Politics

भाजपा ने की जिलाध्यक्षों की घोषणा, जानें किसे मिली आपके जिले की कमान, और किस वर्ग को मिला कितना प्रतिनिधित्व…?

Imageनवीन समाचार, देहरादून, 6 नवंबर 2022। पहली बार परंपरा से हटकर नीचे से ऊपर की ओर यानी नगर अध्यक्षों, जिलाध्यक्षों, प्रदेश अध्यक्षो व राट्रीय अध्यक्ष के चुनाव की जगह ऊपर से नीचे की ओर हो रहे मनोनयनो के बीच भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष महेद्र भट्ट ने प्रदेश के सभी जिलो में जिलाध्यक्षों की घोषणा कर दी है। यह भी पढ़ें : 23 वर्षीय नवविवाहिता की शादी के 2 वर्ष से भी पहले हुई संदिग्ध मौत, ससुरालियों पर आरोप…

रविवार देर रात्रि की गई घोषणा के अनुसार उत्तरकाशी की कमान सतेन्द्र राणा को, चमोली की रमेश मैखुरी को, रुद्रप्रयाग की महावीर पवार को, टिहरी की राजेश नौटियाल को, देहरादून ग्रामीण की मीता सिंह को, देहरादून महानगर की सिद्धार्थ अग्रवाल को, ऋषिकेश की रविन्द्र राणा को, हरिद्वार की सन्दीप गोयल को, रुड़की की शोभाराम प्रजापति को, पौड़ी की सुषमा रावत को, कोटद्वार की वीरेद्र रावत को, पिथौरागढ़ की गिरीश जोशी को, बागेश्वर की इदर सिंह फर्सवाण को, रानीखेत की लीला बिष्ट को, अल्मोड़ा की रमेश बहुगुणा को, चम्पावत की निर्मल मेहरा को, नैनीताल की प्रताप बिष्ट को, काशीपुर की गुंजन सुखीजा को व ऊधमसिंह नगर की कमल जिन्दल को दी गई है। यह भी पढ़ें : रात्रि में हुए ध्वस्तीकरण के बाद अब बदलेगी नैनीताल के तल्लीताल क्षेत्र की सूरत…

बताया गया है कि इस प्रकार कुल 19 सांगठनिक जिलों की कमान तीन महिलाओं, 2 पंजाबी मूल के लोगों, 2 वैश्य समुदाय को, 1 दलित वर्ग, सर्वाधिक 10 क्षत्रिय वर्ग के लोगों एवं 4 ब्राह्मण वर्ग के लोगों को दी गई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपा प्रवक्ता ने किया चुनाव में किए रोजगार सहित सभी वादे पूरा करने का दावा…

-प्रदेश प्रवक्ता सुरेश जोशी ने बिंदुवार जानकारी, कहा-हरिद्वार की जनता ने लगाई सरकार के चुनाव में किए वादे निभाने पर मुहर
-3300 पद मार्च तक और 23 हजार पदों पर वर्ष भर के भीतर सरकारी नौकरी देने का जताया विश्वास
-2017 से 2022 के बीच भाजपा सरकार द्वारा 6 लाख लोगों को स्वरोजगार एवं 18 हजार लोगों को सरकारी क्षेत्र में रोजगार देने का भी किया दावा

नैनीताल पहुंचने पर प्रदेश प्रवक्ता सुरेश जोशी का स्वागत करते विधायक सरिता आर्य एवं अन्य।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 13 अक्तूबर 2022। प्रदेश की सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता सुरेश जोशी ने कहा कि भाजपा ने गत विधानसभा चुनाव के दौरान जनता से जो वादे किए थे, उन्हें पूरा करने यानी अपने उद्देश्यों पर सरकार तेजी से आगे बढ़ रही है। इस दौरान उन्होंने लोक सेवा आयोग के माध्यम से 3300 पद आगामी मार्च 2023 तक और सरकारी विभागों के सभी 23 हजार रिक्त पदों पर वर्ष भर के भीतर सरकारी नौकरी देने का विश्वास जताया। यह दावा भी किया कि 2017 से 2022 के बीच भाजपा सरकार ने 6 लाख लोगों को स्वरोजगार एवं 18 हजार लोगों को सरकारी क्षेत्र में रोजगार दिया।

उन्होंने कहा कि भाजपा चुनाव में सबसे बड़ा वादा देश में सबसे पहले, प्रदेश में समान नागरिक संहिता को लागू करने का किया था। राज्य मंत्रिमंडल की पहली बैठक में ही इस पर निर्णय लिया गया और अब सेवानिवृत्त न्यायाधीश की अध्यक्षता में समिति पर इस सभी वर्गों की राय ले रही है, और सभी से सकारात्मक राय आ रही है। दूसरा वादा युवाओं को रोजगार देने का किया गया था। इस मुद्दे पर युवा सीएम धामी के नेतृत्व में भाजपा सरकार ने सरकारी क्षेत्र में 23 हजार रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया प्रारंभ की। लोक सेवा आयोग से 757 कनिष्ठ अभियंताओं को नौकरी दे दी गई, लेकिन अधीनस्थ चयन आयोग के माध्यम से पदों को भरने की प्रक्रिया भ्रष्टाचार के मामले आने से स्थगित हुई।

इस पर 42 लोग जेल भेजे गए व 21 के विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई हुई, और एक सप्ताह के भीतर ही लोक सेवा आयोग से, देश में पहली बार समूह घ के पदों के लिए भी भर्ती की प्रक्रिया शुरू हुई, कलेंडर जारी हुआ। सरकारी क्षेत्र में सभी 23 हजार रिक्त पदों को एक वर्ष के भीतर भरने का विश्वास जताते हुए उन्होंने कहा कि सरकार स्वरोजगार के जरिए भी अधिकाधिक लोगों को रोजगार देने के लिए विभिन्न योजनाओं में 2.5 से 6 फीसद तक बजट में वृद्धि की है। उन्होंने कहा कि निजी क्षेत्र में स्थानीय लोगों को 70 फीसद रोजगार देना सुनश्चित करने के सरकार ने निजी क्षेत्र से आंकड़े मांगे हैं। सरकार इसे कड़ाई से लागू करवाएगी।

इसके अलावा चुनाव में किए गए भूकानून के वादे भी जोशी ने कहा कि सरकार ऐसा भूकानून लाने जा रही है, जिसमें राज्य वासियों की संस्कृति, सभ्यता व विरासत को बनाए रखने की शर्त पर ही निवेशकों का स्वागत किया जाएगा। कहा कि हरिद्वार के पंचायत चुनाव में 1989 के बाद जिला पंचायत अध्यक्ष सहित सभी छह विकास खंडों में भाजपा की जीत के रूप में सरकार द्वारा चुनाव में किए गए वादे निभाने पर जनता की मुहर भी लगी है। इससे पूर्व विधायक सरिता आर्य, नगर अध्यक्ष आनंद बिष्ट, पूर्व जिलाध्यक्ष भुवन हरबोला, मनोज जोशी, भूपेंद्र बिष्ट, नितिन कार्की, मोहित रौतेला, भुवन आर्य व विश्वकेतु वैद्य आदि ने श्री जोशी का नगर आगमन पर पुष्पगुच्छ भेंटकर स्वागत किया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : बंगाली कॉलोनी पहुंचे पश्चिम बंगाल के सांसद…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 7 अक्तूबर 2022। भाजपा की यही खूबी है कि यहां बड़े नेता भी निचले दर्जे के कार्यकर्ताओं के बीच जाकर संवाद स्थापित करते हैं। ऐसा ही नजारा शुक्रवार को नगर के सूखाताल स्थित बंगाली कॉलोनी नाम की बस्ती में देखा गया।

यहां भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व मेदनीपुर पश्चिम बंगाल से सांसद दिलीप घोष अपने नैनीताल आगमन पर पहुंचे और यहां भाजपा के जिला सह सोशल मीडिया प्रभारी विश्वकेतु वैद्य के आवास पर उनके सभी पड़ोसियों के साथ चाय पर चर्चा कर यहां रहने वाले बंगाली समुदाय के लोगो की स्थितियों से अवगत हुए। उन्होंने बंगाली समाज व सभी लोगों को विजयादशमी, लक्ष्मी पूजा व काली पूजा की बधाई व शुभकामनाएं भी दीं ।

इस मौके पर स्थानीय विधायक सरिता आर्य, सांसद प्रतिनिधि गोपाल रावत, सूखाताल की सभासद गजाला कमाल, जीवंती भट्ट, दया किशन पोखरिया, शिवशंकर मजूमदार, मानिक सरकार, शिव कुमार सरकार, विनोद कुमार वैद्य, संजय, अजय उपाध्याय, निशांत कुमार, दीपक कुमार, पूर्णिमा, दीपिका, रीता, शमा, शंकर, मुन्नी, आशा, गोविंद आदि लोग उपस्थित रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : ग्रामीण क्षेत्रों की समस्याओं के समाधान में सेतु की भूमिका निभाएं भाजपा कार्यकर्ता: भट्ट

-पहली बार मुख्यालय पहुंचने पर कार्यकर्ताओं में दिखी स्वागत करने की होड़
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 21 सितंबर 2022। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद महेंद्र भट्ट पहली बार नैनीताल पहुंचे हैं। इस दौरान उन्होंने कहा कि केंद्र में मोदी सरकार आने के बाद ग्रामीण क्षेत्रों में विकास को लेकर गंभीर पहल हुई। ढांचागत सुविधाएं धरातल पर नजर आने लगी हैं। इससे पूर्व मुख्यालय पहुंचने पर भाजपा कार्यकर्ताओं में उनका स्वागत करने की होड़ दिखी। नगर उनके स्वागत में उत्सुक स्थानीय भाजपा नेताओं के श्री भट्ट के स्वागत में लगी होर्डिंगों से पटा दिखा। इस दौरान उन्होंने नगर के निकटवर्ती ग्रामीण क्षेत्र खमारी में पौधरोपण कार्यक्रम में भी स्थानीय विधायक सरिता आर्य के साथ प्रतिभाग किया।

इस दौरान श्री भट्ट ने कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वह ग्रामीण क्षेत्रों की समस्याओं के समाधान में सेतु की भूमिका निभाएं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने मोदी ने कोविड की महामारी के काल में देश की 130 करोड़ जनता को मुश्किल परिस्थितियों में न केवल हौसला दिया, वरन सुरक्षित बाहर भी निकाला। वैज्ञानिकों को वैक्सीन बनाने के लिए प्रेरित किया। साथ ही महामारी के मुश्किल दौर में गरीबों को निःशुल्क खाद्यान्न उपलब्ध कराया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ग्रामीण इलाकों में विकास की गति को तेज करने को प्रतिबद्ध है। यह भी कहा कि उत्तराखंड में युवा मुख्यमंत्री धामी के नेतृत्व में सरकार समाज के हर तबके के विकास को प्रतिबद्ध है।

इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष ने वरिष्ठ नागरिक धना देवी, देवेंद्र मास्साब, गंगा दत्त बुधलाकोटी, बिशन दत्त जोशी, करम सिंह नेगी को सम्मानित किया। सभा में विधायक सरिता आर्य, जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट, गजराज बिष्ट, नगर अध्यक्ष आनंद बिष्ट, अरविंद पडियार, विमला अधिकारी, भानु पंत, पूरन मेहरा, मनोज जोशी, हरीश भट्ट, सभासद कैलाश रौतेला, गजाला कमाल, जीवंती भट्ट, मंजू बुधलाकोटी, योगेश बिष्ट, केशव पंत, हेम बहुखंडी, निखिल बिष्ट, विमल बिष्ट, सहित बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता उपस्थित रहेे। संचालन पान सिंह खनी व मोहन नेगी ने किया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग : भाजपा की बहुप्रतीक्षित नई प्रदेश कार्यकारिणी की हुई घोषणा…

ImageImageImageनवीन समाचार, देहरादून, 23 अगस्त 2022। सत्तारूढ़ भाजपा की नई प्रदेश कार्यकारिणी की आखिर घोषणा हो गई है। पार्टी के नव नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष ने मंगलवार को अपनी टीम की घोषणा कर दी है। टीम में 8-8 प्रदेश अध्यक्ष व मंत्री, 3 प्रदेश महामंत्री के अलावा 1-1 कोषाध्यक्ष व सह कोषाध्यक्ष, कार्यालय सचिव, मीडिया प्रभारी तथा 2-2 प्रदेश प्रकोष्ठ व प्रदेश विभाग प्रभारी भी बनाए गए हैं। इसके साथ ही युवा, महिला, किसान, ओबीसी, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति व अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश अध्यक्षों की घोषणा भी कर दी है। नैनीताल के समीर आर्य को अनुसूचित मोर्चा की कमान सोंपी गई है।

बलवंत सिंह भौर्याल,  कैलाश शर्मा, कुलदीप कुमार, डॉ. कल्पना सैनी, नीरू देवी, मुकेश कोली, शैलेंद्र बिष्ट और देशराज कर्णवाल को प्रदेश उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी है। खिलेंद्र चौधरी, राजेंद्र बिष्ट और आदित्य कोठारी को प्रदेश महामंत्री बनाया गया है।

शशांक रावत को युवा मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष बनाय गया है, जबकि प्रदेश अध्यक्ष महिला मोर्चा की जिम्मेदारी आशा नौटियाल को सौंपी गई है। प्रदेश अध्यक्ष किसान मोर्चा जोगेंद्र पुंडीर, प्रदेश अध्यक्ष ओबीसी मोर्चा राकेश गिरी, प्रदेश अध्यक्ष अनुसूचित जाति मोर्चा समीर आर्य, प्रदेश अध्यक्ष अनुसूचित जनजाति मोर्चा राकेश राणा और प्रदेश अध्यक्ष अल्पसंख्यक मोर्चा की जिम्मेदारी इंतजार हुसैन को दी गई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड भाजपा में बड़ा बदलाव, मदन कौशिक हटे, महेंद्र भट्ट बने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष

Imageनवीन समाचार, देहरादून, 30 जुलाई 2022। भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व से आशंकाओं व संभावनाओं को सही साबित करते हुए प्रदेश नेतृत्व में बदलाव कर दिया है। मदन कौशिक की जगह पूर्व विधायक महेंद्र प्रसाद भट्ट को प्रदेश भाजपा की कमान दे दी है। भट्ट गढ़वाल मंडल से हैं और ब्राह्मण नेता हैं।

माना जा रहा है कि प्रदेश में कुमाऊं मंडल से आने वाले क्षत्रिय नेता पुष्कर सिंह धामी के बरक्स गढ़वाल मंडल के ब्राह्मण नेता को कमान देकर भाजपा ने क्षेत्रीय व जातीय संतुलन बना लिया है। इसके साथ विपक्षी कांग्रेस को भी किसी ब्राह्मण नेता को आगे न करने को लेकर कठघरे में खड़ा कर एक तीर से कई निशाने साधे हैं। संभव है कि आगे कांग्रेस की राजनीति पर भी इसका असर दिखे और वह भी संगठन में कोई बदलाव करने को मजबूर हों। देखें विडियो :

कौशिक को 12 मार्च 2021 को उत्तराखंड भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था। उनके नेतृत्व में प्रदेश में अनेक मिथकों को तोड़कर भाजपा सत्ता में लौटी लेकिर उनके जनपद हरिद्वार में भाजपा की सर्वाधिक बुरी स्थिति रही। चुनाव के दौरान कई भाजपा प्रत्याशियों ने भी उन पर गंभीर आरोप लगाए। सरकार बनने के बाद उन्हें मत्रिमंडल में भी शामिल नहीं किया गया। अब उन्हें प्रदेश अध्यक्ष पद से भी हटा दिया गया है, तो इसके बाद उनके राजनीतिक भविष्य पर भी सवाल उठने शुरू होने तय हैं।

माना जा रहा था कि कौशिक उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की तरह पहले अपने पद से त्यागपत्र दे देंगे, इसके बाद नए प्रदेश अध्यक्ष पद का चयन व नाम की घोषणा की जाएगी। लेकिन भाजपा नेतृत्व ने कौशिक के इस्तीफे का इंतजार भी नहीं किया। इससे भी उनके राजनीतिक भविष्य के प्रति इशारा साफ है। उल्लेखनीय है कि भाजपा ने अपने एक पूर्व बुजुर्ग प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत को भी कोई दायित्व नहीं दिया हैं

भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट का पूरा जीवन परिचय:
1-50 वर्षीय महेंद्र भट्ट चमोली जनपद की बदरीनाथ विधानसभा से विधायक रहे।
2-1991से 1996 तक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में प्रदेश सह मंत्री, जिला संयोजक, जिला संगठन मंत्री तथा विभाग संगठन मंत्री का दायित्व।
3-1997 में उत्तरांचल छाया प्रदेश में भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश सह मंत्री।
4-1998 से 2000 में उत्तराँचल युवा मोर्चा में प्रदेश महामंत्री।
5-2000 से 2002 में राज्य निर्माण के समय उत्तरांचल प्रदेश युवा मोर्चा के प्रथम प्रदेश अध्यक्ष।
6-2002 से 2005 तक युवा मोर्चा रास्ट्रीय कार्यसमिति के सदस्य-हिमांचल एवं महाराष्ट्र युवा मोर्चा के प्रदेश प्रभारी।
7-32 साल की उम्र में 2002 से 2007 तक उत्तराखंड की प्रथम निर्वाचन में 39 नंदप्रयाग विधानसभा से सदस्य निर्वाचित, और विधानमंडल में मुख्य सचेतक का दायित्व।
8-2007 से 2010 तक प्रदेश भाजपा में विभिन्न दायित्व प्रदेश मंत्री, गढ़वाल संयोजक, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य।
9-2010 से 2012 तक राज्यमंत्री, लघु सिंचाई अनुश्रवण समिति में उपाध्यक्ष।
10-2012 से 2014 तक पुनः गढ़वाल प्रभारी भाजपा उत्तराखंड।
11-2014 से 2017 तक पुनः प्रदेश मंत्री भाजपा उत्तराखंड।
12- 2016 में कांग्रेस सरकार के खिलाफ परिवर्तन यात्रा के गढ़वाल प्रभारी।
13-2017 के विधानसभा चुनाव में बदरीनाथ विधानसभा से सदस्य निर्वाचित।
14-रामजन्मभूमि आंदोलन में 15 दिन पौड़ी के काँसखेत में जेल में रहे।
15-उत्तराखंड राज्य आंदोलन में 5 दिन पौड़ी जेल में रहे।
उल्लेखनीय है कि नए प्रदेश अध्यक्ष भट्ट कोरोना के बड़े प्रसार के दौर में मार्च 2020 में एक चैनल पर कोरोना से बचाव के लिए खाली पेट गोमूत्र पीने की सलाह देने के लिए भी चर्चा में आए थे। देखें संबंधित वीडियो:

(डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड भाजपा में बड़े बदलाव की चर्चाएं, बदले जा सकते हैं प्रदेश अध्यक्ष, क्या हैं संभावनाएं…

नवीन समाचार, देहरादून, 28 जुलाई 2022। उत्तराखंड भाजपा के संगठन में बदलाव की चर्चा एक बार फिर चल पड़ी है। चर्चा है मदन कौशिक को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के पद से हटाया जा सकता है, और उनकी जगह गढ़वाल मंडल के किसी ब्राह्मण नेता को पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष बनाया जा सकता है। इन चर्चाओं को आज राज्य के दो भाजपा नेताओं के दिल्ली में प्रमुख केंद्रीय नेताओं से मुलाकात करने और यूपी में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के इस्तीफे से बल मिला है।

विश्वस्त सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक जल्द ही अपने पद से इस्तीफा दे सकते हैं। राजनीतिक हलकों में उनके इस्तीफे की चर्चा जोरों-शोरों से चल रही है। बताया गया है कि बद्रीनाथ के पूर्व विधायक महेंद्र भट्ट दिल्ली में है, और उन्होंने राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की है।

राजपुर रोड सीट से विधायक खजानदास भी दिल्ली में राष्ट्रीय महामंत्री बीएल संतोष से मिले है। इसके बाद चर्चाओं का बाजार गर्म है कि केंद्रीय नेतृत्व कौशिक की जगह गढ़वाल मंडल के किसी ब्राह्मण चेहरे को प्रदेश अध्यक्ष बना सकता है। कुमाऊं मंडल के क्षत्रिय पुष्कर सिंह धामी के मुख्यमंत्री होने से राज्य में क्षेत्रीय संतुलन के लिहाज से भी इसकी अधिक संभावना बताई जा रही है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : संभाले न संभली खुशी, द्रौपदी मुर्मू की जीत से घंटों पहले ही भाजपा ने मना ली खुशी

नवीन समाचार, नैनीताल, 21 जुलाई 2022। भाजपा कार्यकर्ता राष्ट्रपति पद पर द्रोपदी मुर्मू की जीत का इंतजार नहीं कर पाए, या कि उनसे खुशी संभाले न संभली। शायद इसीलिए उन्होंने दिन में ही मल्लीताल रामलीला मैदान के पास विधायक सरिता आर्य की मौजूदगी में आपस में मिठाई बांट खुशी मना ली। इस दौरान आतिशबाजी करके भी खुशी का इजहार कर पूरे जोश व उत्साह से जीत का जश्न मनाया।

इस दौरान नैनीताल नगर पालिका की सेवानिवृत्त कर्मी देवकी कुंवर व एक अन्य महिला हंसी ने भाजपा की महिलाओं को सम्मान व प्रोत्साहित करने की नीति से प्रेरित व प्रभावित होकर भाजपा की सदस्यता ग्रहण की।

इस मौके पर मंडल अध्यक्ष आनंद बिष्ट, विमला अधिकारी, जीवंती भट्ट, दीपिका बिनवाल, राधा खोलिया, पल्लवी, तुसी अनित साह, डॉली वर्मा, नीतू जोशी तुलसी कठायत, देवकी कुंवर, हंसी, मनोज जोशी, भूपेंद्र बिष्ट, जगमोहन बिष्ट, मोहित आर्य, लाल सिंह, नवीन जोशी कन्नू, उमेश गड़िया, हरीश राणा, अरुण कुमार, राजीव साह, रोहित भाटिया, अतुल पाल, रचित तिवारी, विकास जोशी, पंकज साह, विश्वकेतु व फैजल शाह आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें : भाजपा को बताया गरीब कल्याण व राष्ट्रवाद को लेकर चलने वाली पार्टी….

-पायलट बाबा आश्रम गेठिया में आयोजित हो रहे भाजपा के तीन दिवसीय जिला प्रशिक्षण शिविर में बोले प्रदेश महामंत्री
Imageडॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 8 जुलाई 2022। सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी को तीन दिवसीय जिला प्रशिक्षण शिविर जनपद मुख्यालय से करीब 25 किलोमीटर दूर ज्योलीकोट-भवाली राष्ट्रीय राजमार्ग पर गेठिया के पास स्थित पायलट बाबा आश्रम में चल रहा है।

इस अवसर पर शुक्रवार को पहले सत्र को संबोधित करते हुवे पूर्व सांसद बलराज पासी ने कहा कि आज जहां देश के अन्य राजनीतिक दल अपना अस्तित्व बचाने की जंग लड़ रहे है वहीं भाजपा विश्व की नंबर एक की पार्टी बन गई है। प्रदेश महामंत्री सुरेश भट्ट ने कहा कि भाजपा गरीब कल्याण का लक्ष्य लेकर राष्ट्रवाद पर चलने वाली पार्टी है। पार्टी का लक्ष्य सत्ता पाना नहीं बल्कि देश को विश्व का सिरमौर बनाना है।

नैनीताल जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट ने कार्यकर्ताओं से अपने व्यक्तित्व का विकास कर उसे बढ़ाने के साथ ही मजबूत संगठन संरचना व युवाओं को पार्टी से जोड़ने की बात कही। कहा कि युवा अच्छे व साफ व्यक्तित्व से जल्दी प्रभावित होता है, और पार्टी के प्रति सार्थक धारणा बनाता है। इसी कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने व्यक्तित्व से आज युवाओ के प्रेरणा स्रोत बने हुए हैं।

शिविर में प्रदेश उपाध्यक्ष कैलाश शर्मा, पूर्व विधायक नवीन दुम्का ने भी संबोधन दिया। इस दौरान वर्ग प्रमुख देवेंद्र ढैला, जिला महामंत्री कमल नयन जोशी, प्रदीप जनौटी, पूर्व जिलाध्यक्ष दिनेश आर्या, प्रकाश रावत, खिलेंद्र चौधरी, संजीव कुँवर, ब्लॉक प्रमुख आशा रानी, रेखा रावत, भावना मेहरा, सुमित नदगली, शिवांशु जोशी, संजय दुम्का, रमेश सुयाल, प्रकाश आर्य, गोपाल रावत, योगेश रजवार, भानु पंत, कंचन साह, राहुल चौहान, पवन भाकुनी, प्रगति जैन, वर्षा आर्या, रति सिंघल, पिंकी व सुधा आर्य आदि पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारी भी मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हल्द्वानी में हुई प्रदेश कार्यसमिति में भाजपा ने बनाया जो भविष्य का रोडमैप, उसका हुआ खुलासा…

Imageनवीन समाचार, हल्द्वानी, 10 जून 2022। हल्द्वानी में हुई भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में भाजपा की भविष्य की योजनाओं के बारे में काफी कुछ चीजें-योजनाएं साफ हुई हैं। पहला यह कि हर स्तर के चुनाव को पूरी गंभीरता से लड़ने वाली भाजपा ने राज्य में आगामी निकाय, पंचायत व करीब दो वर्ष बाद होने वाले लोक सभा चुनावों के लिए भी अभी से तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए रोडमैप या कार्ययोजना भी तैयार कर ली गई हैं

इसका इशारा करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि प्रदेश में धर्मान्तरण घुन की तरह लगा है। राज्य में कई संस्थाएं धर्मांतरण का काम कर रही हैं। इस पर राज्य सरकार भी संवेदनशीलता के साथ काम कर रही है। लेकिन अब राज्य में धर्मान्तरण कानून को और सख्त बनाया जाएगा।

साथ ही उन्होंने कहा कि राज्य में पिछले दिनों व्यापक स्तर पर सत्यापन अभियान चलाई गई थी। अकेले नैनीताल जिले में ही 25 हजार लोगों का सत्यापन हो चुका है। इसका परिणाम यह हुआ कि उत्तराखंड में छुप कर बैठे बाहरी अपराधी मौका देखकर भाग गए। ऐसे लोगों को आगे भी सत्यापन अभियान को और अधिक सख्ती से जारी रखा जाएगा।

वहीं, कार्यसमिति में इस पर भी बात हुई कि भावनात्मक मुद्दों के साथ सरकार को रोजगार के मुद्दे पर भी धरातल पर कार्य करना होगा। इस पर कहा गया है कि राज्य में होमस्टे रोजगार का अच्छा साधन बनकर उभर रहा है। सैलानी शहरों की जगह गांवों में और सस्ते में रहना चाहते हैं। होम स्टे घर पर और कम खर्च पर रोजगार उपलब्ध कराने का माध्यम है।

सरकार इसे और बढ़ावा देगी। इसी दिखा में प्रदेश सरकार सीमांत क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ाने के लिए विशेष नीति तैयार करने जा रही है। दूरस्थ क्षेत्रों में शौचालय सहित अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराते हुए और बिना बड़े स्थायी निर्माण किए इन क्षेत्रों में कैंपिंग व कैरोविन पर्यटन को बढ़ाने पर भी राज्य सरकार काम कर रही है। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें : ‘नवीन समाचार’ के समाचार पर लगी मुहर, भाजपा में शामिल हुए आम आदमी पार्टी के चेहरे-बड़े नेता

Imageडॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 24 मई 2022। मंगलवार सुबह आपकी प्रिय एवं भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ ने ‘आज बढ़ेगी राजनीतिक हलचलरू आप के दो बड़े चेहरे आज थाम सकते हैं भाजपा का दामन…’ शीर्षक से समाचार प्रकाशित करते हुए आम आदमी पार्टी से इस्तीफा देने वाले पार्टी का गत विधानसभा चुनाव में चेहरा रहे सेवानिवृत्त कर्नल अजय कोठियाल और पार्टी के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष रहे भूपेश उपाध्याय के अपने बड़ी संख्या में समर्थकों के साथ भाजपा की सदस्यता ले सकने का समाचार प्रकाशित किया था। यह भी पढ़ें: आज बढ़ेगी राजनीतिक हलचलरू आप के दो बड़े चेहरे आज थाम सकते हैं भाजपा का दामन…

यह समाचार सत्य साबित हुआ। मंगलवार अपराह्न दोनों नेताओं ने अपने समर्थकों के साथ भाजपा का दामन थाम लिया है। दोनों नेताओं के इस दल-बदल का उन्हें, भाजपा एवं राज्य की राजनीति को क्या नफा-नुकसान होगा यह भविष्य के गर्भ में है, अलबत्ता आगे देखने वाली बात होगी कि पूर्व में भी कई बाद दल-बदल कर चुके भूपेश उपाध्याय सरीखे नेता भाजपा में अपनी दूसरी पारी में कितने समय रहते हैं। खासकर अगले विधानसभा चुनाव में टिकट न मिलने की स्थिति में उनका क्या रुख रहता है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपा की हार वाली 23 सीटों के भितरघातियों की सूची तैयार, कार्रवाई तय…

नवीन समाचार, देहरादून, 17 अप्रैल 2022। भारतीय जनता पार्टी गत विधानसभा चुनाव में भितरघात करने वालों पर कार्रवाई की तैयारी में जुट गई है। पार्टी की अनुशासन समिति की ओर से प्रदेश की भाजपा प्रत्याशियों की हार वाली 23 विधानसभाओं की रिपोर्ट प्रदेश प्रभारी दुष्यंत गौतम को पार्टी मुख्यालय में सौंप दी गई है। इसके बाद भितरघातियों पर कार्रवाई होनी तय है।

बलबीर रोड स्थित पार्टी मुख्यालय में शनिवार को भाजपा अनुशासन समिति के अध्यक्ष दीपक मेहरा और सचिव डॉ. आदित्य ने प्रदेश प्रभारी को 23 विधानसभाओं में पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल नेताओं की सूची सौंपी। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, प्रदेश संगठन महामंत्री अजेय कुमार, महामंत्री कुलदीप कुमार सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे। इससे पहले प्रभारी ने संगठन को लेकर अध्यक्ष और महामंत्री के साथ बैठक की।

इसके बाद प्रदेश प्रभारी दुष्यंत गौतम ने पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में कहा कि प्रदेश अध्यक्ष बदलने की चर्चा अफवाह है। प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के नेतृत्व में पार्टी को शानदार जीत मिली है। उन्होंने कहा कि अनुशासन समिति की ओर से एक रिपोर्ट सौंपी गई है। रिपोर्ट का अध्ययन किया जाएगा। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बड़ा समाचार: अब भाजपा संगठन में बड़े बदलाव की तैयारी ! बदले जा सकते हैं प्रदेश अध्यक्ष !!

नवीन समाचार, देहरादून, 15 अप्रैल 2022। कांग्रेस संगठन में आमूलचूल परिवर्तन के बाद अब भाजपा भी इसी राह पर चल सकती है। विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक पर लक्सर से भाजपा प्रत्याशी रहे संजय गुप्ता और अल्मोड़ा के पूर्व विधायक पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चौहान आदि ने भितरघात सहित अनेकों आरोप लगे थे। तभी से उन्हें अध्यक्ष पद से हटाए जाने की मांगें और चर्चाएं शुरू हो गई थीं। अलबत्ता उन्हें पद से हटाया तो नहीं गया, परंतु विधानसभा चुनाव जीतने के बाद काबीना मंत्री की प्रबल इच्छा रखने के बावजूद मंत्री नहीं बनाया गया।

इधर बताया जा रहा है कि पार्टी उन्हें हटाए जाने व उनकी जगह किन्ही अन्य नेता को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने पर गहनता से मंथन में जुट गई है। बताया गया है कि इस सिलसिले में ही गत 4 अप्रैल को पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष उत्तराखंड दौरे पर आने वाले थे। इस दौरे पर संतोष को पार्टी नेताओं के मन की थाह लेकर दिल्ली को रिपोर्ट देनी थी। लेकिन इस बीच राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का चिंतन शिविर आयोजित होने और बीएल संतोष के इसमें मौजूद रहने के कारण उनका यह दौरा टल गया।

अब बताया जा रहा है कि बीएल संतोष 24 अप्रैल को उत्तराखंड आ सकते हैं। माना जा रहा है कि उनके दौरे के बाद पार्टी कोई फैसला ले सकती है, क्योंकि भाजपा में प्रदेश पदाधिकारियों के कुछ और पद भी खाली चल रहे हैं। महिला मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी के विधानसभा अध्यक्ष बन जाने से इस पद पर भी नई नियुक्ति होनी है।

कौशिक की कुर्सी जाने की चर्चाएं उन पर लगे आरोपों के अलावा इसलिए भी तेज हैं कि उनके जनपद हरिद्वार में ही पार्टी प्रदेश में प्रचंड जीत और यहीं सर्वाधिक 11 सीटें होने के बावजूद केवल 3 सीटें जीतने के साथ सर्वाधिक कमजोर रही है। बताया जा रहा है कि इसके कारण ही भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व उनसे खासा नाराज है। बताया जा रहा है कि मदन कौशिक ने डिप्टी सीएम यानी उप मुख्यमंत्री का पद बनाने का सुझाव भी केंद्रीय नेतृत्व के सामने रखा था, लेकिन इस प्रस्ताव को भी अस्वीकार कर दिया गया। इस कारण भी नेतृत्व उनसे नाराज है। इसलिए उन्हें हटाया जाना तय है।

अलबत्ता भाजपा से जुडे़ कुछ सूत्र बताते हैं कि फिलहाल नेतृत्व ने दो कारणों से प्रदेश अध्यक्ष पद पर बदलाव को टाल दिया गया है। पहला यह कि पार्टी को मुख्यमंत्री पुष्कर धामी को उपचुनाव जिताना है। इसलिए पार्टी अभी अपना पूरा ध्यान उपचुनाव पर रखना चाहती है। दूसरा यह कि इसी वर्ष नवंबर-दिसंबर में पार्टी संगठन के चुनाव होने हैं। तब भी प्रदेश अध्यक्ष को स्वाभाविक रूप से बदला जाना ही है। इसलिए तब तक प्रदेश अध्यक्ष को बना रहने दिया जाए। आगे देखने वाली बात होगी कि कौशिक के प्रति केंद्रीय नेतृत्व की नाराजगी कितनी भारी पड़ती है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : रिपोर्ट में हुआ खुलासा, क्यों मुख्यमंत्री सहित 23 सीटों पर पर हारी भाजपा ?

नवीन समाचार, देहरादून, 2 अप्रैल 2022। उत्तराखंड में भाजपा को जिन 23 विधानसभा सीटों पर हार का मुंह देखना पड़ा, उनमें ज्यादातर सीटें पर संवादहीनता और ध्रुवीकरण को कारण माना गया है। अलबत्ता, कुछ सीटों पर भितरघात को भी वजह बताया जा रहा है। पार्टी के समीक्षकों ने अपनी रिपोर्ट सौंपनी शुरू कर दी है।

भाजपा ने इन सीटों पर हार की वजह का पता लगाने के लिए पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को बतौर समीक्षक की जिम्मेदारी सौंपी थी। सभी नेता संबंधित विधानसभा सीटों पर जाकर स्थानीय कार्यकर्ता से बातचीत के आधार पर अपनी रिपोर्ट तैयार कर रहे हैं। सात से आठ सीटों की रिपोर्ट पार्टी मुख्यालय को सौंप दी गई है, जबकि अन्य सभी सीटों की रिपोर्ट चार अप्रैल तक मिलने की उम्मीद है। पार्टी सूत्रों ने बताया कि कुछ सीटें ऐसी रही, जहां भाजपा के बजाय प्रत्याशियों के खिलाफ एंटी इंकंबेसी नजर आई।

इसमें यमुनोत्री, हरिद्वार ग्रामीण, किच्छा और नानकमत्ता शामिल हैं, जबकि अन्य ज्यादात्तर सीटें पर संवादहीनता को वजह माना जा रहा है। सीएम पुष्कर धामी के खटीमा के अलावा लक्सर सीट पर भी भितरघात के साथ ही संवादहीनता की बात सामने आई है। जसपुर, मंगलौर, ज्वालापुर, पिरान कलियर, झबरेड़ा और हल्द्वानी में ध्रुवीकरण होने से पार्टी प्रत्याशियों को हार का मुंह देखना पड़ा।

चार सीटों पर रही तीसरे नंबर पर : भाजपा दिग्गज इस बात से अचरज में हैं कि चार विधानसभा सीटों पर पार्टी प्रत्याशी तीसरे नंबर पर कैसे रह गए। इसमें भगवानपुर सीट पर तो पार्टी को सिर्फ 12 फीसदी ही वोट मिले।

भितरघातियों को अहसास कराएगी पार्टी : पार्टी सूत्रों ने बताया कि जिन सीटों पर भितरघात करने वालों के खिलाफ साक्ष्य मिले हैं। उनका जवाब-तलब किया जाएगा। संतुष्ट न होने पर ऐसे पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को इसका एहसास भी कराया जाएगा। सूत्रों ने बताया कि एक जिलाध्यक्ष का तो पार्टी प्रत्याशी के खिलाफ आडियो सबूत के तौर पर मिला है।

प्रदेश महामंत्री, संगठन अजेय कुमार ने कहा कि अभी कुछ सीटों की रिपोर्ट मिली है। चार अप्रैल तक सभी विधानसभा सीटों के रिपोर्ट मिलने की उम्मीद है। ये रिपोर्ट पार्टी अनुशासन समिति को भेजी जाएगी। समिति की सिफारिश के बाद ही रिपोर्ट पर आगे फैसला लिया जाएगा। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : धामी मंत्रिमंडल के शपथग्रहण पर भाजपाइयों ने की पूजा-अर्चना, बांटी मिठाई…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 23 मार्च 2022। उत्तराखंड उच्च न्यायालय की न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा की एकलपीठ ने पिथौरागढ़ के पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष विरेंद्र बोहरा की गिरफ्तारी पर रोक लगाने संबंधी याचिका पर सुनवाई करते हुए गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। साथ ही जांच अधिकारी को निर्देश दिए हैं कि सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार अर्नेश कुमार बनाम बिहार राज्य के मामले में दिए गए दिशा-निर्देशों का पालन करें।

मामले के अनुसार भाजपा युवा मोर्चा केअध्यक्ष शुभम चंद की तहरीर पर पिथौरागढ़ कोतवाली में पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष विरेंद्र बोहरा के खिलाफ मारपीट और जान से मारने की धमकी के मामले में प्राथमिकी दर्ज की गई थी। इस मामले में अपनी गिरफ्तारी पर रोक और दर्ज प्राथमिकी को निरस्त करने को लेकर पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष विरेन्द्र बोहरा ने हाईकोर्ट की शरण ली है।

याचिका में कहा गया है कि उनके द्वारा इस दौरान ऐसा कोई कार्य नहीं किया गया, जिसको लेकर उनके खिलाफ यह मुकदमा दर्ज किया गया जबकि वह पहले से ही एक जनप्रतिनिधि रहे हैं। उनको जानबूझकर राजनैतिक दुर्भावना के चलते इस मामले में फंसाया जा रहा है। इसलिए इस मुकदमे को निरस्त किया जाय या उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगाई जाए। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

नैनीताल: यह भी पढ़ें : धामी के सीएम बनने पर भाजपा महिला मोर्चा ने जताई खुशी

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 22 मार्च 2022। नगर में भाजपा महिला मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने पुष्कर सिंह धामी के दुबारा मुख्यमंत्री बनने पर मिष्ठान वितरण किया। मंगलवार को भाजपा महिला मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने तल्लीताल डांठ में एकत्र होकर मिष्ठान वितरण कर खुशी जताई। इस दौरान उन्होंने कहा कि नवनियुक्त सीएम पुष्कर सिंह धामी उत्तराखंड के युवा सीएम है। सीएम बनने पर उत्तराखंड के विकास कार्यों में अपनी भागीदारी करेंगे।

उन्होंने बताया है कि सीएम पुष्कर धामी को नगर की समस्याओं से भी अवगत कराया जाएगा, जिससे नगर में विकास कार्य तेजी से होंगे। इस दौरान दीपिका बिनवाल, बिमला अधिकारी, बिमला तिवारी, रीना मेहरा, प्रेमा अधिकारी, सोनू साह, ज्योति गोस्वामी, कविता तिवारी, राधा, उर्मी बिष्ट, विक्रम राठौर, आयुषी भंडारी, केएल आर्य व विश्वकेतु वैद्य आदि भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : धामी के सीएम बनने की घोषणा पर होली के दो दिन बाद ही मनाई ‘दिवाली’…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 20 मार्च 2022। कार्यवाहक मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को लगातार दूसरी बार मुख्यमंत्री बनाए जाने पर जिला व मंडल मुख्यालय में भाजपा कार्यकर्ताओं में काफी जोश देखा गया। यहां भाजपा कार्यकर्ताओं ने मल्लीताल पंत पार्क में नए मुख्यमंत्री के रूप में धामी के नाम की घोषणा होने पर आतिषबाजी कर जोश व खुशी को प्रदर्शित किया तथा मिष्ठान्न वितरण किया। देखें वीडियो:

इस तरह होली के दो दिन बाद ही यहां दिवाली जैसा नजारा देखने को मिला। इस खुशी-उल्लास में भाजपा के नगर मंडल अध्यक्ष आनंद बिष्ट, सभासद प्रेमा अधिकारी, भगवत रावत, कलावती असवाल, रोहित भाटिया, दीपक, विक्की राठौर, फैजल कुरैशी, कमर खान व पंकज राठौर सहित बड़ी संख्या में भाजपाई मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कुमाऊं के ब्राह्मण नेता को मुख्यमंत्री बना सकती है भाजपा…!

Discussion on preparations for Jan Ashirwad Yatra of Union Minister of  State Ajay Bhatt - केन्द्रीय राज्य मंत्री अजय भट्ट की जन आशीर्वाद यात्रा की  तैयारियों पर चर्चाडॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 16 मार्च 2022। पिछली 10 मार्च को प्रदेश में दो तिहाई बहुमत के साथ चुनाव जीती भाजपा प्रदेश में नए मुख्यमंत्री के पद पर तैनाती के लिए खासकर पिछले दो दिनों से गहन मंथन में जुटी हुई है। ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि भाजपा पहली पसंद के तौर पर निवर्तमान मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और उनके अलावा कुमाऊं के किसी ब्राह्मण नेता को मुख्यमंत्री बनाने पर विचार कर रही है। इसके पीछे कई तर्क हैं।

भाजपा में हालांकि क्या निर्णय होता है, इसे कोई नहीं जानता, लेकिन भाजपा की राजनीति को गहरे तक जानने वाले उच्च पदस्थ व भरोसेमंद सूत्रों का कहना है कि भाजपा का हाइकमान हालांकि पुष्कर धामी को एक और कार्यकाल देने के पूरे मूड में भी है। धामी को प्रधानमंत्री मोदी के साथ ही प्रदेश की विधानमंडल दल की बैठक के लिए प्रभारी बनाए गए केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह का भी आर्शीवाद प्राप्त है। राजनाथ को प्रभारी बनाए जाने के भी यही निहितार्थ निकाले जा रहे हैं, लेकिन धामी के विधानसभा चुनाव हार जाने और उनके व उत्तराखंड के नए उत्तराधिकारी के चयन पर बने संशय के साथ पार्टी को अन्य विकल्पों पर विचार करने का भी समय व मौका मिल गया है। इसलिए अन्य विकल्पों पर भी विचार किया जा रहा है।

गौरतलब है कि वर्तमान में उत्तराखंड से लगे दो भाजपा शासित राज्यों-हिमांचल प्रदेश व मध्य प्रदेश में क्षत्रिय मुख्यमंत्री हैं। उत्तर प्रदेश के मौजूदा व पुनः बनने जा रहे मुख्यमंत्री भी भले जाति-धर्म से परे ‘योगी’ हैं, परंतु विधानसभा चुनाव में उनके मूलतः क्षत्रिय जाति से होने तथा उनके राज्य में विकास दुबे आदि के नाम पर ब्राह्मणों की उपेक्षा होने को लेकर भी खूब राजनीति हुई। इस प्रकार किसी भी राज्य में ब्राह्मण मुख्यमंत्री न होने के कारण भाजपा के विश्वस्त सूत्रों के अनुसार एक वर्ग उत्तराखंड में ब्राह्मण मुख्यमंत्री बनाने की पैरवी कर रहा है।

दूसरे, उत्तराखंड बनने पर भाजपा ने पहली सरकार में नित्यानंद स्वामी व भगत सिंह कोश्यारी को यानी गढ़वाल के ब्राह्मण व कुमाऊं के क्षत्रिय को मुख्यमंत्री को मुख्यमंत्री बनाकर क्षेत्रीय व जातीय संतुलन साधा। फिर 2007 में सरकार आने पर गढ़वाल मंडल से आने वाले दो ब्राह्मण नेता भुवन चंद्र खंडूड़ी व डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ मुख्यमंत्री बने। 2017 में मुख्यमंत्री का पद पहले गढ़वाल मंडल के दो क्षत्रियों-त्रिवेंद्र सिंह रावत व तीरथ सिंह रावत को और फिर करीब 6-7 माह के लिए कुमाऊं मंडल के क्षत्रिय जाति से आने वाले पुष्कर सिंह धामी को मिला। इस प्रकार कहा जा रहा है कि एक बार दोनों, अगली बार गढ़वाल के ब्राह्मण व अगली बार पहले गढ़वाल के और बाद में अल्पकाल के लिए कुमाऊं के क्षत्रिय को मुख्यमंत्री बनाने के बाद इस बार भाजपा कुमाऊं मंडल के किसी ब्राह्मण नेता को मुख्यमंत्री बना सकती है।

इस कसौटी पर विधायकों में से मुख्यमंत्री बनाने के विकल्प पर कालाढुंगी के विधायक बंशीधर भगत के नाम पर चर्चा हो रही है। ऐसे में भाजपा दो गैर विधायकों, पार्टी के प्रदेश महामंत्री सुरेश भट्ट एवं नैनीताल के सांसद व केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट के नामों पर भी विचार कर रही है। सुरेश भट्ट हरियाणा में पार्टी संगठन के लिए बेहतरीन कार्य कर केंद्रीय नेतृत्व को अपनी प्रतिभा दिखा चुके हैं, जबकि भट्ट 2017 से ही जननेता के रूप में उभरे हैं।

तब वह भले इस बार के धामी की तरह नेता प्रतिपक्ष व प्रदेश अध्यक्ष अपनी विधानसभा का चुनाव हार गए थे, किंतु निर्विवाद तौर पर उनके नेतृत्व में लड़े गए चुनाव में भाजपा का 57 सीटों पर यानी तीन चौथाई सीटों पर ‘न भूतो-न भविष्यति’ जैसा अपार बहुमत मिला था। 2019 के लोक सभा चुनाव में उन्होंने कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को भी प्रदेश में सर्वाधिक वोटों के अंतर से हराया। इस आधार पर पार्टी जनता के बीच उनके जलवे, उनके जनता के बीच उन्हीं की बोली में किए जाने वाले संबोधन से दिल में जगह बनाने जैसे गुणों का लाभ लेने पर विचार कर रही है..। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : तो त्रिवेंद्र की तरह धामी की राह में भी सबसे बड़ा रोड़ा बन रहे बलूनी !

नवीन समाचार, नई दिल्ली, 15 मार्च 2022। प्रदेश भर में कार्यवाहक मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को चुनाव हारने के बावजूद मुख्यमंत्री बनाने की मांग उठ रही है, किंतु सूत्र बता रहे हैं कि उनकी मुख्यमंत्री बनने की राह आसान नहीं है। बताया जा रहा है कि 2017 से ही मुख्यमंत्री बनने के लिए सबसे आगे बताये जाते रहे भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी व राज्य सभा सांसद अनिल बलूनी इस बार भी राष्ट्रीय नेतृत्व से अपनी करीबी का लाभ लेकर इस बार भी आगे आ गए हैं।

बताया जा रहा है कि बलूनी राज्य के अगले मुख्यमंत्री हो सकते हैं, और उनकी जगह धामी को राज्य सभा भेजा जा सकता है। यह संकेत आज धामी के अनिल बलूनी की ही गाड़ी में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलने और आधे घंटे की मुलाकात के बाद धामी की ‘बॉडी लैंग्वेज’ को देखने के बाद मिले हैं। माना जा रहा है कि यह कवायद धामी की ओर से बलूनी का नाम आगे करने के रूप में प्रचारित किये जाने के लिए की गई है। उधर बताया जा रहा है कि विधायकों में से दावेदार बताए जा रहे सतपाल महाराज व डॉ. धन सिंह रावत को प्रधानमंत्री मोदी व अमित शाह की ओर से दो दिन से दिल्ली में जमे होने के बावजूद मिलने का समय नहीं दिया गया है।

हालांकि यह भी बताया जा रहा है कि धामी को खटीमा से हराने में भी पार्टी के मुख्यमंत्री पद के कुछ दावेदारों को बताया जा रहा है। भाजपा हाइकमान इस बिंदु पर भी जांच करा रहा है। यदि इस मामले में सही जानकारी मिलती है तो कुछ दावेदारों की संभावनाएं समाप्त हो सकती हैं।

उल्लेखनीय है कि बलूनी की भले ही भाजपा के राष्ट्रीय नेतृत्व से करीबी हो, लेकिन वह जननेता नहीं हैं। धामी इस बार जरूर ऐसे जरूरी मौके पर चुनाव हारे हैं, पर बलूनी तो आज तक उत्तराखंड में जनता का कोई चुनाव जीते नहीं हैं। वह त्रिवेंद्र रावत के मुख्यमंत्रित्व काल तक केंद्र से स्वीकृत होने वाली योजनाओं का श्रेय लेकर सोशल मीडिया पर हीरो अवश्य बने रहे, किंतु सोशल मीडिया पर भी उनका जनता से कभी दोतरफा संवाद नहीं रहता है। वह केवल अपनी उपलब्धि सोशल मीडिया पर प्रचारित करते हैं, लेकिन उस पर आने वाली टिप्पणियों का जवाब नहीं देते हैं।

उनके राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रहते उत्तराखंड के तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत मीडिया में देश के सबसे फिसड्डी मुख्यमंत्री बताए गए तो इसके लिए उन पर भी आरोप लगे। कहा गया कि त्रिवेंद्र को हटाने के पीछे उनकी महत्वाकांक्षा रही, और इसी कारण तब उन्हें मुख्यमंत्री नहीं बनाया गया। अब यदि उन्हें मुख्यमंत्री बनाया जाता है कि राज्य पर एक राज्य सभा चुनाव के साथ विधानसभा का एक उपचुनाव भी थोपा जाएगा।

हालांकि यह भी माना जा रहा है कि भाजपा धामी की जगह किसी निर्वाचित विधायक को भी मुख्यमंत्री बना सकती है। ऐसी स्थिति में भी धामी को राज्य सभा भेजा जा सकता है। गौरतलब है कि राज्य में जुलाई माह में कांग्रेस सांसद प्रदीप टम्टा की सीट खाली हो रही है और इस सीट पर भाजपा के प्रत्याशी का जीतना तय है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपा ने कर ली उत्तराखंड की विधानमंडल दल की बैठक के लिए प्रभारी-सह प्रभारी के रूप में राजनाथ सिंह व मीनाक्षी लेखी की घोषणा

New Delhi: Budget Session - Rajnath Singh, Meenakshi Lekhi at Parliament  #Gallery - Social News XYZनवीन समाचार, देहरादून, 14 मार्च 2022। राज्य में नई 5वीं विधानसभा के गठन की प्रक्रिया शुरू होने, वरिष्ठतम विधायक बंशीधर भगत को प्रोटेम स्पीकर बनाए जाने के बाद भाजपा ने भी राज्य में सरकार गठन की तैयारी प्रारंभ कर दी है। पार्टी ने प्रदेश के लिए केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह व मीनाक्षी लेखी को उत्तराखंड में आयोजित होने वाली पार्टी की विधानमंडल दल की बैठक के लिए प्रभारी एवं सह प्रभारी की नियुक्ति कर दी है। इससे पार्टी की उत्तराखंड के प्रति गंभीरता को समझा जा सकता है।

माना जा रहा है कि भाजपा इस बार मुख्यमंत्री पद पर काफी सोच-समझ कर और पूरे पांच वर्ष के लिए मुख्यमंत्री नियुक्त करना और यह सुनिश्चित करना चाहती है कि 5 वर्ष के कार्यकाल में मुख्यमंत्री बदलने की जरूरत न पड़े। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : सरिता ने नयना देवी मंदिर में शीष नवाया, जानें जीत के बाद क्या कहा….

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 11 मार्च 2022। नवनिर्वाचित विधायक सरिता आर्य ने जीत के बाद शुक्रवार को भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ नगर की आराध्य देवी माता नयना के मंदिर में दर्शन किये। इस मौके पर उन्होंने कहा कि माता नयना देवी, ग्वेल देवता व नकुवा बूबू के आर्शीवाद से ही वह चुनाव जीती हैं, और इसमें पार्टी कार्यकर्ताओं का बड़ा योगदान है। उन्होंने मंदिर का सौंदर्यीकरण करने का इरादा भी जताया। देखें सरिता ने क्या कहा :

उन्होंने दोहराया भाजपा ने उनके साथ कांग्रेस के ‘लड़की हूं लड़ सकती हूं’ के नारे को साकार किया है। इस दौरान नगर के व्यापारियों के साथ ही नगर के और बेतालघाट सहित विभिन्न क्षेत्रों से आए पार्टी कार्यकर्ताओं ने भी उनसे मुलाकात की और उन्हें जीत की बधाई देने के साथ क्षेत्रीय समस्याओं से अवगत कराया। कहा, कार्यकर्ताओं का आभार जीवन भर नहीं चुका पाएंगी। इस दौरान पूर्व दायित्वधारी शांति मेहरा, हरीश राणा, भूपेंद्र बिष्ट, मोहित रौतेला, विश्वकेतु वैद्य, विक्की राठौर व भुवन आर्य सहित कई भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : चुनाव प्रचार के आखिरी दिन सीएम धामी का ‘मास्टर स्ट्रोक’, शपथ ग्रहण करते ही ‘यूनिफॉर्म सिविल कोड’ लागू करने की घोषणा, देश में पहला राज्य होगा उत्तराखंड

Imageनवीन समाचार, देहरादून, 11 फरवरी 2022। उत्तराखंड के विधानसभा चुनाव प्रचार के अंतिम दिन उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बड़ी चुनावी घोषणा कर दी है, जिसे धामी का ‘मास्टर स्ट्रोक’ भी माना जा रहा है। धामी ने आज कहा, ‘उत्तराखंड की सांस्कृतिक-आध्यात्मिक विरासत की रक्षा के लिए भाजपा सरकार अपने शपथ ग्रहण के तुरंत बाद एक कमेटी गठित कर ‘यूनिफॉर्म सिविल कोड’ का ड्राफ्ट तैयार करेगी। जिससे सभी नागरिकों के लिए समान कानून बनेगा, चाहे वे किसी भी धर्म में विश्वास रखते हों।

इस प्रकार धामी ने उत्तराखंड में ‘यूनिफॉर्म सिविल कोड’ लागू करने का बड़ा चुनावी वादा कर दिया है। यदि उत्तराखंड ‘यूनिफॉर्म सिविल कोड’ लागू करता है तो उत्तराखंड देश में यह लागू करने वाला पहला राज्य होगा। उल्लेखनीय है कि ‘यूनिफॉर्म सिविल कोड’ भाजपा के कोर एंजेंडे में शामिल है, लेकिन केंद्र की भाजपा सरकार अभी इसे लागू नहीं कर पाई है।
मुख्यमंत्री धामी की इस घोषणा की भाजपा के अनेक नेता प्रशंसा कर रहे हैं। सांसद अनिल बलूनी ने इस पर कहा है, ‘आज उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर धामी जी ने यूनिफॉर्म सिविल कोड को लेकर जो घोषणा की है, वह ऐतिहासिक है। समग्र उत्तराखंड इसका स्वागत कर रहा है। ये देवभूमि की भावनाओं एवं संस्कारों के ही अनुरूप है। इस ऐतिहासिक घोषणा के लिए मुख्यमंत्री जी को साधुवाद।

भाजपा युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या ने भी इस पर टिप्पणी की है। उन्होंने कहा है, ‘उत्तराखंड एक देवभूमि है, इसकी सुरक्षा करनें के लिए ‘यूनिफार्म सिविल कोड’ जैसा निर्णय बहुत महत्वपूर्ण साबित होगा। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हमारा ‘पुष्पा’ फ्लावर भी है और फायर भी, ना कभी झुकेगा, ना कभी रूकेगा… उनके पास सीएम पद का चेहरा भी नहीं

-कहा तीन मुख्यमंत्री बनाएं या दस, कांग्रेस को क्या लेना, कांग्रेस तो एक चेहरा तक घोषित नहीं कर पाई
Uttarakhand Assembly election 2022: Cm Pushkar Singh Dhami Animation Video  Viral - Uttarakhand Assembly election 2022: सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा  'धाकड़ धामी' - Amar Ujala Hindi News Liveनवीन समाचार, अल्मोड़ा, 8 फरवरी 2022।
भाजपा के स्टार प्रचारक केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने उत्तराखंड की चुनावी राजनीति को मंगलवार को चर्चाओं के लिए नया विषय दे दिया। उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा, उनके पास सीएम का चेहरा तक नहीं। साथ ही दक्षिण भारत की सुपरहिट फिल्म पुष्पा के एक संवाद को उत्तराखंड के सीएम पुष्कर धामी से जोड़ते हुए कह दिया, ‘हमारे पास पुष्कर सिंह धामी है। हमारा पुष्कर फ्लावर भी है फायर भी है। हमारा पुष्कर ना कभी झुकेगा, ना कभी रूकेगा…’ यह भी कहा, कांग्रेस के हरीश रावत कहते है भाजपा ने तीन मुख्यमंत्री बदले। हम तीन बनायें या दस मुख्यमंत्री बनाए। इससे आपको क्या लेना देना। भाजपा व्यक्ति नहीं एक विचारधारा की पार्टी है। कांग्रेस पार्टी आज तक मुख्यमंत्री घोषित नहीं कर पाई। भाजपा ने कह दिया उनका मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी होगा।

Uttarakhand News : Cm Pushkar Singh Dhami Delhi Visit Second Day, Will Meet  Central Ministers - उत्तराखंड: टनकपुर-बागेश्वर ब्रॉडगेज रेल लाइन की  संस्तुति के लिए मुख्यमंत्री धामी ने ...उल्लेखनीय है कि पुष्पा का चरित्र इन दिनों युवाओं में काफी लोकप्रिय है। गत दिनों भाजपा की ओर से भी सीएम धामी को पुष्पा की तरह नृत्य करते हुए एक एनीमेटेड वीडियो दिखाया गया था, जिसे काफी पसंद एवं वायरल किया गया। मंगलवार को अल्मोड़ा में राजनाथ सिंह ने दहाड़ने के अंदाज में कहा, अब भारत कमजोर नहीं है। अब भारत आतंकवादियों को इस पार के अलावा उस पार भी मार कर गिरा सकता है। कहा, भाजपा ने अलग उत्तराखंड राज्य बनाया। प्रधानमंत्री अटल जी ने इस राज्य को विशेष दर्जा दिया। केंद्र की कांग्रेस सरकार ने वह विशेष राज्य का दर्जा छीन लिया। 2014 में मोदी सरकार ने विशेष पहाड़ी राज्य का दर्जा फिर दिलाया। उन्होंने कहा, 6 महीने की कार्यकाल में धामी ने कमाल का कार्य किया। राज्य में एक लाख करोड़ का निवेश हो गया है। 500 करोड़ का एम्स का सैटेलाइट सेंटर बनने जा रहा है। पिथौरागढ़ में 455 करोड़ की लागत से मेडिकल कालेज बन रहा है। विश्वस्तरीय स्वास्थ्य सेवाएं यहां के लोगों को मिलेगी।

उन्होंने कहा, भाजपा जो कहती है वह करती है। वन रैंक वन पेंशन लागू किया। चीन के बार्डर पर आसानी से पहुंच बन गई है। वहां तक सड़कों का जाल बिछा दिया है। जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाया। जम्मू कश्मीर का आज वहीं दर्जा है जो देश के अन्य राज्यों का है। पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश में रहने वाले हिंदुओं को कानून बनाकर भारत की नागरिकता का अधिकार दिया। किसान सम्मान निधि दी गई। हर किसान के खाते में 6 हजार रुपया आ रहा है। भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने का कार्य किया गया। सारी दुनिया में भारत का मस्तक ऊंचा हुआ है। इस दौरान जागेश्वर विधानसभा से प्रत्याशी मोहन सिंह मेहरा मौजूद रहे (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री ने भाजपा प्रत्याशी के लिये प्रचार कर मांगे वोट…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 5 फरवरी 2022। केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने शनिवार को नैनीताल विधानसभा के ज्योलीकोट बल्दियाखान, भुजियाघाट, रूसी, खुर्पाताल, बजून, अधोड़ा, मंगोली, खमारी, थापला, जलाल गांव, नलनी व घटगड़ आदि क्षेत्रों में संपर्क कर भाजपा प्रत्याशी सरिता आर्य के पक्ष में वोट मांगे।

इस दौरान सांसद प्रतिनिधि गोपाल रावत, सह-प्रभारी भावना मेहरा, हरीश भट्ट, अनुसूचित मोर्चा जिलाध्यक्ष प्रकाश आयर्, शिवांशु जोशी, पुष्कर जोशी, कैलाश जोशी, हरगोविंद रावत, मोहन सिंह कनवाल, तारू कनवाल, केशव पंत, महेंद्र जीना, कुंदन बिष्ट, महेंद्र अधिकारी, कुंदन अधिकारी, हेमंत कनवाल, दीपू कनवाल व सुरेश कनवाल आदि मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपा ने साह व ठुकराल सहित अपने 6 बड़े पार्टी नेताओं को 6 वर्ष के लिए पार्टी से निकाला

नवीन समाचार, देहरादून, 3 फरवरी 2022। भाजपा ने पार्टी विरोधी गतिविधियों और पार्टी प्रत्याशियों के खिलाफ चुनाव लड़ रहे अपने 6 नेताओं के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही करते हुए उन्हें 6 वर्ष के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया है। भाजपा प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने जानकारी देते हुए बताया कि पार्टी अध्यक्ष मदन कौशिक के निर्देश पर यह कार्यवाही की गई है।

जिन सदस्यो पर कार्यवाही की गई है उनमे टीका प्रसाद मैखुरी कर्ण प्रयाग, महावीर सिंह रागंड़ धनौल्टी, जितेंद्र नेगी डोईवाला, धीरेन्द्र चौहान कोटद्वार, मनोज साह भीमताल तथा राजकुमार ठुकराल रुद्र्पुर शामिल है। उन्होंने कहा कि अनुशासनहीनता बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : पिछले पांच वर्षों में आधी हुई सरिता की संपत्ति, कांग्रेस शासन में 8 गुना बढ़ी थी

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 28 जनवरी 2022। भाजपा प्रत्याशी सरिता आर्य के शपथ पत्र के अनुसार पिछले पांच वर्षों में सरिता की आय करीब आधी रह गई है। पांच वर्ष पूर्व उनके पास दो व पुत्र के पास एक कार थी, किंतु अब एक भी कार नहीं है।

शपथ पत्र के अनुसार 61 वर्षीय 1977 में हाईस्कूल पास सरिता आर्य आयकर नहीं भरती हैं। उनके पास भूमियाधार में पांच लाख रुपए मूल्य का आवासीय भवन जबकि बड़े बेटे के पास वर्ष 2010 में खरीदी गई वर्तमान के बाजार मूल्य के अनुसार 50 लाख की अचल संपत्ति है। कोई वाहन इत्यादि भी नहीं हैं। नगदी भी खुद के पास केवल 15 हजार एवं दो बेटों के पास 5-5 हजार रुपए की और बैंक खातों में करीब 22 हजार रुपए ही जमा हैं।

उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व 2017 में सरिता की संपत्ति पिछले पांच वर्षों में करीब आठ गुना बढ़ गयी थी। 2017 के शपथ पत्र के अनुसार उनके पास स्वयं की दो कारें स्कॉर्पियों व स्विफ्ट, करीब 22 लाख का 80 तोला सोना सहित 42.13 लाख की चल संपत्ति, पुत्र मोहित की 3.06 लाख व रोहित की 5.05 लाख की संपत्तियां, पुत्र रोहित के पास एक स्कॉर्पियो कार, स्वयं तथा पुत्र मोहित के पास भूमियाधार के ग्राम कुरियागांव में करीब 12 लाख रुपये मूल्य की विरासतन 1 नाली 10 मुट्ठी व दो नाली भूमि, दोनों पुत्रों रोहित व मोहित के संयुक्त नाम पर मुख्यालय के अयारपाटा स्ट्रॉबेरी लॉज में करीब 33 लाख की संपत्ति के फ्लैट थे। तब उन्होंने 7.2 लाख रुपये की आयकर विवरणी भी प्रदर्शित की थी। अलबत्ता अब उन्होंने आयकर नहीं भरने की बात अपने शपथ पत्र में कही है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन ने बताया उत्तराखंड में कैसे व किसे टिकट देगी भाजपा

बीएल संतोष होंगे भाजपा के संगठन महासचिव, रामलाल की जगह लेंगेनवीन समाचार, पिथौरागढ़, 8 दिसंबर 2021। भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष ने पिथौरागढ़ में कहा कि भाजपा में अभी किसी भी विधायक का टिकट पक्का नहीं है। इसलिए कोई भी विधायक अपना टिकट सुरक्षित न समझे। अभी कार्यकर्ताओं से रायशुमारी की जा रही है। कार्यकर्ताओं की राय और पर्यवेक्षकों की रिपोर्ट पर ही टिकट तय किए जाएंगे।

बुधवार को राष्ट्रीय महामंत्री बीएल संतोष प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक व महामंत्री संगठन अजेय कुमार के साथ पिथौरागढ़ पहुंचे। यहां भाजपा जिला कार्यालय में उन्होंने बंद कमरे में कार्यकर्ताओं के साथ पिथौरागढ़ की चार और चंपावत जिले की दो सीटों की समीक्षा की। साथ ही कार्यकर्ताओं की राय जानी। कहा कि इस बार 2017 से भी बड़ी जीत हासिल करनी है।

इसके बाद उन्होंने पिथौरागढ़ की विधायक चंद्रा पंत, डीडीहाट के कैबिनेट मंत्री विशन सिंह चुफाल, गंगोलीहाट की मीना गंगोला, चंपावत के कैलाश गहतोड़ी और लोहाघाट से पूरन सिंह फर्त्याल से उनकी अब तक की उपलब्धियों का ब्यौरा लिया। विधायकों से कहा कि कार्यकर्ताओं की राय को सर्वोपरि रखा जाए। कोई भी सिटिंग विधायक अपना टिकट पक्का न समझे। इसी माह हर विधानसभा में पर्यवेक्षक भेजे जाएंगे। जो कार्यकर्ताओं से फीडबैक लेते हुए रिपोर्ट तैयार करेंगे। उसी आधार पर टिकट भी तय होंगे। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपा ने नैनीताल के 6 पार्टी पदाधिकारियों को पार्टी से बाहर किया, एक बड़ा सवाल

नवीन समाचार, देहरादून, 1 दिसंबर 2021। उत्तराखंड भाजपा ने अपने छह नेताओं को 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है। निष्कासन के लिए पार्टी ने अनुशासनहीनता का कारण बताया गया है। बताया जा रहा है कि निष्कासित किए गए सभी नेता यशपाल आर्य के समर्थक माने जाते हैं। यह भी उल्लेखनीय है कि इसमें से कुछ दो दिन पहले ही भाजपा छोड़ कांग्रेस का दामन थाम चुके हैं। एक सवाल यह भी उठ रहा है कि क्या नैनीताल जिले में सिर्फ 6 पदाधिकारी ही यशपाल आर्य के समर्थक हैं, जिन्हें पार्टी से निकालने की नौबत आई है।

बताया गया है कि नैनीताल के जिला अध्यक्ष प्रदीप बिष्ट की जांच के आधार पर प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के निर्देश पर यह कार्रवाई की गई है। निष्कासित लोगों में भीमताल ब्लॉक के प्रमुख डॉ. हरीश बिष्ट, नगर पालिका भवाली के अध्यक्ष संजय वर्मा, मंडल महामंत्री ज्योति वर्मा, नैनीताल मंडल के महामंत्री कृपाल बिष्ट, मंडल अध्यक्ष भाजयुमो रवि कुमार व भवाली मीडिया प्रभारी अनुभव कुमार का नाम शामिल है।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा कि अनुशासन भाजपा में जरूरी है। अनुशासनहीनता होती है तो पहले समझाना और ना मानने पर कार्रवाई होती है। जांच के आधार पर ही ये निष्कासन किया गया है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : पाकिस्तान-चीन में हीरो बनने व राम मंदिर के निर्माण में अड़चनें डाल अब मंदिर जाने वालों को नकार देगी जनता: दुष्यंत

-कहा-भाजपा की नीति-अंबेडकर की नीति, बोले मोदी बना रहे देश को आत्मनिर्भर, देशवासी आत्मनिर्भर बने तो आरक्षण की जरूरत ही नहीं पड़ेगी
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 17 नवंबर 2021। भाजपा अनुसूचित मोर्चे की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में भाग लेने के लिए नैनीताल पहुंचे पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री दुष्यंत गौतम ने कहा कि पाकिस्तान व चीन में हीरो बनने वाले तथा पहले राम मंदिर के निर्माण में अड़चनें डालने के बाद अब चुनाव के समय मंदिर-मंदिर जाने वालों की जनता असलियत जानती है, और उन्हें नकार देगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश व देशवासियों को आर्थिक रूप से मजबूत कर आत्मनिर्भर बनाने का कार्य चल रहा है। मोदी देश के पहले प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने लाल किले से कहा था कि गरीबों को नौकरी मांगने वाला नहीं, नौकरी देने वाला बनाना है। उन्होंने कहा कि देशवासी आत्मनिर्भर बनेंगे तो आरक्षण की आवश्यकता ही नहीं पड़ेगी।

उन्होंने कहा, देश में राष्ट्रवादी सरकार चल रही है, जिसके लिए राष्ट्र प्रथम, पार्टी द्वितीय एवं स्वयं को तृतीय स्थान पर है। कहा कि यही बाबा साहेब डॉ. भीम राव अंबेडकर भी चाहते थे। उनसे जब पूछा गया था, तो उन्होंने कहा था कि वह प्रथम में भी भारतीय हैं, और अंतिम में भी भारतीय हैं। इस तरह भाजपा व अंबेडकर की नीति एक ही थी। इसी भावना को लेकर पार्टी जनता के बीच में जाएगी। उन्हें गर्व है कि उत्तराखंड में पौने पांच वर्ष की सरकार के कार्यकाल पर विपक्ष भी कार्यशैली, भ्रष्टाचार आदि के बारे में कहीं भी व कभी भी ऐसा कोई विरोध प्रदर्शन नहीं किया है, जिससे पार्टी को कटघरे में खड़े होना पड़ा हो। पार्टी कार्यकर्ताओं ने सेवा ही संगठन जैसे कार्यक्रमों के जरिए पूरे पौने पांच वर्षों में जनता की सेवा की है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपा नेता आर्य ने किया कांग्रेस पर बड़ा हमला, बोले कांग्रेस ने अंबेडकर की दिल्ली में अंत्येष्टि नहीं होने दी….

-एक भी संस्थान का नाम अंबेडकर के नाम से नहीं रखा, जबकि भाजपा महापुरुषों का सम्मान करती है और उनकी मंशा के अनुरूप अनुसूचित वर्ग का कल्याण भी करती है

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 16 नवंबर 2021। भाजपा के अनुसूचित मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष लाल सिंह आर्य ने कांग्रेस पर संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ. भीम राव अंबेडकर को लेकर बड़ा आरोप लगाया है। श्री आर्य ने कहा कि कांग्रेस केवल गरीबों-दलितों को वोट मानती थी और उन्हें बरगलाती थी।

उन्होंने कहा-न केवल कांग्रेस दलितों बल्कि संविधान विरोधी भी है। उसने बाबा साहेब की अंत्येष्टि दिल्ली में नहीं होने दी, और उन्हें चुनाव भी हराये। 1952 में मुंबई और 1953 में भंडारे का चुनाव हराया। एक भी राष्टीय स्मारक, एक भी भवन व एक भी विश्वविद्यालय का नाम बाबा साहेब के नाम से नहीं बनाया। उन्होंने कहा कि भाजपा महापुरुषों का सम्मान करती है और उनकी मंशा के अनुरूप अनुसूचित वर्ग का कल्याण भी करती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने बाबा साहेब के नाम से छुट्टी जारी की, उनके नाम से सिक्का जारी किया और भीम ऐप भी जारी किया है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि गरीबों की कल्याणकारी आयुष्मान कार्ड, मकान बनाने व शौचालय बनाने की योजनाओं का सर्वाधिक लाभ अनुसूचित वर्ग के लोगों को मिला है। उन्होंने दावा किया कि पिछली बार पार्टी को अनुसूचित वर्ग का चार गुना वोट मिला है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : प्रधानमंत्री मोदी की अगुवाई में भाजपा ने तय किया उत्तराखंड में भाजपा की जीत का रोडमैप

नवीन समाचार, देहरादून, 9 नवंबर 2021। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने उत्तराखंड में 2022 में सत्ता में वापसी के लिए रोडमैप तैयार कर लिया है। प्रधानमंत्री मोदी की मौजूदगी में हुई बैठक में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक समेत राज्य के 13 बड़े नेता वर्चुअली यानी ऑनलाइन शामिल हुए, और चुनाव की रणनीति को अंतिम रूप दिया। अब भाजपा हाईकमान से छनकर आई खबरों में भाजपा की रणनीति पर कुछ-कुछ स्थिति साफ हो रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार इस बार भाजपा ने उत्तराखंड में अपनी रणनीति तैयार करते हुए साफ तौर पर कहा है कि पार्टी का फोकस उन सीटों पर रहेगा, जहां 2017 में पार्टी को हार का मुंह देखना पड़ा था। साथ ही पार्टी बूथ स्तर पर और पन्ना प्रमुख के स्तर तक समन्वय बनाकर आगामी विधानसभा चुनाव में फिर जीत का स्वाद चखने के लिए जमीनी स्तर पर कार्य करेगी।

यह भी बताया जा रहा है कि भाजपा उन 18 सीटों पर फोकस करेगी, जहां पिछले विधानसभा चुनाव में उसे हार मिली या 5 फीसदी से भी कम वोटों के अंतर से जीत मिली। इसके अलावा प्रवासी वोटरों पर भी भाजपा खास ध्यान रखेगी। इसके लिए दिल्ली, महाराष्ट्र और चंडीगढ़ में प्रवासियों की संख्या ज्यादा होने के कारण इन राज्यों के नेताओं को रैली आदि के लिए उत्तराखंड बुलाया जाएगा।

इसके साथ ही पार्टी ने विधानसभावार एक सूची तैयार की है कि पार्टी 2017 में किस सीट पर कैसे जीती थी, इसके हिसाब से यहां कार्यकर्ताओं को लक्ष्य दिए जाएंगे। इस बैठक में जो रणनीति बनी, उसके मुताबिक भाजपा 10 तारीख से राज्य में महासंपर्क अभियान शुरू करेगी।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के उत्तराखंड दौरे के साथ ही शहीद सम्मान यात्रा के लिए केंद्रीय राज्य मंत्री अजय भट्ट का दौरा तय किया गया है। यही नहीं, राज्य के नेताओं ने इस बैठक में पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व को यह भरोसा भी दिलाया है कि उत्तराखंड में इस बार भाजपा न केवल चुनाव जीतेगी, बल्कि 60 पार के लक्ष्य को हासिल भी करेगी। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : शाह ने कांग्रेस व हरीश रावत पर लगाया सांप्रदायिक राजनीति करने का आरोप, विकास कार्यों पर बहस की खुली चेतावनी दी

नवीन समाचार, देहरादून, 30 अक्टूबर 2021। देश के गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने शनिवार को उत्तराखंड में सहकारिता विभाग के अंतर्गत मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना की शुरूआत की। इस दौरान श्री शाह ने विपक्षी कांग्रेस पार्टी और खासकर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पर करारा हमला बोलते हुए उन पर शनिवार को छुट्टी घोषित करने को लेकर सांप्रदायिक राजनीति करने का आरोप लगाया। साथ ही भाजपा सरकार के विकास कार्यों की फेहरिस्त पेश करते हुए कांग्रेस को अपने 10 वर्ष के कार्यकाल में किए गये कार्यों पर किसी भी जगह बहश करने की चुनौती दी।

इस दौरान श्री शाह ने कहा कि अटल जी ने उत्तराखण्ड राज्य का गठन किया था। अब प्रधानमंत्री मोदी के मार्गदर्शन में इसे संवारा जा रहा है। पिछले लगभग 5 साल में चार धाम सड़क परियोजना, ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना, एनएच पर किए गए कामों सहित 85 हजार करोड़ से अधिक की परियोजनाएं केंद्र से राज्य के लिए स्वीकृत हुई हैं। इनमें से बहुत सी योजनाओं पर काम हो गया है, बहुत सी योजनाओं पर तेजी से काम चल रहा है। केदारनाथ धाम का पुनर्निर्माण किया गया है। आगे 5 नवम्बर को प्रधानमंत्री केदारनाथ आ रहे हैं। उस दिन शंकराचार्य जी की प्रतिमा की स्थापना की जाएगी। बदरीनाथ जी के मास्टर प्लान पर भी काम चल रहा है।

उन्होंने कहा, उत्तराखंड सरकार ने कोविडरोधी टीकाकरण का कार्य जिस तेजी से किया है, वह सराहनीय है। उत्तराखंड में तमाम जगह ऑक्सीजन प्लांट लगाए गए। हाल ही में आई आपदा में मुख्यमंत्री एवं सरकार द्वारा तत्परता से कार्य किया गया। वह यहां आए तो उन्हें कुछ करना ही नहीं पड़ा। राज्य में एक भी सैलानी की इतनी बड़ी आपदा में मौत नहीं हुई। उन्होंने कहा उत्तराखंड का विकास ऐसी जागरूक सरकार से ही संभव है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में उत्तराखंड एवं देश तेजी से विकास कर रहा है। उन्होंने कहा उज्जवला योजना, आयुष्मान भारत योजना जैसी तमाम योजनाओं से जनता को लाभ पहुंचाने का कार्य किया गया है। वन रैंक वन पेंशन की मांग को प्रधानमंत्र मोदी जी ने पूरा किया। उन्होंने कहा केदारनाथ मंदिर एवं बद्रीनाथ मंदिर का विकास कार्य तेजी से चल रहा है।

इस दौरान मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने केंद्रीय गृह मंत्री श्री शाह का स्वागत करते हुए कहा कि हाल ही में आई आपदा में अमित शाह जी ने प्रदेश की हर सम्भव सहायता की। उन्होंने एक अभिभावक की तरह हमारा साथ दिया। उत्तराखंड में आई आपदा में तत्परता दिखाते हुए राज्य में बचाव कार्य के लिए सेना के 3 हेलीकॉप्टर उपलब्ध कराए। आपदा के दौरान डेढ़ लाख से ज्यादा तीर्थयात्री प्रदेश में आए हुए थे। परंतु समय पर अलर्ट होने और प्रशासनिक मशीनरी को सक्रिय करने से इसमें एक भी तीर्थयात्री की मृत्यु नहीं हुई।

इस दौरान उत्तराखण्ड के कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज, डा. हरक सिंह रावत, सुबोध उनियाल, गणेश जोशी, रेखा आर्य, स्वामी यतिश्वरानंद, बिशन सिंह चुफाल, बंशीधर भगत, भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष मदन कौशिक, सांसद अनिल बलूनी, अजय टम्टा, नरेश बंसल, माला राज्य लक्ष्मी शाह, दुष्यंत गौतम, रेखा वर्मा, लोकेट चटर्जी, पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, तीरथ सिंह रावत, विजय बहुगुणा, मेयर सुनील उनियाल गामा, विधायक एवं अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : नैनीताल के भाजपा नेताओं को मिली बड़ी जिम्मेदारी : पोखरिया बने भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 29 अक्टूबर 2021। भारतीय जनता पार्टी ने आगामी विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए प्रदेश कार्यसमिति का विस्तार करते हुए 44 पार्टी जनों को प्रदेश कार्यकारिणी में सदस्य के रूप में जगह दी गई है। भाजपा के प्रदेश महामंत्री द्वारा घोषित सूची के अनुसार कार्यकारिणी में शामिल किए गए लोगों में जिला मुख्यालय के भाजपा कार्यकर्ता दयाकिशन पोखरिया भी शामिल हैं।

उल्लेखनीय है कि दयाकिशन पोखरिया डीएसबी परिसर के छात्र संघ के सचिव, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कुमाऊं संयोजक तथा भारतीय जनता युवा मोर्चा व भाजपा के जिला महामंत्री भी रहे हैं। इनके अलावा नैनीताल जनपद के कबीना मंत्री बंशीधर भगत के पुत्र विकास भगत, पूर्व दर्जा राज्य मंत्री हेमंत द्विवेदी एवं रामनगर के पूर्व पालिकाध्यक्ष भगीरथ चौधरी भी शामिल हैं।

नैनीताल, देहरादून, रानीखेत व रुड़की छावनी परिषद के लिए सदस्य मनोनीत
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 29 अक्टूबर 2021। भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ता बहादुर सिंह रौतेला को छावनी परिषद नैनीताल का सदस्य नामित किया गया है। उनके अलावा विनोद पंवार को देहरादून, मोहन नेगी को रानीखेत व प्रदीप कुमार को रुड़की छावनी परिषद का सदस्य मनोनीत किया गया है। इसके अलावा इलाहाबाद, वाराणसी व बैरकपुर छावनी परिषद के लिए भी सदस्य मनोनीत किए गए हैं। श्री रौतेला को सदस्य मनोनीत करने पर स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं ने केंद्रीय रक्षा व पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट, जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट व सांसद प्रतिनिधि गोपाल रावत तथा शीर्ष नेतृत्व का आभार व धन्यवाद ज्ञापित किया है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड में भाजपा नेताओं की बगावत की चर्चाओं के बीच विजय बहुगुणा की इंट्री, कांग्रेस के बागी नेताओं व यशपाल आर्य पर दिया बड़ा बयान

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, देहरादून, 27 अक्टूबर 2021। उत्तराखंड में दलबदल की चर्चाओं के बीच में पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा की इंट्री हो गई है। बहुगुणा ने 2016 में कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए सभी आठ अन्य नेताओं से बात की है, और इसके बाद कांग्रेस के सभी नौ बागी नेताओं को यशपाल आर्य को लेकर बड़ा बयान दिया है।

CBI probe cannot be withdrawn: Vijay Bahuguna - The Economic Timesबहुगुणा ने कहा कि 2016 में नौ नेताओं ने सिद्धांतों के आधार पर कांग्रेस छोड़ी थी। यशपाल आर्य तब भी उनके साथ नहीं थे, बीच में भी नहीं रहे और अब भी नहीं हैं। अन्य कोई भी नेता भाजपा छोड़ कांग्रेस में नहीं जा रहे हैं। इस बारे में जो भी चर्चाएं हैं, वह निराधार हैं, और केवल कल्पना पर आधारित हैं। और यह कभी सफल नहीं होने वाली हैं। आज उन्होंने सभी नेताओं से बात कर उनका मत जाना है। इसकेे बाद वह यह बात कह रहे हैं। यह भी कहा कि उत्तराखंड का हित और विकास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही सुरक्षित है। प्रधानमंत्री मोदी का उत्तराखंड से विशेष लगाव है।

इधर बताया जा रहा है कि लंबे समय से सक्रिय राजनीति से दूर दिल्ली में रह रहे बहुगुणा की उत्तराखंड की राजनीति में इंट्री ऐसे समय हो रही है जब आगामी 30 अक्टूबर को गृह मंत्री अमित शाह और 5 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उत्तराखंड आ रहे हैं। ऐसे में केंद्रीय नेतृत्व ने उन्हें उत्तराखंड में डैमेज कंट्रोल व साथियों से बात कर स्थितियों में सुधार करने को भेजा है।

ऐसे में देहरादून पहुंचने पर बहुगुणा सबसे पहले भाजपा प्रदेश कार्यालय पहुंचे और वहां उन्होंने प्रदेश महामंत्री संगठन अजेय कुमार से मुलाकात की। इसके बाद उन्होंने ने कबीना मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत, उमेश शर्मा काऊ व सुबोध उनियाल सहित सभी आठ नेताओं से अलग-अलग व एक साथ बात की है। गौरतलब है कि मंगलवार को ही डॉ. हरक सिंह रावत व उमेश शर्मा काऊ तथा एक अन्य भाजपा विधायक पूरन सिंह फर्त्याल ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के आवास पर उनसे मुलाकात की है। इस प्रकार इस पूरी कवायद को भाजपा के डैमेज कंट्रोल के रूप में देखा जा रहा है।  आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने की पाल नौका की सवारी, बताया कैसे भाजपा की नौका जाएगी जीत की ओर

-बोले पाल नौका रूपी पार्टी को जीत की ओर ले जाने वाले नाविक होते हैं कार्यकर्ता
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 16 अक्टूबर 2021। भाजपा के प्रदेश सह प्रभारी और राष्ट्रीय प्रवक्ता आरपी सिंह ने रविवार को नगर की प्रसिद्ध नैनी झील में पाल नौका पर नौकायन किया और मंडल पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करते हुए कहा कि पार्टी के कार्यकर्ता पाल रूपी नौका के नाविक होते हैं। उन्होंने कहा, ‘भले ही प्रदेश में हवा भाजपा के समर्थन में चल रही हो, मगर जब तक कार्यकर्ता नाविक बनकर नाव को भाजपा के पक्ष में दिशा नहीं देंगे, तब तक भाजपा की नाव जीत की दिशा में आगे नहीं बढ़ सकती।’

रविवार को आरपी सिंह ने नैनीताल, भवाली, गरमपानी और बेतालघाट मंडल पदाधिकारियो और कार्यकर्ताओं के साथ नैनीताल क्लब में बैठक की और कार्यकर्ताओं से बेहद करीब आ गए चुनावों के लिए बूथ स्तर की तैयारियों में जुट जाने, पार्टी की केंद्र व राज्य सरकार द्वारा किए कार्यों को जन-जन तक पहुंचाने का आह्वान किया।

बैठक में भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट, महामंत्री प्रदीप जनौटी, प्रभारी पुष्कर काला, विधानसभा प्रभारी देवेंद्र ढैला, अनुसूचित मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अम्बा दत्त आर्य, नैनीताल मंडल अध्यक्ष आनंद बिष्ट, भवाली मंडल अध्यक्ष पुष्कर जोशी, गरमपानी मंडल अध्यक्ष रमेश सुयाल, बेतालघाट मंडल अध्यक्ष प्रताप बोरा, गोपाल रावत, मोहन पाल, अरविंद पडियार, प्रकाश आर्य, शांति मेहरा, मनोज जोशी, रीना मेहरा, कलावती असवाल, बीना आर्य, कमला आर्य, मोहन नेगी, दया किशन पोखरिया, दीपिका बिनवाल, राहुल पुजारी व विश्वकेतु वैद्य आदि पार्टीजन मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : यशपाल-संजीव की ‘घर वापसी’ पर भाजपाइयों ने बांटी मिठाई

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 12 अक्टूबर 2021। वरिष्ठ नेता एवं विधायक पिता-पुत्र यशपाल आर्य एवं संजीव आर्य के भाजपा छोड़कर कांग्रेस में घर वापसी पर अजब स्थिति है। भाजपा के गरमपानी में मंगलवार को मंडल अध्यक्ष रमेश सुयाल की अध्यक्षता एवं जिला प्रभारी पुष्कर काला व विधानसभा प्रभारी देवेंद्र ढैला की मौजूदगी में मिष्ठान्न वितरण किया गया। बताया गया कि मिष्ठान्न वितरण यशपाल आर्य एवं संजीव आर्य के भाजपा छोड़कर कांग्रेस में जाने की खुशी में किया जा रहा है।

इसका कारण पूछे जाने पर पार्टी नेताओं का कहना था कि पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा पूरी ताकत लगाकर जिताने के बावजूद विधायक अपनी टीम बनाकर चल रहे थे और पार्टी के मूल कार्यकर्ताओं की घोर उपेक्षा हो रहे हैं, ऐसे में पार्टी के मूल कार्यकर्ता स्वयं पार्टी में असहज महसूस कर रहे थे। वे खुद जनता की अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतर पा रहे थे। वे पार्टी के पदाधिकारियों एवं कैडर वोटरों के दम पर जीते थे। अब आगामी चुनाव में जनता भी उन्हें सत्ता लोलुपता की सजा देगी।

मंडल अध्यक्ष रमेश सुयाल ने आरोप लगाया कि विधायक पिछले 5 वर्षों साल भाजपा के विधायक रहते हुए एक बार भी गरमपानी मंडल के कार्यालय में नहीं पहुंचे। इस मौके पर पूरन साह, संजय पांडे, दामोदर जोशी, नीरज जलाल, दिनेश फुलारा, प्रेम मेहरा, राकेश कपिल, मोहित पांडे, पंकज पंत, कल्याण सिंह, राजेंद्र सिंह, आनंद सिंह, दीवान जलाल, दान सिंह, आनंद सिंह, भीम सिंह, बसंत गिरी गोस्वामी, मनोज भंडारी, योगेश ढौंढियाल व लक्ष्मण सिंह आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : ‘नवीन समाचार’ के एक और समाचार पर लगी मुहर, एक और विधायक हुए भाजपा में शामिल…

राम सिंह कैड़ाडॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नयी दिल्ली, 8 अक्टूबर 2021। आपके प्रिय एवं भरोसेमंद ‘नवीन समाचार’ के एक और समाचार पर मुहर लग गई है। उत्तराखंड के भीमताल से निर्दलीय विधायक राम सिंह कैड़ा शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गए हैं। अगले साल उत्तराखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले, और पिछले एक महीने में भाजपा में शामिल होने वाले वह राज्य के तीसरे विधायक हैं। कैड़ा 2017 से पहले कांग्रेसी हुआ करते थे। लेकिन पार्टी से टिकट नहीं मिलने पर बगावत कर निर्दलीय विधायक के तौर पर जीतकर आए।

उनकी पत्नी ओखलकांडा ब्लॉक प्रमुख कमलेश कैड़ा ने भी भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली है। उनसे पहले टिहरी जिले की धनोल्टी विधानसभा सीट से निर्दलीय विधायक प्रीतम पंवार और उत्तरकाशी जिले की पुरोला विधानसभा क्षेत्र के विधायक राजकुमार पहले ही भाजपा का दामन चुके हैं।

पार्टी मुख्यालय में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, महासचिव व उत्तराखंड के प्रभारी दुष्यंत गौतम, पार्टी के मीडिया विभाग के प्रभारी व राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मदन कौशिक की मौजूदगी में कैड़ा ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की।

ईरानी ने इस अवसर पर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को संवैधानिक पद पर रहते हुए देश सेवा के दो दशक पूर्ण किये और इस दौरान संगठन को समाज से जोड़कर भारत के नवनिर्माण में उन्होंने अभूतपूर्व योगदान दिया है। उन्होंने कहा, ‘‘इसी से प्रेरित होकर कैड़ा भाजपा में शामिल हुए हैं। मैं उनका भाजपा परिवार में अभिनंदन करती हूं। संगठन की राह पर चलकर वह उत्तराखंड को सशक्त और स्वाभिमानी बनाने में योगदान देंगे, यह कामना करती हूं।’’

बलूनी ने कहा कि पिछले एक माह में लगातार भाजपा में शमिल होने का कार्यक्रम चल रहा है और कैड़ा तीसरे विधायक हैं जिन्होंने इस दौरान भाजपा का दामन थामा है। उन्होंने दावा किया कि उत्तराखंड में भाजपा के पक्ष में ‘‘प्रचंड लहर’’ चल रही है।

भाजपा का सदस्य बनने के बाद कैड़ा ने कहा कि भाजपा एक ऐसी पार्टी है जो अंतर-आत्मा की आवाज से जनता के लिए काम करती है। वह देश, समाज और जनता के लिए काम करने वाली पार्टी है। उन्होंने कहा कि भाजपा के एक कार्यकर्ता के रूप में वह मजबूती से काम करेंगे। उल्लेखनीय है कि 2012 के चुनाव में राम सिंह कैड़ा ने कांग्रेस के टिकट पर भीमताल से विधायक का चुनाव लड़ा था। लेकिन हार गए। 2017 में उन्होंने पार्टी से दोबारा टिकट मांगा। लेकिन उनकी जगह भाजपा छोड़ कांग्रेस में आए दान सिंह भंडारी को टिकट थमा दिया गया। नाराज कैड़ा ने बगावती तेवर दिखा निर्दलीय चुनाव लड़ा और जीत भी हासिल की। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : जल्द ही एक और विधायक शामिल हो सकते हैं भाजपा में…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 5 अक्टूबर 2021। एक और विधायक भाजपा का दामन थाम सकते हैं। यह विधायक भीमताल से निर्दलीय विधायक राम सिंह कैड़ा हो सकते हैं। इन कयासों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उत्तराखंड आगमन के एक दिन पहले तब बल मिला, जब कैड़ा ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक से मुलाकात की।

नदी में नंगा नहाने वालों की विधायक ने की एसएसपी से शिकायत, दारू मुर्गा  पार्टी पर रोक लगाने की मांग – चम्पावत ख़बरइसके बाद चर्चा शुरू हुई कि कैड़ा प्रधानमंत्री मोदी के बृहस्पतिवार को उत्तराखंड आगमन के दौरान भी भाजपा का दाम थाम सकते हैं। इस पर जब हमारे प्रतिनिधि ने श्री कैड़ा से संपर्क किया तो उन्होंने सीधा जवाब तो नहीं दिया, अलबत्ता इतना जरूर स्वीकार किया कि उनकी भाजपा नेताओं से बातचीत चल रही है, और अगले दो-तीन दिनों में इस पर कोई निर्णय हो सकता है।

भाजपा से टिकट की शर्त पर भी उन्होंने साफ तौर पर कुछ नहीं कहा, अलबत्ता भाजपा में उनके विरोध के प्रश्न को उन्होंने स्वीकार किया। साथ ही भाजपा के प्रति बेहद नरम रुख दिखाते हुए उन्होंने यह भी कहा कि वह पहले से भाजपा से जुड़े एसोसिएट यानी संबद्ध सदस्य हैं।

गौरतलब है कि कैड़ा के भाजपा में शामिल होने की पिछले माह भी तेज चर्चाएं हुई थीं, लेकिन तत्काल ही भीमताल के भाजपा नेताओं के पार्टी जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट के समक्ष अपनी आपत्ति दर्ज कराने से तब कैड़ा का भाजपा में शामिल होना टल गया था। अब माना जा रहा है कि भाजपा के हाईकमान ने इस पर अपनी पार्टी के नेताओं की नाराजगी से होने वाले नुकसान और कैड़ा के पार्टी में शामिल होने से मिलने वाले लाभ के नफा-नुकसान का आंकलन कर लिया होगा।

गौरतलब है कि भीमताल में भाजपा और कांग्रेस में जिस तरह से कई दावेदार हैं, उसी का लाभ उठाकर कैड़ा पिछली बार बहुत अच्छी छवि न होने के बावजूद चुनाव जीत गए थे। अब जबकि वह विधायक हैं तो उन्होंने अपने विरोधी तैयार करने के साथ ही समर्थक भी अवश्य तैयार किए होंगे। उनके भाजपा में शामिल होने से वह जनबल भी भाजपा के पक्ष में आ सकता है, जबकि भाजपा का अपना कैडर तो पार्टी के लगभग हर प्रत्याशी को अपना वोट देगा ही।

इसके अलावा यह भी है कि कैड़ा ने भाजपा से संबद्ध सदस्य होने के नाते जहां राज्य के सभी तीन मुख्यमंत्रियों से करीबी बनाते हुए विकास कार्य करवाए वहीं भाजपा, कांग्रेस व आप तीनों दलों को इस भुलावे में भी रखा कि वह किसी में भी शामिल हो सकते हैं। इस कारण वह अपनी इस राजनीतिक चाल-चतुराई से किसी भी राजनीतिक दल के निशाने पर भी नहीं रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

‘नवीन समाचार’ पर पूर्व में समाचार भाजपा से संबंधित समाचारों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply