News

लेक सिटी वेलफेयर क्लब की नई कार्यकारिणी गठित, दिव्या, रानी, प्रेमा को मिली बड़ी जिम्मेदारी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नवीन समाचार, नैनीताल, 15 मार्च 2021। नगर की महिलाओं के संगठन लेक सिटी वेलफेयर क्लब की नई कार्यकारिणी का गठन कर लिया गया है। गीता साह की देखरेख में हुई संस्था की मनोनयन प्रक्रिया में सर्वसम्मति से दिव्या साह को अध्यक्ष, रानी साह को सचिव, प्रेमा अधिकारी को उपाध्यक्ष, सोनू साह को कनिष्ठ उपाध्यक्ष, दीपिका बिनवाल को उपसचिव, कविता त्रिपाठी को कोषाध्यक्ष मनोनीत किया गया। इसके अलावा ज्योति ढोंढियाल व हेमा भट्ट को संरक्षक, प्रगति जैन सांस्कृतिक सचिव, रमा भट्ट को सोशल मीडिया प्रभारी तथा गीता साह, ज्योति वर्मा, कविता गंगोला व रेखा पंत को कार्यकारिणी सदस्य चुना गया। वहीं क्लब की सदस्यों ने आगामी 21 मार्च को नगर के सेंट्रल होटल में बैठकी होली करने का आयोजन तय किया, जिसमें विधायक संजीव आर्य, एसएसपी प्रीति प्रियदर्शिनी व जिला पंचायत अध्यक्ष बेला तोलिया मुख्य अतिथि होंगी।

यह भी पढ़ें : महिला दिवस पर स्तन कैंसर के प्रति जागरूकता को आयोजित हुई साइकिल व बाइक रैली

नवीन समाचार, नैनीताल, 08 मार्च 2021। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर मंगलवार को मुख्यालय स्थित ऐतिहासिक डीएसए मैदान में आशा फाउंडेशन के तत्वावधान में दूसरी बार स्तन कैंसर के प्रति जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से साइकिल एवं बाइक रैली आयोजित हुई। खासकर बाइक रैली में प्रमुख रूप से छत्तीसगढ़ की डा. नम्रता सिंह, दिल्ली की पल्लवी फौजदार, उज्जवला सोती, सुजाता सहगल, अंकिता सहगल, लखनऊ की बुलेट गर्ल निया ठाकुर, अलीगढ़ से आई ईरान की सारा जब्बारी, तल्लीताल व्यापार मंडल की उपाध्यक्ष ममता जोशी, नगर पालिका सभासद अधिकारी आदि प्रमुख रहीं। जबकि साइकिल दौड़ में अभी हाल में कर्नाटक में आयोजित 17वीं राष्ट्रीय माउंटेन बाइकिंग प्रतियोगिता में उत्तराखंड राज्य का प्रतिनिधित्व करते हुए 15 किलोमीटर की स्पर्धा में कांश्य पदक प्राप्त करने वाले मात्र 12 वर्ष के बाइकर शिवांश साह सहित कई बालिकाएं भी शामिल हुईं।

महिला दिवस पर आयोजित स्तन कैंसर जागरूकता रैली में शामिल महिला बाइकर।

आयोजन में एसएसपी प्रीति प्रियदर्शिनी, एसडीएम प्रतीक जैन, बिडला विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य अनिल शर्मा, लांग व्यू पब्लिक स्कूल के प्रधानाचार्य भुवन त्रिपाठी, मुन्नी तिवारी, नीलू एल्हेंस, ईशा साह, मंजू गुप्ता, मारुति साह, सुलोचना नेगी सहित जीएनएम नर्सिंग स्कूल की छात्राएं, आशा कार्यकत्रियां व लेक सिटी वेलफेयर क्लब सहित अन्य संगठनों की महिलाएं भी शामिल हुईं। नैनीताल बैंक, स्टेट बैंक आदि ने भी आयोजन में योगदान दिया। इतिहासकार डा. अजय रावत ने नैनीताल में रहीं डा. एल्सीमोर इंग्लिश के योगदान को याद किया। आयोजक आशा शर्मा ने आयोजन की सफलता पर आभार ज्ञापन के साथ स्तन कैंसर की संभावनाओं पर समय से जांच कराने का आह्वान किया, ताकि समय से इस महामारी से बचा जा सके। संचालक प्रो. ललित तिवारी, मीनाक्षी कीर्ति व दीपक कुमार ‘भोलू’ ने संयुक्त रूप से किया।

महिला दिवस पर आयोजित स्तन कैंसर जागरूकता कार्यक्रम में शामिल नर्सिग कॉलेज की छात्राएं।

राष्ट्र निर्माण में महिलाओं के योगदान पर आयोजित हुआ वेबीनार

नवीन समाचार, नैनीताल, 08 मार्च 2021। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत कार्यरत फील्ड आउटरीच ब्यूरो नैनीताल द्वारा सोमवार को महिला दिवस के उपलक्ष में ’राष्ट्र निर्माण में महिलाओं के योगदान’ विषय पर एक वेबिनार का आयोजन किया गया। वेबीनार में विषय प्रवेश करते हुए भारतीय सूचना सेवा के अधिकारी राजेश सिन्हा ने कहा कि हालांकि भारतीय परंपरा में सनातन काल से महिलाओं का बहुत ऊंचा स्थान रहा है, पर कालांतर में इसमें आई गिरावट और वर्तमान में मौजूद चुनौतियां महिलाओं के सशक्तिकरण के कार्य करने को प्रेरित करती हैं। काशीपुर की उप शिक्षा अधिकारी गीतिका जोशी ने कहा कि नारी शक्ति का स्वरुप है। जब तक महिलाओं को लेकर मानसिकता में सकारात्मक बदलाव नहीं होता राष्ट्र निर्माण का कार्य पूरा नहीं हो सकता। समाजसेवी तथा लिटिल फ्लावर स्कूल हल्द्वानी की प्रधानाचार्य शांति जीना ने कहा कि राधा का नाम कृष्ण से पहले लिया जाता है। आज भी महिलाएं परिवार तथा व्यवसाय के कार्यों में सफलता पूर्वक कार्य कर रही हैं। उन्हें शिक्षा के माध्यम से और अधिक सशक्त बनाने की आवश्यकता है।

महिला दिवस पर वेबीनार में विचार रखतीं वक्ता।

अल्मोड़ा के पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष शोभा जोशी, शिक्षाविद मंजू पांडे ने भी विचार रखे। वेबीनार का संचालन फील्ड आउटरीच ब्यूरो की अधिकारी कलाकार श्रद्धा गुरुरानी तिवारी, शर्मिष्ठा बिष्ट, डॉ. दीपक पांडे और शोभा चातक ने सम्मिलित रूप से किया। उन्होंने वक्ताओं और श्रोताओं को उनके समय के लिए व विभाग के अपर महानिदेशक नरेंद्र कुमार कौशल को उनके मार्गदर्शन के लिए तथा विभाग के अधिकारी व कर्मियों को उनके सहयोग के लिए धन्यवाद दिया।

यह भी पढ़ें : महिलाओं ही नहीं पुरुषों में भी स्तन कैंसर का खतरा

-जागरूकता के लिए 8 को 9 बजे महिला बाइकर निकालेंगी पिंक रैली

नवीन समाचार, नैनीताल, 04 मार्च 2021। महिलाओं की नहीं पुरुषों में भी स्तन कैंसर का खतरा बढ़ रहा है। 29 महिलाओं में से एक महिला और 400 पुरुषों में से एक पुरुष को स्तन कैंसर हो सकता है। पहले 60 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं को स्तन कैंसर होता था, किंतु अब बदलती जीवन शैली व खान पान, देर से शादी, बच्चे कम पैदा करने व उन्हें छाती का दूध न पिलाने जैसी प्रवृत्तियों के साथ 20 से 50 वर्ष की महिलाओं में सर्वाधिक स्तन कैंसर के मामले पाए जा रहे हैं। इससे बचाव के लिए 40 की उम्र के बाद महिलाओं को हर वर्ष स्तन कैंसर की जांच करानी चाहिए।

8 मार्च की पिंक रैली के लिए गुलाबी टी-शर्ट का प्रदर्शन करते आशा फाउंडेशन के सदस्य।

यह बात आशा फाउंडेशन की अध्यक्ष आशा शर्मा ने बृहस्पतिवार को पत्रकार वार्ता में कही। बताया कि स्तन कैंसर के प्रति जागरूकता के लिए आगामी 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के दिन सुबह नौ बजे से मल्लीताल डीएसए मैदान से माल रोड इंडिया होटल होते हुए वापस डीएसए मैदान तक बाहर से आ रही महिला बाइकरों की रैली आयोजित की जाएगी। इसमें स्थानीय महिलाएं भी शामिल हो सकेंगी। उन्हें गुलाबी टी शर्ट व प्रतिभागिता प्रमाणपत्र दिया जाएगा। पत्रकार वार्ता में मुन्नी तिवारी, नीलू एल्हेंस, ईशा साह व ममता जोशी के साथ तल्लीताल व्यापार मंडल अध्यक्ष मारुति नंदन साह व मल्लीताल व्यापार मंडल अध्यक्ष किशन सिंह नेगी भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : नैनीताल जनपद की कैंटीनों में मिल रहा महिलाओं के हाथ के व्यंजनों का स्वाद, महिलाओं द्वारा संचालित कैंटीनें हो रही हैं लोकप्रिय..

-डीएम सविन बंसल के प्रयासों से महिलाओं के स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से हो रहा है संचालन

महिलाओं द्वारा संचालित एक कैंटीन।

नवीन समाचार, नैनीताल, 27 अक्टूबर 2020। घर पर महिलाएं ही परंपरागत तौर पर परिवार के लिए भोजन तैयार करती हैं, और उनके हाथों के स्वाद का कोई जवाब नहीं होता। फिर भी न जाने क्यों होटलों-रेस्टोरेंटों, कैंटीनों में महिलाएं भोजन पकाने के कार्य में नहीं हैं। लेकिन नैनीताल जनपद में डीएम सविन बंसल के प्रयासों से एक नया प्रयोग हो रहा है। जनपद के सरकारी कार्यालयों, अस्पतालों में डीएम बंसल के प्रयासों से कैंटीनों की स्थापना की गई है। खास बात यह है कि इन कैंटीनों में चाय, जलपान तथा लजीज व्यंजनों एवं शुद्व भोजन पकाने व परोसने तथा संचालन की जिम्मेदारी महिलाओं के हाथों में है।
डीएम बंसल का इस मामले में कहना है कि ग्रामीण परिवेश की महिलाओं के हाथों से बने राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्टीय स्तर पर लोकप्रिय खीरे का रायता, पकौडी, भांग की चटनी, लालू के गुटके, भट्ट के डुबके, झुंगरे की खीर, मडुवे की रोटी, गहत की दाल, भट्ट की चुड़कानी, पहाडी झोली व अन्य लजीज पहाडी व्यंजन विश्वविख्यात हैं। महिलाओं को सही मार्गदर्शन एवं तकनीकी जानकारी दी जाए तो वह और बेहतर तरीके से अपने आसपास हो रहे उत्पादों तथा अपनी अद्भुत पाक कला से लजीज व्यंजनों के माध्यम से अपना आर्थिक विकास कर सकती हैं। इसी उद्देश्य को लेकर उन्होंने स्वयं सहायता समूहों की महिलाओ को आगे लाने के लिए तहसील हल्द्वानी में जय मां भवानी बजूनिया हल्दू विकास खंड हल्द्वानी, विकास भवन भीमताल में गीतांजलि स्वयं सहायता समूह भूमियाधार विकास खंड भीमताल, कलेक्ट्रेट परिसर नैनीताल में पूजा स्वयं सहायता समूह बिदरामपुर कोटाबाग तथा बीडी पांडे जिला चिकित्सालय नैनीताल में वंदना स्वयं सहायता समूह घुग्गु सिगड़ी विकास खंड कोटाबाग द्वारा हिलांस कैंटीनो का संचालन किया जा रहा है। इनका उद्घाटन हाल में मुख्यमत्री त्रिवेंद्र सिह रावत ने किया था। इन कैंटीनों में लजीज व्यंजनों का स्वाद एवं आकर्षक स्वरूप लोगो को लुभा रहा है। बताया गया है कि यह समूूह कैंटीन के जरिये औसतन पांच हजार रुपये प्रतिदिन की ब्रिकी कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें : बड़ा समाचार: उत्तराखंड में नवरात्र पर ‘तीन देवियों’ को मिला राज्य मंत्री का दर्जा…

Shayara Bano slapped her husband In the presence of sub inspectorनवीन समाचार, देहरादून, 20 अक्टूबर 2020। प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने नवरात्र के अवसर पर तीन महिलाओं को दायित्व से नवाजकर नवरात्र का तोहफा दिया है। राज्य महिला आयोग में तीन महिला कार्यकर्ताओं को दायित्व के साथ ही राज्य मंत्री का दर्जा दिया गया है।
पहला बड़ा तोहफा 10 दिन पूर्व ही गत 10 अक्टूबर को भाजपा में शामिल हुई, तीन तलाक के खिलाफ राष्ट्रीय स्तर पर आवाज उठाने वाली ऊधमसिंह नगर जिले के गोपीपुरा पांडे कॉलोनी काशीपुर निवासी महिला शायरा बानो को महिला आयोग में उपाध्यक्ष (प्रथम) के साथ दर्जा राज्य मंत्री बनने के साथ मिला है। वहीं रानीखेत की ज्योति शाह को उपाध्यक्ष (द्वितीय) और चमोली की पुष्पा पासवान को उपाध्यक्ष (तृतीय) के साथ राज्य मंत्री का दर्जा दिया गया है। इस मौके पर शायरा बानो ने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा की नीतियों से प्रेरित होकर पार्टी में शामिल हुई हैं। महिलाओं को न्याय दिलाने के लिए वह निरंतर संघर्ष करती रहेंगी।

यह भी पढ़ें : नैनीताल: मां को कमरे में बंद कर भागी दो बेटियां पुलिस ने बरामद कीं

नवीन समाचार, नैनीताल, 18 अक्टूबर 2020। मां की हल्की झिड़कियां भी अब युवा पीढ़ी को रास नहीं आ रही हैं। रविवार सुबह नगर के मल्लीताल निवासी परिवार की 17 व 19 वर्षीया दो बेटियां मां के किसी बात पर हल्का डपटने से ही इतनी आक्रोशित हो गईं कि अपनी मां को कमरे में बंद कर घर से टैक्सी पकड़ कर भाग गईं। बेटियों के इस तरह घर छोड़कर भागने से बदहवास मां किसी तरह कमरे का कुंडा खुलवाकर उनकी तलाश में उनके पीछे तल्लीताल तक भागी और तल्लीताल डांठ पर पुलिस को सूचना दी। इस पर पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए तल्लीताल पुलिस ने डीआरसी को सूचित किया और अपने स्तर पर दोनों किशोरियों की तलाश शुरू की। इस पर पता चला कि दोनों कार से हल्द्वानी की ओर भागी हैं। इस पर डीसीआरसी से वायरलेस पर मिली जानकारी पर सक्रिय हुई ज्योलीकोट चौकी पुलिस ने दोनों को ज्योलीकोट में कार से बरामद कर लिया। ज्योलीकोट चौकी प्रभारी जोगा सिंह ने बताया कि के बाद उनकी सीडब्लूसी यानी चाइल्ड वेलफेयर कमेटी के द्वारा काउंसिलिंग भी की गई। बावजूद वह अपनी मां के साथ जाने को राजी नहीं हुईं। इस पर उन्हें उनके ताऊ के सुपुर्द किया गया।

यह भी पढ़ें : 2500 महिलाओं, 4000 किशोरियों के लिए कार्य कर चुकी हैं नैनीताल की कंचन, कल मिलेगा तीलू रौतेली पुरस्कार..

नवीन समाचार, नैनीताल, 07 अगस्त 2020। उत्तराखंड सरकार के द्वारा शनिवार को वीरांगना तीलू रौतेली के जन्म दिन पर 21 महिलाओं को तीलू रौतेली पुरस्कार देने की घोषणा की गई है, इनमें नैनीताल निवासी कंचन भंडारी भी शामिल हैं। कंचन अपनी संस्था विमर्श महिला सशक्तीकरण, किशोरी शिक्षा एवं बाल सुरक्षा व कन्या भ्रूण हत्या रोकने के कार्यों में लगी हैं। वे अब तक करीब 2500 महिलाओं के 120 महिला संगठनों का गठन कर चुकी हैं। उनकी संस्था के द्वारा जनपद में चाइल्ड हेल्प लाइन-1088 का संचालन भी किया जा रहा है, जिसके माध्यम से अब तक 5233 जरूरतमंद बच्चों को सहायता उपलब्ध कराई जा चुकी है। इसके अलावा वे 4000 किशोरियों में माहवारी के दौरान स्वच्छता की समझ बनाने का कार्य भी कर चुकी हैं। 170 किशोरियों को फेलोशिप भी दी गई है। इसके अलावा से जनपद की पीसीपीएनडीटी कमेटी, निर्भया कमेटी, सेवा प्रदाता डीवी एक्ट, कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न समिति, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ व परिवर्तक पालन पोषण देखभाल अनुमोदन समिति आदि समितियों में भी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें : कल 21 महिलाओं को मिलेगा इस वर्ष का वीरांगना तीलू रौतेली पुरस्कार, 22 आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां भी होंगी पुरस्कृत

नवीन समाचार, देहरादून, 7 अगस्त 2020। महिलाओं को बहादुरी के लिए वर्ष 2019-20 के वीरांगना तीलू रौतेली पुरस्कार की घोषणा हो गयी है। इस वर्ष 21 महिलाओं को इस पुरस्कार से नवाजा जाएगा। इन महिलाओं को 22 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को कल वीरांगना तीले रौतेली की जयंती आठ अगस्त को पुरस्कृत किया जाएगा। महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास राज्यमंत्री रेखा आर्या ने दिए जाने वाले इन पुरस्कारों के नामों की घोषणा की। अल्मोड़ा जिले से प्रीति भंडारी व शिवानी आर्य, बागेश्वर से गुंजन बाला, चंपावत से जानकी चंद, चमोली से शशि देवली, देहरादून से उन्नति बिष्ट, संगीता थपलियाल व गीता मौर्या, हरिद्वार से पुष्पांजलि अग्रवाल, नैनीताल से कंचन भंडारी, माया उपाध्याय व मालविका, पिथौरागढ़ से सुमन वर्मा व शीतल, पौड़ी गढ़वाल से मधु खुगशाल, टिहरी गढ़वाल से कीर्ति कुमारी, रुद्रप्रयाग से बबीता रावत व सुमति थपलियाल, ऊधमसिंह नगर से ज्योति उप्रेती अरोड़ा, मीनू लता गुप्ता, चंद्रकला राय और उत्तरकाशी से हर्षा रावत को इस वर्ष के पुरस्कार मिलेंगे।
साथ ही अल्मोड़ा से नीता गोस्वामी व गीता देवी, बागेश्वर से पुष्पा, चंपावत से हेमा बोरा, चमोली से अंजना रावत, देहरादून से हयात फातिमा, सुधा व सीमा, हरिद्वार से पूनम, सुमनलता यादव व असमा, नैनीताल से गंगा बिष्ट, समारेज व निर्मला पांडे, पिथौरागढ़ से चंद्रकला, पौड़ी से अर्चना देवी व रोशनी, रुद्रप्रयाग से सुशीला देवी, टिहरी गढ़वाल से लक्ष्मी देवी व ललिता देवी तथा उत्तरकाशी से कुसुम मेहर और बीना चौहान को भी पुरस्कृत किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : पहाड़ की महिलाओं ने कहा-जमीन विक्रय करने पर उनकी सहमति हो अनिवार्य

-जमीनें जिस प्रयोजन के लिए खरीदी जाती हैं, उसके इतर अन्य प्रयोजन के लिए की जा रही हैं उपयोग, इससे सरकार को होता है राजस्व का भारी नुकसान, उप जिलाधिकारी धारी को सौंपा ज्ञापन..
दान सिंह लोधियाल, नवीन समाचार, धानाचूली, 6 अगस्त 2020। क्षेत्र के ज्येष्ठ उप प्रमुख के नेतृत्व में महिला जनप्रतिनिधियों ने बृहस्पतिवार को उप जिलाधिकारी धारी को एक ज्ञापन सौंपकर महिलाओं को जमीन विक्रय में उनकी सहमति होना अनिवार्य करने और क्षेत्र में सरकारी व वन विभाग की भूमि पर अवैध तरीके से कब्जा कर रहे लोगों के खिलाफ कार्यवाही करने की भी मांग की। पत्रों की प्रतिलिपियाँ जिलाधिकारी नैनीताल, कुमाऊं कमिश्नर नैनीताल और निबंधक नैनीताल को भी प्रेषित की गई है। उप जिलाधिकारी अनुराग आर्य ने महिलाओं को आश्वासन दिया कि वह अपने स्तर से इन सभी मुद्दों पर नियमानुसार कार्रवाई करेंगे ।
बृहस्पतिवार को ज्येष्ठ उप प्रमुख धारी संजय बिष्ट के नेतृत्व में कुछ जनप्रतिनिधियों ने उपजिलाधिकारी से मुलाकात कर एक ज्ञापन सौंपा। जिसमें कहा गया है कि तहसील क्षेत्र के अंतर्गत पिछले कई वर्षो से जमीन की खरीद फरोख्त चली आ रही है। जिसमें जमीन बेचने वाले परिवार की महिला सदस्यों की सहमति नहीं ली जाती है। उन्होंने मांग की कि अब महिलाओं की सहमति के बिना जमीनें ना बेची जाएं। जमीन बेचे जाने से उन्हें आर्थिक नुकसान के साथ आजीविका चलाने में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने एसडीएम से लिखित सहमति करने के लिए अपने स्तर से कार्यवाही करने की मांग की। पत्र में यह भी कहा कि जिन बाहरी व्यक्तियों द्वारा क्षेत्र में जमीन जिस प्रयोजन के लिए खरीदी जाती है। उसका उपयोग बाद में भवन निर्माण होने के बाद नहीं किया जाता है। वहीं सरकार को चूना लगाते हुए यह बिल्डर व बाहरी लोग होमस्टे अथवा होटल बनाकर आर्थिक लाभ उठा रहे है। उन्होंने कहा जिस प्रयोजन के लिए जमीन खरीदी जाती है। उसी प्रयोजन पर उसको कार्य में लेना चाहिए। ऐसा न करने से लाखों का राजस्व नुकसान सरकार को हो रहा है। साथ ही कहा बाहरी लोगों द्वारा अपनी जमीन से लगी हुई सिविल भूमि अथवा वन पंचायतों पर अवैध रूप से कब्जा कर निर्माण कार्य किया गया है। कुछ स्थानों पर तो जमीनों की रजिस्ट्री कही और की है ,जबकि निर्माण कार्य कही और किया गया है। उन्होंने इसकी भी जांच कराने की मांग की है। ज्ञापन सोंपने वालों में ग्राम सरपंच हंसा लोधियाल, तुलसी बिष्ट, महेश बिष्ट, राजेंद्र सिंह व पंकज बिष्ट आदि लोग मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : रक्षाबंधन पर आशा बहनों-आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को 1-1 हजार रुपए का तोहफा…

-किशोरियों के लिए सरकार जल्द लाएगी सैनेटरी नैपकिन योजना
नवीन समाचार, देहरादून, 2 अगस्त 2020। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रक्षाबंधन के पर्व पर पूर्व की तरह महिलाओं की सुविधा के लिये रक्षाबंधन के अवसर पर उन्हें उत्तराखण्ड परिवहन निगम की बसों में मुफ्त यात्रा की सुविधा के साथ ही आशा बहनों एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को उनके खातों में एक-एक हजार रुपए देने की घोषणा की है।
मुख्यमंत्री रावत ने रविवार को कहा कि महिलाओं की सुविधा के लिये रक्षाबंधन के अवसर पर उन्हें उत्तराखण्ड परिवहन निगम की बसों में मुफ्त यात्रा करने की सुविधा के साथ ही किशोरियों के लिए बहुत जल्दी सेनेटरी नैपकिन योजना लाई जा रही हैं। उन्होंने कहा कि सैकड़ों बहनों को बद्रीनाथ, केदारनाथ, जागेश्वर धाम, गर्जिया मन्दिर, चंडी देवी मंदिर सहित अन्य प्रसिद्ध मंदिरों में प्रसाद बनाकर अपनी आजीविका चलाने का मौका दिया गया है। सरकार ने उन्हें मौका दिया है कि उनके द्वारा तैयार किये गये प्रसाद को ही श्रद्धालु भगवान को भोग के रूप में चढ़ाएं। इसी राज्य की महिलाओं व महिला समूहों को 5 लाख रूपये तक का ऋण बिना ब्याज के दिया जा रहा है।

नियमित रूप से नैनीताल, कुमाऊं, उत्तराखंड के समाचार अपने फोन पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे टेलीग्राम ग्रुप में इस लिंक https://t.me/joinchat/NgtSoxbnPOLCH8bVufyiGQ से एवं ह्वाट्सएप ग्रुप https://chat.whatsapp.com/BXdT59sVppXJRoqYQQLlAp से इस लिंक पर क्लिक करके जुड़ें।

यह भी पढ़ें : अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस: ‘हल्लोरी’ से बयां हुआ पहाडी़ महिलाओं का दर्द, लड़कियों ने बताया-क्यों हैं वह ‘बेबाक, बकैत व घुमंतू’…

-भकार व हुड़का प्रोडक्शन के बैनर तले बनी वीडियो फिल्म ‘हल्लोरी’ का हुआ शुभारंभ

‘हिल्लोरी’ के म्यूजिक वीडियो का शुभारंभ करती ग्रामीण महिला कलाकार एवं अन्य।

नवीन समाचार, नैनीताल, 8 मार्च 2020। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर रविवार को पहाड़ की परंपरागत लोरी ‘हल्लोरी’ की वीडियो लांच की गई। खास बात हल्लोरी की वीडियो में है, जिसमें पहाड़ के गांवों में स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी की वजह से झेली जा रही समस्याओं का हृदयस्पर्शी चित्रण किया गया है। खास बात यह भी रही कि महिला दिवस के आयोजन में महिलाओं से अधिक पुरुषों की मौजूदगी रही।

देखें पूरी फिल्म :

रविवार को नगर पालिका सभागार में भकार व हुड़का प्रोडक्शन के बैनर तले बनी वीडियो फिल्म ‘हल्लोरी’ के शुभारंभ के अवसर को महिला दिवस के रूप में आयोजित किया गया। गीत के गायक व संगीतकार कमल जोशी ने बताया कि हल्लोरी गीत की परिकल्पना मूलतः पहाड़ के ‘सातूं-आठूं’ पर्व पर महिलाओं द्वारा परंपरागत तौर पर गाए जाने वाले हल्लोरी से ली गई है। करीब नौ महीने की अवधि में तैयार हुए गीत का फिल्मांकन भारती जोशी के निर्देशन में निकटवर्ती गांव-भवालीगांव में किया गया है। वीडियो फिल्म की शुरुआत प्रसव पीड़ा से बिलखती एक महिला को चारपाई पर पहाड़ी पगडंडियों व गाड़-गधेरों के रास्तों से ‘जीते जी चार कंधों पर’ ढोकर अस्पताल ले जाते दृश्य से होती है। महिला एक बच्ची को जन्म देकर मर जाती है। बच्ची को उसका पिता अकेले खुद हल्लोरी गीत के बीच पालता है। बच्ची डॉक्टर बन कर घर आती है। तभी एक अन्य महिला को प्रसव के लिए उसी तरह चारपाई पर अस्पताल ले जाते देखकर पिता अपनी पत्नी को याद करता हुआ बेटी से प्रसव कराने को कहता है। आखिर कल्पना की गई है कि बेटी अपनी ही मां का प्रसव कराकर स्वयं को पैदा कराती है। पूरी फिल्म दर्शकों की आंखों को कई बार नम कर देती हैं, अलबत्ता 9 मिनट से अधिक लंबी वीडियो गीत के लिहाज से अधिक है। इस लघु फिल्म के रूप में भी बनाया जा सकता था। फिल्म का शुभारंभ फिल्म में प्रसूता की मुख्य भूमिका निभाने वाली भवालीगांव की ग्रामीण कंचन बिष्ट के हाथों फिल्म की कलाकार उनकी बेटी रश्मि बिष्ट, पंकज भट्ट, प्रियंका बिष्ट आदि के साथ किया। इस दौरान महिला छायाकार विनीता यशस्वी व अदिति खुराना के छायाचित्रों की प्रदर्शनी भी लगाई गई। विनीता, डीएसबी परिसर की शोधार्थी कविता व प्रो. नीरजा टंडन आदि ने भी विचार रखे एवं कहा कि महिलाएं देवी नहीं मनुष्य के रूप में बराबरी चाहती है, जिन्हें दर्द व कष्ट भी होते हैं। वे स्वच्छंदता नहीं स्वतंत्रता चाहती हैं। साथ ही बताया कि क्यों वे ‘बेबाक, बकैत व घुमंतू’ लड़कियां हैं। क्यों महिलाओं की छवि उनके परिधानों, घरेलू होने और न बोलने तक सीमित है। उनसे आवाज उठाने का आह्वान भी किया गया। इस मौके पर पूर्व विधायक डा. नारायण सिंह जंतवाल, कैलाश जोशी, सिने कलाकार ललित तिवारी, महेश जोशी, जहूर आलम, इदरीश मलिक, मिथिलेश पांडे, मदन मेहरा, हरीश राणा, मुकेश धस्माना व प्रमोद प्रसाद सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।

नवीन समाचार
‘नवीन समाचार’ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी नैनीताल से ‘मन कही’ के रूप में जनवरी 2010 से इंटरननेट-वेब मीडिया पर सक्रिय, उत्तराखंड का सबसे पुराना ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय समूह है। यह उत्तराखंड शासन से मान्यता प्राप्त, अलेक्सा रैंकिंग के अनुसार उत्तराखंड के समाचार पोर्टलों में अग्रणी, गूगल सर्च पर उत्तराखंड के सर्वश्रेष्ठ, भरोसेमंद समाचार पोर्टल के रूप में अग्रणी, समाचारों को नवीन दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने वाला ऑनलाइन समाचार पोर्टल भी है।
https://navinsamachar.com

Leave a Reply

loading...