Astha

नैनीताल : शुरू होगा रामलीला स्टेज का सौंदर्यीकरण, रजा क्लब में शिफ्ट होगी मंडी

       डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 22 जून 2022। व्यवसायियों के ग्रीष्मकालीन पर्यटन सीजन के दौरान न शुरू किए जाने के अनुरोध के बाद अब मुख्यालय में मल्लीताल रामलीला स्टेज में सौंदर्यीकरण के कार्य शुरू होने जा रहे हैं। इस कार्य हेतु बुधवार को एसडीएम प्रतीक जैन ने नगर पालिका के ईओ अशोक […]

News

पाषाण देवी शक्तिपीठ: जहां घी, दूध का भोग करती हैं सिंदूर सजीं मां वैष्णवी

       डॉ. नवीन जोशी @ नवीन समाचार, नैनीताल, 7 अप्रैल 2022। उत्तराखंड को देवभूमि इसीलिए कहा जाता है, कि यहां के कण-कण में देवों कावास है। बदरी, केदार सहित चार धामों और गंगा, यमुना की इसी धरती में शिवके धाम कैलाश का द्वार है, और यहीं शिवा यानी माता पार्वती का मायका हिमालय भी है। […]

News

गढ़वाल में इसलिए मनाई जाती है ‘इगास’ और कुमाऊं में बूढ़ी दिवाली

      -सेनापति माधो सिंह भंडारी की वीरता से है इसका संबंधनवीन समाचार, आस्था डेस्क, 14 नवंबर 2021। दीपावली के बाद आने वाली एकादशी को पूरे देश में हरिबोधनी एकादशी कहा जाता है। इस दिन उत्तराखंड के गढ़वाल मंडल में इगास और कुमाऊं मंडल में बूढ़ी दिवाली मनाई जाती है। इस वर्ष से प्रदेश की पुष्कर सिंह […]

ऐपण : उत्तराखण्ड की लोक चित्रकला

       प्रमोद प्रसाद, इतिहास विद्यार्थी, नैनीताल। ऐपण या अल्पना एक लोक चित्रकला है। जिसका कुमाऊँ के घरों में एक विशेष स्थान है। ये उत्तराखण्ड की एक परम्परागत लोक चित्रकला है। यह चित्रकला उत्तराखण्ड के कुमाऊँ क्षेत्र से सम्बन्धित है। ऐपण शब्द संस्कृत के शब्द अर्पण से व्युत्पादित है। ऐपण का वास्तविक अर्थ है लिखायी या […]