Politics

यशपाल-संजीव की ‘घर वापसी’ पर भाजपाइयों ने बांटी मिठाई

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
समाचार को सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 12 अक्टूबर 2021। वरिष्ठ नेता एवं विधायक पिता-पुत्र यशपाल आर्य एवं संजीव आर्य के भाजपा छोड़कर कांग्रेस में घर वापसी पर अजब स्थिति है। भाजपा के गरमपानी में मंगलवार को मंडल अध्यक्ष रमेश सुयाल की अध्यक्षता एवं जिला प्रभारी पुष्कर काला व विधानसभा प्रभारी देवेंद्र ढैला की मौजूदगी में मिष्ठान्न वितरण किया गया। बताया गया कि मिष्ठान्न वितरण यशपाल आर्य एवं संजीव आर्य के भाजपा छोड़कर कांग्रेस में जाने की खुशी में किया जा रहा है।

इसका कारण पूछे जाने पर पार्टी नेताओं का कहना था कि पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा पूरी ताकत लगाकर जिताने के बावजूद विधायक अपनी टीम बनाकर चल रहे थे और पार्टी के मूल कार्यकर्ताओं की घोर उपेक्षा हो रहे हैं, ऐसे में पार्टी के मूल कार्यकर्ता स्वयं पार्टी में असहज महसूस कर रहे थे। वे खुद जनता की अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतर पा रहे थे। वे पार्टी के पदाधिकारियों एवं कैडर वोटरों के दम पर जीते थे। अब आगामी चुनाव में जनता भी उन्हें सत्ता लोलुपता की सजा देगी।

मंडल अध्यक्ष रमेश सुयाल ने आरोप लगाया कि विधायक पिछले 5 वर्षों साल भाजपा के विधायक रहते हुए एक बार भी गरमपानी मंडल के कार्यालय में नहीं पहुंचे। इस मौके पर पूरन साह, संजय पांडे, दामोदर जोशी, नीरज जलाल, दिनेश फुलारा, प्रेम मेहरा, राकेश कपिल, मोहित पांडे, पंकज पंत, कल्याण सिंह, राजेंद्र सिंह, आनंद सिंह, दीवान जलाल, दान सिंह, आनंद सिंह, भीम सिंह, बसंत गिरी गोस्वामी, मनोज भंडारी, योगेश ढौंढियाल व लक्ष्मण सिंह आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : ‘नवीन समाचार’ के एक और समाचार पर लगी मुहर, एक और विधायक हुए भाजपा में शामिल…

राम सिंह कैड़ाडॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नयी दिल्ली, 8 अक्टूबर 2021। आपके प्रिय एवं भरोसेमंद ‘नवीन समाचार’ के एक और समाचार पर मुहर लग गई है। उत्तराखंड के भीमताल से निर्दलीय विधायक राम सिंह कैड़ा शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गए हैं। अगले साल उत्तराखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले, और पिछले एक महीने में भाजपा में शामिल होने वाले वह राज्य के तीसरे विधायक हैं। कैड़ा 2017 से पहले कांग्रेसी हुआ करते थे। लेकिन पार्टी से टिकट नहीं मिलने पर बगावत कर निर्दलीय विधायक के तौर पर जीतकर आए।

उनकी पत्नी ओखलकांडा ब्लॉक प्रमुख कमलेश कैड़ा ने भी भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली है। उनसे पहले टिहरी जिले की धनोल्टी विधानसभा सीट से निर्दलीय विधायक प्रीतम पंवार और उत्तरकाशी जिले की पुरोला विधानसभा क्षेत्र के विधायक राजकुमार पहले ही भाजपा का दामन चुके हैं।

पार्टी मुख्यालय में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, महासचिव व उत्तराखंड के प्रभारी दुष्यंत गौतम, पार्टी के मीडिया विभाग के प्रभारी व राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मदन कौशिक की मौजूदगी में कैड़ा ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की।

ईरानी ने इस अवसर पर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को संवैधानिक पद पर रहते हुए देश सेवा के दो दशक पूर्ण किये और इस दौरान संगठन को समाज से जोड़कर भारत के नवनिर्माण में उन्होंने अभूतपूर्व योगदान दिया है। उन्होंने कहा, ‘‘इसी से प्रेरित होकर कैड़ा भाजपा में शामिल हुए हैं। मैं उनका भाजपा परिवार में अभिनंदन करती हूं। संगठन की राह पर चलकर वह उत्तराखंड को सशक्त और स्वाभिमानी बनाने में योगदान देंगे, यह कामना करती हूं।’’

बलूनी ने कहा कि पिछले एक माह में लगातार भाजपा में शमिल होने का कार्यक्रम चल रहा है और कैड़ा तीसरे विधायक हैं जिन्होंने इस दौरान भाजपा का दामन थामा है। उन्होंने दावा किया कि उत्तराखंड में भाजपा के पक्ष में ‘‘प्रचंड लहर’’ चल रही है।

भाजपा का सदस्य बनने के बाद कैड़ा ने कहा कि भाजपा एक ऐसी पार्टी है जो अंतर-आत्मा की आवाज से जनता के लिए काम करती है। वह देश, समाज और जनता के लिए काम करने वाली पार्टी है। उन्होंने कहा कि भाजपा के एक कार्यकर्ता के रूप में वह मजबूती से काम करेंगे। उल्लेखनीय है कि 2012 के चुनाव में राम सिंह कैड़ा ने कांग्रेस के टिकट पर भीमताल से विधायक का चुनाव लड़ा था। लेकिन हार गए। 2017 में उन्होंने पार्टी से दोबारा टिकट मांगा। लेकिन उनकी जगह भाजपा छोड़ कांग्रेस में आए दान सिंह भंडारी को टिकट थमा दिया गया। नाराज कैड़ा ने बगावती तेवर दिखा निर्दलीय चुनाव लड़ा और जीत भी हासिल की। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : जल्द ही एक और विधायक शामिल हो सकते हैं भाजपा में…

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 5 अक्टूबर 2021। एक और विधायक भाजपा का दामन थाम सकते हैं। यह विधायक भीमताल से निर्दलीय विधायक राम सिंह कैड़ा हो सकते हैं। इन कयासों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उत्तराखंड आगमन के एक दिन पहले तब बल मिला, जब कैड़ा ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक से मुलाकात की।

नदी में नंगा नहाने वालों की विधायक ने की एसएसपी से शिकायत, दारू मुर्गा  पार्टी पर रोक लगाने की मांग – चम्पावत ख़बरइसके बाद चर्चा शुरू हुई कि कैड़ा प्रधानमंत्री मोदी के बृहस्पतिवार को उत्तराखंड आगमन के दौरान भी भाजपा का दाम थाम सकते हैं। इस पर जब हमारे प्रतिनिधि ने श्री कैड़ा से संपर्क किया तो उन्होंने सीधा जवाब तो नहीं दिया, अलबत्ता इतना जरूर स्वीकार किया कि उनकी भाजपा नेताओं से बातचीत चल रही है, और अगले दो-तीन दिनों में इस पर कोई निर्णय हो सकता है।

भाजपा से टिकट की शर्त पर भी उन्होंने साफ तौर पर कुछ नहीं कहा, अलबत्ता भाजपा में उनके विरोध के प्रश्न को उन्होंने स्वीकार किया। साथ ही भाजपा के प्रति बेहद नरम रुख दिखाते हुए उन्होंने यह भी कहा कि वह पहले से भाजपा से जुड़े एसोसिएट यानी संबद्ध सदस्य हैं।

गौरतलब है कि कैड़ा के भाजपा में शामिल होने की पिछले माह भी तेज चर्चाएं हुई थीं, लेकिन तत्काल ही भीमताल के भाजपा नेताओं के पार्टी जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट के समक्ष अपनी आपत्ति दर्ज कराने से तब कैड़ा का भाजपा में शामिल होना टल गया था। अब माना जा रहा है कि भाजपा के हाईकमान ने इस पर अपनी पार्टी के नेताओं की नाराजगी से होने वाले नुकसान और कैड़ा के पार्टी में शामिल होने से मिलने वाले लाभ के नफा-नुकसान का आंकलन कर लिया होगा।

गौरतलब है कि भीमताल में भाजपा और कांग्रेस में जिस तरह से कई दावेदार हैं, उसी का लाभ उठाकर कैड़ा पिछली बार बहुत अच्छी छवि न होने के बावजूद चुनाव जीत गए थे। अब जबकि वह विधायक हैं तो उन्होंने अपने विरोधी तैयार करने के साथ ही समर्थक भी अवश्य तैयार किए होंगे। उनके भाजपा में शामिल होने से वह जनबल भी भाजपा के पक्ष में आ सकता है, जबकि भाजपा का अपना कैडर तो पार्टी के लगभग हर प्रत्याशी को अपना वोट देगा ही।

इसके अलावा यह भी है कि कैड़ा ने भाजपा से संबद्ध सदस्य होने के नाते जहां राज्य के सभी तीन मुख्यमंत्रियों से करीबी बनाते हुए विकास कार्य करवाए वहीं भाजपा, कांग्रेस व आप तीनों दलों को इस भुलावे में भी रखा कि वह किसी में भी शामिल हो सकते हैं। इस कारण वह अपनी इस राजनीतिक चाल-चतुराई से किसी भी राजनीतिक दल के निशाने पर भी नहीं रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपा में अब यह भी : मंडल महामंत्री ने की मंडल अध्यक्ष को हटाने की मांग, 1500 लोगों को पार्टी से जोड़ने का विरोध करने का आरोप

नवीन समाचार, अल्मोड़ा, 22 सितंबर 2021। अनुशासित कही जाने वाली भारतीय जनता पार्टी में बदलते दौर में बदलाव नजर आ रहा है। जनपद के लमगड़ा मंडल के महामंत्री महेंद्र सिंह महरा ने अपने ही अध्यक्ष यानी लमगड़ा मंडल के अध्यक्ष संजय डालाकोटी को हटाने की मांग कर डाली है।

इस बारे में गत 10 सितंबर को भाजपा उत्तराखंड के अध्यक्ष को भेजे गए पत्र को मीडिया को जारी करते हुए महरा का कहना है कि गत 6 सितंबर को भाजपा की अल्मोड़ा में आयोजित आर्शीवाद रैली के दौरान जागेश्वर विधानसभा के एक क्षेत्र प्रमुख के साथ 58 प्रधान, 29 क्षेत्र पंचायत सदस्य व क्षेत्र के अन्य गणमान्य व्यक्तियों सहित लगभग कुल 1500 लोगो को सदस्यता होनी थी, लेकिन मंडल अध्यक्ष की वजह से ऐसा नहीं हो पाया, क्योंकि उन्होंने ऐसा होने पर खुद पद से इस्तीफा देने की धमकी दे दी थी।

यह भी कहा कि भाजपा 2002 से लमगड़ा मंडल में आगे नहीं रह पाई है। मंडल अध्यक्ष पद के चयन के दौरान संजय डालाकोटी को सबसे कम वोट मिले थे, फिर भी उनकी नियुक्ति पर सभी कार्यकर्ताओं ने उन्हें भरपूर सहयोग दिया। महरा ने दावा किया है कि मंडल के शक्ति केंद्र संयोजक, मंडल पदाधिकारी, कार्यकारिणी सदस्य, श्रेष्ठ कार्यकर्ता, बूथ अध्यक्ष व मोर्चा पदाधिकारी मंडल में भाजपा की मजबूती के लिए डालाकोटी को मंडल अध्यक्ष पद से हटाने की मांग कर रहे हैं।

इस बारे में श्री डालाकोटी का पक्ष तो नहीं मिल पाया, पर भाजपा के अल्मोड़ा जिलाध्यक्ष रवि ने इस विषय में कहा कि उन्हें मंडल महामंत्री के ऐसे किसी पत्र की जानकारी नहीं है। मंडल महामंत्री का मंडल अध्यक्ष को हटाने की मांग करना और इसे मीडिया में लाना अनुशासनहीनता है। इस पर महामंत्री के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। अलबत्ता, ब्लॉक प्रमुख के पार्टी में शामिल होने की बात संज्ञान में होने की बात कही। बताया कि इस बारे में पार्टी की कोर कमेटी विचार कर रही है। किसी भी जनप्रतिनिधि के पार्टी में शामिल होने का वह स्वागत करते हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपाइयों ने नाव, रिक्शे व फड़वालों के साथ मनाया सीएम धामी का जन्मदिन

मुख्यमंत्री धामी के जन्मदिन पर केक काटते भाजपा कार्यकर्ता।

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 16 सितंबर 2021। नगर के भाजपा कार्यकर्ताओं ने बृहस्पतिवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का मुख्यमंत्री बनने के बाद पहला जन्म दिन नगर के नाव चालकों, रिक्शा चालकों व फड़वालों के साथ मनाया। इस दौरान मल्लीताल पंत पार्क में ‘हैप्पी बर्थडे सीएम सर’ लिखा केक काटा और ‘हैप्पी बर्थडे सीएम सर’ गीत गाया। सभी लोगों ने मुख्यमंत्री धामी की दीर्घायु एवं स्वस्थ जीवन की कामना भी की।

इस मौके पर भाजपा के नगर मंडल अध्यक्ष आनंद बिष्ट, महामंत्री भूपेंद्र बिष्ट केएमवीएन के निदेशक कुंदन बिष्ट, मनोज जोशी व विकास जोशी सहित कई अन्य भाजपाई मौजूद रहे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा जारी किए गए पैकेज से नगर के पर्यटन व्यवसायियों को कोविड काल में बड़ी राहत मिली है।

यह भी पढ़ें : एक और भाजपा विधायक ने दी धरने की धमकी, सड़क पर जनता के बीच बैठकर बोले-भाड़ में जाए तुम्हारा टिकट और चुनाव…

नवीन समाचार, देहरादून, 12 सितंबर 2021। राजनीति करना भी इश्क करने की तरह आसान काम नहीं है गालिब। यहां भी बस इतना समझ लीजिए कि एक आग का दरिया है और उसके पार जाना है। यहां हम यह बात भाजपा के विधायकों के संदर्भ में कह रहे हैं। शुक्रवार की रात जहां उत्तराखंड सरकार के मंत्री बंशीधर भगत विद्युत आपूर्ति सुचारु न होने से आक्रोशित ग्रामीणों के साथ खुद धरने पर बैठ गए थे। वहीं अब राजधानी देहरादून में भी ठीक इसी तरह का मामला प्रकाश में आया है। यहां धर्मपुर के विधायक विनोद चमोली भी अपने आवास के बाहर प्रदर्शन कर रहे लोगों के साथ सड़क पर बैठ गए। लेकिन प्रदर्शन में शामिल युवाओं द्वारा तंज कसे जाने से विधायक विनोद चमोली भड़क उठे। विधायक ने क्षेत्र में अब तक कराए गए सभी काम गिनाते हुए विरोध कर रहे लोगों को जमकर खरी खोटी सुनाई। विधायक ने यह भी कहा कि 15 दिन के भीतर शासनादेश नहीं हुआ तो जनता की समस्या देखते हुए वह खुद क्षेत्रवासियों के साथ सचिवालय पर धरना देने को मजबूर होंगे। इस पर क्षेत्रवासी शांत हुए और विधायक के समर्थन में नारेबाजी भी की।

भाजपा विधायक विनोद चमोलीउन्होंने कहा, ‘अगर मैं नहीं चाहता तो तुम लोग आज भी गांव की तरह रहते, नगर निगम में नहीं होते। मैंने ही आपके क्षेत्र को नगर निगम में शामिल करवाया। मेरे घर पर आकर मेरी बेइज्जती करते हो। गलती कर दी चुनाव लड़ गया। नहीं लडेंगे अब।’ विधायक यहां तक बोल गए, ‘अब भाड़ में जाए तुम्हारा टिकट और तुम्हारा चुनाव। हमने बहुत बड़ी गलती कर दी जो तुम लोगों के बीच राजनीति कर ली। तुम लोग किसी को नहीं पनपने दोगे।’ देखें वीडियो: 

हुआ यह था कि धर्मपुर विधानसभा के ऋषिविहार के रहने वाले लोग विधायक आवास पर आकर आरोप लगा रहे थे कि क्षेत्र में सड़कों से लेकर नालियों का बुरा हाल है, लेकिन विधायक ने आज तक क्षेत्र की सुध नहीं ली। ऋषिविहार में नाले का पूरा पानी सड़क में बह रहा है उसे कोई देखने वाला नहीं है। इस पर विधायक ने लोगों को बताया कि जो नाला है उसके ट्रीटमेंट की मुख्यमंत्री ने घोषणा की है। सभी जरुरी औपचारिकताएं पूरी हो चुकी हैं, केवल जीओ जारी होना बाकी है। अगले 15 दिन में कार्य करा लिया जाएगा। लेकिन लोग आश्वस्त नहीं हुए और घर के बाहर सड़क पर बैठ गए। इससे विधायक को गुस्सा आ गया। उन्होंने कहा कि इसके अलावा कोई और रास्ता है, तो लोग बता दें।

बाद में विधायक ने कहा, ‘जनता उन पर विश्वास करती है। उन्हें लगता है कि काम वे ही कर सकते हैं। चूंकि चुनाव आने वाले हैं, इसलिए चुनाव से पहले काम करा लेने की भी जनता में अधीरता है।’ (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : ‘नवीन समाचार’ के समाचार पर फिर लगी मुहर, कांग्रेस विधायक भाजपा में हुए शामिल

भाजपा में शामिल हुए विधायक राजकुमारनवीन समाचार, नई दिल्ली, 12 सितंबर 2021। आखिर आपकी प्रिय एवं भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ के समाचार पर मुहर लग गई रविवार को दिल्ली में कांग्रेस पार्टी के उत्तरकाशी जिले की पुरोला से विधायक राजकुमार भाजपा में शामिल हो गए हैं। इस दौरान केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, भाजपा सांसद और राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल बलूनी व उत्तराखंड भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक भी मौजूद रहे।
उल्लेखनीय है कि विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी भाजपा धनौल्टी विधानसभा के विधायक प्रीतम सिंह पंवार को पहले ही पार्टी में शामिल करा चुकी है। अब एक और विधायक भाजपा में शामिल हो गए हैं। उल्लेखनीय है कि राजकुमार पूर्व में भाजपा से भी विधायक रह चुके हैं, लेकिन उनकी पारिवारिक पृष्ठभूमि कांग्रेस की ही रही है। उनके पिता पतिदास ने 1985 में उत्तरकाशी से कांग्रेस के टिकट पर विधान सभा चुनाव लड़ा था और हार गए थे। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कांग्रेस को आज फिर बड़ा झटका देगी भाजपा ! एक कांग्रेसी विधायक होंगे भाजपा में शामिल !!

नवीन समाचार, नई दिल्ली, 12 सितंबर 2021। उत्तराखंड की विपक्षी कांग्रेस पार्टी तीन भाजपा विधायकों के कांग्रेस में आने के लिए संपर्क में होने की बात ही करती रह गई और इधर भाजपा कांग्रेसी खेमे के दूसरे विधायक को भाजपा में शामिल करने की तैयारी में नजर आ रही है। एबीपी न्यूज की खबर के अनुसार उत्तराखंड में पहले निर्दलीय विधायक को अपने खेमे में करने के बाद अब भाजपा ने काग्रेस को झटका देने की पूरी तैयारी कर ली है।

उत्तरकाशी जिले की सुरक्षित सीट पुरोला विधानसभा से कांग्रेस विधायक राजकुमार आज रविवार को दिल्ली भाजपा कार्यालय में आयोजित एक समारोह में भाजपा में शामिल होने जा रहे हैं। राजकुमार पहले भाजपा में ही थे और असंतुष्ट होकर कांग्रेस में चले गए थे। ऐसे में उनकी एक तरह से घर वापसी होने जा रही है। इससे पहले भाजपा ने निर्दलीय विधायक प्रीतम पंवार को भाजपा में शामिल कराया था। हालांकि प्रीतम निर्दलीय विधायक हैं, मगर पिछली कांग्रेस सरकार में वह मंत्री रहे हैं। इस नाते कांग्रेस को भरोसा था कि प्रीतम आगे भी साथ बने रहेंगे।

गौरतलब है कि राजकुमार वर्ष 2007 में पहली बार सहसपुर सुरक्षित सीट से भाजपा के टिकट पर विधायक चुने गए। वर्ष 2012 में उन्होंने निर्दलीय चुनाव लड़ा और हार गए। 2017 में वह कांग्रेस में गए थे और पुरोला सीट से विधायक बने। राजकुमार को शनिवार को भाजपा में शामिल होना था, लेकिन इस दिन सीएम पुष्कर सिंह धामी के टिहरी दौरे में होने के कारण यह कार्यक्रम एक दिन आगे के लिए टल गया था। वहीं, कांग्रेस नेताओं ने राजकुमार को मनाने के लिए संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन उनका फोन नहीं लग पाया।

उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को ही लैंसडौन से भाजपा विधायक दिलीप रावत ने दावा किया था कि पार्टी नेताओं के संपर्क में कांग्रेस के तीन विधायक हैं, जिन्हें जल्द भाजपा में शामिल किया जाएगा। सूत्रों का कहना है कि गढ़वाल मंडल के दो पूर्व विधायकों से भाजपा का लगातार संपर्क बना हुआ है। इसके अलावा कुमाऊं मंडल से दो युवा चेहरों पर भी भाजपा की नजर है। साफ है कि आने वाले दिनों में कांग्रेस की कोशिश भी रहेगी कि वह इसी तर्ज पर भाजपा को जवाब दे। अब इसमें कांग्रेस को कितनी कामयाबी मिल पाती है, देखना दिलचस्प होगा। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : कांग्रेस के पूर्व प्रदेश प्रवक्ता, बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष व एक निर्दलीय विधायक सहित कई लोग भाजपा में शामिल

डॉ. नवीन जोशी, नवीन समाचार, नैनीताल, 8 सितंबर 2021। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नैनीताल आगमन के दौरान विपक्षी कांग्रेस पार्टी के पूर्व प्रदेश प्रवक्ता व बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष तथा कुमाऊं विश्वविद्यालय शिक्षक संघ-कूटा के अध्यक्ष प्रो. ललित तिवारी तथा कांग्रेस बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष तथा कूटा के कोषाध्यक्ष डॉ. विजय कुमार सहित कई लोग भाजपा में शामिल हो गए।

भाजपा में शामिल होने वालों में कुमाऊं विश्वविद्यालय, शिक्षक संघ-कूटा के उपाध्यक्ष डॉ. दीपक कुमार, संस्कृत विभाग के सहायक प्राध्यापक डॉ. प्रदीप कुमार, डीएसबी परिसर, कर्मचारी संघ के के अध्यक्ष नंदा बल्लभ पालीवाल व पूर्व सचिव आनंद रावत ने भी इस दौरान भाजपा का दामन थाम लिया। उल्लेखनीय है कि आज ही उक्रांद नेता के तौर पर पूर्व काबीना मंत्री रहे एवं वर्तमान राज्य के एक निर्दलीय विधायक प्रीतम पंवार ने भी भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपा ने विधानसभा के दावेदारों को बना दिया प्रभारी, किनारे करने की कोशिश या क्षमता भांपने की कवायद ?

नवीन समाचार, देहरादून, 25 अगस्त 2021। सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी ने विधानसभा चुनाव की तैयारी को लेकर एक कदम आगे बढ़ाते हुए प्रदेश के सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में पार्टी के प्रभारियों की तैनाती कर दी है। प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक और प्रदेश महामंत्री संगठन अजय कुमार के निर्देश पर विधानसभा प्रभारियों की सूची जारी कर दी गई है। देखें सूची:

पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने जानकारी देते हुए बताया कि पार्टी प्रभारी सांगठनिक कार्यों को और अधिक गति देने व सरकार की योजनाओं को जन जन तक पहुंचाने के उद्देश्य से भाजपा के अनुभवी व वरिष्ठ नेताओं को प्रभारी की जिम्मेदारी दी गई है। नैनीताल जनपद की बात करें तो नैनीताल विधानसभा से दावेदार एवं अनुसूचित मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य दिनेश आर्य को लालकुआं, पूर्व जिलाध्यक्ष एवं भीमताल से दावेदार मनोज साह को नैनीताल, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य गोपाल रावत को कालाढुंगी, लालकुआं के पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष एवं दावेदार पवन चौहान को हल्द्वानी, समीर आर्य को भीमताल व डॉ. गिरीश तिवारी को रामनगर की जिम्मेदारी दी गई है।

इस तरह सूची में बड़ी संख्या में ऐसे नेताओं के नाम भी शामिल हैं, जो खुद अपनी विधानसभा से टिकट की दावेदारी कर रहे हैं। हालांकि पार्टी नेताओं को अपनी विधानसभा से इतर अन्य विधानसभा का प्रभार दिया गया है, परंतु प्रश्न यह है कि यदि वह प्रभारी के रूप में अपनी जिम्मेदारी निभाएंगे तो खुद कैसे चुनाव लड़ेंगे। क्योंकि यदि वह प्रभार लेते हैं तो वह टिकट मिलने पर अपना चुनाव लड़ने के साथ कैसे अपना प्रभार संभाल पाएंगे। अलबत्ता, दूसरा पक्ष यह भी हो सकता है कि विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी ने दावेदारों को दूसरी विधानसभा का प्रभार देकर उनकी क्षमता मापने का कार्य करेगी। अब देखने वाली बात होगी कि नियुक्त दावेदार प्रभारी अपनी नियुक्ति को किस तरह से लेते हैं।

हालांकि यह भी बताया जा रहा है प्रभारियों से अधिक विधान सभा संयोजकों की जिम्मेदारी विधानसभा का चुनाव जिताने की होती है, इसलिए हर कोई इन नियुक्तियों को अलग-अलग तरीके से ले रहा है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपा के बूथ कार्यकर्ता पार्टी की जनता के बीच की सबसे महत्वपूर्ण कड़ी

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 23 अगस्त 2021। भारतीय जनता पार्टी की विस्तारक योजना के प्रदेश सह संयोजक खूब सिंह विकल सोमवार को नैनीताल पहुंचे। यहां पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार ने जनता के लिए कई जनकल्याणकारी योजनाएं संचालित की हैं। इनका लाभ प्रत्येक घर के किसी न किसी व्यक्ति को अवश्य मिल रहा है। इसलिए बूथ अध्यक्ष और उनकी पूरी टीम इन योजनाओं को लेकर जनता के बीच जाएं और इन योजनाओं के लाभान्वितों से संपर्क कर भाजपा का जनाधार बढ़ाने के लिए काम करें।

मुख्यालय पहुंचने पर भाजपा की विस्तारक योजना के प्रदेश सह संयोजक खूब सिंह विकल का स्वागत करते पार्टी कार्यकर्ता।

उन्होंने ने कहा कि बूथ अध्यक्ष और उनकी टीम अपने आपको सामान्य कार्यकर्ता न मानें। बल्कि वह पार्टी की जनता के बीच की महत्वपूर्ण कड़ी हैं। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत, उज्वला योजना, प्रधानमंत्री आवास, मुख्यमंत्री कन्यादान, लाड़ली लक्ष्मी जैसी अनेकों योजनाओं के साथ ही सभी देशवासियों को वैक्सीन लगाने का एतिहासिक काम किया हैं।

इस मौके पर विधानसभा विस्तारक देवेश खुल्बे, मंडल प्रभारी जिला उपाध्यक्ष प्रताप बिष्ट व विवेक साह मंडल अध्यक्ष आनंद बिष्ट, जिला मंत्री हरीश भट्ट, अरविंद पडियार, विश्वकेतु वैद्य, भूपेंद्र बिष्ट, संजय कुमार, सभासद तारा राणा, अरुण कुमार, अशोक तिवारी, आशु उपाध्याय, फैजल कुरैशी व अन्य भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : सत्तारूढ़ भाजपाई दिखे विपक्ष की भूमिका में, हत्यारोपित पर चलाए लात-घूंसे, विपक्षी चुप

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 17 अगस्त 2021। नगर में 15 अगस्त के दिन पहले एक सैलानी पर हुई कथित गोली चलाने की घटना और उसी दिन रात्रि में एक सैलानी युवती की उसके साथ आये दूसरे धर्म के युवक द्वारा हत्या करने की घटना पर सत्तारूढ़ दल भाजपा के कार्यकर्ता काफी आक्रोशित नजर आए। यही नहीं वह विपक्ष की भूमिका में नजर आए और विपक्षी पार्टियों के नेता कहीं नजर नहीं आए। शायद उन्हें यह वोट बैंक के लिहाज से अपने मुफीद नजर न आ रहा हो।

हत्यारोपित की पिटाई करते भाजपाइयों को पीछे धकेलते पुलिस कर्मी।

बुधवार को घटना का खुलासा होने से पहले भाजपाइयों ने मल्लीताल कोतवाली में एसपी-अपराध देवेंद्र पींचा को शहर में बढ़ते अपराध, नशा, लूटपाट के साथ खास तौर पूर्व में तल्लीताल क्षेत्र में और इधर सूखाताल में गोलीकांड, एक होटल में महिला सैलानी की हत्या, स्मैक तस्करी और नशेड़ियों द्वारा की जा रही लूटपाट आदि की घटनाओं पर ज्ञापन सोंपा, व आरोप लगाया कि पुलिस ऐसी घटनाओं को रोकने में असफल हो रही है। पुलिस का ध्यान अपराधियों की जगह केवल मास्क न पहनने वालों पर केंद्रित है।

वहीं इसी दौरान जब पुलिस महिला के हत्यारोपित इमरान को न्यायालय में पेश करने के लिए ले जाने लगी, तभी भाजपाइयों ने उस पर लात-घूंसे चला दिए। इस दौरान वरिष्ठ महिला भाजपा कार्यकर्ता भी कहते सुने गए कि ऐसे लोगों ने शांत नगर को अशांत कर दिया है। इस पूरे घटनाक्रम में नगर अध्यक्ष आनंद बिष्ट, उपाध्यक्ष भूपेंद्र बिष्ट, कुमाऊं विवि कार्यपरिषद सदस्य अरविंद पडियार, पूर्व दायित्वधारी शांति मेहरा, गजाला कमाल, अरुण कुमार व संजय कुमार आदि प्रमुख रहे। पुलिस ने बमुश्किल भाजपा कार्यकर्ताओं से आरोपित को बचाया और भाजपाइयों को अलग किया। गौरतलब है कि विपक्षी पार्टियों खासकर कांग्रेस के कार्यकर्ता नगर में केवल प्रांतीय नेतृत्व द्वारा दिए जाने वाले कार्यक्रमों पर आदेश बजाने तक सीमित रहते हैं। वहीं आआपा कार्यकर्ता छोटे-छोटे मुद्दे उठाते हैं, किंतु अपराध व खासकर ताजा घटनाओं पर वह चुप ही रहे हैं। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : 20 से अधिक महिलाएं भाजपा में हुईं शामिल

बुधवार को भाजपा में शामिल हुई महिलाएं।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 11 अगस्त 2021। आगामी विधानसभा चुनावों के करीब आते राजनीतिक दलों में एक-दूसरे से मनोवैज्ञानिक तौर पर आगे निकलने की होड़ शुरू हो गई है। गत दिवस उत्तराखंड क्रांति दल में युवाओं के शामिल होने के बाद बुधवार को सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी ने 20 से अधिक महिलाओं को पार्टी में शामिल किया।

नैनीताल क्लब में भाजपा में हो रही महिलाओं ने कहा कि देश एवं उत्तराखंड में केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं व जमीनी स्तर पर हो रहे काम को देखते हुए वह घर-गृहस्थी के साथ राजनीति में कदम बढ़ा रही हैं। भाजपा सरकार के समय में महिलाओं को सर्वाधिक लाभ मिला है। सदस्यता ग्रहण करने वाली महिलाओं में लीला भट्ट, ममता देवी, मालती देवी, कमला दरियाल, रेखा जाटव, ईश्वरी दरियाल, कमला देवी, खष्टी टंडड़िया, नंदी देवी, खुशबू आर्या, गीता कार्की, मुन्नी देवी, कौशल्या देवी, सपना रावत, शांति देवी, ममता नेगी, शांति रजवार, विद्या देवी, कमला भट्ट, बसंती रावत, नीमा बिनवाल, सुमन मावड़ी के अलावा मोहन भट्ट भी शामिल रहे। इस मौके पर भाजपा के नगर अध्यक्ष आनंद बिष्ट, वरिष्ठ उपाध्यक्ष भूपेंद्र बिष्ट, अशोक तिवाड़ी, मोहित साह, पारस मेहरा, अरुण कुमार, सभासद गजाला कमाल व भानु पंत आदि कार्यकर्ता शामिल रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : हर मन में बसना चाहिए मोदी का नाम, बूथ अध्यक्ष-पंच परमेश्वर: दुश्यंत

-भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री व प्रदेश प्रभारी ने सूखाताल बूथ में ली पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 8 अगस्त 2021। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री व प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम रविवार को मुख्यालय पहुंचे। यहां उन्होंने नैनीताल क्लब में नैनीताल व भवाली मंडल के पार्टी कार्यकर्ताओं तथा बूथ संख्या-86 में सूखाताल में पार्टी कार्यकर्ता विजयलक्ष्मी थापा के आवास पर बूथ कार्यकर्ताओं की बैठक ली। इस दौरान उन्होंने बूथ अध्यक्ष को नगर अध्यक्ष, जिलाध्यक्ष, प्रदेश अध्यक्ष व राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ मिलाकर ‘पंच परमेश्वर’ बताते हुए उनकी बड़ी भूमिका को रेखांकित किया। इस दौरान श्री गौतम ने राजनीति का सच उजागर करते हुए दो टूक कहा, राजनीतिक पार्टियों की सभी योजनाओं का अंतिम उद्देश्य वोट ही होता है। देखें विडियो :

क्योंकि राजनीति के जरिए ही सेवा करके देश और समाज का उत्थान कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि आज मीडिया सर्वे के अनुसार 85 फीसद लोग मोदी जी के प्रभाव में हैं। फिर भी विधानसभा चुनाव में भाजपा को 60 फीसद और अन्य छोटे चुनाव में और भी कम वोट मिलते हैं। इसमें सुधार किए जाने की जरूरत है। इसके लिए पार्टी कार्यकर्ता अपने क्षेत्र के साथ ही अपने पड़ोसियों से भी बेहतर संबंध रखें, और उनके सुख-दुःख में साथ रहें। उन्होंने ताकीद की कि यदि पड़ोसी से कार्यकर्ताओं के संबंध ठीक न हुए तो इसका खामियाजा विधानसभा चुनाव में विधायक प्रत्याशी को भुगतना पड़ेगा। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वह हर वोटर के मन के भीतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम और पार्टी की योजनाओं को पहुंचाने के लिए कार्य करें। उन्होंने शेष रह गई पन्ना प्रमुखों की नियुक्ति यथाशीघ्र करने के निर्देश भी दिए।

उन्होंने यह टिप्पणी भी की उत्तराखंड में भाजपा किसी व्यक्तिगत चेहरे पर नहीं, बल्कि पार्टी के नाम, कमल के फूल के चुनाव निशान और पार्टी के काम पर चुनाव लड़ेगी। किसान आंदोलन को उन्होंने राजनीति से प्रेरित बताते हुए कहा कि किसान आंदोलन के नेता आगे चुनाव में खड़े दिखाई देंगे। साथ ही जोड़ा कि भाजपा हमेशा से किसानों के साथ है। वहीं केजरीवाल के उत्तराखंड आने पर कहा कि उनसे दिल्ली ही नहीं संभल रही है। कोरोना काल में केंद्रीय गृह मंत्री को मोर्चा संभालना पड़ा। अभी दिल्ली बारिश के पानी में डूबी हुई है।

इससे पूर्व सूखाताल बूथ में बूथ अध्यक्ष हेमलता के नेतृत्व में बूथ के कायकर्ताओं ने श्री गौतम का स्वागत किया। इस दौरान महिलाओं की भी उल्लेखनीय भागेदारी रही। इस मौके पर जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट, विधायक संजीव आर्य, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य गोपाल रावत, प्रदेश प्रभारी प्रताप बिष्ट जिला प्रभारी खिलेंद्र चौधरी, नगर अध्यक्ष आनंद बिष्ट, विश्वकेतु वैद्य, विजयलक्ष्मी थापा, बूथ महामंत्री हरीश तिवारी, पूर्व नगर अध्यक्ष दया बिष्ट, अरविंद पडियार व भूपेंद्र बिष्ट सहित अन्य पार्टी कार्यकर्ता मौजूद रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : भाजपा में किस विधायक का टिकट बचेगा और किसका कटेगा, सर्वे शुरू…

-विधायक कितना अपने क्षेत्र में रहते हैं व जन अपेक्षाओं के साथ सरकार व संगठन के बीच सामंजस्य बनाकर चलते हैं, इसका परीक्षण होगा।
डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 8 अगस्त 2021। उत्तराखंड में भाजपा विधायकों के साढ़े चार साल के प्रदर्शन का आकलन करने के लिए एक प्राइवेट एजेंसी के माध्यम से सभी 70 सीटों पर पहले चरण का गोपनीय सर्वे शुरू हो गया है। बताया गया है कि यह एजेंसी 40-40 दिन के तीन सर्वे करेगी। इसके आधार पर हर विधानसभा क्षेत्र के वर्तमान विधायक और अन्य संभावित दावेदारों का राजनीतिक भविष्य यानी 2022 के विधानसभा चुनाव के लिए टिकट तय किया जाएगा या टिकट काटा जाएगा।

इस सर्वे का पहला चरण 10 सितंबर तक चलेगा, जबकि दूसरा चरण 15 सितंबर और तीसरा सर्वे 25 अक्तूबर से शुरू होगा। इसके अलावा पार्टी की ओर एक अन्य खुफिया सर्वे भी कराये जाने की बात कही जा रही है। जबकि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ भी अपनी ओर से सर्वे कराएगा और पार्टी को अपनी फीडबैक देगा।

सूत्रों के अनुसार इन तीनों सर्वे में पार्टी अपने विधायकों के साथ पिछले विस चुनावों में पराजित दावेदारों का इन साढ़े चार साल के दौरान पार्टी संगठन के साथ समन्वय और उनकी सक्रियता का आकलन भी किया जाएगा। ऐसे विधायक भी चिह्नित किए जाएंगे जो अपने विधानसभा क्षेत्रों के बजाय दून और दिल्ली में अधिक समय बिता रहे हैं। बताया जा रहा है कि पहाड़ के काफी विधायक अक्सर हल्द्वानी-देहरादून में पड़े रहते हैं, जबकि कई अक्सर दिल्ली में भी रहते हैं। इसके अलावा विधायकों व दावेदारों की उम्र व स्वास्थ्य के साथ उनकी क्षेत्र में छवि को लेकर भी परीक्षण किया जाएगा।

यह बात भी प्रकाश में आ रही है कि राज्य सरकार व भाजपा उत्तर प्रदेश में योगी सरकार की तर्ज पर उत्तराखंड में भी अटल आयुष्मान कार्ड को भुनाने की तैयारी में है। उत्तराखंड में इस कार्ड पर प्रत्येक परिवार के लिए साल भर में पांच लाख तक मुफ्त इलाज की सुविधा है। राज्य में लगभग 40 लाख लोगों के कार्ड बन चुके हैं, लेकिन जिस तरह से योगी सरकार इसे भुना रही है, उसके मुकाबले उत्तराखंड की तरफ से ठोस कोशिश नहीं हुई। राज्य में वर्ष 2015 के बाद से ऑनलाइन हुए राशन कार्ड आयुष्मान योजना से लिंक ही नहीं हुए हैं। इसलिए राज्य की आधी से अधिक आबादी आयुष्मान कार्ड नहीं बनवा पा रही है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री व प्रदेश प्रभारी कल-परसों हल्द्वानी-नैनीताल में भरेंगे बूथ कार्यकर्ताओं में जोश

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 5 अगस्त 2021। भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री व प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम सात व आठ अगस्त को जिले के जनपद के कार्यकर्ताओं में आगामी 2002 के विधानसभा चुनाव के लिए जोश भरने को आ रहे हैं। भाजपा की जिला इकाई इस दौरान श्री सिंह का भव्य स्वागत करने की तैयारी कर रही है। बताया जा रहा है कि इस दौरान श्री गौतम पार्टी कार्यकर्ताओं को बूथ जीतने का मंत्र बताएंगे।

भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री एवं राज्यसभा सदस्य दुष्यंत कुमार गौतम को प्रदेश भाजपा का नया प्रभारी नियुक्त किया गया है।शुक्रवार को श्री गौतम के आगमन की तैयारियों के लिए अचानक मुख्यालय पहुंचे जिला अध्यक्ष प्रदीप बिष्ट ने कार्यकर्ताओं से इस कार्यक्रम की तैयारी करने को कहा। बताया कि सात अगस्त को श्री गौतम पूर्वाह् 11 बजे हल्द्वानी में कालाढुंगी व लालकुआं विधानसभा क्षेत्र के कार्यकर्ताओं के साथ और आठ अगस्त को नैनीताल में पहले बूथ कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेगे और ‘बूथ जीता, चुनाव जीता’ का मंत्र देंगे। इसके बाद नैनीताल व भवाली मंडल के पदाधिकारियों की बैठक होगी। इसके बाद शाम को वह दिल्ली को रवाना हो जाएंगे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : कांग्रेस का चार उपाध्यक्ष बनाना धामी के सीएम बनने की घबराहट: भाजपा

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 4 अगस्त 2021। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश प्रवक्ता राकेश कुमार ने कहा कि राज्य में एक युवा के मुख्यमंत्री बनने से प्रदेश के युवाओ में भारी जोश है। श्री धामी ने भी युवाओं एवं राज्य वासियों की अपेक्षाओं पर खरा उतरते हुए एक माह के कार्यकाल में अनेक उल्लेखनीय कार्य कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा 2022 का चुनाव मुख्यमंत्री धामी के नेतृत्व में ही लड़ेगी और वापस सरकार बनाएगी। उन्होंने बताया कि भाजपा आगामी चुनाव में ‘अबकी बार-60 पार, युवा सरकार’ का नारा देकर चुनाव में उतरेगी।

पत्रकार वार्ता करते भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राकेश कुमार।

नगर में पहुंचने पर नैनीताल क्लब में मिलने आए पत्रकारों से वार्ता करते हुए कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री की घोषणा पर राज्य में 24 हजार पदों पर जल्द ही भर्ती की प्रक्रिया शुरू होने जा रही है। उन्होंने राज्य में अगले चार माह के भीतर कोरोना टीकाकरण का कार्य पूरा कर लेने का विश्वास भी जताया। उन्होंने कांग्रेस पार्टी द्वारा चार कार्यकारी एवं एक प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने पर कहा कि धामी के मुख्यमंत्री बनने से घबराकर कांग्रेस को ऐसा करना पड़ा है। दावा किया कि इसके बावजूद भी भाजपा की 60 सीटों पर जीत के साथ कांग्रेस 2022 में हार का मुंह देखने वाली है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपा की जिला कार्य समिति में नैनीताल की सभी 6 सीटें अधिक अंतर से जीतने का संकल्प, आम कार्यकर्ताओं के बीच बैठे तीन विधायक, जिपं अध्यक्ष व मेयर

-‘भाजपा बार-बार’ का नारा आया सामने

जिला कार्यसमिति की बैठक में राष्ट्रगीत गाते मंचासीन गणमान्य।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 22 जुलाई 2021। करीब दो वर्ष के अंतराल के बाद आयोजित हुई भाजपा की नैनीताल जनपद की कार्य समिति की बैठक में जनपद की सभी 6 सीटें पिछली बार से अधिक अंतर से जीतने का संकल्प लिया गया। भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन से इस बारे में पार्टी की मंशा साफ करते हुए ‘भाजपा बार-बार’ का नारा भी दिया। उन्होंने कहा भाजपा कांग्रेस के भ्रष्टाचार से राज्य को मुक्ति दिलाने के लिए सत्ता में आई थी और पूरे कार्यकाल में भाजपा के मुख्यमंत्री क्या, विधायकों पर भी भ्रष्टाचार के आरोप नहीं लगे। इस कारण विपक्ष मुद्दा विहीन हो गया है, लिहाजा ऊलजुलूल आरोप लगाने को मजबूर है। ऐसे भाजपा कार्यकर्ताओं के पास मौका है कि वह खुले मैदान में जीत के लिए खेलें पर खुद पर अतिविश्वास में अकर्मण्यता हावी न होने दें।

जिला कार्यसमिति की बैठक के लिए आते गणमान्यों के स्वागत में पहाड़ के वाद्य यंत्र हुड़का व बीन बाजा बजाते कलाकार।

बैठक में काबीना मंत्री यशपाल आर्य ने कहा कि प्रधानमंत्री, माननीय नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में देश ने विभिन्न क्षेत्रों में नए आयाम व कीर्तिमान स्थापित किए हैं। रामनगर के विधायक दीवान सिंह बिष्ट ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा स्थानीय बेरोजगारों को रोजगार देने हेतु, बड़े ठेकेदारों का वर्चस्व समाप्त कर छोटे-छोटे ठेकों के माध्यम से युवकों को रोजगार देने हेतु एक सार्थक पहल प्रारंभ की गई है। जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट ने बूथ स्तर पर पन्ना प्रमुख, शक्ति केंद्र संयोजकों व बूथ अध्यक्षों से अपनी-अपनी कार्यकारिणी का गठन कर बैठकों का आयोजन करने को कहा। इससे पूर्व कार्य समिति में पहुंचे पार्टी नेताओं का कुमाऊं के पारंपरिक वाद्य यंत्र हुड़के की थाप व बीन बाजा (मशकबीन) की तान से स्वागत किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ राष्ट्रगीत वंदे मातरम से हुई। इसके बाद स्थानीय कार्यकर्ताओं से मंचासीन वरिष्ठ नेताओं का पुष्पगुच्छ एवं प्रतीक चिन्ह देकर स्वागत कराया गया। मुख्य वक्ता के रूप में आरएसएस के पूर्व विभाग प्रचारक रहे पार्टी के प्रदेश महामंत्री अजेय कुमार ने मुख्य वक्ता के रूप में संबोधन दिया। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

आम कार्यकर्ताओं के बीच बैठे तीन विधायक, जिपं अध्यक्ष व मेयर

भाजपा की जिला कार्यसमिति की बैठक में नीचे विधायक, मेयर सहित अन्य कार्यकर्ता।

नैनीताल। भाजपा जिला कार्यसमिति की बैठक में मंच पर पार्टी के प्रोटोकॉल के तहत केवल जिले के प्रभारी वरिष्ठ काबीना मंत्री यशपाल आर्या, महामंत्री सुरेश भट्ट व अजेय कुमार, जिलाध्यक्ष प्रदेश बिष्ट तथा प्रदेश उपाध्यक्ष खिलेंद्र चौधी व प्रदेश मंत्री राजेंद्र बिष्ट बैठे, जबकि जनपद के चार में से तीन विधायक-संजीव आर्य, दीवान बिष्ट व नवीन दुम्का के साथ ही हल्द्वानी के मेयर डॉ. जोगेंद्र सिंह रौतेला, जिला पंचायत अध्यक्ष बेला तोलिया, मंडी परिषद उत्तराखंड के अध्यक्ष गजराज बिष्ट, मंडी समिति हल्द्वानी के अध्यक्ष मनोज साह आदि कई जनप्रतिनिधि जिला कार्यसमिति के सदस्य पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ नीचे बैठे। कार्यक्रम में प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य गोपाल रावत, जिला उपाध्यक्ष विवेक साह नगर अध्यक्ष आनंद बिष्ट, हरीश भट्ट, मनोज जोशी, अरविंद पडियार, प्रकाश रावत, कमल नयन जोशी, प्रदीप जनौटी, प्रताप बिष्ट, दीवान बिष्ट, अंबा आर्य, उमेश गड़िया आदि की भी उल्लेखनीय भूमिका रही।

यह भी पढ़ें : धामी के मुख्यमंत्री चुने जाने पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने तोड़े पटाखे, विपक्षियों ने कसे तंज

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 03 जुलाई 2021। राज्य के सबसे युवा मुख्यमंत्री के पद पर पुष्कर सिंह धामी के चुने जाने पर नगर के खासकर युवा भाजपा कार्यकर्ताओं में खुशी देखी गई। युवा कार्यकर्ताओं ने इस मौके पर पटाखे तोड़कर खुशी जताई। मल्लीताल रामलीला मैदान में आयोजित इस कार्यक्रम में पार्टी के नगर अध्यक्ष आंनद बिष्ट, दयाकिशन पोखरिया, अरविंद पडियार, राजेंद्र कैड़ा, उमेश भट्ट, संतोष साह, विश्वकेतु वैद्य व विक्रम राठौर आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

उधर राज्य में मुख्यमंत्री बदले जाने पर पूर्व विधायक एवं उक्रांद के पूर्व केंद्रीय अध्यक्ष डॉ. नारायण सिंह जंतवाल ने कहा कि राज्य में लगातार मुख्यमंत्रियों को बदले जाने से 42 शहादतों से प्राप्त राज्य का लोकतंत्र शर्मसार हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रचंड बहुमत के बावजूद ‘दिल्ली के तख्ते ताउस’ का यह कदम राज्य की मर्यादा व स्वाभिमान को चोट पहुंचाने वाला है। उन्होंने राज्य में ‘सूरत की जगह सीरत’ बदले जाने की आवश्यकता भी जताई।

उधर उत्तराखंड किसान कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री वरुण भाकुनी ने मौजूदा स्थितियों पर कहा कि भाजपा चाहे जितने मुख्यमंत्री बदल ले, 2022 को विधानसभा चुनाव नहीं जीत सकती। उन्होंने कहा, भाजपा ने चार वर्ष में तीन मुख्यमंत्री बदल लिए, लेकिन डबल इंजन की प्रचंड बहुमत की सरकार आम जनता के हित में कुछ भी नहीं कर पाई है। उन्होंने भाजपा शासनकाल में सभी विकास कार्य केवल गढ़वाल मंडल में होने और कुमाऊं मंडल की भारी उपेक्षा किए जाने का आरोप भी लगाया। यह भी आरोप लगाया कि हल्द्वानी में नेता प्रतिपक्ष स्वर्गीय डॉ. इंदिरा हृदयेश के प्रति जनता की सहानुभूति उनके पुत्र सुमित हृदयेश को न मिल जाए, इसलिए तीसरा मुख्यमंत्री थोपा जा रहा है।

भाजपा महिला मोर्चा की बेतालघाट इकाई का हुआ गठन
नैनीताल। भाजपा महिला मोर्चा की बेतालघाट नगर अध्यक्ष ने जिला अध्यक्ष प्रतिभा जोशी व बेतालघाट के मंडल अध्यक्ष प्रताप बोहरा की संस्तुति से महिला मोर्चा बेतालघाट के पदाधिकारियों की घोषणा कर दी है। दीपा जोशी व ज्योति बोहरा को बेतालघाट मंडल का उपाध्यक्ष, प्रेमा जलाल को महामंत्री, चित्रकला जैड़ा, रेखा आर्या, पूजा, ललिता व गीता गोस्वामी को मंत्री, जीवंती आर्य को मीडिया प्रभारी, गंगा देवी को सहमीडिया प्रभारी, सुमन देवी को कोषाध्यक्ष एवं ज्योति देवी व पुष्पा देवी को कार्यकरणी सदस्य बनाया गया है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपा की जिला कार्यसमिति नैनीताल में, कार्यकर्ताओं को दी गई जिम्मेदारी, 6 जुलाई को नैनीताल में होगी जिला कार्यसमिति

भाजपा जिला कार्यसमिति की तैयारी बैठक का दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ करते जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट।

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 30 जून 2021। भाजपा की जिला कार्य समिति की बैठक आगामी 6 जुलाई को नैनीताल में होने जा रही है। कार्य समिति की तैयारियों को लेकर बुधवार को जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट ने नैनीताल क्लब में बैठक की। बैठक में श्री बिष्ट ने कहा कि भाजपा के 19 राज्यों में और देश में सर्वाधिक सांसद व विधायक हैं। भाजपा ने अपनी आने वाली पीढ़ियांे को राज करने के लिए पैदा होने वाली पार्टी को नैपथ्य में धकेल दिया है। यह सब पार्टी के कार्यकर्ताओं की मेहनत का प्रतिफल है। इस दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं को कार्य समिति की बैठक की तैयारियों के लिए जिम्मेदारियां सोंपी गई। बताया गया कि कार्यकमिति में जिले के पदाधिकारियों के साथ ही सांसद अजय भट्ट, काबीना मंत्री बंशीधर भगत सहित पांचों विधायक, प्रदेश कार्यसमितियों के सदस्य आदि पदाधिकारी मौजूद रहेंगे।

बैठक में मंडल प्रभारी व जिला उपाध्यक्ष प्रताप बिष्ट, जिला महामंत्री प्रदीप जनोटी, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य गोपाल रावत, जिला उपाध्यक्ष विवेक साह, मंडल अध्यक्ष आनंद बिष्ट, महामंत्री मोहन नेगी, विश्वकेतु वैद्य, सभासद गजाला कमाल, तारा राणा, संजय कुमार व अन्य भाजपा कार्यकर्ता व मंडल पदाधिकारीयों आदि की उपस्थित रही। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

प्रदेश अध्यक्ष खंडूड़ी ने किया भाजपा महिला मोर्चा से चुनावी मोड में जुट जाने का आह्वान
नैनीताल। रामनगर में तीन दिवसीय चिंतन शिविर के बाद भाजपा के आनुषांगिक संगठन भी चुनावी मोड में आते नजर आ रहे हैं। बुधवार को नैनीताल क्लब में पार्टी की महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष व यमकेश्वर की विधायक ऋतु भूषण खंडूडी ने जिला व मंडल पदाधिकारियों की बैठक ली। इस दौरान उन्होंने कोविड काल में महिला मोर्चा की ओर से किये गए सेवा कार्यो की जानकारी ली और इस दौरान महिला मोर्चा द्वारा कोरोना योद्धाओं को चाय-बिस्कुट व अन्य सामग्री वितरित करने की सराहना की। उन्होंने महिला मोर्चा कार्यकर्ताओं से संगठन को बूथ स्तर पर मजबूत बनाने तथा केंद्र व राज्य सरकार की उपलब्धियों को घर-घर पहुंचाने का आह्वान भी किया।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार व तीरथ सरकार ने कोविड काल में बीपीएल व अंत्योदय परिवारों के साथ ही समाज के मध्यम वर्ग को राशन मुहैया कराया। इसका लाभ खासकर घर की महिलाओं को मिला। ऐसी बातें जनता के बीच पहुंचाने की आवश्यकता है। बैठक में जिलाध्यक्ष प्रतिभा जोशी, प्रदेश उपाध्यक्ष दीपाली कन्याल, भावना मेहरा, उमा पढालनी, पूर्व जिलाध्यक्ष जीवंती भट्ट, मोहिनी पोखरिया, सोनू साह, जानकी लोहिया, रीना मेहरा, ज्योति वर्मा, राधा खोलिया प्रेमा जलाल, वर्षा आर्य, ज्योति गोस्वामी के साथ ही भाजपा मंडल अध्यक्ष आनंद बिष्ट, उपाध्यक्ष भूपेंद्र बिष्ट आदि भी उपस्थित रहे। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के लिए आज का दिन खास, भ्रष्टाचार के मामले सीबीआई जांच की हुई है मांग

डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 22 जून 2021। उत्तराखंड के प्रदेश भाजपा अध्यक्ष एवं पूर्व काबीना मंत्री मदन कौशिक के लिए बुधवार का दिन खास होने वाला है। उनके खिलाफ उत्तराखंड उच्च न्यायालय में 11 वर्ष पुराने मामले में बतौर हरिद्वार विधायक पुस्तकालय निर्माण में डेढ़ करोड़ रुपये के भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए जनहित याचिका दायर हुई है। याचिकाकर्ता ने मामले में सीबीआई जांच की मांग की है। उच्च न्यायालय बुधवार को यानी आज इस याचिका पर सुनवाई कर सकता है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार देहरादून निवासी सच्चिदानंद डबराल ने हरिद्वार विधायक और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के खिलाफ पुस्तकालय निर्माण में डेढ़ करोड़ के भ्रष्टाचार के मामले में जनहित याचिका दायर की है। याचिका में कहा गया है कि हरिद्वार विधायक रहते हुए मदन कौशिक ने वर्ष 2010 में अपनी विधायक निधि से 16 पुस्तकालयों के निर्माण के लिए डेढ़ करोड़ रुपये जारी किए लेकिन आज तक ये पुस्तकालय नहीं बने, जबकि डेढ़ करोड़ रुपये का भुगतान भी कर दिया गया था। जिन स्थानों पर पुस्तकालय होने दर्शाए गए हैं, वहां बारातघर, निजी आवास व धर्मशालाएं आदि हैं। इस मामले में कार्यदायी संस्था आरईएस यानी ग्रामीण अभियंत्रण सेवा थी। आरईएस के तत्कालीन अभियंता ने बिना अस्तित्व में आए ही इन पुस्तकालयों का निरीक्षण किया और तत्कालीन सीडीओ ने डेढ़ करोड़ रुपये का पूरा भुगतान कर दिया। मामले को भ्रष्टाचार का बड़ा मामला बताते हुए याचिकाकर्ता ने मामले में सीबीआई जांच की मांग की है। आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने 2022 चुनाव के लिए घोषित किया भाजपा का चेहरा, पर काशीपुर के प्रत्याशी पर दिया घुमावदार जवाब

नवीन समाचार, काशीपुर, 14 जून 2021। कांग्रेस पार्टी के द्वारा उत्तराखंड में बिना चेहरे के सामूहिक नेतृत्व में चुनाव लड़ने की गत दिवस नई दिल्ली से आई खबरों के बाद लगता है भाजपा ने अपनी रणनीति बदल दी है। पहले उत्तराखंड भाजपा में असम की तरह बिना किसी चेहरे के चुनाव में जाने की चर्चा थी, लेकिन सोमवार को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने यह कहकर चौंका दिया है कि उत्तराखंड में भाजपा मौजूदा मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के चेहरे पर चुनाव लडेगी।
काशीपुर के मंडी गेस्ट हाउस में आयोजित कार्यक्रम में कौशिक ने कहा कि अगला विधानसभा चुनाव मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के चेहरे पर ही लड़ा जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा के पास पीएम मोदी जैसा नेतृत्व है तो उनकी उपलब्धियों को भी जनता के सामने जरूर लेकर जाएंगे। वहीं काशीपुर सीट से विधायक हरभजन सिंह चीमा की जगह नए उम्मीदवारों की दावेदारी को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने घुमावदार जवाब देते हुए कहा कि पार्टी में चुनाव को लेकर प्रक्रिया होती है इसमें व्यवस्था बनाई जाती है। प्रत्याशी घोषित करने में केन्द्रीय संसदीय बोर्ड का निर्णय अंतिम होता है। इस विषय पर समय आने पर सभी संभावनाओं पर विचार किया जाएगा। यह भी कहा कि पार्टी जिस किसी को जो जिम्मेदारी देती है वह उसको निभाता है। कई वरिष्ठ नेताओं को संगठन की जिम्मेदारी दी गई है जिसे वह उसी तत्परता से निभा रहे हैं। पार्टी में प्रयास होता है कि हर कार्यकर्ता और हर नेता को उचित सम्मान मिले। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपा अनुसूचित मोर्चा की नैनीताल कार्यकारिणी का विस्तार

नवीन समाचार, नैनीताल, 21 मई 2021। भाजपा अनुसूचित मोर्चा के नैनीताल नगर अध्यक्ष रोहित भाटिया ने अपनी कार्यकारिणी का विस्तार कर दिया है। कार्यकारिणी में सचिन कुमार को महामंत्री, समीर कुमार व संजय कुमार को उपाध्यक्ष, विक्की टम्टा, आकाश सोनकर, कैलाश चंद्र आर्य व राकेश कुमार को मंत्री, जगदीश आर्या को कोषाध्यक्ष, अश्विन पारछे को मीडिया प्रभाी, संजय चंदेल को सोशल मीडिया प्रभारी, अंकित टांक को सह सोशल मीडिया प्रभारी तथा परवीन आर्या, सुमित कुमार, नंद किशोर, मीनाक्षी आर्या, अमन, सूरज, योगेंद्र कुमार, निशांत कुमार, अश्विनी भारती, गौरव हारपर व सूरज कुमार को कार्यकारिणी सदस्य बनाया गया है। साथ ही नवनियुक्त पदाधिकारियों से उम्मीद जताई है कि वे अपने दायित्व का पूर्ण निष्ठा से निर्वहन कर पार्टी को मजबूत करेंगे।

यह भी पढ़ें : कोरोना से जंग में भाजपा ने शुरू किया बड़ा अभियान-मेरा बूथ कोरोना मुक्त’

-पांच सदस्यीय समिति की गठित, पार्टी मुख्यालय में कंट्रोल रूम स्थापित, नंबर जारी
नवीन समाचार, देहरादून, 20 अप्रैल 2021। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रदेश भर के जिला मुख्यालयों में ‘सेवा ही संग़ठन है’ अभियान के तहत ‘मेरा बूथ कोरोना मुक्त’ कार्यक्रम शुरू करने जा रही है। इसके तहत पार्टी जिला मुख्यालयों में कोविड कंट्रोल रूम बनाएगी। प्रदेश मुख्यालय में कंट्रोल रूम बना लिया गया है। इसके साथ ही लोगों की सहायता के लिए हेल्प लाइन नंबर भी जारी किया गया है। प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा व प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के आह्वान पर प्रदेश मुख्यालय सहित प्रत्येक जिले में कोविड कंट्रोल रूम खोला जाएगा। कोरोना महामारी से लड़ाई एवं सुरक्षा के लिए सेवा ही संग़ठन को मूलमंत्र मानकर पूर्व की भांति राहत कार्यों एवं इससे बचाव में जुटने को कहा गया है।उन्होंने बताया कि अध्यक्ष मदन कौशिक ने प्रदेश स्तर पर कंट्रोल रूम खोलने के साथ ही 5 सदस्यीय टीम का भी गठन किया है। टीम को 24 घंटे सेवा कार्य मे जुटने के लिए कहा गया है। साथ ही प्रदेश अध्यक्ष श्री कौशिक ने सभी जिलाध्यक्षों को पत्र जारी कर जिलों में भी 3 सदस्यीय कमेटी का गठन कर शीघ्र कंट्रोल रूम बनाने के लिए निर्देशित किया है। देहरादून प्रदेश मुख्यालय में कोविड 19 कंट्रोल रूम का नंबर 0135-2671306 लोगो की सहायता के लिए जारी किया गया है। इसके लिए पांच सदस्यीय टीम में प्रदेश प्रवक्ता विनोद सुयाल, 9411192628 प्रदेश सोशल मीडिया सयोंजक शेखर वर्मा 9719300758, प्रदेश आपदा प्रबंधन संयोजक कुंवर जपेंद्र सिंह 9897272545, प्रदेश किसान मोर्चा अध्यक्ष अनिल चौहान 886909133, प्रदेश अध्यक्ष अनुसूचित जाति मोर्चाअम्बादत्त आर्य, 9719270156 के मोबाइल नंबर को प्रसारित कर प्रदेश कंट्रोल रूम की जिम्मेदारी दी गई है। सभी कार्यकर्ताओं को सेवा के कार्य, हॉस्पिटलों घरों में लोगो के आवश्यकताओं के अनुसार मदद करने सहित अन्य कार्य मास्क, सेनिटाइजर, प्लाज्मा डोनेट आदि कार्यो में जुटने के लिए कहा गया है।

यह भी पढ़ें : काबीना मंत्री ने कहा-चिमटी से ढूंढने लायक रह गए हैं कांग्रेसी…

-काबीना मंत्री बनने के बाद पहली बार मुख्यालय पहुंचने पर भव्य स्वागत के बाद बोले बंशीधर भगत
नवीन समाचार, नैनीताल, 01 अप्रैल 2021। उत्तराखंड सरकार के शहरी विकास, आवास, संसदीय कार्य एवं खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री बनने के बाद पहली बार मुख्यालय पहुंचने पर बंशीधर भगत का पार्टी कार्यकर्ताओं ने बृहस्पतिवार को भव्य स्वागत किया। इस दौरान श्री भगत ने दोहराया कि भाजपा आज देश ही नहीं विश्व की सबसे बड़ी पार्टी है। वही कांग्रेस की हालत ऐसी हो गयी है कि उसके नेता चिमटी से ढूंढने पड़ रहे है। उन्होंने विश्वास जताया कि आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा 60 सीट जीतने का अपना लक्ष्य पूरा करेगी। इस हेतु उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से पूरी ताकत से जुट जाने का आह्वान किया। वहीं नगर निकायों की आय बढ़ाए जाने को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा, ‘अभी-अभी बच्चा पैदा हुआ है’ यानी अभी हाल ही में वह इस विभाग के मंत्री बने हैं।
इस दौरान मंत्री श्री भगत ने सूखाताल रिचार्जिंग जोन एवं टूरिस्ट डेस्टीनेशन प्वाइंट के रूप में विकसित करने हेतु 2577.42 लाख की विकास योजना का भूमि पूजन किया, और उम्मीद जताई कि सूखाताल के सौन्दर्यकरण से नैनीताल आने वाले पर्यटकों को एक नया खूबसूरत टूरिस्ट डेस्टीनेशन मिलेगा। उन्होंने विधायक संजीव आर्य द्वारा कराये जा रहे विकास कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि संजीव ने बेतालघाट, रामगढ़ से लेकर नैनीताल तक विकास की श्रृंखला बिछा दी है। इससे पूर्व भाजपा कार्यकर्ताओं ने श्री भगत के मुख्यालय पहुंचने पर हल्द्वानी रोड पर हनुमानगढ़ी में उनका स्वागत किया और उनके काफिले को बाइक रैली के साथ मालरोड होते हुए नैनीताल क्लब लाया गया। वहीं नैनीताल क्लब पहुंचने पर उनके स्वागत में ढोल-नगाड़े बजाये गए और उन्हें फूलमालाओं से लाद दिया। ऐसे सम्मान से आह्लादित श्री भगत ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि वह कार्यकर्ताओं द्वारा दिए गए इस सम्मान और पार्टी व सरकार द्वारा दिये गए दायित्व के साथ जताए गए भरोसे पर हमेशा खरा उतरने का प्रयास करेंगे। इस दौरान सचिव पंकज उपाध्याय ने बताया कि सूखाताल में 25.77 करोड़ रुपये की लागत से रिचार्ज वेल, 9145 वर्ग मीटर में नेचुरल झील, झील के चारों ओर पैदल पथ, लिफ्ट एवं एक्सलेटर, ओपन एयर थियेटर, चिल्ड्रन पार्क, सूचना केंद्र, लकड़ी के कियोस्क, निकटवर्ती कब्रिस्तान का संरक्षण एवं लैंडस्केप के कार्य किये जाएंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता नगर पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी की। कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष बेला तोलिया, केएमवीएन अध्यक्ष कुंदन बिष्ट, पालिका सभासद गजाला खान, मनोज जोशी सहित गोपाल रावत, मनोज जोशी, डीएन भट्ट, दया किशन पोखरिया, पूरन मेहरा, अरविंद पडियार, मनोज साह, देवेंद्र बिष्ट, आनंद बिष्ट, शांति मेहरा, प्रो. अजय रावत, खीमा शर्मा, भानु पंत, पूरन मेहरा, देवेंद्र ढैला, योगेश रजवार, सुरेश उप्रेती, संयुक्त मजिस्टेªट प्रतीक जैन, केएमवीएन के जीएम अशोक जोशी, अधिशासी अधिकारी अशोक कुमार वर्मा व जिला पर्यटन विकास अधिकारी अरविन्द गौड़ आदि मौजूद रहे।

जल संस्थान के अधिशासी अभियंता के व्यवहार की काबीना मंत्री से शिकायत
नैनीताल। भाजपा कार्यकर्ताओं ने स्वागत के दौरान काबीना मंत्री बंशीधर भगत को नगर की समस्याओं पर एक ज्ञापन दिया। ज्ञापन में शहर में पानी के बढ़े हुए आ रहे बिलों की समस्या के निदान के लिए पूर्व की तरह कर निर्धारण के आधार पर ही जारी करने की मांग करने के साथ ही कहा गया कि जल संस्थान के अधिशासी अभियंता इस समस्या का समाधान करने की उपभोक्ताओं से ‘बहुत दुर्व्यवहार’ करते हैं। इससे शहरवासियों में काफी आक्रोश है। इसके अलावा शहर में नक्शों की स्वीकृति के बिना भी बिजली व पानी के संयोजन देने की मांग भी की गई। बताया गया कि नगर के व्यावसायिक नक्शे ही पास हो रहे हैं, आवासीय भवनों के नक्शे पास नहीं हो रहे हैं। मंत्री से नगर में आवारा कुत्तों की समस्या से निदान दिलाने की मांग भी की गई। उल्लेखनीय है कि पूर्व में नगर भाजपा के द्वारा तत्कालीन शहरी विकास मंत्री से एक अधिशासी अधिकारी की शिकायत की थी, तब उन अधिकारी के खिलाफ कोई भी कार्रवाई नहीं हो पाई थी। अब देखना होगा कि इस बार शिकायत पर कोई कार्रवाई हो पाती है अथवा नहीं।
नगर पालिका कर्मियों की समस्याओं से मंत्री को अवगत कराया।
नैनीताल। देवभूमि उत्तराखंड सफाई कर्मचारी संघ ने प्रदेश के शहरी विकास मंत्री बंशीधर भगत को नगर पालिका परिषद नैनीताल के कर्मचारियों की मांगों पर ज्ञापन सोंपा। ज्ञापन में नगर पालिकाओं में मकान किराया भत्ते की संशोधित दरें लागू करने, वर्ष 1988 से लंबित सेवानिवृत्त कर्मियों की ग्रेज्युटी व पेंशन के भुगतान के लिए हरिद्वार की तर्ज पर नैनीताल पालिका को 10 करोड़ रुपए की धनराशि जारी करवाने, वाल्मीकि समाज के कर्मियों को उनके आवासों का मालिकाना हक दिलाने, पालिका कर्मियों को सरकार से वेतन दिलाने, पांच वर्ष से पालिकाओं में आउटसोर्स, मोहल्ला स्वच्छता समिति व संविदा पर कार्यरत कर्मियों को स्थायी नियुक्ति देने एवं पालिकाओं में ढांचे को समाप्त करने की मांग की गई।

यह भी पढ़ें : भाजपा प्रदेश अध्यक्ष से पहले प्रदेश प्रभारी भी उड़ीं उत्तराखंड के सरकारी विमान से

-खुद अपने फेसबुक पेज पर फोटो डाल कर पोल खोली
नवीन समाचार, देहरादून, 22 मार्च 2021। जी हां, इन दिनों उत्तराखंड की सत्तारूढ़ भाजपा में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक का सोमवार को राज्य सरकार के सरकारी विमान से बागेश्वर जाना और वहां उन्हें पुलिस की टुकड़ी के द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर लेना तो विवादों में आ ही चुका है, अब खुलासा हुआ है कि भाजपा की प्रदेश प्रभारी व सांसद रेखा वर्मा भी गत 21 मार्च को उत्तराखंड सरकार के सरकारी हेलीकॉप्टर से अपने संसदीय क्षेत्र लखीमपुर उत्तर प्रदेश लौटी थीं। उन्होंने बाकायदा उत्तराखंड सरकार के हेलीकॉप्टर से लखीमपुर खीरी के पुलिस लाइन मैदान मंे उतरने और वहां पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा उनका स्वागत करने का वीडियो अपने फेसबुक पेज पर विवरण सहित डाला है।
देखें भाजपा की प्रदेश प्रभारी रेखा वर्मा की उत्तराखंड सरकार के हेलीकॉप्टर से लखीमपुर में उतरने की फोटो: 

यह भी पढ़ें : सरकारी हेलीकॉप्टर से पहुंचे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष कौशिक को पुलिस की टुकड़ी ने दे दिया ‘गार्ड आफ ऑनर’, अब जाँच में कोई अदना फंसेगा ?

नवीन समाचार, बागेश्वर, 22 मार्च 2021। सोमवार को बागेश्वर पुलिस ने कमाल कर दिया। वहीं सत्तारूढ़ भाजपा के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक का बागेश्वर दौरा भी विवादों में घिर गया और विपक्ष को भी बैठे बिठाए बोलने का मौका दे दिया। बागेश्वर पुलिस की टुकड़ी ने सरकारी हेलीकॉप्टर से पहुंचे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष कौशिक को ‘गार्ड आफ ऑनर’ दे दिया। वहीं प्रदेश के डीजीपी के स्तर से मामले में संज्ञान लेने के बाद जनपद के एसपी अमित श्रीवास्तव मामले में जांच कराने की बात कर रहे हैं।

श्रीवास्तव ने कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक को गार्ड आफ आर्नर देने में पुलिस लाइन की गलती रही है। कौशिक पूर्व में कैबिनेट मंत्री थे। इसी कारण गलती से उन्हें गार्ड आफ आर्नर दे दिया गया। पुलिस लाइन के आरआइ अवकाश पर थे। प्रभारी ने यह प्रक्रिया की है। गौरतलब है कि उन्होंने स्वीकारा कि गार्ड ऑफ ऑनर देने का आदेश उनके सामने से गया है। अलबत्ता अब उनका कहना है कि इसके बावजूद भी ऐसा कैसे हुआ इसकी जांच होगी और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। लेकिन सवाल यह उठ रहा है कि जब स्वयं एसपी के सामने से आदेश गए हैं तो वाकई कोई जिम्मेदार अधिकारी फंसेगा या किसी अदने से कर्मचारी पर कार्रवाई कर इतिश्री कर ली जाएगी।
हुआ यह कि कौशिक सोमवार को पहले तो राज्य सरकार के हेलीकाप्टर से डिग्री कॉलेज के मैदान में उतरे। यहां उन्हें पुलिस की टुकड़ी ने ‘गार्ड आफ ऑनर’ दिया। इसके बाद पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनका भव्य स्वागत किया। प्रदेश अध्यक्ष ने पार्टी कार्यालय में आयोजित बैठक में कार्यकर्ताओं को मिशन 2022 के लिए तैयार रहने को कहा। बस यहीं, पुलिस टुकड़ी द्वारा सत्तारूढ़ दल के प्रदेश अध्यक्ष को इस तरह सलामी देने से विवाद हो गया। बताया गया है कि पुलिस द्वारा गार्ड आफ आर्नर प्रदेश के राज्यपाल, मुख्यमंत्री व कैबिनेट मंित्रयों के साथ ही डीएम व कमिश्नर आदि को ही दिया जा सकता है।

यह भी पढ़ें : त्रिवेंद्र के बाद उत्तराखंड भाजपा से बंशीधर की छुट्टी

नवीन समाचार, देहरादून, 12 मार्च 2021। उत्‍तराखंड में मुख्यमंत्री पद पर अप्रत्याशित ढंग से बदलाव के बाद अब प्रदेश भाजपा नेतृत्व में भी बदलाव कर पार्टी के केंद्रीय नेतृत्‍व ने चौंका दिया है। पहली बार जातीय व क्षेत्रीय संतुलन को दरकिनार कर पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं हरिद्वार से विधायक मदन कौशिक को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की कमान सौंपी की गई है। इस संबंध में कौशिक के नियुक्‍ति के आदेश भी जारी कर दिए गए हैं। माना जा रहा है कि इसके बंशीधर को मंत्री बनाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें : गैरसेंण में बजट सत्र के बीच अचानक देहरादून में भाजपा कोर ग्रुप की बैठक, सीएम बदले जाने की चर्चाएं उफान पर…

नवीन समाचार, देहरादून, 06 मार्च 2021। उत्तराखंड की राजनीति में शनिवार को अचानक हलचल बढ़ गई है। ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसेंण में चल रहे बजट सत्र को आनन-फानन में अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करके अचानक से शनिवार शाम प्रदेश भाजपा कोर ग्रुप की बैठक बुलाई गई है। इसमें शामिल होने के लिए केंद्र से दो पर्यवेक्षकों के रूप में वरिष्ठ भाजपा नेता व छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह और दुश्यंत गौतम सहित गैरसैंण में चल रहे विधानसभा सत्र से मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत, सांसद माला राज्य लक्ष्मी शाह, अजय भट्ट, राज्यसभा सांसद नरेश बंसल तथा प्रदेश भाजपा कोर ग्रुप के सदस्य भी देहरादून के बीजापुर गेस्ट हाउस पहुंच चुके हैं और बैठक शुरू हो गई है। बड़ी खबर यह आ रही है कि कोर ग्रुप की बैठक से नाराज होकर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत बाहर चले गए हैं। यह भी खबर आ रही है कि भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल बलूनी दिल्ली के भाजपा मुख्यालय पहुंच गए हैं। इस दौरान वहां गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा भी मौजूद हैं।

वहीं यह ताजा खबर भी है कि कोर ग्रुप की बैठक खत्म हो गई है। इसके बात भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत का बयान आया है कि बैठक में 18 मार्च को त्रिवेंद्र सरकार के 4 साल के कार्यकाल पूरे होने पर हुई चर्चा हुई है। राज्य में नेतृत्व परिवर्तन नहीं होने जा रहा है, और भाजपा के विधायकों में कोई मन मुटाव नहीं है।

ऐसी परिस्थितियों में सबसे बड़ी अटकल यह है कि सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत को बदला जा सकता है। उनकी जगह सांसद अजय भट्ट, डा. रमेश पोखरियाल, अनिल बलूनी, सुरेश भट्ट में से किसी को प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है। इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और भाजपा के प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम देहरादून के जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचे, जहां से बीजापुर गेस्ट हाउस के लिए रवाना हुए। उनके साथ भाजपा के वरिष्ठ नेता भी शामिल रहे। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बीजापुर गेस्ट हाउस में चल रही बीजेपी कोर ग्रुप की बैठक में कई विशेष मुद्दों पर चर्चा चल रही है। जिसमें उत्तराखंड सरकार के चार वर्ष पूरे होने पर सरकार की उपलब्धियों को जनता तक प्रभावी ढंग से पहुंचाने समेत मंत्रीमंडल में खाली तीन पदों को भरने की चर्चा की जाएगी। वहीं संभावना है कि एक दो मंत्रियों के कार्यकाल से सरकार खुश नहीं है ऐसे में उनको हटाने को लेकर भी चर्चा की जाएगी। दिल्ली से भेजे गए ये विशेष परिवेक्षक विधायकों से भी राज्य के विभिन्न मुद्दों पर चर्चा कर सकते हैं। वहीं, भाजपा सरकार का 18 मार्च को चार साल पूरा होने वाला है। ऐसे में कुछ विशेष घोषणा होना भी संभव है। सूत्र बताते हैं कि भाजपा के  राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी 12 को होने वाली बैठक में शामिल हो सकते हैं। 

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड सरकार ने 17 भाजपा नेताओं को बनाया राज्यमंत्री, नैनीताल में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की नई कार्यकारिणी गठित

नवीन समाचार, नैनीताल, 26 फरवरी 2021। उत्तराखंड सरकार ने विभिन्न आयोग, निगम व परिषदों में भाजपा के 17 नेताओं को अध्यक्ष, उपाध्यक्ष व सलाहकार के रूप में दायित्व सौंप दिए हैं। सभी को राज्यमंत्री स्तर की सुविधाएं दी गई हैं। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत की हरी झंडी के बाद शुक्रवार को गोपन विभाग ने संबंधित दायित्वधारियों को राज्यमंत्री स्तर की सुविधाएं देने का भी आदेश कर दिया है।
इनमें दो नेता कैलाश पंत व विमल सिंह निशंक सरकार में भी दर्जाधारी रह चुके हैं। वहीं, चकराता के प्रताप सिंह रावत एक बार विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के टिकट पर चुनाव भी लड़ चुके हैं। वहीं सल्ट के भाजपा नेता दिनेश मेहरा को भी राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान सलाहकार समिति में बतौर उपाध्यक्ष पद का दायित्व सोंपा गया है, जो सल्ट विधानसभा उप चुनावों के लिए दावेदारी जता रहे हैं। माना जा रहा है कि अब भाजपा इस सीट पर दिवंगत विधायक सुरेंद्र जीना के भाई महेश जीना को उप चुनाव में मैदान में उतार सकती है।
इन भाजपा नेताओं को मिले दायित्व:
-रामसूरत नौटियाल, चिन्यालीसौड़- उपाध्यक्ष राज्य स्तर मत्स्य पालक विकास अभिकरण
-कैलाश पंत, रानीखेत- अध्यक्ष राज्य आपदा प्रबंधन सलाहकार समिति
-प्रताप सिंह रावत, चकराता -उपाध्यक्ष वन विकास निगम
-कमल जिंदल, सितारगंज-उपाध्यक्ष वन व पर्यावरण सलाहकार समिति
-संजय सिंह ठाकुर, रुड़की-उपाध्यक्ष राज्य वन जीव सलाहकार बोर्ड
-मोहन सिंह मेहरा, जागेश्वर-अध्यक्ष राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य सलाहकार एवं अनुश्रवण परिषद
-डा. आशुतोष किमोठी, रुद्रप्रयाग-उपाध्यक्ष जड़ी बूटी शोध व विकास संस्थान गोपेश्वर
-हरीश दफोटी-देवीपुरा मालधन चौड़ रामनगर-अध्यक्ष हरीराम टम्टा परंपरागत शिल्प उन्नयन संस्थान
-विमल कुमार हरिद्वार-सलाहकार मुख्यमंत्री लघु उद्योग
-बेबी असवाल-पूर्व ब्लाक प्रमुख टिहरी-अध्यक्ष राज्य महिला उद्यमिता परिषद
-सुषमा रावत पौड़ी-अध्यक्ष राज्य स्तरीय महिला सतर्कता समिति
-अरुण कुमार सूद डोईवाला-अध्यक्ष राज्य स्तरीय खेल परिषद
-मुकेश कुमार-महुआडाबरा जसपुर-अध्यक्ष अनुसूचित जाति आयोग
-पं.सुभाष जोशी देहरादून-अध्यक्ष वरिष्ठ नागरिक कल्याण परिषद
-दिनेश मेहरा, सल्ट अल्मोड़ा- उपाध्यक्ष राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान सलाहकार समिति
-अनिल गोयल-देहरादून-उपाध्यक्ष उत्तराखंड नागरिक उड्डयन विकास प्राधिकरण
-राजेंद्र जुयाल, प्रतापनगर टिहरी-उपाध्यक्ष-उत्तराखंड कृषक मित्र परिषद

वहीं भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के नगर अध्यक्ष फैसल कुरैशी ने शुक्रवार को अपनी कार्यकारिणी का गठन कर लिया है। कार्यकारिणी के पदाधिकारियों के नाम जानने को नीचे क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजयुमो की नगर कार्यकारिणी का हुआ गठन, मिलीं जिम्मेदारियां

नवीन समाचार, नैनीताल, 25 फरवरी 2021। भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा के मंडल अध्यक्ष आशु उपाध्याय ने बृहस्पतिवार को नगर कार्यकारिणी का गठन कर दिया है। दिव्यांशु जोशी और फैजान पासा को उपाध्यक्ष, पारस मेहरा को महामंत्री, सुरेंद्र बिष्ट, आयुष भंडारी, रितुल कुमार व दीपक जोशी को मंडल मंत्री, मोहित रौतेला को सोशल मीडिया प्रभारी, यशवंत बिष्ट को सह सोशल मीडिया प्रभारी व नमित कुमार को कोषाध्यक्ष तथा सादाब खान, मोनू आर्या, करन कुमार, मनोज कुमार, खीम सिंह बिष्ट व अजय कुमार को नगर कार्यकारिणी सदस्य मनोनीत किया गया है। सभी नवनियुक्त पदाधिकारियों को प्रदेश, जिला, मंडल पदाधिकारियों और विधायक संजीव आर्या ने शुभकामनाएं दी हैं।

यह भी पढ़ें : पूर्व ब्लॉक प्रमुख सहित कई कांग्रेसी भाजपा में शामिल

नवीन समाचार, नैनीताल, 13 फरवरी 2021। कांग्रेस की वरिष्ठ नेत्री एवं कोटाबाग की पूर्व ब्लॉक प्रमुख कोटाबाग भारती बिष्ट, पूर्व क्षेत्र पंचायत सदस्य एवं ग्राम प्रधान प्रभा पांडेय, नवीन चंद्र जोशी, निर्मल अग्रवाल आदि लोग भाजपा में शामिल हो गए हैं। इन लोगों ने काबीना मंत्री यशपाल आर्य की मौजूदगी में उनके प्रयासों से भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। इस मौके पर मौजूद रहे नैनीताल विधायक संजीव आर्य ने भाजपा में शामिल हुए नए लोगों का पार्टी में स्वागत व अभिनंदन किया है।

कांग्रेस नेताओं को भाजपा में शामिल कराते काबीना मंत्री यशपाल आर्य, साथ में संजीव आर्य।

यह भी पढ़ें : भाजपा महिला मोर्चा की कार्यकारिणी का विस्तार

नवीन समाचार, नैनीताल, 23 जनवरी 2021। भाजपा महिला मोर्चा की मंडल अध्यक्ष दीपिका बिनवाल ने शनिवार को नगर कार्यकारिणी का विस्तार किया। उन्होंने राधा खोलिया, रजनी चौधरी, सुनीता बिष्ट, भावना पपनै व मंजू जोशी को उपाध्यक्ष, कविता गंगोला को महामंत्री, टी शाह, कविता सिंह, ऊषा आर्या, चंद्रा जोशी व हंसी बिष्ट को मंत्री, लता नेगी को मीडिया प्रभारी, आरती कैड़ा को सह मीडिया प्रभारी, रूही अहमद को सोशल मीडिया प्रभारी, रमा भट्ट को सहसोशल मीडिया प्रभारी तथा उमा बिष्ट को कोषाध्यक्ष की जिम्मेदारी सोंपी।

यह भी पढ़ें : भाजयुमो की कार्यकारिणी गठित, अध्यक्ष ने बांटी रेवड़िया… हल्द्वानी को सब देय…..

नवीन समाचार, नैनीताल, 20 जनवरी 2021। भारतीय जनता युवा मोर्चा के नैनीताल जिलाध्यक्ष योगेश रजवार ने बुधवार को जिला कार्यकारिणी का गठन करने के साथ ही नगर मंडलों के अध्यक्षों की घोषणा कर दी है। जिला कार्यकारणी में चार उपाध्यक्ष, दो महामंत्री, पांच मंत्री, एक कोषाध्यक्ष तथा मीडिया व सोशल मीडिया के प्रभारी व सह प्रभारी बनाए गए हैं। दिलचस्प बात यह भी है कि हल्द्वानी निवासी रजवार ने जिला कार्यकारिणी में 18 में से हल्द्वानी पश्चिमी से चार सहित कुल 10 पदाधिकारी हल्द्वानी से बनाए हैं। वहीं जनपद के अन्य मंडलों को कमोबेश एक-एक पद ही मिले हैं। जिला मुख्यालय से मोहित साह को जिला सह मीडिया प्रभारी बनाया गया है, वहीं आशु उपाध्याय को नैनीताल जिला मुख्यालय का मंडल अध्यक्ष बनाया गया है।
देखें पूरी कार्रकारिणी :

यह भी पढ़ें : सूरज बने भाजपा अनुसूचित मोर्चे के जिला मंत्री

नवीन समाचार, कालाढुंगी, 30 दिसम्बर 2020। भाजपा अनुसूचित मोर्चे ने युवा, कर्मठ व तेजतर्रार सूरज गोंडियाल को जिला मंत्री बनाया है। जिला मंत्री बनाए जाने पर सूरज गोंडीयाल ने मोर्चे के जिला अध्यक्ष सहित वरिष्ठ जनों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि पार्टी ने जो जिम्मेदारी दी है उसको वह पूरी शक्ति से निभाने व पार्टी की नीतियो को जनजन तक पहुचाने की कोशिश करेंगे। बताते चलें कि सूरज पार्टी में बूथ अध्यक्ष पद से कार्य शुरू करते हुए अनुसूचित मोर्चा के नगर उपाध्यक्ष, अध्यक्ष हल्द्वानी महानगर व वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष आदि पदों पर रहकर अपनी जिम्मेदारी का ईमानदारी से निर्वाहन कर चुके हैं। उनके विभिन्न दायित्वों पर रहते हुए पार्टी के प्रति ईमानदारी व लगन को देखते हुवे उन्हंे प्रदेश व जिला नेतृत्व ने एक बार फिर भरोसा जताते हुए नैनीताल जिले का भारतीय जनता पार्टी अनुसूचित मोर्चे का जिला मंत्री बनाया है, और उन्हें बहुत-बहुत बधाई व शुभकामनाएं दी हैं।

यह भी पढ़ें : भाजपा अनुसूचित मोर्चा की जिला कार्यकारिणी व विभिन्न मंडल अध्यक्षों की घोषणा, नैनीताल से नहीं मिल पाए योग्य पदाधिकारी !

नवीन समाचार, नैनीताल, 29 दिसम्बर 2020। भारतीय जनता पार्टी के अनुसूचित मोर्चा के जिलाध्यक्ष प्रकाश आर्य ने मंगलवार को जिला कार्यकारिणी का गठन एवं विभिन्न मंडलों के अध्यक्षों की घोषणा कर दी है। खास बात यह है कि कार्यकारिणी में नैनीताल मंडल सहित कुछ अन्य मंडलों के एक भी पदाधिकारी को जगह नहीं दी गई है। वहीं नैनीताल मंडल के अध्यक्ष पद की घोषणा भी नहीं नहीं हो पाई है। लगता है कि पार्टी को यहां इन पदों हेतु योग्य कार्यकर्ता नहीं मिल पाए। कार्यकारिणी में उमेश राम, नारायण राम, भुवन आर्या व जीवन आर्य को जिला उपाध्यक्ष, रवींद्र बाली व देवेंद्र कुमार को महामंत्री, सूरज गौदियाल, नवीन टम्टा, ईश्वरी राम, केशव राम व संजय कुमार को मंत्री तथा रवि कुमार को कोषाध्यक्ष बनाया है।
वहीं भुवन चंद्र को गरमपानी, किशोर कुमार को बेतालघाट, संदीप कुमार को भवाली, अनिल कुमार को भीमताल, हरीश चंद्र को रामगढ़, विरेंद्र कुमार को कालाढुंगी, दिवान चंद्र को मालधनचौड़, महेश लाल को कोटाबाग, हेमंत कुमार को बिंदूखत्ता, मनोज मौर्या को लालकुआं, आशीष कुमार को रामनगर, इंदर लाल को रामनगर ग्रामीण, योगेश राजौर को हल्द्वानी, योगेश आर्य को हल्द्वानी पूर्वी, अरुण कुमार को हल्द्वानी उत्तरी, भुवन आर्य को हल्द्वानी पश्चिमी व अनिल कुमार आर्य को धारी का नगर मंडल अध्यक्ष बनाया गया है।

यह भी पढ़ें : भाजपा नेता ने मूल कार्यकर्ताओं की उपेक्षा, दूसरे दलों से आये लोगों को प्राथमिकता की शिकायत करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष को लिखा पत्र

नवीन समाचार, नैनीताल, 25 नवम्बर 2020। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एवं भारतीय जनता पार्टी के जनपद के बेतालघाट निवासी एक कार्यकर्ता बिशन सिंह जंतवाल ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को पत्र लिखकर पार्टी के मूल कार्यकर्ताओं की उपेक्षा करने का आरोप लगाया है। संघ के स्वयं सेवक सदस्य तथा भारतीय जनता पार्टी के नैनीताल लोक सभा के सोशल मीडिया सहसंयोजक, 2017 में नैनीताल विधानसभा के चुनाव प्रबंधन समिति के सदस्य एवं बेतालघाट के भाजपा मंडल मंत्री रहे जंतवाल ने पत्र में कहा है कि एक ओर पार्टी देश-प्रदेश दोनों जगहों पर कार्यकर्ताओं की हाड़तोड़ मेहनत के परिणाम स्वरूप सत्तासीन है। लेकिन जिन मूल कार्यकर्ताओं ने पार्टी को इन बुलंदियों तक पहुंचाने का कार्य किया, आज उन्हीं का ह्रदय क्रंदन कर रहा है। उन्हें अपमान, धमकी व दबाव आदि के हथकंडे अपना कर हतोत्साहित और डराया धमकाया जा रहा है। यह भी आरोप लगाया है कि पार्टी में कुछ स्वार्थी तथा दूसरे राजनीतिक दलों से सरकारी सुख-भोग के लालच में शामिल हुए लोगों को प्राथमिकता मिल रही है।
उनका कहना है कि वह नैनीताल विधानसभा की बेतालघाट विकास खंड के ग्राम पंचायत धारी खैरनी के स्थायी निवासी और भाजपा के मूल कार्यकर्ता हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने उन्हें उनकी निष्ठा और पाटी के प्रति समर्पित कार्यकर्ता होने के लिए प्रशंसा पत्र भी दिया है। उनके गांव के इन प्राकृतिक जल स्रोतों पर गांव के ही कुछ राजनीति संरक्षण प्राप्त दबंगों ने अवैध कब्जा किया है। उनके द्वारा अपने परिवार के अलावा किसी भी ग्रामवासी को पीने के लिए जल लेने से रोका जा रहा है और राजनीतिक संरक्षण प्राप्त होने के कारण वह प्रशासनिक अधिकारियों को भी अपने दबंगई के बल पर प्रभावित कर रहे हैं और फोन आदि माध्यमांे से उल्टा ग्रामीणों को धमकाया जा रहा है। इसकी शिकायत उन्होंने विभिन्न प्रशासनिक अधिकारियों व मुख्यमंत्री शिकायत एप पर की थी। लेकिन कार्रवाई नहीं हो रही है।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री सहित भाजपा-कांग्रेस के चार विधायकों एवं पूर्व सांसद के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी

-8 वर्ष पहले दूसरे समुदाय के युवक द्वारा किशोरी को भगाने का मामला…
नवीन समाचार, काशीपुर, 16 अक्टूबर 2020। वर्ष 2012 में यानी आठ वर्ष पहले जसपुर में एक किशोरी को दूसरे समुदाय का युवक भगा ले गया था। उस किशोरी की बरामदगी की मांग को लेकर जनप्रतिनिधियों की अगुवाई में जनता ने हाईवे जाम कर दिया था। अब इस मामले में अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत ने उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे के साथ उनके राजनीतिक गुरु व पूर्व सांसद बलराज पासी, काशीपुर के विधायक हरभजन सिंह चीमा, जसपुर के विधायक आदेश चौहान व रुद्रपुर के विधायक राजकुमार ठुकराल सहित 16 आरोपियों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किये हैं। कोर्ट ने इन सभी की गिरफ्तारी के लिये विशेष टीम गठित कर आगामी 23 अक्तूबर तक आरोपियों को कोर्ट में पेश करने को कहा है। साथ ही ताकीद की है कि आदेशों के पालन में हीलाहवाली करने को कोर्ट की अवमानना माना जाएगा।
उल्लेखनीय है कि 2012 में समुदाय विशेष का एक युवक दूसरे समुदाय की युवती को लेकर फरार हो गया था। युवती की बरामदगी को लेकर तमाम संगठनों ने प्रदर्शन किया था। तत्कालीन भाजपा नेता आदेश चौहान (वर्तमान में कांग्रेस विधायक जसपुर), रुद्रपुर विधायक राजकुमार ठुकराल, विधायक अरविंद पांडे (वर्तमान शिक्षा मंत्री), विधायक हरभजन सिंह चीमा व पूर्व सांसद बलराज पासी सहित कई लोगों ने प्रदर्शन कर सुभाष चौक के करीब हाईवे को कई घंटों के लिए जाम कर दिया था। इस पर तत्कालीन एएसपी जगतराम जोशी ने लाठीचार्ज कर भीड़ को तितर बितर किया था, और हाईवे जाम करने वाले लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। हाईवे जाम का मामला काशीपुर के अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की कोर्ट में विचाराधीन रहा, अलबत्ता राज्य सरकार ने इनके मुकदमे को वापस लेने के आदेश भेज दिए थे.. लेकिन अदालत ने सरकार का आदेश नहीं माना तो आरोपियों ने जिला न्यायालय की शरण ली। इधर, बीते सोमवार को जिला न्यायालय ने सभी आरोपियों की पुर्नविचार याचिका को खारिज कर दिया था। इस पर अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट विनोद बर्मन की अदालत ने शिक्षा मंत्री, विधायक हरभजन सिंह चीमा, विधायक राजकुमार ठुकराल, विधायक आदेश चौहान, पूर्व सांसद बलराज पासी सहित 16 आरोपियों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिये औरएएसपी को विशेष टीम गठित कर आरोपियों को 23 अक्तूबर तक न्यायालय में पेश करने के आदेश दिए हैं। न्यायालय ने आदेश में कहा कि अपर पुलिस अधीक्षक वारंट तामिल करने और गिरफ्तारी को विशेष टीम गठित करें। साथ ही टीम की कार्रवाई की रिपोर्ट, टीम के सभी सदस्यों की लोकेशन और सीडीआर भी न्यायालय में पेश करें। कोर्ट ने कहा है कि मामले में हीलाहवाली करने को न्यायालय की अवमानना माना जाएगा।

यह भी पढ़ें : नैनीताल भाजपा ने किया ‘कमाल’, 14 वर्षों से थामे कांग्रेसी हाथ में पकड़ाया ‘कमल’

-कांग्रेस छोड़कर समर्थकों सहित भाजपा में शामिल हुईं 14 वर्ष से कांग्रेस से जुड़ी कांग्रेस की प्रदेश उपाध्यक्ष व नगर पालिका सभासद


वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री गजाला कमाल को भाजपा की सदस्यता ग्रहण कराते जिला महामंत्री व प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य।

नवीन समाचार, नैनीताल, 14 अक्टूबर 2020। सत्तारूढ़ भाजपा को सामान्यतया अल्पसंख्यकों की पार्टी नहीं माना जाता। किंतु बुधवार को 14 वर्षों से कांग्रेस पार्टी से जुड़ी, महिला कांग्रेस की प्रदेश उपाध्यक्ष व नगर पालिका सभासद गजाला कमाल कांग्रेस पार्टी को छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गईं। जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट के प्रतिनिधि के तौर पर जिला महामंत्री कमल नयन जोशी ने भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य गोपाल रावत के साथ श्रीमती कमाल को भाजपा की सदस्यता दिलाई। कमाल के साथ 50 से अधिक समर्थक परिवारों के प्रमुखों भी भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। इनमें अधिकांश अल्पसंख्यक वर्ग के हैं।
उल्लेखनीय है कि गजाला वर्ष 2006 में यूथ कांग्रेस की नगर उपाध्यक्ष के रूप में कांग्रेस से जुड़ी थीं। इसके बाद वह महिला कांग्रेस और कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ की नगर अध्यक्ष, महिला कांग्रेस की जिला महामंत्री रहीं, तथा वर्तमान में प्रदेश उपाध्यक्ष महिला कांग्रेस थीं। उन्होंने कहा कि उन्होंने कांग्रेस पार्टी में रहते हुए पूरी निष्ठा से कार्य किया है। लेकिन जब उन्हें पार्टी की जरूरत पड़ी तब उन्हें साथ नहीं मिला। उन्होंने कहा कि कोविद की वजह से अभी सीमित लोगों को कार्यक्रम में बुलाया गया है। आगे अल्पसंख्यकों को भाजपा से जोड़ेंगी और अल्पसंख्यकों के लिए काम करेंगी। यह भी उल्लेखनीय है कि गजाला महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य की भी काफी करीबी रही हैं, जो नैनीताल से ही हैं। इस प्रकार गजाला के पार्टी छोड़ने से सीधे तौर पर श्रीमती आर्य के संगठन कौशल पर भी सवाल उठ रहे हैं। इस मौके पर भाजपा नगर अध्यक्ष आनंद बिष्ट, महामंत्री व सभासद मोहन नेगी, वरिष्ठ नेता अरविंद पडियार, दयाकृष्ण पोखरिया, कुंदन बिष्ट सहित बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : बिग ब्रेकिंग: भाजपा की जंबो कार्यकारिणी एवं मोर्चो की हुई घोषणा

नवीन समाचार, देहरादून, 05 अक्टूबर 2020। लंबे इंतजार के बाद भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने अपनी जंबो प्रांतीय कार्यसमिति का विस्तार कर दिया है। टीम में 87 सदस्य, 21 स्थायी आमंत्रित व 28 विशेष आमंत्रित सदस्य शामिल किए गए हैं। समिति में सबसे ज्यादा 21 सदस्य प्रांतीय अध्यक्ष के गृह जनपद नैनीताल जिले के हैं। जबकि हरिद्वार से 13, देहरादून जिला व महानगर से 11, यूएसनगर से नौ, अल्मोड़ा से सात, पिथौरागढ़ से छह, टिहरी से पांच, रुद्रप्रायग, पौड़ी व बागेश्वर से तीन-तीन सदस्य लिए गए हैं।
भाजपा प्रांतीय अध्यक्ष बंशीधर भगत के निर्देश पर प्रांतीय महामंत्री द्वारा जारी सूची के अनुसार प्रदेश कार्य समिति सदस्य में पवन चौहान, सचिन शाह, प्रदीप पाठक, गोपाल रावत, समीर आर्य, चंदन बिष्ट, राकेश नैनवाल, साकेत अग्रवाल, दीपा ढौढ़ियाल, महेश खुल्बे, प्रमोद टोलिया, मनीष अग्रवाल, प्रकाश गजरौला, खीमा शर्मा, धर्मदत्त सती, गोपाल बुड़लाकोटि, बीना आर्य, शांति मेहरा, निर्मला रावत, शांति भट्ट व धीरेंद्र रावत (नैनीताल), जगत सिंह चौहान, विमला नौटियाल, सुधा गुप्ता (उत्तरकाशी), अनिल नौटियाल (चमोली), दिनेश बगवाड़ी, विजय कपरवाण व सरला खंडूड़ी (रुद्रप्रयाग), संजय नेगी, मदन रावत, गिरीश बमवाण, खेम सिंह चौहान व गीता रावत (टिहरी), संजीव सैनी, देवेंद्र नेगी, कमला चौहान, मंजू नेगी, सरिता जोशी व सुरेंद्र मोधा (दून जिला), सचिन गुप्ता, वीरेंद्र बिष्ट, राजपाल रावत, सुमित अदलखा व हरीश डोरा (महानगर) ओमप्रकाश जमदग्नि, नरेश शर्मा, सुशील त्यागी, अजित चौधरी,ललित मोहन अग्रवाल, सुरेश जैन, श्यामवीर सैनी, हर्ष कुमार दौलत, कमला जोशी, कामिनी सड़ाना, नागेंद्र, पवन तोमर व सुभाष चंद्र (हरिद्वार), ऋषि कंडवाल, शैलेंद्र बिष्ट व सुनीता चंदेल बौड़ाई (पौड़ी), वीरेंद्र पाल महाराज, लोकेश भड़, महेंद्र लुंठी, शमशेर सत्याल, राकेश देवलाल व गिरीश जोशी (पिथौरागढ़), शेर सिंह गड़िया, विक्रम शाही व दीपा आर्य (बागेश्वर), अनिल शाही, नरेंद्र भंडारी, कैलाश पंत, अरविंद बिष्ट, ज्योति शाह मिश्रा, रमेश बहुगुणा व लता वोहरा (अल्मोड़ा), शंकर पांडेय (चंपावत), राम मल्होत्रा, हरविंदर सिंह विर्क, सुमन राय, खूब सिंह विकल, वरुण अग्रवाल, संतोष अग्रवाल, गीता सक्सेना, मंजू यादव व लता सिंह को शामिल किया है।
इनके अलावा मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत, सभी पूर्व मुख्यमंत्री, सांसद, पूर्व सांसद, पूर्व प्रांतीय अध्यक्ष व कैबिनेट के सभी सदस्यों सहित 21 स्थायी आमंत्रित सदस्य रखे गये हैं। जबकि भाजपा ने पहली बार राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल के बेटे शौर्य डोभाल को प्रांतीय विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में शामिल किया गया है। साथ ही भरत सिंह रावत व स्वराज विद्वान (उत्तरकाशी), मोहन प्रसाद थपलियाल (चमोली), महावीर पंवार (रुद्रप्रयाग), रघुवीर पंवार (टिहरी), संतोष रावत व रामेश्वर लोधी (देहरादून), नरेश बंसल, ज्योति प्रसाद गैरोला, विश्वास डाबर व भाष्कर नैथानी (महानगर), कुसुम गांधी, शोभराम प्रजापति व पंकज सहगल (हरिद्वार), शर्ौ्य डोभाल व वीएल मधवाल (पौड़ी), केदार जोशी व वीरेंद्र शाह (पिथौरागढ़), बलवंत सिंह भौर्याल (बागेश्वर), गोविंद पिलखवाल (अल्मोड़ा), नरेंद्र लड़वाल (चंपावत), गजराज बिष्ट व दिनेश आर्य (नैनीताल), बलराज पासी, सुरेंद्र चौहान,उत्तम दत्ता, यशपाल घई व कृपाल सिंह सामंत (यूएसनगर) भी विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में शामिल किए गए हैं।

पांच प्रांतीय मोर्चों के पदाधिकारी भी घोषित
देहरादून। भाजपा के पांच प्रांतीय मोर्चों-महिला मोर्चा, अनुसूचित जाति, किसान, ओबीसी और अनुसूचित जनजाति मोर्चा के अध्यक्षों का ऐलान भी कर दिया है। प्रांतीय ओबीसी मोर्चा मंे प्रदेश अध्यक्ष राकेश गिरी (हरिद्वार), महामंत्री किरण सिंह (हरिद्वार), उपाध्यक्ष नेत्रपाल मौर्य, चमनलाल चौधरी, दीपक सालार, आदित्य राज सैनी, अजय वर्मा, नरेश धीमान, प्रदेश मंत्री चौधरी धीर सिंह रोड़, कुलदीप गंगवार, कंचन कश्यप, गोविंद वर्मा, भरत लाल, रामपाल राठौर, कोषाध्यक्ष अमित सैनी, मीडिया प्रभारी जितेंद्र वर्मा, सह मीडिया प्रभारी प्रदीप गिरी, सोशल मीडिया प्रभारी पवन भारद्वाज, सोशल मीडिया सह प्रभारी मुकेश पाल, कार्यालय प्रभारी सत्यपाल सैनी, गढ़वाल संयोजक राकेश कांबोज, सह संयोजक सुनील भंडारी, कुमाऊं संयोजक कमलेश कुमार, सह संयोजक दुर्गेश गुप्ता, ओबीसी मोर्चा के देहरादून के जिलाध्यक्ष राम बहादुर क्षेत्री, जिलाध्यक्ष उत्तरकाशी राजेश राणा, चमोली कुलदीप सिंह चौहान, रुद्रप्रयाग अरिवंद गोस्वामी, टिहरी मस्ता सिंह नेगी, देहरादून महानगर अनिल बेदी, हरिद्वार प्रदीप पाल, पौड़ी ब्रजपाल, पिथौरागढ़ गोपाल चंद, बागेश्वर शिशुपाल पुरी, अल्मोड़ा कैलाश नाथ गुसाईं, चंपावत विक्रम गोस्वामी, नैनीताल महेंद्र कश्यप, रुद्रप्रयाग मनोज प्रजापति बनाए गए हैं।
इसी तरह महिला मोर्चा में प्रदेश अध्यक्ष ऋतु खंडूडी, उपाध्यक्ष अनुराधा वालिया, सुषमा रावत, दीपाली कन्याल, मीनू बिष्ट, कंचन ठाकुर, आनंदी राणा, महामंत्री अन्नू मक्कड़, मोहिनी पोखरिया, मंत्री बबीता सहोत्रा, भावना शर्मा, वंदना ठाकुर बिष्ट, किरण पंत, भावना रावत, रीना गोयल, कोषाध्यक्ष नंदनी शर्मा, मीडिया प्रभारी मोनिका गुप्ता, सह मीडिया प्रभारी ऋतु मित्रा, विमला रावत, सोशल मीडिया प्रभारी पूनम शर्मा को बनाया गया है। जबकि जिलाध्यक्ष उत्तरकाशी कृष्णा राणा, चमोली चंद्रकला तिवारी, रुद्रप्रयाग कुंवरी बर्थवाल, टिहरी रेखा राणा, देहरादून जिला रचिता ठाकुर, महानगर कमली भट्ट, हरिद्वार रीता चमोली, पौड़ी नीलम मंदोलिया, पिथौरागढ़ माला सोन, बागेश्वर सविता नगरकोटी, अल्मोड़ा ममता भट्ट, चंपावत निर्मला अधिकारी, नैनीताल प्रतिभा जोशी, यूएसनगर शैली फुटेला बनाए गए हैं।
वहीं अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश राणा, जबकि महामंत्री दिनेश सिंह राणा, राजवीर सिंह राठौर, उपाध्यक्ष सिवता महेता, नवीन टाकुली, हरीश गुंज्याल, गगन सिंह रजवार, कृष्णा तोमर, सुरेंद्र सिंह चौहान, भुवन सिंह राणा, मंत्री नेपाल सिंह राणा, राकेश सिंह, नंदी राणा, कैलाश पांगती, सरदार सिंह चौहान, दलवीर सिंह नेगी, गीताराम तोमर, कोषाध्यक्ष विजयपाल सिंह रावत, मीडिया प्रभारी सत्यवीर सिंह चौहान, कार्यालय प्रभारी विशन सिंह शर्मा, गढ़वाल संयोजक श्याम सिंह चौहान, सह संयोजक खुशाल सिंह नेगी, मोहर सिंह, कुमाऊं संयोजक महेश सिंह गर्ब्याल, सह संयोजक लक्ष्मण सिंह रावत बनाए गए हैं।
इसी तरह अनुसूचित जनजाति मोर्चा के चमोली जिलाध्यक्ष पुष्कर सिंह राणा, जिलाध्यक्ष उत्तरकाशी भगवान सिंह राणा, देहरादून रमेश सिंह चौहान, महानगर बचन सिंह रावत, पिथौरागढ़ मनोहर दरियाल, बाजपुर महेंद्र सिंह, चंपावत राजेंद्र सिंह राणा, चंपावत लक्ष्मी देवी को बनाया गया है।

यह भी पढ़ें : राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा से मिले नाराज विधायकों के अगुवा, सवाल-क्या कारगर रहा नाराजगी का दांव या निष्कंटक हुई त्रिवेंद्र की राह ?

नवीन समाचार, नैनीताल, 02 सितंबर 2020। प्रदेश की नौकरशाही से नाराज चल रहे भाजपा के 6 बार के वरिष्ठ विधायक एवं पूर्व प्रदेश अध्यक्ष बिशन सिंह चुफाल बुधवार को नई दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिले। इस दौरान उन्होंने प्रदेश के मौजूदा सिसासी हालात पर चर्चा करने के साथ ही सीमांत में संचार, सड़क व हवाई सेवाओं को विकसित करने का मुद्दा भी उठाया। उनकी इस मुलाकात को लेकर राज्य के सिसासी हलकों में भी तमाम तरह की अटकलें लगने लगी हैं। यह भी संकेत मिले हैं प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन कराने का नाराज विधायकों का दांव कारगर साबित नहीं हुआ है, और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत की राह निष्कंटक बनी हुई है।
उल्लेखनीय है कि राज्य में लंबे समय से कुछ विधायक मुखरता से आवाज उठा रहे हैं। अपनी नाराजगी की वजह वह प्रदेश में नौकरशाही के हावी व बेलगाम होने, अधिकारियों द्वारा उनकी न सुनने, जनता के फोन भी उठाने, बिना जनप्रतिनिधियों को विश्वास में लिए मनमानी से कार्य करने आदि के आरोप लगा रहे हैं। इसी कड़ी में नाराज विधायकों के एक सितंबर को नैनीताल में गुप्त बैठक बात करने के बाद बुधवार को हल्द्वानी में बैठक करने की चर्चा थी, किंतु इससे पहले ही नाराज विधायकों की अगुवाई कर रहे चुफाल को दिल्ली बुला लिया गया। बुधवार को दिल्ली में उनकी मुलाकात भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से हुई। मुलाकात की पुष्टि करते हुए चुफाल का कहना है कि उन्होंने उन्हें अपने क्षेत्र की समस्याओं से अवगत कराया है और कहा कि डीडीहाट विधानसभा क्षेत्र में नेपाल सीमा से लगे इलाकों में नेटवर्क से संबंधित समस्या, नैनी सैनी हवाई अड्डे से हवाई सेवा सुचारू करवाने आदि मांगों को लेकर राष्ट्रीय अध्यक्ष से बात की। कुछ सीमा क्षेत्र से लगी सड़कों के निर्माण का मुद्दा भी उनके समक्ष रखा। इस समय कोविड के चलते सभी मंत्रियों से मिलना संभव नहीं है। इसलिए सभी बातें राष्ट्रीय अध्यक्ष के समक्ष ही रखी। वहीं नौकरशाही से नाराजगी वाली बात पर उनका कहना था कि यह मामला प्रदेश स्तर का है। मैंने प्रदेश नेतृत्व को अवगत करा दिया है, इस पर उन्हीं को निर्णय लेना है। गौरतलब है कि चुफाल जिन मुद्दों को राष्ट्रीय अध्यक्ष के सामने रखने की बात कर रहे हैं, वह वास्तव में केंद्र के मुद्दे ही नहीं, बल्कि राज्य के मुद्दे हैं। ऐसे में यह कयास लगाए जा रहे हैं कि वास्तव में विधायकों की चिंता आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर है, और वे इस संबंध में प्रदेश नेतृत्व के प्रति अपनी नाराजगी केंद्रीय नेतृत्व के समक्ष पहुंचा आए हैं। यह भी बताया जा रहा है कि नाराज विधायकों का इस बार का दांव भी पहले ही खुल जाने के कारण बेकार ही चला गया है। इतना भर हुआ है कि केंद्रीय नेतृत्व ने उन्हें वार्ता के लिए बुला लिया और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत की राह फिलहाल निष्कंटक ही है।

यह भी पढ़ें : 14 महीने बाद दबंग विधायक की भाजपा में हुई घर वापसी, एक अन्य विधायक को भी माफी, पर नजरें दो अन्य विधायकों पर

नवीन समाचार, देहरादून, 24 अगस्त 2020। अनुशासनहीनता के कारण पार्टी से निष्कासित खानपुर विधायक कुंवर प्रणव चौंपियन की भाजपा में वापसी हो गई है। प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने इसकी पुष्टि की है। वहीं देशराज कर्णवाल को भी माफ कर दिया गया है। दोनों पर लगे आरोपों पर रविवार को चैंपियन और कर्णवाल का पक्ष सुनने के बाद प्रदेश अध्यक्ष ने सोमवार को अपना फैसला सुनाया। चैंपियन की 14 महीने बाद हुई पार्टी में वापसी हुई है। प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कहा कि एक साल से चैंपियन ने कोई विवादित बयान नहीं दिया। वे मर्यादा में रहे। उन्होंने लिखित में माफी मांगी है। चैंपियन ने इस मौके पर कहा, ‘मैं माफी मांगता हूं। देवभूमि मुझे माफ करेगी।’खानपुर विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन
इधर भाजपा कोर ग्रुप की बैठक में चार विवादित विधायकों का मसला उठा। जिस पर कुछ सदस्यों ने चिंता जाहिर की। उनका मत था विधायकों की गुस्ताखियों और हरकतों की वजह से पार्टी और सरकार की छवि प्रभावित हो रही है। विधायकों को कड़ा संदेश देने पर जोर दिया गया। बैठक के बाद प्रदेश अध्यक्ष ने चौंपियन और कर्णवाल को आज ही तलब कर उनका पक्ष सुन लिया था।
वहीं महिला प्रकरण में फंसे द्वारहाट विधायक महेश नेगी व सरकार के जीरो टॉलरेंस पर सवाल उठाने वाले लोहाघाट विधायक पूरन फर्त्याल को भी सोमवार को बुलाया गया है। आगे देखना होगा कि इन दो विधायकों पर पार्टी क्या निर्णय लेती है।

यह भी पढ़ें : ‘छोटी’ प्रेस वार्ता में प्रदेश अध्यक्ष ने बताया ‘बड़ी’ प्रेस वार्ताओं में करेंगे केंद्र व राज्य सरकार की उपलब्धियों का खुलासा..

-पत्रकारिता दिवस पर केंद्र सरकार द्वारा 6 वर्ष में पत्रकारों के लिए किये गये कार्यों की जानकारी नहीं दे पाये प्रदेश अध्यक्ष
नवीन समाचार, नैनीताल, 30 मई 2020। देश-प्रदेश में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत शनिवार को केंद्र की मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल ‘मोदी 2.0’ का एक वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर मुख्यालय में थे। यहां वह पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष मुकेश जोशी के आवास पर उनकी माता के देहावसान पर शोक संवेदना व्यक्त करने गये। इसके उपरांत उन्होंने नैनीताल क्लब में आयोजित पत्रकार वार्ता को संबोधित किया।
इस अवसर पर उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने पिछले एक वर्ष में धारा 370 हटाने, तीन तलाक खत्म करने, नागरिकता संशोधन विधेयक पारित करने, यूपी एवं केंद्र सरकार की बेहतर पैरवी से सर्वोच्च न्यायालय के आदेश पर अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण, आम लोगों के लिये करों में राहत देने जैसे उल्लेखनीय कार्य किये हैं, और आगे केंद्र सरकार ‘हर घर को नल-हर घर को जल’ एवं पूरे देश में ‘एक राशन कार्ड’ योजनाएं चलाने जा रही है। बताया कि आगे तीन से सात मई तक प्रदेश भाजपा आठ-नौ स्थानों पर ‘बड़ी’ पत्रकार वार्ता करके और भी कई उपलब्धियों का खुलासा करेंगे। साथ ही प्रदेश के कार्यकर्ता जिलों, जिलों के कार्यकर्ता मंडलों, मंडलों के कार्यकर्ता शक्ति केंद्रों एवं शक्ति केंद्रों के कार्यकर्ता बूथों पर चुनाव के पन्ना प्रमुखों की तर्ज पर दो-दो लोगों की टीमें बनाकर घर-घर केंद्र सरकार की उपलब्धियों के अभी बन न पाये ‘संकल्प पत्र’ पहुंचाएंगे। अलबत्ता यह पूछे जाने पर कि क्या यहां वे ‘छोटी’ प्रेस वार्ता को संबोधित कर रहे हैं, वे निरुत्तर नजर आये। उन्होंने पत्रकारों को हिंदी पत्रकारिता दिवस की बधाइयां भी दीं, लेकिन केंद्र सरकार द्वारा छह वर्षों में एवं राज्य सरकार द्वारा तीन वर्षों में कोरोना की महामारी के दौर में कोरोना योद्धाओं के रूप में लड़ने के बावजूद पत्रकारिता व पत्रकारों के लिये किये गये कार्यों की भी वे जानकारी नहीं दे पाये। इस अवसर पर उनके साथ पार्टी के प्रदेश महामंत्री राजेंद्र भंडारी, पूर्व जिलाध्यक्ष एवं बागेश्वर के जिला प्रभारी देवेंद्र ढैला, नगर मंडल अध्यक्ष आनंद बिष्ट, पूर्व अध्यक्ष मनोज जोशी, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य गोपाल रावत, अरविंद पडियार, विवेक साह, भानु पंत, कुंदन बिष्ट, दया किशन पोखरिया, मोहित साह, रुचिर साह, गोविंद बिष्ट सहित बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : भाजपा प्रदेश अध्यक्ष आये नैनीताल, यह रहा कार्यक्रम

-भाजपा कार्यकर्ताओं ने प्रदेश अध्यक्ष भगत को भेंट किये सैनिटाइजर व हस्तनिर्मित मास्क

नवीन समाचार, नैनीताल, 21 मई 2020। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत बृहस्पतिवार को लंबे समय के बाद मुख्यालय पहुंचे। यहां उन्होंने भाजपा के बहादुर सिंह रौतेला व रंगकर्मी मिथिलेश पांडे की माताओं तथा नगर निवासी चमन लाल के गत दिवस हुए निधन पर उनके परिवारों में शोक-संवेदना व्यक्त की और सांत्वना दिलाई। इस दौरान वे लॉक डाउन होने की वजह से दो पहिया वाहनों से शोक संतप्त परिवारों के घरों तक पहुंचे, अलबत्ता कुछ मौकों पर अति उत्साह में भाजपा कार्यकर्ता लॉक डाउन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर बरती जाने वाली दो गज की सामाजिक-शारीरिक दूरी के सिद्धांत का अतिक्रमण करते नजर आये।
इसके उपरांत उन्होंने जिला-मंडल मुख्यालय में पार्टी के संगठन को मजबूत करने के लिए प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य गोपाल रावत, मंडल अध्यक्ष आनंद बिष्ट, जिला महिला मोर्चा की अध्यक्ष जीवंती भट्ट, नैनीताल विधानसभा के मीडिया प्रभारी विश्वकेतु वैद्य, पूर्व युवा मोर्चा महामंत्री रोहित भाटिया, मीनू बुधलाकोटी, कलावती असवाल आदि से विचार-विमर्श किया। इस मौके पर नैनीताल मंडल के कार्यकर्ताओं ने उन्हें हैंड सैनिटाइजर एवं 1100 से अधिक हस्तनिर्मित मास्क भेंट किए। इस अवसर पर जिला महामंत्री कमल नयन, विक्की राठौर, मंजू पाठक, दयाकिशन पोखरिया व विवेक साह सहित अन्य पदाधिकारी भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : नैनीताल : सस्ती-मुफ्त सब्जियों पर भाजपा नेताओं का वायरल ऑडियो चर्चा में

नवीन समाचार, नैनीताल, 8 मई 2020। मुख्यालय स्थित डीएसए परिसर में भाजपा नेताओं द्वारा कथित तौर पर बेची जा रही सब्जियों पर दो लोगों का वायरल ऑडियो चर्चा में है। वायरल ऑडियो में सब्जियों की दुकान संचालित कर रहे पूर्व नगर अध्यक्ष मनोज जोशी एवं भाजपा नेता संतोष साह बात कर रहे हैं। इसमें एक पूर्व रॉ अधिकारी का जिक्र है, जो कथित तौर पर इस दुकान से सस्ती-मुफ्त सब्जियों की मांग कर रहे थे। इस बारे में नगर निवासी पूर्व रॉ अधिकारी अरुण कुमार साह की एक फेसबुक पोस्ट का भी जिक्र हो रहा है, जिसमें यहां सस्ती सब्जियां बेचने के दावे को झूठा बताया गया है। इस बारे में श्री साह का कहना है कि वह अपने पड़ोस में रहने वाले एक नेपाली मजदूर की पिछले काफी समय से आर्थिक मदद कर रहे थे। मनोज जोशी द्वारा सोशल मीडिया पर सस्ती व मुफ्त सब्जियां बेचने के दावे पर उन्होंने इस नेपाली मजदूर को डीएसए पैविलियन में लग रही इस दुकान पर भेजा तो उसे मुफ्त सब्जियां नहीं दी गईं। इस पर उन्होंने सस्ती व मुफ्त सब्जियां बेचने को झूठा बताते हुए सोशल मीडिया पर पोस्ट डाली। वहीं मनोज जोशी का कहना है कि वह दुकान पर आ रहे लोगों की दशा को देखकर जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं। जिस नेपाली के दुकान पर आने की बात कही जा रही है, उसके पास रुपये देखे गये, इसलिये उसे मुफ्त सब्जियां नहीं दी गईं। जोशी का कहना है कि वह लॉक डाउन तक ही सस्ती सब्जियों की दुकान चलाएंगे। इधर नगर में भी यहां सस्ती व मुफ्त सब्जियां मिलने-न मिलने पर खूब चर्चाएं हो रही हैं।

यह भी पढ़ें : भाजपा सांसद स्वामी ने उत्तराखंड सरकार को मुश्किल में डाला, दायर की हाई कोर्ट में याचिका…

-वरिष्ठ भाजपा सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री सुब्रमण्यम स्वामी ने दायर की सरकार के देवस्थानम अधिनियम के खिलाफ याचिका, मंगलवार को हो सकती है सुनवाई

पत्रकारों से बात करते पूर्व केंद्रीय मंत्री व भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी।

नवीन समाचार, नैनीताल, 24 फरवरी 2020।अक्सर केंद्र की भाजपा सरकार को सांसत में डाल चुके वरिष्ठ भाजपा सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री सुब्रमण्यम स्वामी अब भाजपा नेतृत्व वाली उत्तराखंड सरकार के एक अधिनियम के खिलाफ आ खड़े हुए हैं। स्वामी ने उत्तराखंड सरकार के देवस्थानम अधिनियम को असंवैधानिक और सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन बताते हुए इसे निरस्त करने की मांग को लेकर उत्तराखंड हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर कर दी है। याचिका पर मंगलवार को मुख्य न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली खंडपीठ में सुनवाई हो सकती है। गौरतलब है कि स्वामी पूर्व में कह चुके हैं कि यह अधिनियम सुप्रीम कोर्ट के पूर्व के आदेश के खिलाफ है और अदालत में नहीं टिकेगा।
इधर नगर के होटल में पत्रकारों से बात करते हुए स्वामी ने दोहराया कि 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने एक आदेश में साफ कहा है कि सरकार मंदिरों का प्रबंधन हाथ में नहीं ले सकती है। मंदिर के प्रबंधन में वित्तीय गड़बड़ी होने पर सरकार व्यवस्थाओं में सुधार करने तक के लिए ही प्रबंधन अपने हाथ में ले सकती है, लेकिन उसे बाद प्रबंधन छोड़ना उनका कहना था कि मंदिर का संचालन सरकार का काम नहीं बल्कि भक्तों व हक-हकूकधारियों का है। स्वामी ने यह भी कहा कि 70 सालों में सरकारों ने सिर्फ मंदिरों पर नियंत्रण किया, मस्जिदों व गिरिजाघरों पर नहीं। भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में भी मंदिरों को सरकारी सिस्टम से मुक्त कराने का वादा किया था। उन्होंने अधिनियम में मुख्यमंत्री को मंदिर प्रबंधन का मुखिया बनाने पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि भविष्य में यदि कांग्रेस की सरकार आई तो मंदिरों का क्या हाल होगा, इसकी सिर्फ कल्पना ही की जा सकती है। उन्होंने कहा कि यदि भाजपा की कोई सरकार भाजपा के सिद्धांत के खिलाफ काम करती है, तो उसे सही रास्ते पर लाने की नैतिक जिम्मेदारी भी भाजपा की ही है। उन्होंने देश की अर्थव्यवस्था पर भी चिंता जताई।

यह भी पढ़ें : भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने दिया विधानसभा चुनाव के लिए नया नारा, कालाढुंगी विधानसभा पर कर दिया बड़ा ऐलान

-दिया ‘57 नहीं 60, त्रिवेंद्र की मजबूती-नरेंद्र की मजबूती’ का नारा -प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद पहली बार मुख्यालय पहुंचने पर हुआ भव्य स्वागत

नवीन समाचार, नैनीताल, 18 फरवरी 2020। सत्तारूढ़ भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने मुख्यालय में आगामी विधान सभा चुनाव के लिए ‘57 नहीं 60’ का नारा दिया। उन्होंने धारा 370, 35 ए व तीन तलाक कानूनों को हटाने, राम मंदिर का रास्ता साफ करने को बड़ा कदम व सीएए को नागरिकता लेने नहीं देने वाला कानून बताते हुए कहा कि देश में और भी कई बड़े परिवर्तन होने हैं। इनके लिए देश को भाजपा सरकार की और 10 वर्ष के लिए आवश्यकता जताई। साथ ही कहा कि राज्य में ईमानदारी से कार्य कर रही त्रिवेंद्र रावत की सरकार को दुबारा लाना व मजबूत करना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों को मजबूत करना है। वहीं सीएए पर कांग्रेस के विरोध के लिए उन्होंने ‘खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे’ का मुहावरा प्रयोग किया।
भगत भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद पहली बार मुख्यालय आगमन पर स्थानीय नैनीताल क्लब के शैले हॉल में अपने विचार रख रहे थे। उन्होंने कहा, देश जब आजाद हुआ तब उसका राजकोष खाली नहीं था, लेकिन 50 वर्ष राज करने वालों ने स्थिति ऐसी कर दी कि कर्ज का ब्याज न चुका पाने के कारण कर्ज मिलना भी बंद हो गया। इस कारण अपने घर की इज्जत स्वरूप सोना गिरवी रखना पड़ा। पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हाराव को अमेरिका में रहते वहां के राष्ट्रपति ने 6 बाद मिलने का समय दिया। ऐसी स्थितियों में अटल बिहारी बाजपेयी सरकार ने आकर पूरे पांच वर्ष कर्ज नहीं लिया और देश को परमाणु शक्ति बनाया। लेकिन हारने पर अगले 10 सालों में कांग्रेस ने फिर हालत वैसी ही कर दी थी। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने फिर वह स्थिति बनाई है कि पूर्व में बीजा देने से मना करने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति स्वयं एयरपोर्ट पर गुलदस्ता लेकर पहुंचे। इसलिए भाजपा को फिर से लाने की जरूरत है।

बुजुर्ग नहीं भूतपूर्व नौजवान कहिए, कालाढुंगी में दो बार मैं ही लडूंगा

नैनीताल। कार्यक्रम में स्थानीय विधायक संजीव आर्य ने कहा कि जहां लोग निमंत्रण मिलने पर भी कहीं नहीं जाते हैं, वहीं भगत अपनी विधानसभा में बिना बुलाए भी लोगों के सुख-दुःख के आयोजनों में शामिल होते हैं। जनता से जुड़ाव का भगत का यह तरीका सभी नेताओं के लिए अनुकरणीय है। वहीं जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट ने भगत के लिए पार्टी के सबसे बुजुर्ग नेता व भीष्म पितामह शब्दों का प्रयोग किया। इस पर टिप्पणी करते हुए भगत ने अपने संबोधन में कहा उन्हें बुजुर्ग नहीं भूतपूर्व नौजवान कहें। कहा प्रदेश अध्यक्ष बने एक माह दो दिन में प्रदेश की 70 में से 36 विधानसभाओं का दौरा कर चुके हैं। साथ ही कहा कि कालाढुंगी विधानसभा से वे स्वयं ही चुनाव लड़ेंगे।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड भाजपा से बड़ी खबर: नैनीताल, बागेश्वर, ऊधमसिंह नगर सहित कई जिलों की कार्यकारिणी का हुआ विस्तार

नवीन समाचार, नैनीताल, 11 फरवरी 2020। उत्तराखंड भाजपा ने मंगलवार शाम अचानक एक-एक कर कई जिलों की जिला कार्यकारिणी का विस्तार कर पदाधिकारियों की सूची जारी कर दी है। देखें विभिन्न जिलों की पदाधिकारियों की सूचियां :

यह भी पढ़ें : भाजपा नैनीताल मंडल की कार्यकारिणी का हुआ गठन, इन्हें मिले पद

नवीन समाचार, नैनीताल, 31 जनवरी 2020। भाजपा के नैनीताल नगर मंडल के अध्यक्ष आनंद बिष्ट ने शुक्रवार को अपनी कार्यकारिणी का गठन कर दिया है। कार्यकारिणी में एक वरिष्ठ उपाध्यक्ष सहित चार उपाध्यक्ष, एक महामंत्री, एक-एक मीडिया, सोशल मीडिया प्रभारी व कोषाध्यक्ष तथापांच मंत्री बनाए गए हैं। नगर निवासी भूपेंद्र बिष्ट को वरिष्ठ उपाध्यक्ष तथा प्रमोद सुयाल, मंगोली निवासी हेम बहुखंडी व पांडेगांव स्यात निवासी कंचन पंत को उपाध्यक्ष, बांसी निवासी कृपाल बिष्ट को महामंत्री, अशोक तिवारी को मीडिया प्रभारी, अरुण कुमार को सोशल मीडिया प्रभारी, बगड़ निवासी लाल सिंह बिष्ट, आरती बिष्ट, सभासद सागर आर्या व रूसी निवासी सुंदर बिष्ट को मंत्री तथा कलावती असवाल को कोषाध्यक्ष बनाया गया है। श्री बिष्ट ने बताया कि कार्यकारिणी का गठन प्रवासी रेनू अधिकारी से विचार विमर्श के उपरांत जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट की संस्तुति पर किया गया है। नई कार्यकारिणी को प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत, सांसद अजय भट्ट, विधायक संजीव आर्या आदि ने शुभकामनाएं दी हैं।

यह भी पढ़ें : तो भाजपा के ‘दशरथ’ ने सबसे पहले बेटे को सोंप दी है ‘राजगद्दी’ !

-बेटे विकास को बनाया अपनी कालाढुंगी विधानसभा में अपना प्रतिनिधि, माना जा रहा आगामी विधान सभा के लिए भी इस बहाने सोंप दी है विरासत

विकास भगत

गणेश पाठक @ नवीन समाचार, हल्द्वानी, 30 जनवरी 2020। दशकों से हल्द्वानी में अपने घर के पास की रामलीला में ‘दशरथ’ का अभिनय करने वाले अभिनेता-नेता बंशीधर भगत ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद पार्टी में पहली जिम्मेदारी अपने पुत्र विकास भगत को सोंपी है। बृहस्पतिवार को एक पत्रकार वार्ता में भगत ने साफ कहा कि उनकी गैर मौजूदगी में अब उनका बेटा विकास भगत कालाढंूगी विस से विधायक का प्रतिनिधित्व करेगा। उन्होंने कहा कि अब उनको ज्यादा समय पूरे राज्य में देना होगा, इसलिए शादी समारोह से लेकर विस क्षेत्र की तमाम समस्याओं को सुनने का काम विकास करेगा। माना जा रहा है कि इस तरह उन्होंने मिशन 2022 के लिए कालाढंूगी विस क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी के तौर पर अपने बेटे के अप्रत्यक्ष तौर पर लांचिंग कर दी है। बताया कि इस बात की जिलाध्यक्ष से भी संस्तुति ले ली है। इसके साथ ही भगत ने एक तीर से कई निशाने साध लिए हैं और 2022 में कालाढंूगी विस क्षेत्र से चुनाव लड़ने के दावेदारों को सीधी चुनौती भी दे दी है।
कहने को उन्होंने काफी सरलता से अपने बेटे का नाम आगे किया, लेकिन इसके राजनीतिक मायने काफी गंभीर माने जा रहे हैं। चूंकि भगत करीब सत्तर साल के हो गए हैं। अब पार्टी सत्तर साल या इससे अधिक उम्र के नेताओं को टिकट न देने का मन बना चुकी है। खुद पार्टी प्रदेश अध्यक्ष होने की हैसियत से एक सीट पर वे अपने बेटे को टिकट तो दिला ही सकते हैं। प्रदेश अध्यक्ष के बेटे विकास भगत इस समय भाजयुमो प्रदेश उपाध्यक्ष हैं। वे पिछले पांच साल से चुनाव लड़ने के इच्छुक भी हैं। चूंकि कालाढंूगी विस सीट से सटी हल्द्वानी सीट से नेता प्रतिपक्ष डा. इंदिरा हृदयेश अपने बेटे सुमित को चुनाव लड़ाना चाहती हैं। सुमित नगर निगम का चुनाव लड़ चुके हैं, इसी तरह नैनीताल सीट से यशपाल आर्य के पुत्र संजीव आर्य विधायक बन चुके हैं। अब बारी भाजपा प्रदेश प्रमुख को अपने बेटे को चुनाव में उतारने की थी, सो उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद अपनी पहली पत्रकार वार्ता में अपने पुत्र विकास को विधायक प्रतिनिधि बनाने एवं लोगों के सुख-दुःख में भागीदार होने का एलान कर दिया। भगत के छोटे से वाक्य में जिलाध्यक्ष की संस्तुति भी जुड़ी है। भाजपा में प्रत्याशी तय करने के लिए जिलाध्यक्ष की संस्तुति की परंपरा रही है। जाहिर है कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के इस बयान के बाद कालाढंूगी से टिकट के प्रमुख दावेदार मंडी परिषद अध्यक्ष गजराज सिंह बिष्ट, भाजपा प्रदेश मीडिया सह प्रभारी सुरेश तिवारी, राज्य प्रशिक्षण प्रमुख मनोज पाठक समेत एक दर्जन से ज्यादा नेताओं को जोर का झटका बहुत हल्के अंदाज में दे दिया है। चूंकि इस पत्रकार वार्ता में भगत ने राज्य में एक बार कांग्रेस और एक बार भाजपा की सरकार के आने की परंपरा तोड़ने और कार्यकर्ताओं के दम पर साठ सीट फतह करने का एलान तो किया ही, साथ में अनुशासन का भी डंडा दिखाना नहीं भूले। इससे साफ हो गया है कि अब कालाढंूगी से भाजपा प्रदेश प्रमुख के सुपुत्र विकास ही राजनीतिक उत्तराधिकारी होंगे।
दशकों से हल्द्वानी में अपने घर के पास की रामलीला में ‘दशरथ’ का अभिनय करने वाले अभिनेता-नेता बंशीधर भगत ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद पार्टी में पहली जिम्मेदारी अपने पुत्र विकास भगत को सोंपी है। बृहस्पतिवार को एक पत्रकार वार्ता में भगत ने साफ कहा कि उनकी गैर मौजूदगी में अब उनका बेटा विकास भगत कालाढंूगी विस से विधायक का प्रतिनिधित्व करेगा। उन्होंने कहा कि अब उनको ज्यादा समय पूरे राज्य में देना होगा, इसलिए शादी समारोह से लेकर विस क्षेत्र की तमाम समस्याओं को सुनने का काम विकास करेगा। माना जा रहा है कि इस तरह उन्होंने मिशन 2022 के लिए कालाढंूगी विस क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी के तौर पर अपने बेटे के अप्रत्यक्ष तौर पर लांचिंग कर दी है। बताया कि इस बात की जिलाध्यक्ष से भी संस्तुति ले ली है। इसके साथ ही भगत ने एक तीर से कई निशाने साध लिए हैं और 2022 में कालाढंूगी विस क्षेत्र से चुनाव लड़ने के दावेदारों को सीधी चुनौती भी दे दी है।

कहने को उन्होंने काफी सरलता से अपने बेटे का नाम आगे किया, लेकिन इसके राजनीतिक मायने काफी गंभीर माने जा रहे हैं। चूंकि भगत करीब सत्तर साल के हो गए हैं। अब पार्टी सत्तर साल या इससे अधिक उम्र के नेताओं को टिकट न देने का मन बना चुकी है। खुद पार्टी प्रदेश अध्यक्ष होने की हैसियत से एक सीट पर वे अपने बेटे को टिकट तो दिला ही सकते हैं। प्रदेश अध्यक्ष के बेटे विकास भगत इस समय भाजयुमो प्रदेश उपाध्यक्ष हैं। वे पिछले पांच साल से चुनाव लड़ने के इच्छुक भी हैं। चूंकि कालाढंूगी विस सीट से सटी हल्द्वानी सीट से नेता प्रतिपक्ष डा. इंदिरा हृदयेश अपने बेटे सुमित को चुनाव लड़ाना चाहती हैं। सुमित नगर निगम का चुनाव लड़ चुके हैं, इसी तरह नैनीताल सीट से यशपाल आर्य के पुत्र संजीव आर्य विधायक बन चुके हैं। अब बारी भाजपा प्रदेश प्रमुख को अपने बेटे को चुनाव में उतारने की थी, सो उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद अपनी पहली पत्रकार वार्ता में अपने पुत्र विकास को विधायक प्रतिनिधि बनाने एवं लोगों के सुख-दुःख में भागीदार होने का एलान कर दिया। भगत के छोटे से वाक्य में जिलाध्यक्ष की संस्तुति भी जुड़ी है। भाजपा में प्रत्याशी तय करने के लिए जिलाध्यक्ष की संस्तुति की परंपरा रही है। जाहिर है कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के इस बयान के बाद कालाढंूगी से टिकट के प्रमुख दावेदार मंडी परिषद अध्यक्ष गजराज सिंह बिष्ट, भाजपा प्रदेश मीडिया सह प्रभारी सुरेश तिवारी, राज्य प्रशिक्षण प्रमुख मनोज पाठक समेत एक दर्जन से ज्यादा नेताओं को जोर का झटका बहुत हल्के अंदाज में दे दिया है। चूंकि इस पत्रकार वार्ता में भगत ने राज्य में एक बार कांग्रेस और एक बार भाजपा की सरकार के आने की परंपरा तोड़ने और कार्यकर्ताओं के दम पर साठ सीट फतह करने का एलान तो किया ही, साथ में अनुशासन का भी डंडा दिखाना नहीं भूले। इससे साफ हो गया है कि अब कालाढंूगी से भाजपा प्रदेश प्रमुख के सुपुत्र विकास ही राजनीतिक उत्तराधिकारी होंगे।

यह भी पढ़ें : कांग्रेस की तरह से ही भाजपा में भी भारी अंदरुनी कलह, राज्यपाल को भी बना दिया भाजपा नेता !

-प्रदेश प्रमुख बंशीधर भगत के स्वागत के लिए जारी की गई प्रचार सामग्री में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष विशनदा, पूर्व सीएम खंडूड़ी एवं बहुगुणा गायब, थिंक टैंक डा. मुरली मनोहर जोशी, लालकृष्ण आडवाणी भी अब जरुरी नहीं !
-सांसद अजय को जिलाध्यक्ष क बराबर मिला स्थान, एक कारोबारी ने तो जारी कर दिया महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी का भगत के स्वागत कार्यक्रम में फोटो
गणेश पाठक @ नवीन समाचार, हल्द्वानी, 30 जनवरी 2020। कांग्रेस की तरह से ही भाजपा के भीतर भी अंदरुनी कलह तेजी से बढ़ रही है। एक बुर्जुग को राज्य की कमान सौंपने के बाद यह कलह ज्यादा दिखने लगी है। इसका ताजा उदाहरण भाजपा प्रदेश प्रमुख बंशीधर भगत के गृह नगर हल्द्वानी में स्वागत के लिए जारी सोशल मीडिया एवं अन्य माध्यमों में प्रचार सामग्री बनी है। इस प्रचार सामग्री में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष बिशन सिंह चुफाल, पूर्व सीएम बीसी खंडूड़ी एवं विजय बहुगुणा नदारद हैं। यही नहीं विज्ञापनों को देखकर लगता है कि भाजपा के थिंक टैंक डा.मुरली मनोहर जोशी एवं लालकृष्ण आडवाणी अब भाजपा के लिए जरुरी नहीं रह गए हैं। वहीं महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की हनक अभी भी दिख रही है। नियम एवं परंपरा के विपरीत भगत के स्वागत में जारी एक विज्ञापन में एक कारोबारी ने कोश्यारी का फोटो भी भाजपा नेताओं के साथ लगा दिया है, जबकि कोश्यारी राज्यपाल बनने के बाद भाजपा से इस्तीफा दे चुके हैं। इसे भाजपा में सत्ता की हनक और कानून से ऊपर समझने की बड़ी भूल के रूप में देखा जा रहा है।
भारी वारिश में बुधवार को भाजपा प्रदेश प्रमुख बंशीधर भगत के अपने गृह नगर हल्द्वानी में जोरदार स्वागत हुआ है। इस स्वागत के बीच भाजपा का विज्ञापन कैंपैंन चिंता का विषय है। यह चिंता पार्टी में बिखराव एवं क्षत्रपों के एकाधिकार की ओर संकेत कर रहा है। कई अखबारों में जारी पहले पेज के विज्ञापन में दायीं ओर पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह उनके बगल में केंद्रीय मंत्री डा. रमेश पोखरियाल निशंक की फोटो लगी है। बायीं ओर पहले राष्ट्रीय अध्यक्ष और इसके बाद सीएम की फोटो हैं। बैकग्राउंड में भारी जनसमूह के बीच दिवंगत पीएम अटल विहारी बाजपेयी भी नजर आ रहे हैं। ठीक इसके बीच में तेरह फोटो हैं। लेकिन इनमें पूर्व प्रदेश अध्यक्ष विशन सिंह चुफाल, पूर्व सीएम बीसी खंडूड़ी एवं विजय बहुगुणा नदारद हैं, जबकि पीएम नरेंद्र मोदी के बगल में भाजपा प्रदेश प्रमुख बंशीधर भगत की खुद की फोटो हैं। भगत के ठीक ऊपर पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट के कद एवं सम्मान को कम करते हुए जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट के साथ दिखाई दे रहे है।
इस विज्ञापन में निवेदक भारतीय जनता पार्टी की जिला इकाई नैनीताल बताई गई है और इसमें सभी उन्नीस नगर मंडलों के अध्यक्षों के नाम के साथ रुद्रपुर के कारोबारी का नाम भी है। यह ज्यादा खतरनाक हैं। इससे यह बात भी साफ हो रही है कि भाजपा राज में आम लोगों के बजाय कारोबारियों को तरजीह दी जा रही है। चर्चा है कि जो कारोबारी लाखों रुपए विज्ञापनों में खर्च कर सकता है, वह इसके बदले भाजपा प्रदेश अध्यक्ष से सूद समेत हिसाब लेगा। इससे ज्यादा चिंताजनक स्थिति एक वाहन एंजेसी ने भगत के स्वागत के लिए जारी विज्ञापन में महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी का भी फोटो लगा दिया है। इसमें इसमें कोश्यारी की हाथ जोड़ते फोटो के साथ सीएम, काबीना मंत्री यशपाल आर्य के साथ भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट की फोटो लगी है। इसमें सीएम और कोश्यारी की फोटो का एक ही साइज रखा गया है।
इस फोटो को लेकर कई जानकारों ने कड़ी आपत्ति जतायी है। इन लोगों का कहना है कि किसी भी राज्य का राज्यपाल संवैधानिक मुखिया होता है। यह किसी पार्टी का सदस्य नहीं हो सकता है। राज्यपाल के फोटो का प्रयोग कोई भी राजनीतिक पार्टी नहीं कर सकती है। यह संविधान की मर्यादा एवं परंपरा का घोर अपमान माना जाता है, लेकिन संविधान का अपमान करना भाजपा के लिए छोटी सी बात हो सकती है। इस मामले में वाहन एंजेसी मालिक से संपर्क का प्रयास किया गया, लेकिन उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया। जबकि पूर्व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विशन सिंह चुफाल ‘विशनदा’ का नंबर पहुंच से बाहर मिला। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वागत कार्यक्रम में व्यस्त रहने के कारण फोन रिसीव नहीं कर पाए।

यह भी पढ़ें : ‘नवीन समाचार’ पर सबसे पहले आए समाचार पर लगी मुहर : बंशीधर भगत बने भाजपा के नए उत्तराखंड प्रदेश अध्यक्ष

नवीन समाचार, देहरादून, 16 जनवरी 2020। आपके प्रिय एवं भरोसेमंद, उत्तराखंड के सबसे पुराने समाचार पोर्टलों में एक ‘नवीन समाचार’ द्वारा बुधवार सुबह दिये गए समाचार ‘तो ‘दशरथ’ होंगे उत्तराखंड में भाजपा के नये खेवनहार’ पर मुहर लग गई है। भाजपा के पर्यवेक्षक व केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेधवाल ने बृहस्पतिवार अपराह्न बंशीधर भगत के सर्वसम्मति से नये भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के पद पर चुने जाने की घोषणा की। इसके बाद भगत को निवर्तमान प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत व केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ सहित अनेकानेक भाजपा नेताओं ने फूल मालाओं से लाद दिया एवं मिठाई खिलाकर उनका मुंह मीठा किया।

नियमित रूप से नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड के समाचार अपने फोन पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप में इस लिंक https://t.me/joinchat/NgtSoxbnPOLCH8bVufyiGQ से एवं ह्वाट्सएप ग्रुप से इस लिंक https://chat.whatsapp.com/ECouFBsgQEl5z5oH7FVYCO पर क्लिक करके जुड़ें।

आइए जानते हैं भगत के सियासी सफर के बारे में : जन्म : 8 अगस्त 1951 (भक्त्यूड़ा-भीमताल) उम्र : 68, शिक्षा : हाई स्कूल
1970 में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े
1975 में पूर्व प्रधानमंत्री स्‍वर्गीय अटल बिहारी बाजपेयी से प्रेरित होकर जनसंघ के सदस्य

1982 में हल्‍द्वानी ब्‍लॉक में किसनों की समस्‍याओं को लेकर किसान संघर्ष समिति के अध्‍यक्ष चुने गए

1984 में पनियाली गांव के प्रधान चुने गए

1988 से 1991 तक हल्‍द्वानी क्रय-विक्रय सहकारी समिति के अध्‍यक्ष रहे
1989 में भाजपा के संयुक्त नैनीताल जनपद के जिलाध्यक्ष बने
1991 में पहली बार नैनीताल से विधायक

रामजन्‍मभूमि आंदोलन में भागीदारी को लेकर 23 दिनों तक अल्‍मोड़ा जेल में रहे
1993 में दूसरी बार विधायक चुने गए, उप्र में वन राज्यमंत्री
1996 में तीसरी बार नैनीताल विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए, खाद्य, रसद एवं पर्वतीय विकास मंत्री
2000 में उत्तराखंड की अंतरिम सरकार में कैबिनेट मंत्री
2007 में 2007 में हल्‍द्वानी विधानसभा से क्षेत्र से चौथी बार जीत कर उत्‍तराखंड सरकार में वन एवं वन्‍यजीव, पर्यावरण, जलागम प्रबंधन सहकारिता स्‍वास्‍थ्‍य, औद्योगिक विकास एवं परिवहन कैबिनेट मंत्री 
2012 में नवसृजित कालाढूंगी विधानसभा चुनाव में विजय हुई।

वर्ष 2013, 2014 और 2014-15 में विधानसभा के लोकलेखा समिति के अध्‍यक्ष

2017 में कालाढूंगी विधानसभा चुनाव में विजय, विधायक

भाजपा के अब तक रहे प्रदेश अध्यक्षों का कार्यकाल :

पूरन चंद शर्मा – 2000 से 2002
मनोहर कांत ध्यानी – 2002 से 2003
भगत सिंह कोश्यारी – 2003 से 2007
बच्ची सिंह रावत – 2007 से 2009
बिशन सिंह चुफाल – 2009 से 2013
तीरथ सिंह रावत – 2013 से 2015
अजय भट्ट – 2015 से 2020

भगत को भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष बनने में इन फैक्टर्स पर खरा उतरने का मिला लाभ: 1970 से यानी 50 वर्षों से संघ तथा 1975 से जनसंघ से जुड़ाव, गढ़वाल के क्षत्रिय के मुख्यमंत्री होने के दृष्टिगत कुमाऊं मंडल से व ब्राह्मण होने, कुमाऊं मंडल के सबसे बड़े शहर हल्द्वानी तथा कांग्रेस की कद्दावर नेता व नेता प्रतिपक्ष डा. इंदिरा हृदयेश के क्षेत्र से होने, पार्टी व संगठन से जुड़ाव, मुख्यमंत्री से करीबी, वर्तमान में किसी पद पर न होने एवं दोस्त अधिक दुश्मन कम यानी निर्विवाद होने।

यह भी पढ़ें : तो ‘दशरथ’ होंगे उत्तराखंड में भाजपा के नए खेवनहार ! 

नवीन समाचार, नैनीताल, 15 जनवरी 2020 (10.15)। हल्द्वानी की रामलीला में 4 दशकों से दशरथ का किरदार निभाने वाले पार्टी के वरिष्ठ नेता बंशीधर भगत भारतीय जनता पार्टी के उत्तराखंड में नए प्रदेश अध्यक्ष हो सकते हैं। मौजूदा अध्यक्ष अजय भट्ट की आनाकानी की स्थिति में पार्टी उनकी जगह उनकी ही तरह कुमाऊं मंडल से किसी ब्राह्मण नेता को प्रदेश अध्यक्ष बनाकर राज्य में क्षेत्रीय व जातीय संतुलन साध सकती है। पार्टी से जुड़े विश्वस्त सूत्रों के अनुसार भगत की ताजपोशी करीब-करीब तय हो गई है। केवल उनकी उम्र एवं सक्रियता तथा सरकार के मुखिया से समन्वय बना सकने की उनकी क्षमताओं का आकलन किया जा रहा है। उन्हें देहरादून बुला लिए जाने की चर्चाओं के बीच समर्थक उन्हें फूल मालाओं से भी लादने लगे हैं। यदि इन कसौटियों पर वह खरे उतरते हैं तो उनका भाजपा का नया प्रदेश अध्यक्ष चुना जाना तय है। उल्लेखनीय है की भगत 6 बार उत्तराखंड एवं पूर्ववर्ती उत्तर प्रदेश में विधायक एवं मंत्री व  दो बार संयुक्त नैनीताल जिले के जिलाध्यक्ष भी रह चुके हैं, किंतु मौजूदा विधानसभा में अच्छी चुनौतीपूर्ण जीत के बावजूद उनके अनुभव को महत्त्व नहीं मिला और वह मंत्री भी नहीं बन पाए। इधर मंत्रिमंडल में विस्तार की संभावनाओं पर उन्हें मंत्री पद मिलने की भी उम्मीद की जा रही थी किंतु इसी बीच उनके प्रदेश अध्यक्ष बनने की चर्चाऐं तेज हैं। बताया जा रहा है कि यदि किसी कारण वे प्रदेश अध्यक्ष नहीं बन पाते तो अजय भट्ट को ही एक और कार्यकाल दिया जा सकता है। उन्हें अध्यक्ष बनाकर पार्टी कुमाऊं व इसके महत्वपूर्ण केंद्र हल्द्वानी में पार्टी को अतिरिक्त ताकत मिलने की उम्मीद भी की जा रही है।

यह भी पढ़ें : ब्रेकिंग : भाजपा ने 14 में से 10 जिलों के लिए घोषित किये नये जिलाध्यक्ष, केवल एक हुए रिपीट

नवीन समाचार, देहरादून, 11 दिसंबर 2019। सत्तारूढ़ भाजपा ने आखिर निर्धारित तिथि से दो दिन बाद जिलाध्यक्षों की घोषणा कर दी है। बावजूद पार्टी प्रदेश के 13 जिलों में से पार्टी के संगठनात्मक लिहाज से 14 जिलों में से 10 जिलों में ही अध्यक्षों की घोषणा कर पाई है। इनमें से नैनीताल जनपद है जहां मौजूदा अध्यक्ष प्रदीप बिष्ट का कार्यकाल एक और कार्यकाल के लिए जारी रखा गया है। यह तब है, जबकि पार्टी के तीन वरिष्ठ विधायक उनके नाम से असहमत बताए जा रहे थे।
पार्टी के प्रदेश चुनाव प्रभारी बलवंत सिंह भौर्याल के हस्ताक्षरों से जारी विज्ञप्ति के अनुसार चमोली जिले के लिए रघुवीर सिंह, रुद्रप्रयाग के लिए दिनेश उनियाल, देहरादून के लिए शमशेर सिंह पुंडीर, पौड़ी गढ़वाल के लिए सम्पत सिंह रावत, पिथौरागढ़ के लिए विरेंद्र वल्दिया, बागेश्वर के लिए शिव सिंह बिष्ट, अल्मोड़ा के लिए रवि रौतेला, चंपावत के लिए दीप चंद्र पाठक व नैनीताल के लिए प्रदीप बिष्ट को जिलाध्यक्ष बनाया गया है। गौरतलब है कि भाजपा अभी भी ऊधमसिंह नगर, उत्तरकाशी, हरिद्वार व देहरादून नगर जनपद के लिए अध्यक्षों की घोषणा नहीं कर पाई है।

यह भी पढ़ें : भाजपा के जिलाध्यक्ष चुनाव की हुई घोषणा, दो पूर्व अध्यक्षों सहित इनमें से कोई बनेगा नया जिलाध्यक्ष

नवीन समाचार, नैनीताल, 4 दिसंबर 2019। देश प्रदेश में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के संगठन चुनाव के क्रम में नैनीताल के जिलाध्यक्ष पद के लिए चुनाव की घोषणा हो गई है। जिला सह चुनाव अधिकारी विवेक साह ने बताया कि जिला अध्यक्ष पद के लिए चुनाव 7 दिसंबर को दोपहर 12 बजे से हल्द्वानी के रामपुर रोड स्थित प्रेम टावर होटल में होगा। इस मौके पर जिला चुनाव अधिकारी एवं भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष विनय रुहेला के समक्ष वरिष्ठ कार्यकर्ताओं की रायशुमारी ली जाएगी।
वहीं सूत्रों के अनुसार भाजपा के नैनीताल जिलाध्यक्ष पद के लिए निवर्तमान जिलाध्यक्ष प्रदेश प्रदीप बिष्ट के साथ ही पूर्व जिलाध्यक्ष एवं राष्ट्रीय मंत्री अनुसूचित मोर्चा दिनेश आर्य व एक अन्य पूर्व जिलाध्यक्ष मनोज शाह के साथ ही वर्तमान दोनों जिला मंत्री चंदन बिष्ट व राकेश नैनवाल, प्रदेश महासचिव राजेंद्र बिष्ट, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य मनोज पाठक, कुमाऊं मीडिया प्रभारी तरुण बंसल व मीडिया प्रभारी कुमाऊं प्रकाश रावत आदि के नामों की चर्चा है। माना जा रहा है कि इन्हीं में से कोई एक भाजपा का नैनीताल जनपद का नया जिला अध्यक्ष होगा

यह भी पढ़ें : भाजपा के नगर मंडल अध्यक्षों की हुई घोषणा, देखें नैनीताल जनपद के अपने अध्यक्षों की सूची

नवीन समाचार, नैनीताल, 1 दिसंबर 2019। सत्तारूढ़ भाजपा ने प्रदेश के सभी जनपदों में नगर मंडल अध्यक्षों की घोषणा कर दी है। जनपद के सबसे प्रतिष्ठित नैनीताल मंडल के लिए आनंद बिष्ट को अध्यक्ष बनाया गया है। वहीं लालकुआं से नारायण सिंह, बिन्दुखत्ता से दीपक, हल्द्वानी पूर्वी से ललित आर्य ओखल कांडा से नंदन सिंह, भीमताल से मनोज, धारी से कैलाश गुणवंत, रामगढ़ से कुंदन,  गरमपानी से रमेश सुयाल, भवाली से पुष्कर जोशी, नैनीताल से आनंद बिष्ट, बेतालघाट से प्रताप सिंह बोहरा, हल्द्वानी उत्तर से नवीन पंत, हल्द्वानी नगर से विनीत अग्रवाल, हल्द्वानी ग्रामीण नगर पश्चिम से नवीन भट्ट, कालाढूंगी से महेंद्र सिंह, कोटाबाग से जोगा सिंह मेहरा, रामनगर ग्रामीण से वीरेंद्र रावत उर्फ वीरू, रामनगर नगर से भावना भट्ट व मालधनचौड़ से कमल किशोर को नगर मंडल अध्यक्ष बनाया गया है

यह भी पढ़ें : ‘आधी विधानसभा’ हुए नैनीताल मंडल के लिए दो पूर्व अध्यक्षों सहित पांच ने ठोका दावा..

नवीन समाचार, नैनीताल, 28 नवंबर 2019। प्रदेश भर में भाजपा नगर मंडल के नये अध्यक्ष बनने के लिए चल रही प्रक्रिया के दौरान करीब आधी नैनीताल विधानसभा हो चुके नैनीताल नगर मंडल के लिए निवर्तमान नगर अध्यक्ष सहित दो पूर्व अध्यक्षों ने दावेदारी ठोंक दी है। इससे ही नैनीताल मंडल के नये अध्यक्ष बनने के लिए चल रहे संघर्ष का अंदाजा लगाया जा सकता है। बृहस्पतिवार को नये अध्यक्ष के चुनाव के लिए चुनाव अधिकारी-लालकुआं नगर पंचायत के पूर्व पालिका अध्यक्ष पवन चौहान एवं सह चुनाव अधिकारी हरीश भट्ट व कुंदन बिष्ट ने चुनाव में वोट देने की अर्हता रखने वाले सदस्यों के बीच नैनीताल क्लब में रायशुमारी की प्रक्रिया आयोजित की।

राज्य के सभी प्रमुख समाचार पोर्टलों में प्रकाशित आज-अभी तक के समाचार पढ़ने के लिए क्लिक करें इस लाइन को…

इस दौरान बेहद सर्द मौसम, जोरदार ओलावृष्टि व भारी बारिश के बावजूद राजनीतिक गर्मी साफ तौर पर दिखाई दी। बताया गया कि इसी सप्ताह कोटाबाग पर्वतीय व ज्योलीकोट मंडल को समाप्त कर इनके 27 बूथों को नैनीताल मंडल में जोड़ने के बाद अब तक नगर की करीब 38 हजार की जनसंख्या व 39 बूथों वाला नैनीताल मंडल 67 बूथों एवं करीब 50 हजार की जनसंख्या के साथ करीब एक लाख की जनसंख्या व 153 बूथों वाली नैनीताल विधानसभा की आधी विधानसभा में तब्दील हो गया है। ऐसे में पार्टी यहां किसी सशक्त पार्टी कार्यकर्ता को अध्यक्ष बनाने की कोशिश में है। इसे निवर्तमान अध्यक्ष मनोज जोशी व वर्ष 2012 से 2015 तक नगर अध्यक्ष रहे व निवर्तमान जिलाध्यक्ष विवेक साह की दावेदारी से समझा जा सकता है। इनके अलावा निवर्तमान नगर महामंत्री भानु पंत, नगर उपाध्यक्ष भूपेंद्र बिष्ट व पूर्व नगर पालिका सभासद आनंद बिष्ट ने भी दावेदारी की है, जबकि एक अन्य पूर्व अध्यक्ष सहित कम से कम तीन अन्य कार्यकर्ताओं के द्वारा भी दावेदारी करने की चर्चा रही। जबकि इनमें से एक कार्यकर्ता बाद में अर्ह नहीं पाये गए।
इधर चुनाव अधिकारी पवन चौहान ने बताया कि नये नगर मंडल अध्यक्ष के लिए अर्हता रखने वाले पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच रायशुमारी की गई। बताया कि जिस कार्यकर्ता के नाम पर अधिक कार्यकर्ताओं की राय आती है, उनका नाम प्रदेश हाईकमान को भेजा जाएगा। इसके बाद प्रदेश हाईकमान 30 नवंबर को नये अध्यक्ष के नाम की घोषणा कर सकता है। इस दौरान मंडल में निवास करने वाले प्रदेश कार्यकारणी सदस्य, निवर्तमान जिलाध्यक्ष, पूर्व जिलाध्यक्ष, जिला पदाधिकारी, निवर्तमान मंडल अध्यक्ष, महामंत्री, पूर्व मंडल अध्य्ाक्ष, पूर्व महामंत्री, वर्तमान विधायक, पूर्व विधायक, दायित्वधारी मंत्री, जिला पंचायत सदस्य, ब्लॉक प्रमुख, पूर्व ब्लॉक प्रमुख, मोर्चा जिलाध्यक्ष, शक्ति केंद संयोजक, समस्त बूथ अध्यक्ष आदि सदस्य नगर मंडल के चुनाव हेतु अर्हता रखने वाले कार्यकर्ता मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : सत्तारूढ़ भाजपा में सत्ता का केंद्रीयकरण, तीन मंडलों का अस्तित्व हुआ समाप्त

नवीन समाचार, नैनीताल, 25 नवंबर 2019। देश-प्रदेश में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी एक बार पुनः विकेंद्रीकरण की जगह केंद्रीकरण की ओर बढ़ रही है, या कि अपनी भूल का सुधार कर रही है। पूर्व में जिस तरह नये बनाए गए सांगठनिक जिलों का अस्तित्व समाप्त कर दिया गया था, वैसे ही करीब चार वर्ष पूर्व बनाए गए मंडलों को भी समाप्त किया जा रहा है। पूरे प्रदेश में चल रही इस कवायद के तहत नैनीताल जनपद में तीन मंडलों-कोटाबाग पर्वतीय, ज्योलीकोट व भीमताल ग्रामीण का अस्तित्व समाप्त होने जा रहा है। कोटाबाग का बड़ा हिस्सा नैनीताल मंडल में व कुछ बेतालघाट मंडल में तथा इसी तरह ज्योलीकोट मंडल का भी बड़ा हिस्सा नैनीताल मंडल में व एक हिस्सा भवाली मंडल में शामिल होने जा रहा है। वहीं भीमताल ग्रामीण व भीमताल नगर मंडल दोनों मंडलों को मिलाकर भीमताल मंडल के नाम से नया मंडल अस्तित्व में आने जा रहा है।

भाजपा से जुड़े विश्वसनीय सूत्रों ने आपके प्रिय एवं भरोसेमंद समाचार पोर्टल ‘नवीन समाचार’ को इस बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि कोटाबाग पर्वतीय मंडल का अस्तित्व समाप्त कर इसके तीन शक्ति केंद्रों के 12 बूथों को नैनीताल मंडल में तथा बेतालघाट से लगे एक शक्ति केंद्र व 5 बूथों को बेतालघाट में मिलाया जा रहा है। इसी तरह ज्योलीकोट मंडल के खुर्पाताल न्याय पंचायत को चार वर्ष पूर्व की तरह वापस नैनीताल मंडल में मिलाया जा रहा है। इसी तरह ज्योलीकोट मंडल के बल्दियाखान, रूसी आदि क्षेत्रों को भी नैनीताल मंडल में मिलाया जा रहा है, जबकि ज्योलीकोट, गेठिया व भूमियाधार से लगे क्षेत्रों को भवाली में जोड़ा जा रहा है। बताया जा रहा है कि इस तरह से भाजपा ने इस तरह पार्टी कार्यकर्ताओं को उनके मंडल मुख्यालय जाने में हो रही असुविधा का समाधान कर एक तरह से भूल सुधार भी कर लिया है।

यह भी पढ़ें : भाजपा के बागी रवि कन्याल के अभिनंदन जुलूस में शामिल हुए भाजपा, एबीवीपी से जुड़े युवा

नवीन समाचार, नैनीताल, 13 नवंबर 2019। सत्तारूढ़ भाजपा से बागी होकर कोटाबाग विकास खंड के ब्लॉक प्रमुख पद का चुनाव लड़ने व भाजपा प्रत्याशी को हराने वाले रवि कन्याल का बुधवार को जीत के बार पहली बार विकास भवन भीमताल से लौटते हुए मुख्यालय आगमन पर छात्र नेताओं ने स्वागत-अभिनंदन किया। खास बात यह रही कि कार्यक्रम में लगभग सभी छात्र नेता दक्षिणपंथी छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद एवं सत्तारूढ़ भाजपा की युवा इकाई भाजयुमो से जुड़े हैं।
छात्र नेताओं ने कहा कि रवि कन्यालय पूर्व छात्र नेता के साथ ही वर्ष 2007 में डीएसबी परिसर के छात्र संघ सचिव तथा 2008 से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नगर प्रमुख, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य व कुमाऊं संयोजक आदि पदों पर रहे हैं। छात्र नेताओं ने कहा कि ब्लॉक प्रमुख चुनाव में भाजपा द्वारा नकारे जाने के बावजूद उनके द्वारा हासिल की गई जीत युवा शक्ति की जीत है। इसके जरिये युवाओं ने बता दिया है कि युवा केवल झंडे उठाने को ही नहीं रहे, बल्कि प्रतिनिधित्व करने की भी क्षमता रखते हैं। इस मौके पर एबीवीपी निखिल बिष्ट, हिमांशु खनायत, वर्तमान अध्यक्ष विशाल वर्मा, पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष पंकज भट्ट, पवन कन्याल, करन दनाई, भाजयुमो के नगर अध्यक्ष विकास जोशी, काशी कुंवर, दिनकर सिंह, भूपाल कार्की, मोहित रौतेला यशवंत बिष्ट शुभम कुमार शिवाशीष, पवन साह, आशीष साह आदि प्रमुख रूप से शामिल हुए।

यह भी पढ़ें : स्व. प्रकाश पंत की सीट पिथौरागढ़ पर प्रमुख कांग्रेस प्रत्याशी ने की चुनाव लड़ने से नां, क्या भाजपा को वॉकओवर देगी कांग्रेस ?

नवीन समाचार, नैनीताल, 28 अक्तूबर 2019। उत्तराखंड के दिवंगत काबीना मंत्री स्वगीय प्रकाश पंत की पिथौरागढ़ विधानसभा सीट पर होने वाले उप चुनाव में कांग्रेस पार्टी के प्रमुख दावेदान, पूर्व विधायक मयूख महर ने उप चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया है। उन्होंने कहा है कि किसी युवा को मौका मिलना चाहिए। भाजपा स्वर्गीय पंत के छोटे भाई दिनेश पंत को उम्मीदवार बना सकती है। हालांकि उनके पास सुरेश जोशी सहित कई अन्य प्रबल दावेदान भी हैं। इसके बाद कांग्रेस के उप चुनाव में भाजपा को वॉकओवर देने के कयास लगने लगे हैं।
उपचुनाव में मयूख महर के इस तरह की इच्छा जताना भाजपा के लिए फायदेमंद हो सकता है। हालांकि कांग्रेस से प्रदेश प्रवक्ता मथुरा दत्त जोशी, वरिष्ठ नेता कुंवर सिंह बोहरा ने भी दावेदारी कर दी है, और आगे युंका जिलाध्यक्ष ऋषेंद्र महर और पूर्व जिलाध्यक्ष मुकेश पंत के भी दावेदारी की संभावना जताई जा रही है। गौरतलब है कि कांग्रेस में मयूख महर ही सबसे दमदार नेता हैं और उनकी क्षेत्र में जबरदस्त पकड़ है। पिछली बार प्रकाश पंत भी यहां महर से बमुश्किल ही, पीएम नरेंद्र मोदी की चुनावी सभा के बाद केवल करीब ढाई हजार मतों से जीत पाये थे। बताया जा रहा है कि महर कांग्रेस की अंदरूनी गुटबाजी से खासे नाराज हैं, जिसके कारण ही महर को पिछले विस चुनाव में हार का मुंह देखना पड़ा था।

यह भी पढ़ें : पंचायत चुनाव Effect : भाजपा ने महिला जिलाध्यक्ष सहित 4 (कुल 94) को पार्टी से निकाला, अब विधायक की बारी ?

नवीन समाचार, नैनीताल, 8 अक्तूबर 2019। उत्तराखंड में चल रहे पंचायत चुनावों में बीजेपी समर्थित उम्मीदवारों के खिलाफ काम करने के आरोप में चार और पार्टी नेताओं को मंगलवार को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। प्रदेश पार्टी अध्यक्ष अजय भट्ट के निर्देश पर महामंत्री राजेंद्र भंडारी ने चार नेताओं को पार्टी से निष्कासन किए जाने संबंधी पत्र जारी किया। मंगलवार को पार्टी से बाहर किए गए नेताओं में देहरादून जिला महिला मोर्चा अध्यक्ष माया पंत भी शामिल हैं। प्रदेश पार्टी मीडिया प्रभारी देवेंद्र भसीन ने कहा कि इस कार्रवाई के बाद पंचायत चुनावों के दौरान निकाले गए पार्टी नेताओं की संख्या 94 हो गई है। प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष और नैनीताल सांसद अजय भट्ट पहले ही कह चुके हैं कि अनुशासन पार्टी की सर्वोच्च प्राथमिकता है और इसका उल्लंघन करने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा।
फिलहाल सबकी निगाहें इस पर हैं कि देहरादून जिले के रायपुर से बीजेपी विधायक उमेश शर्मा को को इसी तरह के आरोपों के चलते दिए गए स्पष्टीकरण नोटिस पर पार्टी आगे क्या कार्रवाई करती है। बीते दिनों शर्मा का एक कथित ऑडियो वायरल हुआ था, जिसमें वह पंचायत चुनाव में बीजेपी समर्थित उम्मीदवार के खिलाफ एक निर्दलीय प्रत्याशी को वोट दिए जाने की वकालत करते सुनायी दे रहे थे। पार्टी ने इसका गंभीर संज्ञान लेते हुए छह अक्टूबर को उन्हें नोटिस जारी कर तीन दिन के भीतर जवाब दाखिल करने को कहा है।

यह भी पढ़ें : विधायक ने बताया 2024 में भी भाजपा की पुर्नवापसी का मंत्र..

नवीन समाचार, नैनीताल, 29 जुलाई 2019। स्थानीय विधायक संजीव आर्य ने कहा कि भाजपा ने पिछली बार देश भर में 14 करोड़ लोगों को पार्टी से जोड़ा था, जिनमें से 10 करोड़ लोगों की पुष्टि भी हुई। वहीं 2019 के लोक सभा चुनाव में भाजपा को 25 करोड़ वोट एवं 303 सीटें मिलीं, जिससे पार्टी की केंद्र की सत्ता में वापसी भी हुई। उन्होंने कहा कि यदि इसी तरह पार्टी 15 करोड़ की सदस्यता का लक्ष्य पूरा करती है तो इसी अनुपात में पार्टी की अगले 2024 के लोक सभा चुनाव में 30 करोड़ वोट मिल सकते हैं, और इतने मतों से एक बार पुनः भाजपा की केंद्र की एवं साथ ही इससे पहले राज्य की सत्ता में भी पुर्नवापसी हो सकती है। कहा कि आम जनता में भी पार्टी से जुड़ने के प्रति अधिक चाव नजर आ रहा है।
श्री आर्य सोमवार को राज्य अतिथि में आयोजित पार्टी की नगर मंडल की जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट की मौजूदगी में हुई सदस्यता संबंधी बैठक में बोल रहे थे। बैठक में बताया गया कि नगर मंडल को 2500 कार्यकर्ताओं को जोड़ने का लक्ष्य मिला हुआ है, इसमें से 1500 लोगों को अब तक जोड़ा भी जा चुका है। इस मौके पर नगर अध्यक्ष मनोज जोशी, पूर्व एएसपी हरीश चंद्र सती, बिमला अधिकारी, गोपाल रावत, विवेक साह, आनंद बिष्ट, उमेश गढ़िया, सागर आर्या, कुंदन बिष्ट, भानु पंत, संगीता पंत, सागर आर्या, कलावती असवाल सहित बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : नैनीताल में भाजपा नगर अध्यक्ष की आत्मदाह की धमकी के बाद पुलिस को लेना पड़ा यह ‘रिवर्स एक्शन’

-डीआईजी से एएसपी रुचि जुयाल को हटाने की मांग भी की
नवीन समाचार, नैनीताल, 31 मई 2019। नगर में एक फल और एक जूतों की मरम्मत करने वाले को पुलिस द्वारा उसके स्थान से हटा दिये जाने पर सत्तारूढ़ भाजपा के नगर अध्यक्ष मनोज जोशी ने शुक्रवार को डीआईजी अजय जोशी को फोन कर खुद के आत्मदाह की धमकी दे दी। इसके बाद हरकत में आये प्रशासन ने जूते और फल वाले को उनके स्थानों पर थोड़ा पीछे बैठने की इजाजत दे दी। जोशी ने आत्मदाह की धमकी सार्वजनिक तौर पर केएसवीएन के सूखाताल स्थित टीआरएच से डीआईजी को यहां निगम की नई उपाध्यक्ष रेनू अधिकारी के आगमन के इंतजार के दौरान पत्रकारों के समक्ष दी।
जोशी का कहना था कि जूते व फड़ वाले बरसों से मल्लीताल रिक्शा स्टेंड पर पुलिस चौकी के पास सड़क से हटकर बैठते हैं। फल वाले को तो बकायदा नगर पालिका से पांच गुणा पांच फिट का स्थान आवंटित भी है, और सिविल कोर्ट से भी उसके पक्ष में फैसला आया हुआ है। इन प्रपत्रों को दिखाने के बावजूद नई एएसपी रुचि जुयाल ने पद की बेवजह ताकत व मनमर्जी दिखाते हुए दोनों को हटा दिया। उन्होंने डीआईजी जोशी से एएसपी रुचि जुयाल को हटाने की बात भी कही। उल्लेखनीय है कि गत दिवस मनोज जोशी इसी मुद्दे पर पुलिस के सामने सड़क पर लेट भी गये थे। वहीं भाजपा विधायक संजीव आर्य ने भी जोशी का पक्ष लेते हुए कहा था कि किसी को रोजगार दे नहीं सकते तो हटाने की कोई तुक नहीं है। नयों को न लगने दें, परंतु पुरानों को वैकल्पिक व्यवस्था के बिना हटाना ठीक नहीं है। इधर अपराह्न में जोशी ने बताया कि बाद में उन्हें एसएसपी एवं सीओ के स्तर से बुलाया गया, तथा फड़ व जूते वाले को उनके स्थान पर ही थोड़ा पीछे बैठा दिया है।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड भाजपा ने ‘सबका साथ’ के लिए पहली बार की यह पहल, मुस्लिम होंगे खुश !

-पार्टी पुस्तकालय में कुरान रखी
नवीन समाचार  देहरादून 31 मई 2019। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अल्पसंख्यकों तक पहुंच बढ़ाने की जरूरत बताये जाने के कुछ दिनों के भीतर ही उत्तराखंड प्रदेश भाजपा मुख्यालय में स्थापित पुस्तकालय में कुरान की एक प्रति रख दी गयी है। प्रदेश भाजपा मीडिया प्रभारी डा. देवेंद्र भसीन ने बताया कि पार्टी के सह मीडिया प्रभारी शादाब शम्स ने एक—दो दिन पहले ही यहां पार्टी राज्य मुख्यालय में कुरान की एक प्रति रखी है। उन्होंने कहा कि ऐसा हर धर्म के साथ समान व्यवहार करने की भाजपा की नीति के अनुरूप किया गया है। भसीन ने कहा कि पार्टी अपने कार्यकर्ताओं की पहुंच सभी धर्मों के ग्रंथों और पवित्र पुस्तकों तक बनाना चाहती है और यह उसी दिशा में एक कदम है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के निर्देश पर बनाये गये इस पुस्तकालय में करीब 400 पुस्तकें हैं। भाजपा संसदीय दल का नेता चुने जाने के बाद मोदी ने अपने संबोधन में अल्पसंख्यकों तक पहुंच बढ़ाने की जरूरत पर बल दिया था।

यह भी पढ़ें : अमित शाह ने फूका उत्तराखंड में लोकसभा चुनाव का बिगुल, राम मंदिर के निर्माण पर कह दी बड़ी बात

नवीन समाचार  देहरादून 2 फरवरी 2019। सत्तारूढ़ भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को उत्तराखंड में लोकसभा चुनाव का शंखनाद कर दिया है। शाह ने कहा कि राम मंदिर पर भाजपा की स्पष्ट नीति है। भव्य राम मंदिर उसी जगह पर जल्दी बनना चाहिए। किसी को दुविधा में रहने की जरूरत नहीं है। जब भी राम मंदिर बनाने को केस आता है तो कांग्रेस अड़ंगा लगाती है। कहा, राहुल बाबा स्टैंड क्लियर करो। वहां राम मंदिर चाहते हो या नहीं। कहा कि वे उत्तराखंड को मॉडल राज्य बनाना चाहते हैं।

देहरादून के परेड मैदान में पार्टी के टिहरी और हरिद्वार लोकसभा क्षेत्रों के त्रिशक्ति सम्मेलन में अमित शाह ने कार्यकताओं में जोश भरा। अपने करीब 45 मिनट के संबोधन में उन्होंने कहा, कार्यकर्ता भाजपा की रीढ़ की हड्डी है। छोटा कार्यकर्ता पार्टी के साथ काम करता है, पार्टी उसे क्या मौका देती है, इसका उदाहरण खुद वे हैं, जो खुद 1982 में गुजरात में बूथ अध्यक्ष थे। ऐसा भाजपा के अलावा कहीं नहीं है। देशभर की अन्य पार्टियों में अध्यक्ष परंपरागत वंशवाद से आते हैं। भाजपा गरीब चाय बेचने वाले के बेटे को प्रधानमंत्री बनाती है।  उधर, देहरादून में अमित शाह को काले झंडे दिखने पहुचे युवा कांग्रेस कार्यकर्ता को पुलिस ने रोका इस दौरान पुलिस ने उन्‍हें गिरफ्तार भी किया। इससे पहले सम्‍मेलन में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि बजट में कामगारों से लेकर सेना के लिए दिया उससे भारत का उज्ज्वल भविष्य नजर आता है। भाजपा कार्यकर्ता सभी पांचो सीट जीता कर संगठन को देंगे।

अमि‍त शाह ने कहा कि कई विजय को मैंने देखा है। असंभव लगते हुए चुनाव को भाजपा कार्यकर्ताओं ने प्रचंड विजय में बदलने का कार्य किया है। उत्तराखंड और यूपी इसका उदाहरण है। कहा, जब मैं उत्तराखंड में चुनाव की तैयारी के दौरान आया था, तब मैंने कहा था कि एक बार पूर्ण बहुमत की सरकार बनाओ, मोदी की कैबिनेट सरकार और देवभूमि की डबल सरकार इसे डबल इंजन माडल बनाएगी। दोनों सरकारों ने फास्ट ट्रेक पर उत्तराखंड के विकास को आगे बढ़ाने का काम किया। उत्तराखंड पीएम मोदी की प्राथमिकता में है।

केदारनाथ का कायाकल्‍प का कार्य किया गया

अमि‍त शाह ने कहा देश व विदेश के लोग यहां (उत्‍तराखंड) चारधाम यात्रा के लिए आते हैं। यहां सबसे कठिन यात्रा केदारनाथ की होती है। पीएम ने केदारनाथ का कायाकल्प का कार्य किया है। केदारनाथ व बदरीनाथ का कायाकल्प करने का काम कठिन परिस्थितियों में भी किया गया है। मोदी सरकार ने आलवेदर रोड बनाने के काम की शुरूआत की, जिसका 24 घंटे काम जारी है। कहा, त्रिवेंद्र रावत सरकार ने हर वर्ग के लिए काम करने का प्रयास किया। उन्होंने भ्रष्टाचार को उत्तराखंड को मुक्त कराने का काम किया है। अमित शाह ने कहा कि बजट से विपक्ष की हवाइयां उड़ी है। विपक्ष के नेता के कांग्रेस अध्यक्ष के चेहरे से नूर गायब हो गया। आपका लक्ष्य क्या है सत्ता हासिल करना या गरीब किसान का उद्धार है। जब घोषणा की कि किसानों के खातों में छह हजार जमा कराया जाएगा, तो इससे देश भर के किसानों में खुशी की लहर है। अमि‍त शाह ने कहा कि पीएम मोदी दूर की सोच वाले प्रधानमंत्री हैं। बजट से किसान व मध्यम वर्ग के लोग खुश हैं। कटाक्ष किया कि कांग्रेस अध्यक्ष ने बजट का विरोध किया, लेकिन उन्‍हें यह भी मालूम है कि रवि की फसल कब होती है। कांग्रेस के लोग अलग-अलग बयान दे रहे हैं।  शाह ने कहा कि देवभूमि से कोई भी गांव ऐसा नहीं है, जहां से जवान सीमा की रक्षा को नहीं गया। देश गौरव के साथ कहता है कि जब तक उत्तराखंड के वीर जवान हैं, तब तक सीमाओं की चिंता नहीं करनी चाहिए। मोदी सरकार ने सबसे बड़ा रक्षा बजट दिया। दस साल तक सोनिया मनमोहन सरकार थी, उसने देश की सेनाओं के आधुनिकीकरण को कुछ नहीं किया। कांग्रेस 55 साल में ओआरओपी नहीं दे पाई। भाजपा सरकार ने इसे एक साल में ही कर दिया। मोदी सरकार ने सेना और सीमा को सुरक्षित किया। इस साल तीन लाख करोड़ का रक्षा बजट दिया।

मोदी सरकार ने घोटालों को किया समाप्‍त

अमि‍त शाह ने कहा कि मोदी सरकार ने घोटालों को समाप्त किया। कार्यकर्ताओं का संकल्प होना चाहिए कि मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाएं। ये भाजपा के साथ ही भारत के लिए जरूरी है। हम चाहते हैं कि भाजपा का भगवा बंगाल में भी शान से फहरे। हमारी सरकार ने गरीबों के घर गैस सिलेंडर पहुंचाए, गरीबों के घर बनवाए और बिजली पहुंचायी गई।

गठबंधन कभी भी ताकतवर नहीं होगा

अमि‍त शाह ने कहा कि गठबंधन कभी भी ताकतवर नहीं होगा। उन्‍होंने कहा, चंद्रबाबू नायडू हल्द्वानी में सभा करेंगे तो कोई आएगा क्या। ममता को सुनने कौन आएगा। ये सब लोग राज्यस्तरीय नेता हैं। कभी एक दूसरे का मुंह न देखने वाले बुआ भतीजा भी एक मंच पर आ गए हैं। उन्‍होंने कहा कि जातिवाद की राजनीतिक, परिवारवाद की राजनीतिक बंद करनी होगी। ये देश का भला नहीं कर सकती। सारे गठबंधन के लोग कहते हैं, मोदी हटाओ, मोदी कहते हैं गरीबी हटाओ, मोदी कहते हैं भ्रष्टाचार हटाओ, बीमारी हटाओ। वे कहते हैं मोदी हटाओ। उनका एक मात्र उद्ददेश्य मोदी हटाओ है। वो जितना नाम मोदी का लेते हैं, यदि नारायण का नाम लेते तो उनका भला हो जाता। गठबंधन वाले लोग देश का भला नहीं कर सकते हैं।

उत्तराखंड को अटलजी ने बनाया, मोदीजी ने संवारा

अमि‍त शाह ने कहा कि संकल्प करके दूर दूरस्थ गांव में जाइए। वहां यदि एक भी गढ़ है वहां भाजपा कार्यकर्ता जाए। उन्‍होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि पूर्ण बहुमत की सरकार बनानी है। कहा उत्तराखंड पर भाजपा का अधिकार है। उत्तराखंड को अटलजी ने बनाया, मोदी ने संवारा। ऐसी विजय होनी चाहिए विरोधियों के दिल धड़कना भूल जाए।

बता दें कि इसी तरह से बीजेपी नैनीताल, पौड़ी, अल्मोड़ा लोकसभा में भी त्रिशक्ति सम्मेलन का आयोजन करेगी. हल्द्वानी में 9 फरवरी को नैनीताल लोकसभा का त्रिशक्ति सम्मेलन आयोजित किया जाएगा. इसी दिन श्रीनगर में पौड़ी लोकसभा का त्रिशक्ति सम्मेलन आयोजित किया जाएगा. 16 फरवरी को अल्मोड़ा लोकसभा का त्रिशक्ति सम्मेलन आयोजित होगा.

यह भी पढ़ें : नैनीताल में भाजपाइयों को स्थापना दिवस से पहले करना पड़ा ‘यह’ काम, और इसके बाद न कर पाए माल्यार्पण-न खा पाए मिठाई

-खुद लगानी पड़ी दीन दयाल पार्क में झाड़ू
नैनीताल। शुक्रवार को सत्तारूढ़ दल भाजपा के कार्यकर्ता पार्टी के स्थापना दिवस पर पार्टी संस्थापक पं. दीन दयाल उपाध्याय की मूर्ति युक्त पार्क में आये तो संस्थापक की मूर्ति पर माल्यार्पण करने और मिठाई खाने-खिलाने आए थे, लेकिन करना कुछ ऐसा पड़ा कि यह कार्य भी नहीं कर पाए। उन्हें पार्क में गंदगी के अंबार को देखते हुए खुद झाड़ू लगानी पड़ी। यह स्थिति तब आई जबकि देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में चल रहे ‘स्वच्छ भारत अभियान’ और इस अभियान के तहत चल रहे ‘स्वच्छ भारत सर्वेक्षण’ में नैनीताल नगर पालिका द्वारा न केवल प्रतिभाग किया गया है, वरन सर्वेक्षण के तहत ‘ऐप’ के जरिये सफाई की शिकायतों के निस्तारण में 76वें स्थान पर रही भी है। पार्क में पानी का कोई प्रबंध भी न होने के कारण कई ने गंदे हाथों से पं. उपाध्याय को माल्यार्पण करना भी उचित नहीं समझा और गंदे हाथों से मिठाई भी नहीं खा पाए।

यह भी पढ़ें : डिजिटल हो रहा है नैनीताल, स्वच्छता एप में प्रदेश में पहले व देश में 76वें स्थान पर पहुंचा

यह स्थिति इसलिये भी चिंताजनक कही जाएगी कि नगर पालिका कार्यालय के बिल्कुल करीब स्थित इस पार्क में झाड़ू लगाने के लिए पालिका के अधिकारियों को भाजपा नगर अध्यक्ष द्वारा कहा भी गया था, बावजूद अपराह्न ढाई बजे तक झाड़ू नहीं लगी। ऐसे में स्थापना दिवस कार्यक्रम मनाने पहुंचे जिला उपाध्यक्ष विवेक साह कहीं से झाड़ू लेकर आये और पार्क की सफाई में जुटे। देखा-देखी भूपेंद्र बिष्ट और फिर पूर्व दायित्वधारी शांति मेहरा, उमेश गड़िया व पूर्व महिला जिलाध्यक्ष अमिता साह आदि भी पार्क की सफाई में जुटे। इस बीच फिर से पालिका के अधिकारियों को फोन किये गए, जिसके बाद एसआई कुलदीप सिंह पर्यावरण मित्रों को लेकर मौके पर पहुंचे, और भाजपाइयों द्वारा एकत्र की गयी गंदगी को उठाया। इस पर भाजपाइयों में कड़ी नाराजगी भी देखी गयी, और इसके बाद भी भाजपाइयों ने पं. उपाध्याय की मूर्ति पर माल्यार्पण किया और मिष्ठान्न वितरण किया। इस मौके पर नगर अध्यक्ष मनोज जोशी, विमल चौधरी, कुंदन बिष्ट, मीनू बुधलाकोटी, वंदना चौधरी व पान सिंह रौतेला सहित अन्य अनेक कार्यकर्ता मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : भाजपाई ग्रुपों में भी आई इस ‘वायरल खबर ‘पर सरकार को देना पड़ा स्पष्टीकरण

सोशल मीडिया पर जल्दबाजी में कुछ भी कॉपी-पेस्ट करना किसी के लिए भी खतरनाक हो सकता है, और कमोबेश हर सोशल मीडिया का प्रयोक्ता इस जल्दबाजी का शिकार कभी भी हो सकता है। मंगलवार को अन्य ग्रुपों के साथ ही भाजपा से जुड़े कुछ वाट्सएप ग्रुपों में भी आई एक खबर राज्य सरकार के लिए जवाब देने के स्तर तक भारी पड़ गई है। सरकार को इस पर स्पष्टीकरण जारी करना पड़ा है। स्पष्टीकरण में सोशल मीडिया पर वायरल हुई खबर को झूठा बताया गया है। साथ ही आदेश की प्रति प्रदेश के डीजीपी को भी भेजकर मामले में संज्ञान लेने को कहा गया है

मंगलवार (27 मार्च 2018) को सोशल मीडिया पर यह खबर आई थी:

आति आवश्यक सूचना – उत्तराखण्ड सरकार ने सर्कुलर जारी कर दिया है कि जिस भी ग्राम सभा वासियों ने अपनी कृषि भूमि दस साल से जादा बंजर छोड़े हो गये वह जमीन भूमि हीनो को देने के लिये कवायत शुरू हो गयी है चाहे वह सिचाई की जमीन हो या कोई अन्य सरकार का मानना है कि बंजर भूमि की आवश्यकता अब लोगो को नही है इसलिये यह जमीन उन बेघर भूमिहीनो को दिया जाय जिनके पास जमीन नही है
और यह जल्दी होने वाला है
यह संदेश सबतक पहुँचाये ताकी इसपे विचार किया जाय

यह भी पढ़ें : 

सत्तारूढ़ दल से जुड़े व्यक्तियों द्वारा यह खबर डाले जाने से लोगों को इस खबर के साथ इसके द्वारा भूमिहीनों को सरकार द्वारा लाभान्वित किये जाने की योजना पर सहज ही विश्वास भी हो गया था। इसके बाद राजस्व विभाग में सचिव प्रभारी हरबंस सिंह चुघ द्वारा जारी खण्डन में कहा गया है कि यह सिर्फ अफवाहें हैं, अफवाहें फैलाने वालों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। चुघ ने कहा है कि राज्य सरकार द्वारा इस तरह का कोई निर्णय नहीं लिया गया है। न ही इस तरह के किसी मामले पर विचार किया जा रहा है। शरारती तत्व इस तरह के संदेश फैला रहे हैं। इस तरह के समाचारों का खण्डन किया जाता है और अफवाहें फैलाने वालों के खिलाफ वैधानिक कार्यवाही की जाएगी।

यहाँ अपनी ओर हम यह साफ कर देना चाहते हैं कि “यह अभी स्पष्ट नहीं है और जांच के अधीन है कि यह खबर कहाँ से शुरू हुई, और कौन इसके लिए जिम्मेदार है। अलबत्ता, हमारे संज्ञान में यह खबर भाजपा से जुड़े एक ग्रुप से आई। संभव है, वहां भी यह किसी अन्य ग्रुप से आई हो। इस खबर को प्रकाशित करने का हमारा उद्देश्य सिर्फ इतना है कि सोशल मीडिया पर ख़बरें डालने से पहले गंभीरता, तथ्यों की जाँच की  जरूरत है। अन्यथा गलती किसी से भी, हम से भी हो सकती है। इसीलिए ग्रुप में यह खबर डालने वाले व्यक्ति का नाम छुपा दिया गया है।

नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply