News

बिग ब्रेकिंग: गैरसेंण उत्तराखंड की ग्रीष्मकालीन राजधानी बनी, अधिसूचना जारी, पर देहरादून की राजधानी क्या ? अस्थायी या शीतकालीन ?

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये     नवीन समाचार, देहरादून, 08 जून 2020। उत्तराखंड आंदोलन के दौर से ही राजधानी के रूप में प्रचारित गैरसेंण आखिर राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी बन गई है। उत्तराखण्ड की त्रिवेन्द्र सरकार द्वारा चमोली जिले के चमोली भराड़ीसैंण (गैरसैंण) को ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाने की घोषणा को आज आखिरकार मुहर लगा […]

News

‘नवीन समाचार’ में सभी समाचार एक जगह

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये      [wp-rss-aggregator] कोरोना संक्रमित संदिग्धों की सूचना देने के लिए जनपद में फोन नंबर जारीAugust 11, 2020 निर्मल पांडे फिल्म फेस्टिवल में नगर के अजय की दो फिल्में पुरस्कृतAugust 11, 2020 नैनीताल: 82 वर्षीय बुजुर्ग में कोरोना की पुष्टि, मुख्यालय में 33 हुई कोरोना पॉजिटिवों की संख्याAugust 11, […]

News

बाजपुर में मिलीं प्राचीन मूर्तियां, हो सकती हैं 17वीं सदी के चंद राजा बाजबहादुर चंद के दौर की

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये     नवीन समाचार, बाजपुर, 23 फरवरी 2019। कुमाऊं के प्रसिद्ध चंद राजवंश के सबसे सुप्रसिद्ध राजा बाजबहादुर चन्द (शासनकाल 1638 से 1678 ईसवी) के द्वारा मुगल बादशाह शाहजहां के दौर में अपने नाम से बसाये गये बाजपुर कस्बे में प्राचीन मूर्तियां मिली हैं। यह प्राचीन मंदिर के संबंधित बतायी […]

नेताओं की अक्ल का स्तर बता गया ‘अक्कल दाढ़’…

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये     -युगमंच संस्था की एक माह की बाल नाट्य कार्यशाला के उपरांत शैले हॉल में प्रस्तुत किया गया नाटक नवीन समाचार, नैनीताल, 11 अगस्त 2019। युगमंच एवं शारदा संघ के तत्वावधान में बीते एक माह से चल रही बाल नाट्य कार्यशाला के दौरान तैयार किये गये नाटक ‘अक्कल दाढ़’ […]

जितने सवाल-उतने जवाब थे अपने फक्कड़दा-गिर्दा

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये     ‘बबा, मानस को खोलो, गहराई में जाओ, चीजों को पकड़ो.. यह मेरी व्यक्तिगत सोच है, मेरी बात सुनी जाए लेकिन मानी न जाए….’ प्रदेश के जनकवि, संस्कृतिकर्मी, आंदोलनकारी, कवि, लेखक गिरीश तिवारी ‘गिर्दा’ (जन्म 9 सितंबर, 1945 को अल्मोड़ा के ज्योली हवालबाग गांव में हंसादत्त तिवाडी और जीवंती तिवाडी के […]

loading...