उत्तराखंड सरकार से 'A' श्रेणी में मान्यता प्राप्त रही, 16 लाख से अधिक उपयोक्ताओं के द्वारा 12.6 मिलियन यानी 1.26 करोड़ से अधिक बार पढी गई अपनी पसंदीदा व भरोसेमंद समाचार वेबसाइट ‘नवीन समाचार’ में आपका स्वागत है...‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने व्यवसाय-सेवाओं को अपने उपभोक्ताओं तक पहुँचाने के लिए संपर्क करें मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व saharanavinjoshi@gmail.com पर... | क्या आपको वास्तव में कुछ भी FREE में मिलता है ? समाचारों के अलावा...? यदि नहीं तो ‘नवीन समाचार’ को सहयोग करें। ‘नवीन समाचार’ के माध्यम से अपने परिचितों, प्रेमियों, मित्रों को शुभकामना संदेश दें... अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में हमें भी सहयोग का अवसर दें... संपर्क करें : मोबाईल 8077566792, व्हाट्सप्प 9412037779 व navinsamachar@gmail.com पर।

अंकिता भंडारी हत्याकांड (Hatyakand) के मुख्य आरोपित ने चला नया पैंतरा, जेल से बाहर लाया गया…

0

Hatyakand

Ankita Hatyakand Pulkit

नवीन समाचार, श्रीनगर, 2 फरवरी 2024। उत्तराखंड के बहुचर्चित अंकिता भंडारी हत्याकांड (Hatyakand) के मुख्य आरोपित पुलकित आर्य को आज शुक्रवार दो फरवरी को तनाव की शिकायत पर पुलिस उसे कड़ी सुरक्षा के बीच जेल से बेस हॉस्पिटल श्रीनगर लेकर पहुंची। बताया जा रहा है कि बेस हॉस्पिटल श्रीनगर में पुलकित आर्य का मनोरोग विभाग के डॉक्टरों ने परीक्षण किया और उसकी ठीक से जांच हो जाये, इस हेतु उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया। तनाव की शिकायत को पुलकित का नया पैंतरा बताया जा रहा है।

पुलिस के अनुसार कुछ समय से पुलकित आर्य तनाव की शिकायत कर रहा था। इस कारण शुक्रवार को उसे चमोली की पुलसारी जेल से बेस हॉस्पिटल श्रीनगर लाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसका परीक्षण किया, और इसके बाद चिकित्सकों ने पुलकित आर्य को क्लीनिकल साइकोलॉजिस्ट को दिखाने की सलाह देते हुए हायर सेंटर रेफर कर दिया।

बेस अस्पताल श्रीनगर के एमएस डॉ. अजय बिक्रम सिंह ने बताया कि पुलकित आर्य ने मनोरोग संबधी परेशानी बतायी थी। उसे जांच के बाद क्लिनिकल साइकोलॉजिस्ट को दिखाने के लिये हायर सेंटर रेफर कर दिया है।

उल्लेखनीय कि पौड़ी जिले के श्रीकोट डोभ की रहने वाली अंकिता भंडारी यमकेश्वर क्षेत्र स्थित पुलकित आर्य के वनंत्रा रिसॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट की नौकरी करती थीं। वह 18 सितंबर 2022 को अचानक रिजॉर्ट से लापता हो गई थी। इसके बाद वनंत्रा रिजॉर्ट के मालिक पुलकित आर्य ने अंकिता के परिजनों को गुमराह करने के लिए गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई।

करीब एक हफ्ते बाद यानी 24 सितंबर को अंकिता भंडारी का शव चीला नहर से बरामद हुआ और इसका आरोप स्वयं पुलकित और उसके साथियों अंकित गुप्ता व सौरभ भास्कर पर लगा कि तीनों ने अंकिता को चीला नहर में धक्का देकर मार डाला। पुलकित आर्य पर यह भी आरोप है कि वह अंकिता भंडारी से रिजॉर्ट में गलत काम करवाना चाहता था। अंकिता ने उससे साफ इनकार कर दिया था। इसी वजह से पुलकित आर्य ने अंकिता को मार (Hatyakand) दिया था।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप चैनल से, फेसबुक ग्रुप से, गूगल न्यूज से, टेलीग्राम से, कू से, एक्स से, कुटुंब एप से और डेलीहंट से जुड़ें। अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..

यहाँ क्लिक कर सीधे संबंधित को पढ़ें

यह भी पढ़ें : बड़ा समाचार : प्रदेश के बहुचर्चित अंकिता भंडारी हत्याकांड (Hatyakand) में जेसीबी ऑपरेटर ने किये बड़े दावे, अंकिता के पिता ने विधायक के विरुद्ध की बड़ी मांग

नवीन समाचार, कोटद्वार, 23 दिसंबर 2023। प्रदेश के बहुचर्चित वनंत्रा रिजॉर्ट की रिसेस्पनिस्ट 19 वर्षीय अंकिता भंडारी की 18 सितंबर 2022 को की गयी हत्या (Hatyakand) के मामले में शनिवार को कोटद्वार कोर्ट में जेसीबी ऑपरेटर की गवाही हुई।

Ankita Bhandari Missing and Murder Case : SIT करेगी मामले की जांच, जानें अब  तक क्या-क्या हुआ... - Dainik Bhaskar | Uttar Pradesh News, UP Dainikbhaskarमीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार गवाही में जेसीबी ऑपरेटर ने वनंत्रा रिजॉर्ट में तोड़फोड़ के बारे में ऐसे दावे किये हैं, जो आने वाले समय में प्रदेश की राजनीति में भी विवाद का विषय बन सकती है। इसके बाद अंकिता भंडारी के पिता ने क्षेत्रीय विधायक और तत्कालीन एसडीएम के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। खासकर विधायक की सदस्यता रद्द करने के साथ ही मुकदमा दर्ज करने की मांग भी की है।

उल्लेखनीय है कि पौड़ी जिले की यमकेश्वर विधानसभा क्षेत्र में स्थित रिजॉर्ट को 23 सितंबर 2022 की रात जेसीबी से तोड़ने वाले जेसीबी ऑपरेटर ने शनिवार 23 दिसंबर को कोटद्वार की अदालत में महत्वपूर्ण गवाही दी। दावा किया कि उस रात रिजॉर्ट को दो बार तुड़वाया गया था। पहले तत्कालीन एसडीएम और पुलिसकर्मियों की देख-रेख में रिजॉर्ट की बाहरी दीवार तुड़वाई, जबकि उसके बाद देर रात एक बजे विधायक के पीए ने जेसीबी को दोबारा बुलवाकर अंकिता के कमरे सहित दो कमरों को विशेष तौर पर आदेश देकर तुड़वाया।

हत्याकांड के बचाव पक्ष के अधिवक्ता अमित सिंह ने बताया कि जेसीबी चालक ऋषिकेश निवासी मालिक की जेसीबी चलता था। मालिक के निर्देश पर ही ड्राइवर 23 सितंबर 2022 को जेसीबी मशीन लेकर वनंत्रा रिजॉर्ट गया था। तब तत्कालीन उपजिलाधिकारी के निर्देश पर रिजॉर्ट का गेट व बाउंड्री वॉल तोड़ी गई थी।

उसके बाद ड्राइवर जेसीबी को लेकर हरिद्वार निकल गया था, लेकिन जैसे ही वह शिवपुरी के पास पहुंचा तो उसके पास विधायक के पीए का फोन आया कि उसे दोबारा से वनंत्रा रिजॉर्ट पहुंचने को कहा गया। वनंत्रा रिजॉर्ट पहुंचने पर विधायक रिजॉर्ट में खड़ी मिलीं। विधायक के निर्देश पर वनंत्रा रिजॉर्ट के दरवाजे और खिड़कियों को जेसीबी के मदद से तोड़ा गया।

इस मामले की अगली सुनवाई आगामी 5 जनवरी को होगी, तभी अन्य गवाहों के बयान दर्ज होंगे। वहीं, जेसीबी ऑपरेटर के बयानों के बाद अंकिता के पिता वीरेंद्र भंडारी ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से विधायक की सदस्यता रद्द करने की मांग की है।

साथ ही अंकिता के पिता वीरेंद्र भंडारी ने विधायक और तत्कालीन एसडीएम के खिलाफ अंकिता हत्याकांड में साक्ष्य मिटाने (धारा-201) का आरोपित बनाने की मांग की है। इसके अलावा अंकिता के पिता वीरेंद्र भंडारी ने अन्य मांगें न माने जाने पर पौड़ी कलक्ट्रेट में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठने की चेतावनी भी दी है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बड़ा समाचार : उत्तराखंड के बहुचर्चित अंकिता भंडारी हत्याकांड (1Hatyakand) के मुख्य आरोपित की जमानत याचिका खारिज…

Ankita Hatyakand Pulkitनवीन समाचार, नैनीताल, 20 दिसंबर 2023। उत्तराखंड के बहुचर्चित अंकिता भंडारी हत्याकांड (Hatyakand) के मुख्य आरोपित पुलकित आर्य की जमानत याचिका को उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया है। सुनवाई के दौरान उच्च न्यायालय ने अंकिता हत्याकांड (Hatyakand) को जघन्य अपराध बताया। साथ ही कहा कि निचली अदालत में कई आरोपों की पुष्टि हो चुकी है। ऐसे में जमानत का प्रश्न नहीं बनता है।

गुरुवार को उच्च न्यायालय की न्यायमूर्ति रवींद्र मैठाणी की एकलपीठ में प्रदेश के बहुचर्चित अंकिता भंडारी हत्याकांड (Hatyakand) के मुख्य आरोपित पुलकित आर्य के जमानत प्रार्थना पत्र पर सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान उच्च न्यायालय ने कहा कि यह एक जघन्य अपराध है। अभी तक निचली अदालत में हुई गवाहियों और बयानों में आरोपों की पुष्टि हुई है कि घटना के समय तीनों आरोपितों की मौजूदगी घटनास्थल पर थी।

विदित हो कि पौड़ी जिले के डोभ श्रीकोट गांव की अंकिता भंडारी ऋषिकेश के वनंत्रा रिसोर्ट में नौकरी करती थी। आरोप है कि रिजॉर्ट स्वामी के पुत्र पुलकित आर्य और उसके साथियों सौरभ भास्कर और अंकित ने अंकिता भंडारी को चीला बैराज में धक्का देकर उसकी हत्या कर दी थी। अंकिता की बैराज में डूबने से मौत हो गई थी। मामले की छानबीन के बाद तीनों आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। तभी से तीनों आरोपित जेल में बंद हैं।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : बहुचर्चित रिसेप्सनिस्ट अंकिता भंडारी हत्याकांड (Hatyakand) के मामले में दो बड़े समाचार…

नवीन समाचार, श्रीनगर, 14 दिसंबर 2023। उत्तराखंड के बहुचर्चित रिसेप्सनिस्ट अंकिता भंडारी हत्याकांड (Hatyakand) के मामले में दो बड़े समाचार हैं। जब अंकिता लापता हुई थी तो उस दौरान यमकेश्वर में तैनात पटवारियों की बड़ी लापरवाही सामने आई थी। इन पटवारियों को तब निलंबित कर दिया गया था। अब इन दोनों पटवारियों को जिलाधिकारी ने बहाल तो कर दिया गया है, लेकिन इनकी वेतन वृद्धि पर तीन साल के लिए रोक लगा दी है।

डीएम ने इस संबंध में आदेश जारी कर तहसील यमकेश्वर के उदयपुर पल्ला-दो और अजमेर पल्ला-तीन के निलंबित राजस्व उपनिरीक्षकों यानी पटवारियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई समाप्त करते हुए सवेतन सेवा बहाली का आदेश जारी किया है। दोनों राजस्व उप निरीक्षकों को अंकिता हत्याकांड (Hatyakand) में प्रभावी कानूनी कार्रवाई नहीं करने, अंकिता के परिजनों की ओर से दी गई तहरीर पर प्राथमिकी दर्ज नहीं करने, दायित्व और विभागीय कार्यों के प्रति लापरवाही के आरोप में 2022 में निलंबित किया गया था।

विदित हो कि पौड़ी जिले के श्रीकोट की रहने वाली 19 साल की अंकिता भंडारी यमकेश्वर क्षेत्र स्थित वनंत्रा रिसॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट थी। वह 18 सितंबर 2022 को अचानक वनंत्रा रिसॉर्ट से लापता हो गई थी। इसके बाद वनंत्रा रिसॉर्ट के मालिक पुलकित आर्य ने अंकिता के घरवालों को गुमराह करने के लिए गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। हालांकि अंकिता का शव करीब एक हफ्ते बाद 24 सितंबर को चीला नहर से बरामद हुआ था।

भाजपा नेता के पुत्र पुलकित आर्य और उसके दो साथी अंकित गुप्ता और सौरभ भास्कर पर आरोप है कि तीनों ने अंकिता को चीला नहर में धक्का दे दिया था। पुलकित आर्य पर यह भी आरोप है कि वह अंकिता भंडारी से रिसॉर्ट में गलत काम कराना चाहता था। जिसके लिए अंकिता भंडारी ने साफ इनकार कर दिया था। इस मामले में विपक्षी पार्टियां किसी वीआईपी के शामिल होने की भी अपुष्ट चर्चाएं करते रहे हैं।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : Hatyakand : अंकिता हत्याकांड, अंकिता के 1 दोस्त ने किया अंकिता के अपने माता-पिता के साथ संबंधों पर सनसनीखेज दावा…

नवीन समाचार, कोटद्वार, 9 अक्टूबर 2023 (Hatyakand)। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश रीना नेगी की अदालत में अंकिता हत्याकांड (Hatyakand) के प्रमुख गवाह के रूप में अंकिता के मित्र रहे जम्मू में रहने वाले पुष्पदीप से बचाव पक्ष की जिरह पूरी हो गई है। अपनी गवाही के दौरान पुष्पदीप ने अदालत में खासकर अंकिता के अपने माता-पिता से रिश्तों के बारे में दोनों के बीच हुयी चैटिंग के सबूतों के साथ सनसनीखेज खुलासे किये है।

दावा किया है कि अंकिता को उसके माता-पिता मारते पीटते थे, इसलिए वह बाहर रहकर नौकरी करना चाहती थी। बकौल पुष्पदीप, अंकिता कहती थी कि उसे नौकरी नहीं मिली तो वह कोई गलत कदम उठा सकती है।

अंकिता के परिजनों के अधिवक्ता अजय पंत व नरेंद्र गुसाईं ने बताया कि पुष्पदीप से बचाव पक्ष ने अंकिता और उसके बीच हुई चौटिंग के विषयों पर सवाल पूछे। पूरी जिरह अंकिता के माता-पिता के उसके प्रति व्यवहार पर केंद्रित रही। बचाव पक्ष के अधिवक्ता अनुज पुंडीर ने बहस का ध्यान पुष्पदीप द्वारा विवेचक को 23 नवंबर, 2022 को दिए बयान पर केंद्रित किया।

न्यायालय सूत्रों के अनुसार पुष्पदीप ने अंकिता के साथ हुई चैटिंग के हवाले से बताया कि अंकिता अपने माता पिता के व्यवहार से खुश नहीं थी। वे उसे मारते-पीटते भी थे। इसलिये वह घर से बाहर निकलकर नौकरी करना चाहती थी। नौकरी नहीं मिलने पर वह पुष्पदीप से कोई गलत कदम भी उठाने की बात करती थी। पुष्पदीप ने यह भी कहा कि संभवतः वह ऐसी बातें इसलिए करती थी कि ताकि वह उसके लिए जल्दी नौकरी तलाश लें।

गौरतलब है कि एसआईटी की ओर से इस हत्याकांड (Hatyakand) में 97 गवाह बनाए गए हैं। पुष्पदीप सहित अब तक 22 लोगों की गवाही हो चुकी है। अगली सुनवाई अब 20 अक्तूबर को होगी। यह भी उल्लेखनीय है कि शुरू से यह प्रश्न भी गाहे-बगाहे उठ रहे थे कि कम उम्र की अंकिता क्यों जंगल में स्थित रिजॉर्ट में नौकरी कर रही थी। उसके माता-पिता ने उसे ऐसे संदिग्ध स्थान पर नौकरी करने से क्यों नहीं रोका था।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंयदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो यहां क्लिक कर हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, यहां क्लिक कर हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अंकिता Hatyakand के हत्योरोपित रिजॉर्ट स्वामी पुलकित ने हाईकोर्ट में लगायी जमानत अर्जी, हुई सुनवाई, जानें क्या हुआ ?

नवीन समाचार, नैनीताल, 26 जुलाई 2023। उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने प्रदेश के बहुचर्चित रिसेप्सनिस्ट अंकिता भंडारी हत्याकांड (Hatyakand) के मुख्य आरोपित पुलकित आर्या ने उच्च न्यायालय में जमानत हेतु प्रार्थना पत्र दिया है। इस पर सुनवाई के दौरान पीड़िता के अधिवक्ताओं ने जमानत प्रार्थना पत्र पर आपत्ति पेश करने के लिए तीन माह का समय मांगा, किंतु न्यायालय ने 10 अगस्त तक पीड़िता के अधिवक्ताओं से पुलकित के जमानत प्रार्थना पत्र पर आपत्ति पेश करने को कहा है।

उल्लेखनीय है कि पौड़ी जिले के डोभ श्रीकोट निवासी 19 वर्षीय अंकिता भंडारी यमकेश्वर क्षेत्र के भोगपुर स्थित पुलकित आर्या के वनंतरा रिसोर्ट में रिसेप्शनिस्ट की नौकरी करती थी। 18 सितंबर 2022 को अंकिता वनंतरा रिसोर्ट से लापता हो गई थी। वनंतरा रिसोर्ट के मालिक पुलकित आर्या द्वारा अंकिता के पिता को उसके लापता होने की सूचना दी गई। इसके बाद पिता ने अंकिता के गुमशुदगी की रिपोर्ट राजस्व पुलिस में दर्ज कराई।

कुछ दिनों बाद पौड़ी के जिलाधिकारी ने अंकिता के गुमशुदा होने का मामला रेगुलर पुलिस को हस्तांतरित किया। रेगुलर पुलिस रिसोर्ट के मालिक पुलकित आर्या, दोस्त अंकित गुप्ता और रिसोर्ट मैनेजर सौरभ भास्कर को हिरासत में लिया गया। तीनों से जब पूछताछ की गई तो तीनों ने अंकिता की हत्या कर ऋषिकेश गंगा नहर में शव फेंकने की बात कबूल की। मामले की छानबीन के बाद तीनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। तभी से तीनों आरोपित जेल में बंद हैं। 

(डॉ. नवीन जोशी)आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें : अंकिता हत्याकांड (Hatyakand) में एसआईटी ने दी आतंकी कसाब और दिल्ली के श्रद्धा हत्याकांड (Hatyakand) की नजीर, जानें क्यों ?

नवीन समाचार, देहरादून, 24 फरवरी 2023। वनंतरा रिजार्ट में हुए रिसेप्सनिस्ट अंकिता भंडारी हत्याकांड (Hatyakand) में आरोपितों का नार्को टेस्ट कराने के लिए दलील देते हुए मामले की जांच कर रहरी एसआइटी ने उच्च न्यायालय में आतंकी कसाब और दिल्ली के बहुचर्चित श्रद्धा वॉलकर हत्याकांड (Hatyakand) की नजीर देनी पड़ी है।

(Hatyakand) एसआईटी ने इन आधारों पर न्यायालय से आरोपित की मर्जी के बिना भी नार्को टेस्ट की इजाजत देने की मांग करते हुए अपना जवाब दाखिल कर दिया है। वहीं, न्यायालय ने मामले की अगली सुनवाई पांच मई तक टाल दी है। यह भी पढ़ें : नैनीताल : तीक्ष्ण ढाल वाले सीसी मार्ग पर दंपति की कार पलटी

उल्लेखनीय है कि इस मामले में आरोपितों के नार्को और पालीग्राफ टेस्ट कराने के निचली अदालत के आदेश पर उच्च न्यायालय ने पुलकित आर्य की याचिका पर रोक लगा दी थी। इससे पहले एसआइटी ने दिसंबर 2022 में मामले में चर्चा में आए बहुचर्चित कथित वीआईपी का नाम जानने और मोबाइल बरामदगी को लेकर आरोपितों का पॉलीग्राफ टेस्ट कराने को न्यायालय में अर्जी दी थी।

(Hatyakand) शुरूआत में पुलकित आर्य और सौरभ ने तो अपनी सहमति दे दी लेकिन, अंकित ने इनकार कर दिया था। इस पर बाद में फिर से मामला बदला और आरोपितों ने अधिवक्ता से सलाह लेकर जवाब दाखिल करने को कहा। यह भी पढ़ें : हल्द्वानी की महिला ने नाबालिग किशोर के साथ बनाया पोर्न वीडियो, सोशल मीडिया पर डाला, मामला दर्ज..

जनवरी में जब सुनवाई हुई तो केवल पुलकित ने ही नार्को और पालीग्राफ के लिए अपनी सहमति दी। इस पर न्यायालय ने पुलकित का नार्को टेस्ट कराने की इजाजत दे दी। इस पर पुलिस ने सेंट्रल फोरेंसिक लैब से फरवरी में नार्को टेस्ट कराने के लिये समय भी ले लिया था। लेकिन इसी बीच पुलकित की ओर से हाईकोर्ट में अपील कर दी गई और इस अपील पर हाईकोर्ट ने नार्को टेस्ट पर रोक लगा दी। यह भी पढ़ें : नैनीताल पुलिस ने 15 मिनट में ढूंढ निकाली गुमशुदा लड़की, योगी की पुलिस भी नैनीताल पुलिस की तेजी देखकर रह गई दंग…

अब पुलिस बिना आरोपितों की सहमति के ही उनका नार्को टेस्ट कराना चाहती है। ऐसे में आतंकी कसाब, श्रद्धा हत्याकांड (Hatyakand) को नजीर बनाकर हाईकोर्ट में जवाब दाखिल किया गया है। अपर पुलिस महानिदेशक अपराध एवं कानून व्यवस्था डा. वी मुरुगेशन ने बताया कि इस मामले में अब हाईकोर्ट में पांच मई को सुनवाई होनी है। डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अंकिता हत्याकांड (Hatyakand) के मुख्य आरोपित की करोड़ों की संपत्ति कुर्क करने की कार्रवाई शुरू…

नवीन समाचार, पौड़ी, 4 फरवरी 2023। पौड़ी उत्तराखंड के चर्चित अकिता भंडारी हत्याकांड (Hatyakand) के मुख्य आरोपित पुलकित आर्य पर पुलिस एक और बड़ी कार्रवाई करने जा रही है। पुलिस अब पुलकित की करीब 2.82 करोड़ रुपए की संपत्ति को पुलिस कुर्क करने जा रही है। यह भी पढ़ें : कहा-बहुत दूर जा रहे हैं, सुबह पेड़ पर लटके मिले युवक-युवती, दोनों अलग-अलग विवाहित, दोनों का एक-एक बेटा…

पौड़ी जनपद के एसएसपी श्वेता चौबे ने बताया कि जांच में सामने आया है कि पुलकित ने हरिद्वार और पौड़ी जिले में करीब 2.82 करोड़ रुपए की संपत्ति अर्जित की है। इसकी रिपोर्ट बनाकर पौड़ी और हरिद्वार के जिलाधिकारियों को भेजी जा रही है। जांच में यह भी सामने आया कि पुलकित हरिद्वार के क्षेत्र में रहने अपने गैंग के सदस्य सौरभ भाष्कर और अकित गुप्ता के साथ समाजविरोधी गतिविधियों में संलिप्त रहा है और उसने अवैध रूप से यह धन संपति जुटाई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड हाईकोर्ट की रोक के बाद अंकिता हत्याकांड (Hatyakand) में कथित वीवीआईपी के नाम खुलासे का इंतजार कम से कम तीन सप्ताह आगे बढ़ा…

-मुख्य आरोपित के नार्को टेस्ट पर लगी रोक
नवीन समाचार, नैनीताल, 30 जनवरी 2023। उत्तराखंड के चर्चित रिसेप्सनिस्ट अंकिता भंडारी हत्याकांड (Hatyakand) के मुख्य आरोपित पुलकित आर्या के नार्को टेस्ट पर उत्तराखंड उच्च न्यायालय की न्यायमूर्ति शरद कुमार शर्मा की एकलपीठ ने रोक लगा दी है। एकलपीठ अब तीन सप्ताह के बाद मामले में दोबारा सुनवाई करेगी। इसके बाद मामले में कथित वीवीआईपी के नाम के खुलासे के लिए इंतजार और लंबा हो गया है। यह भी पढ़ें : दुःखद ब्रेकिंग: नैनीताल नगर पालिका सभासद राजू टांक का निधन

गौरतलब है कि प्रदेश के इस बहुचर्चित हत्याकांड (Hatyakand) के़े मुख्य आरोपित वनंतरा रिजॉर्ट के मालिक पुलकित आर्या का नार्को टैस्ट करने की जांच अधिकारी ने सक्षम अदालत से अनुमति मांगी थी। देहरादून के मुख्य न्यायिक मैजिस्ट्रेट ने जांच टीम को नार्को टेस्ट की अनुमति दे दी थी। पहले से ही नार्को टेस्ट से बचने के लिए कई प्रयास कर रहा हत्यारोपित पुलकित आर्या इसके खिलाफ उच्च न्यायालय पहुंच गया। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड पुलिस की कोच से पहले से शादीशुदा व दो बच्चों के पिता द्वारा शादी का झांसा देकर दुष्कर्म-उत्पीड़न…

इस पर आज एकलपीठ में सुनवाई के बाद सीजेएम की नार्को टेस्ट की अनुमति पर तीन सप्ताह के लिए रोक लगा दी है। इस दौरान एकलपीठ ने सरकार से जवाब दाखिल करने को भी कहा है। मामले में तीन सप्ताह बाद दोबारा सुनवाई होगी। इस आदेश के बाद पुलकित का नार्को टैस्ट अगले आदेशों तक नहीं हो सकेगा। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें : अंकिता हत्याकांड (Hatyakand) मामले आई नई अपडेट, मुख्य आरोपित का नार्को टेस्ट होगा

Ankita Murder Case: अंकिता हत्याकांड में घटनास्थल पर पहुंची SIT, परिजनों को  दिखाई पोस्टमार्टम रिपोर्ट | 🇮🇳 LatestLY हिन्दी

नवीन समाचार, कोटद्वार, 11 जनवरी 2023। अंकिता हत्याकांड (Hatyakand) के मुख्य आरोपित पुलकित आर्य का नार्को टेस्ट होगा। कोटद्वार की यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी भावना पांडे की अदालत ने आज इस मामले में अपना बहुप्रतीक्षित फैसला सुनाया। यह भी पढ़ें : 22 वर्षीय युवक की सिर में करीब से सटाकर गोली मारकर हत्या

अंकिता हत्याकांड (Hatyakand) के तीनों आरोपितों के नार्को और पॉलीग्राफ टेस्ट कराने के मसले पर न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी अदालत में आज सुनवाई हुई। इस दौरान अभियोजन पक्ष ने संबंधित मामले की रूलिंग यानी न्यायिक निर्णयों की प्रति दाखिल की। इसके बाद अदालत ने एक दिन की तारीख आगे बढ़ा दी है। यह भी पढ़ें : डोकोडेमो : बिना रिस्क के 25 दिन में रुपए डबल ! घर बैठे ऑनलाइन रुपए कमाने का अनूठा वैश्विक कॉन्सेप्ट..!

शासकीय अधिवक्ता जितेंद्र सिंह रावत ने बताया कि गत तीन जनवरी को अभियोजन और बचाव पक्ष की ओर से अपनी दलीलें रखी गई थीं। बहस पूरी होने के बाद अदालत ने फैसले के लिए 5 जनवरी की तिथि निर्धारित की थी।

(Hatyakand) पांच जनवरी को अभियोजन पक्ष की ओर से संबंधित मामलों में अन्य कई रूलिंग को जरूरी बताते हुए इन्हें प्रस्तुत करने के लिए अदालत से समय की मांग की थी। अदालत ने इसके लिए समय प्रदान करते हुए आज की तिथि नियत की थी। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अंकिता हत्याकांड (Hatyakand) में बड़ा समाचार: मुख्य आरोपित सशर्त नार्को टेस्ट के लिए राजी, शर्तों में कुछ सवाल भी, सवाल बेहद चौंकाने वाले….

नवीन समाचार, कोटद्वार, 3 जनवरी 2023। आखिर प्रदेश के बहुचर्चित अंकिता भंडारी हत्याकांड (Hatyakand) के मुख्य आरोपित पुलकित आर्य अपने नार्को टेस्ट के लिए मान गया है, लेकिन उसने न्यायालय के समक्ष अपना नार्को टेस्ट कराने के लिए शर्त रखी है। साथ ही यह मांग भी की है कि उससे उसके द्वारा बताए जा रहे कुछ सवाल पूछे जाएं। यह भी पढ़ें : नैनीताल : एक भगवा झंडा लगने पर शुरू हुई राजनीति, और बढ़ा आरोप-प्रत्यारोपों का दौर…

दिलचस्प बात यह है कि जिन सवालों को मुख्य आरोपित पूछे जाने की बात कर रहा है, उनके उत्तर यदि वही होते हैं, जिनका इशारा पुलकित के इन प्रश्नों को पूछे जाने की मांग करने से हो रहा है तो मामले में कई नए व चौंकाने वाले पहलू भी आ सकते हैं।

(Hatyakand) आगे देखने वाली बात होगी कि पुलकित का इन प्रश्नों को पूछे जाने के लिए कहना इस मामले को भटकाने के लिए है कि मामले की सच्चाई सामने लाने के लिए। गौरतलब है कि न्यायालय ने करीब आधे घंटे तक चली बहस के बाद अपना फैसला सुरक्षित रखते हुए अगली तिथि पांच जनवरी की निर्धारित कर दी है। यह भी पढ़ें : सुप्रीम कोर्ट पहुंचा हल्द्वानी में रेलवे भूमि पर अतिक्रमण ध्वस्तीकरण का मामला, घर बचाने को हर जुगत की जाने लगी

बहरहाल, मंगलवार को कोटद्वार की अदालत में पुलकित के अधिवक्ता अमित सजवाण ने न्यायालय के सामने आरोपित पुलकित आर्य का जेल से लिखा हुआ एक पत्र पेश किया। इस पत्र के माध्यम से आरोपित ने पुलिस कार्रवाई पर सवाल खड़े किए हैं। अधिवक्ता अमित सजवाण ने बताया कि अंकिता हत्याकांड (Hatyakand) के मुख्य आरोपी पुलकित आर्य की ओर से अदालत के आदेश के क्रम में नार्को टेस्ट के संबंध में एक प्रार्थना पत्र दिया गया है।

पत्र में उसने कहा है कि पुलिस की ओर से उसके झूठे बयान दर्ज किए गए हैं। पुलिस राजनीतिक व्यक्तियों और मीडिया के दबाव में केवल दो प्रश्नों को ही नार्को टेस्ट में शामिल कर रही है, जबकि अन्य तथ्यों का उजागर होना भी जरूरी है। यह भी पढ़ें : साइकिल-बाइकों के लिए लाइसेंस होगा अनिवार्य, किरायेदार अन्य को नहीं दे पाएंगे कब्जा

लिहाजा उसने नार्को टेस्ट न्यायालय के संरक्षण में और नार्को टेस्ट की लाइव वीडियोग्राफी बिना किसी छेड़छाड़ या बदलाव के न्यायालय के समक्ष कराने की शर्तें लगाई है। यह भी शर्त लगाई गई है कि नार्को टेस्ट की वीडियोग्राफी की टेंपरिंग न हो। उसने नार्को टेस्ट के दौरान अपने अधिवक्ता को साथ रखने की अनुमति भी मांगी है। यह भी पढ़ें : चार बेटियों के पिता ने खुद की कनपटी पर गोली मारी….

साथ ही आरोपित पुलकित आर्य ने इन सवालों को भी शामिल करने को कहा है :
– अंकिता को नहर में धक्का किसने दिया और उसे मारने की साजिश किसने रची ?
– घटना की शाम अंकिता अपनी मर्जी से हमारे साथ गई थी या उसे जबरदस्ती ले गए ?
– क्या किसी ने अंकिता को बचाने की कोशिश की ?

– क्या हमने अंकिता को किसी वीआईपी के साथ शारीरिक संबंध बनाने के लिए उकसाया ?
– अंकिता के परिवार एवं मित्र पुष्प के साथ अंकिता के कैसे संबंध थे। इस बारे में अंकिता ने हमें क्या-क्या बताया ?
– अंकिता का दोस्त पुष्प उसके साथ शादी के लिए क्यों मना कर रहा था। अंकिता ने इस बारे में हम तीनों को क्या-क्या बताया ? (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : शराब के नशे में गले लगाने वाले ग्राहक ने खोली पुलकित व वनंतरा रिजॉर्ट की कलई….

नवीन समाचार, कोटद्वार/देहरादून, 21 दिसंबर 2022। उत्तराखंड के ऋषिकेश के पास पौड़ी जिले के गंगा भोगपुर इलाके में स्थित बहुचर्चित वनंतरा रिजॉर्ट की 19-वर्षीया रिसेप्सनिस्ट अंकिता भंडारी की हत्या के मामले में कई राज खुल गए हैं। इस जघन्य हत्याकांड (Hatyakand) से पहले रिजॉर्ट में आए एक ग्राहक ने शराब पीकर अंकिता को जबर्दस्ती बांहों में लिया था।

(Hatyakand) अंकिता और उसके दोस्त की चैट में भी इस ग्राहक का जिक्र था। उसे भी एसआईटी ने ढूंढ निकाला था। अब खुलासा हुआ है कि इस ग्राहक ने खुद वनंतरा रिजॉर्ट के कई बड़े राज खोले हैं। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने हल्द्वानी में रेलवे की भूमि पर अतिक्रमणकारियों को एक सप्ताह में नोटिस देकर 

सूत्रों के अनुसार एसआईटी ने इस मामले में न्यायालय दायर की गई चार्जशीट में इस मेहमान के बयान तीन पन्नों में दर्ज हैं, जिसमें उसने रिजॉर्ट में होने वाले काले कारनामों को भी उजागर किया है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के एक शहर के रहने वाले इस मेहमान ने कहा है कि उसने अंकिता के साथ आपत्तिजनक हरकत पुलकित के इशारे पर की थी। यह भी बताया है कि पुलकित वहां पर स्पेशल सर्विस के लिए 10 से 20 हजार रुपये अतिरिक्त लेता था। यह भी पढ़ें : बड़ा समाचार: उत्तराखंड उच्च न्यायालय से प्लास्टिक कूड़े और राज्य के सैकड़ों उद्योगों को बंद किए

यहां पर हुक्का, शराब और अन्य नशा भी परोसा जाता था। इस मेहमान से भी इतने ही रुपये लिए गए और एक लड़की से संबंध बनाने की बात भी कही थी। पुलकित ने अंकिता के बारे में उसे बताया था। इसी कारण उसने अंकिता को गले लगाया था। वह पहले भी कई बार इस रिजॉर्ट में ठहर चुका था। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड में अब सचिवालय प्रशासन और परिवहन विभाग में सिपाही के पद सीधी भर्ती से भरे जाने सहित धामी 

सरकारी अधिवक्ता जितेंद्र रावत ने बताया कि पुलिस ने सोमवार को कोटद्वार की न्यायिक मजिस्ट्रेट (प्रथम श्रेणी) भावना पांडेय की अदालत में दायर किए गए अपने 500 पन्नों के आरोप-पत्र में 97 लोगों को गवाह बनाया है। इनमें से 35 गवाह रिजॉर्ट के कर्मचारी और यहां ठहरने वाले लोग हैं।

(Hatyakand) पुलिस के सामने इन सबने रिजॉर्ट में होने वाले कारनामों को बताया था। इन सब बयानों से पुलकित और उसके दोस्तों पर लगे आरोपों को खासा बल मिला है। इन बयानों के सापेक्ष एसआईटी ने कई दस्तावेजी और इलेक्ट्रोनिक साक्ष्य भी इकट्ठा कर चार्जशीट में शामिल किए हैं। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अंकिता हत्याकांड (Hatyakand) में आरोप पत्र तैयार, न्यायालय में पेश करने की तिथि भी तय, पैरवी के लिए विशेष अधिवक्ता होगा नियुक्त…

नवीन समाचार, देहरादून, 13 दिसंबर 2022। प्रदेश के बहुचर्चित अंकिता हत्याकांड (Hatyakand) के मामले में एसआईटी ने आरोप पत्र तैयार कर लिया है। इसे आगामी 15 दिसंबर को न्यायालय में प्रस्तुत किया जाएगा। वहीं, न्यायालय में अभियोजन के पक्ष को मजबूती से पेश किया जा सके, इसके लिए मुकदमे की पैरवी के लिए राज्य सरकार की ओर से एक विशेष अधिवक्ता नियुक्त किया जाएगा।

(Hatyakand) इसके लिए पुलिस मुख्यालय ने न्याय विभाग को पत्र लिखा है। माना जा रहा है कि इससे आरोपियों को सजा दिलाने में तेजी से काम किया जा सकेगा। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड ब्रेकिंग : आईएएस दीपक रावत सहित 8 अधिकारियों को मिली पदोन्नति…

उल्लेखनीय है कि इसके अलावा अंकिता के तीन हत्यारोपितों में से दो ने नार्को टेस्ट की सहमति दे दी है। तीसरे ने 10 दिन का समय मांगा है। न्यायालय ने टेस्ट की मांग करने वाली याचिका की सुनवाई के लिए 22 दिसंबर की तिथि निर्धारित की है। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर वी मुरुगेशन ने बताया कि एसआईटी ने आरोप पत्र पूरी तरह तैयार कर लिया है।

(Hatyakand) आगामी 15 दिसंबर को आरोप पत्र दाखिल कर दी जाएगी। मुकदमे में ट्रायल के लिए एक विशेष अधिवक्ता नियुक्त करने की मांग न्याय विभाग से की गई है। यह अधिवक्ता सिर्फ इस मामले की ही पैरवी करेगा। न्याय विभाग से जल्द ही इसका फैसला आ सकता है। यह भी पढ़ें : पत्रकारों की 7 सूत्रीय महत्वपूर्ण मांगों के लिए सूचना महानिदेशक से मिला एनयूजे-आई का प्रतिनिधिमंडल…

गौरतलब है कि केंद्रीय फॉरेंसिक लैब चंडीगढ़ ने इस मामले से संबंधित मौके से मिले दस्तावेज, मोबाइल स्क्रीन शॉट, दो आरोपियों के मोबाइल फोन, अंकिता का स्वैब आदि सैंपल जांच को भेजे थे। केंद्रीय फॉरेंसिक लैब चंडीगढ़ ने सभी नमूनों की जांच रिपोर्ट एसआईटी को भेज दी है। एसआईटी ने पुलिस के अनुसार, इन सब साक्ष्यों को शामिल करते हुए 15 दिसंबर को चार्जशीट दाखिल कर दी जाएगी। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अंकिता हत्याकांड (Hatyakand) , वीआईपी के खुलासे को लेकर आरोपितों के नार्को टेस्ट पर आई अपडेट

नवीन समाचार, कोटद्वार, 12 दिसंबर 2022। उत्तराखंड के बहुचर्चित अंकिता हत्याकांड (Hatyakand) को लेकर नई बड़ी अपडेट है। इस मामले की जांच कर रही एसआईटी यानी विशेष जांच दल की इस मामले में आरोपितों का नार्को टेस्ट कराने की मंशा फौरी तौर पर कम से कम 10 दिन के लिए टल गई है।

(Hatyakand) न्यायालय में आज इस मामले में आरोपितों को नोटिस जारी होने थे। लेकिन आरोपितों ने पौड़ी जेल अधीक्षक के जरिए न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत कोटद्वार से 10 दिन का समय मांग लिया। यह भी पढ़ें : भारी पड़ा अपनी पत्नी से उसकी इच्छा के विरुद्ध शारीरिक संबंध बनाना, मिली बड़ी सजा…

बताया गया है कि अंकिता के हत्यारोपितों का नार्को टेस्ट कराने के लिए एसआईटी ने शुक्रवार को न्यायालय में अर्जी दे दी थी। न्यायालय इस पर आज सोमवार को सुनवाई करने वाला था। लेकिन आरोपितों के समय मांगने से इस मामले की सुनवाई फिलहाल टल गई है। यह भी पढ़ें : डॉक्टर को पेट दर्द दिखने गई छात्रा, उसने कर दिया दुष्कर्म, , निबंधित, संबद्ध, मुकदमा दर्ज….

उल्लेखनीय है कि अंकिता हत्याकांड (Hatyakand) में शुरुआत से ही वीआईपी के नाम के खुलासे की मांग की जा रही है। पुलिस पर जानबूझकर वीआईपी का नाम उजागर नहीं करने के आरोप लग रहे हैं। विभिन्न राजनीतिक दल भी इस बात को उठा चुके हैं। इधर अंकिता के परिजनों ने भी कुछ दिन पहले आरोपितों का नार्को टेस्ट कराने की मांग की थी। यह भी पढ़ें : दुःखद समाचार: बेटी की शादी में नाचते-नाचते पिता की हुई मौत

इस पर पिछले दिनों एडीजी लॉ एंड ऑर्डर वी मुरुगेशन ने कहा था कि एसआईटी ने वीआईपी का नाम जानने के लिए नार्को टेस्ट का फैसला किया है। इसके लिए शुक्रवार को न्यायालय में अर्जी दे दी गई है। न्यायालय को इस अर्जी पर दोनों पक्षों को सोमवार को सुनना था। यह भी पढ़ें : नर्सिंग की छात्रा से रिश्तेदार युवक ने किया दुष्कर्म, अश्लील वीडियो भी किया वायरल…

इसके बाद ही नार्को टेस्ट कराने या न कराने पर फैसला किया जा सकता था। पुलिस ने अपनी तैयारियां पूरी कर ली थी। नार्को टेस्ट की मांग के लिए उनके पास पूरे आधार हैं। बहुत से ऐसे सवाल हैं जिनके जवाब पुलिस को आरोपियों से चाहिए। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अब पता चलेगा-कौन था रिजॉर्ट में विशेष सेवाएं लेने के लिए आने वाला वीआईपी, पुलिस ने आरोपितों के नार्को टेस्ट करवाने के लिए याचिका की दायर

नवीन समाचार, कोटद्वार, 6 दिसंबर 2022। वनंतरा रिसार्ट में हुए प्रदेश के बहुचर्चित अंकिता हत्याकांड (Hatyakand) के प्रकरण में विशेष सेवाएं लेने के लिए आने वाला वीआईपी कौन था, उम्मीद है कि अब उसका पता चल जाएगा। पुलिस ने इसके लिए आरोपितों के नार्को टेस्ट करवाने के लिए याचिका दायर कर दी है। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड निवासी युवक ने की अपनी लिव-इन-पार्टनर महिला साथी की पाटल से हत्या…

आरोपित वीआईपी पर रिसार्ट में आने वाले वीआइपी को विशेष सेवा देने के लिए दबाव डाले जाने का आरोप है। रिसार्ट के स्वामी पुलकित आर्य और उसके दो प्रबंधकों पर महिला कर्मचारी की हत्या, साक्ष्य छिपाने और अनैतिक कार्य के लिए दवाब डालने के आरोप हैं। यह भी पढ़ें : उत्तराखंड की युवती से हरिद्वार व गुरुग्राम में पिस्टल की नोक पर और ब्लेकमेल कर दुष्कर्म

टेस्ट की अनुमति को लेकर एसआइटी ने मंगलवार को कोटद्वार में न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी की अदालत में प्रार्थना पत्र दाखिल किया है। मामले की जांच कर रहे सीआईयू प्रभारी राजेंद्र सिंह खोलिया की ओर से यह प्रार्थना पत्र दिया गया है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : अंकिता हत्याकांड (Hatyakand) मामले में निलंबित पटवारी वैभव बोला, वह शातिर बदमाश है…

नवीन समाचार, देहरादून, 28 सितंबर 2022। अंकिता भंडारी हत्याकांड (Hatyakand) में लगातार एक के बाद एक नया खुलासा रहा है। इस मामले में डीएम के द्वारा निलंबित किए गए गंगाभोगपुर तल्ला बनास क्षेत्र के पटवारी वैभव प्रताप पर आरोप लग रहे हैं की उसे अंकिता के गायब होने की खबर पहले ही पता लग चुकी थी, लेकिन उसने लापरवाही बरती और विवेक को चार्ज देकर छुट्टी पर चला गया। इसके बाद विवेक को ही पूरे मामले में लापरवाही का जिम्मेदार ठहराकर निलंबित कर दिया गया।

इस मामले में एक समाचार चैनल से बातचीत में वैभव ने मामले को लेकर कई अहम जानकारियां दी हैं। वैभव सच कह रहा है या झूठ, यह देखना जांच एजेंसियों का काम है, बहरहाल वैभव ने बताया कि 18 सितंबर की रात 2 बजे पुलकित आर्य उसके पास आया और उसने बताया कि उसके रिजॉर्ट से एक लड़की गायब हो गई है।

(Hatyakand) वह उसकी प्राथमिकी दर्ज कर लेे। इस पर वैभव ने यह कहकर प्राथमिकी दर्ज नहीं की कि नियमों के अनुसार गुमशुदगी के 24 घंटे के बाद ही गुमशुदगी का मामला दर्ज किया जाता है। साथ ही वैभव ने दावा किया कि उसने पुलकित से कहा कि वह इस बारे में अंकिता के घर पर बताए। इस पर पुलकित ने जवाब दिया कि उसकेे पास उसके घर वालों का फोन नंबर नहीं है।

(Hatyakand) उसके बाद वैभव ने पुलकित से कहा कि जांच के लिए लड़की की फोटो या आधार कार्ड कुछ तो दो। इसके बाद पुलकित ने आधार कार्ड दिया। वैभव ने कहा, ‘इस बीच मेरे पास तहसीलदार का फोन आया कि मैं छुट्टी पर चला जाऊं। क्योंकि मेरे पिता की तबियत काफी दिनों से खराब थी, और मैंने पहले से ही छुट्टी के लिए आवेदन किया हुआ था। इसलिए तहसीलदार ने मुझे छुट्टी पर भेज दिया।’

पटवारी वैभव ने आगे बताया कि पुलकित ने जब उसे आधार कार्ड दिया तो उसने ही सबसे पहले पटवारियों के ह्वाट्सएप ग्रुप में यह सूचना भेजी। वैभव ने बताया, ‘मेरे पास अंकिता के पिता का फोन शाम 5 बजे आया। तब मैंने उनसे पूछा कि क्या आपकी बात मैनेजर से हुई है? तब उन्होंने कहा कि हां बात हो गई है। बस उनसे इतनी ही बात हुई मेरी।’

वैभव ने ये भी बताया कि यह रिसोर्ट साल 2010 से बना हुआ है। यहां पर अभी 2 महीने पहले एनजीटी यानी राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण की ओर से एक टीम भी आई थी और जायजा लेकर चली गई थी। उसे नही पता कि जांच में क्या हुआ।

(Hatyakand) एक सवाल के जवाब में वैभव ने दावा किया कि पुलकित से उसकी कोई दोस्ती नहीं है। चाहे तो उसकी सीडीआर यानी मोबाइल की डिटेल खंगाल ली जाए या कोई भी रिजॉर्ट की सीसीटीवी फुटेज देख ली जाए। बकौल वैभव, उसने कभी पुलकित को खुद फोन तक नहीं किया है।

पटवारी वैभव ने यह भी बताया कि पटवारी पिछले 1 साल से सरकार से मांग कर रहे हैं कि हम राजस्व का काम देखते हैं यह कानून व्यवस्था का अतिरिक्त भार हम पर क्यों डाला गया है? हमारे संघ ने इसे लेकर 1 साल पहले प्रदर्शन भी किया था। पुलकित समेत तीनों आरोपी शातिर बदमाश हैं, जैसे कि सामने आया है। हमारे पास सुरक्षा के लिए हथियार तक नहीं हैं। तो हम पर क्यों ये अतिरिक्त भार डाला गया है?

वैभव ने यह भी दावा किया कि 19 सितंबर को शाम करीब साढ़े सात बजे जब वह तहसीलदार मंजीत सिंह से मिला था तब उसने उनको अंकिता की गुमशुदगी के बारे में सब कुछ बता दिया था। उसने बताया कि अन्य पटवारी विवेक जो उसका चार्ज ले रहे थे, उन्हें भी उसने समझा दिया था। उसने इसका सबूत भी अधिकारियों को दे दिया है।

(Hatyakand) लेकिन फिर भी उसे बार-बार मामले को लेकर परेशान किया जा रहा है। उसने फोन भी इसलिए बंद किया है क्योंकि उसे बार-बार फोन करके प्रताड़ित किया जा रहा है। ना जाने कहां-कहां से फोन आ रहे हैं और इस मामले के बारे में पूछा जा रहा है। जबकि, उसका इस मामले से कोई लेना-देना भी नहीं है। उसने अपनी ड्यूटी अच्छे से निभाई है। (डॉ.नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें :(Hatyakand) अंकिता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई, जानें क्या है पोस्टमार्टम रिपोर्ट में

Imageनवीन समाचार, देहरादून, 26 सितंबर 2022 (Hatyakand) । पौड़ी जिले के गंगा भोगपुर स्थित वनन्तरा रिसार्ट की रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सोमवार को एसआइटी को मिल गई है।

(Hatyakand) बताया जा रहा है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृतका के शरीर पर पांच जगह चोट के निशान होने का उल्लेख है, साथ ही मौत का कारण पानी में डूबना और दम घुटना बताया गया है। मृतका के साथ दुष्कर्म की बात सामने नहीं आई है। फिर भी संदेह दूर करने के लिए सैंपल को फारेंसिक जांच के लिए भेजा गया है।

(Hatyakand) सोमवार देर शाम मृतका के परिजनों को भी यह रिपोर्ट उपलब्ध करा दी गइ है। इस बीच मामले की जांच कर रही एसआइटी ने रिसार्ट पहुंचकर वहां के स्टाफ के बयान दर्ज किए। घटनास्थल का मुआयना कर साक्ष्य एकत्र किए। (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें (Hatyakand) : पूरे जिले की टॉपर थी अंकिता, परिजन अंतिम संस्कार न कराने पर अड़े, जानें क्या है वजह, क्यों है परिजनों को आशंकाएं…

नवीन समाचार, देहरादून, 25 सितंबर 2022 (Hatyakand) । 19 वर्षीया अंकिता भंडारी 12वीं कक्षा में पूरे जिले की टॉपर थी। घर की आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण 19 साल की पढ़ने-खेलने की उम्र में नौकरी करने लगी थी। उसकी शायद किस्मत खराब थी कि एक दरिंदे के रिजॉर्ट में उसे नौकरी मिली, और इसकी सजा उसे अपनी जान गंवाकर चुकानी पड़ी।

(Hatyakand) बल्कि उसके परिजनों के आरोप यदि सही हैं तो उसे नहर में धकेले जाने से पूर्व उसके साथ हत्यारोपितों ने दरिंदगी भी की। अब राज्य भर में उसे न्याय दिलाने की आवाज उठ रही है। वह भी तब, जबकि पुलिस उसके हत्यारोपितों को जेल भेज चुकी है। यह भी पढ़ें : अंकिता के हत्यारे के पिता व भाई पर भी गिरी सरकार व पार्टी की गाज, अब राज्य के सभी रिजॉर्टों की जांच के भी आदेश

यह भी पढ़ें : रिजॉर्ट हैं या रसूखदारों की अय्याशी के अड्डे? शनिवार शाम अंकिता का पोस्टमार्टम हो जाने के बाद करीब 24 घंटे गुजरने को हैं और परिजन उसका अंतिम संस्कार करने को तैयार नहीं हैं। इसके लिए उन्होंने अंकिता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट देखने, हत्यारों को फांसी देने, उसके परिजनों को एक करोड़ रुपए और परिवार के एक सदस्य को नौकरी की मांग रखी है।

(Hatyakand) यहां हम उन कारणों को तलाशने का प्रयास कर रहे हैं, जिनकी वजह से यह स्थिति उत्पन्न हो गई है। यह भी पढ़ें : धामी सरकार ने भाजपा के ही पूर्व दायित्वधारी के पुत्र के रिजॉर्ट पर चलाया बुल्डोजर

(Hatyakand) पहली बात यह कि पुलिस भले हत्यारोपितों को गिरफ्तार कर अपनी पीठ खुद ठोक रही हो, पर कहा जा रहा है कि पुलिस ने इस मामले में आरोपितों को न्यायालय में पेश करने पर पुलिस कस्टडी मांगी ही नहीं। यदि मांगती तो तथ्यों-सबूतों को और मजबूत किया जा सकता था।

(Hatyakand) घटना का पूरा सीन ‘रिक्रिएट’ किया जा सकता था। दूसरा, पुलिस-प्रशासन ने आरोपित वनंतरा रिजॉर्ट पर रात्रि में आत्मप्रशंसा प्राप्त करने के लिए बुल्डोजर चला दिया, और बुल्डोजर से मृतका अंकिता के कक्ष का हिस्सा भी तोड़ दिया। जबकि प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार अभी भी उस कक्ष में अंकिता के कपड़े और वह खाना भी पड़ा है, जो उसकी मौत के बाद मौत की बात को छूपाते हुए उसके कमरे में भेजा गया था। यह भी पढ़ें : 5 दिनों से गायब 19 वर्षीया रिसेप्सनिस्ट की कर दी गई हत्या, मुख्य आरोपित नेता पुत्र

(Hatyakand) इसके अलावा पुलिस ने घटनास्थल-रिजॉर्ट को अपनी कस्टडी-सुरक्षा में नहीं लिया, फलस्वरूप स्थानीय लोगों ने रिजॉर्ट में आग लगा दी। इससे भी काफी सारे फॉरेंसिक सबूतों के नष्ट होने का खतरा है। अभी भी वहां सबूतों को नष्ट होने से बचाने के कोई पुख्ता प्रबंध नहीं किये गए हैं। तीसरे, अंकिता की चिकित्सकों के पैनल द्वारा किए गए पोस्टमार्टम की प्रोविजनल रिपोर्ट में चोटों की भी बात भी प्रकाश में आई है।

(Hatyakand) इस आधार पर ही अंकिता के भाई ने आशंका जताई है कि मृत्यु से पूर्व उसके साथ हत्यारोपितों ने हैवानियत भी की, और पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ऐसे तथ्यों से छेड़छाड़ की जा सकती है। इसलिए वह पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने से पूर्व वह अंकिता के शव का अंतिम संस्कार नहीं करना चाहते, ताकि जरूरत पड़ने पर दुबारा भी पोस्टमार्टम किया जा सके। यह भी पढ़ें : रिजॉर्ट की महिला रिसेप्सनिस्ट गायब, पूरा रिजॉर्ट सील, 4 कर्मी हिरासत में (डॉ. नवीन जोशी) आज के अन्य ताजा ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें : भाजपा नेता के हत्याकांड (Hatyakand) में नैनीताल कनेक्शन आया सामने

नवीन समाचार, मुरादाबाद, 19 अगस्त 2023 (Hatyakand) । यूपी के मुरादाबाद जनपद के नया मुरादाबाद स्थित पार्श्वनाथ प्रतिभा सोसायटी में भाजपा नेता अनुज चौधरी की गत 10 अगस्त की शाम छह बजे गोली मारकर हत्या (Hatyakand) कर दी गई थी। हत्या में नैनीताल कनेक्शन सामने आया है।

Hatyakand यूपी में BJP नेता की निर्मम हत्या, शूटर्स ने ताबड़तोड़ मारी गोलियां, मौके  पर हुई मौत - Bjp leader anuj choudhary murder in moradabad goons did firing  near society – News18 हिंदी
भाजपा नेता अनुज चौधरी

(Hatyakand) पुलिस ने इस मामले में ऐचोड़ा कम्बोह थाना क्षेत्र के हाजीबेड़ा निवासी ब्लॉक प्रमुख के बेटे अनिकेत चौहान और हरथला रेलवे कॉलोनी सिविल लाइंस निवासी रेलवे कर्मचारी नीरज पाल को गिरफ्तार किया। पकड़े गए साजिशकर्ताओं ने खुलासा किया कि हत्या करने के बाद हत्यारों को नैनीताल जनपद के एक रिजॉर्ट में पहुंचना था। इस पर मुरादाबाद पुलिस की टीमें रिजॉर्ट पहुंचीं लेकिन उन्हें वहां हत्यारे नहंी मिले।

(Hatyakand) मामले में खुलासा हुआ कि असमोली ब्लॉक की ब्लॉक प्रमुख के बेटे अनिकेत, उसके पिता प्रभाकर चौधरी, अमित और पुष्पेंद्र उर्फ भूरा ने अनुज चौधरी की हत्या की साजिश रची थी। पुलिस के अनुसार अनिकेत और भवालपुर निवासी अमित ने अपने दोस्त नीरज पाल के जरिये तीन शूटरों को 30 लाख रुपये में हत्या की सुपारी दी थी।

(Hatyakand) शूटर सूर्यकांत शर्मा उर्फ शानू, सुशील शर्मा उर्फ गोलू शर्मा निवासी ब्रहमपुरी जयंतीपुर थाना मझोला और आकाश कश्यप उर्फ कटवा निवासी भदौड़ा थाना कटघर को छह लाख रुपये एडवांस दिए गए थे। साजिश रचते वक्त तय किया था कि तीनों शूटर वारदात को अंजाम देने के तुरंत बाद शहर छोड़ देंगे।

(Hatyakand) मामले में पुलिस की गिरफ्त में आए अनिकेत और नीरज पाल ने पूछताछ में बताया कि तीनों हत्यारों-सूर्यकांत शर्मा, सुशील शर्मा और आकाश के लिए उत्तराखंड के नैनीताल में एक रिजॉर्ट में ठहराने की व्यवस्था की गई थी। 10 अगस्त की शाम अनुज की हत्या करने के बाद तीनों शूटर सूर्यकांत शर्मा, सुशील शर्मा और आकाश सिविल लाइंस क्षेत्र में नीरज पाल से मिले। इसके बाद अपने मोबाइल मुरादाबाद में छोड़ फरार हो गए थे। 

(Hatyakand) पकड़े गए साजिशकर्ताओं के खुलासे के बाद पुलिस नैनीताल पहुंची तो शूटर वहां नहीं मिले। पुलिस की पूछताछ में अनिकेत और नीरज ने बताया कि शूटर नैनीताल में हैं। पुलिस और एसओजी नैनीताल पहुंची लेकिन शूटर वहां नहीं मिले। इसके अलावा शूटरों ने अब तक न तो किसी से संपर्क किया है और न ही उनकी लोकेशन मिल पा रही है।

आज के अन्य एवं अधिक पढ़े जा रहे ‘नवीन समाचार’ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। यदि आपको लगता है कि ‘नवीन समाचार’ अच्छा कार्य कर रहा है तो हमें सहयोग करें..यहां क्लिक कर हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें। यहां क्लिक कर यहां क्लिक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से, हमारे टेलीग्राम पेज से और यहां क्लिक कर हमारे फेसबुक ग्रुप में जुड़ें। हमारे माध्यम से अमेजॉन पर सर्वाधिक छूटों के साथ खरीददारी करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave a Reply

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे :

 - 
English
 - 
en
Gujarati
 - 
gu
Kannada
 - 
kn
Marathi
 - 
mr
Nepali
 - 
ne
Punjabi
 - 
pa
Sindhi
 - 
sd
Tamil
 - 
ta
Telugu
 - 
te
Urdu
 - 
ur

माफ़ कीजियेगा, आप यहाँ से कुछ भी कॉपी नहीं कर सकते

नये वर्ष के स्वागत के लिये सर्वश्रेष्ठ हैं यह 13 डेस्टिनेशन आपके सबसे करीब, सबसे अच्छे, सबसे खूबसूरत एवं सबसे रोमांटिक 10 हनीमून डेस्टिनेशन सर्दियों के इस मौसम में जरूर जायें इन 10 स्थानों की सैर पर… इस मौसम में घूमने निकलने की सोच रहे हों तो यहां जाएं, यहां बरसात भी होती है लाजवाब नैनीताल में सिर्फ नैनी ताल नहीं, इतनी झीलें हैं, 8वीं, 9वीं, 10वीं आपने शायद ही देखी हो… नैनीताल आयें तो जरूर देखें उत्तराखंड की एक बेटी बनेंगी सुपरस्टार की दुल्हन उत्तराखंड के आज 9 जून 2023 के ‘नवीन समाचार’ बाबा नीब करौरी के बारे में यह जान लें, निश्चित ही बरसेगी कृपा नैनीताल के चुनिंदा होटल्स, जहां आप जरूर ठहरना चाहेंगे… नैनीताल आयें तो इन 10 स्वादों को लेना न भूलें बालासोर का दु:खद ट्रेन हादसा तस्वीरों में नैनीताल आयें तो क्या जरूर खरीदें.. उत्तराखंड की बेटी उर्वशी रौतेला ने मुंबई में खरीदा 190 करोड़ का लक्जरी बंगला नैनीताल : दिल के सबसे करीब, सचमुच धरती पर प्रकृति का स्वर्ग