News

नैनीताल बैंक ने खोलीं दो नई शाखाएं, 159 हुई संख्या, 2023 तक 200 का लक्ष्य

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नवीन समाचार, नैनीताल, 10 मार्च 2021। नैनीताल बैंक की दो नई शाखाएं तल्ली बमोरी लालडांठ रोड हल्द्वानी और बेरिया दौलत बाजपुर में बुधवार को खुल गई। दोनों शाखाओं का उदघाटन बैंक के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी दिनेश पंत ने दीप प्रज्वलित कर किया। इसके साथ 98 वर्षों की लंबी यात्रा के फलस्वरूप नैनीताल बैंक की शाखाओं की कुल संख्या बढ़कर 159 हो गयी है।

तल्ली बमौरी में नई शाखा का शुभारंभ करते नैनीताल बैंक के अध्यक्ष एवं सीईओ दिनेश पंत।

इस अवसर पर आयोजित एक सादे समारोह में श्री पंत ने बताया कि नैनीताल बैंक अत्यंत सरल शर्तों पर खुदरा एवं कृषि ऋण योजनाएं प्रदान कर रहा है। बैंक को विकसित करने के उद्देश्य से 2023 तक शाखाओं की संख्या को 200 एवं बैंक के व्यवसाय को 20,000 करोड़ तक ले जाने के लक्ष्य के तहत वर्तमान वित्तीय वर्ष में 25 शाखाएं खोलने की श्रंखला में इन शाखाओं समेत वर्तमान वित्तीय वर्ष में बैंक की 18 शाखाएं खुल चुकी हैं। बैंक ने उच्चीकृत तकनीक से युक्त फिनेकल 10.0 प्लेटफार्म पर बैंकिंग सुविधाए उपलब्ध कराने के उद्देश्य से अनेक आवश्यक कदम उठाए हैं। के दौरान बैंक के प्रति भरोसा दिखाने पर बधाई एवं शुभकामनाए दी। इस अवसर पर क्षेत्रीय प्रबंधक हल्द्वानी अमर सिंह, शाखा प्रबंधक तल्ली बमोरी रजत पंत, शाखा प्रबंधक बेरिया दौलत रोहित सिरोही, केवल सिंह बावा, माता दीन प्रजापति, भजन सिंह, रेखा पासी, चंदन खत्री, विजय बिष्ट, गोविंद सिंह कुंजवाल, चंदन बिष्ट, ईश्वर पांडे, नीरू पांडे, दीपांशु पांडे, नेहा पंत, हर्षित शर्मा, गोविंद बल्लभ पांडे, पुष्पा पांडे, दर्पण साहनी, अंजू शर्मा, प्रियंका शर्मा, अशोक डसीला, दिव्या शर्मा, आरिफ, हेम दुम्का, पवन शर्मा, गोपाल रावत इत्यादि गणमान्य नागरिक, ग्राहक एवं अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन अनुभव श्रीवास्तव ने किया।

यह भी पढ़ें : नैनीताल बैंक ने बढ़ाया लक्ष्य की ओर एक और कदम…

-बैंक के अध्यक्ष दिनेश पंत ने 153वीं शाखा का देहरादून के राजेश्वरीपुरम में किया शुभारंभ

शुक्रवार को देहरादून में नैनीताल बैंक की 153वीं शाखा का शुभारंभ करते नैनीताल बैंक के अध्यक्ष दिनेश पंत।

नवीन समाचार, नैनीताल, 19 फरवरी 2021। प्रदेश के अपने इकलौते वाणिज्यिक बैंक-द नैनीताल बैंक लिमिटेड के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी दिनेश पंत ने बैंक की 153वीं शाखा का शुभारंभ किया। यह नवीन शाखा राजेश्वरीपुरम देहरादून में नए सुसज्जित परिसर में स्थापित की गई है। श्री पंत ने इस अवसर पर प्रतीक स्वरूप फीता काटा तथा दीप प्रज्वजल सहित उदघाटन से संबंधित अन्य ओपचरिकताएं पूरी कीं।
इस अवसर पर आयोजित एक सादे समारोह में श्री पंत नें बताया कि 98 वर्ष पुराने इस ऐतिहासिक नैनीताल बैंक की वर्तमान वित्तीय वर्ष में 25 शाखाएं खोलने के लक्ष्य के सापेक्ष यह 13वीं एवं कुल मिलाकर 153वीं शाखा खोली जा रही है। बैंक अपनी विस्तार योजना के अंतर्गत 2023 तक शाखाओं की संख्या को 200 एवं बैंक के व्यवसाय को 20,000 करोड़ तक ले जाने के लक्ष्य पर कार्य कर रहा है। उन्होंने बताया कि नैनीताल बैंक ने अपने ग्राहको को उच्चीकृत तकनीक से युक्त सेवाएं प्रदान करने के उद्देश्य से फिनेकल 10 प्लेटफार्म पर बैंकिंग सुविधाए उपलब्ध कराने के उद्देश्य से अनेक आवश्यक कदम उठाए हैं। इस अवसर पर क्षेत्रीय प्रबंधक अजय सेठ, शाखा प्रबंधक अमित घिल्डियाल, डॉ विनोद चंद्रा केशो, राम गोयल, वीरेंदर सिंह सजवाण, राज लुम्बा, हेम पंत, सुमित पुंडीर, शैलेश कोठियाल, नवीन कांत, सुभाष चमोली, गौतम घिल्डियाल, अनुज रतूड़ी, आरसी रवि, परमेन्द्र रावत, सूर्या नारायण, आशु अग्रवाल, यूके बिष्ट, मुकुल सनवाल, दिगंबर कठैत आदि गणमान्यजन, ग्राहक एवं अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन रुचि असवाल कंडारी ने किया।

यह भी पढ़ें : उपलब्धि: कोरोना काल में भी 14 नई शाखाएं खोलकर 70 करोड़ का व्यवसाय किया, अध्यक्ष बोले 200 वर्षों तक बैंक का भविष्य सुरक्षित

-नैनीताल बैंक के अध्यक्ष ने पेश किया उपलब्धियों का ब्यौरा, कहा 100 वर्ष पूरे कर रहा बैंक 200 वर्ष आगे भी रहेगा सुरक्षित

बृहस्पतिवार को पत्रकार वार्ता करते नैनीताल बैंक के अध्यक्ष एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी।

नवीन समाचार, नैनीताल, 21 जनवरी 2021। जम्मू कश्मीर के जम्मू कश्मीर बैंक की तरह उत्तराखंड के अपने इकलौते वाणिज्यिक बैंक-1922 में स्थापित द नैनीताल बैंक लिमिटेड द्वारा नये अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी दिनेश पंत के कार्यकाल में उन्नति की नित नई इबारतें लिखी जा रही हैं। बृहस्पतिवार को पत्रकार वार्ता में श्री पंत ने बैंक की प्रगति का बखान करते हुए बताया कि कोरोना काल में जहां पूरा देश व दुनिया शिथिल पड़ी थी वहीं नैनीताल बैंक ने इस दौरान 14 नई शाखाएं खोलकर अपनी शाखाओं की संख्या को 138 से बढ़ाकर 152 कर दिया है, और इन नई शाखाओं से ही 70 करोड़ रुपए का व्यवसाय प्राप्त किया है। यह भी बताया कि बैंक जहां पिछले वर्ष 68 करोड़ के घाटे में था, वहीं इस वर्ष तीसरी तिमाही बीतने तक बैंक ने 100 करोड़ रुपए का कुल लाभ एवं 45 करोड़ का शुद्ध लाभ प्राप्त किया है। साथ ही एनपीए भी 536 करोड़ से घटाकर 513 करोड़ कर लिया है।
उन्होंने बताया कि बैंक का फोकस अब छोटे रिटेल, एमएसएमई व कृषि क्षेत्र पर है और यह भी तय किया गया है कि बैंक अधिकतम 30 करोड़ रुपए तक के ही ऋण देगा। आगे उन्होंने हर वर्ष करीब 100 स्थानीय लोगों को भर्ती कर बैंक में रोजगार देने, मार्च 2021 तक शाखाओं की संख्या 165 व मार्च 2022 तक 201 करने, एनपीए को मार्च 2021 तक 490 करोड़ पर लाने का इरादा भी जताया। साथ ही बैंक ऑफ बड़ौदा की 98.57 हिस्सेदारी होने और आरबीआई के नियमों के तहत 30 फीसद तक हिस्सेदारी घटाने के निर्देशों के बावजूद, अपनी स्थापना के 100 वर्ष पूरे कर रहे नैनीताल बैंक को अगले 200 वर्षों तक भी बने रहने का विश्वास दिलाया। इस मौके पर बैंक के मुख्य परिचालन अधिकारी ओम प्रकाश जगरवाल, उपाध्यक्ष रमन गुप्ता व एसोसिएट वाइस प्रेजीडेंट बीबी पांडे सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : नैनीताल बैंक की दो नवीन शाखाओं का देहरादून में हुआ भव्य उदघाटन

नवीन समाचार, देहरादून, 28 दिसम्बर 2020। राजधानी देहरादून के नथुवावाला एवं झाझरा सुद्धोवाला वाला उत्तराखंड के अपने इकलौते वाणिज्यिक बैंक-द नैनीताल बैंक लिमिटेड की दो और नई शाखाएं खुल गई हैं। इन दो शाखाओं का बैंक के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी दिनेश पंत नव सुसज्जित परिसरों में दीप प्रज्वलित कर व फीता काटकर किया। इसके साथ नैनीताल बैंक की शाखाओं की कुल संख्या बढ़कर 152 हो गयी हैं। उल्लेखनीय है कि अपनी विस्तार योजना के अंतर्गत नैनीताल बैंक 2023 तक शाखाओं की संख्या को 200 एवं बैंक के व्यवसाय को 20,000 करोड़ तक ले जाने के लक्ष्य पर कार्य कर रहा है। इस उद्देश्य से वर्तमान वित्तीय वर्ष में 25 शाखाएं खोलने के लक्ष्य के सापेक्ष बैंक की ग्यारह 11 शाखाएं खुल चुकी हैं।

इस अवसर पर श्री पंत नें बैंक की महत्वाकांक्षी योजनाओं के विषय में जानकारी देते हुए बताया कि बैंक उत्तराखंड के विकास हेतु अनेक योजनाओं के माध्यम से औद्योगिक एवं व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को सरल एवम सस्ती दरों एवं अत्यंत सरल शर्तों पर ऋण सुविधाए प्रदान करने हेतु कृत संकल्प है। बैंक नें फिनेकल 10 प्लेटफार्म पर बैंकिंग सुविधाए उपलब्ध कराने के उद्देश्य से अनेक आवश्यक कदम उठाए हैं। उन्होने बैंक के ग्राहको, अंश धारकों, हित्त धारकों एवं सभी शुभ चिंतकों को 98 वर्षों की लंबी यात्रा के दौरान बैंक के प्रति भरोसा दिखाने पर बधाई एवं शुभकामनाएं भी दीं। इस अवसर पर क्षेत्रीय प्रबंधक-देहरादून अजय सेठ, डॉ. राजेंद्र डोभाल, डॉ. पीयूष जोशी, पूजा जोशी, कुलबीर सजवाण, वीरेंद्र सजवाण, नीरज त्यागी, बबलू तोमर, सुरेंद्र नेगी, डॉ. ललिता खोतिया, जितेन्द्र कुमार, अनुराग पाहुजा, अनूप डोभाल, राजन थपलियाल, रियासत खान, मिलन घिल्डियाल, हेम पंत, हेम चौबे, राज लुंबा अरविंद अलीपुरिया, डॉ. विनोद चंद्रा, गुरविंदर सिंह, यूके बिष्ट, दिगम्बर कठैत, आयुष मेहता, प्रीति बहुगुणा व मधुर गुप्ता अदि गणमान्य नागरिक, ग्राहक एवं अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन रुचि असवाल कंडारी ने किया।

यह भी पढ़ें : ‘नवीन समाचार’ एक्सक्लूसिव बड़ा समाचार: नैनीताल बैंक में हिस्सेदारी कम करेगा बैंक ऑफ बड़ौदा

-वर्तमान में नैनीताल बैंक में 98.57 फीसद हिस्सेदारी है बॉब की, रिजर्व बैंक के नियमों के तहत अधिकतम 40 फीसद तक सीमित करनी है हिस्सेदारी
-नैनीताल बैंक प्रबंधन को उम्मीद, बैंक में नई बड़ी धनराशि आएगी और बैंक को लाभ होगा
नवीन समाचार, नैनीताल, 8 नवम्बर 2020। उत्तराखंड के अपने इकलौते वाणिज्यिक बैंक-नैनीताल बैंक लिमिटेड में 98.57 फीसद हिस्सेदारी वाला इसका पैतृक बैंक-बैंक ऑफ बड़ौदा (बॉब) फिर से अपनी हिस्सेदारी को कम करने की योजना बना रहा है। बैंक ऑफ बड़ौदा के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी संजीव चड्ढा के हवाले से आई खबरों के अनुसार बॉब अगली दो से तीन तिमाहियों यानी 6 से 9 माह में नैनीताल बैंक में अपनी हिस्सेदारी को कम करने के लिए उपलब्ध विभिन्न विकल्पों का मूल्यांकन करेंगे, और सर्वसहमति से किसी बेहतर विकल्प से ऐसा करेंगे। उल्लेखनीय है कि बॉब के पिछले प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी पीएस जयकुमार ने भी भारतीय रिजर्व बैंक के निर्देश 1973 से बैंक ऑफ बड़ौदा के अधीन संचालित नैनीताल बैंक में बैंक ऑफ बड़ौदा की हिस्सेदारी में कटौती करने की योजना बनाई थी, लेकिन वे इस योजना को अमलीजामा नहीं पहना पाए थे। उल्लेखनीय है कि भारतीय रिजर्व बैंक के नियमों के तहत किसी भी संस्थान में अन्य संस्थान की अधिकतम 40 फीसद हिस्सेदारी ही हो सकती है। माना जा रहा है कि इसी नियम के तहत बॉब नैनीताल बैंक में अपनी हिस्सेदारी कम कर सकता है। इस हेतु अन्य संस्थान से नैनीताल बैंक में बड़ा निवेश लाया जा सकता है, जिससे सापेक्ष तौर पर बॉब की हिस्सेदारी कम भी हो जाएगी।

नैनीताल बैंक के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी दिनेश पंत।

बॉब द्वारा नैनीताल बैंक में अपनी हिस्सेदारी कम किए जाने पर बैंक के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी दिनेश पंत ने उम्मीद जताई कि बॉब द्वारा हिस्सेदारी कम करने की कोशिश में बैंक में बैंकिंग क्षेत्र के किसी अन्य अनुभवी समूह से बड़ा निवेश प्राप्त होगा। जिससे नैनीताल बैंक को तकनीकी सहित हर स्तर पर लाभ प्राप्त होगा। वहीं नैनीताल बैंक स्टाफ एसोसिएशन बॉब के इस निर्णय पर सशंकित नजर आ रहा है। स्टाफ एसोसिएशन के प्रदेश महामंत्री प्रवीण साह ने कहा इस मुद्दे पर दीपावली के बाद एसोसिएशन की बैठक आहूत की जाएगी। उनका व्यक्तिगत मत है कि बैंक में नया निवेश किसी बड़े व्यवसायिक घराने की बजाय जनता से ‘पब्लिक इश्यू’ के जरिये आए और नैनीताल बैंक के बड़े स्वरूप में भी कर्मचारियों के हित सुरक्षित रहें।

यह भी पढ़ें : स्टाफ एसोसिएशन के आरोपों पर आया नैनीताल बैंक प्रबंधन का जवाब

नवीन समाचार, नैनीताल, 13 अक्टूबर 2020। नैनीताल बैंक स्टाफ एसोसिएशन के द्वारा गत दिवस बैंक प्रबंधन द्वारा एसोसिएशन के प्रदेश महासचिव के साथ दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया था। इस पर अब नैनीताल बैंक प्रबंधन का पक्ष सामने आया है। नैनीताल बैंक के उपाध्यक्ष रमन कुमार गुप्ता की ओर से एसोसिएशन के महासचिव प्रवीण साह को पत्र भेजा गया है और पत्र की प्रतियां मीडिया को भी जारी की गई हैं।

बैंक प्रबंधन पर लगाया लोकतंत्र की हत्या करने का आरोप…

पत्र में श्री साह द्वारा लगाए गए आदेशों को पूरी तरह असत्य बताते हुए खारिज किया गया है। साथ ही दावा किया गया है कि श्री साह गत एक अक्टूबर को बिना बैंक से लिखित स्वीकृति लिए, अपने कुछ समर्थकों, जिनमें कोई भी के वर्तमान या पूर्व कर्मी नहीं थे, बैंक में घुसे और नारे लगाने शुरू कर दिए। इस पर बैंक प्रबंधन ने बेहद संयत तरीके से उन्हें, उनकी मांगें जानने के लिए वार्ता हेतु बुलाया। इस बैठक मंे श्री साह ने नम्रता के बिना व अशिष्ट तरीके से बैंक प्रबंधन पर आरोप लगाये और बैठक में उपस्थित सदस्यों से गलत व्यवहार किया। यह भी कहा है कि इस दौरान बैंक का कोई भी वर्तमान या पूर्व कर्मचारी उनके समर्थन में उपस्थित नहीं था। इसलिए इस तरह का कोई कृत्य कर्मचारी संगठन का नहीं हो सकता। पत्र में श्री साह के द्वारा समाचार माध्यमों पर गलत जानकारी दिए जाने की निंदा करते हुए उन्हें भविष्य में ऐसा न करने की सलाह भी दी गई है।

यह भी पढ़ें : 98वीं एजीएम में नैनीताल बैंक ने बदला अपना बिजनेस मॉडल, अध्यक्ष ने किया खुलासा

-पं. पंत की जयंती पर आयोजित की बैंक की 98वीं एजीएम

बृहस्पतिवार को एजीएम से पहले संस्थापक भारत रत्न पंडित पंत को नमन करते नैनीताल बैंक के अध्यक्ष दिनेश पंत।

नवीन समाचार, नैनीताल, 10 सितंबर 2020। प्रदेश के अपने इकलौते वाणिज्यिक बैंक-द नैनीताल बैंक लिमिटेड ने अपने संस्थापक भारत रत्न पंडित गोविंद बल्लभ पंत का 133 वां जन्मदिवस उत्साह, उमंग एवं सादगी के साथ मनाया। इसी दौरान बैंक ने ऑनलाइन माध्यम से अपनी 98वीं एजीएम यानी वार्षिक साधारण सभा की बैठक भी आयोजित की।
इस मौके पर बैंक के प्रधान कार्यालय में बैंक के अध्यक्ष दिनेश पंत ने पं. पंत की मूर्ति पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। उन्होंने पं. पंत के राष्ट्र प्रेम, स्वतंत्रता संग्राम में योगदान, समाज सेवा सहित व्यक्तित्व के अनेक पहलुओं पर प्रकाश डालते हुए आह्वान किया कि बैंक कर्मी उनके द्वारा स्थापित नैनीताल बैंक को उच्च शिखर पर ले जाएं। यही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि होगी। इस दौरान उन्होंने बैंक आगामी बिजनेस मॉडल भी प्रस्तुत किया। श्री पंत ने कहा कि अब नैनीताल बैंक अपनी जोखिम क्षमता को बांटने की नीति पर काम करेगा। इस नीति के तहत बड़े ऋणों की जगह 20-25 करोड़ रुपए तक के ही ऋण स्वीकृत किये जाएंगे, ताकि किसी एक बड़े ऋण लेने वाले के डूब जाने पर बैंक पर अधिक प्रभाव न पड़े। इस दिशा में कार, घर आदि के व्यक्तिगत रिटेल ऋण एवं एमएसएमई यानी लघु एवं मध्यम उद्योग क्षेत्र में तथा केंद्र सरकार की आत्मनिर्भर भारत योजना व विभिन्न सरकारी योजनाओं के तहत छोटे उद्यमियों, बेरोजगारों को प्रोत्साहित करने व कृषि क्षेत्र में ऋण दिये जाएंगे। इस अवसर पर ओम प्रकाश जगरवाल, रमन गुप्ता, बीके जोशी, बीबी पांडे, हरेंद्र नगरकोटी, दीपक बिष्ट, राहुल प्रधान, पीआरएस नेगी, प्रांशु त्रिपाठी, विवेक साह, अनुज जोशी, बैंक के निदेशक मंडल के सदस्य मृदुल कुमार अग्रवाल, एनके चारी, बिनीता साह, संजय मुदलियार आदि भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : नैनीताल बैंक ने 145वीं शाखा का शुभारंभ कर किया 99वें वर्ष में प्रवेश..

-नैनीताल चिड़ियाघर के पांच वन्य जीवों को लिया गोद, किया पौधारोपण

नैनीताल बैंक के 99वें स्थापना दिवस पर बैंक की 145वीं शाखा का शुभारंभ करते बैंक के अध्यक्ष एवं सीईओ दिनेश पंत।

नवीन समाचार, नैनीताल, 31 जुलाई 2020। उत्तराखंड के अपने इकलौते वाणिज्यिक बैंक ‘द नैनीताल बैंक लिमिटेड’ ने 145वीं शाखा का शुभारंभ कर शुक्रवार को अपना 99वां स्थापना वर्ष मनाया। इस मौके पर बैंक के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी दिनेश पंत की अगुवाई में बैंक के वरिष्ठ अधिकारियांे एवं कर्मचारियों ने मुख्यालय एवं मल्लीताल पंत पार्क स्थित बैंक प्रबंधन में बैंक के संस्थापक भारत रत्न पंडित गोविंद बल्लभ पंत की मूर्तियों पर माल्यार्पण किया एवं सभी बैंक के संस्थापकों को श्रद्धांजलि दी। साथ ही बैंक मुख्यालय तथा नगर स्थित गोविंद बल्लभ पंत उच्च स्थलीय प्राणि उद्यान जाकर पौधारोपण किया एवं पांच वन्य जीवों-हिमालयन ब्लैक बियर यानी भालू, रेड पांडा, गोराल यानी घुरड़ तथा कलीज फीजेंट एवं लव बर्ड पक्षियों के वार्षिक खर्चे बैंक की ओर से वहन कर उन्हें गोद लेने की घोषणा की।
साथ ही इस यादगार मौके पर बैंक के अध्यक्ष श्री पंत ने जेल रोड चौराहे पर बैंक की नैनीताल जनपद में 22वीं, उत्तराखंड में 83वीं एवं देश की 145वीं नव सुसज्जित शाखा का भी शुभारंभ किया। उन्होंने बताया कि बैंक की महत्वाकांक्षी योजना के अंतर्गत बैंक का वर्तमान वित्तीय वर्ष में 20, 2023 तक बैंक की शाखाओं की संख्या 200 करने व बैंक का व्यवसाय 20 हजार करोड़ तक ले जाने के उद्देश्य की कड़ी में यह चौथी नई शाखा है। उन्होंने कहा कि नैनीताल बैंक ने अपने ग्राहकों को अत्याधुनिक फिनेकल 10एक्स प्लेटफार्म पर बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध कराने की ओर आवश्यक कदम उठाने प्रारंभ कर दिये हैं। उन्होंने बैंक के ग्राहकों, अंश एवं हित धारकों तथा शुभ चिंतकों को बैंक की 98 वर्षों की लंबी यात्रा के दौरान बैंक के प्रति भरोसा बनाये रखने के लिए बधाई एवं शुभकामनाएं भी दीं। कार्यक्रमों में बैंक के चेयरमैन ओपी जगरवाल, उपाध्यक्ष रमन गुप्ता, हरीश चंद्र पंत, बाल कृष्ण जोशी, बीबी पांडे, दीप उप्रेती, दीपक बिष्ट, राहुल प्रधान, विवेक साह, प्रांशु त्रिपाठी, सोनल शर्मा, ईशा गुप्ता, जेडी तिवारी, अर्पित, सुमित भंडारी, असद गौड़ सहित अन्य उच्चाधिकारी भी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें : सबसे सस्ता होम, एजुकेशन, पर्सनल लोन देगा उत्तराखंड का यह अपना इकलौता वाणिज्यिक बैंक…

-ए श्रेणी के ठेकेदारों, वेतनभोगियों, पेशेवरों, चावल व बीज मिलों के लिए भी नैनीताल बैंक की सस्ती ऋण योजनाएं

नैनीताल बैंक के नये चेयरमैन दिनेश पंत।

नवीन समाचार, नैनीताल, 1 अगस्त 2019। उत्तराखंड के इकलौते शेडयूल्ड वाणिज्यिक बैंक-नैनीताल बैंक ने अपने ग्राहकों को सभी तरह के बैंकों से सस्ता होम लोन, कार लोन तथा एजुकेशन व पर्सनल लोन देने की योजना बनाई है। साथ ही नैनीताल बैंक ए श्रेणी के ठेकेदारों तथा वेतनभोगियों व पेशेवरों के लिए भी बैंक की सस्ती ऋण योजनाएं ला रहा है। बृहस्पतिवा को बैंक के 98वें स्थापना दिवस समारोह के बाद बैंक मुख्यालय में पत्रकारों से वार्ता करते हुए बैंक के चेयरमैन एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी दिनेश कुमार पंत ने यह जानकारी दी।
उन्होंने बताया कि नैनीताल बैंक 600 से अधिक सिबिल स्कोर वाले सभी उपभोक्ताओं को अपनी न्यूनतम ब्याज दर 8.45 फीसद पर घर खरीदने के लिए ऋण देगा। इसी तरह बैंक 8.85 से 9.4 फीसद की दर पर कार खरीदने हेतु ऋण, नौकरी पेशा एवं पेशेवरों के लिए 15 लाख रुपए तक के ऋण 11.5 से 12.25 फीसद तक की ब्याज दर पर, छात्रों के लिए उच्च शिक्षा हेतु 75 लाख तक के ऋण एवं चावल व बीज की मिलों के लिए 8.7 फीसद की न्यूनतम ब्याज दर पर ऋण लेने की योजना बनाई हैं। साथ ही ए श्रेणी के सरकारी ठेकेदारों के लिए भी बैंक की सबसे आसान व सस्ती ऋण योजनाएं हैं। इसके लिए उन्होंने नैनीताल बैंक को दुनिया की सर्वश्रेष्ठ आईटी कंपनियों में शामिल इन्फोसिस के फिनेकल सॉफ्टवेयर को लागू करने की तथा मौजूदा वित्तीय वर्ष में उत्तराखंड सहित पांच राज्यों में 12 से 15 नई शाखाएं खोलने व बैंक की शाखाओं की संख्या को 139 से बढ़कर इस वर्ष 150 एवं अगले दो वर्ष में 200 से अधिक करने की योजना भी बताया। साथ ही बताया कि अपने तीन माह के कार्यकाल में उन्होंने देश की श्रेष्ठ आईबीपीएस के माध्यम से पूरी तरह से पारदर्शी तरीके से बैंक में करीब 250 पदों पर नियुक्तियां करने की प्रक्रिया भी शुरू की है। इस हेतु आवेदन 31 जुलाई तक हो चुके हैं, और अब 24-25 अगस्त को परीक्षा के उपरांत 1 अक्तूबर तक चयनितों को नियुक्ति देने की योजना भी है। इस मौके पर बैंक के वाइस प्रेजीडेंट रमन गुप्ता सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : नैनीताल बैंक ने 98वें स्थापना पर उड़ाए 98 गुब्बारे, और पहली बार…

-बैंक के संस्थापक भारत रत्न पंडित गोविंद बल्लभ की मूर्ति का पहली बार भव्य तरीके से सजाकर की पुष्पांजलि अर्पित
-सेवानिवृत्त कर्मियों को सम्मानित भी किया और केक भी काटा

98वें स्थापना दिवस के अवसर पर पं. पंत के माल्यार्पण के उपरांत 98 गुब्बारे छोड़ते नैनीताल बैंक के चेयरमैन दिनेश पंत एवं अन्य उच्चाधिकारी।

नवीन समाचार, नैनीताल, 31 जुलाई 2019। प्रदेश के इकलौते वाणिज्यिक बैंक नैनीताल बैंक के अधिकारियों और कर्मचारियों ने बैंक के 98वें स्थापना दिवस के अवसर पर बुधवार को बैंक के चेयरमैन एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी दिनेश पंत एवं जिला विकास प्राधिकरण के सचिव हरबीर सिंह की अगुवाई में बैंक के संस्थापक भारत रत्न पंडित गोविंद बल्लभ की मल्लीताल पंत पार्क स्थित मूर्ति को पहली बार भव्य तरीके से सजाकर पुष्पांजलि अर्पित की, तथा आसमान में बैंक के लोगो के रंग से मिलते सफेद व नीले रंग के 98 गुब्बारे छोड़े। साथ ही बैंक मुख्यालय में भी स्थित पंडित पंत की संगमरमर से बनी मूर्ति पर भी माल्यार्पण किया गया। वहीं बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में हर वर्ष की तरह स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का भी आयोजन हुआ।
आगे अपराह्न में बैंक मुख्यालय में बैंक के स्थापना दिवस का केक काटा गया, एवं बैंक के सेवानिवृत्त कर्मियों को सम्मानित किया गया। वहीं शाम को नैनीताल क्लब के शैले हॉल में जनपद के एसएसपी सुनील कुमार मीणा की उपस्थिति में कुमाऊं सांस्कृतिक कला उत्थान समिति खुर्पाताल के द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये गये। इस मौके पर पूर्व सांसद डा. महेंद्र पाल, पूर्व विधायक नारायण सिंह जंतवाल व किशन सिंह तड़ागी, पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी, डीके शर्मा, वीके विग, कूर्मांचल बैंक के अध्यक्ष विनय साह, वाइस प्रेजीडेंट रमन गुप्ता, बीके कांडपाल, एवीपी बीके जोशी, बालकृष्ण जोशी, दीपक बिष्ट, यूसी रुवाली, सतीश कुमार शुक्ला, हरीश पंत, एचएस नागरकोटी व बीबी पांडे, राजीव लोचन साह, देवेंद्र जायसवाल, विवेक साह, अजय भटनागर, सुमित भंडारी, दीपक बिष्ट, मनोज भट्ट, चंद्रशेखर खुल्बे, रंजना साह, विजेता कपिल, सोनल शर्मा, ईशा गुप्ता, पृथ्वीराज सिंह नेगी, बिशन सिंह, हिमप्रिया, अनुज जोशी, प्रांशु त्रिपाठी आदि भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : नैनीताल बैंक कर्मियों ने 98वें स्थापना पर रोपे 98 पौधे, बांटा हलवा

नवीन समाचार, नैनीताल, 30 जुलाई 2019। प्रदेश के इकलौते वाणिज्यिक बैंक नैनीताल बैंक के कर्मियों ने बैंक के बुधवार को होने वाले 98वें वार्षिकोत्सव की कड़ी में मंगलवार को बैंक मुख्यालय से पौधों एवं बैनरों को हाथ में लेकर जुलूस निकाला। माल रोड होते हुए जुलूस में शामिल कर्मी पर्यावरण संरक्षण की जागरूकता के नारे लगा रहे थे। बाद में कर्मियों ने हनुमानगढ़ी पहुंचकर बैंक के चेयरमैन दिनेश पंत सहित वाइस प्रेजीडेंट रमन गुप्ता, बीके कांडपाल, एवीपी बीके जोशी, बालकृष्ण जोशी, दीपक बिष्ट, यूसी रुवाली, सतीश कुमार शुक्ला, हरीश पंत, एचएस नागरकोटी व बीबी पांडे आदि उच्चाधिकारियों की अगुवाई में बढ़-चढ़कर पौधरोपण किया। इस दौरान बांज, तिमूर, आदि प्रजातियों 98 पौधे रोपे गये। वहीं शाम को नगर की आराध्य देवी माता नयना के मंदिर में श्रद्धालुओं को प्रसाद का वितरण भी किया गया। आयोजन में बैंक के सहित बैंक के समस्त कर्मी शामिल रहे। सभी एक-दूसरे को बैंक की स्थापना दिवस की बधाइयां दे रहे थे।

यह भी पढ़ें : नैनीताल बैंक ने कोरोना-लॉक डाउन के बीच दो नई शाखाएं खोल दिखाई इकॉनॉमी को उज्जवल राह

नवीन समाचार, नैनीताल, 6 जुलाई 2020। उत्तराखंड के अपने इकलौते वाणिज्यिक बैंक-द नैनीताल बैंक लिमिटेड की शाखाएं सोमवार को दो बढ़कर 143 हो गईं। सोमवार को बैंक के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी दिनेश पंत ने उदयलाल पुर हल्द्वानी में 142वीं शाखा व पीरूमदारा रामनगर में 143वीं शाखा का श्रीगणेश किया। कोरोना व लॉकडाउन के बीच जब देश भर में हर तरह के कारोबार मंदी की चपेट में हैं, तब नैनीताल बैंक द्वारा दो नई शाखाओं को खोलने का निर्णय इकॉनॉमी के लिहाज से आशा जगाने वाला हे।

बैंक प्रबंधन पर लगाया लोकतंत्र की हत्या करने का आरोप…

इस मौके पर श्री पंत ने बताया कि 31 जुलाई 1922 को भारत रत्न पंडित गोविंद बल्लभ पंत द्वारा स्थापित नैनीताल बैंक वर्तमान में 12,000 करोड़ के कारोबार के स्तर पर पहुंच गया है। आगे बैंक का महत्वाकांक्षी लक्ष्य अगले तीन वर्षों में 200 शाखाओं के साथ 20 हजार करोड़ के स्तर पर पहुंचने की है। इस कड़ी में बैंक अगले तीन माह में 10 नई शाखाएं खोलने जा रहा है। उन्होंने इस बात का भी खुलासा किया कि बैंक का ऋण-जमा अनुपात 54 फीसद है। आगे बैंक अपनी सूचना प्रौद्योगिकी में परिवर्तन कर नवीन सीबीएस सॉफ्टवेयर फिनेकल-10 भी लाने जा रहा हैं इस मौके पर बैंक के मुख्य परिचालन अधिकारी ओम प्रकाश जगरवाल सहित प्रधान कार्यालय के अनेक वरिष्ठ अधिकारी, क्षेत्रीय प्रबंधक एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी व कर्मचारी भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : नैनीताल बैंक के अध्यक्ष पंत को उत्कृष्ट प्रदर्शन पर मिला पदोन्नति का तोहफा

नवीन समाचार, नैनीताल, 2 मई 2020। प्रदेश के इकलौते वाणिज्यिक बैंक ‘द नैनीताल बैंक लिमिटेड’ के अध्यक्ष दिनेश चंद्र पंत पदोन्नत हो गये हैं। इस पद पर प्रतिनियुक्ति पर कार्य कर रहे श्री पंत को उनके उत्कृष्ट व्यवसायिक प्रदर्शन, कार्य क्षमता तथा बैंकिंग क्षेत्र में योगदान को देखते हुए इसके पैरेंटल बैंक-बैंक ऑफ बड़ौदा ने उप महाप्रबंधक ग्रेड-6 से महाप्रबंधक ग्रेड-7 के पद पर पदोन्नति दे दी है। उल्लेखनीय है कि 54 वर्षीय श्री पंत पिछले 25 वर्षों से बैंक ऑफ बड़ौदा में अनेक पदों पर कार्य करते हुए वर्तमान में नैनीताल बैंक में पिछले एक वर्ष अध्यक्ष पद पर प्रतिनियुक्ति में कार्य कर रहे हैं। उनके इस एक वर्ष के कार्यकाल में वैश्विक मंदी के बावजूद बैंक का कुल व्यवसाय 10,931 करोड़ से लगभग 8 फीसद बढ़कर 11,797 करोड़, बैंक का ऋण-जमा अनुपात 53.63 फीसद के साथ वर्ष का परिचालन लाल 115 करोड़ रहा है। बैंक के उपाध्यक्ष रमन गुप्ता जानकारी देते हुए उम्मीद जताई है कि आगे भी नैनीताल बैंक श्री पंत के नेतृत्व में श्रेष्ठतम व्यवसायिक परिणाम प्राप्त करेगा।

यह भी पढ़ें : कोरोना से जंग में नैनीताल बैंक ने दिखाया ‘बड़ा दिल’

-पीएम केयर्स में 15 लाख व सीएम राहत कोष में दिये 26 लाख

नैनीताल बैंक के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी दिनेश पंत।

नवीन समाचार, नैनीताल, 7 अप्रैल 2020। देश में स्वास्थ्य महामारी घोषित कोरोना विषाणु कोविद-19 के संक्रमण से लड़ने के लिए राज्य का इकलौता वाणिज्यिक बैंक भी आगे आया है। बैंक के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी दिनेश पंत ने प्रधानमंत्री राहत कोष में अपना एक माह का वेतन दिया है। साथ ही बैंक के समस्त अधिकरियों एवं कर्मचारियों के स्वैच्छिक अंशदान से 14 लाख 20 हजार रुपए मिलाकर कुल 15 लाख रुपए प्रधानमंत्री केयर्स में भेंट किये हैं। साथ ही बैंक की ओर से 11 लाख रुपए सीएसआर फंड से मुख्यमंत्री राहत कोष में भेंट किये हैं। इस प्रकार बैंक के द्वारा कुल 26 लाख रुपए की बड़ी धनराशि कोरोना से जंग में अपने अंशदान के रूप में दी है।
मंगलवार को बैंक के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी दिनेश पंत ने यह जानकारी दी। कहा कि नैनीताल बैंक एक छोटा बैंक है, परंतु उसका दिल बड़ा है। साथ ही राज्य का इकलौता वाणिज्यिक बैंक होने के नाते वह अपनी जिम्मेदारी भी समझता है। साथ ही बताया कि बीते वित्तीय वर्ष में अनेक विषम परिस्थितियों के बावजूद उनके एक वर्ष के कार्यकाल में बैंक ने पिछले वित्तीय वर्ष के मुकाबले 8 फीसद की उल्लेखनीय बढ़ोत्तरी के साथ 11,800 करोड़ म्पए का व्यवसाय अर्जित किया है। इसमें कुल जमा राशियां 7679 करोड़ तथा ऋण राशियां लगभग 4118 करोड़ शामिल है। साथ ही बैंक का ऋण-जमा अनुपात 53.63 फीसद एवं परिचालन लाभ 115 करोड़ रहा है। उन्होंने कोरोना विषाणु एवं लॉक डाउन की विषम परिस्थितियों में भी बैंक का कार्य सुचारू रहने की बात भी कही। साथ ही आगे दैनिक मजदूरों को खााद्यान्न उपलब्ध कराने के लिए नगर निगम हल्द्वानी को शीघ्र सीएसआर फंड से 51 हजार रुपए देने की बात भी बताई। इस मौके पर बैंक के मुख्य परिचालन अधिकारी ओम प्रकाश जगरवाल, वाइस प्रेजीडेंट रमन गुप्ता तथा एसोसिएट वाइस प्रेजीडेंट बीबी पांडे आदि अधिकारी भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : नैनीताल बैंक को मिले उत्तराखंड मूल के पहले और देश-दुनिया के बैंकिंग अनुभवी चेयरमैन दिनेश पन्त

नैनीताल बैंक के नये चेयरमैन दिनेश पंत।

नवीन समाचार, नैनीताल, 3 अप्रैल 2019। उत्तराखंड के अपने इकलौते वाणिज्यिक बैंक-द नैनीताल बैंक को उत्तराखंड मूल के पहले अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी के रूप में देश ही नहीं विदेशों में भी कार्यरत रहे दिनेश पंत जैसे अनुभवी अधिकारी मिल गये हैं। उनकी नियुक्ति निवर्तमान अध्यक्ष मुकेश शर्मा का तीन वर्ष का कार्यकाल पूर्ण होने पर की गयी है।
श्री पंत उत्तराखंड मूल के, मूलतः अल्मोड़ा जिले के चौखुटिया निवासी हैं और उनका जन्म, बचपन व शिक्षा-दीक्षा देहरादून से हुई है। वर्तमान में वे नैनीताल बैंक के पैतृक बैंक-बैंक ऑफ बड़ौदा के देहरादून में रीजनल मैनेजर व डिप्टी रीजनल मैनेजर के पद पर तीन कार्यकाल निभा चुके हैं। इस नाते वे उत्तराखंड की बैंकिंग का भी सुदीर्घ अनुभव रखते हैं। वे खाड़ी देश बहरीन में भी बैंक ऑफ बड़ौदा ने ट्रेजरी व फॉरेक्स यानी विदेश व्यापार का कार्य साढ़े चार वर्ष तक देख चुके हैं।
वर्ष 1994 में प्रोविजनरी ऑफीसर के पद से बैंक ऑफ बड़ौदा में जुड़ने के बाद से 25 वर्ष का बैंकिंग अनुभव रखने वाले पंत उड़ीसा के संभलपुर में भी रीजनल मैनेजर के पद पर रह चुके हैं। रीजनल मैनेजर के पद पर रहते हुए उन्होंने अपने क्षेत्र को देश में शीर्ष पर पहुंचाया है। निवर्तमान चेयरमैन मुकेश शर्मा, महाप्रबंधक एके सिंह सहित बैंक के शीर्ष अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने उन्हें सहयोग का आश्वासन देते हुए शुभकामनाएं दी हैं।

जीएम एके सिंह हुए पदोन्नत

नैनीताल। नैनीताल बैंक में महाप्रबंधक एवं मुख्य परिचालन अधिकारी के पद पर कार्यरत अनिल कुमार सिंह को बैंक ऑफ बड़ौदा में एजीएम से डीजीएम के पद पर पदोन्नति मिल गयी है। उनकी पदोन्नति पर बैंक के चेयरमैन दिनेश पंत, निवर्तमान चेयरमैन मुकेश शर्मा सहित बैंक के शीर्ष अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने शुभकामनाएं दी हैं।

नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply

loading...