यह सामग्री कॉपी नहीं हो सकती है, फिर भी चाहिए तो व्हात्सएप से 8077566792 पर संपर्क करें..

नैनीताल के अवैध रूप से चल रहे 9 स्कूलों पर 1-1 लाख रुपए वार्षिक का करोड़ों का जुर्माना…

यहाँ से दोस्तों को भी शेयर करके पढ़ाइये
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नवीन समाचार, भीमताल, 28 अगस्त 2019। शिक्षा विभाग ने जनपद में कथित तौर पर अवैध रूप से चल रहे 9 प्राथमिक व प्रिपरेटरी स्कूलों पर उनके अवैध रूप से चलने के वर्ष से प्रति वर्ष 1-1 लाख रुपए का जुर्मा अदा करने का आदेश जारी किया है। उप शिक्षा अधिकारी डा. सुलोहिता नेगी के हस्ताक्षरों से जारी आदेश के अनुसार इन 9 विद्यालयों से कहा गया है कि ये विद्यालय कई वर्षों से बिना मान्यता के चल रहे हैं। साथ ही इनके द्वारा अब तक मान्यता प्राप्त करने हेतु किसी भी प्रकार का आवेदन भी नहीं किया गया है। लिहाजा उन पर विद्यालय संचालन की तिथि से अब तक का प्रतिवर्ष 1 लाख रुपए का जुर्माना शासकीय खाते में जमा करें एवं विद्यालय का संचालन बंद करें। साथ ही यह भी कहा गया है कि यदि वे अपना विद्यालय विधिवत संचालित करना चाहते हैं तो शिक्षा का अधिकार अधिनियम-2009 के तहत अपने विद्यालय की फाइल नियमानुसार सभी मानकों को पूर्ण करते हुए विभागीय कार्यालय को उपलब्ध कराएं। जिन विद्यालयों को नोटिस दिये गये हैं उनमें मोंटेसरी पब्लिक स्कूल हरीनगर जंगलियागांव, देहली पब्लिक स्कूल ज्योलीकोट, जिज्ञासा पब्लिक स्कूल ज्योलीकोट, एसवीएम पब्लिक स्कूल तल्लीताल नैनीताल, आइडियल प्रीपेट्री स्कूल तल्लीताल नैनीताल, देविका रानी पब्लिक स्कूल मल्लीताल नैनीताल, अमेरिकन किड्स नैनीताल, रेसी पब्लिक स्कूल नैनीताल और द होली एकेडमी नैनीताल शामिल हैं।
बताया जा रहा है कि ये विद्यालय स्वयं को प्रिपरेटरी स्कूल बताते हुए शिक्षा विभाग में अपना पंजीकरण जरूरी नहीं बता रहे हैं। शिक्षा विभाग के अधिकारियों का भी कहना है कि वास्तव में कक्षा 1 से नीचे के प्रिपरेटरी स्कूलों के लिए शिक्षा विभाग से मान्यता प्राप्त करने का कोई प्राविधान नहीं है। अलबत्ता विभाग की ओर से यह भी बताया गया है कि इनमें से कुछ स्कूल कक्षा 1 से ऊपर की कक्षाएं भी संचालित करते हैं। वहीं इनके अलावा भी कई स्कूलों के अवैध रूप से संचालित होने की बात कही जा रही है, परंतु इधर उन्होंने मान्यता के लिए आवेदन कर दिया है, इसलिए वे अवैध की श्रेणी में आने से बच गये हैं।

Leave a Reply

Loading...
loading...