी मोहल्ला इस्लाम नगर प्राइमरी स्कूल के पास वार्ड नंबर 5 खटीमा बताया। उसने बताया कि वह खटीमा में वैल्डिंग का काम करता है। वह अपने पार्टनर फरियाद व राशिद के साथ मिलकर वर्ष 2015 से उत्तराखंड व उत्तर प्रदेश में स्मैक की तस्करी का कार्य कर रहे हैं। उसने बताया कि इस कार्य में कमाई अधिक होने के चलते वह विगत दो वर्षों से हल्द्वानी, अल्मोड़ा, बागेश्वर, पिथौरागढ़, नैनीताल में स्कूली बच्चों, ऑटो चालकों व युवाओं को स्मैक बेचने लगे। इसके अलावा खटीमा में भी वह इसी कार्य को अंजाम देते हैं। पकड़े गये तस्कर ने पुलिस को बताया कि वह फरियाद व राशिद के कहने पर ही हल्द्वानी रेलवे स्टेशन में स्मैक की बिक्री करने पहुंचा था और पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पकड़ा गया तस्कर वर्ष 2016 में भी थाना फतेहपुर उत्तर प्रदेश में भी स्मैक तस्करी के मामले में जेल जा चुका था। यह मामला अभी न्यायालय में विचाराधीन है। इसके अलावा उस पर चैक बाउंसिंग के दो मामले भी न्यायालय में चल रहे हैं। पुलिस पकड़े गये तस्कर से जुटाई गई जानकारी के आधार पर उसके पार्टनरों की गिरफ्तारी के प्रयास कर रही है। पुलिस ने पकड़े गये तस्कर के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेज दिया है। सफलता प्राप्त करने वाली टीम में बनभूलपुरा थानाध्यक्ष सुशील कुमार, एसओजी प्रभारी दिनेश पंत, एसआई मंगल सिंह नेगी, मनोज कुमार, संजीत कुमार राठौड़, कांस्टेबल परवेज अली, श्याम सिंह राणा, रवि कुमार, अयूब हुसैन, जितेंद्र कुमार, कुंदन कठायत, त्रिलोक रौतेला शामिल रहे।

डीआईजी और एसएसपी ने की इनाम की घोषणा
हल्द्वानी। सफलता हासिल करने वाली टीम को कुमाऊं मंडल के डीआईजी जगतराम जोशी ने पांच हजार रुपये का और नैनीताल एसएसपी सुनील कुमार मीणा ने ढाई हजार रुपये के नकद इनाम देने का ऐलान किया है।

यह भी पढ़ें : स्मैक तस्करी करती महिला गिरफ्तार, युवा सेना ने किया पुलिस अधिकारियों को सम्मानित

<

p style=”text-align: justify;”>नवीन समाचार, हल्द्वानी/नैनीताल, 1 सितंबर 2019। हल्द्वानी पुलिस ने एक महिला स्मैक तस्कर को 5.4 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार किया है, औरएनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया है। महिला का नाम-पता मैसरजहां पत्नी स्व. नवाब निवासी गौला गेट नाले के किनारे वार्ड नंबर 14 बताया गया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बीती रात बनभूलपुरा थाना पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि जवाहरनगर गौला नदी के किनारे एक महिला स्मैक की बिक्री कर रही है। इस सूचना पर थानाध्यक्ष सुशील कुमार ने घेरा बंदी कर उसे गौला नदी के किनारे दबोच लिया। महिला पुलिस ने जब उसकी तलाशी ली तो उसके पास से 5.4 ग्राम स्मैक बरामद हुई। पूछताछ में पकड़ी गई महिला तस्कर ने बताया कि वह बहेड़ी से सस्ते दामों से स्मैक खरीद कर लाती है और यहां गौला नदी किनारे रहने वालों को दो सौ रुपये प्रति पुडिया के हिसाब से बेचती है। उसके पास से पुलिस ने बेची गई स्मैक के 800 रुपये नगद भी बरामद किये हैं। पुलिस ने उससे कुछ अहम जानकारियां भी जुटाई हैं। पुलिस का कहना है कि इन जानकारियों के आधार पर अन्य तस्करों की गिरफ्तारी के प्रयास किये जायेंगे। पुलिस टीम में एसआई मनोज कुमार यादव, कुसुम रावत, कांस्टेबल सतनाम सिंह, महिला कांस्टेबल परमजीत कौर शामिल रहे। उधर मुखानी थाना प्रभारी नंदन सिंह रावत व एसओजी की टीम ने स्मैक तस्कर पीलीकोठी निवासी राज लटवाल सहित दो स्मैकियों को हिरासत में लिया है। तस्कर के पास से चार ग्राम स्मैक बरामद हुई है। उसके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया है। जबकि स्मैकियों की काउंसिलिंग के बाद उन्हें परिजनों को सौंप दिया गया है।

स्थानीय लोगों ने नशेडियों को दबोचकर पुलिस को सोंपा

सरस्वती विहार रामपुर रोड के लोगों ने एक स्मैक तस्कर व तीन स्मैकियों को दबोच कर मेडिकल चौकी पुलिस के सुपुर्द किया है। पुलिस उनसे गहनता से पूछताछ कर रही है। मेडिकल चौकी प्रभारी कैलाश नेगी ने बताया कि सभी स्मैकियों के परिजनों को चौकी बुलाकर हिदायत देने के बाद उन्हें सौंप दिया गया है।

युवा सेना कार्यकर्ताओं ने नशे के खिलाफ अभियान पर पुलिस के अधिकारियों को किया सम्मानित

पुलिस क्षेत्राधिकारी व नगर कोतवाल को सम्मानिज करते युवा सेना के कार्यकर्ता।

नैनीताल। शिव सेना की युवा इकाई-युवा सेना के कार्यकर्ताओं ने मुख्यालय में नशे के खिलाफ अभियान चलाने पर पुलिस क्षेत्राधिकारी विजय थापा, मल्लीताल कोतवाल अशोक कुमार सिंह को सम्मानित किया। नैनीताल क्लब में आयोजित कार्यक्रम में युवा सेना के जिला अध्यक्ष हेमंत बेदी की अगुवाई में आयोजित कार्यक्रम में कहा गया कि युवा सेना नगर में सफेद व काले दोनों तरह के नशे को पूरी तरह से समाप्त करने के लिए कार्य करेगी। इस दौरान सीओ श्री थापा व कोतवाल श्री सिंह ने भी युवाओं को नशे के प्रति जागरूक किया। जिला मंत्री मनीष कुमार ने कहा कि सेना नंदा देवी महोत्सव में भी बढ़-चढ़कर भागेदारी करेगी, और इस दौरान भी जागरूकता अभियान का कैंप लगाएगी। इस मौके पर कार्तिक बेदी, किशन कुमार, नगर अध्यक्ष पवन श्रोतिय, आकाश ढोलकिया, संजय दुबे, हरीश अधिकारी, राहुल राय, संजीव पवार, कुणाल बेदी, आकाश, विनोद कुमार, संजय रावत, दीप कांडपाल, संजय कुमार, धीरज, रवि कुमार, साहिल आर्या, दीपांशु बिष्ट, दीपक, पवन नयाल व प्रकाश चौधरी आदि युवा सेना कार्यकर्ता मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड पुलिस ने एक महिला सहित दो तस्करों से पकड़ी करीब एक करोड़ रुपए की स्मैक

<

p style=”text-align: justify;”>नवीन समाचार, देहरादून, 26 अगस्त 2019। उत्तराखड पुलिस ने राजधानी देहरादून में बड़ी सफलता प्राप्त करते हुए एक महिला सहित दो तस्करों से कुल 201 ग्राम अवैध स्मैक बरामद की है। पकड़ी गयी स्मैक की कीमत करीब एक करोड़ रुपए बताई जा रही है। तस्करी में प्रयुक्त की गई एक बाईक को भी सीज कर दिया गया है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस उपमहानिरीक्षक रिदिम अग्रवाल द्वारा एसटीएफ की कुमाऊं यूनिट पंतनगर को तस्करी की रोकथाम के लिए निर्देशित किया गया था। जिसके क्रम में गत दिवस एसटीएफ की कुमाऊं यूनिट ने कार्रवाई करते हुए दो तस्करों की गिरफ्तारी की। पुलिस ने बताया कि थाना पुलभट्टा उधम सिंह नगर में मीरगंज बरेली उत्तर प्रदेश से स्मैक लेकर आ रहे एक महिला और पुरुष को 201 ग्राम अवैध स्मैक के साथ गौला पुल मेन हाईवे के किनारे से गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार किए गए दोनों अभियुक्त लंबे समय से मीरगंज बरेली से स्मैक लाकर सिरौली कला निवासी श्यामपुर बेचते थे। गिरफ्तार अभियुक्तों में रीना पत्नी आसू खान निवासी मीरगंज, सिरौली चौराहा, बरेली, उत्तर प्रदेश तथा गुलवेज खान पुत्र मुन्ने खान निवासी नगरिया सादात, मीरगंज, जिला बरेली, उत्तर प्रदेश शामिल हैं। अभियुक्तों से क्रमशः 140 ग्राम व 61 ग्राम कुल 201 ग्राम स्मैक बरामद हुई है। उनकी मोटरसाईकिल सुपर स्पलैंडर संख्या डीएल4एबीडब्लू-1788 को सीज कर दिया गया है। पुलिस टीम में निरीक्षक एमपी सिंह, उपनिरीक्षक विनोद जोशी, उपनिरीक्षक पंकज बेलवाल, एचसीपी दीपक अरोरा, कानि. विरेंद्र चौहान, नि. महेंद्र गिरी, गोविंद सिंह, गुरूवंत सिंह, दुर्गा सिंह, राजेंद्र मेहरा, राखी नारायण व चालक आरक्षी भूपेंद्र मर्तोलिया शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड में अब नशे के सौदागरों की खैर नहीं, मुख्य न्यायाधीश की पहल पर प्रदेश में चलेगा बड़ा अभियान..

-28 सितंबर को देहरादून में मुख्य न्यायाधीश रमेश रंगनाथन अथवा सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश करेंगे शुभारंभ

पत्रकार वार्ता करते राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव डा. जीके शर्मा व ओएसडी मो. यूसुफ।

<

p style=”text-align: justify;”>नवीन समाचार, नैनीताल, 21 अगस्त 2019। प्रदेश को नशे के जहर से मुक्त करने के संकल्प के साथ उत्तराखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति रमेश रंगनाथन की पहल पर राज्य में ‘संकल्प नशा मुक्त देवभूमि’ अभियान प्रारंभ होने जा रहा है। उत्तराखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव डा. जीके शर्मा ने बुधवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि आगामी 28 सितंबर को देहरादून से मुख्य न्यायाधीश रमेश रंगनाथन अथवा सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश इस अभियान का शुभारंभ करेंगे, और अभियान प्रदेश के नशा मुक्त होने तक जारी रहेगा।
बुधवार को राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण मुख्यालय के सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता में डा. शर्मा ने बताया कि राज्य के सभी जिलों व तालुकाओं में एक साथ शुरू होने वाले इस अभियान के तहत उपयोगकर्ताओं को नशा मुक्ति केंद्र भिजवाकर उनका पुर्नवास कराया जाएगा। समर्थ लोगों से स्वयं इसका खर्च वहन करने को कहा जाएगा, जबकि गरीबी रेखा से नीचे के नशा करने वालों का खर्च सरकार वहन करेगी। इस हेतु आगे सभी जिलों में सरकारी नशा मुक्ति केंद्र खोलने की भी योजना है। उन्होंने बताया कि देहरादून सहित दो जनपदों में नशे करने वालों एवं इसका कारोबार करने वालों का विस्तृत सर्वेक्षण किया गया है, तथा आगे इस सर्वेक्षण को प्रदेश के सभी जनपदों में विस्तारित किया जा रहा हैं। इसमें देखा जा रहा हैं कि केवल नशीले पदार्थों के छोटे पैडलर ही पकड़े जा रहे हैं। इसके अलावा सभी जिलों में पुलिस, राजस्व, न्यायिक एवं अन्य संबंधित विभागों एवं नशा मुक्ति केंद्रों के प्रतिनिधियों को शामिल करते हुए विशेष यूनिटों का गठन कर लिया गया है। बताया कि इसके अलावा बुजुर्गों के लिए हमदर्द योजना को भी पुर्नजीवित किया जा रहा है, जिसके तहत किसी को भी वृद्धाश्रम न जाना पड़े, ऐसे प्रबंध किये जाएंगे। इस मौके पर ओएसडी मो. यूसुफ भी मौजूद रहे।

अब तीन लाख तक की आय वालों को, गिरफ्तारी से पहले भी मिलेंगे निःशुल्क बचाव अधिवक्ता

नैनीताल। अब तक एक लाख रुपए वार्षिक आय वालों को गिरफ्तारी के बाद केवल परा विधिक स्वयं सेवियों की ही निःशुल्क सुविधा राज्य एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से मिलती है। लेकिन अब तीन लाख रुपए तक की वार्षिक आय वाले भी पात्र होंगे। साथ ही गिरफ्तारी से पहले भी गिरफ्तारी पर रोक के लिए भी विधिक सहायता ली जा सकेगी। यही नहीं, ‘सेशन ट्रायल’ के दौरान बचाव के लिए सीनियर, एडीशनल व असिस्टेंट काउंसिल यानी अधिवक्ता भी मिल सकेंगे। इस हेतु अधिवक्ताओं को क्रमशः 75, 60 व 45 हजार रुपए का मानदेय भी मिलेगा। इसकी शुरुआत पहले चरण में राज्य के दो जिलों से होगी।

पोर्टल से ऑनलाइन भी ली जा सकेगी विधिक सहायता, देश में पहला ऐसा प्रयोग होगा

नैनीताल। आगामी 28 सितंबर को राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण का ऑनलाइन पोर्टल भी शुरू होने जा रहा है, जिसके माध्यम से विधिक सहायता भी ली जा सकेगी, साथ ही अन्य सरकारी विभागों की सुविधाएं लेने में समस्या आने पर उनका शिकायत कर समाधान भी कराया जा सकेगा। प्राधिकरण के सचिव डा. शर्मा ने बताया कि यह सुविधा देने वाला उत्तराखंड देश का पहला राज्य होगा।

यह भी पढ़ें : नैनीताल में फिर नशा करते मिले 14-16 साल के लड़के-लड़कियां, लगाया बिच्छू

नगर पालिका सभासद मनोज साह जगाती व बिच्छू घास।

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 अगस्त 2019। नगर में स्कूली बच्चों में नशे की लत रुकने का नाम नहीं ले रही। नशा करने वालों के खिलाफ ‘बिच्छू’ लगाओ अभियान छेड़े नगर पालिका के सभासद मनोज साह जगाती ने बताया कि इन्हें सूखाताल स्थित चर्च के पीछे 14 से 16 वर्ष की उम्र के दो लड़के व लड़कियां नशे के कश लगाते हुए मिले। उन्हें बिच्छू लगाया गया। जगाती ने कहा कि अभियान का दायरा आगे बढ़ाया जाएगा।

पूरे 24 घंटे शरीर को झनझनाने के साथ लाभदायक भी है बिच्छू घास

नैनीताल। उल्लेखनीय है कि बिच्छू घास शरीर पर छूने से पूरे 24 घंटे तक शरीर को झनझनाती रहती है। इसलिए इसे छूने पर काफी डर लगता है। अलबत्ता बिच्छू घास को गर्म तासीर का माना जाता है। पहाड़ पर इसके कोमल पत्तों की सब्जी भी खाई जाती है। यह शरीर की गुम चोटों एवं रक्त का शोधन करने के लिए भी लाभदायक मानी जाती है। शरीर में मोच आने पर बिच्छू घास लगाई जाए तो चोट जल्दी प्राकृतिक तौर पर ठीक हो जाती हैं।

यह भी पढ़ें : स्कूल जाते हुए रास्ते में सिगरेट पीते मिले 8वीं-9वीं कक्षा के बच्चे, लगाया बिच्छू

नवीन समाचार, नैनीताल, 8 अगस्त 2019। मुख्यालय में नशा बच्चों को बुरी तरह से अपनी चपेट में लेता दिख रहा है। नगर के अयारपाटा वार्ड के सभासद मनोज साह जगाती ने बताया कि उन्हें अपने वार्ड में स्थित शिवमंदिर के पास स्कूल जाते हुए बच्चों द्वारा नशा किये जाने की सूचना मिली थी। इस पर वे सुबह 8 बजे यहां से गुजरे। उन्हें वहां नगर के एक प्रतिष्ठित विद्यालय की वर्दी में 4 बच्चे सिगरेट पीते हुए मिले। इनकी उम्र करीब 14 से 16 वर्ष की थी और उन्होंने खुद को आठवीं-नौवीं कक्षा का विद्यार्थी बताया। भविष्य में वे नशा करने से दूर आएं, इस नीयत से उन्हें सजा देते हुए बिच्छू घास लगाई, जिस पर वे भाग गये। उल्लेखनीय है कि सभासद जगाती पूर्व में ही अपने वार्ड क्षेत्र में नशा करने वालों को पूरे शरीर को झनझना देने वाली बिच्छू घास लगाने की चेतावनी दी थी। वे पहले भी अपने वार्ड में अरविंद आश्रम के पीछे की पहाड़ी पर दो लड़कों व उनके साथ आई एक लड़की को भी इसी तरह नशा करते हुए बिच्छू लगा चुके हैं। जरूरत है इस समाचार को नगर के विद्यालयों के साथ ही बच्चों के अभिभावक भी गंभीरता से लें और अपने बच्चों को नशे से दूर रखें। उन्हें प्यार दें-नशा नहीं।

यह भी पढ़ें : किशोर उम्र के बच्चों के माता-पिता हों सावधान… जंगल में दो किशोरों के साथ चरस के कश मारती मिली किशोरी, सभासद ने मारा बिच्छू

नवीन समाचार, नैनीताल, 28 जुलाई 2019। नगर में किशोर क्या किशोरियां भी नशे की गर्त में जा रही हैं। वहीं नगर के अयारपाटा वार्ड के सभासद मनोज साह जगाती ने ऐलान किया है कि खुलेआम नशा करते मिलने वालों को वह शरीर में बेहद जलन व खुजली उत्पन्न करने वाली बिच्छू घास लगाएंगे। इधर रविवार को जगाती को अयारपाटा वार्ड में ही स्थित महर्षि अरविंद के आश्रम के पीछे के जंगल में दो किशोर व एक किशोरी के जाने की सूचना मिली। इस पर जगाती भी वहां पहुंच गये तो देखा कि उन्होंने सिगरेट के कागज की पन्नी में चरस सहित तंबाकू भरा। पहले किशोरों ने कश लिये और फिर किशोरी भी कश लगाने लगे। इस पर जगाती ने दोनों किशोरों व किशोरी को जमकर बिच्छू लगा दिया। बिच्छू लगने पर तीनों बिलबिलाते हुए भाग खड़े हुए। जगाती ने बताया कि तीनों करीब 17-18 की उम्र के व इंटरमीडिएट की कक्षा में पढ़ने वाले प्रतीत हो रहे थे। इनमें से किशोरी अपनी स्कूटी पर और दोनों किशोर एक मोटरसाइकिल पर आये थे। उन्होंने कहा कि नशेड़ियों के खिलाफ उनका अभियान आगे भी जारी रहेगा। यहां हम साफ कर दें कि हम इस समाचार से सभासद के अभियान का समर्थन नहीं कर रहे पर यह समाचार किशोर उम्र माता-पिता को सावधान करने के लिए है कि वह अपने बच्चों को कम उम्र में ही बाइक-स्कूटी देने से बचें और बुरी संगत व खासकर नशे की गिरफ्त में आने से बचाएं।

यह भी पढ़ें : नशेड़ियों-स्मैकियों के लिए हल्द्वानी के ‘डंडा बजाओ’ की तर्ज पर नैनीताल में सभासद ने शुरू किया ‘बिच्छू लगाओ’ अभियान…

-पुलिस को जानकारी देने के बावजूद अपेक्षित सहयोग न मिलने के बाद अयारपाटा के सभासद मनोज साह जगाती ने अपने वार्ड में शुरू किया अभियान

नवीन समाचार, नैनीताल, 22 जुलाई 2019। जिला व मंडल मुख्यालय नैनीताल में कोई भी अवैध नशा करने वालों, खासकर जानलेवा स्मैक का नशा करने वालों के लिए बुरी खबर है। नगर के अयारपाटा वार्ड के सभासद मनोज साह जगाती ने अपने वार्ड में भांग एवं स्मैक जैसा अवैध जानलेवा नशा करने वालों के खिलाफ ‘बिच्छू’ (घास) लगाने का अभियान शुरू किया है। उन्होंने बकायदा सोशल मीडिया पर यह अभियान शुरू करने की घोषणा की है। वहीं पूछने पर उन्होंने बताया कि उनके वार्ड के परदा धारा क्षेत्र को नशेड़ियों ने अड्डा बना दिया था। इसकी सूचना देने पर पुलिस ने कुछ ही दिन कार्रवाई की। इसके बाद स्थिति फिर जस की तस हो गयी। ऐसे में उन्होंने स्वयं ही नशेड़ियों को बिच्छू घास लगाने का अभियान शुरू किया है। रविवार को करीब पांच नशेड़ियों को बिच्छू घास लगाई गई, जिसके बाद उन्होंने कम से कम इस क्षेत्र में नशा करने से तौबा कर ली है। उन्होंने कहा कि आगे भी अभियान खासकर अरविंदो आश्रम तथा नशेड़ियों का अड्डा बने अन्य क्षेत्रों में जारी रहेगा। वार्ड में अन्य अवांछित गतिविधियां करने वालों को भी सभासद बिच्छू घास लगाएंगे। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों जनपद के हल्द्वानी में भी नशेड़ियों के खिलाफ वहां के युवाओं ने ‘डंडा बजाओ’ अभियान चलाने की सोशल मीडिया पर काफी वीडियो वायरल हुई थी। इस अभियान को उसी अभियान से प्रेरित बताया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: पेट दर्द के बहाने से पुलिस को चकमा देकर स्मैक तस्कर पुलिस थाने से हुआ फरार..

<

p style=”text-align: justify;”>नवीन समाचार, कालाढूंगी, 9 अगस्त 2019। गुरुवार की देर रात पुलिस थाने से एक स्मैक तस्कर के पुलिस को चकमा देकर फरार होने की सनसनीखेज खबर सामने आयी है। बताया जा रहा है कि पुलिस उसे स्मैक के साथ पकडकर लायी थी। जिसके बाद पुलिस ने उसे हवालात में बंद कर दिया था। तस्कर के फरार होते ही पुलिस प्रशासन में हडकंप मच गया। इसकी जानकारी थाना प्रभारी ने अपने उच्चाधिकारियों को दी। आनन-फानन में एसपी सिटी अमित श्रीवास्तव ने मौके पर पहुंचे कर घटना की जानकारी लेते हुवे शीघ्र तस्कर को गिरफ्तार करने के निर्देश दिये। वहीं एसएसपी ने लापरवाह पुलिस कर्मियों पर कार्यवाही की बात कही।
जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि गुरुवार रात करीब 10 बजे कोटाबाग के बजूनिया हल्दू निवासी मनोज बिष्ट उर्फ मन्नू को पुलिस करीब तीन ग्राम स्मैक के साथ पडकर लायी थी। इस दौरान रात में थाना अध्यक्ष दिनेश नाथ महंत आरोपी के खिलाफ सम्बन्धित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर और उसे हवालात में बंद करा कर अपने कमरे में चले गए थे। तभी देर रात आरोपी ने पेट में दर्द की बात कही और बैरक से बाहर निकाल कर अंदर कार्यालय में बिठाए जाने की जिद करते हुए शोर शराबा करने लगा। इस पर मुंशी ने उसे हवालात से बाहर निकालकर कार्यालय में बैठा दिया। इसके कुछ देर बाद मुंशी किसी काम से बाहर निकल गया तो तभी आरोपी मुजरिम मुंशी को चकमा देकर थाने से फरार हो गया। बाद में जैसे ही मुंशी दोबारा कार्यालय वापस आया तो उसके होश उड़ गये। आरोपी मन्नू मौके से फरार मिला। इसकी जानकारी मुंशी ने अपने अन्य साथियों को दी तो थाने में अफरा-तफरी मच गई। देर रात थानाध्यक्ष समेत कई दरोगा और जवानों ने रात भर सर्च अभियान चलाया, लेकिन मन्नू नहीं मिला। इसके बाद पुलिस ने मन्नू के खिलाफ पुलिस हिरासत से फरार होने का मुकदमा भी दर्ज कर लिया। इधर शुक्रवार सुबह एसपी सिटी अमित श्रीवास्तव ने घटना की जानकारी ली। इस दौरान थानाध्यक्ष ने बताया कि तस्कर की गिरफ्तारी के लिए संभावित ठिकानों में दबिश दी जा रही है। पुलिस ने उसके साथियों को रडार पर रखा है। एसएसपी सुनील कुमार मीणा ने बताया कि पुलिस हिरासत से फरार तस्कर के मामले की जांच करने के एसपी सिटी को निर्देश दिए गए हैं लापरवाही करने वाले पुलिस कर्मियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें : नैनीताल में फिर पकड़े गये स्मैक तस्कर

<

p style=”text-align: justify;”>नवीन समाचार, नैनीताल, 1 अगस्त 2019। नैनीताल कोतवाली पुलिस ने माह के पहले दिन दो स्मैक तस्करों को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है। दोनों किच्छा के वार्ड नंबर 14 मोहल्ला मस्जिद किच्छा जिला ऊधमसिंह नगर निवासी हैं। इनमें से मुन्ना नूरी पुत्र अच्छन मियां निवासी के कब्जे से 2.75 ग्राम और जावेद फिरोज उर्फ नसीम पुत्र फिरोज तुगलक के कब्जे से 3.19 ग्राम यानी कुल 5.94 ग्राम स्मैक बरामद हुई।
बृहस्पतिवार को पुलिस लाइन में एएसपी क्राइम रुचिता जुयाल ने पुलिस लाइन में आयोजित पत्रकार वार्ता में यह जानकारी दी। बताया कि दोनों के विरुद्ध 8/21/60 एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई की गयी है। बताया कि दोनों को तलाशी के दौरान बारापत्थर क्षेत्र में तब पकड़ा गया जब वे अपनी मोटरसाइकिल संख्या यूके06एएल-7540 से नगर को आ रहे थे। उनके अनुसार वे नैनीताल स्मैक बेचने आये थे, जिसे स्मैक देनी थी वह नहीं मिला इसलिए वापस जा रहे था। गिरफ्तारी करने वाली टीम में कोतवाली प्रभारी अशोक कुमार सिंह, उप निरीक्षक दीपक बिष्ट, एचसीपी सत्येंद्र गंगोला, आरक्षी मनोज जोशी, विनोद यादव व सोनू सिंह शामिल रहे।

यह भी पढ़ें: स्मैक के साथ पकड़ा गया दूध बेचने वाला युवक

पुलिस की गिरफ्त में युवक।

नवीन समाचार, नैनीताल, 21 जुलाई 2019। मल्लीताल कोतवाली पुलिस ने बीती मध्य रात्रि नगर के सात नंबर स्नोव्यू कंपाउंड क्षेत्र से हितेश शाही पुत्र किशन सिंह शाही निवासी युवक को स्मैक के साथ पकड़ने में सफलता पाई है। पुलिस के अनुसार युवक ने बताया है कि वह स्मैक का आदी है, तथा अपना खर्च चलाने के लिए कभी-कभी स्मैक बेचता भी है। उसके पास से 1.58 ग्राम स्मैक बरामद हुई है। युवक के खिलाफ मादक पदार्थ निरोधक अधिनियम के तहत मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। उसे पकड़ने वाली टीम में एसआई दीपक बिष्ट तथा आरक्षी मनोज जोशी व विनोद यादव शामिल रहे। बताया गया है कि युवक क्षेत्र में दूध बेचने का कारोबार भी करता है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल पुलिस ने पकड़ी स्मैक की बड़ी खेप, फिर स्थापित हुआ स्मैक की बरामदगी से जुड़ा एक संयोग…

<

p style=”text-align: justify;”>नवीन समाचार, हल्द्वानी, 20 जुलाई 2019। नैनीताल पुलिस ने शनिवार को जानलेवा स्मैक के नशे के खिलाफ बड़ी सफलता प्राप्त करते हुए दो लोगों को कुल 21.2 ग्राम स्मैक के साथ पड़ोसी राज्य यूपी के बरेली निवासी दो तस्करों को गिरफ्तार किया। जनपद की हल्द्वानी कोतवाली पुलिस को यह सफलता नगर के बनभूलपुरा थाना प्रभारी के नेतृत्व में एसआई कृपाल सिंह, आरक्षी परपेज अली, घनश्याम आर्या, धरम सिंह आदि ने थाना क्षेत्र में शनि बाजार गेट के पास मिली। यहां सलीक अहमद पुत्र जमील अहमद निवासी मोहल्ला इस्लाम नगर थाना बहेड़ी जिला बरेली यूपी को 14.7 एवं वासिद खान पुत्र मो. हनीफ खां निवासी ग्राम देवीपुरा थाना भमौरा जिला बरेली को 6.5 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार किया। पुलिस को सलीक अहमद ने बताया कि वह पूर्व में किराये पर मोहम्मदी चौक इंद्रा नगर में अपनी पत्नी यासमीन के साथ रहता था, और यहीं पर रहकर स्मैक की खरीद-फोरख्त कर पैसे कमा लेता था। अब पुलिस द्वारा लगातार की जा रही कार्यवाही के कारण यहां से जाकर बहेडी में रहने लगा है, और अपने पहले के बने स्मैक के ग्राहकों को अपने साथी वासिद खान के साथ बहेडी व बरेली से स्मैक लाकर ऊंचे दामों में बेचकर पैसे कमा लेता है। यह भी बताया कि यह स्मैक हल्द्वानी में स्कूल में पढने वाले छात्रों व नौजवानों को तथा टैम्पू चालकों को भी बेचता हैं। वहीं दूसरा आरोपित वासिद खान मूलतः पशु व्यवसायी है और साथ में स्मैक का बरेली का बडा तस्कर है, जो फतेहपुर पश्चिमी बरेली से स्मैक की जरूरत के अनुसार आपूर्ति करता है। दोनों पहली बार पकड़े गये हैं।
उल्लेखनीय है कि नैनीताल पुलिस पिछले कुछ महीनों से लगातार स्मैक की बड़ी बरामदगी कर रही है। और यह इत्तफाक है कि कुछ और, कि हर बार बड़ी बरामदगियां महीने के आखिर के दिनों में की जा रही हैं। पिछले महीनों में बरामदगियां महीने के आखिर में 29-30 तारीख को हुई। इस बार जरूर आज की बरामदगी 20 तारीख को हुई है।

यह भी पढ़ें : शाबास ! नैनीताल पुलिस ने की 50 ग्राम स्मैक की बड़ी बरामदगी, लेकिन पकड़ने की तिथि से जुड़ा एक बड़ा इत्तफाक, एसएसपी भी चौंके…

<

p style=”text-align: justify;”>नवीन समाचार, हल्द्वानी, 29 मई 2019। नैनीताल पुलिस ने ठीक एक माह बाद फिर जानलेवा स्मैक की बड़ी मात्रा की बरामदगी की है। दो व्यक्तियों से 30 व 20 ग्राम यानी कुल 50 ग्राम स्मैक की बरामदगी की गयी है। बरामद की गयी स्मैक की कीमत करीब 20 लाख रुपये बताई गयी है। उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व ठीक एक माह पूर्व 29 अप्रैल को अब तक की सबसे बड़ी 104.64 ग्राम स्मैक की तथा इससे पूर्व 28 मार्च 2019 को तब तक की सबसे बड़ी 66.25 ग्राम की बरामदगी की गई थी। यह इत्तेफाक हो सकता है कि कुछ और कि तीनों बड़ी बरामदगियां बीते तीनों माह के अंतिम दिनों में की गयी हैं। यह बरामदगी कितनी बड़ी है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि लगातार अभियान के तौर पर चल रही स्मैक की बरामदगी के बावजूद नैनीताल पुलिस एक जनवरी से 31 मार्च तक 166.96 ग्राम स्मैक ही बरामद कर पाई थी। एक अन्य बात जो महत्वपूर्ण है, वह यह कि स्मैक के तस्कर मोटरसाइकिलों से यूपी के बहेड़ी, रामपुर, बिलासपुर आदि स्थानों से प्रदेश में स्मैक की आपूर्ति यहां बच्चों की नशों में यह जानलेवा जहर घोल रहे हैं। वहीं हर महीने 28-29 तारीख को ही स्मैक की बड़ी बरामदगी होने के इत्तफाक अथवा किसी कारण विशेष से इसी दौरान हो रही बड़ी बरामदगी पर ‘नवीन समाचार’ द्वारा संज्ञान दिलाए जाने पर जनपद के एसएसपी सुनील कुमार मीणा भी चौंके हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस ने कमोबेश स्मैक के सभी छोटे हैंडलर पकड़ लिये हैं। इसके बाद बड़े सप्लायर खुद स्मैक की आपूर्ति करने आ रहे हैं। संभव है कि पुलिस की एक बड़ी कार्रवाई के बाद वे 15-20 दिन शांत रहते हों, और फिर सक्रिय हो जाते हों। और जो तिथि का इत्तफाक दिखाई दे रहा है, उस पर वे संज्ञान लेंगे।
बताया गया है कि बुधवार को हल्द्वानी की बनभूलपुरा पुलिस ने थाना प्रभारी दिनेश नाथ महंत की अगुवाई में इंद्रानगर रेलवे क्रॉसिंग के पास बनभूलपुरा से किच्छा के ग्राम दरउ निवासी 23 वर्षीय जीशान खान पुत्र सलीम खान से 30 ग्राम व 40 वर्षीय राशिद खान पुत्र साबिर खान के कब्जे से 20 ग्राम स्मैक व नगदी आदि बरामद की। ये दोनों अपाचे मोटर साइकिल संख्या यूके04आर71915 से देवरनिया जिला बरेली यूपी से यह स्मैक लेकर आये थे। दोनों पहले भी सिडकुल थाना पंतनगर में भी स्मैक की बरामदगी होने पर पूर्व में पकड़े जा चुके हैं, तथा दोनों बनभूलपुरा के चौधरी कॉलोनी में मुसर्रफ पुत्र अब्दुल हसन के घर में किराये पर बिना सत्यापन कराये रह रहे थे। लिहाजा मकान मालिक का भी चालान किया गया है। बताया गया है कि नशे के काले कारोबार से सर्वाधिक प्रभावित बनभूलपुरा पुलिस अब तक इस वर्ष स्मैक व नशे की दवाइयों व इंजेक्शन के मामलों में 12 अभियोग पंजीकृत कर चुकी है, तथा 16 आरोपितों को जेल भेज चुकी है। बरामदगी करने वाली टीम को एसएसपी ने अपनी क्षमता के अनुसार 2500 रुपये का इनाम देने की घोषणा भी की है।
उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व को नैनीताल पुलिस ने टांडा बैरियर के पास से बिना नंबर की मोटर साइकिल से स्मैक की तस्करी करते हुए मात्र 23 वर्षीय रजा हुसैन पुत्र बाबू बख्श निवासी ग्राम चौडेरा थाना बहेडी जिला बरेली यूपी को 104.64 ग्राम स्मैक की बरामदगी की थी, जो अब तक की सर्वाधिक है। वहीँ 28 मार्च 2019 को 23 वर्ष के समीर उर्फ शावेज पुत्र असलम निवासी ग्राम दरऊ थाना किच्छा ऊधम सिंह व वसीम उर्फ भूरा पुत्र मुख्तियार निवासी लखीमपुर थाना खजूरिया जिला रामपुर को मोटरसाइकिल संख्या यूए06डब्लू-7033 से रुद्रपुर से हल्द्वानी की तरफ आते हुये उनके कब्जे से 41.60 ग्राम व वसीम के पास से 25.25 ग्राम स्मैक, इसे तोलने के लिए प्रयुक्त तराजू और पन्नियां बरामद की गयीं। दोनों ने पुलिस को बताया कि वे यूपी के बिलासपुर से समीर उर्फ सावेज से स्मैक लाते हैं और हल्द्वानी में स्कूली छात्रों को बेचकर काफी मुनाफा कमाते हैं।
उल्लेखनीय है कि पूर्व में हल्द्वानी में स्मैक के साथ गिरफ्तार अन्य आरोपित अनिकेत सिंह पुत्र चन्द्रिका सिंह निवासी पाल काम्पलैक्स हल्द्वानी व अंकित साहू पुत्र प्रेमचन्द्र साहू निवासी हिमालया फार्म हल्द्वानी तथा पृथ्वीराज थाना उर्फ हड्डी ने भी समीर से ही स्मैक लाने की बात कही थी।

तीन माह में पकड़ा गया इतना नशे का जखीरा

नैनीताल। नैनीताल पुलिस ने इस वर्ष 1 जनवरी से आज तक तीन माह से भी कम समय में देशी शराब की 3125 बोतल, खाम शराब की 1443 बोतलें, अंग्रेजी शराब की 1715 बोतलें व बियर की 168 बोतलें तथा 9 किलो 869 ग्राम चरस, 25 किलो 56 ग्राम गांजा, 166.96 ग्राम स्मैक, एक किलो 500 ग्राम अफीम, 32 नशे के इंजेक्शन और 150 नशे के कैप्सूल बरामद करने का भी दावा किया है।

यह भी पढ़ें : स्मैक तस्कर के हत्यारोपित को 6 माह बाद भी नहीं मिली जेल से जमानत…

<

p style=”text-align: justify;”>नवीन समाचार, नैनीताल, 11 जुलाई 2019। बीती 8 जनवरी को नगर में एक स्मैक तस्कर रोहित तिवारी की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। हत्या का कारण एक आरोपित द्वारा यह बताया गया था कि उसके भाई को स्मैक तस्कर रोहित ने स्मैक का आदी बना दिया था, जिस कारण उसका घर तबाह हो गया था। मामले में 10 जनवरी को दो आरोपितों को चश्मदीद के खुलासे के बाद गिरफ्तार किया गया था।
इस मामले में बृहस्पतिवार को जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजीव कुमार खुल्बे की अदालत ने दूसरे आरोपित संदीप पुत्र कीर्ति सिंह की जमानत अर्जी खारिज कर दी। उल्लेखनीय है कि मामले में एक अन्य आरोपित अंकुर की जमानत अर्जी इसी अदालत से पहले ही खारिज हो चुकी है। इस प्रकार घटना के 6 माह से अधिक का समय बीत जाने के बावजूद दोनों आरोपित जेल में ही बंद हैं। मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से जिला शासकीय अधिवक्ता सुशील कुमार शर्मा ने पैरवी की।

स्मैक तस्कर रोहित तिवारी को मारी थी गोली, आज दो माह बाद अदालत ने सुनाया यह आदेश

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 मार्च 2019। एडीजे विनोद कुमार की अदालत ने नगर के स्मैक तस्कर बताये गये रोहित तिवारी की हत्या के मामले में 10 जनवरी से जेल में बंद आरोपित अंकुर पाल पुत्र विजय पाल की जमानत अर्जी खारिज कर दी है। मामले में जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने जमानत अर्जी का विरोध करते हुए अदालत को बताया कि बीती 8 जनवरी को नगर के स्मैक तस्कर बताये गये रोहित तिवारी को गोली मार दी गयी थी। नौ जनवरी को रोहित के पिता कृष्ण चंद्र तिवारी ने मल्लीताल कोतवाली में तहरीर देकर तल्लीताल लंघम हॉस्टल के पीछे रहने वाले अंकुर पाल पुत्र विजय पाल, विशाल पुत्र नरेश व संदीप पुत्र नरेश कीर्ति पर गोली मारने का शक जताया था। इस पर पुलिस ने 10 जनवरी को तीनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया था। आरोपित ने अपने बयान में हत्या करने की बात स्वीकारते हुए कहा था कि रोहित ने उसके बड़े भाई विशाल को स्मैक का लती बनाकर बरबाद कर दिया था। इसका प्रतिशोध लेने के लिए ही उन्होंने रोहित की कनपटी से सटाकर गोली मार दी थी। बाद में रोहित की अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गयी थी। मामले में मृतक का दोस्त शुभम साह घटना का चश्मदीद गवाह भी है। लिहाजा ऐसे आरोपित को जमानत देना उचित नहीं होगा। इस पर न्यायालय ने एक आरोपित नरेंद्र की जमानत अर्जी खारिज कर दी।

यह भी पढ़ें : भाई को स्मैक देकर बरबाद कर दिया था, इसलिए मारी थी गोली, दो गिरफ्तार

<

p style=”text-align: justify;”>नवीन समाचार, नैनीताल, 9 जनवरी 2019। दो दिन पूर्व मंगलवार की रात्रि नगर में मल्लीताल मुख्य डाकघर के पास 32 वर्षीय युवक रोहित तिवारी पुत्र कृष्णचन्द्र तिवारी निवासी चार्टन लॉज पर जानलेवा हमला स्मैक के नशे के कारण ही किया गया था। पुलिस ने इस संबंध में दो हमलावर युवकों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के अनुसर इनमें से एक आरोपित संदीप पुत्र स्वर्गीय नरेश कीर्ति निवासी लंघम छात्रावास तल्लीताल ने रोहित को 315 बोर के तमंचे से गोली मारने की बात स्वीकार कर ली है। संदीप के अनुसार उसने रोहित पर इसलिये हमला किया, क्योंकि रोहित ने उसके (संदीप के) भाई विशाल को स्मैक देकर बरबाद कर दिया था। विशाल स्मैक के लिए लगातर घर से चोरी कर रहा था और लोगों से उधार ले रहा था। इसके साथ यह भी साफ हो गया कि गोली लगने से घायल हुआ युवक अभी भी युवाओं में स्मैक का जहर घोल रहा था, और यह जहर अब स्वयं उसकी जान लेने के स्तर पर आ गया है।
बृहस्पतिवार शाम कोतवाली पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए संदीप के हवाले से बताया कि भाई के स्मैक के नशे का आदी हो जाने और उसे रोहित द्वारा उसे एवं नगर के अन्य लड़कों को स्मैक बेचे जाने से वह परेशान था। इसलिए घटना के दिन वह अपने पास के ही युवक अंकुर पाल पुत्र विजयपाल के साथ घटनास्थल पर पहुंचा। रोहित को अंकुर ने स्मैक लेने के बहाने बुलाया। अंकुर जब रोहित से स्मैक लेने लगा, तभी संदीप ने उसे गोली मार दी। घटनास्थल पर रोहित के साथ शुभम साह नाम का युवक भी था। गोली लगने के बाद वह कहां गया, इस बारे में साफ जानकारी नहीं है। इस मामले की पड़ताल के लिए मल्लीताल कोतवाल विपिन चंद्र पंत व एसओजी प्रभारी दिनेश पंत के नेतृत्व में दो टीमें लगी हुई थीं। हमलावरों के कब्जे से प्रयुक्त 315 बोर का तमंचा और मौके से खोखा भी बरामद कर लिया गया है। गिरफ्तार करने वाली टीम में एसएसआई बीसी मासीवाल, एसआई दीपक बिष्ट, आरक्षी मनोज जोशी, विनोद यादव, प्रमोद राणा, सुनील कुमार, सर्विलांस प्रभारी किशन चंद्र शर्मा, पुष्कर रौतेला, कुंदन कठायत व अनिल गिरि शामिल रहे।

पूर्व समाचार : सरोवरनगरी में स्मैक कारोबारी को गोली लगने की पुष्टि, हल्द्वानी के निजी अस्पताल में वेंटीलेटर पर, हालत नाज़ुक, मुकदमा दर्ज

-एसएसपी ने मौका मुआयना कर परिजनों से भी की बात, परिजनों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज

घायल युवक के घर पर पुलिस कर्मियों के साथ पिता व परिजनों से पूछताछ करते एसएसपी सुनील कुमार मीणा।

नवीन समाचार, नैनीताल, 9 जनवरी 2019। नगर में स्मैक कारोबारी के तौर पर पहचाना जाने वाला, दो बार स्मैक के साथ पुलिस द्वारा पकड़े गये 32 वर्षीय युवक रोहित तिवारी पुत्र कृष्णचन्द्र तिवारी निवासी चार्टन लॉज मंगलवार रात्रि करीब पौने 10 बजे अपने घर को जाने वाले मार्ग पर घायल अवस्था में पड़ा मिला था। उसे गोली मारी गयी थी। मामले में घायल युवक के पिता की तहरीर पर अज्ञात हमलावर के खिलाफ जान से मारने के अभियोग में भारतीय दंड संहिता की धारा 307 के अंतर्गत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

<

p style=”text-align: justify;”>हालांकि शुरू से रोहित को गोली मारे जाने की जनचर्चा थी किंतु पुलिस चिकित्सकों के हवाले से इससे इंकार कर रही थी किंतु बुधवार को स्वयं एसएसपी सुनील कुमार मीणा ने सीओ विजय थापा व कोतवाल विपिन चंद्र पंत आदि के साथ गोली मारे जाने की पुष्टि कर दी। उन्होंने दिन में करीब एक घंटे घटनास्थल और घायल रोहित के घर, उसके कमरे आदि का बारीकी से निरीक्षण किया तथा उसके पिता व अन्य परिजनों से भी बात की, तथा उन्हें मामले में तहरीर देने को भी कहा। इसके बाद परिजनों के द्वारा मल्लीताल कोतवाली पुलिस को तहरीर दिये जाने की तैयारी चल रही है।
उल्लेखनीय है कि मंगलवार रात्रि करीब 10 बजे युवक रोहित तिवारी के बड़े पोस्ट ऑफिस के पास गोली लगने के बाद तड़पते हुए पाये जाने पर स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना देकर उसे बीड़ी पांडे जिला चिकित्सालय पहुंचाया, जहां से प्राथमिक इलाज के बाद उसे हल्द्वानी के उच्च केंद्र के लिए संदर्भित कर दिया गया। बताया गया है कि उसके सिर में गोली लगने से करीब एक इंच गहरा जख्म बना हुआ है। इधर बताया गया है कि रोहित को हल्द्वानी के निजी अस्पताल में वेंटीलेटर पर रखा गया है, और उसकी हालत नाजुक बनी हुई है।

सरोवरनगरी में रात में गोली चलने की चर्चा, स्मैक कारोबारी को सिर में गहरा जख्म, गंभीर अवस्था में हल्द्वानी रवाना

नवीन समाचार, नैनीताल, 8 जनवरी 2019। नगर में स्मैक कारोबारी के तौर पर पहचाना जाने वाला, दो बार स्मैक के साथ पुलिस द्वारा पकड़ा गया 32 वर्षीय रोहित तिवारी पुत्र कृष्णचन्द्र तिवारी निवासी चार्टन लॉज मंगलवार रात्रि करीब पौने 10 बजे अपने घर को जाने वाले मार्ग पर घायल अवस्था में पड़ा मिला। आम चर्चा रही कि उसे किसी ने गोली मार दी है। स्थानीय लोगांे ने पुलिस को सूचना देकर उसे बीड़ी पांडे जिला चिकित्सालय पहुंचाया। उसका इलाज करने वाले चिकित्सकों डा. अनिरुद्ध गंगोला व डा. वीके मिश्रा ने तत्काल इस बात की पुष्टि तो नहीं की कि उसे गोली लगी है, अथवा चोट किस कारण से लगी अलबत्ता बताया कि उसके सिर में करीब एक इंच गहरा खुला घाव है, और उसके सिर में गहरे घाव को देखते हुए उसे उच्च संस्थान के लिए रेफर कर दिया, जिसके बाद परिजन उसे हल्द्वानी लेकर रवाना हुए। नगर कोतवाल विपिन चंद्र पंत ने पूछे जाने पर कहा कि चिकित्सक गोली लगने से इंकार कर रहे हैं। संभवतया नशे में किसी कारण से चोट लग गयी होगी। मामले की जांच की जाएगी। उल्लेखनीय है की गत वर्ष इसी स्मैक कारोबारी की शादी में भी गोली चली थी, जिसमें एक बाराती युवक घायल हो गया था।

यह भी पढ़ें : स्मैक के साथ पकड़ा गया देहरादून के कॉलेज का बीटेक का छात्र

नवीन समाचार, नैनीताल, 1 मार्च 2019। जनपद नैनीताल पुलिस द्वारा लगातार चलाए जा रहे नशे के खिलाफ अभियान के तहत बृहस्पतिवार रात्रि तल्लीताल थाना पुलिस ने एक युवक को स्मैक के साथ पकड़ने में सफलता पाई है, जो कि देहरादून के एक कॉलेज से बीटेक अंतिम वर्ष का छात्र बताया गया है। थाना प्रभारी राहुल के नेतृत्व में उप निरीक्षक मनोज नयाल, आरक्षी राजाराम व लखविंदर सिंह के द्वारा रात्रि गश्त के दौरान मुखबिर की सूचना पर हल्द्वानी रोड पर त्रिमूर्ति के पास वाहन चेकिंग के दौरान एक एक्टिवा स्कूटी संख्या यूके04-8279 से आ रहे इंद्र शर्मा पुत्र कृष्ण कुमार शर्मा निवासी एटीआई मल्लीताल के कब्जे से 1.60 ग्राम अवैध स्मैक बरामद की। उसे गिरफ्तार’ कर एनडीपीएस एक्ट की धारा 8/21 के अंतर्गत अभियोग’ पंजीकृत कर उसे शुक्रवार को जेल भेजने की कार्रवाई की गयी। उल्लेखनीय इससे पूर्व भी नैनीताल पुलिस कई छात्रों को स्मैक के साथ पकड़ चुकी है।

यह भी पढ़ें : बेटे पकड़े गये तो रिश्तेदार से कराने लगा चरस तस्करी, नैनीताल पुलिस ने पकड़ी एक किलो चरस-9 ग्राम स्मैक

नवीन समाचार, हल्द्वानी/धानाचूली, 20 फरवरी 2019। जनपद नैनीताल पुलिस का नशे के खिलाफ चलाया जा रहा अभियान जारी है। इस कड़ी में बुधवार को खुलासा हुआ कि हल्द्वानी मे उत्तर उजाला के पास रहने वाले इकबाल के दो बेट अजीम और समीर पिछले माह करीब 70 ग्राम चरस के साथ पकड़े गये थे। इसके बाद भी उसने स्मैक का धंधा बंद नहीं किया बल्कि बहेड़ी यूपी के ग्राम शेखपुर से अपने रिश्तेदार आरिफ पुत्र मरहूम अमीर अहमद को बुलाकर उससे चरस की तस्करी कराने लगा। आरिफ को बनभूलपुरा के थाना प्रभारी दिनेश नाथ महंत के नेतृत्व में उप निरीक्षक संजीव राठौड़ व अन्य ने 4.5 ग्राम स्मैक के साथ धर दबोचा। इसके अलावा जिले की मंडी चौकी पुलिस ने चौकी प्रभारी देवेंद्र बिष्ट के नेतृत्व में रजा कालोनी देहात पूरनपुर यूपी निवासी जावेद रजा पुत्र छोटे खां नाम के व्यक्ति को 4.55 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार किया है।
इसके अलावा मुक्तेश्वर पुलिस ने थानाध्यक्ष कैलाश चंद्र जोशी के नेतृत्व में मनाघेर के पास चेकिंग के दौरान दो तस्करों-राजपाल पुत्र तोताराम निवासी ग्राम बिहारीपुरा अब्दुल रहमान थाना केलड़िया जिला बरेली उत्तर प्रदेश के कब्जे से 525 ग्राम अवैध चरस तथा अरविंद कुमार पुत्र गोकुल प्रसाद निवासी ग्राम सीजोलिया थाना नवाबगंज जिला बरेली के कब्जे से 459 ग्राम (कुल लगभग 1 किलो) अवैध चरस बरामद की है। बताया गया है कि चरस पहाड़ पानी से लायी जा रही थी। चारों आरोपितों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की धारा धारा 8/20 के तहत मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेजने की कार्रवाई की जा रही है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल में स्मैक के साथ पकड़ा गया अल्मोड़ा का होटल मैनेजमेंट का छात्र

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 फरवरी 2019। जनपद स्तर पर ’नशे के विरुद्ध चलाये जा रहे अभियान’ के अंतर्गत सोमवार को नगर कोतवाल ध्यान सिंह की अगुवाई में कोतवाली पुलिस ने एक युवक को 1.75 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार युवक अभिषेक नेगी पुत्र नरेंद्र सिंह नेगी मूलतः अल्मोड़ा में मुख्य डाकघर के पास का रहने वाला है। कोतवाली पुलिस के अनुसार पकड़ा गया युवक मुख्यालय के आवागढ़ क्षेत्र में रहकर कुमाऊं विवि के हर्मितेज परिसर स्थित संस्थान से होटल मैनेजमेंट का कोर्स कर रहा है, और इसके साथ स्मैक स्वयं पीता और खर्च निकालने के लिए बेचता भी है।

उसे मुखबिर की सूचना पर राजभवन रोड पर मस्जिद तिराहे से करीब 100 मीटर आगे पकड़ा गया। उसके विरुद्ध एनडीपीएस एक्ट की धारा धारा 8/21 के तहत पंजीकृत कर न्यायालय में पेश किया गया और वहां से जेल भेज दिया गया। उसे गिरफ्तार करने वाली टीम मेंनिरीक्षक ध्यान, उप निरीक्षक देवनाथ गोस्वामी के साथ आरक्षी मनोज जोशी व सोनू सिंह तथा जल पुलिस के विनोद यादव शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : दो छात्रों के बाद अब दो भाई स्मैक के साथ धरे, पर पुलिस की कहानी में है बड़ा झोल !

नवीन समाचार, नैनीताल, 9 फरवरी 2019। काठगोदाम पुलिस ने शनिवार को चेकिंग के दौरान बाइक सवार दो चरस तस्कर भाइयों को 925 ग्राम चरस के साथ गिरफ्तार किया है। दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर बाइक भी सीज कर दी है। काठगोदाम पुलिस के अनुसार शनिवार तड़के काठगोदाम पुलिस टीम रानीबाग के भीमताल तिराहे पर चेकिंग कर रही थी। तभी सामने से आ रहे दो बाइक सवार पुलिस टीम को देखकर घबरा गए। पुलिस ने दोनों को रोककर चेकिंग की तो उनसे चरस बरामद हुई। पकड़े गए तस्करों की पहचान दो भाइयों पंकज दुम्का और पवन दुम्का पुत्र हीरा बल्लभ दुम्का के रूप में हुई है। पूछताछ में उन्होंने पुलिस को बताया कि हल्द्वानी में चरस की सप्लाई देने के लिए जा रहे थे। पुलिस के अनुसार दोनों तस्कर लंबे समय से इस धंधे लिप्त हैं।

हालाँकि पुलिस की कहानी में यह बड़ा झोल है कि भीमताल तिराहे पर हल्द्वानी की ओर से आ रहा होगा तो हल्द्वानी में स्मैक सप्लाई करने की कोई तुक नहीं है। इसी तरह यदि वे पहाड़ की ओर से आ रहे थे तो पहाड़ से स्मैक लाकर हल्द्वानी में बेचने की बात भी स्थापित नहीं होती है। संशय इस बात को लेकर नहीं है कि पुलिस ने स्मैक के साथ तस्कर दबोचे है, संशय पुलिस की कहानी को लेकर है।

उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व नैनीताल पुलिस ने शुक्रवार को मुख्यालय में दो छात्रों राजमहल कंपाउंड निवासी शुभम पुत्र धर्म सिंह बिष्ट और नमन साह पुत्र किशोर लाल साह को क्रमश: 1. 6 ग्राम और 1. 2 ग्राम स्मैक के साथ पकड़ा था। पुलिस के मुताबिक शुभम 12वीं और नमन स्नातक प्रथम वर्ष का छात्र है। दोनों छात्र बिलासपुर और रुद्रपुर से स्मैक खरीदकर लाते हैं। नशे के साथ ही दोनों स्मैक बेचते भी थे। 

यह भी पढ़ें : नशे के खिलाफ नैनीताल में शुरू हुआ अनूठा अभियान

-युवा पीढ़ी को नशे से दूर करने के लिए ग्वल सेना ने शुरू किया ‘दूध पियो-नशा छोड़ो’ अभियान
दूध पिलाते ग्वल सेना के कार्यकर्ता।

नवीन समाचार, नैनीताल, 25 जनवरी 2019। नगर के प्रमुख सामाजिक संगठन ग्वल सेना के द्वारा समाज को नशे के खिलाफ लामबंद करने के उद्देश्य से गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर अपनी तरह का अनूठा ‘नशा छोड़ो-दूध पियो’ अभियान शुरू कर दिया गया। शनिवार मल्लीताल गाड़ी पड़ाव (जहां नगर की अधिकांश शराब की दुकानें हैं) में सेना के द्वारा अभियान के तहत लोगों को कुल्हड़ में केसर युक्त दूध पिलाकर यह अनूठा अभियान शुरू किया गया। सेना के संस्थापक पूरन मेहरा ने कहा कि कई परिवार नशे के कारण तबाह हो गये हैं। अब नशा करने व करवाने वालों के खिलाफ जनता को खड़ा करने का समय आ गया है। सेना ऐसे लोगों को चिन्हित करने के लिए भी अभियान चलाएगी। प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप बोरा ने शादी विवाह में नशे पर पूरी तरह पाबंदी लगाये जाने, महामंत्री नरेश पंत ने शराब, स्मैक व अन्य नशीला वस्तुओं पर शीघ्र प्रतिबंध लगाने व उत्तराखंड फिल्म परिषद के पूर्व सदस्य सुदर्शन साह ने भी नशे के खिलाफ आवाज उठाने की बात कही। कार्यक्रम में संयुक्त मजिस्ट्रेट अभिषेक रुहेला, मल्लीताल कोतवाल विपिन पंत, व्यापार मंडल अध्यक्ष किशन नेगी, बाल्मीकि सभा के सरपंच मनोज पवार, छात्र संघ उपाध्यक्ष शिवानी पवार, सेना के नीरज डालाकोटी, खीमराज बिष्ट, सभासद मनोज साह जगाती, कैलाश रौतेला, पुष्कर बोरा, भगवत रावत, गजाला कमाल, दया सुयाल व निर्मला चंद्रा तथा आनंद बिष्ट, मुकेश कुमार व धर्मा पालीवाल आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : नैनीताल पुलिस की बड़ी कार्रवाई, तीन तस्कर 70 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार

नवीन समाचार, हल्द्वानी 16 जनवरी 2019। नैनीताल पुलिस ने स्मैक तस्करों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए तीन तस्करों को 70 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार करने की बड़ी-बड़ी हासिल की है। यह कार्रवाई जिला मुख्यालय में एक स्मैक कारोबारी की स्मैक से परेशान युवकों द्वारा गोली मारकर हत्या किए जाने के बाद की गई  है लिहाजा इसका विशेष महत्व है। पकड़ी गई समय की कीमत ₹ सवा लाख के करीब बताई गई है।
जनपद नैनीताल पुलिस द्वारा चलाये जा रहे नशे के खिलाफ अभियान के तहत अपर पुलिस अधीक्षक हल्द्वानी व क्षेत्राधिकारी हल्द्वानी के निर्देशन में कल दिनांक 15.01.19 को श्री दिनेशनाथ महंत थानाध्यक्ष बनभूलपुरा के नेतृत्व में उ0नि0 श्री मंगल सिंह नेगी, उ0नि0 श्री जगवीर सिंह, कानि0 प्रवीण कुमार, कानि0 हरि कृष्ण मिश्रा, कानि0 रूप बंसत राणा आदि टीम के द्वारा मुखबीर खास की सूचना के आधार पर 03 व्यक्ति शनि बाजार स्थित सुलभ शौचालय के पीछे स्मैक बेच रहे हैं। उक्त सूचना पर श्री दिनेश चन्द्र ढौडियाल क्षेत्राधिकारी हल्द्वानी के मौके पर पहुंचकर समक्ष अभियुक्तगणों की तलाशी ली गई तो 01- अभियुक्त अजीम पुत्र इकबाल हुसैन निवासी नमरा मस्जिद के पास उत्तर उजाला उम्र करीब 24 वर्ष के कब्जे से 32 ग्राम स्मैक, 20 कागज के टुकड़े व 2990 रूपये की नगदी तथा 01 विवो कम्पनी मोबाईल, 02- अभियुक्त समीर अहमद पुत्र इकबाल हुसैन निवासी नमरा मस्जिद के पास उत्तर उजाला उम्र करीब 20 वर्ष के कब्जे से 28 ग्राम स्मैक, 11 काजग के टुकड़े, 2120 रूपये की नगदी तथा 01 सैमसंग कम्पनी का मोबाईल, 03-अभियुक्त रिजवान पुत्र मौ0 राशिद निवासी-लाईन नं0 13 लाल मस्जिद के सामने उम्र करीब 22 वर्ष के कब्जे से 10 ग्राम स्मैक, 10 कागज के टुकड़े, 2610 रूपये की नगदी तथा 01 सैमसंग कम्पनी का मोबाईल कुल मिलाकर 70 ग्राम स्मैक, 41 कागज के टुकड़े, 03 मोबाईल व 7720 रूपये नकदी अभियुक्तगणों के कब्जे से बरामद की गई। अभियुक्त उपरोक्तों के विरूद्ध थाना बनभूलपुरा में एफआईआर नं0 13/2019 धारा 8/21 एनडीपीएस एक्ट के अन्तर्गत अभियोग पंजीकृत किया गया है।
पुलिस टीम-
1- श्री दिनेशनाथ महंत थानाध्यक्ष बनभूलपुरा
2-उ0नि0 श्री मंगल सिंह नेगी,
3-उ0नि0 श्री जगवीर सिंह,
4-कानि0 प्रवीण कुमार,
5-कानि0 हरि कृष्ण मिश्रा,
6-कानि0 रूप बंसत राणा
यह भी पढ़ें : डरावना समाचार : नशे के सिरिंज लगाने से 6 युवकों को हुआ एड्स, पिछले 5 वर्षों में 21 गवा चुके हैं जान
लोग एड्स को लेकर नहीं हैं जागरूक
नवीन समाचार, रुद्रपुर, 11 जनवरी 2019। नशा अनेकानेक तरीकों से युवाओं के लिए जानलेवा साबित हो रहा है, और देश के भविष्य को खोखला कर रहा है। उधम सिंह नगर जनपद में महीने भर में नशे के दौरान संक्रमित सिरिंज लगाने से छह युवकों के एचआईवी पॉजिटिव मिलने की बेहद चिंताजनक खबर है। इस खबर से स्वास्थ्य विभाग में खलबली मच गई है। ओएसटी सेंटर की रिपोर्ट पर एड्स पीड़ित इन छह युवकों का हल्द्वानी के एआरटी सेंटर में इलाज शुरू कर दिया गया है। बता दें कि रुद्रपुर में नये साल के पहले दिन एड्स पीड़ित एक नशेड़ी युवक की मौत हुई थी।

यह भी पढ़ें: ऐसा क्या हुआ कि कप्तान की डांट पड़ते ही पुलिस ने पकड़ लिया स्मैक तस्कर !

-4 माह पहले कम बरामदगी बताकर छोड़ दिया था इसी तस्कर को

मंगलवार को पुलिस की गिरफ्त में चरस तस्कर।

<

p style=”text-align: justify;”>नैनीताल, 31 जुलाई 2018। शहर की फिजाओं में जानलेवा नशे का जहर घोलने वाला स्मैक तस्कर आखिर पुलिस की गिरफ्त में आ ही गया है। इस बार उसके कब्जे से 8.1 ग्राम स्मैक बरामद हुई है। इससे पूर्व मार्च माह में भी उसके कब्जे से पुलिस ने 18 पुड़िया स्मैक बरामद हुई थी। तब उसे पुलिस ने निर्धारित से कम मात्रा होने के कारण छोड़ दिया था। बरामद की गयी स्मैक से करीब 80 पुड़िया यानी 80 डोज बनाई जा सकती हैं। पकड़ी गयी स्मैक को ठीक-ठाक बड़ी खेप माना जा रहा है। पकड़े गये आरोपित की अप्रैल माह में ही शादी हुई है, और उसकी शादी में स्मैक को लेकर ही गोली चलने की बात भी कही जाती है, जिससे एक बाराती युवक घायल हो गया था। खास बात यह भी है कि स्मैक तस्कर की गिरफ्तारी व स्मैक की बरामदगी जनपद के पुलिस कप्तान द्वारा नैनीताल पुलिस को पड़ी डांट के कुछ ही घंटों के भीतर हुई है।
मंगलवार को एएसपी हरीश चंद्र सती ने मल्लीताल कोतवाली में मामले का खुलासा करते हुए बताया कि आरोपित रोहित तिवारी पुत्र कृष्णानंद तिवारी को सोमवार देर रात्रि चूनाधारा के पास पुलिस ने नियमित गस्त के दौरान पकड़ा। गिरफ्तारी करने वाली पुलिस टीम में उप निरीक्षक दीपक बिष्ट, आरक्षी मनोज जोशी, विनोद यादव व सोनू कुमार आदि पुलिस कर्मी शामिल रहे। उसके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की धारा 8/21 के तहत कार्रवाई की गयी है। इस मौके पर सीओ विजय थापा व नगर कोतवाल विपिन चंद्र पंत भी शामिल रहे।

क्राइम मीटिंग में एसएसपी की झाड़ का हुआ असर !

नैनीताल। मल्लीताल कोतवाली पुलिस द्वारा आज स्मैक कारोबारी की गिरफ्तारी व उससे 8.1 ग्राम स्मैक की बरामदगी को एक दिन पूर्व ही जिले की मासिक अपराध समीक्षा बैठक में एसएसपी जनमेजय खंडूड़ी से पड़ी झाड़ का असर माना जा रहा है। क्योंकि नगर में स्मैक की बड़े पैमाने पर खरीद-फरोख्त की जानकारियां तो नगर में आम हैं, किंतु इस बार बैठक के कुछ ही घंटों में सक्रिय होकर पुलिस ने यह बरामदगी व गिरफ्तारी कर अपनी जान बचा ली है। उल्लेखनीय है कि नैनीताल पुलिस ने इससे पूर्व मार्च माह में इसी आरोपित से तब केवल 14 पुड़िया स्मैक ही मिलने का दावा किया था। वहीं बाद में तल्लीताल पुलिस ने अभिषेक साह नाम के एक अन्य आरोपित को 14.94 ग्राम स्मैक के साथ पकड़ा था। उल्लेखनीय है कि रोहित तिवारी से 14 पुड़िया स्मैक पकड़े जाने के एक दिन पूर्व ही करीब 10 ग्राम यानी 100 पुड़िया स्मैक रोहित तिवारी के पास आने की सूचना थी। ऐसे में नैनीताल पुलिस पर स्मैक कारोबारियों को संरक्षण प्राप्त होने के आरोप भी अक्सर लगते रहते हैं। पुलिस बच्चों में जागरूकता फैलाने के स्तर पर तो काम करती दिखती है, लेकिन कार्रवाई करते हुए नहीं। एएसपी हरीश चंद्र सती ने स्वीकारा कि स्मैक का कारोबार यहां अनवरत चल रहा है। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि कोतवाली पुलिस इस कार्रवाई से पहले क्या स्मैक कारोबार का पता होने के बावजूद इसके प्रति शांत नहीं बैठी थी।

यह भी पढ़ें : पुलिस ने बरामद की करीब 80 करोड़ की 20 किलो हेरोइन

दिल्ली, 4 अक्टूबर 2018। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए ड्रग तस्करों के अंतरराज्यीय गिरोह के दो सदस्यों को हेरोइन के साथ गिरफ्तार कर लिया है। जब्त की गई हेरोइन उच्च गुणवत्ता की है और इसका वजन 20 किलो है। स्पेशल सेल के एक अधिकारी के अनुसार बाजार में इस हेरोइन की कीमत करीब 80 करोड़ है। पुलिस के अनुसार वह इस वक्त यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि आखिर इतनी भारी मात्रा में इतनी उच्च गुणवत्ता वाली हेरोइन की खेप आई कहां से और आखिर इन्हें कहां ले जाया जा रहा था। पुलिस इस गिरोह के अन्य सदस्यों की भी तलाश कर रही है।

जानकारी के अनुसार दिल्‍ली पुलिस की स्‍पेशल सेल को सूचना मिली थी कि दिल्‍ली में अंतरराष्‍ट्रीय ड्रग्‍स माफिया पहुंचने वाले हैं। पुलिस ने जाल बिछाकर दोनों अंतरराष्‍ट्रीय ड्रग्‍स माफियाओं को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अब पकड़े गए दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है और भारत में ड्रग्‍स रैकेट का पता लगाने का प्रयास कर रही है।

उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व इसी वर्ष 6 सितम्बर को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने जम्मू के दो अलग अलग जगहों से  अफगानिस्तान से लाई गयी ड्रग्स की अब तक की सबसे बड़ी 60 किलो उम्दा क्वालिटी की हेरोइन बरामद की थी। साथ ही तीन कश्मीर मूल के एवं एक पंजाब के तस्कर को गिरफ्तार किया था।  बरामद हेरोइन की कीमत अंतराष्ट्रीय बाजार में करीब 250 करोड़ रुपए आकी गयी थी।

सरकार भांग उगवाने की कोशिश में और नैनीताल पुलिस ने क्वारब और खैरोली में उजाड़ी भांग की खेती

रविवार को खैरोली गांव में भांग की खेती को नष्ट करते पुलिस कर्मी।
रविवार को खैरोली गांव में भांग की खेती को नष्ट करते पुलिस कर्मी।

नैनीताल, 30 सितंबर 2018। पिछली हरीश रावत सरकार के बाद त्रिवेंद्र रावत सरकार भी जहां उत्तराखंड में (मादक पदार्थ के अंतर्गत न आने वाली) भांग की खेती की समर्थक बनकर उभरती नजर आ रही है वहीं नैनीताल पुलिस ने रविवार को एसएसपी के निर्देशों एवं एएसपी हरीश चंद्र सती की अगुवाई में भांग की खेती के खिलाफ अभियान चलाया। इस दौरान सुयालबाड़ी में एएसपी ने क्षेत्रीय ग्रामीणों की बैठक की, एवं उन्हें भांग एवं इससे बनने वाले चरस के नशे के प्रति जागरूक किया। बाद में क्वारब गांव में एक खेत में लगे एवं भीमताल थाने के खैरोली गांव में व्यापक पैमाने पर हो रही भांग की खेती को क्वारब चौकी, मुक्तेश्वर पुलिस ने ग्राम दाड़िमा और भीमताल थाने की पुलिस के द्वारा नष्ट कर दिया गया। उल्लेखनीय है कि उत्तराखंड के सर्द पर्वतीय क्षेत्रों में आम तौर पर भांग का प्रयोग गर्म तासीर के कारण चटनी, पिसे नमक, नींबू सानने व भंगझोली के रूप में प्रयोग किया जाता है। ऐसे में भाग का प्रयोग नशे के रूप में न होने पाये, इसकी उम्मीद जरूर पुलिस से की जाती  है।

यह भी पढ़ें : खाई में गिरे स्मैक तस्कर, पुलिस ने बचाये फिर जेल भेजे

पुलिस की गिरफ्त में स्मैक तस्कर और सुबकती मां (इनसेट में)।

नैनीताल, 14 सितंबर 2018। नगर के आधार बलियानाला में हुए जबर्दस्त भूस्खलन के कारण क्षतिग्रस्त हुए मार्ग पर जबरन मोटरसाइकिल से आते हुए दो स्मैक तस्तर घायल हो गये। उनकी बाइक भी सैकड़ों फिट गहरी खाई में जा गिरी। दो युवकों के बाइक सहित खाई में गिरने की सूचना पर तल्लीताल थाना प्रभारी ने उन्हें बचाया, लेकिन उनकी इतने खतरनाक मार्ग से पुलिस द्वारा लगायी गयी तारबाड़ को फांदकर आने पर शक होने पर उनकी तलाशी ली गयी, इसमें दोनों के पास से 8 ग्राम से अधिक स्मैक बरामद की गयी। इसके बाद दोनों को अस्पताल में उपचार कराने के बाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। 4.83 ग्राम स्मैक के साथ पकड़ा गया एक युवक राहुल रावत पुत्र प्रताप सिंह रावत निवासी नैनीताल क्लब पहले भी मल्लीताल कोतवाली के द्वारा स्मैक के साथ गिरफ्तार किये जाने के बाद जेल से जमानत पर छूटा था, जबकि दूसरे नितिन कुमार पुत्र स्वर्गीय प्रकाश आर्या निवासी वेल्ड्रॉफ कंपाउंड मल्लीताल के पास 3.43 ग्राम स्मैक बरामद हुई। उसकी मां भी थाने पहुंची थी और बेटे के जेल जाने पर सुबकती रही। उसने कहा कि पति के गुजरने के बाद वह दोनों बेटों को पाल रही है। अगर दुबारा उसने ऐसी हरकत की तो फिर वह उसे बचाने नहीं आएगी।

यह भी पढ़ें: तल्लीताल पुलिस ने गिरफ्तार किये दो स्मैक के लती तस्कर

तल्लीताल थाना पुलिस की गिरफ्त में आये स्मैक के लती तस्कर।

<

p style=”text-align: justify;”>नैनीताल, 14 अगस्त 2018। नगर में पुलिस को नशे के खिलाफ चलाई जा रही मुहिम में फिर सफलता मिली है। मल्लीताल कोतवाली के बाद अब तल्लीताल थाना पुलिस ने मंगलवार देर रात्रि दो स्मैक तस्करों को गिरफ्तार किया है। दोनों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया है। थाना प्रभारी राहुल राठी ने बताया कि एसआई मनोज नयाल और अन्य पुलिस कर्मी मंगलवार रात हल्द्वानी रोड पर चेकिंग अभियान चला रहे थे। इस दौरान हनुमानगढ़ में सामने से आ रहे दो बाइक सवार युवक पुलिस को देख बाइक वापस मोड़ने लगे। इससे पुलिस को उन पर शक होने लगा और उन्हें घेराबंदी कर पकड़ लिया गया। दोनों आरोपितों-फैजल और जावेद अली निवासी रॉयल होटल कम्पाउंड मल्लीताल के पास से क्रमशः 1.57 ग्राम व 1.46 ग्राम स्मैक स्मैक बरामद हुई। पूछताछ में दोनों ने बताया कि उन्हें स्मैक के नशे की लत है। बिलासपुर से खरीदने के बाद वह लौट रहे थे। जेब खर्च के लिए पुड़िया बनाकर बेच भी देते हैं। दोनों को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है।
तल्लीताल थाना पुलिस की गिरफ्त में आये स्मैक के लती तस्कर।

यह भी पढ़ें : मल्लीताल पुलिस ने फिर पकड़ी छोटी मछली, बड़ी मछली अभी भी पहुंच से दूर

नैनीताल, 2 अगस्त 2018। मल्लीताल कोतवाली पुलिस ने जिले के पुलिस कप्तान से मासिक अपराध समीक्षा बैठक में पड़ी फटकार के बाद फिर एक छोटे स्मैक बेचने वाले को गिरफ्तार किया है। उसके कब्जे से 4.90 ग्राम स्मैक बरामद बताई गयी है। अलबत्ता नगर के स्मैक के कम से दो बड़े कारोबारी अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं।

नैनीताल। बृहस्पतिवार को स्मैक के साथ पुलिस की गिरफ्त में आया युवक।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार बृहस्पतिवार को उप निरीक्षक पूरन सिंह मर्तोलिया एवं आरक्षी मनोज जोशी, विनोद यादव व सोनू कुमार ने चेकिंग के दौरान पंगोट रोड पर टांकी बैंड के पास राहुल रावत नाम के युवक को 4.9 ग्राम स्मैक के साथ पकड़ा। पकड़े गये राहुल ने बताया कि वह खुद भी स्मैक पीता है, और अपना खर्चा चलाने के लिए थोड़ी मात्रा में स्मैक बेच भी लेता है। यानी वह युवा पीढ़ी के लिए इस जानलेवा काले कारोबार की बहुत छोटी मछली है, और बड़ी मछलियां अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं। कोतवाली पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट की धारा 8/21 के तहत मेडिकल परीक्षण कराने के बाद उसे न्यायालय में पेश किया और वहां से उसे जेल भेज दिया गया। उल्लेखनीय है कि दो दिन पूर्व कोतवाली पुलिस ने स्मैक के अपेक्षाकृत बड़े तस्कर रोहित तिवारी को 8.1 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार कर जेल भेजा था।

एक कारोबारी व अधिवक्ता सहित कई पुलिस के रडार पर

नैनीताल। मामले का खुलासा करते हुए एएसपी हरीश चंद्र सती ने कहा कि नगर में 5 से 7 लोग अभी भी पुलिस के रडार पर हैं। यह लोग घर से उपेक्षित महसूस कर रहे बच्चों के बीच घुल मिलकर उन्हें नशे का दो बार में स्वाद चखाकर ही आदी बना डालते हैं। बताया गया है कि मल्लीताल बड़ा बाजार के प्रतिष्ठित व्यवसायी का कारोबारी पुत्र एवं एक अधिवक्ता पर भी पुलिस की नजर है। कारोबारी पुत्र नगर में स्मैक के कारोबार का मुख्य सूत्रधार बताया जा रहा है।

यह भी पढ़ें:  पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष व अधिवक्ता तथा उसके भाई पर मुकदमा दर्ज

स्मैक कारोबारी की बीती 18 अप्रैल को हुई बारात में गोली चलाकर युवक को घायल करने के अधिवक्ता व पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष सुंदर सिंह मेहरा और उसके भाई देवेंद्र सिंह मेहरा पर राजस्व पुलिस में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। घायल के भाई नरेंद्र बिष्ट की तहरीर पर दोनों के खिलाफ जानलेवा हमला करने व अन्य आरोपों में मुकदमा दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ें: स्मैक कारोबारी की बारात में चली गोली, युवक घायल, अधिवक्ता व भाई पर आरोप

-बुधवार को मुख्यालय से बगड़ के लिए गयी थी बारात, पूर्व छात्र नेता व अधिवक्ता तथा उसके भाई पर लगा है गोली मारने का आरोप

पैर में गोली लगने से घायल युवक को सहारा देते साथी।

<

p style=”text-align: justify;”>नैनीताल, 18 अप्रैल 2018। बुधवार को नैनीताल के चार्टन लॉज से निकटवर्ती ग्राम बगड़-पंगोट गयी एक बारात में बारातियों में आपस में विवाद हो गया। विवाद इतना बड़ा कि नगर के एटीआई निवासी 25 वर्षीय युवक उमेश बिष्ट पुत्र लक्ष्मण सिंह बिष्ट को गोली मार दी गयी। दैवयोग से गोली उमेश के पैर में लगी, जिससे उसकी जान बच गयी। इमरान, वैभव, महेंद्र व सुरेंद्र आदि साथी उसे बचाकर जिला अस्पताल ले कर आये। यहां से प्राथमिक उपचार के उपरांत उसे हल्द्वानी के उच्च केंद्र के लिए संदर्भित कर भेज दिया गया है।
मामले में कुमाऊं विवि के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष व वर्तमान में अधिवक्ता तथा उसके भाई पर गोली मारने का आरोप लगा है। पीड़ित की ओर से कोतवाली पुलिस में तहरीर दी गयी। इस पर पुलिस ने पीड़ित को मामला राजस्व क्षेत्र का बताकर संबंधित राजस्व क्षेत्र में तहरीर देने की सलाह दी है।

<

p style=”text-align: justify;”>स्मैक पकड़े जाने के लिए आया था दूल्हे का नाम
नैनीताल। उल्लेखनीय है कि बुधवार को जिस बारात में गोली चलने की घटना हुई, वह नगर के चार्टन लॉज निवासी रोहित तिवाड़ी की थी। रोहित की मल्लीताल पिछाड़ी बाजार में कोणार्क होटल के नीचे दुकान है। कोतवाली पुलिस के अनुसार रोहित को गत दिनों एसटीएफ ने 14 पुड़िया स्मैक के साथ पकड़ा था, किंतु स्मैक की मात्रा एक ग्राम से कम होने की वजह से बाद में उसके खिलाफ संबंधित धाराओं में कार्रवाई के बजाय केवल चालान कर दिया गया था। पुलिस के द्वारा आशंका व्यक्त की जा रही है कि विवाद की वजह स्मैक भी हो सकती है।

फिर साबित हुआ नैनीताल में स्मैक का कारोबार, अब 5 ग्राम के साथ पकड़ा गया स्थानीय तस्कर

<

p style=”text-align: justify;”>नैनीताल। जिला व मंडल मुख्यालय में जानलेवा स्मैक का नशा गहरा पसरा हुआ है। यह बात शनिवार को बार फिर साबित हो गयी। पुलिस ने एक स्मैक तस्कर को 4.94 ग्राम स्मैक के साथ दबोचा है। उसके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की धारा 8/21 के तहत अभियोग पंजीकृत कर लिया गया है। साथ ही नगर में स्मैक के काले कारोबार के खिलाफ तथ्य संकलन जारी रखने का इरादा जाहिर करने के साथ एसआई रेवती पंत को मामले की जांच सौंप दी है।
एएसपी हरीश चंद्र सती ने बताया कि नगर के माल रोड पर मैरीनो होटल के पास रहने वाले अभिषेक साह पुत्र स्वर्गीय राजेश साह को हल्द्वानी रोड से हनुमानगढ़ी जाने वाले रास्ते पर पकड़ा गया। उसे पकड़ने वाली टीम में तल्लीताल के थाना प्रभारी मनोज सिंह, आरक्षी मनोज सिंह, राजा राम व शिवराज राणा शामिल थे। पकड़ा गया युवक पूर्व में मल्लीताल जिला अस्पताल के पास की पार्किंग में काम करता था।

<

p style=”text-align: justify;”>स्मैक पीने वाले 5 युवक भी पकड़े, काउंसिलिंग कर छोड़े
नैनीताल। पुलिस ने स्मैक तस्कर के साथ ही पांच युवकों को भी पकड़ा है। नगर के तल्लीताल क्षेत्र के के ये युवक सभी तरह के घर-परिवारों के और कम उम्र के हैं। जिससे समझा जा सकता है कि कोई भी बच्चा इस जानलेवा नशे की गिरफ्त में आ सकता है। फिलहाल पुलिस ने पकड़े गये युवकों के परिजनों को थाने में बुलाकर उनके सामने ही काउंसिलिंग की, और नशे के खतरों से अवगत कराकर आगे इसका प्रयोग न करने की ताकीद की। साथ ही नगर के अन्य अभिभावकों से भी अपील की है कि वे अपने बच्चों पर नजर रखें। यदि उनका बच्चा असामान्य व्यवहार कर रहा है। घर से पैंसे ले जा रहा है, और नशा कर रहा है, तो उसे समझाएं व नशे से दूर करें। एएसपी ने बताया कि नगर में करीब 2 दर्जन युवाओं के इस नशे की गिरफ्त में होने की जानकारी है।

<

p style=”text-align: justify;”>250 रुपए में आती है एक बार की पुड़िया
नैनीताल। एएसपी ने बताया कि नगर में तस्कर करीब 250 रुपए की स्मैक की एक बार उपयोग करने वाली पुड़िया बेच रहे हैं। शुरुआत में तस्कर बच्चों को मुफ्त में एक-दो पुड़िया उपलब्ध कराकर नशे का शौक चढ़ाते हैं, और बाद में रुपए ऐंठते हैं। पुड़िया बहुत छोटी होती हैं, इन्हें कहीं भी छिपाया जा सकता है। पुलिस करीब 64 पुड़ियाओं में आने वाली दो ग्राम स्मैक पर कार्रवाई कर सकती है। नगर में 20-20 के करीब पुड़िया लाकर स्मैक का काला कारोबार करने वाले कई लोग तथा स्मैकियों के कई अड्डे भी पुलिस के रडार पर आ चुके हैं। आगे पुलिस सादी वर्दी में भी स्मैकियों के खिलाफ कार्रवाई करेगी।

<

p style=”text-align: justify;”>पुलिस की कार्रवाई पर संदेह बरकरार
नैनीताल।एक स्मैक तस्कर को गिरफ्तार करने के बावजूद लोगों का पुलिस की कार्रवाई पर संदेह बरकरार है। खासकर पिछली कार्रवाई को लेकर, जिसमें स्मैक का बड़ा तस्कर बताए जा रहे व्यक्ति को 14 पुड़िया से कम बताकर मात्र चालान कर छोड़ दिया, और उसके द्वारा दिये गए सुरागों व मल्लीताल में बताए गए अन्य अड्डों व कारोबारियों पर अब तक कार्रवाई न होने से भी संदेह गहरा रहा है। इस मामले में भी पकड़े गए तस्कर ने एक और व्यक्ति के साथ होने का खुलासा किया है। अब देखना होगा कि पुलिस आगे इस दिशा में क्या कठोर कार्रवाई करती है।

यह भी पढ़ें : 14 पुड़िया स्मैक के साथ दबोचा दुकानदार, एक दिन पहले ही आई थी 100, बाकी गई कहां ?

नैनीताल। जिले भर में एसएसपी जनमेजय खंडूड़ी के निर्देशों पर चल रही नशे के खिलाफ कार्रवाई बमुश्किल शुक्रवार को एसओजी के माध्यम से मुख्यालय पहुंची, लेकिन भरोसेमंद सूत्रों के अनुसार इसमें ‘खेल’ कर दिया गया। एसओजी ने मल्लीताल के पिछाड़ी बाजार में कोणार्क होटल के नीचे के एक दुकानदार मोहित तिवाड़ी को स्मैक के साथ दबोचा। इसके साथ नगर कोतवाली की अब तक की अनेक शिकायतों के बावजूद ‘नां’ के इतर, नाक के नीचे, चंद कदमों पर स्मैक का कारोबार होने की पुष्टि हो गयी, जबकि नैनीताल पुलिस कई शिकायतों, नगर में स्मैक के एक नशेड़ी द्वारा अपने ही पिता को स्मैक के लिए पैंसे न देने पर चाकू मारने जैसी वारदात होने के बावजूद अब तक नशे के इन काले कारोबारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर पाई थी।

यह भी दिलचस्प रहा कि सामान्यतया किसी आरोपी को चोरी की योजना बनाते पकड़ने के लिए उसके हाथ में खुद ही ‘आला नकब’, नशीले पदार्थों के साथ पकड़े जाने के लिए खुद ही उसकी जेब में नशे की पुड़िया और इन्काउंटर में बेहद पुराना कट्टा थमाने के लिए कुख्यात पुलिस इस मामले में कथित तौर पर इसलिए कार्रवाई नहीं कर पाई कि युवक के पास स्मैक की 14 पुड़िया ही मिलीं, जो कि एक ग्राम से कम थी। कुछ पुड़िया भी अधिक होतीं तो युवक के विरुद्ध संबंधित धारा में मुकदमा दर्ज हो सकता था, लेकिन कम होने पर उसके खिलाफ महज उत्तराखंड पुलिस अधिनियम के तहत मात्र एक हजार रुपए के चालान की खानापूरी कर उसे छोड़ दिया। यह भी इसलिए कि मामला मीडिया के संज्ञान में आ चुका था। मीडिया को यह भी समझाया गया है कि रोहित की अगले माह ही 18 अप्रैल को शादी होनी भी तय थी, और उस ‘बेचारे’ के पास स्मैक खुद के ही उपयोग के लिए ही थी। इसलिए उसे छोड़ दिया गया। यहां सवाल उठना लाजिमी है कि पुलिस को मोहित के पास निर्धारित सीमा से कुछ ही पुड़िया स्मैक कम क्यों मिली ? कहीं कुछ पुड़िया कम तो नहीं दिखा दी गयी ? 

भरोसेमंद सूत्रों की मानें तो एसएसपी को एक दिन पहले ही नगर में 100 पुड़िया स्मैक आने की वास्तव में सही सूचना मिली थी। इस जाल को तोड़ने के लिए नैनीताल पुलिस से इतर एसओजी को जिम्मेदारी दी गयी। तिवाड़ी ने भी पुलिस के समक्ष खुलासा किया कि नगर में एक प्रतिष्ठित व्यवसायी का पुत्र गदरपुर से लाकर चीना बाबा मंदिर के पास से व एक अन्य स्थानीय युवक हल्द्वानी से लाकर यह काला कारोबार करता है तथा एक, पूर्व छात्र नेता भी स्मैक का इस्तेमाल कर पीड़ित व अन्य को इस जानलेवा नशे की गिरफ्त में धकेलने वाला बताया गया है।

सवाल यह भी है कि एक दिन में ही शेष 86 पुड़िया कहाँ चली गयीं ? क्या ये प्रयोग कर ली गयीं ? यदि ऐसा है, तो यह और भी अधिक भयावह है कि छोटे से नगर में इस जानलेवा नशे की इतनी अधिक खपत है, और यदि नहीं तो तो पुलिस इसे बरामद क्यों नहीं कर पाई ?

बताया गया है कि एसओजी द्वारा तिवाड़ी को स्मैक के साथ पकड़े जाने पर पूछताछ में पुलिस के ‘रडार’ पर आये अन्य काले धन्धेबाज़ों के घरों की स्थानीय पुलिस की मदद से तलाशी ली जानी थी, लेकिन इसमें उचित सहयोग नहीं मिला, लिहाजा तलाशी नहीं हो पाई। इसलिए आज की कार्रवाई महज खानापूरी बनकर रह गयी।

उल्लेखनीय है कि नगर में चीना बाबा चौराहे में स्मैक की बिक्री होने और मेट्रोपोल पार्किंग क्षेत्र में स्मैकियों का अड्डा होने, स्कूली बच्चों द्वारा भी स्मैक का इस्तेमाल किये जाने की लंबे समय से आम चर्चाएं हैं। स्थानीय लोग कोतवाली पुलिस को कई बार सूचना दे चुके हैं, बावजूद पुलिस ने कभी कोई उल्लेखनीय कार्रवाई नहीं की है।

एएसपी हरीश चंद्र सती ने कहा कि तिवाड़ी से नगर में स्मैक का इस्तेमाल करने व इसे लाकर बेचने वाले कारोबारियों के बारे में कई अति महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे हैं। इन पर पुलिस व एसओजी आगे शीघ्र कार्रवाई करेगी।

Leave a Reply

Loading...
loading...