News

देखें पहली डिजिटल कुमाउनी रामलीला…

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

       देखें 7वें दिन की पहली डिजिटल कुमाउनी रामलीला : देखें छठे दिन की पहली डिजिटल कुमाउनी रामलीला : देखें पांचवे दिन की पहली डिजिटल कुमाउनी रामलीला :  देखें चौथे दिन की पहली डिजिटल कुमाउनी रामलीला : देखें तीसरे दिन की पहली डिजिटल कुमाउनी रामलीला :  देखें दूसरे दिन की पहली डिजिटल कुमाउनी रामलीला : देखें पहले दिन […]

News

‘नवीन समाचार’ में सभी समाचार एक जगह

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

         उत्तराखंड कोरोना अपडेट : लगातार चौथे दिन कोरोना ने तोड़े अपने ही रिकॉर्ड, साढ़े नौ हजार से अधिक मामले, 137 की मौत भी..7 May 2021 सिर्फ पांच लोगों ने मस्जिद में पढ़ी अलविदा की नमाज7 May 2021 अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी के साथ हर्षोल्लास से मनाया गया गुरुदेव रबिंद्रनाथ टैगोर का जन्मोत्सव7 May 2021 बिग […]

साफ-सफाई का सन्देश देता ‘खतडु़वा’ आया, सर्दियां लाया

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

       -विज्ञान व आधुनिक बौद्धिकता की कसौटी पर भी खरा उतरता है यह लोक पर्व, साफ-सफाई, पशुओं व परिवेश को बरसात के जल जनित रोगों के संक्रमण से मुक्त करने का भी देता है संदेश नवीन जोशी, नैनीताल। उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों, खासकर कुमाऊं अंचल में चौमांस-चार्तुमास यानी बरसात के बाद सर्दियों की शुरुआत एवं […]

दीवाली पर नैनीताल की बेटी दीक्षा ने दक्षिण अमेरिकी बच्चों को दिया यह ‘हिंदुस्तानी’ तोहफा

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

       -कनाडा में दूसरी पुस्तक ‘वेद‘स लिटिल बुक ऑन डिवोसन’ हुई लॉंच -बिक्री के मामले में अमेजन पर बच्चों की हिंदू धर्म की पुस्तकों में सर्वाधिक बिकने वाली सूची में दो दिन में ही दूसरे स्थान पर आ गयी है  यह पुस्तक  नैनीताल, 5 सितंबर 2018। दिवाली के त्यौहार पर नैनीताल की एक बेटी दीक्षा पाल […]

आस्था के साथ ही सांस्कृतिक-ऐतिहासिक धरोहर भी हैं ‘जागर’

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

       इस तरह ‘जागर’ के दौरान पारलौकिक शक्तियों के वसीभूत होकर झूमते हें ‘डंगरिये’ कुमाऊं के जटिल भौगोलिक परिस्थितियों वाले दुर्गम पर्वतीय क्षेत्रों में संगीत की मौखिक परम्पराओं के अनेक विशिष्ट रूप प्रचलित हैं। उत्तराखंड के इस अंचल की संस्कृति में बहुत गहरे तक बैठी प्रकृति यहां की लोक संस्कृति के अन्य अंगों की तरह […]

नेपाली, तिब्बती, पैगोडा, गौथिक व ग्वालियर शैली में बना है नयना देवी मंदिर

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

       “सरोवरनगरी की पहचान से जुड़ा नगर का प्राचीन नयना देवी मंदिर नेपाली, तिब्बती, पैगोडा व कुछ हद तक अंग्रेजी गौथिक व ग्वालियर शैली में भी बना हुआ है। इसकी स्थापना नगर के संस्थापकों में शुमार मूलतः नेपाल निवासी मोती राम शाह के पुत्र अमर नाथ शाह ने अंग्रेजों से एक समझौते के तहत यहां […]

loading...